बीएफ साड़ी वाली औरत

छवि स्रोत,कुमार सेक्स वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी गांव की बीएफ: बीएफ साड़ी वाली औरत, अब आगे की हॉट स्टोरी ऑफ़ सेक्स:मैंने नेहा को नीचे उतारा और खुद बेड के नीचे खड़ा हो गया और नेहा से घोड़ी बनने को कहा.

इंडियन फिल्म ब्लू

रस्म अदायगी की नियत से मैंने बाल्टी में रंग घोला और निष्ठा के ऊपर उड़ेल दिया और अलग हट गया. एक्स एन एक्स एक्स मूवीउनकी बात सुनकर मैं झट से राजी हो गया क्योंकि मुझसे कंट्रोल ही नहीं हो रहा था.

उसने सफेद शर्ट पहनी थी, जिसके सारे बटन खुले थे, और अंदर पिंक कलर की डीप नेक टाप पहनी थी, जिसमें उसके उभार गजब के लग रहे थे।आज पहली बार खुशी मेरे लिए प्यारी लड़की के अलावा भी कुछ लगी थी. सनी लियोन की नंगी फिल्मसच कहूं दोस्तो … तो मैं ये स्विमिंग क्लासेज नए लंड की तलाश में ही जॉइन कर रही थी कि कहीं से मुझे कोई नया लंड मिल जाए, पर मुझे ये नहीं पता था कि इसमें सच में कोई लंड मिल जाएगा.

चुदाई से पहले एक दूसरे को गर्म करने की प्रक्रिया फोर-प्ले कहलाती है, वैसे ही चुदाई के बाद एक दूसरे से लिपट-चिपट कर प्यार दिखाना बातें करना, एक दूसरे का आभार जताना, अंगों को सहलाना या फिर दुबारा चुदाई के लिए मन बनाना, ये सब आफ्टर-प्ले कहलाता है.बीएफ साड़ी वाली औरत: रिसोर्ट के एक हिस्से में राजस्थानी फोक डांस हो रहा था और वहीं से थोड़ी दूर पर ओपन बार भी बना हुआ था.

प्रतिभा मेरे इस प्रेम वर्षा से पूरी तरह नहा गई, उसके हाथ सीधे ही मेरे लंड को दबाने और सहलाने लगे.सोनू ने बताया कि रात को जब मैं और भाभी चुदाई में मस्त थे तो वह अपनी मम्मी की सारी चुदाई दरवाजे के पीछे खड़ी हो कर देख रही थी.

हिंदी नंगी सीन - बीएफ साड़ी वाली औरत

मुझे इस समय ये बिल्कुल भी नहीं मालूम था कि मेरा बाथरूम कोई इस्तेमाल कर रहा है.आरूषि क्लेरिसा की स्थिति को समझ गयी और उसने मुझे कुछ तरीके बताये कि कैसे उसको गर्म करना है जब भी मैं अगली बार उससे मिलने जाऊंगा.

हम चारों निकल पड़े और अपने पांचवें साथी के पास पहुँच कर हम पांचों खेतों में घुसकर उन लोगों को तलाश करने लगे. बीएफ साड़ी वाली औरत सिसकारते हुए वो बोली- चोदो अब मुझे … आह्ह … मेरी प्यासी वीरान चूत को अपने लंड के माल से भर दो.

उसके मुख से निकली ध्वनियां इतनी कामुक थीं कि वो कामदेव का रस भी लंड से बहा दें.

बीएफ साड़ी वाली औरत?

फिर मैडम बोलीं- कितने बजे तक के लिए आए हो?मैं बोला- मुझे 6 बजे तक घर के लिए निकलना है. दोस्तो, मेरी ये मारवाड़ी सेक्सी लेडी से सेक्स की कहानी आपको कैसी लगी … आप मेल करके जरूर बताना. और फ़ोन कट कर दिया।अब मैं हर तरफ से निश्चिंत थी।मैं आईने के सामने गयी और एक एक करके अपने सारे कपड़े उतार दिए और खुद के नंगे बदन को आईने में घूर रही थी। सच कोई भी मर सकता था मेरे इस हुस्न के लिए। बिना कपड़ों के मैं किसी भी पोर्न एक्ट्रेस से ज्यादा हॉट लग रही थी.

भाभी ने अपनी नाजुक उंगलियों से मेरे अंडरवियर को जैसे ही नीचे किया, मेरा 8इंची लम्बा मोटा लौड़ा झटके से बाहर निकल कर मेरे पेट पर लगा. मुझे भी दारू की बोतल पकड़ा दी और अपने अपने लंड पर दारू डलवा कर लंड चुसाया. मैं मुस्कुराती हुई और अपनी गांड मटकाती हुई नीचे आयी और थॉमस के पास आकर खड़ी हो गयी.

उसके मुख से निकली ध्वनियां इतनी कामुक थीं कि वो कामदेव का रस भी लंड से बहा दें. दीवार से लगे हुए रवि का लंड उसकी चूत में घुस कर उसको मजा दे रहा था और पीछे से रमेश का लंड उसकी गांड में मजा दे रहा था. मैंने धीरे पैंट की जिप खोली, लण्ड को बाहर निकाला और लंहगे को पूरा भाभी के चूतड़ों में ठूंसते हुए लण्ड को अंदर तक अड़ा दिया.

मैंने विनीता के दोनों हाथ ऊपर कर उसकी ब्रा के बाहर से ही उसके स्तनों को चूमना शुरू कर दिया. मैंने खड़े खड़े अपने लंड को नेहा की चूचियों पर रगड़ा और नेहा से कहा- नेहा, आज मैं तुम्हें वह मजा दूंगा कि तुम्हें जीवन का आनंद आ जाएगा, लेकिन बाद में मेरी सारी बातें तुम्हें माननी होंगी?नेहा कुछ नहीं बोली और अपनी आंखें बंद कर दी.

अगले रोज रात के खाने के बाद मैंने मौका देख कर नेहा से कहा- रात को अपना कमरा अंदर से बंद मत करना.

हम दोनों ने बाथरूम में जाकर एक दूसरे को साफ़ किया और बिस्तर पर आ कर लेट गए.

मैं- ओह्ह क्लेरिसा! तुम्हारे बदन की मदमस्त खुशबू मुझे वासना में डुबोए जा रही है. इस तरह से हमने सुमीना के बेटे को एक प्राइवेट अस्पताल में दिखाने का मन बना लिया. फिर उसने मेरे मुँह को अपने होंठों में दबा कर साफ सुर में मना कर दिया और मैं लटका सा मुँह लेकर अपने कपड़े पहनने में लग गया.

अमन के जाते ही मैं किचन में गया और नीरा की गोरी पीठ पर किस करने लगा. ”मैं सानिया को लिए अन्दर आ गया।मैं पहले सफाई कल देती हूँ बाद में आपके लिए नाश्ता भी बना दूँगी. गुरजीत की चूत के लबों से खेलते खेलते मैंने अपनी ऊंगली उसकी चूत में डाली तो चिंहुक गई.

मैं नाटक करते हुए बोली- पर सर … रोहन के सामने मैं कैसे करूंगी?थॉमस बोला- कल रात जब तुम मुझसे चुद रही थीं … तो तुम्हें पता था कि रोहन हमें देख रहा है.

साली … ले आहहह … आह्ह!”दोनों तरफ़ से वासना भरी गालियों की बौछारों के बीच चुदाई चरम सीमा पर पहुँच रही थी। किशन क्या मजेदार धक्के मार रहा था। उसका मोटा लण्ड अंदर तक रगड़ रहा था। उसके जवान लण्ड ने आज सारी कसर मेरी चूत चोद-चोद कर निकाल दी थी. आज तो तुमने मेरे सारे कस-बल निकाल कर जैसे मेरी हड्डियों का कचूमर ही निकाल दिया है। मैं तो अब 2-4 दिन ठीक से चल फिर भी नहीं पाउंगी।”अरे मेरी जान, अभी तो हमें 3-4 राउंड और खेलने हैं. उसको देखते ही मैं तुरंत खड़ी हुई और अपने एक हाथ से बूब्स को, तो दूसरे हाथ से अपनी चूत को छुपाने लगी.

तभी उन्होंने गांड उठाते हुए बोला- आंह … जोर से करो … बस मेरा पानी निकलने वाला है. अभी कल इसके प्रेमी का इमो मैसेज आया था क्योंकि कल इसका जन्मदिन था तो उसने ‘हैप्पी बर्थडे जानू’ लिख कर भेजा है. ये सुनकर आप बोलीं कि आप जो कहोगे, मैं करूंगी … बस आप बताइए क्या करना है? मैं अपनी गलती सुधारना चाहती हूँ प्लीज़ … इस पर मैंने कहा कि इसके लिए आपको मुझे चोदना होगा भाभी मेरे लंड की प्यास बुझानी होगी.

थॉमस ने अपना लंड मेरे हलक तक डाल दिया था, जिससे मेरी सांसें रुकने लगी थीं और मेरी आंखों से आंसू आ रहे थे.

एसएचओ कहने लगे- यदि दोबारा इस शहर में दिखाई दिया या इन्होंने तुम्हारी कंप्लेंट इस थाने में की तो मैं तुम्हें ऐसा टांग दूंगा कि दुबारा कभी इनकी गली की तरफ मुंह नहीं करोगे. इसकी प्यास को मिटा दो, अपने लंड का प्यार बरसा दो इस पर।भाभी को मैंने उठाया और घोड़ी बना लिया.

बीएफ साड़ी वाली औरत चाय के बाद मां कप लेकर किचन में चली गईं और कोई दस मिनट बाद वो अपना काम निपटा कर वापस आ गईं. मैं चुद कर बहुत खुश थी, पर मुझे बहुत निराशा भी थी कि मैं अनिकेत के लंड को शांत नहीं कर पायी थी.

बीएफ साड़ी वाली औरत जैसा कि आप जानते है मैं रायपुर छतीसगढ़ से हूँ, लेकिन मैं अभी कॉम्पिटिशन एग्जाम की तैयारी के लिए दिल्ली में रहता हूँ. मैं भी हैरान थी कि जिस औरत को 22 साल की लड़की 21 साल का लड़का और 19 साल की छोटी लड़की हो.

वो दूसरे हाथ से मेरा पल्लू नीचे करके मेरी चुचियों का मानो नाप ले रहा था … मतलब दबा रहा था.

भाभी और देवर का वीडियो सेक्सी

जिससे मेरी उत्तेजना और बढ़ती जा रही थी।फिर जैसे ही मैं किस कर के हटी, उसने मेरी टी शर्ट को ऊपर को उठा के निकाल दिया. मेरे ख्याल से स्त्री का एक एक अंग कामवासना से संतृप्त होता है बस वहां जगाने की जरूरत होती है; निष्ठा पर भी मेरे चुम्बनों का असर होता दिखने लगा था और उसकी आंखें नशीलीं हो चलीं थीं. और जींस टापॅ में भाभी क्या लगती हैं … दोस्तो कसम से … मैं बता नहीं सकता।वैसे मैंने तो भाभी जी को हर प्रकार के कपड़े पहने हुए देखा है.

मेरी चूत अपने रस की बौछार कर बैठी थी जोकि मेरे चूत के साइड में बचे थोड़ी जगहों से पूरा जोर लगा के बाहर निकली. मैंने शाजिया को बताया कि रात को तुम्हारे घर में ही चुदाई का मजा लेंगे. मैंने झट से लण्ड को पैंट के अन्दर किया और भाभी के पीछे नीचे उतरने लगा.

अचानक मामी ने पेटीकोट नीचे करते हुए मुझसे कहा- अतुल ज़रा मेरी ब्रा के सभी हुक सही से लगा देना प्लीज़!ये बोलते हुए शीशे से ही मामी मुझे इशारे से अपने करीब बुलाने लगीं.

आज शाम तक शबाना भी आ रही है, दोनों साथ में रह लेंगी।यह बात मेरे मौसा जी को अच्छी लगी और वो तैयार भी हो गए।और फिर मौसी चले गएकुछ ही देर में मैंने अपने कुछ कपड़े अलग किये और मैं जसप्रीत अंकल के साथ वहां चली गई।मौसी मौसा को तीन चार दिन का समय लगने वाला था. थॉमस और नीचे आ गया और उसने मेरी पैंटी के ऊपर से ही चुत पर एक चुम्मा किया, जिससे मेरे शरीर में आग सी लग गयी. चोदते चोदते मैंने नेहा की कमर के नीचे हाथ डाला और उसे ऊपर उठा कर अपने लंड पर बैठा लिया.

रश्मि- क्या सर … आप इस तरह से क्यों देख रहे हैं जैसे पहली बार देख रहे हों।रमेश- क्या करूँ … तुम चीज ही ऐसी हो। उस दिन कितना शरमा रही थी तुम और आज पहले से भी ज्यादा सेक्सी लग रही हो।रश्मि- आप भी मस्त लग रहे हो। आपका दोस्त कहाँ है?रमेश- वह आता ही होगा। जल्दी से अब कपड़े उतारो। मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है. अब मैं उठ गया और खुद पर काबू करते हुए आंसू पौंछे और नेहा से कहा- अगर तुम्हारा काम हो चुका हो तो तुम जा सकती हो. अब ऐसे ही चलता रहा, फोन पर बातें चलती रहीं … गार्डन में मुलाकातें होने लगीं.

तभी मेरी आंखों के सामने उसकी गुलाबी गांड का छोटा सा फूल मेरा दिल ललचा गया. मैंने फिर से उन्हें कहा- जेठ जी, सास जी जग रही होंगी तो बहुत अनर्थ हो जाएगा.

उसका लण्ड भी पजामे के अन्दर तम्बू बना हुआ था।अब वो कपड़ों के बाहर से ही मेरी चूत सहलाने लगा और मैं उसके लण्ड को सहलाने लगी। मुझ से अब नहीं रह गया तो मैंने उससे कहा- किशन अब मुझे अपनी बांसुरी दिखा ही दो जिसको तुम मेरी चूत में डालकर आज पूरी रात बजाने वाले हो।मेरी जान मैं तो शाम से ही तैयार हूं. मानो वो लन्ड का स्वाद लेना चाह रही हो!एक बार फिर उसने अपनी आँखें बंद कर ली और अपना मुँह खोल मेरे लन्ड के सुपारे को अपने होंठों के बीच में लेकर जीभ से रगड़ दिया और फिर बाहर निकाल दिया. फिर रॉन ने धीरे धीरे लंड को अन्दर बाहर करना शुरू किया और नेहा भी आह … ओह्ह … करने लगी.

हमने राजू के साथ थोड़ी देर ही मस्ती की कि राजू बोला- अभी मुझे जाने दो, मेरे मालिक मेरा इंतजार कर रहे होंगे.

चुत में आधी टॉफी घुसेड़ कर बॉस ने अपनी जीभ को नुकीली किया और टॉफी चूसते हुए गर्लफ्रेंड की चूत के दाने को अपनी जीभ से छेड़ने लगा. लण्ड को थोड़ा और अंदर तक लेने के लिए भाभी ने अपने पांव को थोड़ा खोला. उस दिन हम लड़कों बदल बदल कर पांचों पुलिस वालियों की चुत में लंड पेला और हम सबने अपना अपना पानी उनकी चुत में ही निकाल दिया.

प्राची भाभी के मुँह से चीख तो नहीं निकली पर चेहरे पर दर्द की लकीरें उभर आईं. और पनीर नहीं लाना क्या?” मैंने पूछानहीं जीजू, आप दूध लाओगे न तो उसी में से पनीर तो मैं अपना खुद बना लूंगी, मार्केट का पनीर शुद्ध नहीं होता.

प्राची भाभी ने अपना मुँह खोल लिया और वो हर बार लंड को मुँह में लेने के लिए बेचैन हो जाती थी. मैं समझ गई कि ये अब मुझे चिल्लाने का कोई मौका नहीं देने के मूड में है. मैंने थॉमस के दोनों हाथ पकड़ पर आपने मम्मों पर रख दिए और वो हब्शी मेरे मम्मों को मसलने लगा.

सेक्सी ब्लू फिल्म हिंदी इंडियन

साली जी, अब अपनी चूत के होंठ अपने हाथों से खोल दो खूब अच्छी तरह से और फिर मेरी तरफ देखो.

हाय फ्रेंड्स … मेरी दोस्त की वाइफ की चुदाई कहानी के पिछले भागवाइफ शेयरिंग क्लब में मिली हॉट माल की चुदायी- 1में आपने जाना था कि समीर की बीवी पूजा मेरे साथ चुदने वाली थी. ऐसा कहते हुए मैंने सिर के ऊपर से मैक्सी निकाल दी।बहुत हिम्मत दिखाई थी मैंने … अब मैं सिर्फ ब्रा और पेटीकोट में थी उसके सामने।मेरे 34″ की चूचियों ने अच्छे अच्छे को हिला दिया था, ये कैसे बच पाता। मुझे उसके लन्ड में थोड़ी हरकत महसूस हुई। मुझे थोड़ी खुशी मिली. मैंने कहा- अब क्या करना है?तो वे दोनों बोली- आप बताओ?मैंने कहा- देखो इन बातों में कोई फायदा नहीं है, अब इसको थप्पड़ भी लग गए हैं और इसको यह भी पता लग गया है कि हम किसी भी तरह से कम नहीं हैं इसलिए मैं थानेदार साहब को बोल देता हूँ कि इसको अच्छी सी वार्निंग देकर यहाँ से भगा दे.

सिगरेट के कश लेते हुए उन्होंने पूछा- एक बात बता … तू मुझे चोदते हुए दीदी दीदी क्यों कह रहा था?उनके इस सवाल से मैं खांस पड़ा और सोचने लगा कि इन्हें क्या बताऊं कि मैं दीदी को पिछले तीन सालों से चोद रहा हूँ. मैंने भी जबाव में कहा- आप भी बहुत अच्छी हो … मुझे भी आपसे प्यार होने लगा है. सेक्सी वीडियो चुदाई सेक्सीइस पर भाभी ने मुझसे प्रॉमिस लिया कि ये एक ही बार होगा और किसी को पता नहीं चलेगा.

फिर भैया अपनी जीभ की नोक से भाभी के उस मटर जैसे दाने मतलब भग्नासा को सहलाते हुए टच करते हैं जिससे भाभी किसी मछली की तरह तड़पने लगती हैं. शायद मुझे शर्ट निकाल ही देनी चाहिए ताकि तुम्हारे हाथ मेरी पीठ और कंधों तक पहुंच सकें.

हैरानी की बात थी कि सुमीना का पति अभी तक अपने बच्चे को हॉस्पिटल में देखने तक नहीं आया था. वो मेरी पीठ पर अपने होंठों से हल्के हल्के से किस करने लगा, जिससे मुझे बहुत ही ज्यादा मदहोशी छा रही थी. मैंने उसकी पीठ सहलाई और गांड पर चपत मारते हुए प्रतिभा से पूछा- क्या तुम तैयार हो?प्रतिभा- तुम्हारे लिए तो मैं हमेशा तैयार हूं डार्लिंग.

मैं चौंका- क्या!फिर उन्होंने बताया कि भैया तो उन पर ध्यान ही नहीं देते हैंमैंने उसी पल कह दिया- आप चिंता मत कीजिए. और चोदो … और तेज़ … मजा आ रहा है … और तेज़ और तेज़।सुनील मुझे आहह … आहह … हम्म … हम्म … ये ले साली रांड. फिर मेरी गर्लफ्रेंड को एक बॉस ने अन्तर्वासना पर एक सेक्स स्टोरी ओपन करके दे दी.

मैं सर झुकाए उनकी बगल से जाने के लिए निकली, पर उन्होंने मेरा हाथ पकड़ लिया.

फिर बोली- राजू तो एकदम से डर गया?इस पर हम दोनों हंसने लगी जिससे राजू झेंप गया. मैंने उनसे शादी के पहले के बारे में पूछा, तो बोलीं कि मेरे गांव का एक लड़का मुझसे बहुत प्यार करता था और वो मुझसे शादी भी करना चाहता था.

बुर ने पानी छोड़ दिया था जिस वजह से मेरी चड्डी भी कुछ गीली सी हो गई थी. अब मैं सभी पाठक और पाठिकाओं के सामने विनीता का सवाल रख रहा हूं जो वो पूछना चाहती थी. तब वो बोली- भाईजान … कैसे हैं मेरे बूब्स … अम्मी से अच्छे हैं या नहीं?मैंने कहा- अभी पूरे देखने तो दो, तभी पता चलेगा.

इसका गला गहरा होने से इसमें से मेरे मम्मों की क्लीवेज भी नज़र आती थी. अब मुझे जल्दी से बताओ कि तुम मुझे सपनों में कैसे चोदते थे?मैं- चंदू एक दिन तुम अपने बच्चे को स्कूल छोड़ने जा रही थीं. तभी सनम ने मुझे कहा कि जरा कोल्ड क्रीम तो देना!मैं जाकर कोल्ड क्रीम की शीशी ले आई जिसे सनम ने राजू के लंड पर लगा दिया.

बीएफ साड़ी वाली औरत अन्दर जाने पर सर ने मुझे बैठने को बोला और उस लड़की को पांच मिनट और पढ़ाया. एक प्रकार से भग्नासा स्त्री की चाभी है जिसको सहलाने या रगड़ने से वह बहुत जल्दी झड़ जाती है.

सेक्सी विडियो हिंदी गाना

उसने मुँह बनाकर मुझे मुक्का मारा और ये कहते हुए कि इतना बड़ा छेद भी नहीं है यार! वो उठकर कपड़े पहनने लगी. कहानी पर कमेंट्स करना न भूलें और अपने मैसेज भेजने के लिए नीचे दिये ईमेल का प्रयोग करें. उसने मेरा हाथ अपने हाथ में लिया और अपना गर्म मस्त लंड मेरे को पकड़ा दिया.

भाभी मैं तो आपकी इन बातों से पागल हो गया था और आपको उसी वक्त चोद देना चाहता था, पर आप तब तक तेल लाकर मेरे पेंट को खोलकर मेरे लंड और गांड के चारों ओर लगाने लगीं. अब मैं समझ गई कि ये वही चारों लोग में से दो आदमी हैं, जो बाहर खड़े थे. सेक्सी बिहार कीफिर हम दोनों 69 की पोज़िशन में आ गए और एक दूसरे का आइटम चूसने-चाटने लगे.

मैंने उठना चाहा तो उन्होंने मुझे नीचे दबा लिया और मेरी चूचियों को पीने लगे.

मैं प्यार से उसके लंड के ऊपर आके बैठ गयी और अर्जुन को हिलने से मना किया. वह देखने में बहुत खूबसूरत थी और एकदम श्रद्धा कपूर के जैसी दिखती थी.

मेरी पिछली कहानी थी:पत्नी प्रेम की नयी परिभाषाआज की ये कहानी थोड़ी अलग है. पोर्न मूवीज, क्लिप्स, वेब सीरीज, सेक्स पर आर्टिकल्स, सेक्स क्या है, कैसे करें, क्या करें, क्या न करें … सब कुछ अब आपकी उंगलियों के इशारे में है. अब मुझे कोई शर्म नहीं थी क्योंकि रोहन ने थॉमस और मुझे पूरा नंगा देख ही लिया था.

नेहा ने कहा- कोई बात नहीं सर … हमें तो ऐसी डांट सहन की आदत होती है.

ममा ने बाजार में एक जगह गाड़ी पार्क की और मुझे लेकर कॉस्मेटिक की शॉप पर पहुंच गईं. मुझे पता था कि मीता को मेरे मोटे लम्बे लंड को लेने में बहुत चिल्लाएगी, रोएगी, पर ये तो हर लड़की को एक न एक दिन सहना ही पड़ता है. उन्होंने पूरा लंड मेरी चूत में घुसा दिया और मेरी चूत जैसे फैल कर फटने को हो गयी.

ब्लू पिक्चर हिंदी में चुदाईवो कई बार जोक मारते मारते कुछ भी बिना शर्म किए बोल जाता था और मैं भी कोई हिचकिचाहट नहीं कर रही थी. अब आगे सेक्स हिंदी स्टोरी:सोनू के पापा को 10 दिन तक हॉस्पिटल में रखा गया.

हिन्दी देसी सेक्सी वीडियो

आप लोगों को मेरे नादान पति के सामने ब्वॉयफ्रेंड से चुदाई के मजे की कहानी कैसी लगी … प्लीज मुझे हैंगआउट्स पर मैसेज करके जरूर बताएं या आप मुझे ईमेल भी कर सकते हैं. गुरजीत की नजरें मेरे सीने के बाल देख रही थीं कि मैंने गुरजीत का टॉप उतार दिया. अब उसे सच बोलूं तो नीरा के नाराज होने का डर!और मैं झूट बोल दूं औऱ नीरा ने पहले ही सच बता दिया हो तो अमन की नज़रों में झूठा होने का डर!मैं बात घुमाने लगा तो अमन फिर से पूछ बैठा- बताओ न कुछ हुआ रात में?क्या होना था रात में?” नीरा टेबल के पास आते हुए बोली.

गर्ल्स Xxx हिंदी स्टोरी में पढ़ें कि मैं किराए के कमरे में रहता था तो कैसे ऊपरी मंजिल पर रहने वाली एक लड़की से मेरी दोस्ती हुई और एक रात वो मेरे कमरे में आ गयी. आरूषि- लो, यही चाहते थे न तुम? हमेशा मेरी चूचियों को घूरते रहते थे. मैंने थॉमस को गुड मॉर्निंग विश किया और रोहन को आवाज दी- रोहन सुनो ना.

मैं इन्हीं बातों को सोचते हुए प्रतिभा के अंग अंग को बारे बार निहार रहा था, प्रतिभा के अंडरआर्म और पांव के तलवे तक मेरे मन को आनंदित कर रहे थे. होंठों पर गहरी लाल लिपस्टिक, आंखों में काजल, गोल बड़े गले की लाल कुर्ती सूट पहनी हुई थी. पर हमारे पॉइंट बिल्कुल बाहर होने के करीब थे। हालांकि मेरी टीम बहुत मेहनत कर रही थी पर फिर भी पिछड़ती जा रही थी।मैं हर दिन की रिपोर्ट अपने कॉलेज के सर को देती थी।उन्होंने कहा- चाहे कुछ भी हो जाए, कुछ भी करना पड़े.

उसने अपना अंडरवियर अपनी बेटी को दिखाते हुए उतार दिया और उसका अधसोया लंड रश्मि की आंखों के सामने लटकने लगा. पहले से भूखी प्राची भाभी लंड ऐसे चूसने लगीं, जैसे कोई कुतिया हड्डी चूस रही हो.

उसकी ड्रेस के अंदर से ही उसके तने हुए निप्पल साफ साफ उभरे हुए दिख रहे थे.

यहां पर मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूँ कि खुशी के साथ किसी प्रकार के शारीरिक संबंध के बारे में मेरे मन में विचार तक नहीं आया। और ना ही मैंने कभी खुशी के सामने अपने प्रेम का ही इजहार किया था. वीडियो चुड़ैमेरे मुँह से न चाहते हुए भी सिसकारी निकल गई- आह्ह्ह … ओह्ह्ह … उफ्फ … क्या उखाड़ ही लोगी?वो हंस दी और उसने ने मेरे लंड को फैंटना शुरू कर दिया. ಬಾಂಗ್ಲಾ ಬಿಎಫ್अपने लम्बे अनुभव में एक अध्याय और जोड़ने के लिए मैं उठा, अपना अण्डरवियर शरीर से अलग किया और ढेर सी क्रीम अपने लण्ड पर चुपड़ कर मैं गुरजीत की टांगों के बीच आ गया. फिर नेहा की चूत के द्वार के ऊपर लंड रख कर कहा- डार्लिंग आर यू रेडी? (क्या तुम तैयार हो?)नेहा ने एक स्माइल दिया और कहा- धीरे से डालना … प्लीज।तब रॉन ने एक जोरदार धक्का दिया और आधा लंड नेहा की चूत में जा घुसा.

प्रतिभा ने झड़ने के बाद लगभग पांच मिनट और मेरा साथ दिया … उसके बाद तो उसने ‘मुझे छोड़ दो … रहम करो … बस करो.

बहुत दिनों से जिस बात की बिन्दू को तलाश थी उसकी वह इच्छा आज पूरी हो गई. जब रात को सोने की बारी आयी तो मैंने पूछा- दवा खिलाई या नहीं?तो बोली- नहीं खिलायी. मैंने उनसे शादी के पहले के बारे में पूछा, तो बोलीं कि मेरे गांव का एक लड़का मुझसे बहुत प्यार करता था और वो मुझसे शादी भी करना चाहता था.

मेरी कहानी उसी घटना के बारे में है।उस दिन पिताजी और माताजी को दर्शन के लिए चित्रकूट निकलना था. जो फालतू के नम्बर हों, उन्हें डिलीट कर दो और बाकी सारे नम्बर की ब्लॉकिंग हटा दो. मैं अपने बॉयफ्रेंड से जी भरके चुदना चाहती थी वो भी अपने पति के सामने बिना किसी हिचकिचाहट और डर के.

सेक्सी नंगी पिक्चर हिंदी में वीडियो

उसे उठाने के बहाने जैसे ही मैं नीचे झुकी तो उसे मेरी गांड के दर्शन जरूर हो गए होंगे क्यूंकि उस वक़्त मैंने पैन्टी नहीं पहनी थी. हम दोनों ने कसकर एक दूसरे को बांहों में जकड़ा और होंठों को एक कर दिया. मैंने नेहा से कहा- नेहा वैसे तो मुझे तुम्हारी हर ड्रेस अच्छी लगती है, क्योंकि इस पैंट में तुम्हारी चूत हर वक्त मुझे दिखाई देती रहती थी, लेकिन मुझे तुम्हारा स्लीवलैस टॉप और छोटी स्कर्ट भी अच्छी लगती है क्योंकि उसमें तुम्हारे पट भी दिखाई देते रहते हैं.

कुछ देर बाद बिन्दू उठी तो वीर्य उसके पटों पर से होता हुआ उसके घुटनों तक निकल गया.

गरीब परिवारों में बेचारी लड़कियों की भावना के बारे में कोई नहीं सोचता बस किसी तरह पैसा आना चाहिए।अगर तुम्हें सौ रुपये और मिल जाएँ तो तुम क्या करोगी?”मैं तो बल्गल और आलू की टिक्की खाऊँगी और साथ में पेसपी (पेप्सी) पीउंगी.

मैंने नीचे देखा- हे भगवान अर्जुन … तुम्हारा लंड अभी भी खड़ा है?उसके लंड को पकड़ के मैंने हिलाया- कितना कड़क है अर्जुन!और वो हंसने लगा- अब जहाँ तुम्हारी जैसी चूत की मल्लिका हो, वहाँ लंड कैसे शांत बैठ सकता है?ह्म्म्म” मैंने बोला- लेकिन मेरे राजा, अभी मुझे एग्जाम के लिए जाना है. अब मैंने बिन्दू से कहा- बिन्दू, तुम मुझसे एक वादा करो कि तुम बाहर किसी भी लड़के से नहीं मिलोगी, अगर किसी ने भी तुम्हें किसी लड़के के साथ बात करते हुए देखा या कोई ऐसी बात पता लगी तो मैं तुमसे बात करना बंद कर दूंगा. ஆன்ட்டிஸ் வீடியோमैं थॉमस के सीने को किस किए जा रही रही और कभी मैं उसके गले के पीछे उसे चूम रही थी.

मैंने तेज धक्कों के साथ चुदाई शुरू कर दी … मेरे मुख से भी कामुक ध्वनियां निकलने लगी थीं. हर्षद आज क्या चुदाई की है तुमने … मैं सोच भी नहीं सकती थी कि तुम एक अनुभवी मर्द की तरह करीब आधे घंटे से ज्यादा समय तक मेरी चुत चुदाई करोगे. इसी तरह करीब 30 मिनट तक वो मुझे ऐसे ही चोदता रहा। मैं भी सातवें आसमान की सैर कर रही थी। ऐसा करते करते मैं अब झड़ने के करीब आ गयी थी.

अगर वो किसी को बोल भी देगा तो कोई उसकी बात पर यकीन नहीं करेगा क्यूंकि कॉलेज और हॉस्टल में हम दोनों लड़कियाँ बहुत ही शरीफ थी और हमारी इमेज बहुत साफ़ थी. कभी कभी खड़े खड़े या घोड़ी बन कर भी गांड मराई है, पर बहुत कम बार … केवल इमरजेंसी की हालत में ही ऐसा हुआ होगा.

बेचारी टैम्पो के इन्तजार में हैं, इनको बैठा लें क्या?अंधा क्या चाहे, दो आंखें.

उदय सर- तुम हारमोनियम बजा लेती हो ना!मैं- जी सर … थोड़ा बहुत जानती हूँ. उसके जाते ही आंटी ने अपनी नाइटी फिर से ऊपर कर ली और फिर से सेक्स मूवी देखने लगीं. उसके मुँह से आवाज़ तो नहीं आ रही थी मगर मुँह ऐसे बना रही थी जैसे ‘आह … ईह उई …’ कर रही हो.

भाई और बहन की सेक्स कुछ देर मरी मम्मी की चूत को अच्छे से चाटने के बाद अंकल ने मम्मी को लिटाया और अपना लंड मम्मी की चूत से लगा दिया. फिर पीछे से मैं आंटी से बोला- आंटी, आप ये क्या कर रही हो?मेरी आवाज सुनकर आंटी एकदम से घबरा गईं और शर्म से लाल हो गईं.

उसने थोड़ा सा तेल लेकर मम्मी की गांड के छेद में भी लगाया और एक उंगली मम्मी की गांड के अंदर डाल दी जिससे मम्मी की चीखी निकल गयी. पर प्रतिभा ने इस आनन्द को यहीं विराम देते हुए मुझे पीछे की ओर धकेलते हुए बिस्तर पर लिटा दिया और स्वयं मेरे लंड के ऊपर झुक गई. अब मैं थॉमस के सामने बेड पर बिल्कुल नंगी लेटी हुई थी और थॉमस मुझे देख कर मुस्कुरा रहा था.

गंदी शायरियां

मैंने बिन्दू की टांगों को थोड़ा अलग किया और बुर के छेद में अपनी एक उंगली डाली, उंगली आराम से चली गई क्योंकि बिन्दू को खीरा लेने की आदत पड़ी हुई थी, इसलिए उसने उंगली आराम से ले ली. फिर मैंने दरवाजा खोला तो उसने गेट से ही कपड़े मुझे पकड़ा दिए और पैसों को बोला. सारा स्टाफ चला गया सिवाय रीता को छोड़ कर। आधे घंटे के बाद रीता फाइल समेट कर रमेश के केबिन में आई और टेबल पर फाइल पटकते हुए गुस्से में बोली- लीजिये आपकी फाइल और मेरी पैंटी मुझे दीजिये, मुझे घर जाना है।फाइल देख कर रमेश खुश होते हुए बोला- घर? घर क्यों, आज तो तुम्हें होटल मूनलाइट जाना है ना?रीता- क्या? होटल? नहीं … आज कोई चुदाई-वुदाई नहीं होगी.

चुत की फांकों की गर्मी से मेरे लंड को सहन नहीं हुआ और मैंने एक ही झटके में आधा लंड डाल दिया. अह्ह्ह अर्जुन … अह्ह्ह उम्म्म … हाहाहा … ऐसे ही हूँन्न … हहह चोदो अपने मस्त लौड़े से अपनी चाहत की चूत … आह आह उम्म्म मा … अर्जुन मैं आने वाली हूँ.

और मैं चूतड़ भींच भी रहा था और मरी सी आवाज में कह भी रहा था- यार जल्दी निकाल लो … बहुत लग रही है.

मैंने घंटी बजाई … बस थोड़ी देर में ही मामी नाइटी में बाहर आ गईं और दरवाजा खोलकर मुस्कुराते हुए बोलीं- आओ अतुल आओ … कैसे हो … मैं तुम्हारा ही इन्तजार कर रही थी. जैसे ही पुलिस की गाड़ी गई, मैं अपने रूम में जाने लगा तो नेहा की मम्मी सरोज मेरा हाथ पकड़ कर कहने लगी- नहीं राज, ऐसे कैसे जा सकते हो, तुम अंदर आओ. उसके चेहरे पर ग्लानि के भाव देख कर रमेश मुस्करा दिया- तुम कुँवारी नहीं हो.

उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर हुए कहा- तू ऐसे मत शर्मा … मुझे पता है कि तू मेरी बात मानेगी. फिर बस सवाल जवाब- क्यों मंगाया, क्या हुआ है?वो यही सब सवाल करने लगा. कुछ देर बाद भाभी आई तो उन्होंने रात को पहनने का एक छोटा सा स्लीवलेस गाउन जो भाभी के हिप्स से थोड़ा नीचे था, पहन रखा था.

मैंने उसको उकसाया- क्या देखना है? नाम लो न!मीता- अरे आप भी ना बस दिखाओ.

बीएफ साड़ी वाली औरत: वो बोली- हां शुभम, मैं अपने पति से इतनी परेशान हूं कि मैं तुम्हें सारी बात बता भी नहीं सकती. मैंने विनीता के दोनों हाथ ऊपर कर उसकी ब्रा के बाहर से ही उसके स्तनों को चूमना शुरू कर दिया.

मेरी आंखों में से आंसू निकलने लगे … क्योंकि आज तक मैंने इतना मोटा लंड अपनी चुत में नहीं लिया था. मैंने उसकी पैंटी के अंदर एक एक कर पांचों उँगली डाल दी और उसकी फांकों को सहलाने लगा. साली जी की चूत में दूसरी बार लंड गया था पर घुसेड़ने के तीन चार मिनट बाद ही उसकी चूत इतनी खुली खुली, इतनी स्लिपरी लग रही थी कि जैसे वो अब तक कई बार चुद चुकी हो.

और तेज़ … बहुत मजा आ रहा है … करके चुदवाती रही।लगभग 5-6 मिनट ऐसे ही खड़े खड़े चोदने के बाद हमने थोड़ा आराम किया और साँसें काबू करने लगे।मैंने हांफते हुए ही कहा- तुम तो बहुत अच्छा चोदते हो, मुझे लगा था वैसे ही होगे।उसने कहा- अरे जानेमन, आपको देख के तो मरे हुए आदमी का लंड खड़ा हो जाये, मैं तो फिर भी जिंदा हूँ.

ये शरद का थोड़ा सा अजीब व्यवहार था, पर इससे मुझे उत्तेजना ज्यादा मिल रही थी. आह्ह अर्जुन … क्या कर रहे हो?”चाहत, कल का क्या प्रोग्राम है?”मैंने बताया- एग्जाम से आने के बाद मैं तुम्हारी! सारी रात मेरी ऐसी चुदाई करना कि मैं हमेशा याद रखूं. मैंने नेहा से पूछा- नेहा, मजा आया?नेहा एकदम मेरे गले से लिपट गई और मेरे गाल पर जबरदस्त किस करके काट लिया और बोली- आज से मैं तुम्हारी गुलाम!मैंने कहा- नेहा, गुलाम नहीं तुम मेरी रानी हो और तुम्हें मैं अपनी रानी बनाकर चोदता रहूँगा.