बीएफ बीडियो

छवि स्रोत,तेलुगु सेक्सी वीडियो फुल एचडी

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स एक्स एक्स बीएफ वाला: बीएफ बीडियो, मुझे विचार आया कि रजाई को पूरी तरह ढ़क दूं तो आवाज कम हो जाएगी।उठकर मैंने सावधानी से उनकी रजाई पकड़ी और खींचकर मुंह तक ओढ़ाने लगा.

ब्लू पिक्चर सेक्सी डाउनलोडिंग

एक दिन की बात है, मैंने उल्फ़त से कहा- आज स्कूटी तुम चलाओ … मैं पीछे बैठता हूं. नरसी की सेक्सी फिल्ममैंने कहा- हैलो! क्या? क्या कर रहे हो?”उसने मुस्कराते हुए कहा- तुझे चोदने के लिए पैसे दे कर आ रहा हूं, बस मैं भी अपना कार्यक्रम चालू कर रहा हूं.

हमें भी रास्ते में कोई बस नहीं मिली इसलिए यहां पर रौशनी देख कर शेल्टर के लिए इस बिल्डिंग में आ गये. बढ़िया वाला सेक्सी वीडियो एचडीहमारा गाँव का घर बहुत बड़ा है और गाँव में केवल भैया भाभी और चाचा ही रहते हैं बाकी सब बाहर जॉब में हैं.

भाभी मुस्कुरा दीं और कहने लगीं- अच्छा ढंग की नहीं मिली … वैसे बेढंग की तो कई सारी मिल गई होंगी.बीएफ बीडियो: मतलब उस शै का नाम प्रिया था और यह पता चलते ही मैं खुश हो गया कि चलो ज्यादा नहीं सही … नाम तो पता चल गया.

जब किस करने से भाभी ने कुछ नहीं कहा तो मैंने अगला निशाना उनके कान और गर्दन को बनाया.वो बार–बार अपनी पीठ उठा–उठा कर अपनी बुर को उसके मुंह में दबाने की कोशिश कर रही थी।उस लड़के का लंड अब पूरा खड़ा हो गया था। उसका लन्ड बहुत बड़ा था।फिर वो लड़की उसके लन्ड को पकड़ कर जोर जोर से चूसने लगी.

सौगंध सेक्सी - बीएफ बीडियो

भाभी के नर्म जिस्म को छूते ही लंड अकड़ गया और उसके टोपे को गीला होते देर न लगी.देर रात को मैंने कुछ आहट सुनी और मन किया कि सुना जाए क्या बातें चल रही हैं.

पहली चुदाई बहुत मजा आया … सच में!उसके बाद हम दोनों चिपक कर सो गये सुबह चार बजे का अलार्म लगाकर क्योंकि सुबह अपनी अपनी रजाई में जाना था. बीएफ बीडियो ये कह कर आंटी अपनी यादों में खो गईं और मैं उनके मुँह से निकले ‘लौंडे.

तब अम्मी ने ज़ोहरा को कहा- ज़ोहरा, तू आज से अकेली और अलग कमरे में सोएगी.

बीएफ बीडियो?

इतना सब होने के बाद भी उसने हमारी दोस्ती की इस मशाल को ठंडा नहीं पड़ने दिया. साथ ही मैं भाभी की गांड के ऊपर मारने लगा और बोलने लगा- साली रंडी ऐसा क्यों किया मेरे साथ?भाभी बोलने लगीं- आज के दिन तुम पूरे के पूरे मेरे जो थे … चलो फिर से शुरू हो जाओ. नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम लवजीत है और मैं जोधपुर शहर का रहने वाला हूं। मेरी उम्र 27 साल है.

तभी अचानक से अमित के मुंह से गाली निकली- मज़े ले रही है रांड मोटे लंड का?मैं साथ में बोली- हां, बहुत मज़ा आ रहा है मादरचोद मैनेजर … चोद इस रांड को अपने मोटे लंड से!यह सुन कर अमित जैसे पागल हो गया. आज इसके हुस्न के गहरे समुन्दर में गोता लगा ही लूंगा और यदि चारू ने कोई आनाकानी की तो सॉरी बोलकर माफी मांग लूंगा. पोर्न सेक्स वीडियो में देखते हुए मुठ तो कई बार मारी थी लेकिन असल में चूचियों को पीने का मजा कुछ अलग ही होता है.

धीरे धीरे चुदते हुए अब वो भी गर्म हो गई थी और फिर से आह्ह … आह्ह … करते हुए मेरे लंड को गपागप गपागप अंदर बाहर लेने लगी. अब आप तो जानते ही हैं कि सर्द रात में जब अनजान लेडी सामने हो और शादी का माहौल हो तो वासना कितनी बढ़ जाती है. मैंने उनसे फिर से मेरे बेटे को स्कूल में पढ़ने आने देने के लिए कहा.

मुझे भी आभास था कि एक न दिन तो ये बात बाहर निकलेगी ही, मगर इतनी जल्दी निकलेगी उसके बारे में मैंने नहीं सोचा था. मेरे दोस्त की बीवी की चुदाई की कहानी के पहले भागमैं हुआ दोस्त की दुल्हन की जवानी का दीवानामें मैंने आपको बताया था कि संदीप की नयी नवेली बीवी पर मेरा दिल आ गया था.

थोड़ी ही देर में उसने अपना पानी मेरे मुँह में छोड़ दिया और उसका सारा पानी मैंने गटक लिया.

अब आप ही बताओ मम्मी मैं उस घर में कैसे खुश रह सकती हूँ?मैं उसकी बात सुन रही थी.

ट्रेन आ जाने पर मैंने भाभी को बताया तो भाभी खुद ही अपनी कार से मुझे लेने आ गई थीं. कुसुम ने भी मेरी इच्छा समझ ली थी और उसने खुद अपना वन पीस निकाल दिया. भाई ने मुझको खींच कर अपनी बांहों में ले लिया और पागलों के जैसे किस करने लगा.

उसकी इस अदा से मैं तो घायल ही हो गया। चारू आज मुझे हुस्न की मलिका दिखाई दे रही थी. कोई आधे घंटे के बाद उसको फिर से अपनी चूत में लंड लेने का मन करने लगा. मन किया कि साली को अभी पकड़ कर चोद दूं।कहानी पर अपनी राय देना न भूलें.

वो एकदम से चिल्लाई- आह्ह ओह्ह … पूरा डालो न… आह्ह।मैंने एक बार फिर से धक्का लगाया और उसकी चूत में पूरा लंड उतार दिया.

उस रात मैंने उस लेडी को तीन बार चोदा और तीनों बार उसने मेरा वीर्य पिया. कुछ देर बाद उसकी मम्मी चाय बना कर लायी और मैं चाय पीते हुए उनसे बातें करने लगा।उनसे मैंने पूछा- मम्मी जी, कैसी लगी आपको मेरी चुदाई?तो वो बोली- बहुत अच्छा लगा. मैंने चूत खोल दी थी तो उन्होंने मेरी बुर की फांकों पर अपना लौड़ा टिका दिया.

सागर मामी के चूत को भोसड़ा बना रहा था और मामी भी अपने पूरे जोश में सागर का लन्ड भकाभक अपने अंदर लिए जा रही थी।बिना झड़े सागर बोला- एक बार गांड की सील तोड़कर फिर चूत मारूंगा आपकी!इस पे मामी तैयार हो गयी. तो वो तुरंत ही मान गई।मेरी तो लाटरी लग गई, मैं बहुत ही खुश हो गया।फिर मैं उनको मेरे रूम में ले गया और तुरंत दरवाजा बंद कर दिया।दरवाजा बंद करते ही मैंने सासु माँ पर चुम्बनों की बारिश ही कर दी. एक मिनट बाद भाभी बोलीं- अब मत तड़फाओ … चोद दो मुझे अपने लंड से … ठोको.

यूं ही कंधों पर खुले पड़े हुए थे। बालों में हेअरकण्डीशनर किया हुआ था शायद जो जबरदस्त मादकता फैला रहे थे।मैं पैंट पहन रहा था और भाभी बार बार मेरे लंड की ओर झांक रही थी.

कुछ देर तक तो वो उसकी चूचियों को दबाती रही फिर उसने शिल्पी की नाइटी उसकी जांघों तक उठा दी. मेरे मुँह में उसकी चुत की फांकें रस छोड़ रही थीं और उसके मुँह में मेरा लंड अपनी कबड्डी खेल रहा था.

बीएफ बीडियो कुछ देर के आराम के बाद मैंने अपना लंड उनके मुँह में डाल दिया और लंड चूसने के लिए कहा. हैलो फ्रेंड्स, आज मैं इस सेक्स कहानी में आप लोगों को अपनी दो छोटी बहनों के साथ सेक्स रिश्ते के बारे में बताने जा रहा हूँ कि कैसे मैंने सेक्सी बहन की चूत मारी.

बीएफ बीडियो मेरे मन में उनसे डर था और वह मुझे धमका के रखते थे कि यदि मैंने इस बात का जिक्र कहीं किया तो वे मुझे बहुत पीटेंगे और मेरी शिकायत करेंगे. मेरी सच्ची हिंदी सेक्सी चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे बड़े भाई ने छोटी बहन को चोदा.

मुझ में और हिम्मत नहीं रही।मैं उसके ऊपर आ गया और मस्ती से चोदने लगा.

कन्नड़ बीएफ सेक्स

यानि दीदी के दोनों बड़े-बड़े बूब्स दबा रहा था और निप्पल चूस रहा था. पहले अंकल ने सुपारा मेरी गांड के छेद में फंसाया, तो मेरी आंखें फटने लगीं. माँ ने उसके लंड को पकड़ा और बोली- सच में बहुत गर्म है तुम्हारा लंड!तब माँ ने कहा- कमरे के अंदर आओ.

मैं अपनी जिन्दगी के इस दर्द को आप लोगों के साथ बड़ी ही हिम्मत के साथ बांट रहा हूं. लेकिन इस बार चाची भी कुछ बदली हुई सी लग रही थी।ऐसे ही एक दिन मैं सुबह मेरी छुट्टी होने की वजह से चाची के घर चला गया. इसके बाद अंकल ने नंगी दीदी को नीचे लिटा दिया और फिर मेरा हाथ पकड़ कर उसकी चूत पर सहलाने लगे.

दोस्तो, मैं सोनम एक बार फिर से अन्तर्वासना पर अपनी जंगल में सेक्स की कहानी लेकर आई हूं.

साथ ही में मैंने धक्कों की स्पीड बढ़ा दी और उसकी चूत में ही अपना वीर्य छोड़ दिया।फिर निशा ने मेरे लंड को अच्छे से चाटकर साफ कर दिया। इस बीच वो दो बार झड़ चुकी थी।उस दिन हमने दो बार और अलग अलग पोज़ में चुदाई की, मैंने उसे बगल में लेटाया और हम वहीं पर सो गए. दस मिनट पेलने के बाद वो पूरी तेजी से कमर हिलाने लगे और ‘आह आह …’ करते हुए मेरी गांड में झड़ गए. मैंने अपनी गांड चुदाई की शुरूआत कैसे की? चचा ने मेरी गांड कैसे मारी.

आखिर जैसे ही मामी की चूत का पानी छूटा, सागर ने एक ज़ोर के झटके में अपना पूरा लन्ड उनकी चूत में डाल दिया. प्रियंका भाभी भी चाची की तरह मेरी पीठ के साथ चिपक कर बैठी थीं और मुझसे बोल रही थी कि ये अच्छा काम हो गया कि तुम्हारी चाची ने आने मना कर दिया. एक बार शायद उनको इस बात का अहसास हो गया था कि मैं उनके मटकते हुए चूतड़ों को देखता हूँ.

धीरे से मैंने उसका कुर्ता भी ऊपर उठा कर निकाल दिया अब वो सिर्फ ब्रा में मेरे सामने खड़ी थी। अब वो भी जोश में आ गयी और उसने भी मेरी टीशर्ट और जिंस निकाल कर मेरे लन्ड को अंडरवियर के ऊपर से पकड़ कर खेलने लगी।मैं उसे बिस्तर पर लेटाकर उसे ऊपर से नीचे तक चूमने लगा जिससे उसकी मादक आवाज आना शुरू हो गयी. उसके बाद रात को मैंने अपनी सेक्सी कामवाली के साथ और क्या क्या किया और कैसे उसके गदरीले जिस्म के साथ खेल खेलकर मजे लिये वो सब मैं आपको अपनी दूसरी कहानी में लिखूंगा.

अंकल ने एक तेज आवाज के साथ अपने लंड का वीर्य उनकी गांड में डाल दिया. इसलिए उन्होंने मेरी नंगी मॉम को गोद में उठा लिया और दिनेश अंकल के पास ले आए. मैं सोच रहा था कि वो भी शायद मेरे लंड के साथ ऐसा ही करेगी लेकिन उसने लंड नहीं चूसा.

थोड़ी देर बाद शनाज़ बावर्चीखाने से बाहर आई और मुझे आंखों के इशारे से छत पर जाने को कहा.

उसके मुंह से कराहटें निकल गयीं- आह्ह … अम्म … चोदो अब … ओह्ह … चोद दो मेरी चूत को. मैंने जैसे ही नज़र नीचे झुकाई, प्रिया भाभी ने मुझे मेरी कॉलर पकड़ कर मुझे अपनी ओर खींचा और मुझे किस करते हुए लात मार कर दरवाज़ा बंद कर दिया. उसकी पूरी फैमिली कुछ दिनों के लिए गांव गयी थी और उसके घर की चाबी हमारे पास थी.

लेकिन जब सोनल ने काजल को बताया, तो काजल ने सोनल से कहा था कि प्रेम के साथ मेरी सैटिंग करवा दे. फिर उसने मेरे माल को अपने लंड पर लगाया और एक बार फिर से मेरी गांड में अपना लंड पेल दिया.

अब वो ब्लाउज और चड्डी में थी। उसको शर्म आ रही थी तो मैंने उसे सहज किया. निशा भाभी- थैंक्स क्यों? मेरे पास भी तो आप का नम्बर है न!मैं- ओके बाय. जैसे ही उस आदमी का लण्ड अंदर मेरी गांड में गया मैं दर्द से तड़प उठी.

हिंदी कुमारी बीएफ

मैं अभी भी नग्न अवस्था में नीरज के गोद में बैठी थी और उसका लण्ड अभी भी मेरी चूत में था.

मैम के कान को मजे से चाटने लगा, जिससे उसकी सिसकारियां और तेज हो गईं. सुनीता ने इस पर कहा- क्यों? ऐसा क्या प्यार?शकील ने सुनीता को कहा- मैं बचपन से यहीं रहा हूं और मेरी मामी मेरी सारी बात जानती है. चारू हंसते हुए बोली- क्या नाम रखें फिर आपका?मैं- दीवाना …ये सुनकर वो जोर जोर से हंसने लगी।इस प्रकार मेरा और चारू का हंसी मजाक होता रहता.

अपनी किस न तोड़ते हुए मैंने हाथ पीछे ले जाकर उसकी ज़िप सरकानी शुरू कर दी. फिर मैं अपने लंड को उसकी गांड पर चलाने लगा, जिससे वह उत्तेजित हो गई और अन्दर डालने के लिए कहने लगी. फर्स्ट सुहागरातउनके हाथ मेरी चूचियों पर आ गये और वो मेरे ऊपर झुककर मेरी चूचियों मसलने लगे.

मेरी बड़ी बहन की चूत चुदाई की कहानी के पिछले भागमेरी आपा की औलाद की ख्वाहिश-2में अपने पढ़ा कि कैसे गलती से मैंने अपनी आपा की चुदाई कर डाली थी और मैं समझ रहा था कि मैंने अपनी बीवी की चुदाई की है. मैंने उनसे पूछा- आपके घर में क्या कोई नहीं है?उन्होंने मुझे बताया कि वो इधर अकेली ही रहती थीं.

आइला की बात सुनकर ज़ाफिरा बोली- आइला, हम सब भाई बहन अवश्य हैं … लेकिन चूत और लंड कभी भी भाई-बहन नहीं होते हैं. इतने में ही समीर ने भी अपनी शर्ट उतार अजीम की ओर बढ़ाते हुए कहा- ये ले यार, मेरी शर्ट भी सुखा दे, वर्ना मैं बीमार हो जाऊंगा. अब भाभी को थोड़ी राहत मिलने लगी और धीरे-धीरे उन्हें भी चुदने में मजा आने लगा.

मैंने भाभी की टांगों को फैला कर चुदाई की पोजीशन बनाई और उसी वक्त उसकी चूत पर लंड को लगा दिया और अन्दर धकेल दिया. भाभी अभी भी छूटने की कोशिश कर रही थी मगर वो यह भी जानती थी कि बगल में ही उसका पति सोया हुआ है. उन्होंने मुझे फिर से कुर्सी पर आगे की तरफ बिठा दिया और वो नीचे बैठ गईं.

मगर अब मैंने धीरे धीरे उंगली अंदर बाहर करनी शुरू कर दी।मैं उसको आहिस्ता आहिस्ता उंगली से चोद रहा था।इससे उसकी चूचियां और टाइट होने लगीं। उसकी चूचियों के निप्पल काफी कड़क से हो गये थे.

मैं उसके सिर को पकड़कर अच्छे से किस कर रही थी और वो अपने हाथों से मेरे जिस्म को सहलाए जा रहा था. और दोस्तो, मुझे यह बताते हुए बिल्कुल भी संकोच नहीं है कि मुझे भी वो सब देखना बहुत ही रोमांचक लगता था.

आखिर में मैंने लंड का पानी उनके चुचों पर डाला और थोड़ी देर हम एक दूसरे को चूमने लगे. मेरे मामू जी ने मेरा और उल्फ़त का एडमिशन एक डिग्री कॉलेज में करा दिया था और आइला और ज़ाफिरा का एडमिशन इंटर कॉलेज में करा दिया. दस मिनट किस करने के बाद मैंने भाभी उठाया और बेड पर धक्का देकर लिटा दिया और उनकी गांड पर एक चपत लगा दी.

टैक्सी ड्राइवर होने की वजह से शकील शराब पिया करता था, जिसकी वजह से वो ज्यादा देर तक सेक्स नहीं कर पाता था. मैंने सोचा कि मॉम मेरे साथ टाइम बिताना चाहती हैं इसलिए उन्होंने लम्बी छुट्टी ले ली है. दिनेश ने मॉम को अपने लंड पर बैठा लिया और लंड को मॉम की काली गांड में डाल दिया.

बीएफ बीडियो फिर जैसे ही वो ऊपर उठी हमने एक दूसरे की आंखों में देखा तो दोनों ही सेक्स के मूड में आ चुके थे. मेरे पूछने से पहले ही उसने बता दिया कि वो दो दिन के बाद खाना खा रही है.

इंग्लिश बीएफ इंग्लिश में

भाभी ने आह भरते हुए कहा- आज मुझे खुले दिल से चोद दो पंकज! मैं आज तुम्हारी हूँ. वो पहले से अधिक जोर से सिसकारियां भरने लगी और बोली- हां … ऐसे ही … आह्ह … और तेज़ … और तेज़ … चोद दो … फाड़ दो. तभी मेरी ननद के बाथरूम से बाहर आने की आवाज आई और हम लोग अलग हो गए।तब से हम लोग मौका देखने लगे.

गरम भाभी सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक शादी में सर्दी की रात में हाल में बिस्तर लगा कर सोना पडा. मैंने उनसे बात करके संदीप और चारू के लिए उस घर को किराये के लिए उपलब्ध करा दिया।मेरे इस कार्य के लिए संदीप और चारू ने बहुत धन्यवाद दिया. चिड़िया सेक्सीएक दिन मैं थोड़ा देर से गया, तो उस पार्क में एक दिन मुझे एक भाभी मिली.

उस दिन मैंने अम्मी के पैरों की और कमर की मालिश की क्योंकि उनको बहुत तेज दर्द हो रहा था.

मैंने उससे बोल दिया कि मैं तुमसे प्यार करता हूँ और तुम्हें बहुत पसंद करता हूँ. मैंने मेघा को लिटाया और निप्पल्स चूसते हुए व पेट पर चूमते हुए नीचे गया और अपने मुंह से उसकी चड्डी निकाली.

मैं आपको अपनी कॉलेज की दोस्त नीता और उसके चाचा की बेटी शिल्पी, जिसको मैं दीदी कहता था, की चुदाई की कहानी बता रहा था।मैंने अपनी गर्लफ्रेंड सिस्टर सेक्स कहानी के पिछले भागअपनी हॉट दोस्त को लंड चुसवायामें आपको बताया था कि मैं शहर में रहकर पढ़ाई कर रहा था और मेरे फाइनल एग्जाम के बाद लॉकडाउन हो गया. थोड़ी देर बाद भाभी ने पूछा- और करना है?तो मैंने कहा- अब मुझे तुम्हारी गांड मारनी है. यहां आने के बाद भी चैन से नहीं रहने देते।बाजी बोली- घर में तुम्हारे आने के बाद से सब उल्टा ही ही रहा है.

जब मैं पहली बार क्लास में गया, तो पता चला कि मेरे क्लास की बहुत सी लड़कियों ने भी यहीं एडमिशन लिया था.

अब तो आलम ये ही गया था कि रोज रात को दोनों बुआएं बच्चों को सुला कर उनका कमरा बाहर से बंद करके मेरे कमरे में आ जाती थीं और हम चुदाई करते हुए मजा लेने लगते थे. अब मैंने अपना सना हुआ लौड़ा उसके मुँह में दे दिया और लंड चटवाकर साफ़ करवा लिया. दस मिनट तक किस करने के बाद मैंने उसकी नाइटी को उतार दिया और उसके मम्मों को चूसने लगा.

भोजपुरी वीडियो सेक्सी चुदाई वीडियोदरअसल पुरुषों में पानी निकलने के बाद ऐसा ही होता है, वो एकदम से शुष्क हो जाता है. मन ही मन आज न जाने कुछ बैचेनी सी थी और चारू की अदायें मेरे दिल में घाव किये जा रही थीं।रात में संदीप और चारू की रासलीला को मैं अपने जीवन में सच करना चाहता था.

बीएफ सेक्सी वीडियो फिल्म हिंदी

उसने सूट के नीचे गुलाबी कलर की ब्रा पहनी थी और सलवार के नीचे गुलाबी कलर की पैंटी पहनी थी. मैं ये सब देखकर हैरान था कि एक अजनबी के सामने माधवी भाभी ने ये सब बिना किसी डर के सामने रख दिया था. उनकी जांघों में उनकी चूत पर जो पैंटी थी वो तो और भी ज्यादा कहर ढहा रही थी.

मैंने पिछली कहानी में आपको बताया था कि मैंने कैसे अपनी कजिन को चोदा था. … मेरी टांगें भी दुख रही हैं हाय मांआआआ मर गई … आह आह ओह मेरी जान श्श्श्श्श्श उन्ह आंह …सर- बस थोड़ा सा बर्दाश्त कर लो मेरी जान … रुकने का टाइम नहीं है, पीरियड भी होने वाला होगा … कोई भी आ सकता है … बस थोड़ा सा और!प्रिया- सर आहहह दर्द हो रहा है … थोड़ा धीरे कीजिए न प्लीज. मैं हर तरह से तैयार थी उससे चुदवाने के लिए!फिर धीरे-धीरे उसने मेरी स्कर्ट उतार दी, मैं सिर्फ उसके सामने पेंटी में.

अब दोनों की ही सिसकारियां निकलने लगीं और कमरा चुदाई की आवाज से गूंज उठा।मैं उसे जमकर चोदने लगा; उसकी चूचियों को मसलने लगा. 12 बज चुके हैं, चलिए दो बार में आप लोगों को घर छोड़ दूँ। आप और मामी अंदर जाकर रुकिए, मैं इन दोनों को घर छोड़ आता हूं क्योंकि इन दोनों का अकेले रुकना ठीक नहीं है।सागर ने मुझे बुलाया और मैं अपना गाउन उठा कर इधर उधर पैर करके बीच में बैठ गयी और मेरे पीछे सपना बैठी तो मैं बिल्कुल सागर के अंदर घुस गई।अब वो चला और मेरी दोनों चूचियाँ उसके पीठ पर बिल्कुल चिपकी थी. मैं तैयार होकर आती हूँ।घर पर उसने सलवार कमीज उतार कर लाल रंग की साड़ी पहन ली.

फिर ज़ोहरा अपने आप से बात करने लगी- रफ़ीक़ के आने में तीन हफ्ते रह गए हैं. मैं अपने बिस्तर पर जा लेटा और तभी नीता ने मेरी तरफ देखा और मुस्करा दी.

उसकी बुर इतनी टाइट थी कि मेरे लण्ड में भी काफी दर्द हो रहा था, शायद छिल गया था.

पर मैंने खुद से कहा कि लगता है अब पूरी उम्र बिना चुदे ही रहना पड़ेगा. शिल्पा शेट्टी की सेक्सी वीडियो फुल एचडीट्रेन शाम सात बजे पहुंची थी स्टेशन। ट्रेन स्टेशन से खुल कर यार्ड में लग गई।मेरी नींद रात को करीब 10 बजे खुली. भाभी जी का सेक्सी वीडियो हिंदी मेंफिर मैंने जल्दी जल्दी दो तीन धक्के और मारकर अपना पूरा लंड उसकी चुत में पेल दिया. हमने एक लम्बा स्मूच किया और फिर अलग हो गये।वो बोली- तेरा स्टेमिना तो बहुत अच्छा है.

करीब आधे घण्टे के बाद मेरे लन्ड ने दोबारा खड़ा होना शुरू किया। मैंने ज्योति से कहा- ज्योति, अब मैं तुम्हारी गांड मारूँगा.

उसके अब्बू यानि मेरे फूफा जी एक सरकारी कर्मचारी थे, परन्तु अब फूफा जी ने वीआरएस ले लिया था और वो रिटायर हो चुके थे. मैं उसकी चूचियों का काफी देर तक कस कस कर मर्दन करता रहा और वो दर्द और ठरक से तड़पती रही. दोस्तो, उस समय मोहल्ले हुआ करते थे और घर आपस में जुड़े हुए होते थे.

फिर एक दो दिन से मैंने नोट करने लगा कि मॉम अब काफी खुश रहने लगी है. तभी मां ने अपनी चुत पर अपना हाथ फेरा और कहा- देखा आज चिकनी चमेली है न … अब तू देर न कर बस जल्दी से मेरी चुत चाट कर मुझे मजा दे दे. फिर दो दिन बाद हमारी मैसेज पर बात होने लगी और हम अच्छे दोस्त बन गए.

बीएफ पिक्चर दिखाओ बीएफ बीएफ बीएफ

लेकिन मैंने थोड़ा धीरज रखा और फिर मैंने एक झूठ बोला- मैं आपके पास काम से अक्सर आती हूँ लेकिन आपका केबिन बन्द रहता है. सामने जब एक कमसिन जवानी हो और उसकी टाइट चूत में लंड घुस चुका हो तो फिर भला कैसे खुद को रोक सकता है कोई. इससे निधि की एक तेज़ सिसकारी निकल पड़ी, पर मुँह में कच्छी होने के कारन ज्यादा आवाज नहीं आयी.

राजीव- वैसे विशाल का बहुत छोटा है क्या?ये बोलकर उसने अपना पूरा लंड यीशा की चूत में घुसेड़ दिया.

हम दोनों ने अपना लंड मम्मी के मुँह में दे दिया और मम्मी लंड चूसने लगीं.

मैंने दोबारा से कोशिश करते हुए लंड अंदर धकेला और आधा लंड आंटी की गांड में उतर गया. मैंने उससे कहा कि आप परेशान न हो, मैं आपको खुश रखूंगा और ये बोलकर मैंने उसे शांत करवाया. सुहागा सेक्सी वीडियोअच्छा हुआ कि ट्रेन में तुम मिल गये और मेरी चुदाई अधूरी नहीं रही, वरना आज ये मुझसे पिटने वाला था.

बस तू तैयार रहना।”मैं उनसे अलग हुई और अपने कपड़े ठीक करके बोली- अच्छा. तो बहुत खुशी से उसने कहा- तब तो आप से मुलाकात होगी।उस दिन मैं करीब 12:00 बजे घर से निकला और वहां के लिए रवाना हुआ. उसकी आह निकली और वो बोली- क्यों मजे ले रहे हो … जरा रुक जाओ न जानू.

मेरे मन में अचानक से पता नहीं क्या आया कि मैं बाइक को लिंक रोड पर ले गया. मैं तो अभी भी ख्यालों में ही था कि अचनाक से ऐसा लगा, जैसे किसी ने जन्नत के दरवाजे तक ले जाकर वापस कर दिया हो.

ग्राउंड में आकर मैंने उन्हें गाड़ी चलाने के बारे कुछ बताया और ड्राइविंग सीट पर बिठा दिया.

लेकिन मैं अभी भी पूर्वी को चोदे जा रहा था और कुछ देर बाद हम भी झड़ कर शांत हो गए।उस रात हमने मिलकर बहुत चुदाई की।उसके बाद घर में हम नंगे ही घूमते और जब पापा ऑफिस जाते तब पूर्वी और माँ को मैं एक साथ चोदता।हमें 4 महीने बाद पता चला कि पूर्वी और माँ दोनों पेट से हैं. तब तक मैं सोफे पर एक राजा की तरह हाथ के बल सर को पकड़कर लेटा हुआ था. रात के 10:00 बजे मैं बोला- मुझे नींद आ रही है, मैं अपने रूम में सोने जा रहा हूं.

सेक्सी पिक्चर करने वाली पिक्चर वो ताकिया अपने मुंह में दबाए उम्म्म … उम्मा … करती रही और लंड को बर्दाश्त करती रही. पहले उसने मना किया लेकिन दूसरी बार कहने पर ही उसने पूरा लंड मुँह में ले लिया।थोड़ी देर बाद हम 69 पोज़िशन में आ गए और मैं उसकी चिकनी चूत चाट रहा था जो उसने कल ही साफ की थी.

तो दोस्तो, आप यकीन नहीं मानोगे … मुझे मेरी दीदी ने ही रोक लिया और बोली- नहीं अरुण, तुम यहीं रुको!अंकल भी बोले- तुम यहीं रहोगे. मनीष है … वो गांव वालों को पता नहीं चलने देंगे और यह बात मनीष जी तक ही रहेगी।मां- वो मांस बेचने वाले की लुल्ली लूंगी मैं अपनी शुद्ध फुद्दी में … पागल है तू?मौसी- दीदी, लुल्ली नहीं, लौड़ा बोलते हैं उसे! एक बार देखेगी ना तब पता चलेगा। और वैसे भी तेरे इस भरे हुए शरीर को सिर्फ एक बड़ा लौड़ा ही झेल सकता है. उनके नंगे जिस्म के सबसे खूबसूरत अंग उनकी चूत के ऊपर मैं अपना लन्ड घिसने लगा.

बीएफ देहाती ब्लू पिक्चर

और अब मुझे उन दोनों की बात सुनने की उत्सुकता हुई क्योंकि कमरे से कुछ सुनाई नहीं दे रहा था।अब मैं चुपके से थोड़ा और आगे चली गयी तो मैंने सुना कि मम्मी सागर से बोल रही थी- पति की मौत के बाद से मैं बिल्कुल अकेली हो गयी थी. करीब 6-7 मिनट समझाने के बाद मैंने उसकी बात काटी और पूछा- वो ट्रेन वाला लड़का तुम्हारा बॉयफ्रैंड था क्या?उसने मुझे मना कर दिया।फिर मैंने उससे पूछा- कोई बॉयफ्रेंड है या नहीं?उसने कोई भी बॉयफ्रैंड नहीं होने का दावा किया।मैं बोला- इतनी सुंदर दिखती हो. नीचे से उसने जालीदार पैंटी पहनी हुई थी जिसके अंदर उसकी क्यूट सी शेप वाली चूत छुपी हुई थी.

आपको मेरी यह GF BF Xxx कहानी कैसी लगी मुझे इसके बारे में जरूर बताना. पहली बार मिशनरी में चोदा था, दूसरी बार घोड़ी बना कर चोदा, तीसरी बार मेरे ऊपर आकर वो लेडी सेक्स करने लगी थी, मुझे चोदने लगी थी.

मैं- क्यों … अगर मुँह में नहीं लेना है तो बाल साफ करवाने का क्या फायदा?निशा भाभी- तुम मेरी फुद्दी चूसोगे?मैं- हां तभी तो बोला कि चुत साफ़ करके रखा … सारे बाल साफ़ करके चुत चिकनी कर लेना.

वो मेरे हाथ को अपनी चूत पर जोर से दबा रही थी ताकि मेरी उंगली उसकी चूत में और ज्यादा मजा दे. भाभी के ऊपर टूट पड़ा मैं … उनके मम्मों को ब्लाउज के ऊपर से ही जोर जोर से दबाने लगा. मैंने पूरी ताकत से धक्का मारा और एक ही झटके में मेरा पूरा लंड भाभी की चूत के अन्दर चला गया.

एक हाथ से मैं उसकी कच्छी के ऊपर से उसकी चूत सहलाने, भींचने लगा और दूसरे हाथ को उसकी मोटी गांड पर घुमाने लगा. मैंने भी मामी के मखमली होंठों पर अपने होंठों को रखा और उनका रस पीने लगा. मैं- कसम से यार … आज वाक़यी में तुझसे नज़र हट ही नहीं रही है, क्या करूँ दिल बग़ावत कर रहा है.

हालांकि वो इस वक्त चरम पर आने को थे लेकिन तब भी वो मुझे पूरा जोर लगा कर चोद रहे थे.

बीएफ बीडियो: दो-तीन साल से इतनी बुरी तरह से मेरा चुदने का मन कर रहा था कि मैं ही जानती थी।फिर मैंने उसको बेड के दूसरी तरफ धक्का दे दिया और उसके कपड़े उतारने लगी. मैंने उसके कान में धीरे से कहा- पसंद आया?वो कुछ नहीं बोली, बस नशीली आंखों से मुझे देखने लगी.

जब मैंने कोई विरोध नहीं किया, तो वो दोनों मुझे सहलाने लगे और मुझे चुप करवाने लगे. फिर मैंने अपने लंड को रानी की चूत से निकाल दिया और पिंकी को रानी के ऊपर ही घोड़ी बनने के लिए कहा. मेरी अम्मी की दोस्ती पड़ोस में रहने वाली एक आंटी से हो गयी जिसका नाम सुनीता था.

मैंने कमरे में आकर अपने कपड़े उतारे और एक फ्रेंची में खड़ा होकर आवाज लगाने लगा- खुशबू तू जल्दी निकल फिर मुझे भी नहाना है.

सेक्स चेट करते हुए वो बहुत चुदासी हो जाती थी।एक बार हमारे लेब में कोई नहीं था तब मैंने उसे किस करने को कहा. वो बिल्कुल पागल सी हो गयी थी … अपनी गांड उठा कर मुझसे चूत रगड़वा रही थी. कुछ देर बाद हम दोनों घर के लिए निकलने को हुए, तब मैंने उसे जूस की दुकान पर ले जाकर जूस पिलाया और घर आ गए.