बीएफ सेक्सी औरत वाला

छवि स्रोत,14 साल की लड़की की चुदाई बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

किन्नर सेक्स करते हुए: बीएफ सेक्सी औरत वाला, नितिन। उसके शामिल होने पे आप सवाल उठा सकती हैं लेकिन एक मज़बूरी है। मेरे पास कोई सुरक्षित जगह नहीं.

बीएफ सेक्सी एक्स एक्स एक्स फिल्म

वो उस दिन पीले रंग के सूट में ऑफिस आई थीं और अप्सरा से कम नहीं लग रही थीं. हिंदी पिक्चर हिंदी में बीएफलेकिन अब हम दोनों को जब भी चुदाई का मन करता है तो हम खूब चुदाई का मजा लेते हैं.

उसने अपने रूमाल से मेरी चूत को और बाकी हिस्से को साफ किया, मेरा सारा पसीना पोंछ लिया. बीएफ भोजपुरी बीएफ हिंदीतभी उस मूवी में गाना चलने लगा, जिसमें हीरो हीरोईन को किस कर रहा था.

मैंने उसको एकदम से अपनी छाती से लगा लिया और हमने एक दूसरे के होंठ चूसने शुरू कर दिए.बीएफ सेक्सी औरत वाला: फिर मैं भी खाना खा कर सो गया और जब सुबह उठ कर मोबाइल देखा तो उसके दस मिस कॉल पड़े हुए थे.

मैं धीरे धीरे उनकी योनि में झटके लगा रहा था और साथ ही उनके होंठों को चूस रहा था.उसने मुझे ज़ोर से किस किया और मुझे कस कर पकड़ कर मेरी चुत में अपना लंड पेल दिया.

सेक्सी बीएफ चुदाई सुहागरात की - बीएफ सेक्सी औरत वाला

जल्दी-जल्दी कपड़े पहने और फटाफट से माहौल को सामान्य करते हुए अपने अपने बिस्तर पर बैठ गए.अब ऐसे ही मुस्कान कभी मुझे देखे और मैं मुस्कान को देख कर स्माइल करता.

कुछ देर तक लंड चूसने के बाद भाभी चित लेट गईं और अपनी चूत की तरफ इशारा करने लगीं, भाभी अपनी आंखें बंद करके चूत पर हाथ फिराने लगीं. बीएफ सेक्सी औरत वाला यूं तो आमतौर पर लड़की की पंद्रह वर्ष की उमर के बाद सोलहवां साल लगते ही उसकी चूत भीगने लगती है, उसमें सुरसुरी उठने लगती है और उसे सेक्स की चाह या चुदने की इच्छा सताने लगती है, उनकी चूत का दाना रह रह के करेन्ट मारने लगता है.

फिर अंकल रात को आये और बोले- थेंक यू विकी, तुमने अपना टाइम मुझे दिया.

बीएफ सेक्सी औरत वाला?

जान ए बहार तुम किसी शायर का ख्वाब होचौदहवीं का चाँद हो, या आफताब होजो भी हो तुम खुदा की कसम लाजवाब हो!रेखा मुनमुनाई- झूठे कहीं के. हमारी शादी के तीन चार महीने बाद इन दोनों की चचेरी बहन की शादी भी थी मेरठ में. अगले दिन जैसे ही अंकल ऑफिस के लिए गए और बच्चे स्कूल के लिए गए, मैं आंटी घर पहुंच गया.

उसने भी मेरे निप्पलों को मसल मसल कर एकदम पत्थर जैसे सख्त कर दिए थे. वो बोली- हम वहां नहीं आएंगे, आप इस एरिया में एक रेस्टोरेंट है, वहाँ आइए. हमें पता ही नहीं लगा कि उनकी बेटी जो मेरे से थोड़ी छोटी थी, आकर गेट पे खड़ी हो गयी और चिल्लायी ‘मम्मी, ये क्या कर रहे हो?’ हमने फटाफट कपड़े पहने और उससे बात करने लगे.

मयूरी के लिए यह बिल्कुल नया था पर उसको ये एकदम से बहुत ही ज्यादा अच्छा लगा और वो इसका आनंद लेने में लग गयी. पहले तो सुरेश जी फ्रेश हुए और फिर मैंने उनका 2 बार लंड चूस कर पानी पी गया. फ़िर भी मुझे सामने चूत दिख रही थी तो कब तक मेरे जैसा जवान खुद को रोक सकता था.

वो मुझे जोर देने लगा- चलिए ना मैडम … आप प्लीज चलिए, समोसे खायेंगे!तो मैं मान गयी और मैं और मेरी सहेलियां हम सब लोग समोसे खाने के लिए दुकान में चले गए. फिर सब के कहने पर उसने हमारी भाभी मतलब उसकी पत्नी को हम सब से मिलवाया.

भाई अपना लंड मेरी चूत में डाल रहा था तो उसका लंड मेरी चूत से फिसल जा रहा था.

मेरे शरीर से पसीना बह रहा था, तो मम्मी बोलीं इतना पसीना- पसीना क्यों हो रही हो?मैं बोली- लाइट गुल हो गई थी मम्मी, गर्मी लग रही थी.

वो शर्मा रही थी, मैं भी उसके पास जाकर उसके गुलाबी रस भरे होंठों का रस पान करने लगा. खाला चीखने चिलाने लगी- हाआअ… आमिर आईईईईई ईईई दर्द उउउउइई ईईईई हो रहा है! उउउईईईई माँ, आहहहाँ!उनकी चीख से मैं और मदहोश हो गया, मैंने कहा- धीरे से चिल्लाओ खाला, सब सुन कर क्या सोचेंगे!एक बार फिर मैं पीछे हटा और फिर अन्दर की ओर दबाव दिया. जब मेरा दोस्त अपने मोबाइल में जब मुझे नंगी नंगी लड़कियां दिखाता है, तब बहुत अलग लगने लगता है.

मेरी तो फट गई पर उसने अन्दर से ही बोला- क्या बात है बेटा?तो उसने बोला- मम्मी जो अंकल आये थे वो पता नहीं, कहां चले गए?तो उसने बोला कि जाने दो तुम रूम बन्द कर लो और आराम से वीडियोगेम खेलो, मैं अभी नहा कर आ रही हूँ. इस हरकत ने उसके अन्दर की आग भड़का दी और हमें एक दूसरे के पास ला दिया. अगली सुबह भाभी को झुक कर झाड़ू लगाते देखा, तो भाभी की उठी हुई गांड देख कर मेरा लंड खड़ा हो गया.

जब हम दोनों अकेले होते थे तो वो मेरे सामने ही अपने चूचे निकाल कर अपनी बेटी को दूध पिला देती थीं.

ऐसा कहते हुए एकदम से सर अकड़ गए और उनके लंड से गर्म-गर्म सफेद रस निकलने लगा. पूछते पुछाते किसी तरह मैं उनके घर तक पहुंचा।डोरबेल बजाने पर सामना आरिफ भाई के वालिद से हुआ, मैंने उन्हें सलाम किया तो जवाब देते हुए उन्होंने अन्दर बुला लिया। शायद आरिफ भाई उन्हें बता चुके थे।ड्राइंगरूम में बिठा कर वे मेरे बारे में पूछने लगे. मैं उनकी आह का मजा लिया और मैं तेज तेज झटकों के साथ भाभी की चूत चोदने लगा.

उसने पद्मिनी के ब्लाउज के सभी बटन खोल दिए थे और पद्मिनी की ब्रा पर अपनी जीभ चला रहा था, जिससे पद्मिनी कसमसा रही थी. फिर जब मैंने अपना लंड बाहर निकाल कर देखा तो उसमें हल्का सा खून लगा था. फिर मैं धीरे धीरे धक्के मारने लगा और आंटीजी भी मेरे साथ दे रही थी अपनी गांड को उछाल उछाल कर…फिर मैंने धीरे धीरे अपने गति तेज़ कर दी.

मुझे उसमें से एक रेड कलर और एक येल्लो की साड़ी पसंद आ गई, पर मुझे सुहागरात या यूं कहूँ कि सुहागडे मनाना था, तो मैंने नेट वाली रेड कलर की साड़ी ले ली और उसके साथ ब्लैक कलर का वेलवेट का डीप कट स्लीवलैस ब्लाउज ले लिया.

ऐसे ही कुछ दिन बीत जाने के बाद मैंने एक दिन उस बच्चे को कार से जाते हुए देखा, जिसमें एक बहुत ही खूबसूरत पर थोड़ी मोटी औरत अपने साथ ले कर जा रही थी. लेकिन मैं अब रुकने वाला नहीं था, मैंने पूरी ताकत से एक और झटका दिया और पूरा लंड बुर में समा गया.

बीएफ सेक्सी औरत वाला बस अब मैं उसके गोल गोल मम्मों को अपने हाथ से दबाने लगा और उसके निप्पल को मुँह में लेकर ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा. मैंने उसकी आँखों में देखा तो उसकी मुस्कान में मुझे मूक सहमति सी दिखी.

बीएफ सेक्सी औरत वाला फिर कुछ ही देर बाद उसकी बुर मेरा पूरा लंड खा गई और वो कमर उठा कर मेरा साथ देने लगी. इस बार सुरेश जी ने मेरी कमर को कस के पकड़ रखा और एक जोरदार धक्का मारा तो उनका लंड फिर से मेरी गांड के जड़ तक पहुंच गया.

पर थोड़ी देर में दोनों की मुस्कुराहट आश्चर्य के मारे मुँह खुला का खुला रह जाता है क्यूँकि विक्रम ने कुछ अप्रत्याशित से कर दिया था- अगर ऐसी बात है तो ठीक है… मैं तुम दोनों के लिए कुछ भी कर सकता हूँ.

डॉग वाली बीएफ वीडियो

दोस्तो इतने दिनों से मैंने अपनी कोई स्टोरी नहीं लिखी, थोड़ा बिजी था और काफी ज्यादा टाइम भी हो गया है. मेरा हाथ उनकी एक चूची को दबाता चला गया और दूसरा हाथ उनकी पानी छोड़ती बुर पर चला गया. अरुण ने उसे नीचे से चूमना शुरू कर दिया था, चूमते चूमते ऊपर की तरफ बढ़ रहा था.

उसके बाद मैंने उसकी दोनों टाँगों को फैलाया और अपना लंड उसकी चुत में पेल दिया. अन्दर काजल थी, वो पता नहीं कहां घोड़े बेच कर सो रही होगी कि उसको भी पता नहीं चला या पता चला भी होगा, तब भी उसने कोई रिएक्ट नहीं किया. मैं फ्री था इसलिये मुझे भेजा जा रहा था।मैं खुशी से पागल हो गया, मैंने फोन करके मौसी को बताया कि मैं कल आ रहा हूँ, तैयार हो जाओ.

चुदाई के दौरान वो एक बार झड़ गयी पर मेरा हुआ नहीं था तो मैं करता रहा और 7 मिनट की चुदाई में वो मेरे साथ दूसरी बार झड़ गयी और हम दोनों थक कर वैसे ही लेट गए।मेरा लन्ड जूही की चूत में सिकुड़ गया और हम दोनों ऐसे ही सो गए.

अब उन्होंने ड्रावर अपना कार्ड निकाला और उसके पीछे अपना पर्सनल नम्बर लिख कर मुझे दे दिया. मैंने पूछा- वेयर इज़ मिसेस रानी?वो बोली- मेरी आहट सुन जब वो बाहर आई, मैं छिप गयी. आज हमारी फर्स्ट नाईट है तो … वो बादाम वाला दूध तुमने लाकर रखा या नहीं?आयुषी- वो असल में कल रात से मैं ठीक से सोई नहीं थी ना … मेरे सर में दर्द हो रहा था तो मम्मी जी ने मुझे केटल में कॉफी दी थी, अभी तो मैंने बस वही पी है … आप भी लेंगे क्या कॉफ़ी?आयुषी उत्तर की प्रतीक्षा किये बिना एक मग में कॉफ़ी उड़ेलने लगी.

मैंने उसका स्कर्ट सही किया और अपना लंड पैन्ट में अन्दर कर लिया और अपनी बहन निशा को फिर सही से गोद में बिठा लिया. लेकिन उसका लंड एकदम कड़क था, उसका पानी निकलने का नाम ही नहीं ले रहा था. साथ ही आपको बता दूँ कि मेरी प्यारी बीवी को मुझसे चुदवाना बहुत ही ज्यादा पसंद है.

वह लड़की इतनी सुंदर, गोरी और सेक्सी थी कि मेरा उसी के ऊपर दिल आ गया था और सोचने लगा कि यह लड़की चोदने के लिए मिल जाए तो मजा आ जाएगा. लेकिन जिस सुधा ने मुझे ये कहानी भेजी थी, वो इस सेक्स स्टोरी को एकदम सही कह रही थी.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:मेरी अंतरंग डायरी: ग्रुप सेक्स में कौमार्य विसर्जन-2. ज़्यादा नहीं पियूँगा… मगर याद रहे तुमने आज रात को बिस्तर पर सोने के वक़्त कुछ वादे किए हैं. जब मुझे लगने लगा कि मेरे कपड़े फट जायेंगे तब मैंने कहा- अच्छा बाबा.

थोडी देर बैठने के बाद धीरे धीरे हम दोनों की नजरें मिलने लगीं और वो काफी खुल कर मुझे लाईन मारने लगी.

तभी अचानक बापू ने कराहना शुरू किया- आह… आआअह्ह…पद्मिनी ने देखा कि बाप की लुंगी उसके झड़ने से भीग गयी. मैं सोफे पर बैठ गया, वो मुस्कुरा कर बोली कि मैं अभी आपके लिए चाय बना कर लाती हूं. मुझे नहीं पता था कि उसने अपनी बहन से बात की या नहीं की, मगर कुछ दिनों बाद मुझे मेरे भाई का फोन आया.

दीदी बोलीं- संजय अब जल्दी से चोद दे मुझे… बहुत दिनों से तड़प रही हूं. मैं बोली- ये टूट तो नहीं जाएगी?उन्होंने बोला- नहीं, ये नहीं टूटेगी जानेमन.

फिर सेक्स करने के बाद वो रोने लगी और कहने लगी- तुम मुझसे कभी दूर मत जाना… मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूं, मैंने तुम्हारे लिए सब कुछ किया है. उसके निप्पल एकदम हार्ड हो गए थे उसके मम्मों को मसलते, चूमते हुए उसके ब्रा का एक स्ट्रिप को कंधे से सरका दिया. थोड़ी देर में मैंने उन्हें थोड़ा सा ऊपर उठा कर उनकी मैक्सी उनके शरीर से अलग कर दी, इसकी बाद वो पूरी तरह नंगी हो चुकी थीं.

पंजाबी ब्लू सेक्सी बीएफ

तो अंकित बोला- कौन हो तुम? और ये क्या बोल रही हो?मैंने अंकित को सब कुछ बताया कि सुनीता मेरे घर में भी काम करती है उसी ने मुझे बताया कि कल आपने उसकी जमकर चुदाई की, तो आज उसी ने मुझे यहाँ भेजा है.

उनकी मम्मी मेरी मम्मी को कह गई थीं कि मैं रात को उनके घर पर सो जाया करूं. बाकी आंटियों के सोने के बाद वो थोड़ा नजदीक आ गईं और उन्होंने मेरे ऊपर हाथ रख दिया. मुझे भी थोड़ा दर्द हुआ तो वो अपने होंठ मेरे होंठ पर रख कर किस करने लगा.

तो जाने की रिस्क उठा पाएंगी। आपकी पहचान छुपी रहने की गारंटी मेरी और इस बात की भी कि यह चीज़ कभी भी आपके लिये भविष्य में परेशानी का सबब नहीं बनने वाली।”शायद नहीं।”जवाब देने में जल्दबाजी मत कीजिये। यह दोस्त वही है जिसका ज़िक्र आपने अन्तर्वासना पर निदा की अन्तर्वासना वाली कहानी में पढ़ा होगा. उसने कहा- कुछ पता नहीं चलेगा पापा को, तुमने मेरी इतनी बड़ी बात किसी को भी नहीं बताई, इससे ज़्यादा विश्वास किस पे करूँ. ट्रिपल एक्स बीएफ व्हिडीओ एचडी”थैंक्स नीतू!” कहकर वे अपने हाथ मेरे गालों पर ले आए और मेरे गालों को सहलाने लगे। एक नाजुक पल हम दोनों के बीच में पैदा हो गया था। मैंने भी अपने हाथ उनके हाथों पर रख दिए, हम दोनों भी एक दूसरे के आँखों में देख रहे थे।कहानी जारी रहेगी.

मैंने कहा- तुम तो कह रही थीं कि मुझे भी पिला देना?तो हंस कर कहने लगी कि वो तो यूं ही मजाक में कहा था. अनुप्रिया बहुत ही गोरी और मस्त थी, उसके चूतड़ तो बहुत ही गोरे और मोटे थे, देखकर मेरी चूत में पानी निकलने लगा था.

फिर हम दोनों नंगे ही छत पर बने बाथरूम में जाकर मैंने अपनी चुत और उनका लंड पानी से साफ कर दिया. वो अपनी गर्लफ्रेंड के बारे में बताने लगा कि आज उसको अपनी गर्लफ्रेंड की याद आ रही है. अचानक से सुरेश जी एकदम से अकड़ गए और मेरी सूखी गांड पर जो बरसों से लंडरस की प्यासी थी.

तभी अचानक से ही मैंने एक जोर का धक्का लगा दिया और इस बार मेरा पूरा लंड अन्दर उसकी चूत की जड़ तक पेल दिया. मैं ही जोर जबरदस्ती करके उसके मुँह पर अपनी चूत रगड़ कर अपना पानी निकाल देती थी. कुछ देर बाद उसने फिर से मुझे चोदना चालू किया और मैं ऐसे ही बिना कोई हील हुज्जत के पड़ी रही.

मैंने जूली को कहा- जैसे मैं तुम्हें मज़ा दे रहा हूँ, ऐसे किया था?जूली ने बताया- उसने तो बस फटा फट मेरी पैंट उतार कर एकदम अन्दर घुसेड़ दिया था और मेरी फट गई थी.

मैं 2-3 दिन बाद तुमको बुला लूँगी, मम्मी जी किसी के प्रोग्राम में जाएंगी, तब आ जाना. उसका ऐसा करना मुझे आज भी याद है और जब जब ये सीन याद आता है, मुझे काफी रोमांचित कर देता है.

मैं जहां में रहता हूँ, वहां से नजदीक ही है, लेकिन एक साल बाद मेरा तबादला वाशी कर दिया गया और उसके कुछ दिन बाद मुझे थाने ऑफिस में आ गया. अबकी बार चूत गीली होने की वजह से और उसके मानसिक रूप से तैयार होने की वजह से मेरी उंगली थोड़ी सी अन्दर चली गयी. उसने मुझसे पूछा कि क्या तुम मुझे पसंद करती हो?तो मैंने अपनी आँखें बंद कर लीं आज मेरे मन की बात उसने मुझसे पूछ ली थी, तब भी मैंने शर्म के चलते कुछ नहीं कहा और खुद को उसकी बांहों में ढीला छोड़ दिया.

मैं बोली- चाचा, बाहर वह मेरा भाई लालजी और बहन का बेटा होगा, उसे अन्दर भेज देना, पता नहीं वो दोनों बेवकूफ कहां हैं?चाचा बोले- ठीक है. एक हाथ से मेरी पैंटी को खींच दिया और मेरी टांगों को फैला कर चौड़ा कर दिया. अब मेरा 8 इंची लम्बा 3 इंची मोटा लंड तनकर पूरा 90 डिग्री का हो गया था। खाला मेरे लंड पकड़कर सहलाने लगी और अपनी उँगलियों में दबोच लिया.

बीएफ सेक्सी औरत वाला मैंने थोड़ा और जोर लगाया और लंड घुसते ही उसकी चूत से खून निकलने लगा. एक कमरे में तबस्सुम चुद रही थी और दूसरे कमरे में मैं लंड लेने को तैयार थी.

भाभी की चुदाई भाभी की चुदाई बीएफ

बापू ने ख़ुशी से अपने लंड पर लुंगी के नीचे हाथ डालते हुए कहा- हाँ ठीक है मगर धीरे धीरे, हौले हौले स्कर्ट को उठाना और मेरे हाथों को थोड़ा सा छूने भी देना. एक विशेष परिवर्तन जो मैंने नोट किया कि अब कुंवारी, अधपकी नादान लड़कियां भी लिपस्टिक लगाने लगीं हैं. प्रवेश लेने के बाद इंजीनियर बनने के सपने से मैं पहले दिन कॉलेज गया.

मैंने उसकी ब्रा से उसका एक दूध बाहर निकाल कर उसके निप्पल को चूसने लगा. मेरे हाथों ने उनके स्तनों को अपनी हथेलियों में भरा और उन्हें किस करने लगा. बीएफ वेस्टइंडीज बीएफतुझे तो बिल्कुल रंडी की तरह 5-10 लंड एक साथ चोदें, तब तेरी प्यास बुझेगी.

वो ब्रा पैंटी में इतनी गजब की माल लग रही थी कि मन कर रहा था कि साली की ब्रा खोल कर नहीं, फाड़ कर इसके चुचे आजाद कर दूँ, पर मैंने अपने आप पर काबू रखा.

मेरी शादी के बाद महेश भी घर छोड़ कर कहीं चला गया है, सुनने में आया है कि शायद वो ट्रेन से कट कर मर गया है. फिर सब के कहने पर उसने हमारी भाभी मतलब उसकी पत्नी को हम सब से मिलवाया.

अभी अरुण आगे बढ़ पाता कि तभी उसके मोबाइल पर किसी के कॉल ने उसका ध्यान आकर्षित किया- कहां हो … अभी जल्दी पहुंचो, काम बहुत है. मैं बेड पर उसके साथ लेट गया और उसे अपनी छाती के ऊपर लिटा लिया, उसके चूतड़ों और कमर को अपने हाथों से सहलाता रहा. मैं ऐसे ही आधे लंड को अन्दर बाहर कर के मामी जी की गांड मारने लगा और थोड़ा थोड़ा अन्दर घुसेड़ता भी जा रहा था, जिससे लंड का काफी हिस्सा गांड के अन्दर घुस गया था.

शादी में आये मेहमानों की भीडभाड़ में टाइट जीन्स और टॉप पहने अपने अपने मम्मों की छटा बिखेरती चहचहातीं ये छोरियां हर किसी को लुभा रहीं थीं.

इसके बाद सोनम ने अपना बैग अपनी फ्रेंड के रूम पर रखा और फिर उसने अपने फ्रेंड के रूम की एक चाबी मुझे रखने को दी. ”वैसे दीदी, एक बात कहना चाहता हूँ, आप बहुत सुंदर हो, भगवान ने आपको तसल्ली से बनाया है. कुछ दिन दीदी रुकी, फिर दीदी को छोड़ने के लिए मैं और मम्मी दीदी की ससुराल गये। वहां पर हम सब से मिले.

महाराष्ट्र बीएफ सेक्सजैसे ही सर ने अपनी अंडरवियर नीचे कर उतारी, मेरे सामने सर का कड़क खड़ा लंड था. मुझे भी कलसी और चकराता में थोड़ा काम था तो मैंने कहा- ठीक है अगर मैं जल्दी फ्री हो गया तो तुमको यहीं मिलूंगा.

इंग्लैंड की बीएफ इंग्लैंड की बीएफ

भाभी- अरे क्यों नहीं, खींच फोटो लेकिन बाद में मुझे भी दे देना!मैंने कहा- अरे हां भाभी दे दूंगा, पहले फोटो तो ले लूँ. मैंने भी कहा- और नहीं तो क्या, हर रोज कसरत करता हूँ, बहुत जान है मुझमें. मैंने मेरे रूममेट को अपने एक दोस्त के यहां भेज दिया और बाकी सारे इंतजाम करके रात होने का इंतजार करने लगा.

सेक्स तो दूर की बात है।हालाँकि अब्बू सऊदी छोड़ अब यहीं रहते हैं लेकिन घर पर उनके पांव कम ही टिकते हैं, सो जब तक समर की शादी नहीं हो जाती, पूरी सुविधा है मुनिया की खुजली मिटाने की. चूत लंड, मम्में, लंड चूसना, चूत चाटना, चुदाई … ये सब पोर्न फ़िल्में अब तो सहज ही सबको उपलब्ध हैं. वैसलीन, सरसों का तेल, रिफाइन तेल, नारियल तेल पर मेरे खड़े लंड पे धोखा हो गया.

भाभी एकदम तृप्त हो चुकी थीं और वे मुझे बड़े प्यार से सहलाए जा रही थीं. सोचा कि अठारह साल के लड़के खूबसूरत नंगी लड़की देख के ही पानी छोड़ देंगे. मगर वो पढ़ी लिखी नहीं थी, इसलिए मैंने उसको कुछ किताबें लाकर दीं और उसको पढ़ना सीखना शुरू किया.

दस बारह चोटों में मैं भी मस्त हो गई और ‘आहा ऊउंह ऊम्मंह आहाआ ऊउन्न्ह ऊम्म्ह. सुधा भाभी- तुम नहीं सुधरोगे, अच्छा बताओ फिर हैदराबाद में कोई दोस्त बनाए या नहीं?मैं- मैडम, अभी तक घूमने का टाइम ही नहीं मिला.

उस रात मम्मी और बुआ के न होने से मैंने अपनी बुआ के बेटे के लंड से चुद कर बहुत मजा लिया.

अभिलाषा मुझे अपने कमरे में ले गई और मुझसे कहने लगी- देखिए मिस्टर राज! आपने बताया था कि आप लगभग चेन्नई आते रहते हैं और दूसरा होटल छोड़कर हमारे यहां आपने रहना पसंद किया है, परंतु यह लड़की रिसेप्शन की ट्रेनिंग पर आई है और कुछ दिन बाद चली जाएगी. बीएफ ने भाभी को चोदाइस पर श्लोक ने कहा- रीना दीदी को देखकर बिल्कुल नहीं लगता कि वे सेक्स के लिए अपने पति की अदला बदली कर सकती हैं. एक्स एक्स एक्स हिंदी वाली बीएफक्या हुआ पापा जी; ऐसे क्या देख रहे हो? आपकी अदिति बहू ही हूं मैं!” वो चहक कर बोली. मैं तुझे इतनी देर से अपनी चुदाई का खुला आमंत्रण दे रही हूँ और तू मुझे तड़पा रहा है.

इस तरह एक सप्ताह निकल गया।फिर मैं घर की परेशानी की वजह से कॉलेज कुछ दिन नहीं गया; करीब 14 दिन बाद मैं कॉलेज गया तो देखा कि उस दिन वो भी नहीं आई थी.

दोस्तो, क्या बताऊँ कितना मस्त था वो उसकी आँखें, उसके होंठ, पूरा का पूरा ही बिल्कुल वरुण धवन जैसा दिखता था. मंजू को कस कर पकड़े हुए उसके गालों को चूमने में मस्त राज मुझे देख तक नहीं रहा था. बॉस ज़्यादा देर टिक नहीं पाए और सारा लावा ललिता मैडम के मुँह पर उगल दिया.

सुरेश जी को याद कर करके उनके मोटे काले लंड के बारे में सोचके मेरी मुँह में पानी आने लगा. उसने कहा कि आपके मम्मे और उन पर आपकी गुलाबी घुन्डियां और नीचे सेपूरी साफ की हुई चूत. यह देख कर जेम्स ने भी धक्के मारने शुरू कर दिए, इधर से जेम्स धक्का मारता और उधर से मैं धक्का मारता.

घोड़ा कुत्ता का बीएफ

चलिये मेरा पेटीकोट उतारिये, मेरा मुन्ना आज खुल कर देखेगा अलौकिक सुंदरता … आज यह खुल कर जन्नत की सैर करेगा. फिर अपने जिस्म को उसके पीछे के जिस्म से चिपकाते हुए अपने गालों को पद्मिनी के गालों से सहलाते हुए कहा- तुम बिल्कुल अपनी माँ की तरह दिख रही हो बिटिया. मेरी प्यास मिटा कर, मेरी गांड मारकर मेरे गांड में पानी छोड़े ताकि गांड में चल रही आग उस पानी से बुझ सके.

उसने जबरदस्त तरीके से चूस चूस कर मेरी चूत में से कई बार पानी निकाल दिया था.

बापू पूरे जिस्म को ढीला करते हुए लेट गया और ज़ोर से चुदासी आवाजें निकालने लगा- आहहहह.

फिर वो बोली कि तूने मेरे तो सारे कपड़े उतार दिए और खुद क्यों पहन रखे हैं. वैसे भी नींद पूरी ना होने की वजह से मुझे यह सब एक सपने जैसा लग रहा था. बीएफ सेक्सी हिंदी में बीएफ हिंदी मेंउसके बाद मामी ने मेरे लण्ड को चूसना शुरू किया और पूरा पूरा लण्ड अपने मुँह में ले लिया.

सुधा भाभी बोले जा रही थीं और मैं उनके गुलाबी होंठों को देख कर पागल हो रहा था. मैं कमरे में चारों तरफ चोर निगाह से देखा कि कहीं कोई कैमरा तो नहीं लगा है. सारिका 2 गिलास पानी लेकर आई और मेरे साथ सोफे पर बैठ कर बात करने लगी.

मुझे बहुत ही अजीब लगा, मजा सा भी आया, मैं सर से बोली- प्लीज कमलेश सर क्या कर रहे हैं, मुझे गुदगुदी हो रही है…टीचर जी अपनी जीभ निकाल कर मेरी चूत को चाटने लगे. मैंने उसको फिर से बुलाया और उससे पूछा तो उसने कहा कि दर्द हो रहा है लेकिन मैं कुछ देर बैठ जाऊँगी और फिर घर चली जाऊँगी.

पूरा लंड चाटने के बाद ललिता मैडम ने बॉस के टट्टे चाटने शुरू कर दिए.

उम्मीद है कि आप सब अन्तर्वासना पर कामुकता भरी चुदाई की कहानी पढ़ कर मजा ले रहे होगे. मैं और कीकु दोनों साइड से आगे बढ़े और उसके एक एक बूब को हाथ में लिया. अब मैं सीधे कहानी पर आता हूँ! बात आज से 10 महीने पहले की है जब मैं स्कूल की पढ़ाई पूरी करके महाविद्यालय में प्रवेश लिया था.

बीएफ एचडी जबरदस्त मैं- ठीक है बड़ी दीदी, आज के बाद बड़ी दीदी कहूँगा, नाम तो नहीं ले सकता. सुबह जैसे ही काम खत्म करके मैं घर जाने को रेडी हुआ, बॉस का कॉल आ गया.

पद्मिनी ने अचानक बापू को धीरे करने के लिए कहा और बोली- तो अब आप टीचर वाली बात को नहीं सुनना चाहते बापू?यह सुनकर बापू रुक गया और पद्मिनी जैसे कि उसकी बांहों में थी, तो बापू ने पद्मिनी के मस्त चूतड़ों पर अपने हाथों को फेरते हुए कहा- हम्म मैं तो भूल गया था, अच्छा चल बिस्तर पर… वहां सब सुनाना…फिर बापू ने अपनी पद्मिनी को गोद में ऐसे उठाया, जैसे किसी छोटे बच्चे को उठा लेते हैं. यह बात मेरे दिमाग में घूमने लगी और अब मैं जब भी अब अकेली होती तो सर ने जो सेक्स कहानियों की बुक दी थी, उनको जरूर पढ़ती और मैगजीन के नंगे चित्र देखती. तभी पता नहीं क्या हुआ, उनके शरीर में एक उफान सा आया और वे सिस्कारती हुई निढाल सी हो गयी.

लखनऊ की सेक्सी बीएफ वीडियो

आज मेरी मुराद पूरी हो गई थी, जो मैंने सोचा था किसी आंटी के साथ सेक्स करने की. अब हमें जब भी मौका मिलता है, मैं उसकी हेल्प करके उसको किसी न किसी बहाने बुला लेता हूं और हचक कर उसकी बुर को पेलता हूं. उसने मुझसे पूछा- आपने कमरा देख लिया है?मैंने अभिलाषा से कहा- कोई बात नहीं, कमरा तो देख लूंगा, लेकिन मैं बहुत थका हुआ हूँ और आप मेरी थकान उतारने का इंतजाम करें.

जब रीना और सीमा पूल से बाहर आकर हमारे शरीर पर लिपट गई तब हमारी इस बातचीत का अंत हुआ रात में मैंने रीना की गहरी चुदाई की अपने प्लान के सफल हो जाने तथा आने वाली शानदार चुदाई के याद के साथ मैंने रीना को जमकर ठोका।उधर श्लोक के कमरे से भी वैसी ही आवाजें आती रही जिसका जिक्र मैं इस कहानी में पहले ही कर चुका हूं।हालांकि आज की आवाज में काफी ज्यादा मज़ा और दर्द था और श्लोक की भी आवाज मजे के साथ आ रही थी. मौका देखकर मैंने बात छेड़ी- दीदी, इन आवारा लड़कों के चक्कर में आपको नहीं पड़ना चाहिए, सब मज़ा लेते है बस.

इसी बीच उसने मेरी टांगें उठाईं और अपना लंड मेरी फटी हुई चूत में डाल दिया.

आंटी बोलीं- मुझसे इतना वेट नहीं होगा, तू मेरी चुत को चाटकर रबड़ी निकाल दे. अब उसने देर ना करता हुए मेरी साड़ी के पल्लू को गिरा दिया और मुझे चूमने लगा. काफी देर तक इन्तजार के बाद हम दोनों ने ये तय किया कि सड़क के रास्ते चला जाए.

उसने मुझे अपने बिस्तर पर लिटाने के बाद मेरी सलवार का नाड़ा खोल दिया और धीरे से मेरी सलवार को नीचे करते हुए मेरी सलवार को निकाल दिया. आगे से कर न। क्यों गंदे छेद के चक्कर में पड़ा है।” अहाना ने कमजोर सा प्रतिरोध किया।गंदा छेद? हे हे हे हे. दोस्तो! जैसे लंड की शेप और साइज़ अलग अलग होता है ऐसे ही चूत भी अलग अलग होती है.

मैंने अब देर न करते हुए उसकी पेंटी में हाथ डाल लिया और उसकी चूत को सहलाने लगा.

बीएफ सेक्सी औरत वाला: बुआ अपने छोटे वाले बेटे को अपने साथ लेकर मम्मी के साथ रिश्तेदार की शादी में गई थीं. लेकिन डर ये है कि हम मिले तो कैसे मिलें, मेरे घर वाले मुझे कहीं निकलने नहीं देते.

जूली से चला नहीं जा रहा था, वह टांगें चौड़ी करके मुश्किल से चल रही थी. फिर उन्होंने मुझसे पूछा कि तुमने उसके साथ कुछ किया है?तो मैं अनजान बनने की एक्टिंग करते हुए बोला- क्या मतलब?इस बात पर भाभी ने अपनी जांघ खुजाने का बहाना करते हुए अपनी बेबी डॉल को और ऊपर तक चढ़ा लिया. उसने भी मेरे निप्पलों को मसल मसल कर एकदम पत्थर जैसे सख्त कर दिए थे.

बाजू वाला आदमी मेरी और देखके मुस्कुराया और अपना लंड मसलते हुए निशा की गांड पे हाथ फेरने लगा.

मुझे वह दोनों देखते ही बोले कि यह तो बिल्कुल ऊपर से आई परी की तरह सुंदर है. अब ये खेल पूरे हफ्ते होगा क्योंकि मेरी माँ अपने गाँव 7 दिन के लिये गयी हैं. और फिर मैंने उसे घर के पास सड़क पर छोड़ दिया और मैं वापिस बैंक में चला गया.