हिंदी देसी एचडी बीएफ

छवि स्रोत,क्सक्सक्स वीडियो आंटी

तस्वीर का शीर्षक ,

रा वन मूवी: हिंदी देसी एचडी बीएफ, मेरे इतना बोलते ही भैया ने मुझे बेड में धक्का देकर लिटा दिया और वो मेरे ऊपर चढ़ कर मुझे किस करने लगा, मेरे चुचे दबाने लगा.

सेक्सी देसी पोर्न

फिर जब लंड ने रबड़ी से भरी गुफा में प्रवेश किया, तो लंड को भी अलग ही अहसास हुआ और इस बार चुदाई में समय भी कुछ ज्यादा लगा था. बड़े बड़े लंड की चुदाईपायल भी शादी के बाद मुझे कभी नहीं मिली लेकिन आज भी वह पहली चुदाई मुझे बड़ी याद आती है.

मैंने उससे पूछा- लग तो नहीं रही? बहुत दिन बाद हम मिले हैं, तुम जैसा मस्त माशूक बड़ी किस्मत से मिलता है. जिम वाली बीएफउस दिन ना मुझे कोई जल्दी थी ना रीटा को … क्योंकि दिन के 2 बजे से लेकर अगली सुबह 10 बजे तक हम दोनों कमरे में ही रुकने वाले थे.

इसके बाद मैं बिना मुड़े उसे तड़पता छोड़ कर घर की ओर निकल गया क्योंकि रात के 10 बज चुके थे और घर से मैं अभी भी 2.हिंदी देसी एचडी बीएफ: ये वाली ट्रेन बड़ी स्लो चलती है, एक तरह से इसमें मुझे दूसरी ट्रेन से चार घंटे ज्यादा लगने वाले थे.

इतने में विलास अपनी बाईक लेकर आया और मैं पीछे बैठकर सबको बाय करके आगे बढ़ गया.उसने लंड महसूस करते हुए कहा- राज तुम्हारा तो बहुत बड़ा है … मेरी तो फट ही जाएगी.

बीएफ इंडियन वीडियो - हिंदी देसी एचडी बीएफ

मैंने देर ना करते हुए अपनी चाची को पलटाया और उनकी गांड में उंगली करने लगा.मैं बहुत घबरा रहा था क्योंकि ना तो मैंने पहले संभोग किया था और ना किसी होटल में इस तरह गया था.

प्राची ने रूम में आते ही मेरे चड्डी में हाथ डाल दिया और मिनी के ऊपर से चादर हटा दिया. हिंदी देसी एचडी बीएफ अब मैंने शिल्पा को पीठ के बल लेटा दिया और फिर से उसकी टांगों के बीच में आ गया.

देखते ही देखते उसका लंड असली आकार में आ गया, काफी लम्बा और मोटा था.

हिंदी देसी एचडी बीएफ?

उन दिनों नयी नयी जवानी आना शुरू हुई थी और शरीर के यौनांग उस समय कुछ ज्यादा ही ध्यान खींचते थे. एक अजीब से डर के मारे मेरी फटी पड़ी थी क्योंकि मुठ का थोड़ा गीलापन कपड़ों पर था. जब हमारी नजर से नजर मिली तो मैं मुस्कुरा दी और मैंने उसको अन्दर आने के लिए कहा.

दिन भर मैं ऑफिस के काम में बिज़ी रहता था और घर के सारे लोग नीचे ही रहते थे. मुझे राहुल की बात सुन कर कुछ समझ नहीं आया कि मैं अपने घर में क्या कह कर राहुल के साथ उसकी चाची के घर जाऊंगा … और राहुल भी मुझे साथ ले जाकर अपनी चाची को क्या बताएगा कि मैं कौन हूँ और इधर क्यों आया हूँ. एक बार तो जब वह मेरे बगल से निकला और उसने मेरे पास आकर धीरे से बोल दिया- जीनी तुम बड़ी खूबसूरत लग रही हो.

कहानी के पिछले भागअंग्रेज टूरिस्ट का लंड मेरी गीली चूत परमें आपने पढ़ा कि मैंने एक अंग्रेज टूरिस्ट के साथ चलती बस में सेक्स का मजा ले रही थी. अब आगे भाभी की और देवर की चुदाई:भाभी से बात होने के बाद मैंने सर झटकाया और डाइनिंग टेबल पर आ गया. मुझे देखते ही उन्होंने मुझे ‘गुड मॉर्निंग गौरव …’ बोलते हुए कातिलाना आंख मारी.

ये कह कर अदिति ने मेरी बांहों की गिरफ्त से खुद को छुड़वाकर कहा- हर्षद, अब बाथरूम में जाओ, वर्ना ऑफिस के लिए लेट हो जाओगे. वो फिर से लंड हिलाने लगी तो मैंने उसे घोड़ी बना दिया और चुदाई करने लगा.

मैं आज उससे पहले ही पहुंच गया था और बेसब्री से उसके आने का इंतज़ार कर रहा था.

लंड चूसने के बाद मौसी बेड पर लेट गईं और उन्होंने अपनी सलवार का नाड़ा खोल दिया.

मैंने आंखें खोलीं और उसे देख कर कहा- वाह, सुबह सुबह से सुन्दरी के दर्शन हो जाना कितना अच्छा लगता है. इसी के चलते एक महिला ने मुझसे संपर्क किया, जिसने अपना नाम रीटा बताया था. मौसी- तुम कुछ देर आराम कर लो, इतना लंबा सफ़र तय करके आए हो, थक गए होगे.

वो मुझे सब बताती थी कि उसके होने वाले पति ने उससे क्या कहा और उसको कैसा फील हुआ. पहले भागबस स्टॉप पर एक भाभी से दोस्तीमें अब तक आपने पढ़ा था कि उस दिन स्वीटी के साथ थोड़ा सा वक्त गुजार कर मैंने घर आकर उसके नाम की मुठ मारी और उसके बारे में सोचने लगा. सर ने मुझे अपने पास बिठा लिया, थोड़ी देर बात की और मेरी जांघों पर हाथ रख कर सहलाने लगे.

मैंने जल्दी जल्दी से कुछ धक्के लगाए और लंड चूत से खींच कर सारा माल उसके पेट पर निकाल दिया.

मैं अब अपने काम में इतना मशगूल रहने लगा था कि मैं अपने घर से क्लिनिक … और क्लिनिक से घर से मतलब रखता था. जब मैं जाता हूं तो उंगलियों से अपनी नाजुक कोमल गुलाबी चुत मसलती है, मुझे चोदने के लिये उकसाती है. मैंने सॉरी कहा तो उसने कहा- कुछ नहीं … कभी जब उनका मन हो तब!तो मैंने पूछा कि और तुम्हारा मन हुआ तो?वो हंस दी और बोली- अभी तो सेक्स पूछने पर सॉरी कहा था … और वापस.

एक कहावत है कि बन्दर कितना भी बूढ़ा क्यों न हो जाए, गुलाटी खाना नहीं भूलता. दीदी बोलीं- अच्छा मतलब हिला चुका है?मैंने कहा- नहीं अभी हिला ही रहा था कि आपका फोन आ गया. जल्दी ही मैंने उसकी स्कर्ट टॉप, ब्रा उतारकर चुचियां चूसना शुरू कर दिया.

सामने अपने कमरे से भैया फैक्ट्री निकल गए और उनका बेटा स्कूल चला गया.

शायद मेरे खड़े लंड का अहसास पाकर वो भी कुछ कर गुजरने के मूड में आ गई. हालांकि फ़ोन पर बातें हुआ करती थी लेकिन मिलना कभी नहीं हुआ था उस कॉलेज वाले कांड के बाद से।मीनल की शादी का कार्ड और उसकी डेट देख मैंने सीमा को फ़ोन कर बताया कि कुछ खुराफ़ाती करने को मन मचल रहा है और उससे मिलना भी चाहती हूँ.

हिंदी देसी एचडी बीएफ इस बार वो मुझे गालियां नहीं दे रहा था बल्कि मुझे प्यार से भरी चुदाई कर रहा था. गांड में उंगली लेकर उसे मजा तो आया पर भी मेरा लंड गांड में लेने को नहीं मानी.

हिंदी देसी एचडी बीएफ दूध से सफेद दूध परोसने के कारण हिचकोले खा रहे थे क्योंकि उसने ब्रा नहीं पहनी थी. उसके ऊपर चढ़ कर मैंने उसके होंठों से चूमना शुरू किया और कमर पर सरक आया.

वो शादी रात की थी, मैं भी सौम्या की शादी में गया था, जाता कैसे नहीं … सौम्या को दिया हुआ वादा भी तो पूरा करना था.

जिम सेक्सी पिक्चर

मुझे हैरानी इसलिए हुई कि जिधर से मैं खा रहा था, वहीं से वो भी जीभ से कुल्फी चूस रही थी. आज मेरे लिए तो यह सुनहरा मौका था क्योंकि कुंवारी चूत चोदने का मौका पहली बार मिला था. इसलिए मैंने उससे कहा- अभी तुम अन्दर चली जाओ और रात को 10:00 बजे जब सब सो जाएं तो मिलने के लिए बाहर आ जाना.

मैंने सोच लिया था कि अब मैं इसको चोद कर रहूंगा … क्योंकि वीना जैसी जवान और खूबसूरत लड़की लड़की बहुत ही नसीब से मिलती है. सौम्या डार्लिंग की नजर मुझ पर पड़ी तो उसने प्रश्न भरी निगाहों से मुझे देखा. हम दोनों ने चिपक कर बॉडी प्ले किया और सारे कपड़े उतार कर पीछे वाले सोफे पर लेट गए.

मैंने सरिता को हाथ देकर उठाया और सरिता बैठकर चुत से बहते हुए कामरस को देख कर बोली- बहुत दिनों के बाद मेरी प्यासी चुत की प्यास तुम्हारे मोटे लंड ने बुझायी है हर्षद!हां सरिता आज मैं भी बहुत खुश हूँ.

अब डाक्टर रेखा ने मेरे लंड के सुपारे पर दवाई टपका दी और हाथ से पूरे लंड और अंडकोष को नहला दिया. वो तो पागल सी होने लगी और चिल्लाने लगी- आह उह उह आह उई और तेज राज … और तेज मेरे राजा … आह और तेज चोदो … आंह मेरी चुत का पानी निकाल दो. मैंने उसको उल्टा लेटा दिया और उसके बालों को साइड में करके उसकी गर्दन पर पीछे से चूमा, तो उसकी तो आवाज़ निकल पड़ी- उम्म्म्म!वो अपने होंठों को खुद काट रही थी.

कमरे में आने के बाद जब उसने हाथ नहीं छोड़ा, तो मैंने उसे अपनी ओर खींच लिया और वो जैसे तैयार ही थी. तब विलियम ने थोड़ा ऊपर आकर मेरे बूब्स के अंदर से अपना लण्ड निकाल कर पूरा मेरे मुंह में दे दिया. बाजार से आते वक्त मैं सेक्स की गोली लेते हुए अपने कमरे पर आ गया था.

उस दिन मुझे बड़ा मजा आया, तो अब मैं रोज ही उनकी ब्रा और पैंटी पर मुठ मारने लगा था. उसके चेहरे से मुझे समझ आ रहा था कि उसको चुदाई से पूरी तृप्ति मिली है.

अब जल्दी से मैं तुम्हारे इस मूसल जैसे लंड को अपनी चूत में समा लेना चाहती हूँ. थोड़ी देर बाद फेरे हुए, सौम्या ने सच में मेरी मलाई से भरी चूत के साथ ही फेरे लिए … वो भी बिना पैंटी के. जिससे मैं थोड़ी आगे बढ़ गयी लेकिन उसका आधा लंड मेरी चूत में घुस गया था.

फिर उसने दुबारा अच्छे से लंड को मेरी चुत की फांकों में सैट किया और फिर से ठोकर मारी.

उनमें से एक ने मुझसे पूछा- कहां जा रहे हो राहुल?मैंने कहा- बाजार जा रहे हैं. अब वो मेरे सामने सिर्फ ब्रा और पैंटी में थी।मेरा 7 इंच लम्बा लन्ड अब बिल्कुल सख़्त हो चुका था जैसे अभी पैंट फाड़ कर बाहर आ जायेगा।मेरी चाची ने मेरे लन्ड को खड़ा देखा और हल्का सा मुस्कुराते हुए मुस्कान को कहा- पूरी नंगी हो जा बेटी!मुस्कान ने अब अपनी ब्रा ओर पैंटी भी निकल दी. दूसरी ओर हमारे एरिया का एक मवाली लड़का मुकेश, मुझे दिखने में काफी अच्छा लगता था.

थैंक्यू किस बात का?सरिता पट से बोली- हां, मैं भी तो तुम्हारी भाभी हूँ. उसने एक छोटा कम्बल निकाला, एक सिरा मुझे दिया और एक सिरा अपने ऊपर ओढ़ लिया.

टीना ने इस बार मेरा लंड बैठ कर बहुत ही प्यार से चूमा और अगले ही पल वो बड़े प्यार से लंड चूसने लगी थी. डॉक्टर ने कहा- आपके हाथ बांधने होंगे, ऐसे तो आप मुझे मेरा काम नहीं करने दोगी. मैंने उसके दूध देखते हुए आंख दबा दी और कहा- हाय माय क्यूट स्टूडेंट!जिनल- क्या बात है मेरे अर्जुन सर … आज कुछ ज्यादा ही हैंडसम लग रहे हो.

हिंदी सेक्सी वीडियो देहाती चुदाई वाली

मगर आज मैं मेरी शादी से पहले की स्कूल सर सेक्स कहानी को ही आपके सामने लिख रही हूँ.

उसकी क्लीनिक के साइड में ऊपर जानेके लिए सीढ़ियां थीं तो मैं उसी रास्ते से ऊपर आ गया. वो इठला कर बोली- जिधर चाहे ले चलो मेरे बलमा … बस मुझे तो तेरे उसका प्यार चाहिए. मैंने पूछा- हंस क्यों रही हो?तो उन्होंने हैरानी जताते हुए कहा- क्या सच में ये तुम्हारा पहली बार है?मैंने चाची को कसम दिलाते हुए बताया- हां चाची, आज से पहले मैंने कुछ नहीं किया.

उनके मुँह में अपनी पिचकारी मारते मारते मैंने अपना लंड बाहर निकाला और पम्मी आंटी के मुँह पर पिचकारी चला दी. अपना लंड उसकी गीली चूत में सेट करके मैंने जोर से धक्का लगाया और पूरा लंड एक बार में ही उसकी चूत में समा गया. सेक्सी औरत का बीएफमॉम एकदम जोश में थीं, वो बोलीं- कल कर लेना शादी … अभी पहले मेरी चुत की गर्मी शांत कर.

मुझे तो बहुत मजा आ रहा था लेकिन मौसी को बहुत ज्यादा दर्द हो रहा था. फिर मैंने पापा के लंड को अपनी चूत में ले लिया और उनके मोटे लंड से चूत चुदवाने लगी.

वो कहने लगीं- कैसे?मैंने कहा- अगर आप थोड़ी हिम्मत दिखाओ तो अपना काम आपके फ्लैट की छत पर ही आज रात को हो सकता है. उसने ज़ोर से उहन्न किया और उसी पल मैंने ज़ोर से लंड को गांड में भेद दिया. अब वो मेरे सामने सिर्फ ब्रा और पैंटी में थी।मेरा 7 इंच लम्बा लन्ड अब बिल्कुल सख़्त हो चुका था जैसे अभी पैंट फाड़ कर बाहर आ जायेगा।मेरी चाची ने मेरे लन्ड को खड़ा देखा और हल्का सा मुस्कुराते हुए मुस्कान को कहा- पूरी नंगी हो जा बेटी!मुस्कान ने अब अपनी ब्रा ओर पैंटी भी निकल दी.

रात को 11 बजे के आस पास मैं मॉम से बोला- मॉम, मुझे अपनी जिंदगी में आपके सिवाए कोई और लड़की नहीं चाहिए. फिर विशाल ने मुझको मोनिका के कपड़े पहनाकर खूब प्यार किया और मेरी गांड मारी. मेरी दोबारा से जोरदार चीख निकल गई- ओ गॉड … मर गयी मैं!मेरे दोनों हाथ उसकी पीठ पर जम चुके थे और मैं उससे लिपट चुकी थी.

मुझे तो यकीन ही नहीं था कि हमारा मिलन इस माहौल में हो भी सकेगा या नहीं.

तेरा कुछ करने का मन किया?मैंने उससे पूछा- क्या तुम्हारा भी ऐसे ही मन कर रहा है?उसने मेरी तरफ देखते हुए कहा- हां. उसके निपल्स को खूब मींजा, उसकी जांघों में मुँह डालकर उसकी चूत को किस किया, उसकी रिसती हुई चूत को चाटा.

विलास ने क्रीम निकाल कर मेरे लंड पर डाली और वो मेरे लंड की मालिश करने लगा. वो कहने लगीं- लेकिन मैं तेरी मौसी हूँ … मैं तेरे साथ ये सब कैसे कर सकती हूँ. पम्मी आंटी भी नीचे से अपने चूतड़ उठा उठा कर मेरा लंड अपनी चूत में लेने लगीं.

‘गु गु गुंग …’उसके मुँह में से आवाज निकल रही थी … साली पूरा लंड मुँह में लेकर चूस रही थी. उसकी चूत नंगी हो गई तो मेरे लोहे जैसे लंड का सुपारा सीधा रेखा की चूत पर रगड़ खाने लगा. अकेले घूमने जाना, रात को लंबी ड्राइव पर बाइक में निकल जाना, उसका मुझे इस प्रकार पकड़ कर बैठना कि मेरा लंड उसके टच से ही खड़ा हो जाए … ये सब आम होता था.

हिंदी देसी एचडी बीएफ उनको मैंने दोबारा कैसे चोदा, ये गरम सेक्स कहानी अगले भाग में लिखूँगा. अब ऐसे ही हम दोनों की बातें होना शुरू हो गईं ‘खाना खाया कि नहीं, आज क्या बनाया, क्या पहना, कहां गए, क्या किया.

हिंदी फिल्म सेक्सी सेक्सी हिंदी फिल्म

अन्तर्वासना में सेक्स कहानी पढ़ने के बाद मेरा लड़कियों भाभियों की तरफ आकर्षण बढ़ने लगा था. इस कहानी के अगले भाग में मैं आपको चुदाई के अगले मजे से रूबरू कराऊंगा. फिर जैसे ही मैंने मुश्किल से उसकी चूत के दाने को उंगली से पल भर के लिए छुआ होगा … तो उसकी चुत का पानी मेरी हथेली पर आना शुरू हो गया.

उनकी बात सुनकर मैं देर ना करते हुए मज़ाक में बोला कि नव्या भाभी आज मेरा लंड शांत ही नहीं हो रहा है. उस शाम को हम दोनों रीजिनल पार्क घूमने गए, फिर खाना बाहर ही खाकर फ्लैट में आ गए. नई ब्लू फिल्म वीडियोमेरे हाथ में जो टमाटर की थाली थी, उसका थोड़ा सा पानी उसके सूट के ऊपर लग गया लेकिन उसने मुझे संभाल लिया.

मैंने होटल के कमरे में लगी हुई घड़ी की तरफ देखा तो सुबह के 4:30 बज रहे थे.

अब वह मेरे सामने सिर्फ अंडरवियर में था और मैं ब्रा और साये में बेड पर लेटी थी. शाम को 6:00 बजे तैयार होते हुए मैंने लाल ब्लाउज और गोल्डन बॉर्डर वाली काली साड़ी पहनी.

मैंने कहा- अरे वाह … वो कब चला गया?नीरजा- वो अभी एक महीने पहले ही तो गया है. फिर राहुल ने चाची के चूतड़ों पर हल्की थपकी मार उनको उठने के लिए बोला- चलो जान, अब सीधी हो जाओ. बाथरूम में आकर मैंने अपने सारे कपड़े निकाल दिए और पूरा नंगा हो गया.

फिर रानी और चाची की चुदाई कैसे हुई, ये मैं आगे की सेक्स कहानी में लिखूंगा.

इतनी ही देर में रिया ने अपनी शर्ट को उतार फेंका।अब मेरे सामने रिया की नंगी पीठ थी।मेरे हाथ उसके जिस्म पर ऐसे फिसल रहे थे जैसे किसी संगमरमर के पत्थर पर पानी फिसल रहा हो।मैं अपनी भावना को काबू नहीं कर पा रहा था, रिया के जिस्म से खेलने के साथ-साथ मैं मुठ भी मार रहा था. कुछ देर इसी तरह चोदने के बाद जब चूत पूरी गीली हो गई, तो उसे भी अब मज़ा आने लगा. वो अपनी गोटियों तक लंड को मेरे मुँह में ऐसे डाल रहा था जैसे किसी कुतिया को चोद रहा हो.

हिंदी बीएफ प्लेयरउसके बाद से जब तक हमारे घर वाले जब तक नहीं आ गए, हम दोनों रोज 3 से 4 बार चुदाई कर लेते थे. मुझे लगा कहीं ये गांड मारने से मना न कर दे, तो मैं रुक गया और उसे सहलाने लगा, किस करने लगा.

मन्नू सेक्सी

[emailprotected]लेडी डॉक्टर सेक्स कहानी का अगला भाग:लेडी डॉक्टर ने मेरे लंड की खुजली का इलाज किया- 3. बातों बातों में उन्होंने बताया कि उनका शादी से पहले कोई अफेयर नहीं था, पति के साथ ही पहली बार संभोग किया था, पर पति बाहर रहता था, इसलिए वो डिल्डो वगैरह का उपयोग करती थीं. सरिता ने मुझे भी अपनी बांहों में कस लिया और मेरे होंठों को चूसने लगी.

देखने में वह बहुत सुंदर है, उसके होंठ रसीले हैं।उसके स्तन गोल गोल उसकी कमीज से बाहर को निकलते रहते थे। मेरा मन उनको देखकर लालायित होता था कि साली को पकड़ कर अपने नीचे लेकर उसकी चूचियां मसल कर चूस लूं।एक रात मैं साली की बेटी नेहा की चूत की चुदाई की कल्पना करके मुठ मार रहा था. उसके चुचे इतने मस्त भरे हुए थे कि मुझे समझो जन्नत का सुख मिलने लगा था. ऐसा बोलकर सौम्या ने मेरा लंड अपने कोमल हाथों में पकड़ा और उससे भी ज्यादा कोमल गुलाब की पंखुड़ियों जैसे अपने होंठों के बीच समेटने की कोशिश करने लगी.

लेडी डॉक्टर Xxx स्टोरी में पढ़ें कि मेरी खुजली का इलाज करने वाली डॉक्टर ने मुझे अपने घर बुलाया. मेरी प्यारी बहना कहने लगी- भाई, क्यों तड़पा रहे हो अपनी सेक्सी बहन को! लंड अंदर डालो ना!तो मैंने कहा- ठीक है ठीक है, डालता हूं लंड तेरी चूत के अंदर!मैंने थोड़ा धीरे से झटका दिया और मेरे लोड़े का टोपा आधा मेरी बहन की चूत के अंदर घुस गया था. बारी बारी दोनों चूचियों का रस पीने के बाद मैं धीरे धीरे चुत की तरफ़ बढ़ने लगा.

मैं मौसी के सारे बदन को चूमने लगा था तो मौसी फिर से सीत्कार भरने लगीं. वो बोली- कैसी चाहिए?मैंने कहा- आपको क्या लगता है कि मुझे कैसी की लेनी चाहिए?वो बोलीं- मतलब?मैंने कहा- मतलब कैसे लेनी चाहिए?वो मेरी इस बात को समझ रही थीं और मुस्कुरा रही थीं.

जब मैं रूम किराए पर लेकर पढ़ाई कर रहा था, तो एक लड़की अक्सर पास की गली से कोचिंग के लिए आया-जाया करती थी.

आगे क्या हुआ?दोस्तो, यह कहानी मेरे साथ हुई सच्ची घटनाओं पर आधारित है। कहानी थोड़ी लंबी है क्योंकि यह कहानी मेरी कॉलेज लाइफ के 3 साल के अनुभवों की है।फर्स्ट टाइम लव स्टोरी को मनोरंजक बनाए रखने के लिए कल्पनाओं का इस्तेमाल भी किया गया है।चलिए शुरू करते हैं. सेक्सी ब्लू पिक्चर देखनी हैमैंने भी वक्त की नज़ाकत को समझते हुए आगे कुछ नहीं किया और उसके साथ चुम्मा चाटी के बाद अलग हो गया. बियफ भिडियोउसने बताया कि ये कमरा कारखाने के मालिक का है, वह उससे किराया नहीं लेता है. मेरा फोन खराब हो गया था, मैंने उसको ठीक करने के लिए दुकान पर दे दिया था.

उसको लौड़े की सवारी करने में काफी मजा आने लगा था, वो और जोर जोर से ऊपर नीचे होने लगी, इससे उसके दूध हवा में उछल रहे थे.

रात को 11 बजे उसका मैसेज आया लेकिन दीदी मेरे रूम में आकर बैठ गयी थीं. वो भी इस सबका बुरा नहीं मानती और रिप्लाई भी नार्मल दे देती, चुम्बन की इमोजी पर स्माइल कर देती. वास्तविक जीवन में भावनात्मक लगाव भी ज़रूरी होता है, जो हैडी में दिख रहा था.

उसने मेरे लंड के पास जांघों पर अपनी एक नंगी टांग रख दी और किस करने का इशारा किया. अगले दिन मैं सो कर उठा तो सोचा नई भाभी को गुड मॉर्निंग बोलने उनके कमरे में चलते हैं. मैंने उससे कहा कि कल सुबह दस बजे तैयार रहना … और याद रहे घर में कोई नहीं होना चाहिए.

एनिमल सेक्सी वीडियो डाउनलोड

फिर मैंने रुचिता का हाथ अपने हाथ में लिया और उसे चूमते हुए कहा- आई लव यू रुचिता. अब उसको रात में पहनने के लिए कोई कपड़ा चाहिए था तो मेरे ही कपड़े थे. बीच बीच में रुक कर वो मेरी गांड पर जोरदार चमाट मार देता जिससे मुझे हल्का दर्द भी हो रहा था.

मेरी भाभी बनी सौम्या ऐक्सिडेंट के बारे में बताने लगी और बताते हुए ही रो पड़ी.

जब मैंने जाकर देखा तो बाथरूम का गेट खुला था और अदिति अपने मोबाईल में एडल्ट फिल्म देखकर पूरी नंगी होकर अपनी चूत में उंगली कर रही थी.

मैंने एक हाथ उसकी कमर पर रखा और दूसरे हाथ से उसके मम्मों को दबाने लगा. मेरी भाभी बनी सौम्या ऐक्सिडेंट के बारे में बताने लगी और बताते हुए ही रो पड़ी. इंडियन ब्लू फिल्म देहातीमुझे हैरानी इसलिए हुई कि जिधर से मैं खा रहा था, वहीं से वो भी जीभ से कुल्फी चूस रही थी.

उस मोहल्ले में पहुंचने के बाद रास्ते में सामने से पुलिस को आते हुए देखा तो टैक्सी वाला गाड़ी छोड़ कर भाग गया. इधर मैं अपने पाठकों को बता देना चाहता हूँ कि मेरे लंड का साइज़ औसत छह इंच का ही है और मोटाई भी ठीक ठाक है. वो मेरे सामने सिर्फ ब्रा पैंटी में रह गई थी और मैं एक अंडरवियर में उसके सामने था.

कभी कभी बेड के किनारे अपनी मोटी गांड रखकर सो जाती है और दोनों पैर उठाकर चुत खोलकर मुझे बुलाती है. उसी दिन शाम को विलास का फोन आया और उसने कहा- हर्षद, तुम चाचा बनने वाले हो.

उसने कहा- मैं नहीं आ पाऊंगी, बच्चों को सुला रही हूँ … तुम नीचे वॉचमैन को दे दो, वो दे जाएगा.

फिर जब ऑफिस के लिए तैयार होकर निकल ही रहा था कि मुझे उसकी ‘ऑफिस जाने से पहले मुझसे मिल कर जाना या बिल्डिंग के नीचे आकर कॉल करना …’ वाली बात याद आ गई. शादी के बाद शिल्पा को उसके हॉस्टल से होटल में ले जाकर उसकी गांड भी मारी और उसका बहुत मजा लिया. थोड़ी देर बाद, विशाल ने कहा- मोहन, रवि तुम दोनों बाथरूम में चलो, मैं तुम दोनों को नहलाऊंगा.

एक्स एक्स एक्स बीएफ ब्लू मूवी मैंने एक पल भी देर न करते हुए झट से उसके कड़क और तने हुए लण्ड को अपने हाथ में पकड़ा और जोर-जोर से उसको हिलाकर उसको गप से अपने मुंह के अंदर ले लिया. इसी के चलते एक महिला ने मुझसे संपर्क किया, जिसने अपना नाम रीटा बताया था.

मैंने कहा- तुम तो मुझे पूरा पाना चाहती थी … अब क्या हुआ?वो बोली- यार डरती हूँ कि कहीं कुछ गड़बड़ न हो जाए. फिर उसने उंगली से आधी चड्डी नीचे सरका दी तो मुझे उसकी गोरी गांड के दर्शन हो गए. उसने मुझे पूरी रात की बात बताकर मुझे कहानी लिखकर अन्तर्वासना पर भेजने को कहा.

बाप और बेटी की ब्लू फिल्म सेक्सी

हॉट गर्लफ्रेंड Xxx स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपनी गर्लफ्रेंड की चूत बहुत चोद चुका था. उसने क्रीम कलर की ब्रा और ब्लैक जाली वाली पैंटी पहनी थी, जिसे मैंने झट से निकाल दी. मैंने कहा- अरे उसमें कुछ नहीं होता है यार!फिर शिल्पा बोली- तुम भी तो बहुत अच्छे लगते हो, तो क्या तुमको किसी लड़की का ऑफर आया था?मैंने कहा- हां आया तो था.

अब मैं उल्टा घूम गया यानि कि 69 की पोजिशन में आ गया और उसे लौड़ा चुसवाने लगा. मुझे लंड चुसवाते समय ऐसा लग रहा था कि मैं जन्नत में सैर कर रहा हूँ.

जल्दी ही मैंने उसकी स्कर्ट टॉप, ब्रा उतारकर चुचियां चूसना शुरू कर दिया.

वह यह थी कि उस दिन आकांक्षा एक काले रंग की साड़ी पहन कर आई थी जिसमें वह बहुत ही खूबसूरत और आकर्षक लग रही थी. किस करने के साथ साथ मैं चाची के कूल्हों को अपने दोनों हाथों से दबाने लगा. हम दोनों एक दूसरे में ऐसे लिपटे हुए थे मानो हम दोनों एक ही जिस्म हों.

फिर रानी की चूचियों को सोचते हुए मुझे कब नींद आ गयी, कुछ पता ही नहीं चला. उसने मेरे बाल जोर से खींचे और बोली- प्लीज अन्दर डाल दो प्लीज़!तड़प के साथ उसको गुस्सा भी आने लगा था. थोड़ी देर बाद सरिता सामान्य हो गयी, उसने अपनी पैरों की पकड़ ढीली कर दी और पैर लंबे करके मेरे पैर पर रखे.

उसने कहा- मैं नहीं आ पाऊंगी, बच्चों को सुला रही हूँ … तुम नीचे वॉचमैन को दे दो, वो दे जाएगा.

हिंदी देसी एचडी बीएफ: कुछ पल उसने मुझे थोड़ा आराम करने का अवसर दिया … फिर उसने वापस अपना लंड मेरी चुत के और अन्दर धकेल दिया. पिछले साल की यह कहानी मेरी और मेरी चाची की बीच बने जिस्मानी संबंधों की है जब लॉकडाउन के कारण मुझे घर आना पड़ा.

उनको पंद्रह बीस मिनट लगातार चोदने के बाद मेरा लंड पानी छोड़ने की फिराक में था. इसी प्रकार एक बार उसके जन्मदिन के कुछ दिन पहले हमने नागपुर में मिलने का प्लान किया. फिर शिल्पा ने मुझे वो सब बातें भी बताई जिससे मुझे मालूम हुआ कि वो मुझे शुरू से ही पसंद करने लगी थी.

बाद में जब मेरा लंड सिकुड़ने लगा तो मैं सरिता के ऊपर से उठकर उसकी बाजू में लेट गया.

मैंने गियर बदलने के बहाने अपना हाथ उसकी जांघों पर रखा और सहलाने लगा. मैं बोला- सॉरी शिल्पा मुझे पता नहीं था कि तुम यहां हो!शिल्पा बोली- सॉरी क्यों बोल रहे हो, कोई बात नहीं. मैंने उसको जल्दी से पीठ के बल लेटा दिया और उसकी चूत में लंड को डाल कर उसकी ताबड़तोड़ चुदाई करने लगा.