मां और बेटे का बीएफ सेक्सी वीडियो

छवि स्रोत,इंडियन कॉलेज

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी गांड चुदाई: मां और बेटे का बीएफ सेक्सी वीडियो, अंकिता फिर से गर्म होने लगी और उसकी बुर से पानी निकलने लगा, जिसे मैं चाटता गया.

लड़की और कुत्ते की सेक्स

मोनिषा ने खड़े होकर कमरे का दरवाजा अन्दर से बंद किया और अलमारी से तेल ले आयी. मंगलसूत्र की मोती की डिजाइनवो बोली- तुम इतने गंदे कब से हो गये?मैं बोला- जब से तुम्हारी चूची मैंने देखी हैं.

मैंने उसके पैर खोले और बीच में आकर तुरन्त जीभ उसकी टाइट चूत पर लगा दी और जल्दी-जल्दी उसकी चूत पर रगड़ने लगा। वो पागल सी हो गई. बीऐफसी पिक्चरमैडम जी मेरे सामने घोड़ी बनी हुई अपनी चूत चुदाई का पूरा मजा ले रही थीं। लगभग 10 मिनट तक इसी आसन में चोदने के बाद मैंने उनको आसन बदलने के लिए बोला।उनसे मैंने बोला- आप इस तरह से अपनी ही जगह पर घूम जाओ कि लंड बाहर न निकलने पाए।मैंने इसमें उनकी मदद की।उनको मैंने अपने हाथों के बल अपना शरीर रोकने को बोला और उनके एक पैर को उठाकर ऊपर कर दिया.

गीता आगे कुछ और बोलती, मुखिया ने उसका हाथ पकड़ा और अपने पास खींच कर गोदी में बैठा लिया.मां और बेटे का बीएफ सेक्सी वीडियो: उनकी बार सुनकर मैं बोली- ये तुम लोग क्या बोल रहे हो, शर्म नहीं आती तुम लोगों को!इतने में मेरा पति बोला- चुप रह, ये सही बोल रहे हैं.

फिर वो मेरे रूम में आई और बोली- क्या कर रहे हो रवि?मैंने कहा- कुछ नहीं मॉम.कासिब ने मेरे दोनों चूचे अपने हाथ में ले लिए और जोरों से मसलने लगा.

इंडियन गर्ल्स व्हाट्सएप नंबर - मां और बेटे का बीएफ सेक्सी वीडियो

फिर मैं उसके गालों, गर्दन और ब्रा पर चूमते हुए नीचे पेट पर चूमने लगा और नताशा तड़पने लग गयी.अब बताओ मुझसे क्या काम है आपको!मुखिया- अरे बेटी कुंए वाले कोठे में चल … सब बताता हूँ.

मैंने हांफते हुए पूछा- वीर्य कहां निकालना है?उसने कुछ जवाब नहीं दिया बस केवल जोर जोर से मुझे चूमते हुए चुदती रही. मां और बेटे का बीएफ सेक्सी वीडियो अम्मी अब्बू के सामने पहले मैं तेरी चूत की सील तोडूंगा, फिर अब्बू तेरी … और मैं अम्मी की चुदाई करूंगा.

भाभी फिर से फाइल चैक करने लगी थीं और मैंने टीवी देखते हुए अपना एक हाथ भाभी के कंधे पर रख दिया.

मां और बेटे का बीएफ सेक्सी वीडियो?

राहुल बेड पर बैठ कर पढ़ रहा था और रूचि ठीक उसके सामने बैठकर पढ़ रही थी, मगर वो थोड़ी झुकी हुए थी. उस स्थिति में राहुल को रूचि के आधे से ज्यादा मम्मों के दर्शन हो जाते. लॉकडाउन में बड़ी ही खराब स्थिति बन गई थी, लेकिन शायद ये हम दोनों के लिए एक सुखद घटना होने वाली थी.

मैं उठा और बाहर आया, पर मेरी उनसे नजरें मिलाने की हिम्मत ही नहीं थी. मैंने चोरी से उसे मोबाइल में ब्लू फिल्म दिखा कर उसे गर्म किया तो …नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम दीपक है और ये सेक्स कहानी मेरे एक पाठक ने अन्तर्वासना के लिए लिखने के लिए भेजी थी, जिसे मैं आपके सामने पेश करने जा रहा हूं. सोनू बोले- यार, आज तो तुम बला की खूबसूरत और सेक्सी लग रही हो, चुदास तो तुम्हारी आँखों से साफ झलक रही है।मैंने भी मुस्कराकर कहा- सब आपकी वजह से है।चुदाई की रात आ ही गयी.

मैं पैंटी को मुँह में दबा कर मुठ मारता था, उससे लाख दर्जे सीधे चुत की चुसाई में मजा आ रहा था. उसके बाद राहुल बोला- अब नाम लेकर बताओ … क्या करना है!मैंने कहा- यार, मेरी चूत में कुछ हो रहा है … प्लीज इसे जल्दी से शांत कर दो. वो मुझे अच्छे लगते थे मगर मैंने कभी ये बात उनको जाहिर नहीं होने दी.

अब आगे की न्यू चूत की सेक्स कहानी:सुरेश- अरे नहीं नहीं … वो हक़ सिर्फ़ तुम्हारा है. इस देसी सेक्स का खेल कहानी के लिए आपके मेल की प्यासी आपकी प्यारी पिंकी सेन.

वह जोर से चिल्लाई- उईई अम्मी … मार दिया … हाय रे … अल्लाह … मार दिया। थोड़ा आराम से नहीं कर सकता था क्या हरामी?मैं थोड़ी देर रुका और फिर एक धक्का मारा.

इसके लिए जब गर्मियों की छुट्टियों हुईं, तब मैंने मेरी घरवाली और बच्चों को उनके मामा के घर भेज दिया.

मैं उसके मुंह को दबाये रहा और वो ऊँ … ऊँ … करके अपने दर्द को जता रही थी. इन दो दिनों में रुक्मणी भाभी मुझसे काफी घुल मिल गयी थीं, मुझसे हंसी मज़ाक करने लगी थीं. पर मेरा एक हाथ, जिसने भाभी को पकड़ रखा था, अनजाने में ही उनकी कमर को सहलाने लगा.

अब उसकी उत्तेजना चरम पर आ गई- आह उह बाबूजी … मेरी चुत में कुछ हो रहा है आह … और ज़ोर से चाटो आ उउऊँह. वो सीधे मेरे से चिपट गईं और मेरा लौड़ा पकड़ते हुए बोली- प्लीज कुणाल, जो भी करना है जल्दी करो. साधारण जीवन होने के बावजूद भी जवानी में कदम रखते ही मेरे अन्दर सेक्स और मर्दों में बहुत ज्यादा रूचि हो गयी थी.

मैं धीरज से बोला- हां पूछ न!उसने मुझे वो एड्रेस बताया, तो मैं सन्न रह गया.

जबसे हम गांव से शहर आए थे, तब से मैंने गौर किया था कि मेरी अम्मी काफी बदल गयी थीं. मैं बोला कि नहीं यार ऐसी कोई बात नहीं है … नीचे काम था, इसलिए टाइम लग गया. दोस्तो, इस तरह से क्या बताऊं, वो भाभी बस फ़ोन पर एडल्ट सेक्सी चैट करती हुई ‘आह आह जानू …’ करते हुए कामुक आवाजें निकाल रही थी.

हम तीनों बाप बेटे दिन रात उस हरामी मुखिया के खेतों में अपना खून जलाते रहेंगे? आप बापू से कहती क्यों नहीं कि उससे हिसाब करके देखे, पता तो लगे कि हमारा कितना कर्ज़ बाकी है. मैंने मीता के मज़े उसके सोई हुई के लिए हैं मैं चाहता हूँ कि वो जागती रहे, तब मैं उसको चूसूं … और हां दूसरी बात मैं तो उसको चोद नहीं सकता … मगर चुदते हुए देखना चाहता हूँ, तो तू मेरे सामने उसको चोदेगा … बोल ठीक है!सुरेश- लेकिन ये ग़लत है … और मीता बिल्कुल नहीं मानेगी. आखिरकार मैंने उसको अपनी बांहों में उठाया और ले जाकर उसको बेड पर लिटा दिया.

मैं फिर से उस पल का मजा लेने के लिए वहीं दरवाजे के बाहर खड़ा होकर मुठ मारने लगा.

सर ने सोनू को इशारा किया तो वो लेट गए और मैं उनके मुँह की तरफ मुँह करके लन्ड पर बैठ गयी. अपने सारे कपड़े उतार लेने के बाद वह एक बार फिर से मेरी गांड पर सवार हो गया.

मां और बेटे का बीएफ सेक्सी वीडियो उनके जाने के बाद मैंने उठकर ब्रा और पैंटी अलगनी पर टांग दी और नीचे आ गया. दर्द और मजे से उनकी सिसकारी निकल रही थी। उनके मुंह से निकल रहीं अजीब सी आवाजें ही बता रही थीं कि उनको भी अपनी चूचियां चुसवाने और निप्पल कटवाने में बहुत मज़ा आ रहा था.

मां और बेटे का बीएफ सेक्सी वीडियो रघु- अच्छा किया बाबूजी आपने, अब हमें क्या करना है?सुरेश- बताऊंगा भाई … इतनी जल्दी क्या है. हॉट सेक्सी मॉम स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपनी मां के साथ बाइक पर घर आ रहा था.

फिर मैंने मौसा जी के लंड की लम्बाई का अनुमान कर अपनी कमर को इतना ऊपर उठा उठा कर चुदाई की कि वो मेरी चूत से बाहर न निकलने पाए.

प्रकाश सेक्सी व्हिडीओ

मैंने मोनिषा के आधे उतरे लोवर में हाथ डाला और गांड की तरफ से उसकी चुत पर हाथ फेर दिया. वो बोला- साली बड़ा मस्त मजा देती हैं तू, बोल मेरे अड्डे पर काम करेगी. दूसरे राउंड के बाद हम दोनों थोड़ी देर ऐसे ही पड़े रहे। अब मैंने उनको उठाया और अच्छी तरह से साफ किया। उनकी गांड और पीठ पर बहुत ज्यादा भूसा चिपका हुआ था। पूरे जिस्म में चिपके हुए भूसे को मैंने झटकारा और बालों में फंसे हुए भूसे को भी साफ किया।फिर मैंने एक एक करके उनके सारे कपड़े वापस से पहनाये.

मैं आंखें बंद किये उसके मुँह में लंड झाड़ रहा था और वो लंड को चूस चूस कर उसे खाली कर रही थी. मैंने आंखों आंखों में ही बुआ को अपने लंड की तरफ इशारा किया और स्माइल कर दिया. अब वो बहुत उत्तेजित हो गयी थीं और किसी भूखी शेरनी की तरह मुझ पर टूट पड़ीं.

दो मिनट तक लंड को चूत पर रगड़ने के बाद मैंने धक्का लगा दिया और मेरा लंड उसकी चूत में 2 इंच तक घुसा.

बुआ को पहले ये थोड़ा अजीब लगा, पर बाद में उन्हें भी ये अच्छा लगने लगा. मैं उन दोनों को देख रहा था, मुझे संजना के दूध कसम से काफी बड़े लग रहे थे. मैंने उसको वहीं पकड़ लिया और पीछे से हाथ आगे ले जाकर उसकी चूचियों को दबोच लिया और पीछे से उसकी गांड पर लंड लगा लिया.

राहुल के लौड़े ने जैसे ही मेरी फुद्दी की सील फाड़ी, मैं इतनी जोर से चिल्लाई मानो भूकम्प आ गया हो. मेरे भाई ज्यादातर बिजनेस लाइफ में बिजी रहते हैं और इसी वजह से भाई-भाभी के बीच बहुत कम सेक्स होता है. अब ऐसा समय आ गया था कि मेरे पति अजय के पास कोई काम ही नहीं रह गया था न ही घर था.

उसके बाद से जिगोलोगिरी में मैं बहुत आगे बढ़ गया और मैंने पीछे मुड़कर नहीं देखा. मेरे दूध पहले से ही बड़े थे लेकिन शादी के बाद अब मेरे बूब्स का साइज 34, कमर 32 और गांड भी 34 की हो गयी है। मेरी चूचियां ठोस, गोल और नुकीली हैं जिन्हें देख कर किसी भी लड़के का उन्हें भींचने और चूसने को मन मचल जाए।मैं आज आपको जो अपनी थ्रीसम सेक्स की कहानी बताने जा रही हूँ.

मेरा लन्ड मेरी पैंट से बाहर निकलने के लिए बेकाबू हो रहा था।धूप बहुत तेज थी और मैं तो पसीने से तर हो रहा था. मैंने धीरज से पूछा- अरे तुझे इस एड्रेस पर क्या काम है?तब धीरज मुस्कुराता हुआ बोला- इस पते पर एक रंडी रहती है, मुझे उसे चोदने जाना है. उन सब फ़ोटो में से एक फ़ोटो में उनकी चूचियां थोड़ी बाहर को निकली दिख रही थीं.

उनके लंड के आकार देख कर लग रहा था कि औजार 8 इंच का तो कम से कम होगा ही.

जब मेरे पास आओगी तो उसको यहीं रूम पर बुला लेंगे और तीनों एक साथ चुदाई करेंगे. चूहे बिल्ली और ना जाने कितने जानवर इसमें भरे पड़े हैं … और हां एकाध उल्लू भी इसमें हैं, जिसकी आवाज़ रात को किसी इंसान जैसी लगती है. सेक्स में एक अलग तरह की सनसनी पूरे बदन में फ़ैल जाती है जैसे शरद ऋतु में ठंडी-ठंडी हवाएं शांत रात्रि में पेड़ों के पत्तों से गुजरती हैं।आदमी को लेट कर कमर ऊपर नीचे करके चोदने में दिक्कत होती है, इस तरह से बहुत ज्यादा देर तक बुर में लंड का रेल-पेल नहीं कर सकते हैं.

मेरी ईमेल आईडी है[emailprotected]कहानी का अगला भाग:गांड मरवाने का नशा- 2. मीता- ये अपने क्या किया … दोपहर को तो आप मुझे मज़ा देने वाले थे ना!सुरेश- मीता, मैं एक डॉक्टर हूँ.

अम्मी ने कहा- एलिसा अगर बुरा ना मानो, तो तुम्हारी पैसों की तंगी दूर हो सकती है. मैंने मन ही मन सोचा- भाभी भी ड्रामा करने में एक्सपर्ट है, कितनी सीधी बनकर बात कर रही है. धीरज ने अपने मोबाइल से मेरी अम्मी की नंगी फोटो खींच ली और कपड़े पहन लिए.

सेक्सी वीडियो हिंदी में मारवाड़ी

वो मेरी ओर देखते हुए कामुक आवाजें निकाल रही थीं, जिसकी आवाज़ कमरे से बाहर जा रही थी लेकिन इस समय सुनने वाला कोई नहीं था.

लड़की की सेक्सी आवाज में सुनें यह कहानी!तो प्रिय पाठको, पाठिकाओ, यह थी मेरी पाठिका रीमा की कहानी. फिर उसने बाथरूम में रखी अपनी शेव करने वाले रेजर से मेरी चूत साफ की और मुझे लेकर फिर से बिस्तर पर आ गया. आपा की चूत भी चोदने में मज़ा आया लेकिन भांजी की चुदाई में जो मज़ा आया वो तो मैं आपको कैसे बताऊं! मैंने बहुत मज़ा लेकर उसकी चूत मारी और मुझे जैसे स्वर्ग सा मिल गया था.

मैंने उसको फिर बेड पर डॉगी स्टाइल में किया और अपने लंड पर थोड़ा सा थूक लगा कर उसकी चूत में लंड को डालना शुरू किया. उनके लंड के आकार देख कर लग रहा था कि औजार 8 इंच का तो कम से कम होगा ही. बाईची गांडफिर उन्होंने मुझे बुलाया और बोलीं- बेटा हर्ष तुम शाम को आ सकते हो क्या?मैं बोला- हां आंटी जी, बिल्कुल आ सकता हूं.

मैंने धक्कों की रफ्तार पूरी तेज कर दी और उसकी चूत में पानी छोड़ दिया. उधर 2 बजे रघु अपनी पत्नी मीनू को लेकर क्लिनिक आ गया और जैसा तय हुआ था, सुरेश ने क्लिनिक आगे से बंद कर दिया और पीछे के दरवाजे से अन्दर आ गया.

मेरे मुंह से भी आह्ह … आह्ह … करके सिसकारी निकल रही थी और राजेश के मुंह से भी. शुरू से ही मैंने आमतौर पर रमेश बाबू या उनके भाई, चचेरे भाई-भतीजे को भी देखा था. ये कॉल उनकी सहेली का था, जो कुछ समय में दो अन्य महिलाओं के साथ घर आने वाली थी.

लंड को चूत पर रखकर मैंने अपने दोनों हाथों को उनकी बगल से डालकर उनके दोनों कंधों को कसकर पकड़ लिया. उनके पसीने और चमड़ी का टेस्ट मुझे उत्तेजित करने लगा और मैं 5 मिनट में ही फिर से चुदाई के लिए तैयार हो गया. मैं उम्मीद करता हूं कि पाठिकाओं की चूत और चूचियों की मालिश हो रही होगी.

जब पहला सीन आया और उसने ये देखा कि कैसे एक आदमी को अपनी बेटी की सहेली से प्यार हो जाता है.

दोस्तो, मैं पिंकी सेन अब इस सेक्स कहानी की समाप्ति की तरफ बढ़ रही हूँ. सोचा कि फिर से बोतल वाली मस्ती करते हैं।राजेश ने शरारती अंदाज़ में बोला- लगता है लौंडे की गांड की अच्छी तरह से सर्विसिंग करनी पड़ेगी.

फिर कैसी उलझन … वो बता सकता है कि कौन लेकर गया और लड़की कौन थी? गांव का लड़का तो सारी लड़कियों को जानता ही होगा. कई बार मेरी चुदाई करते हुए वो थ्रीसम सेक्स के बारे में भी बात करते थे. दो पल बाद मैंने उसके मुँह पर हाथ रखते हुए फिर से लंड को धक्का दे दिया.

नीला भी हम दोनों को गालियां दे रही थी और साथ में इन हसीन लम्हों को एन्जॉय कर रही थी. उसके घने काले बाल, आंखें मदहोश करने वाली, नाक हल्की नखरेवाली, लाल लाल होंठ रसीले से थे, गर्दन हल्की सुराहीदार थी. रघु का लंड अब अकड़ कर दर्द करने लगा था, तो उसने मीनू के मुँह में घुसा दिया और उसके मुँह को चोदने लगा.

मां और बेटे का बीएफ सेक्सी वीडियो उसकी चीख से पूरा कमरा गूँज गया।अब मैंने उसकी चूत की तरफ देखा तो मेरा लंड और चादर दोनों ही खून से सन गये थे. तुम सब गौर से देखो और सीखो … समझे!रघु- हां बाबूजी, आप करके बताएंगे, तो जल्दी समझ आ जाएगा.

कुत्ते के संग सेक्सी

पर वह भी सेक्सी ही निकली और उसके बात करने का प्रिय विषय सेक्स और सम्भोग ही होता था. वो बोला- अभी तू घर पर अकेले अकेले क्या कर रहा है?मैं बोला- बस यार आराम कर रहा हूँ. मैं उनकी टांगों के बीच में आ गया और अपने लंड को मामी की चिकनी चूत पर रगड़ने लगा.

बाद में पता चला कि सोनिया बंगाली भाभी की सगी ननद नहीं है बल्कि भाईसाहब के ताऊजी की बेटी है. लंड के मेरी पैंट के अंदर ही झटके लगने लगे और शायद कपिला ने भी ये हरकत देख ली थी. शिल्पा शेट्टी की चूतसुमन से नज़र मिलते ही मुखिया ने जाने का इशारा किया, तो सुमन ने उसे दो मिनट रुकने को कहा और खुद सुरेश के ऊपर से अलग हट गई.

मेरा लन्ड मेरी पैंट से बाहर निकलने के लिए बेकाबू हो रहा था।धूप बहुत तेज थी और मैं तो पसीने से तर हो रहा था.

मैं मना करने को, कर सकती थी … लेकिन ना जाने क्यों राहुल ने इतना सब करके मुझे अपना गुलाम सा बना लिया. उस समय मैं अपनी पढ़ाई खत्म कर चुका था और यूरोप में आगे की पढ़ाई के लिए जाने वाला था.

लेकिन फिलहाल जो अभी हालात चल रहे हैं, उसको लेकर एक सत्य घटना घट गई. इस पर राहुल ने देर न करते हुए अपना लौड़ा पूरी तरह से चुत के अन्दर डाल दिया. ऐसा बोलकर वो राहुल से लिपट गयी, उसने अपना सर राहुल के कंधे पर रख दिया.

दीदी ने पूछा- वैसे गांव में कहां करते थे?मीनाक्षी- इतना वक़्त तो नहीं मिलता था, बस रात में ही हम दोनों खेतों में मिल लेते थे.

मैं तो मंत्रमुग्ध सी होकर नीचे बैठ गयी और मौसा जी के लंड की चमड़ी पीछे कर दी तो आलू बुखारे के जैसा बड़ा सा गहरे गुलाबी कलर का सुपारा निकल आया. मेरी घर में चोदा चुदाई कहानी की पिछली कड़ीसगी बुआ के साथ जोरदार सेक्स का मजा- 1में आपने पढ़ा कि कैसे मैंने बुआ की चुदाई की … और कैसे बुआ मुझसे मजे ले लेकर चुदीं. मगर इतने में ही वो हलचल करने लगी और मैंने घबराकर अपना हाथ तेजी से बाहर खींच लिया.

सनी लियोन के ओपन सेक्स वीडियोरोज रात को सोने से पहले मेरी योनि मुझे तंग करती और मैं उसे उंगली से रगड़ मसल कर जैसे तैसे समझा बुझा कर शांत करती रहती. उसकी रंगत दूध से भी ज्यादा सफेद थी और रोने की वजह से उसका मुँह पूरा लाल हो चुका था.

गांव वीडियो सेक्सी

सच में दोस्तो, अगर मेरा वश चलता तो मैं सचमुच में अपने लंड को घुसा घुसाकर उसकी जांघ में छेद कर देता. भाभी मेरे दोनों गोटों को एकदम प्यार से सहला रही थीं और मेरे सात इंच के लंड को पूरा निगल रही थींऐसी जगह पर मैं ऐसी ढीली पैंट शर्ट ही पहन कर जाता हूं, जिससे कपड़े खोलने में देर न लगे और कोई दिक्कत न हो. वो कहने लगी- नहीं, तुम मेरी फूल सी बहन को हैवानों की तरह चोदोगे, मैं तुम्हें ऐसा कभी नहीं करने दूंगी.

म … मैंने ऐसा कुछ नहीं किया!रवि- अरे डरो मत … मैं किसी को नहीं बताऊंगा, बस जैसे चल रहा है, चलने दो. गांव की चुत चुदाई की दुनिया- 7में अब तक आपने पढ़ा था कि गीता को मुखिया ने अपना लंड चुसवाने के लिए रोक लिया था. अब मेरे पूरे शरीर का दबाव भाभी की गांड पर पड़ रहा था। मेरा लन्ड भाभी की गांड में घुसने के लिए दबाव बना रहा था। भाभी का पूरा जिस्म तपने लगा था। मैं भाभी की गर्दन के पीछे किस करने लगा।फिर मैंने उसके बालों की चोटी को खोल दिया.

कुछ देर यूं ही चोदने के बाद मौसा जी ने थोड़ा सा उठ कर अपना वजन अपने हाथ पैरों पर ले लिया. उसे किस करते हुए मैंने अपनी चूत का स्वाद भी चखा, जो हल्का सा खारा और नमकीन सा था. तभी वो बोला- अंदर आऊं या दरवाज़े से ही भगाओगे?तब मुझे होश आया और मैं बोला- आ जा जानी … आज याद आयी है मेरी? कहाँ रहते हो आजकल? न मिलना, न कोई मुलाकात?उसने उदास होकर कहा- क्या बोलूं यार … घर की स्थिति ठीक नहीं है.

वैसे भी मुखिया उसके कंट्रोल में है, उसको मुखिया से कैसा डर!भूत वाली बात तो उसको वैसे भी हजम नहीं हो रही थी, वो तो बस झूठ-मूठ का नाटक कर रही थी. मेरी नींद कुछ 4:30 के आस पास खुली, तो देखा बुआ मेरा लंड चूस रही थीं.

हालांकि उनके हाथों में अभी भी साबुन लगा था, मैं तब भी उनके चेहरे के पास आया और उनके बाल पकड़ कर उनका चेहरा उठा दिया.

एक दिन मैंने देखा कि वो बाथरूम से नहाकर निकल रही थी तो उसके बाहर आते ही मैं नहाने के बहाने बाथरूम में घुस गया. राधा की चूतउससे चला नहीं जा रहा था।हैंगओवर का असर अभी भी सिर में चढ़ा हुआ था। मैंने होटल में नींबू पानी मंगाकर उसे पिलाया और उसके होस्टल के लिए ओला कैब बुक की। उसके फोन से मैंने उसकी सहेली का नंबर लेकर कॉल करके उसकी तबियत खराब होने की बात बता दी।फिर हम कैब से निकल गये. रिमोट डॉट बिजीजानू कब तक तड़पाओगे, अब तो मेरी चूत को अपने लंड से भर दो और मुझे जन्नत की सैर करवा दो जानू. मुझे ऐसा लग रहा था जैसे उसके दूध मेरी गर्लफ्रेंड मधु के मम्मों से बड़े हों.

गांव की चुत चुदाई की दुनिया- 9में अब तक आपने रघु की बीवी मीनू की चुदाई की कहानी पढ़ी थी.

उन ब्रा में से मुझे उनकी जाली वाली ट्रांसपेरेंट ब्रा बड़ी मादक लग रही थी. फिर हाथ में रंग लेकर उसकी शॉर्ट्स में हाथ डाल दिया और उसके लण्ड पर रंग लगाने लगी।आपा धापी में जॉन की गोटियां मसली गयीं और वो जोर से चिल्लाया- मां की लौड़ी, मेरी गोटियां फोड़ दीं!उधर से गरिमा भागते हुए चिल्लाई- बहन के लौड़े, मैंने कहा था कि मैं तुझे छोड़ूंगी नहीं. उन्होंने सर को भी ये बात बता दी कि वो मुझे अब तय दिन तक लंड के बिना भूखी ही रखेंगे.

जीजा साली Xxx कहानी में पढ़ें कि मैंने अपनी साली को सेक्स के लिए मना लिया था. दोस्तो, आज मैं आपको मेरी और मेरी प्यारी भाभी सुनयना (बदला हुआ नाम) के बीच हुई एक सच्ची घटना के बारे में बताना चाहता हूँ कि किस तरह मैंने अपनी भाभी को पटाया और उनकी चुदाई की. वो आकर मेरे गले से लग गया और उसने मुझे कसकर अपनी बांहों में जकड़ लिया.

अनीता की सेक्सी फिल्म

दो दिनों की ऊहापोह के बाद जीत आखिर चूत की ही हुई; मौसा जी के लंड की पहली ही ठोकरों ने मेरे जीवन भर के अच्छे संस्कारों को कुचल कर रख दिया था. झटके के साथ ही उसकी चीख निकली लेकिन मैंने तुरंत उसके मुंह के दबा लिया. फिर मैंने धीरे से उनकी एक चूची पर मुंह रख दिया और उसको आराम से चूसने लगा.

[emailprotected]नंगी भाभी सेक्स कहानी का अगला भाग:दोस्त की पड़ोसन भाभी की वासना- 3.

फिर धीरे धीरे से नीचे होते हुए मेरे लंड पर बैठती चली गई और मेरा लंड उसकी चूत में घुसता चला गया.

उसकी कुंवारी चूत में चुदाई करते हुए लंड के अंदर बाहर होने की आवाज कमरे में सुनी जा सकती थी जो पच … पच … की ध्वनि के साथ निकल रही थी. अब मैं तीन-चार दिन तक बिना लंड के रहने वाली थी जो मेरे लिए बहुत ज्यादा मुश्किल था. ब्लू पिक्चर देखना हैफिर मेरा एक दोस्त, जोकि उनके घर के पास ही रहता है, उससे मैं हर किस्से को साझा कर लेता था.

वो आकर मेरे गले से लग गया और उसने मुझे कसकर अपनी बांहों में जकड़ लिया. मैंने तो अपने हाथों से ब्रा पकड़ रखी है!मैं- भाभी, आप चिन्ता ना करो. अब राहुल ने अपने लौड़े को जहां तक अन्दर गया, वहीं तक रहने दिया और मेरे होंठों, मेरे बोबों मेरे चूचुकों को चूसने लगा.

दोस्तो, इस सेक्स कहानी के अगले भाग में जब सुरेश के सामने गीता की चुदाई का राज खुलेगा, तो क्या होगा. जब वो मुझे खिला रही थी तो उसकी नर्म नर्म उंगलियां मेरी जुबान से जाकर लगीं और मेरे मन में एक वासना सी जाग उठी.

रूम में पूच … पूच … मुच … मुच … की आवाजें हो रही थीं जो कि लंड और चूत को चाटने से पैदा हो रही थीं.

आपको यह देसी इंडियन चुत चुदी कहानी कैसी लगी? मेल और कमेंट्स करके मुझे बताएं. सुरेश- कपड़े तो पहन लो, क्या तुम्हें ऐसे ही नंगी सोना है!सुमन- हां आज अपन दोनों नंगे लिपट कर ही सोएंगे … मज़ा आएगा. उसकी चूत के पास जाकर मैंने उसकी रेशमी पैन्टी को हल्का सा साइड में करके अपनी जीभ से चुत चाटना शुरू कर दिया.

सेक्स पावर कोई 10-12 मिनट बाद भाभी का कॉल आया और उन्होंने मुझे टिकट काउंटर पर बुलाया. ये बात यहीं से शुरू हुई कि जब कोरोना इंडिया में आया, तो हम लोगों को बताया गया कि आप लोगों की छुट्टी हो रही है.

तेरे रंजीत भाई तो पूरा लंड मेरे मुँह में घुसा देते हैं … और दे दनादन मुँह को चोदकर मलाई भी मुझे खिला देते हैं. उसने लंड को अपनी गांड में अच्छी तरह से एडजस्ट करवाया और फिर धीरे धीरे लंड पर ऊपर नीचे होने लगी. मैं- हां, ठीक है पापा … मैं उन सबके घर इनविटेशन कार्ड पहुंचा दूंगा.

हिंदी मूवी ब्लू सेक्सी वीडियो

उसका पानी बह कर मेरे टट्टों पर आ गया था, लेकिन मैं अब रुकने वाला नहीं था. ये सुनकर मैंने उसको दूसरी साइड आने का कहा और करवट लेकर लेटने को कहा. ये कहते हुए उसने मेरा एक चूचा मुँह में भर लिया और अपना हाथ नीचे मेरी चूत से लगा कर बोला- उउउह दिलकश तेरी चूत पर तो जंगल उगा है … बहुत बड़ी बड़ी झांटें हैं.

उसकी सिहरन से मुझे यकीन हो गया था कि इसकी कमसिन जवानी का रसपान अभी तक किसी ने किया ही नहीं है. और क्या मैं तुम्हारे लिए कुछ नहीं कर सकती?राहुल- क्या करोगी तुम?रूचि- तुम एक काम करो, तुम मेरे पेट पर आकर बैठ जाओ और मेरे मम्मों के बीच में अपना वो रखो.

चूंकि मुझेरफ सेक्सकरना बहुत पसंद है और इन ताबड़तोड़ शॉट्स से उसकी चुत एकदम खुल गई थी.

भाभी मुस्कुरा कर बोलीं- इसे तो मैं अभी शान्त कर देती हूँ, बाकी कबड्डी बाद में खेलूंगी. उसके बाद करीब 11 बजे दिन के वो मेरे पास आई और बोली- 3 दिन की मेहमानी हो गयी. मेरे पिताजी ज्यादातर बैंकॉक में रहते हैं। मेरे पिता एक बड़ी मारवाड़ी कंपनी में काम करते हैं.

मैं किचन के अन्दर जा कर सरसों के तेल की बोतल ले आया क्योंकि जैल कम बची थी. उसके होस्टल से कॉल आ रहा था। फोन साइलेंट होने की वजह से पता नहीं चला। उसने जल्दी से कपड़े पहने और दोबारा मिलने की बात कहकर जाने लगी. मैं तुरंत अपने कमरे में घुस गया और बिस्तर पर लेट कर भाभी के बारे में ही सोचते सोचते सो गया.

आदिल बहुत जोर से दबा रहा था।आदिल बोला- बहन की लौड़ी, चूचियां तो तेरी बहुत अच्छी हैं.

मां और बेटे का बीएफ सेक्सी वीडियो: एक बार तो सुमन ने मुखिया के लंड को चूस कर उसका पानी भी अपने मुँह में निकलवा लिया था और वो सारा लंड रस गटक गई थी. घाघरी के नीचे मैंने जानबूझकर पैंटी नहीं पहनी ताकि सर के लंड को मेरी चूत में जाने में जरा भी देर न लगे.

मैं वहीं रुका रहा, मुझे नीचे कुछ गीला गीला सा लगा, तो उसके होंठों को छोड़ कर मैंने नीचे देखा. मैं उन्हीं के बोबों और चूतड़ों के बारे में सोचकर लंड को हिलाया करता था. मैं धक्के लगाने लगा और अब पूरे रूम में उसकी कामुक सिसकारियां ही सुनाई दे रही थीं.

उसका पानी बह कर मेरे टट्टों पर आ गया था, लेकिन मैं अब रुकने वाला नहीं था.

फिर धीरज मेरी अम्मी की गांड पर हाथ घुमाते हुए बोला- आंटी आप बहुत सेक्सी हो. मेरा तनाव में आ रहा लंड फिर से मेरी जांघों के बीच में झूलता हुआ इधर उधर डोल रहा था. फिर मैंने पहल करते हुए उसकी चूचियों को छेड़ना शुरू किया और उनको हल्के हाथ से सहलाने लगा.