सब्जी वाली बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ सेक्सी बीपी व्हिडिओ

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ वीडियो लड़का लड़का: सब्जी वाली बीएफ, इसके बाद मेरा स्खलन होने लगा, पेट सिकुड़ने लगा, सर से पैर तक करंट दौड़ गया.

दिवाली का बीएफ

मैंने उसका वेलकम किया और उसे बांहों में भरते हुए उसके गालों पे एक किस कर ली. தெலுங்கு செக்ஸ் பிஎஃப்मैंने संगीता के हाथ को तौलिया से पोंछना शुरू किया और जब हाथ के बाजू को साफ करने लगा तो सूट की बाजू पर लगा कीचड़ तौलिया से साफ नहीं हो रहा था.

जॉय ने कुछ तेल जैसा फ्लॉरा को दिया कि नहाने के टाइम पानी में मिला देना, इससे खुजली में आराम मिलेगा. रानी चटर्जी का बीएफ वीडियोमैंने हँसते हुए उसके मम्मों को दबाते हुए कहा- मेरी रानी, पहली बार थोड़ा दर्द तो होगा ही… लेकिन फिर तुझे बहुत मजा आएगा.

इसी स्थिति में मैंने बहूरानी की चूत में लंड पेल दिया और दस बारह धक्के लगा कर बहूरानी को तैयार किया.सब्जी वाली बीएफ: हमेशा से जिसे सपनों और तस्वीरों में नंगी देखा था आज वो जन्मजात नंगी मेरी नजरों के सामने खड़ी थी.

अब साली मज़ेदार सिसकारियाँ लेती हुई अपनी गांड मेरे लौड़े से मरवा रही थी और मेरी दोनों उंगलियाँ उसकी चूत चोद रही थीं.वो बोला- भाभी! क्या देख रही हो? कभी अपने पति को कच्छे में नहीं देखा?मैं बोली- हट!उसने चाय मेज़ पे रख दी और मेरी कलाई पकड़ मुझे अपनी तरफ खींच लिया और अपनी बाहों में ले लिया.

हाय रानी सेक्सी वीडियो - सब्जी वाली बीएफ

इस बार नेहा ने नीचे कुछ भी नहीं पहना था और वो ज़ल्दी में कपड़े पहन कर आई थी, तो उसने पैंटी और ब्रा नहीं पहनी थी.उसने हाथ में लिया और लंड से बोली- साले उस रात मुझको दर्द देकर खूब मजे लिए थे.

मैंने भैया को आवाज़ दी लेकिन वो उठे ही नहीं तो मैंने उन्हें थोड़ा हिलाया. सब्जी वाली बीएफ मेरा भाई शाहिद कपूर हीरो टाइप दिखता भी है और जिम भी जाने से उसकी बॉडी और गठीली दिखती थी.

एक दिन फ्लॉरा ने रात को अपने हाथ पे मेहँदी लगाई, आज उसका इरादा कुछ और ही था.

सब्जी वाली बीएफ?

मगर ये ऐसे क्यों चल रही है और तेरी आँखें भी सूजी हुई हैं, जैसे पूरी रात जागी भी हो और रोती भी रही हो. सरिता ने अपने नवजात शिशु के साथ एक प्राकृतिक त्रासदी से बच कर निकलने के बाद कैसे अपने जीवन को फिर से स्थापित किया यह जानने के लिए उसी के शब्दों में पढ़िए निम्नलिखित रचना:मेरे अभी तक के जीवन का सबसे ख़ुशी का दिन लगभग आठ माह पहले था क्योंकि तरुण ने वरुण को गाँव के शिशु मंदिर में दाखिल कराया था. चाची अपना आपा खोती जा रही थीं और इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि उन्होंने आँखें बंद किये किये ही मेरे लंड को पकड़ा और उसे जोर जोर से खींचने लगीं.

उसने कहा कि उसकी सलवार का नाड़ा ढीला हो गया है, वह उस को कस आकर बाँधना चाहती है. अब मेरा लंड तुम्हारी चुत और गांड का पति हो गया है और तुम पूरी तरह से औरत बन गई हो. चुत को जीभ से सहलाते हुए फांकों को चाट चाट कर चूसने लगा, जिससे नेहा और सिहर उठी.

वो दोनों बेड पर पहुँच गये मैं खुद ही चली गई अब सैफिना शहज़ाद का लंड एक हाथ से पकड़ कर चूस रही थी और दूसरे हाथ से अपने मम्मे दबा रही थी. मैंने उसे समझाया कि किसी-किसी लड़की को पहली बार ऐसा होता है फिर सब कुछ नार्मल हो जाता है. उसे किस करते-करते कब मेरे हाथ उसके मम्मों पे पहुँच गए, मुझे पता ही नहीं चला.

यश ने मेरी चूची के निप्पल को मुख में लेकर चूसना शुरू किया तो मेरी हालत और खराब हो गई, यश मेरी चूची चूस रहा था और मेरी चूत पानी छोड़ रही थी. दस मिनट के बाद मैंने उनकी साड़ी का पल्लू हटाया और अपने दूध की तरफ बढ़ा.

मैं चुद रही थी, गरम थी, मैं भी उसका एक एक कतरा पी गई और चाट चाट के साफ कर डाला.

मैं उसे एक साल से जानता था, मुझे तो पता था कि उसका मूड कैसे बनाया जाता है.

मैंने अचानक उसका रिएक्शन देखने के लिए अपना हाथ रोक दिया और खड़ा हो गया. अचानक उनकी स्पीड और बढ़ सी गई, कुछ 10-12 झटकों के साथ लगभग चीखते हुए आशीष में मुझे जकड़ लिया और एक जोर का शॉट… और वो मेरे ऊपर गिर पड़े. मम्मी-पापा फिर गाँव गए और वहाँ पता चला कि उसके ससुराल वाले उसे अब रखने को रेडी नहीं हैं तो वो गाँव में ही अपने घर पर ही अपने बच्चे के साथ रहने लगी.

चाची के कहने पर मम्मी ने भी बोल दिया कि हाँ आज हमारे साथ ही सो जा, तेरी चाची इतने दिनों बाद आई हैं और कल वापस चली जाएंगी तो फिर आज की रात आपस में गप्पें मारते हैं. उसने अपनी दोनों टांगें पूरी तरह खोल दी थीं और उसकी चुत के होंठ मेरे सामने थे. वो ये भी समझ गए कि सुमन को लंड का पता लग गया है और अब उसका दोबारा उसको चूसने का मन कर रहा है.

तो सविता भाभी ने अपनी सहेली की मदद करनी ही थी उसके प्रथम यौन-मिलन में, शोभा का कौमार्य-भंग में !कौन होगा वो भाग्यशाली नौजवान जिसे इस अक्षतयौवना को पहली बार भोगने का मौका मिलेगा? क्या वो ज़िम-ट्रेनर? या वो ब्रा सेल मैन? या कोई और?एक दिन शोभा सविता भाभी के घर जा रही थी.

अब बेचारा मॉंटी कहाँ जानता था कि उस दिन सुमन कुँवारी थी और आज ये 10″ का लौड़ा खा चुकी है. थोड़ी देर में जब उसको भी मजा आने लगा तो वो भी बड़े मजे से अपनी गांड मरवाने लगी. सैफिना तो शहज़ाद से ओर चिपक गई जिससे शहज़ाद दो 104 डिग्री बुखार जैसे तपती औरतों के बीच सैंडविच बन गया और वो आह-आह करने लगा.

कुछ दिनों के बाद उनके पति का ट्रांसफर हो गया और वो सिटी से बाहर चली गईं और तब से मैं नई भाभी की तलाश में हूँ. नीता के जवाब से पप्पू का लंड और कड़क हो गया तो वो नीता की एक चूची चूसने और दूसरी को मस्ती से मसलने लगा. मेरी गर्लफ्रेंड पूरी नंगी थी, उसकी माँ ने बेल्ट ले कर मेरी नंगी गर्लफ्रेंड को खूब मारा.

जय बोला- तुम्हारी चुत ने भैया के लंड को खून का टीका इसलिए नहीं लगाया था क्योंकि उनका लंड बहुत छोटा था और तुम्हारी चुत को भैया का लंड पसंद नहीं आया था.

वो बोलीं- तुझे पता है कि तू क्या कर रहा है?मैंने कहा- मुझे बस आप अपना शरीर एक बार फिर दिखा दो. मैंने बोला- अच्छा?एजेंट बोला- तुम्हें तो पता ही होगा कि अगर मॉडल बनना चाहती हो तो कुछ देना भी पड़ता है.

सब्जी वाली बीएफ पप्पू ने रूपा को ये बताया पर रूपा उसकी आँखों में आँखें डाल कर देखती हुई उसका लटकता और तना लंड सहलाती रही, मानो वो कुछ कहना चाहती हो पर शर्म से कह नहीं पा रही हो. होली के दिन सारे लड़के पहले होली खेलना शुरू करते और बाद में लड़कियां और आंटी लोग ज्वाइन करती थीं.

सब्जी वाली बीएफ मैं अपनी भाभी के पास आई, वो मुझे देख रो पड़ी- तेरे साथ जो हुआ दुश्मन के साथ भी ना हो. दीदी की ननद का नाम अंजलि है और वो होशियारपुर कॉलेज में पढ़ती है और वहीं पर रहती है.

चार-पाँच दिनों के बाद जब सुबह मेरी नींद खुली तो देखा की तरुण और वरुण सो रहे थे तब मैंने सोचा की उनके उठने से पहले मैं नहा लेती हूँ.

हाथी घोड़े का सेक्सी

इसके बाद मैं कॉलेज आया हुआ था तो टीचर ने मुझे फोन करके बुलाया कि वो ऑफिस में हैं और उन्हें कुछ काम है. ‘वो कौन है बता तो?’फिर उनके जोर देने पर मैंने उनसे कहा कि अब की बार सीकर आते ही पक्का बताऊंगा. मेरी तो गांड फट गई थी, मैंने कहा- दीदी प्लीज़, मॉम डैड को मत बताना, तुम जो कहोगी मैं करूँगा.

उसने लिखा था कि वो दिखने में भी काफी आकर्षक है और ग्रेजुएशन करने के बाद घर पे ही रहती है. पप्पू का लंड मस्ती से मसलते हुए नीता बोली- अंकल, आपने इतनी औरतों को चोदा है तो आप जानते ही हैं कि हर जवान लड़की को अपना जिस्म मसलवाने का दिल करता है, सब चाहती हैं कि कोई उनकी जवानी की प्रशंसा करते हुए उसके साथ कोई मर्द खेले. इतना सुनते ही अनु ने अपनी पेंट उतार दी और उसके साथ में ही उसका अंडरवियर भी निकल गया.

अब फ्लॉरा मज़े से लंड को चूस रही थी और जॉन उसके मुँह को चोद रहा था.

राजीव ने मेरे हाथों में एक वोदका की बोतल पकड़ा दी और कहा- चल, बन जा हमारी साकी. वो- हां जानेमन, आज तो मैं तुझे ऐसा गिफ्ट दूंगा कि तू पूरी जिंदगी याद रखेगी. दस मिनट की मेहनत के बाद उन्होंने पूरा लंड बुर की गहराई में घुसा दिया और टीना को पता भी नहीं लगा कि उसकी बुर 7″ का लंड निगल चुकी है.

आंटी बहुत खुश हुईं और उन्होंने मुझे 20 हजार रुपए देकर कहा- ये तो तुम्हारी मेहनत के हैं और तुम्हारा किराया भी माफ़. मगर तू घर आने में इतनी लेट क्यों हो गई?सुमन- वो पापा, मैं अपनी फ्रेंड्स के साथ उसके घर चली गई थी. मैंने नताशा का उससे परिचय कराया तो रुस्लान ने उसका हाथ चूम कर अभिवादन स्वीकार किया.

उसकी आँखों से आँसू बहने लगे। मैंने उसके आँसुओं को पौंछा और उससे पूछा- ज्यादा दर्द हो रहा है?तो उसने कहा- मुझे नहीं पता था इतना दर्द होता है. वो बोली- भैया, छोड़ो मुझे!मैंने भी कहा- तुझे चोदना ही चाहता हूँ अनुराधा!बोली- मतलब?तब मैंने उसके टॉप की ओर देखा और फिर उसकी आँखों में देखते हुए उसे होंठों पर किस किया.

पप्पू ने रूपा के मम्मे पहले बच्चे की तरह चूस कर फिर जोश में आकर दोनों निप्पल बारी-बारी चूस कर, चबाते हुए पूरे लाल कर दिए. जब हम कालेज से छूटते थे तब बहुत भीड़ होती थी और यह मुस्टंडे मेरे आगे पीछे होते थे. वो और बोलते हैं कि नीता की माँ सबसे मस्त है, एक साथ उस चुदक्कड़ रांड को चोदना चाहिये, एक आगे से, एक पीछे से और तीसरा उसके मुँह में देना चाहिये.

ममता कोमा में थी और ऐसा कोई रिश्तेदार भी नहीं था, जिसे वो घर बुला सके.

”मेरी बुर फैलती गई, लंड अंदर जाता गया… एक जोरदार असहनीय पीड़ा का अनुभव… कुछ फटता सा लगा, कुछ निकलता सा लगा और फिर पूरा लंड मेरी बुर में!‘उफ्फफ्फ्फ़ अहह ओह्ह ओह्ह उफ्फ…’ गहरी गहरी सांसें लेने लगी. काफी देर के बाद चाची वापस आईं तो मैंने देखा कि उनकी साड़ी और पेटीकोट काफी भीग चुके थे. उसका फिगर 38-30-36 का था और कॉलेज के सभी लड़के उसे पटाने के लिए दिन रात मेहनत करते थे लेकी वह किसी को भाव नहीं देती थी.

उसके सांवली चूचियों पर काले निप्पल देख के मन कर रहा था कि काट के खा जाऊँ. उसके बाद मैंने जैसे ही उनका ब्लाउज उतारा, उनके चूचे बाहर आने के लिए तड़प रहे थे.

अब मुझसे सब्र हो नहीं रहा था, तो जैसे ही हम अंदर पहुंचे, मैंने तुरन्त दरवाजा अंदर से बन्द किया और बेडरूम में जाते ही तुरन्त परीक्षित को धक्का देकर, उनकी कैपरी नीचे की और उनका लंड चूसने लगी, वो मुझे बार बार रुकने के लिये बोल रहे थे पर मैंने उनकी बातों पर कोई ध्यान नहीं दिया. सिर्फ इन 6-7 महीनों में ही मेरा पूरा शरीर भी भर गया, बूब्स का साइज़ दुगुने से भी ज्यादा हो गया मेरे गाल भी अब गुलाबी हो गए. तभी उसने जैसे ही टेबल से दही का डोंगा जो उससे काफी दूर था उठाने के लिए आगे को झुक कर बाजू आगे बढ़ाई, उसका दुपट्टा बिल्कुल नीचे हो गया और शहज़ाद की नज़र सैफिना की छाती में घुस गई.

सेक्सी वीडियो लगातार

सोनिया अब तक वाशरूम में जा चुकी थी और मैं फिर उसके करीब गया और बोला- साली देख, अगर नखरे दिखाने हैं तो साफ़ बोल दे… या सीधे आ जा, मजा ले ले जवानी के… नहीं तो फिर घूमने ही चलते हैं.

अभी तक आपने पढ़ा कि रवि के साथ उसी के घर पर मेरीदूसरी सुहागरात… यार के साथहुई जिसमें उसने मेरी गांडफाड़ चुदाई की. चूस चूस!तभी उसको जोश आया उसने खुद मूठ मारते हुए अपना पूरा माल मेरे होंठों पे डाल दिया और लौड़ा मेरे मुँह में डाल दिया. वो 69 में होकर मेरे लंड को चाटते हुए बोली- तेरा लौड़ा तो मेरे पति के लौड़े से भी बड़ा और मोटा है.

दीदी आपको बाद में बता देंगी ना!टीना- अच्छा, अब तू चल और बता क्या है?दोनों वहां से कुछ दूर जाकर खड़ी हो गईं और सुमन ने टीना से अपने पापा के बारे में बात की. अब वह एक सुन्दर लड़के की माँ बन चुकी है, जिसकी शक्ल बिलकुल मुझसे मिलती है. फर्स्ट टाइम की चुदाईदोनों एक दूसरे को देख कर थोड़े शर्माए और फिर राहुल ने वही मम्मों को दबाना जारी रखा.

लंड पूर्ण विकसित और उत्तेजित अवस्था में था, मैंने उसको सहलाना शुरू किया, आगे पीछे करने पर उनका गुलाबी मुंड मुझे बहुत प्यारा लग रहा था… झुक कर मैंने उसको चूम लिया. मेरी कामुकता का कोई पारावार नहीं, मैं बहुत बड़ी चुदक्कड़ हूँ, जहां भी मेरे काम का मर्द मिले, मैं उसका शिकार कर लेती हूँ.

मैं एक परिपक्व लड़की थी, कुंवारी थी पर भरपूर बदन की मालकिन थी तो आराम से दर्द के साथ आशीष को अपने अंदर आत्मसात कर लिया. उसने कोई विरोध नहीं किया तो मैं अपना हाथ उसकी दोनों जाँघों के बीच में घुसेड़ने लगा. एक गेम खेलने के बाद विवेक ने कहा- यार मुझे प्यास लगी है, थोड़ा पानी मिलेगा.

फ्लॉरा ने सुमन के मम्मों को सहलाना शुरू किया और टीना उसकी चुत को जीभ से कुरेदने में लग गई. उस वक्त मैं उनकी चुचियां चूसने लगा और वो मेरे बालों में हाथ फेरने लगीं और दूसरे हाथ से मेरे लंड को सहलाने लगीं. हमने ऐसा निर्णय इसलिए लिया था कि अगर हम इंकार करते तो उसकी जिंदगी तो ख़राब होती सो होती, बच्चे की जिंदगी तो पक्का खराब होनी ही थी.

विक्रम ने आगे बढ़कर मेरा गाउन उतार दिया। उसने मुझे गोदी में उठाया और दूसरे कमरे में चल दिया… मेरी चुदाई करने के लिये… औरबीवियों की अदला-बदलीका गेम पूरा करने के लिये![emailprotected].

आपको मेरीटीचर की चूत चुदाईकी सेक्स स्टोरी कैसी लगी मुझे जरूर लिखें. सुरेश ने मुझे कहा- रानी, आज के लिए तू द्रौपदी बन जा और हम तुम्हारे पांच पांडव.

यहाँ पर आपको बता दूँ कि ये मेरी वही मौसी की बेटी हैं जिनको मैं मेरी एक पिछली कहानीदीदी की गर्म चूत की चुदाईमें चोद चुका हूँ. अरे पागल वो नसीब वाली होगी, जिसकी चुत का मुहूर्त ऐसे तगड़े लंड से होगा, उसके बाद दुनिया का कोई भी लंड वो आराम से ले सकती है. उसने कंडोम लगाने के लिए निकाला ही था कि मैंने उसे रोक दिया और उसको जल्दी से मुँह में लेने का इशारा किया, समझदार को इशारा काफी उसने मेरा मुँह में नहीं लिया, बस हाथ से हिलाने लगी.

ऑफिस में मेरा बिल्कुल मन नहीं लगा, रह रह कर मुझे पिंकी की कमसिन बुर और टाइट चूची का ख्याल आता रहा. मेरी नग्न चूचियाँ उनके सामने थी जिन्हें मैंने हाथों से छुपा के रखा था. सुमन- हाँ पापा, मैंने भी नहीं सोचा था कि मैं आपका लंड सह पाऊंगी मगर बाद में बहुत मज़ा आया मुझे.

सब्जी वाली बीएफ मैं- तू अपनी चुत तो देख!उसने अपनी चुत को टच की और बोली- ये तो पूरी तरह से भीग गई है और तुम्हारा लंड भी गीला हो गया है. ममता भाभी मेरा सारा वीर्य पी चुकी थी, मेरा लंड सुकड़ कर छोटा हो गया और मैं बिस्तर पर लेट गया.

देसी सेक्सी वीडियो गांव की लड़की की

लंड से माल झड़ जाने के बाद करीब 5 मिनट तक मैं वैसे ही सुन्न होकर खड़ा रहा. लखनऊ पहुँचने के बाद होटल में गए, रूम लिया, सामान रखा और घूमने निकल गए. वो बोला- हिमानी एंजाय दिस मोमेंट यार… पता नहीं फिर कभी टाइम मिले ना मिले…वो ये कह कर मेरी गर्दन को किस करने लगा.

अब मुझे मॉम के चेहरे पर वासना नज़र आने लगी, मैं समझ गया कि वो गर्म होने लगी हैं. रेखा बोली- अमित का अगले वीक एग्जाम है वो घर से नहीं निकलने वाला है. देसी नया सेक्स वीडियोअब हमें चुदाई का ऐसा चस्का लग गया था कि हम लगभग रोज रात में चुदाई करने लगे.

रिया ने हंसते हुए पूछा- मेरी तुम भी हमें ज्वाइन करोगी ना?मेरी ने जवाब दिया- नहीं मैडम, मैं लॉबी में रहकर आपका ध्यान रखूंगी। आप को किसी तरह की जरूरत पड़ी तो तुरंत हाजिर हो जाऊंगी। और मेरा सबसे ज्यादा ध्यान रहेगा कि अगर आप हकदार रही तो आपका कम से काम बिल का आधा पैसा मैं आपको लौटा सकूं.

फिर 15 मिनट गुजर गए तो जय का लंड मेरी चुत में ही फिर से खड़ा होने लगा. तभी नेहा एकदम से बोली- ऐसी बात नहीं है, डरते तो हम किसी लौड़े की झांट से भी नहीं हैं और आप तो फिर जीजू हो, अब बातें मत बनाओ और जहाँ चाहे चले चलो.

इतने में मेरी बुर का पानी निकल गया तो कमल ने तुरंत गाड़ी की सीट को पीछे की तरफ किया और मुझे लिटा कर मेरी पेन्टी उतार दी और मेरी बुर का पानी चाटने लगा. मैं उसी ऐसे खराब रहते हुए शाम को छत पर गया तो वहां नीता और एक दो बच्चे थे. ‘आहहहह… अब ये आग नहीं सही जाती, जल्दी मेरी चूत में डाल दे अपना मुस्टंडा लंड नहीं तो मैं मर जाऊँगी… बहन के लौड़े.

निकाल क्यों लिया आपने?जॉन ने जल्दी से लंड अन्दर किया और रुमाल से वीर्य साफ कर दिया.

मेरी कहानियों और मेरे कमैंट्स से प्रभावित होकर किसी शनाया नाम की लड़की ने, जो इसी मंच की एक पाठिका है, ईमेल के द्वारा मुझे यह कहानी भेजी है. चाची अभी तक सिर्फ ब्लाउज और पेटीकोट में ही थीं और बहुत सेक्सी लग रही थीं. उसने मेरे हाथ से कपड़े लेते हुए साथ वाले लड़के को बताया कि यही है वो दोस्त जो कल से मेरे घर आया हुआ है.

एक्स एक्स इंग्लिश फिल्म वीडियोदस मिनट तक चाची को किस करने के बाद मैंने उनकी चुत की दरार में अपनी जीभ को घुसा दिया. शादी के बाद अच्छी हुई मतलब क्या शादी से पहले मम्मी का सीना कैरम जैसा था? खुल कर बताओ ना अंकल.

किन्नर ब्लू सेक्सी

दीदी ने चिहुँक कर मेरा हाथ झटक दिया और पूछा- आखिर तू क्या चाहता है?अब मैंने खुल कर कह दिया- मुझे आपको चोदना है. सुमन उस प्याले को लेने लगी, तो घबराहट में गुलशन जी ने सुमन के पैर में पैर मार दिया, जिससे वो उलझ कर गिर गई और उसकी मैक्सी भी ऊपर हो गई. उसके बाद तुझे मैं असली मजा दूँगी और मॉंटी भी उसका गुलाम बन चुका था, वो शुरू हो गया और चुत को अच्छे से चाटने लगा.

वो अक्सर जब मेरा घर या उसका घर खाली होता है, तो मेरे सामने ही बारी बारी से मेरी सहेली को चोदता है और मुझे भी मेरी सहेली के सामने ही चोदता है. इसके बाद तरुण वहाँ से चला गया और मैं वहीं बैठी उसके प्रस्ताव के बारे में विचार करते हुए सोच रही थी कि शायद मेरी प्राथना सुन कर ईश्वर ने तरुण को मेरे बच्चे का सहारा बनने के लिए भेजा है. हम दोनों ने काफी देर तक जोरदार चुदाई की और अंत में मैंने अपना वीर्य उसके मम्मों पर गिरा कर उसके ऊपर ही ढेर हो गया.

थोड़ी देर बाद दीदी आईं, उन्होंने कमरे का दरवाजा बंद किया और फ्रेश होने के लिए बाथरूम में चली गईं. कहानी का दूसरा भाग :मैंने अपने देवर से चुदवा लिया-2अभी तक देवर भाभी की चुदाई की इस सेक्सी कहानी में पढ़ा कि कैसे मेरे देवर ने मेरे सामने पड़ोसन भाभी को चोदा, फिर मेरी चूत को अपने बड़े लंड से चोड़ा. वहां पहुँच कर हम दोनों अन्दर गए और मैंने अन्दर से मेन गेट लॉक कर दिया.

मैं- वो मानेगी कैसे? उसे लंड, चूत, चुदाई की समझ है क्या?पिंकी- वो तुम्हारी बेटी है न, तुमसे कम नहीं है. उसके इस अंदाज पे मेरी हंसी छूटी, मैंने कहा- साली मस्का मत मार, कपड़े उतार और अंदर आ जा.

मैं पंद्रह मिनट तक गुड़िया को कभी आगे झुका कर कभी स्कूटर पर बिठा कर तो कभी कुतिया बना कर पेलता रहा; गुड़िया भी बुर चुदाई का मजा लेती रही।इस के बाद मैंने उसे बिठा दिया और लंड उसके मुंह में डाल कर पेलने लगा। कुछ देर मुंह में लंड पेलने के बाद मैंने पूरा माल उसके मुंह में गिरा दिया.

बाकी दो लड़कियों का भी क्रिकेट में इतना इंटरेस्ट नहीं था, वो तो मजबूरी में टीम में आ गई थीं क्योंकि तीन लड़कियों को रखना जरूरी था. नेपाली बीएफ चुदाई वालीचुत पे उंगली लगा कर सुमन ने मॉंटी को बताया कि यहाँ अपना लंड घुसा दे और जोर जोर से झटके देना, जैसे अभी कमर को हिला हिला कर दे रहा था. સેક્સ કરવા માટેकविता के ना नुकुर करने पर भी रीना ने अपनी और उसकी चूत के बाल भी और हाथ पैरों की वैक्सिंग कर ली. मेरी ये घटना आप हवस के लिए लिए ना पढ़ें, ये सच्ची प्यार भरी सेक्स स्टोरी है.

आह… मस्त… बहुत अच्छे बाबू… ऐसे ही करो… अब ठहरना मत, मैं तो दीवानी हो गई हूँ तुम्हारे चुदाई की… आह बाबू अगर मैं रोज रात यहाँ सोने आऊं तो आपको दिक्कत तो नहीं…?”मेरे लिए तो अँधा क्या मांगे एक आँख, यहाँ तो दोनों आँखें मिल रही थीं.

पहले तो मैंने एकदम मना कर दिया, फिर सोचा चलो इस बिजनेस को भी ट्राई करते हैं. खैर जान पहचान बढ़ी तो एक दूसरे को जानने समझने भी लगे, ऑफिस के बाहर, ट्रेन के अलावा भी मिलने लगे, कभी मॉल या फिर कभी मूवीज या कभी किसी रेस्टोरेंट में. उधर रुस्लान पूरी मस्ती में लहरा-लहरा कर मेरी धर्मपत्नी की गांड में अपना खतना लंड पेलने में लगा हुआ था.

उसने कहा- तुम अगर मेरा ये प्रोडक्ट खरीदो तो मैं तुम्हें ऐसी ट्रीट दूंगी जो तुम जिंदगी भर नहीं भूल सकते. सुमन का खुला हुआ मुँह देख कर गुलशन जी से रहा नहीं गया, वो उसके पास खड़े हो गए और धीरे से अपना सुपारा उसके होंठों पर टिका दिया. खूब मस्त चूसती है तू लौड़े को नीता, ऐसा ही मजा आया था जब तेरी माँ ने मेरा लौड़ा चूसा था, पर तू कमसिन है, अनचुदी है… इसलिए और अच्छा लग रहा है मेरी रंडी नीता, ऐसे ही चूसती रह अपने पप्पू अंकल का लौड़ा.

सेक्सी मूवी इंग्लिश हिंदी में

मैंने पहले उनकी साड़ी निकाली, फिरपेटीकोट का नाड़ाखींच कर उसे निकालने लगा तो नाड़े की गाँठ मुझे समझ में नहीं आई, मेरी परेशानी समझ कर चाची ने खुद ही नाड़ा खोल कर अपना पेटीकोट निकाल दिया. उसकी मखमली चूत देखकर मैं पागल सा हो गया, क्या मस्त चूत थी गुलाबी रंग की. दोस्तो इस कहानी के कमेंट आने के बाद आपको मैं अपनी अगली कहानी बताऊंगा.

इससे उनकी हिम्मत बढ़ गई और उन्होंने धीरे से मेरे लंड को निक्कर से बाहर निकाल लिया और सहलाने लगीं.

हम दोनों ने काफी देर तक जोरदार चुदाई की और अंत में मैंने अपना वीर्य उसके मम्मों पर गिरा कर उसके ऊपर ही ढेर हो गया.

मेरी खुद की बेटी के साथ सेक्स?फिर उसका सेक्सी बदन का ध्यान आया तो लंड खड़ा होने लगा. फिर उसने मेरे लंड को बाहर निकाला तो उसे देख कर बोली- सर जी आज 5 साल के बाद मैं किसी लंड का प्यार करूँगी. हिंदी बीएफ मूवी वीडियोफिर उनकी मैक्सी नीचे से ऊपर तक उठा दी, सामने हाथ ले जा कर दोनों मम्में दबोच लिए और गर्दन चूमते हुए मम्में सहलाने लगा, ब्रा ऊपर खिसका कर नंगे दूध मसलने लगा, फिर दोनों अंगूरों को धीरे धीरे उमेठने लगा.

रूपा जैसा चाहती थी वो पप्पू ने समझ कर उसको अपने पेशाब से नहला दिया. रूपा जैसा चाहती थी वो पप्पू ने समझ कर उसको अपने पेशाब से नहला दिया. फिर एक बड़े थैले को मेरे पास और दूसरे छोटे थैले को मेज़ पर रख कर कमरे से बाहर जाते हुए कहा- इसमें बच्चे एवं तुम्हारे लिए कुछ कपड़े लाया हूँ.

अभी तक आपने पढ़ा कि रवि के साथ उसी के घर पर मेरीदूसरी सुहागरात… यार के साथहुई जिसमें उसने मेरी गांडफाड़ चुदाई की. एक-दो बार ऐसा हुआ कि ठीक झड़ने के वक्त तेरे बाप की आहट सुनने से तेरी माँ लौड़ा चोड़ देती और मैं लंड शॉर्ट्स में डालने की कोशिश करता पर तब तक लंड झड़ जाता था.

मेरी जान निकालेगा क्या?मैंने देखा कि चाची की आँखें दर्द से लाल हो गई थीं, वे थोड़ा गुस्से में भी दिख रही थीं, शायद एक दम से लंड पेलने से चाची की चूत में कुछ ज्यादा ही दर्द हो गया था.

वो बोली- सिर्फ प्रोग्रामिंग ही करते हो या निकलना लगाना भी आता है? आई मीन टू से हार्डवेयर. इस तेज और बम-पिलाट झटके में मैंने अपना आधा लंड उसकी बुर में उतार दिया. साली तू लंड के लिए इतनी क्यों उतावली हो रही है? बहनचोद लंड घुसेगा तो देखूँगा कि कितनी मस्ती या दर्द से चुदवाती है तू.

ब्लू सेक्स हिंदी मे फिर मैंने मॉम को लिटाकर उनकी दोनों टाँगों को फैलाते हुए उनकी जाँघों को अपनी कमर की तरफ़ किया और दोनों टाँगों को अपने कंधे पर रख कर अपना लंड उनकी चुत के पास ले गया. इस गरम कहानी का दिन का भाग सच्चा है बाकी सपनों की गहराइयों से निकली हुई कहानी है.

फ्लॉरा को अब बात समझ आ गई थी मगर उसके लिए पापा के सामने नंगी होना इतना आसान नहीं था, वो रोने लगी और जॉय उसको चुप कराने लगा. जय ने मेरे ऊपर जरा सा रहम नहीं किया और बहुत जोरदार एक धक्का और लगा दिया. मैं- एक बार उन्हें अपनी चूचियां और बुर के दर्शन करवा दो, फिर देखना.

कैमरा सेक्सी ब्लू

सैफिना तो शहज़ाद से ओर चिपक गई जिससे शहज़ाद दो 104 डिग्री बुखार जैसे तपती औरतों के बीच सैंडविच बन गया और वो आह-आह करने लगा. पर हम दोनों अभी भी अपने फैसले पे अडिग हैं, देखना यह है कि मेरे घर वाले कब मानते हैं. वो मदमस्त आवाज में बोली- कहीं पहले जैसी न हो जाए, मुझे डर लग रहा है.

आंटी बोली- और पी ले फिर?मैंने रवि वाला गिलास ही आगे करते हुए कहा, इसी में डाल दो. फिर उसने मुझसे कहा- सर जी मैं बाथरूम जा रही हूँ, नहाने के बाद हम लोग खाना और पीना दोनों मेरे कमरे में ही करेंगे, आप मेरे रूम में चलो, मैं अभी आई.

मेरे दोनों हाथों में चाची के दोनों मम्मों थे और मैं जैसे ही चाची को नाभि पे या उससे नीचे किस करता तो चाची खुद को बहुत ऊपर उठा लेतीं, जिससे मेरा सेक्स का मजा कई गुना हो रहा था.

वैसे भी तुम इस लंड और चुत के खेल में इतना आगे आ गई हो, अब तुम्हें भी लंड की जरूरत है. काकू की स्पीड बढ़ती ही जा रही थी, धक्के पर धक्के… और एक झटके से उसने रीना की चूत से अपना लंड निकला और सारा माल उसके मम्मों पर खाली कर दिया. उन्होंने मुझे चादर ओढ़ कर लेटे हुए देखा तो बोले- क्या हुआ?मैंने कहा- वही जो होना चाहिए था.

मैंने अपने लंड को उसकी सुन्दर और फूली हुई चूत पर रखा और अंदर करने लगा. मैंने चाँद की हल्की रोशनी में देखा कि नेहा सो रही थी और देखने में बहुत मस्त लग रही थी. मैंने रुस्लान से कहा- मैं बिल्कुल भी विरुद्ध नहीं हूँ और उससे बात करके बताऊँगा.

बस यूं ही किस करते करते हम दोनों एक-दूसरे को कस के दबाते और टाइट हग भी करते रहे.

सब्जी वाली बीएफ: जब गुलशन जी टॉयलेट में चले गए, तो वो धीरे से कमरे से बाहर आई और टॉयलेट के पास जाकर रुक गई. साली बोली- ओह, तो गांड फाड़ोगे आज? मानोगे नहीं क्या?मैंने कहा- अरे साली साहिबा की गांड है ही इतनी मस्त कि लौड़ा खुद ही गांड में घुसने को तैयार रहता है.

वो जब वापिस आया तो सैफिना अब तक सहज हो चुकी थी उसने शहज़ाद का लंड हाथ में ले लिया, पहले कुछ देर वो उसके टोपे को होठों में ले कर चूसती रही जैसे कोई आइसक्रीम चूसते हैं, फिर धीरे-धीरे वो बिल्कुल सहज हो गई और लंड को थोड़ा ज्यादा फिर और ज्यादा मुंह में लेकर चूसने लगी. देर तक मेरी गांड मारने के बाद जब वो झड़ने को हुआ तो उसने अपना लंड मेरी गांड से निकाल कर वापस मेरी चुत में डाल दिया. अब मुझे मॉम के चेहरे पर वासना नज़र आने लगी, मैं समझ गया कि वो गर्म होने लगी हैं.

खैर उसे महसूस हुआ कि जो चूचे पहले नर्म और मुलायम थे, अब थोड़े-थोड़े टाइट होते जा रहे है, जो कि राहुल की नज़र में उसके लिए एक अच्छा संकेत था.

मैं उसके पास चला गया, उसे बेड से उठाया और कसके पकड़ कर उसे किस करने लगा. उसने देखा कि पता पूछने के बाद भी मैं वहीं खड़ा हुआ हूं… मैं अब जान बूझकर उसकी जींस में कैद लंड को देखने लगा… और चाह रहा था कि वो मुझे देखे… हुआ भी कुछ ऐसा ही, उसने देख लिया कि मैं उसकी पैंट की चेन की तरफ देख रहा हूं. इस बीच दो बार दीदी की फुद्दी ने पानी छोड़ दिया था पर अब भी वो जोर जोर से चोदने को बोल कर मेरा उत्साह बढ़ा रही थीं.