बीएफ सेक्सी हिंदी न्यू

छवि स्रोत,प्रोजेक्ट सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी सेक्सी ऑडिओ: बीएफ सेक्सी हिंदी न्यू, उम्मम्म स्स्स्सह … मेरा होने वाला है … उम्मम्म …”उम्मम्मम ससश्हह …”मुझे एक बार परम आनन्द मिल चुका था.

lakhan सेक्सी

राहुल दोबारा से आगे की तरफ आया और उसने भाभी के चूचों को बारी बारी से अपने हाथों में लेकर उनका नाप लेना शुरू कर दिया. प्रियंका चोपड़ा का सेक्सी दिखाओअभय बोला- बंध्या तू गजब की माल है, क्या बताऊं, तुझे चोदते हुए लगता है कि अब कभी ना छोड़ूं.

फिर सोचा जब भाभी को इतना नंगी देख ही लिया, तो अब चूत और चूचियों का दर्शन भी करता चलूं. सेक्सी पिक्चर देना सेक्सी वीडियोमैंने उस आंटी रीता के साथ सेक्स भरी बातें करके उसको गर्म करने की सोची.

साथ ही अपना खड़ा लंड उसके हाथ में पकड़ाते हुए कहा- तुझे शर्म नहीं आती दूसरों की चुदाई देख कर … अब मेरे सामने नाटक चोद रही है.बीएफ सेक्सी हिंदी न्यू: एक बार सभी दोस्तों का फ्रेंच किस का कम्पटीशन हुआ तो उसमें भी राहुल-नायरा ने ही बाजी मारी.

फिर पापा ने मेरी चूत में एक जोर का धक्का दिया और पूरा लंड अंदर तक घुसेड़ते हुए अपना सारा पानी मेरी बच्चेदानी में गिरा दिया.कुछ देर लंड चूसने के बाद सुहास ने मुझे घोड़ी बना दिया और मेरी चुत में अपना लंड डाल दिया और धक्के लगाने लगा.

ब्लू पिक्चर सेक्सी डाउनलोडिंग मूवी - बीएफ सेक्सी हिंदी न्यू

लेकिन इतनी मेहनत करने के बाद चुदायी में हमदर्दी जताने का तो कोई सवाल ही नहीं था.मेरी पिछली कहानी थी:सुबह सवेरे बीवी की मदमस्त चुदाईये पिछले साल की बात है, मेरी बेटी की छुट्टियां चल रही थीं, तो मेरी बीवी और बेटी मेरी साली के पास मुंबई चले गए.

हम दोनों को भूख भी लग रही थी और अमृता से खड़ा भी नहीं हुआ जा रहा था तो मैंने उसे बाथरूम में ले जाकर बाथ टब में लेटा दिया और गर्म पानी भर दिया. बीएफ सेक्सी हिंदी न्यू मैं मोसी की नाभि पर होंठों से किस करने लगा … तो वो एकदम से तड़प उठीं.

मैंने रस छोड़ दिया, तो उन्होंने लंडरस पी लिया … चूसते हुए मेरा पूरा लंड साफ कर दिया.

बीएफ सेक्सी हिंदी न्यू?

उस वक्त किसी के फोन में जरा सा भी पोर्न देख लेते थे, तब तो पूछो ही मत कि चूत का हाल क्या होता था. ये बोल कर मैं कपड़ों के ऊपर से ही उनकी गांड में धक्के मारने लगा और झुक कर उनके चुचे भी दबाने लगा. मैं- पकड़ा गया था … मतलब?वॉयलेट- वो कोई दूसरी लड़की के साथ उसके बैडरूम में पकड़ा गया.

रात में हम दोनों रोज की तरह ही साथ में सो रहे थे और फ़ोन में फिल्म देख रहे थे. हाथ से मुठ मारने से तो तेरी तलैया में गोता लगाना ज्यादा सुकून दे रहा है. अपने फौलादी हाथों से मेरे चूचों को मसलते हुए मेरे होंठों को काटने लगे.

नई नई चूतों के लिए ये एक शिक्षा भी है कि वे केला और बैंगन में से केले को ही ट्राई करें. मुझसे हर समय तुम्हारे बारे में ही पूछते रहते हैं … और एक तुम हो कि उनके बारे में बिल्कुल भी नहीं सोचती हो. तभी तो कोमल ने भी अपने ऊपरी कपड़े निकाल फेंके और पेंटी को एक ओर करके अपनी चूत में उंगली करनी शुरू कर दी.

वो प्यार भरा आलिंगन, जो उस समय वासनामय नहीं था, उसमें केवल प्यार ही था. ”छीईईई ईईई!”क्या छीईईई?”कितनी गन्दी बात बोलते हैं आप?”क्यों … चुदाई करना गन्दी बात है क्या?”पता नहीं?”वो मुस्कुराते हुए बोले- शर्माओ मत, खुल कर बात करो.

बस फिर क्या था सुहास ने मुझे अपनी गोद में उठाया और मुझे पूल में ले गया.

मैं- हां आंटी … आज वॉयलेट ने कुछ ज़्यादा पी ली है … इसलिए इसको लेकर अन्दर आना पड़ा है.

मैं कॉलेज जाने लगा, वहां मेरी दोस्ती अजय नाम के लड़के से हुई और ये दोस्ती मेरे लिए सेक्स के मामले में वरदान साबित हुई. दीपा भी झट तैयार हो गयी क्योंकि सतपुड़ा हिल्स में अपनी चूत फड़वाने का अलग ही मजा आएगा. फिर राहुल ने अपने लंड का सुपारा हिलाया और रीमा की चुत में डाल दिया.

और आज जब छाया ने किंग के बारे में बताया तो मन मचल गया।मुझे माफ़ कर दे बेटा … मैं तुझे बताती भी तो क्या बताती! इस छाया ने ही मुझे पहले भी फँसाया था तेरे दोनों चाचा के साथ और आज मेरे अपने सगे बेटे के साथ क्या करवा दिया।मुझे छाया पर बहुत गुस्सा आ रहा था. मैं बगीचा पार करके उसके घर के अंदर गया जब तक हम दोनों एक दूसरे की आँखों में देख रहे थे. खैर रिया इसी के साथ विदा हो गई और मैं फिर से मेरे उपन्यास में सर को छुपा कर उस दुनिया में खो गई, जो कई हजारों साल पहले बनी, जी गई … और तबाह हो गई.

इतना कहने पर भी मां नहीं रूकी और बोली- साली छिनाल, तू उस घर में शादी करने के बारे में सोच भी कैसे सकती है.

मैं- तो अब क्या करूं?कुमार- तुम क्या करना चाहती हो … उसके साथ रहो या मेरे साथ?मैं बोली- अच्छा … तुम मुझे थोड़ा टाइम दो … मैं उसे सब बता दूंगी. जब रिया को यकीन हो गया कि जॉली अब पूरी तरह शांत हो गया है और उसका मोटा लंड बिल्कुल कोई भी रस नहीं छोड़ेगा, तब उसने धीरे से लौड़ा बाहर निकला और एक बार उसे नीचे से ऊपर तक चाट लिया. कुछ ही मिनटों में उसकी आँखों के आगे जैसा अँधेरा छा गया और उसके मुंह से एक लम्बी सी आह निकल गयी.

चाची भी थोड़ी सी साइड में होकर अपने चूचों को जोर जोर से रगड़ने लगी थीं. सभी नाचने में लगे थे, तभी कुछ लोगों ने ज्यादा खुश होते हुए शोर करना शुरू कर दिया और कुछ लोग फार्म हाउस के एक रूम की तरफ लपके. सुबह सुबह अपने बड़े घर के बैठक खाने में बैठी हुई, मैं एक उपन्यास पढ़ रही थी.

इसके बाद भैया ने मेरी जीन्स को भी उतार दिया और मेरी चड्डी को फाड़कर फेंक दिया.

वो दीवार से टेक कर खड़ी हो गयी और मैंने उससे सटते हुए उसके रसीले होंठों को पीना शुरू कर दिया. मैंने जोर जोर से उसके होंठों को चूसना दिया, उसको भी कुछ कुछ होने लगा था.

बीएफ सेक्सी हिंदी न्यू लेकिन तभी दरवाजे पर महेश आ गया और उन दोनों को इस तरह से नंगे पड़े देख कर उसका मुंह खुला का खुला रह गया. उसके कमर से ऊपर का भाग मुझसे चिपका हुआ था और कमर हिला हिला कर पूजा अपनी चूत में मेरे लंड को अंदर बाहर ले रही थी.

बीएफ सेक्सी हिंदी न्यू और मुस्कुरा के चली गयी।अब पूरे कमरे में कॉफी की महक उड़ने लगी और मैं अलग ही दुनिया में।मम्मी और आंटी ने अपनी कॉफी पीनी शुरू भी कर दी थी. मैं नंगी हो चुकी मोना के गले को चुम्मा करते हुए उसकी चूची पर आ गया और उसकी बुर को एक हाथ से सहलाने लगा.

मैं घर पर सबको सामान्य दिख रही थी, पर आज से मेरी जिंदगी में बहुत कुछ बदल गया था.

अर्जुन बीएफ

उसका लंड 7 इंच से ज़्यादा लंबा और मस्त मोटा था, जबकि मेरा 6 इंच से थोड़ा कम है. कुछ देर में मैं कुछ सामान्य हुई, तब उन्होंने अपने धक्के तेज़ कर दिये।अब मुझे भी अच्छा लग रहा था। अब तो वो भी जोरदार धक्के लगाने लगे. कुछ मिनट बाद जब हम दोनों अलग हुए, तो मैं अपनी भाभी से आंखें नहीं मिला पाया.

जिस फ्रेंड के बारे में मैं बात करने जा रहा हूं वो मेरे साथ कोचिंग में पढ़ती थी. उसके कमर से ऊपर का भाग मुझसे चिपका हुआ था और कमर हिला हिला कर पूजा अपनी चूत में मेरे लंड को अंदर बाहर ले रही थी. ऐसे में अचानक मेरी चूत में अलग सी गर्माहट आ गई और मैंने जोर से अपनी कमर आगे पीछे करना शुरू कर दिया.

जब पहली बार चाची ने मेरे लंड की टोपी अपने मुँह में ली, उस टाइम तो मैं समझो स्वर्ग में पहुंच गया था.

एक दिन जब मैं कॉलेज के लिए निकल रहा था तो उन्होंने कहा- आरव, आज तुम्हारी भाबी ने तुम्हारे लिए कुछ खास प्रोग्राम बनाया है, तुम्हारा रात का डिनर आज हमारे यहां ही होगा. उसके बाद उन्होंने मेरी चूचियों को दबाना शुरू कर दिया और मैं गर्म हो गई. उधर संजय ने अपने ऊपर के कपड़े निकाल दिए, बनियान तो उसने पहनी ही नहीं थी, ऐसे में उसका कसरती आकर्षक चिकना बदन माहौल को कामुक बनाने लगा.

थोड़ी देर में मेरा निकलने वाला था, मैंने भी चुदाई की स्पीड को बढ़ा दिया और पूरा माल उसकी गांड में ही छोड़ दिया. तभी दीदी ने साकेत भैया का हाथ पकड़ लिया, तो भैया ने दीदी की पैंटी को छोड़ दिया. वैसे मन तो था कि प्रपोजल स्वीकार लिया जाए, पर प्रपोज करने वाले हमें पसंद नहीं आए.

तो फिर एक कपड़ा और उतारने में क्या ऐतराज है?लेकिन पत्नियों ने दोनों ही मर्दों में से किसी की नहीं सुनी और बोली- हम अभी तक इतना को-ऑपरेट कर रही हैं वही काफी है. कुछ देर बाद साकेत भैया ने दीदी को बेड पर पेट के बल लिटा दिया और उनकी पैंटी को उतारने लगे.

महेश ने अपनी बेटी के चूतड़ों को पकड़ कर चौड़ा किया और साथ ही एक ज़ोर का धक्का लगा दिया. मैंने खुद से बुदबुदाते हुए बोला कि ये मैं क्या कर रही हूं … एक लड़की की छुअन से मैं कैसे उत्तेजित हो रही हूं. धीरे धीरे बिना रुके ही मैंने पूरा लंड उसकी गांड में उतार दिया और उसको होंठों को अपने होंठों से दबाये रखा.

मुझे लग रहा था कि भैया मेरे लंड को गर्म करके भाभी की चुत में मेरे लंड को मजा दिलवाएंगे.

लेकिन राहुल ने जबरदस्ती करते हुए अपना वीर्य रीमा के मुँह में डाल दिया. मुझे उस पर रहम तो आ रहा था लेकिन अगर मैं लंड को बाहर निकाल देता तो फिर दोबारा डालने में बहुत मुश्किल हो जाती. मैं तो जब भी सेक्स के बारे में सोचती या सुनती थी, तो मेरी चूत एकदम से गीली हो जाती.

वो समझ गई कि यही वो रणभूमि है, जिधर लंड चूत की कुश्ती होने वाली है. इसके बाद चाची जहां कहीं भी जातीं, मेरी नजर सिर्फ उस तरफ ही घूम रही थीं.

पूजा भी अभी उसी जोश को महसूस कर रही थी, आतुर पूजा ने मेरे लन्ड को एक बार फिर से पकड़ लिया और हिलाने लगी लन्ड परायी स्त्री की छुअन कड़क होना लाजमी था. मैंने उनके निप्पल को अपने होंठों से पकड़ कर रब करने लगा और साथ की साथ जीभ से भी उनके निप्पल को रगड़ने लगा. मैंने फिर उसे घोड़ी बनाते हुए एक हाथ से उसके बालों को पकड़ लिया और दूसरे हाथ से उसकी कमर को रोकते हुए धीरे से लन्ड डालने लगा.

सेक्सी वीडियो ब्लू फिल्म पंजाबी

विवेक मेरे चेहरे के सामने अपने चेहरे को लाकर मेरे चेहरे को घूरने लगे.

और बात चुदाई तक क्यों नहीं ले गई … साली की चूत भी फड़वा देनी थी आज. लगभग एक बजे दोपहर में मैं जब खेत पहुँचा, तो वहां कोई नहीं था और मुझे गर्मी के कारण प्यास भी लगी थी. मेरे लंड का लाल सुपारा उसकी गुलाबी चूत पर रखा हुआ बहुत ही सुंदर लग रहा था.

आज भी हम दोनों मिलते हैं और मौका मिलते ही हम दोनों सेक्स का मजा कर लेते हैं. कुछ देर गले लगने के बाद मैंने उसे अलग किया और उसकी एक चूची को कसके दबा दिया. सगी बहन भाई की सेक्सी फिल्ममुझे समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूं और क्या नहीं क्योंकि उसकी तरफ से मुझे कोई इशारा भी नहीं मिल रहा था.

उससे बात करने पर उसने बताया कि वो लोग पहले दिल्ली में रहते थे और अब रोहतक में रहने के लिए आये हैं. मैंने महसूस किया कि वो भी अपनी चूत फैला कर मेरे पैर की रगड़ का मजा ले रही थीं.

मैंने भी उसे गालियां बकते हुए चिल्लाना शुरू कर दिया- आह सुहास मादरचोद … साले गांड फाड़ कर ही दम लेगा क्या. अब वो धीरे धीरे अपनी गांड को आगे पीछे करके मेरे लंड को अपनी चुत में चलाने लगी थी. तकिया के कारण भाभी की गांड उठाने की गति ज़रा कम थी, पर चूत के उठे होने के कारण मेरा लंड पूरा अन्दर तक जा रहा था, जिसका वो पूरा आनन्द ले रही थीं.

मैंने पूछा- क्यों नहीं हो सकती?वो बोला- मैंने मां से तुम्हारी और मेरी शादी के बारे में बात की थी लेकिन उसने साफ मना कर दिया. मेरी बहन तो पहले से ही तैयार थीं … तो उन्होंने कोई आनाकानी नहीं की और हमारा साथ देने के लिए तैयार हो गईं. सुबह जल्दी उठ कर मुझे याद आया कि मैंने भाई से भी सुबह चुदाई करवाने का वादा किया था.

वो मेरी इजाजत पा चुके थे।अब उन्होंने मेरी दोनों हाथ से मेरी गांड को पकड़ के थोड़ा ऊपर उठाया और तेज़ी से धक्के देना शुरू कर दिए.

अगर नहीं भी चोद पाऊंगा तो भी, जो कुछ भी मेरे और उनके बीच होगा, वो मैं जरूर लिखूंगा. उन रसीले होंठों का स्वाद, उफ़…कुछ देर में उसने मुझे दूर धकेला और मेरी कमर में हाथ डाल कर मुझे ड्राइंग रूम में ले गयी.

जब सब लोग खेलने के लिए चले गये तो उसने रूम का दरवाजा बंद कर दिया और वो मुझे किस करने लगा. इससे पहले कि मैं और दबाता, उन्होंने मेरे हाथ को धकेल के हटा दिया। मेरी दुबारा कोशिश पर भी उन्होंने मुझे बूब्स दबाने नहीं दिए। मेरे धक्कों में तेजी आने लगी थी पर मैं बाकी लोगों के डर से थोड़ा कण्ट्रोल भी कर रहा था।अब जबकि वो मुझे वक्ष पर हाथ नहीं रखने दे रही थी, मैंने थोड़ा सा नीचे होकर चादर के अंदर से ही उनकी साड़ी को ऊपर खींच दिया. फिर मैंने सबा के माथे के बीच में अपने होंठों से किस किया और उसे घर छोड़ दिया.

इधर संजू ने फिर से अपने बाल सुखाए और बालों को संवार कर पॉवडर-क्रीम की और लिपस्टिक लगाई. मैंने जैसे ही काटा, भाभी जी जोर से चीख उठीं और बोलीं- आह धीमे करो …लेकिन तब तक मेरी भाभी उनकी चीख सुनकर अपनी साधना भाभी को देखने चली आईं. सेक्स की आग में मैंने देखा ही नहीं था कि दरवाजे की कुण्डी नहीं लगाई थी.

बीएफ सेक्सी हिंदी न्यू दो दो पैग लेने के बाद मेम ने अपना फोन उठाया और अपने पति को फोन लगाया और उनके हाल चाल पूछने लगीं. मैंने उसके कंधों को कस कर पकड़ लिया और गले पर चूमते हुए उसे चोदना जारी रखा.

जीजा साली की सेक्सी वीडियो दिखाओ

ये एक तरह से गहरी समाधि की अवस्था थी, जिसमें इंसान सब कुछ भूल जाता है. एक पल के लिए मोसी की थिरकन और सिहरन ने मुझे उनकी चूत को खा लेने के लिए उतावला कर दिया. मैं बोली- पापा, मुझे अपनी चूत और गांड में एक साथ दो लंड से चुदाई करवानी है.

मुझे चूमते हुए उसने मेरा हाथ उठा कर अपने नर्म बोबों पर रख दिया और मेरे निचले होंठ को काट लिया. उसको दर्द हुआ, उसके मख से निकला- उम्म्ह… अहह… हय… याह…वो मुझसे अलग होना चाहती थी. एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो हिंदी ब्लूमैं वन्दना के होंठों को चूमने लगा, हम दोनों की जीभ आपस में खेलने लगी.

मैंने भाभी की चूत को पहले कुछ जगहों पर चूमा, बाद में कमर पर काटा और भाभी की गांड पर तीन चांटे मार दिए.

उसके बाद मैंने मोना और भाभी दोनों के साथ बहुत बार चुदाई का मजा लिया. हम लोगों के अलग-अलग केबिन बने हुए थे लेकिन हम एक ही कमरा शेयर करते थे इसलिए वो अक्सर मेरे केबिन में अपना सामान या पैसे वगैरह रख लेता था.

उसके कमर से ऊपर का भाग मुझसे चिपका हुआ था और कमर हिला हिला कर पूजा अपनी चूत में मेरे लंड को अंदर बाहर ले रही थी. तभी अचानक चाची ने मेरे हाथ पकड़ लिए और बोलीं- नहीं दीपू … प्लीज … इससे आगे नहीं, प्लीज मुझे माफ़ कर दे … पर इससे आगे नहीं. थोड़ी देर बाद मैंने लण्ड बाहर निकाला तो खून से सना हुआ था, मैंने कॉण्डोम चढ़ाकर फिर से पेल दिया और चोदते चोदते डिस्चार्ज हो गया.

दो देसी भाभियां … एक मेरे नीचे, दूसरी मेरे ऊपर … और वो भी पूरी तरह से कामुक हालात में.

पापा ने मेरी चूचियों को पकड़ लिया और गिरते-संभलते हुए मैं उनको कमरे की तरफ लेकर जाने लगी. मैंने उसको देखा तो उसने मुझे देखके स्माइल दी, मैंने भी हल्की सी स्माइल दे दी, क्योंकि वो काफी अच्छा लड़का लगा मुझे।उसकी उम्र लगभग 20 साल होगी।फिर उसने कुछ कहा … पर मुझे कुछ सुनाई नहीं दिया ट्रेन के शोर की वजह से।मैंने कहा- बोलो क्या कहा?फिर उसने कहा- इधर कैसे आज? अकेली? पहचाना नहीं मुझे?मैंने कहा- नहीं तो?वो बोला- मैं सिद्धार्थ हूँ, तुम्हारे पड़ोस में तो रहता हूँ. उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपने लन्ड पर रख दिया तो मैंने उसका लन्ड सहलाना शुरू कर दिया.

काजल अग्रवाल सेक्सी वीडियो हॉटपांच मिनट के बाद वो उठ गया और मुझे सीधा लेटा कर मेरी दोनों टांगों अपने हाथ में पकड़ कर मेरी गांड में लंड को पेलने लगा. वो स्कूल में टीचर के पद पर काम करते हुए अपने बच्चों को खुद ही पाल रही थी.

सनी लियोन की बफ

तब साकेत भैया ने जल्दी से बेड पर बिछे चादर को निकाल कर दीदी को दे दिया और दीदी ने उस चादर को अपने बदन पर लपेट कर बाहर जाने के लिए दरवाजा खोला. दीपा को सुनील के सामने देखना अच्छा नहीं लग रहा था, वो उठ कर बेड पर लेट गयी. कई दिनों तक मैंने अपनी चूत और गांड की सिकाई की तब जाकर मुझे आराम मिलने लगा.

मैंने भाभी के मम्मों की घाटी को निहारते हुए पूछा- भैया कहां हैं?उन्होंने बोला- बस वो कुछ सामान लेने गए हैं … आते ही होंगे. कुछ देर तक उसने जम कर भाभी की चूत मारी और अबकी बार बस राहुल का वीर्य झड़ने ही वाला था और वह ऐसे खड़े-खड़े पोजीशन में ही भाभी की चूत में झड़ गया. चूंकि उन दिनों मैं अपने एग्जाम की तैयारी कर रहा था, इसलिए उस पर ध्यान नहीं दे पा रहा था.

अब मैं सिर्फ और सिर्फ तुम्हारी ही हूँ, पर मुझे एक बार घर जाकर आना है. भूख जोर की लगी थी, सभी ने भरपेट नाश्ता किया और अपने अपने कमरों में फ्रेश होने चले गए. वैसे मेरा भी काम बस होने वाला है आह्ह … मेरी रंडी बंध्या … मैं तेरी चूत को फाड़ देना चाहता हूं छिनाल.

अब मैंने जैसे ही संदीप के लंड का दबाव चूत में महसूस किया, मेरे मुँह से एक हल्की सी चीख निकल गई. पापा का लंड मेरी चूत में अंदर जाकर मेरी चूत की दीवारों को अंदर तक हिला रहा था.

कुछ देर तक लंड चुसवाने के बाद सुहास बेड पर लेट गया और उसने मुझे अपने ऊपर बैठा लिया.

फिर मैंने भी अपना परिचय दे दिया। इससे ज्यादा उससे कोई बात नहीं हुई और फिर उसका स्कूलआ गया और वो उतर कर जाने लगी. सेक्सी देहाती सेक्सी फोटोमेरी माँ ने मुझे लिटा कर मेरी चुत को चूस कर शान के लंड के लिए रेडी किया और शान के लंड को भी माँ ने चूस कर कड़क कर दिया. मारवाड़ी सेक्सी वीडियो गांड मारने वालीइसलिए जो कस्टमर आते हैं उनमें से कुछ मेरे द्वारा की गई मसाज को आजमाकर मेरा नम्बर ले जाते हैं. ”हाय हाय मज़ा आ रहा होगा न … पूरा प्रोग्राम वहीं होगा?”हाँ अब यहाँ और कोई नहीं है। अब तेरी मम्मी को नंगी करेंगे। तू वहां चुदवाएगी और तेरी माँ यहां! अब रखती हूँ, चुदाई की शुभ कामनाएं.

कुछ देर सोचने के बाद दीदी ने अलमारी से स्कूल ड्रेस निकाली और श्वेता दीदी से बोली- श्वेता तुम थोड़ा बाहर जाओ … मैं इसे चेंज कर लूं.

मैं भी शादीशुदा हूं लेकिन मेरी जिन्दगी में अब तक ऐसी कोई घटना नहीं हुई है. मैंने उसके लम्बे लंड को पकड़ कर अपनी तरफ खींचा, तो उसने अपना लंड मेरी तरफ कर दिया. बुर पे थोड़ा सा थूक लगाया और फिर अच्छे से बुर में ऊपर नीचे करने लगे।मेर भी आहें फिर से निकलने लगी- आह्ह ओओह ऊउह्ह्हअब फिर वो मेरे ऊपर आ गए और मुझे अपनी बांहों में भर लिया.

जो लोग मेरी पिछली कहानी पढ़ चुके हैं, वो मेरे बारे में जानते हैं और जो पहली बार पढ़ रहे हैं, उन्हें मैं बता दूँ कि मेरा नाम प्रतोष सिंह है और मैं एक मध्यम वर्गीय परिवार के साथ कोलकाता में रहता हूं. फिर मैं उसकी जीभ को निकाल कर चूसने लगा था और वह भी इसी तरह मेरा जीभ को चूस रही थी. दुभाषिये ने शायद बताया था कि गांड चुदाई करने के कारण लंड को चेक करना भी जरूरी है.

एक्स एन एक्स बीपी शॉट

”नहीं सर …”हाँ मेरी जान!”और उन्होंने मेरी चूत पर किस कर के चूसनी शुरू कर दी. फिर श्वेता दीदी दीदी को छेड़ते हुए बोली- ऐसे भी तो सब खोलना ही पड़ेगा … कुछ भी पहन लो. नित्या जल्दी से उठ कर निधि के पास आई और निधि को किस करने लगी और बूब्स को दबाने लगी।निधि की आंखों से में आंसुओं की धारा बहने लगी थी.

मेरी पहली रियल सेक्स स्टोरीचिकनी चाची और उनकी दो बहनों की चुदाईको इतना सराहने के लिए आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद.

अगर वह होश में रही तो उसको पति की मौत की खबर शायद बर्दाश्त नहीं हो पायेगी.

साली की तरफ सिगरेट के हाथ को बढ़ाते हुए मैंने उसे भी कश खींचने के लिए कहा. आप लोगों को पता होगा कि महिलाएं आम तौर पर जब पौंछा लगाती हैं, तो अपना पीछे के हिस्से का सूट उठा लेती हैं. फिल्म सेक्सी देसीमैं बस अमृता के मौसा के बाहर जाने का इंतजार करता रहता था ताकि उनके घर में ही उस कुंवारी चूत की चुदाई कर सकूं.

पिंकी से सीमा बोली- चल चाय पिला!इतने में ही नायरा और शबनम भी आ गयीं. ससशसस धीरे मसलिये सर … बहुत बड़े हो जायेंगे नहीं तो!”सर मेरी कमर को चाट रहे थे और काट भी रहे थे. बंध्या तेरे बदन की खुशबू, तेरी चूत और गांड का रस कितना मस्त है, तेरे यह मस्त दूध बहुत कड़क हैं.

मयूर ने मेरी चूचियों को कपड़ों के ऊपर से मसलते हुए मुझे बेड पर लेटा दिया. कई लोगों ने कहानी को फेक बोला, कई लोगों को मनपसंद वाली सेक्स कहानी लगी.

मुझे इसके बाद बाहर आने में शर्म आ रही थी, फिर भी बाकी सबकी हरकतें याद करके लगा कि मुझे शर्माने की जरूरत नहीं है.

कोई 5 मिनट के बाद मैं भी निकल गया और एक ऑटो में बैठकर अपने रूम के लिए रवाना हो गया. मैंने उसका चेहरा सामने से तो नहीं देखा लेकिन साइड से देख सकने में कामयाब हो गया. वो उसी अवस्था में मेरी बीवी के उन्नत वक्ष अपने मुंह में लेकर चूसने लगा, उनको चाटने लगा.

ब्लू पिक्चर सेक्सी में नंगी कुछ देर बाद उसने मुँह ऊपर करके मेरी आँखों में देखा और कुछ क्षण बाद मेरे होंठ उसके रसीले होंठों को चूम रहे थे. उसकी चूत पर हाथ रखते ही मैंने चुत की पुत्तियां मसल दीं, वो सिसक गयी और उसने मेरा हाथ पकड़ लिया.

धीरे-धीरे भाभी मुझे इस तरह सैट कर रही थीं कि मेरा लंड उसके मुँह पर आ गया था. उम्महाह सर … आराम से!”मैं बांहें फैलाये,आँखें बंद किये हर धक्केका आनंद ले रही थी और सिसकारियाँ ले रही थी. साफ़ साफ़ क्यों नहीं कहती कि गांव की जान कामिनी की चुत चोदने के लिया लौंडे लंड उठाए घूमते हैं.

बीएफ बीएफ सेक्सी फिल्म

परमीत के बाल ज्यादा बड़े ना थे, इसलिए उसके संगमरमर जैसे बदन को देखने के लिए कोई रूकावट नहीं थी. कमेंट करके बतायें कि आपको मेरी यह रियल सेक्स स्टोरी पसंद आई या नहीं. संजू लंड के ऊपर ही उठक बैठक करने लगी और आंख मूंदे अपने होंठों पर दांत फेरते हुए कसमसाने लगी.

अब भाई ने उस रस्सी को बेड के साथ बांध दिया और फिर मेरे पास आकर नीचे से मेरी टीशर्ट को भी निकाल दिया. आशीष ने बताया कि जिस त्रिपाठी परिवार में शिल्पा दीदी बहू बनकर जा रही थी उनका आशीष के घर में भी निमंत्रण और आना जाना था.

रोहन- जान तुम भी अपनी आंखें बंद करो ना अपनी टांगों को खोल दो और अपनी उंगलियां अपनी पूसी के ऊपर मसलो और सोचो कि मैं मसल रहा हूँ.

मासी बोलीं- मेरी जान अब ज्यादा बर्दाश्त नहीं होता … जल्दी से लंड अन्दर डाल दो. उन्होंने बोला- झूठ मत बोल … मैंने खुद कई बार तुझे ऐसा देखते हुए देखा है. अब वो भी चिल्लाने लगी थी- अयायाहह मुझे चोद दो … उम्म्ह… अहह… हय… याह… और ज़ोर से चोदो आहह … ऊऊहह मेरी चूत फाड़ दो … आज मेरी गांड भी मार लो आअह … उम्म्म्मा …अब मैंने उसके दूध छोड़ कर उसकी कमर को मजबूती से पकड़ लिया और अपने लंड को पूरा बाहर निकाल कर वापस अन्दर डालना शुरू कर दिया.

फिर मैं जो गोली लाया था, वो निकाल कर मैंने उनके ससुर को दे दी और उनको बोला कि अगर चुदाई का असली मज़ा लेना है … तो इसको ले लो. उसने टांगों से मेरी कमर को जकड़ लिया तथा अपने हाथों से मेरे चूतड़ों को दबाने लगी. उनके जाने के बाद मैंने लंड को बाहर निकाल कर मुठ मारी और फिर सो गया.

अब भाई ने उस रस्सी को बेड के साथ बांध दिया और फिर मेरे पास आकर नीचे से मेरी टीशर्ट को भी निकाल दिया.

बीएफ सेक्सी हिंदी न्यू: उन्होंने एक बार मेरी तरफ देखा और दूसरी नजर कमरे के दरवाजे और खिड़कियों पर डाली. कुछ देर वहीं रुक कर हम दोनों ने एक एक कॉफ़ी पी और हम दोनों बाहर आ गए.

तुम लोग कहाँ हो?पार्क में!”पार्क में? क्यों? क्या कर रहे हो?”तेरी दीदी मेरी चूत चाट रही है और तेरी मम्मी उपिन्दर का लौड़ा चूस रही है. फिर मुझे बहुत तड़पाने के बाद, आंटी ने अपने चुचे मेरे मुँह के पास रख दिए. जल्दी से मैं मेडिकल स्टोर गया, वहां से कंडोम का एक दस पीस वाला पैकेट खरीद लिया.

फिर उसके जाने के बाद मैं वहीं आस-पास घूम रही चूतों और चूचों को घूरने लगा.

मैंने इशारे से हाँ कहा तो उसने लन्ड मेरी बुर से लगाया और उसे घिसने लगा. शान- अच्छा, तुम तो ऐसे कह रही हो जैसे तुम खुद किसी और से ज्यादा मजा दे सकती हो. मैं काफी खुश थी, कई दिन के बाद मैं किसी बाहर के लड़के के इतने पास थी।अच्छी अच्छी बातें करने के थोड़ी देर बाद वो भी मज़ाक मज़ाक में मेरी तारीफ करने लगा, कहने लगा- आप जैसी गर्लफ्रेंड चाहिए.