हिंदी बीएफ वीडियो चुदाई की

छवि स्रोत,सेक्स करते हुए सीन

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो भेजिए बीएफ: हिंदी बीएफ वीडियो चुदाई की, अब मैंने भी काफी तेजी से धक्का देना चालू कर दिया और इसका नतीजा यह निकला कि मैं काफी जल्दी ही झड़ गया.

ब्लू वीडियो सेक्सी पिक्चर

बहुत फोन आने लगे, लेकिन मेरी फीस ज्यादा होने के कारण जल्दी कोई तैयार ही नहीं हो रहा था. हिंदी ब्लूवो बोला- एक बाहर का है, उसे भी बुला लूं क्या … तेरी फोटो भेज कर बुला लूँगा.

मैंने चाची को फिर से बिस्तर पर चित लेटा कर अपना लंड उनकी चूत में घुसा कर चाची के ऊपर छा गया. डब्ल्यूडब्ल्यूई की सेक्सउसके बाद हम दोनों ने कुछ बातें की और फिर मैंने एक राउंड और मारने को कहा लेकिन उसने मना कर दिया।अब शगुन मेरे लंड का स्वाद चख चुकी थी तो कोई चिंता की बात नहीं थी अब तो रास्ता खुल चुका था, मुझे पता भी चल चुका था कि मेरी बहन चालू किस्म की है.

मम्मी की पुरानी आदतों के कारण से सब मेरे घर को वेश्यालय ही समझते हैं.हिंदी बीएफ वीडियो चुदाई की: हम दोनों एक दूसरे को बांहों में थामे हुए अपनी काबू से बाहर हुई सांसों को काबू में करते हुए एक दूजे में यों ही समाये रहे … न ही मेरा लन्ड बाहर निकालने को मन हो रहा था न ही मीता उसे बाहर निकलने देना चाहती थी.

ज्यादा वक्त खराब न करते हुए में बताना चाहूंगा कि मेरा नाम सोनू है और आगरा का रहने वाला हूं। मेरा लंड 8 इंच का है और उम्र 18 साल, मैं गोरा चिट्ठा गबरू जवान जिस पर कई लड़कियां मरती हैं.हमने बातें शुरू कर दी, हंसी मजाक शुरू हो चुकी थी, मेरी पत्नी मेरे पास बैठी थी बातों बातों में फिर खुलकर बातें होने लगी.

ब्लू फिल्म सेक्सी एक्स एक्स एक्स - हिंदी बीएफ वीडियो चुदाई की

फिर मैंने उसकी पेंटी से ही मुठ मारी और सारा माल उसकी पेंटी में ही छोड़ दिया.कुछ ऐसी लड़कियों के उदाहरण दिए, जो अकेले में टाईम पास के लिए किसी को भी स्वीकार कर लेती हैं.

माइक भले रुक गया था, पर उसने मुझे अपनी ताकत से दबा लिया और मुझे उठने नहीं दिया. हिंदी बीएफ वीडियो चुदाई की मैं अब तुम्हारी प्यारी चूत को अपने लंड के पानी से पूरी की पूरी भरने वाला हूँ.

मैंने उसे थामते हुए पूछा- कौन से बेडरूम में तुझे लेकर जाऊं?उसने उंगली से इशारा किया तो मैंने उसको अपनी गोद में उठाया और बेडरूम में लेके गया.

हिंदी बीएफ वीडियो चुदाई की?

मैं सोचने लगा कि अब मैं क्या करूँ? पूर्वी को जगाऊँ या ऐसे ही निकल जाऊं?यही सब सोचते सोचते पता नहीं कब मुझे भी नींद आ गयी और मैं भी सो गया. फिर मैंने अगली बार उसकी तरफ अपने होंठ बढ़ाए तो उसने रजामंदी दिखाते हुए अपने होंठ चूमने के लिए आगे कर दिए. अशोक- अगर घर में कोई भी व्यक्ति बाहर का आता है, तो हमें हमेशा सामान्य परिवार की तरह व्यवहार करना होगा.

बाथरूम में हिमिका ने मुझसे पूछा कि 6000/- लायक सर्विस मिला या नहीं?? तब मुझे पता चला कि हिमिका और ख़ुशी ने 6000 रुपये में रात में चूत चुदाई करवाई थी. वो बोला- एक बाहर का है, उसे भी बुला लूं क्या … तेरी फोटो भेज कर बुला लूँगा. लेकिन मौसी सेक्स करने को अभी राज़ी नहीं थीं … शायद उन्हें कुछ डर था.

उस दिन उसने गाउन पहन रखा था, उसमें वो बिल्कुल माल लग रही थी कि कोई भी मर्द उसे देख ले तो उसी समय चोद दे उसे!उसने मुझसे कहा- आज तेरा दोस्त घर पर नहीं है।मैंने कहा- मैं तो अंकल से सामान लेने आया हूँ।उसके पापा घर से ही घरेलू उपयोग का सामान बेचते हैं. समझी नहीं मैं?उसने कहा- क्या एक दिन के लिए आप मेरे साथ बाहर घूमने चलेंगी. इतना सुनना था कि मैंने लंड बाहर खींचा और मयूरी भाभी की कम झांटों वाली चुत और दूध पर पिचकारी मार दी.

उधर मेरी भाभी चुदासी हो चुकी थीं और बाथरूम से निकल कर अपनी चुदास दिखा रही थीं. दस दिनों तक तो सब कुछ ऐसे ही चलता रहा, मौका नहीं मिल पाया उसके दस दिन बाद मैं अपने बॉस के साथ किसी काम से दिल्ली से बाहर गया हुआ था.

फिर एक दिन उसका फोन आया और उसने मुझसे कहीं बाहर घूमने जाने के लिए पूछा.

मैंने बिना देर किए अपनी मीता के चूत के उठाव पर अपने होंठों को चिपका दिया.

उसकी शानदार गांड देखते हुए उसके बचपन के बॉयफ्रेंड का लंड कठोर और कठोर होता जा रहा था, ऑफ़ कोर्स मेरा भी!क्या इरादा है जानेमन. मैं- तो क्यों आयी फिर?बेबी- क्योंकि मुझे भी तुम्हारा लंड फिर से चाहिए था. उस काम के सिवा?तो मैंने कहा- अगर उतना मन कर रहा है तो एक आईडिया बता सकता हूँ.

पहले आंटी थोड़ी थोड़ी कतराती थीं, लेकिन अब वो भी सामने से मुझे अकेले में घर बुलाकर मेरे लंड के मजे लूट लेती हैं. माइक 2-3 धक्के पूरी ताकत से और मारने के बाद शांत होने लगा, पर मैं रो दी. मान लो मम्मी या कोई घर में हैं, उनको मौका नहीं मिल रहा है तो पढ़ाने के बहाने से तीन चार, पांच घंटे तक बैठे रहते थे.

यह एक चीज सबके घर में रहती है; वो है उनका तकिया सोने वाला।अब उसमें सबसे पहले आपको एक छोटा सा छेद करना है और रूई होगी ही उसमें … अब उसमें अपनी इनरवियर यानी बनियान को छेद पर बिछा कर अपनी दो उँगलियों की मदद से उस बनियान को उस छेद में घुसा दें बिल्कुल वैसे ही जैसे किसी लड़की की चूत में दो उंगलियाँ घुसाई जाती हैं.

फिर मैं उनको चूमते हुए थोड़ा ऊपर उनके पैरों की एड़ियों तक आ गया तो उनकी पायल बजने लगी. पूर्वी- मेरी शादी नवम्बर 2015 में हुई थी और मेरे पति शिप पर इंजिनियर हैं अमेरिका में. जब मेरा आधा लंड उसकी चुत में घुस गया … तो फिर उसकी चुत से हल्का हल्का खून आने लगा.

फिर उसने मुझे छोड़कर वहीं से एक पेपर उठाया और अपना लंड पौंछ कर जल्दी से कपड़े पहन लिए. मैं बिल्कुल पागल हो गई और तूने अंकल मुझे बहुत दर्द भी दिया, बहुत रुलाया तेरा लौड़ा बहुत कड़क है. आंटी के करवट के बल सोने की वजह से उनकी चूत मुझे दिख नहीं रही थी, तो मैंने अब उनकी टांगें फैलाना शुरू कर दीं.

फिर उसने मुझे अपनी सहेलियों से मिलवाया, एक का नाम था हिमिका, वो 24 साल की होगी.

माइक भले रुक गया था, पर उसने मुझे अपनी ताकत से दबा लिया और मुझे उठने नहीं दिया. जब उसने कुछ नहीं बोला तो मेरी हिम्मत बढ़ गई और मैंने उसके गले पे अपना हाथ फेरना चालू किया.

हिंदी बीएफ वीडियो चुदाई की अब मैं क्या करता मेरे पास जवाब ही नहीं था, तो मैं उसे चुपचाप घर ले आया. उसने मेरी ब्रा में से मेरे दोनों लोग मम्मों को निकाल लिया और मेरे मम्मों को चूसने लगा.

हिंदी बीएफ वीडियो चुदाई की ” कहते हुए नेहा ने तुरन्त ही अपने हाथ को झटक कर ऐसे हटा लिया, जैसे कि उसने कोई बिजली की तार को छू लिया हो. लगातार एक करंट सी मेरी योनि से होता हुआ बच्चेदानी के रास्ते मेरी नाभि तक जा रहा था.

मैं कराहते हुए उठ बैठने जैसी हुई और मैंने फिर से दोनों हाथों और टांगों से पूरी ताकत से उसे पीछे धकेल कर रोकना चाहा.

कॉलेजच्या पोरींचे सेक्सी व्हिडिओ

लखनऊ के करीब आकर मैंने उससे उसका नम्बर मांगा तो उसने अपना मोबाइल देते हुए कहा- अपना नम्बर भी सेव कर दो. मॉम ने बहन की डांट लगाई और बोली- तुझे पहले भी बोला था कि ये तेरे जानने की चीज़ नहीं है, तू फिर भी नहीं मानती, तुझे क्या पता है. क्योंकि अपने पति को अच्छा दिखाने और उनके जैसा बनने में आप अपने आपको खो चुकी है.

मुझे मुन्ना अंकल ने मेरी स्कर्ट और टॉप उठा कर दी और बोले- वन्द्या ऐसे ही जल्दी से पहन लो. लखनऊ के करीब आकर मैंने उससे उसका नम्बर मांगा तो उसने अपना मोबाइल देते हुए कहा- अपना नम्बर भी सेव कर दो. उसके बाद उसने मेरी जाँघों को फैला कर मेरी योनि को दो उंगलियों से फैलाया और बोली- तुम तो ठंडी हो गयी हो … तुम्हें फिर से गरम करने पड़ेगा.

मुझसे अब रहा नहीं गया, इसलिए मैंने पीछे से ही एक बार जोर से भाभी की चुत को मसल दिया जिससे सुलेखा भाभी मेरे होंठों को अपने मुँह से आजाद करके थोड़ा सा ऊपर की तरफ उठ कर सिसक उठीं.

मैंने फ़िर बोला- चलो कल आपके बड़े बड़े बूब्स का नजारा तो देखने को मिलेगा. उसने पहले अपने बड़े भाई विक्रम के लंड को अपने मुँह में लिया और रजत के लंड को अपने हाथ से हिलाने लगी. धर्मेन्द्र- ओके, बताओ क्या चाहती हो?मैं- आपको पूरा नंगा देखना चाहती हूँ.

मेरी नजर केवल नीचे की तरफ लिंग पर थी, मैं देख सकती थी कि लिंग कितना अन्दर जा रहा और कितना बाहर है. अभी भी हल्के नशे में मेरा दिल कर रहा था कि बस अभी उनकी गांड खोल कर चाट लूँ और मार लूँ. लेकिन मैंने उसकी बात अनसुनी करते हुए अपना हाथ झटके से उसकी सलवार में घुसा दिया और इससे पहले कि कम्मो कुछ समझ पाती या संभल पाती मैंने उसकी पैंटी की इलास्टिक के नीचे से उंगलियां अन्दर सरका दीं और उसकी नंगी झांटों भरी चूत मेरी मुट्ठी में कैद हो गयी; मुझे लगा जैसी कोई ताजा मुलायम नर्म गर्म पाव मैंने पकड़ रखा हो.

फिर उसने झट से में मेरे लंड को अपने मुँह से चूस कर साफ किया और फिर से मेरा लौड़ा एक बार पेलने के लिए तैयार कर दिया. मैं फिर से अपनी जगह पर उठ खड़ा हो गया और पूजा के कंधों के ऊपर से देखते हुए उसकी दोनों कलाइयों को पकड़ते हुए उसके हाथों को उसके चूत पर से हटाया और उन हाथों को पीछे खींच लिया.

फिर उसने मेरी टांगें फैला बीच में बैठ अपने होंठ मेरी नर्म कुँवारी गुलाबी चूत पर टिका दिए औऱ चूत चूसने लगा. आधे घंटे बाद हम दोनों ने चिप्स और नमकीन खाये और आधी आधी बियर पी और फिर से दूसरे राउंड की चुदाई चालू कर दी. मैंने उसकी साड़ी खींच कर उतार दी, पेटीकोट ऊपर खिसका कर उसकी गाण्ड में एक उंगली डाल दी तो वो चिंहुक गयी.

फिर एक ने कहा- यार, बहुत ही जबरदस्त माल है … पर बहुत छोटी लग रही है.

मैंने अब खुद से कहा कि बस बहुत हुआ, अब और बर्दाश्त नहीं किया जा रहा, यह सोचकर मैं सीधा मम्मी के रूम में घुस गया. इन सब वजहों से हम दोनों लोग के बीच कुछ चलने लगा था, जिसका अहसास हम दोनों करने लगे थे और एक दूसरे के साथ काफी हद तक घुल मिल गए थे. सविता बोली- हां नीरू, अब मेरा भी करा दे … मैं बर्दाश्त नहीं कर पा रही हूं, मेरे शरीर में कुछ कुछ हो रहा है.

मुनीर ने विनती भरे स्वर से दोबारा बात दोहराती हुई मेरी साड़ी धीरे धीरे ऊपर मेरी कमर तक उठा दी. मैंने हैडफ़ोन कान में लगाया तो आवाज आई ‘अभी मत जाना … हम कुछ और देर मजे करेंगे.

उसने थोड़े गुस्से से कहा- अमन किधर ध्यान है तुम्हारा?मैं बोला- कहीं नहीं मैडम. जब यह कन्फर्म कर लिया तो मैं सीट पर बैठ कर सबा के चूचे मसलने लगा चूस भी रहा था. आप दूसरा टीचर देख लीजिए, मेरी वजह से किसी औरत को तकलीफ होती है, तो मुझे अच्छा नहीं लगता सोनल जी.

वीडियो सेक्सी वीडियो सेक्सी सेक्सी

फिर दोनों एक दूसरे की चूत को चाट रही थीं और मम्मों को दबा दबा कर चूस रही थीं.

उसकी झील सी आंखें, पतली कमर, बड़े बड़े चूतड़, जब चलती तो ऐसे मटकती कि जान ही ले ले. उसने उसके ब्लाउज के हुक खोलकर ढीले कर दिए और धीरे धीरे आगे बढ़ने लगी. माइक ने अपनी रफ्तार बढ़ानी शुरू कर दी, पर वो अपने लिंग को उतना ही अन्दर घुसा रहा था, जितना अभी तक अन्दर गया था.

वो समझ गया कि उसकी बहन की चूत की खुजली मिटाने वाला लंड उसे मिल गया. मैंने भी उसके अन्दर ही माल छोड़ दिया और मैं निढाल उसके ऊपर गिर गया. राजस्थानी भाभी की सेक्सी पिक्चरकविता से रुका नहीं गया और उसने खुद मेरा लंड पकड़ा और चुत पर लगा कर मुझको कहा- अब नीचे होकर पेल दे.

रेवती के चेहरे पर हल्की सी मुस्कान थी और मेरी तरफ गंभीर मुद्रा में देखते हुए रेवती बोली- माफी क्यों मांगते हो सरस. मैं भी उसके लौड़े को अपने गले तक लेकर अपना मुँह अपने ही बेटे से छिनाल के जैसे चुदवा रही थी.

जब वो वापिस आई तो उसने अपने हाथों में एक डिल्डो (नकली लंड) लिया हुआ था. रजत- क्या तुमने पापा के सिवा किसी और मर्द से कभी नहीं चुदवाया?शीतल- नहीं मेरे बेटे, अभी तक मैं एकदम पतिव्रता औरत थी पर अब पुत्रव्रता भी हो गयी… अब मैं तुम दोनों की भी पत्नी हूँ आज से… तुम दोनों जब चाहो मुझे आकर चोद सकते हो. जाते वक्त मीना ने मेरे लंड को हिलाया और इशारे से पूछा कि अगर मैं उसे चोदना चाहूँ तो? मगर मेरा मन अपनी प्यारी श्रीमती जी के अलावा और किसी के साथ सेक्स करने का नहीं था.

मैं तो सोच रहा था कि नेहा अपने आप ही मेरे लंड को अपने मुँह भर लेगी, मगर वो तो मेरे लंड को बस आंखें फाड़ फाड़ कर देखे जा रही थी. अब आगे:तभी वह लड़का लंबा सा हैंडसम निकल गया और स्टोर वाला मेरे से बोला- थोड़ा जल्दी करो, जिसको कहना हो बता कर और आ जाओ. वो मुझे लगातार नहीं नहीं बोल रही थीं, पर मैंने उन्हें समझाया और तेल की बोतल ला कर भाभी की गांड के छेद पे तेल को उंगली से डालने लगा.

उसके अंगड़ाई लेने से उसके चिकने पेट और खमदार पतली कमर की मादकता और बढ़ गयी और उसके पेट के पोर पोर पर मैंने अपने चुम्बनों की छाप अर्पित कर दी.

आज 15 साल से यह राज मुझे बहुत झांसे दे रहे हैं, कभी पैसा खर्च नहीं किए, बस मुझे बोलते रहते हैं. अपने ही बेटे की बीवी बन के मुझे अन्दर ही अन्दर अजीब भी लग रहा था, लेकिन फिर अपनी ख्वाहिश का सोच कर अच्छा भी लगा कि चलो नया शहर है, यहाँ तो कम से कम अपनी ज़िन्दगी जी लूँ.

एक बार समझ में नहीं आता क्या आपको?मैंने कहा- ठीक है मत बताओ और अब मुझे तुमसे बात भी नहीं करनी और ना मैं अब से खाना खाऊंगी. सोनू ने रसगुल्ले मसल दिए, जिससे उनका सारा रस मेरी सफ़ेद हॉट पेंट में साफ़ नज़र आने लगा और मेरी जांघों से उसका रस टपकने लगा, जिसे मेरा बेटा चाटने लगा. मैंने उसे बेड पर लिटा कर उसकी ब्रा को उतारने की बजाए फाड़ दिया … जिससे वो थोड़ी ग़ुस्सा सी हो गयी.

देख कम्मो, मुझे तुम्हारे घर चलने में कोई आपत्ति नहीं, लेकिन तुम्हारी आंटी, मेरी बहूरानी अदिति को ये बात अजीब लगेगी कि मैं तुम्हारे गांव क्यों जा रहा हूं. उसके जाने के बाद मैंने दीदी की नाईटी पहनी और दरवाज़ा हल्का सा बन्द करके दीदी के कमरे में कंबल ओढ़ कर लेट गई. मैंने उनको एकदम से पकड़ा और लौड़ा चूत के अन्दर समेत ही उनके ऊपर आ गया.

हिंदी बीएफ वीडियो चुदाई की उधर अपने नौकर को भी फोन करो कि बढ़िया वाली स्कॉच दारू चिकन और सब लेकर जल्दी पहुंच जाए. तभी मैं उनके पास गया और पूछा तो उनकी गाड़ी की डिक्की लॉक नहीं हो पा रही थी.

छोटी बहू टू

उस दिन भाभी जल्दी नहा कर बाहर आ गईं और मैंने जल्दी जल्दी में ब्रा पेंटी मशीन में ऊपर ही गिरा दी और दौड़ कर अपने रूम में चला गया. किशोर भैया और सुलेखा भाभी की उम्र में काफी अन्तर है‌ और जब उनकी उम्र में इतना इतना अन्तर है, तो उनके रिश्तों में भी कुछ ना कुछ कमी तो रहती ही होगी. आज उसने ब्राउन कलर की ब्रा पहनी थी और उसके दो दो किलो के चुचे उसमें से साफ दिखाई दे रहे थे.

पहले मैंने ब्रा के हुक को खोला और फिर सामने आकर पूजा की ब्रा के अन्दर क़ैद दोनों चुचियों को देखने लगा. उससे पहले मैं जिगोलो बनने की प्रैक्टिस कर रहा हूँ।आप लोग मुझे प्लीज़ बताएं कि जिगोलो बनने के लिए मुझे क्या करना होगा. ভিডিও সেক্স সেক্সमुझे भी समझ आ गया कि यह दर्द सील टूटने का है और लंड निकालने का मतलब है कि दुबारा इसकी बुर कभी नहीं मिलेगी.

कम्मो, मेरी बात का बुरा तो नहीं लगा न?” पता नहीं अचानक मुझे वो क्या हो गया था.

इससे मैं समाली अंकल को जकड़ कर लिपट गई और उनके होंठों को चूसने लगी. पूजा मुझसे बोली- नहीं अभी नहीं, मुझे अभी और थोड़ी देर तक तुम्हारा लंड चूसना है.

जाहिर है कि उस समय उसके भगान्कुर का दाना कुलबुला गया था और शायद यौवन रस भी टपक गया होगा. आपको ये कहानी कैसे लगी कृपया अपनी प्रतिक्रिया मेरी मेल आईडी पे भेजें. बीच बीच में दीपक मुंह उठा कर सुशीला को देख रहा था … उसको मुझसे बहुत ईर्ष्या हो रही थी। वो भी चाहता था कि मानसी भी अपनी मम्मी सुशीला की तरह उछल कूद करे और जोर जोर की सिसकारियाँ निकाले.

ये वो बातें होती हैं जो सिर्फ पति पत्नी या दोस्त आपस में करते हैं और तूने मॉम से ये बातें कह दीं.

फिर मैं अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ने लगा और फिर छेद का निशाना लगा कर अन्दर घुसेड़ दिया।उसे दर्द हुआ और वो चिल्ला पड़ी बोली- उम्म्ह… अहह… हय… याह… आराम से कर!उसकी आँखों में आँसू आ गए थे।मैंने उसे सॉरी कहा, फिर मैं धीरे धीरे अपना लंड उसकी चूत के अंदर सरकाने लगा लेकिन उसे अभी भी दर्द हो रहा था और उसकी चूत में से खून भी निकल रहा था. मैं उसकी चूत का सारा पानी चाट गया।फिर मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिए. सोनाली ने मेरे लंड का पानी अपने मुँह से किस करते हुए ख़ुशी के मुँह में दे दिया.

सनी लियोनbfमैंने दिमाग झटकाया और सोचा बता देता हूँ, ज्यादा से ज्यादा क्या होगा कुछ दिन आपस में बात नहीं होगी. मैंने सबसे पहले तो उसे उठाकर बेड पर पटका और धीरे धीरे उसके बदन को सहलाने लगा.

रश्मिका मंदाना सेक्स वीडियो

अब हम दोनों मां बेटियों को रंडियों की तरह कुतिया बनाकर पेल रहे थे।अब हमने दोनों को एक दूसरे के पास कर दिया और दोनों को एक दूसरे का मुंह चूमने को बोला. आज मैं फिर आपको अपनी सच्ची दास्तान लिखने जा रहा हूँ, जो शतप्रतिशत सही है. मैं, प्रिया और सुलेखा भाभी साथ में ही खाना खा रहे थे, तबियत के बारे में पूछते ही मेरी नजर अब प्रिया पर चली गयी और मुझे फिर से शरारत सूझ गयी.

मैं थोड़ा डर गया लेकिन फिर पूछा- बैंगन गांड में डालने से क्या मतलब है?मम्मी ने कहा- मुझे अच्छा लगता है. मेरी पैंटी में फूली हुई उसे वो जगह दिख गई … जहां अन्दर मेरी चूत थी. फिर उन्होंने मेरी पेंट की बेल्ट खोल कर हुक भी खोल दिया और ज़िप भी खींच दी, तो मैंने पेंट भी उतार कर वहीं पर रख दी.

फिर वो बोली- बहुत समय हो गया है, तुम्हें भूख लग रही होगी, चलो अपना गिलास खाली करते हैं और खाना खा लेते हैं. उसने कहा- अब में और तब में बहुत फर्क है … अब तुम जो गई हो, वो मेरे लिए, मेरी रिक्वेस्ट पर गई हो और तब तुम जहां जातीं, वो बस ऐसे ही घूमने के लिए पहले से ही तैयारी करके जातीं तो वो अचानक वाला मज़ा नहीं आता, जो अब आया है. हिमांशु के उठते ही सतीश बोला- वन्द्या अब तू उठ जा, तुझे दूसरी पोजिशन में चोदता हूं.

शायद उसने ब्रा नहीं पहनी थी क्योंकि शायद वो भी पूरी तैयारी के साथ चल रही थी. जब हम टकराये तो अनजाने में भाभी के बूब्स मुझसे दब गए थे, मुझे बहुत अच्छा लगा.

कुछ दिन बाद मैं भी परेशान हो गया कि इसकी जिद तो लम्बी होती जा रही है.

मैं सीधे बोली- हां लिए हैं … कई बार लिए हैं … तुम जल्दी से करो … बहुत बेचैनी हो रही है. मोटे लंड की सेक्सीइस सबके कारण मैं पहले ही गर्म हो चुकी हूं, मुझसे रहा नहीं जा रहा!मैंने कहा- नीरू थोड़ा सब्र करो, मैं तुम दोनों की चुदाई करूंगा … लेकिन पहले सविता को तो गर्म कर लो, इसका पहली बार है ना!यह सुनते ही नीरू ने सविता के कपड़े उतारने शुरू कर दिए. ग्वीडो ग्वीडोमम्मों की चुसाई शुरू हुई, तो अब तक ना ना करने वाली, अब मस्ती में आ आह आह करने लगी. उसने मेरी ब्रा में से मेरे दोनों लोग मम्मों को निकाल लिया और मेरे मम्मों को चूसने लगा.

एक साल तक चुदाई के बाद भाभी बोली- मुझे तुमसे औलाद का सुख पाने की कामना है.

यह सोचते ही मेरा लंड खड़ा हो गया और मैंने अपनी पत्नी को यह बात बतलाई. पहला सेमेस्टर जल्द ही खत्म हो गया और मुझे हर सबजेक्ट में बढ़िया मार्क्स मिले थे, सिवाय बायोलॉजी, जिसके वजह से मेरे रिजल्ट बिगड़ गया था. उनके 36 साइज़ के स्तनों के नीचे उनका गदराया हुआ पर सपाट पेट, जिस पर नाभि भी ऊपर को उभरी हुई दिख रही थी.

मैं एक चूची को दबाता और दूसरी चूची को ब्रा के ऊपर से ही किस करने लगता. हम दोनों बहनें अक्सर अपने कमरे में एक दूसरी की चूत से चूत रगड़ती थीं. आआह … इसससीई … उफ्फ्फ … आआह!” लम्बी आह मीता के मुख से इसलिए फूटी थी कि उरोजों को चूमने के दौरान ही मेरा लन्ड मीता की पेंटी के ऊपर से ही चूत के भीतर तक छल्लो में जाकर फंस गया था.

സെക്സ് ഫിലിം

तारा ने अपनी कमर उठा दी और मुनीर ने तकिया उसके कूल्हों के नीचे रख दिया. इतना बोल कर वो बेड पर लेट गयी और मैं अपने खड़े लंड को सहलाता ही रह गया, अब ज़ोर ज़बरदस्ती तो कर नहीं सकता था तो चुपचाप उन्हें देखता ही रह गया … बहुत ही मासूम लग रही थी वो उस समय …जब हमारी बात हुई थी मीटिंग के लिए … तब सिर्फ़ 3 घंटे के लिए ही तय हुई थी… मैंने घड़ी की तरफ देखा तो रात 11-30 बज रहे थे… और पूर्वी गहरी नींद में सो चुकी थी. मयूरी- माँ… अगर उनको पता चल गया तो मैं वादा करती हूँ… कि मैं उनको समझा दूंगी.

”प्रिया ने ये सब इस अन्दाज में कहा, जैसे कि वो बहुत बड़ी जासूस हो और उसने कोई बहुत बड़ा केस सुलझा दिया हो.

उसने तुरंत आगे को होकर मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और लॉलीपॉप की तरह लंड चूसने लगी.

मैंने उनसे फिर से लंड अन्दर डालने का कहा, तो जीजू ने मेरी कमर को पकड़ कर अपना लंड मेरी चूत में एक झटके में ही पूरा पेल दिया और मुझे चोदने लगे. पूजा मुझसे बोली- नहीं अभी नहीं, मुझे अभी और थोड़ी देर तक तुम्हारा लंड चूसना है. नंगी सेक्सी हिंदीमुझे उसकी इन बातों से बहुत दुख हुआ, जिसके चलते हमारी बातचीत बन्द हो गयी और 5 साल तक बात नहीं हुई.

एक बारी मैंने सोचा कि ये गलत है, फिर पता नहीं क्या हुआ, मैं उसके और नजदीक खड़ा हो गया. जगत अंकल के लंड रस अभी अभी मेरे चूत में छोड़ा था इसलिए एकदम मलाई से भरी हुई चूत थी. ” मैंने उसे चूमते हुए कहा और और उसका हाथ अपने लंड पर रख कर दबाने लगा.

पहले पहल तो वो कराही, फिर उसे भी मजा आने लगा और कामुक सिसकारियां लेने लगी. वो लगातार तेज़ी से मुझे धक्के मार रहा था और मैं मादक आवाजें निकालते हुए उसका साथ दे रही थी.

इस सेक्स स्टोरी में अब तक आपने जाना कि मैं पूजा को तीसरी बार कुतिया बना कर चोदने में लगा हुआ था.

उसको मेरी चूत चाटने में अच्छा लग रहा था और वो मेरी चूत में जीभ के साथ उंगली भी कर रहा था. अंकल के उठते ही मैं तुरंत उठी और मैंने अपनी चूत के पानी को साफ कर लिया. वो बोली- लेकिन!मैंने कहा- चुप … अब पढ़ाई पर ध्यान दे, मॉम आकर देखेगी कि तूने कितना काम किया है.

एक्स एक्स एक्स सेक्स मूवी हिंदी में चुदाई से पहले बस 2-4 चुम्मियां की, कपड़े उतारे और अपना काम कर लेते थे. मेरे होंठों पर एक पप्पी की और बोली- अब पार्टी के लिए मुझे उतारो तो सही.

मेरी झांटें मेरी पूरी चूत को ढके हुए थीं वो बोली- अरे यार मीता, तुमने तो मेरा सारा मूड ऑफ कर दिया है. फिर सोनाली ने मेरे आंड के नीचे पास वाली नस से खेलने लगी और सहलाने लगी. लगभग 3-4 मिनट तक हमारी यह किस चली और जब मेरा मुँह थक गया और सांस भारी हो गईं तो मैंने एक मिनट के लिए अपना मुँह उनके मुँह से दूर किया.

कामसूत्र की सेक्सी

वह छह फुट लम्बा, सुन्दर नौजवान अंग्रेज लड़का था, जिसको मैंने तन्त्र योग के बारे में समझा रखा था. राज अंकल बोले- बस 5 मिनट में तुम्हारा पूरा दर्द ठीक हो जाएगा और राज अंकल मेरी टांगों की तरफ आए और जो अंकल मेरी चूत चाट रहे थे, उन्हें बोले- आप थोड़ी देर के लिए एक बगल हो जाओ, मैं वन्द्या का पूरा का पूरा दर्द अभी ठीक कर देता हूं. करीब 8-10 मिनट तक एक दूसरे को चूमने चाटने के बाद मैंने भाभी को बेड पर सीधा लिटा दिया.

मैंने उनका हाथ थोड़ा सा दबाया … इस पर उन्होंने कुछ नहीं कहा तो मैंने उनका हाथ धीरे-धीरे सहलाना शुरू कर दिया … पर मौसी ने कोई रिएक्शन नहीं किया. मैंने उनके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उनकी बुर पर लंड से हल्का दबाव बनाया तो लंड फिसल गया.

इससे वो बहुत खुश हुई और बोलने लगी- मैं आपका अहसान कैसे चुकाऊँगी?मैं बोला- दोस्ती में कोई एहसान नहीं होता.

फिर मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और उसके ऊपर लेट कर उसके बदन से खेलने लगा. मैं कम्मो से कुछ और कहने ही वाला था कि अदिति बहूरानी मेरी ओर आती दिखाई दी साथ में उसके चाचा जी भी थे. उसने मुझे समझाना शुरू कर दिया कि औरत की योनि तो रबर की तरह होती है.

अब जैसे ही सुलेखा भाभी ने अपनी चूचियों‌ को ब्रा की कैद से आजाद किया, उनकी बड़ी बड़ी और सुडौल भरी‌ हुई चूचियां ऐसे फड़फड़ा कर बाहर आ गईं … जैसे कि वर्षों की कैद के बाद कोई पंछी आजाद हुआ हो. उसका स्टॉप आने वाला था तो उसने बोला- सर, अगर आप मेरे को रोज़ अपने साथ ले आया करें तो मेरा बहुत टाइम बच जायेगा क्योंकि वहां से रेगुलर बस सर्विस नहीं है. मेरे साथ वाकये तो बहुत हुए, बस आप सभी से साझा करने का समय ही नहीं मिल सका.

तो साथियो, आपकी मुन्नी चुद गई और आपकी ईमेल के इन्तजार में मैं अपनी चुदी हुई बुर को सहला रही हूँ.

हिंदी बीएफ वीडियो चुदाई की: नीता आंटी- कैसे चल रही है बेटा स्टडी?मैं- कुछ नहीं आंटी … आजकल मेरा पढ़ाई में बिल्कुल मन नहीं लगता. उसे बहुत मजा आ रहा था, वो अपनी छाती ऊपर को उभार कर अपनी चूची चुसवा रही थी.

जब मुझे तो रोज एक नया लंड मिल जाता है, तो मुझे एक खूंटे से बंधने की क्या जरूरत है. मानसी सब समझ गई, उसने अपनी ओढ़नी को उस तरफ कर दिया ताकि उसकी माँ को मेरा हाथ दिखाई न दे. मैं फिर से‌ सुलेखा‌ भाभी के बदन‌ से‌ उतरकर उनकी‌ जांघों के‌ पास‌ आ गया और उनकी गहरे काले घने बालों से भरी हुई चुत को बड़े ही ध्यान से देखने लगा.

मेरे बदले बर्ताव और नज़रों से कहीं ना कहीं भाभी को शक हुआ कि कुछ तो है.

मेरे मुँह से गालियां सुनते ही समाली अंकल बोले- अब वन्द्या पागल हो गई. सोनू ने रसगुल्ले मसल दिए, जिससे उनका सारा रस मेरी सफ़ेद हॉट पेंट में साफ़ नज़र आने लगा और मेरी जांघों से उसका रस टपकने लगा, जिसे मेरा बेटा चाटने लगा. मेरे लंड को पकड़कर सहलाने लगी एवं कहने लगी- बहुत दिनों से केवल ऊपर से महसूस किया… आज देखने का मौका मिला है.