सविता भाभी की बीएफ पिक्चर

छवि स्रोत,हिंदी ब्लू सेक्सी वीडियो मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

स्मार्ट सेक्सी बीएफ: सविता भाभी की बीएफ पिक्चर, फिर उसने हाथ को मेरे शॉर्ट्स के अंदर डाल लिया और अंडरवियर के ऊपर से ही लंड को सहलाने लगी.

बिहारी एचडी सेक्सी

अम्मी हंस कर बोली- ज़ोहरा, आज तुझे भूख नहीं है? चल उस तरफ अशफ़ाक के बगल में बैठ जा. मधु शर्मा का सेक्स वीडियोलेकिन मुझे फर्क नही पड़ा और फिर अंकल ने पिंकी के दोनों पैरों को चौड़ा कर कर फैला दिया.

गांव में मेरा आना जाना बहुत कम होता था इसलिए मैं बहुत कम लोगों को ही जानता था. नशे की गोलीखाना खाते हुए मैंने देखा कि मॉम और वो अंकल दोनों एक दूसरे को देखकर हल्का हल्का मुस्करा रहे थे.

आकांक्षा संग मेरी चुदाई की कहानी का विवरण मैं अपनी इस सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूँगा.सविता भाभी की बीएफ पिक्चर: मैंने उसके बचे हुए वीर्य को साफ़ कर दिया और समीर मेरी गांड को प्यासे कुत्ते की तरह पेलने लग गया। मेरे तो होश ही उड़ गए जब अज़ीम ने मेरा लंड चूसना शुरू किया अब तो मैं सातवें आसमान पर उड़ रहा था.

उसके नजदीक आकर मुझे उसके जिस्म से एक अच्छी सी पर्फ्यूम की खुशबू आ रही थी.लेकिन अम्मी मेरी मौजूदगी में ही ज़ोहरा को घुमा फिरा कर सुझाव देने लगी- तू चिंता मत कर ज़ोहरा … मुझे पूरी उम्मीद है कि कल रात की तरह आज रात भी तुझे सुकून और खुशी मिलेगी.

घोडे का सेक्सी व्हिडिओ - सविता भाभी की बीएफ पिक्चर

फिर कुछ समय बाद वो अपने पति के साथ अमेरिका चली गयी और मैं अपने लिए अगली चूत ढूंढने में लग गया.उसकी बीवी की अक्सर तबियत खराब रहती थी, जिससे उसे 2-4 दिन में हॉस्पिटल ले जाना ही पड़ता रहता था.

बड़ी बुआ उन दिनों का अर्थ समझते हुए बोलीं- तो हम फिर ऐसे ही सीख लेंगे. सविता भाभी की बीएफ पिक्चर इसलिए मुझे चाए पीने की आदत हो गई थी।फिर हमने चाय नाश्ता लिया और अंकल ने मुझे मेरा कमरा दिखाया और कहा- बेटा तुम इसी कमरे में रहोगे.

बड़ी बात तो ये थी कि उसने अपना सिन्दूर मिटा दिया था … मंगलसूत्र भी उतार दिया था.

सविता भाभी की बीएफ पिक्चर?

इसलिए हमेशा ही उनको साड़ी में घर में पौंछा लगाते हुए देखता रहता था और उनके नाम से मुठ मारा करता था. पूरे पन्द्रह मिनट तक मैंने भाभी जी की टाँगें छत की ओर ताने रखी और अपना माल भाभी की चूत में ही छोड़ दिया. मैंने मां को लेटने के लिए कहा, तो मां ने लेटते ही कहा कि मेरी चड्डी और अंगिया भी दिक्कत करे, तो तू उतार देना.

टीना- लव यू मीत … मुझे हरियाणवी चुदाई का ऐसा सुख देने के लिए शुक्रिया. चारू भी जोर जोर से चीखने लगी- ऐसे ही अन्नु … और जोर से … चोदो … हां चोदो … ओह्ह … चोदो अन्नु … फाड़ डालो आज मेरी चूत को … तुम्हारे लंड ने तो दीवाना बना दिया मेरी जान अन्नु … फाड़ डालो आज मेरी इस चूत को।अब मेरे लिंगमुण्ड पर चारू की योनि की दीवारों की पकड़ बहुत मजबूत होने लगी थी. मुझे नहीं पता था कि वो किसलिए मेरी ओर आ रही है लेकिन मैंने अपनी नजर घुमा ली.

वो भी अपने दूध मेरे मुँह में ठेलते हुए सिस्याने लगी- आह पी लो … चूस लो … बहुत दिनों से तुम्हारे लिए तड़फ रही थी. मेरी पत्नी मायके से वापिस लौट आयी थी, मैं अपनी बीवी की चुदाई में खुश था. तभी रिंकी बाहर आई और बोली- तुम यहां?तो मैंने बोल दिया- हां, अंकल तुम्हारा ध्यान रखने लिए बोल कर गए हैं.

मैंने उससे दोस्ती करके अपनी गर्लफ्रेंड बना कर उसकी चूत और गांड दोनों को कैसे चोदा?अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज के सभी पढ़ने वालों को मेरा नमस्कार!प्रिय मित्रो और सभी सेक्सी आंटी, लड़कियो भाभियो!अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली सेक्स स्टोरी है, अगर कोई गलती हो तो मुझे माफ़ कर दें।मेरा नाम नीलेश है. जैसे ही मैं उसके जिस्म को ऊपर से नीचे अपनी जिह्वा से चाटता तो उसके जिस्म से सिहरन की लहरें उठनी शुरू हो जाती थीं.

जिन मैम को मैं चोदने के लिए घूरता था, आज वही मैम मेरा लंड चूस रही थीं.

मैं अपनी सुध-बुध खो चुका था, लेकिन ये मेरी ज़िंदगी का पहला किस था, जिसने मुझे हवा में तैरना सिखा दिया.

मैं अभी ये सब सोच ही रहा था कि पीछे से किसी ने मेरे कंधे पर हाथ रखा. दो बजे रहे थे दोपहर के, थोड़ा टाइम लग रहा था बैंक के कामों में क्योंकि बाकी बैंक के कर्मचारी लंच कर रहे थे. माँ- वाह मेरे राजा … क्या मस्त चोदता है तू … जब गांड इतनी अच्छी मारता है, तब तो तू मेरी चूत का भोसड़ा बना देगा.

मेरे ट्यूशन टीचर ने एक रात मुझे साड़ी पहना कर …लेखक की पिछली कहानी:बेटे के भविष्य के लिए कई मर्दों से चुदीदोस्तो नमस्कार. मैंने भी अपने घर बोल दिया कि मैं 2-3 दिन के लिए फ्रेंड के घर जा रहा हो. ये बात तो खुलकर कर रही हैं, पर आज तक किसी और से नहीं चुदीं, तो मेरे लंड से कैसे चुदेंगी.

मैंने भी हेलमेट पहना हुआ था ताकि अगर किसी को लड़की घर में आती दिख भी जाये तो हम दोनों के चेहरे न दिख पायें.

उसके बाद दस मिनट तक लगाकर लंड से गांड चोदने के बाद मैंने अपना पानी उसकी गांड में ही छोड़ दिया. चारू प्यार से मुस्करायी और बोली- सच्ची मेरे राजा? तुमने तो मुझे निशब्द कर दिया. उसका एक हाथ मेरे सिर पर था जिससे वो मेरे बालों को सहला रही थी और एक हाथ मेरे लंड पर था जिसको वो बार लंड के टोपे से लेकर लंड की जड़ तक फिरा रही थी।जैसे जैसे मेरी जीभ उसकी चूची के निप्पल के चारों ओर घूमती तो उसकी चुदास और ज्यादा बढ़ जाती थी.

वो उत्सुकता से मेरा बेल्ट खोलने लगी, जिसके तुरंत बाद ही उसने मेरी जीन्स और अंडरवियर दोनों एक झटके में उतार कर फेंक दी. तभी भाभी बोलने लगीं- विकास, तुम्हारी दुकान पर तो मैं कब से आती जाती रही हूँ … पर मैंने कभी सोचा ही नहीं था कि तुम इतने बड़े वाले चोदू हो … पहले मालूम होता तो न जाने अब तक कितनी बार चुत चुदवा चुकी होती. मुझे नहीं पता कि उसको कुछ पता चलता था या नहीं लेकिन कभी मैंने उसके चेहरे पर कोई रिएक्शन नहीं देखा.

इस पर अम्मी जोश में आ गई और शकील की लंड पर हाथ फेर कर बोली- चल तो इस रंडी को एक बार और चोद दे.

अब आगे देसी नंगी भाभी सेक्स स्टोरी:मैंने धीरे धीरे भाभी के मम्मों पर फूल की डिज़ाइन बना डाली. आह्ह … ओह्ह … और तेज … चोदो … आह्ह मजा आ रहा है, पेल दो लंड को।लड़की एकदम से चुदक्कड़ लग रही थी.

सविता भाभी की बीएफ पिक्चर फिर मैंने एक कुर्सी को सीधी किया और उसको स्लाइड करते हुए उस पर थोड़ा सा साफ किया और बैठ गया. इस पोजीशन में झुके झुके अवनीत को दिक्कत होने लगी तो उसने अपने हाथ मेज से हटाकर कुर्सी पर रख दिये जिसके कारण वो और ज्यादा झुक गई.

सविता भाभी की बीएफ पिक्चर घर के अन्दर पहुंच कर मैंने अवनीत से कहा कि तुम्हारा मेकअप या कपड़े खराब न हों, इसलिये आराम आराम से मैं जो करूँ, करने दो. काजल मेरी कजिन सोनल की मामा की लड़की थी, जिसने मेरी कजिन को बिगाड़ रखा था.

टीना- उम्म्म … मीत … आह्ह … प्लीज़ … डाल … दो … मत्तत्त … तड़पाओ … आउह्ह.

माँ बेटे की सेक्सी

मगर फिर मेरी जिद के कारण उसने लंड मुँह में ले लिया और धीरे धीरे पूरा लंड मुँह में लेकर चूसने लगी. उन्होंने पूछा- डार्लिंग, दर्द हो रहा है क्या?मैं बोला- हाँ, थोड़ा दर्द हो रहा है. फिर पांच मिनट के बाद बाबा ने बेरहमी से चोदने के बाद मेरी चूत में ही अपना पानी निकाल दिया.

मैं अभी भी नग्न अवस्था में नीरज के गोद में बैठी थी और उसका लण्ड अभी भी मेरी चूत में था. वो हमारे घर पर ही बहुत खुश होकर खेलती रहती थी।एक दिन सुबह 9 बजे वो आयी और लड़की को मेरे पास छोड़कर बोली- राजू थोड़ी देर लड़की को बहलाना … ये बहुत शरारती है … मुझे नहाने भी नहीं देती है।ज्योति भाभी अपनी लड़की को मेरे पास छोड़कर नहाने चली गयी और मैं बेड पर ही बैठा हुआ लैपटॉप से अपने ऑफिस का कुछ काम कर रहा था. धीरे-धीरे मैंने अपना हाथ थोड़ा ऊपर ले जाकर उसकी सलवार का नाड़ा खोल दिया और मैंने अंदर हाथ डालकर उसकी चूत को महसूस किया।मैंने पहली बार किसी लड़की की चूत पर हाथ लगाया था तो मुझे बहुत अजीब फील हो रहा था और अंदर से मेरा लन्ड खड़ा हो रहा था।अब वह भी धीरे-धीरे गर्म होने लगी और मैं अपना हाथ पकड़ कर मेरे लन्ड पर ले जाने लगी.

उसकी चूत के छेद से चड्डी साइड में सरकाई और चूत के छेद में टोपा टच कर दिया.

आइला के मम्मों को देखकर किसी का भी लंड खड़ा हो जाएगा, ऐसा मेरा दावा है. अज़ीम मेरा लंड चूस रहा था और मेरे मुँह से आह… आह… की आवाजें निकल कर सिनेमाघर की दीवारों से टकरा रही थीं।अब उन दोनों ने मुझे उठाया और जमीन पर जैसे टट्टी करते हैं वैसे बिठा दिया। मैंने समीर का लंड चूस कर साफ़ कर दिया और उसके वीर्य को अमृत समझकर चाट लिया। अब अज़ीम ज़मीन पर लेट गया और समीर मेरा लंड चूसने लगा।अजीम ने कहा- अपनी गांड को मेरे फेस पर रख दो. फिर मैंने उसकी दोनों टांगों को कंधों पर रखा और उसकी चूत में लंड को आगे पीछे करने लगा.

लगभग दो महीने तक नार्मल बातें करने के बाद मैंने उसे एक बार फिर मिलने के लिए तैयार कर लिया और इस बार का सम्भोग तो और भी मादक था. प्रशांत- तो कोई बात नहीं, तू भी चोद लियो, आखिर तेरी मां है वो, तेरा भी हक़ है. उसकी आहह ऊईई ऊईई आआआ आहह आहह हह आहह से मेरे लौड़े को जोश आ रहा था।अब हम दोनों बिस्तर पर चुदाई का पूरा मज़ा ले रहे थे। अब वो भी अपनी गांड को आगे पीछे कर लंड ले रही थी।तब मैंने लंड निकाल लिया और उसे कहा- तुम मेरे लौड़े पर बैठ जाओ.

पर मुझे रात में ही टाइम मिलेगा, दुकान पर से नहीं आ सकता, पापा नहीं आने देंगे. फिर मैं एक तरफ जाकर योगा करने लगा, तो थोड़ी देर बाद वो भी मेरे सामने आकर योगा करने लगी.

तो दोस्तो, कैसा लगा तुम लोगों को मेरा यह पुराना अनुभव!और जैसा मैंने इस घटना के शुरू में लिखा है ऐसा लगभग 80% लोगों के साथ होता है. फिर एक दिन संडे को मैंने ग्रुप सेक्स (सामूहिक चुदाई) का प्रोग्राम रखा. उस दिन दीदी ने लम्बी स्कर्ट और स्लीवलैस टॉप पहना हुआ था, जो कि काफ़ी सेक्सी था.

अब मैंने अपना लंड खुशबू की चुत पर सैट किया और एक जोरदार धक्का दे मारा.

भाभी ने सुबकते हुए बताया- तुम्हारे भैया मुझे ख़ुश नहीं रख पाते हैं. मैं- आंटी गांड में लंड लेने में सबसे ज्यादा मजा आता है … अगर आप कहें, तो मैं आपकी गांड मार दूं. मैंने भी अपने घर बोल दिया कि मैं 2-3 दिन के लिए फ्रेंड के घर जा रहा हो.

मुझे पहले तो डर सा लगा कि कहीं मां को चुत चुदाई के बारे में मालूम तो नहीं चल गया है. मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि मामी को कोई देख ले तो मुठ मारे बिना न रह पाये.

फिर मैंने उसकी दोनों टांगों को थोड़ा सा फैलाया और उन्हें भी अलग अलग चेयर से बांध दिया. शकील ने पूछा- क्यों क्या हुआ?अम्मी ने कहा- बेचारी को कोई भी बच्चा नहीं है जिसकी वजह से काफी परेशान है. चाची ने छोटा ब्लाउज, चमकीली साड़ी और होंठों पर लाल लिपस्टिक लगा रखी थी.

हिंदी सेक्सी वीडियो टीचर

बीच जंगल में बाबा का लंड देखकर मेरे अंदर भी रोमांच आने लगा और मैंने बाबा से चुदाई करवाने के लिए हां कर दी.

‘आहाहाहा … ऊहुऊहु … और जोर से … मादरचोद पूरा डाल भैन के लंड पेल दे अन्दर पूरा … आह भोसड़ी के बहुत मजा दे रहा है … आह बहुत बड़ा लंड है तुम्हारा. ज़ोहरा की गांड के दवाब से मेरा लंड खड़ा होकर आपा की गांड की दरार में सेट हो गया. उसके बिस्तर पर गिरते ही मैं उसके ऊपर चढ़ गया और उसके होंठों पर किस करने लगा.

क्या मुझे इस अप्सरा को प्यार करने की इजाज़त है?तो उसने कहा- भईया सैयां जी, आपको अपनी दुल्हन बहन को मुँह दिखाई देनी पड़ेगी. मैं अपना हाथ धीरे-धीरे उसकी पैंटी की इलास्टिक के नीचे से उसके अंदर ले गया. सेक्सी लंबे लंड वालीवो बहुत खुशनसीब होगा जिसे तुम जैसी बीवी चोदने को मिलेगी।ज्योति ने मुझसे कहा- भईया, वो खुशनसीब तो आप हैं.

पर बदले में तुम्हें मुझे भी चोदना पड़ेगा।मैंने उनसे कहा- ठीक है, मुझे आपकी शर्त मंजूर है।और मैं अपने घर चला आया।दोस्तो, आपको मेरे दोस्त और मेरी गर्लफ्रेंड की मम्मी की चुदाई की कहानी कैसी लगी? बताना मत भूलियेगा. काफी दिनों बाद इतनी अच्छी से मेरी चुदाई हुई है।मैंने उनसे पूछा- क्यों चाचा आपको नहीं चोदते हैं क्या?तो मेर दोस्त की मम्मी बोली- अब पीहू के पापा मुझे बहुत कम चोदते हैं।मैंने उनसे कहा- आप परेशान मत होइए, मैं हूँ न! आपको मैं ऐसे ही चोदूंगा.

5 मिनट बाद उसका शरीर अकड़ने लगा, उसने मुझे जोर से पकड़ लिया और ‘आन्ह उन्ह आन्ह’ की मादक आवाज़ करते हुए झटका मारते हुए उसकी बुर ने पानी छोड़ दिया. वह लाल रंग का जालीदार गाउन पहने हुए क्या मस्त माल लग रही थी।मोनिका भाभी ने मुझे अंदर बुलाया और दरवाजा बंद कर दिया. कुछ देर बाद मैं फिर से उठा और दुबारा से भाभी की चुत में लंड डालकर चुदाई शुरू कर दी.

मैं जैसे ही कपडे़ ठीक करने लगी मेरे शौहर वापस कम्पार्टमेन्ट में चले गये. मेरे दूसरे मामा यानि कि सबसे बड़े मामा से दूसरे नम्बर के मामा अक्सर हमारे घर आते जाते रहते थे. उमेश सर ने कहा- ठीक है … अब मैं कुछ नहीं कर रहा हूँ … लेकिन बस ऐसे ही रहने दो.

भाभी के बड़े बड़े मम्मे भी उछल कूद कर रहे थे और जैसे-जैसे भाभी ऊपर नीचे होती थीं, वैसे वैसे नीचे मेरा लंड के नीचे दोनों टट्टे भाभी की गांड से टकरा रहे थे.

मैंने उसको पूछा कि क्या हुआ?तो उसने बोला- मुझे यहां पर कुछ ठीक नहीं लग रहा है. सच में बड़े ही मस्त मम्मे थे … एकदम टाइट और रसीले … ऊम्म … मउम … क्या मस्त मजा आ रहा था.

इस बीच मैं कभी उनकी गांड पर चपेट लगा देता, तो कभी उनके मम्मों पर चपेट लगा देता और कभी उनके बूब्स को जोर से दबा देता. निशा भाभी- वो कैसे हो सकता है? मैं साइड वाली सीट से हैंडल और रेस को कैसे कंट्रोल करूंगी?मैं- नहीं आप समझी नहीं, पहले मैं ड्राइविंग सीट पर बैठूंगा और आप मेरी गोद में बैठ जाना. फिर ज़ोहरा अपने आप से बात करने लगी- रफ़ीक़ के आने में तीन हफ्ते रह गए हैं.

मेरा ये कुर्ता छोटा था लेकिन उसमें गला काफी खुला हुआ था, जिस वजह से सामने से मेरे मम्मों की क्लीवेज काफी खुली दिख रही थी. अब मेरा लंड उसके हाथ में था और वो उसको हाथ में लेकर मस्ती में आगे पीछे कर रही थी. कुछ दिन बाद वह भी बिना चुदाई के नहीं रह पायी और चुदाई के लिए बोलने लगी- यार किसी तरह कोई जुगाड़ करो.

सविता भाभी की बीएफ पिक्चर माधवी भाभी को साइड में सुला कर पीछे से उनकी गांड से चिपक गया और उनकी चुत में लंड डाल दिया. थोड़ी देर में मेरी पतिव्रता पत्नी मेरे पलंग पर मेरे बाजू में आकर लेट गई.

मोटी मोटी आंटी का सेक्सी वीडियो

मैंने सत्यम से एक दिन चुदने के बाद अपनी फ्रेंड के बारे में बताया और उससे पूछा, तो उसने मना कर दिया. मैं सोचने लगा कि अगर वे कमरे के अंदर जाएंगे तो मैं कैसे देख सकता हूं. मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूं और बहुत दिनों से सोच रहा था कि मैं भी अपनी आपबीती लिख कर आप सभी से साझा करूं.

उसने कहा- अच्छा, ऐसा करता हूं कि मैं एक बार चौधरी साहब से पूछ लेता हूं फिर दे दूंगा. मैं भाभी की गांड पर, गालों पर, बूब्स पर चपेट मारते जा रहा था, जिससे उन्हें और मजा आ रहा था. खड़े-खड़े चोदने वाली सेक्सीमैं सोच रही थी कि आज संजय अंकल तो है नहीं … तो क्या हुआ … मैं तनिष्क को भी मौका दे देती हूँ.

जब चुदाई खत्म हुई तो शांता की गांड का छेद खुलकर पूरा बड़ा हो गया था.

मैंने मां से कहा- मां इन गोलियों में से आप रोज एक गोली पिताजी की शराब में मिला दिया करो. अब तक पिता जी उत्तेजित हो चुके थे और मेरी मौसी और मां भी गरमा गई थीं.

मैंने पूरा जोर लगाकर एक वीर्य की धार उसकी चूत में मारी और फिर कई सारी पिचकारी मेरे लंड से एक के बाद एक निकल पड़ीं।मैंने उसकी चूत में ही अपना सारा वीर्य निकाल दिया और उसके ऊपर लेट गया।मैं बहुत थक गया था क्योंकि ये चुदाई बहुत लंबी चली थी. मुझे लगने तो लगा था कि शायद काम बन तो जायेगा।हम दोस्तों में संदीप के समीप मैं ही सबसे ज्यादा था. वो पागल हो उठी, पर बंधी होने के कारण कुछ कर नहीं पा रही थी, सिर्फ छटपटा रही थी.

बस दिमाग में घुस गया था, तो मैं उन्हें बाथरूम में नंगी नहाते हुए देखने की जुगत में लग गया.

इसलिए मैं धीरे धीरे उसके निकट जाने लगा था और वो भी मुझसे अब खुल के बातें करने लगी थी. वो करीब 35 साल की होंगी, मगर देखने में 30 साल से ज्यादा की नहीं लगती हैं. मैं आशा करता हूं कि आप सबको मेरे भाई की साली कीवर्जिन चूत की चुदाईपसंद आई होगी.

राजस्थानी कॉलेज की सेक्सी वीडियोमेरे बाद माधवी भाभी बाथरूम में गईं और नहा धोकर सब गहने पहन कर वापस आ गईं. मैंने सोनिया भाभी से बोला- आज से 7 दिन तक आप मेरी बीवी हो … और 9 महीने बाद हम दोनों मां बाप बन जाएंगे.

राजस्थानी सेक्सी वीडियो आरती

मैं कुछ सोचने लगी, तभी सपना की मम्मी बोलीं- हां जाओ बेटा चली जाओ … घूम लो. उनकी नजरों से नजरें मिलते ही मैं घबरा गया और मैंने अपनी नजरें झट से नीचे कर लीं. वो बहुत खुशनसीब होगा जिसे तुम जैसी बीवी चोदने को मिलेगी।ज्योति ने मुझसे कहा- भईया, वो खुशनसीब तो आप हैं.

यह सुन कर सुनीता हंसने लगी और कहने लगी- तुम्हारा भांजा बहुत ही ज्यादा मजाक करता है. मैं बिना कोई जवाब दिए उसकी बुर में अपने लंड को आगे पीछे करता रहा और वो ‘उउऊई ऊउउउई मां मर गई अअअअआ. फिर उसके बाद क्या हुआ?रिश्तों में चुदाई की मेरी सेक्स कहानीमेरी आपा की औलाद की ख्वाहिश-1के पहले भाग में आपने पढ़ा कि मेरी बड़ी बहन के निकाह को 6 साल हो चुके थे और उनकी कोई औलाद नहीं हुई थी.

मेरा मन करता था कि अमित जी मुझे अपनी बांहों में लेकर मेरे होंठों को चूम कर कहें- आई लव यू!मतलब मैं मन ही मन उनसे प्यार करने लगी थी. उसके अब्बू यानि मेरे फूफा जी एक सरकारी कर्मचारी थे, परन्तु अब फूफा जी ने वीआरएस ले लिया था और वो रिटायर हो चुके थे. एक बार तो मैं शॉक हो गया लेकिन फिर मैंने चुदाई बंद नहीं की और पांच मिनट बाद मैंने उसकी चूत में पानी छोड़ दिया.

अब मुझे सामने से काजल का फिगर दिखने लगा था … तो मैं अब आपको काजल का फिगर बताना चाहूंगा. कुछ समय बाद अगले साल छुट्टियां आने को थीं और मैं घर आने को बड़ा उत्तेजित था.

मैंने अपनी मॉम की चुदाई लाइव देखी; वो भी मेरे ही बॉयफ्रेंड के लंड से.

इस तरह से भाभी को जवाब दे देता था और वो मुझसे इसके आगे भी कुछ न कुछ पूछने लगती थीं. किन्नर कैसे बनाते हैं संबंधमैं उन्हें अपनी बांहों में लेना चाहता था, तो मैं शोभा भाभी की इजाजत लेकर उनके रसोई में चला गया. கேரளா செஸ் வீடியோआपको मेरी यह गर्लफ्रेंड सिस्टर सेक्स कहानी कैसी लगी मुझे इस बारे में जरूर लिखना. वो तो मेरे पैरों पड़ गया और माफी मांगने लगा नहीं तो मैंने पूरे कुनबे में उसकी बेइज्जती करवाने की सोच ली थी.

एक बार में सत्यम के लंड से हम दोनों चुदे और दूसरे राउंड में ममता और सुमेधा चुदीं.

मुझे अपनी टांगों के बीच बैठा पाकर वो थोड़ा शर्माई, सकुचाई और फिर अपनी दोनों टांगों को मेरे लिए खोल दिया. मुझे उम्मीद नहीं थी कि मौसी अपनी चूचियां ऐसे मेरे सामने नंगी दिखा देगी. उसे उल्टी होने लगी तो उसने लंड को बाहर निकाल दिया लेकिन मैंने थोड़ा रुक कर फिर से उसके मुंह में लंड दे दिया.

प्रियंका भाभी चिल्लाने लगीं- डाल दो ना अन्दर … क्यों तड़पा रहे हो?मैंने अपने लंड को चुत के मुँह पर रखा और धीरे से धक्का दे दिया. थोडी़ देर बाद दोनों ने ताश खेलने का प्रस्ताव रखा तो हम तैयार हो गये. दो मिनट रुकने के बाद जब उसका दर्द कम हुआ तो मैंने फिर से धक्का दिया लेकिन आंटी दर्द से कराह गयी.

भोजपुरी बिहार के सेक्सी वीडियो

मेरी जिन्दगी की किताब में भी एक ऐसा ही पन्ना है जिसको मैंने कोरा ही रखा है. यह एक ऐसा मीठा अहसास होता है कि जितना भी करो … साला दिल ही नहीं मानता और ज्यादा से ज्यादा पाने की लालसा में इधर उधर दौड़ लगाता रहता है।ये भी सच है कि पुरूष आखिर पुरूष ही होते हैं. हमारी क्लास में बहुत सी सुंदर लड़कियां थीं, उन्हीं में से एक कुसुम थी, जिसे मैं पसंद करता था … या यूं कहूं कि उसके साथ चुदाई करना चाहता था.

फिर मैंने उनसे बोला- चाची, अब मेरी गर्लफ्रेंड बन ही गयी हो तो एक किस ही दे दो.

फिर पीछे से ब्रा का हुक भी खोल कर उनके स्तनों को पिंजरे से आज़ाद कर दिया और उन्हें ब्रा से बहार निकाल कर ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा।तब मैं अपना खड़ा लण्ड पीछे से ही पेटीकोट के ऊपर से ही उनकी गांड के दरार में फंसाकर घिसने लगा।कुछ देर में मेरा हाथ माँ ने पकड़ लिया.

एक कॉलेज जाने वालीजवान लड़की की चुदाईकी कहानी आपको कैसी लगी?[emailprotected]. हालांकि अम्मी प्यासी रह गई थीं … लेकिन तब वो आज कोई रिस्क नहीं लेना चाहती थीं. अक्षरा सिंह सेक्सी फिल्मउसने लंड चूसने से एक बार भी मना नहीं किया, लौड़े की चमड़ी को पीछे करके सुपारा बाहर निकला और एक बार जीभ फेर कर लंड का स्वाद लिया और अगले ही पल लंड मुँह में लेकर मजे से चूसने लगी.

और इस तरह से अलग अलग काफी देर तक चोदा।जब उसका जूस निकलने वाला था तभी धीरे से वो मेरे कान में फुसफुसाया- ईशानी, मेरा जूस निकलने वाला है, बताओ कहाँ निकालूँ?तो मैंने कहा- अभी मुझे कोई खतरा नहीं है इसलिए आप मेरी चूत में ही झड़ जाओ. मैं आंटी की चुत चोदने का मजा क्या बयान करूं … हाय रे बड़ी मस्त आंटी लंड के नीचे थी. उसके बाद मैंने कई बार भाभी की चुदाई की और साथ ही बहन की चुदाई भी की.

अब मेरा वीर्य छूटने वाला था तो मैंने उनको हटाने की कोशिश की पर वो ज़ोर ज़ोर से चूस रही थी तो मेरा पानी छुट गया और उनके मुंह में वीर्य चला गया. मेरा मन था उसके मुंह में लंड देने का लेकिन हमारा ये पहली बार था इसलिए मैं बने बनाये माहौल को बिगाड़ना नहीं चाह रहा था.

अब आगे:मैंने उनको देखा तो बड़ी बुआ बोलीं- अब तेरे से क्या शर्माना … तूने तो हमें नंगा देखा ही है.

भाभी ने मेरी गर्म सांसों को महसूस किया और बस मेरे होंठों की तरफ अपने होंठ कर दिए. इसीलिए मैं उसके सिलसिले में बैंक में चली गयी।जब मैं बैंक में गई तो मुझे वहां पर अमित जी मिल गए और उन्होंने मुझे पहचान लिया. यह मेरी लिखी हुई पहली चोदन कहानी है और यह मेरे जिन्दगी की सत्य घटना है.

नंगी लड़की की सेक्सी वीडियो रास्ते में उसका फोन आया- बाबू, तुम क्या करोगे? तुम्हारा पर्स तो मेरे पास ही है।मैंने कहा- चलो कोई बात नहीं, तुम बाद में स्कूल जाते समय दे देना मुझे. मैंने सोचा कि कुछ करना पड़ेगा वर्ना ये मुझे सोने नहीं देगी। मैंने उनकी रजाई को देखा तो वो लगभग सीने तक ओढ़ी हुई थी.

मैं- यस अंकल … सेक्स में मजा आ गया … आज न जाने कितने दिन बाद लंड मिला है … आह … फक मी फक मी हार्ड … उफ्फ़ अह. जब मैं प्रिया को पढ़ा रहा था, तब वो आईं और एक नॉटी स्माइल के साथ के साथ बोलीं- रोहित जी आपको प्यास लगी हो … तो कुछ लाऊं आपके लिए. अब तक मैं चूत में उंगली देकर उसको अंदर ही अंदर गोल गोल घुमा रहा था.

कन्याकुमारी की सेक्सी

मैंने कमर पर नाईटी को पकड़ लिया और वो मेरी जाँघों को सहलाने लगा और मेरी चूत को मसलने लगा. अब हम घर आ गए और मैंने तनिष्क की इस हरकत का ज़िक्र किसी से नहीं किया. जब मैंने इतने दिनों बाद जया को देखा तो मेरी आँखें खुलीं की खुलीं रह गयीं.

उन्होंने अपने हाथ से मेरे टांगों को टटोलना शुरू किया तो मैं भी थोडा़ नीचे सरक कर बैठ गई. तभी उसकी दर्द भरी आवाज निकल गई- आह … मैं मर गई … इसे बाहर निकालो … चाचू मुझसे सहन नहीं हो रहा है … आंह्ह्ह आआह आह्ह्ह बाहर निकालो इसे!सोनिया की चुत सील पैक होने की वजह से वो इस दर्द को सहन नहीं कर पा रही थी.

मेरे पिताजी को भी अब किसी बात का मलाल नहीं था क्योंकि उनको भी मालूम हो गया था कि मैं सब जान गया हूँ.

यह हमारी आखिरी चुदाई थी क्योंकि दो दिन बाद मैं वापस अपने शहर आ गया था. यह मेरी पहली कहानी है अगर इसमें कोई त्रुटि हो तो मैं क्षमा चाहता हूं. आपको स्टूडेंट मॉम टीचर सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल करके जरूर बताएं.

मैं बोला- मैंने कहा था मेरी रानी … एक बार ले लिया तो खुद ही तू अपनी गांड चुदवाने के लिए कहा करेगी. यह कहानी 6 महीने पहले की है, जब मेरे दोस्त ने मुझे अपनी जन्मदिन की पार्टी में मुझे आमंत्रित किया था. बस दिमाग में घुस गया था, तो मैं उन्हें बाथरूम में नंगी नहाते हुए देखने की जुगत में लग गया.

मॉम रोने लगीं- आह ये क्या डाल दिया!अंकल बोले- रंडी तुम्हारे भोसड़े में तो पहले से आइटम घुसा है.

सविता भाभी की बीएफ पिक्चर: उन्होंने मुझे 15 मिनट बाद में आने को बोला।थोड़ी देर बाद में मैंने अपना घर लॉक किया और भाभी के घर चला गया. और फिर जब मैंने वहां जाना शुरू किया तो अश्लीलता और गंदी हरकतों के सारे रिकॉर्ड ही टूट गए.

वो आँखें बंद करके मज़ा ले रही थी।इसके बाद मैंने बाये हाथ से उनके साया की डोरी को खींच दिया और वो खुल कर नीचे गिर गया। फिर उनको पलट कर मैंने अपने सीने से लगा लिया और उनके होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसने लगा।वो भी मेरे होंठों को चूस रही थी. ’भाई ने मेरे कान में पूछा- मजा आ रहा है?मैं हंस दी और उसे चूम कर कहने लगी- आंह … तुम बड़े बेदर्दी हो भाई … पर अब मजा आने लगा है. मैं अपना ऑफिस का काम करके आराम करने सोफे पर बैठा था।मैं मोबाइल में गेम खेल रहा था लेकिन मेरा ध्यान गेम पर नहीं था। बार बार मेरी आँखों के सामने शांता की बड़ी गांड आ रही थी.

मैंने रुकना उचित नहीं समझा और जोर जोर से अपना लंड उसकी चूत में अन्दर बाहर करने लगा.

औरत की चुदाई की प्यास जागती है तो वह चुदने के लिए लाखों बहाने ढूंढती है. मैंने हौले से कहा- आप थोडा़ जल्दी करेंगे?उसने मुझे देखा और कहा- मादरचोद, अभी तो दो चार लण्ड से चुद कर आई है, अभी भी इतनी आग बची है कि तुझे चुदने के लिए जल्दी मची है!उसने मेरी बात का गलत मतलब निकाल लिया मगर मैंने कुछ नहीं कहा और वो मेरी टांगें फैला कर अपना लण्ड मेरी चूत में घुसाने लगा. मैं अपना हाथ धीरे-धीरे उसकी पैंटी की इलास्टिक के नीचे से उसके अंदर ले गया.