बीएफ चाहिए 2020 का

छवि स्रोत,का चोपड़ा का सेक्स वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

मामा भांजे की बीएफ: बीएफ चाहिए 2020 का, उन्होंने मेरा हाथ पकड़ कर हुए कहा- तू ऐसे मत शर्मा … मुझे पता है कि तू मेरी बात मानेगी.

ठाकुर का सेक्स वीडियो

उसी समय अनिकेत ने एक जोर का झटका मारा और एक ही बार उसने मेरी चूत के दरवाजे में अपने मोटे से टोपे को घुसा दिया. सेक्स पावरफिर मैं उस ऐेजेंट के पास नेहा का फोटो और हमारा फोन नम्बर और होटल का पता छोड़कर आ गया.

उसकी हरी चूड़ियां चुदाई की आवाजों में अपनी खन खन की आवाज मिलाकर माहौल को और ज्यादा कामुक बना रही थीं. क्रांति फुल मूवीअरे जब अपना खुद का दूध उबाल पर हो तो गैस पर रखा दूध किसे याद रहता है।वो मेरे दूधों से मैक्सी के ऊपर से ही खेल रहा था। उसके दोनों हाथ दूध से फिसलते हुए मेरी उठी हुई गोल गांड पर आकर रुक गए.

उस दिन उससे वीडियो चैट भी की और हम दोनों ने एक दूसरे के लंड चुत का रस निकाल दिया.बीएफ चाहिए 2020 का: अपने कदम बढ़ा कर रमेश बेड के एक छोर पर बैठ गया और उसने अपनी जांघें फैला लीं.

” पता नहीं सानिया को क्या समझ आया पर वह रहस्यमई ढंग से मुस्कुरा जरूर रही थी।दोस्तो, आज का सबक पूरा हो चुका था। आज सनिवार का दिन था। सयाने कहते हैं किसी नई कामयोजना का मुहूर्त इस दिन किया जाए तो परिणाम जल्दी और अच्छे मिलते हैं। सानिया सफाई बर्तन करने के बाद नाश्ता बनाकर अपने घर चली गई और नई योजना के बारे में सोचता हुआ दफ्तर।[emailprotected]लम्बी कहानी जारी रहेगी.सारा स्टाफ चला गया सिवाय रीता को छोड़ कर। आधे घंटे के बाद रीता फाइल समेट कर रमेश के केबिन में आई और टेबल पर फाइल पटकते हुए गुस्से में बोली- लीजिये आपकी फाइल और मेरी पैंटी मुझे दीजिये, मुझे घर जाना है।फाइल देख कर रमेश खुश होते हुए बोला- घर? घर क्यों, आज तो तुम्हें होटल मूनलाइट जाना है ना?रीता- क्या? होटल? नहीं … आज कोई चुदाई-वुदाई नहीं होगी.

सेक्सी गप्पा - बीएफ चाहिए 2020 का

कैमरा तो नहीं लगा। हालांकि अच्छे होटलों में ऐसा साधारणतया होता तो नहीं है पर सावधानी में ही सुरक्षा होती है।ओहो … क्या सोचने लगे?”मैं नताशा की आवाज सुनकर चौंका।ओह.मेरे दोस्तों ने बहुत ही विश्वास के साथ कहा कि दिल्ली सेक्स चैट वेबसाइट किसी वेबकैम मॉडल के साथ सेक्स और गंदी बात करने के लिए एक बेहतरीन साइट है.

यहां देहरादून में मैं जहां पर रहता हूं वहां पर भी किसी भाभी का मिलना बहुत मुश्किल है. बीएफ चाहिए 2020 का मैं राज से पूछ रहा था कि रात को नशा सही से हुआ या नहीं?मैं समझ गया कि नीरा ने कुछ नहीं बताया.

तो वह पूछने लगे- आपका इनके साथ क्या संबंध है?मैंने कहा- मैं इनका पड़ोसी हूँ और यूनिवर्सिटी में पढ़ता हूँ.

बीएफ चाहिए 2020 का?

फिर पता नहीं उसे क्या सूझा कि वो दौड़ती हुई भीतर गयी और दुपट्टा अपने कन्धों पर डाल के आयी. (आगे दीदी की ज़ुबानी)अमित ने मुझे मेरे कमरे में लाते ही मुझे बेड पर धड़ाम से पटक दिया और मेरे ऊपर सवार हो गया. मैंने भी उसकी बात पर बोला- हां यार उसने …इसके आगे में कुछ बोलता तभी फोन रिंग होने लगा.

दूसरे दिन जब रात हुई, तो मैंने अपनी पैंटी और ब्रा उतार कर मैक्सी पहन ली और मैं सोने का नाटक करने लगी. फनफनाते हुए लंड को देख कर मीता की एक तेज सिसकी निकल गई- उई मम्मी … ये क्या है?मैं- ये तुम्हारा खिलौना है … खेलो जी भर कर. मैं अपने साथ नींद की गोली भी ले गया था क्योंकि मेरा रात को रुकने का प्लान था.

मुझे मजा आने लगा था मगर मैं अपनी योजना के अनुसार उसके सामने चीखे जा रही थी ‘आह आह फ़क मी सर … आहह आह आह सर. कुछ देर इधर उधर की बात करने के बाद उसने मुझसे पूछा- आपकी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है क्या?उसके इस तरह से एकदम गर्लफ्रेंड के बारे में पूछ लेने से मैं चौंक गया. मैंने उसकी चूत के ऊपर हाथ रखा और बड़ी उंगली को चूत के छेद में डाल दिया.

मैं बोला- तुम्हें अभी से पैसों की लगी है, पहले बच्चे को ठीक तो हो जाने दो. तभी राजू ने सनम को सीधा लिटाया और उसके मुंह में लंड डाल दिया और उसके मुंह में झटके देने लगा.

दिन में तो हमारी मुलाकत नहीं हो पायी क्योंकि शादी के कामों के कारण मुझे टाईम ही नहीं मिला.

मेरे जिस्म में चुदने के लिए अब जान आ चुकी थी।मैं उठी और अर्जुन को सीधा लिटा दिया.

उसी पल उन्होंने बची हुई पूरी चॉकलेट मेरे लंड पर उड़ेल दी और मेरे लंड को चूसने लगीं. गुरजीत के चूतड़ों के नीचे तकिया रखकर मैंने अपने लण्ड का सुपारा गुरजीत की चूत पर रगड़ना शुरू किया. तालाब की ऊंची दीवार से पानी में कूदते, जिसे हम मुटार लगाना कहते थे.

अब हमारी डील तब ही होगी, जब तुम मेरे साथ रात बिताने को राजी हो जाओगी. आस-पास नहाने वाले मेरे मोहल्ले के हमसे बड़ी उम्र के लड़के तालाब में नहाने वाले या घाट पर बैठे लड़के फौरन आ जाते और हमें तैरना सिखाने के बहाने हमें पानी में पीछे से पकड़ लेते और कहते कि हाथ पैर चलाओ. वो उदास होते हुए बोलीं- काश मैं उस टाइम अपने घरवालों से लड़ी होती, तो आज मेरी ज़िंदगी खुशहाल होती.

नेहा के मुंह से एक चीखनुमा तेज आवाज निकली- आईई … आह्ह … स्लो … रॉन … स्लो!वो असहज हुई तो रॉन भी रुक गया.

बेड पर बैठ कर रमेश ने कहा- आओ रश्मि, तुम्हारा परिचय अपने लंड से करवाता हूं. वहां पर देखा, एक लड़का सरोज की बड़ी लड़की नेहा से झगड़ा कर रहा था और उसका बच्चा छीनने की कोशिश कर रहा था. नेहा के कहते ही मैंने अपने लंड पर दबाव बढ़ाया, सुपारा अंदर जाने लगा, ऐसा लग रहा था जैसे लौड़ा कोरी चूत में जा रहा हो.

अर्पित ने भी एक चूची को मुँह में डाला और दूसरी को दूसरे हाथ से मसलने लगा. वीना- ओह्ह, फक मी हार्डर यू बास्टर्ड। यू सिस्टर फकर!(मुझे जोर से पटक कर चोदो कमीने कहीं के, बहनचोद, मेरी चूत को फाड़ दे)श्लोक यह सुनकर उत्साहित हो गया और अपने हाथ से वीना के स्तन मसलते हुए बोला- यू व्हॉर, आई विल डिस्ट्रॉय यूर पुसी एंड एस्स होल। यू डोन्ट नो मी, यू फकिंग बिच! (साली रंडी, मैं तेरी चूत और गांड को फाकड़कर रख दूंगा. मैंने अपने होंठों को खोला और उसके नरम होंठों को हल्के से दबाते हुए चूस लिए.

उसने शर्मिष्ठा की लाल रंग की मैक्सी पहिन रखी थी जिसमें उसका हुस्न और भी खिला खिला खिले गुलाब की तरह लग रहा था.

न तो मैंने अपने हाथों में रंग लगाया न ही निष्ठा को कहीं से भी टच किया. आप लोगों को मेरे पति के लंड से मेरी दीदी की चुदाई की जीजा साली सेक्स कहानी कैसी लगी, जरूर बताइएगा.

बीएफ चाहिए 2020 का वो पूरी फुर्ती से पलटी और मेरे ऊपर आ गई ताकि ऊपर से मेरे लन्ड में बैठ सके. आलम तो ये था कि मेरा पेपर भी उतना अच्छा नहीं हुआ जितना होना चाहिए था.

बीएफ चाहिए 2020 का आज की यह कहानी मेरी नहीं है, बहुत से मेरे प्रशंसकों ने मुझे मेरी प्यारी बहन आयेशा की पहली सेक्स कहानी लिखने का आग्रह किया था. अब मेरे पांव भी दुखने लगे थे … तो मैं भी प्रतिभा की ओर और ज्यादा झुकने लगा, जिससे प्रतिभा को और तकलीफ होने लगी.

मां के कड़क उभरे हुए मम्मे, पतली कमर और मुलायम जांघें … और उन दोनों चिकनी टांगों के बीच छुपी हुई गुलाबी चुत एकदम साफ थी.

हिंदी कामसूत्र बीएफ

फिर मैंने हाथ बढ़ा कर शैम्पेन की बोतल उठाई और थोड़ी सी शैम्पेन उसके लंड पर डाल दी. उसने लिखा था कि आज मेरा तुम्हारे साथ लॉन्ग ड्राइव पर जाने का मन है. शिवानी सिसकारते हुए बोली- तुम ऐसा सोचो कि सुमीना तुम्हारे सामने नंगी लेटी हुई है और तुम्हारा लंड लेने के लिए तड़प रही है.

फिर मैंने उसके पति समीर से पूछा- आप लोगों को यहां आने की जरूरत क्यों पड़ी, जबकी आपके पास तो पूजा जैसा ख़ास तराशा हुआ हुस्न है. अभी मैं उन चटाई के बारे में सोच ही रहा था कि तभी भाभी के चिल्लाने की आवाज़ आई. मैं होटल की पार्किंग में गाड़ी पार्क कर रहा था … तो मैंने पूजा को वहीं गेट पर उतार दिया और उसे रूम में जाने को कह दिया.

रमेश लगातार रश्मि की चूत और गांड में कुत्ते की तरह चाटने में लगा हुआ था.

ममा ने बाजार में एक जगह गाड़ी पार्क की और मुझे लेकर कॉस्मेटिक की शॉप पर पहुंच गईं. थॉमस ने अपने दोनों हाथ मेरी गांड पर रखे हुए थे और तेजी में मेरी गांड को आगे पीछे करते हुए मेरी चुत को तेज तेज चोदने लगा. ”लेकिन मैंने उसे अनसुना करके उसी पोजीशन में धुआंधार चुदाई जारी रखी.

नीचे मिनी स्कर्ट होने के कारण से ये मेरे घुटनों के ऊपर तक ही आ रही थी, जिससे मेरी गोरी गोरी जांघें साफ़ दिख रही थीं. उन्होंने सबसे पहले कमरे की कुण्डी लगायी और मुझे अपनी बांहों में जकड़ लिया. मैंने कहा- अच्छा तो तुमको मेरी चीखों से मजा आ रहा था और मैं मरी जा रही थी.

मैं- आपका मतलब उस नंगे नाच से … वो जो लड़कियां पोल से लटक कर करती हैं!मोदी- हां वही … उस दिन तूने जो क्लास में मुझे करते देखा … ये सब मैं इसी दौरान सीखी थी. अब हमें किसी गबरू जवान मर्द के नीचे लेटकर उनका लंड अपनी चूत में लेना था.

उसके बाद मेरे जितने भी नम्बर थे सब व्हाट्सएप और नॉर्मल कॉलिंग में ब्लॉक कर दिए गए. मुँह में भर भर के चूची चूसने लगा और धीरे धीरे लंड को अन्दर बाहर भी करने लगा. बिन्दू आई और उसने मुझसे कहा- शाम को जब मैं घर गई तो मम्मी ने बहुत डांटा, कहने लगी कि इतनी देर तू कहां रही? खबरदार यदि देर से रात को कहीं इधर उधर गई है तो पिटाई करुंगी.

उन दिनों की उन घटनाओं को गहराई से सोचा तो बात जंच गई और उन्हीं सब बातों को लेकर यह कहानी गढ़ने की शुरुआत की.

असल में मैं भी अपनी गांड को कब तक सिकोड़े रहता … मेरी गांड अपने आप ढीली पड़ गई. वाह क्या गजब की मोटाई थी, करीब सवा दो इंच मोटा लंड मेरी चूत की सैर करके बाहर आ गया था. मेरी सेक्स हिंदी स्टोरी आपको कैसी लग रही है?सेक्स हिंदी स्टोरी का अगला भाग:माँ को चोद कर बेटी की फैंटसी पूरी की-3.

”वो तुम बता रही थी बेबी को टीका लगवाना था? लगवा दिया क्या?”हओ … लगवा दिया … पर बाबू बहुत रो रहा था. आशीष का ये पहली बार था, इसलिए उसके लंड का तागा टूटने के कारण उसे शुरू में थोड़ा दर्द हुआ.

मैं अपने बॉयफ्रेंड से जी भरके चुदना चाहती थी वो भी अपने पति के सामने बिना किसी हिचकिचाहट और डर के. अम्म … आह्ह चपकचप… चपचप … मुचमुच… करके वो उसकी गांड को काफी देर तक चाटता रहा. अब आरूषि ने अपनी ब्रा की पट्टियों को उतार दिया और उसके बड़े बड़े नींबुओं के उभार एक साइड से मुझे दिखने लगे.

सेक्स पोर्न बीएफ

बिन्दू ने गहरी सांस ली और अपने दोनों हाथों को मेरी कमर पर जकड़ लिया.

आह्ह्ह … सेक्स की गुड़िया है रे तू … मेरी रानी।उसके बाद रमेश ने रश्मि को आराम से बेड पर लिटा दिया। रश्मि सोच रही थी कि जो हालत पिछली बार चूत की हुई थी, फिर से वही हालत अब मेरी गांड की होने वाली है। रश्मि अपने बाप की उम्र के अंकल से गांड मरवाने जा रही थी।रमेश के लंड के टच करते ही रश्मि की गांड में सिरहन होने लगी। रश्मि बुरी तरह तड़प रही थी। रमेश दो मिनट तक रश्मि की गांड को अपने लंड से सहलाता रहा. उसने उसके बालों को पकड़ लिया और अपना लंड उसके मुंह में घुसा कर जोर जोर से पेलने लगा. फिर मुझे जब लगा कि मेरा निकलने वाला है तो मैंने पूछा- कहां निकालूं?उसने धीरे से कहा- मुझे इसे चखना है.

बिन्दू कहने लगी- क्यों आप को मम्मी ने कुछ कहा है?मैंने कहा- हां, तुम्हारी मम्मी ने मुझसे यह बात कही है कि बिन्दू की किसी के साथ फ्रेंडशिप है, तो मैंने तुम्हारी मम्मी को विश्वास दिलवा दिया था कि मैं बिन्दू को समझा दूंगा और वह अब किसी से बात नहीं करेगी. मैं उसके कान के नीचे ऊपर तेज तेज चूमने लगा, तो धीरे धीरे उसने भी विरोध करना बंद कर दिया. पेली पेला सिस्टमये देखकर जेठ जी ने मुझे गोद में उठाकर बिस्तर पर धकेल दिया और अगले ही उन्होंने एक हाथ से अपना कच्छा उतार दिया.

मैं नहाने जा रहा था, तभी मां ने किचन से हंसकर आवाज दी- अरे उठ गए हर्षद. जिस्म की आग भी ठंडी हो जाएगी और आराम से रहूंगी भी, जहां मुझे कोई रोकने टोकने वाला नहीं.

रवि ने रश्मि के बालों को पकड़ लिया और दोगुनी ताकत से अपनी बेटी की चूत चोदने लगा. हैंगआउट्स पर बात करना ज्यादा आसान रहता है, इसलिए मुझे ज्यादा मैसेज हैंगआउट्स पर ही करें. शायद उसका इरादा कुछ और था।क्या बात है, चिकनी सड़क तैयार है और तुम कच्ची सड़क ढूंढ रहे हो?” मैंने पूछा.

उसके नीचे गुलाबी रंग लिए चूत की झिरी जिसके ऊपर छोटे गुलाब की पंखुड़ियों की तरह दो पत्तियां चूत के गुलाबी छेद को बंद किये हुए थीं. मैं भाभी को उनकी चुताई की कहानी आगे बढ़ाता हुआ बोला- मेरी बात सुनकर आप बोलीं कि हां भैनचोद चोद ज्यादा मुझे … भोसड़ी के बोल कम. फिर अंत में उसने उसे निकाल ही दिया जिससे उसकी गांड का सांवला छेद मुझे दिखने लगा.

कुछ मिनट बाद थॉमस एक तेज आवाज के साथ मेरे मुँह में ही झड़ने लगा और मैंने उसका सारा रस पी लिया.

कभी मैं कमरे में नहीं होता था तो कभी बिन्दू की मम्मी घर पर होती थी और कई बार बिन्दू स्कूल होती थी. मैं थॉमस के लंड पर जोर जोर से उछल रही थी और आहें भर रही थी- आह अहह आह्ह आह जन … फक मी हार्ड.

दो मिनट में ही उसकी चूत का दर्द गायब हो गया, वह कमर उछाल कर चुदवाने लगी।मैं भी जोर जोर से चोदने लगा. उसी ने मुझे बहुत सारे तरीके बताये कि कैसे एक तलाकशुदा औरत की चुदाई करनी चाहिए. वो बिदक भी सकती थी, ये समझते हुए मैंने मोर्चा संभाला और उसको उठा कर पलंग के नीचे खड़ा कर दिया.

वो मेरी गांड को जोर जोर से मथ रही थीं और मैं उनके ऊपर पूरे जोर शोर से अपने लंड की मार कर रहा था. ‘अ … ह … करते रहो … रुकना मत आह … फाड़ डालो अ … ह … मैं फिर से आ रही हूं … आह. अनेकों आदमियों के लंड से चुदने के बाद भी मेरी चुत अभी तक बहुत टाइट है क्योंकि मैं उसकी बहुत केयर करती हूँ.

बीएफ चाहिए 2020 का मुझसे बिल्कुल भी नहीं चला जा रहा था क्योंकि मेरी गांड और चुत में बहुत दर्द हो रहा था. साली जी, ये वो क्या साफ साफ गंदी भाषा में बताओ क्या करना है? कहां करना है? तभी करूंगा मैं!” मैंने उसे सताया.

सी बीएफ फोटो

हम दोनों सिसकारियां लेते हुए बड़े ही मजे से एक दूसरे के अंग को चूस रहे थे. इन्हें ऐसे नहीं पहनना, पहले नहा लो। ठंडा पानी है, नहा लो फिर पहनो।वो बस देख रहा था. मेरे बगल में करीब पैंतालिस साल का आदमी बैठा था, तो वो थोड़ा सा आगे को हो गया और मैं पीछे होकर बैठ गयी.

मैंने उसे एक बार फिर से रोकने लगी और गिड़गिड़ाने लगी, पर वो नहीं रुका. पूरे पांच मिनट तक मुझे चोदने के बाद आप बोलीं कि हाय ये क्या हो रहा है … आपका लंड तो और भी बढ़ा हो गया है. सेक्सी वीडियो चला दोतभी मां ने दीदी से कहा- लता अभी हमें निकलना पड़ेगा … नहीं तो घर पहुंचने में देर हो जाएगी.

मैंने बिन्दू के दोनों कपड़े निकाल कर बिल्कुल नंगी कर लिया।बिन्दू को मैंने आगे से अपने ऊपर उठने को कहा.

मैं अपने साथ नींद की गोली भी ले गया था क्योंकि मेरा रात को रुकने का प्लान था. पर मैंने भी ठान लिया था कि किसी भी कीमत पर ये मौका जाने नहीं दूंगी।मैंने कहा कि मुझे तो बहुत गर्मी लग रही है,मैं ये उतार देती हूं.

जब स्विमिंग ड्रेस की बात सामने आई तो मैंने सोचा कि क्यों न स्विमिंग ड्रेस ले ली जाए. जब मैं उसकी चुचियां चूसता, तो वो नीचे से अपनी पीठ उठाकर चुचियां मेरे मुँह और अन्दर धकेल देती. फिर मैंने उसकी चूत अपनी मुट्ठी में भर ली और मसलने लगा और चूत में एक उंगली घुसा कर अन्दर बाहर करते हुए अंगूठे से उसका क्लाइटोरिस रगड़ने लगा.

भाभी अपनी दोनों टांगों को चौड़ा करते हुए बाथरूम चली गई कुछ देर बाद चूत धोकर भाभी बाहर आई.

मैंने पिताजी को बुलाया, फिर हम तीनों इधर उधर की बातें करते हुए खाना खाने लगे. फिर बॉस ने एक जैली वाली टॉफी निकाली और उसको आधा अपने मुँह में और आधी मेरी गर्लफ्रेंड की चूत में लगा दी. नीला और निशांत दोनों बिल्कुल नंगे थे और एक दूसरे को बेहताशा चूम रहे थे.

क्यूट लड़कियों की फोटोमैं- तुम्हें अच्छा लगा?वो- चुप रहो … कितना मोटा है मेरे मुँह में तो आ ही नहीं रहा था … पूरा मुँह खोलने पर भी नहीं आया … इतना तो पानी पूरी खाने के लिए भी मुँह नहीं खोलना पड़ता. मैंने तुम्हें नौकरी, तुम्हारी स्किल को देख कर नहीं, बल्कि तुम्हारे हुस्न को देख कर दी है.

भोजपुरी बीएफ देवर भाभी

हम दोनों ने नाश्ता किया औऱ अमन ने नीरा को बताया- मैं अभी आ रहा हूँ. वो अपने लंड को हाथ में लेकर मुझसे बोलने लगे- देख लो मन्नत आज से इसको जन्नत की सैर तुम्हें करवानी है. कुछ देर सोचा, तो पाया कि मेरे बेटे की सभी दोस्त मुझे भी बहुत घूर घूर कर देखते हैं और वो मुझे छूने या बात करने का कोई बहाना नहीं छोड़ते हैं.

”सानू जान बेचारी मेरी इस बात का क्या जवाब देती? वह तो ‘हओ’ कहकर बस मुस्कुराती ही रही।उसकी निगाहें बार-बार उन दूसरे पैकेट्स पर जा रही थी जो पॉलीथिन के लिफ़ाफ़े में पड़े थे।दोस्तो, मेरी यह X स्टोरी इन हिंदी पढ़ कर आपको अपने साथी की जरूरत महसूस होती होगी ना?[emailprotected]X स्टोरी इन हिंदी जारी रहेगी. घर आते ही मैंने अपने सारे कपड़े उतारे और बेडरूम में जाकर बेड पर मुँह के बल लेट गयी. तुम्हें सहज रूप से एक्ट करना है और पूरे विश्वास के साथ आगे बढ़ना है। एक तलाकशुदा औरत तुम जैसे मर्द को कभी मना नहीं कर पायेगी.

थोड़ी ही देर में पिताजी फ्रेश होकर कपड़े चेंज करके वापस आए और सोफे पर बैठ गए. मैंने उसको दबोच लिया और पीछे से जाकर उसके बूब्स दबाते हुए उसकी गर्दन पर किस करने लगा. वो अपने हाथ पैर पटकने लगी और अपना सिर इधर उधर झटकने लगी।अभी मेरे लण्ड ने सिर्फ थोड़ी जगह ही बनायीं थी.

मैं समझ नहीं पा रही थी कि ऐसा क्यों? मुझे लगा था वो मुझपे चढ़ बैठेगा।हाय चाहत … क्या लग रही हो! थोड़ा वार्मअप हो जाये!”मैंने मुस्कुराते हुए कहा- चुदाई की वार्मअप?वो हंसा- हम्म … नहीं लेट्स डू दिस मूवमेंट!सबकी नजर हमारी तरफ थी. चुदाई हो तो कैसे हो? मैं उसके कमरे में जा नहीं सकती थी और उसे अपने कमरे में ला नहीं सकती थी.

उसकी वासना बता रही थी कि उसको लंड का मजा न जाने कितने दिनों बाद मिला था.

मेरे बगल में करीब पैंतालिस साल का आदमी बैठा था, तो वो थोड़ा सा आगे को हो गया और मैं पीछे होकर बैठ गयी. योनि चाटने की वीडियोइतना सुनसान देख कर मेरी गांड भी फटने लगी कि ये इसने कहां गाड़ी रोक दी. आहट फिल्मइस तरह हम 69 की अवस्था में एक दूसरे को संतुष्ट करने लगे।जब उत्तेजना चरम पर पहुंच गयी तो मैं अपनी टांगों को मोड़कर उन पर बैठ गया. मैं बोली- सिर्फ यही करते रहोगे क्या?अमित वासना से आंखें भर कर बोला- लगता है तेरा पति तुझे बराबर नहीं चोदता है.

मैंने कहा- लेकिन सर अभी तो मैंने कुछ पहना ही नहीं है … मैं अभी तो नंगी हूँ.

नमस्कार दोस्तो, आपने अब तक पढ़ा कि मुझसे बहुत सी हसीनाएं मिलीं, पर सबसे बाद में मिलने वाली सुन्दरी हीना सबसे पहले चुद गई, वास्तव में चुदाई के लिए सबसे आवश्यक चीज होती है, बहाना और मौका … मुझे मेहंदी के बहाने हीना को पटाने का मौका मिला. मेरी कराहने की आवाज सुन कर थॉमस को भी जोश आने लगा था और वो भी मेरी गांड पर थप्पड़ मारते हुए मुझे और जोर से चोदने लगा. पूरे जोश में था अंकुश … वो शेफाली को गंदी गंदी ग़ालियां भी दे रहा था- ले साली रंडी … मेरा पूरा लंड अपनी चूत में ले … चुद मेरे लंड से साली … बहन की लौड़ी मादरचोद आओहह आअहह …अंकुश की गर्म आवाजें सुन कर तो मैं शॉक्ड हो गई.

मैंने बहुत गालियाँ दी उसे। तब से अभी तक मैं चूत में लंड लेने को तरस रही थी। लेकिन किसी को इतनी जल्दी चूत देना समझ में नहीं आया। आपको सच बताऊँ तो उस दिन पैर में मोच आना बहाना था. फिर मैंने उसका हाथ उठाकर अपने बूब्स पर रख दिया और उसके हाथ से दबाने लगी. उस मस्त माल जैसी लड़की को भी उसी रास्ते पर जाना था … जहां मेरा लक्ष्य था.

बीएफ फिल्म सेक्सी ब्लू फिल्म

अब तक आपने मेरी जीजा साली सेक्स कहानी के पहले भागदीदी की चुत में मेरे पति का लंड-1में पढ़ा कि मेरी दीदी के साथ किचन में मेरे पति ने हरकत करना शुरू कर दी थी और दीदी के नाराज होने पर वो उनसे विनती करने लगा था. जो लंड मेरा बीवी को चोदने के बाद घंटों दुबारा खड़ा नहीं होता था, वो साला लंड … दस मिनट में खड़ा हो गया. जुनैद ने मुझे चुदने के लिए राजी देखा और मेरे हाथ को अपने लंड पर महसूस किया, तो उसने जल्दी से अपने सारे कपड़े उतार दिए.

बस अगली बार उसकी अन्तर्वासना की कहानी लिख कर आपके लंड चुत को भी पानी पानी कर दूंगा.

अब तक आपने मेरी जीजा साली सेक्स कहानी के पहले भागदीदी की चुत में मेरे पति का लंड-1में पढ़ा कि मेरी दीदी के साथ किचन में मेरे पति ने हरकत करना शुरू कर दी थी और दीदी के नाराज होने पर वो उनसे विनती करने लगा था.

शायद मुझे शर्ट निकाल ही देनी चाहिए ताकि तुम्हारे हाथ मेरी पीठ और कंधों तक पहुंच सकें. परदे चेंज करके मोटे परदे लगा दिए, जिससे कमरे में काफी हद तक रात का माहौल तैयार हो गया. सेक्सी पिक्चर लाईव्हरमेश देख कर हैरान था कि इतने बुरे तरीके से मुंह चोदने के बाद भी ये मुस्करा रही थी.

मेरे गाल चिकने थे दाढ़ी मूंछ का कोई निशान नहीं था … न ही कहीं शरीर पर सिर के अलावा कहीं बाल थे. तो दोस्तो, दिल्ली सेक्स चैट वेबसाइट पर ये मेरा पहला वीडियो सेक्स चैट एक्सपीरियंस था. रात को देर से लौटूँगा या फिर सुबह ही लौटूं शायद।रति- बस यही तो है बुरी आदत है आप दोनों बाप- बेटी में! मुझे तो घर में सिर्फ पहरेदार ही बना दिया है आप दोनों ने।रमेश- मेरी जान, यूँ उदास होकर मत विदा करो.

वे उस समय ब्रा पैंटी में थी।भाभी मना करने लगी लेकिन भैया नहीं माने और किस करने लगे. मैं थोड़ा सा चीखी भी … पर थॉमस ने एक दो और झटके मार कर अपना पूरा लंड मेरी चुत के अन्दर डाल दिया.

मेरे मुँह से न चाहते हुए भी सिसकारी निकल गई- आह्ह्ह … ओह्ह्ह … उफ्फ … क्या उखाड़ ही लोगी?वो हंस दी और उसने ने मेरे लंड को फैंटना शुरू कर दिया.

” मैंने उसे समझाते हुए कहा।घर वालों ने मेरी जिन्दगी बर्बाद कर डाली।” उसने सुबकते हुए कहा।मुझे कुछ समझ ही नहीं आ रहा था इसे कैसे समझाया जाए।लैला की भी यही हालत थी उसे तो मैंने पूरी रात अच्छी तरह समझाने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ी थी. यदि ये सुविधा होती तो अब तक मैं दिल्ली में ही मामी की फोटो मंगा सकता था. अब तुम निश्चिंत रहो यदि तुम्हारी मम्मी को हमारे बारे में पता लग भी गया तो मैं बात को संभाल लूंगा.

रंडी लड़कियों का नंबर नमस्कार दोस्तो, आज मेरी इस सेक्स कहानी का अगला पार्ट आपकी सेवा में हाजिर कर रहा हूँ. नसीम ने धीरे धीरे अपना पूरा लंड उस माशूक की चिकनी गांड में उतार दिया.

कुछ देर आराम करने के बाद रमेश और रवि फिर से रश्मि की चुदाई करने लगे. मैं इस समय कार्टून लग रहा था, पर मैंने ये काम खुशी को हंसाने के लिए जानबूझ कर किया था. उफ्फ कितने सॉफ्ट … रस से भरे गुलाबी होंठ … और तीव्र आवेश से भरा एक प्रगाढ़ चुम्बन!मेरे होंठों ने उसके होंठों को चूमना चूसना शुरू कर दिया था.

टीचर की बीएफ सेक्सी

फिर मैंने हंसते हुए धीरे धीरे उसके दूध दबाने शुरू कर दिए और निप्पलों को मसलने लगा. पूजा ने सबके सामने ट्रूथ एंड डेयर खेलने का प्रस्ताव रख दिया … जिसको सभी ने मान लिया. लंड को चूत से बाहर निकाल कर मैंने उसी की मैक्सी से एक बार पौंछ लिया और चूत को भी पौंछ दिया.

दोनों सीटों के बीच में जो हाथ रखने की जगह होती है उस पर कभी सरोज हाथ रख लेती थी कभी मैं रख लेता था. भाभी के चेहरे पर मैंने आंसू रूपी मोती ढलकते देखे, निश्चित था कि ये खुशी के आंसू थे.

उनकी लंबी लंबी सुंदर गोल, पतली और मांसल उंगलियां जिनके ऊपर सुंदर नेल पॉलिश लगी हुई थी, बहुत ही सेक्सी थी.

इसलिए आप मेरे नाम की मुट्ठ मार लें और जहां आपका मन करे वहां माल गिरा दें. मैंने उसको बोला- तेरी चूत में आग नहीं लग रही क्या?तो वो बोली- यार मेरी चूत तो तुझे सुबह टॉवल में देखकर ही पानी छोड़ गयी थी. उसके बाद रमेश ने फिर से रश्मि की चूत को उंगली से कुरेदना शुरू कर दिया.

ये सुन कर कि अंकुश भी स्विमिंग के लिए आ रहा है, मैं बहुत खुश हो गई. पायल कमरे में आते हुए मुझसे नजरें मिला कर ऐसे नजरें मटका रही थी, जैसे मैं उसकी क्लास में पढ़ता हूँ. दरअसल, बाद में पता चला कि रोहित पहले ही उस एएसआई को बोल कर आया था और उसने तुरंत उसे फोन करके बुला लिया था.

मुझे अपने पति के सामने अपने यार के बड़े लंड से चुदकर बहुत मजा आ रहा था.

बीएफ चाहिए 2020 का: वो ये कि प्रतिभा ने कहा था- संदीप मैं चुदी तो बहुत हूँ और तुमसे बड़े लंड भी देखे हैं. बिन्दू को कुछ अच्छा लगने लगा था, उसने नीचे लण्ड पर हाथ लगा कर देखा और बोली- यह तो काफी बचा हुआ है?मैंने कहा- बिन्दू, एक आम लण्ड को तो बुर में इतनी ही जगह चाहिए, लेकिन मेरा लण्ड काफी बड़ा है, जब दुबारा करेंगे तब चला जायेगा, अभी तो तुम इसी से मजा लो.

अमन के जाते ही मैं किचन में गया और नीरा की गोरी पीठ पर किस करने लगा. मम्मी ने उनको समझाया और बोला- बच्चों और बहुरानी को यहीं लेकर आ जाओ … और यहीं रह कर बच्चों का स्कूल में एडमिशन करवा दो … क्योंकि बच्चों के स्कूल के दिन खराब हो रहे हैं. मेरी गांड की दरार से होते हुए उसकी आग मेरी चूत में जाने को बेताब हो रही थी।अर्जुन मेरे जिस्म के उतार चढ़ाव से असहज हो रहा था.

फिर मैंने उसके बाल लपेट कर चोटी सी बना कर खींच दी जिससे उसका मुंह ऊपर की ओर उठ गया और मैं उसकी चोटी खींचते हुए उसे बेरहमी से चोदने लगा.

मैं समझ गया कि अब यहाँ कोई खेल होने वाला है।मैंने देखा वो मम्मी उन अंकल के बिस्तर पर जाकर बैठ गयी. उसके लाल रंग के थॉन्ग अंडरवियर की पट्टियां उसकी चूत पर किसी हुई थीं. बाप रे बाप … ऐसा लग रहा था जैसे किसी इंसान को गधे का लन्ड दे दिया गया हो.