बीएफ चोदा चोदी वाला दीजिए

छवि स्रोत,सेक्सी जवान लड़की की चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ बस में: बीएफ चोदा चोदी वाला दीजिए, रात को जब खाने का टाइम हो गया और हम तीनों ही साथ में बैठ कर खाना खा रहे थे.

मामा भांजी की सेक्सी चुदाई

फिर मुझे आशीष का वह एकटक देखना, उससे मेरा आंख लड़ाना, सब याद आ रहा था. मुन्ना सेक्सीमैंने उसे बेड पर लिटा दिया और उसके पैरों को कंधे पर ले कर अपने लंड को उसकी चूत पर रख कर एक जोर का धक्का मारा, तो मेरे लंड के मोटा सुपारा उसकी चूत में चला गया.

मैंने उसी वक्त उसकी दोनों जांघों को पकड़ कर एक जोर का झटका मोनिका की चूत मैं दे मारा, जिससे पूरा लंड मोनिका की चुत में जड़ तक घुस गया था. દિલ્હી સેકસી વીડિયોऔर तुम संकोच मत करो, ये तो सिर्फ इमेजिनेशन है जिससे मुझे कोई ऐतराज नहीं।वो थोड़ी सकुचा कर धीमी आवाज में बोली- आज मैंने सेक्स वीडियो में एक महिला को एक कम उम्र के लड़के के साथ सेक्स करते देखा था.

उसकी साँसें भी तेज हो रही थी और पेट भी तेज तेज से ऊपर नीचे हो रहा था.बीएफ चोदा चोदी वाला दीजिए: आज पहली बार में ही दो बार मेरी चूत को दो अलग अलग मर्दों ने चाटा था.

मेरे नितंब को अपनी हथेली में दबोचे हुए दूसरे हाथ को वो धीरे-धीरे पेट से ऊपर ले जाने लगे.मैंने लंड को चूत पर अच्छी तरह से सेट कर दिया और भाभी की चूत में एक धक्का लगाते हुए भाभी के ऊपर लेट गया.

भौजी के सेक्सी वीडियो - बीएफ चोदा चोदी वाला दीजिए

उसकी चुचियाँ ठीक मेरी छाती से रगड़ खा रही थी और मैं उसके होंठों का रसपान कर रहा था.मैंने कहा- ठीक है, मैं ज्यादा फोर्स नहीं करूंगा, मगर तुम अंदर नहीं करवा सकती तो ऊपर से ही दिखा दो.

जैसे ही उसकी चूत से रस बाहर आता मैं उसको अपने होंठों से चूसकर पी जाता था. बीएफ चोदा चोदी वाला दीजिए अब तो मामी मुझे उसी वक्त बुलाती हैं जब उनको चुदाई का मजा लेना होता था.

वैसे तो मैंने पहले भी ब्लू फिल्म देखी थी, पर सब अकेले में देखी थीं, ज्यादातर बार ब्लू फिल्म सोनल ही मुझे दिया करती थी.

बीएफ चोदा चोदी वाला दीजिए?

उसने मेरी बात सुनते ही मुझे छोड़ दिया और मुझे बिस्तर के सिरहाने होकर कुतिया बन जाने को कहा. फिर देखना कैसे आराम से तुम्हारी चुत की गहराई नाप कर तुम्हें चुदाई के मजे देता है ये. भैया बोले- अमित अभी तेरी भाभी किचन में काम करेगी, जब तक हम बाहर से मस्ती करके आते हैं, फिर तेरी भाभी के साथ होली खेल लेंगे, आज मुझे भी इसको जम के रंगना है क्योंकि ये हम दोनों की पहली होली है.

खाना खाते समय मैडम बोली- यार, मुझे ऐसा लग रहा कि अब भी तुम्हारा औजार मेरे अन्दर ही है, सच में मैं बहुत खुश हूँ. वह मेरे चूतड़ों को अपने हाथों में लेकर दबा रहा था और फिर मुझे कमरे के एक कोने में लेकर चलने लगा. सेक्स करते टाइम वो मुझे टॉर्चर भी करता है, साले का जहाँ दिल करता, वहाँ मुझे खा जाता है.

उसे देखकर मुस्कराई, फिर हाथ से थाम कर पहले की तरह आगे-पीछे करने लगी. मैं जानता हूं कि आप लोग अन्तर्वासना पर प्रकाशित हुई कहानियों में क्या पढ़ना पसंद करते हैं, तो आप लोगों की पसंद को ध्यान में रखते हुए अब मैं डायरेक्ट कहानी वहां से शुरू करता हूँ कि कैसे मैंने शादीशुदा कल्पना भाभी की कुंवारी बुर की सील तोड़ी. उसने जब दो तीन बार मेरे सामने आकर मुझे पेप्सी दी, तब मैंने उसे नोटिस किया.

उनकी चूची पर मेरे हाथ को ऐसा लग रहा था कि मैं रूई का गोला दबा रहा हूँ. जैसे जैसे लंड उसकी चूत की चुदाई कर रहा था मेरे अंदर का जोश बढ़ने लगा था और रीना का मजा भी ज्यादा होता जा रहा था.

आशीष ने बिस्तर में रखी दो तकिया मेरी कमर के नीचे लगा दिए और फिर बोला कि ओह बंध्या क्या मस्त तेरी छोटी सी चुत है.

वो बोला- तुम कहां जा रही हो?मैं पहली बार उसे सामने पाकर देख कर घबरा गई.

काफी देर प्रयास करने के बाद थोड़ी सी हल्की धार निकली, जो मेरे मूत्रद्वार से होते हुई जांघों से बह गई. आपा भी दर्द के मारे चिल्लाने लगी … जो इर्द गिर्द गूँज उठी थी- आहहह आय मर गई … उउउइइ ओहह … बहुत दर्द हो रहा है … प्लीज इसे बाहर निकाल लो … मुझे नहीं चुदवाना तुमसे … तुम बहुत जालिम हो … यह क्या लोहे की गर्म रॉड घुसा डाली है तुमने मुझमें … निकालो इसे … नो प्लीज बहुत दर्द हो रहा है … मैं दर्द से मर जाऊंगी प्लीज निकालो इसे!सारा आपा की आँखों से आंसू की धारा बह निकली. मैंने मोनिका की जांघें पकड़ी हुई थीं, उसने उठ कर दर्द के मारे मुझको किस किया और मेरे लिप्स खा गई.

तब बृजेश आगे आ गया, अब प्रेम और बृजेश के लंड मेरे मुंह में जाने लगे. मैं भी नया नया गया था, तो मैं भी उससे डरता रहता क्योंकि वो 3-4 लड़कों को कम्पनी से निकाल चुकी थी. अब तलाशी तो लेनी ही पड़ेगी … समझ रही हो ना?” सर ने मेरी आँखों में देख कर कहा।मेरा टाइम निकला जा रहा था और उन्हें मस्ती सूझ रही थी.

अब वो मज़े लेने लगी और बोलने लगी- फ़क मी फ़क मी … आह ऊऊह्ह्ह्ह!वो लगातार उम्म्ह… अहह… हय… याह… ईईईइ ह्ह्ह्ह कर रही थी.

उसके बाद हम अच्छे दोस्त बन गए, फिर मैंने उससे उसका फ़ोन नंबर मांगा और उसने बिना कुछ सोचे दे दिया. इधर मैं उसके लंड को अपने अन्दर लेकर घूमती, उछलती और बस अपनी मस्ती को अपने मुँह से निकालने लगती- याल्लाह … आहह … बस ऐसे ही … म्म्म्म. मैं अपने उसी साइट पर फिर से व्यस्त हो गयी और फिर इसी बीच मेरी गुजरात की सहेली, जिसका वर्णन मैंने अपनी पिछली कहानी में किया था, उससे दोबारा बात शुरू हो गयी.

गांड के चक्कर में मेरी झुमरी तलैया, मेरी मुन्नी, मेरी भोसड़ी प्यासी ही रह जाती है। मादर चोद भड़वे … पहले इस सुलगती भट्टी में अपना लौड़ा डाल कर इसे शांत कर दे फिर चाहे गांड मार या गांड चाट। चल पहले मैं मूत कर आती हूँ. कभी कभार तो नॉनवेज मजाक भी हो जाता था। हंसी मजाक में कभी-कभी भाभी को छू भी लेता था. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:मैंने अपनी पतिव्रता बीवी को जवान लड़के से चुदवाया-2.

दरवाजा खुलते ही एक 26-27 साल की बहुत ही खूबसूरत औरत मेरे सामने खड़ी थी जिसको देख कर मैं कहीं खो सा गया.

मैंने उसकी जीन्स के अंदर ही उसकी गांड को सहलाना शुरू किया और वह मज़े से मेरे लंड को चूस रही थी. कुछ देर बाद वो मुझे अपनी नौकरानी के साथ चोदने के लिए बोल रहे थे, लेकिन मैंने उनको मना कर दिया.

बीएफ चोदा चोदी वाला दीजिए उस दिन बर्थडे पे हम दोनों सभी क्लास खत्म करके नाइट आउट के लिए बाहर निकल गए. बहरहाल बहुत ही नजाकत और अदा के साथ प्रशांत के सीने से अपनी चूचियां रगड़ते हुए नीना जब चूत को लंड के टोपे पर रखी तो प्रशांत ने भी अपने दोनों हाथों को नीना के चूतड़ों पर टिका दिया.

बीएफ चोदा चोदी वाला दीजिए उसका मूत मेरे सर में बालों से होते हुए माथे में … और माथे से होते हुए नाक में … और नाक से मुँह में जाने लगा. उसके बाद भी मैंने बहुत सी भाभियों को चोदा और अभी भी मौका मिलने पर चोदता हूँ.

नवीन का लंड झटके देने लगा था और उसने मेरी पैंट में पीछे से हाथ डालकर मेरे चूतड़ों को दबाना और मसलना शुरू कर दिया था.

बीएफ वीडियो में बीएफ बीएफ वीडियो

अब मेरा लंड चुदाई के लिए तैयार हो के पूरा सवा आठ इंच लंबा और तीन इंच मोटा हो चुका था. उसने बिना झिझक के ही मुझे पूछ लिया- मुंह में लोगे क्या?मैंने भी अब बता दिया- सिर्फ मुंह में ही नहीं … जहाँ देना चाहो वहां दे दो, मैं तो कब का प्यासा हूँ. अब उसकी चूत में मेरे लंड ने प्रेवेश करना चालू किया और आधा ही लंड गया था और मेरा वीर्य निकल गया.

दीदी भी मुझे बहुत प्यार करती थी। मैं देखा करती थी कि जब बुआ जी और विनय घर आते तो विनय भैया हमारे ही रूम में आ जाते और बातें करते रहते थे, गेम खेलते रहते थे. वो मुझे पूरा सहयोग कर रही थी सिर्फ ऊपर ऊपर से मुझे रोकने का दिखावा रही थी. वह मेरे चूतड़ों को अपने हाथों में लेकर दबा रहा था और फिर मुझे कमरे के एक कोने में लेकर चलने लगा.

इस पोजीशन में मेरी लंड उसके चुत से टकराने लगा और वो मेरे लंड को पकड़ कर अपने चुत पे दबाने लगी.

इसके बाद भाभी मेरे लंड से खेलने लगी और लंड चूस कर उसे फिर से खड़ा करने लगी. उसके बाद अनन्त नीचे की तरफ आ गए और दीदी की टांगों को अपने हाथों में पकड़ कर ऊपर उठा लिया. इसके बाद मैंने उसकी कुर्ती और ब्रा निकाल दिए और उसकी छोटी छोटी चूचियों को चूसने लगा.

मैंने जल्दी जल्दी घर में रखे दारू का सामान निकाला और भैया भाभी के रूम के अन्दर झांकने की जुगाड़ लगाने लगा. ऐसा कुछ नहीं, जब मिलना हो, तो मिल लेता हूँ, जब बात करना हो, तो कर लेता हूँ, ऐसे चैटिंग वगैरह कम ही करते हैं. मैं उसको देख कर और कामुक हो गया और कुछ ही देर में हम दोनों एक साथ झड़ गए.

मैं आपकी इस चूत का मूत पीना चाहता हूं। भाभी मुझे अपना गुलाम बना लो, मैं आपकी रोज सेवा करूंगा. चुत के बालों को साफ करने के बाद मैंने इंदु की चुत को जीभ लगा कर चाटना शुरू किया, चूत का नमकीन पानी बहुत टेस्टी लग रहा था.

मैंने उससे कहा कि घर फोन करके बता दे कि आज दो क्लास हैं और थोड़ी देर सहेली के साथ घूम कर शाम तक ही तू वापस आ पाएगी. मेरे अज़ीज़ दोस्तो, कैसे हैं आप सब! आज मैं आपको मेरे साथ हुए एक हसीन किस्से को शेयर करूंगा जो अभी हाल ही में मेरे साथ हुआ है. फिर उसने मुझे आंख मारते हुए कहा- या शायद कुछ बड़ा सा कांटा चुभ गया होगा.

इंदु ने कहा- जीजाजी, मैं भी आप के लंड के बाल साफ कर दूँ? मजा आयेगा!पर मेरा मूड नहीं था, मैंने मना किया तो वो बोली- करवा लीजिये, सारी रात मजे लेने को है.

उसकी दोनों बड़ी लड़कियां कहीं बड़ी कोठियों में घर का काम करती थीं औऱ वहीं पर कोठी के सर्वेंट क्वाटर में रहती थीं. उस दिन के बाद मेरी और मोनिका की बात लेट रात को जब होती थीं, जब उसकी बातें अपने पति से खत्म हो जाती थीं. मेरे लंड की रगड़ को अपनी गांड के अन्दर महसूस करके, मामी जी भी अब पूरी मदहोश हो चुकी थीं.

घर में घुसते ही वो बोली- शर्माते हो क्या?मैंने कहा- बिल्कुल नहीं … आपके यही बोलने का इन्तजार कर रहा था. चूंकि ये मेरा पहला कॉल था, तो मैं थोड़ा एक्साईटेड भी था और थोड़ा नर्वस भी था.

मैंने बोला- हर्षिता डार्लिंग … अभी तो शुरुआत है … अभी तो और तड़पाऊँगा … तुम्हें मेरे लंड का स्वाद इतनी आसानी से नहीं मिल पाएगा. मामा के लंड की सवारी करते हुए वह मामा के निप्पलों को होंठों में लेकर चूसने लगी. वह मेरे लंड को इतने प्यार से अपनी जीभ के साथ सहला रही थी कि मेरा खुद पर कंट्रोल करना बहुत मुश्किल होने लगा था.

वीडियो की बीएफ सेक्स

मैं चूत सामने देख कर एकदम से पागल हो गया और जैसे ही उसकी चूत नीचे आयी, मैं चाटने, चूसने लगा.

उसने मुझको सुबह साथ जाते हुए स्कूल अपने गले लग कर मुझको विश किया और मेरे गाल पर किस की. उसने कहा- मैं क्या छोटा बच्चा हूँ अब?हम दोनों में झगड़ा शुरू हो गया. अब मैं कुछ नहीं करना चाहती थी तो मैं मना करने लगी मगर अजय नहीं माना और मुझे गोद में उठाकर दूसरे कमरे में ले आया। दीदी ने रोकना भी चाहा मगर अजय पर कोई असर न हुआ।दूसरे कमरे में लाकर अजय ने दरवाजा लॉक कर लिया.

हम दोनों नंगे हो चुके थे और मैंने पूनम के बूब्स को अपने मुंह में भर कर चूसना शुरू कर दिया. उसकी कराहट से और जिस तरह उसका हाथ चल रहा था, मुझे समझ आ गया था कि उसे मज़ा आ रहा था. सेक्सी भांजी”उनकी बातें सुनकर मेरी मन में लड्डू फूट रहा था, चेहरे के नीचे मतलब क्या था अंकल का?तुम कल आ रही हो, सुनकर मेरा बहुत बड़ा टेंशन खत्म हो गया, मैंने जानबूझ कर वहां पर हाथ नहीं रखा, गलती से चला गया.

उनमें जो ख़ास बात थी वह यह थी कि उनकी नशीली आंखें और जब भी वह बाहर जाती थीं तो आंखों के ऊपर बहुत ही सुंदर गॉगल्स लगाकर जाती थी. मैनेजर सर अपने लंड पर हाथ फेरते हुए मुझसे मजाक करते हुए बोले- तुम्हारा फिगर तो बहुत अच्छा है.

पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मैंने सोनू को सेक्स के लिए तैयार कर लिया था. मुझे कहीं से पता लग गया कि वह मेरे अलावा किसी और के साथ भी चक्कर चला रही है. मैडम ने पूछा कि क्या हुआ?मैंने उंगली से खून निकाल कर उसे दिखाया, तो मैडम खून देख कर बोली- देखा कितना मोटा लंबा है, मेरी चुत से भी खून निकाल दिया.

वो बोला- तुम कहां जा रही हो?मैं पहली बार उसे सामने पाकर देख कर घबरा गई. क्योंकि मैं कॉलेज में था और उन्हें लगता था कि कॉलेज में सभी लड़कियां सिर्फ चुदने ही आती हैं. उसके होंठों के पास ले गया और बहुत ही धीरे से अपने होंठों को उसके होंठों से लगा दिया.

मैंने कहा- तुम पागल हो … यार जब इस चूत में से पूरा बच्चा निकल सकता है, तो तेरी चूत क्या सात इंची के लंड से ही फट जाएगी?वो मेरी बात से सहमत हो गई और उसने चुदने का मन बना लिया.

मैं उनको चोदने के पहले बहुत प्यार करता हूँ, क्योंकि वो सेक्स खुल कर करती हैं. मुझे जो आनंद मिला तो मैं आप को किसी भी तरह के शब्दों में नहीं बता सकता हूँ.

जब तक मैंने यह महसूस किया कि लंड मेरे कच्छे से बाहर आ चुका है, मैडम ने अपने गाउन खोल कर धरती पर गिरा दिया था. पर आपने कभी मेरे बारे में सोचा कि आपके बिना मैं यहाँ कैसे रह रही हूं?”तुम लोगों के लिए ही तो मैं बाहर रहता हूं. इन्हें भी लंड का मज़ा लेना था, पर पहली बार के दर्द का डर भी उनके चेहरे पर साफ झलक रहा था.

सोनल के चेहरे पर कुछ भी भाव नहीं थे, मेरी समझ में नहीं आ रहा था कि सोनल सोई हुई है कि सोने का नाटक कर रही है. उसने अपनी चिकनी चुपड़ी बातों से मीना की युवा बेटी को फुसला लिया और एक दिन चिन्टू ने उसे भी अपने बिस्तर की रानी बना लिया. मैंने अपनी बाइक उसकी बगल में रोकी और उससे कहा- मैडम, क्या मैं आपकी हेल्प कर सकता हूँ? आज ऑटो वालों की हड़ताल है.

बीएफ चोदा चोदी वाला दीजिए अजय जा चुका था, मैं बेड पर बैठ गया और मीना की तरफ देखते हुए उसके सर को सहलाने लगा. उठने से पहले मैंने अपने रूमाल से उसकी चुत को साफ़ कियाफिर हम दोनों अपने कपड़े पहन कर पार्क के मुख्य एरिया में चले गए.

सेक्सी वीडियो हिंदी वाली बीएफ

आपको मेरी कहानी कैसी लगी? अपने प्रतिभाव आप मुझे इस ई-मेल पर भेज सकते हैं. नहीं मौसी, मैं मज़ाक नहीं कर रहा … आप मुझे सच में बहुत पसंद हो, मेरा दिल बस आपको देखते रहने का करता है, इसीलिए तो मैं आपके घर बार बार आता हूं. उसने जल्दी ही मेरी चूत से उंगली निकाल दी और अपने लिंग को मेरी चूत के मुंह पर लगा दिया.

प्यार से उसके आसूँ को अपने होंठों से पी गया और उसके होंठों को अपने होंठों से चूसने लगा. लौड़ा इस बेपनाह कामोत्तेजना की ज़्यादा देर तक ताब न ला सका और खड़ा हो गया. बिहारी सेक्सी वीडियो बढ़ियातभी मैंने मीना को पलटने को कहा और उसके ऊपर लेट कर उसकी चुत में लंड डाल दिया.

तो आप पतिव्रता ही रहेंगी और आपकी जवानी की प्यास भी बुझ जायेगी। मैं कोई पराया नहीं हूँ।इतना बोलते ही मैं उनके पास गया और उनके होठों को चूमने लगा और जोर से किस की … फ़िर मैं उनके बूब्स कस के दबाने लगा। वो सिसकारियां भरने लगी.

सब उनके साथ खूब एन्जॉय करती थीं और सेक्स भी काफी नार्मल था उनके बीच. पर चपड़ चपड़ की आवाज साफ सुन रही थी मैं।दीदी बुरी तरह तड़पकर लगभग चिल्लाने लगी- जल्दी चोदो मुझे … बर्दाश्त नहीं हो रहा.

हम दोनों थोड़ी मस्ती रास्ते में करते रहे, फिर नौ बजे घर आए और सब लोग खाना खा कर बैठ गए. तो आप वो छोटा लड़का और मैं तो मैं हूँ ही।मैंने ये कभी ट्राई नहीं किया था इसलिए मुझे भी रोमांच आ गया और हाँ बोल कर रोल प्ले शुरु कर दिया।वो उसी पोज में चुदवाते हुए बोली- हाँ बाबू, मुझे जोर से चोदो ना।मैं बोला- हाँ भाभी, चोद रहा हूँ!और सन्जू को चोदने लगा. जब उसने मेरा मोटा और लम्बा लंड देखा तो उसने मुझे अपने पास बुलाया और मेरे लंड को पकड़ कर हिलाने लगी.

तो बोले- हां तू चला जा, इस लड़की को यहीं छोड़ दे … क्योंकि ये तो अब हमसे यहां से चुदवा के ही जाएगी.

मेरी कॉलेज की छुट्टियां शुरू हुईं, तो मैं ट्रेन से अपने घर जाने को निकल गया. दोस्तो, इस बार इस कहानी का नायक दिलदार सिंह है कहानी उसी की जुबानी सुनिये. कोलेज के बाद हमारे संपर्क जैसे टूट ही गए थे, इतने महीनों बाद उसे मिला तो मेरा मन जैसे झूम ही उठा.

देवर भाभी का सेक्सी वीडियो बाथरूम मेंमैं ऐसे ही उसके ऊपर ही लेटा हांफता रहा और वो मेरी कमर और मेरे बालों को सहलाती रही. मैंने उसे फटकारते हुए कहा- कैसे मुँह उठा के चले आते हो सुबह सुबह?तो उसने कहा- किस दुनिया में हैं मोहतरमा? दोपहर के बारह बज चुके हैं, दो घंटे से दुकान खुलने का इंतजार कर रहा हूँ.

बांग्ला कॉलेज बीएफ

मैंने पूछा- फिर क्या?तब उसने बताया कि वो मुझे कुतिया की तरह पेशाब करते हुए देखना चाहता है और फिर उसे सूंघना चाहता है. भैया जैसे ही बाहर के हॉल में आने लगे, मैं जल्दी से जाकर दारू की बोतल ग्लास के पास जाकर ऐसे बैठ गया … जैसे मैंने कुछ देखा ही नहीं हो. लेकिन सुचेता से मेरी कोई बातचीत नहीं होती थी, उसका छोटा भाई मेरे पास आ जाता था और मेरा अच्छा दोस्त बन गया था। वो भी कभी कभी अपने भाई को बुलाने के लिए हमारे घर आती थी.

दरवाजा खोला तो क्या बताऊं दोस्तो … सामने मेरी हसीन परी पायल खड़ी थी. इससे चिन्टू का हौसला बढ़ गया और इसके बाद मीना भी अपने को नहीं रोक पायी तो मौसी भांजा रिश्ते की मर्यादा तार तार हो गई. मैं आहना के चूचुकों को तब तक चूमता चूसता रहा, जब तक उसमें से दूध आना बंद नहीं हो गया.

मैंने इससे पहले अपनी पहली चुदाई की कहानीसहेली के बॉयफ्रेंड ने की मेरी पहली चुदाईलिखी थी, जिसका लिंक मैं इस कहानी के साथ दे रही हूँ. मैं उसकी भावना समझ गयी थी, पर पता नहीं क्यों जहां मुझे नाराजगी दिखानी चाहिए थी, वहां मैं कोई भी विरोध नहीं कर पा रही थी. जब मैंने धीरे से उसकी पैंटी को उतारा तो उसकी चूत मेरी आंखों के सामने आ गई.

अब वो रुक गया और जब वो मेरे सामने खड़ा हुआ तो उसका लिंग किसी मोटे डंडे की तरह तना हुआ था. चाची भी सिस्कारियां भरने लगीं- आहह … आराम से कर … आअहह…मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा था, मैंने धीरे धीरे चाची की चूत पर उंगली फिराना शुरू कर दिया.

!उसने लंड पर कंडोम लगा दिया और बोली- प्लीज़ आज मेरी सेक्स की भूख मिटा दो, मेरी तड़फ मिटा दो.

मैंने अपना सारा माल उसकी चूत में ही निकाल दिया और ऐसे ही उसके ऊपर लेटा रहा. सेक्सी फिल्म नंगी चुदाई कीहमारी ये बात देख कर साक्षी हमेशा मुझसे एक ही बात बोलती- यार, तुम भी ना एक गर्लफ्रेंड बना ही लो. 14 सेक्सी फिल्ममस्त चूचियां, पतली कमर, गदराया बदन, गांड भी पीछे से बहुत ही सुन्दर. फिर रात को उसका मैसेज आया और थोड़ी देर बात करने के बाद बोली कि उसका घूमने का मन है.

सासू माँ- बेटा, एक माँ बाप के लिए इससे बुरा और क्या हो सकता है कि उनके इकलौते बेटे के ऐसे शौक हो … इसलिए तेरे पापाजी और मैंने मिल कर फैसला किया है कि भविष्य में हमारे ना रहने के बाद भी हितेश तुझे किसी भी तरह तुझे परेशान न कर सके.

उसका एक हाथ मेरी जांघों को सहला रहा था, तो दूसरा मेरे निपल्स को मसल रहा था, मैं आंखें बंद करके दबी आवाज में सिसकारियां भर रही थी. सुधा ने ताना मारते हुए कहा- कलमुंही तू मिलने देगी तब न प्यास बुझ पाएगी. फिर हम उठे और कुछ देर गंगा नदी के किनारे टहलकर वापिस आ गए। अब कुछ बातें करने से मैं और रितिका आपस में खुल चुके थे.

हमने मिलने का प्लान बनाया और मैं एक हफ्ते बाद उससे मिलने पहुंच गया. मैं भी उसकी गोद में बैठ कर उसके लंड को अपनी चूत के छेद पर सैट कर रही थी. उसकी गांड चुदाई के बाद हम एक दूसरे की बाँहों में लेट गए और एक दूसरे को चूमते रहे.

एक्स एक्स एक्स न्यू बीएफ

अब मैं भी उस घर में कभी नहीं जाऊंगा, अगर उस गांव आया भी तो सिर्फ अपनी बंध्या डार्लिंग से मिलने आऊंगा. मैंने हां कहा और हम दोनों एक चादर में आ गए और ऊपर से एक और चादर डाल ली. अब मैं उसको जोर-जोर से चोदने लगा और वो भी अजीब-अजीब आवाजें अपने मुंह से निकालने लगी, बोलने लगी- बहुत अच्छा लग रहा है जान … मुझे ऐसे ही चोदते रहो … मैं तुम्हारी रानी हूं।फिर मैंने उसको उठा दिया और घोड़ी बनने के लिए कहा.

ऐसी कोई हीरोइन नहीं जिसको चोदने के बारे में मैंने नहीं सोचा हो, चुदाई की बातें करना मुझे बहुत पसंद था.

जब उसकी नाइटी के अंदर से उसका बदन बाहर निकल कर आया तो मैं उसको देखता रह गया.

फिर उसने मेरे हाथ पकड़कर पीछे की तरफ खींचे और मेरी गांड की चुदाई शुरू कर दी. पहली बार किसी ने मेरी गांड चाटी थी और मुझे काफ़ी अच्छा भी लग रहा था. बुड्ढे लोग का सेक्सी पिक्चरफिर मिसेज पाटिल बोलीं कि सच में जो मिसेज रॉय ने कहा था, तुम उससे भी अच्छी चुदाई करते हो.

मैंने भैया की तरफ नजर डाली, तो भैया ज्यादा दारू पीने और सुबह से होली की थकान के कारण सोफे पर ही लुड़क कर सो गए थे. मैं भी बेशरम होकर बोला- तुझे तो मैं जिस दिन यहाँ आया था उसी दिन से चोदने की फिराक में था पर रिश्तों का लिहाज कर रहा था. सुबह तक उसकी हालत इतनी खराब हो गई थी कि वो सही से चल नहीं पा रही थी.

मेरा पूरा बदन अब कांपने लगा और मैं अपने मुँह से ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ की आवाज निकालने लगी. वहां भी मैंने दांतों से काटा तो वह कराहने लगी- आअह्ह उई ऊह्ह्ह मह्ह मर गयी … मार डाला … अअअ प्लीज प्यार से करो … काटो मत … दर्द होता है!और उसकी कराहट से मेरे जोश और बढ़ जाता.

मेरे मन में चूत के प्रति जो जिज्ञासा थी मैं उसको पूरी तरह से शांत कर देना चाहता था.

तू पलंग पर बैठी होगी औऱ तेरा पति तेरा पास आएगा और तेरा घूंघट उठाएगा, तेरा गाल चूमेगा. मैं चाहती हूँ कि आप अपने सजेशन्स मुझे जरूर बताएं ताकि मैं अपनी चुदाई के और भी रंगीन किस्से आपको अच्छे से एक्सप्लेन कर पाऊं. अब मैं बोला- भाभी, आप ये क्या कह रही हो?भाभी बोली- ज्यादा बन मत … तूने रेनू का नम्बर मांगा है ना … भैया ने बताया था कि उसको नम्बर दे दियो, वो हर काम करता है … और रेनू ने भी बताया था कि दीदी तेरी शादी में मेरी सुहागरात ही गई … तेरे पति के किरायेदार के लौंडे ने क्या चोदा था.

ब्लूटूथ सेक्सी एचडी वीडियो पायल ने मुस्कुराते हुए मेरा चेहरा पकड़ते हुए कहा- हां जीजू मैं भी आप ही की हूँ. लेडी मेरा औजार पकड़कर हिलाने लगी और अंकल का औजार मुँह में लेकर चूसने लगी.

ऊषा ने थाली में खाना परोस कर मामा जी के रूम में पहुंचा दिया और हम लोगों के सामने भी खाना थाली में सजा कर रख दिया. तो उस लड़के ने रिया के बाल पकड़ कर खींचे और जैसे ही रिया ने चिल्लाने के लिए मुँह खोला, उसने पूरा का पूरा लंड उसके मुँह में पेल दिया. कुछ ही देर में भाभी की चुत के बाल बिल्कुल साफ हो गये, चुत एकदम गुलाबी चमक रही थी जिसमें से पानी रिस रहा था.

देहाती सेक्सी बीएफ देहाती बीएफ

अचानक मैंने हाथ उसकी सलवार के अन्दर डाल कर पहले पेंटी के ऊपर से उसकी चूत पर हाथ फेरा. मैं- ये बता मजा आया कि नहीं?वो- मजा तो बहुत आया, पर अब जलन हो रही है, शायद मेरी चूत छिल गयी है. चाची भी देर ना करते हुए वहीं फर्श पर लेट गईं, मैं भी 69 में लेट गया और उनकी चूत के पास मुँह ले गया.

कॉलेज की पढ़ाई पूरी करके मुंबई में मेरी नौकरी लग गई तो मैं घर जाने के बजाए सीधे मुंबई चला गया. उसने कहा कि इतना लेट रिप्लाई क्यों किया?मैंने उसे सब बताया कि मैंने उसका मेल देखा ही नहीं था.

मैंने उसकी जीन्स के अंदर ही उसकी गांड को सहलाना शुरू किया और वह मज़े से मेरे लंड को चूस रही थी.

मैंने 3 जून के लिए मम्मी से पहले ही बता दिया था कि मुझे और मेरी सहेली को सतना जाना है. सबको ऐसी भाभी … नहीं, बीवी मिले, जिससे हर आदमी दूसरी औरत के बारे में सोचेगा ही नहीं. आपको तो पता ही है, जब किसी की कोई नयी नयी गर्लफ्रेंड बनती है, तो जोश अलग ही रहता है.

मसाज को गति देने के बाद मैंने धीरे से उसकी पैंटी को भी नीचे सरका दिया और उसकी जांघों के साथ साथ उसके कमर की भी मसाज करने लगा. मैं बार-बार उसके घर के पिछले आंगन की तरफ देखता रहता था, लेकिन वहां भी दिखाई नहीं दी. मैंने हल्की सी आवाज में ‘आई लव यू गुलाबो’ कहा और बोला- आपको मालूम नहीं है कि मेरी क्या हालत है.

हम दोने की ही पता भी नहीं चला कि मैंने कब गुलाबो को नंगी कर दिया। सिर्फ नथ रहने दी.

बीएफ चोदा चोदी वाला दीजिए: अमीषी ने पत्थर देखा तो वे नीचे भाग गई, मैं भी डरा कि अब बुला के लाएगी किसी को. फिर उसने मुझसे पूछा- ये बताओ तुम अभी कहां पर हो?मैंने कहा- मैं तो अभी काम कर रहा हूँ।उसने कहा- तो एक काम करो, कि मेरे घर पर आ आजो, हम साथ में बैठकर कॉफी पीते हैं और इस बहाने मैं तुम्हारा शुक्रिया अदा भी कर दूंगी.

कल्पना- हां तो आर्यन जी, आप कुछ बताओ अपने बारे में!मैं- जैसे? आप क्या जानना चाहती हैं मेरे बारे में?कल्पना- कुछ भी जो आप बताना चाहें. जैसे ही कोई मजबूत लंड मेरी चूत के लिए मिलेगा, मैं उसके साथ अपनी चूत चुदाई की कहानी आप सभी के सामने पेश करूँगी. उसके बाद अनुष्का ने मेरा लंड अपनी चूत से निकलवा दिया और अपनी गांड को उठाकर मेरे मुंह की तरफ कर दिया.

मेरे लंड की लंबाई 5 इंच है, पर मैं किसी भी लड़की को पूरी तरह से संतुष्ट कर सकता हूँ.

मैं- ठीक है, आप निराश नहीं होंगी, पर उसके लिए आपको भी कुछ करना पड़ेगा. फिर भी मैंने खुद को संभालते हुए कल्पना से पूछा- आप क्या चाहती हैं?कल्पना- ये कैसा सवाल है आपका कि मैं क्या चाहती हूँ? मैं क्या चाहती हूँ आपसे … ये आपको मालूम है और आपको और मेरे लिए कुछ करने की जरूरत भी नहीं है. बहुत छोटी उमर से ही सेक्स का ज्ञान हो गया था मुझे … और अपने लंड को पकड़ कर मूठ मारने की आदत पड़ गई थी, हर लड़की को देख कर मैं उसके नाम की मूठ मारता था.