लड़की जानवर बीएफ

छवि स्रोत,सुपर सेक्सी नंगी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ सेक्सी 14 वाली: लड़की जानवर बीएफ, जब मुझे लगा कि मैं उसके मुँह में झड़ जाऊंगा, तो उसको माल पी लेने के लिए कहा.

खलीफा सेक्सी मिया खलीफा

जैसे मुँह से मुँह की किस क्यों करते हैं? पूरे कपड़े क्यों उतारे हैं, वो लड़का उसके सीने को क्यों दबा रहा है. रेखा भाभी की सेक्सी फिल्मलगभग दस मिनट मैंने उन्हें और चूसा चाटा और फिर एकदम से मैं नीचे की ओर बढ़ने लगा.

ऊपर से आंटी की गांड उभरी हुई लोगों को हमेशा से ही आकर्षित करती रही है. सेक्सी वीडियो फुल मूवी फुल मूवीतारा मेरी तरफ आयी तो मैंने बिना कुछ कहे अपनी टांगें उठा कर सोफे पे रख कर टांगें फैला दीं.

वो भी समझ गई और उसने झट से लंड को मुँह में अन्दर तक ले लिया और चूसने लगी.लड़की जानवर बीएफ: लड़की के साथ जब लड़का बिस्तर में होता है, तब उसमें तुझे ज्यादा देखना क्या पसंद है?” दी ने अब भी चुदाई वगैरह जैसे शब्द नहीं बोले थे.

वो फिर ऊपर आया और मुझे दीवार पर एकदम से लगा दिया और मेरे होंठों को चूमने लगा.मुझे अब यह भी नहीं होश रहा कि क्या बोलना चाहिए और क्या नहीं, अपने आप कुछ भी अब बोलने लगी.

डोकरा डोकरी सेक्सी वीडियो - लड़की जानवर बीएफ

मयूरी कुछ बोल भी नहीं पाती क्योंकि विक्रम उसके मुँह में ताबड़तोड़ चुदाई कर रहा होता है और अपना लंड उसके गले तक पेल रहा होता है.नीता आंटी- कैसे चल रही है बेटा स्टडी?मैं- कुछ नहीं आंटी … आजकल मेरा पढ़ाई में बिल्कुल मन नहीं लगता.

इन दोनों वजहों से मुझे नहीं लगता कि इस स्तम्भन का रोहित की उत्तेजना पर कोई खास असर पड़ रहा था।शुरू में उसने धक्के धीरे-धीरे ही लगाये थे लेकिन बाद में उसकी गति तेज होती गयी थी और अंतिम धक्कों के वक्त तो सुपरफास्ट हो गया था।धक्के पूरे हो गये तो वह निकाल कर दीवार से टिक गया और हांफने लगा जबकि आरजू दोनों पैर फैला कर जमीन पर बैठ गयी।नशा ही उतर गया. लड़की जानवर बीएफ माथे पर लाल रंग की ही छोटी सी बिंदी और होंठों पर गहरे लाल रंग की ही लिपस्टिक लगायी थी.

अब मेरी पत्नी ने मुझसे कहा- अब आप धीरे से धीरे धक्के मारने शुरू करो ताकि नीरू को मजा आना शुरू हो!और मुझे हिदायत दी- यह मेरी बहन है, बहुत प्यार से करना है … धक्का जोर से नहीं लगाना … नहीं तो इसको दर्द होगा और फिर आपको इसकी चूत नहीं मिलेगी अगर आपने इसको दर्द दिया तो!अब मैंने अपनी पत्नी का कहा मान कर नीरू की चूत में धीरे धीरे धक्के मारने शुरू कर दिए.

लड़की जानवर बीएफ?

अब तक हम लोग काफी घुल मिल गए थे और अब तो उसकी बेटी भी मुझ में इंटरेस्ट दिखाने लगी थी. साथ साथ मैं अन्तर्वासना के एकवरिष्ठ और उत्कृष्ट लेखकश्री सुकांत शर्मा जी को भी धन्यवाद कहना चाहूँगा जिन्होंनेकामुक कहानी लिखने की कलानाम से एक लेख लिखा. आधे घंटे के बाद मैंने भाभी को फोन किया कि कहाँ हैं?तो बोलीं- ऑफिस में लेट हो गयी हूँ, मैं दस बजे तक आउंगी और आप खाना खाके ऑफिस चले जाना.

इधर लोगों के किस्से पढ़ पढ़ कर मैंने भी सोचा कि क्यों ना अपनी ज़िंदगी की सेक्स लाइफ आप सब के साथ शेयर करूँ. आप मुझे मेल करके बताएँ कि मेरी कहानी कैसी लग रही है?[emailprotected]कहानी जारी है. अब चोद जोर जोर से!मैं- कैसा लगा चाची?चाची- तेरे लंड का जवाब नहीं है … क्या लंड पाया है तूने.

वो कहानी सारी उसने मुझको दूसरे दिन बताई, जो मैं आपको अगली बार बताऊंगा. मुझे भी समझ आ गया कि यह दर्द सील टूटने का है और लंड निकालने का मतलब है कि दुबारा इसकी बुर कभी नहीं मिलेगी. मुझे बस सुलेखा भाभी के सोने का ही इन्तजार था मगर साथ ही ये भी डर था कि कहीं प्रिया ही ना सो जाए.

मैंने तुम्हें फोटो दिखाई थी, लालजी ने भी तुम्हें कुछ कुछ सोनू के बारे में बताया था. मुनीर ने मेरे सिर को दूसरी तरफ घुमा कर मेरी गर्दन पर अपनी जुबान फिरानी शुरू कर दी.

लेकिन शुरू शुरू में जब मैं शहर में आयी तो मुझे शहर के लोगों के साथ काफी दिक्कत हुई.

तभी मैडम की साड़ी से एक स्टैंड अटक कर मैडम के ऊपर गिरने को हो रहा था.

पहले पांच छः महीने झूठ बोली कि पहले मर्द आप हो, मैं बोला कि सील तो पहले से टूटी थी सच बता. मयूरी कुछ बोल भी नहीं पाती क्योंकि विक्रम उसके मुँह में ताबड़तोड़ चुदाई कर रहा होता है और अपना लंड उसके गले तक पेल रहा होता है. सर- कैसी हो तुम?मैं- ठीक हूँ सर, लेकिन सर हम कहां जा रहे हैं?बोले- वहीं.

उसके बाद हम दोनों ने कुछ बातें की और फिर मैंने एक राउंड और मारने को कहा लेकिन उसने मना कर दिया।अब शगुन मेरे लंड का स्वाद चख चुकी थी तो कोई चिंता की बात नहीं थी अब तो रास्ता खुल चुका था, मुझे पता भी चल चुका था कि मेरी बहन चालू किस्म की है. पूरे 20 मिनट चुदाई के बाद भाभी की चुत में अपना पानी निकाल कर उनको किस करने लगा और एक फुक्क की आवाज के साथ अपना लंड उनकी चुत से बाहर निकाला और भाभी के बगल में सो गया. उसने आगे कहा- अगर मजे करने हैं … तो इन सब बातों को दिमाग में नहीं लाना चाहिए और असली मजा तो दर्द में ही है.

तो दोस्तो, यह थी सेक्स क्लब में सीक्रेट होल से चुदाई की कहानी … आप लोगों को कैसी लगी … मुझे मेरी मेल आईडी पर जरूर बताना.

फिर बाद में उसे अपने ऊपर से हटा कर उसके मुँह में अपना लंड देकर चुसाने लगा. मगर आज उसकी भीगी हुई चुत को छूते ही मेरा दिल अचानक उसे देखने‌ के‌ लिए बेताब हो गया. जैसे ही मैंने एहसास किया, एक बहुत ही बड़ा लंड का उभार मेरे हाथ से स्पर्श कर रहा था.

आखिर पहला कदम उठाते हुए एक दिन जब वो सब्ज़ी काट रहा था, तब चुन्नी उतार सोफे पर रख इधर उधर देख रसोई में उसके पास आ गई. कोई देर नहीं लगनी चाहिए वरना तुम सबको पता है ना कि क्या होगा तुम सब के साथ?एक पल रुक कर उसने सभी की तरफ घूर और फिर से बोलने लगी- सब लड़कियां एक एक करके आगे आओ और अपने दोनों मम्मों को खोल कर दिखाओ. खड़ा होते ही उसने बोलना शुरू किया- आज हमारी लाड़ली का जन्मदिन है और इस शुभ मौके पर मैं कुछ कहना चाहता हूँ.

मेरे मुँह से एक लम्बी सीत्कार निकल गई- आह … चाची … बहुत मजा आ रहा है … और अन्दर ले लो न प्लीज.

पर माइक की गति में तब तक बदलाव नहीं आया, जब तक तारा पूरी तरह झड़ कर ढीली नहीं हुई और माइक के ऊपर निढाल होकर न गिर पड़ी. उसकी चूत से कामाग्नि का एक जोरदार लावा बह निकला, जो मेरे लंड को भिगोता हुए बेडशीट को गीला कर चुका था.

लड़की जानवर बीएफ उसने मुझसे पूछा- भाई बताओ … मेरी गलती कहां थी, मैंने तो खाने के बारे में पूछा था. म … ऊ… म…रजत ने अपने हाथ से मयूरी की मखमल जैसी कोमल गांड पर अपना हाथ फेरना शुरू कर दिया और फिर धीरे-धीरे उसके हाथ की उंगलियाँ मयूरी की गांड की दरार में चलने लगी.

लड़की जानवर बीएफ इस दौरान मैंने कई बार उसी सुन्दरता की तारीफ़ करने के बहाने उसके उठे हुए मम्मों को जी भरके निहारा. मैं उसे अपने आप न जाने क्यूं बिल्कुल चूसने लगी, चाटने लगी और अपने आप मेरा हाथ उनके लंड में चला गया.

करीब 6 बजे शिवानी जग गयी और उठते ही उसने मुझे नीचे से ऊपर तक घूरा जैसे कि मैं उसके लिए कोई अनजान औरत हूँ.

देहाती बीएफ वीडियो फुल एचडी

उसने पहले अपने बड़े भाई विक्रम के लंड को अपने मुँह में लिया और रजत के लंड को अपने हाथ से हिलाने लगी. अपनी तारीफ सुन कर मैं भीतर से बहुत खुश हुई, पर सोच भी रही थी कि किसी तरह भी मैं स्खलित हो जाऊं. शायद मुझे भी अब चूची चुसाने की आदत पड़ गयी थी। लेकिन इस सब में सेक्स नाम की कोई चीज नहीं थी.

एकता भाभी ने मयूरी के दूध को चाट कर मेरा माल चखा और रिया भाभी ने चुत चाट कर स्वाद लिया. कुछ दिन बाद मैं भी परेशान हो गया कि इसकी जिद तो लम्बी होती जा रही है. इस प्रक्रिया से मेरी योनि चिकनी हो गयी और योनि के किनारे भी धीरे धीरे फैलते चले गए.

मैं मम्मी के कमरे से आई, तो मेरे दिमाग में वहीं मम्मी वाला पूरा सीन चल रहा था.

फिर बोला- आपने मेरा शुक्रिया क्यों किया?मैंने कहा- तुमने मेरा इतना ख्याल रखा इसलिए. खैर उनकी रात की ट्रेन थी तो वो खाना-वाना पैक करके 7 बजे के आसपास निकल गए. तभी जो अंकल मेरे पीठ को चाट रहे थे और गांड में लंड रगड़ रहे थे, अचानक अपने आप उनका लंड मेरी गांड के छेद पर सैट हो गया और जोर से अंकल ने धक्का देते हुए अपने लंड को दबाया, तो मेरी गांड में फचाक से आधा लंड घुस गया.

मैंने अपनी निक्कर धीरे से पैरों से निकाली और उसकी चड्डी की इलास्टिक में हाथ डाल कर उसे भी उसके चूतड़ों से नीचे को सरकाया। अब मेरे मामा की बेटी यानि मेरी ममेरी बहन के कूल्हे नंगे हो गए और मेरे हाथ उसकी भरी हुई टाँगों पर आ गए. कुछ पल बाद फिर से चुदास भड़क गई और हम दोनों एक दूसरे को गर्म करने लगे. वो तो ऐसे मदमस्त हुए जा रही थी जैसे कि पहली बार शराब का नशा किया हो.

उसने पेंटी पहनी हुई थी और अब वो सिर्फ पेंटी में मेरे सामने खड़ी थी।अभी तक मैंने अपना एक भी कपड़ा नहीं उतारा था। अब मैंने उसकी उंगलियों को अपनी उंगलियों में फंसाया और दोनों हाथों को ऊपर करके एक बड़े से पत्थर से टिका दिया और पूरे जोर से उसके निप्पलों को चूसने लगा, चाटने लगा। वो जोर जोर से सिसकारियां ले रही थी। अब उसकी पैंटी गीली हो चुकी थी, मैं उसक़ी पेंटी के ऊपर से उसकी चूत को सहलाने लगा, मसलने लगा. मुझे यकीन था कि उसका लिंग तारा की योनि की गहराई तक जा रहा होगा, तभी तो ऐसा लग रहा था कि अब वो रो पड़ेगी.

तभी सतीश मेरे सामने आकर मुझे बोला- वन्द्या तुमसे खूबसूरत और सेक्सी लड़की मैंने अपनी जिंदगी में नहीं देखी, तुम्हें अभी जिसने भी चोदा हो, पर तुम अभी भी बहुत प्यासी हो. माइक के धक्के कुछ पलों में जोरदार झटकों में बदल गए और तारा की मादक सिसकारियां चीखों का रूप लेने लगीं. जब वे दरवाजा खोल कर पलट कर मुझे अन्दर आने को कहने के लिए घूमी तो मेरे लंड में तो मानो आग लग गई, उनकी आधे से ज्यादा चूचियां ब्लाउज से बाहर दिख रही थीं क्योंकि उन्होंने पल्लू नीचे ही गिरा रहने दिया था.

कुछ देर बाद उनको मजा आने लगा तो मैंने और जोर से धक्का मारा और अब मेरा पूरा लंड भाभी की चूत के अन्दर बच्चेदानी तक जा रहा था.

हाथ तो उसके बंधे ही थे, मैंने और स्टीव ने उसकी एक एक टांग भी पकड़ ली और उनको भी कुर्सी से बांध दिया. सुमन- देखो मुझे कुछ नहीं चाहिए, तुम खुद उसे देखकर दे देना। वो नई नई आज से ही हमारे साथ आई है।उधर से- चिंता ना करो. हालांकि उन्होंने मुझसे भी साथ चलने को कहा था, पर मुझे छुट्टी नहीं मिल रही थी.

मैंने जीजू के लंड का मजा लेते हुए कहा- हां जीजा जी … ज़ोर से मारो हय साली की कुंवारी चुत को फाड़ डालो … आह उफ्फ आह …जीजा बोले- ले मेरी साली …वे ज़ोर ज़ोर से लंड के झटके लगाने लगे. ये लो तुम भी देख लो जो देखना है?” कहते हुए मैंने नेहा के एक हाथ को पकड़ कर अपने उत्तेजित लंड पर रखवा दिया.

श्श्शशश … आह्ह …” की एक‌ मीठी सीत्कार सी भरते हुए सुलेखा भाभी ने जोरों से मेरे सिर को अपनी चुत पर दबा लिया और मेरे नथुनों में उनकी चुत की वो मादक सी महक समाती चली गयी. आःह्हा हह्हह्ह अहह्ह्ह्हा उम्म्म्म ऊऊऊह्ह्ह…करीब 10 मिनट धक्के मारने के बाद मैंने अपना माल माँ की चूत में ही छोड़ दिया. जैसे मुँह से मुँह की किस क्यों करते हैं? पूरे कपड़े क्यों उतारे हैं, वो लड़का उसके सीने को क्यों दबा रहा है.

बीएफ एडल्ट बीएफ

हमारी आँखे आपस में मिली और मैंने उस प्यार की देवी के माथे को चूमा और अपने सीने से चिपका लिया.

पहले आंटी थोड़ी थोड़ी कतराती थीं, लेकिन अब वो भी सामने से मुझे अकेले में घर बुलाकर मेरे लंड के मजे लूट लेती हैं. यह कह कर उसने भी एक ग्लास उठा लिया और एक बार में ही पूरा ड्रिंक गटक कर अपनी पैंट उतार दी. कुछ देर बाद उसे भी मजा आने लगा और वो अपनी कमर उठा उठा कर मेरा लंड अपने चुत में ले रही थी.

मगर अभी मैं पूरी तरह से उठी भी नहीं थी कि श्यामा ने अपनी चूत उसके मुँह पर रख कर चूत चुसवानी शुरू कर दी. मेरी बीवी के मस्त मम्मों को नंगा देख कर वो अंग्रेज लड़का एकदम पगला गया. बंगाल के सेक्सी व्हिडीओफिर मैं बोला- मेम मेरा परफोर्मेंस कैसा लगा?मेम बोलीं- इधर मेम मेम न कर … जस्ट कॉल मी सारू.

मैं टॉयलेट में झाँकने के लिए कोई छेद ढूँढने लगा, तभी मेरी नज़र रोशनदान पर पड़ी. इस अचानक हुई प्रतिकिया से भाभी बिन पानी मछली समान तड़पने लगीं और बोलीं- नहीं विक्की.

अगली सुबह वो चले गए, जाने से पहले उन्होंने कहा- तुम अपना ख्याल रखना कुछ काम हो, तो कॉल कर लेना बाकी तो जग है ही, वो सब संभाल ही लेगा. दो तीन मिनट तक तो मैं ऐसे ही सुनता रहा, मैंने सोचा कि कमरे का दरवाजा खुलवाऊँ या नहीं! फिर मैंने सोचा कि चलो जो होगा देखा जायेगा, शायद मेरा काम भी बन जाये।मैंने दरवाजा खटखटाया तो अन्दर से आवाज़ आनी बन्द हो गई. उसकी गांड थी ही इतनी सुंदर … मुझे चूत से ज्यादा उसकी गांड देखकर मजा आ रहा था.

चुदाई की फिल्म पूरी हुई, लड़का झड़ा तो फिर से बोली- इसने तो लड़की पर मूत दिया. फिर बोला कि जो सच था वो मैंने बोला कि आप बहुत अच्छी है आपके पति बहुत अच्छे हैं. भाभी की बात खत्म होते ही मैंने तुरंत उनको गोद में उठाया और उनके बेडरूम में ले गया.

क्योंकि मुझे मालूम था कि अगर एक चूची चुसवा कर वो पागल हो जाती है, तो एक साथ दोनों मम्मे चुसवा कर वो तो आनन्द विभोर हो जाएगी.

तभी मेरी पत्नी ने कहा- अरे फिर देर किस बात की है? वह तो बहुत सुंदर मस्त लड़की है, उसको लेकर आना!नीरू ने कहा- ठीक है जीजी, मैं उसको कल ही अपने साथ लेकर आती हूं. यहां रह गयी तो जो भी इच्छा होगी, बताना। हर ख्वाहिश पूरी करने की गारंटी है।”क्रमशःकहानी के बारे में अपने विचारों से मुझे जरूर अवगत करायें। मेरी मेल आईडी हैं.

उनसे इधर उधर की बातें होने के बाद मैंने आंटी से पूछा कि आपके हसबैंड नहीं आए?तो आंटी ने ‘ना. मैंने उत्तेजना में आकर हाथ उसकी कमर से हटा कर उसके चूतड़ों को सहलाने में लगा दिया. अब रुक पाना मेरे बस में नहीं था, लेकिन जब मैंने देखा कि उसे दर्द हो रहा है, तो मैंने सिर्फ इतना कहा- अगर दर्द हो रहा है तो यहीं रुक जा.

अदिति के अंकल जी भी सबको जल्दी जल्दी रेडी होने को बोल रहे थे; पर कोई सुने तब न. इतना कहने के बाद पूजा मुझे कसकर जकड़ लिया और बहुत जोरों के साथ कांप उठी और शांत हो गयी. रंग उसका गोरा था गाय के दूध की तरह और बदन का साइज 30-28-32 लगभग।उसने बताया कि वो हमारे ही गाँव की है, हमारी बिरादरी से अलग दूसरी बिरादरी की है तो मैं उसे नहीं पहचानता था.

लड़की जानवर बीएफ फिर मैं लंड हिलाता हुआ छोटी चाची की गांड की तरफ आया और बोला- चाची अपनी गांड को फैलाओ. मैं तुरंत भाभी को गोद में उठाकर कमरे में ले आया और उनको पलंग पर लेटा दिया.

हिंदी बीएफ एचडी बीएफ हिंदी

उसकी चूत मारने के बाद मैंने उससे पूछा कि उसने पहले भी किसी के साथ सेक्स किया हुआ है क्या?रेखा ने मेरी बात का कोई जवाब नहीं दिया. यह मेरी बात सुनकर सभी चारों अंकल बोले- वोहहह माई गॉड वन्द्या तेरी सच्चाई गजब की है यार. हमें जब भी अवसर मिलता है हम चुदाई कर लेते हैं लेकिन अब रेवती की शादी है.

एक दिन फिल्म देखते हुए बोली- क्या तुम अपनी मूतने की जगह मुझे दिखा सकते हो?मैंने कहा- पहले तो समझ ले कि ये मूतने की जगह है और इसे लंड बुलाते हैं. मैंने कहा कि ये तो मेरी किस्मत है कि मुझे तुम्हारी सेवा का मौका मिला. सेक्सी वाला चुदाई वीडियोकार में मैंने उसके अन्दर भभक रही कामाग्नि को और भी हवा दी- अरे मेरे दोस्त कल तेरी बहुत सराहना कर रहे थे.

मुनीर ने सिसकारते हुए पूरे जोश से माइक का लिंग अपनी ओर खींचा और मुठी में भर कर उसके सुपाड़े को जीभ से चाटने लगी.

शाम को मीतू दी का मैसेज आया- गजल कैसी लगी?मैं- गजल तो अच्छी थी पर…मीतू- पर क्या?मैं- गजल से ज्यादा तो आपके फोन में वीडियो मस्त थीं. मैं थोड़ा डर गया लेकिन फिर पूछा- बैंगन गांड में डालने से क्या मतलब है?मम्मी ने कहा- मुझे अच्छा लगता है.

इस बस स्टैंड के आसपास कॉलेज टाइम में ही चहल पहल होती थी, उसके बाद बिल्कुल निर्जन हो जाता है. इतना सब निपटने के बाद पांच बजने को थे अब हमें वापिस धर्मशाला जाने का था. हालांकि काफी दिन बाद चुदाई के कारण मेरी हल्की सी आह निकल गई, लेकिन चूत एकदम चिकनी और लिसलिसी होने के कारण उसका लंड सट से मेरी चूत घुसता चला गया.

और जब मैं उनको सब बताउंगी कि तुमने आज कैसे बार बार मेरे ऊपर चढ़ कर मेरी चूत और गांड की अच्छी तरह से धुनाई की है.

मनीष ने दोनों हाथों से भाभी की गांड फैला रखी थी, जिससे उनकी चूत पूरी फ़ैल गई थी और भाभी को पूरा मजा आ रहा था. मैंने एक हल्का सा धक्का उसकी चूत पर पीछे से लगाया तो मेरे लंड का सुपारा सविता की चूत के अंदर दाखिल हो गया. वह मुस्कुरा दी, उसने अपना सिर आगे सीट पर टिका लिया और जैकेट की चेन को पूरा खोल दिया.

सेक्सी वीडियो बच्चे कैसे होते हैंबहन बेचारी उस समय कुछ नहीं जानती थी तो वो बोली- जरूरत से ज्यादा खाना खाकर ही कोई भी मोटा हो जाता है. वो अब बहुत मस्त होकर दुनिया और शर्म से गाफिल होकर अपनी चिकनी टांगों से उस जवान गोरे लड़के को लपेट कर चुदवा रही थी.

पाकिस्तानी बीएफ वीडियो में

माइक इधर मुझे बातें करने लगा, उसने पहले तारा की तारीफ करनी शुरू कर दी. मैंने थोड़ा झुक कर पूजा के होंठ अपने होंठों में लेकर उसका मुँह बंद कर दिया. वो मेरे लंड पर जोरों से उठ बैठ रही थी और उसके उठने बैठने के साथ साथ पूजा की दोनों चूचियां भी उछल रही थीं.

नीरू ने सविता के बूब्स को मसलते हुए कहा- अब क्यों शर्माती है? अब तो कुछ ही देर बाद तेरी चूत में मेरे जीजू का लोड़ा घुसने वाला है, नखरे मत दिखा, अगर मजे लेने हैं तो शर्म उतार दे!यह कहते हुए नीरू ने सविता को अपने पास खींच लिया और उसके ऊपर लेट कर के गालों और होंठों को किस करने लगी. जाते वक्त उसने बोला- मैं आपकी सदा आभारी रहूंगी … जो मुझे आपने खुशी दी है. पर मैं एक ही सेकंड में संभल गया और उसका हाथ हटाकर बोला- मैडम, ये आप क्या कर रही हो?मीनल मैडम- ओए चूतिये.

वे अपना लंड घुसा नहीं रहे थे, पर अपने लंड से मेरी पूरी गांड के छेद को रगड़ रहे थे और वह अपनी जीभ से मेरी पीठ को चाट भी रहे थे. मैं कभी किसी को हाथ लगा रहा था, कभी किसी को चूम रहा था, कभी किसी को चाट रहा था. इस बात पर सबने अपनी सहमति जताई।फिर नाश्ते के बाद सब लोग शॉपिंग के लिए निकल गए और मयूरी के लिए बहुत सारे कपड़े-वगैरह ले आये.

मुझसे रुका नहीं गया और मैंने अपना लोवर बिना वक़्त गंवाए उतारा और कविता के ऊपर चढ़ कर उसे किस करने लगा. उसकी चूत मारने के बाद मैंने उससे पूछा कि उसने पहले भी किसी के साथ सेक्स किया हुआ है क्या?रेखा ने मेरी बात का कोई जवाब नहीं दिया.

अब आगे:अब दोनों माँ बेटी थोड़ा आराम करने के मूड से बिस्तर पर लेट गयी और एक दूसरे को बड़े प्यार से देखने लगी.

चुदाई की प्यासी पूजा मेरी बातों को सुनकर बोली- अरे यार कल का कल देखा जाएगा, आज तो मुझे जी भरकर अपनी चूत चुदवाने दो. ठाकुर सेक्सी मूवीजब उसकी चूत पूरी गीली हो गयी तो मैं उसके ऊपर आ गया और उससे इशारों में लंड डालने को कहा तो उसने सर हिलाकर हां कहा. 12 साल की लड़कियों की सेक्सी फोटोमेरी चूत और गांड का रस निकल कर पूरे गद्दे पर रस फैलकर चिपचिपाने लगा था, तो महेश बोला- इन लोगों का बहुत माल निकला है और वन्द्या तेरा भी रस टपक रहा है. थोड़ी देर के बाद पूजा मेरे सामने सिर्फ़ अपने लाल रंग की ब्रा और लाल रंग की पेंटी पहने खड़ी थी.

अब तक दीमा भी उठ कर हमारे नजदीक आ चुका था और उसने अपने एक हाथ में अपना लंड पकड़, दूसरे हाथ से मेरी भार्या की जांघ को सहलाना शुरू कर दिया.

अदिति के अंकल जी भी सबको जल्दी जल्दी रेडी होने को बोल रहे थे; पर कोई सुने तब न. करीब 6 बजे शिवानी जग गयी और उठते ही उसने मुझे नीचे से ऊपर तक घूरा जैसे कि मैं उसके लिए कोई अनजान औरत हूँ. तभी सोनू मेरे लहंगे से बाहर निकला और वो मुझे कसके पकड़ते हुए चूमने लगा.

फिर हम दोनों ने कपड़े पहने और जाते वक्त होंठों पर एक लंबा चुम्बन किया।अब तो उससे मेरी सैटिंग बन गई थी. साथ ही मैं अपने लंड का दवाब उसकी नंगी चुत पर डालने लगा और ऊपर नीचे होने लगा. प्रिया के ऊपर आकर मैंने अब तेजी से धक्के लगाने शुरू कर दिए, जिससे मेरा पूरा लंड अब प्रिया की नन्ही सी चुत में अन्दर बाहर होने लगा.

बुढ़िया की चुदाई बीएफ

हिमांशु का सीना मेरे मम्मों से लग गया और उसका मुँह मेरे मुँह से जुड़ गया. हम फिर होटल आए, वहां होटल वालों ने स्वीट सुहागरात के लिए गुलाब के फूलों से कमरा सजाया हुआ था. तुम दोनों उधर ही रहना और बेटी को कोई दवा वगैरह की जरूरत हो, तो ला देना.

पहले पति अकेले होते थे, तो वो सीधा कमरे में चाय वगैरह देने आ जाता था.

जगत अंकल करीब 5 से 7 मिनट से चूत को चोद रहे थे और राज अंकल दूसरे मर्द हैं, जो राजीव अंकल के झड़ने के बाद गांड को चोद रहे थे.

उन्होंने तेल लगाया और लंड हिलाते हुए मस्ती से कहा- हरामज़ादे तू टंच माल है, जियो मेरे शेर जियो. जिन लौड़ों के जरा से घुसने से दर्द हो रहा था, वे ही लंड अब छोटे लगने लगे और अपने आप मजा महसूस होने लगा, मेरा मन करने लगा कि हर जगह लंड घुस जाए और जमकर अन्दर डाल कर मुझे मसल दें. लोकेशन सेक्सी पिक्चरउन्होंने थूक लगाकर मेरा पूरा लंड गीला कर दिया और उसे अपने हाथों से मसलने लगीं.

पहले पति अकेले होते थे, तो वो सीधा कमरे में चाय वगैरह देने आ जाता था. मैं थोड़ा डर गया लेकिन फिर पूछा- बैंगन गांड में डालने से क्या मतलब है?मम्मी ने कहा- मुझे अच्छा लगता है. सुबह जब रेवती ने मुझे जगाया तो देखा कि रेवती फ्रेश हो चुकी थी और मैं नंगा ही पड़ा था.

पति शब्द सुन कर दीमा बहुत निराश हुआ था, ऐसा मुझे नताशा ने बाद में बताया था. मैंने दो-चार और धक्के मार कर पूजा से पूछा- पूजा रानी, अब कैसा लग रहा है? अब तुम्हारी गांड में मेरा लंड घुसा हुआ है, तेरी चुत में मेरी उंगली घुसी हुई है और तेरी एक चूची मेरे हाथों से मसली जा रही है.

मैंने भी उसके हाथों को छोड़ दिया और अपने दोनों‌ हाथों से उसकी जांघों को खोलने‌ की कोशिश करने लगा.

बैठने के बाद थोड़ा सा अपने चूतड़ों को उठाया और अपने हाथों से मेरा लंड पकड़कर अपनी चूत से लगा दिया और फिर कुछ शर्मा कर अपनी कमर चलाकर मेरा लंड अपनी चूत में घुसेड़ लिया. मैं उसे अब फिर से पकड़ना चाहता था, मैं धीरे धीरे करके बिस्तर से उठ ही‌ रहा था कि प्रिया समझ गयी और जल्दी से कमरे से बाहर भाग गयी. मैं सूरत गुजरात का रहने वाला हूँ। मैं अन्तर्वासना का पिछले 8 साल से पाठक हूँ। मैंने कई लेखकों की कहानियाँ पढ़ी हैं। अन्तर्वासना की कहानियाँ मुझे बहुत अच्छी लगती हैं। मैंने भी सोचा कि क्यों ना मैं भी अपनी कहानी लिखूँ।ये बात तब की है जब मैं 12वीं में था.

ब्लू पिक्चर सेक्सी वीडियो फिल्म सेक्सी मैं अपना लंड उसकी गांड की दरारों की बीच में डालने की कोशिश कर रहा था, पर उसने बहुत ही टाइट साड़ी पहनी हुई थी, इसलिए मैं ऐसे ही लंड को उसकी गांड पर रगड़ रहा था. वो मुझे अपने बेडरूम में लेकर गयी और वो सीधे मेरे ऊपर आके मुझे पागलों की तरह किस करने लगी.

” मैंने सुलेखा भाभी की आंखों में देखते हुए कहा और शरारत से हंसने लगा, जिससे सुलेखा भाभी एक बार तो शांत सी‌ हो गईं. मेरी तो समझो लॉटरी लग गई।फिर उसने पूरा का पूरा लण्ड मुँह में ले लिया और मैं सिर्फ मादक आवाजें निकाले जा रहा था। वो आइसकैन्डी की तरह लौड़ा चूसने लगी। साथ-साथ अपने हाथ से मेरे अन्डकोषों के साथ भी खेल रही थी।मैंने कहा- आह्ह … रुक जा … अब मेरा निकलने वाला है, कहाँ निकालूँ?उसने कहा- निकल जाने दे … कोई बात नहीं. इसके साथ ही दो धक्कों के बीच का अंतराल भी बढ़ता चला गया और एक पल ऐसा आया, जब माइक एक आखिरी धक्का मार अपने लिंग को तारा की योनि में स्थिर कर उसके ऊपर गिर कर निढाल हो गया.

एचडी बीएफ सेक्सी एचडी बीएफ सेक्स

मैंने पूजा से पूछा- रानी अब तो तुमने अच्छी तरफ से साफ सुथरा कर दिया, अब क्या इरादा है?पूजा मुझे अपनी बांहों मे लपेट कर हंसते हुए बोली- राजा, आज तो तुमने मुझे स्वर्ग का पूरा आनन्द दे दिया. उम्म्म आआह्ह्ह्ह उम्म्म्म स्स्स्स मेरी चूत उम्म्म्म!ऐसी पागल और मदहोश कर देने वाली आवाज़ें मुझे पागल कर रहीं थी और मेरा लंड भी अपनी चरम सीमा पर था. जब भाभी रसोई से हॉल में वापस आईं तो मुझसे कहने लगीं- कहां गुम रहते हो.

इस बार मैंने उसके घुटनों को मोड़कर उसकी जांघों को फैला दिया और खुद उसकी दोनों जांघों के बीच आ गया. मुझे लगा ये समय ठीक है और मैंने एक ही तेज धक्के में अपने लौड़े को उसकी चूत में पेल दिया.

दिल तो हुआ कि जाकर उनके आंसू पोंछ दूँ और अपनी बांहों में ले लूँ, मगर मजबूर था.

वो तो ऐसे मदमस्त हुए जा रही थी जैसे कि पहली बार शराब का नशा किया हो. रेवती की मम्मी ने मुझे बिठाया और पूजा में शामिल होने का अनुरोध किया. मेरा एक हाथ रेवती के जिस्म के सबसे बेहतरीन भाग उसके मम्मों पर जा टिका और उनका मर्दन करने लगा.

इसके बाद वे दोनों उस बहते हुए तेल को श्रीमती जी के पूरे पांव जांघ कमर स्तनों और हिप्स पर रगड़ने लगीं. उसने मेरे मम्मों को इतना अधिक चूसा कि बस यूं समझिए कि मम्मे लाल ही कर दिए. एक दिन दिन नीता की कमर में बहुत दर्द था तो मैंने उसे उसके घर तक छोड़ा तो उसकी माँ से भी मिला.

मैंने अपनी उंगली चुत की गोरी फांकों के बीच में डाली, जो अन्दर से गुलाबी थी.

लड़की जानवर बीएफ: ये सुनते ही मेरे चेहरे का रंग फीका सा पड़ गया और मैंने हकलाते हुए कहा- क्क्क … क्योंओ?मेरी घबराहट देखकर प्रिया हंसने लगी और उसने हंसते हुए कहा- घबराओ मत ऐसी कोई बात नहीं है, कोई और काम है उनको. मेरे मना करने पर उसने बोला- सिर्फ तुम सीधे लेट जाओ बाकी मुझ पर छोड़ दो.

उसकी पकड़ मुझ पर ढीली होते ही मैंने उसे धक्का देकर खुद से अलग होने का निर्देश दिया. जल्दबाज़ी में वो जिप बंद करना भूल गयी, या जानबूझ कर ऐसा किया कि उस जिप के खुले रहने की वजह से उनकी काली ब्रा और कमर तक उसका नंगा बदन दिख रहा था. समझी नहीं मैं?उसने कहा- क्या एक दिन के लिए आप मेरे साथ बाहर घूमने चलेंगी.

जब चुपके से अन्दर देखा तो उस नौजवान गोरे छोकरे को अपना लौड़ा पकड़े देखा.

फिर मैंने सोचा कि मेम के रूम में ही चला जाता हूँ और पूछ लेता हूँ कि वो तैयार हैं या नहीं. फिर मैंने लंड का सुपारा अन्दर करना चाहा, पर मैं कसी हुई चुत के कारण नाकाम हो रहा था. उसके मुँह में कुछ माल था, वो मुझे किस करने लगी और इस तरह से उसने अपने मुँह में बचा हुआ सारा माल मेरे मुँह में दे दिया.