सेक्सी बीएफ चुदाई बीएफ

छवि स्रोत,बांग्ला में सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

पवन सिंह पिक्चर: सेक्सी बीएफ चुदाई बीएफ, फिर हमने हमारे लिए एक डिल्डो (नकली का लंड) भी ऑर्डर किया ताकि एक एक करके हम दूसरे को संतुष्ट कर सकें.

बांग्लादेशी चोदा चोदी

डिम्पल मुझसे छोड़ देने की विनती करने लगी, पर मैं पागलों की तरह उसे चूमने लगा और अपने लंड को आगे पीछे करने लगा. नंगा सेक्सी वीडियो नंगा सेक्सी वीडियोबाहर निकल कर हमने अपना लगेज बेल्ट पर से कलेक्ट किया और एक टैक्सी लेकर हम मंजुला के होटल को चल पड़े.

उसको भी चूत चोदने की ललक मची होगी … क्यों न मैं अपनी चूत की प्यास उसी के लंड से ही बुझा लूं?अब मेरे दिमाग में हर वक्त समर का लंड ही घूम रहा था. सुहागरात का मजामेरी सहेलियां बताया करती थी कि वो कैसे अपने बॉयफ्रेंड के लंड को चूत में लेकर मजा लेती हैं.

उसकी दोनों चूचियों को रगड़ने के बाद मैंने उसके पेट को चूमा और मैं धीरे धीरे चूमते हुए उसकी चूत की ओर बढ़ा.सेक्सी बीएफ चुदाई बीएफ: पीछे वाला लड़का मुझसे कान में बोला कि मेरे साथ आओ … मैं तुमको और मज़ा दूंगा.

उसने एक दो बार विरोध किया लेकिन बात अब उसके काबू से भी बाहर होती जा रही थी.15-20 दिनों में ही मैंने ससुर जी को शीशे में उतार लिया था, ससुर जी की निगाहें इसकी गवाही देती थीं लेकिन बाबूजी यह नहीं समझ सकते थे कि मैं ऐसा जानबूझकर कर रही हूं.

सेक्सी फिल्म पाठवा - सेक्सी बीएफ चुदाई बीएफ

फिर आगे बोली कि वो फ्लाइट से भोपाल आएगी क्योंकि उसे अपनी किसी खास सहेली से भोपाल में मिलना था.संगीता ने बहुत जोर से सिसकारी ली मुझे और जोश आ गया।फिर मैंने दोनों फांकों को बारी बारी चूसा। मुझे ऐसा लग रहा था कि मैं सुबह 5 बजे तक ये ही करता रहूँ.

बड़े पापा- हां मेरी जान, तेरी चुत का पानी जो मिलता है इसे!उसके बाद लंड चूसना शुरू हुआ. सेक्सी बीएफ चुदाई बीएफ मुझे तो काटो तो खून नहीं … मैंने हड़बडा़ कर कहा- ये क्या बोल रहे हैं?टी टी ने बीच में टोका और उनसे पूछा- क्या नाम है आपका?उन्होंने कहा- विश्वजीत सिंह.

मुझसे अब रहा नहीं जा रहा था। मैं उसकी टांगों के बीच में आकर बैठ गया और धीरे से उसकी चूत के होंठों पर अपना लन्ड लगा दिया।मुझे डर था कि उसका पहली बार है तो वो रोने ना लगे।मैंने हल्का सा धक्का दिया और पच … से मेरे लंड का सुपारा उसकी चूत के अंदर चला गया.

सेक्सी बीएफ चुदाई बीएफ?

भाभी की चुत को सहला रहा था, मेरे हाथ के ऊपर उनका बैग था, तो किसी को पता नहीं चल रहा था. मैं काफी डर गया, मैंने भाभी को सॉरी बोला और कहा कि आज के बाद ऐसी गलती नहीं होगी. उन्होंने बोला- बेटा मेरा काम हो गया है, मैं तुम्हें फोन नहीं कर पाया.

फिर मैंने मंजुला के लिए मैंने उसी की पसंद का एक लेटेस्ट स्मार्टफोन खरीद दिया. शायद वो अपनी बहन के रहते अपने बॉयफ्रेंड के साथ मजा ले रही थी इसलिए उसकी चूत में आज ज्यादा ही आग धधक उठी थी. मेरा लन्ड पूरी तरह से खड़ा हो गया था और पैंट के अंदर तंबू बन गया था.

उनके निप्पल के नजदीक मेहंदी का कोन रखते ही भाभी ने थोड़ी सी हरकत की. उसका लन्ड मेरे मुंह तक आ रहा था जिसके टोपे पर मैं अपने होंठ भी छुआ रही थी।दस मिनट बाद सागर का लावा फूटा. आप सबकी प्रतिक्रियाओं के माध्यम से ही मुझे बेहतर कहानी लिखने की प्रेरणा मिलेगी.

ये सुनकर मॉम शर्मा गईंदरअसल मेरी मॉम थोड़ा कम बोलतीं हैं … इसलिए वो चुप ही रहीं. मैंने भी कुछ ही देर में डिम्पल की चूत सहला कर उसे इतना गर्म कर दिया कि वो बिन पानी के मछली की तरह छटपटाने लगी.

ये दोनों लाल कच्छा और चोली साथ ही तो लाई थी अम्मी!मैं बोला- बाजी, आप दोनों को एक ही नाप की चोली आती है क्या?बाजी बोली- हां 32 है इसकी नाप भी और मेरी भी!मैंने राबिया से उसकी चोली दिखाने को कहा तो वो शर्मा गई और मना करने लगी.

उनके मुँह से ‘अह्ह्ह्ह … ह्ह्ह … स्सस्स … इह्ह्ह्ह … उम्म्म्म्म … अह्ह्ह्ह…’ की मादक सिसकारियां निकल रही थीं.

मैंने जल्दी से बुआ का मुँह बंद कर दिया और आधा लंड बाहर निकाल फिर से ज़ोर से पेल दिया. तब भी उसके मन में कहीं न कहीं बलविंदर की हरकतें भी अच्छी लगने लगी थीं. वहां सब जरूरी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद मैंने सम्मान से मंजुला को उसकी ऑफीशियल चेयर पर बैठा कर भविष्य की शुभकामनाएं दीं.

अंकल मेरे पापा के दोस्त थे और वो मेरे घर आते जाते रहते थे, तो उनको मालूम था कि मैं इतनी जल्दी नहीं उठता हूँ. नीरजा देवी भी अपनी चुत की साफ सफाई करके अपने कमरे में चली गईं और थकी होने के कारण सो गईं. मैंने फोन उठाया तो वो मेरी गर्लफ्रेंड का नाम लेते हुए बोला- मैं इसकी माँ बोल रही हूं.

थोड़ी देर तक मैं अपना हाथ वहीं पर रखे रहा। अब मेरा साहस बढ़ने लगा और मैं धीरे धीरे उसकी चूत पर हाथ फेरने लगा।अब मेरा मन और आगे बढ़ने को करने लगा क्यूंकि मेरा लन्ड पूरा खड़ा हो गया था.

मैंने मना कर दिया … लेकिन जब वो ज़्यादा ज़ोर देने लगे तो नीरजा ने भी मुझसे जाने के लिए बोला. उस समय तो मेरी पहली चुदाई थी, इसलिए मैं ज़्यादा कुछ नहीं कर सका था. मैं आपको जिस घटना के बारे में बताने जा रही हूं वो अब से कुछ समय पहले की ही घटना है.

कभी मैं उसकी चूचियों के साथ खेलती और उसकी चूत को चाटा करती थी और कभी वो मेरी चूचियों को जोर से दबाते हुए मेरी चूत में उंगली कर दिया करती थी. बाबूजी 10 बजे टीवी बंद करके अपने कमरे में चले जाते थे, वही आज भी हुआ. वो भी बहुत खुश हुआ और काफी फल मिठाई तोहफे लेकर वो हमारे घर आयी और इस खुशी में शरीक हुई.

अब आगे की मॉम एंड सन सेक्स कहानी:फिर मैं दीदी की चुत और मम्मों को चूसने लगा.

कुछ ही देर बाद मेरे हाथ ने उसके पेट से होते हुए ऊपर जाना शुरू कर दिया. लग रहा था शाम को ही उसने अपनी चूत के बाल साफ किये हैं।मैंने ज्योति को दीवार से सटा कर खड़ी कर दिया और उससे कहा कि वो अपना एक पैर मेरे कंधे पर रख दे.

सेक्सी बीएफ चुदाई बीएफ इस बार उसके झटके ज्यादा लम्बे समय के लिए नहीं चले और वो मेरी योनि को अपने वीर्य से भर दिया. मैंने देखा कि पार्किंग में डैड की गाड़ी खड़ी थी इसका मतलब डैड घर आ चुके थे.

सेक्सी बीएफ चुदाई बीएफ मैंने आरिया के मम्मों की कुछ मिनट रगड़ाई की और लंड का पानी आरिया के मुँह पर छोड़ दिया. वो अपनी गांड को उठाते हुए सेठ के लंड को अपनी चूत में गोल गोल घुमाने की कोशिश कर रही थी.

मेरा मन भी उसको देख कर आकर्षित होने लगा था क्योंकि वो बहुत ही हैंडसम था.

सेक्सी मूवी फुल बीएफ

इस बात का किसी को पता भी नहीं चलेगा, पूछो राखी से मेरे लंड के बारे में. पर मेरा प्लान तो कुछ और ही था दोस्तो!तो आगे क्या हुआ? अगले भाग में बताऊंगा। मेरी बाप बेटी चुदाई की कहानी कैसी लगी आपको? कमेन्ट करें. जब मैं हॉस्टल छोड़ कर आया, तो रिजल्ट आने तक मैंने घर पर ही मजे लिए और उस लौंडिया को पटाने की कोशिश में लगा रहा.

ये बोलते हुए उन्होंने अपने हाथों से मेरे लंड पकड़ लिया और पायजामा नीचे कर लंड निकाल कर चूसने लगीं. इस देसी हिंदी Xxx कहानी की नायिका मनजीत कौर मेरी बीवी के सबसे छोटे मामा जी की पत्नी है. मैंने दीदी के बूब्स को दबाना शुरू कर दिया और उसकी चूत में उंगली से चोदने लगा.

जैसे ही मेरी उंगली उसकी चूत में जाती तो वो ऊपर उचक जाती जैसे कोई नीचे से उसकी चूत में लंड देकर उसकी कामाग्नि को भड़का रहा है.

तो फिर तुम इतनी दूर क्यों बैठे हो? भला कोई अपनी प्रेमिका से इतना दूर बैठता है क्या?तो उसकी बात सुन कर मैंने उसे अपनी तरफ खींचा तो उसने भी मुझे अपनी बांहों में भर लिया और नशीली आंखों से मुझे देखने लगी. मैंने देखा कि राजेश मास्टर अपने तने हुए लौड़े को पैंट के ऊपर से ही सहला रहे थे. आखिर देर रात मैंने शनाज़ को एक बार और चोद कर सुला दिया और मैं भी सो गया.

अब बलविंदर का लंड खड़ा हो गया था और अलीमा की चूचियों के ऊपर गले से लग रहा था. और आखिरकार एक दिन जब हम मॉल से धूम कर वापिस रिवाड़ी के लिए निकले तो मैंने उसे लंड चूसने के लिए कहा और वह लंड चूसने के लिए मान गई।मैंने मॉल की पार्किंग में ही गाड़ी में लंड निकाल कर उसके हाथ में दे दिया और उसके सिर को पकड़कर लंड की ओर धकेल दिया।वो बोली- जीत ये बहुत लंबा है, मैं नहीं ले पाऊँगी. जब तक तुम (विवेक) और मॉम शादी से वापस नहीं आये हमने घर में रह कर चुदाई के बहुत मजे लिये.

मैंने उसको बोला कि इतनी दूर गाड़ी चला कर आये हो … थोड़ी देर तुम भी अपनी कमर सीधी कर लो. लेकिन जब मैं वहां से वापस आने लगी तो मेरा पैर फिसल गया और मैं गिर गई.

”हां गुरप्रीत, कैसी हो?”मैं अच्छी हूँ, आप कैसे हैं?”बहुत बढ़िया, तुम्हारी तबियत ठीक है?”जी, काफी कुछ ठीक है. करीब 5 से 7 मिनट धक्के लगने के बाद चुत ने लंड को स्वीकार करके रस छोड़ दिया. उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये और अपनी गांड हिला कर उसके लंड को पैंट में ऊपर से ही रगड़ने लगी.

दो मिनट बाद ही मैंने उसके सिर को अपने लंड पर दबा दिया और सारा माल उसके मुंह में भर दिया.

मॉम जोर जोर से सिसकारने लगी- आह्ह … आह्ह … ऊईई … ओह्ह … और … और करो … अंदर तक … आह्ह … आईई … ऊह्ह … करते रहो … आह्ह।इस तरह से काफी देर तक उसने मॉम की चूत चाटी. मेरा मन कर रहा था कि बस इसे अभी गाड़ी में ही चोद दूँ, पर मैं थोड़ा हद में रहा और मैंने गाड़ी का दरवाजा खोल कर उसे गाड़ी में बैठाया. इस पर जब मेरा हाथ आकांक्षा की चूत के आस पास छूता, तो उसकी सिसकारी निकल जाती.

मैं ये जानकर बहुत खुश हुआ कि चलो मेरे बगल में कोई तो है … क्योंकि बाकी सब लोग ऊपर रहते थे. रुखसाना और धर्मपाल एक साथ बैठ गए।हरदीप उन सबके लिए कोल्ड ड्रिंक ले आई। वो आकर लखविंदर के पास बैठ गई।सभी अब साथ में बैठ कर कोल्ड ड्रिंक पीने लगे।लखविंदर का पूरा ध्यान रुखसाना की तरफ था.

मुझे इसमें कोई आश्चर्य नहीं था क्योंकि इतने गर्म माहौल में कोई भी अपने आप को रोक नहीं पाता. जैसे ही पापा ने अपनी आंखें बंद की तो मैंने उनको होंठों पर किस कर दिया. मगर फुसा ने बिना रुके मेरी मम्मी की चुत में दस बारह तेज झटके मार दिए.

राजस्थान की बीएफ चुदाई

हालांकि इसमें आधी से अधिक कहानियां बनावटी होती हैं किंतु इनमें भी इतना सेक्स होता है कि लंड खड़ा हुए बिना नहीं रहता है।कुछ कहानियों में सच्चाई दिखती है जिनको पढ़ कर मेरा मन भी करता है कि मैं भी कुछ ऐसा ही करूं.

वो किरायेदार की लड़की जिसका नाम शिफ़ा (बदला हुआ) था, वो मुझे चुपके से छुपकर देख रही थी. मैंने राबिया की कमर पकड़ कर एक और धक्का मारा तो वो फिर शोर मचाने लगी. मुझे लगा कि जरूर ज़ोहरा आपा की डेट निकल चुकी होगी और उनकी कोख भी शनाज़ की तरह भर गयी होगी.

रात भर सफर किया था इसलिए मुझे तो बहुत नींद आ रही थी और मैं जाते ही सो गया. मैंने शुरू तो नेक काम के लिए किया था, लेकिन अब मुझे भी उन तीनों से अपनी चूत और मोटी गांड चुदवाने में मज़ा आने लगा था. जंगल वाली चुदाईसच में मॉम की चुत के रस की बड़ी मस्त महक आ रही थी; उनकी चुत से रस टपक रहा था.

जब सरिता नॉर्मल हुई, तो मैंने उसके आंसू साफ किए और उसको माथे, आंखों पर किस करने लगा. मेरी चूत में भी खुजली मची हुई थी इसलिए मैंने भी मौके का फायदा उठाया और मैं चूत खोलकर उसके सामने लेट गयी.

वो फुसा से बोलीं- तुम तो दूध पीने की कह रहे थे … अब क्या हुआ?फुसा को जैसे दूध पीने की याद आई, वो अपने मुँह में एक मम्मे को भर कर चूसने लगा. उसी बीच मुझे सिगरेट की तलब हुई, तो मैंने उन्हें कहा कि मैं अपने रूम में जाकर आता हूँ. एक ही झटके में मेरा आधे से ज्यादा लंड उसकी चूत में समां गया और वो चीख पड़ी.

मेरी फैमिली में मेरी वाइफ, बेटा (पकंज सिंह 28) और बहू (आरती सिंह 28) है. मैं पौंछने को हुई तो उसने मना कर दिया और अपनी पैन्ट चढ़ा कर मुझे मेरे कम्पार्टमेन्ट तक छोड़ने आये. वो भी मेरे पीछे पीछे आ गई क्योंकि उनकी चूत भी रोज उछाल मारती थी अब.

अब मैं अंकल को सहयोग करने लगी और नीचे से अपने चूतड़ों को उछालने लगी.

मैंने उससे पूछा तो उसने बताया कि उसके मां पापा दोनों नौकरी करते हैं और उसकी बहन शिफ़ा कोचिंग क्लास गयी हुई है. सेठानी की चूत को लंड का मजा मिला तो उसका मन भी लंड लेने का हो गया और वो सेठ को अपने ऊपर खींचने लगी.

लेकिन मुझे नंगी करके उसने मेरी चूत के बजाये मेरी गांड में लंड घुसा दिया. झगड़ा इस बात पर हो रहा था कि जब मेरी बेटी पेट से हुई, तब से वो अपने पति को अपने पास नहीं आने देती थी. मैंने बोला कि आपके हस्बैंड से आपके संबंध कैसे हैं?वो यह सुनकर चुप हो गई.

उसके बाद मेरी बीवी और उसकी मामी अपनी बातों में लग गईं और मैं दूसरे कमरे में जाकर टीवी देखने लगा. इस पर भाई ने कहा- जब अकेले शुभम को ही जाना है तो इसके तीन चार जोड़ी कपड़े दे दो, मैं इसे संडे को वापस छोड़ जाऊंगा. उनमें से ज्यादातर लड़कियां ही होती थीं क्योंकि यहां के कॉलेज में लड़कियों की संख्या लड़कों से ज्यादा है.

सेक्सी बीएफ चुदाई बीएफ भाभी ने अपनी एक टांग उठा कर मेरे ऊपर की और मैंने उनकी चूत में लंड पेल दिया. ठाकुर बलदेव भी जल्दी उठ गया था, उसने सास को गोशाला की तरफ जाते देखा, तो उससे रहा नहीं गया.

बीएफ सेक्सी 12 साल की

वैसे तो मैं शादी से पहले ही मेरी चूत की गर्मी के कारण चुद गई थी और इस बात को मैंने अपने पति को भी बता दिया था कि मेरा शादी से पहले एक दोस्त था, जिसने मेरी चुत की सील खोली थी. फिर मैं दरवाजे के पास अनजान बनकर गया और खटखटा कर बोला- कौन है अंदर? मुझे भी नहाना है. मैं भी उनके पीछे ही चल दिया।नीचे आकर बाजी टॉयलेट में घुस गई तो राबिया बोली- इमरान, मुझे पता है कि तुम्हें अजीब लगेगा, मगर मैं तो रोज़ तुम दोनों को चुदाई करते देखती हूं.

अचानक से उन दोनों ने चुदाई की स्पीड तेज कर दी और बड़ी मम्मी ने बड़े पापा को किस करना शुरू कर दिया. अब वो रोने लगी और चिल्लाने लगी- उई माँ … आआ … आह्ह … ऊईई … नो हह्ह … मर गई. ब्यूटी पार्लर सेक्सी वीडियोमैंने उसकी चूचियों की तरफ देख कर कहा- यार तुम तो सच में बहुत सुंदर हो, तुम्हारे पीछे तो लड़के मंडराते होंगे.

वहां जाकर मुझे पता चला कि उनके घर में केवल वो और उनकी बेटी ही रहती है.

लेकिन मुझे नंगी करके उसने मेरी चूत के बजाये मेरी गांड में लंड घुसा दिया. गांड में लंड लेकर चाची भी मस्त हो गयी और मैं चाची की गांड को पेलने लगा.

बियर के दो घूँट खींच कर मैंने सिगरेट निकाली तो नताशा ने मेरे हाथ से ले ली और बोली- तुम कार चलाओ, मैं जलाती हूँ. चूत पर मेरा हाथ जाते ही वो और जोर से मेरे सिर को अपने चूचों पर दबाने लगी. मैंने आरजू से उसका नंबर ले लिया और उससे कुछ देर बात करके उनसे विदा ले ली.

मैं- नहीं अंकल अब बर्दाश्त नहीं हो रहा है … प्लीज बाहर निकाल लो अपना लंड आह बहुत दर्द है अंकल.

बस हो गया मेरी जान … थोड़ा सब्र रखो फिर देखना तुम्हारा ये वाला छेद भी आगे वाले छेद से कम मज़ा नहीं देगा. वो मेरी ब्रा और पैंटी को सूंघता हुआ जा रहा था और अपने लंड को सहला रहा था. मैंने आपको जैसा पहले भी बताया था कि मैं हमेशा स्लीवलैस साड़ी पहनती हूँ, जिसका आगे और पीछे से गला काफी डीप रहता है और साड़ी भी नाभि के नीचे बाँधती हूँ.

एक्स एक्स एक्स एक्स एक्स ब्लू पिक्चरदीपू की कड़क गीली चूचियों को जोर जोर से चूसते हुए मैं उसके निप्पलों को काट रहा था. मैंने ऑफिस में कॉल करके बोल दिया कि तबीयत खराब है और मैं आज नहीं आ पाऊँगा.

हप्सी बीएफ सेक्सी

मैं घर से बाहर निकली, तो मैंने साड़ी का पल्लू साइड में कर लिया और सामने से थोड़ा हटा लिया, जिससे मेरे दूध अच्छे से दिखने लगें और नाभि को भी दिखाते हुए जाने लगी. दारू पीकर मैं सबके साथ शामिल हो गयी और संजय सब मर्दों के साथ पीने लगा. घर लौट कर मेरा तो मूड था कि मंजुला को एक बार दिन दहाड़े चोद लूं पर वो राजी नहीं हुई कहने लगी- शिवांश जाग रहा है, रात में कर लेना.

Xxx हाउस वाइफ चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने जवान यार को अपने घर बुला कर अपनी चूत को चुदवा कर पूरा मजा लिया जिन्दगी का!दोस्तो, मैं सिमरन एक बार फिर से अपनी सेक्स कहानी के दूसरे भाग में आपका स्वागत करती हूँ. अब मैंने प्रीति से कहा- मेरे लिए सबसे पहले तुम हो, बाद में वो जवान लड़कियां. मैंने क्या किया?दोस्तो, कैसे हो आप सभी?उम्मीद करता हूं आप सभी स्वस्थ होंगे और चुदाई का मज़ा ले रहे होंगे।मैं हरजिंदर सिंह रोपड़ (पंजाब) से एक बार फिर आप सभी का स्वागत करता हूं।आपने मेरी पिछली कहानीप्रिंसिपल मैडम की चिकनी चूतपढ़ी और पसंद की धन्यवाद.

वो बोले- क्या कर रही हो श्वेता, अगर किसी को पता लग गया तो बहुत बदनामी होगी. वो मेरी ब्रा और पैंटी को सूंघता हुआ जा रहा था और अपने लंड को सहला रहा था. उसके बाद मैं उनके घर गया जहां आसिफा दीदी भी थी और उनकी बेटी भी बैठी हुई थी.

फुसा ने मेरी मम्मी ज्यानु की पैंटी के ऊपर से अपने हाथों से मस्ती करना शुरू कर दी. दीदी का कॉलेज मेरी कॉलेज के रास्ते में पड़ता है, तो रोज मैं उसे अपनी बाइक से छोड़ता हुआ जाता हूँ.

माया ने बस एक सेक्सी स्माइल दी और उसे देखते हुए कहा- आप भी हैल्थ कॉन्शियस लगते हो.

मैंने उसकी गांड के छेद पर बहुत सारी क्रीम लगा दी और लंड को उसकी गांड के मुँह पर रख दिया. ब्लू पंजाबी सेक्समैंने झुककर ज्योति के दोनों होंठों को अपने मुंह में लेकर एक झटका उसके दोनों कंधों को अपने हाथों से दबाते हुए लगाया. সেক্সুয়াল ভিডিওवो अंदर ही अंदर चिल्ला रही थी क्योंकि चाची ने उसके होंठों को अपने होंठों से दबाया हुआ था. उस वक्त जो भी शादियां हो रही थीं उनमें बहुत कम लोग ही शामिल हो रहे थे.

अब मुझे उन दोनों की सारी रात चुदाई का प्रोग्राम तय होना समझ आ गया था.

मेरी मां की चौड़ी गांड देख कर तनु ने हम मां बेटे की चुदाई देखने की इच्छा जाहिर की. इस बार मैंने उससे लंड चूसने के लिए कहा, तो थोड़ी नानुकुर करने के बाद वो मेरा लंड चूसने के लिए राजी हो गई. भाभी बस जैसे इंतजार में थी कि कब मेरे लंड का धक्का लगेगा और लंड उनकी चूत में जायेगा.

उसकी मैक्सी के अंदर हाथ देकर मैं उसकी पैंटी तक पहुंच गया और मेरा हाथ उसकी चूत पर जा लगा. धीरे धीरे अब मैं उनसे ज्यादा क्लोज़ होने लगा था और उन्हें टच करने के बहाने खोजने लगा था. अपना मूड ठीक करने के लिए मैंने अपने फोन में पोर्न सेक्स देखना शुरू किया और अपनी चूत को सहलाने लगी.

इंग्लिश बीएफ एचडी बीएफ

वो अपनी जांघों को सिकोड़ने की कोशिश करने लगी जैसे कि मेरे हाथ को जांघों के बीच में दबाने की कोशिश कर रही हो।अब मैंने हल्के से एक उंगली अंदर डाल दी और मेरी उंगली गर्म चूत में अंदर चली गयी जो अंदर से पूरी पानी में भीग चुकी थी. लेकिन मैंने उसकी चिल्लपौं की जरा भी परवाह ना करते हुए एक और धक्का लगा दिया. आपके इसी मजे को बढ़ाने के लिए आज मैं आपके लिए अपनी एक सेक्स स्टोरी लेकर आया हूं.

बाहर रखे गमले के नीचे से चाबी निकाली और लॉक खोल कर आकांक्षा को अन्दर बुला कर अन्दर से दरवाज़ा बंद कर दिया.

यहां शुभम अकेले बोर होता है, वहां भैया के बच्चों के साथ खेलेगा तो उसका दिल बहल जायेगा.

फिर देखते ही देखते कॉलेज में 6 महीने कब निकल गए, कुछ पता ही नहीं चला. नेहा के मुँह में मेरे दोस्त अमित का लंड था और वो नेहा के गले तक लंड घुसा कर उसका मुँह चोद रहा था. एक्स एक्स एक्स एक्स एक्स इंग्लिश पिक्चरउसकी चूत का पानी भी शायद दोबारा निकल चुका था और जब उसने लंड अपने मुंह से निकाला तो वह बुरी तरह से हांफ रही थी.

मैंने पीछे जाकर लंड उसकी चूत में डाल दिया और उसको पूरी स्पीड में चोदने लगा. उसके बाद मैंने उस लड़की की एक टांग को उठा दिया और उसकी चूत में लंड को धकेल दिया. भाभी के होंठों को चूसने के बाद मैंने अपनी जीभ भाभी के मुँह में डाल दी.

जल्दी ही मैंने एक एक कर के मामी की साड़ी, ब्लाउज, ब्रा सब निकाल दिया. मैंने धीरे से उसकी मैक्सी को ऊपर करना शुरू किया तो उसने अपने पैर को थोड़ा दूर कर लिया.

मैं बोली- अगर तेरे दिल में कुछ बात है तो तू मुझसे बेझिझक कह सकता है.

वो मेरी तरफ आ गई और मुझसे चिपक गई जिससे मुझे उसकी चूची छोड़नी पड़ीं. फिर शाम होने तक मुझसे रुका न गया और मैंने मौका पाकर अंजलि को छत पर चलने के लिए कहा. अब मुझे समझ आया कि मामी हमेशा चुदासी रहती होंगी … क्योंकि मामा को चुदाई के लिए टाइम ही नहीं है … तो क्यों न मैं ही ट्राई करूं.

देवर ने भाभी को नंगी करके चोदा मैंने मन में सोच लिया कि इसकी बेटी को भी चोदूंगा … तब तक इसी की चुत से काम चलाता हूँ. आयज़ा पर मैंने फिर से दबाव देते हुए पूछा तो वो बताने लगी कि वो अपने पड़ोस के एक लड़के से बात करती है लेकिन सेक्स सिर्फ बातों में ही हुआ है, रियल में नहीं.

वहां उसकी सहेली ने क्या किया?प्यारे दोस्तो, आप सब कैसे हैं?मैं अक्षय, इंदौर शहर (एम. शनाज़ बोली- मैं समझती हूँ सरकार … आप यही हाल में लेट जाएँ, मैं कुछ देर के बाद आपके पास आती हूँ. उसने मेरी चूत पर लंड को रखा और अपने लंड के सुपाड़े मेरी चूत पर रगड़ने लगा.

कुंवारी लड़की की सेक्स बीएफ

मैंने उनकी बात काटते हुए कहा- आप तो एकदम मस्त आइटम हो जी, मुझे तो जरा सिगरेट की तलब लगी, इसलिए मैं बाहर जा रहा था. चूंकि वो आदमी हमारे मोहल्ले में ही रहता था … इसलिए मां के पास उससे एकदम से बात करने से मना करने का भी कोई सबब नहीं था. जब मेरी हालत में कुछ सुधार होता हुआ उसको मालूम पड़ा तो उसने फिर से एक और झटका मेरी चूत में दे मारा और उसका लंड मेरी चूत में लगभग आधा घुस गया.

सेठानी की पपीते जैसी चूचियां यहां वहां डोल रही थीं और वो उनको खुद ही सहला रही थी. मुझे नाखून गड़ा रही थीं और बोल रही थीं कि फाड़ दो मेरे राजा … आह मेरी इस कमीनी चूत को … आह बहुत चुदासी है ये.

सुबह का समय तो सामान्य तरीके से बीता, लेकिन दोपहर को फिर मेरी बेटी के ससुर अनूप मुझे घुमाने ले गए.

क़िस्मत ने मेरा साथ दिया और लाइट चली गई।तभी सुरभि और नीलम (दुल्हन) ऊपर आ गईं। वो दोनों एक तरफ खड़ी होकर बतियाने लगीं. स्टेज पर मैं उन्हीं के बगल में खड़ा था और मेरे लंड ने सलामी देना शुरू कर दिया था. जब मैंने हाथ नहीं लगाया … तो वो बोली अब बटन खोलने के लिए चिट्ठी लिखनी पड़ेगी क्या? इतना क्यों डर रहे हो … पहले कभी कोई लड़की इस हालत में नहीं देखी क्या?तो मैंने कहा- नहीं देखी.

मैं रूबीना से टकराया तो वो हैरानी से बोली- भाई! आप यहां क्या कर रहे थे?मैंने होश संभालते हुए कहा- पेशाब करने आया हूं।रुबीना बाजी बोली- तो गेट से बिल्कुल चिपकने की क्या जरूरत थी, थोड़ी दूर खड़े हो जाते?मैं खड़ा होते हुए बोला- मुझे अंदर से आवाज आ रही थी. मुझे रात वाला सीन याद आ रहा था तो मैं अपनी चूत में उंगली करके सो गई. संयोग से उस दिन अलीमा के मम्मी पापा घर पर नहीं थे और अलीमा बाथरूम में स्नान कर रही थी.

मैंने तुरंत अपनी जीभ चूत में घुसा दी और उसकी दोनों स्तन दबोच कर चाटने लगा … और अपनी दाढ़ी को उसकी चूत में, ख़ास तौर पर क्लिट के ऊपर रगड़ने लगा.

सेक्सी बीएफ चुदाई बीएफ: मेरी वक्षरेखा पर पड़ी पानी की बूंदें देख कर शैलेश की हालत टाइट होने लगी. लेकिन उसका लौड़ा मेरे चूत के अंदर नहीं गया था और मेरी दर्द के मारे जान निकलने लगी थी।अब सागर बोला- चलो बॉन्डेज सेक्स यानि बांध के चुदाई का मजा लिया जाए!उसने दुपट्टे से दोनों तरफ मेरे हाथ और दोनों पैरों को बांध दिया.

मैंने कहा- लेकिन तुम पापा का लंड क्यों लेना चाह रही हो?वो बोली- पापा को भी इस खेल में शामिल कर लिया तो फिर रास्ता आसान हो जायेगा. मेरा दोस्त अफजल कॉल सेंटर में जॉब करता था, वहां उसने कॉल पर एक लड़की से दोस्ती कर ली, जिसका नाम आरजू खान था. वो मुझे हटाने लगी, मारने लगी और थोड़ा छटपटाने लगी।लेकिन उसका विरोध नाम मात्र ही था, वो असल में मेरा सहयोग ही कर रही थी.

उसकी पैंटी पर हाथ पहुंचा और मेरी उंगलियों ने चूत के द्वार को खोज लिया.

फिर मैं चूमता हुआ उसकी चूत तक पहुंचा और उसकी चूत में पहले उंगली से चोदा और फिर जीभ अंदर दे दी. हॉट फैमिली Xxx स्टोरी में पढ़ें कि गर्मियों में सब एक दूसरे पर पानी डाल रहे थे. उसके मुंह से जोर जोर की सिसकारियां निकल कर पूरे घर में गूंज रही थीं.