बीएफ सेक्सी वीडियो बड़ा लंड

छवि स्रोत,पंजाबी सेक्सी चैनल

तस्वीर का शीर्षक ,

लंड मोटा करने की दवा: बीएफ सेक्सी वीडियो बड़ा लंड, मामी जैसी कामुक नारी के बदन को छूकर सहलाकर भी उनकी चूत के रस का स्वाद न ले पाने की कसक को मैं ज्यादा दिन सह नहीं सकता था.

मराठी सेक्सी बीपी पिक्चर वीडियो

सो मैंने हिम्मत की और उसके हाथ में लंड दे दिया। मैंने सोच लिया था कि जो होगा वो देखा जाएगा।एक-दो पल बाद वो मेरे लंड को हिलाने लगी। मैंने सोच लिया था कि यदि इसकी चूत की चुदाई करनी है तो ऐसे काम नहीं चलेगा। सो मुझको आंटी से बात करनी पड़ेगी. मुसलमान की सेक्सी वीडियो नंगीफिर बताता हूँ।टीना- ठीक है जानू जैसा तुम कहो, लो बैठ गई अब बोलो क्या बात है?संजय- यार आज शाम से लंड में हलचल मची हुई है, सोचा तुझे बुलाकर तेरी चुत की ठुकाई करूँगा।टीना- क्या बात है मेरे राजा.

मेरा लंड पूरी तरह से खड़ा हो कर उनकी गांड को टच करने लगा।वो अचानक घूमी और मेरे लंड को अपने में लेकर चूसने लगीं। मेरा लंड उनके गले तक जा रहा था। उन्होंने और भी झपटते हुए मेरे पूरे लंड को अपने गले तक उतार लिया और फिर चूसने लगीं।ओए होए. सेक्सी पंजाबी हिंदी वीडियोतभी नीचे से अमिता ने अपनी चूत से जोर से धार निकाली और मेरे लंड को भिगो दिया, मुझे ऐसा लगा जैसे उसने मेरे लौड़े पे गर्म गर्म पेशाब कर दी हो।मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से निकाल दिया। हम सभी ‘उन्ह आई उई आह आह.

रयान ने उसे समझाया कि वो अपना फ्रेंड सर्किल बढ़ाये और मस्त रहे… दोनों के बीच यह तय हुआ कि हर पंद्रह दिनों के बाद दो दिन के लिए रयान यहाँ आयेगा और तीन दिनों के लिए निष्ठा वहाँ रहेगी.बीएफ सेक्सी वीडियो बड़ा लंड: सुन्दर ने मुझे वहीं पलंग के ऊपर लिटा दिया और मेरी स्कर्ट उतारने लगा.

साथ ही साथ शानदार पोर्न फिल्म की लाइव शूटिंग भी कहाँ रोज-2 देखने को मिलती है!मुझे इस समय नताशा की चूत में एंड्रयू का लंड थोड़ा ढीला सा नजर आ रहा था, मैं अपना लंड सीधा करके नताशा की गांड के पीछे खड़े होकर छोटे छेद से रगड़ने लगा.फाड़ दो मेरी चुत।मैं भी लंड को उसकी चुत के खूब अन्दर तक डाल रहा था और मेरा लंड उसकी चुत की गहराइयों तक जा रहा था। वो भी खूब मज़ा ले और दे रही थी।इस तरह 5 मिनट तक चुदाई करने के बाद मैंने अपना लंड बाहर निकाला और उसको घोड़ी बनने को कहा।वो झट से पलट कर घोड़ी बन गई। मैंने पीछे से उसकी चुत में लंड डाला और अन्दर-बाहर करने लगा। वो तो पागल ही हो गई.

मराठी सेक्स सेक्स सेक्सी - बीएफ सेक्सी वीडियो बड़ा लंड

थोड़ी देर के बाद जूसी का फोन आया- रेखा तू आजा हमारी तरफ!मैं उठ खड़ी हुई और चलते हुए सोचने लगी कि जूसी ने फोन करके क्यों बुलाया, खुद आकर भी बुला सकती थी.इसी लिए वो तेरे साथ ऐसे बिहेव करते होंगे।सुमन- छी: दीदी आप भी कैसी बात करती हो.

अचानक फोन की वाइब्रेशन के साथ मेरी खुली आँखों में चल रहा उसके प्यार का सपना टूटा और फोन बजने लगा. बीएफ सेक्सी वीडियो बड़ा लंड कुछ दिन बाद मेरे शौहर ने कहा- कल चलना है!मैंने कहा- कहाँ?तो बताया- संजय के पास… मेरी बात हुई है, मैंने कह दिया है अपने दोस्तों को बुला लेना!मैंने कहा- क्या मुझे रंडी बनाने का इरादा है?तो बोले- बन जाओ रंडी!मैंने कहा- ठीक है.

ज़रा सोच उस पर क्या गुज़री होगी? मैंने तो बस उसकी आग बुझाई है।काका की बात सुनकर एक बार तो राजू डर गया.

बीएफ सेक्सी वीडियो बड़ा लंड?

मैं अपने बारे में बता दूँ, मैं 5’6″ का एक ठीक ठाक लड़का हूँ पर लड़कियों को पटाने के मामले में एक्सपर्ट हूँ. मगर तुम तो बहुत जल्दी आउट हो गए। अब जल्दी से इसे तैयार करो ताकि मैं भी इसे अपनी चुत में लेकर हवा में उड़ सकूँ।राजू- अरे इतनी जल्दी कैसे होगा. मैंने दादाजी की ओर देखा तो उनकी नजरें मेरी गीली पारदर्शी शर्ट में दिख रही चूची पर थी.

मैंने भी बिना सोचे समझे हाँ कर दी।रूम में हम दोनों कुछ देर चिपक कर लेटे रहे, उसके बाद साहिल ने चाय के आर्डर दिया, चाय पीने के बाद मैं नहाने धोने और फ्रेश होने के लिये अपने कपड़े निकालकर बाथरूम के अन्दर गई और जैसे ही मैंने दरवाजा बन्द करना चाहा तो साहिल ने दरवाजा बन्द करने से मना किया. मैं बोला- तो इसका क्या?वो बोली- है ना मेरे पास इलाज!और यह कह कर वो घुटनों पर बैठ गई और बड़े आराम से मेरा लंड चूसने लगी. चलो तब तक किचन में ही बातें करते हैं।और हम दोनों किचन में आ गए। इधर बहुत देर बात करने के बाद भाभी ने कहा- तुम्हारी फैमिली यहीं पुणे में है ना?तो मैंने भी कहा- हाँ।भाभी ने पूछा- तो तुम खाना रहना बाहर ही क्यों खाते हो.

देसी भाभी की चूत की चुदाई का मजा लिया-1आपने अब तक की इस रंगीन और मस्त चुदाई की कहानी में पढ़ा था कि पड़ोस की रेहाना भाभी जिनका निकनेम सोनू भाभी था, वे मुझसे पट चुकी थीं और मैंने उनके मम्मों को भी सहला लिया था।अब आगे. मुझे उसके बारे में तो नहीं पता पर जब मैंने अपना पानी गिराया, तो मुझे बहुत मज़ा आया. हम चारों चिंटू के दोस्त के घर चल दिए, उसके घर पर कोई भी नहीं था और उस घर में हम पहले भी चुद चुकी थीं तो हमें कोई डर भी नहीं था.

नताशा के मुंह से ओह उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह की मधुर ध्वनि कमरे में शास्त्रीय संगीत की भांति गूंजते हुए वातावरण को गुंजायमान कर रही थी. मैंने पूछा- रवि का गांव कितनी दूर है?तो उसने कहा- ज्यादा दूर नहीं है बस 20 किलोमीटर के आस पास है यहाँ से.

अब वो बड़ी हो गई है और कॉलेज में जैसा देखेगी वैसे ही वो भी करना चाहेगी। अभी तो वो सब बातें हम बता देती है.

यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!यह कह कर मैं उनकी नाभि को चाटने लगा.

करीब 20 मिनट के बाद मेरा पूरा लंड अन्दर घुस गया था।आंटी दर्द से मचल रही थीं।फिर मैंने अपना पूरा लंड बाहर निकाला और एक जोर का शॉट मारा। मेरा लंड फिर से आंटी की गांड में पूरा अन्दर घुस गया।आंटी एकदम से उछल पड़ीं और बोलीं- ओह. ’ की आवाज आई।पवन अंकल ने और जोर का झटका मारा तो अबकी बार माँ जोर से चिल्लाईं ‘आह. मेरे चूमते ही अंजलि एक बारगी उछल सी गई… आअह्ह्ह उम्म्ह… अहह… हय… याह… उफ्फ आह्ह…फिर मैंने उसकी दोनों टांगों को पकड़ कर फैला दिया और दोनों टांगों की घुटनों को मोड़ कर उसकी चुची के पास ले गया झुक के उसकी बुर के दरार में अपनी जीभ फेरी.

ईज…! कोई… देख लेगा…!मगर मैं कहाँ मानने वाला था, मैंने अब उसकी नंगी योनि को धीरे धीरे उंगलियों से ही रगड़ना शुरू कर दिया जिससे पिंकी कसमसाने लगी और मेरे हाथ को अपने लोवर से बाहर निकालने के लिये छटपटाने सी लगी। अभी तक मेरी उंगलियाँ पिंकी की योनि को ऊपर से ही रगड़ रही थी मगर पिंकी के छटपटाने से मेरी उंगलियाँ योनि की दोनों फांकों के बीच चली गई. बहुत सी मेडिसिन्स ट्राई की, डॉक्टर को भी दिखाया, टीवी पर जितने एड आते हैं सब के सब ट्राई कर के देख लिए लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ!’ वो बड़े उदास स्वर में बोली. वो मेरी तरफ घूमी और फिर से दरवाजे का टेक लगाते हुए बोली- मुझे सलोनी ही सुनना पसंद है और सॉरी की बात नहीं है, अगर तुम वो न करते तो शायद मैं तुम्हारे बारे में न सोचती.

मैंने फिर उससे उसका सूट उतारने को कहा, पहले तो वो मना करती रही पर मेरे ज्यादा कहने पर उसने हाथ ऊपर कर लिया और मैंने उसका सूट उतार दिया.

मैंने भी तेजी से धक्के लगाना चालू रखा और 18-20 धक्कों के बाद मैं भी झड़ गया।अमिता ने बताया उसका पति काम में लगे होने के कारण उसकी चुदाई नहीं करता है और आज कई दिनों बाद वो अच्छे से संतुष्ट हुई है. फिर सोने के लिए रेडी हो गए।फिर मैंने पूछा कि नीलू तुमने बोला नहीं कि मेरी गर्लफ्रेंड बनोगी या नहीं?बोली- ठीक है पर एक शर्त पर. वापस अन्दर रखने हैं। अब सारे मेहमान तो गए इनका यहाँ क्या काम?सुबह से दोपहर हो गई मगर ऐसा कुछ खास नहीं हुआ.

शुरू हो गया गर्लफ्रेंड के संग प्यार का खेल।वो तो पहले से ही मुझसे पटने को राजी थी लेकिन मैंने ही कभी उस पर ध्यान नहीं दिया था। अब मैं उससे रोज मिलता था और रोज उसको प्यार करता था।मेरी गर्लफ्रेंड बहुत प्यारी थी. मैंने उसे मेरा लंड चूसने को बोला और थोड़ी देर में, मेरा लंड फिर खड़ा हो गया और मैंने उसकी अलग-अलग पोस्चर में चुदाई की. ये सब आम बातें हो गईं।अब तो मजाक-मजाक में भाभी और मैं द्विअर्थी शब्दों में भी बातें करने लगे, जैसे कि दूध पीना, आम चूसना।घर पर हमें ज्यादा एकांत नहीं मिल रहा था।ऐसे ही दिन कटते रहे, मैं खुद चाहता था कि सोना भाभी खुद से कोई पहल करें।मेरे तीर चालू थे जैसे कि चैट पर नॉन वेज जोक्स भेजना.

भाभी भी मेरे लंड को अपने चूतड़ों में दबा रही थी।भाभी बोली- राज, मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूँ!और मेरे होंठ चूम लिये.

यह कहानी है मेरी पत्नी की सहेली रजनी की… रजनी को मैं अपनी शादी होने के बाद से ही जानता हूँ क्योंकि वो अक्सर मेरी पत्नी को मिलने आती रहती है. तो वो नीचे बैठ गई और मेरा लोवर उतारकर मेरे लंड को चड्डी के ऊपर से ही पकड़ कर दबाने लगी। मुझे मजा आने लगा.

बीएफ सेक्सी वीडियो बड़ा लंड और लड़के का फर्ज कोई भी जो आपके मन में आये सोच लें… तब कहानी पढ़ेंगे तो आपको कहानी की सच्चाई महसूस होगी!अब सुनिये वो एक औरत थी अन्य धर्म से, उसका मेरी चाची के यहाँ आना जाना अच्छा था! उसकी उम्र यही कोई 20-22 होगी लेकिन उसके बूब्स बिल्कुल कड़क और बड़े साइज़ के थे, गांड भी थोड़ी निकली हुई थी, उनको दो बच्चे भी थे, 3 साल का लड़का और 2 साल की लड़की… दोनों बच्चे बहुत प्यारे थे. मेरा नाम आयुष है, मैं कानपुर का रहने वाला हूँ, दिल्ली में ठेकेदार के पास सुपरवाईजर की नौकरी करता हूँ, मेरी उम्र 21 वर्ष है, वजन 52 किग्रा है और कद 171 सेमी है.

बीएफ सेक्सी वीडियो बड़ा लंड जहाँ मैं जा रहा था, वहीं का पता पूछ रही थी वह… मैंने उसे मुझे फॉलो करने को कहा. उन्होंने मुझे देखते ही गले लगाया, गले लगते ही मेरे सीने से उनके बूब्स टच हुए, मेरा लण्ड तो झटका मार के खड़ा हुआ और वो शायद मौसी ने महसूस कर लिया, थोड़ी स्माइल दी और कहा- आ गया तू? अब टाइम मिला है मौसी से मिलने का?मैंने कहा- मौसी, सॉरी थोड़ा लेट हो गया!उन्होंने मुझसे चाय पानी पूछा और कहा- अब कहीं मत जाना, तुझसे बहुत सारी बातें करनी हैं.

बैडरूम में जाकर उसने अपने सारे कपड़े उतार दिए और पूरा नंगा हो गया, मुझे घोड़ी बना कर पीछे से मेरी चूत चाटने लगा.

देसी सेक्सी पिक्चर नंगी

आते ही रामू काका ने पूछा- कैसी रही रीमा मेम साहब?मैंने पूछा- आपको पता था?वो बोले- अरे मुझे सब का पता है, बड़ी चुदासी है मादरचोद. मैंने कहा- ठीक है…फिर मुझे कुछ अच्छा नहीं लगा, मैं लेटी हुई थी और कब मेरी आँख लग गई पता नहीं चला. मेरी नज़र मैडम के बूब्स पर गई और तभी वो उठने लगी तो मैंने देर ना करते हुए उनके गाल पर एक किस कर लिया तो वो पहले थोड़ा सा शरमाई, फिर हंसकर मेरे होंठों को चूमने लगी और अब मैडम सोफे पर एकदम सीधा होकर मेरे ऊपर लेट गई.

वो फिर से गर्म हो गई थी…यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!उसके बाद उसने कहा- अब तड़पाओ नहीं और अपना लंड अंदर डाल दो… लेकिन आराम से करना, मेरा पहली बार है…मेरा भी पहली बार था इसीलिए मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा था… मैंने अपना लंड सेट किया और अंदर धकेल दिया लेकिन वो फिसल गया. वो बोली- आज ये बिल्ली भूखी है, मलाई चटनी है इसको!मैंने अपने कपड़े उतार दिए. इन तीनों से चुदाई करवाती हैं। ज़्यादातर गाँव का वो भगत ही मेरी माँ की चुदाई करता है। मुझे थोड़ा शक हुआ तो मैंने थोड़ा माँ पर नजर रखी.

सक्षम कुंवारा है और पुणे में जॉब करने के लिये आया है। लगभग उसको दो महीने हो गये थे उस रूम में रहते हुए और आसपास रहने वालों से उसकी दोस्ती हो गई थी और इसी तरह से उसके दिन व्यतीत हो रहे थे.

उसके बाद मैंने उसकी टांगों को थोड़ा चौड़ा किया और मेरा लंड उसकी चूत के छेद पर ले गया. मैं अन्तर्वासना चुदाई स्टोरी का नियमित पाठक हूँ, यहाँ पर चुदाई स्टोरी पढ़ने पर मेरी भी मेरे साथ हुई एक घटना को लिखने की इच्छा हुई जो मैं आपके बता रहा हूँ. मैंने उसे पहली बार देखा, उसने टाईट स्लीवलेस टीशर्ट और काली जींस पहनी थी। टी शर्ट में से उसकी काली ब्रा की पट्टी बाहर दिख रही थी.

जब चाची ने पूछा कि कहाँ थे तो मैं बोला- कैस और जुबिया को पढ़ाने भाभीजी ने बुलाया था!आपको मेरी कहानी कैसी लगी मुझे[emailprotected]इस पर mail करें!कुमार सोनू साई की सभी कहानियाँ. पहले तो मैंने उसकी साड़ी निकाली, ब्लाऊज उतारा, अब मैं उसकी चूची को ब्रा के ऊपर से चूस रहा था और उसके कूल्हों पर हाथ फेर रहा था. फिर मैंने हिम्मत को कॉन्फ्रेंस में लेकर दुबारा कॉल किया तो फिर बिमलेश- हेल्लो कौन?राजेश- मैं राजेश, आपने फोन क्यों काट दिया? मैं आपसे दोस्ती करना चाहता हूँ।बिमलेश- देखिये, आपको कोई गलतफहमी हुई है, मैं एक शादीशुदा औरत हूँ और मुझे आपसे कोई दोस्ती नहीं करनी!और फिर से फोन काट दिया।मैंने फिर फोन किया.

वो मैं बाद में बताऊँगा।फिर हम दोनों शाम का इंतजार करने लगे। दीदी ने सुनील को फोन करके सब प्लान बता दिया. सुहाना निढाल सी पड़ी हुई थी उसने अपने दोनों हाथों को ढीला छोड़ दिया था, मैं धक्के पे धक्का पेले पड़ा था और सुहाना अपनी आँखें बन्द किये हुये थी.

थोड़ी देर में हम रूम पर पहुँच गए, कमरे पर पहुँचते ही वो मुझ पर टूट पड़ी तो मैंने उसे रोका- आराम से करो, आज अच्छे से चोदूंगा तुमको!पहले हमने कुछ खाया पिया और फिर मैंने उसे किस करना शुरू कर दिया खड़े खड़े ही!निकी पहले से ही बहुत गर्म थी, मैं उसको किस करने के साथ धीरे धीरे उसकी चुची भी सहला रहा था और नाभि को सहला रहा था. पर वो फिर फोन करके बोला- मुझसे दोस्ती करना चाहता है, मेरे साथ बातें करना चाहता है. फिर हम उठकर बाथरूम में चले गये, मैडम ने पेशाब किया और मैं उन्हें देख रहा था, मैंने अब पेशाब करते हुए ही उनकी चूत में अपनी एक उंगली को डाल दिया, जिसकी वजह से मैडम उछल पड़ी और हम हम दोनों हँसने लगे.

’ बोला तो दूसरी तरफ से एक लेडीज आवाज़ आई- रोमी?मैंने ‘हाँ’ बोल दिया।बाद में वो बोलीं- मैं रोज़ी भाभी हूँ.

मैंने उसे ऐसा करने से उसे रोका और अपनी चूत से उसकी उंगली निकाल कर थोड़ा सा पीछे हट गई।मैंने उसको कहा- अब मैं तुमको साबुन लगाऊँगी, तुम खड़े रहना चुपचाप!फिर मैंने उसकी पीठ पर साबुन लगाया, पीठ से कमर, जांघ, पैरों तक साबुन लगाया, फिर उसका चेहरा अपनी तरफ करके उसके सीने पर साबुन लगाया. उम्म्ह… अहह… हय… याह… वो आसामान में उड़ने लगा। अभी कोई 2 मिनट भी नहीं हुए होंगे कि उसके लंड की नसें फूलने लगीं।यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!राजू- आह. ’मेरे लंड ने गरम लावा उगल दिया और वो मेरे माल की एक-एक बूंद को चाट गया।‘यार आज मजा आ गया.

शादी से पहले तीन चार बार और शादी के बाद भी दस बारह बार इससे ज्यादा नहीं, रानी भाभी से ज्यादा तो मैं कुंवारे में ही आपसे चुद चुकी हूँ पच्चीस तीस बार!’ वो इठला के बोली. भाभी ने अपनी गांड के ऊपर वाले हिस्से पर मेरे हाथ रख कर दबाते हुए बोला- यहाँ से शुरू कर और सारे बदन की मालिश कर दे.

अब मैंने उसको बोला- घुटनों के बल बैठ जाओ, मैं तुम्हारे बूब्स चोदूँगा. मेरे जैसे मस्त, गांड की चुदाई के शौकीन मेरे गांडू दोस्तों को मेरा सलाम गे सेक्स स्टोरीज के प्रेमी लौंडेबाज दोस्तों को मेरी कुलबुलाती गांड. यह हिंदी सेक्स स्टोरी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!पहले तो वो दिखावटी मना कर रही थी पर फिर वो सहयोग देने लगी.

हॉट ऑंटी सेक्सी

मगर आज तो कोई नहीं इसलिए खुल कर चुदाई हो गई। रोज थोड़े ऐसा हो सकेगा.

उसने अपना पजामा नीचे कर लिया और मेरे ऊपर लेट गया, उसका लंड मेरी चुत के ऊपर था!फिर वरुण अपना लंड मेरी चुत के ऊपर रगड़ रहा था और मेरे मोम्मे मुंह में लेकर चूस रहा था!कुछ देर मेरे मोम्मे चूसने के बाद वरुण ने मेरे कान में धीरे से कहा- भाभी अब तो आँखें खोल लो. मैं बहुत डर रही थी कुछ समझ नहीं आ रहा था कि क्या हो रहा है और क्या होने वाला था. बाद में ‘हाँ’ बोल दिया।मेरी तो किस्मत ही खुल गई। कुछ देर में दस्तक होने पर मैंने दरवाजा खोला तो भाभी रेशमी गाउन में सामने खड़ी थीं।आज वो दिन था.

मैं समझ गया कि रास्ता साफ़ है, मैंने उनके चूतड़ को चूमना और चाटना शुरू किया. यह सेक्स कहानी है चार दोस्तों की… उनकी जवानी में किये मजों की…साहिल, रजत, कृष्णा और वासुदेव यानि मैं… सभी की शादियाँ हो चुकी हैं और हर कोई अपने में व्यस्त है. सनी लियोन फुल सेक्सी फोटोसचिन ने अगले राऊंड में मेरी चुदाई काफी देर तक की जिसमें मैं 2 बार झर चुकी थी.

उस दिन ठंड भी ज्यादा थी, हम रूम में गये, उसको मैंने पहले पानी पीने को दिया. अब हम किस कर रहे थे और मैं एक हाथ से मैडम का एक बूब्स बहुत ज़ोर से दबा रहा था, मैं मैडम की गर्दन को चूम रहा था और साथ ही एक बूब्स को दबा भी रहा था और जिसकी वजह से मैडम उह्ह्ह्ह ऑश आहह अफफफफफ छोटू अह्ह्ह्ह की आवाज़ निकाल रही थी.

ये तीन लोगों, दो पुरुष+एक स्त्री द्वारा सामूहिक चुदाई की सबसे प्रचलित शैली है. क्योंकि सनडे को छुट्टी रहेगी तो आराम भी हो जाएगा और बिना कंडोम के सेक्स नहीं करने देना वरना प्रेग्नेंट हो सकती हो। फिर मंडे को तुम स्कूल नहीं आओगी तो मैं समझ जाऊंगी कि तुमने भी वो ख़ुशी हासिल कर ली है जो मुझे मिल रही है. ‘हाँ… रोहिणी तुम्हारी बहुत तारीफ कर रही थी और फिर मीटिंग रूम में तुम्हें देखने के बाद और जो तुमने मेरे साथ किया, बस मुझे तुम्हें पास से देखने की इच्छा हुई तो मैंने तुम्हें बुला लिया.

5 साल पहले की बात है, वो दूसरी शादी करके एक नई आंटी को ले आए। सच बताऊं दोस्तो, पहले दिन से ही में उस नई आंटी का दीवाना हो गया। क्या रंग था. मैं परीक्षित को धन्यवाद करती हूँ कि उन्होंने मेरी चोदन कथा को लिखने में मेरी मदद की. उन्होंने मुझे एक कुर्सी पर बैठा दिया और फिर मेरी टीशर्ट और जीन्स उतार कर बैठने को कहा.

जो जाकर उसकी चुचियों पर गिरी और नीचे ढलकने लगी।मेरा लंड शांत हो रहा था फिर भी वो तेज़ी से मुठ मारे जा रही थी।मैंने अपने लंड को उसके चंगुल से आज़ाद किया और वो बाथरूम की तरफ जाने लगी.

सुन्दर ने लंड चूत से बाहर निकाला और वह मुझे उल्टा करने लगा, मुझे लगा की वो मुझे घोड़ी बना कर चोदना चाहता होगा. इसलिए उसने आगे बात करना ठीक नहीं समझा और चुपचाप कपड़े पहन कर बिस्तर पर लेट गई।संजय- क्या हुआ मेरी जान क्या मुझसे नाराज़ हो गई?पूजा- नहीं मामू आपसे कैसे नाराज़ हो सकती हूँ.

उन्होंने मुझे एक और राऊंड के लिए पूछा तो मैंने भी हाँ कर दी और एक राउंड और चुदाई का खेल लिया. 30 बजे किस करके जगाया दादी माँ बाथरूम में गई हुई थीं। तो मैंने नीनू को पकड़ लिया और बिस्तर पर खींच लिया।वो बोली- भैया स्कूल ड्रेस खराब हो जाएगी प्लीज़ मुझे अभी स्कूल जाना है।मैं खड़ा हो गया और उसको रसोई में ले गया. वो बड़ी निश्चिंत सी होकर बेड पे लेट गई- अब जितनी जान है तेरे मे, पूरी जान लगा दे, जब तक मैं न कहूँ, तू रुकना मत और झड़ना मत.

खीरा अभी भी सुल्लू रानी की गांड में था हालाँकि रीना के छोड़ देने के कारण अपने आप ही गांड से फिसल के आधा बाहर निकल गया था. भाभी तो एक्सपर्ट थी, वो ज़मीन पर लेट गई, मैं भी उनके चूत के सामने अपना खड़ा लंड लेकर लेट गया, मैंने भाभी की ब्रा को खींच कर हुक तोड़ कर निकाला, पेंटी को उतारा. मैंने फिर उसके जिस्म की तारीफ की और उससे बेतहाशा चूमने लगा, उसने भी मेरा पूरा साथ दिया.

बीएफ सेक्सी वीडियो बड़ा लंड फिर 4-5 दिन बाद सुबह 11 बजे अचानक आंटी ऊपर आई तो अचानक आंटी को ऊपर देख कर मैं हड़बड़ा गया, मैंने आंटी को रूम में आने को कहा तो वो आ गई. फिर उन्होंने मुझे लंड मुँह में डाल के चूसने को कहा तो मैंने मना कर दिया पर फिर फीस की याद आने के कारण मैंने लंड मुँह में ले लिया.

इंडियन औरत की सेक्सी

चाची कुरसी से उठ कर मेरे पास सोफे पर आ कर बैठ गई और मेरे जांघ पर हाथ रख कर बोली की- कोई बात नहीं बेटा, अगर तू नहीं करता तो मैं किसी से चुदवा लेती. जैसे ही उसका कुर्ता उतरा, उसने अपने पैर एक के ऊपर एक रख के कस कर भींच लिए जैसे अपनी लाज के अंतिम आवरण को बचाये रखना चाहती हो. हम दोनों झड़ चुके थे और कुछ ही क्षणों में एक दूसरे से अलग हुए और बाथरूम में जाकर अपने आप को साफ़ किया.

थोड़ी देर इसी पोजीशन में चुदाई करने के पश्चात् हमने पोज़ बदला और नताशा मेरी तरफ कमर करके मेरे लंड को अपनी गांड में लिये मेरी जांघों पर बैठ गई और राजू बिस्तर पर सीधा खड़ा होकर बाएँ हाथ से अपना तूफानी लंड पकड़े नताशा के अधखुले मुंह को चोदने लगा. फिर लड़की की चूत का क्लोजअप दिखता है और वो आदमी उस किशोरी का भगान्कुर अपने दांतों से धीरे धीरे कुतरने लगता है और चूत के उस हिस्से को होठों में दबा के चूसने लगता है. मर्द मर्द की सेक्सी वीडियो! मैं पानी लाऊं?’वो रोहन था, आज तक वो मुझसे अच्छे से बात नहीं कर पाया था, पर आज उसने मुझसे बात करने की हिम्मत कहाँ से जुटाई मैं नहीं जानती पर उसका ये पूछना मुझे अच्छा लगा। मैंने उसे कहा.

सुल्लू रानी के गर्म और लार से तर मुंह में मैं लंड को तुनके पे तुनका देने लगा.

पूरे रूम में फचफच की आवाज गूंज रही थी।मूवी में अब लड़की टीचर के लण्ड से उतर कर एक बार लण्ड चूस कर टीचर की टांगों की तरफ मुँह करके लण्ड पर बैठ कर हाथ पीछे टीचर के सीने पर रख कर उछल उछल कर चुदने लगी और टीचर उसके बूब्स दबाने लगा।बिमलेश ने लड़की की तरह ही योगीराज से उतर कर उसको चाटा, चूसा और फिर मेरे योगीराज पर टांगों की तरफ मुंह करके सवार हो गई और चुदने लगी. रेखा रानी की भी चूत में सुरसुरी हुई कि उसकी हरामज़दगी की कहानी छपेगी तो वो फ़ौरन मान गई.

यह हिंदी चुत चुदाई की कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!जैसे ही मैंने उसकी चूत पर किस किया, उसकी सिसकी ओर तेज होने लगी, मैं उसे किस किए जा रहा था, थोड़ी देर बाद उसकी चूत बिल्कुल गीली हो गई. रूबी तो दौड़ कर विवेक के स्कूटर पर उससे चिपट कर बैठ गई और विवेक ने अपनी जेट स्की दौड़ा दी. उनके निप्पल को हल्के से दांतों में दबाकर खींचा तो उनकी तेज चीख निकल गई.

चल रानी घूम जा और मुझे भी तेरी चुत का रस पीने दे।अब दोनों 69 के पोज़ में हो गए और एक-दूसरे का रस चाटने लगे। दस मिनट तक ये चुसाई चलती रही उसके बाद काका सीधे होकर लेट गए और मोना को समझते देर ना लगी कि काका क्या चाहते हैं।मोना सीधे जाकर काका के खड़े लंड पर अपनी चुत सैट करके बैठ गई और धीरे-धीरे ऊपर-नीचे होने लगी।काका- आह.

अगर यकीन नहीं तो इस बार कोई मिले तो तू उसकी तरफ देखकर मुस्कुरा देना. लेकिन स्वान ने लंड बाहर नहीं निकाला और वो खुद भी उसके ऊपर गिरते हुए चुदाई करने में लगा रहा. मैं हो गई धर्म भ्रष्ट… बन गई राजे बाबू की रखैल… पर कितना आनन्द मिला इस बदचलनी में! राजे बाबू ने बहुत मज़ा दिया… तू बहुत बढ़िया चोदू है… जल्दी खलास भी नहीं होता… तेरे वीर्य का स्वाद कितना मदमस्त है… आज तो राजे तूने मुझे खुश कर दिया… कब से प्यासी मरी जा रही थी… मेरी बरसों की तपस्या आज सफल हुई.

सेक्सी पिक्चर की पिक्चरफिर दीपक ने तुरंत फ़ोन किया और बोलने लगा- ऐसा मत करो, मैं तुमसे नहीं मिलूंगा पर बात करना मत बन्द करो!कुछ देर बाद दीपक को मैंने बता दिया- ऐसा कुछ नहीं हुआ है, मैं तुमसे मजाक कर रही थी. com/chudai-kahani/dosti-lund-ki-pyasi-roshni-1/लंड की प्यासी थी वो पूरे लंड को ऊपर-नीचे करके चूस रही थी.

सेक्सी चुदाई चालू करो

थोड़ी सिकाई हो जाएगी।मैंने वही किया और थोड़ी देर बाद हम दोनों सामान्य हो कर नहा कर कमरे में आकर लेट गए। लेटते ही कब सो गए. इतना सब देखने के बाद मेरा सिर पूरा चकरा रहा था और चुत में भी आग लगी हुई थी। मैंने झट से चुत में फिंगरिंग की और सो गई।उसके बाद मैं सुबह उठी और भाई को बेड-टी देने गई। वो अभी अभी सोया हुआ था। उसने केवल लुंगी बाँधी हुई थी।मैंने उसको आवाज़ दी- चिंटू उठ जा. !!मैंने उसकी उन यादों को बड़ी हिफाजत से छुपा कर रखा था।कहानी जारी रहेगी.

मैंने ऐसा जताते हुए दूसरा गिलास भी खाली कर दिया था, मुझे नशा हो गया था।मैंने चन्दन की तरफ सवालिया निगाह से देखा तो चंदन ने मुझे बताया कि पेप्सी में उसने शराब मिला दी थी।मैं मुस्कुरा दी. उस महिला ने मुझे मेरे बारे में थोड़ी और जानकारी बताई, तब मुझे लगा कि यह अवश्य ही कोई परिचित महिला है, पर कौन हो सकती है, यही मैं समझ नहीं पा रहा था. 2 इंच का लंड अपने हाथ लिया और अपनी रसीली चुत के ऊपर घिसना चालू कर दिया.

सुमन- ठीक है दीदी मगर कुछ होगा तो नहीं ना?टीना- कुछ नहीं होगा तुझे वो वीडियो याद है ना. शायद बताने की जरूरत नहीं।कुल मिला कर मैं आते-जाते सभी लोगों के लिए आकर्षण का केन्द्र थी। सबसे पहले हमने एक ऑटो रोका और उसमें बैठ गये, सर हमें रास्ता बताते हुए अपनी बाईक पर आगे-आगे चल रहे थे। पापा ने आटो में सर की तारीफ की- अच्छा इंसान है. तभी संजय ने कहा- सबा रंडी… अपने कपड़े उतारो, आज तुम्हें असली चुदाई का मज़ा मिलने वाला है!मुझे शर्म आ रही थी.

लेकिन उस दिन भी मैंने उसकी यूज्ड ब्रा-पेंटी को टच नहीं किया।मैं तो ये सोचते बहुत खुश था कि मेरी सिस्टर भी मुझसे सेक्स करना चाहती है। ऐसा सोच कर मैंने मुठ मार कर खुद को शांत कर लिया।शनिवार की शाम को भी नीनू मुझे निराश दिखी. रेखा रानी की भी चूत में सुरसुरी हुई कि उसकी हरामज़दगी की कहानी छपेगी तो वो फ़ौरन मान गई.

’मैं भाभी को दे दनादन चोद रहा था और भाभी भी नीचे से गांड उठा कर मेरे लंड से युद्ध कर रही थीं.

‘आआआ… ओओओ… हाँआआ… ऐसे! हाँ ऐसे मारो धक्के… और जोर से!’ मेरी पतिव्रता बीवी अपने हाथों को पीछे की ओर ले जाकर स्वान के लंड को अपनी गांड में घुसवाने में मदद करने लगी और अपनी बारीक़ आवाज में उसे और जोरों से धक्के लगाने की प्रार्थना करते हुए हम सभी को उत्तेजना के चरम पर ले गई. देसी सेक्सी नंगा डांसअगर मैं आपको प्रेग्नेंट कर दूँगा तो भैया को पता चल जाएगा कि आपका किसी से अवैध संबंध है।तब भाभी ने जो कुछ कहा उसे सुनकर मेरे होश उड़ गए।भाभी ने बताया कि बरामदे में साड़ी चेंज करने का आइडिया तुम्हारे भैया का था। उन्होंने ही ये सब प्लान बनाया था. सेक्सी कुत्ते और लड़कीलेकिन मैं आपको जानती हूँ?मुझे लगा पता नहीं कौन सी लड़की है, मैंने पूछा- आप कौन हैं?बहुत देर तक भाभी नाटक करती रहीं, उसके बाद उन्होंने बताया कि मैं भाभी हूँ. चल अब तू जल्दी तो उठ ही गई है तो मॉंटी के साथ तू भी नाश्ता कर ले फिर तेरी फ्रेंड आ जाएगी।टीना ने हामी की.

! अब क्या हुआ?उसने मुझे गौर से देखा और मुंह बनाते हुए कहा- अनजान मत बनो दीदी! आपने ही उसे सबके सामने तमाचा मारा था, और कभी सॉरी भी नहीं कहा! और तो और, उस समय क्या हुआ था ये भी जानने की कोशिश नहीं की।तो मैं चिढ़ गई- और क्या जानने की जरूरत है.

सुल्लू रानी ने अपने को थोड़ा और आगे सरकाया, उसका मुंह बिल्कुल मेरे मुंह पर आ गया. मैंने विरोध किया और बोली- मैं फ्रेश होने जा रही हूँ, 10 मिनट में मैं नहा कर निकलती हूँ।साहिल बोले- ना… अभी तुमने वादा किया था कि तुम मेरी नजरों से एक पल के लिये भी ओझल नहीं होगी!मैंने उनके गालों को प्यार से थपथपाते हुए और चुम्बन लेते हुए कहा- जानू, मैं केवल 10 मिनट में बाहर आ जाऊंगी. मुझे कुछ पाठकों ने मेरे और अनुभवों को लिखने की गुज़ारिश की तो इस कहानी में मेरा रीना से मिलने के पूर्व अनुभव को बता रहा हूँ कि कैसे मैंने एक भाभी की चुदाई की थी उसके घर जाकर!मेरा नाम विक्रम है, जयपुर में रहता हूँ.

उसका लंड भी संजय के जितना था, थोड़ा सा दर्द हुआ लेकिन मैंने सहते हुए पूरा लंड अपनी चूत में ले लिया जो सीधे जाकर मेरी बच्चेदानी में लगा. चूसने में बड़ा मजा आ रहा था। मैंने अपनी जीभ को कमला के मुँह में अन्दर तक डाल-डाल कर उसकी जीभ चूसी और उसके मुँह को करीब दस मिनट तक चूसता रहा।हम दोनों ने एक-दूसरे के होंठों को भी खूब चूमा. अब मैं बाजार में तो जा नहीं सकता इसके लिए… आखिर हमारी भी कुछ बायोलॉजिकल नीड्स हैं.

सेक्सी 16 साल की लड़कियों की

मुझे उस ब्रेसलेट में रोहन नजर आ रहा था, अब मुझे रोहन के साथ बिताई हर बात याद आने लगी और यादें मुझे तड़पाने लगी, मैं रोहन के पास जाना चाहती थी… मैं अभी जाना चाहती था, मैं पल में उसके पास पहुंच जाना चाहती थी, पर घर की चौखट पर ही मेरे पाँव ठिठक गये. अचानक मेरी नज़र दरवाजे पर पड़ी और सामने मैंने सोनाली को दरवाजे के पास देखा, वो दरवाजे के बिल्कुल पास आ चुकी थी. ससुर बहू की चुदाई पर आप अपने मेल भेजें![emailprotected]कहानी जारी है।.

अम्मा ने बालक को मेरी ओर बढ़ाते हुए बोली- लो साहिब, यह है आप के लगाये हुए बीज की उपज.

’मैंने ऊपर नीचे होना शुरू किया, वो नया कुछ भी नहीं कर रहा था, फिर मैंने उसके छाती पे हाथ रखकर स्पीड बढ़ाई और उसने मेरे स्तनों को कस से पकड़ा और नीचे से धक्के देना शुरू कर दिया.

मुझे कुछ पाठकों ने मेरे और अनुभवों को लिखने की गुज़ारिश की तो इस कहानी में मेरा रीना से मिलने के पूर्व अनुभव को बता रहा हूँ कि कैसे मैंने एक भाभी की चुदाई की थी उसके घर जाकर!मेरा नाम विक्रम है, जयपुर में रहता हूँ. इसलिए वो अक्सर अपने बिज़नस टूर की वजह से काफी काफी दिनों तक बाहर भी रहते हैं. ब्लू फिल्म सेक्सी सेक्सी सेक्सअब काजल ने मुझे नंगा करना शुरू किया और पूरे बदन को गौर से निहारने लगी.

फिर उसने पूछा- आप किस की तरफ से?‘मैं भी दूल्हे की भाभी…’फिर उसने अपना नाम अजय बताया और पूछा- आप किस के साथ आई हो?मैंने कहा- मैं अपने पति के साथ आई हूं. ए में एडमिशन लिया था लेकिन अभी उसकी क्लासेज शुरू नहीं हुई थी, वो जालंधर की थी और यहाँ पढ़ाई के लिए आई थी।फिर उन्होंने मेरा परिचय पूछा तो मैंने अपने परिचय में यह बताया कि मैं ग्रेजुएट हूँ और नौकरी ढूंढ रहा हूँ और इसी सिलसिले में चंडीगढ़ आया था पर यहाँ मुझे कोई और जानता नहीं। बातों बातों में जब मैंने यह बताया कि मैंने पंजाब पुलिस में ए. बाइक अंधेरी सड़क पर दौड़ती जा रही थी और संदीप के लंड में तूफान उछाले मार रहा था.

वो सोच कर उसके होंठों पे एक मुस्कान आ गई।दोस्तो, शाम तक ऐसा कुछ नहीं हुआ. ‘अय्य… याह… आईईईई ईईईई, ऊऊऊ युयुयु ऊऊऊयू हाआआ अहा हह औय्या शहस हेहः ओह आह आहः किशोर र र र बहुत दर्द हो रहा है.

मुझे वो बोली- मुठ मार मार के कितना मोटा किया हुआ है तूने इस लंड को!मैं हंसा और कहा- देखता हूँ आज तू इसे और कितना मोटा करती है?ग़ज़ब का मज़ा आ रहा था.

इधर मेरे भी लंड में तनाव पैदा होने लगा था और मेरे टट्टे सिकुड़ने लगे थे. अब जेसिका सेंडल निकाल कर घुटनों के बल बैठकर मेरे लंड को देखकर ‘आअह्ह्ह्ह्ह…’ बोलकर मेरी तरफ मुस्कुरा कर देखने लगी और फिर तुरन्त ही लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी, पहले तो उसने टोपे पर हल्के हल्के से जीभ फिराई, उसके बाद पूरे लंड को मुँह में लेकर अंदर बाहर करने लगी. वो बोली- मैं सब समझती हूँ कि किधर और कैसी नजर है तुम्हारी!मैं और घबरा गया और बोला- सॉरी भाभी, आगे से ऐसा नहीं होगा!वो बोली- आगे से नहीं होगा का क्या मतलब है? क्या मैं सेक्सी नहीं हूँ?यह सुन कर मैं समझ गया कि भाभी को चुदवाने की इच्छा है.

सेक्सी पिक्चर वीडियो चुदाई सेक्सी फिर मैंने उसे बाहों में उठा लिया और बेडरूम में लेजाकर बिस्तर पर लिटा दिया और उसके ऊपर मैं चढ़ गया और उसके होंठ अपने होठों की गिरफ्त में ले लिये. फिर लड़की की चूत का क्लोजअप दिखता है और वो आदमी उस किशोरी का भगान्कुर अपने दांतों से धीरे धीरे कुतरने लगता है और चूत के उस हिस्से को होठों में दबा के चूसने लगता है.

अंदर छेड़ा छाड़ी पूरे जोरों पर थी, चारों ओर अँधेरा था, हल्का म्यूजिक चल रहा था. यह हिंदी सेक्सी कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!मैंने उसकी चूत में एक उंगली डाली और हिलाने लगा. पर तुम तो इतने कूल हो?मैंने हंस कर कहा- अरे यार ऐसे कुछ भी नहीं है.

सेक्सी वीडियो सुहाग वाला

मोना सुधीर की तलाश में बांद्रा पहुँच गई मगर वहाँ उसे पता लगा कि सुधीर 2 दिन के लिए कहीं बाहर गया हुआ है. तो सोना भाभी ने धीरे से ब्रेक लगाकर जैसे मुझे और किस की अनुमति दे दी। मेरा दिमाग घूम गया. वहाँ तुम भी रेस्ट कर लो।फ्लॉरा- हाँ, मेरी पीठ में दर्द हो रहा है।संजय- अरे ऐसी बात है तो चलो इसका इलाज मेरे पास है.

जल्दी जल्दी मैंने कपड़े पहने फिर अपने घर आने लगा तो वो बोली- जरा रुक ना… आज तूने मुझे इतना चोदा और मेरी चूची रगड़ा कि मेरी चूची मेरी ब्रा में नहीं आ रही हैं, ज़रा पीछे से हुक लगा दो!मैंने उसकी हुक लगाई और उसके होंटों पे एक पप्पी ली तो उसने कहा- अब मत ले पप्पी… नहीं तो तुझे यहाँ और रुकना पड़ेगा. और मैं बाथरूम में चला गया लेकिन मैंने बाथरूम का दरवाजा नहीं बंद किया क्योंकि मुझे मालूम था कि लोहा गर्म है तो आज कुछ ना कुछ नया होने वाला था!मैं टायलेट में बैठा ही था (इंडियन स्टाईल) कि सुजाता की आवाज आई- सर चाय रेडी हो रही है!और उसने दरवाजा खोलने की कोशिश की तो दरवाजा खुल गया.

जैसे ही जूसी के उठने से जगह खाली हुई तो राजे ने अपनी हथेलियाँ मेरे मम्मों पर जमा दीं और ज़ोरों से आगे पीछे आगे पीछे करते हुए मसलने लगा.

उस दिन से आज तक हमारा रिलेशन है, उसको चोदते हुए मुझे तीन साल हो गए हैं, अब वो काफी जवान हो गई है, बहुत मज़ा देती है।दोस्तो, आपको मेरी ये कहानी कैसे लगी जरूर लिखना[emailprotected]. मैंने कहा- मगर वो तो मुझसे भी बहुत बड़ी है, मैं तो अभी 21 का हूँ, और ये तो 40 के आस पास होगी. वो हमारे लिए हमेशा कुछ न कुछ लाते रहते थे, खिलौनें देकर वो अक्सर हमें बाहर खेलने भेज देते थे और घर में वो दोनों अकेले क्या करते थे, ये तो हमें तब नहीं समझ आता था, पर जैसे जैसे समझ आई, हम दोनों ने चचा और अम्मी पर नजर रखना शुरू किया.

और सुबह दादी माँ की निगाह बचा कर कहीं भी उसे चोद देता हूँ।मुझे अपनी इस बहन की बुर चुदाई की कहानी पर आपके मेल का इन्तजार रहेगा।[emailprotected]. उनकी गर्म गर्म उंगली मेरी चूत को बड़ी उत्तेजना देने लगी, ख़ासकर जब जीजू उसे दिवारों में रगड़ते तो… जीजू ने मुझे अंदर से जैसे की भिगो डाला था और मैं जैसे पिघलने लगी थी. मेरा लंड अधिकतम समय चुपचाप गांड में पड़ा रहता, और राजू का लंड सारी कसर निकालते हुए, बार्बी डॉल की गांड का भुरकस निकाल रहा था.

एक बार ऋषिका भी आई तो उसे निष्ठा और रयान के पेरेंट्स ने बहुत प्यार दिया.

बीएफ सेक्सी वीडियो बड़ा लंड: मैंने सुल्लू रानी के केश जकड़ लिए और भींच के साली का मुंह अपने लौड़े की जड़ तक सटा दिया. उसके बाद हम दोनों पब गये, वहाँ के माहौल का भी मजा लिया, हम दोनों ने खूब डांस भी किया और बियर का भी मजा लिया।जिन्दगी में पहली बार मैंने बीयर पी थी।खाना वगैरह खाकर हम लोग फिर होटल पहुंचे तो साहिल बिस्तर पर एक किनारे लेट गये.

मगर वो इसे अपनी गांड हिला कर मना कर देती।मैंने पूछा तो बोली- ये फिर कभी आज सिर्फ़ मेरी चुत की प्यास बुझाओ।मैं उसकी चुत की जमकर चुदाई कर रहा था लेकिन मेरा लंड था कि झड़ने का नाम ना ले रहा था और उसकी चुत मेरे लंड का पानी पीने को बेकरार हो रही थी। मैंने उसकी गांड पर धक्के तेज़ करते हुए उसकी चुत में पानी डालने को अपने लंड को राज़ी करने लगा।तेजी से ‘चाभ चाभ. मैंने कहा ना शुरू में सब गंदा लगता है, मगर बाद में बहुत मज़ा आता है। इसे सेक्स नहीं फोरप्ले कहते हैं. कुशल ने तुरंत ही पलट कर फोन किया, वो घबरा कर बोला- क्या हो गया?निष्ठा बोली- नींद नहीं आ रही.

रगड़ दे साली गांड को ढीली करके फेंक दे, लंड के लिए बहुत मचलती है।वह बोला- यह भी नहीं कर सकता, अगर तू खुद तैयार न होता तो तेरी गांड में लंड पेलना मुश्किल है। जब तू गांड सिकोड़ता है तो लगता है लंड कट जाएगा। बहुत ताकत है.

तो हम लोगों के सामने एक गंभीर समस्या आ गई थी कि कैसे पूजा और अग्रवाल भाई बहन होते हुए सेक्स कर सकते हैं तो जैसे ही आप लोगों के सुझाव को ध्यान रखते हुए मिस पूजा गोयल ने अपने भाई के सामने एक शर्त रखी- आप मेरे भाई हैं लेकिन मैं आपके साथ बेइंसाफी नहीं कर सकती हूँ कि आप मुझे ना छुएं! मैं घर पर आपकी बहन हूँ, लेकिन यहाँ आप चाहो तो मुझे आप अपनी वाइफ भी बना सकते हो! लेकिन घर पर मैं आपकी बहन ही रहूँगी. और उसके चूचे चूसने लगा।दोनों के अन्दर सेक्स की इतनी ज़्यादा भूख और गर्मी थी कि वातानुकूलित कमरा होने के बावजूद हमारे पसीने निकल रहे थे।यह चूत में लन्ड की कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!जैसे ही मैंने पहला तेज़ झटका मारा. मैं झड़ने वाली हूँ।मैं भी झड़ने वाला था तो मैंने जोर-जोर से धक्के मारना चालू किए और थोड़ी देर बाद मेरे वीर्य की पिचकारियां उसकी चुत में गिरने लगी और उसी वक़्त वो भी झड़ गई।हमने एक-दूसरे को कस के पकड़ा हुआ था और कुछ पल की अकड़न के बाद हम दोनों एक-दूसरे किस करने लगे।थोड़ी देर बाद मैं फिर से उसके चूचे दबाने लगा.