लड़की और कुत्ता के बीएफ

छवि स्रोत,हिंदी सेक्सी 16 साल की लड़की

तस्वीर का शीर्षक ,

सनी लियोन एचडी बीएफ: लड़की और कुत्ता के बीएफ, मैंने जाकर देखा तो ये वही डॉक्टर था, जो कल शाम को मुझे चोदने की नजर से देख रहा था.

राजस्थान राजस्थान सेक्सी वीडियो

थोड़ी देर टीवी देखने और इधर उधर की बातें करने के बाद आंटी ने मुझे एक कमरे में सुला दिया. एक्स एक्स बांग्ला सेक्सी वीडियोलेकिन भाभी की प्यास अभी नहीं बुझी थी और वह भैया को दूसरी बार लेने को कह रही थी.

दोस्तो, अब मैंने ठान ली कि शनिवार को मम्मी की अय्यासी जरूर देखूंगा. भोजपुरी सेक्सी वीडियो जबरदस्तीक्या आप चाय नहीं पिलायेंगी।वो डरी हुई थी, बोली- सर हां!मैंने कहा- पहले आप आराम से बैठिए और पानी पीजिए.

हम दोनों ने उसके बाद कुछ मिनट तक गांड चुदाई का मजा लिया और अब झड़ने की बेला आ गई थी.लड़की और कुत्ता के बीएफ: अपने लंड पर मम्मी का हाथ महसूस करते ही मेरे मुँह से ‘आआ … आअह आआअह …’ की आवाज निकल पड़ी और मैंने मम्मी की दोनों चूचियों बहुत जोर से मसल दिया.

अभय- क्या हुआ मुस्कुरा क्यों रही हो बहना?अब वो भी थोड़ा खुलने लगा था.भाभी बहुत दिनों से चुदी नहीं थीं जिस कारण से लंड ने चुत में घुसने से मना कर दिया.

नवरात्रि दुर्गा पाठ - लड़की और कुत्ता के बीएफ

उसकी आहें निकलने लगीं और वो मुझसे प्यार से न जाने क्या क्या कहते हुए बड़बड़ाने लगी- ओह माय लव यू आर सो स्वीट … आह मुझे मालूम ही नहीं था कि तुम मुझे मीठी करके चोदने वाले हो.मैंने उसे छेड़ा- क्या रात वाली बात याद आ रही है अफ़रोज़?अफ़रोज़- आपा रात की तो बात ही मत करो.

तू मुझे उसकी चूत दिलवा, रुपये 10000 तेरे!चाची खुश हो गई- अरे वाह साब, इतनी मेहरबानी! लगता है आज मुझे खुद ही आपको अपनी गांड देनी होगी।तोमर साब बोले- हाँ हाँ क्यों नहीं, जब तक तेरी गांड न मार लूँ, साला लगता ही नहीं के किसी रांड को चोदा है।उसके बाद तोमर साब ने चाची को कहा- चल घोड़ी बन!चाची बड़ी खुशी से तोमर साब की तरफ पीठ करके घोड़ी की तरह बन गई. लड़की और कुत्ता के बीएफ कुच्ची- अबे यार, तू आ जाता तो वो मना नहीं करती … बस थोड़ा नखरे दिखाती और मान जाती.

उसके बाद वो दोनों चीज़ें उन्होंने साइड में टेबल पर रख दीं और मेरे पास बेड पर आकर लेट गये.

लड़की और कुत्ता के बीएफ?

मैंने बेडरूम की खिड़की से दोनों को बाहर जाते हुए देखा तो चैन की सांस ली और नाईटी पहनकर किचन में चली गई. मेरी मम्मी की उम्र भी उस वक्त ख़ास ज्यादा नहीं थी, कम उम्र में शादी हो जाने के कारण वो सिर्फ 36 साल की ही थीं और उनका फिगर भी बहुत मेंटेन था. वो मेरी चुप्पी देखती हुई बोलीं- कोई जवाब तो दो?फिर मैंने हिम्मत करके कह दिया कि मैं आपको लाइक करता हूँ.

कुल मिला कर बहूरानी की जवानी, उनके तन के जानलेवा उभार, गहराइयां, घाटियां और चोटियां किसी हर किसी के तन मन में हलचल मचाये हुए थीं. हम सबको शाम को ही हॉस्टल से निकलना था क्योंकि हम सबको सुबह जल्दी से जल्दी बस के पास एक गेस्ट रूम में पहुंचना था. की दूरी पर ही था।काम काफी तेजी से हो रहा था और समय भी बीतता जा रहा था।दो महीने बाद एक दिन मैं मृणालिनी के घर अचानक से पहुंच गया।तब उसके घर पर कोई नहीं था.

दूसरे दिन मैं सुबह घर से ये कह कर जल्दी निकल गया कि मुझे जरा काम है, मैं उधर से ही ऑफिस निकल जाऊंगा. डॉक्टर बोला- देखिए मुझे कल छुट्टी नहीं है … और दूसरे डॉक्टर एक सप्ताह बाद आएंगे. मैंने साहिल के लंड में आग भरते हुए कहा- और तेज़ तेज़ उछल … साली कुतिया छिनाल … रंडी.

उनकी समीज उतरने और रमेश के पीछे से आकर उनके चूचों को सहलाने तक की पूरी फिल्म कैमरे में बन चुकी थी. जब मैं नहाने बाथरूम में गया तो देखा कि वहां रीना के कपड़े पड़े हुए थे.

रोज़ तो मैं काउंटर के पिछले दरवाजे से जाकर पर्चा लेती थी … लेकिन आज मेरी चुल्ल ने मुझे ऐसा करने को मजबूर कर दिया था.

जीवन में मैंने बहुत लौंडिया चोदी थीं लेकिन ऐसी अरबी घोड़ी कभी नहीं मिली थी.

जैसे ही मैं अन्दर आया तो बोलने लगी- बात क्यों नहीं कर रहे हो?मैंने जबाब दिया- मैं अपना रूम शिफ़्ट करने वाला हूँ … इसलिए टाइम नहीं मिला. फिर एक हफ्ते के अन्दर ही मेरे पति ने मेरी गांड मार कर उसे भी खोल दिया था. कुछ देर तो शहज़ाद ने मेरे चुचे रगड़े, लेकिन जब ये पाया कि मैं सो गई हूं.

ममता- क्या जब?अभय- जाने दो ना यार, कुछ बातें परदे में रहें … तो ही अच्छा है. फिर मैं मेन काम पर आया और मैंने एक ही झटके में उसकी ब्रा पैंटी उतार कर अलग दी. तो मैं उसकी चूत सहलाने लगा।जितनी तेजी से मेरे हाथ उसकी चूत सहला रहे थे उससे ज्यादा तेजी से मेरा लंड उसकी गांड में चोट कर रहा।हम दोनों अपने अंत बिंदु के बहुत करीब आ गये थे और कभी भी झड़ सकते थे।तभी नीतू ने चीखते हुए कहा- यस्सस … यस.

ममता- तो अपनी ही छोटी बहन को ब्रा पैंटी में देखने की इच्छा है आपको?अभय मुस्कुराते हुए बोला- तुम्हीं ने तो पूछा.

दोस्तो, मेरी देहाती विधवा मां की वासना इतनी अधिक बढ़ चुकी थी कि वो अपनी चुत रगड़ने लगी थीं. मैंने देखा कि एक हाथ मेरे अंडरवियर के अन्दर है और मेरे लंड से खेल रहा है. मैं बोली- अब क्यों थैंक्यू!वो मेरी चूत की तरफ इशारा करते हुए बोला- मेरे स्पर्म को अपनी इस प्यारी चूत में लेने के लिए.

क्या बताऊं दोस्तों वो ब्रा और पैंटी की पिक धीरे धीरे कब ट्रांपेरेन्ट ब्रा और पैंटी में बदल गयी और न जाने कब दीदी के पिक एकदम न्यूड पिक में बदल गए, पता ही नहीं चला. दोनों एक दूसरी से कुछ कहती, फिर एक दूसरी को चिढ़ा कर हंसने लगती।मैं नहाने के लिए बाथरूम में घुस गया. उसने मेरी दीदी की नंगी गांड, अधनंगी चूचियों, पतली चिकनी कमर … सबकी फोटो अपने कैमरे में कैद कर ली थीं.

बहूरानी भी जैसी किसी प्रेमातुर प्रेमिका की तरह शर्माती हुई मेरे करीब आई और मेरे गले में अपनी बांहों का हार पहिना कर मेरे सीने से लग गयी.

ये कह कर वो अपने कमरे में गया, तो रीमा निखिल के कमरे पहुँच कर बेड पर लेटी उसके आने का इंतज़ार कर रही थी. मैं- अच्छा यह बता कि जब मैं तेरा लंड हिला रही थी तो तू अपने ख़्यालों में किसकी ले रहा था?अफ़रोज़- आपा शर्म आती है … मैं बाद में बताऊंगा.

लड़की और कुत्ता के बीएफ लेकिन दोस्तो, मेरी कमज़ोरी … उसकी गांड के वो दोनों खरबूजे मुझे ललचा रहे थे, मेरा लंड खड़ा था. पर जैसे ही वो साड़ी उठाकर टॉयलेट करने के लिए बैठीं कि एक गाड़ी वहां से गुज़री और उसकी लाइट मामी की गांड पर पड़ी.

लड़की और कुत्ता के बीएफ बहूरानी ने पुनः मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत की दरार में किसी चुदक्कड़ औरत की तरह बेशर्मी से रगड़ा और टोपे को चूत के ठीये पर रख कर कमर जोर से उछाल दी. फिर से मैंने लंड मुँह से निकाल दिया तो वो बोले- लंड को मुँह में ही ले लो, तभी ये शांत होगा.

राज्य में हमने ये अफवाह फैला दी थी कि अगले दिन हमारी सेना सबका कत्लेआम करने वाली है.

सेक्सी हिंदी में ब्लू वीडियो

मैंने लंड को थूक लगाया और उनकी गांड में अपना लंड पेल दिया और जोर जोर से दीदी की गांड मारने लगा. एक दिन हम दोनों को कंपनी के काम से दो दिन के लिए हैदराबाद जाना पड़ा. उसकी बुर चाटते वक्त मेरी नजर उसकी छोटी सी गांड पर चली गई और मेरा मूड बन गया.

भाभी उन दोनों के बीच में पड़ी हुई मीठे दर्द से भरी हुई कामुक सिसकारियां ले रही थीं. तो मित्रो, अब उमर के हिसाब से तो ये शादी ब्याह की जिम्मेवारी संभालना, समाज में आना जाना, तो अब मेरे बेटे अभिनव की जिम्मेवारी बनती है. हम दोनों ने दस मिनट तक फ्रेंच किस किया और फिर हम दोनों ने एक दूसरे को ‘आई लव यू.

और मैंने अपना लहंगा ऊपर को उठाया और पैंटी नीचे सरका के धीरे धीरे अपनी चूत को सहलाना भी चालू कर दिया था।मेरे मन में खयाल आ रहे थे कि क्यूँ ना आज मैं अपनी हद से आगे बढ़ जाऊँ। किसी को पता नहीं चलेगा.

इससे पहले कि मैं कुछ बोलता, अंकल ने उससे कह दिया- तुम चलकर लेट जाओ, ये थोड़ी देर के बाद आ जायेगा. माउथ सेक्स कहानी मेरी मौसी की जेठानी के साथ सुहागरात का रोलप्ले करते हुए किये ओरल सेक्स की है. मैंने धन्यवाद कहने के लिए फोन किया तो बोलीं- किस बात का धन्यवाद, विजय साहब.

नगमा मेरे लंड से निकले हुए पानी को चाट चाट कर बोली- बाप रे … हिना ने क्या लड़का पसंद किया है … तेरे लंड का पानी भी चॉकलेट के जैसा है. इस तरह से मीरा ने रीमा को अपनी बातों के जाल में उलझा लिया और निखिल के जोर देने से रीमा मान गयी. मैंने बोला कि हां बताइए … क्या काम है?उसने बोला- मैं अभी आया हूँ और आप प्लीज़ मेरी बीवी को जल्दी दिखवा दीजिए.

जैसे ही थोड़ी सा लंड अंदर गया, वह चिल्लाने लगी- ऊई ऊईई आहहह मर गई बचाओ बचाओ मर गई ऊईई ईईईई आह हहह सीई ईईईई मर गई!मैंने लंड रोक दिया और उसके दोनों कबूतरों को मसलने लगा. मैंने उसे मस्त होते देखा तो लंड बाहर खींच कर फिर से एक जोर का झटका दे दिया और इस बार मैंने अपना पूरा लंड राजकुमारी कृति की बच्चेदानी तक पेल दिया.

मैंने पूछा- मुठ मारी या प्राची की मारी?ये सुनते ही उसके सुर बदल गए और वो आप से तुम पर आते हुए बोला- अच्छा तुझे ये भी मालूम है … मतलब साली सपना रंडी, तुझे सारा खेल का पता है. लम्बी और ज़बरदस्त गांड चुदाई के बाद शहज़ाद ने सारा वीर्य मेरी गांड में छोड़ दिया. देसी आंटी सेक्स कहानी में पढ़ें कि मौसी की जेठानी की चूत चाटकर भरपूर मजा देने के बाद मैंने उसे मेरा लंड चुसवाया.

दीदी की इस तरह की भाषा सुनकर मुझे समझ आ गया था कि वो आज चुदने के पूरे मूड में हैं.

मैंने कहा- ओके तुमको जब भी मेरा लंड चूसने का मन हो, मुझे बोल देना मेरी जान मैं उसी वक्त हाजिर हो जाऊंगा. अब तक उसने लंड को पैंट की जिप से निकाल कर चूसा ही था लेकिन पूरा खोल कर नहीं देखा था. अब तो आलम ये हो चला था कि वो पर्सनली मुझे अपनी हॉट इमेज भेजने लग गयी थीं और मैं खुल कर उनकी तारीफें किया करता था.

लेकिन ये सब ऐसे नहीं, हम लोग पहले शादी करेंगे … फिर एक दूसरे के बनेंगे. मैंने थोड़ा होश संभाला और इससे पहले देर होती, पूनम बुआ के ब्लाउज के बटन खोल दिए.

अचानक से चाची ने मेरे लंड को पकड़ लिया और थोड़ा हिला कर उसमें करेंट डाल दिया. मैंने जल्दी ही उसे पूरी नंगी कर दिया और बिस्तर पर लिटा कर उसकीचूत चाटी. उसके घर वाले भी जानते हैं।मैं सोच में पड़ गयी- इतना बड़ा धोखा?इतने में ही सुन्दर ने मेरी साड़ी खींची और मैं घूमती गई.

चुम्मा चाती वाला सेक्सी

इसीलिए चाची मेरे सामने अपने पल्लू को सम्भालने में ज्यादा ध्यान नहीं देती थीं.

ममता मुँह फाड़े अभय को देख रही थी- मैं नहीं मानती … आप सफेद झूठ बोल रहे हो, ये इम्पॉसिबल है. तेरा मालिक हूं और तू रंडी है मेरी, मेरी रखैल बन कर रहेगी तू आज से, तुझे मैं मेरे दोस्तों से भी चुदवाऊंगा. मैंने वासना से उसे देखते हुए कहा- तू मेरी कुतिया रंडी है … आज बड़ी मस्त सजी है … आज तो मैं तुझे जरूर चोदूंगा.

मैंने तुरन्त पैंट की जिप खोली और उसका हाथ पकड़कर अपने खड़े लौड़े पर रख दिया. मां उन रंडियों को देख कर मुझसे पूछने लगीं- बेटा ये हम कैसी जगह आ गए हैं … यहां तो कोई सिनेमा हॉल भी नहीं दिख रहा है!मैंने बोला- मां वो सामने जो बड़ा सा हॉल है न … हमें वहीं चलना है. सेक्सी वीडियो बड़ी बड़ी चूची वालीअहमद तो ज्यादा होली खेलते नहीं हैं और वैसे भी उस दिन उनकी जरूरी मीटिंग थी, सो वो चले गए.

कुछ देर बाद जब मां ने कोई हरकत नहीं की तो मैं अपने पैर को भी मां के पैरों पर रख उनका पेटीकोट और ऊपर सरकाने लगा. मैंने शन्नो को चूमना शुरू कर दिया और उसके होंठों पर लंड फिराने लगा.

वो मुझसे लिपट गई और हम दोनों एक दूसरे के विश्वास को प्यार में बदलने लगे. जब जीजा जी मेरी चुचियों को दबाते तो हल्का दर्द तो हो रहा था, पर मजा भी बहुत आ रहा था, इसलिए मैंने उन्हें नहीं रोका. ताबड़तोड़ चुदाई हुई और मैंने दीदी की चुत में अपने लंड का शीरा टपका दिया.

बहार के ऊपर झुकते हुए मैंने उसकी चूचियां पकड़ लीं और ठोकर मारकर लण्ड को उसकी बुर के अन्दर धकेला. थोड़ी देर बाद मैंने शन्नो को लंड से उठाकर बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी चूत में लंड घुसा कर गपागप गपागप अन्दर बाहर करने लगा. मेरे जीजू या वो डॉक्टर … या मेरे पति के वो दोनों दोस्त या गौतम या वो डिलीवरी बॉय.

जब मेरी हथेली उनकी चूत के एरिया में पहुंची तो मैंने पाया कि बहू ने पैंटी तो पहन ही नहीं रखी थी.

पूरा दिन मुकेश पास नहीं आये।अगली रात आई। सोचा आज बेशर्म होकर खेलूंगी, इनके तनाव को अपनी अदाओं से लाऊंगी।आज सेक्सी नाइटी पहनकर कमरे में गई।मुकेश फिर पीकर आये थे।मैं बड़ी अदा से उनके करीब गई और उनके सीने पर हाथ फेरते हुए बोली- जान इतनी मत पीओ, कल भी आप बेहोश होकर सो गए।उनकी आंखों में झांकते हुए मैं बोली- मेरा नशा करो ना … एकदम ताज़ा नशा है।वो मुझे भी पिलाने लगे तो मैंने मना कर दिया. उसकी चुदाई से मेरी चुत ने रस छोड़ दिया था और मैं एकदम से निढाल हो गई थी.

मैं फ़लक का नाम सुनते ही रोमाँचित हो उठा और पूछा- क्या तुमने उससे बात की थी?यामिना- जी, उसको मैंने जाते ही बता दिया था, फ़लक बहुत खुश थी. मेरे रसीले मम्मों को देखकर उसने सीधे अपने होंठ मेरे बूब्स की गली के बीच में लगा दिए और अपनी जीभ और होंठों से मेरे उभारों को चूमने और चाटने लगा. मैं गांड उठाते हुए बोली- आह राजू … सच में प्राची और आपकी बीवी इतना मस्त आनन्द अकेली ही उठा रही थीं.

प्यासी गरम औरत की सेक्स कहानी में पढ़ें कि पार्क में सैर के वक्त एक सेक्सी भाभी से मेरा नैन मटक्का हुआ. और अपने पांव ऊपर उठा कर मेरे लंड के सुपारे को अपनी झंटियल चूत के खांचे में चार पांच बार ऊपर से नीचे रगड़ कर लंड को अपनी चूत के प्रवेश द्वार पर दबा दिया और हल्के से अपनी कमर को उचकाया. मेरी सास अब मुझसे खुश रहती थी और मेरे ऊपर किसी तरह की पाबंदी नहीं थी.

लड़की और कुत्ता के बीएफ मैंने अपनी आंखों से अपने घर में खेत के कमरे में मां को मामा जी से पूरी नंगी होकर कई बार चुदवाते देखा है. हालांकि मुझे भी यह बात अभी तक पता नहीं चल पायी है कि मैं किसके बच्चे की मां हूँ.

सेक्सी इंग्लिश विदेशी

कुछ देर बाद मैं भी अपनी चरम सीमा पर आने वाला था, मैंने शीना के बाल पकड़े और धक्के लगाकर उसका मुंह चोदने लगा. मैंने बरखा के ड्रेसिंग टेबल से कोल्ड क्रीम की शीशी निकाली और अपने सारे कपड़े उतार कर बेड पर आ गया. दीदी ने अपनी समीज के पीछे से खुलने वाली चैन को खोल दिया और बोलीं- रमेश, मेरे करीब आओ और मेरी समीज के अन्दर हाथ डालो.

इसके साथ ही मैंने मैंगो वाली कोल्डड्रिंक, तले हुए काजू और सोडे की बोतल भी आर्डर कर दिया. वो नहाने चली गयी और उसको भी मालूम चल गया था कि उसकी मां भी उसके प्रेमी के लंड से चुद रही है लेकिन शायद वो भी मेरी मजबूरी समझ कर चुप रही. सेक्सी कैसेउनके मुँह से ये सब इतना खुला सुनकर अब मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा था.

मैंने ब्रा को सरका कर एक निप्पल अपने होंठों में दबा लिया और चूसने लगा.

मैं अपने स्तन खोलकर उनको दूध पिलाने लगी थी और उसी हालत में मैं धीरे से जमीन पर लेट गई. मैंने उन्हें कई मर्तबा ऐसे ऐसे कपड़ों में देखा था कि उन कपड़ों में आंटी की जवानी मस्त छलकती थी.

उसने मुझसे कहा कि तुमको जब भी पैसों की जरूरत हो, मुझसे मांग लिया करो … मैं दे दूंगी. नीता अक्सर हमारे घर आती रहती थी और उससे मेरी मुलाकात भी होती रहती थी. इतना कह कर नेहा ने ममता के कपड़े उतारने शुरू कर दिए ममता भी नेहा को नंगी करने लगी दोनों बहनें मादरजात नंगी हो गईं.

राजेश के माता-पिता बिंदु के बच्चों से प्यार कर रहे थे, जो कि राजेश के ना होकर गोविन्द के थे.

मैं- हां … अह्ह!मैंने अपने बॉक्सर के ऊपर से अपने लंड के उभार को पकड़ लिया और उसकी चूचियों के सहलाने को देखते हुए लंड को सहलाने लगा. फिर जैसे ही अंकल मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगे तो कुछ ही पल में मेरा माल निकलने लगा. जैसे ही मेरी जीभ उसके गुलाबी दाने से टकराती तो शीना आह … हम्म … ओह्ह … ओह्ह करने लगती.

सेक्सी हॉट bfबहू ने भी धक्के लगाना बंद करके मुझे अपने दूध पिलाने लगी, नीचे उनकी चूत से रिसता दूध भी मेरे लंड को नहलाता हुआ झांटों को भी नहला रहा था. मम्मी अपनी चूत की फांकों को अपने दोनों हाथों से फ़ैला कर बोलीं- आ जा साले … चूस ले मेरी चूत को … और बन जा मादरचोद.

हिंदी आवाज में फुल सेक्सी फिल्म

उसके बाद मैडम के साथ मेरी दोस्ती हो गयी और उन्होंने मुझे अपने घर बुलाकर मेरे साथ जिस्मानी रिश्ते कायम कर लिये थे. फिर आंटी ने कॉल कट कर दी और बस मेरे उर्वशी के घर पर रुकने का भी इंतजाम हो गया. शहजाद ने उसे भी अन्दर आने का इशारा किया और उस दिन शहजाद ने मेरी दोनों बेटियों की चुत की सील तोड़ दी.

मैंने दीदी की चूची पीते हुए ही अपना एक हाथ उनकी गांड पर रख दिया और एक चूतड़ मसलते हुए दबाने लगा. मैं भी काफ़ी दिनों के बाद किसी लंड से चुद रही थी इसलिए मैं भी चुदाई का पूरा मज़ा ले रही थी. कुछ देर लंड चूसने के बाद उसने शहज़ाद से अपने साथ अन्दर कमरे में चलने को बोला, तो शहज़ाद भी नंगा ही वहां से निकल गया.

खाने के दौरान ही हमने रिवरफ्रंट पर घूमने का तय किया और खाने के बाद सीधे वहीं चले गए. उस रात मैंने भाभी को तीन बार चोदा और फिर अगले दिन एग्जाम देने के बाद एक बार दिन में चोदा. दो दिन तो ऐसे ही चला, फिर मां ने मुझसे कहा- बेटा, मेरा महीना अब आने वाला है, तो हम कुछ दिन चुदाई नहीं कर पाएंगे.

थोड़ी देर बाद उन्होंने लंड निकाला और मैं घुटनों पर बैठकर लंड को चाटने लगी. वो मुझे चोदने लगा और कुछ ही देर में मैं कूल्हे उठा उठाकर उसका साथ देने लगी।वो जोश में आकर चूत का भोसड़ा बनाने लगा.

आप लोगों ने मेरी सेक्स कहानीसुधा के साथ वो रातऔरहोस्टल गर्ल की चुदाईपढ़कर मुझे आपके हजारों की तादाद में मेल किए और सेक्स कहानी की तारीफ की, उसके लिए आप सभी का दिल से धन्यवाद और आभार.

अब कॉन्डम का जुगाड़ कैसे होगा?फातिमा को मैंने ये बात बताई तो वो बोली- अरे पागल हो गये हो क्या … तुमसे किसने बोला कि मैं तुमसे कॉन्डम के साथ सेक्स करूंगी? मैं तो तुम्हारा बिना कॉन्डम के ही लेना चाहती हूं. हिंदी में सेक्सी सेक्सी सेक्सथोड़ा यकीन करने लगी मुझ पर।अब वो रिश्तेदारों के पास चली जाती थी मुझे छोड़कर।तभी इन लोगों ने सलाह की कि ऊपर के हिस्से में जो लकड़ी का काम होने वाला है, वो अब पूरा करवा लिया जाए।सासू मां बोली- हां, पूरा करवा कर पीछे सीढ़ियां चढ़वा दो और उसको किराये पर दे दो. ब्लू पिक्चर वीडियो में सेक्सी ब्लूइतना पक्का था कि उन आठों में से एक मेरा भाई था, एक मेरे पति थे और एक मेरे जीजू थे. कुछ देर बाद मैंने फिर से शन्नो के बूब्स दबाने शुरू कर दिए और चूसने लगा.

स्टेप मॉम सन सेक्स स्टोरी के पिछले भागसौतेली मां को चुदाई का मजा दियामें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं अपनी मां को भरोसा दिला रहा था कि हम दोनों अपने सेक्स रिश्ते उजागर नहीं होने देंगे.

ऐसे ही दिन बीतने लगे।बहुत मायूस थी मैं!अगर मायके जाने को बोलती तो सभी कह देते- वहीं से तो आई हो, अब हमारा दिल नहीं लगता! यहीं रहो।एक दो बार गई भी इनके साथ और वापस आ जाती।3 महीने बीत गए। मैं कैद होकर रह गई. भाभी ने उसकी डिब्बी से एक सिगरेट सुलगा कर मुझे दे दी और मैं धुंआ उड़ाने लगी. रास्ते में मैंने अपनी हरकतें शुरू कर दीं।ससुर जी जैसे ही ब्रेक लगाते तो मैं अपने बोबे उनकी कमर में गड़ा देती।उत्तेजना के कारण मेरी घुंडियां खड़ी हो गई थी.

मैं- वो कैसे भाभी?भाभी- मेरी तरह ही मेरी सहेली को भी अब ज्यादा दूध के कारण दर्द हो रहा है. मैंने उसी समय होंठों पर बहुत हल्की सी स्माइल ला दी तो वो डॉक्टर नाटक करते हुए मान गया. साथ में उनकी चूचियों की घुंडी चुटकी में दबा कर हल्के दबाव से निचोड़ने लगा था.

दीदी का सेक्सी

मैं किसी और का दूध नहीं पिऊंगा … फिर दूध पीने के बाद मेरा लंड बेकाबू हो जाता है. करीब आधा घंटे का रास्ता तय करके हम दोनों मंजिल पर पहुंच गए जहां शब्बो अपनी गीली चूत लिए कुच्ची के खड़े लंड का इंतज़ार कर रही थी. मैं- चाची अगर आप चाहो तो आप मुझे उससे अच्छा मजा दे सकती हो!चाची कुछ नहीं बोलीं, चुप रहीं.

मैंने उससे कहा कि मुझे क्यों नहीं बताया?वो बोली- उससे तुम्हारा मजा ख़राब हो जाता.

अजय बोला- ऐसे नहीं … मुंह खोलो हल्का सा!मैंने कहा- नहीं।उसने बोला- खोलो तो!मैंने हल्का सा मुंह खोला और फिर अजय ने अपना लंड मेरे होंठों पे रख के दबा दिया।विरोध में मैंने ‘उम्म’ किया पर उसने मेरा सिर पीछे से पकड़ लिया और अपना लंड मेरे मुंह में धकेलने लगा।धीरे धीरे उसका सख्त लंड मेरे मुंह में अंदर तक चला गया और मैं म्म … हम्म … हम्म … कर रही थी क्योंकि मैं उसे निकाल नहीं सकती थी.

मैं- बुआ आपने अपने सामने कैसे उन दोनों को सेक्स करने दिया? एक बार मना तो किया होता. चाची- क्या देखते हो?मैंने उनके मम्मों की तरफ देखते हुए उन्हें बताने की कोशिश की. हॉट सेक्सी बीपी हिंदीमेरे पास मेरा प्यारा भाई सनी रहता था और वो अमित की गैर हाजिरी में मुझे चोदता था.

अब मेरे दोनों हाथ उसकी चूचियों पर थे और उन्हें पकड़ कर मैं जोर जोर से चूत में धक्के मार रहा था. जब बिस्तर पर लेटो, तो पेटीकोट अपने आप आसानी से घुटनों तक आ जाता है और थोड़ी कोशिश से ही और ऊपर आ जाता है. तभी रोहन अंकल ने मेरी मॉम के दूध दबा दिए और उनके कान में बोले- सुन मेरी रश्मि रंडी … आज से तू हमेशा मेरी ही गोद में बैठेगी समझी.

आजू बाजू में रहने वाले लोग भाभी पर बुरी नजर गड़ाए बैठे थे, वो मौके की तलाश में थे कि कब भाभी बुलाए और कब वो अपनी हवस मिटा लें. अब रोहन अंकल ने नया आदेश दिया- सुनो अब तुम सब अपने कपड़े निकाल दो और नंगे हो जाओ.

मां की चूत बहुत गर्म थी और क्योंकि ये मेरी पहली चुदाई थी, इसलिए मैं ज्यादा देर टिक नहीं पाया.

मेरे ऊपर चुदास इतनी ज्यादा चढ़ी हुई थी कि मैं इस बार बहुत जल्दी झड़ गई. तब से लेकर आज तक जब भी टाइम मिलता है, मैं किंजल और सादिका दोनों को चोदता रहता हूं. सबने भोजन पूर्ण किया और शयनकक्ष की ओर चल पड़े, हमारा चुदाई का सिलसिला पुनः चलने लगा.

आदिवासी चुदाने वाली सेक्सी पूनम के पति, बृज को व्यापार में कुछ नुकसान हुआ था और इसीलिए पूनम बुआ थोड़ी परेशान रहने लगी थीं. पहले तो स्वागत हुआ फिर मृणालिनी बाहर चली गयी, वो मेरे लिए बाजार से कुछ नाश्ते का सामान लेने गयी थी.

मैंने उसका चेहरा पकड़कर अपनी ओर करते हुए कहा- साले मैं तुझे लड़की पटाना सिखा रही हूँ और तू मुझ पर ही नज़रें जमाए हुए है!अफ़रोज़- नहीं आपा … सच मैं आपकी चूचियां बहुत प्यारी हैं. प्रिय पाठको, आपको यह औरत की चुदाई कहानी कैसी लगी?[emailprotected]औरत की चुदाई कहानी का अगला भाग:पेट्रोल पम्प पर झगड़े का हसीन फल- 2. वो कभी मेरा लंड अन्दर लेकर चूस रही थी तो कभी सुपारे पर अपने होंठों को फेर रही थी.

सेक्सी हिंदी सेक्सी हिंदी में सेक्सी

मौसी बोली- छुपा मत, मुझे गांव की हर खबर रहती है। अभी बता दे, मैं कुछ कर दूंगी। बड़े घर में नाक मत कटवा देना. कुछ देर रुकने के बाद मामी हम लोगों से मिलकर जब जाने लगीं, तो मेरी मम्मी ने उन्हें रोका. इसी के साथ चाची बहुत जोर से चिल्ला पड़ीं- ऊऊउईई ईईईई … इस्सस्स साले हरामी … आज मारने का इरादा है क्या … मादरचोद कुत्ते निकाल ले अपना लौड़ा … आह मुझे बहुत दर्द हो रहा है भोसड़ी के.

इधर मेरा लंड उसके नाम की सलामी दे रहा था, मेरी समझ में ही नहीं आ रहा था कि मैं क्या करूं. कुछ देर बाद मैंने अपना लंड बाहर निकाल कर उनके सामने लहराना शुरू कर दिया.

कुछ देर बाद मैं भी अपनी चरम सीमा पर आने वाला था, मैंने शीना के बाल पकड़े और धक्के लगाकर उसका मुंह चोदने लगा.

मैं थोड़ी देर रुका और उनके हटने का अंदाजा करके मैं फिर खिड़की के पास आ गया. मेरी देसी गांड चूत चुदाई कहानी में पढ़ें कि घर में काम करने आये मिस्त्री ने मुझे चोद दिया था. अगले दिन दोपहर के बाद वो एक इमरजेंसी के लिए बाहर चले गए तो उसी आदमी ने आज मुझे मीटिंग हाल में बुलवाया जहां वो दोनों डॉक्टर पहले से बैठे थे.

फिर …दोस्तो, मैं आर्यन एक बार फिर से आपको अपनी सेक्स कहानी की मजेदार दुनिया में डुबकी लगवाने हाजिर हूँ. दोस्तो, आपको प्यासी गरम औरत की सेक्स कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके ज़रूर बताएं. मैं झड़ने के बाद अपने लंड को ऐसे ही मां की चूत में डाले उनसे चिपक कर सो गया.

वो कभी टोपे पर जीभ फेरती, कभी लन्ड पर थूक कर उसे हाथों से ऊपर नीचे करती, कभी लन्ड को पूरा अपने गले तक उतारती.

लड़की और कुत्ता के बीएफ: ‘आहह अह ओह याला बचाओ मर गई …’मैंने कहा- साली छिनाल लंड का मज़ा ले भैन की लौड़ी. आधा घंटे बाद उसने कहा- जानू अब आप अपने कमरे में चले जाओ … इधर कोई देख लेगा तो मुझे शर्म आएगी.

मेरी बीवी ने पूछा- लंच का क्या करोगे?मैंने कहा- मैं कैंटीन में खा लूंगा. मेरे चूत में गुलाब जामुन के दाने चले गए थे, जिसके कारण मेरी चूत में दर्द के साथ गुदगुदी भी हो रही थी. उस मस्त लौंडे ने बड़ी नफासत से धीरे-धीरे करके मेरी चूत में लंड डाल दिया.

वह एक पल रुका फिर लंड को मेरी चुत की गहराई तक पेलकर ज़ोर-ज़ोर से चोदने लगा.

फिर मैंने अपने दांत भींचे और अपने हाथ का ढक्कन उसके मुँह पर लगा कर अपना पूरा लंड एक बार में ही उसकी चूत में उतार दिया. आप मुझे कमेंट्स करके बताएं कि आपको मॉम बेटा सेक्स कहानी कैसी लगी?आपका राजू मादरचोद. दस मिनट तक गांड चाटने के बाद मैंने भाभी जी को सीधा करके जैसे ही चुत पर जीभ लगाई, डर्टी भाभी मेरा सर अपनी चुत में घुसेड़ने लगीं.