लड़कियों की चुदाई वाली बीएफ

छवि स्रोत,रोने वाला सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू फिल्म सेक्सी पुरानी: लड़कियों की चुदाई वाली बीएफ, उसने बेल्ट छोड़ दिया, अपना एक हाथ कमर पर रखते हुए स्टाईल में और हवस के स्वर में बोला- तो ले ना जान.

आदीवासी सेक्सी

मैं तीन दिनों के अनुभव को लेकर एक रफ्तार में चुदाई करता रहा और अर्चना को ऐंठ ऐंठ कर गरम कामरस छूटने को महसूस करता रहा था. ओड़िया सेक्स वीडियोथोड़ी देर कोशिश करने के बाद सुपारा गांड में घुस गया और पूजा दर्द से बिलबिलाने लगी, मगर उसने दाँत कस कर भींच लिए और वैसे ही डटी रही.

चाचाजी ने मुझे बाथरूम की दीवार से चिपका कर खड़ा कर दिया और अब उनके बिना आवाज वाले चुम्बनों की बौछार से मेरे पूरे बदन पर मद हावी हो रहा था. छोटे बच्चों को गणित सिखाने का तरीकामैं तुम्हारी साँसों को पी लेना चाहता हूँ, आपके हर अंग को चूमना चाहता हूँ.

तो इसका श्रेय फिर से उस इंसान को जाएगा जो शायद स्वर्ग में अपनी जगह पक्की कर रहा था.लड़कियों की चुदाई वाली बीएफ: मयूरी ने घर का दरवाजा खोला और अन्दर आकर हॉल में घुसते ही देखा तो बस.

साला उसका तो अंदाज़ ही कातिलाना था… हल्की मुस्कान, काली शर्ट की खुली बटन से दिखती फूली मर्दाना छाती और चेहरे पर हल्की दाढ़ी मूँछ उसे पक्का मर्द बना रही थी.टीना- चलो रे आ जाओ तुम लोग भी, ये अतुल का लंड चूस कर हमारी चुत भी गीली हो गई है.

वेरी सेक्सी वीडियो - लड़कियों की चुदाई वाली बीएफ

मैं अपने दोनों हाथ से उनकी एक चुची दबा रहा था और एक चूची के निप्पल को दांत से काट रहा था, जिससे उनको भी बहुत मजा आ रहा था.गोरी, लम्बी, पतली कमर, बड़ी-बड़ी चूचियां, प्यारी सा चेहरा और जानलेवा मुस्कराहट.

मैंने उसकी चूचियों को दबाना शुरू कर दिया और मैंने मजा लेकर अपनी बहन की गांड मारनी शुरू कर दी. लड़कियों की चुदाई वाली बीएफ तो मैं पीने का पानी ढूँढने लगा। जब मुझे पानी की बोतल नहीं मिली तो मैंने लाइट ऑन की.

हमने अपने हाथ उठाकर उसे हाय किया तो उसने पलटकर हमें हाय किया और एक प्यारा सा फ्लाइंग किस भेजा।तभी फिर से म्यूजिक शुरू हुआ और घोषणा हुई, फिर से सब लोग उठ कर एक दूसरे के साथ हो लिए.

लड़कियों की चुदाई वाली बीएफ?

उसकी चूत चिकनी थी, इसलिए लंड बिना किसी मुश्किल के अन्दर घुस गया पर वो चिल्लाने लगी. उधर मेरे चाचा मेरी चूत को ऐसे चाट और चूस रहे थे जैसे कभी छोड़ेंगे ही नहीं, और उधर दो अंकल मेरे एक एक बूब को मुंह में भर कर चूसने में मस्त थे, पर अब मुझसे रहा नहीं जा रहा था बस लग रहा था कि जल्दी से जल्दी मेरे चूत में अपना लंड सब घुसा दे, पर वो लोग डाल ही नहीं रहे थे. जब सुमन एकदम शांत हो गई तो नीचे उतर कर लेट गई मगर गुलशन जी का लंड अभी भी तना हुआ था, उनका पानी अन्दर उफान मार रहा था.

अब मैंने आंटी से कहा कि मैं आपकी गांड भी मारना चाहता हूँ, मुझे ट्रेन में आपकी गांड मस्त लगी थी. डॉक्टर नहीं मिल पाने की वजह से और चिंता में कि मासूम मोनिका की जिंदगी मैंने बर्बाद कर दी. इसलिए मैंने उससे हम दोनों के दिल्ली के लिए रिजर्वेशन के लिए कह दिया.

सलमा ने कहा कि उसका एक क्लासमेट शिशिर भी दिल्ली में एडमिशन के लिए दिल्ली जाने वाला है. उधर मामी अपनी चुदी हुई चुत पर हाथ फेरती हम दोनों की कामक्रीड़ा का भरपूर आनन्द ले रही थीं. सामने वाले एक कमरे का दरवाज़ा ढला हुआ था और एक का पूरा खुला हुआ था.

हाँ पापा जी, आज जब हम डिनर करके उठ गए तो मैं भी घर का काम समेट कर, मन को पक्का करके लेट गयी थी कि अब आपके साथ वो सम्भोग का रिश्ता फिर से बिल्कुल नहीं बनाना है. ”ये सुन कर मैं चौंका- क्या तुमने अपने शौहर को ये सब बताया?हां उसको सब मालूम है.

एक समय था जब लोग यौन सम्बन्ध, नग्नता, प्रेमालाप के दौरान किये जाने वाले आलिंगन चुम्बन सब कुछ एकांत में या छुप के किया करते थे लेकिन अब नयी पीढ़ी में ये सब कुछ बदल रहा है सभी लोग तो नहीं लेकिन कुछ लोग यह सब खुलेआम करने लगे है, शेयर करने लगे हैं जो कि मैंने ऊपर लिखा है.

जैसे ही वापस घर आया और अन्दर सामान लेकर जा रहा था तो देखा कि वो अन्दर वहीं बैठी हुई थी.

कोई मेरी बीवी के अध् नंगे बदन को देख रहा है, यह अहसाह मुझे था और मुझे बहुत उत्तेजित कर रहा था. हम तेरी माँ को चोदने वाले थे पर तेरी माँ बहुत गिड़गिड़ाते हुए रोई कि उसकी शादी फिक्स हुई है और हम उसे माफ़ करें. एक जवान मर्द के सामने नंगी होने के ख्याल से ही मैं सिहर गई थी। अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा थावो मेरे पूरे बदन से खेल रहे थे जिस भी हिस्से में उनका मन करता अपने होंठों से चूमने चाटने लगते, कभी मेरा चेहरा, गाल, कभी चूचियाँ, कभी पेट, जांघें, चूतड़, कमर गर्दन, बगलें!मैं पागल हुई जा रही थी… उफ क्या एहसास था.

मैंने उसको देख कर पक्का कर लिया कि आज तो पक्के में इसके साथ ही सुहागरात मनाऊंगा. मैंने विनीता का भरपूर चुम्बन लिया और उसे पेलने की तैयारी करने लगा क्योंकि मेरा लंड भी अब अपना धैर्य छोड़ने की तैयारी में था. अब तो आंटी ने अपने गाउन के बाकी बटन भी खोल दिए और आंटी पूरी नंगी मेरे सामने लेटी हुईं, अपने मम्मे मुझसे चुसवा रही थीं.

तैयार हो न?रेणु ने ‘हाँ’ कहा तो मामी हम लोगों की तरफ देखकर बोलीं- साथ मिलेगा सबका?सभी सहेलियां भी इस सामूहिक रासलीला के लिए उत्सुक थीं.

अभी मुझे भाभी की चूत के दर्शन करने थे। मैंने भाभी की साड़ी उतार दी और वे केवल साटन के चिकने पेटीकोट में रह गई। पेटीकोट का नाड़ा भी मैंने खींच कर खोल दिया और भाभी ने अपनी आँखे बंद करके उसे भी चूतड़ उठा कर निकाल दिया।भाभी अब मेरे सामने संगमरमर की नंगी मूर्ति सी लेटी थी. अप्रैल में रीना की शादी एक रईस से तय हुई है और उसकी बड़ी ख्वाहिश है कि वो अपनी कोख में मेरा बच्चा लेकर जाए. जोशना- हम्म… मस्त है… वर्जिन लंड लग रहा है… आज इसे चोद कर इसकी सील तोड़ दूँगी.

उस से तो अपने ऑफिस का काम ही खत्म नहीं होता और अब तो तुम मिल गए हो, उस की तो छुट्टी समझो. दो मिनट तक ऐसे ही लगा रहा, फिर दाईं चूची को भी उतने ही समय तक चूसता रहा, जब तक मेरा मन नहीं भरा. क्यों नहीं, हम भी देखें तुम में वो कौन है जो हमें कुतिया जैसा महसूस कराएगा.

अगली कहानी में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे अंजलि ने अपनी शादीशुदा ननद को मुझसे चुदवाया.

इस वक्त मेरी बेटी एक रंडी कुतिया की तरह मेरे लंड के रस को आइसक्रीम के साथ चाट रही थी, जिसे देख कर मेरा लंड फिर खड़ा होने लगा था. सुरेश- ससससीईई… काआआ…ज…ल…अब काजल ने उसका अंडरवियर भी नीचे खिसका दिया और सुरेश का टनटनाता हुआ लंड बाहर आ गया.

लड़कियों की चुदाई वाली बीएफ साथ ही भाभी की दोनों चुचियों को पकड़ कर भाभी के नीचे वाले होंठ को अपने दांतों से मसल दिया. फिर वो मेरे लंड को भी प्यार से अपने कंठ में अन्दर तक भर कर रखे हुए थी.

लड़कियों की चुदाई वाली बीएफ मामी मुझसे उम्र में 10 या 12 साल तो बड़ी होंगी ही, लेकिन दोस्तो, वो आज भी इतनी जवान लगती हैं. जैसे ही अंजलि का पति निकला, क्योंकि मैं तो उसके जाने का इंतजार कर रहा था, मैंने अंजलि को फोन किया.

बहू रानी के वाशरूम में घुसते ही तेज सीटी की आवाज सुनसान घर में गूंजने लगी.

करिश्मा हीरोइन सेक्सी

एकाएक मेरी गुलाब जामुन ने धक्का मार कर मुझे गिरा दिया, अपनी चूचियों को निकाल कर मेरे मुँह में घुसेड़ दिया. बातों ही बातों में मामी ने मुझसे पूछा- तेरी कोई गर्लफ्रेंड है या नहीं?मैंने बोला- नहीं है मामी. फिर मैंने आंटी की ब्रा को खोल कर फेंक दिया, मैंने उनके मम्मों को चूसना शुरू कर दिया.

मैंने सोचा कि भाई के रूम में चलती हूँ भाई का कमरा सेकेंड फ्लोर पर था. उस रात 12 बजे भाभी का फोन पर मैसेज आया- तुम्हारे भैया जा चुके हैं… तुम आ सकते हो!मैं चुपचाप छुपते छुपाते उन के कमरे तक गया, भाभी ने दरवाज़ा खोला तो मैं तो उन्हें देखता ही रह गया. वो सिसकारियाँ भरने लगी, उसने मेरे मुँह को पकड़ कर अपनी चुत में दबा दिया.

मैंने भी उस का टॉप और ब्रा निकाल कर उस के बड़े बड़े खड़े चुचों को आजाद कर दिया.

उसके होंठ इतने गर्म हो रहे थे कि उनकी गर्मी मुझे मेरे होंठों पर महसूस हो रही थी. जय जब अपना लंड मेरी चुत में अन्दर घुसाने लगता तो वो मेरे पैरों को मेरे कंधे पर जोर से दबा देता था. [emailprotected]कहानी का अगला भाग :चाचा ने दोस्तों से मिल कर भतीजी को चोदा-2.

आज भी उसकी गांड उतनी ही सॉफ्ट, स्मूद मगर बड़ी और टाइट थी और आगे से उसके चूचे मैंने अपनी चेस्ट से दबा लिए थे. मैं तो समझ रहा था कि मम्मी कई बार मोटे लंडों से चुद कर आई हैं, तो ये हालत तो होनी थी. उन्होंने मेरे हाथों को जोर से दबाया और धीरे से बोला कि बेटा बड़ी जल्दी है तुझे, अभी तो बहुत कुछ बाकी है.

इस दौरान संजय पूजा की गांड को हाथों से दबा कर मजा लेने लगा और पूजा भी उसके लंड को पकड़ कर दबाने लगी. मम्मी जी को भी ऐसे ही सताते होगे आप?”बेटा, तेरी सासू माँ की चूत तो अब बुलन्द दरवाजे जैसी हो गई है, उसे कोई फर्क नहीं पड़ता चाहे हाथ ही घुसा दो कोहनी तक!”तो मेरी चूत भी आप इंडियागेट या लालकिले जैसी बना दोगे इसी तरह बेरहमी से अपना मोटा लंड घुसा घुसा के?” बहूरानी ने मुझे उलाहना दिया.

तो मैंने दीदी को पीछे मुड़ने के लिए कहा और उनकी गांड पर एक ज़ोर का थप्पड़ लगाया. मेरी पिछली हिंदी सेक्स स्टोरीअमीरजादी की चूत की प्यासपर मुझे आप सबके बहुत मेल मिले. मामी ने भी मेरे लंड को हिलाना शुरू कर दिया और फिर लंड को मुँह में लेकर करते हुए चाटना शुरू कर दिया.

पूछो बेटा?”अभी आप मुझसे दूर ड्राइंग रूम में क्यों सोये थे?”अदिति बेटा, मैं सुबह से ही देख रहा था कि तुम मेरी नज़रों से बच रही थी, आंख झुका के बात कर रहीं थीं तो मुझे लगा कि हमारे बीच बन गए सेक्स के रिश्ते का तुम्हें पछतावा है और तुम अब वो सम्बन्ध फिर से नहीं बनाना चाहतीं, इसीलिए मैं अलग सो गया था.

फिर कुछ दिन बाद एक क्सक्सक्स ब्लू फिल्म के साथ हिन्दी फिल्म की वीडियो लाकर दे दी. सुबह अचानक ही गेट पर बजी घंटी के साथ नींद टूटी… उसने हाथ मार कर मुझे उठाया और मैं तुरंत ही टी-शर्ट और लोअर पहन कर दूसरी चारपाई पर जाकर लेट गया। रवि ने भी अपनी टी-शर्ट और लोअर डाली और उठ कर बाहर दरवाजे पर गया। गेट खोल कर देखा तो कोई लड़का गेट पर खड़ा था।लड़के ने कहा- अरै सीटू… खाड़़े मैं नहीं चालता के आज? (अखाड़़े में नहीं चल रहा क्या आज…)वो बोला- यार, मेरा एक दोस्त आया हुआ है. वो शिल्पा और मेघा का मामला होगा शायद उसमें तो मैंने भी संजय की हेल्प की थी मगर वो पुरानी बात है.

वाइन पीते पीते मैंने मोबाइल में ब्लू फिल्म प्ले करने के बाद पॉज कर दिया और स्लाइड लॉक लगा दिया और उसकी साइड में रख दिया. इस बार गुस्सा होने के बजाय रूपा को लगा जैसे उसकी ही गलती है और वो थोड़ी शिष्टाचार के लिए मुस्कुराते हुए बोली- ओह आय एम सारी, भीड़ की वजह से मैंने आपको गुस्से से देखा.

रात को बाहर क्यों आऊं?मैंने उसी पल अपने दोनों हाथों से उसका चेहरा पकड़ा और उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए. यह मुझे अच्छा नहीं लगा क्योंकि मेरा पति कैसा भी था, मैंने उसके लिए ही व्रत किया था. अब तक तीनों की चुदाई से मम्मी कई बार झड़ चुकी थीं, इसलिए अब मम्मी को मजा नहीं आ रहा था.

शाळेतले सेक्सी व्हिडिओ

पापा बोले- छिनाल कहीं की तूने मेरा नाम मिट्टी में मिला दिया, कितना भरोसा था तुझ पर.

फिर जो लड़की मेरे पास थी, उसने अपना स्कर्ट उतारा, मैं देख कर हैरान था कि उसने पहले से ही डिल्डो पहना हुआ था. और सुमन दीदी को क्या हुआ?टीना- नहीं मॉंटी, भगवान करे कि ऐसा कुछ ना हुआ हो. फिर मम्मी ने यश से कहा- तुम नीचे लेटो, आरती बेटी तुम्हारी ऊपर आएगी.

यह कहते हुए मैंने उसकी गांड को नीचे करते हुए अपने लंड को उसकी चूत में पुश किया. मामी ने अर्चना को काबू में करके, बिस्तर में दबा कर मुझे उसको नंगी कर उसकी बुर चाटने का हुक्म दाग दिया. কেরালা সেক্সি ভিডিওदोस्तो ये मेरी पहली कहानी है, हो सकता है मन की बात शब्दों में लिखने में कुछ गलतियां हो जाएं तो स्वीकार कर लीजिएगा और मुझे अवगत भी कराना ताकि गलतियों को सुधार सकूं.

अब जब इनके लंड को तेरी कुँवारी बुर की जरूरत है तो नखरे करती है? अब चलो और जिस लंड से तुम पैदा हुई हो, उस लंड का पानी अपनी बुर में ले लो. तभी बस ड्राइवर ने ब्रेक मारे तो किशोर ने अपने लंड को पूरी ताकत से ऐसा झटका दिया कि मेरी चीख निकलते निकलते रह गई.

अन्तर्वासना के सभी पाठकों को रिशू का प्यार भरा नमस्कार!प्रिय पाठको, मेरी आपबीती सच्ची चुदाई को व्यक्त करने की शैली और निखर जाती है जब आप मेरी कहानी को ई-मेल के द्वारा सराहते हैं. मैंने कहा- जी, मैंने पहचाना नहीं, कौन सुमन?उसने कहा- वही, कल ट्रेन वाली. मेरी चूत मेरी गोरी-गोरी जांघों के बीच गीली हो गई थी और उससे चुत का रस टपक रहा था.

अपने हसीन सपने से जगकर मैं भी घबरा कर पीछे की तरफ छिपकर नीचे बैठ गया. वो दोनों मेरी स्टूडेंट थीं, जिन्हें मैं चौक स्थित कंप्यूटर सेंटर में पढ़ाता था. मेरी जिस सहेली ने पार्टी रखी थी, उसे आवाज़ देने लगी लेकिन पार्टी में म्यूज़िक तेज आवाज में चलने के कारण कोई किसी की नहीं सुन रहा था, सभी अपने अपने आप में मगन थे, मतलब सभी लड़कियाँ अपने अपने बॉयफ्रेंड की बाँहों में बाँहें डालकर म्यूज़िक की धुन पर थिरक रही थीं.

मैं उसकी दोनों टांगों के बीच में जा कर बैठ गया और झट से उसकी चूत को चूम लिया.

जैसे ही मैं जय के रूम में पहुँची तो मेरी आँखें खुली की खुली रह गईं. वो चुदासी सी कह रही थी- और अन्दर ज़ुबान डालो और जोर से चाटो यार, सारा रस चाट लो आज.

एक हाथ से नीता की गोरी जाँघें और दूसरे से सीना सहलाते हुए नेक किस करते हुए पप्पू बोला- देख नीता, जब तक तू मुझे नहीं बताती कि वो लड़के क्या छेड़ते हैं तुझे, मैं तुझे नहीं छोड़ूँगा, ऐसे ही तेरा जिस्म सहलाता रहूँगा. हम लोग ऐसे ही एक दूसरे के अंगों का आनन्द महसूस करते चिपटे हुए लेटे रहे. ऐसे ही धीरे धीरे करके भाभी की गांड के अन्दर अपने पूरे लंड को डाल दिया.

मैंने मुड़ कर जीजू की तरफ देखा तो जीजू सिर्फ अंडरवीयर में थे, वे अपने कपड़े उतार चुके थे, जीजू मेरी तरफ आये और उन्होंने मुझे खींच कर अपनी बांहों में ले लिया. कुछ देर बाद दीदी झड़ गईं और उनकी चुत का नमकीन रस मेरे मुँह का मस्त जायका बना गया. मैंने कहा- कमीनी आज तू मेरी पर्सनल रंडी है, बहुत चुदासी हो रही है, बहुत फड़क रही है तेरी फुद्दी, दो लंड की बात कर रही है.

लड़कियों की चुदाई वाली बीएफ सब लड़के अलग-अलग बैठ गए और लड़कियां एक साथ बाथरूम में अपने आपको साफ करने चली गईं. कहीं अपना पूरा लंड मेरी बेटी की चूत में पेल दिया तो बेचारी मर ही जाएगी.

सरोज सेक्सी वीडियो

पर मेरी चूत मारी नहीं थी, आज आप पहले व्यक्ति हो जिसने मेरी चूत का सील तोड़ा, देखो खून निकल आया होगा!एडल्ट स्टोरी जारी रहेगी. जब यश आया तो हम दोनोंमाँ बेटी नंगी पड़ी थीं, यश के आते ही मैंने उसे गले से लगाया और उसे खूब चूमना शुरू किया… यश ने भी मेरी रसीले ओंठ खूब चूसे. अन्तर्वासना के सभी पाठकों को रिशू का प्यार भरा नमस्कार!प्रिय पाठको, मेरी आपबीती सच्ची चुदाई को व्यक्त करने की शैली और निखर जाती है जब आप मेरी कहानी को ई-मेल के द्वारा सराहते हैं.

मैंने सोचा कि क्लास के किसी लड़के से चुदाई करवा लूँ लेकिन डरती थी कि साला मुझे रण्डी ना बना दे. उनकी बातें सुन कर मैं गुस्सा हो गई मगर नशे की हालत में ज़्यादा कुछ बोल ना सकी. बाड़मेर सेक्स वीडियो मारवाड़ीयही सोचते हुए पप्पू ने पीछे खड़े होते हुए हल्के से उस औरत की गांड को छूते हुए खुद बोला- उफ्फ साली कितनी भीड़ और गर्मी है, कितने लोग भरे हैं बस में.

और मैं उन्हें बेड के करीब ले गया और उन्हें बेड पर लिटा कर उनके ऊपर चढ़ गया.

अगर आपको बाहर आना है तो आप मुझे सिर्फ इशारा करेंगी। मैं 13 नंबर की केबिन में रहूंगी जिसका नंबर आपको अंदर से आसानी से दिख जायेगा। मगर जब तक आप अंदर हैं, तब तक आप किसी को सेक्स के लिए मना नहीं कर सकती। अगर आपको उसके साथ सेक्स नहीं करना तो आप सिर्फ मुझे इशारा करना तो बाकी मैं देख लूंगी। किसी भी तरह की चिकित्सा सुविधा यहाँ मौजूद है. मैं आपकी शॉर्ट्स और बनियान पहनूँ?नीता के पास जा कर पप्पू बोला- हाँ, क्यों? कोई प्राब्लम है तुझे? या तुझे इस टावल में ही रहना है नीता?नीता ज़रा सोच कर बोली- पर अंकल… वो मैं… ठीक है दे दो अपनी शॉर्ट्स और बनियान मुझे.

गुलशन जी ने उसकी मैक्सी ऊपर कर दी, अब नीचे का पूरा हिस्सा नंगा उनके सामने था. ”फिर अंकल ने मेरी चूत की दोनों फांकों पर होंठ रख दिए और मेरी कसी हुई चूत के होंठों को अपने होंठों से दबा कर बुरी तरह चूसने लगे. थोड़ी देर बाद वो भी मुझे किस करने लगी तो मैंने उसकी आँखों में देखा तो वो मेरा लंड लेने के लिए तैयार थी.

तभी मैंने सोनिया को कहा- चल तू आजा साली, ले ले आज तू भी नेहा जैसे ही अपनी जवानी का मजा लूट ले.

मैं उसे मॉल लेकर गया उस वक्त वो मांग में सिंदूर और गले में मंगलसूत्र पहने थी. फिर थोड़ी देर में वो जैसे ही बाहर निकली तो एक पल के लिए मेरी नजर से उसकी नजर फिर से मिल गई. पप्पू ने उसकी नज़र को पढ़ा, पर ध्यान ना देते हुए पीछे से उसे और दबा के अपना हाथ हल्के से उसके पसीने से गीले नंगे पेट पे रखते हुए बोला- साला कितनी आबादी बढ़ गई है देश की, ठीक से सफ़र भी नहीं कर सकते.

सेक्सी momतो प्रिय पाठको, उन्ही की इंडियन सेक्स स्टोरी उन्ही के शब्दों में पेश कर रहा हूँ:फ्रेंड्स, मैं रीना सिंह आप सभी पाठकों का बहुत बहुत वेलकम करती हूं। आज मैं सभी लड़कों को ऐसी कहानी सुनाने जा रही हूँ कि उसे पढ़ने के बाद सभी लड़के मुठ मार लेंगे।दोस्तो, मैं दिल्ली की रहने वाली हूँ। अब मैं 26 साल की हो चुकी हूँ। लेकिन यह बात मैं तब की बता रही हूँ जब मैं जवानी में कदम रख रही थी या रख चुकी थी. रहमत का लंड देख हम माँ बेटे दोनों दंग रह गए; इतना मोटा और बड़ा लंड सिर्फ अफ्रीकियों का सुना था.

हिंदी चुदाई व्हिडिओ सेक्सी

मैंने पलट कर देखा और कहा- क्या था?अचानक मेरी मॉम की नज़र मेरे खड़े लंड पर पड़ी. तो मम्मी ने कहा- तो अपने बॉयफ्रेंड यशवंत को बुला ले…मैंने यश ( यशवंत को मैं प्यार से यश कहती हूँ) को फोन लगाया उसने फ़ोन उठाया और कहा- क्या बात है? इतनी रात को नींद नहीं आ रही?तो मैंने कहा- नहीं, तुम्हारी याद आ रही है…तो यश ने कहा- तो मैं मिलने आ जाऊं?मैं तो यही चाहती थी, मैंने झट से हाँ कह दिया. अन्तर्वासना साईट से मेरा अत्यधिक लगाव होने के कारण मैं मोबाइल में इस साईट पर दिन में पंद्रह से बीस बार जाता रहता था.

उसने नहीं हटाया, बल्कि लंड को मेरे मुँह में अन्दर बाहर करके मेरा मुँह चोदने लगा. मेरी उंगली आराम से चली गई, फिर मैंने दो उंगलियां डाल कर देखीं तो दोनों आराम से चली गईं. वैशाली ने बीच में अपना हाथ डाला और मेरे लंड हो हाथ से पकड़ कर बाहर निकाल दिया और शिवानी की गांड और चूतड़ों पर फिराने लगी.

साली तेरी बेटियों की बात सुन के मेरी आँखों में इसलिए चमक आई क्योंकि मुझे तो कमसिन लड़कियाँ भी बड़ी पसंद हैं. मैंने पैर उठाए, वजन कम किया तो उसका लंड पूरे का पूरा मेरी गांड में घुस गया. अब मेरे मुँह से खुद ब खुद कामुक आवाज निकलने लगीं- मह्ह्ह् मह्ह्ह्ह् अह्ह्ह अह्ह्ह.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:जीजू की चचेरी बहन की बुर चोदन की कहानी-2. वह मजे से फिर चीख उठी, बोली- हाँ… ऐसे ही करो…उस की कमर पर अपना भार डाले डाले मैं लंड को अंदर बाहर करने लगा.

शिवानी के हस्बैंड जो देखने से ही कागजी पहलवान लगता था, बोला- जल्दी हमें है, आपको तो नहीं है, आप आराम से बैठो और खाना खा कर जाना.

मम्मी दोनों हाथों से ससुर जी के सिर को अपनी चूत पर खींच रही थीं और बोल रही थीं- खा जाओ मेरी भोसड़ी को. தமன்னா செஸ் போட்டோजब मैंने फिर से प्रयास किया और श्रुति ने मेरा हाथ वहीं पकड़ लिया, छोड़ा ही नहीं तो जैसे ही उसने मेरा हाथ पकड़ा मेरे को समझ में नहीं आया कि अचानक इसे क्या हो गया. दिसावर किंग की खबरमेरी ये हालत मौसी से देखी नहीं गई, सो उन्होंने मुझे छोड़ दिया और बोलीं- तुम्हें जवान होने में अभी कुछ दिन और लगेंगे. मैंने भी साबुन उठा कर उनकी चूत पर रगड़ना शुरू किया और थोड़ी देर में ही उनकी चूत भी झाग से भर गई.

तीनों भाई बहन के बीच में बहुत प्यार और लगाव था, आपस में बहुत खुले हुए थे और खुलकर बातचीत करते थे.

जब तुम सोये तो मैंने स्वाति को दूसरी तरफ लिटा दिया और खुद तुम्हारे पास लेट गई. मैं अभी तक हैरान था, बोला- ओके अब मेरी बारी, आपकी चूत का स्वाद लेने की. सिर्फ चाचा के बारे में… नेट में ब्लू फिल्म देखती तो चाचा का वो लंड आंखों के सामने आ जाता और मेरी चूत गीली हो जाती।मेरी बुआ की लड़की की शादी में पूरा परिवार जा रहा था, दो गाड़ियां थी दोनों बड़ी थी, एक में सब लोग आ गये.

क्या आप लोग मेरी इस बात से सहमत हैं?इस टॉपिक पे और भी बहुत कुछ लिखने का मन है, लेकिन में चाहता हूँ कि हर बार की तरह इस बार भी अन्तर्वासना के पाठक पाठिकाएं इस विषय पर अपने विचार और सच्चे अनुभव मुझे मेल करें. वो थी आखिर लड़कियों के टांगों के बीच में क्या होता है और कैसा दिखता है. उफ्फ्फ यह क्या कर रहे हो? आपने कहा था कि गांड नहीं मारोगे?”चुप कर मासूम रंडी.

मराठी घरगुती सेक्सी

मगर दूसरे ही पल मैं सोचने लगी कि जो भी हुआ, इन सबने मेरी पहली चुदाई को यादगार बना दिया था. फिर मैंने सोचा कि एक बार बैंगन डाल कर जाँच कर लूँ कि मेरी गांड मामा जी के लंड के आकार में खुली है या नहीं. फिर मेरी तरफ देख कर बोलीं- मैं क्या बताऊं क्या तेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या?मैंने कहा- नहीं है चाची.

मैं सिर्फ़ पेंटी में उनके सामने खड़ी थी। उनकी आँखों की चमक बता रही थी कि उन्होंने इससे अच्छा बदन कहीं नहीं देखा था।अब वो मेरी पेंटी को उतारने लगे, मैं उनका साथ दे रही थी.

इसलिए मैंने सोच लिया है कि मैं तुमसे शादी करूँगी और बाद में हम दोनों भाई बहन पति पत्नी बन कर सुहागरात मनाएंगे.

साथ ही मौसी मेरे लंड को धीरे धीरे सहला भी रही थीं, जिससे मुझे बहुत मजा आ रहा था. इतना चोदेंगे कि तेरी अभी तक की चुदाई की सारी ख्वाहिश पूरी हो जाएगी. सट्टा गली दिसावर खबरमैं उठा और अपने फनफनाते लंड को भाभी के मुँह पर ले गया और उन्हें लंड चूसने को कहा, तो भाभी ने मना कर दिया कि ऐसा उन्होंने पहले कभी नहीं किया.

पूजा- जी नहीं मेरे मामू, ये तो सरप्राइज के साथ फ्री है… वो तो अलग है. एक अपना अनुभव का लाभ लेते हुए पूछ बैठी कि मामी लगता है मामा ने आपकी गांड ही मार ली. एक हाथ से वो मेरे बदन को सहला रही थी और दूसरे हाथ से मेरे लंड को दबा रही थी.

मैंने उस के सारे शरीर पर हाथ फिराया और उसे अपनी गोदी में बैठा लिया. तो भाभी को मैंने बोला कि भाभी ये 7 इंच का मोटा लंड कैसे सह पाओगी?तो बोलने लगी- प्लीज़ छोड़ दो संदीप.

पर लंड गया ही नहीं, शायद कभी गांड मरवाई ही नहीं इसलिए छेद बहुत छोटा था.

पहली रात में उसने मुझे ऐसा चोदा था कि चुत में से मेरा खून तक निकल आया था. उसने बताया कि वह आर्मी में जाना चाहता है, इसलिए अखाड़े जाकर कसरत करता है और रोज सुबह दौड़ने भी जाता है. फिर हम लोग ‘टुंडे कवाबी’ के यहाँ गए और मैंने दो कवाब रोल ले लिए और हम लोग रोल खाते हुए मेरी बाईक की तरफ चलने लगे.

एचडी हॉट सेक्स वीडियो मैंने कहा- ठीक है, अब इतने दिन इंतज़ार कर लिया है तो एक दिन और सही. मेरे प्यारे साथियो, आप मुझे मेरी इस हिन्दी सेक्स स्टोरी पर कमेंट्स कर सकते हैं.

मैंने लगातार धक्के जारी रखे, उस के गुदाज और गोरे चूतड़ों पर थाप की आवाजें आ रही थीं. दोस्तो, मेरी ये सच्ची घटना आप लोगों को कैसी लगी, मेल करके जरूर बताइएगा. की आवाजें करते हुए भैंसों को पानी से बाहर हांकने लगा।5 मिनट बाद भैंसें पानी से बाहर आ गईं और हम घर की तरफ चल पड़े।भैंसों को बांध कर हम घर आ गए जहां रवि के साथ मैंने खाना खाया था.

गुजराती सेक्सी वीडियो चोदा चोदी वाला

दो तीन झटकों के बाद नेहा को भी मजा आने लगा था, तो मैंने नेहा को और ऊपर उठाया और अपना लंड उसकी गांड में गहराई तक आगे पीछे करना शुरू कर दिया. मैंने फिर से बूब पकड़ कर बेबी के मुँह में लगा दिया, लेकिन इस बार मैंने बूब नहीं छोड़ा और बेबी को आंटी के बूब पकड़ के दूध पिलाना शुरू कर दिया. मामी अपने चरम पर थीं और शायद वो भी झड़ने वाली थीं लेकिन मामा ने दोनों को रोक दिया.

सुमन जल्दी बाहर आ गई उसके बाद नाश्ता किया और अपनी माँ का हाथ बंटाने लगी. उसने शादी के बाद मुझसे बात करने का वादा किया था, उससे जैसे ही बात होगी.

’तो मॉम बोलीं- चल तो अब तू मेरी गांड पूरी तरह देख ले, मेरी पेंटी भी उतार दे.

मैं ऑफिस जाने के बहाने से घर से निकला और सबके जाने के बाद मैं वापस घर कर तरफ मुड़ गया. मुझे बहुत मजा आ रहा था और जल्दी ही लंड पूरा खड़ा हो गया, तो मैंने उसे अपने ऊपर खींच लिया और उसने मेरा लंड अपने हाथ से पकड़ कर अपनी चूत के मुँह पे टिका लिया और मेरे लंड पे बैठ गई. मैंने उसकी और गुस्से से देखा और अपना मुँह फेर कर अपनी कार में बैठ गया.

उसकी उम्र 32-33 साल की होगी, पर उसका फिगर बड़ा ही कातिलाना 34-28-36 का रहा होगा. तो जरूर करवाती थी। लेकिन उसने मुझे चुदाई नहीं करने दी। इसी बीच मैंने अपनी दीदी की गाण्ड देखनी शुरू कर दी।मैंने रात में एक बार उसको चूत में उंगली डालते देखा था. फिर एक तो मेरे ऊपर अपना पूरा वजन रख कर खड़ी हो गई, एक मेरी बाल्स को दबाने लगी और एक ने अपने तो मेरे मुँह पर अपनी गांड रख दी और चाटने को बोला.

!नीतू- आप जाओ दीदी, अगर जीजू मना भी करेंगे ना, तो भी मैं नहीं जाऊंगी.

लड़कियों की चुदाई वाली बीएफ: दो मिनट तक लंड की चुसाई करने के बाद मामी अब मेरे लंड पर फिर से बैठ गईं. मामी की चूत का स्वाद मुझे पसंद नहीं आ रहा था क्योंकि वो बहुत तेज़ गंध छोड़ रही थी.

मुझे उसका चिल्लाना और उत्तेजित कर रहा था और मैं बेरहमी से विनीता को चोदने में भिड़ा था. राज का लंड देख कर तो मेरा मन कर रहा था कि अभी इस लंड को अपनी चूत में ले लूँ, पर में जीजू से गुस्सा होने का नाटक करने लगी. खैर रास्ते में हनुमान मंदिर से उसने प्रसाद लेकर बहन को दे दिया और कह दिया कि पूजा भी की और शिवलिंग का दर्शन भी किया.

एक हाथ से अपने लिंग को योनि द्वार पर लगा के जब हल्का सा अन्दर को धकेला, तो उसके हाथ अपने आप ही मेरे पीठ पर आ टिके.

मैं उनकी प्यार और हवस भरी आंखों में देखकर शर्म से मरी जा रही थी क्योंकि मैं बिस्तर पर अपने चाचा ससुर के साथ नंगी पड़ी थी. लेकिन मेरी तलाश ऐसी किसी भाभी या आंटी की चुत को लेकर थी, जिसे किसी कुंवारे लड़के के लंड से अपनी चुत चुदवाने की लालसा हो. वो एकदम इठ गई और झड़ गई।बाद में मैंने उसे डॉगी स्टाइल में लेकर उसकी चूत में लंड डाला। उसकी चूत बड़ी टाइट थी।मैंने पूछा- क्या फर्स्ट टाइम किसी गैर मर्द से चुद रही हो?उसने बोला- पति के अलावा अभी तक किसी से नहीं किया, और पति से भी अभी तक आठ दस बार ही चुदी हूँ।मैंने अपना लंड पूरा अन्दर धीरे धीरे घुसा दिया और मैं जोश में उसे चोदने लगा। वो भी मज़े ले रही थी। अब मैंने उसके बालों को पकड़ लिया.