मोती लड़की का बीएफ

छवि स्रोत,हिंदी सेक्सी वीडियो एचडी एक्स एक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी फिल्म चुदाई खपाखप: मोती लड़की का बीएफ, तो दोस्तो, बिना अनुभव के मैं मामी के ऊपर एक हड़काए कुत्ते की तरह अपने लंड को रगड़ने लगा.

करोना सेक्सी

फिर दो लड़कियाँ मेरे पैर के पास आईं और मेरे पैर को काफ़ी फैला कर अपने हाथ से जोर से पकड़ लिया. पिक्चर दिखाओ सेक्सी पिक्चररूपा की वो हल्की अकड़ देख के पप्पू ने गुस्से से उसकी चूचियाँ बड़ी बेरहमी से मसलीं और निप्पल काटते हुए तीन उंगलियाँ ज़ोर से चूत में घुसा दीं, जिससे रूपा को बड़ा दर्द हुआ.

वहां पूछने पर एक कोठरीनुमा कमरा मिल गया उन्हें, उसमे एक चारपाई, और उस पर एक बिस्तर था. ससुर बहू की सेक्सी देहातीऐसा भेदभाव क्यों?इसी सवाल को लेकर मैं काफी दिनों तक ऊहापोह की स्थिति में रहा.

अब हम दोनों को अपने कपड़े उतारने में एक मिनट से भी कम का समय लगा क्योंकि हमारी चुदास बढ़ चुकी थी.मोती लड़की का बीएफ: मैं अब चाचाजी से चुदना चाहती थी, चाचाजी के लिए मेरी फेन्टेसी अब बढ़ती ही जा रही थी और चाचाजी तरफ देखने का मेरा नजरिया ही बदल गया था, जिसे शायद चाचाजी ने भी महसूस किया था.

अब इस वक्त कोई भी फॉर्मेलिटी नहीं बची थी तो एक ही बार कहने पर उनका शर्ट उतर चुका था.अपनी अपनी बीयर की बोतलें गटक कर तीनों यार देश दुनिया से बेखबर एक साथ मामी पर टूट पड़े.

तेरी लाडली - मोती लड़की का बीएफ

हम क्या यहाँ बैठ कर मुठ मारेंगे?वीरू- यार मेरा भी मन पहले बरखा को चोदने का ही कर रहा है.थोड़ी देर के बाद वंदिता मेरे लिए पानी लेकर आई और मुझे उस हूर परी के दर्शन हुए, जिसके लिए मैं यहाँ आया था.

अब क्योंकि रहने को कोई जगह नहीं थी, तो मैं अपने किसी जान पहचान वालों के घर में रहने लगा. मोती लड़की का बीएफ मेरी चूत के अंदर फिर से पानी भरने लगा था, मुझ में थोड़ी थोड़ी हिम्मत आने लगी थी, मेरी मन में एक ही ख़याल आ रहा था कि आज गांड मरवानी है और उसकी तैयारी भी करनी है.

मैं फिल्म देखने लगी, मैंने स्टार्टिंग से पूरा वीडियो देखा, मुझे मेरी चूत में अन्दर तक एकदम से जलने जैसा लगा, मेरा पूरा शरीर कांपने लगा.

मोती लड़की का बीएफ?

पर जब मैंने भाभी को नंगी देखा तो मैं गर्म हो गया पर आँख बंद करने का और शर्माने का नाटक करने लगा. मैंने मौका देख कर बाल ठीक करते टाइम उस की चूचियों को टच कर लिया, वो मेरे तरफ़ देखती हुई हंस दी और बोली- तुम अपनी बीवी को बहुत खुश रखोगे क्योंकि तुम रसोई में बहुत अच्छी तरह से हेल्प करते हो. अंजलि का मोबाइल नम्बर भी मेरी बीवी के पास था तो मुझे उसका नम्बर पाने में कोई परेशानी नहीं हुई.

और वो चुत की मिट्टी पोंछ मेरे चेहरे पर बैठ गई और मेरा सर उठा कर अपनी चूत पर लगा दिया. मैंने पूछा- कहीं बच्चा ठहर गया तो?गुलाबो बोली- दिदिया का माला-डी चुरा कर खा रही हूँ. अब मामा मामा जी को कोचिंग जाना था, जाते वक़्त मामा जी मुझे अपनी बाहों में भर कर किस करने लगे, जाते जाते मामा बोल गये- याद है ना कल रात का वादा?मैं बोली- हाँ याद है अच्छी तरह से! और आप को भी मेरी ख्वाहिश पूरी करनी है याद रखिएगा.

वैसे तो मैं कहानियां लिखने का इतना शौक नहीं रखता हूँ, पर अन्तर्वासना पर कहानियां पढ़कर मेरा भी मन किया कि मैं अपने जीवन में घटी कुछ घटनाओं का वर्णन कहानियों के में करूँ. बोल कि जब मैं तेरा यह सीने का दाना मतलब निप्पल किस करता हूँ तो अच्छा लगता है ना तुझे? तेरी माँ के साथ खेल कर उसे भी मैंने यह खेल ठीक से खेलना सिखाया है. मैं सोच रहा था कि काश… मैं लड़की होता तो शायद ये मेरे प्यार को समझ पाता.

हमने तो सोचा था आज तुम दोनों की ही चुत मिलेगी, मगर तुमने तो तीसरी चुत का बंदोबस्त करके पार्टी की रौनक बढ़ा दी. मैंने अन्तर्वासना पर और इंटरनेट पर कई बार भाई-बहन की चुदाई के किस्से पढ़े और देखे थे.

मेरे प्यारे दोस्तो, मैं माया अपनी सच्ची सेक्सी स्टोरीज आपको सुनाती हूँ, आज फिर से मैं अपनी एक नई और सच्ची सेक्स कहानी लेकर आपकी समक्ष हाजिर हूं.

मैंने फिर तुरन्त लंड को वापस निकाल लिया और दुबारा फिर से पूरा लंड अन्दर डाल दिया.

बाहर आकर मैं उनको अपने साथ अपने फ़्लैट में ले आया इधर आते ही मैंने सारिका मेम को अपनी बांहों में भर लिया. मेरी चूत में बार बार तेज खुजली सी मचती और वो आपके लंड की आस लगाये पानी छोड़ने लगती, थोड़ी देर मैंने अपनी उंगली भी चलाई इसमें पर अच्छा नहीं लगा. मैं तो खुद मस्त थी, इसलिए मैंने शिशिर की गर्दन में हाथ डाल कर उसे अपने चेहरे पर झुका लिया.

टाइट साड़ी और ऊंची ऐड़ी की सैंडल पहनने से उसकी वो गांड नज़रों में और भरती थी. रूपा की नंगी गीली चूत देख कर उस पे हाथ रख कर मसलते हुए रूपा की साड़ी कमर तक उठा दी. पिंकी- छी: कितने गंदे हो आप!मैं- प्लीज जानू मेरा बहुत मन है कि किसी लड़की के पूरे बदन को अपनी पेशाब से नहला दूँ और उसको अपना पेशाब पिलाऊँ.

अब मैंने पूरी तरह खुद को उनके हवाले कर दिया था, वो सब मुझे चूम रहे थे, नोंच रहे थे.

मादरचोद… नीचे बैठ!मैं चुपचाप नीचे बैठ गया।आंटी उठ कर सींक की झाड़ू लेकर आई और बोली- खड़े हो कमीने!मैं जैसे ही खड़ा हुआ उसने मुझे झाडू गाण्ड पर मारना शुरू कर दी।मैं दर्द से कराहने लगा. उसने अपनी याहू आई डी दी।बाद में हम लोग चैट पर बातें करने लगे।बातें करते करते हम लोग सेक्स के बारे में भी बातें करने लगे. मैंने इशारे से पूछा, तो चाचाजी ने मुझे आंख मारी, मैं समझ गई कि प्लान कामयाब है.

मैंने भी अपनी स्पीड और बढ़ा दी, दीदी की झूलती चूचियों को अपनी दोनों मुठ्ठियों में भींच कर मैं जोर जोर से शॉट्स मारने लगा. उस की सांसें फूलने लगी और उसने अपना सिर इधर उधर मारना शुरू कर दिया, यहाँ तक कि वह हर धक्के पर अपनी गांड को मेरे लंड पर दे दे कर मार रही थी. फ्लॉरा- यार तेरे पापा रात के गए अभी तक नहीं आए, कहीं कोई गड़बड़ तो नहीं ना?सुमन- अरे नहीं नहीं, वो अक्सर ऐसे काम से जाते रहते हैं… आ जाएँगे.

हरामी मज़े पूरे ले रहा था बस नाटक ऐसे कर रहा था, जैसे मैं कुछ समझ नहीं रही थी.

उसके पीछे किसी ने अपना लंड दे रखा था, रिया के मुँह में एक लंड तबाही मचा रहा था और हाथ में दो लंड लेकर वो उन्हें ऊपर नीचे कर रही थी. उम्र 28 साल, लंड की लम्बाई साढ़े छह इंच और मोटाई तीन इंच है, जो मेरे ख्याल से एकदम परफेक्ट लंड साइज़ है.

मोती लड़की का बीएफ जब वो पप्पू के सामने से गुजरी तब पप्पू उसका गीला जिस्म बड़े ध्यान से देखते हुए आँखों में भरने लगा. मैंने उसकी चूचियों को दबाना शुरू कर दिया और मैंने मजा लेकर अपनी बहन की गांड मारनी शुरू कर दी.

मोती लड़की का बीएफ मैं सतना की रहने वाली हूं मेरी उम्र 22 वर्ष है मैं बी एस सी की पढ़ाई कर रही हूं. हम दोनों ऐसे ही पड़े रहे और उस रात एक-दूसरे की बाँहों में लेटे रहे.

सुमन- आह… सस्स पापा आपका लंड है या डंडा… आउच लगता है एयेए…पापा- क्यों मेरी बेटी को मजा नहीं आ रहा क्या… बंद कर दूँ मारना… सीधे पेल दूँ?सुमन- नहीं पापा… मजा आ रहा है, करते रहो… ओफ्फ… पापा चुत के ऊपर रगड़ो ना… ज़ोर ज़ोर से… उसमें ज़्यादा मजा आ रहा था.

jio में सेक्सी वीडियो

फिर ऐसे ही इशारों इशारों में मैंने उन को अपना नम्बर दिया और हमारी बातें शुरू हो गईं फोन पर! कुछ ही दिनों में हम दोनों अब काफ़ी क्लोज़ आ चुके थे, फोन सेक्स चैट भी करते थे. आज तक पति ने इस तरह कभी मसला नहीं मेरा जिस्म और उसने नहीं चूत भी चाटी. मैंने पूछा- तुम्हें किस तरह का सेक्स पसंद है?तो वह बोली- मुझे खूब प्यार करो, मेरी चूचियाँ मसलो, इन्हें चूसो, मेरे होठों को चूसो, मेरे गालों पर प्यार करो… परंतु गालों पर निशान नहीं डालना, और जहाँ मर्जी काटो, मेरी चूत को प्यार करो.

पर तभी उसकी नज़र काजल की चूचियों पर गई, जो बड़ी थीं, गोल-गोल थीं और ब्रा के अन्दर अभी भी कैद थीं, पर बाहर आने को मचल रही थीं. गुलशन जी जब उठे तो फ्च्च की आवाज़ के साथ उनका लंड चुत से निकला और सुमन दर्द से सिसक उठी. वो माया के ब्लाउज के सारे हुक खोल चुका था और अब उसे माया की गोरी गोरी पीठ बहुत ही मादक नज़र आ रही थी.

मैंने कहा- मॉम थोड़ी सी आपकी पेंटी को हटा देता हूँ ताकि उस पर खून ना लगे.

जब हम दोनों का नहाना हो गया तो एक दूसरे को पौंछने लगे और एक दूसरे की मालिश करने लगे. ये तो मैं जान गया था कि स्टार मूवी की ए श्रेणी की फिल्म देखने वाली साली अब हल्ला नहीं करेगी, पर अपनी गांड फटी हुई थी. यह कहते हुए मैंने उसकी गांड को नीचे करते हुए अपने लंड को उसकी चूत में पुश किया.

उसके बाद संजय सीधा लेट गया और बरखा को लंड पर बैठने को कहा ताकि पीछे से साहिल अपना लंड उसकी गांड में घुसा सके. मेरा नाम मोनू है, मैं एक सीधा साधा लड़का हूँ और अन्तर्वासना में यह मेरी पहली एडल्ट कहानी है जो कि एक सच्ची घटना है. फिर मैं उनके मम्मों को थोड़ा जोर-जोर से दबाने लगा, इससे उनको थोड़ा दर्द होने लगा और वह ‘सीई इस्स.

मैंने भी थोड़ा ऊपर उकसते हुए उसके हाथ को रास्ता दे दिया और उसका मोटी उंगलियों वाला रफ सा हाथ मेरी कमर से होते हुए नीचे मेरी कोमल गांड को दबाने लगा. तभी अंकल ने एक जोरदार झटका मारा और उनका पूरा लंड मेरी गांड में जड़ तक घुस गया.

मैं दीदी से सॉरी बोल रहा था तो दीदी ने कहा- मैं यहाँ अपना पर्स भूल गई थी, वो लेने आई थी. तभी चाचाजी ने थोड़ा झुक कर मेरे होंठों को अपने होंठों में लॉक कर लिया. इतने में भाई ने मम्मी को छोड़ा तो मेरे करीब आ गया और मैंने अपने भाई की कमीज़ फाड़ के ऊपर से उसे नंगा कर दिया.

माया का मुँह भर गया और उस्मान का मुठ उसके मुँह से निकल के बाहर आने लगा.

और उस नौकर लड़के की स्थिति तो बस देखने लायक थी, उसका लंड भयानक आकार ले चुका था. मेरे पूरे जिस्म में आग लगी हुई थी, मैं अब बर्दाश्त नहीं कर पा रहा था. फिर उन्होंने मेरा फोन नंबर अड्रेस सब नोट किया और बोला- देख जब भी हम बुलाएं तुझे आना पड़ेगा, अगर मना किया तो वो वीडियो कभी भी दिखा देंगे और हमारे पास तेरी गांड मारने का वीडियो भी है.

मेरा लंड पूरा खड़ा देख कर वह बोली- गिफ्ट पसन्द आया?मैंने कहा- बहुत ज्यादा. पहली बार पूर्णतया: विकसित चुचियों का आभास पाकर मेरा लंड तो अपना होश खो चुका था.

उसने अपनी ब्रा भी उतार फेंकी और अन्दर का नज़ारा देख कर तो मेरा लंड बेकाबू सा हो गया. आह्ह्ह् ऊऊह्हह…” उसके मुँह से ऐसी आवाज आ रही थी और अगले ही पल वो अपने हाथों से मुझे दूर कर रही थी, पर मैंने उसे मजबूती से पकड़ रखा था और उसके होंठों को चूसे जा रहा था. गोली के असर के चलते करीब एक घंटे तक दीदी की गांड मारी इसके बाद मेरा माल निकल गया.

राजस्थान को सेक्सी

एक हाथ से नीता की गोरी जाँघें और दूसरे से सीना सहलाते हुए नेक किस करते हुए पप्पू बोला- देख नीता, जब तक तू मुझे नहीं बताती कि वो लड़के क्या छेड़ते हैं तुझे, मैं तुझे नहीं छोड़ूँगा, ऐसे ही तेरा जिस्म सहलाता रहूँगा.

उसके घर पर कोई नहीं था तो मौका मिलते ही मैंने सोनी को अपनी बाहों में पकड़ा और उसके होंठों पर किस कर लिया. मेरा लंड अभी भी पूरा खड़ा था और चड्डी की बगल से थोड़ा बाहर निकल आया था. अंकल मुझे उन लड़कों में से कोई भी पसंद नहीं, वैसे उन लड़कों के साथ यह करने का मन कैसे हो? उन गुंडे मवालियों से क्या मुँह लगना? हाँ भीड़ का फायदा ले कर लड़के कभी कभी मेरा जिस्म सहलाते हैं, मेरा सीना और पिछवाड़ा दबाते हैं और पिछवाड़े पे रगड़ते हैं… बस उतना ही लड़कों से संबंध हुआ है और कुछ नहीं.

अब तक इस सेक्स कहानी में आपने पढ़ा कि गुलशन जी और सुमन ने नंगे होकर बाथरूम में एक-दूसरे के लंड चुत की झांटें साफ़ की थीं और रात को होने वाली सील तोड़ प्रोग्राम के लिए ये दोनों तैयार हो गए थे. बस ऐसे ही तू ऐसा मत सोच, यार तेरी ख़ुशी में ही मैं खुश हूँ, सो भूल जा वो सब. బీఫ్ ఇంగ్లీష్चाचाजी ने अपनी स्कार्पियो कार में जाने का सुझाव दिया, जिस पर सब मान गए.

उसने मेरे मुँह पर अपनी चूत उठा दी, जिसे मेरी जुबान उसकी चूत में अन्दर तक मजा दे. हम दोनों एक-दूसरे से मिलना चाहते थे, लेकिन ऐसा कोई अवसर नहीं मिल पा रहा था कि हम मिल सकें.

माया आज उस्मान का लंड अपने गले तक लेना चाहती थी और उसने वैसे ही किया. फिर उसने जोर जोर से चूसना शुरू कर दिया और वो जोर से कराहने लगी- ओह्ह. फ्लॉरा उनसे कुछ पूछती, तब तक वो जल्दी से अन्दर आ गए और उस लड़के ने जल्दी से दरवाजा बंद कर दिया.

जैसे उसने कुछ सुन ही नहीं हो, पप्पू अपना हाथ और रगड़ के पीछे से उससे चिपकते हुए बोला- यार सबको क्या इसी बस से आना था! भाभी सॉरी… आपको तकलीफ हो रही है पर क्या करूँ? फिर हल्की आवाज़ में रूपा के कान के पास आके पप्पू बोला- अरे भीड़ है तो ये सब चलता है. उसने मेरे पैर छोड़ दिए और अपना लंड मेरी चुत में ही पेले हुए मेरे ऊपर लेट गया. आज के दिन का ज़रूर मेरी जिंदगी से कोई गहरा नाता है, दो साल पहले यही दिन था जब मैंने पहली बार किसी स्त्री को नग्न देखा था, वो भी जबरदस्त ढंग से चुदाई करवाते हुए लाइव… आज फिर से देखने का मौका मिल सकता है.

फिर वो उठी और मेरे सड़के को कमोड में थूक दिया और फ्लश करके हम लोग कमरे में आ गए.

उसने बोला कि आप दो मिनट रुकिये मैं आपके पास आ रहा हूँ और उसने फोन काट दिया. उसने मुझे इस तरह से पकड़ रखा था कि मैं जरा सा भी हिल डुल नहीं पा रही थी.

और वैसे भी जिसका इतना मस्त लौड़ा हो, उसे शर्माना शोभा नहीं देता। इतना कह कर अंजना ने उसका कच्छा नीचे कर दिया और एक झटके से राहुल का 9 इंची हथियार पट से बाहर आ गया।हे राम ऐसा लल्ल…. उस औरत की टाइट साड़ी में लिपटी गांड, पसीने से गीली कमर, ब्लाउज से दिख रही ब्रा और बगलों से दिखते ब्रा में छिपे गोल मम्मे देख के उसकी पैंट में हलचल होने लगी. मैं बिना किसी भूमिका के मामी की गंडासे जैसी धार दार गांड मारने लगा और अर्चना दीवार पकड़ कर खड़ी अवाक होकर ये गांड मराई का नजारा देखती रही.

मैंने झट से अपनी चड्डी नीचे कर दी तो मेरा 8 इंची लंड तन कर 90 डिग्री में खड़ा हो गया. हम दोनों 69 में आ गए, उसने पेशाब करना स्टार्ट किया और मेरा लंड मुँह में डाल लिया. उसने मुझे इस तरह से पकड़ रखा था कि मैं जरा सा भी हिल डुल नहीं पा रही थी.

मोती लड़की का बीएफ उसने अपनी जीभ मेरी क्लिट पर फिराते हुए मेरी चुत को चाटना शुरू कर दिया. इसलिए अब कोई शर्म लिहाज न करते हुए मेरे हाथ मामी के शर्ट में ऊपर की तरफ बढ़ने लगे.

एक्टिविटी सेक्सी वीडियो

पापा- सुमन तेरी चुत में बहुत आग है… मेरी उंगली झुलस रही है… बाहर ये हाल है तो अन्दर तो क्या पता कितनी आग होगी… ले मेरी बेटी आने दे तेरी रस की धारा… तेरा पापा तैयार है पीने को. आप क्या बोल कर छेड़ते थे मेरी मम्मी को?पप्पू जान गया था कि नीता यह सब चाहती है इसलिए उसे पकड़ कर अपनी गोद में बिठा कर पप्पू लंड उसकी गांड पे रगड़ते हुए बोला- अरे नीता तेरी माँ को तो हम ‘क्या माल है? आती क्या आज रात मेरे घर? मेरी पैंट में छुपा हुआ घोड़ा देखना है क्या? आती क्या मेरे घोड़े पे सवारी करने? तेरा हार्न बजाने दे ना. असल में मेरे मन में कुछ ऐसा था कि मैं जब चाहूं, मुझे लन्ड तैयार मिले.

अनिता ने संजय को बहुत समझाया मगर वो नहीं माना और अनिता से वादा किया कि वो सुमन को रंडी बना कर दम लेगा, उसके बाद गुस्से में वहाँ से चला गया. उसके कड़क स्वभाव के चलते उसके ऑफिस के बाकी कर्मचारी उससे काँपते हैं भले ही पीठ पीछे उसको देख कर मुठ मारें. मोटा लंड की सेक्सी पिक्चरपिचकारी टेबल से जितनी ऊपर थी, वो पूरी तरह से मेरी गांड में समा चुकी थी, पर मुझे अहसास हो रहा था कि मामा जी का लंड जितना मोटा है, उसकी तुलना में मेरी गांड आधी भी नहीं खुली है.

अब मैं रूम में अकेली थी, मेरी मन में एक ही बात आ रही थी कि आज तो मामा मेरी गांड को नहीं छोड़ेंगे.

अन्तर्वासना की कहानियों को पढ़ने के बाद ही मैं अपनी आपबीती यादों को कहानी में पिरोकर आप लोगों के समक्ष रखने का साहस कर पा रहा हूँ. उसके बाद मैंने भाभी को बोला- सुरैया, अब मैं तुम्हारी इस तंग गांड को चोदना चाहता हूँ.

तेज बारिश मैं जब तक हम बिस्तर समेत के रूम में पहुंचे, तब तक हम दोनों भीग गए और मैं कपड़े बदलने नीचे अपने रूम की तरफ जाने लगा. कुछ पल हम दोनों यूं ही पड़े रहे फिर उसने अपने रूमाल से पूरा साफ किया. बीच बीच में मैं उसकी चूत के दाने को थोड़ा जोर से दांतों में दबा लेता जिससे बहूरानी उत्तेजना के मारे उछल जाती और मेरे बाल मुट्ठी में भर लेती.

किस करते हुए मैंने उसके टॉवल को खींच लिया और अब वो मेरे सामने बिल्कुल नंगी थी.

कुछ देर वो ऐसे ही पड़े रहे, उसके बाद उन्होंने गांड मारनी शुरू की और दे दनादन पेलते रहे. ले आह…गुलशन जी ताबड़तोड़ चुदाई करने लगे और हर झटके पे सुमन की चीख निकल जाती. उसने दो स्माल पैग बनाए और हम लोग आराम से मूवी देखते हुए ड्रिंक करने लगे.

चाचा सेक्सीचूँकि विनीता अब स्वतंत्र थी लिहाजा अपने एनजीओ की जॉब के साथ जयपुर में अकेले ठाठ से रहती थी. मैंने मन समझाया और उसको घोड़ी बना के पीछे से उसकी चुत में लंड डाल कर चुदाई करने लगा.

गुजरात की लड़की सेक्सी वीडियो

सुन रूपा इस अंधेरे में किसी को कुछ नहीं दिखता, वैसे भी इस वक्त कोई भी आता जाता नहीं यहाँ से… इसलिए डरना तो बिल्कुल नहीं रानी. बहूरानी कमर उठा के मेरे धक्कों का प्रत्युत्तर देती और फिर उसके नितम्ब फर्श से टकराते तो अजीब सी पट पट की उत्तेजक ध्वनि वातावरण को और भी मादक बना देती. करीब पौने नौ बजे एक टवेरा गाड़ी आकर घर के सामने रुक गई, उसमें दीपक और राम कुमार ही थे.

मैं एक सच्ची कहानी लिख रही हूँ जो मेरे खुद की है, अच्छी लगे तो जरूर एक मेल करना और अच्छी ना लगे तो आपकी प्यारी माया को दिल से माफ़ कर देना. रहमत ने माँ को दीवार से उल्टा करके टिका दिया और उसकी नंगी पीठ को चाटते हुए माँ के कलमी आम जैसे मोटे मम्मों को आगे हाथ डाल कर दबाने लगा।माँ के कोमल नाजुक जिस्म पर अपनी जीभ चलाने के साथ साथ वो अपने दांत गड़ाने लगा जिससे मेरी माँ की आहें पूरे कमरे में गूंजने लगी. उन्होंने कहा- रोमा, रात का 1 बज रहा है और बारिश भी आ रही है, इस टाइम कौन अपने घर के बाहर छत पर आयेगा.

आंटी एक दम से बोली- क्या कर रहा है, आराम से कर ना!मैंने आंटी की गांड में तेल लगाने एक बाद उस पर अपना लंड लगा कर सैट किया तो आंटी शाम कर बोलीं- धीरे से डालना. पप्पू का हाथ ज़ोर से खींचने के चक्कर में बनियान फट गया और नीता के दोनों मम्मे नंगे हो गए. तब मैंने कहा- माँ, इसमें ये दाने की तरह क्या है?तो माँ ने कहा- बेटा, इसे तुम जितना चाटोगे, उतना ही औरत की चुत गरम होती जाती है.

थोड़ी देर में काजल ने सुरेश के लंड को मुँह में ले लिया और लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी. हर लड़की या औरत का एक सेन्सिटिव पॉइंट होता है, वैसे ही सुमन का पॉइंट उसकी गांड का छेद था.

उसे मर्द का स्पर्श तो अच्छा लगा पर शर्माते हुए वो बोली- क्या अंकल आप भी? मैं तो आपकी बच्ची जैसी हूँ और आप यह कैसी बात कर रहे हैं मुझसे? यह सब बातें जाने दो, चलो हम टीवी देखते हैं.

टीना- चलो रे आ जाओ तुम लोग भी, ये अतुल का लंड चूस कर हमारी चुत भी गीली हो गई है. குரூப்செக்ஸ்मम्मी का वजन करीब करीब पचास किलो का होगा, वे एकदम छरहरी देह की हैं. हिंदी बुर चुदाई सेक्सीमुझे ऊपर मम्मों को मसलने और नीचे रेनू आंटी की चूत से रगड़ खाता मेरा लंड बहुत मजा दे रहा था. फिर मैंने मीना को कॉल करके बोल दिया कि जीजू के जाने के बाद तुम 3 दिन के लिए यहीं आ जाओ.

फ्लॉरा- यार सच बता उनका सच में बहुत बड़ा है क्या?सुमन- हाँ, बहुत बड़ा है; अगर अभी वो होते ना तुझे मैं दिखा देती.

लंच के बाद दोनों बैठे हुए बात कर रहे थे तो गुलशन जी ने सुमन के मम्मों को पकड़ लिया और सहलाने लगे. मैं कुछ बहाना बना कर अपने रूम में चली आई और आँखें बंद करके अपने आपको शान्त करने लगी. ठण्ड का समय था तो हाथ पैर न फटें इसलिए वैसलीन की डिबिया वहाँ लगाने के लिए रखी हुई थी.

आख़िर उसने बोल ही दिया कि तुम्हें मैंने अपनी प्यास बुझाने के लिए बुलाया है. फिर कुछ दिन बाद एक क्सक्सक्स ब्लू फिल्म के साथ हिन्दी फिल्म की वीडियो लाकर दे दी. हाँ एक बात बता दूँ, खाने के टाइम भी ये सब नंगे ही थे, जैसे कोई आदिवासी हों.

स्कूल मैडम सेक्सी

इस तरह की चुसाई में उसकी जितनी भी लार निकलती, मैं उसे अमृत समझ कर पीता चला गया. उसके बाद मैं अपने कमरे में नीचे आ गया और भाभी भी थोड़ी देर बाद वहां आ गईं. पूजा- नहीं मामू, मुझे पता है आप गांड मारोगे तो मेरी जान निकाल दोगे.

सोफ़े पे बैठ कर वो बोली- क्या अंकल आप भी ना? कैसी बात करते हो? मुझे शरम आ रही है आपकी बातों से.

”मुझे तो डर के मारे ‘सूसू’ आने लगी, मैं उनके पैरों पर गिर गया और माफ़ी मांगने लगा.

मैंने उस का पूरा माल अपने हाथ में इकठ्ठा कर लिया, जिसे समीर पी गया. ऐसे ही एक जोड़े को देख कर जब रूपिका ने महेश को देखा तो वो भी उसी को देख रहा था, दोनों की आँखें मिली और दोनों ही थोड़ा झेंप गए यह सोच कर कि सामने वाले ने हमारी सोच को पढ़ लिया होगा।दोनों एक कोने में बैठ गए। दोनों के ही दिल जोरों से धड़क रहे थे. नीति सेक्सीहालांकि पप्पू खुद शराब नहीं पीता था पर उसने रूपा को शराब पीने की आदत डाल दी.

तब मुझे पता लगा कि ये सुदेश है, मगर मुझे वे लोग बोलने का मौका कहां दे रहे थे. अब तो आंटी ने अपने गाउन के बाकी बटन भी खोल दिए और आंटी पूरी नंगी मेरे सामने लेटी हुईं, अपने मम्मे मुझसे चुसवा रही थीं. मैंने हल्के से उंगली भी करनी शुरू की, रीना मदहोश हो गई थी, वो मेरे बालों में हाथ फिराने लगी.

वह अजनबी सलमा के गोरे बदन पर हाथ चला रहा था और सलमा अपनी टाईट चुचियों को उसके चौड़े सीने पर रगड़ रही थी. कुछ दिन बाद उसकी भी शादी घर वालों की तरफ से फिक्स हो गई क्योंकि उसकी तरफ से उसकी शादी हो चुकी थी.

शायद ये मेरी के दिए हुए ड्रिंक का असर था कि इतने सारे मर्द मुझे नोच रहे थे मगर मुझे किसी चीज का पर्दा नहीं रहा.

क्यों तू उसकी चुत रोज देखता है क्या?गुलशन- मुझे लगा ऐसा तो बोल दिया. उसने लंड निकालना चाहा लेकिन अमित लंड बाहर निकालने को तैयार नहीं था. मैं इतनी बेसब्री से तुझे ढूँढ रहा था और तू है कि ना मुझसे गले मिली.

पटाखे कैसे बनाए जाते हैं शरमाओ मत…यह कह कर उसने मुझे आँख मारी और दिनेश का लंड निकाल कर चूसने लगी. धीरे-धीरे उसके एनजीओ की स्टेशनरी की सारी सप्लाई मेरे ही ही फर्म से होने लगी.

मैंने यश की पेंट निकाल दी, यश अब अंडरवियर में था और उसका लंड उन्द्र्वीय्र फाड़ कर बाहर निकलने को था. चाचाजी ने अपनी स्कार्पियो कार में जाने का सुझाव दिया, जिस पर सब मान गए. थोड़ी देर उसने फिर से मुँह में मेरे लंड को चूसना शुरू किया।फिर मैं बोला- मुझे तुम्हारी गांड देखते हुए चोदना है.

गुजरात की सेक्सी पिक्चर हिंदी

मैंने लंड बाहर निकाला और साँस लेते हुए पूछा- निकल गया क्या?उसने कहा- इतनी जल्दी कहाँ बेटा. रूपा के पास अब आगे जाने की जगह नहीं थी इसलिए वो अब पप्पू की हरकतों का मजा लते हुए कोई विरोध नहीं कर रही थी. अब बस तेरी चूत में लंड डालने को दिल कर रहा है और इसको अच्छे से ठोकने का मन कर रहा है जानेमन.

! बहनचोद तुम गुज्जू औरतों के पति पैसे कमाने के चक्कर में रहते हैं और तुम घर में सती सावित्री बनी फिरती हो, पर हमारे सामने एकदम राँड बन जाती हो तुम. बर्तन धोने के बाद मैं फ्रेश होने बाथरूम चली गयी, मैंने अच्छे से अपनी चूत की सफाई की, उसके बाद किचन में मामा जी के लिए चाय नाश्ता बनाने लगी.

नयना अपने भाई के कमरे के अंदर गई और बोली- भाई, ये सब करना हो तो दरवाजा तो बंद कर लिया कर!भाई के मुख से कोई शब्द ना निकला.

वह पीछे आकर मेरे सामने वाली सीट पर बैठ गए, जिससे मेरे पैर चाचाजी के पैर से टच हो रहे थे, शायद वो जानबूझ कर मेरे पैर को अपने पैर से सहला रहे थे. उसने कहा- राज क्या हम ऐसे ही हमेशा मिलते रह सकते हैं?मैंने कहा- जब तुम चाहो. मेरी जान मैंने तुम्हें जो चाहिये था वो तो दिया, पर अब मुझे कब शांत करोगी!मैं अपने आपको छुड़ाने की नाकाम कोशिश कर रही थी.

मैं एक हाथ से उसके मम्मों को दबा रहा था और एक हाथ से उसकी चुत को सहला रहा था. दिनेश बस झड़ने ही वाला था, मौका देख कर वो उस पर भूखे शेर की तरह झपट पड़ा, उसने आरुषि को सोफ़े पर फेंक दिया और उस पर घोड़े की तरह चढ़ गया; उसने आरुषि के गले को पकड़ लिया और ऐ. पिछले महीने भी यही हुआ, उसके स्कूल में छुट्टियां हुई और सभी लड़कियाँ अपने अपने घर चली गई लेकिन वो अपने घर ना जा कर जयपुर के लिए निकल गई अपने बॉयफ्रेंड के साथ मौज मस्ती करने!जब वो बस से जयपुर जा रही थी तब भी उसकी चूत चुदाई के लिए मचल रही थी, पानी बहा रही थी, वो चाह रही थी कि उसकी चुदाई अभी शुरू हो जाए.

अब मामी ने हम लोगों को सीता मैया कि कहानी सुनाना शुरू कर दी कि कैसे जटायु ने रावण से लड़ाई की थी.

मोती लड़की का बीएफ: वो मेरे मुंह के पास अपनी जांघें ले आया और उसने फ्रेंची मेरे मुंह पर लगा दी, बोला- ले चाट बेटा… जी भर कै…मैं थोड़ा होश में आया और उसकी फ्रेंची को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा जिसमें बीयर की गंध भरी थी और साथ में ही उसके कामरस का भी स्वाद आ रहा था. मुझे सोता देख, मामी प्यार से मेरे सिर पर हाथ फेरती फेरती मेरे बगल में सोने का उपक्रम करने लगीं.

इधर अब भी मेरा लंड मामी की चुत से बाहर निकल कर सिंह गर्जना कर रहा था, यह देखकर मामी की खुशियां दोगुनी हो गईं और वे गांड मरवाने के लिए घोड़ी बन कर मुझे अपनी गांड में लंड डालने को इशारा करने लगीं. रात दस बजे के बाद रागिनी मेरे से बात करने लगी और मैं भी उसके पास बैठकर बात करने लगा. मैंने हाथ आगे करके उसकी चुचियों को दबा दिया और गांड में लंड को धीरे धीरे हिलाने लगा.

क्या अंकल उनकी चूत चाटेंगे? ये प्रश्न मुझे परेशान कर रहा था।शाम तक मैं यही सोचता रहा.

मैंने आगे बढ़ कर भाभी की कैपरी के बटन खोले, तो उन्होंने मेरी टी-शर्ट उतार दी. मैंने अपना लंड थोड़ा आगे को प्रेस किया तो उसने भी गांड को पीछे सरका दिया. मैंने कहा- मैं भी हिसार में ही हूँ…वो बोला, क्यूं, यहाँ क्या गांड मरवा रहा है?मुझे उसकी बात का ज़रा भी बुरा नहीं लगा… मुझे पता था कि वो मुझसे नाराज़ होकर गुस्सा कर रहा है।मैंने कहा- मैं तुमसे मिलना चाहता हूँ.