जूही चावला के बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,हिंदी देहाती सेक्सी वीडियो बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सरोज की सेक्सी: जूही चावला के बीएफ वीडियो, जब वापस आया तो शाम हो गई थी।आनवी बोली- भैया मैं गेट बन्द कर देती हूँ.

इंग्लिश इंग्लिश सेक्सी बीएफ

साथ ही मेरा लंड 7″ का है। मैं राँची का रहने वाला हूँ।मैं आपका ज्यादा वक्त ना लेते हुए सीधे स्टोरी पर आता हूँ।यह बात उस समय की है. मारवाड़ी बीएफ दिखाइएलंड से मुख मैथुन करते हुए अंकल बोले- आह … ऐसे ही रहना … इधर उधर मत होना … बहुत अच्छे तरीके से तेरा मुँह चोद रहा हूँ … शाबाश …इसके साथ ही उनकी कमर का हिलना और मेरे मुँह में लंड का आना जाना काफ़ी तेज होने लगा.

मैंने उसको गाल पर किस किया तो आज मुझे इस अकेले माहौल में बहुत मज़ा आया और वो भी चुदास के चक्कर में एकदम से सिहर उठी. सेक्सी बीएफ सेक्सी कहानीजिससे उसकी शर्ट ऊपर को हो गई थी।फिर मैंने उसकी टी-शर्ट को उतार दिया, अब वो सिर्फ़ ब्रा और लोवर में थी और मैं कैपरी में.

पर चूत के मुक़ाबले में काफ़ी कम थे। मैंने आज तक इतने बालों वाली औरत नहीं देखी थी। मुझे यह तो पता है कि कई मर्द अपने बगल और झांट के बाल नहीं काटते हैं.जूही चावला के बीएफ वीडियो: तो ऐसा लगा मानो ये आज मेरी जान ले लेगा।जैसा मैंने कंप्यूटर पर देखा था.

मैंने उससे पूछा कि क्या चक्कर है?उसने तब बहुत देर बाद मुँह खोला और बोला कि वो लड़की, जिससे आप मसाज़ करवाती थीं.क्योंकि मेरी भाभी बड़ी ही प्यारी और सीधी किस्म की औरत हैं लेकिन वो तो मेरी प्यार भरी चुदाई का ही असर है कि वो मेरे साथ सब कुछ भूल जाती हैं और चुदाई के लिए तैयार हो जाती हैं।यह बात भी मुझे उन्होंने ही बताई थी। मेरी उनके साथ चुदाई में सिर्फ वासना ही नहीं थी.

नौकरानी का सेक्सी वीडियो बीएफ - जूही चावला के बीएफ वीडियो

जो वो चाहते हैं। इसी से तू और तेरा पूरा परिवार खुश हो सकते हैं।फिर मैंने उससे पूछा- रोहित ऐसे क्यों हो गए हैं इसका रीज़न क्या हो सकता है?तो वो मुझे एक बड़ी डॉक्टर (साइकिट्रिक) के पास ले गई। उस डॉक्टर ने मुझे बताया कि ब्रूटल सेक्स की चाहत किसी भी व्यक्ति को 3 कारणों से होती है।पहला.जब संभोग क्रिया समाप्त हुई, तब हमने बात शुरू की और फिर उन्होंने बताया कि मुनीर में पिछले कई सालों से ऐसा हो रहा कि उसे संभोग में मजा नहीं आता पर दूसरों को सम्भोग करते देख कर वो उत्तेजित हो जाती है.

और तू चिंता मत कर कल तुझे प्रेगनेंसी वाली टेबलेट ला दूंगा, तुझे कोई दिक्कत नहीं होगी. जूही चावला के बीएफ वीडियो शायद टीवी पर कोई हॉट सीन देखा होगा और उसको उठाते वक्त मेरे हाथ भी उसके मम्मों को टच हो रहे थे।फिर मैंने उसको कमरे में पहुँचाया। जब मैं उसको बिस्तर पर लिटा ही रहा था कि तभी मेरा यह हाथ का बेन्ड उसके नाइट ड्रेस के टॉप के धागे में फंस गया था.

वो बोली- सीधे सीधे मैं जो कह रही हूँ, वो कर वरना…मैंने धीरे धीरे उसकी चूत के ऊपर किस करना शुरू किया.

जूही चावला के बीएफ वीडियो?

मैं आपकी भूख मिटाने की कोशिश करूँगी।मैं समझ गया कि लौंडिया चुदने को बेताब है।अगले दिन मैंने सुबह ही. तो समझो उसकी चूत का बाजा बज गया।मैं जब-जब उसको धक्का देता तो उसके चूचे आम की तरह लटकते हुए लग रहे थे. थोड़ा दर्द सहन कर ले फिर मजा ही मजा है।मैंने एक जोरदार झटका मारा और अपनी बहन को कुंवारी दुल्हन बना दिया।अब उसकी चूत से खून निकल रहा था मैं रुक गया और उसके बत्तीस साइज के मम्मों का रस पीने लग गया।थोड़ी देर बाद वो शान्त हुई और बोली- भाई आपने मेरी फाड़ दी।मैंने कहा- क्या?शर्मा कर उसने अपनी चूत की तरफ उंगली की.

दारू का नशा उतर चुका था और बस अब मुझे चूत के अलावा कुछ नहीं दिख रहा था।सारा ज्ञान. मेरे मुँह से भी सिसकारियां निकल रही थीं और मैं आह्ह्ह … आअह्ह्ह …’ करती हुई अपनी गांड को विकास के लंड के साथ आगे पीछे कर रही थी. उसी वजह से मैं वो सब अपनी बहन पर आजमाता था जैसे कि मैं उसकी गांड में उंगली कर देता था या कभी उसकी चुचियों को दबा देता था … वगैरह वगैरह.

बिल्कुल रसीले आमों की सर उठाए मानो कह रहे हों कि आओ जल्दी से मुँह में भर के चूस लो. ’ आईस्क्रीम की तरह चूसने और चाटने लगी थी। वो फिर से गरम होती जा रही थी।अब मैं उसको पलट कर उसकी पीठ पर चढ़ गया और अपना लंड उसकी गाण्ड के पास रगड़ने लगा।मैं बैठकर उसकी गाण्ड के होल में अपना लंड फँसाकर अन्दर डालने की कोशिश करने लगा। लेकिन 2 बार की चुदाई के बाद भी लंड आसानी से अन्दर नहीं घुस पा रहा था। मैं थोड़ा थूक गाण्ड में लगाकर लंड डालने लगा. तो बोला- आज कर लेने दो।इतने में दीप भी आ गया। उन दोनों को देख कर मैं समझ गई कि आज तो मेरा बच पाना मुश्किल है।रज्जन ने मुझे पकड़ते हुए बोला- मालकिन हम दोनों ने तुम्हारे नाम की बहुत मुठ्ठ मारी है.

इतने में ब्रेक-फास्ट आ गया, मैंने नाश्ता किया और अपने घर आ गई।कंपनी की तरफ से मुझे 3 दिन का रेस्ट मिला. गौरव की मम्मी दादाजी का खूब सम्मान करती हैं, इसलिये उनके सामने घूंघट में ही रहती हैं.

पर आपने तो सारी मर्यादा भुलाकर अपने ससुर के साथ चुदाई का खेल खेला है.

जब कि तुम एक बुड्ढे से चूत मराने आई थी और तुम्हारा तो भाग्य ही है कि यहाँ एक जवान गबरू मर्द से पाला पड़ गया।लेकिन मेरा वजूद यह करने को मना कर रहा था.

तुम्हारी कोई गलती है इसमें…विक्रम आश्चर्य से- मतलब?मयूरी- अरे देखो भैया … मुझे पता है ये बड़ी हैं और आकर्षक हैं … तो नजर चली भी गयी तो क्या हो गया? और वैसे भी तुम मेरे भाई हो … मुझे बचपन से देखते आ रहे हो … इसमें मैं क्यूँ बुरा मानूँ अगर तुमने आज फिर से देख लिया?विक्रम को जैसे राहत मिली हो. और उसकी टाँगें फैला कर उसकी चूत पर मेरा लंड रख कर थोड़ा धकेला।सुमा कुछ ना बोली. मेरा नाम आमोद कुमार है, मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ।किसी जरूरी काम से वसंत विहार जाने के लिए मैं प्रीत विहार से रूट न.

कुछ देर बाद वो उठीं और मुझे अपने बेडरूम में ले गईं।बेडरूम में जाकर वो मेरे कंधे पकड़ कर नीचे लेट गईं. जो आपने मेरी पिछली स्टोरीचाची को नंगी नहाती देखाको बहुत पसंद किया और मुझे बहुत से मेल भी आए. पर ऐसा लग रहा था जैसे कोई फूल की कली हो।मैंने जैसे ही रेणु की चूत को छुआ.

वो घूमता भी था तो इस तरह से कि पूरी चूत में कोई जगह नहीं छोड़ता था, जहां उसकी थाप ना लगे.

जबकि अंजलि अब तक सो चुकी थी।रात के 12 बज चुके थे और तब तक उसकी चूचियाँ के उभारों ने मेरा लण्ड मेरे आपे से बाहर कर दिया था। लण्ड मेरा पज़ामा फाड़ने के लिए तैयार था।मैं काफ़ी देर तक लण्ड सहलाता रहा और फिर अंजलि को आवाज़ दी. पर अब वो मेरे सामने ही अपने कपड़े चेंज करने लग गई थी। ऐसे ही दिन गुजरते गए और फिर कुछ दिन बाद मैंने फिर से रात में उसकी गाण्ड में अपना लण्ड जो कि छ: इंच लम्बा और ढाई इंच मोटा है. ठंड का समय होने की वजह से उसने कंबल ओढ़ रखा था तो किसी को कोई शक नहीं होने वाला था मैंने इसका फायदा उठाना चाहा और अपना हाथ उसके गालों पर रख दिया।इतने मुलायम गाल थे … क्या बताऊं दोस्तो! मन तो किया कि अभी इनको अपने दांतों से काट लूं.

उसने देखा कि लड़के की पैन्ट से उसका 6 इंच का लण्ड बाहर लटक रहा है।अब मैं लड़की के बारे में पहले बताना चाहता हूँ। लड़की का रंग गोरा. मैंने उसके मम्मों को फिर से प्रैस किया और उसकी गाण्ड को सहलाते हुए कहा- भाभी के अन्दर आज एक साथ दो-दो लौड़े उतार देते हैं यार!वो बोली- हाँ. ये भी तो बॉडी का एक पार्ट ही है। फिर हम तीनों के अलावा यहाँ और तो कोई है भी नहीं।मैंने पहले तो उन्हें मना किया.

उसका आदमी वहाँ से चला गया था।अर्जुन नीचे आया तो उसने बिहारी को वहाँ देखा.

अब आने दो तुम्हारे माँ-बाप को … तुम्हारी अच्छे से पिटाई करवाता हूँ. उसने सनी को नंगा होते देखा तो हैरत से बोली- अरे ये तो फिल्म की हिरोइन है.

जूही चावला के बीएफ वीडियो मैं जानता था कि मेरी बहन का चक्कर बहुत सारे लड़कों के साथ चल रहा था. सामने एक नाटे कद का काला सा लड़का खड़ा था। मैं चुदाई के कारण कुछ हांफ सी रही थी और मेरी जाँघ से वीर्य गिर रहा था।कहानी कैसी लग रही है.

जूही चावला के बीएफ वीडियो तो मेरा 7 इंच का लंड पूरा भाभी की चूत में समा गया। भाभी बहुत दिनों में चुद रही थीं तो उनको बहुत दर्द हो रहा था।भाभी के मुँह से ‘आआई ईइईआ आउइ. मेरे लंड को अपने प्रवेशद्वार पर लगाकर प्रिया अब धीरे धीरे उस पर बैठने लगी.

उनकी फिगर देखने में इतनी कमाल की है कि जो एक बार उन्हें देख ले, तो समझिए उसी वक्त उसका लंड खड़ा हो जाएगा.

बीएफ सेक्सी खुल्लम-खुल्ला

अभी तो पिक्चर शुरू हुई है।फिर दोषी (दुष्यंत को चुदते वक्त मैं दोषी कहती थी) ने भी अपनी पैंट की जिप खोल दी। उसका गदहे जैसा लंड जैसे ही बाहर आया. कुछ देर आराम करने के बाद हम जीजा साली फिर से एक दूसरे को किस करने लगे. मैडम तो ऐसे जैसे जन्मों की प्यासी हों… मेरे आते ही गेट खोला।मैडम- आ गए तुम.

लेकिन डर लग रहा था कि अगर मकान-मालिक को पता लग गया तो कमरा तो खाली करवाएगा ही. मैंने भी उसकी बेकरारी को देखते हुए उसका लंड पकड़ कर अपनी चुत में डाल लिया. तो उसने कहा कि आपको कैसे पता?तब मैंने उसे बताया कि मैंने मूवी देखी है.

और मुझे मना कर रही हो।और ये कह कर मैं मौसी के जिस्म पर चढ़ गया और अपना लंड उनने मुँह में ज़बरदस्ती देकर उनके मुँह को ही चोदने लगा और धीरे धीरे वो भी लौड़ा चूसने लगीं।करीब 10 मिनट के बाद मैं उनके मुँह में ही झड़ गया और उन्हें पहले अपना पानी फिर धीरे-धीरे उनके मुँह में मूत कर उन्हें अपना मूत भी पिला दिया.

पता नहीं किसने तेरी चूत को खोला होगा। साला जरूर कोई दमदार बंदा ही होगा. और मुझे उन्होंने चुम्बन करना सिखा दिया।उसके बाद मेरे साथ मेरी रजाई में लेट गईं और मेरे हाथ अपने स्तन पर रखवा लिए और धीरे-धीरे दबाने के लिए कहने लगीं।मैंने वैसा ही किया. मैंने पूरे जोश में उसकी चूत में धक्के मार रहा था और कोमल बच्चों के डर से ज्यादा चिल्ला भी नहीं पा रही थी।वो अपने हाथों को आगे बढ़ा कर मुझे अपनी चूत से दूर पीछे करना चाह रही थी.

बल्कि राजेश के निक्कर की इलास्टिक में हाथ डाला और धीरे से उसकी झाँटों को सहलाया।उस वक्त मेरी उंगलियाँ उसके लौड़े से टच कर गईं और बस उसका लौड़ा सख्त होने लगा।राजेश भी अब मेरे गोल-गोल कूल्हे सहला रहा था। लेकिन हम दोनों में से कोई भी और आगे बढ़ने का साहस जुटा नहीं पाया और बात वहीं पर रुक गई।लेकिन अब राजेश जब झाँसी आया. भाई हाथ से दबाव बनाता गया। टोपा थोड़ा सा और अन्दर गया और वो रुक गया. मैं एक कम्पनी में काम के सिलसिले में रायपुर (जगह का नाम बदला हुआ है) गया हुआ था.

मैं और जोश में आ गया और ज़ोर-ज़ोर से चूत चाटने लगा।मैंने अपनी उंगली चूत में डाल दी वो फिर से चिल्ला पड़ीं- आआआहह. मैंने उनकी कमर पर हाथ फेरते हुए उनको बोला- चाची आप बहुत सेक्सी हैं, इस दिन का इंतजार मुझे कई सालों से था.

मैंने भी अब उनकी पैन्टी उलटी करके ताकि उनकी चूत से सटा हुआ भाग बाहर की तरफ आ जाए. उसकी आंखों से आंसू निकल आये।मैं थोड़ी देर तक उसको प्यार करता रहा जब उसका दर्द कम हुआ तो उसने अपनी गांड उठा-उठाकर मेरा लंड अपनी चुत में लेने लगी।करीब 15 मिनट की चुदाई के बाद वो एक बार फिर से झड़ गयी पर मेरे लंड ने अभी तक हार नहीं मानी थी तो मैंने उसे चोदना जारी रखा करीब 10 मिनट बाद जब मेरा होने वाला था तो मैं प्राची की चुत में ही झड़ गया और उसके ऊपर लेट गया और वो मुझे बेतहाशा चूम रही थी. अपनी माँ के द्वारा अपनी चूत-चटाई और उंगली से चुदाई के बाद मयूरी को अब अपनी योजना बहुत हद तक तो सफल होते हुए नज़र आ रही थी.

वो दर्द के मारे चिल्लाने की नाकाम कोशिश कर रही थी, उसकी चुत से खून निकलने लगा था.

अब मैंने जरा सा थूक अपने लण्ड पर लगाया और उसकी चूत में अपना लण्ड डाल दिया। मेरे पूरा लौड़ा एक ही बार में अन्दर चला गया। अब मैं बड़े ही मस्त तरीके से उसे चोद रहा था और वो भी काफी कामुक आवाजें निकाल रही थी ‘फक मी हार्ड. इसलिए मुझसे सारे लोग काफी खुश रहते थे।हम जिस किराये के मकान में रहते थे उसमें दो हिस्से थे. तो मैं बहुत खुश था।मुझे उनके ऑफिस से कॉल आया और टाइम दिया गया। मुझे रात दस बजे का टाइम दिया था.

’ करने लगी।कुछ देर के बाद उसका पानी निकल गया।मैं भी अब पानी छोड़ने वाला था. इस बीच अब मुझे उसकी चूतड़ दिखे तो मन हुआ कि अभी गांड में लंड को ही डाल दूँ.

मुझसे भी ज्यादा देर ऐसे खड़े नहीं हुआ गया और अब मैंने उसे अपने पसंदीदा पोज़ में आने को बोला. निधि बस मुस्कुरा के रह गई और जल्दी से सन्नी के लौड़े को मुँह में लेकर चूसने लगी।सन्नी- आह्ह. ये थोड़ा रंगीन मिज़ाज का है। ये आज कब से यहाँ है और क्या-क्या किया इसने यहाँ?निधि ने सन्नी को शाम की बात बताई कि कैसे ये आया और अर्जुन को अपने आदमी के साथ भेजा.

सेक्सी बीएफ हिंदी इंडियन

तो मुझे पता ही नहीं था कि कहाँ डालते हैं।मैंने उससे कहा- कहाँ डालूँ?तो कहने लगी- पहले क्रीम या तेल लगा ले!मैंने झट से अपने लण्ड पर तेल लगाया और फिर डालने की कोशिश करने लगा.

अब बारी थी चुदाई की।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !उसका लंड ज़्यादा बड़ा तो नहीं था. मूतकर मैं वापस आया और नंगी स्वाति को देखकर मेरा लौड़ा फिर खड़ा होने लगा। उस पर दवाई का असर अभी भी कुछ घंटे तक रहना था। मैं फिर स्वाति के ऊपर चढ़ गया। मैंने फिर से उसकी चूत पर अपना लौड़ा लगाया और उसकी चुदाई शुरू कर दी।इस बार मैंने स्वाति को जमकर चोदा और फिर से अपना माल उसके अन्दर ही छोड़ दिया। स्वाति जैसी परी को छोड़ने का मन ही नहीं कर रहा था। मैं बाथरूम से तौलिया लाया और स्वाति की चूत साफ करने लगा. थोड़ी ही देर में उसे वो स्थिति भी दु:खदायी लगने लगी। मैंने अपने आगे की सीट का बैक.

उसके बाद उसके शरीर में ताकत नहीं बची थी कि फिर से वह मुझसे कहे कि फिर से चुदाई करें!परंतु मेरा मन कहां भरने वाला था. देवर ने मेरी पेंटी को निकाल कर मुझे एकदम नंगी कर दिया और मुझसे बोलने लगा- भाभी, मैं आपको बहुत पहले से पसंद करता था लेकिन आपके साथ ये सब करने की हिम्मत नहीं होती थी. मद्रासी बीएफ दिखाओ’ की आवाज़ कर रही थीं।तभी मैंने अपना लौड़ा बाहर निकाला और मामी के हाथ में दे दिया।दोस्तों मेरा लंड 8 इंच लंबा और 3 इंच मोटा है.

थोड़ी देर लंड से खेलने के बाद लंड धीरे धीरे मेरा लंड टाइट होने लगा. उसकी फीस 6000/- थी। लौटते समय सपना ने अपनी सहेली की भाभी को मेरे लंड से चुदने की पूरी बात बताई.

वो तो कुछ और ही है।अगले दिन वो ठीक दस बजे मेरे घर पहुँच गई।मैंने उसे सोफे पर बैठने को कहा और अन्दर पानी लाने चला गया। उसे पानी का गिलास दिया और उसके सामने बैठ गया।मेरा ध्यान उसके बदन पर कभी नहीं गया. के बीच में 3 महीने पहले घटी थी।हुआ यूँ कि मेरे एक बहुत पुराने क्लाइंट जोकि मेरी कंपनी से और मेरे से कई सालों से डील कर रहे हैं. इधर प्रीति ने अपना सारा काम निपटाया और नहाने के लिये बाथरूम में चली गई.

विकास भी बिना कुछ बोले चुपचाप कमरे से मेरी तरफ देखता हुआ बाहर चला गया. तो मैंने देखा वो जाहनवी थी और उसने मुझे ‘गुड मॉर्निंग’ किस किया था. ’वह बात के दौरान मेरी जाँघ के बीच में निगाह लगाए हुए ज्यादा से ज्यादा अन्दर देखने की कोशिश में था। वह बिल्कुल मेरे सामने खड़ा था.

इसस्स … उफ्फ्फ … आआह!”उरोजों को किनारों से सहलाते हुए मैंने अपने होंठों को एक स्तन की गुलाबी नोक पर रखा और अपने दांतों से उन्हें कुरेदने लगा और इसी वक्त मेरा दूसरा हाथ दूसरे उरोज को हल्के हल्के मसलने लगा था.

इस बार मैंने उसे देर तक चोदा, सब तूफान निकल जाने के बाद फिर मैं उसे उसके घर तक छोड़ कर आया।दोस्तो, मेरी कहानी आपको कैसी लगी. उसके मम्मे मेरे मुँह के सामने आ गए और मैं उन्हें मुँह में लेकर चूसने लगा। मैं चूचियाँ चूसते-चूसते बीच में ही हल्के से काट भी लेता.

फिर मैंने अपना माल मामी की चूत में ही छोड़ दिया। मामी चुदाई के दौरान 2 बार झड़ी थीं। फिर मैं 10 मिनट तक ऐसे ही मामी के ऊपर पड़ा रहा और फिर मैंने मामी से कहा- अब मैं गाण्ड मारूंगा।मामी ने मना कर दिया. क्योंकि हर रोज़ तो हम खुद इनका नाम लेकर चुदाई करते थे और आज ये मौका खुद मुझे मिल रहा था।इसी बीच दीप्ति ने मेरे पास आकर सुनील का लंड मेरे हाथ में पकड़ा दिया।उसके मोटे लंड को पकड़ते ही मेरी चूत और भी गीली हो गई. इसलिए हमने वक़्त की नजाकत को समझते हुए रात को मिलने का प्रोग्राम बनाया और एक और दिल की गहराइयों को महसूस करते हुए एक-दूसरे के होंठों को चूम लिया.

मैंने देखा कि रवि बहुत गर्म हो चुका था और उसके चेहरे से वासना की लकीरें साफ़ दिखाई दे रही थीं. पर कहने में डर रही थी। मैंने सोचा कोशिश करने में क्या जाता है।दो दिन बाद ‘फ्रेण्डशिप डे’ था. और तुम्हारा पानी पिया, बस उसी दिन से मैं तुम्हें चोदना चाहता था। तुम बोलो कि कैसा लगा?वो बोली- मुझे भी बहुत मज़ा आया.

जूही चावला के बीएफ वीडियो जहाँ दो महीने मैंने बहुत मेहनत की और सबका चहेता बन गया। उसके बाद वहाँ एक हाई प्रोफाइल घर की लड़की ने ज्वाइन किया. इससे रवि मेरी जरूरत को समझ गया और वो ज़ोर ज़ोर से मेरी चूत में उंगली डाल कर सहलाने लगा.

बीएफ वीडियो सेक्सी वीडियो बीएफ

जब मैं 12वीं में पढ़ा करता था। तब मैं यूपी में रहता था। मुझे सेक्स करने का बहुत मन होता था. कुछ देर बाद सोनी अपनी गांड को पूरी मस्ती में हिलाने लगी, मैं भी अपने हाथों से उसके दोनों चूचों को दबाता रहा. मैंने उसे अपने गोद में उठाया और खड़े होकर अपने तने हुए लौड़े को उसकी चूत में पेल दिया.

लग ही नहीं रहा है कि ये दो माल टाइप की लड़कियों की माँ है।मैं बोली- मैं तुम्हारा लण्ड नहीं झेल पाऊँगी, तुम्हारे मालिक का लण्ड तो इसका आधा है।वे दोनों हँसने लगे।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !इतने में रज्जन ने अपना लण्ड में मेरी चूत के मुँह पर रख दिया. मुझे दर्द हुआ लेकिन मैं चिल्लाती भी कैसे आगे … जीजू ने हलक में लौड़ा ठूंसा हुआ था. बीएफ फैमिलीमॉम झट से लंड के नीचे से निकलीं और घोड़ी सी बन गईं … और पलंग पर हाथ टेक लिए.

फिर भी एक अच्छे संस्कार वाली औरत या लड़की ऐसे शब्दों को लेने में जरा कतराती है.

जब तक रोड ब्लॉक खत्म नहीं होगा, कोई भी गाड़ी आ या जा नहीं सकेगी और ये रोड ब्लॉक कल सुबह तक ही साफ होगा. अगले दो मिनट में ही उसकी चुत से निकलते प्रीकम के स्वाद से मुझे चुदाई का नशा चढ़ गया था.

मेरी चूत का पानी उसकी चूत में निकल गया, उसने अपना मुँह हटा लिया, बोली- दीदी, आपकी चूत से बहुत सारा पानी निकल रहा है. फिर एकदम से उसका जिस्म टाइट होने लगा और उसने अपने हाथों से मेरे सिर को अपनी चूत पर दबा दिया और अपना पानी छोड़ दिया।मैं उसका पूरा पानी पी गया और उसकी चूत को चाट-चाट कर साफ़ कर दिया।अब उससे रुका नहीं जा रहा था. आपका भाभी से मन नहीं भरा क्या?बिहारी- अरे हम तो हमार काम से हियाँ खड़ा हूँ.

उसके निप्पलों को मैं अपने दांतों से दबाने लगा।उसकी सिसिकारियों की आवाज़ पूरे रूम में गूंजने लगी।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मैं उसे चूमते हुए उसकी पैंटी के ऊपर उसकी चूत चाटने लगा, वो मदहोश हो गई थी, मैंने उसकी पैंटी को भी निकाल दिया, वो मेरे सामने पूरी नंगी हो गई।मैंने एक उंगली उसकी चूत में डाल दी.

मुझे तो चूत चाहिए थी।मैं हमेशा उससे अकेले मिलने का मौका तलाशता रहता। एक दिन मेरी यह इच्छा पूरी हो गई। वो मुझे अकेले में मिल गई. मैं सिसकारी लेकर एक बार फिर सब भूल कर चाचा का सर चूत पर दाबने लगी ‘आहह्ह्ह. मुनीर ने तुरंत ही अपना कैमरा ऑन कर दिया और जो मैंने देखा, उस पर यकीन करना थोड़ा मुश्किल सा था.

बीएफ सेक्सी हिंदी पंजाबीआप मुझे बताओ मैं हूँ न आपकी सहायता करने के लिए!मैंने अपने देवर को बताया- मेरे पति को अब ज्यादा मुझमे रूचि नहीं है. जैसे मैं आपके लण्ड देख कर उसे अपनी चूत में लेने के लिए पागल हो गई हूँ।’चाचा हँसने लगे और मुझे वहीं चौकी पर लिटा कर मेरी नाईटी को ऊपर कर दी।मेरी फूली हुई चूत को देख कर बोले- बहुत प्यासी है क्या बहू?‘हाँ चाचा.

ससुर और बहू की बीएफ

उसका साइज़ तो नहीं बता सकता, पर हां जब वो पीछे घूमी, तो उसकी उठी हुई गांड देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया. इसलिए वो बिस्तर पर सोते हैं।मौसी ने तो मेरे मन की बात बोल दी थी।मैंने कहा- कोई बात नहीं. बोली- ये गंदा काम है।मैं गुस्से में आ गया और खड़ा होकर उसकी नंगी गाण्ड पर एक जोरदार थप्पड़ मारा.

वो बोली- काईं बात हो गयी? छोरो बड़ी जल्दी थकन लागरी हे … अभी तो मस्ती करण नो टाइम शुरू होयो है!चूँकि दूसरे दिन रविवार था तो दुकान जाने के जल्दी थी नहीं तो पूरी रात थी हमारे पास!पर रात भर का सफर और दिन भर की भाग दौड़ ने मुझे थका रखा था, और भाभी ने मुझे बांध दिया वो अलग इसलिए थोड़ा सुस्त था. इसके लिए आपका बहुत धन्यवाद।साथियो, आज मैं एक नई कहानी पेश कर रहा हूँ. एक्सपीरियंस तो उसे भी बड़े लंड का लेना ही होगा ना?’ मेरे पति ने दोषी से कहा।ये चूत-लंड का संग्राम बड़ा ही दिलखुश करने वाला होने वाला था।कहानी जारी है।[emailprotected].

जैसा कि आपने पिछली कहानी में पढ़ा था कि कैसे विकी ने मुझे मसाज़ देते हुए मेरे साथ सेक्स किया. ’ की आवाजें आ रही थीं।करीब 15 मिनट की चुदाई के बाद मेरा माल निकलने वाला था।उस दौरान वो दो बार झड़ चुकी थीं, मैंने उनसे पूछा- मेरा निकलने वाला है. मैं शर्मा गई और बोली- आप मुझे इस तरह बोल कर मेरा अपमान कर रहे हो।भाई- चलो तो ठीक है.

जब चोदूँगा और तेरे साथ-साथ पूजा की चूत को भी लूँगा।तो बोली- बहुत दिनों से मेरी चूत लण्ड के लिए तड़प रही है. मगर वो दाँत भींच कर चुप रही।पुनीत बड़े प्यार से उंगली थोड़ी अन्दर डालकर गाण्ड में तेल लगा रहा था और पायल बस आने वाले पल के बारे में सोच कर डर रही थी।पुनीत- मेरी रानी अब तेरी गाण्ड को चिकना बना दिया है.

और बलखाती कमर तो इतनी लाजवाब थी बस बिना मुठ्ठ मारे नींद ही नहीं आती थी।कुछ ही दिन में वो हमसे काफ़ी घुल मिल गए।यह बात 2 महीने बाद की है.

हम दोनों की ही सांसें अब फूल गयी थीं और हम दोनों पसीने से बदन नहा गए थे. हिंदी सेक्सी बीएफ ओपन वीडियोअपना फोन चैक किया, तो व्हाट्सैप पर सारंगी के काफ़ी मैसेज आए हुए थे. डिलीवरी बीएफ वीडियोमैं तो देख कर पागल सा हो गया। वो बहुत ही खूबसूरत थी… उसका 36-30-40 के आस-पास का साइज़ था. उनकी कमर को रगड़ते-रगड़ते मैंने रबिंग पैड को नीचे चूतड़ के ऊपर ले जाकर ये बोलते हुए रगड़ने लगा- यहाँ भी बहुत मैल है.

मधु ने मेरा लंड पकड़ लिया और हिलाने लगी, मैंने नीचे बैठ के मधु की चूत चाटना शुरू कर दिया और मधु अपने दूध मसलने लगी.

तब तक वेटर हम लोगों के लिए ड्रिंक्स ले आया और मैंने पूजा को एक ग्लास ब्लडी मेरी पकड़ा दिया. मैं खुद को कंट्रोल नहीं कर पा रहा था।अब मैंने उसे बिना ब्रा और बिना पैन्टी के फोटो भेजने कहा. मगर दादा जी मेरी चूत में अपना लंड ना डाल कर मुझे बुरी तरह से तड़पा रहे थे.

फिर क्या था, मैंने बिना उसे बताये उसके शहर पहुँच के डेली रूटीन में मेल किया और पूछा- कहाँ हो?तो वो बोली- मैं अपनी किराना दुकान में हूँ. उसके बाल खुले थे।मैं उसे देखकर पागल हो रहा था। मैंने उसे बैठने को कहा। शायद उस वक़्त वो घबरा रही थी. प्लीज बहुत दर्द हो रहा है।मैं उसे चुम्बन करने लगा और थोड़ा सामान्य होते ही धीरे-धीरे धक्के मारने शुरू कर दिए। दस मिनट बाद उसने भी कमर हिलाना शुरू कर दिया। हर धक्के के साथ उसकी सिसकारियाँ निकल रही थीं।मेरी तो मन की इच्छा पूरी हो रही थी.

सुहागरात मनाने वाली

वो चल भी नहीं पा रही थी। मैंने उसे उठा कर बेड पर लेटाया और मैं पानी साफ करने जा रहा था. उसने कभी मेरी इन हरकतों पर ध्यान ही नहीं दिया। शायद मेरे मोटापे के कारण. ?’ सहलाते हुए उन्होंने पूछा।आज वो हमेशा की तरह क्रीम लगाने वाली स्टाइल से लण्ड को नहीं सहला रही थीं.

मेरे जीजू को मेरी गांड बहुत पसंद है और अब तो वो मेरी गांड को भी कभी कभी जोर से दबा देते हैं.

जब वापस आया तो शाम हो गई थी।आनवी बोली- भैया मैं गेट बन्द कर देती हूँ.

पर वो सोती ही रही।अब उसके चूचे ऊपर की तरफ हो गए। क्या गज़ब के चूचे थे. मैंने लंड को बाहर निकालने के लिए अपने एक हाथ से लंड को पकड़ना चाहा, लेकिन लंड का काफ़ी हिस्सा मुँह के अन्दर घुस कर फँस गया था. चोपड़ा की बीएफऋतु जी आप बुरा ना माने तो मैं आपका स्क्रीन टेस्ट लेना चाहता हूँ।मैं कुछ बोलती.

अब वह पीछे से मुझे पकड़ कर अपने शरीर से चिपका कर मेरी गुदा में अपना लण्ड गड़ाएंगे।कुछ ही देर में चाचा ने खुली छत पर मुझे बाँहों में भर कर पूछा- किसी को खोज रही हो क्या जान?चाचा एक हाथ मेरी गदराई चूची पर आ गया और उन्होंने दूसरा हाथ मेरी चूत पर ले जाकर दबा दिया।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !‘आहह्ह्ह्…सीईईई. तो झट से पानी छोड़ देती हैं।दूसरी सांवली औरतें जो चुदने में बहुत सारा नखरा दिखाती हैं। लेकिन जब भी चुदती हैं तो आदमी को पानी पिला देती हैं।तीसरा प्रकार होता है काली औरतों का. मैंने कहा कि मेरे पर इतनी मेहरबानी की वजह क्या है?तो उसने कहा- तुम मुझे बहुत पसंद हो.

मैं छत पर ही था।तो उन्होंने बोला- क्या तुमने मुझे मूतते हुए देखा है. ’ की आवाज़ आई।इस आवाज और लण्ड पर गीलापन महसूस करके मैं समझ चुका था कि उसकी सील टूट गई है.

उसके बाद मान गई।वैसे भी उसके मन में ये बात आई कि अर्जुन का लौड़ा जब निधि खा गई.

तो हम लोग चल दिए वहाँ जाने का रास्ता बहुत अच्छा था तो मैंने गाड़ी की स्पीड तेज कर दी. पर वो मेरी इस बेरहमी का जवाब चुम्बन से दे रही थी।इसी दौरान मैंने उसकी सलवार खोल दी अब वो मेरे सामने बस पैन्टी में थी। क्या मस्त लग रही थी। फिर मैंने पैन्टी भी उतार दी। उसकी चूत पर थोड़े बाल भी थे. तो वो बोले- यहाँ कोई नहीं आने वाला और तेरे भाई को मैंने नशे में कर दिया है.

सेक्सी वीडियो बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी मैंने उससे बेडशीट धुलवा दी और बाथरूम में जाकर दोनों हाथ मुँह धोकर वापस अन्दर आ गए. मैं भाभी के मम्मों को दबाने लगा और वो मेरा लंड मसलने लगी। फिर वो उठी और मेरा अंडरवियर उतार कर लंड को मुँह में डाल लिया.

मगर यह बस एक नाटक था। उसके होंठ जिसमें लगी हुई लिपगार्ड की महक और ऊपर से होंठों का मलाई जैसा स्वाद. अभी मेरे लंड का सिर्फ टोपा ही अन्दर गया था कि मेरी बहन कसमसाने लगी. उसे कुछ काम था। मेरा मन नहीं लग रहा था इसलिए चला आया।’जेठ जी ने मुझे बाँहों में कस कर मेरे होंठ चूसने लगे.

ब्लू फिल्म बीएफ नंगी

वो मुस्करा रही थी।जैसे ही मैं बाथरूम से बाहर निकली तो दीप्ति ने मुझसे कहा- यार दीपिका, आज तूने सुनील को बहुत गर्म कर दिया है तुम अब इसका लंड चूस कर इसे शांत और करो।मैंने कहा- यार अब और नहीं हो पाएगा मुझसे. मुझे इस बात की उत्सुकता है कि आप सभी को यह कहानी कैसी लगी।मेरी अगली कहानी में पढ़िए रज्जन ने कैसे स्नेहा की सील तोड़ी. पर मेरा अभी डिसचार्ज नहीं हुआ था।वो समझ गया था कि मैं अभी तक नहीं झड़ी हूँ।वो उठा उसने अपना लंड मुझे फिर चुसाया और जब लौड़ा दोबारा खड़ा हुआ तो मेरी चूत में फिर से पेल दिया।अब उसने फिर मुझे ठोका.

उसका 32-28-32 का मस्त फिगर देखते ही मेरा तो खड़ा हो गया।फिर हम दोनों टैक्सी करके उसके फ्लैट पर पहुँच गए।उसने मुझसे कहा- तुम फ्रेश हो जाओ. मेरा पूरा लंड मामी की चूत में चला गया।मामी के मुँह से तेज चीख निकल गई- अहह.

जिसकी चूत तंग होगी।उन्होंने जोर-जोर से धक्के मारे। मैंने उन्हें घोड़ी बनने को कहा और पीछे से चूत मारने लगा.

मैंने मधु को सोफे पर ही घोड़ी बनाया और उसकी चूत में पीछे से लन्ड डाल कर चुदाई करने लगा. मोनू सिसकारियाँ लेने लगा। अचानक मैंने पूरा सुपारा मुँह में ले लिया। सुपारा मोटा होने के कारण मेरा पूरा मुँह भर गया।धीरे-धीरे मैं लंड मुँह में लेने लगी. वैसा ही मैं यहाँ पेश कर रही हूँ।एक रात मेरी ट्रेन लेट हो जाने के कारण मुझे बीना रुकना पड़ा.

तभी मुझेअपनी गर्लफ्रेंड की सहेली नाज की चुदाईका स्टाइल याद आया और मैं मधु को जमीन में हाथ के बल खड़ा कर उसके दोनों पैर अपनी कमर में क्रॉस करवा के उसकी चूत में लन्ड डाल कर चोदने लगा. उसकी मस्त गांड देख कर आपलोगों को भी उसकी गांड में लंड पेलने का मन करने लगेगा. ।बिहारी ने ये बात सन्नी की तरफ़ आँख मारते हुए कही थी। सन्नी भी समझ गया कि बिहारी उसको निधि के साथ अकेला क्यों भेज रहा है.

अब मैं गीत की चूत को इस कदर चूसने लगा था कि गीत की चूत से रस बाहर आने लगा था, मैं उसके रस को पीने लगा था।गीत मस्त होकर चुदने को तैयार थी, मैंने गीत की चूत को इतना चूसा कि गीत जोर-जोर से सिसकारियाँ लेते हुए एक बार छूट गई थी।उसकी चूत का रस मेरे मुँह में निकल चुका था, अब गीत पूरी तरह से झड़ गई थी।कुछ पलों के लिए गीत को हमने छोड़ दिया।गीत वाशरूम में गई और फ्रेश होकर फिर वापिस आ गई।अभी हम सभी नंगे ही थे.

जूही चावला के बीएफ वीडियो: मैंने उनकी ब्रा का हुक खोल दिया और उनकी चूचियों पर हाथ फेरना शुरू कर दिया।चाची की चूचियाँ हाथ में लेते ही मेरा लंड एकदम से खड़ा हो गया।मैंने उनकी मैक्सी उतार दी. गौतम मुझे ही चोद देता।घर पहुंचा ही था कि आधे घंटे बाद गौतम का फिर से फोन आ गया…मैंने हैल्लो किया तो उसने सीधे बोला- बहनचोद शीतल की माँ आई थी घर पर… मेरी माँ को पूछ रही थी। लगता है उस बहन की लौड़ी ने बता दिया घर पर! यार मेरी तो गांड में पसीना आया हुआ है, समझ नहीं आ रहा क्या करूं?कहानी अगले भाग में जारी रहेगी…[emailprotected]कहानी का अगला भाग:एक कुंवारी एक कुंवारा-3.

पर तेरी चूत अब अपने भाई के लण्ड की दुल्हन बन चुकी है, चूत की मांग भर गई है।वो हँस पड़ी।मैंने उसको दस मिनट तक चोदा और सारा माल उसकी चूत में डाल दिया।जब वो खड़ी हुई तो उसकी चूत से खून और कामरस बह रहा था।मैंने उसकी चूत साफ़ की और उससे पूछा- कैसा लगा?तो वो मुस्कराने लगी. कुछ देर थोड़े झटके लगाने के बाद मुझे मज़ा आने लगा तो अचानक से मेरे झटके का जोर बढ़ गया. कुछ टाइम बाद मैंने अपना लंड चुत में से निकाला और रिया भाभी से कहा कि लो मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसो और मेरा सारा माल निकाल दो.

उसने मुझे रोका कमरे का लॉक लगाया, बड़ी लाईट ऑफ़ की और छोटा बल्ब जला दिया.

तभी अचानक डोरबेल बजी, हम दोनों तो डर के मारे काम्प गए और जल्दी से मैंने अपने कपड़े पहन लिए. मुझसे बोले राज अंकल- तू बता सोनू, तुझे कोई दिक्कत तो नहीं? बस थोड़ी देर की बात होगी, अपन बीस पच्चीस मिनट में वापस आ जाएंगे. उस दिन ये वीडियो तुम्हारे भाई को हम दिखा देंगे।’सलोनी बोली- तुम लोग ऐसा कुछ नहीं करोगे और हर वक्त चुदने के लिए मैं कोई रंडी नहीं हूँ।पप्पू ने कहा- हर वक्त नहीं.