एक्स एक्स एक्स हॉट सेक्सी बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,सेक्सी हिंदी साडी

तस्वीर का शीर्षक ,

बफ सेक्सी क्सक्सक्स: एक्स एक्स एक्स हॉट सेक्सी बीएफ वीडियो, मैंने उसकी पैंटी के ऊपर से ही दो उंगलियां उसकी चूत में डालने की कोशिश की, तो वो कराह उठी.

देहाती सेक्सी नंगी चुदाई

उसकी चूत के बारे में कल्पना करने मात्र से ही मेरा लंड टन्न से खड़ा हो जाता था. सेक्सी बिहारी औरतमेरे लंड की गर्मी अभी शांत नहीं हुई थी तो मैंने उससे कहा, तो बोली- एक मिनट रुको … फिर मेरे ऊपर आकर चोद लेना.

मॉम चिल्लाती रहीं मगर अंकल ने एक नहीं सुनी और वो मॉम की गांड मारते रहे. इंग्लैंड के सेक्सी पिक्चरमैंने चाय का प्याला पीकर खत्म किया और कुर्सी पर आराम से बैठ गया।संदीप आया और बोला- अनुराग चाय पी तुमने?मैंने कहा- हां यार … मैंने तो दो दो बार चाय पी ली.

उनका गदराया हुआ बदन और भी मदहोश कर रहा था।फिर मैंने धीरे धीरे उनकी बाईं चूची को हल्का हल्का दबाना शुरू कर दिया.एक्स एक्स एक्स हॉट सेक्सी बीएफ वीडियो: कुछ ही देर में दोनों बुआओं ने मिल कर सब के लिए खाना बना लिया था और बच्चों को स्कूल भेज दिया.

आप लोगों की इस बारे में क्या राय है मुझे अपने विचार और सुझाव कमेंट्स जरिये जरूर बतायें.श्रुति से मैंने पूछा कि उसको कैसे पटाया जाये, तो उसने मुझे कुछ बातें बताईं.

मुस्लिम गर्ल्स सेक्सी वीडियो - एक्स एक्स एक्स हॉट सेक्सी बीएफ वीडियो

अब तो उनका लन्ड खड़ा ही नहीं होता था।अब तो मैं सोच रही थी कि कैसे भी करके मेरे एक बच्चा हो जाये बस।मैं सोचने लगी कि क्या करूं … किससे कहूँ।अब मैं आपको बता दूं कि मेरे पति के विदेश जाने के बाद मैंने अपनी ननद के यहाँ गई थी।मैं अपने ननदोई के बारे में बता दूँ कि वो लखनऊ में जॉब करते थे, वहीं पर कमरा लेकर रहते थे.शनाज़ बोली- पिछले पूरे हफ्ते मैंने अपने जिगर के टुकड़े को प्यार नहीं किया.

तभी मेरी नजर एक लड़की पर गयी, जो थोड़ी ग़रीब लग रही थी और एक कोने में बैठी हुई थी. एक्स एक्स एक्स हॉट सेक्सी बीएफ वीडियो चाची ने छोटा ब्लाउज, चमकीली साड़ी और होंठों पर लाल लिपस्टिक लगा रखी थी.

वो तिलमिलाई और मेरे मुंह से दबा होने के कारण उसके मुंह से – खुंगुंहुं … खुंगुंहुं … खुंगुंहुं … की आवाज निकल रही थी लेकिन मैंने पकड़ ढीली नहीं की.

एक्स एक्स एक्स हॉट सेक्सी बीएफ वीडियो?

अपनी चुदक्कड़ बहन की चुदाई की पिछली कहानीमेरी लंडखोर रंडी बहन की गैंग बैंग चुदाई-2में मैंने आप लोगों को बताया था कि मेरी बहन अंजलि कैसे रंडी बन चुकी है. फिर उसने अपने पेटीकोट का नाड़ा खोला और उसको हल्का सा नीचे सरका लिया. वे घर पर रहकर सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे थे और मुझे ट्यूशन पढ़ाया करते थे.

उल्फ़त- आह भाईजान मर गई प्लीज़ मुझे छोड़ दो … प्लीज भाई छोड़ दो … मैं मर जाऊंगी. इशा- आंह … तो जान ही ले लोगे क्या?थोड़ी देर बाद यीशा को भी मजा आने लगा था. ट्रेन शाम सात बजे पहुंची थी स्टेशन। ट्रेन स्टेशन से खुल कर यार्ड में लग गई।मेरी नींद रात को करीब 10 बजे खुली.

जब वापस आई तो मेरी आंखें खुली रह गई।उसने पिंक कलर की हाफ नाइटी पहन रखी थी और अंदर ब्रा और पैंटी भी नहीं थी।वो साड़ी में एक पतिव्रता नारी की तरह गयी थी और जब वापस आई तो एक सेक्स बम बनकर आई. वहीं फूफा जी जब भी आते, तो वो अलग कमरे में सोया करते थे, जो कि अम्मी के कमरे के पास में ही था. फिर वो पूरा अंदर तक ले कर उसके लन्ड को चूसे जा रही थी।सागर भी आंख बंद करके अपने लन्ड चुसाई का मज़ा लेने लगा।कुछ देर की लन्ड चुसाई के बाद सागर ने मामी का पेटीकोट और ब्लाउज दोनों उतार कर उनको पूरी नंगी कर दिया और फिर उनकी चूत पर अपना लन्ड रख कर रगड़ने लगा.

इतनी जबरदस्त चुदाई करने के बाद भी जब मैं नहीं झड़ा तो मैंने उसको सीधी कर लिया. मैंने अपनी भानजी से कहा- बेटा, मैं जीजा जी को मना लूंगा लेकिन पहले तुमसे पूरा मामला समझना पड़ेगा.

अपनी वासना के वश मैंने अपना हाथ उनकी कमर पर फिर से रख दिया और सहलाने लगा।काफी देर तक सहलाने के बाद मैं उनके कपड़े महसूस कर रहा था।उन्होंने ब्लाउज पहना था और नीचे पेटीकोट। शायद उनकी कमर 30-32 की होगी.

भाभी ने अपने पल्लू को जरा इधर उधर करते हुए मम्मों की झलक दिखाई और बोलीं- अच्छा … मैं इतनी अच्छी लगती हूँ तुम्हें?मैंने भी उनके मम्मों को निहारा और कहा- हां मुझे तो आप जब से आई हो, तभी से ही अच्छी लगती हो … पर आप शादीशुदा हो तो आपसे कैसे कुछ सकता था.

उन्होंने ने कहा- मेरा आने वाला है कहां निकालूँ?मैंने कहा- जीजा जी, मेरे अंदर ही निकालो. मैंने उसकी चूचियों को पीते हुए उसकी चूत में लंड के धक्के एकदम से तेज कर दिये. और मुझे यह कहते हुए अजीब लग रहा है कि कुछ समय बाद मुझे वह सब कुछ बहुत अच्छा भी लगने लगा.

फिर मेरा सारा सामान एक कमरे में पहुंचा कर बोली- ये तुम्हारा रूम है. मैंने फिर देखा कि अब मेरी दीदी ने भी उस फौजी को देखा, पर वो अभी भी वैसे ही मम्मों को दिखा रही थीं. इसलिए हमेशा ही उनको साड़ी में घर में पौंछा लगाते हुए देखता रहता था और उनके नाम से मुठ मारा करता था.

तो दोस्तो, कैसी लगी मेरी और पड़ोसन भाभी की सेक्सी चुदाई हिंदी कहानी? प्लीज मुझे मेल जरूर करना.

मैंने हाथ से उसकी एक चूची पकड़ कर मसली, तो वो मेरे सीने पर झुक गई और अपने मम्मे बारी बारी से मुझे चुसाने लगी. इस तरह से हमारे बीच में थोड़ी बहुत बातें हुई और अब मुझे उसकी बातों से लगा कि वो किसी गांव से आई है. पहली चुदाई के बाद उस दिन मुझे भी थकान हो रही थी तो मैं घर वापस आकर सो गया.

अब मेरे सामने एकदम संगमरमर की मूर्ति की माफिक, हुस्न की मल्लिका, मेरी रानी चारू बिल्कुल नंगी थी. वो बोला- लगता है बाबा का लंड बहुत पसंद आ गया तुम्हें?मैंने कहा- दिलाया भी तो तुमने ही है. बाद में मैंने अपने कमरे में जाकर बुआओं के मम्मों के नाम से मुठ मारी और हल्का हो गया.

सोनाक्षी दीदी की शादी 5 साल पहले हो चुकी थी, पर आज भी उनकी चूत आज भी उतनी ही प्यासी है, जो उनके अविवाहित के समय थी.

उस वक्त मुझे बड़ा अजीब सा महसूस होता क्योंकि इससे पहले मैंने केवल एक लड़की को पटाया था और उसकी चुदाई की थी. लेकिन मैं इस बात से एकदम अनजान अपनी आपा की चूत में अपनी बीवी की चूत समझ कर उंगली कर रहा था.

एक्स एक्स एक्स हॉट सेक्सी बीएफ वीडियो उसने भी मेरे लंड के रस की एक बूंद खराब नहीं होने दी और वो मेरे सारे रस को पी गई. पहले दिन ही मैंने जया को बोल दिया था कि कल हम थोड़ा टाइम साथ में बिताएंगे.

एक्स एक्स एक्स हॉट सेक्सी बीएफ वीडियो और मैंने उसके पैर फैलाकर उसके ऊपर लेट कर अपना लंड भाभी की गांड पर सेट किया और जोर का धक्का दिया. मुझे लगने तो लगा था कि शायद काम बन तो जायेगा।हम दोस्तों में संदीप के समीप मैं ही सबसे ज्यादा था.

जैसे ही वो भाभी हॉर्न की आवाज़ सुन कर पलटी, तो मैं उसे देखते ही रह गया.

किनर का मतलब

मैं एक झटके उसे बिस्तर पर ही उठ बैठा और मीनाक्षी को अपनी बांहों में लेकर अपने ऊपर गिरा लिया. मैंने कहा- बेटा, हम लोग पंजाबी हैं, पंजाबियों की हर चीज बड़ी होती है, तुम्हारी चूत इसी साइज के लण्ड से संतुष्ट होगी. अगर मैंने अपनी बहन को गर्भवती नहीं बनाया तो वो किसी बाहर के आदमी से गर्भवती हो जाएगी.

उसे समझ नहीं आ रहा था कि वो मेरा लौड़ा चूसने का आनन्द ले या फिर उंगली से चोदन का मजा ले. उल्फ़त ने मेरे हाथ को धीरे से अपने दूध से हटाया और बोली- अभी नहीं भाईजान, अभी सब जाग रहे होंगे. वह मेरे हिप्स पर बहुत तेज मारता भी था बीच-बीच में … जिससे मुझे बहुत मजा आता था.

एकाएक मेरे लंड से वीर्य निकलने लगा और चाची की चूत में मैंने सारा वीर्य भर दिया.

रोज मैं कॉलेज के बहाने से निकल जाता और जया को लेकर वहां पहुंच जाता. मैं उसके घर में उसके कामों में मदद करने लगा, जिससे मैं उससे काफी घुलमिल गया. मैंने बोला- ठीक है, वो सब छोड़ो, अभी तो मुझे आपकी सेवा करने का मन है.

इसके बाद प्रशान्त ने अपना लंड मम्मी की चूत में रखा और झटके से अन्दर डाल दिया. बड़ी बुआ ने कहा कि मयूर आज पहली बार तूने हमें ये बताया है चुदाई किसे कहते हैं, वरना तेरे फूफा तो केवल लंड से 5 मिनट चोद कर सो जाते थे … और वो भी साल में एक बार में आना … और एक महीने में दो बार चोद कर फिर से विदेश चले जाना. लेखक की पिछली कहानी:मैंने अपनी मॉम की सैंडविच चुदाई देखीये उस वक्त की बात है जब मैं 19 साल का होने वाला था.

मैं भी तैयार होकर निकलने वाला था, तो उसने मुझे स्टैंड पर मिलने को कहा. इससे चारू के मुंह से फिर से आह्ह … आह … सी … सी … की सिसकारियां निकलना शुरू हो गयीं.

अंकल के इतने बड़े लंड से चुद कर मुझे दस धक्के के बाद बहुत ही ज़्यादा मज़ा आने लगा. मैंने उन्हें घोड़ी बनने को कहा, तो वह तुरंत दो हाथ और दो घुटनों के बल घोड़ी बन गईं. वो हंस रही थी और अपनी उंगलियों से मेरे लंड रस को अपने गालों पर क्रीम के जैसे मल रही थी.

जैसे ही मेरे लंड का मोटा सुपारा आपा की बच्चेदानी में घुसा, वैसे ही मेरी बड़ी बहन की आंखें दर्द के मारे फटने का हो गयी.

फिर चारू कातिल मुस्कान लिये मेरी ओर देखती हुई, अपनी मखमली गांड को हिलाते हुए, चाय बनाने के लिए किचन में चली गयी. और थोड़ी देर बाद तो पूरा का पूरा अंदर लेने लगी। अब उसके मुंह से आह जैसी आवाजें निकल रही थी।हम खुले में थे क्योंकि ऊपर रास्ता भी था तो मैंने उसके मुंह पर मुंह लगाकर उसकी आवाज को रोक लिया और आराम से धक्के लगाने लगा. मैंने भाभी के मदमस्त रूप को देखा और पूछा- प्रिया कहां है?भाभी बोलीं- आज वो अपनी नानी के घर गई है.

आज तो मेरा लंड कुछ ज्यादा ही उतावला हो रह था। मेरे लण्ड ने मेरे दिमाग का और अपने आप का बुरा हाल कर लिया था।थोड़ी ही देर में ज्योति भाभी आयी. ये उत्साह तब दोगुना हो जाता है जब पता होता है कि दोस्त का माल बहुत ही हॉट माल है और उस माल को पाने की लालसा मन में होती है.

… डॉगी स्टाइल में थरथराती नंगी गांड को दबोच कर पकड़े हुए मेरे हाथ … लम्बे खुले बाल और पसीने से भीगा देसी अधखुला ब्लाउज़ … संजना आंटी के बदन की कामुक महक और गरम सांसों की उन्हह्ह आंहह्ह की मादक सिसकारियां … आंटी का अपलक वासना की निगाहों से मुझे देखते रहना … कड़क लोहे लंड का अन्दर बाहर होना … इन सबसे एक अलौकिकता का वातावरण बन रहा था. अवनीत मेरा लण्ड चूसती जा रही थी और उसके बढ़ते आकार से हैरान होकर बोली- मामू, आपका तो बहुत बड़ा है, रोहित का ऐसा नहीं है, इससे लम्बाई में भी कम है और पतला है. मैं- ओह भाभी आप हैं … ओके अभी चलना है क्या ड्राइविंग सीखने!निशा भाभी- नहीं यार … नंबर चैक कर रही थी और आपके पास मेरा नंबर नहीं था, तो सोचा अपना नंबर भी दे दूं.

ब्लू फिल्म वीडियो में भेजिए

उसे देख कर ऐसा लग रहा था जैसे कोई विदेशी पोर्न स्टार सामने खड़ी हो।उसके बूब्स उसकी टीशर्ट के अंदर बिल्कुल फिट थे.

मैं अपनी बहन के ऊपर चढ़ गया और अपना कटा हुआ लौड़ा उसके मुँह में दे दिया. फिर उसने मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसा और एक बार फिर मेरे लंड का पानी मेरे मुंह में गिरवा लिया. मेरे दूसरे मामा यानि कि सबसे बड़े मामा से दूसरे नम्बर के मामा अक्सर हमारे घर आते जाते रहते थे.

इधर मैंने भी उल्फ़त की अधूरी चुदाई की थी तो मेरा लंड भी एकदम लोहे की तरह सख्त था. मैंने उनसे पूछा- मां, आप मुस्कुरा क्यों रही हैं?मां ने कुछ नहीं कहा. रक्षाबंधन की सेक्सीअपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए और मैं उसके होंठों को चूमते हुए चूसने लगा.

मैंने मैम की स्कूटी चैक की तो मुझे लगा उसके प्लग में कचरा घुस गया था. शाम को मैंने उसकी उदासी का कारण पूछा, तो उसने मुझसे बात को टाल दिया और कुछ नहीं बताया.

मैंने उसके मुँह से लंड निकालना चाहा, मगर उसने लंड बाहर निकालने ही नहीं दिया. मुझे लगता था कि मेरे पति के लिए मेरी कुंवारी चूत से बढ़ कर कोई और तोहफा नहीं हो सकता. वैशाली भाभी वहीं एक झीना सा नाईट सूट पहन कर बेड पर बैठी हुई थीं और पास में टेबल पर खाना रखा हुआ था.

उसने एक जोरदार चीख मारी- हाय अम्मी बचा लो … भाईजान ने मेरी चुत फाड़ दी. मेरी लम्बाई 5 फुट 7 इंच है, रंग सांवला है, शरीर ठीक-ठाक है और मेरा लंड 6. पापा उलाहना देते हुए बोले कि एक छुट्टी के दिन भी घर पर रुकता नहीं है ये लड़का.

शकील सुबह ही उठ गया था और वो अम्मी के मम्मों के बीच में दो हजार रुपए का एक गुलाबी नोट फंसा कर कमरे से निकल गया.

आज अपना पूरा लण्ड मेरी चूत में ही खाली कर दो।अबकी बार हम दोनों की भावनाएँ एक साथ चल रही थीं- आह्ह … हाये … ओह्ह ज्योति … हाय मेरी रानी … हाय तेरी चूत … आह्ह … करते हुए मैं उसे चोदे जा रहा था. वो बेड के किनारे पर आ गईं और मैं उनके पीछे खड़ा होकर उनकी चूत में लंड सैट करके दे दनादन धक्का लगाने लगा.

मैंने कहा कि घर से पहली बार दूर आने में ऐसे ही लगता है, मुझे भी हुआ था. इससे उसका काम और भी आसान हो गया और उसका बात खुल जाने का डर जाता रहा. उसने पूछा- बहना … फुल स्पीड में चोदूँ?मैंने कहा- हाँ भाई चोदो!उसने मेरी चुत में मानो पिस्टन चला दिया हो.

कमॉन सर … आह्ह … फक मी हार्ड (जोर से चोदो) … ओह्ह सर … आह्ह … ओह्ह की आवाजें आ रही थीं. मेरा भी पानी निकलने वाला था और मैंने उसकी चूत में ही पानी छोड़ दिया. लेकिन उन्होंने सागर से बोला- अब झटके मरना शुरू करो।इतने दर्द के बाद भी मामी की उतेजना दर्द से ज़्यादा हावी थी.

एक्स एक्स एक्स हॉट सेक्सी बीएफ वीडियो वो मेरा सारा माल पी गयी।उस रात मैंने माँ की गांड भी मारी।दिन के 11 बज चुके थे रात भर चुदाई की वजह से माँ और मैं लेट सो कर उठे. यीशा बोली- आज आपने बिना बताए ही गांड में लंड डाल दिया? क्या आज कुछ ज्यादा ही पी ली है?मैंने उसके मम्मे मसलते हुए उससे कहा- हां रानी, आज मेरा मूड गांड मारने का अचानक से बन गया.

इंग्लिश में नंगी सीन

मुझको 10 साल पुरानी बात आज भी याद है कि मैं सेक्स प्रति कितना उत्तेजित हुआ करता था. हमारा ये पहला सेक्स था इसलिए बस जो मन में आ रहा था हम किये जा रहे थे. मुझे लगा था कि प्रिया मैडम और कोई सर अन्दर हैं, लेकिन मुझे तब और भी ज़्यादा आश्चर्य हुआ, जब सर की आवाज़ सुनाई दी.

फिर मैंने चुदाई शुरू कर दी।अब मैं उनके हर अंग को बेतहाशा चूमता, चाटता और निप्पलों को काटता जा रहा था. आह्ह … क्या मस्त सेब थे उसके! एकदम गोरे गोरे चूचे और उन पर मटर के दाने के जैसे भूरे निप्पल!मैं तो उन पर टूट पड़ा. छोरी की सेक्सीवो सिसकारियां भरने लगी- आहह आहह आहह ऊईई ऊईई!मैंने एक हाथ उसकी पैंटी में डाल दिया और चूत सहलाने लगा.

खाना खाते वक्त भाभी मुझसे पूछने लगीं- और बताओ, तुम्हारा चाची के साथ कब से ऐसा चक्कर चल रहा है … अब तक कितनी बार चाची की चुदाई कर चुके हो?मैंने हंसकर जवाब दिया- अरे भाभी पिछले करीब आठ महीने से हमारा ऐसा चक्कर चल रहा है.

जब चुदाई खत्म हुई तो शांता की गांड का छेद खुलकर पूरा बड़ा हो गया था. उसके बाद उसने वैसे ही लन्ड बहन की चूत में घुसाए हुए ही बेडरूम में लेजा कर बेड पर लिटा दिया और उसके ऊपर चढ़ गया.

मैं बोला- वो तो अब होगा नहीं, मगर जल्दी करो जो करना है।फिर उसने मुझे बेड पर लिटा दिया और दूसरे कमरे में चली गयी. हम दोनों एक ही सोफे पर बैठ कर टीवी देख रहे थे कि तभी अचानक हीरो हीरोइन के बीच एक अन्तरंग दृश्य आया, जिसमें हीरो हीरोइन बिस्तर पर लेट कर चुम्बन ले-दे रहे थे. फिर दोनों हांफते हुए एक दूसरे की साइड में गिर गये।हम दोनों के चेहरे पर आत्माँ तक की तृप्ति के भाव नजर आ रहे थे.

उसके बाद वो ननद की चूत को सहलाने लगे और वो उसके लंड को पकड़ कर सहलाने लगी.

मैं चारू से बोला- यार चारू … मैं पहले दिन से ही तुम्हारा दीवाना हूं. अंकल ने एक तेज आवाज के साथ अपने लंड का वीर्य उनकी गांड में डाल दिया. अगले दिन शाम को जब शाम को सोने का टाइम हुआ तो हम दोनों रोज की तरह छत पर आ गए.

भाभी की नंगी चुदाई सेक्सीफिर वापस अन्दर आकर भाभी बोलीं- मेरी बहुत सारी सहेलियां कॉलबॉय की सर्विस लेती हैं, अगर तुम चाहो तो तुमको भी कॉलबॉय बना सकती हूँ. मैंने धीरे से पूछा- आपकी वाईफ नहीं करने देती है क्या?उसने भी धीरे से कहा- बहुत पहले से चुदाई करवाना बंद कर दिया है उस छिनाल ने और मुझे उसके साथ मजा भी नहीं आता.

मोटी भाभी जी

काफी देर चूत चोदने के बाद मैंने अब उसे सीधा लेटा दिया और उसकी गर्दन बिस्तर से नीचे लटका दी. तब मैंने उससे पूछा- क्या तुम दोनों का झगड़ा हुआ है और इसी लिए तुम यहां आई हो?आरुषि एकदम से चौंक गयी कि मुझे कैसे पता चला. उन्होंने झुक कर मुझे चाय का कप दिया, तो मेरी नजरें उनकी धवल चूचियों पर टिक गईं.

मैंने नजर भरके उनके रसभरे मम्मों को देखा और मॉम को सोफे पर लेटा कर खुद उनके ऊपर चढ़ गया. करीब 25 मिनट बाद मैं उसकी चुत में ही झड़ गया और कुछ देर तक उस पर ही पड़ा रहा. मैंने उधर एडमिशन ले लिया, लेकिन मुझे वहां से रोज आना जाना काफी मुश्किल होने वाला था … इसलिए मैं उधर ही एक कमरा किराए पर लेने की सोच रहा था.

मैं अपनी बड़ी बहन की मौजूदगी से अनजान में उस पानी टंकी की दूसरी तरफ खड़ा होकर अपनी बीवी शनाज़ का इंतज़ार कर रहा था. मैंने आंटी की गांड में थूक से चिकनाहट दी और उंगली से उसकी गांड को सहलाया. उसने अपनी चूत में मेरा मुंह लगा दिया और मैं चूसने लगा।अब उसने मेरे लौड़े को मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया.

उसने अपने कमरे में जाते ही लाइट बंद करके दरवाज़ा हल्का का खोल दिया ताकि बाहर की रोशनी में हम एक दूसरे को देख सकें. सागर उसने बातें कर रहा था।कुछ देर बाद मम्मी उसके थोड़ा करीब हो कर बैठ गयी और सागर ने अपना हाथ उनके कंधे पर रख लिया.

हम दोनों आ गए और किराए पर रहने लगे।मैं घर की जरूरत का सामान ले आया और रुबीना बाजी को बोला- बाजी आज से मैं आपका शौहर हूं, कोई पूछे तो ये ही बताना.

मैं कोई ज़्यादा खूबसूरत नहीं हूँ और ना ही कोई मेरा कसरती बदन है … बस जैसा एक औसत व्यक्ति होता है, वैसा ही हूँ. बिहार की फुल सेक्सीमैंने उसकी दोनों टांगों को उठा कर अपने कंधों पर रख लीं और उसके मम्मों को सहलाने लगा. रानी का सेक्सी फिल्मचूंकि शकील बचपन से ही यहीं रहता आया था … इसी वजह से उसकी अम्मी के साथ लेटने की बात से मुझे नासमझी के कारण अजीब नहीं लगती थी. पर मैं हटा नहीं … मैं थोड़ी देर रूका और फिर से भाभी की गांड में धक्के देना शुरू कर दिया.

अब मेरा लौड़ा पूरा अन्दर उसकी बच्चेदानी तक जाने लगा।उसने अपनी चूत को टाईट करना शुरू कर दिया और तेज़ तेज़ लंड के झटकों से उसकी सिसकारी निकल पड़ी और इसी दौरान उसके मुंह से सीत्कार फूटे- आह्ह … आह्ह … ओह्ह …ऐसे करके वो झड़ गई और उसकी चूत के पानी से मेरा लंड पूरा गीला हो गया.

इसी बीच संजय अंकल के एक ड्राइवर ने भी मुझे चोदा और शादी वाले दिन भी इन तीनों ने मुझे रगड़ा. उनकी सिसकारें सुनकर मुझे भी जोश चढ़ने लगा।मैं चूचियों से होते हुए अब हाथ को पेट और नीचे मौसी की चूत के ऊपर तक सहलाने लगा. मैंने सीधे ही अपनी आंखों को भाभी की आंखों से मिलाकर उनसे बात करना शुरू कर दी थीं.

हुआ कुछ यूं था कि आकांक्षा को ड्राइंग बनानी नहीं आती थी, तो मैंने उसके ड्राइंग में मोर बनाया था. आंटी एकदम से कुलबुलाने लगीं- अंह … अरे अब तुम मेरी गांड मारोगे क्या?मैं- क्यों आपने कभी गांड नहीं चुदवाई है?आंटी बोलीं- नहीं … मेरे पति ने कभी मेरी गांड में कुछ नहीं डाला … और मैं भी ऐसा नहीं करती. एक दिन मैं शाम को खाना खाकर बाहर घूम रहा था कि तभी मोनिका भाभी कुछ काम से नीचे आईं तो मैं उनकी सीढ़ियों के पास में जाकर खड़ा हो गया.

सेक्सी बीएफ पंजाबी

आज सुबह ज़ोहरा सेवादार को बता चुकी थी कि पिछली रात को ऊपर वाला ज़ोहरा को सपने में आया और ज़ोहरा की गोद भरने की बात कही. तभी मेरी मां ने कंडोम छीन लिया और कहा- अपने जीजा से कैसा परहेज है तुझे … कंडोम रहने दो और अपनी योनि को राजू के बाप के लिंग से संभोग करवा लो. पहले तो अंकल ने मेरी चूत चाटी और मेरी गांड के छेद में अपनी जीभ से घुसाने लगे.

करीब 25 मिनट बाद मैं उसकी चुत में ही झड़ गया और कुछ देर तक उस पर ही पड़ा रहा.

फिर मैंने मम्मी को डॉगी स्टाइल में किया और उनकी गांड में अपना लंड दे दिया.

धीरे धीरे मैं उसके गले पर बेहताशा चूमने लगा और नीचे आते आते मैंने उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके चूचों को चूसने लगा. चाची ने सहलाने के बाद मेरे लंड को मुंह में ले लिया और मेरे लंड को जोर से चूसने लगी. सेक्सी वीडियो 2021 सेक्सी वीडियोमेरे पिता एक पेशेवर जिगोलो के जैसे मौसी की योनि को चूस रहे थे और मौसी अपने वक्षस्थल को मसल रही थीं.

आप सब का यह सेक्सी चाची की चूत कहानी पढ़ने के लिए बहुत बहुत धन्यवाद. फिर मैंने उसकी सलवार उतार दी और पैन्टी भी उतार दी और रजाई ऊपर तक ओढ़ ली. मगर तभी किसी के आने की आहट हुई और हम दोनों तेजी से अलग होकर लेट गये.

… अभी यहां कोई आ जाएगा, तो क्या होगा … जानते भी हो?वो मेरी बात को अनसुना करते हुए नीचे बैठ गया और मेरी स्कर्ट में अपना मुँह डाल कर मेरी चूत चाटने लगा. अचानक चारू सिहर उठी- मर गई … सी … सी … सी आह्ह … आह्ह।उसने दोनों हाथों से मुझे बहुत ही कसकर पकड़ लिया और बोली- अन्नु मेरी जान… आ जाओ … अब मैं तुम्हारी होना चाहती हूं.

इसके अलावा वे मुझे सजा देने के बहाने पूरी तरह नंगा कर दिया करते थे और मेरे लंड, कूल्हे और नंगे शरीर को सहलाया करते थे; लेकिन बहुत प्यार से! मैं कुछ भी विरोध करने की स्थिति में नहीं था.

शायद दीदी को अच्छा नहीं लगता होगा।वो उनकी चूत में उंगली कर रहे थे। फिर वो उनकी चूत को चाटने लगे. मैं खुश भी था और दुखी भी; क्योंकि बिना कॉन्डम को चोदा था तो गर्भवती होने का डर भी था. मेरा मुंह रानी की चूत पर लगा हुआ था और पिंकी अपनी दोस्त की चूचियों के साथ खेल रही थी.

बिहारी सेक्सी गर्ल वीडियो अब बाबा लंड को धीरे धीरे धकेलने लगे थे और मैंने फिर एकदम से पीछे हाथ ले जाकर बाबा की कमर को पकड़ा और अपनी गांड पर उनके बदन को सटा लिया. दोस्तो, मैं राज आपको देसी नंगी भाभी सेक्स स्टोरी के पिछले भागहवस की मारी भाभी की जोरदार चुदाई कीमें बता रहा था कि बिस्तर पर नंगी पड़ी माधवी भाभी के जिस्म पर मैं मेहंदी और रंग से डिजायन बना रहा था.

बोलो, कब सेवा दोगी?मैं बोली- बहुत जल्दी … शायद अगले हफ्ते!वो बोले- ठीक है, तो फिर दो दो लंड से चुदने के लिए तैयार रहना. मैंने उसी पल टीचर की जांघ पर हाथ रखा और बोला- प्लीज़ सर एक बार मान जाइए, आप लोग जो भी बोलेंगे, मैं करने को तैयार हूँ. हॉट देसी भाबी कहानी पर अपनी राय देने के लिए आप नीचे कमेंट्स में अपने विचार जरूर लिखें.

हिंदी बीएफ बीपी

तो भाभी भी हंसने लगीं और बोलने लगीं- आज से पहले मुझे इतना मजा मेरी पूरी लाइफ में नहीं आया था. उसके लंड की फोटो देखकर मेरी प्यास बढ़ने लगी थी लेकिन उससे मिलने का टाइम नहीं लग रहा था. अब मैं खड़ा हुआ और आकांक्षा के पास जाकर उसका हाथ पकड़ कर उससे बोला- यार प्लीज मुझे माफ़ कर देना, मैं पता नहीं मैं क्यों तेरी तरफ खुद ब खुद खिंचा जा रहा हूँ.

वो करीबन 35 के आसपास का रहा होगा और मेरी चूत चोदने की बात कर रहा था. भाभी ने वो डिब्बा उठा लिया था और वो मुझसे नीचे उतारने के लिए बोल रही थीं.

धीरे धीरे चाची का दर्द कम हो गया और चाची की चूत में पूरा लंड घुस चुका था.

अभी आगे कुछ बात करने की जरूरत ही नहीं पड़ी और मैं उनके मुंह को चूमने लगा. कोई बाहर से आया है और उससे मिलकर आना है, तुम बैठो और चाय पीकर जाना।मैं मन ही मन प्रसन्न हुआ और सोचने लगा कि आज तो वास्तव में लॉटरी लग गयी है. मैंने कहा- आप जवानी में भी ऐसे ही थे क्या?वो बोला- जवानी… जवानी की क्या बात करेगी गुड़िया रानी, जवानी में तो मैंने तेरी मां की चूत की प्यास भी बहुत बार बुझाई है.

बड़ी बुआ बोलीं- ठीक है … और हां हम जो भी कर रहे हैं, वो किसी को बता मत देना कि हम तुम्हारे सामने नंगे हुई थी. मेरा लंड उसकी चूत पर लगा था और मैं उसकी चूचियों को भींच भींचकर पीने लगा. कुछ देर बाद वो खुद बोलने लगी- और डालो … आह्ह … और जोर से झटका मारो … पूरा घुसा दो अंदर तक … आह्ह … चोदो … आह्ह।मैं भी उसकी चूचियों के निप्पल को दांत में पकड़ कर उसको चोदने लगा.

अपनी वासना के वश मैंने अपना हाथ उनकी कमर पर फिर से रख दिया और सहलाने लगा।काफी देर तक सहलाने के बाद मैं उनके कपड़े महसूस कर रहा था।उन्होंने ब्लाउज पहना था और नीचे पेटीकोट। शायद उनकी कमर 30-32 की होगी.

एक्स एक्स एक्स हॉट सेक्सी बीएफ वीडियो: वो एकदम से गुस्सा हो गई थी और उसने चुदाई करते वक्त ही मेरे लंड को अपनी चूत से निकाल दिया था. मेरा बेटा अभी तक सो रहा था, तो मैंने उसको उठाना सही नहीं समझा और मैं उसके स्कूल के लिए निकल गई.

अन्तर्वासना पर सेक्स कहानी पढ़ते हुए मेरे मन में आया कि मैं भी अपनी कहानी साझा करूँ. श्रुति ने मेरा मोबाइल लिया हुआ था और वो मेरे फोन में मेरे मैसेज पढ़ रही थी. मुझे पेशाब करना था और इस प्रकार का बाथरूम मैंने पहले कभी यूज नहीं किया था.

हम दोनों ने अपना लंड मम्मी के मुँह में दे दिया और मम्मी लंड चूसने लगीं.

अबकी बार मैंने कॉन्डम नहीं लगाया और उसको मेरे लंड पर बैठने के लिए कहा. लेकिन आने से पहले मैंने चाची के होंठों को खूब चूसा, चाची को प्यार किया और वादा लिया चाची से कि वे भाद में भी मुझे अपनी चूत की चुदाई का मौक़ा देती रहेंगी और मुझे अच्छी तरह से चोदन करना सिखाएंगी. इसके बाद पूरी शादी में मुझे पांच और लंड अपनी चुत में लेने का मौका कैसे मिला, इस सबको विस्तार से अगली कहानी में लिखूँगी.