भोजपुरी भोजपुरी सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी पिक्चर बताएं इंग्लिश

तस्वीर का शीर्षक ,

चोर पुलिस गेम डाउनलोड: भोजपुरी भोजपुरी सेक्सी बीएफ, रानी इतने ज़ोर से स्खलित हुई कि झड़ने से ज़रा पहले बदहवास होकर, चूतड़ उछाल उछाल के उसने बेड हिला के रख दिया.

एकदम खुल्लम खुल्ला सेक्सी वीडियो

दअरसल वो पढ़ने में बहुत होशियार थी और मैंने उसको काफी हेल्प की, इसके चलते वो मुझसे काफी इम्प्रेस हो गई थी. सेक्सी वीडियो देहाती केमैंने भी देर ना करते हुए उसे सीधे लेटा दिया और उसकी दोनों टांगों को चौड़ा कर दिया.

इधर ज्योति का मुँह मेरे लंड के ज्यादा मोटा होने के कारण दर्द करने लगा तो ज्योति ने मेरा लंड अपने मुँह से निकाल दिया और जोर जोर से हाँफने लगी. एक्स एक्स एक्स ऑल वीडियो सेक्सीभाभी- तो मेरे लिए भी एक सेक्स टॉय (डिल्डो) मंगवा दोगे?उन्होंने ये बहुत ही धीमी आवाज में मुझे बोला, जैसे उन्हें डर लग रहा था कि कोई उनकी आवाज सुन न ले.

रंजीत बोला- भाभी, धीरे से नहीं जाएगा आपकी चुत भी बहुत टाइट है और एक लंड पहले ही आपकी चुत में घुसा हुआ है.भोजपुरी भोजपुरी सेक्सी बीएफ: आख़िर मैंने उसको ना बोला क्योंकि मुझे नहीं पता था कि वो मेरे साथ कैसा सलूक करेगा.

फिर 3 दिन बाद उनका पति दोपहर को निकल गया और शाम तक वो अपने बेटे को भी अपनी माँ के यहाँ छोड़ आईं.मैंने देखा कि दरवाजे में जरा सी झिरी थी, उसमें से देखा तो मॉम एकदम नंगी होकर फव्वारे के नीचे बैठी हुई अपनी चूत में उंगली कर रही थीं.

सेक्सी पिक सेक्सी वीडियो कॉम - भोजपुरी भोजपुरी सेक्सी बीएफ

उन्होंने पैकेट खोला और सेक्स टॉय देखते ही हल्की सी हंसी उनके सारे चेहरे पे फैल गई.उनकी सामने की दो हेडलाइट्स (स्तन) काफी उभरी हुई थीं, जैसे वो मुझे आमंत्रण दे रही हों कि इसी को खाने के लिए ही तो तुम्हें दावत पे बुलाया गया है.

मैंने अपनी पेंट की पॉकेट में इस तरह से छेद कर रखा था कि कैमरे से आपा की फिल्म बन जाए. भोजपुरी भोजपुरी सेक्सी बीएफ इतना सुनते ही तुरंत दिनेश अपना लंड मेरे मुँह के पास करके मेरे होंठों में अपना लंड रगड़ने लगा और घुसाने लगा.

मैंने उनको देख कर अगले 5 मिनट में लंड को चुदाई के लिए तैयार किया और उसकी बेटी की चुत पर रख कर डाल दिया.

भोजपुरी भोजपुरी सेक्सी बीएफ?

उसका नतीजा निकला कि लंड का अगला हिस्सा चूत में समा गया और मेरी चूत से खून निकलना शुरू हो गया. फिर मैंने धीरे से व्यवस्था बनाकर अपना हाथ उनकी मैक्सी के अन्दर डाल दिया और चाची की चूचियाँ दबाते हुए उनके निप्पल खोजने लगा. तभी भाईजान ने भी अपने लंड को बाहर निकाला और फिर एक तेज़ शॉट के साथ लंड की मलाई को मेरी चूचियों पर गिराने लगे.

मैंने धीरे से आंटी के कान में कहा- आंटी आप पूरी नंगी हो गई हो, मुझे भी नंगा कर दो ना. जब आर्थर अपनी सबसे प्रिय नताशा की गांड को अपने ढपाल लंड से टहोकने लग गया. राज बोला- अच्छा चल अंदर आ… नहीं तो कोई देख लेगा!यह सुन कर मैं घबरा कर एकदम से अंदर चली गई.

अब तक आपने पढ़ा कि मेरे जिस्म के खरीदार अशोक ने मुझे चोद दिया था और अब वो मुझे कुसुम की सच्चाई बता रहा था. बहुत खुजली मचती है इसको, बहुत आग है कमीनी में, आज तो अपने लंड के अमृत से इसकी प्यास बुझा ही दो. आप कितनी गन्दी गालियां लिखते हैं कहानी में… सिर्फ लिखने के लिए या असल ज़िन्दगी में भी गालियां देते हैं आप… कई गालियां तो मेरी समझ में भी नहीं आईं… और भी कुछ बातें समझ नहीं आईं.

एक काम कर गाड़ी निकाल, घर जाकर दो घंटे एक एक टेबलेट लेकर सोएंगे तो सब नार्मल हो जाएगा. मेरी बड़ी बहन सोनिया बड़ी ही चुदक्कड़ थी, वो बहुत से लड़कों से चुदवाती थी और उसका चक्कर मेरे अंकल से भी था.

मुझे शुरु से ही आंटी और भाभियों को चोदना पसंद है, आज मैं आप को अपनी गर्लफ्रेंड की मां की चुदाई के बारे में बताऊंगा.

मैंने अपना मुँह उसकी चूत पर रखा और अपनी जीभ उसकी चूत के अन्दर डालने लगा.

पजामे के नीचे से उसकी सुन्दर, साटिन सी चिकनी टाँगें देख कर मेरे भीतर तूफान आ गया. आप लोगों को मेरी कहानी पसंद आई या नहीं, मुझे मेल करें, मेरी मेल आईडी है. अभी एक महीने की ट्रेनिंग पर बंगलुरू गया है, वापस आयेगा तो शायद नोएडा ही रहना पड़ेगा।”और मान लीजिये कोई मेडिकल इमर्जेंसी हो जाये तब?”पड़ोसी ही काम आयेंगे, थोड़े बहुत काम या वक्त जरूरत के लिये पड़ोसियों से बना के रखनी पड़ती है और उनकी उम्मीद भी बनी रहती है।”उम्मीद.

तो मैंने पूछा- क्या देख रहे हो?तो वो दोनों बोले- आपकी चुदाई की क्सक्सक्स वीडियो देख रहे हैं. उसको बिंदु ने सिखा दिया था कि चुत को जितनी देर तक चाटा जा सके, उतना चाटा करो. भाबी मुझे जोर जोर से किस करने लगीं और मेरे होंठ चूमते हुए काटने सी लगीं.

यारो, इन हसीन तरीन पांवों को तो मैं चौबीसों घंटे सहला सहला के चाटता रहता, तब भी मेरी नियत न भरती.

फिर अपनी जीभ से उसकी दोनों जांघों के दरमियान वाला नाज़ुक हिस्से को हल्के हल्के चाटना शुरू किया. यदि ना करता तो सच में बहुत पछताता भी, सो जब उसके साथ सेक्स किया तो मज़ा भी बहुत आया. सगाई हो गयी तो अम्मी अब्बू ने बुलाया और कहा- बेटा आमिर, नूरी खाला से तो तुम मिल ही चुके हो, एक जरूरी काम से तुम्हें नूरी खाला के पास कश्मीर जाना होगा, उनका बहुत जरूरी काम है हम शादी बीच में छोड़ कर जा नहीं सकते और वहाँ जो खाला कहें, वह हमारा हुक्म मान कर पूरा करना.

मैं तुझे इसलिए समझा रही हूँ क्योंकि मैंने भी एक छोटे और पतले लंड से सील तुड़वाई थी और कसम से मुझे पहली बार में थोड़ा ही मजा आया था लेकिन जब मैंने दूसरी बार चुदवाया तो उस आदमी का लंड बहुत ही बड़ा और मोटा था, जिसने शुरू में मुझे बहुत दर्द दिया, पर बाद में बहुत मजा भी दिया. मुझे उसी दल्ले का फोन आया कि होटल के कमरा नंबर 213 में जाकर ग्राहक से मिलो. उसके बाल खुल के बिखर गये थे और उसका सुन्दर गुलाबी मुख काले बालों के बीच जैसे पूनम का चन्द्रमा हो, उसकी भरी भरी पुष्ट जंघाओं के जोड़ पर मध्य में उसकी फूली हुई चूत जिसे वो दोनों हाथों से खोले हुए मेरी ओर लाज भरी आंखों से मन्द मन्द मुस्कान सहित देख रही थी.

मुझे बहुत अजीब लग रहा था कि मुझे पहली बार दो के साथ सेक्स करना पड़ रहा है.

तो दोस्तो, कैसी लगी मेरी फैमिली में बने सेक्स रिलेशन की कहानी?मुझे इमेल से अपने विचार बतायें![emailprotected]. अन्नू मेरे पास आकर मेरे होंठों पर किस करके बोली- क्यों एकता, कैसी लगी हमारे घोड़े की राइडिंग??एकता ने कहा- यार अन्नू, इतनों से चुदवा चुकी हूँ.

भोजपुरी भोजपुरी सेक्सी बीएफ वो अपने हाथों के नाखून मेरे पीठ पे गड़ाने लगीं, जिसके कारण मुझे दर्द भी हो रहा था, लेकिन उस समय उस दर्द का भी अपना मजा था. जब उन्होंने दो दो तीन तीन पैग पी लिए तो एक दोस्त बोला- यार भाबी को क्यों भूल गए… उसभी तो यह अमृत पिलाओ.

भोजपुरी भोजपुरी सेक्सी बीएफ जैसे ही मैंने अभिलाषा के नाजुक और नर्म उँगलियों वाले हाथ पकड़े, मेरा 8 इंच का लंड मेरे लोअर में तन कर खड़ा हो गया. मैंने जैसे तैसे अपने आप को संभाला और दोबारा अपनी आंख किवाड़ की दरार से लगा कर अन्दर का नज़ारा देखने लगा.

मैंने डॉक्टर को समझाना चाहा।आप निश्चिन्त रहिये…” उन्होंने मेरी ओर देखते हुए कहा- मुझे कुछ नहीं होगा, मेरे लिए यह कोई नयी बात नहीं है, आप दरवाज़ा खोलिये.

योगा दाखवा

लालजी ने मेरी पीठ को चाटते हुए मेरे मुँह के सामने अपना लंड ला दिया. फूफा जी बोले- तो कोमल… तुमने मेरी इज़्ज़त बचाने के लिए अपनी इज़्ज़त लुटा दी. तुम्हें मज़ा आया?उसने मेरे माथे को चूम कर कहा- मुझे भी बहुत मज़ा आया.

फिर मैंने उसको उठाकर टेबल पर बैठा दिया, तभी मेरी नज़र सिल्क चॉकलेट पर पड़ी. तो अब जरूरी कंस्ट्रक्शन” तैयार था!नताशा सब कुछ समझ कर चेहरे पर मीठी मुस्कान के साथ उस कंस्ट्रक्शन” पर झुक गई, पहले बारी-बारी दोनों लंडों को चूसने लगी. मधु अब तक अपनी टांगें फैला चुकी थी, राज अपना लंड अपने हाथ में पकड़ कर मदु के ऊपर लेट गया, मधु ने राज के लंड को हाथ में लेकर अपनी चुट के ऊपर रखा ही था कि राज ने एक शॉट मार कर मधु की कमर को अपनी ओर खींच लिया और राज का लंड मधु की चूत के अंदर चला गया.

मेरी तो जान निकल गयी क्योंकि जो लण्ड के ऊपर जो खाल थी, वो अचानक से नीचे रगड़ खाते हुए निकली… मैंने उसको बाहर निकालने को बोला और फिर से बैठने को कहा।पर मैंने सोचा कि जब मुझे इतना दर्द हुआ तो इसको क्यों कुछ नहीं हुआ.

उसके देखते ही सुनील हड़बड़ा गया और शीतल हंसने लगी!शिवानी का मुँह लाल हो गया था, गुस्से से वो उठी और मम्मी को कस के थप्पड़ मार दिया और बोली- साली छिनार, यहाँ साड़ी पहन के सती सावित्री बन के क्यों बैठी हुई है?और इतने में सुनील उठा और बोला- तुम ठीक कह रही हो शिवानी, इस साली को नंगा कर के सिटी में घुमाना चाहिए. अब उसका लंड पद्मिनी की जांघों के बीचों बीच था, उसने खुद पद्मिनी की दोनों जांघों को थोड़ा उठाकर अपने लंड को बीच में डाला और ऊपर उसने पद्मिनी की चोली को ढीला करके उसकी नर्म नर्म रुई जैसी, छोटी सी नाज़ुक चूचियों को सहलाना शुरू किया. फिर एक बमपिलाट धक्के से पूरा लंड उनकी बच्चेदानी तक चोट करता हुआ घुस गया.

उन्होंने ब्रा पेंटी कुछ नहीं डाल रखा था नीचे तो जल्दी से नाइट वाला जम्पर और सलवार उतार दी. अन्नू और डॉली ने तो मुझे रखा ही इसलिए है कि जब वो चाहें अपनी चुत और गांड की सेवा मेरे लंड से करवा सकें. अपने दूध बुरी तरह मेरे सीने से ऐसे रगड़ रही थी कि उसके निप्पल को बाकायदा मसलाहट मिलती रहे, साथ ही मेरी जांघ पर इस तरह अपनी योनि टिका कर पैर इधर-उधर करके बैठी थी कि आगे-पीछे हो कर उसे भी रगड़ देती रहे।मैंने भी उसे रगड़ने में भरपूर सहयोग दिया।नज़ारा काफी कामोत्तेजक था जो नितिन के लिये हाहाकारी था.

मधु और उसके यार की चुदाई मेरी आंखों के सामने घूमने लगी, राज के लंड को देखने के बाद सेक्स की मेरी इच्छा और बढ़ने लगी. मैं बाहर आ गई और बोली- अरे लाल जी, तू कब आया?वह छोटा सा बैग लिए था, उसने उसे रखा और बोला- अभी बस चला ही आ रहा हूं वन्द्या.

इतने में घंटी बजी तो पूजा बोली- आप टॉवल लपेट कर वेटर से ट्रे ले लो. तभी फिर से मैंने अपना लंड बिना निकाले पूरा बाहर खींच लिया और दुगुनी ताकत से एक जोरदार धक्का लगा दिया. तो उसका बापू धीरे धीरे, बिल्कुल आहिस्ते आहिस्ते पद्मिनी के ऊपर से चादर को हटाता गया.

जब मैंने उसे मेरे प्यार का इज़हार किया तो उसने भी हाँ कहा… लेकिन सब कुछ पहले ही जैसा था.

जिससे उनके लघु भगोष्ट स्वतः ही खुल गये और स्वर्ग का द्वार दिखने लगा. तो दोस्तो, इसके बाद भी मेरे पास बहुत सी बातें हैं जो मैं आपको इस कहानी पर आपके विचार जानने के बाद बता दूँगा. जब भाभी को नीचे उतारा तो मैंने कहा- भाभी ब्रा भी उतार दूँ?वे बोली- जो करना है कर लो, बस मुझे दर्द से आराम दिला दो.

मैं चाची को चुदाई करते वक्त कहता हूँ कि आपके मम्मों में जो दूध आएगा, वो आधा मेरा होगा. उसने मुझसे पहले खेल शुरू करने का कहा तो मैंने उससे अपनी चुदास जाहिर करते हुए पहले एक बार सेक्स करने करने की कह दी.

उसके बाद हम घर आ गए और जब भी मौका मिलता मैं उनके घर जा कर भाभी की चुदाई करता रहा. भाभी मेरे वीर्य को पी गईं और मेरे पूरे लंड को चाट चाट कर साफ़ कर दिया. उनकी फैमिली में हस्बेंड वाइफ और उनकी मदर थीं, जो भाभी जी की सास थीं.

मीनाक्षी का सेक्स वीडियो

मैंने अपनी वाइफ से बोला- साली… कितने लंड लेगी अपनी चुत में… एक लंड ने तो तेरी चुत फाड़ दी.

मैंने ओके कहा और वो मेरे पैरों के बीच में आ कर जोर से लंड चूसने लगी. अब तक की सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि पद्मिनी के बापू ने रात को उसकी चूत में उंगली डाल कर चैक कर लिया था कि उसकी बेटी अभी कुंवारी है. वो भी चाची की बात सुनकर मज़ाक में बोली- हां आंटी, आज तो ये हॉट लग रहा है.

यहाँ तक कि उसने बापू के आधे लंड को अपने मुँह में ले लिया और चुसकने लगी. रजिया को यकीन नहीं कि ऐसा होता है, इसे करके ही दिखा देते हैं।”ठीक है।”उसने झट से कुर्ता उतारा, ब्रेसरी तो रात में पहनती ही नहीं थी और फिर झुक कर सलवार और पैंटी भी उतार दी।हाय. रेखा वाली सेक्सीपर आप लोग अभी देखना बहू कैसे हंस हंस कर मजे मजे ले ले कर चुदतीहै इसी लंड से.

मैं आपके लन्ड को मसलती रही और सोच रही थी कि किसी दिन मौका मिले और आप मुझे चोदो. मेरी सेक्स कहानी के पहले भागकोलकाता में भाभी ने दिलवाई दो और चूत-1में पढ़ा कि कैसे मेरी भाभी ने अपनी पड़ोसन कुंवारी लड़की हिमानी की चूत का जुगाड़ मेरे लिए किया.

अपने चुचों के मसलने से मॉम एकदम मस्ती से भर उठीं और ज़ोर ज़ोर से सीत्कारने लगीं- आाह. मैंने पीछे से उनकी ब्रा खोल दी तो भाभी ने अपने दोनों हाथों से अपने स्तनों को ढांप लिया. कुछ देर बाद उस डॉक्टर ने कोई चीज़ डाल कर उसकी चुत को चौड़ा कर दिया, फिर उसमें इस तरह से झाँकने लगा बिल्कुल करीब आकर जैसे लगे कि वो ना सिर्फ मुँह मार रहा है बल्कि उसमें घुसने की भी चाह रखता है.

मैं झुका और उसकी दोनों टाँगों को बॉडी से चिपका कर उसे कमर से पकड़ के बेड से उठा लिया. बीच बीच में मैं उनके कानों के निचले भाग यानि कान की लौ को अपने दांतों से काट देता तो उनके मुँह से हल्की सी सिसकारी निकल जाती. वो पजामे में हिलते हुए लौड़े को देख कर मुस्कुरा भी देती, मुझे पता था वो अब लाइन पे आ रही है.

फिर पापा उंगलियों से अपने वीर्य को मेरे मुंह में डालने लगे, मैं धीरे-धीरे उनका सारा रस चाटने लगी.

वो मुझे गाली देने लगीं- बहन का लौड़ा साला, क्या कर रहा है? मेरी जान लेगा क्या?नीचे उनकी चुत में बर्फ थी, लेकिन वो पसीने से लथपथ थीं. इसके बाद रंजीत अपना लंड मेरी वाइफ की चुत में डालने लगा और मेरा फ्रेंड वाइफ के पीछे आकर अपना लंड मेरी वाइफ की चुत में डालने लगा.

दस मिनट बाद लंड निकाल के देखा तो उस पर खून के थोड़े से कतरे लगे हुए थे. ”पूजा के जाते ही भाभी बोलीं- कब से चल रहा है ये सब?मैंने सच सच कहा- भाभी ये पहली बार है. मैंने भी अपने लंड पर हाथ फेरते हुए कहा- हां, आपको इतना ख्याल तो रखना ही चाहिए, जो मैं कहूँ वो आप करो.

मैं उसको उठा कर बाथरूम में ले गया वहाँ उसके साथ नहाया और फिर उसने वहाँ भी मेरा लंड चूसा. 5 मिनट की चुदाई के बाद मेरा निकलने को हुआ, मैं बोला- अंकल मेरा निकल रहा है, कहाँ निकालूं?तो वो बोले- अंदर ही निकाल दे यार… थोड़ा सूकून मिलेगा!फिर मैंने भी चार पांच जोरदार झटके मारे और अंदर ही निकाल दिया और अंकल के ऊपर ही लेट गया. हम दोनों उस जगह पर पहुँच गए, जैसे ही वहाँ पहुँच कर देखा, वहाँ का नजारा कुछ और ही था.

भोजपुरी भोजपुरी सेक्सी बीएफ हम दोनों लोग जोर जोर से चुदाई करने लगे और मुझे कभी कभी थोड़ा दर्द होने लगता था, तो वो मुझे किस करने में लग जाता था और मेरी चूची को चूसने लगता था. मैंने कहा आप घबराओ नहीं मैं तुम्हारे बदन की दवा वाले तेल से मालिश कर देता हूं.

छम छम गाना

आपको हम सगे भाई बहन की चुदाई की कहानी पढ़कर मजा आ रहा है ना?तो प्लीज़ मुझे ईमेल करें. कुछ देर कंधे को चूमने के बाद, मैं उनकी पीठ की तरफ आ गया और उनकी पीठ को चूमने लगा. इसलिए मैं घर के पीछे वाले दरवाजे की तरफ गयी और वहाँ का दरवाजा खोल दिया और हम दोनों लोग पीछे वाले दरवाजे की तरफ गए और एक दूसरे को किस करने लगे.

हम दोनों ऐसे पड़े थे मानो जिस्म में जान ही न हो, वो सारा समय कितनी तेजी से गुजरा कुछ पता ही नहीं चला!मेरे चेहरे पर मंजू को भोगने की खुशी थी! तो मंजू भी देख देख शरमा रही थी. अपने बेटे के विवाह से मैं बहुत खुश था कि चलो घर में एक बेटे के साथ एक बेटी भी आ गयी. सेक्सी 4 सेक्सी फोटोसुकन्या की चूत से काम रस बह निकला और उसे चाटने को मेरी जीभ लालायित हो उठी … मैं उसकी चौड़ी हुई टांगों के बीच बैठ गया और अपनी जीभ चूत के मुहाने पर रख कर सड़प सड़प सड़प करके चूत चाटने लगा … चूत की मादक गंध ने मेरे अंग अंग को उत्तेजित कर दिया.

पर मैंने कहा- दीदी तुमने भी तो मेरा देख लिया है, अब तुम मेरे सामने ही कपड़े बदल लो.

मुझे अपने द्वारा लगे जा रहे धक्कों से ज्यादा आर्थर द्वारा उसकी गांड में मारे जा रहे धक्कों का अनुभव हो रहा था, मुझे उसके नताशा की गांड में मारे जा रहे धक्के चूत में स्थित अपने लंड पर भी महसूस हो रहे थे. अभी बैठी थी तो उसके चूतड़ों के आकार का नाप सही से समझ नहीं आ रहा था, पर मेरा अंदाज था कि इसके चूतड़ भी भरपूर मटकते होंगे.

लेकिन मैं ऐसा कुछ नहीं कर सकती थी, मैं फिर उन दोनों का चोदन देखने लगी. दस मिनट की चुदाई के बाद बड़ी चाची ने छोटी चाची को जोर जकड़ लिया और अपने दाँतों को भींचने लगीं. चूँकि मना तो मैंने किया था ना!उन्होंने तो शायद जगह भी ढून्ढ ली थीं.

अगले ही कुछ पलों में हम दोनों में मानो होड़ सी लग गई थी कि कौन किसके कपड़े पहले उतारता है.

तो मैंने बहू के मम्में फिर से पकड़ के उन्हें कस के दबाना शुरू किया और उनका पेट चूमता हुआ नाभि में जीभ घुमाने लगा. लालजी ने मेरी पीठ को चाटते हुए मेरे मुँह के सामने अपना लंड ला दिया. फिर मनोरमा ने उसमें से वो ही दोनों ताज़ा टुकड़े उसके सामने उठाकर खा लिए और बाकी के उसे खाने को बोला.

सेक्स फिल्म एचडी सेक्सीपहले मैंने पूछा- आने में प्रॉब्लम तो नहीं हुई?वो बोली- नहीं बस मुझे डर लग रहा है. फिर उसने बोला- क्या आप कभी मुझसे मिलने आ सकते हो?यह सुनकर मैं तो खुशी से झूम उठा और उसको हाँ बोल दिया.

भोजपुरिया ब्लू पिक्चर

अब मैंने उसको एक बार फिर से घोड़ी बनाया और उसकी चूत को किस करने के बाद उसकी गांड को किस किया. फिर बोली कि आपको मैं कितनी खूबसूरत लगती हूँ?तो मैंने कहा कि इतनी कि बस देखता ही रहूँ. मुझे फिर अजीब तरह का लग रहा था, तकलीफ होने लगी तो मैंने एक धक्का मार कर उसे नीचे उतारा मगर साली फिर से मेरे ऊपर चढ़ने के लिए पागलों की तरह करने लगी मगर मैंने उसे चढ़ने नहीं दिया.

मेरी सहेली के भाई का लंड इधर उधर झूल रहा था और मैं उसके लंड को पकड़ कर ऊपर नीचे करने लगी. उनको मैं शुरूआत से ही मतलब अपनी शादी के बाद से ही पसंद करता हूँ क्योंकि वो मेच्यूर फिगर की औरत हैं और मुझे मेच्यूर उमर वाली औरतें बहुत पसंद हैं. बस एनल सेक्स को छोड़ कर।कहानी कैसी लगी, यह ज़रूर बताएं। मेरी मेल आईडी है.

मैंने भाभी के निप्पलों को जीभ से टुनयाया तो भाभी हंसने लगीं और कहने लगीं मत करो. जैसा कि मैंने बताया कि उस टाइम में मैंने काफी लड़कियों को प्रपोज़ किया था और सबने मेरे प्रपोजल को रिजेक्ट कर दिया था. हम किसी दिन का इंतज़ार करने लगे जब घर पर कोई न हो और हमारे पास खुला टाइम हो!तो वो दिन तो नहीं आया.

वो लंड डाल कर कुछ देर रुक जाता था और बिना हिले डुले लंड को चुत में घुमाता था… जिससे चुत को बहुत मजा आता था. शायद वो भी जान गया था कि मैं क्या चाहती हूँ इसलिए वो भी हवस भरी निगाहों से मेरी ओर देखने लगा।एक दिन वहां बाहर बालकनी में मेरे कपड़े सूख रहे थे तो मैंने देखा कि खिड़की में से वह मेरी पैंटी और ब्रा को हाथ में लेकर सूंघ रहा था और फिर चला गया।फिर एक दो दिन बाद मैंने देखा कि मेरी ब्रा और पेंटी कोई चुरा ले गया.

मैंने कहा- क्या बोल रहे हो?मुझे जवाब मिला कि बहुत ज्यादा बनने की कोशिश ना करो, जो पासपोर्ट आया है ना.

वही तो मैं कह रही हूँ कि कैसे भी नहीं घुस सकता, मुझे उल्लू न बनाओ। बड़े होशियार बनते हो।”अरे बाबा, तेरे सवाल का जवाब ही दे रहा हूं, जो पूछ रही थी कि कपड़े क्यों उतारे। यह ऐसे नहीं घुस सकता, जब तक अहाना की मुनिया में चिकनाई न आ जाये।”और वह कैसे आयेगी?” मैंने संशक स्वर में कहा।ऐसे!” कहने के बाद राशिद अहाना पर लद गया और उसे सहलाने लगा. di वीडियो सेक्सीमैंने पूछा- आप ही प्रेरणा जी हैं?उसने कहा- नहीं मालकिन अन्दर हैं, आप आइये. बेटी की चुदाई की सेक्सीउसने मेरे होठों को पूरा चूस लिया था और अपने हाथ मेरे चूतड़ों पर मसल रहा था. एक बात समझ लो, जो काम हमें दिया जाता है, उसके लिए तो वो लोग किसी से पांच हजार देकर भी करवा सकते हैं.

मैं सीधे उनके घर में चला गया और देखा आंटी नहा कर सेक्सी नाइटी में बाथरूम से बाहर निकल रही हैं.

पूजा बड़ी खुश थी क्यूंकि उसे भी आज दमदार लंड मिल गया था और अंकुश की बेज़्ज़ती करने का मौका भी. मैंने- इसके लिए पैसे भी बहुत लगते हैं और वैसे भी मैं बॉडी मसाज करके ही खुश हूँ. मैंने तब कहा कि ठीक है, मैं इस रात को कहीं नहीं जा सकती मगर कल सुबह ज़रूर चली जाऊंगी.

खैर, मुझे यह बेहद पसंद हैं और यह मेरी पसंद के मुताबिक हैं।”मुझे भी देखने दे. मैं पूरी तरह से आश्वस्त होने के बाद चाची जी के करीब आ गया और उनके चूचे ब्लाउज के ऊपर से ही दबाने लगा। चाची का कोई नहीं हुआ तो मेरी हिम्मत बढ़ी. बापू के लंड को चूसते हुए एक अजीब सा अलग सा मज़ा आ रहा था, जो उसने पहले कभी नहीं महसूस किया था.

लेडीज चेस्ट

तीनों जल रहे थे अंदर वाले दोनों केवल काम की आग में जल रहे हैं तो मैं बाहर खड़ा दिल-दिमाग और लिंग तीनों से जल रहा था।अब मालिक ने मैडम को बेड पर सीधा लिटा दिया और मैडम कीयोनि पर चुंबनकरने लगे, वह कभी उसे चूमते तो कभी उसे चाटते; मैडम नीचे से अपनी कमर उठाती कभी लहरा रही थी तो कभी अपनी दोनों टांगों में बुड्ढे को दबा लेती. मुझे आज पूरी उम्मीद हो गई थी कि रानी की चुत में मेरा लंड भी घुस जाएगा. क्या हो रहा है यह सब?” मैंने हाथ छुड़ाते हुए थोड़े तेज स्वर में कहा।उसने घबरा कर इधर-उधर देखा.

चलते चलते एक बहुत लम्बी चुम्मी ली, रानी की चूचियां थोड़ी सी निचोड़ी और थोड़े से नितम्ब दबाये.

एक दिन मेरी नानी की तबीयत बहुत खराब हो गई और मम्मी को उनके पास जाना पड़ा.

आने के बाद पहले दारू पी, फिर खाना खाया और उसके बाद लैपटॉप पे रोमांटिक गाने सुनने लगा. भाभी ने गुस्सा होते हुए कहा- ये तुमने क्या आम आम लगा रखा है, अभी तक तो मैंने उसको खाया भी नहीं है. हिंदी सेक्सी वीडियो भाई बहन केआप बेशक मुझे अपना वह दोस्त समझ सकती हैं जिससे आप पूरी सेफ्टी के साथ जैसी चाहें बात कर सकती हैं।”मैं नहीं समझ पाती.

फिर लौड़ा पकड़कर उसकी चुत के छेद पर तेजी से धकेला तो लगभग 3 इंच लंड घुस गया. साथ साथ ऊपर पद्मिनी के चेहरे पर देख रहा था कि उसकी क्या प्रतिक्रिया होगी. अब अगले दिन मैंने पूछा- आप मुझे पसंद करती हो?उन्होंने बोला- अगर न करती तो किस करने देती?अब प्यार को आगे बढ़ाने का सिर्फ मौका चाहिए था.

उसने इसी का फ़ायदा उठा कर अपना लंड मेरी चूत में घुसेड़ना शुरू कर दिया. मेरी भाभी सेक्स स्टोरी के पहले भागभाभी के जिस्म की चाहत-1में आपने पढ़ा कि कैसे मैंने अपनी किरायेदार भाभी को पटा कर चोदने के चक्कर में था.

मैंने एक हाथ उसके सलवार में डाल दिया और उसकी चूत में उंगली करने लगा.

पर मेरा मन उसकी बॉडी पर टिका था, वैसे भी मज़ा तो लंड को देने और चुत लेने दोनों में ही आता है. मैंने पहले तो उन पर ध्यान नहीं दिया क्योंकि मैं अपने काम में ही बहुत व्यस्त रहता था. जितनी जल्दी वो मेरे लंड को चूसतीं, उतने ही अन्दर में अपनी जीभ घुसेड़ देता.

सेक्सी चला कर दिखाएं लेखिका: दिव्या रत्नाकरसम्पादिका एवं प्रेषक: तृष्णा लूथरामेरी हॉट स्टोरी के दूसरे भागसास विहीन घर की बहू की लघु आत्मकथा-2में आपने पढ़ा कि मेरी एक सहेली मुझे अपने प्रसव के समय क्या हुआ, बता रही है. काजल दीदी मेरा सारा बीज गटक गईं और मेरे लंड को उन्होंने तब तक नहीं निकाला, जब तक मेरा लंड फिर से खड़ा नहीं हो गया.

एक दिन मैंने उनसे पूछ लिया कि आपका कोई बॉय फ्रेंड है?तो उन्होंने मेरी इस बात पर जरा भी गुस्सा नहीं किया और मुझे बताया कि उनका कोई बॉय फ्रेंड नहीं है. मैं उसके एक दूध को चूसने लगा वो मेरे सिर पर हाथ घुमाते हुए दूध पिला रही थी और अपने हाथ से मेरे लंड को सहला रही थी. उनकी पतली कमर और हिलती हुई बड़ी बड़ी चुचियों को देख कर किसी का भी पानी निकल जाए.

बेटे ने मां की चूत चोदी

वो मुस्कुराई- इतना मत सोचना, प्यार ना हो जाए कहीं अपनी बहन से ही!मैं भड़क गया- तुम मेरी बहन नहीं हो!वो हँसने लगी- ओह, लगता है मैंने कुछ ज़्यादा ही तड़पा दिया दिन में… मेरे पास आओ!मैं बेड से उठ कर उसके पास गया. मैंने कहा- ये नई बात है मुझे मालूम ही नहीं था कि मर्द के वीर्य से औरत के मम्मे दोगुने खूबसूरत हो जाते हैं. बापू के लंड को चूसते हुए एक अजीब सा अलग सा मज़ा आ रहा था, जो उसने पहले कभी नहीं महसूस किया था.

(मतलब की उसको कुछ पैसे बोनस के रूप में देने के लिए जाने के लिए सोचा)मैंने यह सब बिंदु को बताया तो वो कुछ सोचने लग गई. मेरे दिमाग में वही पुरानी बात हथौड़े की तरह बज रही थी कि शाहिद भाई और शाजिया अप्पी इसी जगह नंगे पकड़े गये थे।और आज मैंने राशिद और अहाना को पकड़ा था.

उनकी सलवार समीज चुस्त थी, तो शरीर की सारी बनावट साफ साफ समझ में आ रही थी.

अगर 3-4 दिन उसकी गांड नहीं मारता था तो वो तो कहने लगती थी कि सुनो जी, मेरी गांड खुजा रही है, आज इसमें ही डाल दो. कुछ ही मिनट बाद मैंने दीदी की स्कर्ट को उतार फेंका और वह अब मेरे सामने सिर्फ पेंटी में ही रह गयी थी. जैसे ही मैंने अपनी एक उंगली उनकी चूत में डाली, उन्होंने आह की आवाज के साथ अपना मुंह खोला, मैंने अपनी उंगली बाहर निकली और अब दो उंगली साथ में डाल दी.

अब तक की चुदाई की कहानी में आपने पढ़ा था कि चंदर ने मेरी चूत को भोसड़ा बनाने में कोई कसर नहीं छोड़ी थी, जिसके बाद मैंने बिंदु से चंदर को घर से बाहर भगाने के लिए कह दिया था. मामी फड़फड़ाकर बोलीं- अबे मादरचोद, मार डाला! बाहर निकाल जल्दी से!और मुझे अपने हाथों से धक्का देने लगीं. जिसका इंतजार मुझे बरसों से था, वो घड़ी आ गई थी तो मुझे कुछ सूझ नहीं रहा था.

जब मैं ड्यूटी पर होता तो देर रात तक उससेफोन पर सेक्सी चैटकरता था और बहुत ज्यादा बात भी करता था.

भोजपुरी भोजपुरी सेक्सी बीएफ: फिर मैं मसाज करते करते पेट से होते हुए चूत तक आया और चूत के आस-पास तेल लगाकर मसाज करने लगा. मेरे सामने वाले फ्लैट में एक परिवार रहता है, जिसमें एक महिला सदस्य और उसके सास-ससुर रहते हैं.

तो वो बोली- जब मैं यहां आ कर बैठी तो तुमको पढ़ते देख कर मुझे भी कुछ हुआ. उनकी पकड़ मेरे पीठ पे कमजोर होती जा रही थी, लेकिन उनके पैर अभी भी मेरे शरीर को जकड़े हुए थे. कॉलेज से आकर दिन में मैं मेरे 2-3 जोड़ी कपड़े लेकर नवल के घर चला गया.

फ़ोन पर तो मैं कम ही बात करता था, पर व्हाट्सैप पर दिन भर उनके साथ ही रहता था.

अभिलाषा जब खड़ी हुई तो वह टाँगें चौड़ी करके बाथरूम जाने लगी, वीर्य उसकी टांगों व पटों पर से होता हुआ बाथरूम तक फर्श पर टपकता हुआ गया. एक में एक दर्शक ने हमें सौ रूपए बतौर इनाम दिए और ओम प्रकाश से मुखातिब होकर कहा- तुम दोनों तो बिल्कुल टी वी सिनेमा के कलाकार सा नाचते हो! ओम प्रकाश, इन्हें तैयार कर इनका शहर में प्रोग्राम करवा।हमारा शो चार पांच दिन इसी तरह शाम को चला, हम मस्ती करते, टाइम पास होता. मैंने कहा- जागृति आंटी, मैं अपनी जिंदगी में पहली बार चुदाई कर रहा हूं, मुझे पूरे मजे लेकर चुदाई करनी है, मैं आज आपको बहुत चोदूंगा, चोद चोद के आपकी चूत फाड़ दूंगा.