हिंदी पोर्न बीएफ

छवि स्रोत,वीडियो सेक्स गुजराती

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ पंजाबी वीडियो बीएफ: हिंदी पोर्न बीएफ, मुझे पता था कि अगले धक्के पर वो चीखेगी इसलिए मैंने उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया और धीरे धीरे लंड के टोपे को चूत में धीरे धीरे आगे पीछे सरकाने लगा.

पुरुष कंडोम

वो मेरे लंड को ऐसे मुँह में ले रही थी, जैसे उसको बहुत मस्त चीज मिल गई, जिसके लिए वो बरसों से भूखी थी. माथे पर खुजली होने का मतलबतो मैं उनकी पीठ पर साबुन लगाने लगा।शायद बुआ को मेरा मोटा लंड याद आ रहा था और शायद उनका मुझसे चुदाई का मन बन रहा था जिसके लिए वो मुझे उत्तेजित कर रही थी।क्या मुलायम बदन था बुआ का … जी कर रहा था कि उसी वक़्त उनको चोद दूँ.

मैंने उनसे पूछा- क्या आपको दर्द हो रहा है?उन्होंने मेरे सर को वापस अपने मम्मों पर दबाते हुए कहा- नहीं रे … तू अपने काम में लगा रह … मुझे मजा आ रहा है. मद्रासी सेक्सी ओपनउसके इस तरह के व्यवहार से मैं और उत्तेजित होती चली गई और अपनी कमर उसकी तरफ धकेलते हुए अपनी योनि का दबाव उसके होंठों पर बढ़ाती चली गई.

मेरा लौड़ा खड़ा हो गया और मैंने ठान लिया कि लौड़े की प्यास इसकी चूत चोद कर मिटानी है.हिंदी पोर्न बीएफ: और आज भी हम में से कोई भी सहेली आपस में एक दूसरे से मिलती है तो उन दिनों को सब उतना ही मिस करती हैं जितना कि बाकी सहेलियां.

मैंने उसकी नाइटी में ऊपर से हाथ डाल दिया और उसकी चूचियों को भींचने लगा.मैं अभी भी दिमाग से काम ले रही थी और कांतिलाल को इतना उत्तेजित कर देना चाहती थी कि वो संभोग के लिए तैयार हो जाए या झड़ जाए.

मुस्लिम लड़कों के नाम 2021 list - हिंदी पोर्न बीएफ

अगर कोई पड़ोसी मुझे मेरे किरायेदार के साथ किस करते हुए देख लेता, तो मेरी बदनामी हो जाती थी.आज से पांच साल पहले मैं और मेरे दोस्त का परिवार एक यात्रा गए थे, तब तक मेरी शादी नहीं हुई थी.

उन्होंने नीचे से अपने चूतड़ उचकाये कि लंड अंदर घुस जाए लेकिन ऐसे कैसे लंड अंदर घुस जाता… जब मैंने ऊपर से एक झटका अंदर को मारा तो गीली चूत में मेरा लंड ऐसे घुस गया जैसे मक्खन में गर्म छुरी. हिंदी पोर्न बीएफ वो गर्म होते हुए मेरे लंड पर तेजी से हाथ चलाते हुए उसके टोपे को ऊपर नीचे कर रही थी.

रमा चिल्लाने लगी- नहीं जानू … जानू प्लीज … रुको न जानू आहहह … उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओह्ह.

हिंदी पोर्न बीएफ?

मेरी आवाज सुन कर वो भी चाय लेकर आ गयी और हम दोनों चाय पीने लगे।तुम्हारी कोई गर्लफ्रैंड है?” सोनू ने मुझसे पूछा. उधर वो ही लड़की मुझे दिखाई दी, जिस लड़की से मेरी सगाई होकर टूट गई थी. सम्भोग के बीच में अंतराल होने का मतलब था, अब कांतिलाल ने इससे पहले जित्तनी देर सम्भोग किया था, उतनी ही देर संभोग वो बिना झड़े फिर से कर सकता है.

तभी मॉम ने मेरा हाथ पकड़ा और खींच कर मुझे तरह तरह की गाली देने लगीं और कहने लगीं- मेरी गांड क्या तेरा बाप मारेगा … साले गांड मार … फिर सोने जाना. मैं देखती थी कि वो अपना रूम भी अच्छे से रखता था और मेरे पति भी उससे खुश रहते थे. जिसको मैंने अपनी आँखों के सामने जवान होते देखा, छोटे से बड़े होते मम्मे, चूतड़, जांघें … अब सब मेरे कब्जे में थीं.

हम एक कमरे के घर में रहते थे तो मुझे अम्मा अक्सर नंगी दिख जाती थी तो …हाय, मेरा नाम समीर है. उसी दौरान उन्होंने मुझे ऊपर वाले कमरे में सामान उतारने के लिए बुलाया. रवि की जुबान में तो जैसे जादू था, जिस प्रकार वो अपनी जुबान से मेरी योनि के साथ खिलवाड़ कर रहा था, मुझे ऐसा लग रहा था कि ये पल कभी न खत्म हो.

तो मैंने अपनी बीवी की फिगर सुधारने के लिए क्या किया? पढ़ें इस गंदी कहानी में!यह गंदी कहानी पूरी तरह से काल्पनिक है, वास्तविकता से इसका कोई संबंध नहीं है. जब मेरा वीर्य निकलने वाला था, तो मैंने पूछा कि माल कहां निकालूं?वो बोली- मेरी बुर में ही गिरा दीजिए.

फिर मैंने देर ना करते हुए उसका लहंगा ऊपर कर दिया, जो उसने कमर पर पकड़ लिया.

कमलनाथ ने मेरे चूतड़ों को पकड़ लिया और मुझे धक्के लगाने में सहायता करने लगा.

मुझे नहीं पता था कि वो मेरा लंड लेने के लिए इतनी बेचैन है और इतने लंबे समय से इसके लिए तड़प रही है. मेरी हालत ऐसी हो गई थी कि मेरे हाथ स्वयं कभी मेरे स्तनों पर … या योनि पर चले जा रहे थे. मैंने गुस्से में बोला- यार, जैसे ही तेरे ब्लाउज को खोलने लगता हूँ, वैसे ही कोई ना कोई आ जाता है.

उनके दोनों चूतड़ों के बीच में छुपा हुआ मज़े से भरा हुआ गांड का छेद कैसा होगा … मैं तो बस इस कल्पना को लेकर सोचता ही रह गया. फिर मैंने एक हाथ पीछे ले जाकर उनकी ब्रा का हुक खोल कर उनके मांसल बोबों को आजाद कर दिया. जब 457 तक मेरी गिनती पहुंची, तो रवि अपना लिंग रमा की योनि में धंसा कर रुक गया और रमा की पीठ पर लेट गया.

मैं- कब तक आ जाएगा?चाची- शाम तक ही आएगा, बोल रहा था कि काफी काम है.

तब भाबी बोली- तुम एक काम करो, तुम यहां बेड पर बैठ जाओ और मुझे तुम्हारे लंड पर सरसों का तेल लगाना पड़ेगा. दोपहर को खाना खाने के बाद थोड़ा आराम किया, बाद में हम सब लोग घूमने निकले. मेरी भी शादी हो गयी है, लेकिन अब भी एक स्वप्न अधूरा ही रह गया कि कोई तो मेरे लंड को चूसे.

मैं अचानक उसके मम्मों और चूतड़ों के बारे में सोचने लगा कि इतने मस्त चूचे और चूतड़ हैं, पता नहीं साली कितनों से चुदी होगी. उन्होंने मुझे अपने बेड पर धक्का दे दिया और मैं उनके बेड पर गिर गया. उसने अपनी उंगली को निकाल कर देखा कि मेरी बहन खुद ही चुदाई को उतावली हो रही थी.

हम सब जब पेशाब करने जा रही थी तो कमलनाथ ने कहा- सबका पेशाब एक धार में होना चाहिए और रेत के बीच में एक ही जगह गिरना चाहिए, इधर उधर धार नहीं जाना चाहिए.

फिर रात को करीब 12 बजे के करीब मुझे अपने पेट पर कुछ महसूस हो रहा था. अगली सुबह हम दोनों 7 बजे उठे। सुबह सुबह एक बार फिर हम दोनों ने मस्त चुदाई की। उसके बाद अगले दो दिन तक अंकल और मैंने खूब मजा दिया एक दूसरे को और साथ में वक्त बिताया.

हिंदी पोर्न बीएफ मैंने उसको तब तक अपनी पैंट के ऊपर से ही सहलाना शुरू कर दिया था क्योंकि सामने का नजारा इतना कामुक था कि मुझसे भी रुकना मुश्किल हो रहा था. उसके मन में पता नहीं क्या चल रहा था लेकिन मेरे मन में उसकी चुदाई के ख्याल आ रहे थे.

हिंदी पोर्न बीएफ लोगों को पर्सनल ट्रेनिंग देने के लिए, जिसमें लड़के और लड़कियां, आदमी और महिलाएं सब आते थे. अब यहां रुके हैं, तो रिलेशनशिप में तो होंगे ही … ऐसे ही थोड़ी कोई आपस में …इतना बोलकर मैं रुकी ही थी कि उसकी आंखें चमक उठीं.

कितना मोटा है!दुबारा उसने हाथ में ले लिया- नौ इंची का होगा!वह मेरे से चिपका था, बोला- तेरे को लौडिया दिलाऊंगा.

ट्रिपल एक्स सेक्सी हिंदी पिक्चर

मैंने कहा- क्या देख रही हो?उसने कहा- मैं इसी के लिए तरस रही थी और मैंने उस दिन आपको न जाने क्या बोल दिया था. मेरे हाथ अब उसकी बगल से होकर उसकी चूचियों को हल्के से दबाने लगे थे जिसका वो कोई विरोध नहीं कर रही थी. लंड की हालत लोहे के सरिया जैसी हो गई थी और वो उसे नीचे उसकी चुत में चुभ रहा था.

जैसे ही वो फ्री हुई, मेरे पास आयी, बोली- यार अभी नहीं।मैंने थोड़ा उनको इमोशन ब्लैकमेल किया और कहा- मैं ऊपर रूम में इंतजार कर रहा हूँ. मैंने उसकी चूत को में लंड को डाल कर एक धक्का लगाया और पूरा लंड उसकी चूत में उतार दिया. इसलिए सीजेरियन केस में तो कम से कम तीन महीने सम्भोग से दूर रहना चाहिए.

अब मुझे आनन्द आने लगा था और मैं उसे कभी पकड़ कर, कभी अपने चूतड़ उठा कर मजे आने के संकेत देने लगी थी.

इस लिए सभी पति पत्नी के लिए यह सही राय है कि वे प्रसव के तीन महीने तक संयम बरतें, उसके बाद सब कुछ सामान्य रहने पर ही सेक्स शुरू करें … वो भी सीमित मात्रा में जैसे सप्ताह में एक बार …डिलीवरी के कुछ माह बाद स्त्री का मासिक धर्म शुरू हो जाता है लेकिन यह अनियमित रहता है इसलिए दोबारा गर्भ धारण से बचने के लिए गर्भ निरोध के साधन इस्तेमाल करने चाहिए. वैसे जो भी हो हम सभी महिलाओं में कविता ही सबसे कम उम्र की थी, तो स्वाभाविक है कि उसकी नसें और मांसपेशियां हम बाकी की महिलाओं से थोड़ी ज्यादा मजबूत और सख्त होंगी ही. फिर उसने धीरे-धीरे अपनी चूत से अपनी पैंटी का पर्दा हटाना शुरू कर दिया.

निर्मला चादर को दोनों मुट्ठियों से पकड़ कराहते हुए और चीखते हुए राजशेखर के धक्के झेलती रही. लड़के ने उसे उल्टी तरफ घुमा कर उसे घुटनों के बल पर कर दिया, वो अंतरा को डॉगी स्टाइल में चोदना चाहता था. अब कांतिलाल उसके होंठों को चूमने लगा, जिससे कविता और अधिक शर्म से उससे दूर होना चाहने लगी थी.

दीदी बोली- तुम्हारे हाथों में जादू है, मेरा दर्द कम हो रहा है … दो तीन दिन की मालिश कर देना, मैं ठीक हो जाऊंगी. भाभी ने एक रेशमी सा गाउन पहना हुआ था और उनके गीले बाल उनके कंधे पर बिखरे हुए थे.

मेरा तो ये सोच कर ही सिर में दर्द होने लगा था कि अभी 1 बज गए थे और अगर फिर से ये चारों संभोग करना चाहेंगे, तो हमसब औरतों की तो हालत खराब हो जाएगी. वहां मुझे उनकी चूत से एक बहुत ही मनमोहक सी खुशबू आ रही थी, जो मुझे उनकी उनकी चूत चाटने पर मजबूर कर रही थी. इन सब बातों को जानने के बाद भी मैं उसके वश में होती जा रही थी, पता नहीं क्यों.

मैंने अपनी टांगें चौड़ी कर लीं और वह मुझे चित करने के लिए पूरा जेार लगाए जा रहा था.

मैडम बोली- तो देर किस बात की है, आ जाओ!मैंने कहा- इतनी जल्दी नहीं, अभी तो बहुत कुछ बाक़ी है. दोस्तो, कैसी लगी मेरी बीवी की चुदाई की हॉट वाइफ स्टोरी … आगे के पार्ट में मैं बताऊंगा कि दूसरे दिन से मेरी बीवी बार बार कैसे चुदी … और घर में भी अपनी चुदायी करवाने के लिए बाहरी लोगों को लाने लगी. प्रीति से अच्छी पहचान के वजह से कई बार मैं उसके घर भी जाया करता था और वो भी मुझे छोटा भाई कहकर अपने घर बुलाती थी.

उसने मुझे जबरदस्ती विनती करते हुए उठाकर सोफे पर झुका दिया और खुद मेरे पीछे आ गया. उन्होंने मुझे यह करता देख कर पीछे धक्का दिया और कहा- मैं तेरी मॉम हूं.

चूंकि पढ़ाई पूरी होने के बाद मुझे कोई अच्छी नौकरी नहीं मिली थी तो मैं अपनी बुआ की बेटी के पास गुवाहाटी चला गया था. वो बिना देर किये झट से अपनी चूत को अपने हाथों से मसलती हुई मेरे लंड पर रखते हुए उस पर बैठते हुए मेरी गोदी में आ गई. वो दोनों आपस में बातें करने लगीं और कुछ देर के बाद लाइट बुझा दी गई.

सेक्सी पिक्चर घोड़ा

भाभी ने जिद करते हुए कहा- बताओ ना यार?मैंने बोला- आपका फिगर … आपका फेस सब कुछ मस्त है.

फिर मैंने 69 में आ कर उसे लंड चुसना शुरू किया और खुद मैं उसकी चूत को अपनी जीभ से चाटना शुरू कर दिया. निर्मला इधर हाय हाय करती रही और फिर कराहते हुए बोली- हो गया … मजा आया न?कांतिलाल ने अपनी सांस छोड़ी और ढीले बदन से अपना लिंग उसकी योनि से निकाल कर सोफे पर बैठ गया. तब मॉम ने कहा- हमारा परिवार चुत मारने वाला परिवार है … तुझसे पहले तेरा भाई मुझे चोद चुका है.

उसने मुझसे कहा कि मैं हवाई जहाज से चली जाऊं, पर मैं तो आज तक केवल बस और ऑटो से ही घूमती आयी थी. मैंने मेल आई-डी नीचे दी हुई है जिस पर आप मुझे मैसेज भी कर सकते हैं. सेक्सी वीडियो ब्रदरमेरा पति भी ऐसा है, जिसे काम से फुर्सत ही नहीं है कि मुझ पर ध्यान दे … मुझसे प्यार करे … मुझसे सेक्स करे, मेरी जरूरतों को पूरी करे.

कुछ देर तक मेरे लंड से खेलने के बाद वो बोली- चलो, अब मैंने तुम्हें माफ कर दिया. जैसे जैसे धक्के बढ़ते गए, वैसे वैसे कमलनाथ उत्तेजना में और अधिक खूंखार दिखने लगा.

अब तक आपने मेरी इस दिलकश हॉट गर्ल अनल सेक्स स्टोरीकमसिन लड़की की कुंवारी गांड में सख्त लंडमें जाना था कि मैं नजमी को दुबारा भी चोद चुका था. मेरी ये तरकीब अब काम आयी क्योंकि मुझे अनुभव है कि मर्दों को ज्यादा उत्तेजित करने के लिए स्त्री को आगे आना पड़ता है. वो बोलीं- आओ बैठो, चाय लोगे?मैं अब इस मौकै का फायदा उठाना चाहता था.

उसकी नर्म नर्म गोरी गोरी मांसल जांघें देखकर मेरे मन में लड्डू फूटने लगे. मेरी पहली सेक्स स्टोरी गाँव की सेक्सी लड़की, स्कूल की गर्लफ्रेंड सोनाली के साथ है, उस टाइम मैं 19 साल का था, मैंने 11 वीं पास करके बारहवीं में एडमिशन लिया था. राजेश्वरी ने राजशेखर की उत्तेजना भंग सी कर दी थी, उसमें पहले की तरह जोश नहीं दिख रहा था.

मैंने उसके होंठों को चूसते हुए एक जोर का झटका मारा, तो लंड के आगे का हिस्सा उसकी चूत में घुस गया और काजल चीख पड़ी- उम्म्ह … अहह … हय … ओह …उसकी आंखों में आंसू आ गए.

मगर दीदी ने मुझे हटा दिया और बोली- पहले खाना बना लेते हैं और उसके बाद सेक्स करेंगे. 32 के साइज के चूचियां थीं और गांड एकदम मस्त और बिल्कुल बाहर निकली हुई थी.

आप लोगों को एक सच्चाई यह भी बताना चाहता हूं कि मैंने कभी भी अपनी तरफ से किसी लड़की को प्रपोज नहीं किया था. कुछ ही देर में मोनू का वीर्य भाभी की चूत में निकल गया और वो नीचे से हट गया. मेरी बात पर उसने प्रश्नवाचक लहजे में कहा- मतलब कि चोदने के बाद!उसके मुंह से ऐसे कामुक शब्द मुझे हर पल बेकाबू किये जा रहे थे.

सभी के बात व्यवहार और कपड़ों के पहनावे से लग रहा था कि वे सब काफी उच्च घराने से थे और काफी अमीर थे. बाहर गांव था, नलिनी के परिवार के लोग होने के कारण वहां कुछ नहीं हो सकता था और ना ही कुछ आगे हो सका. आंटी ने मेरे लंड को तुरंत हाथ में पकड़ लिया और उसकी मुट्ठ मारने लगी.

हिंदी पोर्न बीएफ आखिरकार मेरे लंड ने दम छोड़ दिया और मैंने पूरा का पूरा वीर्य उसकी चुत में छोड़ दिया. उसकी चूत को मैं रात भर चोदूंगा, तू भी चल, तू भी अपना लंड उसके मुँह में डाल लेना.

भाभी जी की सेक्सी चुदाई वीडियो

मैडम की चूत एक दम क्लीन शेव चिकनी लग रही थी, मुझे ऐसे लगा कि मेरा हाथ मक्खन पर फिसल रहा हो. अन्तर्वासना की सभी चूतों को मेरे लंड का सलाम, मैं अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज का पुराना पाठक हूँ और 4-5 साल से अपनी हिन्दी सेक्सी स्टोरी लिखना चाह रहा था, मगर समय नहीं मिल पा रहा था. रमा और उसके पति पैसे वाले लोग हैं, इस वजह से उनके लिए हवाई जहाज से सफर करना मामूली बात थी.

उसके चूचों के बीच में मैंने अपनी जीभ से चाटना शुरू कर दिया और उसके चूचों की सफाई करने लगा. मैंने कहा- वो बड़ी हैं ना!अम्मा ने कहा- हां वो 59 साल की हैं, लेकिन वो भी चुदक्कड़ हैं. 40 की उम्र में 24 का दिखनाउसने आगे बताया कि क्या पता वो आदमी कैसा हो … सीधा संभोग करने चाहे और हो सकता है, कंडोम भी न लगाए.

मैंने लंड को निकाल कर उसकी चूत पर सेट किया और अपने सुपाड़े को उसकी चूत की फांकों के बीच में लगा कर एक झटका मारा तो लंड उसकी चूत को फैलाता हुआ अंदर घुस गया.

मैंने देखा कि नमिता अपनी बूर सहला रही है तो मैंने उसकी गांड से अँगूठा निकाल कर बूर में डाल दिया. इससे काजल बुरी तरह तड़फने लगी और बोलने लगी- आई लव यू … प्लीज़ और मत तड़फाओ … आज मुझे लड़की होने का अहसास करवा दो.

मेरा मन उसकी गांड की चुदाई करने का भी कर रहा था लेकिन अभी ये हमारा पहली बार था तो अभी मैं उसकी गांड में लंड डाल कर उसको डराना नहीं चाहता था. वहां से निकलने के बाद रमा मुझे एक कपड़े की दुकान पर ले गई और जोर जबरदस्ती करके मुझे मेरी नाप के नए कपड़े दिलवाए. मैंने पूछा- आंटी आप कह रही थीं कि कुछ काम है?मेरा इतना कहना था कि वो मेरे पास आईं और मेरे गाल पर किस करके बोलीं- रुको तो सही मेरी जान … काम ही काम है तुमसेबस इतने में ही मेरा डर एकदम से खत्म हो गया.

फिर मैं नीचे गया और मां से बोला कि मम्मी मैं कॉलेज जा रहा हूँ, खाना वहीं खा लूंगा.

फिर उसने मुझे डॉगी स्टाइल में खड़ा किया और मेरे पीछे से लंड पेल कर चुदाई करने लगा. मगर इस सारे खतरों को दरकिनार करके मैंने फरजाना की फुद्दी में अपना पूरा लंड डाल दिया. मुझे एक बगल बिठा कर नेता जी फिर से उनके साथ व्यापार की बातों में लग गए और मदिरा भी अब अधिक हो चली थी.

बंगाली सेक्स व्हिडिओअगर तुम चाहती हो क़ि मैं परेशान ना रहूं तो मुझे अपनी दीदी की कमी महसूस ना होने दो, मेरे प्यार को अपना लो।अब उसका विरोध कम हो गया और वो मेरी बांहों में लिपट गई. मैं तो आपको यही कहूंगा कि अगर आपको मौका मिल रहा है मजे लेने का तो उसको हाथ से क्यों जाने दे रही हो.

चोरी वाली सेक्सी वीडियो

क्योंकि शुरू में मैं बहुत शरमाता था … जिसके चलते मैं उनके साथ कुछ कर ही नहीं पाया. हॉल में लाइट्स न के बराबर थी … और आजू बाजू वाले मूवी के हॉट सीन देखने में बिज़ी थे. मैंने अपनी बीवी को बताया कि मेरा ट्रांस्फर तुम्हारे मायके में हो गया है.

वहीं निर्मला रवि के ऊपर उछल उछल कर तेजी में धक्के दे रही थी और ऐसा लग रहा था कि वो झड़ने वाली है. अगर आपको मेरी मॉम की चुदाई की सेक्स कहानी अच्छी लगी?मेरी ईमेल आईडी पर मैसेज भेजिए. मेरा लंड पानी से भीग चुका था, लेकिन वो पूरे लंड को चाट कर साफ कर चुकी थी.

इस तरह से हम सब साफ साफ राजेश्वरी की योनि में लिंग घुसता निकलता देख सकते थे. मैंने उसे जानबूझ कर अकेला छोड़ दिया था और मैं दूर से उस पर नजर बनाए हुए था. उसके बाद मैंने अपनी चूत में किस किस के लंड लिये और शादी से पहले मैं और किन लंडों से चुदी वो सब मैं आपको अपनी अगली कहानियों के माध्यम से बताऊंगी.

मैंने सोनू को उठा कर पलंग पर बैठाया उसके सिर को पकड़ा और उसके मुंह को चोदने लगा. उसका ऐसा कहना था कि मैं फिर से काव्या के ऊपर टूट पड़ा और उसे दीवार से लगा कर उसके पल्लू को हटा कर उसके ब्लाउज खोलने लगा और उसे किस करने लगा.

जैसे ही लंड उसकी चूत की जड़ तक पहुँचा, उसकी हल्की सी चीख निकल गई उम्म्ह … अहह … हय … ओह … फिर मैंने बहुत ही आराम से धीरे धीरे लंड को आगे पीछे करना शुरू किया और उसके होंठों को लगातार चूसता रहा.

थोड़ी देर बाद जब मैं किसी काम से अंदर गया तो मैंने देखा कि कमरे का दरवाज़ा बंद है लेकिन उसमें कुण्डी नहीं लगी थी. सेक्सी वीडियो हॉट इंडियनमैं भी अपने किरदार के मुताबिक गर्व भरे भाव दिखाते हुए मुस्कुराने लगी और नेताजी को लुभावनी अंदाज में मदिरा का गिलास दिया. सेक्सी पिक्चर ओपन मराठीअब रवि ने अपने एक एक हाथों से उसकी दोनों जांघों को पकड़ा और अपनी कमर से दबाब देते हुए पूरा का पूरा लिंग रमा की योनि में उतार दिया. सलमा की अम्मी- क्यों क्या करना है?मैं- तेरी चुदाई करनी है रंडी साली … तैयार हो जा, ज्यादा सवाल मत किया कर और तैयार होकर मुझे मैसेज कर?वो हंसने लगी और लिखा- आय हाय मेरा ठोकू छेद के लिए तड़फ रहा है.

फिर मैंने अपनी स्पीड तेज कर दी और आंटी की चूत को दस मिनट तक लगातार चोदने के बाद मेरा माल निकलने को हो गया.

सीमा भाबी ने मुझे बेड पर सीधा लेटा दिया फिर उन्होंने अपने एक हाथ पर सरसों का तेल ले लिया और दूसरे हाथ से मेरे लंड के चारों तरफ तेल की मालिश करने लगी. मगर मैं मन ही मन सोच रहा होता था कि जब वो खुश ही नहीं हो पाती तो यह सब अच्छे सेट पहनने का क्या फायदा है. तब तक दूसरी महिला ने पूछा- क्या आप सब सारिका को पहले से जानते हो?तब कांतिलाल ने उत्तर दिया- हां कल रात से तीनों सारिका को अच्छे से पहचान चुके हैं.

वहां हम दोनों ने खाना खाया, पर अब भी सेक्स की कोई बात ही नहीं हो रही थी. एक दूसरे में ऐसे खोये रहे 7 दिन तक जैसे हमारी जिन्दगी का मकसद सिर्फ यही है. पर जहां औरतों की बारी होती है, वहां तो परीक्षा लेने में औरतें आगे होती ही हैं.

गाव की लडकी सेक्सी

अब नहीं देखने हैं क्या?इतना कह कर उसने मेरे बालों को छोड़ दिया और सामने कुर्सी पर जाकर बैठ गयी. पर वो तो जैसे बेहोश सी हो गई। जिसके बाद मैं डर गया।पर जल्दी ही वो होश में आ गई और मुझे धक्का देकर अपने ऊपर से हटाने लगी। मैं कहाँ मानने वाला था, मैं कभी उसके होंठ चूसता कभी उसकी छोटी-छोटी चूचियाँ चूसता।लगभग 5 मिनट के बाद मुझे लगा कि वो अपनी गांड हिला रही है. मैं मर जाऊंगी अगर थोड़ी देर और कर दिया तो।मैंने देखा कि उसका मुंह सूख चुका था.

मैं बड़े कामुक और लुभावने अंदाज में बोली- प्लीज जानू इतना भी मत तड़पाओ.

मेरे मन में वो जिज्ञासा थी इसलिए मैं उसी के बारे में बात करना चाह रहा था तो मैंने दीदी से कहा- जिस बात के बारे में आपको परेशानी होगी मैं उसी के बारे में तो बात करुंगा न आपसे …वो बोली- हमारी सेक्स लाइफ के बारे में क्या बात करेगा तू, जब हमारे बीच में कुछ है ही नहीं तो.

कमलनाथ का लिंग भी इस तरह से चूसे जाने की वजह से कठोर हो कर पत्थर सा दिखने लगा था. जब आंटी नॉर्मल हुई तो वो अपनी गान्ड को आगे पीछे करने लग गई।फिर मैंने धीरे धीरे धके लगाने चालू किए. बॉयज जूतीमेरी मदमस्त जवानी से लट्टू होकर कमलनाथ मेरे साथ सम्भोग करने लगा था.

राजेश ने कहा कि मैं अपनी पत्नी को खुश नहीं कर पाता हूं इसलिए वो पैसे लेकर सेक्स का मजा ले लेती है. मैं- चिंता मत कर कुतिया … मेरी रंडी … ले लंड ले … साली मां की लौड़ी अपनी चूत को बोल दे … अब लौड़ा घुसने वाला है. दर्द में मेरी आंखें बंद होने लगीं मैं बोली- आह्हह … नहीं अंकल … आह्ह … मत करो।उन्होंने मेरी कराहटों पर ध्यान नहीं दिया और मेरी गांड को अपनी उंगली से ही चोदने लगे.

वे सिसकारियां लेते हुए बोलीं- मेरे राजा और मत तड़पा अपनी भाभी को … जल्दी से डाल दो अपना लंड … अपनी भाभी की चूत के अन्दर पेल दे. यह सुन कर तो मेरा लंड पैन्ट फाड़ कर बाहर आने को हो गया … क्योंकि उतनी देर राज की चाची घर में अकेली रह जाने वाली थी.

उसकी गीली गांड में मेरे लंड का टच होना हर पल मेरे अंदर हवस को बढ़ाये जा रहा था.

कसम से भगवान ने उन्हें क्या फ़ुर्सत से बनाया है, कोई भी एक बार उन्हें देख भर ले, फिर चाहे बुड्डा ही क्यों न हो. उन्होंने मेरी तरफ होंठ बढ़ाए तो मुझे ऐसा लगा कि आज शायद आंटी पहल कर रही हैं, मेरी चुदाई स्टोरी अब बन जायेगी. नेता जी ने मेरे हाथ से गिलास लिया और फिर एक हाथ से पकड़ कर मुझे अपनी जांघों पर खींचकर बिठा लिया.

2017 सट्टा किंग यदि आपकी बहू आपके साथ ऐसा व्यवहार कर रही है तो यह बिल्कुल ही उचित नहीं है. फिर मैंने अपना दूसरा हाथ गर्दन से हटा कर उसकी बेबी (चूत) पर रख दिया.

इस पर कांतिलाल ने कहा- भाई देखो रमा और मुझमें कोई ऊंचा नीचा नहीं है, अगर रमा को अच्छा लगे, तो साथ समय बिताने में क्या बुराई है. आंटी बहुत खुले विचारों की थी तो मैं कभी-कभी आंटी के गर्दन और गांड पर हाथ फेर देता था जो मुझे बहुत अच्छा लगता था।एक दिन आंटी का फोन खराब हो गया था तो वो हमारे घर आ गई और हमारे घर के लैंडलाइन वाले फोन से फोन लगाने लगी. आंटी एक पल के लिए तो सकपका गईं, फिर उन्होंने अपनी ननद को कमरे में आने को कहा, वो गर्म लौंडिया कमरे में आ गई.

राजस्थानी पोर्न सेक्सी

बेड पर तीन लड़के पूरी तरह नंगे बैठे थे और अपने अपने लंड सहला रहे थे, पर अंतरा कहीं नजर नहीं आ रही थी. उसके कंधों को भी दांतों से हल्के हल्के काटा और धीरे धीरे किस करते हुए उसकी कमर तक पहुंच गया. मैं और ज्यादा जोश में आकर सिसकारियाँ भरने लगी उम्म्ह … अहह … हय … ओह … और उसके बालों में अपनी उंगलियाँ घुमाने लगी.

मुझे बहुत गुस्सा आया, लेकिन अब पैसे लिए थे, तो क्या कर सकते थे, प्रिया को रोहण का लंड चूसना पड़ा. तीन महीने के बाद अगर उसको आगे भी करना होगा, तो वो उसकी मर्ज़ी से कमीशन पर रहेगा.

तब मुझे धीरे धीरे समझ आया कि ये लोग अच्छे खासे खुले और ऊंचे वर्ग के लोग हैं.

मैंने अपने हाथों से उसकी ब्रा और पैंटी को उतार कर उसको पूरी नंगी कर दिया. अंदर मैंने देखा कि मेरा भाई अपने लंड को हाथ में लेकर सू-सू करने की पोज में खड़ा हुआ था लेकिन वो सू-सू करने की बजाय अपने लंड को आगे और पीछे की तरफ किये जा रहा था. क्योंकि वो सिर्फ मैडम को ज़िम्मेदार मानता है कि मैडम के अन्दर कमी है.

उसके फिगर के कारण ही बार बार मेरा लंड उसकी चूत मारने के लिए तड़प उठता था. फिर उसने अपने लंड को हाथ में लेकर हिलाया और फिर मेरे हाथ में दे दिया. मेरे अलग होते ही रवि ने निर्मला को धकेलते हुए उसे नीचे जमीन पर गिरा कर लिटा दिया और उसकी दोनों टांगें फैला उसके मोटी मांसल जांघों के बीच झुक गया.

पहले तो ब्रा और कुर्ते के ऊपर से उसके दूध दबाए, फिर सलवार के अन्दर हाथ डाल कर बहन की चूत को मसलने लगा.

हिंदी पोर्न बीएफ: हुआ यूं कि मेरा ब्वॉयफ्रेंड मेरे साथ सुहागरात मनाना चाहता था, मैं भी उसके साथ फर्स्ट टाइम सेक्स करने के लिए तैयार थी. उसकी गर्म और गहरी सांसों के चलते उसकी चुचियां और तेजी से ऊपर नीचे हो रही थीं, जिसे देख के मेरा लंड पूरा टाइट हो गया.

फिर जब लंड उसकी चूत से सिकुड़ बाहर आने का संकेत देने लगा तो मैं उठ गया. ये सब देख के मैंने भी अपना लंड पकड़ लिया और वहीं पड़ी एक कुर्सी पर बैठ गया. पहले तो उसने मना किया लेकिन मेरे काफी कहने पर फिर वो राहुल के साथ चैट करने के लिए तैयार हो गयी.

भाभी पहले तो ना ना करने लगीं- क्या कर रहे हो अजय … छोड़ भी दो उफ्फ्फ्फ बदमाश!मैं भाभी की कुछ नहीं सुन रहा था और भाभी के चूचों से पूरा लिपट गया था.

उसकी चूत में लंड डालते हुए अब मुझे ऐसा लगने लगा था कि जैसे मैं किसी मक्खन के कटोरे में लंड को डाल रहा हूं. मैंने फटाक से अंदर का दरवाजा बंद कर दिया और उसको अपनी ओर खींच कर उसके हाथ पीछे बांध कर उसके होंठों को बुरी तरह से चूसने लगा. अब मुझे भी अपने चूतड़ों के नीचे बहुत गीला गीला सा लगने लगा था, सो मैं वहां से हटना चाहती थी.