देसी बीएफ सेक्सी एक्स एक्स

छवि स्रोत,नेपाल की सेक्सी फिल्में

तस्वीर का शीर्षक ,

पति पत्नी के साथ सेक्सी: देसी बीएफ सेक्सी एक्स एक्स, वो मेरी तरफ देखने लगी और बोली- क्या खूबसूरत हैं?मैंने आंखों के इशारे से उसके मम्मों को देखा, तो वो शर्मा गई और झट से अपने दुपट्टे से अपनी चूचियों को ढकने लगी.

फ्री डाउनलोड सेक्सी

वो मुझे दूर एक सुनसान जगह उनके अड्डे पर ले गए और मेरा फोन छीन लिया. કુત્તે કી ચૂદાઈउसे जोर का दर्द तो होना ही था, दर्द के मारे वो जोर जोर से रोने लगी.

वैसे भी सेक्स करना मैंने कोमल दीदी से ही सीखा था तो कुछ नया भी कर लेते हैं. वेलकम सेक्सीमैंने तुरंत ही उससे कॉल हिस्ट्री खोलने को बोला तो गुस्सा करते हुए बोली- तुमने मुझे दिया ही क्या है.

मैंने अपने पड़ोसी दोस्त की मस्त बीवी की चूत चोदी, उसके साथ पूरी मस्ती की.देसी बीएफ सेक्सी एक्स एक्स: उस समय मिक्की ने डार्क पर्पल शॉर्ट स्कर्ट और लाइट ब्लू स्लीवलैस टॉप पहना हुआ था.

मोनिका ने कहा- क्या हुआ शिव?मैंने उसकी तरफ इशारा करते हुए बोला- धीरे बोलो.तब चाचा ने अपने झटकों की रफ़्तार बढ़ा दी थी, जिससे मम्मी के दूध भी जोर जोर से ऊपर नीचे हिलने लगे थे.

हॉट सेक्सी बिहारी - देसी बीएफ सेक्सी एक्स एक्स

मैंने लिखा- क्या बात है काफ़ी सेक्सी लग रही हो!उसने रिप्लाई किया- क्यों तुम्हें कुछ होने लगा है क्या!मैंने बोला- हां तुमको देख कर अपने आप चीजें हिलने लगती हैं.उस समय मेरे पापा ने अंकल को कॉल लगाया और उनसे कहा कि मेरे बच्चों के पास 15 दिन रह लो.

मैंने धीरे से अम्मी की गांड पर अपना लौड़ा रखा और एक जोरदार धक्के में पूरा लंडअम्मी की गांडमें घुसा दिया. देसी बीएफ सेक्सी एक्स एक्स उसे 5 मिनट किस करने के बाद मैंने उससे पूछा- मेरे साथ मजा आ रहा है?वो हंस कर हां में सर हिलाने लगी.

ज्योति ने शरमाकर अपनी नजर नीची कर ली।मैंने ज्योति की चोली को खोल दिया और उसे बैठाकर उसकी चोली को निकाल दिया.

देसी बीएफ सेक्सी एक्स एक्स?

लेकिन मैं पूरा खिलाड़ी था, मुझे इन सब चीजों के बारे में पता था तो मैंने अपने ज्ञान का सही इस्तेमाल किया और धक्के लगाने लगा. अब मुझे रहा नहीं जा रहा था, जल्द से जल्द मैं उसके हुस्न के दीदार करना चाह रहा था. मैंने अपनी उंगली से उन दोनों का दही लेकर चाटना शुरू कर दिया, फिर दोनों के लंड चाट चाट कर साफ़ कर दिए.

मेरी अम्मी की चूत एकदम गुलाबी थी और अम्मी की चूत पर एक भी बाल नहीं था. पर दाइशा जी की ओर से कोई हरकत ना देखकर लेफ्ट हैंड से उनके कंधे पर थोड़ा सा छूने लगा और कहा- दाइशा जी … गाड़ी स्टार्ट कीजिए।दाइशा जी किसी इठलाती हुई लड़की की तरह से हँसी और झुक कर चाभी को घुमाकर फिर से गाड़ी स्टार्ट की. अब मैं नीरज का लंड चूस रही थी और सुनील के ऊपर चढ़कर उससे चुदवा रही थी.

बात आगे कैसे बढ़ी?फ्रेंड्स, यहां पर ये मेरी पहली सच्ची Xxx कहानी है. मुझे बहुत बैचैनी होती थी इसलिए बहुत सोच विचार के बाद इसे मैंने आप लोगो के साथ शेयर करना उचित समझा. जीभ निकालकर एक दूसरे की जीभ चूस रहे थेट्रेनर- इस तरह ग्राहक के होंठ और जीभ चूसने से बीमारी का ख़तरा है.

मेरी नजर अंजलि पड़ी … क्या गजब की खूबसूरत बला लग रही थी!जिस तरह से अंजलि इस समय अपनी पारम्परिक वेश भूषा में थी, लग ही नहीं रहा था, कि रात की चुदक्कड़ अंजलि मेरे सामने खड़ी है।उसने मेरे पैर छुए. ‘उममम्म … मुउउउह … आआह …’‘ओह्ह्ह उंहन … उंह … उंहन … सुडुप्प … सुडुप्प … अम्म्मम्म … पुच … पुच.

‘अइइया इइया … अइया आहया … इयाआह आइया … इया आह आइ…’कुछ पल बाद मम्मी चाचा के सर को अपनी चुत से पीछे हटाने में कुछ सफल हो गईं- अइइ … उह … देखो मान भी जाओ … रहने दो ना … नरेश उधर अपनी जीभ मत लगाओ … अहह … अपना मुँह हटा लो वहां से!चाचा चुत को चाटते और सूंघते हुए कहने लगे- तुम्हारी चुत में एक अलग ही स्वाद है मेरी जान.

मैं दो साल बाद कोमल दीदी को देख कर बड़ा असहज हो गया था और बेचैनी में ही मोनिका को कॉलेज से लेकर कोमल दीदी के घर आ गया.

फिर मैंने आखिरी शॉट मारा और मेरा पूरा लंड उसकी चूत में डिस्को करने लगा था. वो मुझे जागा हुआ देख कर बोला- आपको कुछ चाहिए क्या भाभी?मैंने ना में सर हिला दिया. मैं उसके ऊपर वाला होंठ चूस रहा था और वो मेरे नीचे वाला होंठ दबाए हुई थी.

मैं अगले दिन बिना किसी को बताए सुबह-सुबह कमरे पर ताला लगा कर कुछ जरूरी काम के कारण गांव चला गया. मैंने मां से जानबूझ कर पूछा- मम्मी मैं बाजार जा रहा हूँ … आप आम लाने के लिए कह रही थीं. फिर मैंने भाभी के ब्लाउज को पीछे से हटा दिया और उनकी पीठ और कमर पर बहुत सारी चुम्मियां करते हुए नीचे आता गया.

[emailprotected]बहू ससुर सेक्स कहानी का अगला भाग:मुट्ठ मारो ससुर जी- 5.

अभी थोड़ी देर पहले जिस चेहरे की लालिमा उसके हुस्न को चमका रही थी, वहां अब उस चेहरे को एक उदासी ने आकर घेर लिया था. वहां पर मैंने देखा कि कुछ लड़के रानी से दोस्ती कर चुके थे और वह बहुत आपस में क्लोज होकर बातें कर रहे थे. मैंने अपनी पत्नी से कह दिया था कि शुक्रवार मुझे कुछ ऑफिस के काम से थाणे जाना है.

मेरे मायके में सारे नौकर मालकिन को बीवी जी कहते हैं। मुझे बुरचोदी बीवी जी कहो, छिनार चुदक्कड़ बीवी जी कहो, मुझे अच्छा लगेगा।यह सुनकर मेरा लण्ड साला आप से बाहर हो गया।वह फिर बोली- अच्छा मुझे सच सच बताओ कभी किसी की बुर चोदी है तुमने?मैंने कहा- नहीं मेम साहेब, मैं गरीब आदमी हूँ. लगभग 10 मिनट ऐसे मेरी चुदाई करने के बाद दोनों ने अपनी पोजीशन बदल ली. इसमें आप पढ़ेंगे कि कैसे मेरी पत्नी के बॉस ने मेरी पत्नी की अन्तर्वासना को शांत किया और मुझे एक बच्चे का बाप बनाया.

वाह क्या नज़ारा था … झक्क सफेद ब्रा में भाभी के दोनों कबूतर मेरे सामने तने थे.

तभी मेरी नजर एक नर्स से जा टकराई, वो भी हर रात को उसी समय टहलने आती थी. मैंने कहा- देखिए मैडम, जब तक आपकी यहां ड्यूटी है, आप मेरा मकान इस्तेमाल कर सकती हैं.

देसी बीएफ सेक्सी एक्स एक्स मैंने कहा- कैसा लग रहा है मम्मी जी?उन्होंने कहा- बड़ा मजा आ रहा है बेटा. ग्राहक खुश होने पर अपना काम, ऑफिस या धंधे को ज्या दा अच्छे से कर पाएगा, उसकी कमाई ज्या दा होगी, जिसका लाभ तुमको भी मिलेगा.

देसी बीएफ सेक्सी एक्स एक्स पर बात घर की थी तो मजबूरन मुझे मानना पड़ा।मैंने ऊपर के कमरे में उसके रहने का इंतजाम कर दिया।यश Xxx चाची की चुदाई कहानी उसी के साथ की है. हम दोनों ने करीब दस मिनट तक एक दूसरे का सामान चाट चूस कर रस निकलवा दिया और फोरप्ले का मजा लिया.

कुछ देर बाद मम्मी की ब्रा को निकालकर उनके एक दूध को अपने मुँह में लेकर महेश सर चूसने लगे.

इस्नोफीलिया बढ़ने से क्या होता है

मैं अपनी स्वप्न सुंदरी के इतने पास था कि मैं कभी सपने में भी सोच नहीं सकता था।मैंने क्लच दबा के धीरे से गियर चेंज किया और धीरे-धीरे क्लच को छोड़ने लगा और दाइशा जी को एस्केलेटर बढ़ने को कहा।दाइशा जी ने वैसा ही किया. मेरी बीवी भी उसे बता रही थी कि इसमें इधर दर्द होता है, इधर नहीं होता है. मैं- वाह फिर क्या हुआ?वो- फिर मेरी बीवी ने उसके लंड पर हाथ रख दिया तो उसकी बीवी ने मेरे लंड पर हाथ रख दिया.

मैं दरवाज़ा लॉक करने के बाद बेड पर उसके पास जाकर लेट गया और उसे किस करने लगा. भाभी भी अपनी दोनों टांगें हवा में करके मेरे लंड को पूरी तरह अन्दर तक ले रही थीं और आवाज करती हुई मजा ले रही थीं. उसने अपने उंगलियों के बीच दोनों निप्पल को पकड़ के अपनी तरफ खींचा और मैं उसपर झुकती चली गयी.

मैंने लड़की की तरह से उससे न जाने कितनी बार सेक्स के लिए पूछा पर उसने मना कर दिया.

एक दिन चाचा का फोन आया- बेटा गांव में कामकाज एकदम बंद पड़ा है खेतीबाड़ी में भी कुछ सही से नहीं चल रहा है. नेहा दीदी- सगे नहीं हैं तो क्या हुआ … इसका मतलब कुछ भी करेंगे?इतना बोल कर वह मुझे खुद से अलग करने लगीं. फिर हम सभी ने कल की तरह खाना खाया और उसी तरह से हम सब बेड सब सोने चले गए.

मैं वहीं खड़ा भाभी को आईने में देख रहा था और भाभी भी मुस्कुरा रही थीं. मैं- इसलिए तो किसी और की बात कर रहा हूं, वर्ना आपको ही अपनी बीवी बना लेता. महेश सर लगातार किस करते करते मम्मी की कभी गांड दबाते तो कभी उनके बालों को सहलाते.

मेरी गर्लफ्रेंड की उम्र 21 साल की थी और उसकी छोटी बहन की उम्र 19 साल की थी. साथियो, मैं आपका यश शर्मा आपको एक काल्पनिक कहानी सुना रहा था, जिसमें आपको बता रहा था कि भभकती चूत की जरूरत किस तरह से पराए लंड से पूरी होती है.

ये सुन उसका चेहरा ऐसे लटक गया, जैसे बच्चे को अपनी मनपसंद की चीज़ न मिली हो. मोनिका ने मेरी तरफ इशारा किया तो मैं समझ गया कि हम दोनों सेक्स करेंगे तो कोमल दीदी खुद हमें ज्वाइन कर लेंगी. मैंने कहा- फिर भी तेरा लंड इतना लम्बा कैसे है?वो बोला- रिंकी दीदी आपको याद करके मुठ मारता हूँ इसलिए ये इतना लम्बा हो गया है.

मैंने बाहर हॉल में आधा घंटा टीवी देखा और अपने बेडरूम में जाकर मोबाइल में गेम खेलने लगा.

इस नौकरी से मैंने काफी अनुभव प्राप्त कर लिया था और 4 साल नौकरी करने के बाद मुझे लगा कि यह धंधा करने के लायक है, लेकिन पैसा नहीं था. मेरी साली की मासूमियत से बोली हुई बातों से मैं खुश हो गया और बोला- हां ठीक है … तैयार हो जाओ. उनको नजदीक से देखने की चाहत थी, फिर आज मेरे पास बहाना भी था कि सर ने अन्दर चैक करने के लिए भेजा है.

बेटी स्कूल जाने लगी, रिश्तेदार अब फिर जोर देने लगे कि एक बच्चा और कर लो. राधिका तो मुझसे दूर भागने लगी थी पर मोनिका फिर भी मुझे प्यार करती और चुदाई करवाती रही थी.

ऐसा सेक्स आज तक मैंने नहीं किया था, क्या गजब का सेक्स हो रहा था नैना के साथ. मैंने उससे सामान्य बातें की जैसे कहाँ से हो … ये और वो!उसके बताने पर मुझे पता चला कि वो कोलकाता से है. मैं जल्दी से नीचे लेट गया और कुत्ते की तरह उसके गंदे मोज़े सूंघने लगा.

दामिनी फिल्म हिंदी

मैंने उनके चूचे और दबाए और धीरे धीरे उनकी पेंटी के ऊपर से चूत को मसल दिया.

नीरज हमें बस चुदाई करता हुआ देख रहा था और एक हाथ से अपना लंड सहला रहा था. हां पैंट के अन्दर मेरा 6 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा लंड अपनी आजादी और अपनी बारी का इंतजार करते हुए तड़प रहा था. कुछ ही देर में मुझे नीचे लिटाकर लंड मेरी चिकनी और गीली चूत पे रगड़ा जा रहा था.

उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया, जिस कारण से चिकनाई हो गई और उसकी चूत ने मेरे लंड को जज्ब कर लिया. इसके बाद लॉकडाउन में हम दोनों कई बार मिले और मैंने Xxx दूधवाली सेक्स का मजा लिया. सेक्सी वीडियो मोटी मोटी वालीउसी वक्त डॉक्टर साहब ने अपनी सहायिका को बुलाया, जो दिखने में एक परी जैसी थी.

लेकिन मेरी एक सहेली ने जब मुझे हिंदी कहानी की साइट के बारे में बताया कि यहां सेक्स स्टोरी पढ़ने में बड़ा मजा आता है तो मैंने साईट खोल कर पढ़ना शुरू किया. पर दाइशा जी की ओर से कोई भी ना नुकर ना होने से अपने हाथ से दाइशा जी कंधों से लेकर बांहों तक छूने लगा था.

मैं एकदम से जाग कर उसकी कुंवारी चूत की महक लेकर अपनी सुबह को सराहता और खूब मजे से उसकी चूत चाट लेता. वैसे अच्छे से तो लेता है ना तू मुँह में?मैं- हां अच्छे से लेता हूँ … तुम टेंशन मत लो. फिर मैंने आखिरी शॉट मारा और मेरा पूरा लंड उसकी चूत में डिस्को करने लगा था.

रात में हुई चुदाई से उसकी चूत खुली थी तो मेरा लंड चूत में आसानी से जरा सा घुस गया. मैं तो बस यही चाहती हूं कि घर में अच्छी बहू आए और इस घर में तेरे से अच्छी बहू कौन हो सकती है. अब मैं धीरे-धीरे अन्दर बाहर कर रहा था और बीच-बीच में अपनी बहन से कह भी रहा था- तुझे दर्द हो रहा हो, तो निकाल लूं.

मैंने पूछा- फिर?थामस- फिर क्या … रात भर मैंने उसकी बीवी चोदी और उसने मेरी बीवी चोदी.

अब मैं भाभी के दोनों स्तनों को बारी-बारी से स्वाद लेते हुए चूस रहा था. मैंने बुआ से कहा- तुमने उसको ऐसा क्यों बोल दिया, वो तो सिर्फ तुमसे बात ही कर रहा था.

नीता ने मेरी नाईट ड्रेस के सामने के सभी बटन खोल कर मेरी ड्रेस खोल दी और मेरी शर्ट उतरवा दी. हमारे पड़ोसी गुप्ता जी भी थे, उनके बच्चों से बहुत अच्छी पहचान हो गई थी. मैंने एक झटके में उसका लंड बाहर निकाला और लंड को पकड़ कर उसे अपने चेहरे पर कर लिया.

मगर इस कमर तोड़ मेहनत का हमारी शादीशुदा ज़िन्दगी पर भी असर पड़ रहा था. पहली बार जिंदगी में पहली बार मेरे साथ ये सब हो रहा था।मुझे गुदगुदी सी होने लगी थी ठंडी हवा मेरी नंगे बदन पर अब अच्छे से टकरा रही थी।दाइशा जी के लब भी कई बार मेरे लिंग को छू कर दूर हो गए थे. उनकी कुहनी मम्मी के दूध से छू रही थी या यूं कहूँ कि चाचा एक साथ मम्मी के होंठों को सहला भी रहे थे और अपनी कुहनी से मम्मी के मम्मे मसल से रहे थे.

देसी बीएफ सेक्सी एक्स एक्स उसी समय रश्मि के डैड ने पीछे मुड़ कर कहा- रश्मि, अंकल से क्या इतनी बातें हो रही हैं, जरा हमें भी तो बताओ. मेरा मन थोड़ा बदला और गुस्सा भी कम हुआ, शायद उससे मिलने का एक्साइटमेंट ही होगा.

बीप्या व्हिडिओ

वाइफ चीटिंग Xxx कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरी पत्नी के बॉस ने मेरी पत्नी की वासना का फ़ायदा उठाकर उसे बिजनेस में इस्तेमाल किया, मुझे बच्चे का बाप बनाया. आपको मेरी ये Xxx देसी जवानी की कहानी कैसी लगी … प्लीज़ मुझे मेल जरूर करें. तब मैं शादी से पहले के वाकियात और कोमल दीदी की उदासी को याद करने लगा.

मैं- क्या हुआ मीना तू अब इसे ऐसे ही पकड़े रहने वाली है क्या?मीना- जीजू, सोच रही हूँ कि आपका कितना मोटा और लम्बा है. धन्यवाद दोस्तो, मुझे कमेंट्स में बताइएगा कि आपको मेरी हॉट मदर सेक्स कहानी कैसी लगी?[emailprotected]लेखक की पिछली कहानी:बहन और उसके मंगेतर का लाइव सेक्स देखा. ఇండియన్ ఆంటీస్तुम्हें दिक्कत ना हो तो हमें इधर सोने मिलेगा?मैं बोला- नहीं नहीं … कैसी दिक्कत, आइए.

उस X गर्ल ने कहा- गाल पर कौन किस करता है, करना है तो होंठों पर करो पागल, अपनी गर्लफ्रेंड को किस करने में भी शर्माते हो क्या, वो भी रूम के अन्दर?तब हम दोनों ने पहली बार लिपकिस किया.

आज मुझे ऐसा लग रहा था, जैसे मैं कोई तपस्वी हूँ, जिसकी तपस्या भाभी रुपी मेनका ने भंग कर दी थी. मैंने अचानक से उसके होंठों को अपने होंठों से दबाया और एक तेज धक्का मार दिया.

तुम कर पाओगे?मैं बोला- आप बोलो तो!सुनीता- चलो करो … देखें तुम कितना मज़ा देते हो।मैं तो इतना ही चाहता था. एक रात मैंने उसे ढूंढने की काफी कोशिश भी की, पर वो नहीं मिली तो मैं अपने रूम में जाकर सो गया. वो बोलीं- आप अपने संग मीना को ले जाइए और वहीं किसी अच्छे से कॉलेज में इसका दाखिला करा दीजिए.

जीवन में पहले बार किसी औरत के होंठों को चूसा मैंने!दीप ने मेरी जाँघों को चूमते हुए मेरी पेंटी उतार दी और मेरी दोनों टाँगें फैला कर जैसे ही उसने अपने होंठों से मेरी चूत को छूआ.

बच गए … नहीं तो पकड़े जाते दुबारा करते तो!”नीरा ने कहा- मैं चलती हूँ, मिलूंगी बाद में! दुबारा तुम्हें चोदने के लिए।ये कह कर नीरा ने मेरे लंड को दबा दिया. तुमको उस बाबा के उस्ताद के पास कब चलना है?उसने जैसे ही बाबा जी का नाम लिया, मेरी चूत में खुजली मचने लगी. यह देख ऋतु को बहुत गुस्सा आया और उसने मुझसे कहा- तेरी सुई अभी तक पल्लवी पर ही क्यों अटकी है?यह कहते हुए उसने मेरे होंठ अपने मुँह में ले लिए.

सेक्सी फिल्में डाउनलोड सेक्सी फिल्मेंएकदम दूध जैसा सफेद, कटीले चूचे … मैं शब्दों में बयां नहीं कर सकता … इतना कामुक नजारा था मेरे सामने!अब वो मेरे कपड़े उतारने लगी तो मेरा नाग फनफनाता हुआ उसके चेहरे पर टकराया. सात बजे तक कसरत कराई गई, बदन को लचीला और मजबूत बनाने का काम किया गया.

सेक्सी पिक्चर मारवाड़ी सेक्सी

[emailprotected]सेक्स ट्रेनिंग का स्कूल का अगला भाग:कॉलबॉय कॉलगर्ल बनने का ट्रेनिंग सेंटर- 2. आपको भाभी की जबरदस्त चुदाई कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके बताना न भूलें, धन्यवाद. ऐसे ही उनका जीवन चल रहा था और उधर महेश सर भी मम्मी के बहुत करीब आ रहे थे.

मुझे नंगी होने में शर्म आने लगी; मैं अपने दूध छुपाने लगी और अंकल को रोकने लगी. चाचा मम्मी के पेट पर अपना हाथ फिराने लगे और मम्मी अपनी आंखें बंद करके इसका आनन्द लेने लगी थीं. बल्कि मेरे मन में इच्छा हो रही थी कि मैं भी उठ कर नीता की चूत को चाट लूं.

[emailprotected]सेक्स ट्रेनिंग का स्कूल का अगला भाग:कॉलबॉय कॉलगर्ल बनने का ट्रेनिंग सेंटर- 2. मैंने उससे लंड का साइज़ पूछा, पर उसने बोला- ये तेरे लिए सरप्राइज है. फिर मैंने ज्योति को पूरी नंगी कर दिया और उसके चुचों के ऊपर मानो टूट सा पड़ा.

आने वाले संडे को मुझे मम्मी की स्कूटी बनवाने के लिए ऑटोमोबाइल जाना था. मैंने कहा- तुम्हें आज लड़की से औरत बनाने का सौभाग्य मुझे मिला, तुम्हें धन्यवाद और ढेर सारी शुभकामनाएं.

जैसे ही उनकी पीठ पर मेरा हाथ पहुँचा, उन्होंने मुझे रोक दिया और बोली- बस करो, तुम्हारा हाथ दुखने लगा होगा।मैंने कहा- पीठ का दर्द कैसे जाएगा?वो बोली- अब कल करना।दोस्तो, वो पहला दिन था जब मैंने उन्हें कमर से छुआ था.

उन्होंने पूछा- आप कौन?मैंने अपने बारे में बताया और बोला- सॉरी मैंने गलती से आपकी बातें सुन लीं और आपके पति के जाते ही आपका मूड खराब हो गया, ये मुझसे देखा नहीं गया. आदिवासी जंगली सेक्सी पिक्चरनेहा दीदी- आहह हहह ऊईई ईईई ऊईई मां … मर गई भाई प्लीज धीरे धीरे करो. मराठी आंटी के सेक्सी वीडियोथामस ने कहा- यार अंकित, मैं यहां गोवा में साल में 2-3 बार जरूर आता हूँ मैं जब तक यहां रहता हूँ, तब तक हर रोज़ रात में वाइफ स्वैपिंग करता हूँ. पर ये कतई नहीं पता था कि इसको रंगीन मैं ही बनाने वाली हूँ और मेरी ही ली जाने वाली है.

मैंने अपने होंठ उसके होंठों से हटा लिया और उसके एक चूचे को अपने मुँह में भर लिया.

पर मैं तुम्हारे अन्दर अपना वीर्य और नहीं छोड़ूँगा क्योंकि तुम्हारा इस उम्र में मां बनना अच्छा नहीं लगेगा. मैं ज्यादा भाव ना खाते हुए उसके घर में अन्दर आ गया और सोफे पर बैठ गया. तभी मैंने टीचर से टॉयलेट जाने की इजाजत ली और टॉयलेट मैं अपने लंड को सहलाने लगा.

मैंने बाइक साइड स्टैंड पर खड़ी की और उसका एक हाथ अपने गले में डाल लिया. अब तीसरे लड़के ने रानी को कुतिया बनाया और वो पीछे से अपना लंड को रानी की गांड में डालने लगा. उन्होंने देर ना करते हुए लंड मुँह में लेकर चूसना शुरू कर दिया और लंड को मस्त कर दिया.

वेरी हॉट सेक्सी वीडियो

अब आगे गुरु बाबा सेक्स कहानी:उस दिन मैं बाबा जी के लौड़े से चुदवा कर घर आ गई थी और उसी रात मैं व्हाट्सैप पर रमेश से चैटिंग कर रही थी. मैंने उसके मुँह में ही वीर्य झाड़ दिया मगर उसने वो थूक दियामैं- रवीना कैसा लगा?रवीना- भाई सच कहूँ तो आज बहुत मजा आया. फिर एक दिन मेरी अम्मी ने मुझे समझाया- बेटा तू बाहर शराब मत पिया कर, अगर तुझे शराब पीनी होती है, तो घर पर ला कर पी लिया कर.

उधर आकाश का रिश्ता भारत में एक नामी कॉलेज से सॉफ्टवेयर इंजीनीयरिंग की हुई रूपा के साथ तय हुए एक साल से ऊपर हो गया था।कुछ तो कोविड के चलते और कुछ आकाश की टालमटोली में शादी टलती रही।आकाश की माँ ने कई बार आकाश से यहाँ तक पूछा कि अगर ये रिश्ता उसे पसंद नहीं है, तो मना कर देते हैं.

बस मैंने लंड चूत से निकाला और उसके मुँह पर सारा पानी निकाल दिया, वो मस्ती से मेरे पानी को चाट रही थी.

मैं नहा कर ऊपर गई तो देखा कि विशु मोबाइल में पोर्न देख रहा था और दबी आवाज में ‘रिंकी दीदी … आंह रिंकी …’ बोल बोलकर अपने लंड को सहला रहा था. उस दिन मैंने ऋतु को 2 बार चोदा और हम दोनों एक दूसरे से नंगे ही चिपक कर लेट गए. सेक्सी भाभी के सेक्सी फोटोइसमें आप पढ़ेंगे कि कैसे मेरी पत्नी के बॉस ने मेरी पत्नी की अन्तर्वासना को शांत किया और मुझे एक बच्चे का बाप बनाया.

वो बोली- नहीं यार, हमारी ड्यूटी का कोई ठिकाना नहीं कभी रात काली हो जाती हो, कभी दिन. ज्योति भी नीचे से अपनी कमर को हिलाकर चुदाई में मेरा भरपूर साथ दे रही थी।कुछ देर ज्योति को ऐसे ही लगातार चोदने के बाद जब मेरी उत्तेजना ज्यादा बढ़ी जा रही थी. मम्मी के दोनों हाथ चाचा के सर पर जम गए और अपनी उंगलियों से चाचा के लंड से चुदने का मजा लेने लगीं.

जब उसने कहा कि चुत के अन्दर जाकर मजा देगा, तो मेरे दिमाग में आया कि ये इतना बड़ा मोटा अन्दर कैसे जाएगा, पर मुझे उस पर भरोसा था. फिर मैंने केक काटा!वो हैप्पी मैरिज एनिवर्सरी मैम बोलने लगा।मैंने केक लेकर उसको खिला दी।फिर उसने केक लेकर मुझे खिलाई और बोला- मैम हैप्पी एनिवर्सरी!मैंने कहा- ये बार बार मैम क्यों बोल रहे हो? अब तुम ड्यूटी पर नहीं हो। मेरा नाम अलका है।उसने कहा- ओके अलका जी!मैंने कहा- नहीं समीर, तुम मुझे अलका बोलो।फिर मैंने दो पैग बनाए और हम दोनों पीने लगे।हमने दो दो पैग लिए.

मैं तुरंत गया और भाभी के नेकलेस की डोरी खोल कर उसे उतार कर शेल्फ पर रख दिया.

इस साइट पर मैं पिछले 5 साल से कहानी पढ़ रहा हूँ और दो साल से कहानी लिख रहा हूँ. ये बोलते हुए जैसे ही मैंने उससे कॉपी ली, तो मेरा हाथ उसके लंड पर लगा. कुछ ही क्षण बाद मैं स्खलित हो गया और दीप्ति के ऊपर से हटकर कंडोम को निकाल कर डस्टबिन में फेंक दिया.

नहाती हुई लड़की सेक्सी वीडियो उसने कहा- क्यों … क्या सिर्फ आदमी दूध निकाल सकते हैं!मैंने कहा- नहीं नहीं, बस देखा नहीं कभी. हम दोनों एक साथ अपना पानी छोड़ बैठे और वैसे ही एक दूसरे को बांहों में भर कर गिर गए.

वो किस तरह से हुआ … क्या उसमें भी अंकित ने आकर मेरी गांड मारी, वो सब मैं अपनी अगली कहानी में लिखूँगा. मेरा मन कर रहा था कि पूरी चूची मुँह में भर लूं … पर चूची मोटी थी तो पूरी अन्दर आई नहीं. उसके चूसने की वजह से मेरा लन्ड रोड जैसा सख्त हो गया,फिर मैंने उसके चूचे दबाना चालू किया, पहले धीरे धीरे दबाने लगा और फिर मुंह में लेके चूसने भी लगा,जैसे ही मैंने उसके बूब्स जोर से दबाए तो उनमें से दूध की पिचकारी निकलने लगी क्योंकि उसका बेटा अभी दूध पीता था.

जानवरों का सेक्स वीडियो एचडी

मैं उसकी बगल में लेटा तो देखा कि उसकी टी-शर्ट थोड़ी ऊंची सी हो रही है, जिसकी वजह से उसका पेट दिख रहा है. दीप तो बहुत ही उतावला हो रहा था, उसने तो चड्डी के ऊपर से ही अपना लंड पकड़ कर मुझे दिखाया और बोला- आज मेरी जान ये तेरे से मिलने को बहुत बेचैन है. अब रमेश आगे आया और उसने मीरा की मिनी को नीचे से ऊपर करते हुए उतार दिया.

मम्मी इसके जवाब में अपनी आंखें बंद करके सिर्फ ‘आंह नरेश … आज से मैं तुम्हारी हुई … आह चख लो मुझे … जितना पाना है पा लो मुझे … आह …’ की आहें भर रही थीं. मैं भी मज़ा लेने के लिए जानबूझ कर बाइक के ब्रेक लगाने लगा जिससे उसकी चूचियां मेरी पीठ से रगड़ खाने लगीं.

मेरे मुँह से कामुक सिसकारियां निकल रही थीं- आह आह … आह बस ओह यस अब निकल जाएगा ओह.

साथ ही कराहने की आवाज़ आआअ अअअ अअह आआ अअअ अह सिईईई इइइइ निकाल रही थी. मैंने मना कर दिया कि अन्दर कोई दूसरी मैडम हुईं तो मुझे डांट पड़ेगी. अब मैंने उसकी तरफ देखा और होंठ गोल करके चुम्बन करने जैसा इशारा किया.

मैंने कहा- अभी थोड़ी देर पहले तो बहुत हाथ हिलाते हुए कह रहा था रिंकी दीदी रिंकी दीदी. तुम कर पाओगे?मैं बोला- आप बोलो तो!सुनीता- चलो करो … देखें तुम कितना मज़ा देते हो।मैं तो इतना ही चाहता था. आप मुझे मेल करें कि आपको यह डबल सेक्स की यह कहानी कैसी लगी?[emailprotected].

फिर कुछ देर बाद पल्लवी और बिट्टू बड़े बड़े देवदार के पेड़ों में कहीं बैठ गए.

देसी बीएफ सेक्सी एक्स एक्स: उसका लंड मेरी चूत को चीरता हुआ अन्दर जाने लगा और मैं ‘ऊई ईईई ऊईई ई आहह हह’ करके चिल्लाने लगी. मेरे सीधे होते ही उसने मेरा लोअर नीचे कर दिया और मेरे खड़े लंड को निहारने लगी.

मम्मी आंखें नीची करते हुए कहा- हां, मांजी भी मेरे पास यही बात करने के लिए आई थीं. मैंने भी कुछ मज़े लेने की सोच कर उसकी बात को मान लिया और धीरे धीरे टी शर्ट को ऊपर उठाया. अब मैंने उसे आवाज दी- क्या नाम है?उसने अपना नाम बताया लेकिन ट्रैफिक होने के कारण सुनाई नहीं दिया, वो आगे बढ़ती जा रही थी.

कोमल दीदी भी अब मजा लेने लगीं और अपने दोनों हाथ मेरे सर पर रख दिए, जैसे वो चूत में चाटने को बोल रही हों.

जब मैं उनके पास गया तो उन्होंने कहना शुरू कर दिया- तूने ये रात शराब के नशे में मुझसे क्या करवा दिया. दाइशा जी को देखते ही मेरा लन्ड फिर से तुनकने लगा।वो आज साड़ी पहने हुए खड़ी थी. अपनी दीदी की गांड देखकर मेरा लौड़ा खड़ा होने लगा और मेरे दिमाग में बुरे ख्याल आने लगे.