बीएफ सेक्सी चुदाई दिखाइए

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो सील पैक 2022

तस्वीर का शीर्षक ,

खचाखच सेक्सी फिल्म: बीएफ सेक्सी चुदाई दिखाइए, आप इतने सुंदर और स्मार्ट हो, ऐसा नहीं हो सकता कि आपकी कोई गर्लफ्रेंड ना हो.

सेक्सी जनावर वीडियो

अरे गोवा सेक्स की नगरी है तो इतनी तैयारी तो बनती है ना!गोवा जाने की बड़ी चुल्ल थी. बड़ी गांड वाली औरत का सेक्सी वीडियोबेड पर पटकने के बाद मैंने उनकी चुत को देखा, उनकी चुत पर एक भी बाल नहीं था.

फिर हम दोनों स्कूल में चले गये जहां पर सोनू और मोनू मेरा इंतजार कर रहे थे. भाई बहन की सेक्सी वीडियो मूवीवो चिल्ला पड़ी- अभी नहीं।मैं भी पीछे हट गया और उनके फ्री होने का इंतजार करने लगा.

उस वक़्त काव्या मेरे सीने पर थी, उसकी चुचियां मेरे सीने पर दबी हुई थीं.बीएफ सेक्सी चुदाई दिखाइए: वो अपनी मां को बातों में लगाए हुए थी और साथ में ही मेरे लंड का मजा भी ले रही थी.

कमलनाथ ने अपना लिंग एक झटके में प्रवेश करा दिया और एक लय में धक्का मारना शुरू कर दिया.उसकी पैंटी को निकाला तो उसकी सांवली सी चूत मेरी आंखों के सामने नंगी हो गई.

सेक्सी एक्सएक्सएक्स hd - बीएफ सेक्सी चुदाई दिखाइए

अन्तर्वासना की कहानियां पढ़ते हुए मेरा रुझान लड़कियों की चूत, चूचियों और गांड की तरफ कुछ ज्यादा ही बढ़ने लग गया था.मेरी कामुक बहन भी मेरे गर्म लंड को पकड़ कर मजे से उसके टोपे को आगे-पीछे करने में लगी हुई थी.

लेकिन निधि का मन नहीं भरा था, निधि ने मुझे फिर से उसकी चूत चूसने को कहा. बीएफ सेक्सी चुदाई दिखाइए करीब दस मिनट लंड चूसने के बाद मैंने परी को उठाया और उसे लिटा कर हम दोनों 69 की अवस्था में आ गए.

बात करने के बाद द्वारका के सेक्टर 12 वाले मैट्रो स्टेशन पर मिलने के लिए समय तय किया गया.

बीएफ सेक्सी चुदाई दिखाइए?

मैंने फिर उसकी गांड के ऊपर लंड रखा और सुपाड़े को उसके छेद में लगा कर धक्के देने लगा और हल्के हल्के आगे पीछे होने लगा. मैंने उसकी चूत की दरार को उंगली से फैला कर अपनी जीभ से उसकी चूत को चाटना शुरू किया. ये सुनते ही रवि ने रमा को तुरंत छोड़ दिया और बिस्तर पर चित्त लेट गया.

उसने मेरे शांत होते ही मुझे अपने ऊपर से नीचे किया और फ़िर मुझे सीधा लिटा कर मेरी टांगें पकड़ अपनी ओर खींचता हुआ मुझे पूरा फैला दिया. तभी उसकी चाचा की बेटी ने उसकी तरफ करवट ली जिससे मेरी साली थोड़ा सा अलग हो गई. लेकिन अब मेरे मन में हमेशा दीदी की गांड ही रहती कि क्या मैं कभी दीदी के साथ सेक्स कर पाऊंगा या नहीं.

जब भाभी से रहा न गया तो भाभी ने पीछे हाथ ले जाकर बल्लू के लंड को उसकी पैंट के ऊपर से पकड़ लिया और उसको सहलाने लगी. मैं तो जानती भी नहीं थी कि बियर क्या होती है … पर फ्रूट सुनकर समझी के फल का रस होगा. मुझे पूरी उम्मीद है कि ये कहानियां आपके लौड़ों और चूतों को तरस जाने पर मजबूर कर देंगी.

मैं मन में दुआ करता था कि एक दिन ये मुझे मिल जाए और दबा दबा कर चोद दूँ. फिर भाभी बोली- मैं उस दिन तुम्हारे वीर्य की धार देख कर ही समझ गई थी कि तुम ही मेरे बच्चे के बाप बनोगे।उसके बाद भाभी टांगें फैला कर लेट गईं और बोली- मेरे राज, अब डाल दे अपना हथियार मेरी कचिया चूत में!मैंने लन्ड के अगले हिस्से पर थोड़ा थूक लगाया और चूत से भी काफी नमकीन पानी टपक रहा था.

उसके बाद पिंकी ने मुझे अपने पास खींच लिया और मेरे हाथों को अपने चूचों पर रखवा लिया.

मैं अभी उसकी चुत देखने का तरीका सोच ही रहा था कि उसने पैर उठाते हुए मुझे अपनी पैंटी दिखाई और कहा- यार, मेरी कमर का दर्द जा ही नहीं रहा है, आज तो और भी ज्यादा दर्द है.

साराह ने मुझे अपना पर्सनल नम्बर भी दे दिया था और बोल दिया था कि तुम मुझे कभी भी कॉल कर सकते हो. पर मैं नहीं गया क्योंकि बुआ के साथ एक जने का रहना जरूरी था। मैंने कहा कि मैं बुआ के पास रुक जाता हूँ तो सब लोग मुझे और बुआ को घर में छोड़ कर लखनऊ चले गए. लगभग 5 मिनट के बाद उसने मुझे एक बहुत ही जोर का धक्का मारा और मैं चीख पड़ी- ओह्ह … म म.

दोस्तो, यह मेरी पहली और सच्ची कहानी है। कुँवारी बुर की चुदाई की कहानी आपको कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बतायें।मेरा मेल आई डी है[emailprotected]. उसकी बातें सुन रवि ने मुझे खुद से अलग किया और मेरा हाथ पकड़ मुझे अपनी ओर खींचने लगा. उन्होंने आंखें बंद कर ली थीं और मैं धीरे धीरे उनके सांवले हाथों को सहला रहा था.

क्यों जब वो झुक कर पत्ते बांटती थी तो मुझी चूचियों के दीदार हो जाते थे.

फिर मैं रुक गया और उसे खोल कर उसके बालों को पकड़ कर उसको सीधा खड़ा किया. मैंने मौसी को मेरे बिस्तर पर आने के लिए कह दिया और हम साथ में सोने लगे. उसने मेरी तरफ देखा, तो मैंने उसके मम्मों को दबाकर बोला- जा कपड़े पहन ले.

वो बस दो ही लोग थे, क्योंकि उन दोनों के उस तरफ की कुछ सीटें खाली थीं. मैंने उससे कहा- ये सब बाद में कर लेना, पहले एक राउंड चुदाई का कर लेते हैं. वहीं कविता भी उसका पूरा सहयोग दे रही थी और किसी भी तरह से कांतिलाल का जोश न कम हो, इसके लिए वो बारबार उसके होंठों, गालों, गले और छाती को चूमती हुई उसका उत्साह बढ़ा रही थी.

उसको मैंने पूरी गहराई तक चोदा, मेरा पूरा 6 इंच का लंड उसके अंदर था.

आशा करता हूं कि आपको मेरी चुदाई कहानी पसंद आएगी।बात आज से 2 साल पहले की है. डॉक्टर साहब उठे, अपने कपड़े पहने और बोले- अब तुम परसों आना, मैं शिलाजीत या वियाग्रा खाकर आऊंगा तब तुम्हें जन्नत का मजा दूँगा.

बीएफ सेक्सी चुदाई दिखाइए इसलिए आप बस इतना समझ लीजिये कि वो कॉलेज के दिनों में थी और बायलॉजी और कैमिस्ट्री दोनों के लिए ट्यूशन चाहती थी तो मैं उसके घर जाने लगा था पढ़ाने के लिए. तू तो अब अपनी मम्मी की चुदाई करके मजा दिया कर … लेकिन अभी तू अपने रूम में जा … नहीं तो सुबह कुसुम तुम्हें यहां देखकर न जाने क्या सोचेगी.

बीएफ सेक्सी चुदाई दिखाइए फिर उसने मेरे टॉप को उतारा और मेरी ब्रा को खोल कर मुझे ऊपर से नंगी कर दिया. मैं रोज बस यही प्लान बनाता रहता कि क्या करूं, कैसे दीदी को चुदवाने के मनाऊं, उन्हें कैसे चोदूं.

मैंने भाबी को चूमते हुए धीरे से कहा- आपने मुझे आज वो प्यार दिया है जो मुझे पहले कभी नहीं मिला.

फुल एचडी बीएफ सेक्स

आज भी मैं उसके बारे में सोचता हूं तो मेरा मुठ मारने को मन कर जाता है. सोनू अभी बोल ही रही थी कि मेरे लंड ने पिचकारी मार दी और मैंने मेरा सारा माल सोनू की चूत में ही खाली कर दिया।उसके बाद हम दोनों एक दूसरे को अपनी बांहों में लेकर सो गए।अब एक बार जब सोनू मैडम की चूत मार ली तो फिर तो चुदाई का खेल शुरू ही हो गया था. कविता ने अपनी पसंद का एक गाना लगा दिया और अपने पति को अपने साथ पकड़ झूमने लगी.

वो भी समझ गयी और उसने मेरी तरफ देख कर हल्का सा स्माइल किया और मेरे कंधे पर अपना सिर रख दिया. अम्मा ने कहा- हां बेटा सब दिखाऊंगी … लेकिन कल … अब तू रुकना मत और मेरी जम के गांड मार … मैं काफी टाईम से सेक्स की प्यासी हूँ. जब भाभी को लंड से मजा मिलने लगा, तब उनकी गांड हिलने लगी और वो भी अपनी गांड उठाते हुए लंड का जवाब देने लगीं.

क्योंकि मुझे पता चल चुका था कि राकेश को इस बात से कोई परेशानी नहीं है.

दीदी बोली- साले चूस क्या रहा है मादरचोद, मैंने तुझे चोदने के लिए कहा था न … चोद मुझे हरामी की औलाद. करीब दस मिनट तक मुख चोदन के बाद मैं उसके मुंह में ही झड़ गया वह मेरा सारा पानी पी गई।उसके बाद निधि ने मुझे अपना चूत चाटने के लिए इशारा किया. मैंने उससे कुछ नहीं कहा … क्योंकि उससे इस बारे में बात करने का कोई सबब ही नहीं था.

वो तो आपका लंड किसी के मुँह से चुसे न, तब आपको लंड चुसाई के मजे का अंदाजा हो सकता है. बहुत ही जल्दी आपके सामने इस मसाज़ सेक्स कहानी का मैं दूसरा भाग प्रस्तुत करूंगा. मैं दरवाज़े की झिरी के बीच से उन तीनों की सेक्स क्रिया को देखते हुए लंड हिलाने लगा.

मेरे मां और पापा उस दिन दूसरे गांव किसी काम से गये हुए थे और अगले दिन आने वाले थे. उसकी निगाहें मुझे कुछ ऐसी लगती थीं, जैसे वो मुझसे कुछ कहना चाहती हो.

मैं बीच में बैठा था, मेरे दाहिनी तरफ सलमा और बायीं तरफ नजमी बैठी थी. सफर के दौरान कई बार तो हमको अपनी यह ट्रेन सेक्स स्टोरी आगे बढ़ाने का मौका मिल जाता था लेकिन कई बार नहीं मिल पाता था. तब भी मैं किसी तरह से अंतरा की चूत में लौड़ा घुसाने लगा और कामयाब भी हो गया.

मैंने कहा- अभी तो राकेश फ्रेश होने गया है, जब तक वो आता है, तब तक तो करूंगा ही.

इसलिए मुझे घर और कॉलोनी में सभी लोग काफी भोला समझते थे और मैं था भी. कविता ने भी कहा- हां कल इन लोगों ने हम लोगों के बगैर ये खेल खेला था, आज हम सबके साथ खेलना होगा. साँसों के नॉर्मल होते ही सोनू बिस्तर से उठी और मुझे जोरदार किस करते हुए थैंक्यू कहने लगी.

मैं बोला- हां, लेकिन तुम्हें अपने भाई से डर नहीं लगता? अगर उसको हमारे बारे में पता लग गया तो वो क्या सोचेगा?वो बोली- भाई की भी तो गर्लफ्रेंड है. फिर मैंने अपने लंड को उसकी पानी छोड़ रही चूत के मुंह पर फेरा तो वो कामुक हो उठी.

रिक्शे में उसने मेरे लंड पर अपना हाथ रख कर लंड के खड़े होने का अहसास किया. अब यहां रुके हैं, तो रिलेशनशिप में तो होंगे ही … ऐसे ही थोड़ी कोई आपस में …इतना बोलकर मैं रुकी ही थी कि उसकी आंखें चमक उठीं. नमिता के चूसने से मेरे लण्ड का सुपारा फूलकर संतरे के आकार का हो गया.

हिंदी में बीएफ भेजिए हिंदी में

मैंने उसकी चूत से धीरे-धीरे करके सारे के सारे लम्बे-लम्बे बाल हटा दिये और उसकी चूत एकदम साफ हो गई.

उस दिन बाहर खेतों में काम अधिक था इसलिए शाम को आते ही वह खाना खाकर सोने छत पर चली गयी। छत पर सबका बिस्तर लगा हुआ था. अब तो मेरी कामवासना मचल उठी लेकिन उसकी चूत ज्यादा प्यासी थी!सभी काम प्रेमियों को विहान राजपूत की प्यार भरी राम राम!दोस्तो, आज मैं आपके सामने अपनी लाइफ की एक सच्ची चुदाई-घटना का वर्णन करना चाहता हूं, आपका ज्यादा समय न लेते हुए मैं बताता हूं कि बात करीब 2 साल पहले की है. आगे की क्सक्सक्स कहानी में मैं बताऊंगा कि कैसे मैंने अपनी गर्लफ्रेंड को अपने रूम पर ले जाकर चोदा.

मैंने बोला- तो ये समझ लो कि अम्मी तो तुम्हें यहां आगे पढ़ने नहीं देगी. उसने काले रंग की ट्रान्स्पेरेंट एक मॉडर्न नाइट ड्रेस पहनी हुई थी और उसके अन्दर उसकी सफेद ब्रा बिल्कुल साफ़ साफ़ दिख रही थी. तेरी मां की चूत सेक्सी वीडियोये कह कर मैं उसकी गांड के छेद में लंड को रगड़ता रहा और उसे मजा आने लगा.

मेरी बात सुन राजशेखर राजेश्वरी के ऊपर से उठ गया और बिना समय गंवाए हम दोनों संभोग की अवस्था में आ गए. मैं तो इतनी ज्यादा उत्तेजित हो गई थी कि मन हो रहा था कि अपना पानी छोड़ दूं.

वो बहुत ज़ोर से चीख पड़ीं, लेकिन मैंने उनका मुँह बंद करके एक और धक्का दे मारा. मैंने अपनी पैंट को निकाल दिया और फिर अपने अंडरवियर को भी निकाल कर एक तरफ डाल दिया. एक दिन उसने मुझे ज्योति से मिलवाया और बताया कि ये मुन्ने के पापा हैं, तुम्हारे जीजा जी हैं.

लंड भी कामरस छोड़ कर पूरा टोपा चिकना कर चुका था और उधर दीदी की योनि भी पूरी भीगी पड़ी थी. कुँवारी बुर की चुदाई की कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरे पड़ोस में रहने वाली लड़की ने अपनी कामवासना से मजबूर होकर अपने कमसिन जिस्म को मेरे हवाले कर दिया. मेरा काम में बिल्कुल भी मन नहीं लग रहा था इसलिए उस दिन मैं शाम को जल्दी घर आ गया.

मेरा काम ही ऐसा है कि मैं अपने इस काम के लिए कहीं भी कभी भी चला जाता हूं.

मैंने अपने कपड़े उतारने शुरू किये और किरण ने अपने कपड़े उतारने शुरू कर दिये. फिर मैंने पूछा कि आपको कौन सा टाइम ठीक रहेगा?वो बोली कि सुबह 11 बजे … तब तक मेरे पति भी चले जाते हैं और घर के थोड़े बहुत जो काम होते हैं, वो भी खत्म हो जाते हैं और बच्चा भी सो जाता है.

आखिर रविवार को मेरी बड़ी बहन ने प्रीति के नोट्स वापस करने के लिए मुझे उसके घर भेजा. इस बात पर वो थोड़ी नाराज हुई और बोली- आप कैसे इंसान हैं? एक औरत आपको बुला रही है और आप हैं कि औरतों की तरह ही नखरे कर रहे हैं?मुझे उसका इस तरह से बोलना बड़ा अच्छा लग रहा था क्यूंकि उसकी हिंदी ज्यादा अच्छी नहीं थी. वो दरअसल वो एक रिसॉर्ट था और उन्होंने एक अलग तरह का कमरा ले रखा था, जो किसी भी होटल का बहुत महंगा होता है.

मैंने अपने कपड़े उतारने शुरू किये और किरण ने अपने कपड़े उतारने शुरू कर दिये. ऐसे नैन नक्श की मल्लिका की थी इस कहानी की पात्र जिसका नाम था अंगिका।अंगिका को देखने के बाद पूरे 7 साल बाद मेरे शरीर में ऐसी हलचल हुई थी कि उसने मेरे दबे अरमानों को फिर से जगा दिया. मैं एक पल चिहुंक उठी और पूरी ताकत से राजशेखर को पकड़ कर अपने चूतड़ों को उठाते हुए योनि एकदम ऊपर करके बोल पड़ी- आईईई.

बीएफ सेक्सी चुदाई दिखाइए निर्मला जब उसका लिंग चूसने में व्यस्त हो गई, तो रवि ने मुझे हाथों से पकड़ कर उठने का संकेत दिया और इशारे से मुझे खड़े होकर अपनी योनि उसके मुँह में देने को कहा. मुझे पता नहीं क्या हो गया कि मैंने अपना मुँह अन्दर घुसा दिया और चूत के गुलाबी होंठों को चूसने लगा.

पुलिस वाली की बीएफ

मेरे दादा जी की तेहरवीं थी क्योंकि उनका देहांत हुए 10-12 दिन हो गये थे. भारत में तो सामान्य रिवाज है कि प्रसूति के चालीस दिन तक तो स्त्री को पूरा आराम दिया जाता है. सुखबीर को संतुष्ट करने के बाद मैं भी निश्चिन्त थी और मेरा मन भी आनन्दित लग रहा था.

वो बोली- सर स्पर्म कैसा होता है और कैसे निकलता है?उसके मुंह से ये शब्द सुनकर मैं थोड़ा हिचकिचाने लगा क्योंकि मुझे भी थोड़ा असहज महसूस हो रहा था. मैं धीरे से अपने होंठों को भाभी के होंठों के पास ले गया और फिर मैंने उसके होंठों को चूम लिया. सेक्सी पिक्चर देखने वाला हिंदीउसके मन में पता नहीं क्या चल रहा था लेकिन मेरे मन में उसकी चुदाई के ख्याल आ रहे थे.

इतना कह कर मैंने उसके निप्पल को अपने मुंह में भर कर चूसना शुरू कर दिया तो उसकी मुंह से आह्ह … स्स्स … करके एक सिसकारी निकल गई.

वे जब भी हमारे घर आतीं या मुझे कोई काम के लिए बुलातीं, तो वह मुझे बहुत प्यार से और हंस कर बात करती थीं. राजेश्वरी धक्कों के शुरू होते ही एक सुर में बकरी की भांति मिमियाने और उम्म्ह… अहह… हय… याह… सिसकने लगी.

चुदाई करते हुए मौसी दूसरी बार गर्म हो गई और फिर से मेरा साथ देने लगी. तब मॉम ने कहा- हमारा परिवार चुत मारने वाला परिवार है … तुझसे पहले तेरा भाई मुझे चोद चुका है. मैं उसकी कमर पर लेट गया और उसके चूचों को अपने हाथों में भर कर उसकी बुर को चोदने लगा.

गाड़ी में बैठने के बाद मैंने भाभी के हाथ पर हाथ रखा और बोला- भाभी, अगर बुरा न मानो तो मैं कुछ कहना चाहता हूं.

फिर मैंने उनसे पूछा- आप यहां पर कैसे?उसने थकावट भरी आवाज में जवाब दिया- बहुत देर से बस का इंतजार कर रही हूँ लेकिन अभी तक कोई उस तरफ की बस नहीं आई है. इतने में ही मेरी नजर गेट पर पड़ी। गेट पर उसकी ननद खड़ी हमें देख रही थी और अपने बोबे दबा रहा थी. मैं खुद ही अपनी पूरी जांघें खोल कर उसे भरपूर जगह देने लगी कि वो आराम से मुझे धक्के मारे.

एक्स एक्स सेक्सी शॉटये सुन कर राकेश बोला- तो अब कर दो इसे नंगी … मैंने मना थोड़े ही किया है. वैसे भी आजकल अधिकतर सीजेरियन विधि द्वारा ही बच्चे का जन्म होता है तो कम से कम तीन महीने तो टांकों पर कोई जोर नहीं पड़ना चाहिए.

औरत की चुदाई बीएफ

हम दोनों बातें करते हुए जाते थे और छुट्टी वाले दिन भी मैं शकूर के रूम में ही आ जाता था. वो खुद ही मेरी जीभ को अपने मुँह में लेकर चूसतीं, कभी मेरे होंठों पर अपनी जीभ फेरतीं … और मेरे लंड को अपने हाथ से सहलाने लगतीं. अब जब शिफा और इंशा को मैं पहले ही चोद चुका था, तो बाद में भी चोदने में क्या दिक्कत थी.

वहां उन लड़कियों ने मुझे केवल ब्रा और पैंटी में लिटा दिया, फिर अपना काम शुरू कर दिया. वो बोलने लगा- मुझे भी तेरे जैसा मजा चाहिए, तुम मेरे लंड को एक बार किस तो करो. मैंने घर के सारे दरवाजे खिड़कियां बंद कीं और छुपाई हुई सेक्स कहानियों की किताब निकाल कर पढ़ने लगी।कहानी पढ़ते हुए मुझे काफी समय बीत गया.

तो बुआ शर्मा गयी और बोली- बहुत बिगड़ गए हो तुम?मैंने कहा- बुआ आपके चूचे देख के बुड्ढा भी बिगड़ जाए … हम तो आपके भतीजे हैं।और मैंने बुआ के दोनों बूब्स कस के दबा दिए. मैं नहाकर बाहर निकला तो वो मेरे बेड पर बिल्कुल दुल्हन की तरह सजी हुई बैठी थी और घूँघट भी किए थी. मुझे भी उससे सेक्स की जरूरत थी, पर एक लड़की होने के कारण मैं उससे कुछ आत्मीयता भी चाहती थी.

जब भी मैं वहां जिम के पास से जाता था, उसे देखने का मौका नहीं छोड़ता था. उधर कमलनाथ जमीन पे लेट गया था और रमा उसके ऊपर उल्टी दिशा में चढ़ी हुई थी.

अब जब मैंने दोबारा मम्मी की चुदाई शुरू की, तो मेरा पूरा लंड मम्मी की चूत में जा रहा था.

तभी भाबी ने चैन को पकड़कर खाल से अलग करना चाहा तो मुझे एकदम से बहुत तेज दर्द हुआ और मैं बोला- भाबी धीरे करो प्लीज, दर्द हो रहा है. सेटिंग्स ओपन सेक्सी वीडियोउनकी टांगें फैली हुई थीं और लंड वैसे ही एक साइड में अगल से दिखाई दे रहा था. चुदाई करती हुई सेक्सीमैंने इससे पहले भी बहुत सी चूत देखी थी लेकिन उसकी चूत सच में कमाल की थी. जानता तो मैं भी था कि चूचे दबाने का ही अंग होता है लेकिन मुझे कभी इसका अनुभव नहीं था.

अब हम एक दूसरे को उत्तेजित कामुक नजरों से देखते हुए हस्तमैथुन करने लगे थे.

तू सेटिंग करवा दे मेरी।दीदी ने कहा- पागल है क्या तू?नीरा ने कहा- यार जब चुदने का मन करता है रात में तो सच में मुझे मनीष का ही चेहरा दिखता है और मैं उंगली करती हूँ उसे ही सोच कर! काश वो मेरा भाई होता तो मेरा तो घर में ही जुगाड़ हो जाता।तब दीदी ने कहा- बना ले भाई उसे, मैंने कब रोका है।नीरा ने कहा- मुझे तो बनाना पड़ेगा. मुझे देख कर उन्होंने पूछा कि कुछ खाओगे?मैंने कहा- नहीं!फिर मां बोलीं- शाम को हमको एक शादी में जाना है … मैं खाना बना दूं कि बाहर खाओगे?मैंने कहा- आप लोग चले जाना. मेरी उम्र 23 साल है और जहां तक मेरे साइज़ की बात है वो 32-30-36 है.

मैं अक्सर सोचा करता था कि उनके पति शायद जॉब पर जाते होंगे इसलिए उनसे मुलाकात नहीं हो पाती है. वे जब भी हमारे घर आतीं या मुझे कोई काम के लिए बुलातीं, तो वह मुझे बहुत प्यार से और हंस कर बात करती थीं. दोपहर का समय था, इसलिए हम दोनों सेक्स करते करते पसीने से भीग गए थे.

बीएफ जबरदस्त चुदाई वीडियो

दस झटकों के बाद ही मैं अपना लौड़ा डॉली की चूत में जड़ तक पेलने लगा था. उधर राकेश चुपचाप कुर्सी पर बैठ कर हम दोनों को एक दूसरे के होंठों के साथ खेलते हुए देख रहा था. मैंने दूसरे हाथ से अपनी पैंटी एक किनारे कर उसे अपनी योनि के स्पष्ट स्पर्श दे दिया.

जैसे जैसे मैं उसके मम्मों को जोर से दबाता और मसलता, वो और तेज़ तेज़ से मेरा लंड चूसने लगती और उसे पूरा अन्दर तक ले जाती.

साराह मैम बहुत खुश थी और हैरान भी कि फोन पर भी सेक्स किया जा सकता है.

मैंने देखा कि उसने अपनी ड्रेस बदल ली थी और अब वो एक छोटा फ्रॉक पहन कर मेरे सामने थी. लेकिन मैंने मन ही मन ये सोच लिया था क़ि अपन साली को अब जल्दी ही चोदना है। मुझे मन ही मन अपनी चचेरी साली पर बहुत गुस्सा आ रहा था, अगर आज वो ना होती तो आज ही मैं अपनी साली के साथ चुदाई का मज़ा ले लेता. सेक्सी वीडियो सेक्सी वीडियो गांव कामगर जब उसने अपना लंड भाभी की फुद्दी में डाला, भाभी की तो चीख ही निकाल गई- अरे … आह उस्मान भाई धीरे!मगर उसे तो जैसे कोई जन्नत की हूर मिल गई हो और वो उसे जल्द से जल्द चोद कर अपनी हवस मिटा लेना चाहता था।बस दो चार घस्सों में ही उसने अपना लौड़ा भाभी की चूत में घुसा दिया। मोटा, लंबा और खुरदुरा लंड लेकर भाभी खुश थी।उस्मान तेरा औज़ार तो बहुत तगड़ा है.

मेरे भाई को ये बात पता नहीं थी कि ऑफिस में एक लड़का मेरा दोस्त बन गया है. मैं जन्नत के द्वार पर दस्तक दे रही थी और डॉक्टर साहब का लण्ड मेरे योनिद्वार पर. लेकिन इसके अलावा मुझे और कोई हल भी नजर नहीं आ रहा क्योंकि हमारे पास इतना पैसा नहीं है कि हम महंगे अस्पताल में आई वी ऍफ़ जैसे आधुनिक तरीकों से गर्भधारण का प्रयास कर सकें.

मैंने उनकी गांड को अपने हाथ से उठा लिया और माँ की चूत में और जोर से धक्के मारने लगा. उसने पूछा- सिर्फ़ सुंदर?मैंने बोल दिया- मस्त माल है, देखते ही मेरा लंड खड़ा हो गया.

मैं इतनी जोर के साथ झटके लगा रहा था कि उस चूत से पच पच की आवाज आ रही थी.

मैंने अपूर्वा को वहीं योग मैट पर लिटा दिया और उसके मुँह में अपना मुँह डाल कर उसे स्मूच करने लगा. उसके बाद मैंने धीरे से युक्ता का एक हाथ पकड़ कर अपने लन्ड पर रख दिया और धीरे से उसको दबा दिया. तीन लंड अपने तीनों छेदों में लेकर भाभी शायद गांड चुदाई के दर्द को भी भूल गई थी.

मराठी सेक्सी वीडियो मराठी सेक्सी मराठी अपनी बहन को पूरी नंगी देखकर मेरी आँखें फटी की फटी रह गई क्योंकि मैंने जीवन में कभी किसी लड़की को ऐसे नग्न हालत में नहीं देखा था।उसकी लंबाई 5 फिट 6 इंच की है। उसकी फिगर सही तो नहीं बता सकता पर पर उसकी चूचियाँ 32″ की व पेट से वो बहुत पतली सी है. वो बोली- अब इस सवाल का जबाव बहुत लम्बा है, आपको बाद में सब बता दूंगी.

मैं अकेली क्या करूंगी यार!तो उन्होंने बोला- हम सब साथ में एन्जॉय करेंगे. दूसरी टांग मैंने खुद ही उठा कर उसकी कमर में रख दी ताकि धक्के अन्दर गहरायी तक जाएं और किसी तरह की रुकावट न हो. जब उन दोनों के बीच का झगड़ा बहुत ज्यादा बढ़ जाता था तो मुझसे रहा नहीं जाता था.

बीएफ सेक्स बीएफ सेक्स बीएफ सेक्स बीएफ

मोनू के सिर के पास सोनू चला गया और उसने वहां बैठ कर भाभी को लंड चुसवाना शुरू कर दिया. तो दोस्तो, आपको मेरी कामुक चचेरी बहन की चुदाई की ये कहानी कैसी लगी. यही प्यार था क्या तुम्हारा?वो बोली- छोड़ो मुझे विक्की, आंटी आ जायेगी.

ये सुनकर मुझे बहुत जलन हुई कि इतनी सेक्सी सुन्दर भाभी को किसी और ने भी लूट लिया है. इतना कह कर जब मैं रूम से बाहर जाने लगा तो वो मुझे रोकते हुए बोली- अच्छा ठीक है.

फेसबुक फ्रेंड ने अपनी बीवी की चुदाई करवायी-2अब तक आपने पढ़ा था कि कैसे मैंने और राकेश ने मिलने का प्लान बनाया और मिलने के बाद मैं और काव्या, एक दूसरे के प्यार में डूबे हुए थे.

मैं अब बहुत जल्द झड़ने वाली थी और ऐसा लग रहा था मानो रवि भी किसी पल पिचकारी छोड़ देगा. मैंने साराह की ब्रा भी उतार दी और मैंने उसके मम्मों पर किस करना शुरू कर दिया. क्या तुझे कुछ नहीं हो रहा था?मैंने कहा- हां मुझे भी नींद नहीं आई थी.

बल्कि वो तो हर धक्के पर अपने चूतड़ों को यूं हिला डुला रही थी, मानो पिछले धक्के का आकलन कर अगले धक्के को सही अंजाम देना चाहती हो. दूसरी चुदाई में तो फरजाना ने खुद मुझे बहुत चूसा, मेरे होंठ चबा जाने तक चली गई. वो अपनी मां को बातों में लगाए हुए थी और साथ में ही मेरे लंड का मजा भी ले रही थी.

मैंने उसको तब तक अपनी पैंट के ऊपर से ही सहलाना शुरू कर दिया था क्योंकि सामने का नजारा इतना कामुक था कि मुझसे भी रुकना मुश्किल हो रहा था.

बीएफ सेक्सी चुदाई दिखाइए: पहले तो मैं सोचती थी कि शायद मैं ही तुम्हारे बारे में गलत सोच रही हूं लेकिन फिर जब मैंने तुम्हारी तरफ ध्यान देना शुरू किया तो मुझे यकीन हो गया कि तुम मेरी तरफ ही घूरते रहते हो. तो उस दिन मैंने देखा कि वो एक बस स्टैंड पर खड़ी हुई शायद बस का इंतजार कर रही थी.

मैंने अपने गाँव की सेक्सी लड़की को पटा कर उसके कुंवारी जवानी का रस चखा. जबकि कुछ देर पहले उसने मुझे न सिर्फ नंगी देखा था, बल्कि अपने मित्रों के साथ कामक्रीड़ा में संलग्न भी देखा था. बीजी ने कहा- मजा आ गया बेटे …इसके बाद एक हफ्ता तक हम दोनों ने लगातार सेक्स किया.

उस वक्त मैंने नीलू मौसी पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया था क्योंकि मैं मां के साथ बिज़ी हो गया था.

फिर मैंने मम्मी से पूछा- कैसा रहा मम्मी … पापा की कमी पूरी हुई या नहीं?तो मम्मी बोलीं- अरे बेटा, तेरे पापा में इतना दम कहां बचा है. 9 बजे आंखें खुलीं जब रूम सर्विस वाले की कॉल आई- सर नाश्ता तैयार है. वो थोड़ा और ऊपर उठा और मुझे मुस्कुराते हुए देख कर बोला- मजा आ गया, आज से पहले ऐसे किसी को नहीं चोदा था … न ही किसी ने मुझसे चुदवाया था.