पोर्न सेक्सी वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,लाल वाली सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

मोटी भाभी सेक्सी बीएफ: पोर्न सेक्सी वीडियो बीएफ, मैंने अपने धक्के और तेज कर दिए और उसने भी अपनी गांड मेरे लंड पर रख दी.

हिंदी सेक्सी बंगाली में

फटाफट से हम दोनों ने अपने कपड़े उतारे और दीदी मेरे लंड को चूसने लगीं. चूत का फोटो सेक्सीफिर 10-12 मिनट ऐसे ही धकापेल चुदाई के बाद वह उठा और मेरे बगल में लेट गया.

उन्होंने ऑफिस में सबको संबोधित किया और क्योंकि मैं नया था, मुझे अपने केबिन में बुलाया. रोबोट की सेक्सी वीडियोचलो ठीक है एक बार और चोद देता हूँ!बस हम दोनों ने फिर से चुदाई का खेल शुरू कर दिया.

अब तो हमारा सेक्स चैट करने का रोज का नियम हो गया और फ़ोन सेक्स करने का खेल शुरू हो गया.पोर्न सेक्सी वीडियो बीएफ: जिस वक्त लंड घुसा रहा था, तो भाभी के चेहरे पर दर्द की रेखाएं साफ़ दिख रही थीं.

दोस्तो, अब मैं समझ गया था कि भाभी मुझसे चुदवाना चाहती थीं, पर मैं अपनी तरफ से पहल ना करके उन्हें तड़पाना चाहता था.इसलिए उसके चेहरे पर कुछ शान्ति थी कि रात के सफ़र में कोई दिक्कत नहीं होगी.

ब्लू पिक्चर सेक्सी हिंदी में चोदने वाली - पोर्न सेक्सी वीडियो बीएफ

अब मैंने उनकी मस्त नाज़ुक कमर पर हाथ घुमाते हुआ उनके गाल पर किस करना चालू किया.मैंने उस दिन नीले रंग की सलवार और सफ़ेद रंग का कमीज सैट पहना हुआ था.

मुझसे रहा नहीं गया तो मैंने उसे बैड पर फिर से घोड़ी बनाया और उसकी गांड में अपना लंड पेल दिया, उसकी गांड और मेरी कमर की टकराहट से जोरदार आवाजें आने लगी।थोड़ी देर बाद मैं बेसब्र हो गया और अपना लिंग निकाल कर उसकी चूत में पेल कर जोरदार चुदाई करने लगा. पोर्न सेक्सी वीडियो बीएफ चुदाई के बाद से उसको पेशाब भी आ रहा था और वो अपना चूत में लगा खून और विक्रम के लंड से निकला हुआ माल भी साफ़ करना चाहती थी.

नमस्ते दोस्तो, मैं रोहन हूँ मेरी उम्र 20 साल है, मैं होशंगाबाद (मध्यप्रदेश) का रहने वाला हूँ.

पोर्न सेक्सी वीडियो बीएफ?

आधे रास्ते निकल जाने के बाद सोनम ने बोला- पहले मेरी फ्रेंड के रूम पर चलो. मैंने अपने दोस्त की मदद से उसका गर्भपात करवाया और दो दिन में सब ठीक हो गया. मेरे ख्याल में अब भी वही चल रहा था, मैं चाह कर भी खुद को रोक नहीं पा रही थी.

कुछ देर बाद अंकित ने मुझे फिर से पोजिशन बदलने को कहा और मुझे घोड़ी बनने को कहा. मैंने अपना काम चालू रखा और गांड मारने के लिए अपने धक्के थोड़े थोड़े और तेज कर दिए. ”उन्होंने कुछ नहीं कहा, मैंने उनके बदन पे हाथ फिराना शुरू कर दिया, वो तड़पने लगीं और मुझे अपनी साथ चिपका लिया.

क्या नजारा था दोस्तो… क्या बताऊँ! मुझे वो मिल गया था जिसे मैं कितने दिनों से चूसना चाहता था।उसने अंदर सफेद रंग की ब्रा पहन रखी थी, क्या कयामत लग रही थी वो!मैंने उसे थोड़ी देर तक देखा और फिर उसकी ब्रा से बाहर दिख रही चूचियों को चूमना, चाटना शुरू किया. ये क्या हो रहा है मुझे?पद्मिनी का बाप जब बार में पीने गया तो पद्मिनी की तस्वीर उसके आँखों के सामने डोल रही थी, वह उसकी मस्त कंटीले जिस्म, उसकी मुस्कराहट, उसकी नाज़ुक गाल और मुस्कान, उसकी गोरी कोमल जांघ, उसकी उभरी हुई चूचियों को सोच सोच कर जा रहा था और उसका लंड पैन्ट के अन्दर एकदम मस्त खड़ा हुआ था. एक दिन घर में पड़ोसी के बच्चे आए थे, हम दोनों भी फ्री थे तो बस यूं ही बच्चों के साथ बच्चे बन गए और धींगा मुश्ती करते हुए खेल खेलने लगे.

ये बात सही है दोस्तो कि मैं जब रूम में होता हूँ, तो डोर कभी लॉक नहीं करता, सिर्फ रात में जब सोने जाता हूँ, तभी दरवाजा बंद करता हूँ. एक बार उसका कोई प्रोजेक्ट बनाना था तो उसने कहा कि वो अकेली अपने रूम पर नहीं जाग सकती.

मयूरी चाहती थी कि शीतल को पूरी तरह से यह लगे कि उसने अपने बेटों के लंड का शिकार खुद किया है और विक्रम और रजत को यह लगे कि वो अपनी माँ की चूत तक खुद अपने बलबूते पर पहुंचे हैं.

मैंने कहा- ज्यादा दूर नहीं है, यहीं पास में एक कपल पार्क है, उसमें ही चलते हैं.

एक दिन घर में पड़ोसी के बच्चे आए थे, हम दोनों भी फ्री थे तो बस यूं ही बच्चों के साथ बच्चे बन गए और धींगा मुश्ती करते हुए खेल खेलने लगे. मैं उसे पाकर बहुत खुश हूं किंतु उसके स्खलन के बाद मेरे स्खलन तक का समय उस पर बहुत भारी पड़ता है।फिर श्लोक बोला- यार जीजू, यह सब छोड़ो जब से आपने मुझे आपके स्वैपिंग के बारे में बताया है तब से मेरे दिलो दिमाग से यह बात निकल नहीं पाई है। रीना दीदी को देखकर ऐसा बिल्कुल नहीं लगता कि वे…इतना कहकर श्लोक रुक गया. कभी वो मेरा लंड चूसतीं, तो कभी मैं आंटी की गांड, कभी उनकी बुर की फांकों को अपने मुँह से भर कर चाटता.

मैंने महसूस किया कि दीदी का हाथ उनकी चूत पर था और उनकी चूत के दाने को स्वयं अपने हाथों से रगड़ने लगी थी. ये मैंने अपने पति से सब कुछ साझा कर दिया है, जोकि अब आप सब भी जान चुके हैं. दोस्तों ने कई बार उसको टोका भी कि क्या पागल हो गयी है, किसके ख्यालों में इतना खोई हुई है, कोई मिल गया क्या?अपने चेहरे पर लाली लिए पद्मिनी अपने बापू को दिमाग़ में सोचती हुई दोस्तो से बोली- हाँ मिल गया है कोई… जो मेरा इंतज़ार करेगा आज शाम को…तो हाल यह था कि पद्मिनी अपने बापू से प्यार करने लगी थी.

मैंने जाते जाते उसको गले लगा कर किस किया और बोला कि रात को मैं तुम्हारी गांड मारूँगा और तुमको कुछ गिफ्ट दूँगा.

मैं वैसे ही दौड़ा तो मेरा पैर कैप्री में फंस गया और मैं बाथरूम के दरवाजे से होते हुए धड़ाम से बाहर की ओर गिरा. इसके साथ वो मुझे इतनी गंदी गंदी गालियां और बातें बोल रहा था कि मेरे होश और जोश दोनों में बिल्कुल आग लग रही थी. वो पगली क्या जाने कि वो ऐसा न भी करती तो मैं तो उसको किसी ओर के लन्ड का सुख पाते देख ही स्वयम् स्खलित होने को उत्तेजित था.

फिर मैंने सोचा कि फिलहाल तो भाभी की नंगी चुत की खाज मिटाने में ही भलाई है. हालाँकि पम्मी हम दोनों को देख के थोड़ा शर्मा रही थी और मंद मंद मुस्कुरा भी रही थी. सच बताऊं दोस्तो तो मेरे जैसे नसीब वालों को ही मधु जैसी प्यार करने वाली मिलती है.

जब हम तैयारियां कर रहे थे तब मेरे दोस्तो ने मुझे उसको प्रपोज करने के लिए बोला.

कुछ देर बाद मैंने अपने मुँह से उसका लंड निकाल लिया और फिर किस करने लगा. इस सबसे उन दोनों से ही रहा नहीं जा रहा था तो दोनों ने मुझको बेड पे पटक दिया और मेरे सारे कपड़े निकाल कर मुझे नंगा कर दिया.

पोर्न सेक्सी वीडियो बीएफ उन्होंने मुझे सिर्फ़ ब्रा में देखा और आवाज लगाकर पूछा- क्या हुआ?मैंने बोला- अरे अंकल कोई चींटी मेरे अन्दर घुस गई थी. मैंने अपनीं झांटें रात में ही साफ कर ली थीं, लेकिन आंटी की बुर के पास झांटों का जंगल था, मैं आंटी से बोला- क्या आप झांटें साफ नहीं करती हैं?तो वो बोलीं- कभी कभी कर लेती हूँ.

पोर्न सेक्सी वीडियो बीएफ साधारणतया लड़कियों की चूत से इतना ज्यादा और इतना गर्म चूतरस नहीं निकलता है. मैं अब बिस्तर पर आ गया, हल्की होने के बाद वो भी मेरी बाजू में लेट गईं और अपने हाथों से मेरा लंड सहलाते हुए उससे खेलने लगीं.

अंकित जी आप को देखते ही आप से चुदाई के सपने देखने लगेंगे और फिर तो आगे आप सब हैंडल कर ही लोगी.

హిందీ బిఎఫ్ సెక్స్ హిందీ

अब तक इस गर्म हिंदी सेक्स कहानी में आपने पढ़ा कि मेरी दीपक के साथ शादी की बात तय हो गई थी. कीकु- क्या भाई, कैसे? अच्छा मज़ाक करते हो?भैया- तू किसी तरह हॉस्टल से निकल, रूम और लड़की का इन्तजाम मैं कर दूँगा. मयूरी ने पूछा कि फिल्म कैसी थी तो उसने जवाब दिया की अच्छी थी और फिर थोड़ी देर के बाद सब सो गए.

हम दोनों धीरे धीरे गर्म होने लगे और कब हम दोनों के होंठ एक दूसरे से मिल गए, पता ही नहीं चला और हम एक दूसरे को किस करते हुए एक दूसरे में खो गए! हम भूल गए थे कि हम सिनेमा हॉल में हैं. फिर वो मेरे पेट से होता हुआ मेरी नाभि तक पहुँच गया और उसको पता नहीं. रूबी बोली- तैयार हो जाओ, जवानी की गलियों के दीदार को!उसने अपनी कमर थोड़ी उठाई.

मैंने अपने लंड को बाहर निकालते हुए उनकी बड़ी-बड़ी गांड पर अपना वीर्य गिरा दिया.

अब मैं जान चुकी थी कि इसको अगर एक भी इशारा मिल गया तो यह अपना लंड मेरी चुत में डाले बिना नहीं रह पाएगा. मैं बोली- चाचा पूरा डालो गांड में और जमकर चोदो, अभी मत निकालना चाचा. उसने मुझे अपने बिस्तर पर लिटाने के बाद मेरी सलवार का नाड़ा खोल दिया और धीरे से मेरी सलवार को नीचे करते हुए मेरी सलवार को निकाल दिया.

चूंकि आग दोनों तरफ लगी थी, सो मैंने अपनी फ्रेंची उतार कर साइड में रख दी और उसके ऊपर आ गया. साबुन की चिकनाई कि वजह से मेरी गांड में उनका लंड फचक फचक की आवाज से तेजी से अन्दर बाहर हो रहा था. जब भी मेरे घर पर कोई नहीं रहता, हम मौका देख कर चुदाई का मजा ले लेते.

बुआ का लड़का भी शायद यही चाह रहा था कि मैं उसके लंड के आकार को देख कर गरम हो जाऊं, इसलिए तो वो अंडरवियर में टीवी देखने आया था. मैं चूची को चूसने लगा, फिर धीरे-धीरे उनके बदन पर किस करते हुए नीचे आने लगा.

उसके बाद हम और वो मेट्रो में साथ हो लिए और पहुँच गए अपने चुदाई वाली जगह. मैं इधर उधर देखता हुआ तेजी से उसके घर की तरफ गया और जल्दी से गेट खोलकर अन्दर घुस गया. वह मेरे हट्टे कट्टे और भरे बदन के सामने एक छोटी बकरी की तरह लग रही थी.

मैं यहाँ के लड़कों से बहुत घुल मिल गया था, तो दोस्ती के नाते सब दोस्तों को उनके अपने माल को चोदने के लिए कभी कभी रूम दे देता था.

कहानी आपको कैसी लगी, ये ज़रूर बताएं ताकि अगला किस्सा आपके लिए और बेहतर तरीके से पेश हो सके. रचना ने संयम दिखाया और मेरे लंड को अपने हाथ से पकड़ कर चुत के मुँह पर रख कर धक्का देने को कहा. उसने कहा कि आपके मम्मे और उन पर आपकी गुलाबी घुन्डियां और नीचे सेपूरी साफ की हुई चूत.

हमने डिनर करना शुरू किया पर जेम्स की नजरें सिर्फ और सिर्फ रितु के बूब्स पर थी और उसकी पेंट में तम्बू बनाना शुरू हो चुका था. जैसे ही दो पैग मेरे चोले के अन्दर गए, मेरे अन्दर का मर्द बाहर आना शुरू हो गया.

ऐसा बोलते ही उसने मेरे हाथ पकड़ कर अपने गाउन के बटन खोल कर अपने मस्त चूचों पर रख दिए. अब तो हमने एक दूसरे के नंबर भी एक्सचेंज कर लिए थे और रात रात भर कॉल पर बात करने लगे थे. तभी अचानक मेरी बहन का हाथ मेरे हाथ के ऊपर आया, मेरी तो फिर से गांड फट गयी… डर के मारे मेरी जान निकली जा रही थी.

बीएफ चोदने वाली बुरी

चूत की जगह के बाल साफ थे किंतु चूत के ऊपर थोड़ा सा बालों की एक आकृति बनी हुई थी.

मेरे लंड भी तनाव में था और मैं अपने लंड को दबा रहा था और अपने निप्पलों को भी उंगली से मसल रहा था. अब मैं उनके चेहरे को चूसते हुए उनकी गर्दन को चूमने, चाटने लगा था और मेरे ऐसा करते ही वो सिसकारी लेती हुई मुझसे लिपटी जा रही थी. फिर मैं अपने हाथ से मामी जी के बदन को सहलाने लगा, जिस से वो नॉर्मल होने लगीं.

औऱ आप कौन?वैसे मुझे लग रहा था कि ये मुस्कान है क्योंकि मैंने उसका नम्बर नहीं लिया था. उस दिन के बाद से वो हमसे बहुत बातें करने लगी और धीरे धीरे हम दोनों का प्यार बढ़ता गया. हिंदी सेक्सी वीडियो एचडी फ्रीवो मेरे सामने आधी नंगी होकर शर्माने लगी और खुद को चादर में छिपाते हुए बोली- अपने भी तो कपड़े उतारो.

राजू की एक बहन है, जिसका नाम अनीता (बदला हुआ) है, मैं उनको अनीता दीदी कह कर बुलाता था. तभी मैंने नींद में होने का ड्रामा करते हुए उनका हाथ पकड़ लिया और एक हाथ से उनके चेहरे को सहलाने लगा.

आंटी सिसकारियाँ भर रही थी- आह्ह अह्ह्ह औउ हां विकी अह्ह्ह यस्स…मैं समझ गया कि अंकल कभी यहां तक आये नहीं हैं. तब मैं समझा कि ये सूखने डाले हुए कपड़ों को उतारने की बात कर रही हैं. अब चूंकि बुआ का लड़का जिम भी जाता है, जिस वजह से उसकी बॉडी अच्छी बन गई है.

क्यों गुफा में डर लगता था? चलो जंगल की सैर करवा आती हूँ! बोल मेरे मुन्ना, जंगल की सैर करेगा?मैंने लंड को दो बार ऊपर नीचे किया तो चहक कर बोली- अच्छा, मेरा मुन्ना इशारा से कह रहा है कि वह जंगल की सैर करेगा. मैंने झटके से उसकी पैन्टी उतारी और अपना लंड, जो पूरी तरह से तैयार था उसकी चुत में पेल दिया. वो मेरी चूत में उंगली अन्दर बाहर कर रहे थे और मेरे एक चूचे को चूस रहे थे.

फिर मामी ने मुझे अपने पीछे-पीछे अपने बेडरूम में बुला लिया, वहाँ पर लाने के बाद उन्होंने दरवाजा बंद कर लिया और बिस्तर पर लेट कर मुझे अपने ऊपर लिटा लिया.

”अच्छा समझी, चलिए आइये तो, फिर आज आपकी हर ख्वाहिश पूरी करने की कोशिश करूँगी. जी करता है तेरा लहंगा ऊपर उठा कर तुझे गोद में बैठा लूं अभी और …”और क्या पापा?”और तेरी पैंटी साइड में खिसका कर अपना ये पहना दूं तेरी पिंकी में … पैंटी पहन रखी है या नहीं?” मैंने पैंट के ऊपर से अपना लंड सहलाते हुए कहा.

मेरी चुत चुदाई कहानी के पहले भागप्रीति शर्मा का कैज़ुअल सेक्स-1में आपने पढ़ा कि मैं अपने पति से साथ मूड बना कर डिस्को आई. हर धक्के में उसके मुँह से आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह की आवाज़ निकलने लगी. वो अपना पूरा लंड मेरी चूत में डाल रहा था और मुझे धीरे धीरे चोद रहा था.

उनकी सुबह की एक्टीविटी के बारे में जानकर मैं खुश हो गया कि कम से कम अब मैं उनको रोज करीब से देख तो सकूँगा, इसलिए मैंने भी उसी जिम को ज्वाइन कर लिया और रोज जाने लगा. थोड़ी देर चुम्बन के बाद अचानक रेखा ने अलग किया और खड़ी होकर बोली- रुकिए ज़रा… सारी कमीज़ मुस मुसा जायेगी… थोड़ी सी तो मुस भी गयी. रात को मैंने हमारी बिल्डिंग का मेनगेट खोला और फ्रेंड को बताया कि मैं भाभी के पास जा रहा हूँ.

पोर्न सेक्सी वीडियो बीएफ कामुकता से भरपूर जवान लड़की की सेक्स स्टोरी आपको कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल करें. जो शादीशुदा हैं वो अपनी पत्नी की चुदाई का मज़ा ले रहे होंगे और जो मेरे जैसे भी हैं, वो लगे होंगे चूत चुदाई की तलाश में और जिनकी गर्लफ्रैंड है वो अपनी गर्लफ्रैंड को मना रहे होंगे, चुदाई के लिए और चुदाई का प्लान बना रहे होंगे।आप सभी लोगों ने मेरी पिछली कहानी को पढ़ा और काफी तारीफ भी की, बहुत लोगों के मेल भी आये और कहानी की तारीफ की.

सनी लियॉन हिंदी बफ

वो हमारे साथ काफी घुलमिल गये थे, हम सब एक परिवार की भान्ति ही रहते थे. मैंने धीरे से उस के कंधे पर हाथ रख कर उसको अपनी तरफ किया, तो महसूस किया कि उसके दिल की धड़कन बहुत तेज चल रही थी. चूँकि मैं अपनी हैसियत जानता हूँ, इसलिए सिर्फ़ अनु की शादी का वेट था.

ऊपर से वो आज इतनी प्यारी स्माइल कर रही थी कि बस मुझसे रहा ही नही गया. तभी शिवानी बोली- भैया, मम्मी को क्यों मार रहे हो? उन्हें दर्द हो रहा है!सोनू- अरे बहन, प्यार करने का यह एक तरीका होता है, तू बड़ी होगी तो समझ जाएगी!मैंने कहा- शिवानी बेटा, तुम आंखें बंद कर के सो जाओ, भैया को प्यार करने दो मुझे!अब सोनू मेरी गांड पर भी थप्पड़ मार रहा था जिससे मेरा जोश और बढ़ता जा रहा था. भोजपुरी हिंदी सेक्सी वीडियो फिल्मइसके बाद मैंने दो उंगलियां डालीं, अब मुझे लगा कि वो मेरा लंड लेने को तैयार हो गई है, तो मैंने उसके पैर ऊपर किए और अपना लंड सीमा की चूत पर सैट करके एक झटके में लंड अन्दर घुसा दिया.

दोस्तो, आपको कैसी लग रही है मेरी सेक्स स्टोरी, बताने के लिए मुझे यहाँ मेल कर सकते हैं[emailprotected]आपके प्रोत्साहन से मुझे लिखने की प्रेरणा मिलती है।.

मंजू का विरोध अब उम्म्ह… अहह… हय… याह… सिसकारियों में बदल गया था!राज उसके स्तनों को चूमते चूमते उसकी नाभि ओर चुत के ऊपर के भाग तक गया और उसने उसकी क्लोटेरियस को चूसना शुरू कर दिया. उनकी मस्त गांड को सहलाते हुए दबाना शुरू किया तो वो कामुक सिसकारियां छोड़ने लगी थीं- अओउउहह मुउउउहह ऑश उन्हह बेबीयी!मैंने उनके नाज़ुक होंठ को अपने होंठ में लेकर चूसता तो कभी जीभ बाहर निकालकर हल्के से उनके होंठ को चाट लेता.

गले लगते वक़्त मैंने हल्के से उनकी पीठ पर हाथ फेर दिया और उन्होंने भी मेरे गालों पे हल्का सा किस किया. यह सुन कर उनको झटका सा लगा और उन्होंने कहा कि ये तुम सिर्फ़ मेरे साथ सेक्स रिलेशन बनाने के लिए बोल रहे हो. इन दोनों को थोड़ी देर आराम करने के बाद विक्रम मयूरी के रसीले होंठों को चूसने लगा… रजत ने मयूरी की पास ही पड़ी पैंटी से उसकी चूत को साफ़ किया.

पहले तो मैं डर गया क्योंकि इससे पहले उन्होंने कभी इस तरह रिएक्ट नहीं किया था.

तभी सैमी ने मुझे बेड पर लिटा दिया और मेरे मम्मों को अपने हाथों में लेकर उनको निचोड़ना शुरू कर दिया. एक दिन वो स्कूल नहीं आया तो मैं भी हाफ टाइम में घर आ गई और फिर उसके घर उस से मिलने गई तो वो कंबल डाल कर सो रहा था. मैंने सोचा कि यह लड़का इतनी उम्र में यह सब सेक्सी वीडियो सेक्सी कहानियां पढ़ता है, मैं तो इससे बड़ी हूं.

सेक्सी वीडियो लड़की चुदाई वालीइतने राहुल ने अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिए और बहुत ही अच्छी तरह से बड़े प्यार से उनको चूसा. पता नहीं तुम्हें उससे क्या फर्क पड़ता है कि वह किसी के भी साथ सेक्स करें क्योंकि रीना तो मेरी संपत्ति है। कहीं तुम्हारा मन यह तो नहीं सोच रहा था कि मेरे इतने करीब होते हुए भी रीना अपने जीजू के अलावा किसी और से कैसे चुदाई कर सकती है?श्लोक गुस्सा हो गया और बोला- जीजू, आप ऐसा सोच भी कैसे सकते हैं कि मैं अपनी बहन के बारे में ऐसा सोच लूंगा.

एक्स एक्स बंगाली बीएफ वीडियो

मैंने उसको एकदम से अपनी छाती से लगा लिया और हमने एक दूसरे के होंठ चूसने शुरू कर दिए. हमारी इन बातों से शायद हम दोनों ही समझ चुके थे कि मम्मों की रगड़ाई का सुख हम दोनों ने ही लिया था. इस काम में कितनी सफलता मिलेगी, वो तो मैं नहीं जानती थी मगर उसको चुदाई में पूरी ट्रेनिंग देती रहती थी.

मेरी बुआ का हमारे घर आना जाना लगा रहता है और वो जब भी मेरे घर आती हैं, तो मुझे भी अपने साथ अपने घर लेकर जाती हैं. अभिलाषा ने मुझसे कहा- सर! यह बहुत मुश्किल है, क्योंकि इस लड़की से मैंने कभी ऐसी कोई बात नहीं की है. मैंने ज्यादा बात करनी सही नहीं समझा कि कहीं वो सोचने ना लगे कि चेप हो रहा है.

मैंने जूली की पैंटी में हाथ दिया और उसे नीचे तक खिसकाकर निकाल दिया. थोड़ी देर तक ऐसे ही करने के बाद जब बड़ा भाई आश्वस्त हो गया कि उसकी बेहेन की चूत एकदम गीली हो गयी है तो वो रजत का लंड अपने हाथ में लेकर बोला- मेरे भाई, अब तुम ये अपना लौड़ा अपनी बेहेन की इस खूबसूरत और गहरी मगर टाइट चूत में पेल सकते हो. मैं भी अपने मुँह से निकलते हुए पानी को काबू नहीं कर पाया और उनकी जाँघों को चूमने लगा.

अगले दिन मनोरमा ने गीता से पूछा- तुम्हारे घर पर कौन कौन है?उसने बताया कि उसके बेटी है, जो कभी यहाँ पर काम करती थी मगर अब किसी दूसरी जगह काम करती है. वो धीरे बोली- रूको, मैं देखती हूँ!मुझे अब सिर्फ़ उसके कदम की धीमी आहट सुनाई दे रही थी रूम से जाते!मेरी आँखों पे पट्टी बन्धी थी और दोनों हाथ बँधे थे.

तभी अचानक से ही मैंने एक जोर का धक्का लगा दिया और इस बार मेरा पूरा लंड अन्दर उसकी चूत की जड़ तक पेल दिया.

मुझे परेशान समझ कर वो मेरे पास बैठ कर अपने हाथों से मेरे माथे को और मेरे चेहरे को सहलाने लगीं और मैं गहरी नींद में होने का नाटक करते हुए धीरे धीरे बड़बड़ाने लगा. देसी सेक्सी वीडियो हिंदी फुल एचडीसीमा एक गरीब घर की मेरे ही मोहल्ले में रहने वाली लड़की थी। वो दिखने में सांवली थी लेकिन दिखने में फिर भी बहुत सुंदर थी। सीमा अक्सर अपनी भैंस के लिए घास लेने के लिए मेरे खेत में आती रहती थी।एक दिन छुट्टी के दिन में अपने खेतों में था और पापा शहर गए थे. मारवाड़ी साड़ी वाली सेक्सी वीडियोउन्होंने तुरंत फिर से अपने हाथ से मेरा मुँह बंद किया और अपनी अंडरवियर मेरे मुँह में डाल दी. ऐसे ही स्कूल के बारे में बातें करते करते उन्होंने मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछा तो मैंने कहा कि हां मेरी गर्लफ्रेंड है.

अब मेरे मुँह में ही दिनेश का लंड छोटा हो गया, मतलब कि दिनेश झड़ कर पूरा खाली हो गया.

मंजू बोल उठी- ओह्ह… राज क्या कर रहे हो तुम?ऐसा सुनते ही मेरे मन में खुशी की लहर दौड़ पड़ी, मैं खुश हो गया. मैं समझ गया और उनकी चूत को खोल कर चूम ली और जीभ से उनकी चुत से चुदास वाला पानी चाट लिया. मैंने तुम्हारा नाम दिया और कहा कि हमारी चुदाई देख लेना और अच्छी लगे तो तुम भी अजय के साथ सेक्स कर लेना.

मैंने हां कर दी तो भाभी मेरे ऊपर आ गईं और अपने आप ही अपनी चुदाई करवाने लगीं. वो एक पल के लिए रुका और एक धक्का देकर अपना आधा लंड मेरी चूत में उतार दिया. मैं उसमें गई, उस बाथरूम का दरवाजा किसी वजह से पूरा बंद नहीं होता था, आधा खुला सा ही रहता था.

चोदा चोदी बीएफ चोदा चोदी बीएफ चोदा चोदी

रात की चुदाई में सब कुछ भूल गई और जब सुबह तबस्सुम जाने को निकली तो मैंने उससे अपने दिल की बात कही. जब किसी मस्त आंटी के पीठ या पेट पर पसीने की बूंदें देखता हूँ, तो मेरा लौड़ा अपने आप तैयार होने लगता है. फिर मैं जब उससे चुद कर वापस अपने घर आई तो मेरी चूत की आग शांत होने की जगह और भड़क गई थी.

लड़की उम्र में छोटी थी, परन्तु उसकी गांड के उभार से उसका कोट ऊपर उठा हुआ था और स्कर्ट के नीचे उसकी मादक, मांसल टाँगें व पट गजब ढा रहे थे.

बॉस ज़्यादा देर टिक नहीं पाए और सारा लावा ललिता मैडम के मुँह पर उगल दिया.

हाय दोस्तो, मैं कुमार, मेरी पहली कहानीबीवी की चुत की दिलखुश चुदाईआपने पढ़ी होगी. मैं अपने काम पर आने जाने लगा, दरअसल मैं एक मल्टीनेशनल कम्पनी में काम करता हूँ और मेरा आफिस लोअर परेल में है. देहाती सेक्सी पिक्चर वीडियो मेंचाचा शाज़िया की ब्रा को अपनी जेब में रखते हुए बोले- अब दो दिन तक ये मेरे पास रहेगी!और शाज़िया की तरफ आँख मार कर कर बाहर चले गए।कमीनी, तू तो यहीं शुरु हो गयी? कम से कम मेरा तो ख्याल कर लेती!” मैंने बनावटी गुस्से से शाज़िया से कहा.

मैं उसके पेट को सहला रहा था, उसकी नाभि में उंगली कर रहा था, उसकी गांड पर लौड़ा घिस रहा था. मैंने फिर उनके होंठों को छोड़ कर जोर जोर से उनके गालों को चूमना शुरू कर दिया और अपने बदन को उनके बदन पर रगड़ना शुरू कर दिया. मैंने लंड बाहर निकाला तो उसने मुँह में भर लिया और पूरा चूस के एकदम साफ कर दिया.

दोबारा मैंने कोशिश की तो अंजलि ने साथ दिया उसने अपनी टाँगों को थोड़ा उठाते हुए फैलाया. रात को 1 या 2 बज रहे होंगे, तभी नींद में मेरा एक हाथ तुषार भैया की कमर पर चला गया और मैं उनसे चिपक कर सोने लगा.

वो मुझे पेलता रहा और उसने अपना पूरा मूसल लंड मेरी चूत की जड़ तक फिट कर दिया.

मैंने उसके बारे में पूछा तो उसने बताया कि वो अहमदाबाद की रहने वाली है. 15-20 मिनट बाद मैंने अभिलाषा को फिर फोन करना शुरू किया तो उसका फोन स्विच ऑफ आने लगा. तभी मैंने उसकी तरफ देखा और मुझे देखते ही समझ में आ गया कि यह चुदाई के मूड में आ गया है और ये मेरी आज चूत न मार ले.

वीडियो बताएं सेक्सी ऐसे ही हमारी बातें दिन प्रतिदिन ज्यादा होती गयी, हम अपनी बातें एक दूसरे को बताने लगे और दोनों बहुत खुश थे और मुझे लगा कि उसको भी मुझसे प्यार है. फिर मैंने अपनी पेन ड्राईव टीवी में लगा दी और उसमें फीड एक ब्लू फिल्म चालू कर दी.

अब मेरा माल गिरने वाला था तो मैंने आंटी की चूत में ही अन्दर डाल दिया. मैं फिर भाभी के पास पहुंचा तो भाभी ने मुझे बैठने को कहा, पर डर के मारे मेरी तो जान निकलने वाली थी. तब चाचा अपने चेलों से बोले कि उठो जल्दी और यहां से निकल लो, अपना काम हो गया और वन्द्या भी तृप्त हो गई.

ब्लू फिल्म हिंदी सेक्सी फिल्म

मैं भी वहाँ पहुँच गया, जब वो मेरे सामने आई तो मैं उसको देखता रह गया. ये बात उन दिनों की है, जब मेरा नया नया मतलब ताज़ा ताज़ा ब्रेकअप हुआ था. उसने मुझे मेरे मुंह पर एक थप्पड़ मार दिया और कहा- शर्म नहीं आती है? मैं तुम्हारी बहन हूं और तुम मेरे बारे में ऐसा सोचते हो? मैं ऐसा कभी सोच भी नहीं सकती थी! मैं अभी मम्मी को फोन करती हूं! और पापा को भी इंग्लैंड में फोन करती हूँ कि तुम कितने गिरे हुए इंसान हो!मेरे तो सांस ऊपर के ऊपर और नीचे के नीचे रह गए.

फ़िर मैंने उसे 69 पोजीशन में आने को कहा, वो मेरे नीचे थी, मेरा लंड उसके मुँह में था और मैं उसकी बुर चाट रहा था. पर मेरी कसी हुई चूत में उसका पूरा लंड जा रहा था तो मैं थोड़ा दर्द भी महसूस कर रही थी.

ये लड़की तो लगता है पूरी अपनी मां पे गई है, जैसी मां छिनाल है, साली वैसी ही बेटी है.

धीरे धीरे तुषार भैया ने मेरा हाथ अपने लंड पर रख दिया और हौले हौले मेरे हाथ से अपने लंड को मसलवाने लगे. स्मिता- और क्या पूछा, तेरी माँ को मुख सेक्स में क्या पसंद है?वरुण- उसको चूत चटवाना पसंद है और डोगी स्टाइल उसकी पसंदीदा सेक्स पोजीशन है. यह कहते वक़्त पद्मिनी ने खूब अच्छी तरह से महसूस किया कि उसके बापू का लंड उसके चूतड़ों पर दबा हुआ था.

मैंने लंड का पानी चुत के अन्दर ही निकाल दिया और निढाल होकर उसके ऊपर गिर गया. उनके माता-पिता को भनक तक नहीं थी कि उनके बच्चे आपस में भी चुदाई कर रहे हैं. कोमल ने अपने एक हाथ से मेरा लंड पकड़ लिया और दूसरा हाथ उसका मेरी कमर पर था.

मैंने जैसे ही चाचा के पैंट की बटन खोल कर ज़िप खोली और पैंट नीचे खिसकाने लगी.

पोर्न सेक्सी वीडियो बीएफ: कोमल कमरे में चली गयी और मैंने होटल के लड़के से पूछा कि व्हिस्की मिल सकती है क्या?उसने बोला- हां सर, 100 रुपये एक्स्ट्रा लगेंगे. सुबह के करीब 10 बज रहे थे, मम्मी बोली मैं नहाने जा रही हूँ!मैंने कहा- ठीक है, नहा लो!मम्मी करीब एक डेढ़ घंटे तक नहाती थी.

मैंने बोला कि आपको तो जिम ज्वाइन किए काफ़ी टाइम हो गया ना!वो बोलीं- हां. मैंने अपने लंड को शॉल से साफ किया और अपने लंड को पकड़कर कोमल के मुँह में लगा दिया. फिर उसने मुझे जल्दी से हटाया और चुदासे सी स्वर में बोली- प्लीज़ जल्दी से अन्दर करो.

मैंने उसकी संगमरमर जैसी जंघाएं उठाकर उसकी चिकनी चुत पे लंड रख दिया और एक करार धक्का लगा दिया.

लेकिन हमारे बीच में 250 किमी की दूरी था, जो हर वक्त तोड़ना असंभव था. दोस्तो, मैं राज सिंह कानपुर के पास के जिले का रहने वाला हूँ, मैं अन्तर्वासना का नियमित पाठक हूँ, मैं अन्तर्वासना की कोई भी कहानी नहीं छोड़ता हूँ। मैंने सोचा क्यों न अपनी कहानी अन्तर्वासना पर लिखूं।आपका ज्यादा समय न लेते हुए कहानी पर आता हूँ।बात उन दिनों की है जब मैं 12वीं के इन्तहान देकर कानपुर घूमने चला गया था. वो दिन भर ताश के पत्ते खेलता और दूसरों का कोई काम कर दिया करता था तो कुछ पैसे मिल जाते थे और वो उसी में खुश रहता था.