एक्स एक्स बीएफ वीडियो हॉट

छवि स्रोत,सेक्सी चूत चूत चूत

तस्वीर का शीर्षक ,

सट्टा किंग गली आज का: एक्स एक्स बीएफ वीडियो हॉट, एक पैर जब आगे आ गया तो तौलिए का पीछे वाला सिरा खींच के आगे को कर दिया और रानी का दूसरा पैर तारीफ करते हुए उस सिरे पर रखा.

देसी लंड की चुदाई

इसलिए पूछ रही थी कि तुम्हारी बीवी को … कि आकर मालिश कर देती।किशोर बोला- मेमसाब अगर आप को बुरा न लगे तो मैं कर सकता हूँ. एक्स वाई एक्स एक्सउस रात मैंने तीन बार उसको चोदा और सुबह के करीब चार बजे वह उठ कर अपने कमरे में गई.

दर्द होगा ही, खीरा मेरे लौड़े से भी मोटा था ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’वो टांगें चौड़ी करके गांड उचकाए स्लैब के सहारे झुकी थी. गांव की देसी चूत की चुदाईचाची को मेरी चूत चुसाई और लंड से चुदाई इतनी अधिक भा गई थी कि हम दोनों एक दिन में कम से कम पांच बाद चुदाई किये बिना रह ही नहीं पाते थे.

मैं बस लड़कियों से नजर मिलते ही शर्मा जाता और दिल की धड़कन तेज हो जाती.एक्स एक्स बीएफ वीडियो हॉट: इसी समय नम्रता ने अपने पैरों को मोड़ा और साड़ी को सरकाते हुए कमर पर ले आयी.

अब तक की कहानी में आपने पढ़ा कि मैं अपनी बहन को मूवी हॉल में लेकर गया था.राधिका समझ गई और वो घुटने के बल बैठ कर मेरा लोअर निकालकर लंड हाथ में लेकर कर लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी.

लंड चूत की चुदाई वीडियो - एक्स एक्स बीएफ वीडियो हॉट

जब पूरी तरह से मेरी फुद्दी गीली और गर्म होकर फूल गई तो जीजा जी कहने लगे कि जान … थोड़ा सा दर्द हो सकता है पर मैं आराम से डालूँगा.उसने मेरे लंड पर और खुद की चूत पर खुद का थूक लगाया और लंड को चुत में डाल ही दिया.

मैंने उससे बोला- तुम तो सब चीज़ पैक करके आई हो … मुझको तो तुम्हारा दूध पीना था. एक्स एक्स बीएफ वीडियो हॉट सीकर में मेरे पास वाली सीट खाली हो गई तो मैंने उसको बैठने के लिए कह दिया.

वह हल्की सी मुस्कान के साथ मेरे गाल पर चुम्बन करते हुए बोली- कोई बात नहीं।तभी आयशा नीचे उतरने लगी तो मैंने पूछा- कहाँ जा रही हो?वो मुस्कराती हुई बोली- टायलेट जा रही हूँ, चलोगे क्या?मैंने भी तुरंत हाँ कर दी।तो आयशा बोली- नहीं, कोई देख लेगा.

एक्स एक्स बीएफ वीडियो हॉट?

यूं तो मेरी जिन्दगी में बहुत से ऐसे वाकये हुए हैं जो मैं आप लोगों के साथ साझा करना चाहता हूँ लेकिन शुरूआत सबसे दिलचस्प किस्से के साथ करते हैं. बंदा-परवर! मैं पहले भी अर्ज़ कर चुका हूँ कि लिखना मेरा शौक है, पेशा नहीं. मैंने भाभी के चूचों को जोर से दबाना शुरू कर दिया और जल्दी ही भाभी गर्म हो गई.

मेरे मुँह से आह्ह निकल गयी- आआअह्ह्ह … क्या सीधे पेट में घुसाना है?भाई ने हंसते हुए फिर से एक धक्का मारा और इस बार उसका आधा लंड मेरी चूत के अन्दर घुस गया था. वो भी दारू के एक पैग से मस्त होने लगी थी और धीरे धीरे पूरी तरह से गर्म होना शुरू हो गई थी. मैंने उसकी टपकती चूत के अंदर अपनी गर्म जीभ डाली और मनमीता अपनी गांड को दीवार से सटाए हुए थोड़ी और नीचे की तरफ आकर टांगें फैलाने लगी ताकि मेरी जीभ उसकी चूत में अंदर तक चली जाये.

अब हम दोनों को रोज फेसबुक पर और व्हाट्सैप पर घन्टों बात करते रहने की एक आदत सी पड़ गई थी. मेरी दोनों चुचियां एक साथ उसके मुँह में जाने से और दोनों होंठ से दबाने से में भी बहुत उत्तेजित हो गई. जैसे-जैसे दोनों का माल बाहर आ रहा था, दोनों की ही एक-दूसरे पर पकड़ ढीली पड़ती जा रही थी और जैसे ही नम्रता की बांहों का बन्धन खुला, मैं लुढ़कते हुए उसके बगल में लेट गया.

मैंने भी बाथरूम में जाकर बुआ और ताऊ जी की चुदाई के सीन को याद करके मुट्ठ मारनी शुरू कर दी. बुआ ने घुटने हल्के से मोड़ लिये और उनकी चूत सामने की तरफ खुल सी गई.

कई मिनट तक ऐसे ही किस करने के बाद वह बोली- मयंक, मेरे पति मुझे संतुष्ट नहीं कर पाते.

मैंने घबरा का अपनी हथेलियों से अपनी पैंटी ढक ली क्योंकि पैंटी में से मेरी फूली हुई चूत का उभार, वो त्रिभुज और बीच की लाइन क्लियरली दिखती है.

मैंने उसको पीछे से घोड़ी बनाके उसकी चुत में लंड पेला और चूत मारने लगा. कुछ देर की गांड चुदाई के साथ मैंने मौसी की चुत में उंगली करना शुरू कर दी. पैंटी पर से मेरी उंगलियां गीलीं हो उठीं और मैं शर्म से पानी पानी हो उठी कि अभी अंकल जी मेरी गीली बहती चूत देखेंगे तो हाय राम पता नहीं क्या क्या सोचें.

स्लो मोशन में देखें, तो लेदर उसके नंगे स्किन पे सटाक से चिपकता और एक कम्पन के साथ वापिस आता. मैंने कहा- अच्छा ऐसी बात है क्या?वो बोली- और क्या … जब मैंने अपनी फ्रेंडस को आपको दिखाया, तो कितनी ने आपका नंबर मांगा … मगर मैंने मना कर दिया. फिर हमने एक कॉफी शॉप जाकर एक अच्छी सी कॉफी पी और मैं उसे शाम की 5 बजे वाली बस में चढ़ा कर आ गया.

थोड़ी ही देर में मार्केट पहुंच गए और हमने पार्किंग में गाड़ी पार्क कर दी.

वाह क्या चूची थी … ऐसा लगा जैसे मैं किसी अमृत का पान कर रहा हूं।तभी महेश आकर दूसरी चूची में जुट गया और बोला- भाई, तुम्हारी याद में ये सूख के लकड़ी हो गयी थी. अब मैं एक हाथ से उनके एक मम्मे को मसल रहा था और दूसरे से उनकी बुर को रगड़ रहा था. वो चलते हुए एक बार दरवाजे के सामने रुक कर कुछ पल के लिये सोचने लगी मगर फिर उसने दरवाजा खोल दिया.

दो मिनट तक मेरे होंठों को चूसने के बाद उसने अपनी टांगों को मेरी कमर पर लपेट दिया. मैं काजल की गर्दन पर लगातार किस कर रहा था, साथ में मेरा एक हाथ अब उसकी ब्रा के अन्दर घुस चुका था और उसकी चूची की कड़क घुंडी को हाथ में लेकर मसलने लगा था. रात के समय खाना खाने के बाद जब मेरी बहन पढ़ने के लिए बाहर चली गई, तो मैं अपने रूम में जाकर अपने कम्प्यूटर पर ब्लू मूवी देखने लगा.

लेकिन जब मैंने जीजा के साथ पहले सेक्स में हुए दर्द के बारे में सोचा तो थोड़ा डर भी लग रहा था.

पीछे से गांड में लंड गया और आगे से अजय ने मेरी चूत में एक साथ लंड डाल दिए. उसके बाद मैंने आज रात को ही माँ को चोदने की प्लानिंग करना शुरू कर दिया.

एक्स एक्स बीएफ वीडियो हॉट इसी सब में मैंने पांच मिनट और निकाल दिये और अब टीवी स्क्रीन पर जबरदस्त चुदाई का सीन चल रहा था. यूं वीरवार को वसुन्धरा के शिमला वाले घर में होने की संभावनाएं अत्यंत क्षीण थी लेकिन फिर भी मैंने हामी भर दी.

एक्स एक्स बीएफ वीडियो हॉट सुहागदिन भले ही अधूरा रह गया था मगर जीजा जी का लिंग देखने की इच्छा पूरी हो गई थी. मेरा लंड उसके हलक तक गया ही था कि कुछ ही सेकेंड बाद वो मुझसे अलग होकर खांसते हुए बोली- क्या जान से मारना है मुझे? तुम्हारा लंड बहुत मोटा है … मैं धीरे धीरे ही ले पाऊंगी.

इस कमरे में टीचर लोग खाली पीरियड में सुस्ताने, इम्तेहान की कापियां चेक करने, विद्यार्थियों का होम वर्क जांचने और लंच इत्यादि के लिए इस्तेमाल करते थे.

उत्तर प्रदेश की सेक्सी वीडियो

पर जब मेरा लंड उत्तेज़ित होता है तो पेट से चिपक कर पूरा ऊपर की तरफ हो जाता है. उसने दो-तीन बार अपने लंड से चूत को रगड़ा और फिर सुमिना की गांड को पकड़ कर एक जोर के धक्के के साथ पीछे से सुमिना की चूत में लंड को पेल दिया. प्रिया से सपनों के साकार होने जैसे हसीन मिलन की रात के बाद से तो दिन ऐसे पंख लगा कर उड़े कि कब प्रिया की शादी सर पर आन पहुंची … पता ही नहीं चला.

पर ये सब करने के पहले मैं अन्तर्वासना की कोई नयी कहानी जरूर पढ़ती हूं ताकि मैं गर्म हो जाऊं और चूत रसीली हो उठे तभी डिल्डो का असली मज़ा आता है. और दिलिया की चीख निकल गयी- आईई आहाह आआआआ आईईईई स्स्सस!मगर गजब की हिम्मत थी उसमें … अपने हाठों में मेरा चेहरा लेकर चूमते हुए बोली- गज़ब किला फ़तेह किया तुमने आमिर … आई लव यू! बहुत दर्द हुआ लेकिन मुझे गर्व है कि मेरी चूत को तुमने एक ही धक्के में ही फाड़ दिया. पांच मिनट की जोरदार चुसाई के बाद मैंने उसके मुंह में वीर्य को निकाल दिया जिसको वो पी गई.

पर उन्होंने ऐसा कुछ करने के बजाय मेरा कुर्ता और शमीज उतार डाली और झट से मेरी ब्रा का हुक खोल दिया.

मैंने आश्चर्य से उसकी ओर देखा, तो वो बोली- अरे चाचू इट्स कूल … हम नई जेनरेशन हैं. मैं फिर से अनुषी के होंठों को चूमने लगा और अनुषी भी मेरे लंड को पकड़ कर आगे पीछे करने लगी. अपनी चूत चुसाई के मस्त आनन्द से भाबी के मुँह से मादक सिसकारियां निकलने लगी थीं.

तो उन्होंने कहा- हाँ तुम वाक़ई बहुत अच्छे हो तो वैसे अच्छे से बात करते हो. मैंने कुहनियों के बल उचक के एक चूचा मुंह में ले लिया जबकि दूसरा चूचा रानी स्वयं ही दबाने लगी. मैंने उसके हाथ को पकड़ लिया और खुद अपने सिर को उसकी फैली हुई टांगों के बीच रखकर अपनी निगाहों को उसकी चूत पर टिका दिया.

मैंने उसकी चूत में जीभ अंदर डाल दी और उसकी चूत को चाटने लगा जैसे कुत्ते दूध पीते हुए करते हैं. मेरे ताऊ जी जिनकी उम्र 48 साल की है वो रंग के गोरे, शरीर के लम्बे और सेहतमंद इंसान हैं.

उसने मेरी चूत को चाटने के बाद अपना लंड मेरी चूत में दुबारा डाल दिया और मेरी चूत में अपना लंड डाल कर मेरी चूत को चोदने लगा. वो भी मेरी निगाहों को अपने मम्मों पर पाकर खुद झुक झुक कर अपनी फिल्म दिखा रही थी. आंटी ने मुझे अपनी टांगों के बीच आने को कहा और अपनी चूत के लब खोलकर बोलीं- इसमें डाल दे.

ये कह कर उन दोनों ने जगह बदल ली अजय नीचे चूत पर आ गया और ऐसे चूत चाटने लगा, जैसे पहली बार कोई चूत मिली हो.

मैं इतने लोगों को देखकर डर गई और मैनेजर से बोली- सर इतने लोग … मैं वापस जा रही हूं. उसके चूचों को चूसते हुए मैंने उसकी जांघों के बीच में सहलाना शुरू कर दिया. आशा है आपको हमारी ये मधुर काम लीला खूब पसंद आयी होगी तो आप अपने सुझाव हमारे नीचे दिए गए ईमेल पर लिख कर भेजे.

फिर सबने मुझे बीच में लिटा दिया और एक साथ ही सबने मेरे चेहरे और मुँह के अन्दर अपना सारा मुठ निकाला. मैंने सोनल से पूछा- सोनल, मजा आया न?सोनल- बहुत ज्यादा, लेकिन दर्द हो रहा है.

ऐसा कहते हुए मेरी चूत से एक फव्वारा सा फूट पड़ा और गर्म-गर्म रस बहने लगा. फिर वो दोनों जाने लगे और मैं उनको बाहर टैक्सी स्टैंड तक छोड़ कर वापस घर आ गया. उसने बताया कि उसके हस्बैंड दुबई में बिजनेसमैन है और वह गुडगांव में फ्लैट लेकर अकेली रहती है.

साड़ी वाली भाभी की सेक्सी चुदाई

इससे गुप्ताइन तो खुश हो रही थी लेकिन मेरे मन में एक नया विचार पनप गया कि यदि डॉली को चोदने का मौका मिले तो क्या कहने.

मैंने कहा- मैडम आप घर जाइये … मैं यह बंडल अपनी साइकिल पर आपके घर पर छोड़ दूंगा … आप समय बता दीजिये कि आप कब घर पर मिलेंगी?ठीक है राजे … तुम तीन बजे यहाँ से यह कापियां ले जाना … मैं साढ़े तीनतक घर पहुँच जाऊंगी. हमने नंगे बदन ही केक काटा और थोड़ा सा केक सायमा को मैंने खिलाया और थोड़ा सा सायमा ने मुझे खिलाया. वापस आकर मैं कपड़े पहनने लगी तो जीजा जी ने कहा- अभी तो आधा मजा ही लिया है साली साहिबा, रुको थोड़ी देर … फिर आपको असली मजा दूँगा.

इसलिए दोपहर में आराम करने के बाद मैं मनोज के साथ उसके दोस्त के घर चला गया. मैंने उसके चूचों पर तेल की बूंदें डाल दीं और उसके चूचों को मसाज देने लगा. தங்கை செக்ஸ் வீடியோमैंने अपने लंड के सुपारे को उसकी गांड में अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया, तो वो आहें भरने लगी.

हम दोनों बिल्कुल खो गए थे, उसके साथ किस करने में मुझे लगा ही नहीं कि हम दोनों अभी कल ही तो मिले हैं. उसने अपने लंड को हाथ में लेकर सहलाया और फिर सुमिना की चूत पर रगड़ने लगा.

उस दिन मैंने अपनी वाइफ, बहन और साली को मजे से चोदा था जो मेरी जिंदगी का सबसे बेहतरीन दिन था. ऊपर से मेरे मुंह में लंड अंदर-बाहर हो रहा था और नीचे से दूसरे लड़के की उंगलियाँ चूत में अंदर-बाहर जा रही थीं. अजय ने गिलास रखा और मेरे बाल पकड़ के ज़ोर से खींचा और बोला- साली तू तो बहुत गर्म है … तेरी गर्मी निकालनी होगी, साली आज हम दोनों रंडी की तरह तेरी चूत चोदेंगे.

मैं इतने लोगों को देखकर डर गई और मैनेजर से बोली- सर इतने लोग … मैं वापस जा रही हूं. वो भी बेबाक हो कर बोली- वो चीज क्या … साफ़ बोलिए न?मैंने कहा- छोड़ … तू नहीं समझेगी, तू अभी छोटी है. अब मैं चाची की चूत को चाटने लगा और चूत के ऊपर के दाने को हल्का हल्का काटने लगा.

मैंने उसको मनाने की कोशिश करते हुए कहा- देख, पहले मेरी बात तो सुन ले.

मैं अभी दरवाजे तक पहुंचा ही था कि अचानक सीढ़ियों से नीचे उतरते हुए किसी की पाजेब की आवाज सुनाई दी. मैं अभी उन दोनों को ही देख रहा था कि तभी दोस्त ने मुझे जोर से हिलाते हुए कहा कि ये उसकी गर्लफ्रेंड है और साथ आई लड़की, उसकी गर्लफ्रेंड की सहेली है.

फिर हम दोनों ने लेस्बियन सेक्स के साथ एक दूसरे की सेक्स की चाहतों को शेयर किया तो मालूम हुआ कि वो भी बड़ी चुदक्कड़ थी. मैंने उससे पूछा- कल मजा आया था कि नहीं?इस पर उसने चहकते हुए बताया कि कल तुम्हारे साथ तुम्हारे काम से मैं बहुत खुश थी. भाबी- क्यों ऐसा क्या है मेरी गांड में … जो तुमने इसे पकड़ कर दबा दिया? देवर जी, अपने लंड को थोड़ा काबू में रखिए … अब तो मैं आपकी हूँ ही.

मैं भी अपनी कॉलेज लाइफ में बिजी हो गया था मगर काजल से फोन पर बात होती रहती थी. मुझे लगता था कि मम्मों के बड़े न हो पाने का कारण उसका पति था, जो एक शराबी था. सगाई हो जाने के बाद जैसा की गांव में होता हैं लड़का और लड़की को शादी के पहले तक मिलने नहीं दिया जाता.

एक्स एक्स बीएफ वीडियो हॉट मैंने भी गर्म होकर उस औरत की चुची को अपने मुँह में दबा कर चूसना शुरू कर दिया. जब नैना बहुत छोटी थी, तो अक्सर आकर मेरी गोदी में बैठ जाती थी और मेरे गाल पकड़ कर तोतली भाषा में बोलती थी कि ताता कितने प्याले हैं.

सील तोड़ी

दीदी बोली- क्या कर रहे हो?मैंने कहा- दीदी, अब तो घर में भी कोई नहीं है. अगर हेतल मना कर देती तो मानसी को पता चल जाता कि मैंने हेतल के बारे में झूठा बहाना बनाया था और यह सब मैंने मानसी की चूत चोदने के लिए किया है. मैं अब कुछ देर तो ऐसे ही पड़ा रहा मगर जब मेरी हिम्मत जवाब दे गयी तो मैंने भी अब फिर से करवट बदलकर अपना मुँह मोनी की तरफ कर लिया‌। करवट बदलते हुए मैं अब थोड़ा ज्यादा ही खिसक कर मोनी के पास हो गया जिससे कि मेरा पूरा शरीर मोनी के बदन से चिपक गया और मेरा उत्तेजित लंड तो सीधा ही मोनी‌ की‌ एक जाँघ को छू गया।मोनी के बदन‌ से चिपक कर मैं कुछ देर तो अब बिना‌ कोई हरकत किये ऐसे ही पड़ा रहा.

मैंने थोड़ी देर रुक कर देखा, तो उसकी आंखें बंद हो रही थीं, पर अभी भी वो मोबाइल में कुछ देख रही थी. मैं भाभी को मनाने लगा- प्लीज़ भाभी, कुछ नहीं होगा, बस एक बार मार लेने दो. गांव की लड़की के साथ सेक्समनमीता ने मुझे बांहों में जकड़ लिया और मैंने मेज के ऊपर ही उसकी चूत में धक्के लगाने शुरू कर दिये.

उसने मेरी आँखों में देखा और बोली- क्या ये सही रहेगा?मैंने कहा- मैं तुमको प्यार करता हूँ और तुमको पाना चाहता हूँ.

उसने चूल्हा बंद किया और पलट कर मेरी बांहों में समा गई उसने खुद को मेरे हवाले कर दिया. ये सोच कर मैंने एक कॉल सेंटर में आईटी के पद के लिए आवेदन किया और मेरा चयन हो गया.

जी मैडम … अपने बुलाया था?”हाँ राजे … कुछ काम था तुम्हारे लिए … आज मेरा ड्राइवर नहीं है तो मुझे रिक्शा से घर जाऊंगी … लेकिन समस्या यह है कि इतनी सारी कापियां चेक करने के लिए ले जानी थीं … मुझे अकेले रिक्शा में इनको उठा कर ले जाने में बहुत दिक्कत होगी … मैं चाहती हूँ कि तुम मेरे साथ रिक्शा में चलो. तभी अंकल ने एक तेज धक्का मार दिया और अपना पूरा लंड मेरी चुत में पेल दिया. बाहर चारों तरफ अँधेरा था। बस हमारे फ्लैट से हल्की रोशनी आ रही थी।मैं वर्तमान में आयी। चारों तरफ अँधेरा … चिर सन्नाटा। अंतिम आवाज मैंने अपने फ्लैट का गेट बन्द होने की सुनी थी। मेरे हाथ ऊपर मेरे ही ब्रा से बंधे हुए थे। मैं दीवार से अपनी नंगी पीठ और चूतड़ सटाये खड़ी थी.

उसके बाद भी मैंने चुदाई जारी रखी क्योंकि अभी मेरा पानी नहीं निकला था.

वो मज़े में आ गया और बोलने लगा- रंडी आज तू चूदेगी!मैं और ज़ोर से उसका चूसने लगी. हालांकि जब मैं बुआ की चूचियों को ताड़ रहा था, बुआ ने भी समझ लिया था कि लौंडा गर्म हो गया है. तकरीबन चार पांच दिन बाद रक्षाबंधन था, तो उनके पति अपनी बहन के पास मुंबई चला गया.

ब्लू पिक्चर ब्लू पिक्चर भेजोमैंने अंकल से कहा- अंकल, आपका लंड तो अम्मी के नाम से ही खड़ा हो गया है. मेरा आनंद बढ़ रहा था तो मैं मजे में कामुक सिसकारियाँ ले रही थी जो काफी तेज हो गई थी.

ब्लू पिक्चर सेक्सी खपाखप

पहले उसने मेरे लंड को बड़ी गौर से देखा और बोला- इतना बड़ा लंड मैं अपनी चुत मैं नहीं ले पाऊँगी. दोस्तो … आप सब कैसे हो … मैं राज रोहतक वाला आज आपको मैं अपनी पड़ोसन के साथ हुई दूसरी चुदाई के बारे में बताऊंगा कि कैसे उसके साथ उसी के घर में मैंने पूरी रात चुदाई की. मैंने उससे फिर से पूछा- मुझे जब तक जवाब नहीं मिलेगा, मैं ऐसे ही तुमको परेशान करता रहूँगा.

पर उन्होंने मौसी के कपड़े और बैग फेंक दिए थे तो उन्होंने मेरे कपड़े और एक वाइट सूट सलवार दिया, जो बहुत चुस्त था, जिसे पहन कर मौसी की हर चीज़ दिख रही थी. फिर उसके बाद उसने अपने पैटीकोट का नाड़ा खोल दिया और इतने में ही मेरा लंड खड़ा होकर मेरे अंडरवियर के साथ लड़ाई करने लगा. उसने मुझे किस करने के बाद मेरी सलवार का नाड़ा खोल दिया और मैं पेंटी में रह गयी.

मैंने भाभी को बताया, तो वो अपने बेड के गद्दे के नीचे से एक कंडोम निकाल कर मेरे लंड पर लगाने लगी. मैं एक दिन पीछे आम के पेड़ के पास गया और फिर आम देख कर मुझे आम तोड़ने का मन हुआ. दोस्तो, वो मेरा पहला चुम्बन था और पहला चुम्बन कितना यादगार होता है, आप लोग जानते होंगे.

मैंने उनके ब्लाउज के हुक खोले और उसको निकाल दिया और उनके मदमस्त मम्मों को आजाद कर दिया. उस दिन मैं बिल्कुल एक प्रोफ़ेशनल रंडी की तरह अपने सगे भाई का लंड चूस रही थी.

फिर मैंने कहा- कसाई कैसा है?तो सारा ने कहा- अरे बड़ा जालिम है, लेकिन प्यारा और मस्त है.

इतना कह कर बेटीचोद बाप नीना की चूत में जो सकासक उंगली डालने निकालने लगा, तो नीना आंख बंद करके बड़ी बहन की तरह मादक आवाज निकाल कर सिसकने लगी. इंडियन नुदेअब जब भी मैं लंच टाइम में बाहर जाता तो वो खूबसूरत लड़की भी एक बार नज़र भर कर मेरी तरफ देख कर नज़र फेर लेती थी. नौकरानी के साथ सेक्स वीडियोपिचकारी इतनी तेज थी कि कोई बूंद कहीं जाकर लगती और कोई कहीं जाकर गिरती. लेकिन मुझे यह समझ नहीं आया कि वे मेरे से लेट नाइट बात कैसे कर लेती हैं जबकि वो अपने पति और बेटी के साथ रहती हैं.

यानि ये मान लीजिएगा कि मैं कब क्या करता हूँ, कब सोता हूँ, कब जागता हूँ, कहां जाता हूँ, वो मेरा सब ख्याल रखती थी.

मैंने बोला- आपने पापा के अलावा किसी और के साथ भी चुदाई की है क्या?मां बोली- हाँ शादी से पहले जब मैं अपने घर में थी तो वहाँ पर एक लड़के ने मेरी चूत चोदी थी. तब जाकर वो दोनों खुश हुए और दोबारा से उनके चेहरे पर मुस्कान देखने को मिली. रात के लिए मैंने उससे पूछा- मज़ा आया?वो बोली- बहुत ज़्यादा मज़ा आया.

कल रात से पहले तो मैं ही उसके पीछे पड़ा हुआ था मगर कल रात तो मोनी ने भी मेरे लंड से चुदाई का मजा लिया इसलिए आज मेरे मन में कुछ डर भी नहीं था. मैंने भी खुशी खुशी हां कर दी और मुझे उस दिन ऐसा लगा, जैसे मुझे भाभी से प्यार हो गया है. - सोनल तुम्हारे भाई से बिना प्रोटेक्शन के ही चुदने में मजा आता है, तुम टेंशन मत लो, तुम्हें कुछ भी नहीं होगा.

का नंगा डांस

फिर मैं घुटनों पर खड़ा हो गया और भाभी को घोड़ी बना कर लंड मुँह में दे दिया. वो दारू के घूँट के साथ सिगरेट पीता हुआ मेरी तरफ वासना से देख रहा था. कुछ कुछ नर्म, कुछ कुछ कठोर … मैंने अपने दोनों हाथों से हल्का सा दबा कर दोनों निप्पलों की सख्ती को जांचा.

मैंने उन दिनों उसकी गांड भी मारी थी और हर जगह खेत में, सीढ़ी पर, बेड पे, कुर्सी पर उसको पूरी दम से पेला था.

इतना बता कर उसने तेजी के साथ मानसी की चूत में जोरदार धक्के देने शुरू कर दिये.

दोस्तों आपकी मेरी पिछली कहानीमौसेरी बहन की कुँवारी चूतकी सराहना से प्रेरित हो कर मैं फिर हाज़िर हूं एक और मदमस्त आपबीती ले कर. बचपन में जब गांव में नंगे घूमा करते थे तो उसकी लुल्ली का नाप मुझे याद था. इंडियन ट्रिपल एक्स सेक्स व्हिडीओउसके बाद मेरे घर से फोन आ गया और हम दोनों को वहाँ से मजबूरन निकलना पड़ा.

मैं अंदाजा लगा रही थी कि उसने बरामदे की लाइट ऑफ कर दी है क्योंकि मैंने आँखे खोल के बाहर झांकने की कोशिश की. थोड़ी देर बाद काजल ने आंख खोल कर मुझे बोला- जानू प्लीज चोदो ना अब नहीं सहा जाता!अब वो मेरी आंखों में देख रही थी. आह क्या फिगर था उसका … क्या फेसकट था … कुछ भी कहो ऊपर से लेकर नीचे तक बिल्कुल हाहाकारी माल लग रही थी.

मेरी चुदाई का आलम यह था कि बीवी को किचन में चाय बनाते हुए, पीछे से साड़ी उठाकर चूत चाटकर गर्म कर देता था और रसोई में ही उसे कुतिया बनाकर चोद देता था. उसने फिर से एक तेज़ का धक्का मारा और पूरा लगभग 6 इंच का लंड अन्दर चला गया.

उसने मुझे किस करने के बाद मेरी सलवार का नाड़ा खोल दिया और मैं पेंटी में रह गयी.

मैंने कई बार कोशिश की आगरा जाने की लेकिन मैं अभी तक दोबारा उससे नहीं मिल पाया. अतः तुम्हें मुझसे आकर्षण हुआ।अपनी शादी के बाद भी तुम मेरे सपने देखती हो? क्या विक्रम तुम्हें प्यार नहीं करता? क्या वह तुम्हें संभोग में संतुष्टि प्रदान नहीं करता?वीणा- ऐसी बात नहीं है राज भैया!विक्रम संभोग करने में बहुत अच्छा है. मैं अपनी दोनों टांगों को फैलाकर मैंने मेरी चूत सरला के मुँह पर रख दी और दोनों हाथ उसके चूतड़ों के नीचे डालकर अपना मुँह उसकी चूत में घुसा दिया.

हिंदी सेक्स नंगी मेरा लौड़ा तुरंत खड़ा हो गया और मैंने उसके होंठों को वहीं पर चूसना शुरू कर दिया. तब मुझे लगा कि मुझे भी अपनी सच्ची चुदाई की कहानी आप सबको बतानी चाहिए.

अचानक याद आया कि तुम भी अकेली ही हो, तो सोचा चलो तुम्हारे साथ कुछ गपशप करके जरा वक्त बिता आऊं. फिर अगले दिन सुबह सुबह विकी पीने का पानी लेने आया, तब उसको मेरी सास ने पानी दिया, तब मैं वहीं हॉल में थी. उसके बाद नहाते हुए मैं फिर से सुमन को चाटने लगी तो सुमन बोली कि मैं थक गई हूँ.

जानवर लड़की का सेक्सी

एक-एक करके खोले जा रहे हैं।राजवीर- तो खोलिए पिटारा … मैं भी तैयार हूं सारे राज का सामना करने के लिए। आखिर मेरा नाम राजवीर है। बड़े-बड़े राज पर वीरता प्राप्त करने वाला हूं मैं।वीणा- तो सुनिए, बीती रात जो हुआ मतलब विक्रम और आपके शराब पीने के बाद गलती से मेरे कमरे में आ जाना और मेरे साथ यौन संबंध बनाना। ऐसा कुछ हुआ ही नहीं. जब सारा सुहागरात का पूरा किस्सा सुना चुकी तो ज़रीना कहने लगी- आमिर, आप बहुत अच्छे तरीके से चुदाई करते हो … आप तो इंगलैण्ड चले गए थे और आपने नूरी खला को बोला था आपकी कई गर्लफ्रेंड थी. उसने मेरे लंड रस को मज़े से पूरा गटक लिया और फिर लंड को चाट कर पूरा साफ़ कर दिया.

माँ के कंठ से मादक आहें निकल रही थीं- उम्मम … आह अअई अआ … चाटो इसी तरह से … निकाल दो मेरी चुत का पानी … चूसो मेरी चुलबुली को … आह कब से तड़प रही है … याम्म्म आ. मैंने सुमिना से पूछा तो उसने बताया कि अब वो अपने घर पर रहकर ही पढ़ाई करती है.

ये भी गर्म हो चुका है और मैं भी!मैं खुल के बोली- आज तुमको मौका देती हूँ, चोद लो चोदना है तो!वो बोला- नहीं नहीं मेमसाब, ऐसा मत बोलो.

उसके बाद दिलिया के सफ़ेद बड़े-बड़े खरबूजे देख कर मेरी तो जुबान रुक गई। जैसे ही फूल हटे दिलिया के आधे नंगे स्तन को देख कर मस्त होने लगा, मेरा लंड टाइट हो गया. मेरी कुंवारी चूत और पहली बार में ही चार लंड … सोच कर ही गांड फटने लगी थी. उनकी सांस रुकने लगी, तो उन्होंने जल्दी ही मेरे लंड को अपने मुँह से बाहर निकाल दिया.

मैंने भी गर्म होकर उस औरत की चुची को अपने मुँह में दबा कर चूसना शुरू कर दिया. पहली बार की चुदाई में ही हम दोनों बहनों को जोरदार चुदाई का मजा मिला था. जीजा की स्पीड बढ़ने लगी और उन्होंने मेरी चूत की जोरदार चुदाई शुरू कर दी.

मगर आज मोनी के इतने करीब चले जाने के कारण पता नहीं क्यों मेरे दिल‌ में एक हलचल सी मच गयी थी जिससे ना चाहते हुए भी मेरा लंड अब जोश में आ गया।मगर मैं मोनी के बारे में कुछ गलत नहीं सोचना चाहता था इसलिये करवट बदलकर अब मैं भी अपना मुँह दूसरी तरफ करके चुपचाप सो गया।अगले दिन भी सुबह मैं देर से उठा.

एक्स एक्स बीएफ वीडियो हॉट: फिर हम दोनों बाथरूम में जाकर फ्रेश हो गए और फिर से एक एक पैग लेकर बिस्तर पर लेट गए. राजे डॉगी … अब अपनी बेग़म को बेडरूम तक ले चल … बेग़म के सामने घुटनों पर बैठ जा … बेग़म के पैरों के नीचे तौलिया लगा दे … फिर धीरे धीरे बेग़म की तारीफ करते हुए बैडरूम को चल.

मैं तो एकदम चुदास से भर उठी और मेरी चूत ने टसुये बहाना शुरू कर दिया. वैसे ये कहानी मेरी अम्मी बारे में है, इस कहानी में मैंने अपनी अम्मी के अकेलेपन का इलाज ढूंढा है. उसके बाद अंजलि ने मेरे लंड को अपने मुंह में भर लिया और उसको चूसने लगी.

वो मुझसे कहती रही- नहीं, रुको … मत करो … आह्ह … मत करो … ओह्ह … मत … करो … फिर थोड़ी ही देर में उसके मुंह से काम वासना फूट कर बाहर आने लगी.

नम्रता भी मेरे लंड को बहुत तेज-तेज फांकों के बीच में घिस रही थी और साथ ही चूत के अन्दर लेने की कोशिश कर रही थी. उसके बाद मेरे रवि बॉस ने अपने लंड पर भी क्रीम लगाई और क्रीम लगाते हुए उसका लौड़ा पूरा का पूरा तन गया. इसके बाद मैंने भाभी को अपनी बांहों में जकड़ लिया और उसके होंठों को चूमने लगा.