बीएफ ससुराल

छवि स्रोत,ज्योति का नाटक

तस्वीर का शीर्षक ,

7 साल पुरानी सेक्सी: बीएफ ससुराल, वह आज तक मुझे ही अपना पति मानती है, अब भले ही एक अच्छे आदमी से उसकी शादी हो गई है, जो उसे दिलों जान से भी ज्यादा प्यार करता है और उसके दो बच्चे भी हैं.

हिंदी सेक्सी सुहागरात की चुदाई

दीर्घ चुम्बन के बाद मैंने उसकी गांड में हाथ डाल कर अपनी गोद में उठाया. भाई और बहन की चुदाई सेक्सी वीडियोकभी कभी रीना को उसकी पहले दिन की चुदाई की वीडियो दिखा कर मैं आज भी उसे चिढ़ाता हूँ.

उसने मेरी पैंट की ज़िप खोली और मेरा लंड बाहर निकालने के लिए सुन्दर नेल पोलिश लगी अपनी नर्म और मुलायम उँगलियों को पैन्ट के अन्दर डाला और लंड को बाहर खींचने लगी. सेक्समराठीअपनी बड़ी उंगली मेरे मुंह में डालकर निकाली और घचाक से मेरी कुंवारी चूत में घुसेड़ दी.

इतनी देर में मेरी बीवी ने आवाज आई- कहां हो?मैं डर गया कि कहीं ऊपर ही ना आ जाए.बीएफ ससुराल: मैंने एक उंगली गांड में थोड़ी सी डाल दी तो वो एकदम से हिली और बोली- पीछे नहीं…मैंने उससे कहा- यार तू चुप रह के मजे ले.

मुझे सोते वक्त किस करना, मेरे चूचों को दबाना और मेरी चूत पर हाथ फेरना.मेरे देखते देखते आंटी ने अपने कपड़े उतारने शुरू किये और पूरी नंगी हो गई.

फिल्म सेक्सी फिल्म ब्लू फिल्म - बीएफ ससुराल

उसके बाद जगबीर आता है और मेरी गांड में अपना लंड देकर अंदर बाहर करने लगता है, 5 मिनट बाद वो झड़ कर उठ जाता है और उसके बाद राजू फिर से मेरी गांड को चोदने लगता है और कुछ ही देर में वो भी झड़ जाता है.मेरे प्यारे दोस्तो, मैं माया अपनी सच्ची सेक्सी स्टोरीज आपको सुनाती हूँ, आज फिर से मैं अपनी एक नई और सच्ची सेक्स कहानी लेकर आपकी समक्ष हाजिर हूं.

मैं सुबह 6 बजने से पहले में अपने रूम में आ गई, जहाँ मेरे पति अपनी पत्नी की बेवफाई से बेखबर सोए पड़े थे. बीएफ ससुराल और आप यहाँ कैसे?तो वो बोलीं- यार आज मैंने एक बहुत ही ख़राब सपना देखा और मैं बहुत डर गई हूँ, इसीलिए यहाँ तुम्हारे पास सो गई.

अब मेरे एक हाथ उनकी अंडरवियर में चला गया था और मैं उनका लंड सहलाने लगी थी.

बीएफ ससुराल?

उसने कहा- क्या तुम अपना कैमरा ऑन कर सकते हो?मैं एक मिनट के लिए तो सकपका गया. हाय दोस्तो, मैं आज आपके सामने एक सच्ची हिंदी एडल्ट स्टोरी प्रस्तुत कर रहा हूँ जो मेरी अपनी मम्मी की है. तो खाना बनाने के लिए हमने एक मेड भाभी रख ली थी, जो हमारे पड़ोस में ही रहती थी.

मैं अपने दोनों हाथ से उनकी एक चुची दबा रहा था और एक चूची के निप्पल को दांत से काट रहा था, जिससे उनको भी बहुत मजा आ रहा था. ऐसे ही जोर से रगड़ो आह…गुलशन जी समझ गए कि सुमन की चुत का बाँध टूटने वाला है, उन्होंने जोर-जोर से लंड को रगड़ना शुरू कर दिया और तभी सुमन की चुत से रस की फुहार निकलने लगी. इतना सब करने पर उसने कोई आपत्ति नहीं जताई क्योंकि मैं अपना हाथ उसकी चड्डी में डाल चुका था और उस मूसल जैसे लंड को मुट्ठी में भरने की कोशिश कर रहा था और उसके आंड भी खुजा रहा था.

इसलिए मैंने सोच लिया है कि मैं तुमसे शादी करूँगी और बाद में हम दोनों भाई बहन पति पत्नी बन कर सुहागरात मनाएंगे. जब वो कुछ देर बाद शांत हो गई, तब मैंने उसे चोदना स्टार्ट किया और थोड़ी देर बाद वो भी मजे लेकर चुदवाने लगी. बुर की चटाई तो चल ही रही थी कि बोनस में गांड में भी मामी का अंगूठा भीतर बाहर होने लगा था.

जब ट्रेन चल दी तो उसने डोर लॉक कर दिया और अपनी बर्थ पर जाकर लेट गया. मैंने मन समझाया और उसको घोड़ी बना के पीछे से उसकी चुत में लंड डाल कर चुदाई करने लगा.

मैं- और तुमने जो अपना दूध पिला कर मेरी जो प्यास बुझाई है, वो मैं कभी नहीं भूल पाउँगा.

तभी किसी ने मेरी भी चुत सहलाई। मैंने चौंक कर देखा तो दो लड़कियां मेरे भी अगल बगल में आ गयी थी.

हम दोनों भी तो तेरे साथ हैं, हम 3 लड़कियां इन 6 को आराम से संभाल लेंगी. लंड कभी उस के पेट के नीचे जांघों के बीच में चला जाता तो कभी उस की गांड के छेद पर रगड़ खाता. जितना तेज़ उस्मान माया के निप्पल खींचता, उतनी ही ताकत लगा कर माया उस्मान का लंड चूसती.

मैंने फिर से बूब पकड़ कर बेबी के मुँह में लगा दिया, लेकिन इस बार मैंने बूब नहीं छोड़ा और बेबी को आंटी के बूब पकड़ के दूध पिलाना शुरू कर दिया. तो उसने कहा- अमित नहीं बोलता?मैंने कहा- शुरू में एक दो बार कहा, मैंने मना कर दिया तो अब वो नहीं कहते हैं. तभी मैंने भाभी को गोद में उठा कर बेड पर चित्त कर दिया और नीचे से उसका साया उठा दिया.

फिर हम सब घर आये रात को, खाना बनाया एक बार फिर से चुदाई की और सो गये.

चाचाजी ने एक ही झटके में अपना 7 इंच लंबा लंड मेरी चुत में डाल दिया. संजय- ठीक है पूजा डार्लिंग वैसे आज तेरी चुत भी चमक रही है, इसको ठोकने में भी बहुत मजा आएगा. फिर कुछ देर बाद मेरा भाई अपनी मम्मी को बाँहों में लेकर नाचने लगा और मैं यश को… कभी यश मुझे किस करता तो कभी मम्मी को… कभी भाई मुझे किस करता तो कभी मम्मी को!धीरे धीरे हम सब पर नाच का खुमार चढ़ने लगा.

जीजू के पहले धक्के में उनका लंड आधा ही मेरी चूत में गया था कि मुझे दर्द होने लगा और मैं चिल्लाने लगी. सामने से आती हुई गाड़ी की रोशनी में चाचाजी अपनी हवसी नजरों से मुझे घूर रहे थे. ऐसे करने से बहूरानी कुछ ही देर झेल पाई और उसकी चूत का बांध टूट गया, वो भलभला के झड़ गयी और बदन को ढीला छोड़ के गहरी गहरी सांसें लेने लगी.

चाय पीने के बाद कुछ देर तक हम बातें करते रहे और अब हमारे लौड़ों में फिर से जान आने लगी थी और हम दोनों के लौड़े फिर से फड़कने लगे थे.

मैंने अपने जयपुर दौरे में विनीता को अपने लंड का स्वाद चखाने का संकल्प कर लिया चाहे इसके लिए लिए मुझे कुछ भी करना पड़े. क्या अंकल उनकी चूत चाटेंगे? ये प्रश्न मुझे परेशान कर रहा था।शाम तक मैं यही सोचता रहा.

बीएफ ससुराल वैशाली ने देखते ही कहा- इतनी जल्दी चुदाई भी शुरू कर दी?मैंने कहा- तुम्हारी यह फ्रेंड तो कई जन्मों की प्यासी है. जीजाजी ने बुआ को स्टोर रूम में जगह के बारे में बताया, बुआ स्टोर रूम में बिस्तर लगाकर खाना खाने चली गयी.

बीएफ ससुराल घर आने के एक दिन बाद मैंने अपने बिल्कुल लगे हुए मकान में एक नई भाभी को देखा, जो कुछ दिन पहले ही यहाँ रहने आई थीं. मूत का फव्वारा इतना जोर से उड़ा था कि मेरे चेहरे पर और मेरे मुँह में भी उसकी पेशाब आ गई थी.

जीजाजी अंदर आकर धीमे से बोले- बेड झाड़ लीजिए बुआजी!बुआ झुक कर बेड झाड़ने लगी… उनके भारी चूतड़ जीजाजी की जाँघों से टकरा रहे थे.

रेस वाली गाड़ी

मेरा लंड उसकी गांड के अन्दर चला गया और अगले झटके के साथ मेरा लंड उसकी गांड में काफी अन्दर तक उतर गया. अब मैं कल रात की मैं अपनी रियल सेक्स कहानी, माँ और बहन की चुदाई की, लिख रही हूँ. तो मैंने कहा- ठीक है, सुनो जो काम इस ब्लू-फिल्म में हो रहा है, वही मैं भी तुम्हारे साथ करना चाहता हूँ मतलब तुम्हें चोदना चाहता हूँ.

मेरा कद 5’5″ है, मेरी चूचियाँ मोटी मोटी हैं, मेरा रंग गोरा, मेरी गांड एक दम भरी हुई है. यह रंगीन दृश्य देख कर मेरी नीयत खराब होने लगी, मेरी कामुकता जागने लगी, मैंने तुरंत अपने मोबाइल का कैमरा ऑन किया और अपनी बहन की नंगी चूचियों की वीडियो बनाना शुरू कर दिया।फिर मैं काफी देर तक उसे देखता रहा. मेरा दोस्त इमरान, जो मेरा रूममेट भी था, वो अपनी गर्लफ्रेंड से रात में जब गर्म गर्म बातें करता था तो वो बातें सुन कर मेरा लंड बार बार खड़ा हो जाता था.

चूंकि हम लोग काफ़ी विदेश भी घूमे थे, ड्रेसिंग के मामले में काफ़ी फ्री थे, वो बीच पर बिकिनी में घूम रही थी.

वो बोले- तो फिर देर किस बात की? आ जाओ छत पर…मैं अपने कमरे से निकल कर छत पर गई तो मैंने देखा कि जीजू फिर से सिर्फ अंडरवियर में ही थे. इसे आप यहाँ से download करें!सेक्स से भरपूर मणिपुर की इंडियन सेक्सी लड़की अनामिका से हिंदी में सेक्स चैट, वीडियो सेक्स चैट करने के लियेदिल्ली सेक्स चैट गर्ल अनामिकापर आयें और मजेदार सेक्स की बातें करके मजा लें!. इधर रागिनी भी कामुक सीत्कारें लेने लगी- आआह हहह ओहहहह सर बहुत अच्छा लग रहा है आहहह.

बुआ ने आते ही दरवाजा बंद किया और चित लेट गयी, फिर उन्होंने अपने घुटने मोड़ कर अपनी साड़ी और पेटीकोट नीचे खिसकाई. चुदाई की कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि बेटी बाप को अपनी चुदाई के लिए कह रही थी, लेकिन बाप इसके लिए तैयार नहीं था. पर तभी उसकी नज़र काजल की चूचियों पर गई, जो बड़ी थीं, गोल-गोल थीं और ब्रा के अन्दर अभी भी कैद थीं, पर बाहर आने को मचल रही थीं.

उसने अपनी तारीफ से खुश हो कर मुझे फिर आज डिनर पर आमन्त्रित कर लिया. आज उसकी ये तमन्ना पूरी हो रही थी लेकिन ये पहली बार था इसलिए उसे भारी दर्द भी हो रहा था.

कुछ देर तक लिपकिस करने के बाद चाचाजी ने मेरे कान के पास आके धीरे से कहा- शाहीन मेरी जान अब तुम्हारी बारी है. वही चार अजनबी बाराती, जिन्हें मैंने खेतों की ओर जाते देखा था, दो दो के गुट में भाभी और बुआ को दबोचे हुए थे. तूफ़ान रुकने के बाद वो बोलीं- चल साले मेरी चूत चाट कर साफ कर… मैं तेरा लंड साफ करती हूँ.

उसने बेल्ट छोड़ दिया, अपना एक हाथ कमर पर रखते हुए स्टाईल में और हवस के स्वर में बोला- तो ले ना जान.

जब तक श्वेता यहाँ थी, वो दोनों बहनें अक्सरचुदाई की बातेंकरती थीं, पर जबसे श्वेता हॉस्टल गई तब से वो अकेली पड़ गई थी. पूरे रूम में हम दोनों की ‘अह्ह्ह… ओह्ह्ह…’ की कामुक आवाजें गूंजने लगीं. काफ़ी देर तक ऐसा होने के बाद मेरे साथ जो हुआ, मैं कभी सोच भी नहीं सकता था.

क्या होगा… ये सोच कर सारी रात जाग जाग कर गुजारी, नींद आने का नाम ही नहीं ले रही थी. मक्खन सी बुर का कसैला नमकीन स्वाद पाकर लंड फिर से आकार लेने लगा था.

फिर 15 मिनट बाद उन्होंने मुझे छत पर चलने को बोला, वहाँ काफ़ी कम जगह थी. अब मैंने उसे बिस्तर में लिटा दिया और खुद भी उसकी साइड में उसकी तरफ लेट गया. फाइनल बी सी ए।उसने कहा- ग्रेट…उसने मुझे बताया कि वो भी कोई सॉफ्टवेयर कंपनी में डॉक्यूमेंटेशन करती थी। और ऐसे हम लोग सॉफ्टवेयर की बातें करने लगे। धीरे धीरे मैंने उसे उसका ईमेल आई डी पूछा.

ब्लू पिक्चर नंगी तस्वीरें

फिर मैंने भी कहा- हां रियु, ऐसा लगता तो नहीं कि कोई किसी पे यहाँ जबरदस्ती कर रहा है, मगर जैसा मेरी ने कहा कि एशियाई लड़कियों की यहाँ डिमांड है तो शायद हम दो बाहर हैं और 3-4 अंदर दिख रही हैं, तो क्या हम सब सह पाएंगी?रिया ने कहा- पता नहीं! मगर मुझे पूछेगी तो कोशिश करते है.

एक बार यदि ये खड़ा हो जाए तो इसे सम्भालना मुश्किल हो जाता है, इसलिए मैं वहाँ से चला आया. जीजू ने मुझे घोड़ी बनने को कहा और फिर उन्होंने पीछे से अपना लंड मेरी चूत में घुसा कर मुझे चोदने लगे. एक हाथ से नीता की गोरी जाँघें और दूसरे से सीना सहलाते हुए नेक किस करते हुए पप्पू बोला- देख नीता, जब तक तू मुझे नहीं बताती कि वो लड़के क्या छेड़ते हैं तुझे, मैं तुझे नहीं छोड़ूँगा, ऐसे ही तेरा जिस्म सहलाता रहूँगा.

तो मैंने भी अपना लंड आगे करके उसके होंठों से छुआ दिया और उसने बड़े प्यार से मेरे लंड पे किस कर लिया और धीरे धीरे मेरे लंड को चूसने लगी. आज पहली बार मुझे किसी लड़की के शरीर के इतने नजदीक जाने का मौका मिला था. सेक्सी सुनने वाली कहानीसारा पानी निकल कर मेरी छोटी सी चूत से बाहर बह रहा था, मैं उनकी गोद में ही निढाल हो रही थी.

अब वो पप्पू को अपने सीने का पूरा मुआयना करवाती हुई बोली- हुम्म्म्म उम्म्म प्लीज़ और चूस… और चूस मेरे मम्मे और मसल भी उनको पप्पू. कुछ देर लंड चूसने के बाद कविता को मैंने घोड़ी बना दिया और खुशी की चूत पर कविता का मुँह लगा दिया.

अगर कहीं काट लेती तो क्या होता?मैं उनके मुँह से लंड सुनकर मन ही मन मुस्कुरा गया. बर्तनों के खनकने की आवाज से भाभी उठ गई और अंदर के बर्तन न देख कर समझ गई कि चंदा ने सब कुछ देख लिया है। खैर, भाभी ने मेरे ऊपर चादर डाली और बाहर गई। फिर वे चंदा से बात करके आई। औरतें आपस में खुली होती हैं. मेरा आनन्द हर सीमा को तोड़ गया और इसके साथ ही मैं हब्शी की तरह मामी की गांड को मारता रहा.

कमरे में अँधेरा था तो मैंने मोबाइल की लाइट को जला कर देखा तो वहां सभी मेरे ननिहाल से आये लोग सोये हुए थे. कुछ ही देर में जीजू का भी पानी निकल गया और हम दोनों थक कर बिस्तर पर ही लेट गए. लंड की मिट्टी चूचों की रगड़ से साफ़ हो चुकी थी तो मैंने तुरंत अपना लंड निकाल कर उसके मुँह में पेल दिया और वो अपने हाथ से उसे तेज हिलाने लगी.

सुमन- आह पापा आह… चाटो… मैं गई उफ़फ्फ़ चूसो आह… ज़ोर से करो… मेरी चुत पापा आह… चाट लो.

तभी मामी ने मुझे एक जालीदार ब्रा दिखाते हुए बोला- कौन सी डिज़ाइन लूँ बताओ ना?मैंने कुछ नहीं कहा, मामी ने 2 सैट ले लिए. फिर उसने कहा- थैंक्स अनीता, इससे अच्छा और दूसरा गिफ्ट नहीं हो सकता था.

अंशु के पास इंदौर जाने के अलावा कोई चारा नहीं था। तो अगले ही हफ्ते सुबह साढ़े आठ बजे की ट्रेन पकड़ कर हम इंदौर चल दिये।दोपहर करीब साढ़े ग्यारह बजे हम दोनों मोहन के दफ्तर पहुंच गए, वहां पर पता चला कि वो आज देर से आएगा। यह बात पहले से ही तय थी कि मोहन हमें नहीं मिलेगा. मैंने अपनी एक छोटी सी सवालिया कहानी में आपको अपनी कामना को लिखा था. मेरी चूत अन्दर तक कोयले की तरह जलने लगी है, अब तो हे भगवान माफ़ करना.

वैसे कहानी में आगे बढ़ने से पहले मैं आप लोगों को अपने बारे में बता दूँ. जब बेबी के रोने की आवाज से आंटी नहीं उठीं, तो मैंने आंटी को जगाने की कोशिश की, लेकिन बेकार. उसने हंस कर कहा- नहीं, मुझे हिन्दी के गंदे शब्द पसंद नहीं हैंमुझे निराशा हुई और हम बात भूल गए.

बीएफ ससुराल हम एक दूसरे को सेक्सी नॉटी स्माइल देते हुए इरफान को बेड तक ले जा रहे थे. पर एक दिन दोपहर लंच के बाद मामी को मेरा लंड चूसते हुए अचानक मामी की बेटी अर्चना ने हम लोगों को रंगे हाथ पकड़ लिया था.

मां बेटे की सेक्सी मूवी

मेरा दिल कह रहा था कि इस अंडरवियर को अपने साथ ही ले जाऊँ और हर रात इसे मुँह पर ओढ़ कर ही सोऊँ. लेकिन दोस्तो, मुझे इन सब बातों से कोई फर्क नहीं पड़ता कि कौन किससे चुद रहा है. कुछ देर लंड चूसने के बाद अर्चना बेड पर लेट गई और उसने अपने दोनों पैर फैला लिए और मुझे चूत चोदने के लिए बुलाने लगी.

उसने जल्दी से मेरे सर को पकड़ के मुझे ऊपर उठा लिया और मुझे किस करने लगी. वो उठी और मेरी तरफ अपनी मोटी सी गांड करके कुतिया वाले आसन में बैठ गयी। एक आदमी पीछे से आया और अपना थूक से भीगा हुआ लंड उसकी चूत में डाल दिया।दूसरी औरत भी उठी और उसके साथ ही उसी आसन मैं बैठ गयी और दूसरे आदमी ने अपना मोटा काला लंड उसकी गांड में पेल दिया। दोनों ने एक दूसरे को देखा और ऊपर हाथ करके हाई फाइव किया और एक आदमी दूसरे से बोला- यार, तू सही कह रहा था. बीपी सेक्सी वीडियो जंगल मेंचुदते चुदते मैं बेहोश हो गई मगर वो हवस के पुजारी मेरे बेजान जिस्म से ही अपनी प्यास बुझते रहे और फिर थक हार कर मेरे आजू बाजू नंगे ही सो गए.

मैं मम्मी के पीछे पीछे चल रहा था, चारों तरफ गहरी ओर बड़ी बड़ी सरसों खड़ी थी जिसमें से आदमी ऊपर हाथ करे तो भी नहीं दिखता था, इतनी बड़ी बड़ी सरसों थी.

मैंने भी बाथरूम में अपना लंड साफ़ किया, उस पर थोड़ी क्रीम लगाई और आकर बेड पर लेट गया. आप उसे देख कर अच्छी तरह से रोज सो तो पाओगी।वो तुरंत मेरे पास आई और मुझे किस करने लगी, मैं भी उसे किस करने लगा, उसके होंठ थोड़े मोटे और रसीले थे.

मैं बहुत खुश हूँ कि तेरी वजह से मैं सेक्स का कुछ नया अनुभव पूरा कर सकी. मैंने मन समझाया और उसको घोड़ी बना के पीछे से उसकी चुत में लंड डाल कर चुदाई करने लगा. ”इन सेक्सी बातों से वो फिर गर्म होती जा रही थी, उसकी चूत भी पानी छोड़ रही थी; मैंने उसकी चूत पर अपनी नाक रख दी, उसकी महक मुझे पागल कर रही थी.

समीर मेरे लंड की मालिश करने लगा, जिससे हम दोनों की सांसें गर्म होने लगीं.

उसने मुझसे भी फ्रेश होने को कहा और मैं भी बाथरूम से फ्रेश हो कर बैठ गया. अब मैंने उन दोनों को बेड पर लिटा कर उनकी सलवार और कुर्तियाँ निकाल दीं. उसने तुम्हें अपनी बेटी नहीं माना ना… अब उसकी सग़ी बेटी के साथ ऐसा करूँगा कि वो समझ जाएगा कि बेटी का दर्द क्या होता है.

सेक्सी व्हिडीओ पुराशाम को दीदी खाना खाने के बाद मेरे कमरे में आईं और कहने लगीं- अपनी पैन्ट उतारो. मैं अपना लंड अर्चना की चूत के छेद के पास ले जाकर डालने की कोशिश करने लगा.

अंग्रेज़ी मीडियम

वीरू- यार तू अपना बदला बाद में लेते रहना, पहले हमको मज़ा करवा देना बस. उधर कॉलेज में टीना ने संजय को बता दिया कि सुमन क्यों नहीं आई उसके अलावा वहां कुछ खास हुआ भी नहीं… बस टीना ने फ्लॉरा को अपने साथ आने का बोल दिया और दोपहर को वो दोनों घर आ गईं. उन्होंने मुझे किस किया क्यूंकि उन्हें भी पता था कि मैं उनके बड़े लौड़े को बिना दर्द के नहीं ले सकती हूँ.

वो चूचों पर मेरा हाथ पाते ही उछल पड़ी और कामुक आवाज़ निकालने लगी- आह ईयाह. मैंने झुक के देखा और चूम लिया चूत को… चूत में से मेरे वीर्य और उसके रज का मिश्रण धीरे धीरे चू रहा था जिसे बहूरानी ने पास रखी नैपकिन से पौंछ दिया. मैं ऐसा घटिया आदमी नहीं हूँ, जो हुआ उसको एक हसीन याद बना कर रखूँगा.

अब उस आदमी ने मुझसे पूछा- तुम मेरी बीवी को चोदना चाहोगे?मैंने पूछा- क्या मैं जान सकता हूँ कि ये सवाल आपका है या आपकी बीवी का है?उसने हंस कर कहा- सवाल मेरा है मगर लालसा उसकी है. हम दोनों ने एक दूसरे को रगड़-रगड़ कर नहलाया और एक दूसरे के लंड को भी नहलाते गए. कुछ ही पलों में हम दोनों की कामुकता बढ़ गई और मैंने उसका टॉप उतार दिया.

किचन में आकर मैंने चाय बनाई, तब तक मीना बच्चों को छोड़ कर वापस आ गई. सुमन को यकीन नहीं हुआ कि इतना बड़ा लंड पूरा चला गया मगर गुलशन के समझाने पर वो मान गई.

दोनों चूचियों को दो लड़कियाँ ऐसे पी रही थीं मानो कुतिया के दो पिल्ले दूध पी रहे हों.

मेरा लंड तो पहले से ही खड़ा था, क्योंकि रास्ते भर तो वो लंड को मसलती रही थी और उसके मुँह में जाते ही वो और अकड़ गया. வ்வ்வ் தமிழ் செஸ் கமसच कहूँ तो यह बात मुझे भी आज तक पता नहीं थी कि मैं मम्मी की चूत से नहीं निकला हूँ. वेब सीरीज वीडियोउससे मिलने के बाद मेरा लंड पूरी पार्टी में टनटनाया ही रहा और मैंने पूरे समय उसका चक्षुचोदन किया. मुझे अपनी चूत चुदवाने की तलब सी लगी रहती थी लेकिन कोई लंड मेरी चूत को मिल नहीं रहा था.

चूँकि मैं स्टेशनरी की थोक सप्लाई करता था लिहाजा मैंने उससे उसके एनजीओ में स्टेशनरी सप्लाई करने की पेशकश की और उसे भारी रियायत देने का ऑफर दिया.

समीर कभी मेरे होंठ चूमता तो कभी मेरे चूचे और कभी कभी मेरे लंड को भी सहलाता. उसने किसी तरह अपना होंठ मेरे होठों से मुक्त कराया और इतने देर में पहली बार बोली- प्लीज लीव मी. मैं राज गर्ग एक बार फिर से हाज़िर हूँ दोस्तो, माफी चाहूँगा स्टोरी देर से लिखने के लिए!आप सभी जानते हो कि मैं वाइफ स्वैपिंग क्लब चलाता हूँ जिसमें बहुत सारे कपल सदस्य हैं जो बीवियों और पतियों की अदला बदली का मज़ा लेते हैं.

दोस्तो, मेरा नाम सैम है (बदला हुआ नाम), मैं उदयपुर राजस्थान का रहने वाला हूँ. मैं पिछले एक साल से इस साईट पर हूँ और मैंने बहुत सी चोदन कहानियां पढ़ी हैं, सभी बहुत पसंद आईं. तभी मुझे कुछ फील हुआ कि मेरी पेशाब आ रही है तो मैं होटल के टॉयलेट में गई.

काला मेहता का उल्टा चश्मा

कुछ मिनट तक संजय ज़ोर-ज़ोर से पूजा की गांड में लंड अन्दर-बाहर करता रहा. पर मुझे ये नहीं समझ में आया कि मौसी उंगली को अन्दर-बाहर क्यों कर रही थीं और ऐसा करने से वो हाँफ़ क्यों रही थीं. पापा की मौत के बाद मम्मी से भीख की तरह पैसे मांग मांग कर तंग आ चुकी थी.

अब मैंने पेशाब से गीले लंड को चूत से निकालकर पिंकी की गांड के होल में घुसा दिया.

एक मिनट से भी कम समय में भाभी आदमी की गोद से उठ कर वापस पीछे चली गईं.

कुछ देर के बाद हम दोनों अलग हुए लेकिन अभी पांच मिनट भी नहीं हुए थे कि मेरे लंड ने पुनः अकड़ना शुरू कर दिया. उसका नीचे का होंठ थोड़ा मोटा होने के कारण चूसने में बड़ा मजा देता है. विधवा औरत की सेक्सीमगर आप कहो तो मैं आपको बना लूँ?तो भाभी बोलीं- तो बना लो ना रोका किस ने है?मुझे कुछ हौसला आया, मैंने बोला- आपको तो पता ही है कि लोग अपनी गर्लफ्रेंड के साथ क्या करते हैं.

मेरा भाई और बहन जो दोनों मुझ से छोटे हैं, दोनों मेरी मम्मी के साथ मामा जी के घर चले गए. मैं भी ऊपर जाने के लिए बाहर निकला, पर ना जाने क्यों मेरे कदम बाहर गेट पर जाकर ही रुक गए. इस हिंदी सेक्स की कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि विक्रांत के बेटे को उसकी भाभी एडल्ट मूवी दिखाने ले गई है.

कुछ दिनों के बाद मेरे मोबाइल पर एक कॉल आया और उसने कहा कि वो मेरी सर्विस लेना चाहती है. हम्म…”उसने कहा- कर ले इससे, तुझे अपने इस जिस्म का असली मजा आ जाएगा.

तू तो ऐसा बोल रहा है जैसे तूने बहुत चूतों को चोदा है, तेरी स्टाइल से और तेरे अंदाज़ से ये भी मानना ही पड़ेगा, पर मैं घर जाके नहीं चुदवाऊँगी, मुझे यहीं चुदना है.

वो फिर भी नहीं लगा तो उन्होंने मुझसे कहा- जा उसी दुकान में जाकर बदल ला. जवान लड़की की चुदाई की मेरी सेक्स स्टोरी कैसी लग रही है, मुझे कमेन्ट भेजिए. यह घटना कोई प्यार की नहीं, बेवफाई की हिया, सेक्स की है, लालसा, वासना की है.

करीना कपूर की एचडी सेक्सी वीडियो उसने मेरे दोनों पैरों को फैला कर अपने लंड का सुपारा मेरी चुत के बीच रख दिया. अब वो बहुत ही अच्छे से मेरा लंड चूसने लगी और मैं उसकी चुत चाट रहा था.

लड़के का नाम अतुल है उम्र 25 साल, दिखने में स्मार्ट है और लड़की का नाम बरखा है और इसकी उम्र 22 साल है. मैं- क्यों? तुम लोग एक साथ नहीं जा रही क्या?फरीदा- अरे नहीं, ये तो नरही में रहती है. मैं दो मिनट तो शांत पड़ा रहा, फिर उसके मुंह पर हाथ रख कर दुबारा धक्का दिया.

इंग्लिश सुदा सुदी

वो अपनी गांड को जोर-जोर से हिलाने लगी और मेरा लंड और जोर से चूसने लगी. मैंने चाचाजी को खींच कर अपने ऊपर ले लिया और हम दोनों ने एक दूसरे के होंठ चूसना शुरू कर दिया. तब मैंने कहा- प्लीज चाचा, अब अपना लंड मेरी चूत में डाल दो, मुझसे रहा नहीं जा रहा, प्लीज जल्दी चोदो, मैं तुम्हारी रंडी आरती तुम से चुदवाने को मरी जा रही हूं, पूरा लन्ड डाल दो मुझे पागल कर दो चाचा, फाड़ दो मेरी चूत, नहीं मैं मर जाऊंगी, मुझे चोदो जम के चोदो, अंकल लोग आप में से कोई भी जल्दी से अपना लौड़ा डालो.

मैं इस समय की तौहीन नहीं करना चाहता तो पाठकों से माफ़ी चाहूँगा कि ‘आह ऊओह. करीब 12 बजे मेरे रूम की डोरबेल बजी, मैंने डोर खोला तो सामने चाचाजी इरफान को संभाले हुए खड़े थे.

अब मैंने और जीजू ने 69 पोजीशन बनाई, वो मेरी चूत को चाट रहे थे और मैं उनके लंड को चूस रही थी.

मुझे तो लगता था कि मेरी दुनिया पीटर तक ही सिमटकर खत्म ही जाएगी। मगर तेरी वजह से आज इतने सारे मजे कर रही हूँ. और बोली- शायम तुम मुझे रंडी टाईप की औरत समझते होगे लेकिन क्या करूँ. मेरी ये हालत मौसी से देखी नहीं गई, सो उन्होंने मुझे छोड़ दिया और बोलीं- तुम्हें जवान होने में अभी कुछ दिन और लगेंगे.

बोलो खयाल रखोगी ना?रेखा- हाँ पिंकी, जरूर रखूंगी अपने बेटीचोद बाप का ख्याल… पहले चुदाई होने तो दो. !मैंने उसकी बात का जवाब देते हुए कहा- हाँ रात काफ़ी देर तक हम बातें करते रहे सो उठने में देर हो गई. तो उसने मेरा लंड मुंह में ले कर चूसना शुरू कर दिया।हाय… मैं तो मानो सातवें आसमान पर था। मेरी सिसकारियां निकलने लगी- उम्म्ह… अहह… हय… याह… चूस यार कनिका… मजा आ रहा है.

सुन रूपा इस अंधेरे में किसी को कुछ नहीं दिखता, वैसे भी इस वक्त कोई भी आता जाता नहीं यहाँ से… इसलिए डरना तो बिल्कुल नहीं रानी.

बीएफ ससुराल: तभी एकदम से दीपक ने खड़े होकर अपना काला लंड हिलाया और मामी के मुँह की तरफ लपका. बुर के चारों तरफ उग आई सुनहरी मखमली झाँटों को सहलाने का अपना ही मजा है.

मैं हंस कर बोला- बहुत फड़क रही है चूत तेरी, क्यों ठरकी हो रही है साली. [emailprotected]कहानी का दूसरा भाग :रिश्तेदारी में आई लड़की को पटा कर चोदा-2. मैंने मॉम को बताया तो माँ ने कहा- बेटा, अपना अन्दर ही डाल दे, अन्दर ही झड़ जा.

मुझे ऐसा लग रहा था कि जैसे वो बिना मेरे सारा माल पिये नहीं रुकेंगी.

अब मैंने अपनी पत्नी के सर को बिस्तर पे टिकवा दिया और गांड को और ऊँचा कर दिया. वो टीवी देख रही थी उसने गुलाबी रंग का पंजाबी सूट पहना था, जिसमें वो एक सेक्स-बम लग रही थी. कुछ देर बाद वो मेरे ऊपर चढ़ गई और उसने मेरे लंड को अपनू चूत में लेकर लंड की सवारी कराणे लगी.