छोटी छोटी लड़कियों की हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,ट्रिपल सेक्सी फिल्म हिंदी में

तस्वीर का शीर्षक ,

तामिली सेक्सी व्हिडीओ: छोटी छोटी लड़कियों की हिंदी बीएफ, उसके बाद मैंने उसकी ब्रा को भी उतार कर उसे ऊपर से पूरी नंगी कर दिया.

এডেল বই এডেল

परीशा ने पापा का लंड और बॉल्स चाट चाट कर साफ कर दिए।अब मुकुल राय बोले- परीशा मेरी जान, अब तू कुतिया बन जा। अपने इन जानलेवा चूतड़ों के दर्शन भी तो करा दे. हिंदी सेक्स एचडीवो बोला- अपनी फु्द्दी, अपनी चूत… जो भी कहती हो उसको, उसे दिखा दो अब।उसके कहने पर फिर मैंने अपनी चड्डी उतार दी.

शादी हुयी थी, लेकिन नयी नयी नौकरी लगी है, इसलिए फैमिली को साथ नहीं ला सका. गम है या खुशी है तूजब उसके घर जाता था वो बड़े ही प्यार से मुझे बस एक स्माइल पास कर देती थी.

भाभी की फिगर देख कर मुझे लगा कि भाभी ने अपने मम्मों को खूब दबाया है या शायद उन्होंने शादी से पहले किसी से इसका मजा लिया है.छोटी छोटी लड़कियों की हिंदी बीएफ: फिर मैंने धीरे धीरे अन्दर बाहर किया … और चोदते चोदते उसे चूमता रहा.

भाभी के मुँह से जोर जोर से आह उह की सिसकारियां निकलने लगीं और वो मेरा सिर अपनी चूत पर दबाने लगीं.मैं उन्हें चूसने लगा, तो भाभी ने रुकने का इशारा करके मुझे पास सोफ़े पे बिठाया और ख़ुद नीचे बैठके मेरा लंड चूसने लगीं.

रक्षाबंधन के गाने - छोटी छोटी लड़कियों की हिंदी बीएफ

फिर थोड़ी देर बाद भैया का लंड वापस से खड़ा हो गया और वे भाभी के पास जाकर लेट गए.उत्तेजना में आकर मैंने उसकी जांघ पर हाथ रख दिया और वो घबरा कर उठ गई.

उसको कभी कभी खुद पर शक होता कि जो इतना वक़्त वो इस चीज़ में लगा रही है, वो किसी काम का होगा या नहीं. छोटी छोटी लड़कियों की हिंदी बीएफ वो बोली- एक दिन मुझे भी ऐसे ही किसी बड़े लंड से चुदने के मौका दिला देना.

00 बजे यशिमा ऑफिस से आई और हम तीनों बाहर गए, एक होटल में खाना खाया और आइसक्रीम लेकर हम घर आ गए.

छोटी छोटी लड़कियों की हिंदी बीएफ?

अभी भी वो वहीं खड़ी थी, तो मैंने उसे कहा- जा अब कॉलेज नहीं जाना?तब जाकर वो बाथरूम में घुसी. कुछ पल बाद मैंने उसे उठाया और बेड के नीचे खड़ा करके उसे दोनों हाथ बेड पर रखकर घोड़ी बनने को कहा. परवीन- जीशान इस सभी के लिए अभी समय नहीं है … जो भी करना है, जल्दी से कर दे.

लेकिन मेरा वीर्य अब शायद उबल चुका था और किसी भी समय बाहर निकल कर उसकी चूत में भरने वाला था. इतने में ही मेरी सास कहीं से बीच में आ पड़ी और उस दिन मेरे अरमान सब पानी में बह गए. मासूम चेहरे पर उसकी बड़ी बड़ी काली आंखें एक अलग ही छाप छोड़ने में सक्षम थीं.

अगर तुम में हिम्मत है और तुम उसको बहला फुसला कर ले सकती हो, ले लो मैं एकदम चुप रहूंगी. मैंने भी एकदम से उनके लंड को हाथ से टटोल कर उनकी पैंट के ऊपर से ही लंड को पकड़ लिया. मगर मैं तो पूरी गर्म थी, मैं सामने बड़े सारे शीशे में अपने नंगे बदन को देख देख कर अपनी फुद्दी में खीरा करने लगी। मेरी रफ्तार और मज़ा दोनों बढ़ने लगे.

ऐसे 10 मिनट की किस करने के बाद मैंने उसकी कुर्ती को निकाल दिया और फिर उसकी नई नेट की ब्रा से ऊपर से ही उसके मम्मों को दबाने लगा. ऐसा कर … चाय को फेंक दे इधर उधर … और थोड़ी देर में नशे की एक्टिंग करते हुए उसके हिसाब से चलियो। बाकी सब अपने प्लान के हिसाब से होगा।मैंने सारी चाय चुपचाप बाहर फेंक दी और ऐसे ही कप को मुंह लगती हुई वापस आ गयी और बोली- चाय तो अच्छी बनाई तुमने।आकाश बोला- थैंक्स।मैंने इसी बीच अपने फोन में वॉयस रिकॉर्डर चालू कर दिया था.

मैंने देखा कि अनिल ने अपने मोबाइल में कुछ डिजाइन दिखाने के बहाने ऋतु को अपने पास बैठने के लिए कहा तो ऋतु उसके पास आकर बैठ गई.

अब किसी की चूत पर ताला तो नहीं लगा सकते, इसलिए तुमने इसकी चूत को चोद कर सही किया.

एक अलग तरह का नशा मेरे ऊपर छा रहा था और इस बीच मेरा लंड ज़ोरों से फनफना रहा था. मैंने भाभी से पूछा- कहां निकालूं?तो उन्होंने कहा कि तुम्हारा पहली बार है, तो अन्दर ही निकाल दो. स्मायरा बोली- एक बात सच सच बताना … आज से पहले कितनों को किस किया है?मैं बोला- मेरी बीवी के अलावा सिर्फ आप को.

अब वो चुदास की मस्ती में बोले जा रही थी- आह … चोद … चोद … और जोर से … फाड़ दे मेरी चुत … फाड़ डाल … साली बहुत सता रही है मुझे … और जोर से … प्रकाश आह … मैं आ रही हूँ. कुछ पल बाद उसने मुझे उल्टा कर दिया और मेरे चूतड़ों को चूसना शुरू कर दिया. मैंने कहा- यार तू टेंशन मत ले, कुछ करते हैं … तू घर जा … ठीक है और टेंशन बिल्कुल मत करना.

चूंकि हम दोनों एक दूसरे से खुल गए थे और चुदाई भी दमदार हुई थी, तो हमें जब भी मौका मिलता, हम लोग चुदाई कर लेते.

उसने मुझे चूमते हुए कहा- तुम्हारे गोल गोल चूतड़ और गोल गोल मम्मों पर मैं फ़िदा हो गया था. आप सभी को मालूम ही होगा कि आमतौर पर परीक्षा से पहले स्कूल में इंटरनल मार्क्स दिए जाते हैं … जो हमारे बोर्ड परीक्षा में भी गिने जाते हैं. पेशाब की धार बंद होते ही मैंने आंटी को नीचे गिरा दिया और अपना लंड आंटी चूत पर लगाकर उनको जोर से चूसने लगा.

एक संडे को हम सास दामाद चुदाई कर रहे थे कि मेरी साली सीमा ने हमें चुदाई करते देख लिया. उन्होंने अपने हाथ से ही खुद ही मेरे चूतड़ों को फैला दिया और दबाव बढ़ाने लगे. राहुल ने सारिका से माफ़ी मांगते हुए बाहर वाशरूम इस्तेमाल करने की इजाजत मांगी.

अब आगे:जीजा मेरे सामने लंड निकाल कर खड़े हो गये थे और भोला मेरी चुदाई जोरों से कर रहा था.

अब धीरे धीरे मेरा लंड किसी को पेलने को उतावला हो रहा था, लेकिन चयन पहले अपने मुँह को मेरे लंड से सन्तुष्ट करना चाहता था. वो बोली- सॉरी, गुस्से में डांट दिया मैंने, बुरा क्यों मान रहा है?मैंने कहा- गलती तो मुझसे हो गई है लेकिन अब मैं आपके साथ कुछ नहीं करूंगा.

छोटी छोटी लड़कियों की हिंदी बीएफ एक तो मामी जो यह देख कर अपनी नजरें फेर ली और दूसरी प्रिया जिसके गालों पे शर्म की लाली आ गयी।मुझे पता था कि प्रिया मुझ से प्यार करती है और मेरा पहला और अकेला किस भी उसी के साथ था।खैर, अब अखिल आया और मुझे जकड़ के कान में बोला- साले, हमारा जुगाड़ कहाँ है?मैं हंसा और उसे और प्रिया को लेकर ऊपर फ्लैट में आ गया। वहाँ पहुंच कर मैंने फ्रीज से दो बियर और एक ब्रीज़र निकाल के दे दी. अगले ही शनिवार को उसने मुझसे कहा- तुम दस बजे से पहले मेरे घर आ जाना.

छोटी छोटी लड़कियों की हिंदी बीएफ मेरे लन्ड में दर्द होने लगा था और ज्यादा जोर लगाने से ऐसा लग रहा था जैसे मेरे लन्ड की पूरी खाल छिल कर अलग हो जाएगी। मैं समझ सकता था कि उसे भी ऐसा ही खिंचाव चूत में लग रहा होगा. राहुल ने फटाफट शावर लिया और अपना कॉस्टूम पहन कर ऊपर से ट्रैक सूट डाल लिया और स्वीमिंग पूल की ओर चल दिया.

मेरे नंगे चूतड़ देखते ही पति ने एक बार उनको हाथ से दबा दिया और फिर मेरी गांड को किस करने लगे.

बीपी सेक्सी सेक्सी पिक्चर

आंटी ने मेरे हाथों को अपने हाथों से दबा लिया और अपने चूचों को दबाने लगी. मैं बोला- लेकिन मैं तो लेकर ही नहीं आया … मुझे कुछ पता ही नहीं था कि ऐसा भी होता है. दोस्तो, जब लड़का लड़की से 5-6 साल बड़ा हो, तो वो उसे ज्यादा प्यार देता है.

ऋतु ने अनिल का लंड जब पहली बार देखा तो उसके मुंह से निकल गया- वाऊ!उसको अनिल का लंड पसंद आ गया. फिर शुरू हुआ चुम्बनों का सिलसिला!उनके बारिश में भीगे बाल गालों और गले से चिपके हुए थे। मैं उन पर चुम्बनों की बौछार कर रहा था और मेरे हाथ उनके बूब्स मसल रहे थे. अब की बार लंड अन्दर तो आराम से चला गया, पर आधा ही गया था कि वो फिर से चिल्ला पड़ी ‘आह आह ऊह ऊई माँ!’मैं उसकी गांड के छेद में उंगली हिला के चूची चूसने लगा और लंड अन्दर डालने लगा.

मैं उन्हें अपनी बाइक पर ले जाता था, तो मुझसे काफी चिपक कर बैठती थीं.

मैंने उसे सब कुछ सच सच बता दिया।कुछ देर वह चुप रहा फिर उसने मुझसे कहा कि यदि मैं चाहूं तो उसके घर चल सकता हूँ, उसका घर दो स्टेशन बाद ही है, वहां वो मुझे खाना खिलायेगा।मैं कुछ सोचने के बाद तैयार हो गया।कुछ समय पश्चात ट्रैन आ गयी, हम दोनों उस पर सवार हो गए. मेरा लंड अभी भी तना हुआ था लेकिन मैंने भी करवट बदल ली और दूसरी तरफ घूम गया. मैंने उसकी टी-शर्ट उतार दी और उसके फुटबॉल जैसे चूचों को मैं अपने हाथ में लेकर संभालने लगा और उनको पीने लगा.

मन कर रहा था कि उसके हाथ में ही वीर्य निकाल दूं लेकिन अभी उसकी चूत भी चोदनी बाकी थी इसलिए मैंने उसका हाथ हटा लिया. मेरी रोमांटिक स्टोरी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मेरी बहन की सहेली काजल ने मुझे इतना कामोत्तेजित कर दिया कि मैंने अपने लंड को बुरी तरह से रगड़ डाला. मैंने कहा- क्या करता हूँ?उसने बात टालते हुए कहा कि चलो रहने दो … बात को घुमाओ मत … मुझे आपको देखे हुए पूरे एक साल हो गया.

तभी मैंने उनका अंडरवियर भी उतार दिया और उनके लंड को देखा, जो कि अब तक का मैंने सबसे बड़ा लंड देखा था. इतने में यशिमा बोली- साली रंडी मुझे लगा था कि तू इसके साथ मजे करने का सोच रही होगी.

नमस्ते दोस्तो, मेरी इस कहानी के पिछले भागजुदाई चार दिन की फिर लम्बी चुदाई-1में आपने पढ़ा कि चार दिन की जुदाई के बाद ही पति ने मेरी चूत की जोरदार चुदाई कर डाली। अब मैं आपको उससे आगे की कहानी बताने जा रही हूं. नमस्कार दोस्तो, आपको मेरी कहानीकंप्यूटर सीखने के बहाने सेक्स का खेलअच्छी लगी. मैंने भी नाटक शुरू किया और कहा कि ये कैसे मुमकिन है … और मुझे आपका आधा घरवाला बनने के लिए क्या करना होगा?भाभी बोलीं- कुछ नहीं पगले, तुझे तो मुझे खुश करना है.

हम दोनों ने खाना खाया और बीयर भी पी और एक साथ लेट गए और फिर गुंथ गए एक दूसरे में।उस रात हमने 3 बार चुदाई की और थक कर एक दूसरे के गले में बांहें डाले सो गए।दूसरे दिन जब हमारी आँख खुली तो दिन के 11 बज रहे थे.

मैंने पति को उठ कर कपड़े पहनने के लिए कह दिया क्योंकि वो अभी तक बेड पर नंगे ही लेटे हुए थे. उसके बूब्स एकदम गोरे थे और ऊपर से ब्रॉउन निप्पल एकदम कमलगटा से तने हुए थे. वो मस्त टांगें फैलाकर चूत चटवा रही थी और सेक्सी आवाजों के साथ मुझे जोश दिला रही थी.

मैंने बोला कि अभी तुम्हारी इस हरकत के बारे में मैं मॉम को सब बताता हूं. इतना सब होने के बाद उसने मुझसे कुछ नहीं कहा लेकिन अब उसका बर्ताव थोड़ा बदल गया था.

वो जोर से सिसकारियां लेते हुए चिल्ला रही थी- मर गई … उईई … आह्ह … हाय रे दैया! उसके आनंद को मैं उसके चेहरे पर साफ-साफ देख रहा था. फिर उस नौकर ने एकदम से मेरे बालों को पकड़ कर अपने लंड को मेरे मुंह में और तेजी के साथ पेलना शुरू कर दिया. तुम दोनों ने मुझसे बड़े होने के बावजूद भी मुझे तुम्हारे साथ खेलने का मौका दिया.

सेक्सी करेंगे सबका स्वागत सॉन्ग

मेरी एक सहेली सोनिका मेरे बहुत ही करीब है और हम दोनों एक दूसरी से सब कुछ शेयर करती हैं.

करन ने मुस्कुरा कर मुझ कमर से पकड़ के उठा कर घोड़ी बना दिया। मैं समझ चुकी थी कि करन गांड में चोद के ही झड़ेगा. ” महेश ने अपने मुँह को नीलम के गालों से उसके होंठों की तरफ कर दिया। नीलम को अपने ससुर की साँसें अपने मुँह से टकराती हुई महसूस हो रही थी, महेश नीलम को छू तो नहीं रहा था मगर उसकी यह हरकत नीलम को गर्म करने के लिए काफी थी।आहहह… बेटी कितनी गोरी और नर्म हैं तुम्हारी दोनों चूचियां … ओह्ह्हह इसके दाने तो देखो, इन्हें देखकर ही अपने मुँह में भरने का मन करता है. मुझे वो ज्यादा पसंद तो नहीं आई लेकिन सेक्स करने का ऐसा खुमार चढ़ा था कि पसंद-नापसंद के बारे में सोचने के लिए वक्त ही नहीं था.

मैंने उससे पूछा- कहां निकालूँ?तो उसने कहा- पहली बार मेरी चूत में ही छोड़ो … मैं इसे महसूस करना चाहती हूँ. मुझे बहुत मज़ा आ रहा था।काफी देर बाद वह उठा और खड़ा होकर अपना भी लोअर उतार दिया और अपने खड़े लंड पर थूक लगाकर लंड को चूत पर लगाया और एक जोरदार धक्के के साथ अपना करीब आधे से ज्यादा लंड मेरी चूत में उतार दिया. क्या प्रेगनेंसी में पेट दर्ददिलावर कुछ दिनों ने मेरे पीछे भी लगा था, उसको मालूम था कि मेरी चूत इन दिनों प्यासी है.

वो साथ में ये भी बोल रही थी कि सच में आज मुझे सेक्स का सही आनन्द मिला है. वो जग रहा था पर उसने एक बार भी मुझे नहीं रोका।उस समय के लिये वह रात बहुत भयावह थी पर आज जब सोचता हूं तो लगता है कि काश आज फिर मेरे साथ ऐसा होता!तो भाइयो, जल्द ही अपनी अगली सच्ची कहानी लेकर हाजिर हूँगा और उसमें आपका परिचय अपने घर के सदस्यों से भी करवाऊँगा।उम्मीद है कि मेरे भाइयों को यह कहानी पसन्द आयेगी.

मैंने एक जोरदार धक्का मारा और मेरा पूरा लंड भाभी की चूत में समा गया. कुरते के नीचे उसने सफेद ब्रा और अन्दर काली पैंटी पहनी थी, जोकि उसने मुझे फ़ोन पर बता दिया था. मुझे देखते ही वो भाग कर मेरे पास आई और सबके सामने मेरे गले से लग गयी.

जैसे ही मैंने उसको नीचे लिटाया, वो मुझे धकेल कर मेरे ऊपर आ गयी और बोली- इतनी भी क्या जल्दी है, रात हमारी है. मगर मैं तो पूरी गर्म थी, मैं सामने बड़े सारे शीशे में अपने नंगे बदन को देख देख कर अपनी फुद्दी में खीरा करने लगी। मेरी रफ्तार और मज़ा दोनों बढ़ने लगे. ’उसकी चुदास भरी आहें सुनकर सारिका बोली- राज तेज चोद साली कुतिया को.

मैं मम्मी पापा को बोल दूँगा कि हम दोनों फिल्म देखने जाने वाले हैं और रात को आने में थोड़ी देर भी हो सकती है.

” सरिता ने महेश को अपने ऊपर से हटाते हुए कहा।क्या हुआ जानेमन?” महेश ने सरिता के ऊपर से हटते हुए कहा।कुछ तो अपनी उम्र की शर्म करो, मुझसे अब यह सब नहीं होता. मैं अब तक सो सा चुका था, तभी मुझे लगा कि किसी ने मेरे पेट पर हाथ रखा.

और समीर का भी क्या क़सूर … तुम हो ही इतनी ख़ूबसूरत कि तुम्हें देखकर किसी भी आदमी का खड़ा हो जाए!” महेश ने इस बार अपने हाथ को अपनी बेटी की पेंटी तक लाकर उसे सहलाते हुए कहा।पिता जी आप यह क्या कह रहे हैं? मैं आपकी बेटी हूँ. मैंने आंखें खोलकर देखा तो अंजू केबल ब्रा और पेंटी में मेरे बाजू में थी और एक हाथ से मेरा लंड और एक हाथ से अपनी चूत सहला रही थी. मैं भी तो यही चाह रहा था कि तेल आंटी की चूत की तरफ बह कर चला जाये ताकि मुझे चूत के करीब तक मालिश करने का मौका मिल जाये.

उसने बगल की टेबल से उठा कर मुझे तेल की शीशी थमा दी और मसाज करने को बोला. उसने झड़ते हुए कहा- कुछ देर हम आराम करते हैं … और फिर तुम्हारी चुदाई शुरू करेंगे. रमेश की बीवी का नाम नीता, अंकित की सीमा, संचित की रेखा, प्रदीप की रीमा और विशाल की अनीता है.

छोटी छोटी लड़कियों की हिंदी बीएफ मैंने एक फ्रूटी खरीदी और उसमें इंजेक्शन से गहरी नींद में चली जाने वाली दवा को इंजेक्ट किया और सुई के छेद को बंद करके भाभी के कमरे में दे आया. प्रिंस मुझे और मंजू को गौर से देखता हुआ बोला- बिल्कुल … क्यों नहीं.

सेक्सी जीजा और साली

अब आगे:मैंने सोचा सबसे आखिर में निकलूंगा मगर सुहानी ने उठते हुए कहा- चलना नहीं है क्या?तब मैं उठा और उसके पीछे बाहर निकलने लगा।बाहर निकले तो अगला बैच अंदर हुआ और हमारी बैच के ज़्यादातर अपने रास्ते निकल गए. पूल के गार्ड ने बताया कि सात से नौ के बीच तो केवल लेडीज या दो-चार कपल ही आते हैं. वो मेरे तने हुए लंड की अगल-बगल में हाथ चला रही थी लेकिन लंड पर हाथ नहीं रख रही थी.

उसके गर्म होंठ ऐसे लग रहे थे मानो जन्मों से किसी सुलगते हुए ज्वालामुखी का ऊपर बारिश हुई हो. सारिका वाशरूम में गयी तो अंदर से ही बोली- कितनी बेदर्दी से फेंका है इतनी नाजुक चीज को!पंकज ने पूछा- क्या हुआ?वो बोली- कुछ नहीं … ऐसे ही. न्यू न्यू सेक्सी वीडियोभाभी का मेरे लौड़े पर ऊपर नीचे होने से मेरे लंड में एक मीठा सा दर्द हुआ और मुझे कुछ गर्म सा महसूस हुआ.

मैं अपने लंड को हरकत में लाता, इससे पहले मैंने भाभी के आगे भी जांघों को अच्छे-खासे तरीके से मसल मसल कर खूब रगड़ा.

मैं नेहा के चूचे चूस रहा था और आंटी ने मेरा लंड चूसना शुरू कर दिया था. आंटी ने मेरे कंधे पर हाथ रखा मेरे सहारे से वो धीरे-धीरे उठ कर चलने लगी.

अंकल मेरे ऊपर आ गया और मेरे होंठों को किस करता हुआ मेरे बूब्स दबाने लगा. मैं बोला- मेरी ऐंजल ने वो जो किया था, उसका ब्याज मिला कर वापस कर दिया है. फिर उसका हाथ सीधा मेरे लंड पे आ गया, जो अब अपने विकराल रूप में आ चुका था.

फिर आगे बढ़ते हुए मैंने हाथ नीचे चुत की ओर बढ़ा दिया, तो मेरी सास ने तुरंत ही मेरा हाथ पकड़ लिया.

जितना ज्यादा वो सुपारे को मेरी चूत की फांकों में घिसता, मैं उतनी ही अधिक मदहोश होती जा रही थी. मैंने पति को उठ कर कपड़े पहनने के लिए कह दिया क्योंकि वो अभी तक बेड पर नंगे ही लेटे हुए थे. मैंने भाभी को लेकर नीचे ही लेट गया और भाभी ने मेरे लंड को गले तक लेकर चूसना चालू कर दिया.

दुबई की सेक्सी वीडियोमेरे रूम का मुलायम गद्दा भी मुझे सुला नहीं पा रहा था, क्योंकि मुझे अपनी डार्लिंग भाभी के करीब होने का इंतजार था. मैंने जल्दी से उनके कपड़े उतारे और वो ब्रा पेंटी में मेरे सामने पड़ी थीं.

देसी सेक्सी वीडियो खुल्लम खुल्ला

एक बार की चुदाई में सासू माँ ने कहा- आप जब तक चाहो, मेरे साथ मज़ा कर सकते हो, लेकिन मेरी बेटी को पता नहीं चलना चाहिए. उसने मेरी ब्रा खोल दी और मेरे दोनों मम्मों को अपनी हाथों में लेकर जोर जोर से दबाने लगा. ” नीलम से अब बर्दाश्त नहीं हो रहा था। वह जल्द से जल्द अपनी चूत में अपने ससुर का मोटा लंड घुसवाना चाहती थी इसीलिए उसने ज़ोर से सिसकारते हुए कहा।ओहहहह बेटी… यह ले, मैं अभी तुम्हारी चूत में लंड घुसाता हूँ.

कुछ समय पश्चात मैंने नोएडा की एक कंपनी में जॉइन कर लिया था। नोएडा में मेरी पत्नी की बड़ी बहन यानि मेरी बड़ी साली भी अपने परिवार के साथ रहती थी. बीच-बीच में वो कह रहा था- साली … आह्ह … तुझे तो जिन्दगी भर मैं अपनी रंडी बना कर रखूंगा. सर मेरे तने हुए बूब देखते ही रह गए … और बोले- आशना, इतनी कम उम्र में तुम्हारे बूब्स कितने मस्त हैं … दो साल से मैं तुम्हारे इन्हीं मम्मों को देखने के लिए और तुमको चोदने के लिए तरस रहा था.

मैं मौके की नजाकत को समझते हुए तुरंत ही बोला- चलो … मेरे बेडरूम में चलते हैं. मुझे लगा कि अब तो मैं इतनी दूर जा रहा हूँ तो सब कुछ ख़त्म!किन्तु उसी समय मेरे सिलेक्शन एक बड़े सरकारी अफसर के पद पर हो गया और किस्मत ऐसी कि पोस्टिंग भी उसी के शहर में मिल गयी।अब मैं उस जिले में सरकारी आवास में रहने लगा। मेरे आवास से उसका घर लगभग साठ किलोमीटर की दूरी पर था। ऐसे ही एक साल और बीत गया. 5 इंच मोटा लंड हवा में उछलने लगा, ज्योति ने अपने बड़े भाई का लंड अपने हाथ में लेते हुए अपने होंठों से उसके गुलाबी सुपारे को चूम लिया।आह्ह …” ज्योति ने जैसे ही लंड को चूमा समीर के मुंह से सिसकारी निकल गई।ज्योति ने अपनी जीभ से अपने बड़े भाई के लंड को चाटते हुए उसके गुलाबी सुपारे को अपने मुंह में ले लिया.

अगर तुमने ज्यादा देर की तो मेरा इरादा बदल जायेगा और फिर मैं तुमको अपनी गांड नहीं चोदने दूंगी. अब मैं भी सागर की कुछ ज़्यादा ही जासूसी करने लगी कि कहीं यह शिवानी की चूत पर फिसलता है या नहीं.

सारिका ने मना भी किया तो राहुल ने भी कह दिया- हाँ इसमें क्या है … और अब आपको सोना ही तो है.

क्योंकि वो तो आपको उसके फिगर में बारे में जानने के बाद अपने आप ही पता लग जाएगा. नेपाल की सेक्सी पिक्चर वीडियोवो बोला- ठीक है मेरी गीता रानी … तो फिर कहाँ?मैं- यह तुम देखो दिलावर. जनावर सेक्स व्हिडिओइस तरह से तीनों ही पूरी मस्ती के साथ समलैंगिक सेक्स का आनंद लूट रही थीं. ” यह कहते हुए वह उसकी ओर बढ़ी और उसका चेहरा अपने हाथों में पकड़ लिया.

बस उस दिन से मैं राजनाथ को पापा बोलने लगा … क्योंकि मेरी मॉम विभा का पति का फ़र्ज़ वो ही निभाते थे.

धीरे धीरे हम दोनों करीब आते गए, पर वो दूसरी लड़की कुछ नहीं करने देती थी. लेकिन हमारा रिश्ता इतना गहरा था कि हम नजरों ही नजरों में एक दूसरे से बात कर लिया करते थे. ”और तभी जैसी मुझे उम्मीद थी, उपिंदर ने शैली के पीछे जाकर उसकी चूत में लण्ड पेल दिया और धक्के मारने लगा।शानदार प्रोग्राम चल रहा था.

साथ ही उसने बताया कि वो घर का सारा काम करना भी जानती है और मेरी बीवी की मदद भी कर दिया करेगी. मैं थोड़ा मजाकिया टाइप का हूँ, इसलिए जब मैंने भाभी को अपना परिचय दिया, तो मैंने भाभी को मजाक में उनके कान में यह कह दिया कि भाभी आप बहुत ही सुंदर हो, मेरा बस चले तो, मैं ही आपके साथ सुहागरात मना लूँ. भोला ने कहा- आखिर बेटी किसकी है! इतनी मस्त आइटम को देख कर तो कोई भी पागल हो सकता है.

सेक्सी ओपन बीपी सेक्सी

मैं उसके एक निप्पल को अपने होंठों में दबा कर चूसने लगा, गालों पर भी हाथ फेर कर उसे प्यार करने लगा. दोस्तों, वो मेरा दिन था, उन्होंने नीचे अंगूरी रंग की ही थोंग (बिल्कुल छोटी डोरी वाली पैंटी) पहनी थी. कमरे तक पहुंचते-पहुंचते उसको ऊपर से नीचे तक देखने में मेरी गर्दन घूमती चली गई.

युवराज पीछे खड़ा था और अपना खड़ा लंड मेरे नितम्ब पर रगड़ रहा था। वो पीछे से मेरी गर्दन पर और पीठ पर खुली जगह पर चुम्बन करने लगा.

मैं उस दिन शिवानी के गले लग कर बहुत रोई, मगर यह सब आंसू खुशी के थे … ना कि दुख के.

उसकी वाइफ ने मेरी पत्नी की नाइटी एकदम ऊपर कर दी और फिर पेंटी भी उतार दी. एक दिन सोनिका और उसके बॉयफ्रेंड मोहनीश में किसी बात को लेकर झगड़ा हो गया. सेक्सी वीडियो हीरोइन की सेक्सीमैं चौंकते हुए बोला- तब तो बहुत दिक्कत थी, इसका मतलब ससुरजी शुरू से इस मामले में ढीले रहे हैं.

फिर वो जाने लगी और कुछ कदम चलने के बाद बोली- यदि आपको सही लगे तो मैं आपके साथ ही चलूं क्या?मैंने कहा- आपकी मर्जी है. दस-पंद्रह मिनट की चुदाई के बाद मेरी चूत ने अपना पानी छोड़ दिया और सोनू का मोटा लंड पच-पच की आवाज करते हुए मेरी चूत को चोदने लगा. मैंने भी मजे लेते हुए कहा- क्यों सीधे लोग मजाक नहीं कर सकते क्या? और फिर आप तो …!वो बोली- आप रुक क्यों गये?मैंने कोई जवाब नहीं दिया तो वो कहने लगी- मैं तो आपसे बड़ी हूँ, मेरे साथ ऐसा मजाक कैसे कर लिया आपने?इस पर मैंने भी तुरन्त कहा- आप तो मेरी भाभी हैं न.

मैं उनके ऊपर आ गयी और उनके पूरे शरीर को अच्छे से चूमने के बाद उनके लंड को मुँह में लेकर खूब चूसा. उसके बाद वो हर दिन आता और 12 से 4 बजे तक हम दोनों साथ में बैठ कर पढ़ लेते थे.

अगर कोई भी अपने पार्टनर न बदलना चाहे तो मुझे या धीरज को अभी कान में बता दे.

मुझे तो जैसे जन्नत का मज़ा मिल रहा था, लेकिन जो मज़ा लंड चूसने में था, वो चुसवाने में नहीं आ रहा था. उसका गठीला बदन था और उसकी मजबूत बाजुओं में कस कर वो मुझे अपने अंदर ही समा लेना चाहता था. मैंने चयन को दिखाते हुए अपने लंड पर हाथ रखा और धीरे धीरे अपना लंड सहलाने लगा.

चेहरे के लिए कौन सी क्रीम अच्छी है अनिल की वाइफ भी अच्छी लग रही थी लेकिन मेरी बीवी ऋतु उस महफिल की शान थी. इतने में ही वो दरवाजे के पास आकर बाहर निकलने को हुईं, तो मैंने उन्हें रोक लिया और बांहों से पकड़ कर उनके होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

फिर जब वो मेरे पास आया, तो बोला कि आपके हस्बैंड कहां हैं?मैंने सोचा कि अगर मैं इससे कह दूंगी वो नहीं हैं, तो ये चला जाएगा. उसे भी अच्छा लग रहा था और वो भी मेरा साथ देते हुए मेरे होंठों को चूसने लगी. हँसती हुई सारिका उठी और राहुल के पास से निकलती हुई उसको बैठने के लिए बोली.

पंजाबी सेक्सी टीवी

मीनू की शादी को तीन साल हो चुके थे लेकिन अभी तक उसको बच्चा नहीं हुआ था. ओह … दीदी ता फोन तो नहीं आ गया?” गौरी मेरी बांहों से छिटक कर दूर हो गई और उसने झट से अपने कपड़े उठाए और स्टडी रूम में भाग गई।मेरा दिल जोर-जोर से किसी अनहोनी की आशंका से धड़कने लगा था। इस समय किसका फोन हो सकता है? मैंने कांपते से हाथों से मोबाइल उठाकर देखा, यह तो ऑफिस से फ़ोन था।जैसे ही मैंने हेलो कहा उधर से आवाज आई- प्रेम जी सर … मैं बहादुर बोल रहा हूँ अपने गोडाउन में आग लग गई है आप जल्दी आ जायें. लेकिन मुझे भी आंटी को गर्म करने और उनके लंड लेने के लिए तड़पाने में बहुत मजा आ रहा था.

मैंने वापस मुड़ कर देखा तो उसकी छाती पर से उसका दुपट्टा उतर चुका था और केवल एक ही कंधे पर लटक रहा था. मगर एक दिक्कत ये थी कि जिस होटल को हमने बुक किया हुआ था, उसमें चेक-इन सुबह के दस बजे का था.

मैं उल्टी पेट के बल लेटी हुई थी जिससे उसको मेरी उभरी हुई गांड दिखी और वह पजामे के ऊपर से ही बिल्कुल आराम से मेरी गांड दबाने लगा.

मैंने उसे उसके घर से लेकर अपने एक दोस्त के कमरे पर ले जाने का मूड बन गया था. मैं आज सब कुछ होने से पहले चाहती हूँ कि आप मेरी मांग भरो।मैं स्तब्ध एकटक उसको सुन रहा था. तुम पता नहीं आराम से तो करोगे भी या नहीं … फिर तेरा बहुत बड़ा भी है.

उसने भी हाथ हटाते हुए मुझे चूमा और कान में बोली- अब पूरा पेल दो … फक मी. आंटियां और भाभियां चुत में उंगली रख के तैयार रहना और सब मर्द अपना लंड हाथ में पकड़ना. मैंने पूछा- क्या हुआ अनिल जी, कुछ पता चला क्या?वो बोला- अभी इतनी जल्दी नहीं खुलेगी ये, अभी थोड़ा और वक्त चाहिए.

उसके बाद मैंने उन्हें अपनी गोद में बिठा लिया और उनके स्तनों को धीरे धीरे सहलाना शुरू किया.

छोटी छोटी लड़कियों की हिंदी बीएफ: न उनके मन में कुछ था और न मेरे मन में। मैं जीजा के साथ बस से चित्रकूट पहुंच गई. आनन्द भारी चीख निकल गई मेरी बीवी की!यह सब करतब देख कर डॉक्टर वाइफ भी आहें भरने लगी.

ये कहानी मूलतः राकेश पेसिफिक नाम के शख्स की है, जो इस मंच के एक नियमित पाठक भी हैं. नहीं बेटी, अब ऐसे नहीं डालूंगा, तुम्हें अपनी जुबान से कहना होगा कि पिता जी आप मेरी चूत में अपना लंड घुसाओ. ”हम दोनों नाश्ते की ट्रे, प्लेट और चाय का थर्मस लेकर बाहर आ गए।गौरी स्टूल पर बैठने लगी तो मैंने कहा- यार अब यह तकलुफ्फ़ छोड़ो!गौरी ने आश्चर्य से मेरी ओर देखा।मैंने उसे कहा- तुम भी स्टूल के बजाय सोफे पर ही बैठ जाओ ना … आराम से खायेंगे.

परवीन- हो क्या गया है तुमको जीशान? इतने अच्छे बच्चे थे तुम … मैं तुम्हारी अम्मी की उम्र की हूँ.

इसीलिए मैंने उससे बोला- तुम अपने बच्चे को उसकी नानी के पास छोड़ के दोपहर में आ जाना. बस इन सब में जो अपनी चूत में लंड लेने का मज़ा था, उसके सामने यह दर्द कुछ भी नहीं था. फिर एकदम से उसके लंड से पिचकारी छूट कर मुझे मेरी बच्चेदानी के पास महसूस होने लगी.