सुबह की बीएफ

छवि स्रोत,अंग्रेजों के सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स एक्स एक्स काजल: सुबह की बीएफ, [emailprotected]गर्लफ्रेंड की चुदाई हिन्दी में कहानी का अगला भाग:एक्स-गर्लफ्रेंड के साथ दोबारा सेक्स सम्बन्ध- 5.

सेक्सी वीडियो पंजाबी भेजें

आज उसने कपड़े इस तरह पहने थे कि उसकी चूचियों की दरार साफ़ साफ़ दिखाई दे रही थी. कोई अच्छी सी सेक्सी वीडियोउसके बाद अपना 8 इंच का लौड़ा उनकी गांड में और बुर में घुसा कर काफी देर तक लगातार अन्दर बाहर करना, डर्टी हार्ड सेक्स मुझे बहुत पसंद है.

शादी के बाद फिर वो अपनी विवाहित जिन्दगी में व्यस्त हो गयी और मैं दूसरी चूत का जुगाड़ ढूंढने में लग गया. इंडियन का सेक्सी वीडियो एचडीमेरा लंड अब जड़ तक उसकी चूत में घुस रहा था और वो हर धक्के के साथ उचक जाती थी.

मुझे आज अपने मुँहबोले देवर के मोटे और लम्बे लंड से चुत की प्यास बुझाने का मस्त मौक़ा मिल गया था.सुबह की बीएफ: एक लड़की होने के नाते मुझे पता था कि किसकी नज़र मेरे शरीर के किस हिस्से को छू रही है.

हमें नहीं पता था कि उन्होंने हमें बालकनी में देख लिया है और वो ऊपर आ रहे हैं.उसके हाथ अब खुद ही उसकी चूचियों को मसलने लगे और मैं उसकी टांगों को पकड़ कर उसकी सेक्सी चूत मारने लगा.

गांव की लड़की देसी सेक्सी वीडियो - सुबह की बीएफ

मंगला ने अगले ही पल अपने सारे कपड़े निकाल दिए और गांड को पीछे करके बलराम को दिखाने लगी- लो जी मैं तैयार हूँ.जब उन्होंने टटोल कर देखा तो धीरे से मेरे पजामे में हाथ डालकर हल्के हाथ से मेरा लंड सहलाने लगी.

तभी चाची ने सुबह मेरे रूम की लाइट जला दी और मेरे खड़े लंड को मेरे हाथ में देख लिया. सुबह की बीएफ मेरी गर्लफ्रेंड ने कहा- घर चलने से पहले कुछ शॉपिंग भी कर लेते हैं … फिर घर पर चलते हैं.

ये कहते हुए मैं उसके पास हो गया और डरते हुए बोला- क्या तुम मेरी जीएफ बनोगी?वो मेरी बात सुनकर सहम गई और बोली- नहीं … ये ठीक नहीं है.

सुबह की बीएफ?

अभी तो बाल बाल बच गए। अब जाइये यहां से।मैंने उसे दिलासा दिया कि कुछ नहीं होगा, तुम डरती बहुत हो।वो चुप हो गई।मैंने पर्दे को थोड़ा हटाकर बाहर झांका तो वहां कोई नहीं था. तभी मैं उसके ऊपर झुक गया और उसकी चूचियों को दबाते हुए उसके होंठों को पीने लगा. वो दोनों चुदाई में व्यस्त थे और मैंने धीरे से अपना हाथ अपनी अंडरवियर में डाल कर लंड को मसलना शुरू कर दिया.

मैं उसके लंड को दबाने लगी और अपने दांत से उसकी फ्रेंची को खींच कर निकाल दिया. अतः मैं अपने दोनों स्तन अपने हाथों से खूब ताकत से दबाती मसलती और अपनी योनि के दाने या मोती को खूब सहलाती रगड़ती और मिसमिसा कर योनि को चांटे मारती जब तक कि वो शांत नहीं हो जाती. मुझे चुत चाटते हुए एक मिनट ही हुआ था कि सुनयना भाभी ने अपनी दोनों टांगों के बीच मेरे सिर को दबा लिया और जोर से ‘आह्ह्ह्हह …’ की आवाज के साथ ढेर सारा पानी मेरे मुँह पर छोड़ दिया.

लंड अन्दर डालने से पहले मैंने अपने दोनों हाथों से उसकी कमर को पकड़ कर हल्का सा झटका दिया और दनादन पेलने लगा. अब मैं अपना हाथ धीरे धीरे नीचे ले जाने लगा और उसकी लेग्गिंग में मैंने अपना हाथ घुसा दिया. जैसे ही उन्होंने दरवाजा खोला, मैं बाथरूम के अन्दर चला गया और दरवाजा बंद कर दिया.

चलो दोस्तो, यहां बाद में आएंगे, यहां चुदाई जैसा फिलहाल कुछ नहीं है. जैसे ही निशु ने मुझे गले लगाया और किस किया तो तुरंत मेरे लंड महाराज ने सलामी दे दी जो कि उसको पता लग गया.

मैं थोड़ी देर उसके ऊपर ऐसे ही लेटा रहा और उसकी चूचियों को सहलाने लगा.

जिस कमरे में हमलोग सोते थे वो ऊपर छत पर था और वहां खिड़की से खूब मस्त हवा आती थी.

फिर मैंने उसे खड़ा किया और अपनी गोद में उठा कर उसके नितम्बों को पकड़ कर दबाने लगा. मेरा लंड इतना बुरी तरह से खड़ा होकर पत्थर बन गया था कि मुझे उसमें दर्द होना शुरू हो गया था. उन्होंने कहा- तो तुम्हें हिरोईन नहीं बनना?मैंने कहा- बनना है, मगर इस तरह से नहीं बनना है और मेरे पति को भी ये तरीका मंजूर नहीं होगा.

कुछ देर बाद वो मेरे बेड पर लेट गईं और अपनी टांगें खोल कर चुत पसार दी. उसकी चूचियों को मैं अपने मुँह में बारी बारी से डाल कर चूसने लगा था, काटने लगा था. मगर मुझे तो मेरी बहन की चूत ने दीवाना बना दिया था, तो भला मुझे भूख कैसे लगती.

कालगर्ल सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैं दिल्ली में एक दोस्त के साथ किराए पर रहता था.

उसने कहा- ओके … मैंने नापा तो था पर एक बार आपसे पूछना इसलिए ठीक लगा कि आप कौन से नम्बर की ब्रा पहनती हैं, उससे ब्लाउज का नाप समझ में आ जाएगा. इस मैरिड वुमन सेक्स स्टोरी के पहले भाग में मैंने आपको बताया था कि मेरी पड़ोस वाली दीदी की शादी थी तो मेरी भाभी की बड़ी बहन भी शादी में आई हुई थी. मैं केवल चड्डी में रह गया था और दीदी एक ब्रा और शॉर्ट्स में ही थीं.

8-10 धक्कों के बाद ही मेरे लंड से वीर्य छूट पड़ा और मैंने वीर्य को उसकी चूत में छोड़ दिया. रोज़ी बोली- जी मम्मी।फिर जाती हुई सैंडल की आवाज सुनाई दी। मेरे मन में तो जैसे लड्डू फूटने लगे. मैं तुली की शादी में शामिल हुआ, तो तुली मुझे देखते ही गले मिलकर रो पड़ी.

फिर मैं बेक्रफास्ट को डाइनिंग टेबल पर रखने में पारिज़ा की मदद करने लगा और अंकल को आवाज़ दी.

कविता की चूत मिलने के बाद अब मुझसे रात का इंतजार करना इतना भारी हो रहा था कि मैं क्या बताऊं. यह सेक्स इन कॉलेज स्टोरी तब की है जब मैंने पहली बार चुदाई का मजा लिया था.

सुबह की बीएफ मैंने पूछा- अब क्या होगा योगेश जी?योगेश जी बोले- कुछ खास नहीं, ये लोगों का तो यही चोंचला रहता है. बस इतना बता दे कि किसके साथ किया है?रिया- सच्ची में नहीं किया मैंने किस।मैं- तुझे मेरी कसम रिया, सच बता।रिया- फिर तुझे भी मेरी कसम है कि ये बात तू किसी को नहीं बतायेगा?मैं- ठीक है.

सुबह की बीएफ इसे देख कर ऐसे लगता है, जैसे भगवान ने बनाते टाइम बस गांड पर ज़्यादा ध्यान दिया होगा. नीचे आकर उसने मेरी चूत में मुंह रखकर उसको चाटना शुरू कर दिया और मैं जोर से सिसकारने लगी- आह्ह … ऊईई … ऊह्ह … रोहित … आह्ह … उई मां … आराम से करो।मुझे इस तरह से सिसकारते हुए देखकर मेरे पति बैठे बैठे मुस्करा रहे थे.

बीस मिनट तक इसी पोजीशन में दबा दबा कर मैं अपनी बहन की चूत में लंड पेलता रहा.

बीएफ फिल्म वीडियो दीजिए

साथ ही साथ वो पीछे से ही अपने हाथ आगे करके मेरे दोनों मम्मों को पकड़ कर भी मसल रहा था, जिससे मुझे चुदाई का पूरा मजा आ रहा था. उसे ढूंढते ढूंढ़ते एक महीना बीत गया, लेकिन महक अभी तक मुझसे नहीं मिली थी. धीरे धीरे वो फिर से उसके लंड के पास पहुंच गयी और दोबारा से उसके लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी.

अब ये तो पक्का हो गया था कि चाची को बेहद प्यार की जरूरत थी, पर समझ नहीं आ रहा था कि शुरुआत कैसे करूं. मेरे उभारों को देख वो पागल से हो गए और मेरे उभारों को मसल मसल कर मजे लेने लगे. फिर मैंने उठकर उसकी टांगों को फैलाकर चूत को देखा और अगले ही पल उसकी टांगों को अपने कंधे पर रख लिया.

आह क्या मस्त बूब्स थे यार … गोरे और भरे हुए दूध और उन पर पिंक निप्पल एकदम कड़क हो उठे थे.

मेरे लंड की लंबाई औसतन भारतीयों की तरह 6 से साढ़े 6 इंच के बीच में ही है. मगर फिर सोचने लगा कि एक बार देखूं तो सही कि माल कैसा है और चूत कैसी है? फिर अमित मुझे उस रात को पांचवें फ्लोर पर ले गया. उसके बाद बोली- अब तुम देखो मैं तुम्हारे इस केले के ऊपर बैठकर कितनी तक मजा करूंगी … तुम बस चुपचाप लेटे रहना … गांड भी उचकाई, तो गांड तोड़ दूंगी.

जब दर्द उसके बर्दाश्त के बाहर हो गया तो वो मिन्नत करने लगी- अब छोड़ दो नाहिद मुझे, मैं मर जाऊंगी. मैं तो पहले से ही अपने कपड़े उतार कर बिल्कुल नंगा बिस्तर पर लेटा था. नीली साड़ी और बिना ब्रा के ब्लाउज में वो एक क़यामत की भाभी लग रही थी.

अब वो मुझे प्यासी निगाहों से देखने लगी … मानो न जाने उसे कब से बस इसी पल का इंतजार था. मैं जीभ से उसकी गर्म चूत पर वार पर वार किये जा रहा था और मेरा हर वार उसको पस्त कर रहा था.

मैं जोर से उसे चोदने लगा और वो फिर से कराहने लगी मगर इस बार साथ में मजे के भाव भी थे- आईई … आह्हह … ओह्ह … आईस्स … ऊह्ह … याह … विराट … ओह्ह … कमॉन!उसे चोदते हुए मैं उसके बूब्स को भी मसल रहा था और बीच बीच में चूचियों को पी भी रहा था. लंड अन्दर डालने से पहले मैंने अपने दोनों हाथों से उसकी कमर को पकड़ कर हल्का सा झटका दिया और दनादन पेलने लगा. मगर मुझे चूत का स्वाद अब मुंह लग चुका था और मैं उसके हाथों को पकड़ कर जोर जोर से उसकी चूत में जीभ डालने लगा.

उसने लाल रंग की साड़ी पहनी हुई थी, जिसे देख कर मैं समझ गया कि ये मां की साड़ी थी, जिसे पापा ने अब तक संभाल कर रखा था.

नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम अनामिका है और अंतर्वासना पर यह मेरी पहली कामुकता कहानी हिंदी में है. मुकेश सर- कुछ नहीं टीना … आज आप बहुत सुंदर लग रही हो और ध्यान आकर्षित कराने वाली हो. आप प्लीज़ कमेंट में जरूर बताइए कि छोटी बहन की गांड मारी कहानी कैसी लगी.

सभी पाठकगण अपने अपने लंड को हाथ में लेकर … और पाठिकाएं अपनी चुत के सागर में उंगली से डुबकी लगाते लगाते इस टीनएज रोमांस लव स्टोरी का आनन्द लीजिए. प्रत्येक इंच अंदर जाते लंड के साथ पूजा के मुंह से- आह्ह, ईईई, उफ्फ, मर गयी, उईई मां, ओह्ह जैसी आवाजें निकल रही थीं.

टीशर्ट और बरमूडा पहने मनीषा ने मेरे दिल, दिमाग, शरीर में हलचल मचा दी थी. फिर वह पूजा की ब्रा के ऊपर से ही उसके बूब्स को प्रेम पूर्वक दबाने लगा. कभी दायीं तरफ़ तो कभी बायीं तरफ़।अंजू सिसकारने लगी- सस्स … आह्ह … हाय … अम्म … ऊह।सिसकारियों के साथ उसका पूरा बदन अंगड़ाई ले रहा था.

बॉलीवुड की बीएफ फिल्म

नहीं था इसलिए मैं और मेरी सहेली एक ही बेड पर कूलर के सामने सोते थे.

उन्होंने मुझे पहले ही बोल दिया था कि आपको एक टीचर नहीं पढ़ाएगा, आपके टीचर बदलते रहेंगे क्योंकि आपकी टाइमिंग बहुत लेट है. सुरेश- अरे क्या सोच रही हो, कोई झूठ मत बोलना समझी … अब चुप क्यों हो बोलो!गीता- बाबू जी, मैंने जानबूझ कर कुछ नहीं किया, जो हुआ मेरी मजबूरी की वजह से हुआ. जब फिर से लंड ‌टाईट हो गया तो मैंने उसे खड़ा कर करके उसकी जीन्स को उतार कर ‌उसकी कच्छी उतार दी। उसको मैंने नीचे से पूरी नंगी ही कर लिया.

मैंने चुम्बन रोक कर उसकी आंखों में देखा, तो उसने देखने के बजाए वापिस चूमना शुरू कर दिया और मेरी टी-शर्ट को हटाने लगी. मैंने फिर पूछा- कैपरी उतार दूँ तेरी?इस पर भी वो कुछ नहीं बोली।मैंने इसे उसकी मौन स्वीकृति समझा और सीधे हाथ से उसकी कैपरी नीचे खिसकाने लगा।तभी उसने खुद अपनी गांड उठा कर नीचे से कैपरी निकाल दी और बाकी के पैरों के ऊपर से कैपरी को मैंने ही बाहर खदेड़ दिया. सेक्सी फिल्म करती हुईमैंने मौके का मजा लेने के लिए बाइक की जगह स्कूटी ली और भाभी को चलाने के लिए बोला.

आपको शायद पता नहीं, मुझे दवा लेना बिल्कुल पसंद नहीं है और इंजेक्शन तो हरगिज़ अच्छा नहीं लगता. वो लगातार मुझे गालियां देते जा रहा था- साली रंडी मादरचोद, कुतिया, बहुत तड़पाया है तूने … आज तेरी चूत फाड़ दूंगा … रंडी साली बहनचोद.

इस तरह से मेरी ऑफिस वाली भाभी ने मुझे खूब मजे दिये और उसने भी मेरे लंड से चुद कर खूब मजे किये. कुछ देर तक मैं ऐसे ही भाभी की चूत में अपना लंड डालकर उन्हें चोदता रहा. क्योंकि अगर किसी साठ साल के मर्द को काजल अग्रवाल जैसी सेक्सी औरत को चोदने का मौका मिल जाएगा, तो वो जीवन में कभी भी नहीं भुला सकेगा.

एकदम से वो बोली- आऊच … उई माँ।मैंने उसकी चूत पर थूक दिया और अपने लंड पर भी थूक चिपुड़ कर फिर लंड सेट किया. भाभी मेरे ऊपर आ गयी और उसने गुदा पर लिंग सेट किया और अंदर लेकर कूदना शुरू कर दिया. वो बोली- मेरे प्यारे लंड वाले प्यारे चोदू भैया … आपको जैसे भी, जो भी करना है … करो.

इस बात पर मेरे पति ने मेरी गांड में लंड डाला और पीछे से मेरी चुदाई का मजा लिया.

अपनी इस बहन की चूत की कहानी के पहले भागभाई बहन का प्यार- 1में मैंने आपको बताया था कि कैसे मैं अपनी बहन की तरफ आकर्षित हो रहा था और एक बार रात में मैंने उसकी पैंटी में उंगली से उसकी चूत को छू लिया. मुझे थोड़ा दर्द भी हो रहा था, पर लंड के स्पर्श से मजा भी बहुत आ रहा था.

उनका मोटा तगड़ा लंड जब मेरी चूत में जाता है, तो आह … क्या मजा आता है. मैंने उनसे पूछा- क्या आप यहां पर अकेली रहती हो?उन्होंने बोला- नहीं मैं यहां अकेली नहीं रहती हूँ … मेरी यहां एक नौकरानी भी रहती है, लेकिन मैंने उसे एक महीने के लिए छुट्टी पर भेज दिया है, इसलिए आपको एक महीने के लिए बुक किया है. फिर मैंने उसको एक करवट लेटाया और पीछे से उसकी चूत में लंड को पेल दिया.

उसकी चूत काफी खुली हुई थी और देखकर लग रहा था कि जैसे वो अपनी चूत को बहुत चुदवाती है. मैं ऊपर गया लेकिन साइड के पड़ोस वाले मकान मालिक अंकल छत पर ही घूमते दिखते. मैंने अपना लंड पीछे से उसकी चुत में डाल दिया और पूरी रफ्तार से धक्के देने लगा.

सुबह की बीएफ अभी भी करते हैं लेकिन अब उनके लंड में उतना तनाव पैदा नहीं हो पाता है. मेरे मुंह से उत्तेजना में आवाजें निकल रही थीं- आह्ह … फास्ट बेबी, यू सक् सो गुड … (कितना अच्छा चूसती हो तुम) ओ बेबी।मैंने उसका सिर पकड़ा और उसके मुंह को पेलना शुरू कर दिया.

लड़कों की बीएफ फिल्म

उसने मेरी बात सुनी तो एक ही बार में मेरी चूत में अपना 9 इंच का लंड आधा अन्दर उतार दिया. उसके हाथ अब खुद ही उसकी चूचियों को मसलने लगे और मैं उसकी टांगों को पकड़ कर उसकी सेक्सी चूत मारने लगा. मैंने जोर से मौसी की चूत में धक्का मारा और मेरा लंड मौसी की चूत में जड़ तक जा घुसा और वहीं पर लंड से वीर्य की पिचकारी फूट पड़ी.

कुछ दिन के बाद मुझे चूत की कमी खलने लगी तो मुझे पता लगा कि मेरा दोस्त एक साल से इसी बिल्डिंग में रहने वाली लड़कियों की चुदाई का मजा ले रहा है. अंकल का लंड इतना बड़ा नहीं था और अंकल की तरह वो भी मुरझाया हुआ शर्मा रहा था. बफ सेक्सी बफ सेक्सी बफ सेक्सी बफ सेक्सीचाची चीखती रहीं और मेरा लंड पहले से और कड़ा हो कर गांड की मां चोदता रहा.

मैंने उसका हाथ पकड़ा और बगल में सोफे पर बिठा लिया और उसके होंठ चूसने लगा.

माहौल इतना गर्म हो गया था कि बिना वीर्य निकाले लंड बैठ ही नहीं पाता. भाभी पीछे मुड़कर देखने लगी तो मैंने लंड को उनकी गांड के छेद पर छुआ दिया और आंख मार दी.

जब वो फिर से गहरी नींद में हो गया तो मैंने एक बार फिर से उसके लंड को मुंह में ले लिया. उसी समय पीछे से मुकेश सर आए और बोले- टीना, सुरजीत आपसे कुछ बात करना चाहते हैं. अब आगे की कास्टिंग काउच सेक्स स्टोरी:योगेश जी ने पूछा- पदमा जी, आप गर्भ निरोधक गोलियां तो इस्तेमाल करती हैं न?मैंने हां में सिर हिला दिया.

इसलिए मैंने मालिनी को रुकने के लिए कह दिया और अंगिका से कहा कि मुझे तुम दोनों के होने से कोई दिक्कत नहीं है.

हमारी दोस्ती कैसे हुई और फिर मैंने उसे कैसे चोदा अपने बिस्तर पर?अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार. मेरी बहन अंदर पैर चौड़े करके पूरी नंगी बैठी हुई थी और गाना गुनगुनाते हुए कपड़े धो रही थी. वो मेरे पास आया और उसने पूछा- कोई परेशानी?मैंने उसे बताया, तो उसने दरवाजे को धक्का दिया और अन्दर आ गया.

80 साल बुढ़िया का सेक्सीपहले तो पतिदेव ने दो गिलास में ही ड्रिंक बनाई, लेकिन रोहन कहने लगा कि भाभी आप भी साथ दो. फिर चाची बोलीं- केवल तुम्हारे चाचा जानते हैं कि मैं प्रेग्नेंट हूँ.

बीएफ सेक्सी बीपी ब्लू फिल्म

जल्दी से डाल दे लंड को मेरी चूत के अन्दर … और मिटा दे इस चूत की गर्मी. मैंने चाची की साड़ी ऊपर की और अपना लंड चूत के पास ले जाकर एक ज़ोरदार झटका दे मारा. उसे देख कर मुझे ऐसा लग रहा था कि इसे यहीं पटक दूं और यहीं पर शुरू हो जाऊं.

उसने ब्रांडी की बोतल से मुँह लगाया और गट गट करके करीब सौ एमएल दारू हलक के नीचे उतार ली. फिर पापा मम्मी के उपर से उठे और अंडरवियर निकाल कर पूरे नंगे हो गए और बिस्तर पर लेट गए और अपना लंड मम्मी के हाथों में दे दिया. मैं एक हाथ से पैंटी के ऊपर से ही उनकी चुत को रगड़ने लगा और उनकी पैंटी के अन्दर हाथ डाल कर चुत में उंगली करने लगा.

वो तीसरी बार झड़ने की कगार पर थी और जोर से ‘अहह … ओह्ह … उफ्फ … अहह. इतने में लाइट आ गयी और रोशनी में मुझे उसका चेहरा जो नज़र आया … आह दिल से आवाज़ आयी- आआएयटम है!हर मामले में वो परी के समान थी. उसने भी एक आदर्श लड़की की तरह मेरे वीर्य की एक एक बूंद पी ली … और लंड चाट कर साफ कर दिया.

और फिर वो तो बगल में ही रहती है, जब चाहे तब चोद लूंगा तेरी सहेली को!दोस्तो, कैसे सविता और मैंने मयंक से एक साथ चुदाई करवाई. फिर मैंने जो फ़ोन में वीडियो रिकॉर्ड हुई थी, उसे देखा और मेरे होश उड़ गए.

अब आपको जल्दी वाला काम पसंद है, तो अभी लो मैं आपकी सेवा शुरू कर देती हूँ.

फिर मैं उसके पास गया … तो उसने मुझे पकड़ लिया और मुझे लिप किस करने लगी. घोड़ा वाला सेक्सी फोटोफिर वो मेरी तरफ देख कर बोली- एनर्जी बूस्टर लेना है?मैंने कहा- हां मेरी जान बिना उसके तो मजा आने से रहा. मुरैना की सेक्सी वीडियोवो ऊपर गयी तो ऊपर वाले अंकल बोले कि वो लोग 4 दिन के लिए आंटी की रिश्तेदारी में शादी में दिल्ली जा रहे हैं और तब तक रवीना को उनकी तीनों बेटियों के पास ही सोना था. उन्होंने सभी जानकारी देने के बाद मेरी सहमति ली और मुझे व्हाट्सएप नंबर पर अपनी कुछ और फोटो व एड्रेस भेज दिया.

मेरे पति के 3 साल पहले देहांत के बाद आज पहली बार मेरे दिल में जज्बात काबू नहीं रहे.

फिर हम दोनों टीवी देखने लगे और टीवी में सलमान और करिश्मा का गाना चल रहा था. वो भी मेरी वासना को समझ चुकी थी और उसने आगे बढ़ कर मुझे अपनी बांहों में भर लिया. मैंने पूछा- कैसा लगा?संजू बोली- यार आपने मुझे बहुत बड़ी ख़ुशी दी है.

फिर मैंने उससे एक बीयर के लिए और बोला कि बीयर पीकर रूम में चलते हैं. शायद इंद्र भगवान भी उसको देख कर इंद्रलोक छोड़ कर आ जाएं … तो अतिशयोक्ति न होगी. मैंने उसकी कमर के नीचे तकिया लगा दिया और बोला- वीर्य बाहर मत निकलने दो.

हॉलीवुड बीएफ एक्स एक्स एक्स

अगर कहीं राहुल उठ गया तो क्या सोचेगा!पापा बोले- राहुल अभी गहरी नींद में है. राज ने अपना लंड मेरी चूत पर लगाकर अन्दर कर दिया और मेरी चुदाई करने लगा. … क्या हुआ … पसन्द नहीं आई क्या!मैं- तुमने न तो किस की … न बूब्स को छुआ … डायरेक्ट चुत में लंड अन्दर कर दिया … तुम इस खेल के नए खिलाड़ी लगे.

रोहन की भी नींद टूट गयी और वो मेरी चुचियां पकड़ कर नीचे से धक्के देने लगा.

उसके बाद उसके होंठ मेरे पेट से होते हुए नाभि से होकर नीचे मेरी चड्डी तक जा पहुंचे.

उनके मांसल ओर मोटे बोबे अब भी उनकी सांसों के साथ ऊपर नीचे हो रहे थे. उसके बाद हम उनके आफिस में गये और एक बहुत ही मोटी फाईल उन्होंने मेरे सामने रखी. sully सेक्सीमेरी दिली इच्छा थी कि मेरी योनि की सील मेरे पतिदेव ही अपने लिंग से तोड़ें और मैं आजीवन एक अच्छी संस्कारवती पत्नी की तरह रहूं.

मैं उनके नंगे जिस्म पर लंड से थोड़ा सा दो बूंद पानी टपक कर चला आया, उनके मुँह से सीत्कार निकल गई. कुछ देर बाद रोहन ने अपना लंड चुत से बाहर निकाला और बिस्तर पर गिर गया. दोस्तों, मुझे अपनी चुत पर हर पल राहुल का वो गड़ता हुआ मोटा लंड गर्म अहसास दे रहा था.

मैंने तो पहली बार आज किसी 19 साल की लड़की को इस तरह मेरे सामने खड़ी पाई थी. मेरी लव सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मेरी मुलाक़ात एक हसीं लड़की से हुई.

उसकी इस हरकत से मेरे अन्दर कुछ कुछ सनसनी होने लगी थी मगर मैंने ज्यादा ध्यान नहीं दिया.

उन्होंने मुझे अपने बांहों में भरा और किस करके बोलीं- तुमने आज मुझे बहुत चोदा है … तुम काफी थक गए होगे. मैंने उसको मेकअप करने के लिए कहा क्योंकि मुझे औरत मेकअप में ज्यादा अच्छी लगती है. सामान में फूलमाला, कुछ दूल्हा का लिबास और दुल्हन के श्रृंगार का सामान.

मेवात की सेक्सी मैं बोली- मिनल की शर्तों मान लो आप!वो बोला- अच्छा, तो बदले में मुझे क्या मिलेगा? मेरा तो नुकसान ही हो रहा है. मगर आप ये क्यों पूछ रहे हो?सुरेश- अरे उसी हिसाब से दवा दूंगा ना … पहले पता तो लगे कितना बड़ा था.

अपने कपड़े उतार कर मैं फराह के ऊपर लेट गया और अपना लंड उसकी बुर के पास उसकी जांघों पर रगड़ते हुए उसको किस करने लगा. मेरे मुहांसे देख कर मेरी क्लासमेट्स मुझे छेड़तीं कि ‘रूपांगी तेरी चूत अब लंड मांग रही है. मेरे घर में दो ही कमरे थे, तो अलग अलग रूम में न सोने के बजाए हम लोग एक ही रूम में सोते थे.

सेक्स वीडियो बीएफ हिंदी मूवी

प्रिया- हां मेरे राजा, बिल्कुल सही कहा तूने … आह आह फक मी आह साले तू मेरी मां को बस अपना मोटा लंड दिखा देगा, तो वो तुझसे चुद जाएगी. सुरेश- हां तो मीता … अब बताओ, कहां दर्द है?मीता अपने संतरे जैसे मम्मों को छूकर बताने लगी- यहां हो रहा है. अब मैं शांत थी मगर मेरी नजर बार बार अंकित के बदन को ऊपर से नीचे तक देख रही थी.

एक नया रोमांच, नया सुख मुझे मिल रहा था और दिल करता था कि मौसा जी सारी रात मेरी चूत चाटते रहें और मैं अपनी टाँगे फैलाए आंखें मूंदे वासना के सुख सागर में डूबी अपनी चूत चटवाती रहूं. मैंने मौसी को भी नंगी कर लिया और हम दिनभर घर में नंगे ही घूमते रहे.

जब मुझसे रहा न गया तो मैंने उसकी चूत में उंगली दे दी और अंदर बाहर करने लगा.

ऐसा लग रहा था कि जैसे उसकी गांड मुझे बुला रही हो कि आओ और अपना मूसल मेरे अंदर डाल दो. उनको बोलता रहा कि रात में भाईसाहब से चुदवाती रहना ताकि बच्चा होने पर उनको शक न हो. जैसा कि आपको मैंने शुरुआत में ही बताया था कि मेरी बीवी पारिज़ा दिखने में एकदम साउथ की हीरोइन काजल अग्रवाल की कार्बन कॉपी थी, इसलिए इस समय मुझे ऐसा लग रहा था कि काजल अग्रवाल मेरे गोद में बैठकर अपनी चुत पेलवा रही है.

तू चाहे तो कल मैं अपने बॉयफ्रेंड को बुला लेती हूं और उससे किसी होटल में तेरी चूत का उदघाटन करवा देती हूं. फिर मैंने कहा- तुम इस लाइन में कैसे आ गयी? तुम्हारी चूत भी काफी खुली हुई है, लगता है काफी खेली हुई हो।वो बोली- मैंने 18 की उम्र में ही सेक्स कर लिया था. इसे देख कर ऐसे लगता है, जैसे भगवान ने बनाते टाइम बस गांड पर ज़्यादा ध्यान दिया होगा.

कपड़े धोने के कारण झुकी हुई चाची की नाइटी के गहरे गले से मम्मों के दीदार हो गए.

सुबह की बीएफ: उस लड़के ने एक पल सोचा, फिर बोला- मैडम एक काम कीजिए … आप अपने कपड़े मुझे दे दीजिए, मैं सामने वाली अलमारी में रख देता हूं. चुदना तो वो भी चाहती थी लेकिन पूरे नखरे के साथ।तभी मैंने उसकी बायीं टाँग घुटने से पकड़ कर अलग कर दी और लण्ड जो बहुत टाइम से अंजू की गुफा का वेट कर रहा था अब मंजिल के करीब पहुंच गया था कि कब ये रस्ता दे और कब ये अंदर घुसे।मैंने अंजू को मनाया कि कुछ नहीं होगा, प्यार से करूँगा.

उनकी बेटी मेरे लंड पर मस्ती से कूदती रही और आखिर में हम दोनों झड़ने की कगार पर आ गए. इस हिंदी Sexxy Story में पढ़ें कि मैंने अपना सेक्सी ब्लाउज सिलवाने के लिए अपनी सहेली को पूछा तो उसने मुझे एक टेलर की दूकान बतायी. मेरे दिमाग में खुराफात सूझी कि क्यों ना भाभी को किचन में ही चोदा जाए.

विनी ऐसे ही एक दो मिनट तक मेरी योनि चाटती रही फिर उसने योनि के होंठ खोल दिए और अन्दर की तरफ चाटने लगी.

आपने सेकसीकहानी आंटी की के पहले भागउम्रदराज आंटी की चूत चुदाई का मजा- 1में आपने पढ़ा कि किस तरह 56 साल की सेक्स की भूखी सीमा जी ने मेरे लौड़े को अपनी काली भोसड़ी में लेने के लिए मचलना शुरू कर दिया था. क्योंकि दानिश के अब्बू का इंतकाल 3 साल पहले हो गया था और उसकी बड़ी बहन की शादी भी एक साल पहले हो गई थी. बहुत ही कामुक का अहसास मिल रहा था उसके होंठों का स्वाद लेते हुए। साथ ही मैं उसकी चूचियों को भींच रहा था.