दादी की सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ एचडी फ्री

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी मारवाड़ी देसी: दादी की सेक्सी बीएफ, ये जो रोज रोज तुम्हारी तबियत खराब हो रही है … ये ऐसे नहीं ठीक होने वाली, तुम्हें अब डॉक्टर की जरूरत है.

करीना हीरोइन की बीएफ

एक बारी तो ऐसा आया कि बहन ने पीछे मुड़ कर देखा और वो कुछ बोलने ही वाली थी तो मैंने मुँह पर हाथ रख कर चुप कराया और वहां से कमरे में ले गया, जहां हम पहले बैठे थे. अनिका बीएफमेरी पत्नी ने पीछे जाकर नीरू की चूत को फैलाया लेकिन चूत में जगह ही कहां थी, बिल्कुल बंद थी, आज तक किसी ने छुआ तक नहीं था.

शायद मेरी ही गलती थी कि मैंने उसे जगह दे दी थी, जिससे उसे मेरे भीतर पूरी तरह से आने का मौका मिल गया. छोटे-छोटे बच्चों का बीएफउधर जो भी आदमी दिखता, मैं बस उसकी पेंट के जिप तरफ देखती, पर किसी ने कुछ नहीं समझा.

फिर मैंने बोला- मनीष भी नहीं आया अभी तक?तो बोलीं- मनीष बोल रहा था कि उसे किसी के साथ घूमने जाना है, देर से आएगा.दादी की सेक्सी बीएफ: जीजू ने चुत की फांकों पर पर लौड़ा रख कर एक करारा झटका मार दिया, तो मेरी आँखें खुली रह गईं.

डेढ़ घंटे बाद मैंने देखा तो साढ़े सात बज चुके थे … तो मैं फटाफट तैयार हो गया और ठीक आठ बजे मैंने मोबाइल उठा कर मेम को फ़ोन करने के लिए सोचने लगा.जाने-पहचाने छेद में हलक तक पहुंचाते हुए मैंने कुछ धक्कों में ही नताशा की सांस फुला दी और वो छूटने के लिए तड़पने लगी.

बीएफ फिल्म अच्छी-अच्छी - दादी की सेक्सी बीएफ

वो और भी गर्म हो गयी, उसने अपनी टांगें फैला दीं और बुर की रगड़वाई का पूरा मजा लेने लगी.कमलेश सर ने जब पहले दिन मुझे सेक्सी कहानियों की बुक पढ़ने को दी और फिर नंगी मैगजीन दी, तो मैंने खुद ही ले ली और पढ़ना भी शुरू कर दिया, एक बार ऐतराज नहीं किया, न ही किसी को बताया.

मुझे मालूम है कि आप यही जानना चाहते हो कि मेरी बहन मुझसे चुदी या नहीं. दादी की सेक्सी बीएफ दोस्तो, मेरा नाम तो कुछ और है लेकिन आप मुझे सोनी बुला सकते हो, ये मेरा असली नाम तो नहीं, निक नेम कह सकते हो.

हम दोनों बहनें अक्सर अपने कमरे में एक दूसरी की चूत से चूत रगड़ती थीं.

दादी की सेक्सी बीएफ?

वो एक मंजिला बड़ा सा घर था, मतलब अकेला घर, उसके चारों तरफ दीवार थीं. हमने अपनी अपनी तरह का एक एक पैग और लगाया और फिर वो बोली कि चलो छत पर चलते हैं. यह सुनते ही सोनू ने मेरा हाथ पकड़ के मुझे अपने ओर खींच कर मुझे अपनी जांघों पे बिठा लिया.

इसी तरह हम आने जाने लगे, जब मैं लेट हो जाता तो वह मेरा इन्तजार करती थी और हम दोनों साथ-साथ वापस लौटते. बाद में मेसेज या कॉल करने को बोल कर वो ऑफलाइन हो गयी और मैं भी अपने काम में लग गया. और इसी के साथ सुशीला झड़ गयी … और साथ में मैं भी उसका यह रूप देख कर!उसके बाद सुशीला उठकर बाथरूम चली गयी अपने कपड़े उठा कर … मैंने भी अपनी धोती उठाई.

कल रात में दीदी के मुँह में लंड चुसवा कर पानी उनके मुँह में छोड़ा था, अब उनकी सहेली के मुँह में मेरा लंड था. वो भी तेजी से आते हुए अचानक मेरी बर्थ के सामने वाली सीट पर आकर बैठ गई. अब हमने अपनी हथेलियाँ भी उसके चूतड़ों के नीचे से निकाल ली थीं, और मेरे हाथों ने उसकी चिकनी जांघें थाम रखी थी, और दीमा की हथेलियाँ उसके सपाट पेट, और छोटी-छोटी चूचियों को सहला रही थीं.

मैंने अभी तक माइक के लिंग को हाथ नहीं लगाया था, मैं इतनी डर गयी थी. मेरी बात सुनकर पूजा ने मेरे लंड को अपने हाथों से पकड़ अपनी चूत के छेद से लगा दिया और बोली- लो मेरी चूत के राजा, अभी तुम जो भी बोलोगे मुझे सब मंजूर है, बस जल्दी से मेरी चूत में अपना लंड पेलकर मुझे रगड़ रगड़कर चोदो.

अचानक मनीष ने नीचे से धक्का मार दिया, पूरा लंड एक बार में चूत में घुस गया.

मैंने उसके होंठों पे अपने होंठ रख कर बोला- आज इन होंठों को ही खाना है.

तो क्या तुम मेरे साथ भी वो सब करोगे?उनकी जरूरत समझ कर मैंने कहा- आप अपना नम्बर दे दो, मैं आपको बाद में बताता हूं. सुलेखा भाभी ने मुझे इतनी जोरों से अपनी चुत पर दबा लिया था कि मेरा दम सा घुटने लगा था. मैं लंड पर तेल लागते समय अपने लंड को बड़ी चाची की तरफ दिखा दिखा कर हिला रहा था ताकि बड़ी चाची भी लंड को देखने का मजा ले लें.

सच कहूँ तो मुझे उनके पति पर बहुत ही तरस आ रहा था उस समय कि ऐसी जवान और खूबसूरत जवानी को छोड़कर वो वहाँ अमेरिका में जॉब कर रहा है. उस टाइम उसने बोल दिया- जब मैं आई तो वो टीवी देखते हुए अपने पेशाब करने की जगह को उछाल रहा था और मैंने पूछा तो उसने मुझसे कहा कि मुझे खुजली हो रही है. ’फ़िर मैं मन मसोस कर मीतू दी के बगल में बैठ कर एंटी वाइरस डालने लगा.

मेरी गर्म कहानी के पहले भागगांव की रिश्ते की साली को चोदा-1में आपने पढ़ा कि मेरी साली हमारे घर आयी हुई थी.

उसने ये भी बताया कि सर्जरी कराके बहुत से मर्द औरत और औरत मर्द बन जाते हैं. कुछ पल हम लोगों ने पत्ते खेले और साथ ही वोडका का दौर चलता जा रहा था. मैं, मेरी पत्नी और नीरू तीनों आपस में चुदाई करते थे, इसी बीच में मैंने नीरू की सहेली पायल को किस तरह चोदा वह मैंने अपनी पिछली कहानी में आपको बतलाया.

मध्यम कद काठी की बड़ी चाची देखने में उतनी खूबसूरत तो नहीं हैं, लेकिन उनके बदन की बनावट किसी अप्सरा से कम नहीं है. मेरी बातों को सुन कर पूजा की आंख एक बार चमक गयी और मुझे चूमते हुए बोली- मेरे चोदू राजा, मैं चाहे तुम्हें ऊपर से चोदूँ या तुम मेरे ऊपर चढ़कर मुझे चोदो. धक्कों की गति तेज होती गयी, काफी देर तक मैं उसे पेलता रहा, फिर मैं झड़ गया और मैं उसके ऊपर लुढ़क कर सो गया.

साली सुबह से चुचे दिखा रही थी, लेकिन क्या करूँ, उसकी नजर में मैं बहुत सीधा साधा इंसान था.

पापा भी जब आते हैं और मम्मी से जब लड़ाई होती है तो सब पुरानी बातें बोल देते हैं. जब भी मैं उसे पीछे से गर्दन पर किस करता था, तो वो बहुत उत्तेजित हो जाती थी और मुझे भी मज़ा आता था.

दादी की सेक्सी बीएफ वो दर्द से डरती थी, वैसे मैंने उसे सब बता रखा था, लेकिन कोई भी नया काम करते वक़्त सबको डर लगता ही है. आज हमेशा की तरह स्त्री मर्द के यौवनांगों के मैथुन घर्षण मात्र से कोई काम नहीं चलने वाला था.

दादी की सेक्सी बीएफ वो फिर अपने फोन से ही खाने का ऑर्डर देने लगी और मुझसे पूछा- क्या खाओगे आप?तो मैंने भी बोल दिया- आप जो खिला देंगी, खा लेंगे. थोड़ी देर किस और स्मूच करने के बाद मैंने उन्हें उठा कर बेड पर लिटा दिया और उनके ऊपर आकर उन्हें फिर से किस करना शुरू कर दिया और इस बार वो पूरा साथ दे रही थी.

फिर हमने अपना अपना पानी साफ़ किया और उसके बाद एक दूसरे को किस करने लगे.

एचडी एचडी बीएफ सेक्सी

वो मेरी चूत को चाट रहे थे और मेरी चूत के दाने को मसल रहे थे जिससे मैं और भी चुदासी हुई जा रही थी. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:अपने चोदू को माँ का पति बनवाया-4. उसने एक पल के लिए मेरा पूरा लंड अपने अन्दर लेकर कर आंखें बंद करके मुझे कस कर पकड़ लिया.

अगर आपके इस जाट भाई से कुछ ग़लती हो गई हो तो प्लीज़ मुझे माफ कर देना. तभी सुशीला ने एक जोर की सिसकारी छोड़ी जिसकी आवाज पास के दो तीन कमरों तक सुनाई दी होगी. पिटाई तो ठीक है, मगर मुझे जब यहां से निकाल देंगे तो मैं अपने घर पर क्या जवाब दूँगा? अब ये सोच कर तो मैं अन्दर तक‌ ही हिल सा गया.

कुछ देर बाद भाभी ने ड्राइवर को कार लाने के लिए बोला और मेरे साथ कॉफ़ी पीने पास के रेस्टोरेंट में चल दीं.

उसने झट से मेरी चूत के मुँह पर रख कर बिने टाइम गंवाए अपने लंड को मेरी चूत के अन्दर कर दिया. जाहिर है कि उस समय उसके भगान्कुर का दाना कुलबुला गया था और शायद यौवन रस भी टपक गया होगा. नीरू ने सविता को बेड पर पीठ के बल लेटा दिया और मुझसे बोली- जीजू, मैं इसके बूब्स मुंह में लेकर चूसती हूं और आप इसकी चूत को चाटना शुरू करो!मैंने ठीक वैसा ही किया, मैं उसकी टांगों के बीच में जाकर उसकी टांगों को चौड़ा करके फैलाया, जैसे ही मैंने टांगों को चौड़ा किया, सविता की चूत खुल गई.

फिर विदाई हो गई और हम सब लोग घर आ गये।कुछ दिन बाद जब भैया की शादी की एलबम और वीडियो फिल्म बनकर आयी तो मैंने भाभी को फोटो दिखाकर शीतल के बारे मे पूछा, तो भाभी ने बताया कि वो उनके पड़ोस में रहती है और बीए में पढ़ती है. पूर्वी मासूमियत से- कुछ तो ले लो यार …मैंने उन्हें कमर में हाथ डाल कर अपनी ओर खींच लिया और स्मूच करने लगा. इस वक्त मेरी सहेलियां रोज़ की तरह अपने आशिकों के साथ मैदान के दूसरे कोनों में घुस गई थीं.

शायद मेरे साथ ये सब करते हुए वो शर्मा रही थी इसलिए मैंने अब खुद ही अपनी कमर को खिसका कर अपने लंड को उसके होंठों से लगा दिया. मैंने पूछा- कब मिलना है आपको?तो उन्होंने बोला कि 1-2 दिन में बताएँगी सोच कर.

अब बहन ने कंफ़र्म करने के लिए मॉम से पूछ लिया और जो मैंने बताया वो भी बता दिया. नेहा की चीख निकल गयी- अअआअ…नेहा ने कहा- तुम बहुत ताकत से क्यों चोद रहे हो?नेहा समझ रही थी कि मैं ही उसको चोद रहा हूँ क्योंकि उसकी आँखों में पट्टी बंधी थी. जब मैं थक गया तो बेड पर लेट गया तो वह मेरे लंड के ऊपर बैठकर सवारी करने लगी और मैं उसके चूचों को मसलने लगा.

उसने मेरे लंड पर से कंडोम निकाला और उसे कचरे के डिब्बे में फेंक दिया.

कम्मो ने मेरा कन्धा पकड़ कर जोर से अपने नाखून मेरे कंधे में गड़ा दिए, शायद उत्तेजना वश उसने ऐसा किया होगा. उसके जाने की देर थी कि मैंने बीवी को जोर से चूम लिया और हाथ बड़ा कर उसकी बुर को सहला दिया, जो बेचारी कब से एक लौड़े के लिए दम तोड़े चुचा रही थी. मेम की चूचियां तो टी-शर्ट फाड़ कर बाहर आ रही थीं और गांड भी टाइट कैपरी में साफ़ दिख रही थी.

सविता ने कहा- जीजू, मेरी चूत में कुछ हो रहा है और मेरा शरीर अकड़ रहा है. उसने ऊपर से नीचे ब्रांडेड कपड़े पहने हुए थे, एप्पल के दो मोबाइल थे, फुल मेकअप, गॉगल्स, बड़े बड़े चुचे, बड़ी गांड, मेरा तो लंड खड़ा हो कर सलामी देने लगा था.

फिर उसने अपने कपड़े ठीक किए और कहा- लास्ट में मैंने आपको इसलिए दांत काटा ताकि आपको भी थोड़ा दर्द हो।और ये वादा किया कि अगली बार मेरे और आपके बीच में कोई नहीं आएगा और अगली बार जब हम दोनों मिलेंगे तो मैं आपको संतुष्ट कर के ही घर जाऊँगी. इसलिए मैं भी पूरे जोश में भर कर उनकी चूचियों को अपने मुँह में लेकर जोर से चूसने लगा. मैं उसकी गांड और चूत मारते समय ही समझ गया था कि ये साली खेली खाई है.

सेक्सी फिल्म ब्लू बीएफ वीडियो

फिर मैंने जैसे ही उसकी चुत पर अपनी जीभ रखी, वो सिहर गयी और उसके मुँह से ‘इस्स…’ की आवाज निकली.

एक दोपहर मैंने दीदी से कहा- दीदी, मेरी चूत में बहुत खुजली मची है, मुझे एक बार जीजू का लौड़ा दिलवा दो. तभी अचानक शायना भाभी ने अपने लाल होंठ मेरे होंठ पर रख दिए और स्मूच करने लगीं. सफेद चिट्टी उसकी जांघें, पतली कमर!तभी नीरू में उसके चूतड़ों की दरार को दोनों हाथों से चौड़ा किया तो मैंने देखा कि उसकी गांड के छेद की सलवटें कितनी मस्त थी … हल्की गुलाबी शहद के रंग की गांड और गांड के नीचे बिल्कुल बंद और उभार लिए हुए चूत!जैसे ही नीरू ने उसकी चूतड़ों की दरार को चौड़ा करके फैलाया, मैं यह नजारा देखता रह गया और मेरे मन में आया कि अभी इसकी गांड पर लंड लगाकर एक झटके में अंदर डाल दूं.

मीना उसकी मुनिया पर खूब सारा तेल डालकर मालिश करने लगी, लेकिन मैंने उसे ऐसा करने से रोक दिया और बहते हुए तेल को जांघ पेट पर रगड़ने को कहा. जब किसी का लंड झड़ जाता तो थोड़ी देर में वो अपना लंड खड़ा कर के फिर से चुदाई करने लगता. एचडी हिंदी मूवी बीएफआंटी के जाने के बाद मैं तुरंत दरवाजा बंद करके बेबी के रूम में चला गया, जहाँ बेबी भी मेरा इंतज़ार कर रही थी.

भाभी के बूब्स देखकर मेरा लंड खड़ा हो जाता था और पैंट में तंबू बना देता. पर क्या तुम्हारे पति और ससुर मुझे तुम्हारे घर ऐसे ही आके तुम सबको चोदने देंगे?तब पूजा बोली- उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ता कि हम लोग अपनी प्यास बुझाने के लिए क्या करते हैं.

मेरी बीवी की दो लंड से चुदाई की इस कहानी के द्वितीय भागअतिथि-2में आपने पढ़ा कि कैसे मेरी बीवी का स्कूल टाइम का यार और मैं मिल कर मेरी बीवी की गांड मार रहे थे. माइक का लिंग खून के दबाव से काफी गर्म और पत्थर से भी ज्यादा सख्त लगने लगा. हमारे यहां लाइट की बहुत दिक्कत थी, ज़रा भी हवा चलती तो लाइट गोल हो जाती थी.

अब चोद जोर जोर से!मैं- कैसा लगा चाची?चाची- तेरे लंड का जवाब नहीं है … क्या लंड पाया है तूने. जिसके कारण में पढ़ाई में अब ठीक ठाक सी ही रह गई, पर गेम पर मेरा ध्यान ज्यादा रहता था. तो मैंने कहा- जब इतनी रात हो गई है तो अब सुबह ही जाना!और मैं उसे किस करने लगा।फिर मैंने पीछे से उसके गाउन की ज़िप खोल दी और पीठ पर किस करने लगा और उसका गुलाबी गाउन उतार दिया.

अब तुम मुझे बिस्तर पर लेटा कर जैसे मर्द कोई रंडी को चोदता है, वैसे ही चोदो.

माइक ने अपना हल्का वजन तारा के ऊपर रख दिया और दोनों हाथों के बल झुक तारा की टांगों के बीच योनि के और करीब हो गया. आज उसने ब्राउन कलर की ब्रा पहनी थी और उसके दो दो किलो के चुचे उसमें से साफ दिखाई दे रहे थे.

पूजा ने मेरी बातों को मानते हुए अपने पैरों को धीरे धीरे से ऊपर उठाए और मैंने उसकी पेंटी को पैरों से निकाल कर दूर पड़ी कुर्सी पर फेंक दिया. थोड़ी देर में जग फ्रेश होकर नीचे मेरे पास आया और बोला- आज आपने उठाया क्यों नहीं मुझे?मैंने कहा- मैं बस आ ही रही थी कि तुम खुद ही आ गए. मैंने उसकी आंख पर पट्टी बाँध दी, फिर इशारा किया तो दूध वाला तुरंत कमरे में आ गया और वो नेहा के दूध रगड़ने लगा.

पहले वो अपनी माँ के, फिर अपने बड़े भाई के, फिर अपने बहन के और अंत में अपने पिता के कपड़े भी उसने ही उतारे. उसने तुरंत आगे को होकर मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और लॉलीपॉप की तरह लंड चूसने लगी. कुछ ही देर में हम दोनों एक बार फिर से गर्म हो गए और एक दूसरे को किस करने लगे.

दादी की सेक्सी बीएफ उंगली डालते ही पता चला कि उनकी योनि अन्दर से बहुत गर्म थी और गीली भी. वो मर्द और अर्धमहिला कभी एक दूसरे के साथ संभोग करते, तो कभी महिला को एक साथ संभोग करते.

बीएफ फोटो सहित

जिस औरत ने भी मेरे लंड का स्वाद चखा था, उसने मुझे एक एक्स्ट्रा चुत जरूर दिलाई है क्योंकि मेरे लंड का लम्बा और मोटा होना ही उनकी चुत की खुजली को पूरी तरह से मिटाने में सक्षम होता था. एक दिन हम बस में बैठे तो उसमें का एक शीशा टूटा हुआ था, जिससे काफी ठण्डी हवा आ रही थी. मैं मम्मी को ऐसे उदास देखकर उदास हो गया था लेकिन किया भी क्या जा सकता था.

सुलेखा भाभी की तड़प को देखकर अब मुझे भी समझ आ गया था कि सुलेखा भाभी पता नहीं कब से प्यासी थीं. पर मैं बोला- बेबी मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है … मैं बस दीदी को ही लाइक करता था. सेक्सी वीडियो में सेक्सी बीएफ वीडियो[emailprotected]कहानी का अगला भाग:विशाल लंड से चुदाई का नया अनुभव-3.

इसी गांव में अपनी बहन के यहाँ महीने महीने भर रूकती थी और तेरी मौसी भी तेरी मम्मी के आशिकों तेरी मम्मी को चोदने वालों से परेशान हो जाती थी.

वो मेरी बात का मतलब समझ गयी थी, इसलिये उसके चेहरे पर मुस्कराहट आ गयी और शर्माकर उसने नजरें झुका लीं. अब राज अंकल बोले- सोनू तुम उधर किनारे में बढ़िया रूम है, वहां चल के चुपचाप कुछ खाना आदि खा कर सो जाओ.

हां बगलों के बाल भी पूरी तरह से साफ़ करके पूरी चिकनी चमेली बन कर आना. मैंने पूछा- क्या हुआ??तो वो कुछ बोल ही नहीं पाई क्योंकि मीना ने उसकी आंखें पर तेल लगाया था और तभी मोनिका उसकी जांघों को जोर जोर से सहलाने लगी थी. ओह … अब मैं समझी … तुम‌ पहचान ना जाओ, इसीलिये ही दीदी ने वो चेन मुझसे वापस ले ली.

चुदाई की फिल्म पूरी हुई, लड़का झड़ा तो फिर से बोली- इसने तो लड़की पर मूत दिया.

मैं समझ गया कि वो क्या कहना चाहती हैं … क्योंकि वो शादीशुदा औरत थीं … तो मैंने भी कुछ नहीं कहा. खेल मैं खेल रहा था, पर इसका पूरा प्लान हिना भाभी का रचा हुआ था, जो मुझे उन्होंने बाद में बताया. हम फिर से कब करेंगे?मैंने बोल दिया- जल्दबाज़ी ठीक नहीं … और गलती से भी किसी को न बता देना कि हमने ऐसा किया है.

बीएफ सेक्सी नेपाली वालीमैंने झपट्टे से अपना मुँह माइक के मुँह से चिपका लिया और अपनी जुबान बाहर निकाल दी. पहला सेमेस्टर जल्द ही खत्म हो गया और मुझे हर सबजेक्ट में बढ़िया मार्क्स मिले थे, सिवाय बायोलॉजी, जिसके वजह से मेरे रिजल्ट बिगड़ गया था.

बीएफ मियां खलीफा की

हम दोनों में ऐसी कोई बात नहीं थी लेकिन वो दिखने में माल थी उसका फिगर 34-32-34 का है। कोई भी लड़का ऐसी गदरायी हुई जवान लड़की को चोदना चाहेगा। लेकिन मैं उसे दोस्त की बहन समझ कर उस पर अपनी कामुक दृष्टि नहीं डालता था. मैं उसको पैंटी के ऊपर से ही टच करने लगा उसकी तो जान ही समझो निकल गई. मैंने कहा- बढ़िया … फिर बताओ कब और कहां मिल रही हो?वो बोली- अरे वाह … तुम तो सीधे मिलने पर आ गए?उसने मुझसे तुम कह कर बात की तो मैंने भी कहा- तुमने ही तो बोला है कि चाहो तो सब मिल जाता है.

तभी वह अंकल जो शॉप के मैनेजर सामने बैठे थे या मालिक हों, वो आवाज देकर बोले- सतीश, उधर बेटी को रेस्ट करा दो. पर सच तो ये है कि मेरा सोनू की गांड छोड़ने का मन बिल्कुल भी नहीं कर रहा. लेकिन उसकी गीली गर्म चूत बता रही थी कि मेरी बहन की चूत को भी के लंड से मजा मिल रहा है.

कुछ सेकंड के बाद मनीष का माल निकलने लगा और वो भाभी के ऊपर ही लेट कर उनको चूमने लगा. थोड़ी देर बाद उन्होंने मुझे भी कपड़े निकालने को बोला… मैं तो कब से इस वक़्त का इंतजार कर रहा था जैसे उन्होंने बोला मैंने फटाफट अपने सारे कपड़े निकाल फेंके. मैं- अच्छा आपको उस कलेक्शन में क्या पसंद है?मीतू दी खुल कर कहने लगीं- मुझे सब अच्छा लगता है.

मैंने पूजा के चूतड़ों को पकड़कर उसे थोड़ा ऊपर उठाया और उसने फिर से एक धक्के के साथ मेरा लंड अपनी चूत में भर लिया. मैंने मम्मी के सामने ही खाना खा लिया और वहीं बहुत सजा हुआ सा एक सुंदर कमरा था.

सोनाली ने मुझे रोक कर पूछा- सिर्फ चोदना है या पूरा मजा लेना है?मैंने बोला- पूरा मजा लेना है.

मम्मों की चुसाई शुरू हुई, तो अब तक ना ना करने वाली, अब मस्ती में आ आह आह करने लगी. देहाती देहाती बीएफ देहाती बीएफरजत- हाँ, बिकुल सही बात है… मैं तो तब से यही सोच रहा हूँ कि कब सब नंगे होंगे. देहाती चोदा चोदी सेक्सी बीएफथोड़ी देर बाद वो अब अपने पैरों से मेरे घुटने तक की टाँग को अपने पैरों से सहला रहा था. मैंने उठाया तो सामने से आवाज आई कि आपके बाजू में जागृति मेम रहती हैं उन्हें बुला दीजिए।तो मैंने कहा- आप फोन पर रहें, मैं बुलाता हूँ।मैं उसे बुलाने गया तो घर का दरवाजा खाली उड़का हुआ था.

उन्होंने भी अपना ग्लास उठाया और मेरे ग्लास से हल्का सा टच करा कर चियर्स बोला और धीरे से मुस्कुरा दी.

एक हाथ से मेरी चुची दबाने लगा और दूसरे हाथ से मेरी पैंटी के ऊपर से मेरी चूत सहलाने लगा. आज यह मेरे जीवन का पहला सेक्स होने जा रहा था, जहाँ लड़की को मैं हीरो की तरह चोदने वाला था. एक दिन उसने मुझे मजाक में ही अपनी गर्लफ्रेंड बनाने के लिए मुझसे कहा कि वो मुझे अपनी गर्लफ्रेंड बनाना चाहता है.

मैं धीरे धीरे चाटते हुए ऊपर की ओर बढ़ रहा था, जैसे ही मैं उनके भरे हुए कूल्हे तक पहुँचा, मैंने उनके कूल्हे के माँस को मुँह में भर लिया और चूसने लगा. और हम सब चूत के शौकीन लोग अपना एक नया व्ट्सऐप ग्रुप बनायें और सब खिलाड़ी लोग अपने अनुभव साझा करें।मुझे मेल कर के बतायें कि आपको मेरा सुझाव कैसा लगा।धन्यवाद. जब मैं उसके मम्मों को दबा रहा था तो मुझे महसूस हुआ कि उसके चूचे धीरे-धीरे टाइट हो रहे हैं.

मधु सिंह बीएफ

उसने थोड़े गुस्से से कहा- अमन किधर ध्यान है तुम्हारा?मैं बोला- कहीं नहीं मैडम. अब तक मेरे मन में मीतू दी के लिए कुछ गलत नहीं था, पर मैंने देखा कि उनके फोन में तो गजब का पोर्न कलेक्शन था. बहूरानी के चाचा जिनके लड़के का ब्याह था वो सबको तैयार होने का निर्देश दे रहे थे की जल्दी जल्दी तैयार होजाओ सब लोग कि साढ़े सात बजे बारात चढ़नी है क्योंकि रात दस बजे के बाद डी जे बजना मना था.

मैं एक छोटे से गाँव के रहने वाली थी लेकिन पहले पढ़ाई और फिर नौकरी के लिए शहर में आ गयी.

उसने ये कहते हुए मुझे किताब दे दी कि आज तू रख ले, मैं तुझसे कल ले लूँगा.

मैं- क्या करूँ चाची … बड़ी चाची भी आप ही की तरह मादक बदन वाली माल जैसी औरत हैं. लेकिन मेरे लिये कभी घर से निकलना मुमकिन भी होता है तो वो ही बेकार साबित होते हैं। इधर-उधर पार्क झील घुमाते फिराते हैं या फिल्म दिखा देते हैं और इस बहाने थोड़ा इधर-उधर हाथ लगा कर और सुलगा देते हैं। न उनके पास कहीं ले जाने का जुगाड़ होता है और न कहीं होटल वगैरह ही ले जाने में दिलचस्पी रखते हैं। अब मैं क्या खुद से कहूँ कि मुझे क्या चाहिये।”एक दो बार में चेक करके, कि काम के नहीं है. हिंदी बीएफ एक्स एक्स व्हिडीओतो क्या तुम मेरे साथ भी वो सब करोगे?उनकी जरूरत समझ कर मैंने कहा- आप अपना नम्बर दे दो, मैं आपको बाद में बताता हूं.

जब मैंने बहन को कहा कि तूने मॉम को क्यों बताया?तो उसने ये बात भी मॉम को बोल दी और फिर से मेरी क्लास लगवा दी. मैं आगे की तरफ अपनी कमर को हिलाने लगी, तो पीछे से अपने आप सतीश को मजा आने लगा. एक दिन मैं कहीं बाहर जा रहा था तो भाभी ने आवाज देकर मुझे अपने पास बुलाया और बोलीं कि उनको फोन रिचार्ज करवाना है.

अपनी बॉडी की बात करूँ, तो एकदम ठीक ठाक है और मैं 7 इंच लम्बे लंड का मालिक हूँ. एक दिन हमारे घर में कोई नहीं था, भाभी मेरे घर में थी और मैं उन्हें पकड़ कर चूमाचाटी कर रहा था.

घर आकर मैंने ड्राईवर के साथ मिलकर सारा सामान ले जाकर भाभी के कमरे में रख दिया और भाभी भी कपड़े बदलने चली गईं.

उसके बगल में मैं हो गई, मेरी तरफ बांहें डालकर वो मेरे होंठों को जमके चूमने लगा. मेरी एक बड़ी प्रॉब्लम है कि मैं हर एक खूबसूरत स्त्री से प्रेम करने लगता हूँ, तो शायद उनसे भी करने लगा. कुछ शगुन वगैरह हुए और इसके बाद रात को मेरी ननद ने मुझे कमरे में छोड़ दिया.

सेक्सी बीएफ देहाती दिखाएं मोबाइल पे दिखाई थी, जब से वन्द्या की सेक्सी फोटो देखी, तब से मैं इसके लिए पागल हो रहा था, आज मौका मुझे मिला. कुछ दिन तो ठीक से कट गए, पर कहते हैं ना कि शहर की हवा लगने में देर नहीं लगती.

उस दिन मैं दीदी की सहेली बेबी को चोद कर अंकल के घर से बाहर आया और फिर शादी के काम में लग गया. वो मुझे बेड के किनारे पर बिठा कर मेरे लंड को हिलाने लगीं और उसका टोपा खोलकर चूसने लगीं जिससे मेरा मस्ती के कारण बुरा हाल हो गया. तब मैंने उनसे कहा- आप एक हफ्ते की छुट्टी ले लो और हम रूम पर ही प्यार करेंगे.

मोटी लड़की का बीएफ सेक्सी

शीतल- अच्छा?मयूरी- हाँ… और इसीलिए दोनों आपको एक साथ चोदना चाहते हैं… एक आपकी गांड में और एक आपकी चूत में लंड डालकर आपको चोदना चाहते हैं. थोड़ी देर के बाद पूजा मेरे ऊपर झुक गयी और मेरे होंठों को चूमते हुए और मेरे सीने से अपनी भारी भारी चूचियों को दबाते हुए मुझे हल्के हल्के धक्के के साथ चोदने लगी. इधर मुझे भी उसके बदन से मर्दानगी की महक चरम सुख की और धकेलती जा रही थी.

सोनाली और ख़ुशी मेरे निप्पलों को चूस रही थीं और वे हाथ से मेरे लंड को भी हिला रही थीं. मेरा एक हाथ रेवती के जिस्म के सबसे बेहतरीन भाग उसके मम्मों पर जा टिका और उनका मर्दन करने लगा.

” मैंने जोश जोश में उसके लोवर व पेंटी को थोड़ा जोरों से खींचते हुए कहा.

तो सतीश बोला- अरे मैं नहीं देखता … मैडम के लिए तू नौकरी भी दांव पर नहीं लगा सकता क्या? उनको जरूरत है मदद की. इसी तरह जब मैं उसे कुछ इंटरनेट के बारे में सिखाता, तो गलती से कभी अश्लील साईट ओपन हो जाती थी. फिर क्या था, मैं उसके घर गया और उसे अपनी बांहों में जैसे ही उठाया, उसे कुछ बुरा लगा और वो मुझसे अलग होने लगी.

मुनीर ने मेरे कान में कहा- तुम्हारी चमड़ी कितनी मुलायम है और तुम्हारे बदन की खुशबू मुझे मदहोश कर रही. नेहा की पकड़ ढीली होते ही मैंने अपना पूरा हाथ अब उसकी‌ पेंटी में घुसा दिया जो अन्दर से गीली गीली सी महसूस हो रही थी. जब मेरी मम्मी का पैंतालीस साल की एज में इतना मन होता है, तो जवानी में वह कैसी रही होंगी.

मुझे थोड़ा यकीन होने लगा, तो मैंने सोचा कहीं और से इसे पता चला तो शायद ज्यादा जानने के चक्कर में कुछ गलत न कर ले.

दादी की सेक्सी बीएफ: सुलेखा भाभी ने मेरे लंड को बिल्कुल बीच में से पकड़ा था, जिससे मेरे लंड का सुपारा उनकी उंगलियों के घेरे से बाहर निकलकर बिल्कुल ऐसे ही फुंकार सा रहा था जैसे कि साँप को उसकी गर्दन से पकड़ने पर फुंकारता है. इस बार मैंने लंड को पकड़ कर उसकी फुद्दी पर लगाया और धक्का दे मारा, तो मेरा थोड़ा सा लंड अन्दर घुस गया.

तो मैंने जैसे इंटरनेट शुरू किया और उसकी हिस्ट्री चैक की, तो उसमें सब सेक्स से रिलेटेड साईट दिखाई दीं. बीच बीच में भाभी जब कुछ लेने के लिए आगे झुकतीं, तो उनकी गोरी गोरी चूचियों का दीदार हो जाता था. फिर मैंने अपने दोनों हाथों को पूजा के दोनों मम्मों के बाजू रखकर अपने शरीर का भार हाथों पर ले लिया.

वो झट से बोली- बाहर निकाल!फिर उन्होंनेअपने हाथ से मेरी मुठ मारीऔर मैं फिर झड़ गया.

मैं- हाँ चाची बहुत दिनों से आपकी इस गांड को मारने के लिए तड़प रहा हूँ. मैं माम्न्सी की मम्मी की गांड में उंगली को आगे पीछे करने लगा और वो आँखें बंद करके सिसकारियां छोड़ने लगी. मैं अब तुम्हारी प्यारी चूत को अपने लंड के पानी से पूरी की पूरी भरने वाला हूँ.