हिंदी पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ

छवि स्रोत,एकस एकस एकस

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ फिल्म एक्स एक्स: हिंदी पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ, वो लंड बाहर निकालने की कोशिश कर रही थीं लेकिन मैंने उनके मुख को कसके पकड़ लिया था.

जापानी एक्सएक्सएक्स

अभी पति के लंड का सुपारा ही मेरी चूत में गया था कि मेरी चीख निकल गई और वो हंसने लगे. आलिया भट एक्स व्हिडीओउस वक्त कुछ ऐसा मौक़ा मिला जिसमें मैंने अपनी एक पड़ोसन रोशनी आंटी का मूत पिया और उनकी जमकर चुदाई की.

मैंने उसका नम्बर सेव किया और देखा तो उसका व्हाट्सएप भी उसी नम्बर पर था. अलिअ भट्ट सेक्सचाची के ऊपर से ही चूत में लंड दाखिल कर दिया और धक्के लगाना शुरू कर दिया.

वो होली की छुट्टियों में घर आया था और बाद में लॉकडाउन के कारण ये सब हुआ था.हिंदी पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ: बहन की बातों से मुझे पता चला कि प्रिया अपना रिजल्ट लेने अपने कॉलेज चंडीगढ़ गई है और बाकी के सभी लोग डॉक्टरों की सालाना मीटिंग्स होती है, जो बंगलौर में होती है, तो वहां गए हैं.

हमने बाहर जाकर पेट भर कर खाना खाया और थोड़ी देर में घूमने के बाद हम घर जाने के लिए निकल पड़े.भैया ने मुँह से आ रही शराब सिगरेट की बदबू को खत्म करने के लिए चुइंगम खा ली और थोड़ी देर बाद नीचे आ गए.

राई भेजें - हिंदी पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ

आधा घंटा आराम के बाद परीक्षकों ने बाकी दो लड़के, दो लड़कियों को खोला, उनकी भी वैसी ही चुदाई हुई.कुछ देर बाद मुझे होश आया कि मेरी बहन भी इस तरह की ब्लू-फिल्म देखने का मजा लेती है.

वो भी गर्माने लगी और वासना से बोली- आआ अहह तुझे सिर्फ़ दबाना ही आता है या अब चूसेगा भी!मैंने बिस्तर पर बैठ कर उसके एक निप्पल को मुँह में ले लिया और चूसने लगा. हिंदी पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ पापा ने झट से मम्मी की एक चूची को अपने मुँह में भर लिया और निचोड़ निचोड़ कर खींचते हुए पीने लगे.

इसी कारण से चाची ने शाम को 9 से 11 तक मुझसे रोज फोन पर बात करना शुरू कर दिया.

हिंदी पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ?

लगभग तीस मिनट के इस समय में उन सबने मसल मसल कर अरुणिमा की जांघों और मम्मों को लाल कर दिया था. उनके जाते ही मैंने सूरत में एक बेहतरीन होटल खोजा और उसमें एक कपल वाला रूम बुक कर दिया. कुछ देर रुककर पापा अपने लंड को मम्मी की चूत में लंड ऊपर नीचे करने लगे.

हम अपने आप को साफ़ करके वापिस बैड पर आ गये और हम तीनों कपड़े पहन लिए।हमारी चुदाई का एक राउंड पूरा हो चुका था, हमने टाइम देखा तो 8 बज रहे थे, यानि लगातार 2 घंटे से हम तीनों की चुदाई चल रही थी. और मैं मन ही मन में सोचने लगा था कि पहले तुम्हारी बहन की चूत का भोसड़ा बना दूँ, फिर तुझे चोदूंगा. थोड़ी देर दूध पीने के बाद वरूण की आवाज़ आ गई तो हमने कपड़े ठीक किए और मेज पर वापस चले गए.

मैं- आ जाओ सालो … फिर से मेरी चूत में गांड में, मुँह में अपने लंड घुसाकर चोदना चालू करो. कुछ देर रुकने के बाद अंकल धीरे-धीरे हिलने लगे और मुझे भी अब मजा आने लगा. अब मेरे लंड की गर्मी बढ़ चुकी थी और मुझे लग रहा था कि मैं जल्द से जल्द मुठ मार लूं.

अब मैंने अब भाभी के वक्षस्थल को दबाना शुरू किया ही था कि उन्होंने मना कर दिया. मैंने पूछा- आज तो बंदूक चली होगी!भाभी- क्या तुम्हें मेरी शक्ल से ऐसा लग रहा है?मैंने कहा- मुझे आपको अभी चोदना है.

इसकी शादी जल्दी करो वरना हम लोग कहीं मुँह दिखाने काबिल नहीं रह जाएंगे.

मैंने पजामा उसके चूतड़ों से नीचे किया और गांड में हाथ डाला तो उसकी गांड का छेद मुझे बड़ा ही नर्म लगा.

मैंने भी अब भाभी के साथ मजाक करते हुए बोल दिया- भाभी आपके लिए तो आपका देवर कुछ भी कर सकता है, आप बोलो तो सही … ये नौकरी तो बहुत छोटी सी बात है. मेरी समझ में नहीं आ रहा था कि सोनल कैसे अपनी बहन से बात करेगी, क्या इन दोनों में सब कुछ खुला है!फिर भी मुझे कुछ मजा आया कि नई चूत का स्वाद मिल सकता है तो मैं सोनल की बात से सहमत हो गया. मेरा पानी निकल जाने के बाद मेरा दिमाग एकदम फ्रेश हो गया और मैं प्यार से चाची के चेहरे को देखने लगा.

हालांकि हमने वरूण की मम्मी को काम करने के लिए मना कर दिया था परंतु वो फिर भी हमारा साथ दे रही थीं. बहुत दर्द होगा!किशन- दर्द गया भाड़ में … आप बस मेरी गांड में लंड डालो. वो मेरे भाई के घर आई हुई थी और मैं जब भाई के घर गया तो उससे दोस्ती हो गयी.

वो मेरी कमर पर अपना हाथ फिरा रही थी और एक हाथ से मेरे बाल सहला रही थी.

मैरिड गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं पड़ोस की लड़की को पसंद करता था पर उसकी शादी हो गयी. अयाना ने मुझे गोद में उल्टा बैठने को कहा और हाथ आगे लाकर लंड को पकड़ा. आज मुझे अपनी चूत की प्यास बुझवानी है तुम मेरी चूत चोद कर मेरी आग बुझा दो विवेक.

मैंने भाभी से कहा- जान, एक बार फिर से मेरी कुतिया बनो न!वो बोलीं- ठीक है, तुम कुत्ता बन जाओ, मैं तो तुम्हारी कुतिया हूँ ही. मैंने पूछा- आप ये पहन कर सोती हैं?दीदी बोलीं- नहीं रे पागल … आज तू है न … इसलिए पहने हैं. बिस्तर पर आकर हम दोनों एक दूसरे को किसिंग करने लगे और एक दूसरे को आलिंगन करने लगे.

स्कूल से आने के बाद शाम को मैंने खाना खाया, फिर सोने की तैयारी करने लगा.

मुझे आया देख कर भड़क कर बोले- साले भड़वे! देख नहीं रहा, मैं तेरी बीवी के साथ बिजी हूँ. 6 बज रहे थे।मैंने कहा- होटल क्यूं?वो बोलीं- बस 8 बजे जाती है। तब तक खाना वगैरा खा लेते हैं।होटल में रूम लेकर दो घंटे के लिए हम रुक गए।रूम में पहुंचकर आंटी ने मुझे जोर से गले लगा लिया।हम दोनों बहुत देर तक लगे रहे.

हिंदी पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ मेरी पहली मूवी की शूटिंग के बाद मुझे नीरज नाम के प्रोड्यूसर की कॉल आयी. मैंने अपने लंड पर अच्छे से तेल लगाया, फिर उसी पोज़िशन में उसे लिटाया जिसमें मैंने लंड लिया था.

हिंदी पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ भाभी भैया से बोल रही थीं- आप से जब कुछ होता ही नहीं है, तो मत किया करो. मैं पांच मिनट उसके ऊपर ही पड़ा रहा वो मेरे पूरे चेहरे हो बड़े ही प्यार से चूम रही थी.

दीदी कराहती हुई बोलीं- आंह … आराम आराम से चोद ना!मैं बोला- फर्स्ट नाईट के दिन दुल्हन को चीखना ही चाहिए.

फोन वाली बीएफ

मुझे हटा कर खुद अपने हाथ से मेरे लंड को अपनी चूत में घुसाने की कोशिश करने लगी. अब दीदी के साथ मेरी चुदाई वही सड़कों के किनारे, पेड़ के नीचे, कभी कुतिया बना कर हो रही है. तीनों दोस्त जोर-जोर से हंसते हुए कह रहे थे- देखो, रांड का पानी छूट रहा है.

दोस्तो, संगीता भाभी के साथ चुत चुदाई का मजा और उनकी कोख में बच्चा देने वाली मस्त यंग भाबी सेक्स कहानी का अगला भाग जल्द ही आपके लंड चुत को गर्म करने आएगा. जिसको पाने के मैं सपने देखता था, वो आज स्वेच्छा से मेरी गोद में बैठी हुई थी. जब मैं बाथरूम में घुसा तो साली की सेक्सी पैंटी टंगी थी जो उसने नहीं पहनी थी.

भाभी- अच्छा, एक बात बताओ कि तुम्हारे पास कोई लड़की नहीं है क्या?मैं- नहीं भाभी.

ये न्यूड बूब्ज़ का वाकया पहले मेरे और मेरी बहन की ननद के साथ हुआ था, बाद में बहन ने भी मुझे नहीं छोड़ा था. डॉक्टर सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक एम्बुलेंस डाइवर ने गाँव की डॉक्टरनी को कैसे चोदा. विश्वेश्वर जी बोले- उसका प्रोग्राम नहीं है क्या?मैंने अचकचा कर कहा कि घर में डिनर का प्रोग्राम था, सो उसका इंतज़ाम नहीं किया था.

उनकी गांड दरवाजे की तरफ थी तो मैं भी भाभी के पास आया और उनसे चिपककर सो गया. राजेश- क्या सच में वो इतनी बड़ी चुदक्कड़ है?शर्मा अंकल- और क्या … तभी तो मैं उसे चुदवाने तुम लोगों के पास लाया हूं ताकि उसके जिस्म की सारी हवस और गर्मी निकल जाए. मुझे उम्मीद है इसे पढ़कर सभी लड़कियां, भाभियां अपनी चूत में उंगलियां करने को मजबूर हो जाएंगी.

पायल ने साड़ी नाभि से करीब पांच इंच नीचे पहनी हुई थी जिससे उसकी नाभि साफ साफ दिख रही थी. अब तो जैसे चाची की चूत को मेरे लंड की आदत पड़ गई थी … और चाची जैसे मेरी पत्नी हों, ऐसे मैं चाची के साथ बिना झिझक और शर्म के उनकी चूत में अपना लंड फचाक से उतार देता था.

वो भी झट से राजी हो गयी और बोली- मैं नहीं, तुम दोपहर के बाद मेरे कमरे में आ जाना. उसके बाद वो मेरी चड्डी को अपने दोनों हाथों से नीचे की ओर सरकाने लगा. फिर वो अपने हाथ से मेरा लंड जोर जोर से ऊपर नीचे करने लगी मेरे चेहरे को देखते हुए!दोस्तो, मुझे उस समय ऐसा लग रहा था कि मानो आज ज़ाफ़रा मेरी जान ही ले लेगी.

उसके बाद मैं भाभी के ऊपर चढ़ गया और उनकी चूत में लंड डालकर चोदने लगा.

कुछ देर बाद मम्मी पूरी तरह से अकड़ गईं और अपनी गांड उठाती हुई एक बार फिर से झड़ गईं. मेरा लंड मेरी पैंट में सांप की तरह इधर उधर हो रहा था और वो बाहर आने को बेताब था. वो दिन भी करीब आ गया जब उसकी मम्मी मुझसे रात में उसके घर पर सोने के लिए बोल कर छोड़ कर चली गईं.

उन्होंने बिना रुके मेरी चूत में अपनी मोटी मोटी दो उंगलियां घुसा दी- आह वीनस, क्या गर्म चूत है तेरी!मैं भी नशे में बोली- चोदो ना मुझे रोहित, कितने वक्त बाद आज मिले हो, अपनी रण्डी बना लो!हां वीनस … आज मैं तुझे अपनी रण्डी बनाऊंगा, तू भी याद करेगी कि क्या चुदाई हुई थी तेरी!” दीपक गर्म होकर बोले. मैंने लंड को पायल की चूत की फांकों में फंसाया और जोरदार धक्का दे दिया.

चाची मुझसे तो कोई ज्यादा मेहनत ही नहीं करवा रही थीं, अपने आप ही उछल उछल कर मेरा लंड अपने अन्दर ले रही थीं. भैया ने मुँह से आ रही शराब सिगरेट की बदबू को खत्म करने के लिए चुइंगम खा ली और थोड़ी देर बाद नीचे आ गए. मैं आंटी को बेड पर आकर उन्हें किस करने लगा; आंटी की ब्रा एंड पैंटी उतारकर उन्हें पूरी नंगी कर दिया.

सेक्सी चुदाई बीएफ सेक्सी चुदाई बीएफ

लेकिन जो चीज़ मुझे सबसे ज्यादा पसंद है, वो है उसकी गांड!अगर वो बैठ जाए और कोई पीछे से देखें तो लगता है कि दो तरबूज़ रखे हों।बूब्स उतने ज्यादा बड़े नहीं हैं मगर गांड उसकी गांड फाड़ तबाही मचा देती है सीने में।मैं नोएडा में पढ़ाई करता हूँ और घर जाता रहता हूँ.

रणवीर ने उंगली से बोरोलीन मेरी गांड के अन्दर तक लगा दी और एक दर्द निवारक दवा मुझको पानी के साथ खिला दी. उन्हें मसलने में अपनी पूरी ताकत लगा रहा था और मम्मों को जोर जोर से भंभोड़ने लगा था. मैंने कुछ कुछ मंगवाया भी तो विश्वेश्वर जी ने मना कर दिया और बोले- ठीक नहीं लगता.

अनुराग- अरे क्या हुआ, मैंने तो दिशा से पूछा था, दवाई वगैरह के लिए पर उसने मना कर दिया. मैं वासना से अपनी नंगी साली को देख कर बोला- वाओ मस्त लग रही हो जान … आई लव यू. सेकसी विडीयेइस बीच वो भी अपना पानी छोड़ चुकी थी।उस ठण्ड में भी हम दोनों पसीने से भीगे हुए थे।दिव्या बोली- सेक्स में इतना मज़ा आता है, मुझे नहीं पता था। अगर पता होता तो मैं खुद हरिद्वार आ जाती तुमसे चुदने! लेकिन दर्द भी बहुत हुआ, देखो कितना खून भी निकला हैं।वो बेडशीट दिखाते हुए बोली.

मैं किसी कुत्ते की मानिंद अपनी जीभ से उसकी चूत का रस पिए जा रहा था. एक बार ऐसी चूत को अगर कोई देख ले, तो उसे चाटे बिना रह ही नहीं पाएगा.

फिर अपना मुँह सीधा उसकी चूत पर लगा दिया और जीभ से लपलप करके चूत चाटने लगा. फ़िर जैसे ही उसने मेरा लंड अपने मुँह में लिया मानो मैं स्वर्ग में पहुंच गया था. बड़े भैया इन सब बातों से अनजान थे कि मेरा लंड घर की सभी औरतों की फुद्दी का स्वाद ले चुका है.

विश्वेश्वर जी बोले- थोड़ा इस रंडी को सीधा कर, ऐसे में ही मैं भी इसकी चूत मार लेता हूँ. थोड़ी देर बाद मेरी ननद मेरे रूम में आई और बेड सीट पर खून देख कर बोली- कैसी हो भाभी, रात कैसी रही?मैं बोली- अभी कैसे बताऊं, अभी तो ट्राय बॉल ही खेली है. आंटी की ब्रा पैंटी को देखकर ही मेरे लंड ने लोअर में तम्बू तान दिया था.

एक दिन मैं अपनी बाल्कनी में खड़े होकर गाने सुन रहा था कि मेरी नज़र सामने वाले घर के नीचे वाले कमरे की तरफ गयी.

आज भी मैं उसकी गांड की सील तोड़ने का वो पल याद करता हूँ, तो मुझे मज़ा आ जाता है. शमशुद्दीन जी अपने कपड़े पहन कर ड्राइंग रूम में बैठे थे और गुरबचन जी के आते ही खड़े हो गए.

मैं कुछ सोच और समझ पाती कि तभी इमरान ने पानी के अन्दर एक डुबकी लगाई और मेरी पैंटी खींच कर उतार दी. मैंने ढेर सारा तेल लगा कर उससे अपने लंड की अच्छी मालिश कराई और उससे लंड पर चुम्बन भी दिलवाया. [emailprotected]हॉट वाइफ Xxx कहानी का अगला भाग:मेरी कमसिन बीवी मेरे दोस्तों से चुद गयी- 2.

जैसे ही पैंट उतरी, मैं पीछे से हाथ फेर कर उनकी गांड की गोलाई को सहलाने लगा. पहले माले पर एक कमरा, एक बाथरूम और रसोई।आंटी नीचे रहती थीं, हम लोग पहले माले पे!हमारे यहां टीवी नहीं थी, मुझे टीवी का बहुत शौक रहा है बचपन से।मैं नीचे टीवी देखने चला जाता था।आंटी रोज शाम को झाड़ू लगातीं, फिर नहाती. मैंने कैसे ना कैसे हिम्मत करके फर्स्ट टाइम उसके कच्छे के बाहर से लंड पर उंगली टच की.

हिंदी पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ मैंने से ऊपर ले लिया और उसने धीरे से मेरे लंड को अपनी चूत में ले लिया. अगले दिन सुबह मैंने सोनल को मोबाइल दिखाते हुए इशारा किया और उसके मोबाइल पर मैसेज किया कि दस बजे मिलो.

जबरदस्ती चोदने वाला बीएफ वीडियो

मैंने फिर से वो थोड़ा तेल अपने लंड पर लगाया जिससे लंड चिकना हो गया. फिर विश्वेश्वर जी चोदना रोक कर अरुणिमा के मम्मों को और निप्पलों को चूसने लगे. मैंने उसका नम्बर सेव किया और देखा तो उसका व्हाट्सएप भी उसी नम्बर पर था.

मेरे पिताजी को कुछ कार्य होने की वजह से वह शादी में नहीं जा रहे थे, केवल मुझे, मेरी मम्मी और मेरे छोटे भाई को शर्मा अंकल के साथ शादी में जाना था. ये कहते हुए मेरे पास आया और बड़े ही प्यार से मेरे होंठों को चूमना शुरू कर दिया. चूत फट गईफिर किसी वजह से ऐसा नहीं हो पाया उसकी मम्मी ने आने के लिए इसलिए मना किया था क्योंकि उनको अपनी कंपनी संभालनी पड़ती थी.

वो लगातार मेरी बुर में तेज़ी से उंगली करता रहा जिससे मैं थोड़ी देर में ही झड़ चुकी थी.

इससे उसका सेक्स की मस्ती करने का उत्तर फिर से मिल जाता … अगर वो ना करती तो बात कुछ अलग होती. तभी अचानक से भाभी की नजरों ने मेरी नजरों को भांप लिया और उनको पता चल गया कि मैं उन्हें निहार रहा हूं.

जिसे पहनकर जब मैं वापस बाहर आई तो देखा तीनों बड़ी बेसब्री से मेरा इंतजार कर रहे थे. अब विक्रम ने अपनी उंगली निकाली और वो अपने हाथों में तेल लेकर मॉम की कमर की मालिश करने लगा. फिर भाबी ने कहा- इस बार मुझे मुँह में लेना था पर गांड से निकला लंड मैं नहीं लूंगी.

भाभी को हर वक्त सिर्फ मुझको देखने और मेरे साथ हंसी मजाक करने की पड़ी रहने लगी थी.

मैंने भी कह दिया- भाई यहां है नहीं मैं क्या करूंगा यहां रुक कर … अकेले में मेरा मन ही लगेगा. अचानक मेरे शरीर मैं कंरट का लगा, मैं उनके मुँह में स्खलित हो गया था. मुझे ऐसा लग रहा था कि पायल अपनी नाभि रोज़ अपने पति के लंड से चुदवाती है.

अंदर डालोजेनीका आंटी पार्लर चलाती है, तो वो अपने शरीर पर स्किन शाइन क्रीम लगाती है ताकि उसका पूरा बदन चमकता रहे. उनसे रहा नहीं गया और उन्होंने मेरी चड्डी उतारी और मेरे लंड को देख कर बोलीं- तुम्हारे भैया का इतना बड़ा और मोटा नहीं है.

बीएफ फंक्शन

उसने अपना नाम रवि बताया और कहा- जोगी ने मुझे आपके बारे में बताया है कि आपको मदद की जरूरत है. मुझे आया देख कर भड़क कर बोले- साले भड़वे! देख नहीं रहा, मैं तेरी बीवी के साथ बिजी हूँ. उस वक्त आंटी का एक दूध मेरे हाथ में आ गया था, जो पकड़ते वक्त आ गया था.

तभी भाभी ने अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिए और अपनी जीभ मेरे मुँह में डाल दी. मैडम ने मेरी तरफ देखा और बोली- तुझे बड़ी जल्दी है?मैंने कहा- हां मैडम जल्दी है. उसके कुरते को उतारने के बाद जब वो लाल रंग की ब्रा में मेरे सामने आई तो लंड ने आन्दोलन शुरू कर दिया.

दोबारा गर्म होने और क्लिट की रगड़ाई से सिमरन फिर से आहें भरने लगी थी. मैं जल्द से जल्द इस काम को अंजाम देना चाहता था क्योंकि पता नहीं कब लॉकडाउन खुल जाता और प्रिया अपने घर चली जाती. आजकल तो मेरे साथ रहने वाले गांव गए हैं इसलिए तुम्हारे साथ ये सब कर लिया.

उसने कहा कि क्या तुमने कभी सेक्स भी नहीं किया है?मैं- पायल तुम मुझसे यह क्या पूछ रही हो?वो बोली- हां मैंने तुमसे पूछा कि तुमने कभी सेक्स किया है कि नहीं? क्या तुम करना चाहोगे?मैंने पूछा- किसके साथ?पायल बोली- मेरे साथ. अब आगे यंग वाइफ हार्डकोर सेक्स कहानी:चार दिन तक मेरे उन चारों आकाओं में से किसी का कॉल नहीं आया और ना ही मैंने उनको कॉल किया.

अब आगे Xxx लड़की सेक्स कहानी:शर्मा अंकल ब्लू फिल्म दिखा कर अलग-अलग आसनों में मुझे चोदा करते थे.

उसका शरीर का आकार बहुत मस्त था, जिसके कारण वो मुझे एक नजर में ही पसंद आ गई थी. र्पोन+क्या+होता+हैमेरी दीदी बोलीं- आंह साले, आराम आराम से गांड मार भोसड़ी के … शुरू में गांड को हमेशा आराम से ही चोदना चाहिए. लडकि कि फोटोएक दिन शाम को वो अपने क्वार्टर से बाहर निकली और मुझसे बोली- असलम, जरा सिगरेट ले आओ मेरी सिगरेट खत्म हो गई. जैसे सुबह में पंछी की आवाज से वातावरण गूंज उठता है … इसी तरह सुबह सुबह चाची की गांड में लंड के पच पच की आवाज से कमरा गूंज रहा था.

वरूण जैसे ही घर से निकला, तो मैं तुरंत आकर सोफे पर बैठ गया और आंटी से बात करने लगा, उनके बदन को निहारने लगा.

पूरे 19 साल से इसके दर्शन किसी ने नहीं किए, तू ये मौका हाथ से मत जाने दे. फिर टी-शर्ट के अन्दर ही उसकी ब्रा को ऊपर करके उसके बूब्स को दबाने लगा. करीब आधा घंटा कीदमदार चुदाईमें वो दो बार झड़ चुकी थी, पर मेरा अभी भी झड़ना बाकी था.

मेरा लंड कैसा लगा?वो मेरे लंड को सहलाती हुई बोलीं- इसने तो मेरी फाड़ कर रख दी देवर जी. दीदी हंस कर बोलीं- हां तुम्हारे जीजा जी मेरी गांड और चूचियों से बहुत खेलते हैं. मेरे सामने एक सेक्सी सी कुड़ी 5 फुट 1 इंच की … उसकी 36सी-30-38 की फिगर क़यामत ढा रही थी.

देसी भाभी की बीएफ मूवी

मैंने साड़ी खींच कर निकाली तो साथ में मुझे उसकी ब्रा पैंटी और पेटीकोट भी उस साड़ी से उलझी हुई मिली. मॉम लेट गईं और विक्रम ने मुझसे तेल की कटोरी ली और साइड में रखकर मुझे मॉम के साइड में बैठने को कहा. फ्री सेक्स इन ओपन का मजा मैंने अपनी दीदी के साथ उनके घर की छत पर लिया.

मैं कुछ ज्यादा ही जल्दी गर्मा गया था तो मुझसे रहा नहीं गया और मैं भाभी के मुँह में ही झड़ गया.

दो दिन बाद स्वाति ने मुझसे अपने केबिन में बुलाया और अपने मम्मे सहलाती हुई वासना भरी बोली- असलम, मैंने जब से तुम्हें अंडरवियर में देखा है, तब से …मैंने भी अपने लंड को सहलाया और उसकी बात काटते हुए कहा- डॉक्टरनी जी, मैंने तो जब तुम्हें पहली बार केबिन में देखा था, तब से मैं तेरे नाम की मुठ मारता हूँ.

उसकी कामुक आवाजें ‘आआ … ईईईई … ऊऊऊऊ …’ मुँह से निकल कर कमरे में गूंज रही थीं. मैंने इण्टरकॉम पर वेटर को तीन कप काफ़ी लाने को बोल दिया और हम बैठ कर बातें करने लगे।मैंने उन दोनों से पूछा- कैसा लगा मुझसे मिल कर? कपल थ्रीसम सेक्स करके?रोहित तुरंत बोल उठा- आपसे मिल कर या आपसे चुद कर?हम हंसने लगे. मां ने बेटे से चुदाईयार राजेश हम तो सोच रहे थे कि हम इसे चोदू बना रहे हैं, यह तो हम पांचों को चोदू बना रही थी.

हम दोनों के अन्दर अजीब सी चुदाई करने की जैसी ताकत आ गई हो, ऐसा लग रहा था. मैंने उनसे कहा- मैम सारे काम हो गए हैं … कुछ और हो तो बताइए?उन्होंने कहा- कोई काम नहीं है, तुम घर चले जाओ. अब मुझे विक्रम की जरूरत नहीं थी और मैं उससे ब्रेकअप करने का बहाना ढूंढ रही थी.

मैं उसको प्यार से देखने लगा तो वो मुस्कुरा कर बोली- अन्दर तो आ जाओ, बाद में देख लेना. मैंने आंटी से पूछ लिया तो आंटी ने मुझे बताया कि सभी रिश्तेदार व मेहमान धर्मशाला में ही ठहरे हुए हैं क्योंकि पूरी शादी के सभी कार्यक्रम धर्मशाला में ही होने हैं.

मैं किसी कुत्ते की मानिंद अपनी जीभ से उसकी चूत का रस पिए जा रहा था.

थोड़ी देर में उन्होंने लंड अपने मुँह में ले लिया और लॉलीपॉप की तरह चूसने लगीं. उसने अपने दोनों हाथों में दोनों गिलास उठाए और अपनी जगह से उठकर मेरी गोद में आकर बैठ गई. इतना सुनते ही उसने मुझे गोद में उठाया और बोला- कमरा कहां है?मैंने रूम की ओर इशारा कर दिया.

सेकसरिया पुरस्कार क्या है उनके लंड की पिचकारी मेरे मम्मों पर, मेरे पेट पर, चूत पर, मेरे मुँह पर आकर पड़ने लगी. मैंने उसकी चूत को देखा और बोला- अरे कोई बात नहीं डार्लिंग, इस गीली चूत का रस ही तो पीना है हमने!उसकी दोनों टांगों को मैंने ऊपर किया और उसके चूतड़ों की तरफ़ से अपने तपते होंठ उसकी चूत के ऊपर रख दिए.

वो मेरे दूध मसल मसल कर इतना तेज चूस रहा था कि मैं पागल हुई जा रही थी. दीदी की शादी की उम्र हो चुकी थी पर उनका रिश्ता कहीं नहीं हो पा रहा था क्योंकि उनके पैर में मामूली नुक्स था, उनकी चाल थोड़ी अलग थी. उन्होंने मुझे अपनी बांहों में भर कर मेरे होंठों को चूम लिया, फिर चूमते हुए मुझे वापिस बेड पर लिटा दिया.

एडल्ट सेक्सी वीडियो बीएफ

उसने वैसा ही किया,मैंने अपना सख्त लन्ड उसकी गीली चूत पर रखा और दबाया. मैं समझ तो पहले ही गया था कि अब संगीता भाभी चुदने की मूड में हैं, तो चुदाई कर ही देता हूँ. अब कॉलेज का समय खत्म होने को था तो हम दोनों ने कपड़े पहने और अपने घर की ओर चल दिए.

मैं एक पल के लिए रुका लेकिन तभी उन्होंने नीचे से गांड उछाल कर धक्का दे दिया. एक बार फिर से बाथरूम में 30 मिनट की फुल चुदाई हुई।उसके बाद 7 बजे में अपने कमरे में आ गया।दोस्तो, ऐसे मैंने अपनी बुआ को उसके जन्मदिन पर चोदकर उसे खुश किया।बर्थडे सेक्स कहानी पढ़कर कमैंट जरूर करें.

मैं पूरी ताकत से भाबी की टाईट चूत में झटके लगा रहा था … वो भी बेहाल हो गई थीं.

जैसे कि ग्राहक बोलता है कि आज मैं गांड या चूत फाड़ दूँगा/दूँगी, इसका मतलब है कि उसे तुमको दर्द देना है. कुछ देर हम दोनों ऐसे ही एक दूसरे से चिपके पड़े रहे और कुछ देर के बाद मेरा लंड फिर से खड़ा हो गया. और वो ऊईईई आहहहह आहहह करके चिल्ला चिल्ला कर अपनी चूत चुदाई का मज़ा ले रही थी।अब मैंने उसे अपने लंड पर बैठने को कहा.

मेरी यह कहानी 5 साल पहले की है, जब मैं जवान हुआ ही था और स्कूल में 12वीं क्लास में पढ़ता था. अगले ही दिन जब हम अपना सामान शिफ्ट करने के लिए ट्रक लोड करवा रहे थे, तभी अचानक से वरूण के पास कॉल आया. मैं आराम से उसके ऊपर आई और पैरों के बल उसके लंड के टोपे पर चूत टच किया.

क्या माल थी वो!उसको देख के मुझे ऐतराज़ मूवी की प्रियंका चोपड़ा याद आ गयी … एकदम सेक्सी हॉट स्पाइसी!उसका फिगर कमाल का था.

हिंदी पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ: तो बातों बातों में चाची ने बोल दिया- विकास तुम शादी कब करोगे?मैंने भी मजाक में हंस कर बोल दिया- आप जैसी बीवी मिल जाए तब!इस पर चाची हंसने लगीं. तुम जिस तरह से मेरी उदासी और मेरा पूरा ध्यान रखते आ रहे हो, तभी तो मैं तुम्हारी तरफ आकर्षित होती चली होती गई.

[emailprotected]पोर्न चाची Xxx कहानी का अगला भाग:चुदासी चाची के साथ मस्ती से भरी रंगरेलियां- 4. उन्होंने मेरा लन्ड पकड़ लिया और मुंह में लेकर चूसने लगी।मैंने कहा- मैं झड़ जाऊंगा तो सेक्स कैसे करूंगा?वो बोली- मुंह का जादू देखो पहले!मैं अपनी कमर उठाने लगा, वो दबा के लन्ड चूस रही, मैं झड़ गया।मेरा लन्ड बैठ गया. मैं बहुत ही हल्के हाथ उसके बूब्स के ऊपर ले गया और अचानक से अपने हाथ और होंठ चलाने बन्द कर दिए.

वो भी समझ गया था और मेरी बुर के दाने को अपने हाथ की उंगली से मसलने लगा.

उसके दोनों चूतड़ भी लाल दिख रहे थे, शायद वाइफ हार्डकोर सेक्स के टाइम उन पर उन सब ने थप्पड़ लगाए होंगे. खैर … कुछ और लंबे और तेज धक्कों के बाद में सिमरन की चूत में ही झड़ गया और ऐसे ही उस पर झुक गया. फिर भाभी को पता नहीं क्या हुआ, वो मेरे लंड को हाथ में लेकर ज़ोर ज़ोर से मसलने लगीं और मेरे होंठों को अपने होंठों से चबाने लगी.