जानवरों वाली बीएफ मूवी

छवि स्रोत,ब्लू सेक्सी कुत्ता कुटिया

तस्वीर का शीर्षक ,

கணவன் மனைவி செக்ஸ்: जानवरों वाली बीएफ मूवी, मैंने कहा- अभी मेरे पापा सब्जी लेकर आने वाले हैं, मैं आपको उनसे कुछ सब्जी दिलवा दूंगा.

सेक्सी वीडियो बंदी

हम दोनों अब एक दूसरे में मानो खो से गए थे, हमें अब किसी चीज की खबर ही नहीं थी. सेक्सी वीडियो खुलेआम दिखाइएउसके बाद उसने फिर से अपना लन्ड मेरी बुर पर रखा और बहुत तेज़ से धक्का दिया.

लेकिन मेरी बदकिस्मती से भाभी के पेटीकोट का नाड़ा नहीं खुल पाया।पूजा भाभी को वापस मौका मिलते ही भाभी फिर से मेरे हाथों को पेटीकोट का नाड़ा खोलने से रोकने लगी और मैं भी भाभी का नाड़ा खोलने के लिए पूरी कोशिश करने लगा।आपको मेरी देसी न्यूड भाभी चूत कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताएं. सेक्सी पिक्चर दिखाओ अच्छा वालाजब उन्होंने मुझे ये बताया तो उस वक्त मैंने झूठा नाटक करके ये दिखाया कि मुझे बहुत बुरा लगा कि वो अकेले ही जा रहे हैं.

उन्होंने अपने क्लीवेज को थोड़ा ज़्यादा खोला और पीछे से जाकर साहिल से चिपक कर खड़ी हो गयी.जानवरों वाली बीएफ मूवी: बस आप यह बात किसी को नहीं बताना और कोमल को स्कूल से नहीं निकालना।मैडम बोली- ठीक है अब तुम अपनी क्लास में जाओ।मुझे कुछ समझ नहीं आया कि मैडम मुझसे क्या करवाना चाहती है.

फिर मैंने हेमा चाची से कहा- चलो न चाची, पहले मैं आपके टीवी की सैटिंग ठीक कर देता हूँ.हमारी जिन्दगी की किताब में कई ऐसे पन्ने होते हैं जिनको केवल हमने ही पढ़ा होता है.

हिंदी वाली सेक्सी व्हिडिओ - जानवरों वाली बीएफ मूवी

उसके लिए आप सभी का धन्यवाद।दोस्तो, यह सेक्सी टीचर चुदाई कहानी मेरी और मेरी प्रिंसिपल मैडम मोनिका (बदला हुआ नाम) की है।मोनिका की उम्र लगभग 35 साल, हाइट 5.भाई भी घर से बाहर चले गए।माँ ने पूछा- क्या हुआ; तुम दोनों जा नहीं रहे?भाभी ने बताया कि उनका मन बदल गया और मना कर दिया।तो माँ बोली- वो तो शुरू से ही ऐसा है.

मैंने उसके मुँह से लंड निकाला तो उसने मेरे गाल पर एक चांटा रख दिया. जानवरों वाली बीएफ मूवी फिर रानी की एक टांग उठा कर उसकी गर्म चूत में अपनी जीभ घुसा घुसा कर रानी की सिसकारियां निकालने लगा।कुछ देर चूत चाटने के बाद साहिल ने रानी को उल्टा कर दिया.

जब मेरा सारा पानी निकल गया तो मैंने जल्दी से लंड को बाहर निकाला और वीर्य को सिरिंज में भर लिया.

जानवरों वाली बीएफ मूवी?

फिर उसने मेरी चुदासी बहन दीवार के सहारे चिपका दिया और पीछे से अपना लण्ड चूत पर सेट करके एक हल्का सा धक्का दिया. वो दोनों मजा ले रहे थे कि कोई 40-45 साल का एक आदमी उस क्वार्टर की ओर आ धमका. हिंदी गांड मारी कहानी शुरू करने से पहले मैं आपको अपने बारे में बता देना चाहता हूं.

शुरूआत में प्यार से धीरे धीरे उसकी आँखों मे देखते हुए, फिर धीरे धीरे अपनी ताक़त लगानी शुरू की और उसके होंठों को चूसते हुए मैं मस्ती से उसकी चूची मसल रहा था. भाभी ने फिर से मुझे अपने ऊपर खींच लिया और लंड को फुद्दी में रगड़ना चालू कर दिया. मैंने पूछा कि क्या हुआ?वो बोलने लगी कि उसके बॉयफ्रेंड की वजह से …मैंने कारण जानना चाहा.

थोड़ी देर लंड चूसने के बाद उन्होंने लंड को मुँह से बाहर निकला और मेरे लंड को चाटने लगीं. फिर बोली- ऐसे मत करो प्लीज।मैंने कहा- क्यों?वो बोली- मुझे कुछ हो रहा है. इस पोजीशन में उसका सिर धरती में टिका हुआ था और चूत हवा में मेरे लंड का सपोर्ट लिये हुए थी.

वो बोली- पेलो तो … मुझे कोई परवाह नहीं आज चाहे खूना-खच्ची ही क्यों न हो जाए … मगर तुम रुकना मत. सही मायने में तो चुदाई का मजा मुझे अभी मिलने वाला था क्योंकि अब मैं पूरे होश में थी.

मौसी मुझे नहीं दिखी तो मैंने पूछा दीदी से- मौसी कहीं बाहर गई हैं क्या?तो दीदी ने बताया- मौसी हमारे एक रिश्तेदार के यहां गई हैं.

मैं टॉयलेट सीट पर बैठी तो अंदर से बहुत सारा खून और चिकना सा पानी निकला.

अब तुझे दर्द हो रहा है? चुप हो जा वर्ना तेरी चूत का भोसड़ा बना दूंगा मैं. हेमा चाची की मोटी चूचियों और गांड के अक्श को देख मेरा लंड जैसे तना जा रहा था, जिसे पजामे से साफ देखा जा सकता था. आप बस ये समझ लो कि मैंने उसके छोटे छोटे बूब्स को 32 साइज़ में ले आया था.

तब तक आंटी ने अपनी नाइटी के ऊपर के तीनों बटन खोल दिए थे और उनकी गदराई हुई चूचियां बाहर निकली हुई दिख रही थीं. वहाँ अर्पित और हर्षदीप अपने घर जाने को तैयार थे। दोनों ने कहा- तो अब हम चलें आंटी जी?आंटी- ठीक है जाओ।हर्षदीप- अब हम दोबारा कब मिलेंगे?आंटी- तुम्हारा नंबर दे दो. इसके बाद जब उनके होंठ मेरे होंठों से लगे तो मैं तो मानो बिखर ही गई.

यह देखकर मेरा लंड खड़ा हो गयाफिर मैंने कहा- चाची लगता है आप सफर करके बहुत थक गई हैं, कहां गई थीं आप … और चाचा कहां गए?हेमा चाची बोलीं- हां भास्कर, मैं और तुम्हारे चाचा एक रिश्तेदार के घर गए थे.

इस पर साक्षी ने कहा- हां चलेगा … बस मुझे जल्दी से माँ बना दो मेरे राजा … मैं तुम्हारे बच्चे की माँ बनने के लिए बेक़रार हूं. उसने वीर्य को अपने मुंह में भर लिया लेकिन फिर बाद में एक ओर जाकर थूक दिया. मतलब कि किसी तरह की कोई शर्म नहीं। बुर और गांड चाटना, गाली देते हुए जोर जोर से चोदना।चाची ने कहा- इसमें बुरा मानने वाली क्या बात है? सबकी अपनी अपनी पसंद होती है।मैंने चाची से पूछा- आपको कैसे चुदवाना पसंद है?उसने मुस्कुराते हुए कहा- जैसे मेरे दोस्त को पसंद है वैसे ही.

अभी तक कहानी में आपने पढ़ा था कि मेरी दो बार चुदाई हो चुकी थी, इस बीच राहुल बुरी तरह थक चुका था और वो सो गया था. सही मायने में तो चुदाई का मजा मुझे अभी मिलने वाला था क्योंकि अब मैं पूरे होश में थी. मैंने भाभी को चूमा और उनकी पैंटी की इलास्टिक में अपनी उंगलियां फंसाते हुए उसे नीचे करके उतार दिया.

हो सकता है कि प्रमोद भी ये जानने के बाद उसको पत्नी रूप में स्वीकार ही न करे.

उस रात दो बार मुठ मार कर चाची की चड्डी में ही अपना रस छोड़ा और सो गया. मुझे तो जैसे कुछ समझ ही नहीं आ रहा था … बस मेरा चेहरा शर्म से लाल पड़ गया था.

जानवरों वाली बीएफ मूवी मेरी पहली बार की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी अमुसी को पसंद करता था और उनसे सेक्स करना चाहता था. इससे वो एकदम से कामोत्तेजित हो गईं और सिसकारियां निकालने लगीं- आहह … आहह … जानू … उहह!मैंने एक हाथ से उनकी ब्रा का हुक खोल दिया.

जानवरों वाली बीएफ मूवी वो गहरी नींद में सो रही है।यह सुनकर मैंने चाची को अपनी तरफ खींच लिया और उसके होठों को चूसने लगा; उसकी चूचियां को दबाने लगा।मैंने उसकी दोनों चूचियों को अपने मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया।अब चाची ने अपनी चूत खोल दी और लेट गई. अब पीछे होकर उन्होंने अपनी अंडरवियर निकाल दी और उनका लंड मेरे सामने तनकर खड़ा था.

फिर सर अपने लंड को मुठ मारने लगे और अपना सारा पानी मेरे लंड पर निकाल दिया.

नगी पिक्चर

सुबह 7 बजे मैं उठा तो मेरी बहन अपना लंच पैक कर रही थी।लगभग 8 बजे बहन स्कूल चली गई। मेरे कॉलेज की 3 दिन की छुट्टी थी। सुबह के 10 बज रहे थे. फिर अचानक से उसने मेरे गाल पर किस कर दी और अपने हाथ से मेरी गान्ड पर हाथ फेर कर चला गया. मैं उसको गांड चुदाई के लिए तैयार करना चाहता और इसके लिए उसकी चुदास भड़काना जरूरी था.

अब अगली सेक्स कहानी की और चलने से पहले अपने उन नए दोस्तों से अपना परिचय दे देना चाहता हूँ. उईई उईई ईईश्ह्स सीईई ईई आहहां हहम्म आहहह आहहहह … चोद चोद … अपनी रंडी बुआ को और चोद!आहहह अहहहह ओहह आहह”बुआ खुश थी।अब मैंने बुआ को कुतिया बना दिया और पीछे से लंड डालकर चोदने लगा।‘उम्माह आहह अह हह आहह’ करके मस्त होकर बुआ लंड ले रही थी।तभी एकदम से मेरे फ़ोन पर पापा का फोन आया. उनका गोरा बदन 32-30-34 का फिगर देखकर मेरा लौड़ा खड़ा होने गया।मैंने मामी को कंडोम दिया और वो मेरे लंड पर चढ़ाने लगी।मैंने उनका फेवरेट बनाना फ्लेवर का कंडोम लगाया।अब उनकी गांड के नीचे तकिया लगा कर मैं ऊपर आ गया और उनकी चिकनी गुलाबी मखमली चूत में लन्ड रगड़ने लगा।वो बोली- राज अब तड़पाओ मत.

उसकी हरकतों से मैं भी एकदम से होश में आ गया और बिना कुछ कहे उसकी चीजें उसे देकर मैं अपने घर आ गया.

रास्ते भर में मैंने अपनी साड़ी एकदम नाभि के नीचे कर लिया और फिर पल्लू इस तरह से ओढ़ा कि मेरी चूचियाँ दिखने लगी. जैसे ही मैं नहाकर बाहर निकला तो मॉम ने मेरी आंखों पर पट्टी बांध दी. वो लंड के पानी को पीना नहीं चाहती थीं … पर मैंने सारा पानी उनके मुँह में गिरा दिया, तो उन्हें वीर्य पीना ही पड़ा.

मुझे डर था कि कोई भी कभी भी ऊपर आ सकता है।चाची कहने लगी- यहाँ हम दोनों के अलावा और कोई नहीं है. दो दिन बाद संडे के दिन अमित अपना सामान लेकर आ गया और हम लोग साथ में रहने लगे. मैं क्यों गु्स्सा होऊंगा?सलोनी- तो फिर सच सच बताना, उस दिन क्या देख रहे थे?उसके इस सवाल पर मैंने नजरें नीचे कर लीं.

मैंने अपने हाथ आगे किये और शबाना भाभी की दोनों चूचियों को दबाते हुए उसकी गर्दन पर चूमना चालू कर दिया. ठाकुर उसका इशारा पाते ही थोड़ा झुक गया और उसने चंपा को अपने कंधे पर उठा लिया.

बलविंदर ने भी उसी समय अपने लंड को अलीमा की चुत में जड़ तक ठूँसा और आह करते हुए अपने लंड को स्खलित करने लगा. मैंने उसकी चूत को चाटना जारी रखा।पांच मिनट बाद मेरे लन्ड का सुपारा फूलने लगा. परम मेरी चूचियों को दबा रहा था और जय नीचे से मेरी गांड के छेद को सहला रहा था.

इसके बाद उस भाभी ने मुझे काम के पैसे दिए और मैं वापस दुकान चला आया.

मैं उनको देखकर बहुत खुश हुआ।वैसे भी मैं पहले बहुत बार रिया को किस कर चुका था। कभी कभी उसके चूचे दबा देता था. लेकिन शायद अब तक साहिल को इस बारे में मालूम नहीं था।अब मैंने सोचा कि बहुत हुआ छुप छुप के!तो मैं चली गयी साहिल में मुंह की तरफ!और अभी भी रागिनी उसका लन्ड चूसे जा रही थी. मेरे लन्ड से वीर्य की पांच छह पिचकारी निकली और उसका मुंह मेरे वीर्य से भर गया.

मैं बस उनको अपने बदन के इशारों में बताने की कोशिश करता कि मेरी गांड चोद लो लेकिन वो इस तरफ ध्यान ही नहीं दे रहे थे. फिर सोचा कि रियल कष्ट और रियल मज़ा तो मैं तुम्हारी चूत को अपने लंड से दूंगा अगर मौका मिला तो.

हर हिस्से को चूसना चाह रहा था मैं!बेसब्री से उनकी छाती और पेट को चूमते हुए मैं नीचे जाने लगा. उसने बोझिल आंखों से मेरी तरफ देखा और मुझसे अपनी पीठ सटा कर चिपक गई. भाभी ने सिर्फ वासना से लंड की इस हरकत को देखी और लंड साफ़ करके हाथ हटा लिया.

स्पेशल वीडियो

इससे वो एकदम से कामोत्तेजित हो गईं और सिसकारियां निकालने लगीं- आहह … आहह … जानू … उहह!मैंने एक हाथ से उनकी ब्रा का हुक खोल दिया.

वैसे तो मैं भी उसको पसंद करती थी लेकिन उसने बिना पूछे मुझे छू लिया इसलिए मैं नाराज थी. इस बार मैंने सीधा उसकी चुत पर हमला किया और एक झटके में ही दो इंच लंड चुत के अन्दर पेल दिया. आह आह!’ शबाना की मादक आवाजें निरंतर गूंजने लगी थीं और मेरी जीभ बदस्तूर अपना काम उसकी चुत पर करने में लगी थी.

मैं भी मौके की फिराक में था।एक दिन मुझे वो मौका मिल ही गया।उस दिन मैं सुबह जंगल में से आम लाने गया था. थोड़ी देर के बाद बुआ ने चाय बना दी और मुझे चाय को ऊपर वाले रूम में देने के लिए कहा. सुहागरात की सेक्सी वीडियो चोदने वालीउसके बाद हम एक ही रूम में सोये और रात को मैंने दो बार फिर से उसकी चूत मारी.

सलमान ने भी गांड उठाते हुए मेरी अम्मी के मुँह को चोदना चालू कर दिया था. फिर उसने भी जोर जोर से अपनी जीभ को मेरी बुर में घुमाना शुरू कर दिया.

मैंने अपना एक हाथ फ्री कर दिया और उसकी चूची पर कमीज के ऊपर से ही रख दिया. फिर मैंने कहा- अब मैं तुम्हारी टांगों को पकड़ कर सिर को चूत में रगड़ रहा हूं. दूसरे दिन भैया एक हफ्ते के लिए काम से बाहर चले गए और उसी दिन मम्मी पापा को भी किसी रिश्तेदार की शादी में जाना था, तो वो दोनों भी चले गए.

फिर मैंने उसकी गांड में बहुत सारा तेल लगाया और अपने लंड पर भी तेल लगाकर उसकी गांड पर लंड सैट करके धीरे धीरे लंड उसकी गांड में डालने लगा. मैं बोला- इसका मतलब अब तक तुम 600-700 बार चुदवा चुकी हो?वो बोली- हां. मैं उसके आगे अपना लंड लाया, उसने अपनी आँखें बंद की और लंड का सुपारा मुँह में ले लिया.

मैं उन्हें देख रहा था कि उनकी झीनी सी साड़ी से उनके दूध साफ़ दिख रहे थे.

आज मैं आपके लिए फिर से अपनी देसी लड़की की चूत कहानी लेकर आया हूं जो मेरी पहली कहानीगांव की कच्ची कली- 1औरगांव की कच्ची कली- 2के आगे की कहानी है. उसने अगले ही पल एक वॉइस रिकॉर्ड भेजी जिसमें उसकी आवाज आई- आह्ह।सुनकर मैंने पूछा- क्या हुआ रानी?वो बोली- कुछ करो अब, मैं गर्म हो रही हूं.

उसके ये कहते ही मैंने अपना मुँह सीधा चूत पर लगा दिया और उसकी चूत चाटने लगा. मुझसे रुका न गया और मैं वहीं बैठा हुआ धीरे धीरे अपने लंड को सहलाने लगा. बात है 3 साल पहले की जब आदित्य को पहली बार मैंने हवस की नजर से अपनी ओर देखते हुए पाया था.

मैं एक हाथ से उसके लंड को सहलाते हुए मुस्कान भरी नजरों से उसे देख रही थी. कुछ पल बाद मैंने शबाना से कहा- चल मेरी शब्बो रानी, अब पोजिशन बदल ले. बुआ ने कहा- मैं यहीं अपने भतीजे के साथ रहूंगी … आप अकेले गांव चले जाओ.

जानवरों वाली बीएफ मूवी बलविंदर ने भी अलीमा की इस बात को समझा और वो बिना लंड चुसवाए अलीमा को चोदने की पोजीशन बनाने लगा. उसने अगले ही पल एक वॉइस रिकॉर्ड भेजी जिसमें उसकी आवाज आई- आह्ह।सुनकर मैंने पूछा- क्या हुआ रानी?वो बोली- कुछ करो अब, मैं गर्म हो रही हूं.

रोमांस दिखाओ

लेकिन इतना भयानक लन्ड जब किसी की भी फुद्दी में पहली बार जाता है तो उसकी फुद्दी के साथ साथ आंख भी फट जाती है. उसकी सहेली की शादी के बाद वो चली गयी और उसके बाद हम अब तक दोबारा नहीं मिले. दोस्तो, मुझे चूत और गांड चाटना बहुत पसंद है इसलिए मैंने उसको पेट के बल लिटाया और उसकी गांड को फैला कर देखने लगा.

तुम मुझे आंचल ही बुलाओ, नहीं तो मुझे ऐसा फील होगा कि मैं अब आंटी हो गई हूं. मैंने मैक्सी को ऊपर उठाया तो देखा कि मेरी पसंदीदा ब्रा पैंटी पहन कर लेटी थी वो!वो मेरी पैंट के ऊपर से ही मेरे लंड को सहलाने लगी. माँ और बेटा सेक्सीलड़कपन की प्यारी यादें!आज भी जब अतीत के पन्नों को उलट कर देखता हूं तो सोचता हूं कि वो भी क्या दिन थे… एकदम मस्त … किसी बात की कोई चिंता नहीं.

ये बात मोना के माध्यम से मुझ तक आई, तो मैं तुरंत राजी हो गया और उस महिला से मिलने जाने का पक्का कर लिया.

चाची भी सेक्स से भरी हुई थीं, उन्होंने अपने दोनों हाथों को मेरे कूल्हों पर जमा लिए थे और वो भी दम लगाकर मेरे होंठों को चूसने में व्यस्त थीं. भाभी मदमस्त हो चुकी थी और जब उसकी उत्तेजना बढ़ने लगी तो वो बोली- तू भी उतार ले.

फिर सोचा साली ये लंड नहीं चूस रही है तो क्या हुआ, मैं तो इसकी चुत चूस कर मजा ले ही सकता हूँ. उनके छत्तीस इंच के मम्मे देख कर मुझे रहा नहीं गया और मैंने अगले ही पल अपना मुँह उनके ब्लाउज के ऊपर से ही उनके मम्मों पर लगा दिया. वो बोली- आज तो बहुत मस्ती आ रही है, और वो खिलखिलाकर हंस पड़ी और मुझसे लिपट गई।हम दोनों एक दूसरे को बेइंतेहा स्मूच कर रहे थे.

चूंकि वो सेक्सी ज्यादा थी इसलिए उसके रूप और जिस्म की गर्मी के सामने मैं ज्यादा देर नहीं टिक सका.

फिर एकदम से मैंने अपनी जीभ उसकी बुर में डाल दी और उसकी चूत चूसने लगा. राजसी ने अपने चूत में थोड़ा सा थूक लगा कर गीला किया और साहिल का लन्ड अपनी गीली चूत में समा लिया. शबाना बोली- अन्नू, मेरी जान तुम आज मुझे इतना चोदो कि मेरी जन्मों की प्यास बुझ जाए.

सेक्सी लंड सेक्सी सेक्सीउसके बाद हेमा चाची की गोरी गोरी जांघों और पैरों को तलवों तक मलने के बाद मैं हेमा चाची की चूत के हल्के हल्के बालों पर अपनी वीर्य की चिपचिपी उंगलियां फेरने लगा था. मेरा खड़ा और टाईट तना हुआ लंड अब हेमा चाची की चूत के बराबर में आ गया था.

बेवफा डीपी

दोस्तो, आप महसूस कर सकते हैं कि जीवन में पहली बार जब एक लड़का और लड़की एक बंद कमरें में अकेले होते हैं तो कैसा अहसास होता है. जैसे ही वो मेरे टोकने पर उठीं, तो मैंने देखा कि उनके ब्लाउज में एक हुक नहीं है. वो मुझे मादकता से गाली देते हुए बोलीं- साले मेरी नई ब्रा फाड़ दी … अब तू ही मुझे नई ब्रा दिलवाना.

मैं नीचे से मॉम की चूत में उंगली करते हुए उसके होंठों को चूसने लगा. उस खोली से चाची ने अपनी चूत पर पड़े मेरे लंड के सफेद पानी को पौंछा और उसी खोली से मेरे लंड को भी पौंछ कर साफ़ कर दिया. मैंने उसके दूधों को दबाते हुए उनको पीना शुरू कर दिया और उनका स्वाद लेने लगा.

उससे बात हुई और फिर मैंने उसको चुदाई के लिए कैसे पटाया?अंतर्वासना के सभी पाठकों को मेरा लंड भरा नमस्कार! मेरा नाम नील है जो कि रीयल नहीं है. मैं जल्दी से अपने कमरे में चला गया और दरवाजा अन्दर से बंद करके अपनी जेब से हेमा चाची की चड्डी निकालकर उसे सूंघने लगा. मेरे पास आकर उसने कहा- देवू तेरे साथ कोई बैठा है क्या?मैं कुछ नहीं बोला क्योंकि मैं तो उसे ताड़ने ने बिजी था.

बुआ की मदमस्त जवानी को देख कर तो बुड्डों तक के लंड खड़े हो जाएं, ऐसे उठे हुए चूचे और तनी हुई गांड थी. कुछ ही पलों बाद मेरे झटके इतनी तेजी से लगने लगे थे कि आप यूं समझिये कि एक सेकंड में तीन धक्के की रफ्तार शबाना की चुत का भोसड़ा बना रही थी.

शाम को शॉप से छूट कर मैं एक बार फिर से खुशबू से मिली और उससे बोली- खुशबू मैं हर हाल में टार्गेट पूरा करना चाहती हूँ.

और वो फिर से चीखने लगी और मुझे अपने ऊपर से हटाने के लिए धक्का देने लगी।परन्तु मैं उसके ऊपर चढ़ा हुआ था, मैंने उसे कस के जकड़ रखा था ताकि वो कहीं जा न सके. स्कूली हिंदी सेक्सी वीडियोरानी सीधे अपने क्लास में आ गयी, जिसके पीछे मैं भी आई।अब दिन बीता और शाम को जब मेरी छुट्टी हुई तो मैं सीधे साहिल के आफिस चली गयी. भारतीय औरत सेक्सीफिर उसके भाई का फोन आया तो उसने किसी तरह से बहाना बनाया कि वो कल सुबह ही आयेगी. अब मैं उसे जमकर चोदने लगा।मामी की गान्ड का छेद खुल गया और लन्ड सटासट सटासट अंदर बाहर होने लगा।अब चुदाई ऐसे हो रही थी जैसे रंडी चोद रहा हूं.

अबकी बार मैंने ठान ली थी किसी भी तरह मैं अपनी गांड को मामा से मरवा कर ही रहूंगा.

अंदर का सीन बहुत जबरदस्त था। दो नए लड़कों का नाम आदित्य और शुभम था।अजीत और शेखर दोनों बेड पर बैठे हुए थे. मैंने अपना पल्लू चूचों से हटा कर अपनी कमर में खौंस लिया था और मैं अब इस कोशिश में थी कि अपनी चूचियों को ससुर जी की पीठ से रगड़ कर मजा लूं. फिर मैंने मुस्कराते हुए कहा- मैं तो तैयार ही रहता हूं हमेशा आपके साथ चलने के लिए भाभी जी!वो बोली- अब ज्यादा मस्ती मत कर और जल्दी से तैयार हो जा.

और मैं तैयार हो गया।चाची ने एक बैग लिया और बाइक लेकर हम दोनों आ गए दोपहर के 3 बजे हम चाची के घर पहुंच गए।नानी का इलाज करवाने में शाम हो गई।चाची ने मम्मी को फोन किया दीदी राज आज रात यहीं रूक जाएगा।मम्मी ने कहा- ठीक है. और इधर साहिल का भी माहौल बन गया था, वो उठा और राजसी की ब्रा और टॉप को उठा कर सूंघने लगा. दीदी ने पूछा- क्या हुआ?तो मैंने उनसे झूठ बोला- मेर पैर मुड़ गया और मैं चल नहीं पा रही.

चूत में लंड डालने का

भाभी ने मेरी तरफ देख कर मुस्कान दी और लपक कर मेरी बाइक पर पीछे बैठ गईं. उस कहानी में मैंने आपको बताया था कि कैसे मैंने पहली बार साक्षी के साथ चुदाई का मजा लिया और साक्षी को माँ बनाने के लिए कैसे सिरिंज की मदद से अपना स्पर्म उसकी चूत मैं बच्चेदानी तक डाल दिया. भाभी की चुत के ऊपर त्रिकोणनुमा भाग छोटी छोटी रेशमी झांटों से सजा हुआ महसूस हो रहा था.

कोई आधा घंटे की घमासान चुदाई के बाद सलमान ने मेरी अम्मी से कहा- नज़मा, मेरा निकलने वाला है … किधर लेगी?अम्मी ने कहा- मेरी चुत में ही अपना लावा निकाल दे.

वो बोली- नहीं, मैं 40 की हो चुकी हूं और बेटी भी 10 से ऊपर की हो गयी है.

मैं जानता था कि अगर अबकी बार लंड नहीं घुसाया तो ये फिर बाद में ले भी नहीं पायेगी. मेरी बहन उन सभी के लंड का माल पी चुकी थी और उसकी प्यास उन सबके लौडों के लिए हमेशा जगी रहती थी. सेक्सी वीडियो ब्लाउज वालीअब मैं भाभी को चुदाई के लिए उकसान चाहता था ताकि वो खुद ही लंड लेने के लिए कहने लगे.

फिर लंड घुसा कर धक्के लगाने लग पड़े।संतो को शायद मोटे लौड़े लेने की आदत नहीं थी तो उसकी थोड़ी सिसकी सी निकली लेकिन फिर वो चुप होकर अपनी चूत चुदवाने लगी थी. हम दोनों एकदम ठीक और फिट रहते थे, परन्तु फिर भी बच्चे का सुख नहीं पा रहे थे. मैंने कहा- तो लंड को पूरा गीला कर दो जान!फिर उसने मेरे लंड को गले तक भर लिया.

मैं एक शर्मीला इन्सान हूं और मैं तब भी उसके सामने ज्यादा कुछ बोल नहीं पा रहा था. एक-दो बार तो उन्होंने मेरे दूध देख कर नजरअंदाज कर दिया … पर धीरे-धीरे उनके मन में भी खोट आने लगा था.

राहुल और दीपक ने अपना अपना लंड मेरे दोनों हाथों में दे दिए और मैं उन दोनों लौड़ों को जोर जोर से हिलाने लगी.

स्कूल गर्ल सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी बहन की सहेली की अनचुदी चूत छोड़ी. तो साहिल मुझे घर में मेरे कमरे तक लिटा दिया और मेरे माथे आर मेरे होंठों को चूम कर चला गया।अब जब दीदी आयी तो वो मेरे कमरे में आई. आह … मुझे ऐसा लग रहा था … जैसे किसी गर्म भट्टी में मेरा लंड घुस गया हो.

सनी लियोन के सेक्सी दिखाएं मैं एक भरे पूरे बदन की मालकिन हूँ … जो भी मुझे देखता है, बस देखते ही रह जाता हैं. फिर सोचा कि रियल कष्ट और रियल मज़ा तो मैं तुम्हारी चूत को अपने लंड से दूंगा अगर मौका मिला तो.

हेमा चाची ने कहा- कैसे?मैंने कहा- क्या चाची … मेरे होते हुए ये कैसे शब्द आपने कैसे बोला. मेरे कड़क लंड का अहसास पाकर उसने अपनी गांड को मेरे मस्त लंड के ऊपर सेट कर लिया और अब हम दोनों कुछ करने के मूड में थे। मेरे दोनों हाथ हिमानी की चूचियों को मसल रहे थे. उसने मेरा एक हाथ अपने कंधे पर रखा और मुझसे अपने सहारे से चलने को कहा.

सेक्सी शायरी वीडियो में

ये सुनकर उसने कहा- मेरे साथ एक बार छत पर चलोगे?दोस्तों हमारी अकादमी की छत पर कोई नहीं आता था. पर अमन को सब्र कहां हो रहा था, वो पीछे पीछे मेरे साथ किचन में आया और वहीं पर मुझे पकड़ कर मुझे किस करने लगा. मैंने उसकी चूचियां निहारते हुए कहा- हां जी क्या काम था?उसने कहा- मेरे रूम का पंखा बंद पड़ा है.

मेरी ये सेक्स कहानी इसी IIT NEET अकादमी की एक गर्ल सुलेखा की चुदाई की कहानी है. थोड़ी देर बाद मेरा शरीर अकड़ने लगा और मैं मम्मी के मुंह में ही झड़ गया.

पार्टी से पहले दी ने वही लाल रंग की वन पीस ड्रेस पहनी थी जो हाथों पर तो फुल स्लीव थी लेकिन नीचे से सिर्फ जांघों तक ही थी।पार्टी में उनके ऑफिस फ्रेंड्स और बाकी लोग भी आये थे.

मैं भाभी के पास गया और बोला- भाभी जी, मैं आपका छोटा देवर अनुराग और ये हिमानी, आपकी पड़ोसन. वो मस्ती से चुत में लंड लेते हुए बोलीं- आह … उधर क्या कर रहे हो?मैं बोला- अब मुझे आपकी गांड चोदना है. अंकिता इस सबको एक साथ झेल ही नहीं पाई और उसके शरीर ने ऐंठना शुरू कर दिया.

सेठ जी का लंड अब उनके बस में नहीं था; वो हवस की आग में जल रहे थे।तो सेठ बोला- चल संतो, मैं तेरा सारा कर्जा माफ कर दूंगा. मेरी इस हिंदी गे सेक्स स्टोरी पर आपका क्या कहना है प्लीज़ मुझे लिख भेजिए. मैंने अनजान बनते हुए कहा- भाई नहीं जा रहा क्या आपके साथ?वो बोली- उसे कुछ जरूरी काम है, तू ही चल.

फट फट फट … की ध्वनि के बीच मेरी ‘आआह आह उफ़्फ़ उईई मम्मीईई मर गई … आआह.

जानवरों वाली बीएफ मूवी: मेरे सामने मैडम अब भी ब्रा में थीं मगर उनके मम्मे ब्रा से बाहर निकले हुए थे. मैंने भी सोच लिया कि काफी दिन बाद बीवी मायके जा रही है इसका पूरा फायदा उठाना है.

हेमा चाची अपने कोमल हाथ से मेरे मुरझाए हुए लंड को पकड़ कर सहला रही थीं. अंदर जाते वक़्त एडजस्टमेंट में मेरी टी-शर्ट जो पहले ही मेरे बदन से काफी चिपकी हुई थी, ऊपर चली गयी और मेरी शॉर्टपैंट में से मेरी गांड की दरार उजागर हो गयी. फिर मैंने मुस्कराते हुए कहा- मैं तो तैयार ही रहता हूं हमेशा आपके साथ चलने के लिए भाभी जी!वो बोली- अब ज्यादा मस्ती मत कर और जल्दी से तैयार हो जा.

धीरे धीरे करके मैं दीदी की चूत और गांड, दोनों छेदों को ही चाट रहा था.

मैंने दुबारा से सही से सैट करके एक धक्का मारा, तो लंड आधा अन्दर चला गया. फिर मैंने उसके चूचे पकड़े और घपाघप चूत चोदने लगा।कुछ देर बाद वो झड़ चुकी थी. इसके बाद उसने मेरे मुँह से लंड निकाला और मेरी पैन्ट चड्डी समेत नीचे करके मेरी गांड में अपनी एक उंगली घुसेड़ दी.