जैसे बीएफ

छवि स्रोत,हिंदी वीडियो दिखाएं बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी बीएफ चोदा बीएफ: जैसे बीएफ, उस दिन हमारे बीच में कुछ इधर-उधर की बातें हुईं और फिर मैंने कहा कि अच्छा अब सोना चाहिए.

देहाती बीएफ जंगली

सरिता चाची बोलीं- तुम दोनों तो एक नम्बर की चुदक्कड़ औरतें हो … तुम दोनों को तो बस नए नए लंड चाहिए … चाहे वह जानवर का ही क्यों न हो. हिंदी बीएफ नई मूवीमैं बोला- मॉम, अब चिंता की कोई बात नहीं है, मैं खुश कर दूंगा आपको!मॉम बोली- हां बेटे, अब मेरी जिंदगी में वापस खुशियाँ गई हैं.

वो कई बार ऑफिस से आते हुए मेरे पति के साथ हमारे घर पर भी आ जाता था. करीना कपूर के बीएफ फोटोइस तरह हम दोनों ने बारी बारी अलग अलग पोज़ में अंजना को 40 मिनट तक चोदा.

फिर मैंने भैया से भाभी का पूछा, तो उन्होंने नशे में लड़खड़ाती आवाज में आंख मारते हुए बोला- तेरी भाभी किचन में हैं, जा जरा ढंग से पोत देना.जैसे बीएफ: वो बोली- इसीलिये तुम अपने पापा और मुझे रात को सेक्स करते हुए देखते हो?मैंने कहा- मम्मी, प्लीज आप पापा को इस बारे में कुछ मत कहना.

अब म्यूजिक सिस्टम ऑन करने के बाद प्रिया भी वापस आकर हमारे साथ कोल्ड ड्रिंक पीने लगी.वहां सोने के लिए जगह ही नहीं है … इसलिए मैं सोने के लिए यहां आ गयी.

रोमांस वीडियो बीएफ - जैसे बीएफ

मैंने उसके लंड को अपने हाथ में लेकर उसके लंड की मुठ मारना शुरू कर दिया.जिससे उसे सांस लेने में भी दिक्कत हुई।मगर मैंने उसके बदन को मसलना, नोचना नहीं छोड़ा.

हमारी गर्लफ्रेंड सेक्स नहीं करने दी थी इसलिए हमारा बहुत मन है चूत को चाटने का. जैसे बीएफ हर लड़की किसी की बेटी और किसी की बहन तो होती ही है मगर सेक्स में तो हर लड़की को रंडी की तरह बनना ही पड़ता है तभी उसे भी सुख मिलता है और आदमी को भी मज़ा आता है.

साथ ही मैं उसकी चूचियों को भी चूसता जा रहा था, जिससे कुछ ही देर में उसको भी मजा आने लगा था.

जैसे बीएफ?

उसने भी अब तक मेरी अंडरवियर के अन्दर हाथ डाल दिया था और वो मेरे लंड से खेलने लगी थी. उसने ब्रा उठायी ही थी कि मैंने उसके दोनों हाथ पकड़े और अपनी तरफ खींचा. मैंने नीचे को होकर उसके पेटीकोट और साड़ी को उसके जिस्म से खींच कर अलग कर दिया.

उस दिन छुट्टी थी और गर्मी भी बहुत थी तो मैं नहाने के लिए बरखा के बाथरूम में चला गया. पहले मुझे डर लग रहा था कि कोई देख न ले क्योंकि इस समय हम दोनों बस में थे. उनका गला भी इतना मदमस्त और गोरा था कि वो पानी भी पिएं, तो गले में से पानी जाता दिख जाए.

थोड़ी देर बात करने के बाद उसने कहा- आंटी, मुझे आपका लेपटोप यूज़ करना है. सुजन बोल पड़ा- तुम्हारी फोटो एक ही शर्त पर डिलीट करूंगा, तुमको मेरे साथ सेक्स करना पड़ेगा. उसने अपने औजार वहीं एक तरफ डाल दिये और स्लैब के नीचे से निकल कर बाहर आ गया.

मैं भी अपने दोनों हाथ उनके दोनों तरफ टिका कर पूरी ताकत से लंड को अन्दर बाहर कर रहा था. अलमारी के खाने में 2 विदेशी वाइब्रेटर वाले आर्टिफिशियल लन्ड पड़े थे जैसे मैं पोर्न वीडियो में देखा करता था.

मैं उसे उसके होंठों के पास ले गया और इशारों से उसे मुंह में लेने के लिए बोला.

मेरी और मेरे दोस्त या यूं कहूँ कि मेरे एक्स ब्वॉयफ्रेंड अर्णव की कहानी है.

जल्दी ही मेरा लंड खड़ा हो गया, तो उसने मुझे सीधा किया और कहा- अब जल्दी से डाल दे मेरे अन्दर … मुझे और मत तड़पा. इतने में ही आंटी ने मेरी कमर को पकड़ लिया और अपनी तरफ दबा लिया ताकि मैं लंड को दोबारा से बाहर न निकाल पाऊं. चाची ने मेरी हाफ पैंट की चेन खोल दी और उसमें अपने हाथ को अंदर डाल लिया.

मुझे उसे चोदते हुए लगभग 20 मिनट हो गए थे, जिसमें वो एक बार झड़ चुकी थी … लेकिन मैं अभी कहां रुकने वाला था. वो प्रिया की चूत को अपने हाथ से सहलाने लगी और प्रिया बेड पर तड़पने लगी. भाभी नीचे से अपनी गांड काफी ऊंची उठा उठा कर मेरा पूरा साथ दे रही थीं.

वो बोली- इतनी पसंद हूं क्या मैं तुम्हें?मैंने कहा- आप तो 20 साल से ज्यादा की लगती ही नहीं हो.

मैं उसकी चूचियों को सहला रहा था और उसके होंठों को चूसते हुए उससे बातें भी कर रहा था. उसने पहला धुंआ मेरे लंड पर छोड़ा और अपने हाथ से मेरे लंड को सहलाने लगी. उसके बाद मैंने धक्के देना शुरू किए, तो कमरे में एक बार फिर से मेरी जांघों और भाभी के चूतड़ों के टकराने से ठप ठप की आवाजें आने लगीं.

उसने दोबारा से मेरे लंड को मुंह में ले लिया गलप-गलप की आवाज करते हुए लौड़े को चूसने लगी. मैंने कारण पूछा, तो वह बोली- एक तो दीदी की टेंशन होती है … दूसरा बहुत दर्द हो रहा है. और मैंने बरखा से पूछा- तुम्हारी गांड का क्या साइज है?तो बरखा ने मुझे मुस्कुराते हुए कहा- मेरी गांड का साइज तुम खुद ही पता कर लेना.

मेरा लंड आराम से जाने लगा, तो मैं समझ गया कि ये मादरचोद खेली खाई लड़की है.

मैंने निम्मी को झटके से पलटा और बिना देरी किए दोनों टांगों को चौड़ा करके पूरा लौड़ा बुर में ठेल दिया. जब मैं उसको किस कर रहा था उसी वक्त मेरे हाथ उसकी मोटी गांड पर पहुंच गये थे.

जैसे बीएफ उसके दो चिकने पैरों के बीच बिल्कुल छोटी सी गुलाबी चूत, जिस पर थोड़े बहुत नर्म बाल ही रहे होंगे, बड़ी कामुक छटा बिखेर रही थी. इसके बाद मैंने निम्मी की बुर के दर्शन किए, जो साफ सुथरी, गोरी चिट्टी, हल्के भूरे बालों वाली मादक खुशबू से लबरेज थी और मुझे खुद ने ऊपर टूट पड़ने का आमंत्रण दे रही थी.

जैसे बीएफ उनको छुट्टी बहुत कम मिलती है, इसलिए वो साल दो साल में दस दिन के लिए ही घर आते हैं. वो बोले- कोई बात नहीं, अगर मैंने तुम्हारी चुदाई करनी होती तो तुम रोक नहीं सकती थी.

अब इसे हम दोनों का प्यार कह लीजिए या प्यार में हुआ सेक्स! पर हम एक दूसरे को और नजदीक से जानना चाहते थे, एक दूसरे को टूट कर प्यार करना चाहते थे।हमने एक होटल में रूम लिया और हम पूरा दिन वहां रहे। होटल में जाकर हम दोनों बेड पर एक दूसरे से चिपक गए.

सेक्सी पिक्चर गाने वीडियो

मैंने कहा- क्यों आज मुझसे ज्यादा मज़ा आ गया क्या … मुकेश का कमजोर था क्या?उसने मेरी बात समझते हुए कहा कि हां … मैंने मुकेश से बहुत बार चुदवाया है … पर उसके साथ तुम्हारे जितना मज़ा कभी नहीं आया … आज से मैं तुम्हारी और तुम्हारे लंड की हो गई. मैं आंटी की चूत को अपने हाथ के द्वारा सहलाते हुए उसकी चूचियों को मुंह में लेकर पीता रहा और वो मेरे लंड को हाथ से सहलाती रही. उसकी चूत और चूचियां चुद चुद कर इतनी मोटी हो चुकी हैं कि हर कोई उसकी चूत चोदने की फिराक में रहता है.

इतने में ही वो गांड उठाते हुए झड़ गईं और उनका सारा रस मेरे मुँह के अन्दर आ गया था. एक बात मैं आपको बता देती हूं कि मेरी सील सुहागरात वाले दिन मेरे पति ने ही तोड़ी थी, उसके पहले मैंने कभी नहीं चुदवाया था. फिर मैंने हिम्मत करके एक और सवाल पूछ दिया- मॉम आपका कॉलेज की दिनों में कोई अफेयर था क्या?मॉम मुस्कराई और बोली- नॉटी बॉय … मेरा कोई अफेयर नहीं था लेकिन लड़के लोग मुझ पर लाइन मारने की कोशिश करते रहते थे क्योंकि कॉलेज के दिनों में मैं बहुत ही हॉट और सेक्सी दिखती थी.

उसकी मामी उससे ही घर का सब काम करवाती थीं, जिससे ज़िया बहुत परेशान थी.

पढ़ाई के समय पढ़ाई और सैक्स के समय सेक्स, अभी तुझे अपना फ्यूचर और कैरियर बनाना है, समझा. वहीं दूसरी ओर शीनू और मेरे बीच में अब पहले से ज्यादा बात होने लगी थी. कोई 20 मिनट तक चोदने के बाद उसने अपना पानी मेरी गांड में ही डाल दिया था.

मुझे माँ की गांड में लंड करते हुए काफी देर हो गयी थी और वो लगातार शोर मचा रही थीं कि छोड़ दो … पर मैंने छोड़ा नहीं. अब मैं पूरी तरह बरखा के सामने नंगा होकर खड़ा था पर अभी तक बरखा का सिर्फ साड़ी का पल्लू ही नीचे था. मैंने अपनी जांघों में फंसी हुई जीन्स को जल्दी से निकाल दिया और मोसी से चिपक गया.

यदि बेबी स्वैपिंग हुई है तो आपके जैविक बच्चे को खोजने का यही एक मात्र उपाय है. हम दोनों प्यार में इतने डूबे थे।फिर उसने मुझे बेड पर सीधा लेटा दिया.

भाभी अचानक मेरे पास आकर कहने लगी- अब मेरी भी मर जाने की इच्छा होती है. साल भर पहले ही एक नर्स का किस्सा सामने आया था जिसमें उसने जानबूझकर बेबी स्वैपिंग की थी. इस लेस्बियन सेक्स कहानी के बारे में अपनी प्रतिक्रिया अपने कमेंट के जरिये दें.

मेरे हाथ उसके गाल, उसके बाल से होते हुए उसकी खुली पीठ तक पहुंच रहा था.

उनकी चूचियों को दबाने लगा और धीरे-धीरे लंड को गांड के छेद में घुसाने लगा. तभी वो मुझे होश में लायी, बोली- कहा खो गए राज़? क्या सोच रहे हो?मैं- कहीं नहीं … बस यूँ ही. मैंने उसकी चूत में तेजी के साथ जीभ को चलाना शुरू कर दिया था और अब बस मैं अपनी गर्लफ्रेंड की चूत चुदाई के तड़प उठा था.

मैंने कहा- चाची, जब से मैं घर पर आया हूं तब से मैं देख रहा हूं कि आप कुछ उदास सी रहती हो. दोस्तो, उसके बूब्स, गांड और उसकी मोटी-मोटी मांसल जांघें, मेरे लौड़े में करंट दौड़ा देती थीं … पता तो उसे भी था.

5 इंच इतना है कि किसी भी आंटी औरत और भाभी और लड़की की प्यास बुझाने को काफ़ी है. मैंने उसको नजर भर के देखा, तो सोफी हंसते हुए कहने लगी- क्या देख रहे हो?मैं बोला- तुम ब्लैक ब्रा पेंटी में मस्त दिख रही हो. मेरे चूचों का आकार भी संतरों जैसा गोल है और उसके ऊपर उभरे हुए निप्पल सबको मेरी तरफ आकर्षित कर देते हैं.

बेटे ने मां की चुदाई की

मॉम सेक्स विडियो की बात पर थोड़ी सीरियस होकर बोली- तू यह सब देखता है?मैं रोने जैसा चेहरा करके बोला- सॉरी मॉम, आगे से नहीं देखूंगा.

आधे घंटे बाद निशा आयी, साथ में पूरे डाक्यूमेंट्स थे, तो किसी को शक नहीं हुआ. मेरी सेक्सी कहानी हिंदी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी सीनियर लड़की के समक्ष प्रणय निवेदन किया. मगर कुछ ही दिनों के बाद उसने मेरे खिलाफ झूठा केस कर दिया जिसमें उसने कहा कि उसके साथ बलात्कार किया गया है.

इतना आनंद, वो भी 500 रुपये में! मैं सातवें आसमान पर था और उसकी चूत को पूरे जोश में पेल रहा था. साथ में ही अपनी बोरियत कम करने के लिए अपनी ही कंपनी का एक सहकर्मी ‘आफताब’ को अपना फ्लैटमेट भी बना लिया. बीएफ सेक्सी मुलीतेरे पापा के जाने के बाद मैंने डॉक्टर को दिखाया था उसने दवाई और क्रीम दी और कहा कि कुछ दिन तक किसी को भी स्तनों को छूने मत देना.

बाद में हम फोन पर भी देर देर तक बातें करने लगे, पर शाम होती, तो हम बात नहीं कर पाते थे. मैंने कहा- ये तुम क्या कह रही हो!वो बोली- इसमें बुराई ही क्या है?मैंने कहा- मगर तुम स्वयं एक पत्नी होकर मुझे किसी परायी औरत के साथ संभोग करने के लिए कह रही हो?वो बोली- मैं तुम्हें खुली छूट नहीं दे रही.

इस पर मेरी बहन की जवान बेटी बोली- पर मामा यह मेरे मुँह जाएगा कैसे … बहुत मोटा है. उस समय हेमा चाची की उम्र 40 वर्ष थी, लेकिन 30 से ज्यादा की नहीं दिखती थीं. शीनू बोली- चल तेरी खातिर कुछ करूंगी, मैं मां से कहूंगी कि तुझे साथ लेकर रीना के घर जाउंगी और अगले दिन वापिस आएंगे.

इसके बाद ही उनका मैसेज आया- ये आज आपको अचानक क्या हो गया है … आपने ऐसी बात पहले तो कभी नहीं पूछी, ना ही कभी मुझसे ऐसी कोई बात की. आकृति पीती नहीं थी, लेकिन मेरे कहने पर उसने दो पैग वोदका के जरूर पी लिए. मैंने थूक लगाकर लंड के सुपारे को बुर की फांकों में घिसा और आगे पीछे करने लगा.

अब मैं समझ गया कि ये चुदने को राजी तो है, पर इसके मन में कुछ हिचकिचाहट है.

उसके बाद चाची ने कहा कि मेरी चुची तो चूस ली … मेरी बुर भी तो पी लो. गर्लफ्रेंड से लंड चुसाई करवाते हुए मैं अपनी गर्लफ्रेंड की चूत में उंगली भी तेजी के साथ कर रहा था.

मैं- हाय … अब बोलो … कल क्यों बात नहीं की थी?सोफी- मैं अपने हस्बैंड के सामने कैसे बात कर सकती हूं … वो अभी ऑफिस गए इसलिए बोला था कि कल बात करेंगे. पहले तो उसने मेरी साड़ी पूरी तरह से खींच कर मेरे जिस्म से अलग कर दी. उसके बाद बारी आई पीठ और कमर की, मैं उसकी गांड पर चढ़ कर बैठ गया और उसकी पीठ और कंधों के साथ ही कमर की मसाज करने लगा.

मैं सेक्स करते हुए गालियाँ देता हूँ, विशेषतः जब वीर्य छूटने को होता है, मगर पता नहीं क्यूं अभी भी आशिमा को जिस टाइप की गाली देने का मैं आदी था, कहने में झिझक हो रही थी,बस सेक्सी, बिच जैसे अंग्रेजी शब्द ही मुंह से निकल रहे थे. वो मेरी चूचियों की तरफ देख कर बोला- अगर आप मुझसे कुछ गलत काम करने के लिए कहेंगी, तो मैं जरूर कर दूंगा. उसके बाद खाने के समय में जो सेक्स से भरी मस्ती हुई, वो आप लोग आनन्द लीजिए.

जैसे बीएफ मैंने ये सब अंश से पहले ही बता दिया था कि मैं आपका लंड अपनी बुर में लूंगी. मेरा बड़ा लंड लेते ही आंटी की चीख निकल गई और अगले कुछ ही मिनटों में आंटी मेरे लंड से अपनी चुत की खाज मिटवाने लगीं.

कटरीना कैफ सेक्सी वीडियो

मन ही मन खुश होते हुए मैंने कहा- ठीक है, अगर तुम कहती हो तो मान लेता हूं. उन्होंने साड़ी पहन रखी थी, मुझे उनके बूब्स थोड़े-थोड़े दिखाई दे रहे थे. वो बोलीं- मैंने अपने हसबेंड के मरने के बाद नसबन्दी करवा ली थी, कुछ नहीं होगा.

स्काई ब्लू रंग की जींस और पर्पल कलर की शर्ट में वो बिल्कुल मॉडल लग रही थी. उस वक्त मम्मी पापा घर पर आ गए थे, इसलिए मैंने अपनी भावनाओं को संभाला. बीएफ सेक्सी मिया खलीफा कीवो हंसने लगी और बोली- इस तरह से हम दोनों ही अपनी बात नहीं कर पाएंगे.

थोड़ी देर में मैं उठा, आशिमा की ही दूसरी पैन्टी से अपने लंड को पौंछ कर साफ़ किया और फिर आँखें बंद करके कुछ देर के लिए लेट गया.

22 अप्रैल 2018 को उसने एक बेटे को जन्म दिया, जिसका पिता मैं ही हूँ. उसके बाद मोसी ने अपना हाथ पीछे किया और मेरे अंडरवियर में हाथ डाल कर मेरे लंड को बाहर निकाल लिया.

तभी उसी वक़्त मेरी मॉम की चुदाई करते हुए मेरे पापा मेरी मॉम को पूछने लगे थे कि पिछले हफ्ते जब मेरे बॉस तुम्हारे साथ सेक्स कर रहे थे, तब तुमने उनको अपनी गांड क्यों नहीं मारने दी?पापा के मुँह से ये बात सुनकर मेरा माथा ठनका कि पापा मेरी मॉम को दूसरे मर्दों से भी चुदवाते हैं. वो मेरे आगे थी और मैं बस उसके मटकते चूतड़ों को देखते हुए बाथरूम तक पहुंच गया. मैंने अपने लंड पर तेल लगा लिया और मैं वापिस शीनू के पास आकर लेट गया.

चूंकि शाम का समय था मैम ने मुझे चाय के लिए पूछा और मैंने हां कर दी.

और कुछ ही देर बाद पापा ने चाची के सारे कपड़े निकाल दिये।मैं ये सब खिड़की के पास खड़े होकर देख रहा था।चाची ने पापा का थोड़ा सा भी विरोध नहीं किया कि ये सब गलत है या कुछ … बल्कि चाची पापा का साथ दे रही थी।पापा और चाची बिल्कुल नंगे हो चुके थे. घर पहुंच कर मैंने सुजन को सुषमा आंटी को सौंपते हुए कहा- आप इसको चखो, जब तक मैं बाहर बैठा हूँ. मैं बोला- मॉम, मैं निकालूं आपके कपड़े?मॉम कातिलाना अंदाज़ में मुस्कराकर के बेड पर बैठ कर बोली- आप ही अपने चॉइस के कपड़े निकाल दीजिए.

हिंदी सेक्सी व्हिडीओ हिंदी बीएफउसे देख कर पता नहीं क्यों मुझे मेरी गर्लफ्रेंड को नजर से नहीं देखा था. मैं ये भी जानता था कि कुछ समय बाद अनुजा की सील भी कोई न कोई तोड़ ही देगा.

यौनसंबंध कथा

वहां पहले ही कुछ लोग सिगरेट पी रहे थे, जिससे वहां की हवा में भी मदहोशी छाई हुई थी. अपने दोनों हाथों को उसके कंधों के नीचे ले गया और उसको अपनी तरफ उठाते हुए उसकी चूत में लंड को जोर-जोर से पेलने लगा. बड़ा मज़ा आएगा मॉम!मॉम ने 10 सेकंड सोचा और बोली- ठीक है!मैंने तीन तीन पत्ते बांटे और मॉम जीती.

मैंने चाची को चूचियों को दबा दबा कर दूध निकाला और मस्ती से पीने लगा. मैंने उस देसी लड़की को एक बार फिर से होंठों पर किस किया और इस बार उसे किस करते करते मैंने अपना हाथ उसके टॉप में डाल कर उसकी चुचियों को छू लिया. दोस्तो, आपको मेरी भाभी की चूत गांड की कहानी कैसी लगी … प्लीज़ मुझे मेल करके जरूर बताएं.

इसमें मेरी कम्पनी को नौ महीने का किराया मिलता था, जिसमें ग्राहक अक्सर आना-कानी या मोलभाव करता था. किस करना मुझे पसंद था और जब मैं उसके होंठों को चूसता था तो मुझे एक अलग ही नशा हो जाता था. बाजी उनके कपड़े लेकर बाथरूम के पास चली गई और पूछने लगी कि कपड़े कहां रखने हैं.

दस मिनट तक ताबड़तोड़ चुदाई करने के बाद अंकल बोले- मेरा निकलने वाला है … बोल मेरी अदिति रंडी … मैं अपना माल कहां निकालूं?मैं कराहते हुए बोली- आपने अपने मन की ही की है … अब भी क्या पूछते हो … आप मेरी चुत में ही गिरा दो … कुछ तो राहत मिलेगी. लगभग दो मिनट बाद निशा ने अपनी चूत से बेतहाशा कामरस छोड़ना शुरू कर दिया.

मैं बोली- मगर मैं तुम्हारे पति के लंड से कैसे चुदवा सकती हूं?मीरा बोली- अगर मेरे पति से चुदाई नहीं करवा सकती तो मेरे दोस्त से तो करवा ही सकती हो.

जैसा कि मैंने बताया कि मेरा नाम रोहित है और मैं गुजरात के प्रसिद्ध शहर सूरत का रहने वाला हूं. रानी का बीएफवो बोली- क्यों?मैं चुप था और सोच रहा था कि बंदी हाथ ही नहीं रखने दे रही है. इंडियन बीएफ हिंदी मूवीदस मिनट तक लड़की की चूत को चोदने के बाद मेरा वीर्य निकलने को हो गया. )यह बोलते ही उन्होंने अपने रसीले होंठ मेरे होंठों पर रख दिए और जोर जोर से चूसने लगी, मैं भी पूरे जोश से उनके रसीले होंठ चूसने लगा।मेरे हाथ उनके चूचों पर जा पहुंचे और हल्के हल्के हाथों से मैंने उनके दोनों कबूतरों को मसाज देना शुरू कर दिया। जल्दी ही दोनों कबूतर सख्त होने लगे और निप्पल सख्त होने लगे.

मैं उसके लब चूसने लगा और कुछ पल बाद मैंने अपना लंड नूर की चूत कर छेद पे सेट किया और जोर का झटका मारा.

मेरी मदद से मेरा दोस्त ने अपनी भाभी को भगा कर किराए के कमरे में रखा. उसके बाद वंदना मैम ने कहा- तुमने मेरे चुचे नहीं चूसे, चलो बचा हुआ लेसन पूरा करते हैं. चुत के नजदीक किसी पहले मर्द कर स्पर्श पाते ही बुआ ‘आह…’ की सिसकारी लेने लगीं.

लंड के बाद दीदी ने भी अपनी चुत की कई फोटो खींच कर उस लड़के को भेजी थीं. उनके हाथ को पकड़ कर फिर से अपनी गीली चूत पर रखवा दिया और मुस्करा दी. मैंने उसकी चूचियों को कपड़ों के ऊपर से ही जोर जोर से मसलना चालू कर दिया था.

मुझे सेक्सी देखना है

फिर मैंने लंड का सुपारा भाभी की चुत के छेद में फंसाया और एक ही झटके में ही उनकी चुत में अपना लंड डाल दिया. वो महिला बोली- नहीं जी, कोई दिक्कत नहीं है, इनकी तो आदत है मज़ाक करने की. तब तक के लिए आप सब अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज पर सेक्स कहानियों का मजा लेते रहें.

वो तो था ही एक नंबर का चालू, उसने मुझे तुरन्त ही एक वीडियो क्लिप भेज दी.

मैंने उसको बिस्तर से खींच कर फर्श पर घुटनों के बल बैठाया और उसके मुँह में वीर्य से भरा अपना भारी लंड डाल दिया.

पर खुली शर्ट डाली होने और कुछ मैंने अपना लंड ऊपर की ओर किया था, तो सबकी नज़रों से बचा हुआ था. मेरे या उनके घर, कहीं भी हम दोनों मिलते और हार्ड फ़क यानि पलंगतोड़ चुदाई का मजा करते. बीएफ चोदी चोदा सेक्सी बीएफमैंने वाइब्रेटर उठा कर उसकी चूत की क्लिट पर रखा और लंड से चुत चोदने लगा.

मैंने उसके बदन को पौंछा, फिर गोद में उठा कर किस करते हुए रूम में ले जाने लगा. तो बुआ बोली- कोई बात नहीं बेटा, मेरी ही गलती है … मेरी चूत में इतनी आग लगी है. मैंने भाभी के दूध दबाते हुए कहा- भाभी, आज मैं आपकी चुत के चिथड़े उड़ा दूँगा.

चार दिन कैसे गुज़रे पता ही नहीं लगा इस बीच मेरा और शीनू का 2 बार जबरदस्त, मज़ेदार सेक्स हुआ. मैंने सलाद से कुछ चीजें उठाईं और निशा की पीठ में रख दी और उसकी पीठ में किस कर करके एक एक सलाद के पीस को खाने लगा.

मैं नाश्ता खत्म करके निकला ही था कि मुझे रोड में एक मस्त सी बाइक दिखी.

मैंने लंड पेलता गया और दो मिनट से भी कम समय में आंटी गांड मराने का सुख लेने लगीं. जब मैंने बरखा को अपनी गोद में उठाया हुआ था तब मेरा लंड बरखा की गांड को टच कर रहा था जिससे मुझे बहुत मजा आ रहा था. वो बोली- क्या हुआ?मैं बोला- तुम्हें एक बार जी भर के देख लूं … शायद फिर कभी मौका ना मिले.

छोटी सी बीएफ मैंने पुरानी कंपनी भी छोड़ दी, तो वहां से भी कोई डिटेल नहीं मिल सकी. एक मिनट बाद ही मॉम ने मेरे सर को उठाया और मेरे होंठों को चूस कर खुद अपनी ही चुत के रस को चाट लिया.

मैंने एक धक्का दिया और मोसी की चिकनी और गीली चूत में लंड हल्का सा अंदर चला गया. वो ‘आह ओन्हन्न यस … और ज़ोर से चोदो मुझे … आह!चुदाई की मस्ती छाने लगी थी. मैंने हिम्मत जुटा कर अपना हाथ अर्पणा की तरफ दोस्ती के लिए बढ़ा कर कहा- हाय मैं साहिल … और आप?मेरे इतना कहते ही हाथ मिलाते हुए अर्पणा ने कहा- मैं अर्पणा सिंह.

नजर गुटखा

मैंने अपनी गर्लफ्रेंड के होंठों को किस करने के लिए उसको अपने पास खींचा मगर वो कहने लगी कि पहले खाना खा लेते हैं. मैंने पूछा- अकेली हो … बाकी सब कहां हैं?वह बोली कि भाई स्कूल गया है, पापा आफिस में हैं. फिर मैंने वैसलीन की डिब्बी से काफी सारी वैसलीन निकाली और उसकी गांड पर मलने लगा.

लड़की बोल रही थी कि यहां नहीं … यहां नहीं … लेकिन फिर थोड़ी देर में कराहने की आवाज आई. इस बार मेरा लंड उसकी गांड के ऊपर वाले हिस्से (कमर) से जा टकराया … क्योंकि उसकी हाईट मुझसे छोटी थी.

अगले दिन वो सुबह आई और बोली कि आदित्य जी, आपने कल भी मुझे फोन नहीं किया.

वो पूरी गर्म हो चुकी थी।वो आदमी दीदी को चोदने लगा। हर झटके के साथ दीदी का पूरा शरीर हिल जाता।कुछ देर बाद वो दीदी को उल्टा कर दीदी के कूल्हे दबाने लगा और पीछे से चूत मारने के बाद वहीं दीदी के बगल में नंगा लेट गया।इस तरह मैं 5 दिनों तक उन लोगों के साथ दीदी सेक्स को देखता रहा। कभी दोनों चोदते तो कभी कोई एक ही चोदता. आह्ह … पहली बार का वो घर्षण इतना आनंद देने वाला था कि मैं उसको शब्दों में बयां नहीं कर सकता. कहानी का पिछला भाग:टीचर की अन्तर्वासना ने मुझे चुदक्कड़ बनाया-1अगले दिन जब मैं विद्यालय गया.

मैंने उसके हाथ से अपना हाथ छुड़वाने की कोशिश की, पर उसका हाथ मज़बूत था. पूछने लगी- तो फिर क्या कर रहे हो?मैंने कहा- कुछ नहीं, बस ऐसे ही फोन में वीडियो देख रहा था. बुआ शायद मेरे इरादे भांप गयी थीं- चल बदमाश, अकेले में तू अपनी दुल्हन से मिलना … चल अभी कोई आ जाएगा.

तभी मैंने बोला कि आज शायद मौका मिला है … अगर तुम चाहो तो हम दोनों एक दूसरे के करीब आकर एक दूसरे की प्यास बुझा सकते हैं.

जैसे बीएफ: इस कॉलेज सेक्स कहानी में आपको कितना मजा आया, प्लीज़ मुझे ईमेल कीजिएगा. ऐसा लग रहा था कि मॉम सेक्स पहली बार कर रही हों, उनकी पहली चुदाई हो रही हो.

हम लोग वैसे तो गांव के रहने वाले हैं लेकिन पिछले कई सालों हम लोग शहर में रह रहे हैं. मॉम की चूचियों की निप्पल बड़ी थी तो वो आराम से मॉम के मुंह में पहुंच रही थी. वो बोलीं- तुम किस किस तरह से खुश रखने की बात की गारंटी दे रहे हो?मैंने कहा- मैं हर तरह से उसे खुश रखने की बात कह रहा हूँ.

मुझे मालूम था कि ये चिल्लाएगी, इसलिए मैंने झट से अपना मुँह उसके मुँह पर रख दिया और उसे किस करने लगा.

उस मुंहबोली माँ की चूत को मैंने कैसे चोदा? पढ़ें इस चुदाई कहानी में और मजा लें. अप्रैल की 28 तारीख उन्होंने मुझे रात 9 बजे अपने घर बुलाया और वो मुझे अपने घर के पास गली में लेने के लिए आई. साड़ी को बदन पर ऐसे लपेटा गया था कि उसको खोलने में ज्यादा परेशानी न हो.