बीएफ दर्जी

छवि स्रोत,सना खान सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

मालकिन की सेक्सी पिक्चर: बीएफ दर्जी, अमृता- हाँ मुझे यहाँ आये हुए 8 दिन हो गये और मौसी को घर का काम रहता है जिसकी वजह से हम यहां आने के बाद अब तक कहीं भी बाहर घूमने के लिए जा ही नहीं पाये हैं.

ब्लू हिंदी सेक्सी फिल्म वीडियो

तभी कोमल कह उठी- मैंने कहा था ना संजय … इस दवाई में बहुत दम है, देख लो हमेशा तुम्हारा पंद्रह बीस मिनट मों निकल जाता है और आज दवाई के असर से तुम्हारा लंड पैंतीस मिनट साथ दे गया. इंडियन सेक्सी भाभी की चुदाई वीडियोमैं- ठीक है, मैं उसे बुलाऊंगी और जैसा पहले विक्की और राहुल के साथ किया था … इस बार भी हम वैसे ही करेंगे.

तुम इतनी सुन्दर हो कि कई बार कोशिश करने के बाद भी मैं खुद रोक नहीं पाता हूं. सेक्सी वीडियो देसी एचडी फुलबेझिझक होकर मैं उनके बच्चों को बताता कि कुछ विषय को याद करने में गाली शब्द को भी बीच में डाल लो, जल्दी याद आ जाएगा.

आज जो मैं कहानी आप लोगों को बताने जा रही हूं यह कहानी अंतर्वासना पर मेरी पहली कहानी है.बीएफ दर्जी: अब मैंने अपना लंड उनकी चुत की छेद पर रखा और सुपारे को मासी की चुत की फांकों में फिराने लगा.

”हो गया?”हओ”कहाँ है?”वो दीदी के पास है।”पता नहीं यह आधार कार्ड और नाम का क्या चक्कर है।ओके … वो … गौरी अब तुम्हारे मुंहासों के क्या हाल हैं?ठीक हैं …”इन दिनों में तो तुमने ना तो वो दवाई पीयी ना लगाई?”हट! … आपने इन मुहासों के चक्कर में मुझ भोली-भाली लड़की को फंसा लिया.थोड़ी देर बाद उनके ससुर जी का माल निकालने को हुआ, तो उन्होंने पूछा- कहां निकालूं?दीदी ने बोला- सारा पानी चुत में ही छोड़ दो.

जीजा साली की सेक्सी विडियो - बीएफ दर्जी

जब हम खुले में आए तो वहां हमारे जैसे दो-तीन और कपल भी थे जो हमें बाहर आने के बाद दिखाई दिये.वन्दना भी मस्ती से अपनी गांड उठा उठा कर मेरे लन्ड को अपनी चूत में ले रही थी और बोले जा रही थी- ओह जीजू … फ़क मी हार्ड! और जोर से चोदो! यस यस यस … आहह आहह!थोड़ी देर बाद मैंने अपना लन्ड बाहर निकाला तो वो भी उठ कर बैठ गयी.

मैंने आते ही माहौल को देखा और धीमे स्वर में कहा- कहिये आपने मुझे बुलाया क्यों है?साधना भाभी कहने लगीं कि तुम ये सब जो कर रहे हो न … ये ग़लत है. बीएफ दर्जी जिस फ्रेंड के बारे में मैं बात करने जा रहा हूं वो मेरे साथ कोचिंग में पढ़ती थी.

कुछ लड़कियां तो घर से कपड़े लेकर आई थीं … क्योंकि वो कपड़े शरीर को नाममात्र ही ढकने वाले थे.

बीएफ दर्जी?

दर्द के मारे मेरा तो बुरा हाल हो चुका था। मेरी आँखों में अन्धेरा छा गया। ऐसा लग रहा था कि मैं होश में ही नहीं हूँ।काफी देर तक वो मेरे ऊपर ही लेटे रहे, बीच बीच में थोड़ी थोड़ी लंड अन्दर बाहर कर लेते. लेकिन यह भी कहा कि तेल लगा कर गांड मारना जिससे मुझे दर्द कम हो।मुरली ने खुश होकर मुझे बांयी करवट में लेटा दिया और मेरी गांड के छेद में और अपने लंड को तेल से चिकना कर दिया। अब बहुत प्यार से उसने अपने लंड को मेरी गांड में धीरे से घुसा दिया।दो दिनों की चुदाई के कारण मेरी गांड का छेद थोड़ा फैल चुका था और मुरली ने अपने लंड पर तेल भी लगा लिया था. उस दिन हमने 4 बार सेक्स किया और जाने से पहले मैंने ज़ायरा की गांड भी मारी, जिसमें उसको चक्कर भी आ गया था.

मैं ज्यादा कुछ बात नहीं कर पाई मामी से … बस जल्दी जल्दी खाना खाकर कमरे में चली आयी. वो बोले- पहले वादा करो कि मुझे श्वेता की चूत दिलावाओगी, किसी भी कीमत पर?मैंने कहा- हां, वादा करती हूं. क्योंकि एक तो इस होली में मैंने स्वीटी आंटी के साथ मस्त होली खेली और होली खेलने के दौरान हीं हम दोनों ने संभोग किया.

मन और लंड दोनों ही उसके बारे में सोच कर बेचैन रहे लेकिन दो दिन तक उसका कॉल नहीं आया. राहुल मेरी मम्मी के सामने मुझे बहन मानता था, तो मुझे मालूम था कि मम्मी राहुल के नाम पर मुझे मना नहीं करेंगी. इतना बोल कर दीदी साकेत भैया से हाथ छुड़ा कर दरवाजा खोल कर बाहर निकली और साकेत भैया भी उनके पीछे पीछे दरवाजे तक आ कर खड़े हो गए.

कॉलेज में वो साला मुझे बहुत लाइन मारता था, लेकिन मैं उस पर कभी ध्यान नहीं देती थी. आखिरकार चाची का सच सामने आ ही गया था और उन पर सेक्स हावी हो ही गया था.

आपसे निवेदन है कि कहानी में जिस महिला पात्र का जिक्र किया गया है उनकी सभी जानकारी गोपनीय रहेगी.

जो डॉक्टर कपल था वो हमसे भी ज्यादा आगे था इस खुलेपन के मामले में।अगर डॉक्टर दोस्त के शरीर की बात करूं तो उम्र में मुझसे छोटा था और स्मार्ट भी था.

वो मेरे घर से पार्टी करने के बाद अपने घर जाने लगा, तो उसने मुझे बड़ी मुहब्बत से देखा. फिर जब मुझे लगा कि वो रेडी हो गई है … तो वापस मैंने अपने लंड को बाहर खींच कर एक फाइनल धक्का दे मारा. मैंने बाहर आते ही पूछा- चाची जी आप कब आईं?उन्होंने कहा- जब तू बाथरूम में व्यस्त था …ये कह कर चाची ने एक कातिलाना स्माइल पास कर दी.

चुदक्कड़ बुआ की सेक्स कहानी को शेयर करने से पहले मैंने कई बार सोचा. दो चार धक्कों के बाद वो फिर से भाभी की चूत में झड़ गया और ऐसे ही भाभी के नंगे जिस्म पर लेटा रहा. थोड़ी देर तक तो दीदी शांत रही, फिर अचानक उनका हाथ पकड़ कर बाहर की ओर खींचकर बोली- क्या कर रहे हो साकेत … ये सब गलत है … आपको तो सिर्फ बात करनी थी न.

शान ने जब अपने खड़े लंड की फोटो भेजी, तो मैं एक मिनट तक बिना पलक झपकाए उसे देखती रही थी.

कुछ पल बाद कौसर मेम बोलीं- शकील यार क्या कर रहे हो … अब डाल भी दो ना … अपने इस मूसल को … मेरे राजा जी जल्दी से चोद दो … मुझसे रहा नहीं जा रहा है. मैंने जोर नजरों से उनको देखा, तो वो गुस्से में मेरी तरफ ही देखी जा रही थीं. चूत में लंड हाथ में बूब्स और मुँह में जीभ … ऐसा लग रहा था कि कई साल बाद चूत मिली है इन्हें.

”मेरी जान … पहली बार में थोड़ा दर्द होता है उसके बाद तो बस एक मीठी और मदहोश करने वाली चुनमुनाहट सी ही होती है और अगले कई दिनों तक उसकी याद रोमांचित करती रहती है. वो मेरी बात को बीच में ही काटते हुए बोलीं- तू रुका क्यों?मैं- मतलब?वो- मतलब कि मैं अभी चिल्ला के सबको यहाँ बुला लूंगी. लेकिन अन्दर जगह ना होने की वजह से उसको लंड को बाहर निकालने की बेचैनी सी होने लगी.

उसकी चूत से पानी निकलने के कारण उस आंटी की चूत बिल्कुल गर्म और चिकनी लग रही थी.

वो गांड उठाते हुए कहने लगीं कि आह … साले भड़वे … तेरा लंड तो बड़ा मोटा है … मजा आ गया. मेरा ऐसा मानना है कि हर बार हम लोगों ने अपने बदले पार्टनर के साथ एन्जॉय किया, मतलब हम आपस में सभी एक दूसरे के साथ कम्फर्ट फील कर रहे हैं, अब शायद हम अपने मन में यह तय कर चुके होंगे कि यदि हमें रात भर किसी के साथ रहना है तो हमारा पार्टनर कौन हो.

बीएफ दर्जी एक घंटे बाद वापिस चाची कब आ गईं और आते ही उन्होंने मुझे बांहों में भर लिया और एक हाथ से मेरे लंड पर रगड़ने लगीं … इतना सब कब हो गया, मुझे कुछ भी होश नहीं था. मुझे समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूं और क्या नहीं क्योंकि उसकी तरफ से मुझे कोई इशारा भी नहीं मिल रहा था.

बीएफ दर्जी सुनील ने दरवाजा हल्का सा खोला, उससे इतनी रोशनी हो गयी कि बस अहसास हो जाए उठने बैठने का. हम दोनों ने तो मालिश के भी खूब मजे लिये लेकिन हमारी बीवियां तैयार नहीं हुई इसके लिए.

फिर वो बोली- मुझे आज तुम्हारे लंड की सैर करनी है जानू … मुझे अपने लंड की सवारी करवा दो।मैंने कहा- हां मेरी जान … अभी करवाता हूं.

मराठी बीएफ मराठी सेक्सी

हम दोनों ही मर्द उत्तेजित अवस्था में केवल निक्कर में थे और हम दोनों की ही पत्नियां सिर्फ पेंटी और ब्रा में ही हमारे साथ थीं और हम उनके जिस्म से लिपट रहे थे. मैं भी मज़े से चूत चाट रहा था।नित्या ने मचलते हुए अपनी पूरी टांगें पसार दीं और कहने लगी- प्लीज़ … चाट और जोर-जोर से चाट ना. उन्होंने अपने पेटीकोट को ऊपर कर लिया जिसके कारण उनकी मोटी जांघें दिखाई देने लगी थीं.

इस पर वो हंसने लगी और बोली- वो तो फिलहाल नहीं मिल सकता है … लेकिन उनके बर्तन जरूर मिलेंगे. अब पहली बार हमने उसके लंड के जड़ पर घुंघराले बालों को देखा, उसके नीचे एक ही थैली में भरे दो बड़े नींबू जैसी गोलियां लटक रही थीं, जिसे आंड या गोली भी कहते हैं, ये बात हम पोर्न देख कर सीख चुके थे. ”मैं तो पहले ही मरी जा रही थी लंड चूसने के लिए … मैं बस नाटक कर रही थी.

मगर इतने में ही एक लड़के ने आगे बढ़ कर मेरा नाईट गाउन खींचा और एक झटके से उतार दिया। अब नाईट गाउन के नीचे मैंने कुछ पहना नहीं था तो मैं तो एक सेकंड में नंगी हो गई।इतने में दूसरे लड़के ने कविता का भी नाईट गाउन खोल कर उसे भी नंगी कर दिया। पहले उन्होंने हम दोनों को उसी नंगी हालत में ऊपर से नीचे तक देखा। हमारे बड़े बड़े मम्मे, चौड़े कूल्हे, मोटी मोटी जांघें, बेशक हम सब साफ सफाई करके आई थी.

जब से मैंने होश संभाला है … मतलब कि जब से लंड ठीक से खड़ा होना शुरू हुआ है, मैं उनको ही देखते आया हूं. उस दिन से मुझे मुट्ठी मारने का ऐसा चस्का लगा कि मैं हर रोज मुट्ठी मारने लगा. उसकी हल्की गुलाबी त्वचा पर लम्बे काले बाल किसी भी औरत को जलने के लिए मजबूर कर सकते थे.

उन दोनों को देख कर मेरे मन में भी ऐसी ही खुराफात करने का विचार आया. अब हम चारों लोग समुद्र की उफनती हुई लहरों में मस्ती करने लगे, उछलने लगे, एक दूसरे पर पानी फेंकने लगे और एक दूसरे की बीवियों के साथ ज्यादा खुल गए. रिया के बूब्स जॉली के पीठ से दब गए और रिया के होंठ जॉली के गले से चिपक गए.

वो जोर जोर से सिसकारियां लेने लगी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैं अपनी जीभ को नुकीली करके उसकी चूत के दाने को छेड़ने लगा. फिर वॉयलेट मॉडलिंग के लिए मुम्बई चली गई और मैं इंजीनियरिंग की जॉब पर चला गया.

उसने जॉली के गले में हाथ डाल दिया और कहा- जनाब अब क्या आप अपने लंड के साथ साथ मेरी चूत को भी इसी तरह शांत होने का मौका देंगे?इसी के साथ उसने जॉली का हाथ अपने सुलगती चूत पर रख लिया. वो बोल रहा था- अब तो छोड़ दो भाई … कब तक मेरी गांड चुदाई करोगे?मैंने बोला- साले तूने ही तो कहा था न कि लौड़े की गर्मी को शांत कर लो … अब लंड शांत तो हो जाने दे भोसड़ी के. जैसे जैसे वीडियो में चल रहा था, वैसे वैसे ही हम दोनों भी करते जा रहे थे.

कुछ देर ऐसे लेटे रहने के बाद चाची नंगी ही उठ कर रसोई में गईं और मेरे लिए बादाम वाला दूध लेकर आईं.

वो बोली- अच्छा, तो फिर अच्छे से कर ना मसाज!मैं समझ गई कि उसको मजा आने लगा है. उसके होंठ मेरे होंठों में ऐसे फंसे हुए थे कि मुझे सांस लेना भी भारी हो रहा था. अब हम दोनों वापिस आए और नीचे बिछे हुए गद्दे पर चादर डाले एक दूसरे को बांहों में नंगे ही लेट गए.

पापा पूरे निढाल होकर मेरी चूचियों के ऊपर गिर गये और काफी देर तक ऐसे ही पड़े रहे. साथ ही अपना खड़ा लंड उसके हाथ में पकड़ाते हुए कहा- तुझे शर्म नहीं आती दूसरों की चुदाई देख कर … अब मेरे सामने नाटक चोद रही है.

मैंने एक बार फिर से लन्ड पूरा बाहर निकल कर कपड़े से साफ किया और फिर उसकी चूत में रगड़ने लगा. लेकिन मोना मेरा लंड चूसने से मना कर रही थी, क्योंकि ये सब उसके लिए पहली बार था, शायद इसीलिए उसे अच्छा नहीं लग रहा था. मुझसे मिलते ही मेरी वाईफ मुझसे लिपट गयी, बेटी भी आकर मेरे गले लग गयी.

जंगल मंगल बीएफ वीडियो

ऐसे ही विवेक पीछे से बोला कि बंध्या मैंने आज तक ऐसी गांड सोची भी नहीं थी कि किसी लड़की की गांड ऐसी होती होगी.

फिर कुमार खड़ा हुआ और मेरे दोनों पैर अपने कंधे पर रख कर मुझे चोदने लगा. मेरी तो भाभी के साथ मस्त चुदाई चल ही रही थी, दिन भी अच्छे से गुजर रहे थे. इसी बीच उसने मुझे पूछा- अब तेरी पढ़ाई में कोई समय जाया नहीं हो रहा है.

उसके साथ मेरा चक्कर चल निकला क्योंकि मुझे सेक्स करने का बहुत मन था।एक बार वो स्कूल में मेरे पास आया और बोला- बाबू हम कब तक ऐसे स्कूल में मिलते रहेंगे? मुझे तुमसे बाहर कहीं मिलना है. बेड पर मेरा और मेरे हस्बैंड का किसी दूसरे मर्द का नाम सुनते ही गर्म हो जाना उनका मुझे खूब चोदना और मेरा उनसे खूब चुदना।अब मैं और मेरे हस्बैंड सच में किसी को ढूंढने लगे जिस पर हम भरोसा कर सकें और जो हमारी जरूरत को पूरा कर सके. सेक्सी वीडियो भीलवाड़ाअब वो चुदक्कड़ों की तरह बर्ताव करने लगी तो मैंने उसको गोदी में भरा और पटक कर फिर से चोद डाला.

इस मौके को इस तरह संकोच में जाया मत करो और इनकी वाइफ को भी बोल दो कि वो भी जल्दी से चेंज कर लें. हम दोनों को ही आनन्द की ऐसी अनुभूति हो रही थी कि शब्दों में बयान करना मुश्किल है.

मेरे मन में तो मोसी को चोदने का बहुत दिनों से विचार था ही, मैं मुठ मारते समय हमेशा यही सोचता रहता था कि मोसी की चूत का मजा कब मिलेगा. सीमा ने पिंकी से तय कर लिया था कि वो 11 बजे तक आ जायेगी क्योंकि पार्लर से वेक्सिंग के लिए दो लड़कियां 11 बजे तक आ जानी थीं. फिर मैंने कुछ देर चाची के चुचे दबाये और थोड़ी देर लंड चुसवा क़र चाची को खड़े होने का इशारा किया.

अब दीपा को ध्यान आया कि मनोज कहता है सुनील का लंड बड़ा और मोटा है तो क्यों न चूसा जाए. इस तरह की घमासान चुदाई के बाद प्रिन्स थकने लगा तो वो रुक गया और सीधा लेट गया. जैसे जैसे वीडियो में चल रहा था, वैसे वैसे ही हम दोनों भी करते जा रहे थे.

मेरी तो भाभी के साथ मस्त चुदाई चल ही रही थी, दिन भी अच्छे से गुजर रहे थे.

सबसे पहले हम अपने पार्टनर के साथ ही डांस करेंगे और एक तरह से उससे इस मस्ती की परमिशन लेकर जल्दी जल्दी अपने पार्टनर्स बदलेंगे. मैंने हैलो कहते हुए परिचय दिया कि शायद मेरी आपसे ही मेल पर बात हुई थी.

मेरी दीदी की सेक्स कहानी आपको कैसी लग रही है? मेरी इस सेक्स कहानी के लिए आपके मेल की प्रतीक्षा रहेगी. मुझे मोबाइल पर इसकी कहानियों को किसी भी वक्त पढ़ लेना बड़ा ही मस्त लगने लगा. फिर वो अपने काम के चलते ज्यादातर बाहर ही रहते हैं, जिस वजह से मैं लगभग चुदासी ही बनी रहती थी.

लेकिन अन्दर जगह ना होने की वजह से उसको लंड को बाहर निकालने की बेचैनी सी होने लगी. तो वो बोली- बना तो लूं … मगर अगर मेरे घर पता चल गया तो परेशानी हो जाएगी।फिर वो बोली- मुझे मोहित जैसा लड़का चाहिए जो बुर की ऐसी चुदाई करे कि बुर में दर्द हो जाये. उसके बाद मैंने उसकी चूचियों को दबाते हुए लंड को गांड पर धीरे-धीरे दबाना शुरू किया.

बीएफ दर्जी ”आ मेघा … मुझे भी एन्जॉय करो पूरा! क्या रसीली चूत है!”अअअअ सश्हस …”सर ने पूरा लंड अंदर डाल दिया और उनकी बॉल्स एकदम चूत से चिपक गई. उसकी हज़ार से ज्यादा फोटो फेसबुक पर थी जिनको मैंने डाउनलोड कर लिया था.

सेक्सी बीएफ ब्लू वीडियो सेक्सी

रात को 2 बजे करीब मनोज ने आकर उसे दबोच लिया, वो सेक्स के मूड में था पर दीपा ने उस से कहा कि कल सतपुड़ा में जम कर सेक्स करेंगे, अभी सो जाओ, तुम्हें ड्राइव भी करना है. मैं चुप कर गया, लेकिन जब चाची ने अपने कोमल कोमल हाथों से मेरी जांघ की छुआ … तो मेरे लंड ने टाइट होना शुरू कर दिया. और उधर अमित पूजा की चूत को ऐसे चाट रहा था मानो सारा माल पी जायेगा उसका!तभी मुझे महसूस हुआ कि अमित के दोनों हाथ मेरी जाँघों पर आ गये हैं और उसने पूजा की चूत के साथ साथ मेरे लन्ड पर भी अपनी जीभ चलानी शुरू कर दी.

मैंने भी कहा- ऐसी क्या खास बात है मुझमें?सिद्धू ने कहा- तू चीज़ बड़ी है मस्त मस्त!और हम दोनों हंसने लगे. वो बोले- एक बात बोलूँ अगर तुम बुरा न मानो तो?मैं बोली- क्यों नहीं, आप बोलिये. देसी वीडियो सेक्सी मूवीकुछ ही देर में चाची में पूरा जोश आ गया था, वो ज़ोर ज़ोर से चिल्लाने लगी थीं- उईई ईईई … हाय आअहाआआ बाबू आहा मेरी जान ओह्ह्ह श्शह, हाय माँ मर गई … आआअह्ह ह्हह … ईईईई दीपू प्लीज, तुम्हारा लंड बहुत बड़ा और मोटा है तुम्हारे चाचा का तो इसके सामने झांत बराबर है … आह तेरे इस लंड ने तो पूरा मजा दे दिया … इतना मजा मुझे आज तक नहीं आया.

उन रसभरी पिचकरियों को रिया अपने गले से पेट तक जाते हुए महसूस करने लगी.

वैसे परमीत और मनु के बारे में ही सुनो तो अच्छा है, क्योंकि मेरे में बताने लायक कुछ खास था भी नहीं. अब वो भी चिल्लाने लगी थी- अयायाहह मुझे चोद दो … उम्म्ह… अहह… हय… याह… और ज़ोर से चोदो आहह … ऊऊहह मेरी चूत फाड़ दो … आज मेरी गांड भी मार लो आअह … उम्म्म्मा …अब मैंने उसके दूध छोड़ कर उसकी कमर को मजबूती से पकड़ लिया और अपने लंड को पूरा बाहर निकाल कर वापस अन्दर डालना शुरू कर दिया.

फिर पैंट की चेन खोलकर उसने अपना लंड बाहर निकाला और मेरे हाथ में दे दिया. कह कर मधुर हंसने लगी।मुझे कुछ समझ नहीं आया। पता नहीं मधुर क्या बताना चाह रही है।फिर पता है सानिया ने क्या बोला?”क्या?”वह बोली- दीदी … आप मुझे भी अपने पास यही रख लो। मैं रोज घर का सारा काम भी कर दूँगी और रात को आपके पैर भी दबा दिया करुँगी. धीरे धीरे मुझे भी मजा आने लगा तो मैंने कहा- सलीम जोर जोर से मेरी गांड मारो!और मैं मजे में आकर ‘आह आहह हह’ करने लगी.

मेरे द्वारा विशाल को अपने मम्मों की फोटो भेजने और उससे दंड पाने की ख्वाहिश का मैसेज किया था.

मैं तड़पते हुए इतनी गर्म हो गई कि मेरे हाथ बेड की चादर को कचोटने लगे. लगभग डेढ़ दो घंटे बाद श्वेता दीदी मेरे कमरे के पास आकर मुझे आवाज देने लगी, पर मैं कुछ नहीं बोला. मनोज का लंड अभी तना खड़ा था, थक तो दीपा भी गयी थी पर मनोज का निकालना भी जरूरी था.

गांव की सेक्सी वीडियो रिकॉर्डिंगउसके बाद कुछ ही देर में मैंने भी अपना पूरा पानी उसके पेट के ऊपर गिरा दिया और शान्त होकर उसकी बगल में लेट गया. रिया ने उसे 2-4 बार चूस कर बाहर निकाला और उससे फिर एक बार बड़ी हवस भरी नजरों से देखा.

बीएफ वीडियो ससुर पिए

लड़कियां सोच रही थीं कि चोदने को हर समय तैयार इन लड़कों को आज हुआ क्या है. मैं- ठीक है, मैं उसे बुलाऊंगी और जैसा पहले विक्की और राहुल के साथ किया था … इस बार भी हम वैसे ही करेंगे. ”ओह!”हम दोनों ब्रा पैंटी में हो गए।अंशु बोली- अच्छे लोग अपनी बहन बेटी की चुदाई नहीं देखते.

मैंने उसको बिस्तर पर चित लिटाया और अपने लंड का सुपारा उसकी रसीली चुत पर रखकर हिलाया. अचानक एक मिनट बाद परी मैम ने मेरा लंड पकड़ लिया और कहने लगीं- मुझे मेरी चूत की भी मसाज करवानी है. उसने सुनील और मनोज को कहा- आप सुनील के रूम में जाकर गप्पें मारो, तब तक में तैयारी कर लूं.

फिर एकदम ट्रेंड कॉलब्वॉय की तरह मैंने उसकी साड़ी को उतारा, वो अब पेटीकोट और ब्लाउज में मेरे सामने थी. रिया का हाथ तुरंत ही जिप के अन्दर चला गया और जल्द ही जॉली के अंडरवियर के अन्दर भी पेवस्त हो गया. गर्मागर्म स्वर्ण अमृत !!! वाह क्या बात है !!! हालाँकि अभी अभी बेबी रानी का ढेर सा अमृत पी कर चुका था, फिर भी मैं प्यासे की तरह लपालप पीता चल गया.

अभी बात करनी पड़गी नहीं तो चाची ने ये बात मेरे घर वालों को बता दी, तो तू तो गया काम से. रात में बिजली कड़कने लगी थी और थोड़ी ही देर के बाद बारिश भी शुरू हो गई थी.

भाभी मेरे पास आ कर बैठीं और कहा- जो हो गया, उसकी चिंता न करके अब आगे कुछ ग़लत ना हो, उसका ध्यान रखना है.

अब वह मेरे और उस लड़की के बीच में होने वाली जुगलबंदी को समझने लगी थीं. सेक्सी वीडियो में भेजनाउनके दोस्त ने मेरा पल्लू गिरा कर ब्लाउज का हुक खोल दिया और ब्रा के ऊपर से दूध को चूमने लगा. सेक्सी सर्चसच कहूं तो उस वक्त मेरा भी मन लंड चूसने का हो रहा था, लेकिन मेरे दिमाग ने मुझे इस बात की इजाजत नहीं दी. फिर मैंने उसको सेक्स की बातें करके गर्म किया और वो उस लड़के यानि मेरे साथ इंजॉय करने के लिए भी तैयार हो गई.

मेरी आंखों के सामने दीदी की दोनों बड़ी बड़ी गोरी गोरी चूचियां सामने उछल रही थीं.

मैंने देखा कि वो ब्रा और पेंटी पहन कर आई थी … पर मैं अभी भी नंगा खड़ा था. कोमल उसके सामने घुटनों के बल बैठ गई और परमीत को भी उसके सामने ऐसे बैठाया कि वो लंड आसानी से चूस सके. खैर हमें उससे कोई लेना-देना नहीं था, हम तो बस उन लोगों के झुंड से पीछा छुड़ाना चाहते थे.

तुम बाद में शिकायत मत करना कि मैंने अपनी चूत गैर मर्दों से चुदवा ली. उसके पैसे लौटाने के बाद मैंने उसकी पैंटी को खींच दिया और उसकी योनि को चाटने लगा. जब तक मैंने सलाद में मसाला मिलाया, तब तक मेम ने खाना भी टेबल पर सजा दिया.

सील बंद बीएफ सेक्सी

उसने सीधा अपना हाथ मेरे लंड पर रखा और मैंने उसके ऊपर बैग रख दिया, जिससे ये खेल किसी को दिखे नहीं. कुछ देर बाद उनके ससुर ने भी अपना लंड का मूत दीदी की चुत के ऊपर डाल दिया. अक्सर हम दोनों किसी पार्क में जाकर बैठ जाते हैं और काफी देर तक बात करते रहते हैं.

मगर फिर सोचा कि नाम और जगह में फेरबदल करने के बाद कुछ पता नहीं लगेगा.

मैंने तो किसी भी तरह के ऐसे खेल और शर्त के लिए साफ मना कर दिया और देर होने की बात कहकर जल्दी घर चलने की जिद भी करने लगी.

ऐसे ही कोई पन्द्रह मिनट तक हम आगे पीछे होते रहे और दीदी की चुत को भोसड़ा बनाते रहे. उसे पक्का विश्वास था कि आज तो उसकी गांड ज़रूर फटेगी, लेकिन अपने बाप से गांड मरवाने की चाह में उसे दर्द का अंदाजा नहीं हो पाया. गधा और लड़की का सेक्सी वीडियोमोसी की सफाचट चुत देख कर मैं किसी पागल कुत्ते की तरह उस पर टूट पड़ा और चुत चूसने लगा.

मनोज ने दीपा को छोड़ दिया और दोनों वाशरूम में घुस गए; शावर लेकर बाहर आये. आज तेरे इस बदन को चाट चाट के चुदाई करूँगा। आज तेरी पहली चुदाई है मेरी रानी … इसको तू हमेशा याद रखेगी कि कोई अंकल मिले थे जिसने तेरी बुर की सील तोड़ी थी।”दर्द भी होगा न?”हां होगा तो … मगर बस एक बार! उसके बाद तो तू जिंदगी के मजे लेने लगेगी. उसने भाभी के चूचों को अपने हाथों में भर लिया और उसके चूचों को दबाने लगा.

फिर जब मेरा दर्द कम होने लगा तो उसने मेरी गांड में अपने लंड को हिलाना शुरू किया. रात में हम दोनों रोज की तरह ही साथ में सो रहे थे और फ़ोन में फिल्म देख रहे थे.

पर अब दर्द एकदम से बढ़ गया और मैंने उसको छाती पे हाथ रख कर रोकने की कोशिश करी।उसने पूछा- क्या हुआ?मैंने कहा- अभी रुक जाओ, दर्द हो रहा है बहुत।सचिन बोला- ज्यादा हो रहा है क्या?मैं बोली- हाँ काफी चीस हो रही है।उसने कहा- अब तो एक ही तरीका है फिर।मैंने कहा- क्या?उसने कहा- एक गहरी सांस लो!तो मैंने ली.

अब तो मेरा खुद ही मन करने लगा था कि उनके लंड को अपने हाथ में लेकर अच्छी तरह से उसको प्यार करूं. चुत का कुछ रस मेरे पेट में जा रहा था, तो कुछ लार के साथ नीचे बह रहा था. जीवन में पहली बार मैंने किसी फेसबुक फ्रेड रिक्वेस्ट को बिना जाने पहचाने ही ओके कर दिया.

इंग्लिश सेक्सी व्हिडिओ चुदाई ऐसे ही चुम्मा चाटी करते हुए स्कूल पूरा हो गया लेकिन हम कभी चुदाई नहीं कर पाए. कहानी का पूरा मजा लेने के लिए नये पाठकों को यह सब जानना जरूरी हो जाता है.

मैंने कहा- मेरा होने वाला है … कहां डालूं?भाभी ने मुझे जोर से पकड़ कर अपने से चिपका लिया. वो बहुत देर तक वैसी ही रही जब तक कि उसको यह अहसास नहीं हुआ कि उसका बेटा भी वहीं है, और वो बहुत देर तक उस स्थिति में नहीं रह सकती. एक दिन हम दोनों रात में बात करते करते बार में चले गए और हम दोनों ने वहां पर बियर पी और उसके बाद मैं उसकी बाइक पर घूमने निकल गई.

एक्स एक्स एक्स वीडियो एचडी में बीएफ

पहले तो मुझे लगा था कि ये सब टाइम पास करने का जरिया है … और फालतू का काम है. मैंने अपनी गांड पर उनका मोटा लंड महसूस किया तो मेरी चूत तक उसकी गर्मी पहुंचने लगी. इससे हमारे घर वाले भी हम दोनों के बारे में जानने लगे थे कि हम दोनों एक साथ काम करते हैं … इसलिए मिलना जुलना स्वाभाविक है.

परी मैम ने अपने मम्मों पर हाथ फेरते हुए कहा- तो दूध पियोगे?मैं उनकी चूचियों की तरफ ललचाई निगाहों से देखने लगा. मुझे पूरा यकीन है आप लोगों का हाथ अपने आप अपने लंड पर चला गया होगा.

जब मेरे हस्बैंड यहां नहीं होते हैं, तो मुझे ही उसकी देखरेख करनी होती है.

नीले रंग की साड़ी में उसका गोरा बदन और उसके उठे हुए पहाड़ देख कर मेरे लंड का वहीं पर तंबू बन गया. उन आंटी के गुलाबी रंग के उरोजों पर हल्की नीली नसें ऐसे लग रही थीं, जैसे कोई नीले रंग के बाल हों. उसने परमीत की ब्रा को ऊपर सरका कर पहाड़ियों को आजाद कर दिया था और बीच-बीच में उसकी घुंडियों को भी ऐंठ रहा था, जिससे परमीत की गुलाबी घुंडियां लाल हो गई थीं.

मैंने उस आंटी के निप्पल को अपने हाथ में पकड़ कर मसल दिया तो वो मेरे लंड को पकड़ने लगी. बॉस ने मेरे मुँह में मुँह डाल कर अपनी कमर को तेज तेज चलाना शुरू कर दिया, जिससे गांड में भी जल्दी जल्दी लंड घुसने लगा. मैंने रीता को अपना लंड चूसने के लिए कहा तो वो मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी.

देखते-देखते मैंने पूजा को कमर से ऊपर नंगी कर दिया और पूजा के स्तनों मसलते हुए चूसने लगा.

बीएफ दर्जी: महेश अपनी बेटी के पूरे जिस्म को बड़े गौर से देख कर अपने लंड को सहला रहा था।ज्योति झुक कर अपनी पेंटी को पहन रही थी जिस वजह से उसकी निगाह अपने पिता की तरफ नहीं गयी।वह पेंटी पहनने के बाद फिर से अपनी ब्रा को उठाने के लिए उलटी हो गई। महेश ने सीधा होते हुए अपनी बेटी की गोल गोल चूचियों को भी अपनी आँखों में क़ैद कर लिया। ज्योति की चूचियों के दाने भी उसकी बहू की चूचियों की तरह गुलाबी थे. अब दोनों को विश्वास हो गया था कि मैं बेडरूम में सो गया हूँ जबकि मैं स्टडी रूम की विंडो से सब कुछ देख सुन रहा था और उनको डिस्टर्ब करना मैंने ठीक नहीं समझा.

ये बोल कर मैं कपड़ों के ऊपर से ही उनकी गांड में धक्के मारने लगा और झुक कर उनके चुचे भी दबाने लगा. आज तेरे इस बदन को चाट चाट के चुदाई करूँगा। आज तेरी पहली चुदाई है मेरी रानी … इसको तू हमेशा याद रखेगी कि कोई अंकल मिले थे जिसने तेरी बुर की सील तोड़ी थी।”दर्द भी होगा न?”हां होगा तो … मगर बस एक बार! उसके बाद तो तू जिंदगी के मजे लेने लगेगी. मैंने खुद को वापस खींचने की कोशिश की मगर पापा मेरे होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसने लगे.

मैंने ट्रेन का स्टेटस देखा था, तो उस दिन न जाने किस कारण से ट्रेन 12 घंटे लेट थी.

तो क्या हुआ … मैं भी तो चुदाई करती ही हूँ उनसे! अगर तुझको मजा लेना है तो बता?”वो कुछ सोचने लगी, फिर बोली- अगर घर में पता लग गया तो?नहीं पता लगेगा. कुछ पल बाद मैंने फिर से दूध को मसला, तो मोसी भी मजा लेते हुए सिसकारने लगीं. फिर भैया ने मेरे और दीदी के मुँह के सामने लंड रख दिया, जिसे हम दोनों ने बहुत प्यार से चाटकर साफ कर दिया.