भोजपुरी के सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,बॉलीवुड हीरोइनxxx

तस्वीर का शीर्षक ,

चूत चुदाई वीडियो दिखाएं: भोजपुरी के सेक्सी बीएफ, अगले दिन जाने से पहले मैंने सोच लिया था कि आज मैं भी पीछे नहीं हटूंगा.

हिंदी मराठी बीपी पिक्चर

मैंने जैसे ही परी की चूत में अपनी जीभ घुसाई, उसको तो जैसे करेंट लग गया हो … वो मस्ती से चिल्लाने लगी- आह … अब नहीं रहा जाता … घुसा दो … मेरी चूत में अपना लंड … फाड़ दो इसे … चोदो मुझे चोदो. सविता भाभी सेक्स विडिओमीहा भाबी की आयु करीबन 24 साल, 34″ के चुच्चे और बाहर निकली हुई उसकी मस्त गांड किसी को भी पागल कर सकती थी.

आंटी बोली- क्या?मैंने कहा- कुछ नहीं।वो बोली- बता दो, कोई बात है तो।मैंने कहा- आंटी आप तो बहुत सुंदर हो। अगर मैं आपका पति होता तो आपको बहुत प्यार करता और आपको किसी बात की कमी नहीं होने देता।आंटी बोली- तुम्हें मैं इतनी पसंद हूँ क्या?मैंने कहा- हाँ आंटी!कहते हुए मैं आंटी के पास ही आकर बैठ गया. भाभी की गांड चुदाईमैंने जब नींद से जाग कर अपनी आंखों को मलते हुए देखा तो पिंकी मेरी तरफ पीठ करके लेटी हुई थी और उसका हाथ हिल रहा था.

इसी बीच दीदी का आंचल जरा सरक गया था और उनके गहरे गले वाले ब्लाउज में कसे हुए उनके दूध दिखने लगे थे.भोजपुरी के सेक्सी बीएफ: उसकी बीवी के मोटे-मोटे चूचे देख कर मन करने लगा था कि पहले उनसे ही खेल लूं.

इस वजह से खून और पानी का वो मिश्रण बन जाने से मेरा लंड अंदर जाने में अब कोई परेशानी नहीं आ रही थी.उसी समय सोनाली ने मुझे रोक लिया और मुझसे पूछने लगी कि तुम मेरे लिए ही रोज मेरे पीछे आते हो ना!तो मैंने भी टाइम नहीं गंवाते हुए उससे बोला- हां … मैं तुम्हारे लिए ही आता हूं.

हिन्दी पोरन - भोजपुरी के सेक्सी बीएफ

वहीं मेरी उत्तेजना भी इस तरह बढ़ चुकी थी कि उसकी हर हरकत का मैं खुले मन से स्वागत करने लगी और साथ ही सभोग में बराबर की भागीदारी देने लगी थी.रात भर मैं उनको चोदने के बारे में सोचता हुआ कब सो गया, पता ही नहीं चला.

मैं उनकी मोटी गांड पर थप्पड़ भी मार रहा था, जिससे वह और भी गर्म हो रही थीं. भोजपुरी के सेक्सी बीएफ गीले होंठों को चूसते हुए मैंने अचानक से उनके मादक बोबे जोर से दबा दिए, जिससे उनकी चीख निकल गयी.

मैंने चाची की चुदाई कैसे की?नमस्ते दोस्तो, मेरा नाम सनी है और मैं उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूं.

भोजपुरी के सेक्सी बीएफ?

मेरी क्लास में सहेलियां तो और भी कई थीं लेकिन हम पांच का बिंदास ग्रुप ऐसा था जो कुछ खास था. फिर उसने मेरे टॉप को उतारा और मेरी ब्रा को खोल कर मुझे ऊपर से नंगी कर दिया. यह मेरी रियल स्टोरी आपको कैसी लगी मुझे जरूर बताना। मैंने अपनी मेल आईडी नीचे दी हुई है.

एक पल बाद उसका हाथ कुछ ढीला हुआ, तो मैंने उनसे धीरे से पूछा- आप घबरा गई थीं क्या?उन्होंने मेरी तरफ देखा और धीरे से उत्तर दिया- हां. शुरू में तो वो उसके लंड पर कूद रही थी लेकिन कुछ देर के बाद जब उनका सेक्स खत्म हुआ तो उससे चला भी नहीं जा रहा था. फिर भाभी बोलीं- अच्छा जी … पर मुझे पहले ये तो बताओ कि आपको मुझमें ऐसा क्या ख़ास दिखा है … ये बताओगे जरा?मैं बोला- छोड़ो भाभी.

यह सुन मेरे मन में ख्याल आया कि आज रमा मुझे मरवा के ही रहेगी, इसलिए एक बार सोचा कि सब कह दूँ. मैंने अपूर्वा को वहीं योग मैट पर लिटा दिया और उसके मुँह में अपना मुँह डाल कर उसे स्मूच करने लगा. उसके बाद वो मेरी चूत को सहलाने लगा और मैं उसके लंड को पकड़ कर सहलाने लगी.

मैंने आश्चर्य जताया कि भाभी ये कौन सा वक्त है नहाने का?भाभी बोलीं- मैं रात में नहा कर ही सोती हूँ. हम दोनों पागलों की तरह ऐसे लिपट गए थे, जैसे हम दोनों जन्मों से अपनी सेक्स की आग को बुझाने के लिए प्यासे हों.

प्रिया ने मेरे कान में कहा- आज तुम्हारी 22 साल की बहन की चुदाई होने वाली है, चूत की सील टूटने वाली है, मेरी चुदाई देखना और मजे लेना.

सुरेश कभी कभी मुझसे बात करते करते मेरी मैक्सी के अन्दर देखता था, तो उसको मेरी चूची दिख जाती थी.

मैं हमेशा चादर से नींद के बहाने उन्हें चादर के छेद से साड़ी बदलते देखने लगा. उसके बाद शकूर का ऑफिस दूसरी जगह शिफ्ट हो गया और उसके साथ ही अरशी भी चली गई. मैं अपने हाथ उसकी पीठ पर फेरता जा रहा था और उसके मम्मों को दबाता और मसलता जा रहा था.

भारत में तो सामान्य रिवाज है कि प्रसूति के चालीस दिन तक तो स्त्री को पूरा आराम दिया जाता है. आधे घंटे के बाद मैंने देखा कि उसके सास-ससुर अपना सामान ऑटो में रख कर निकल गये. भाभी ने बल्लू के गले में बांहें डाल दीं और बल्लू के लंड पर उछलना शुरू हो गई.

कभी मैं उनके बोबों को मसलता, तो कभी उनकी गीली चूत को अपनी मुट्ठी में भर कर दबा देता.

कुछ मिनट तक ऐसे ही करने के बाद मैंने भाभी का ब्लाउज और पेटीकोट खोल दिया. तब तक मेरे लंड ने पिचकारी छोड़ते हुए उसके मुँह और जीभ पर पानी छोड़ दिया. मेरी उम्र में और मेरे जैसे स्मार्ट से लड़के की कोई गर्लफ्रेंड न हो तो किसी के मन में भी ये सवाल पैदा हो सकता था.

मैं भी उसको अपनी तरफ आकर्षित करने लगी थी, तो मैं उसको अब सब कुछ पहले से ज्यादा दिखाती थी. क्योंकि मुझे भी वाइल्ड सेक्स और चुदाई के दौरान गालियां देना और सुनना बहुत पसंद हैं. वो किसी से फोन पर बात कर रही थी और बात करते हुए ही उसकी आंखों से आंसू भी निकल आये थे.

फिर मैंने टीवी ऑन कर लिया और कुछ सेक्सी सामग्री वाले प्रोग्राम खोजने लगा.

मैंने उठकर पीछे मुड़ उसे देखा, तो वो हाथ से अपने लिंग को हिलाते हुए मुस्कुरा रहा था. हम दोनों एक दूसरे से एकदम चिपके हुए अपने दिलों की चाहत को अपनी मंजिल तक ले जाने के लिए पूरी तरह से कामुक हो उठे थे.

भोजपुरी के सेक्सी बीएफ इसलिए सबके नाम की पर्ची बनाई गई और एक कटोरे में सभी मर्दों के नाम की दो दो पर्ची बनाई गईं, क्योंकि मर्द चार थे और औरतें 5 थीं. राजेश्वरी अब इतनी उत्तेजित हो चुकी थी कि उसने चादर को पकड़ खींचना शुरू कर दिया और अपना पूरा बदन मरोड़ना शुरू कर दिया.

भोजपुरी के सेक्सी बीएफ वैसे आजकल के जमाने में तो कच्ची उम्र में ही सबको सेक्स का ज्ञान हो जाता है. मैंने हमेशा की तरह ये सब इग्नोर कर दिया क्योंकि मेरी बीवी का गोरा रंग, उसकी मटकती गांड और तने हुए बोबे देख सब उसे ताड़ने लगते थे.

हम सब आपस में बहुत अच्छे दोस्त थे, तो कोई परेशानी होने वाली नहीं थी.

देसी गर्ल्स सेक्स वीडियो

मैंने उसको इशारा किया, तो वो समझ गई और उसने मेरे लंड को अपने मुँह में ले लिया. मैं समझ गया और उसकी बांहों में बांहें डाल कर एक रिक्शे में बैठ कर वापस होटल आने लगा. अब वो नीचे थी मैं ऊपर!मैंने उसके बाल खोले फिर उसकी टाई … मैंने उसे चूमना शुरू किया.

वो बार-बार मेरी गांड को अपने हाथों के सहारे से अपनी चूत की तरफ धकेल रही थी. उसकी पतली कमर उफ्फ!हॉस्टल गर्ल का इतना सेक्सी बदन देखकर मेरा तो खड़ा हुआ जा रहा था. अन्दर दो लड़कियां थीं, उन्होंने मुझे कपड़े उतार कर एक जगह लेटने को कहा.

चुदाई करते हुए मौसी दूसरी बार गर्म हो गई और फिर से मेरा साथ देने लगी.

मम्मी ने मेरे लंड को पकड़ लिया और मैंने अपना लंड मम्मी के मुँह में डाल दिया. सब कुछ अच्छा चल रहा था, लेकिन एक दिन कुछ ऐसा हुआ कि जिससे सब कुछ बदल गया. कुछ तेल की बूंदें उन्होंने जहां पर खाल फंसी हुई थी, वहां पर डाल दी.

किचन में नंगी प्रिया के चूचों के साथ खेलते हुए मुझे भी जोश आने लगा था. कारण ये रहा कि मेरे अम्मी अब्बू को लड़की कुछ समझ में नहीं आई … और इसी लिए मेरी उससे सगाई टूट गई थी. वहां काफी भीड़ थी, देर लगती देख पापा मुझे छोड़कर बैंक चले गए और कह गये कि तुम्हारा काम हो जाये तो मुझे फोन करना.

दूध मसलने से उनको मस्ती सी चढ़ने लगी और वो ना जाने कैसी कैसी अजीब सी सिसकारियां लेने लगीं. कमलनाथ ने झट से राजेश्वरी को रोका और उसे पीठ के बल चित्त लिटा दिया.

पता नहीं उसके बाद से मेरे अंदर उस नौकरानी की चूत को लेकर एक कामुकता सी जाग उठी थी. थोड़ी देर ऐसा करने पर जब रवीना की तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं हुयी तो मैंने मेरे हाथों को उसके चुच्चों की तरफ बढ़ाना शुरू किया और अंत में इसमें सफल हुआ. लेकिन जिस वक्त की बात मैं आपको बता रहा हूं उस वक्त सेक्स को लेकर बहुत ही कम बातें होती थीं.

उम्मीद ही लगा रखी थी कि होगा तो कुछ बुरा ही होगा … साला अच्छा तो कभी हुआ ही नहीं है.

मेरे मन में बात चलने लगी थी कि राजशेखर और तेज़, शेखर करते रहो, आह शेखू रुकना मत. काव्या हंस कर बोली- सच में यार, उफ्फ़ … अभी तो मज़ा आना शुरू ही हो रहा था कि पता नहीं कौन आ गया. उसको भी मेरा इस तरह से अपनी चूचियों को मसलवाना जम रहा था और वो खुद भी मुझे कंधे पर हाथ रख कर अपने आपको मुझसे चिपकाए दे रही थी.

हमारी बात शुरू हुई, तो उसने पूछा कि तुम्हें मेरी बीवी में क्या अच्छा लगा?मैंने लिखा- खुल कर सच बोलूँ?उसने हामी भर दी, तो मैंने बोला कि मुझे तो सबसे ज़्यादा लड़कियों की चुचियां पसंद हैं और तुम्हारी बीवी की चुचियां तो सच में बहुत मस्त हैं. क्योंकि मेरे लंड महाराज अपने रौ में आ गए हैं और इसको शान्त करना जरूरी है.

मैंने उस आदमी की प्रोफाइल चैक की, उसका नाम राकेश (बदला हुआ नाम) था. यहां तक कि मैंने उसकी चूत को भी नहीं देखा था क्योंकि वो तौलिया के नीचे से अपनी चूत पर साबुन लगाती थी और वो छेद थोड़ा सा ऊपर की तरफ था. उसके बाद कई बार भाभी ने मौका पाकर मुझसे अपनी चूत मरवाई और मैंने भी भाभी के पूरे मजे लिये.

देहाती सेक्सी बीपी वीडियो

मुझे चाहे काम होता या न होता लेकिन मैं उसके साथ सफर पर निकल पड़ता था.

वहां पहुंच जब रमा ने बिस्तर देखा, तो चकित होते हुए बहुत जोरों से हंसती हुई बोली- सारिका ये क्या है, रात की कहानी तो ये चादर बता रही है. फिर उसने नीचे जाकर दोबारा से मेरे लंड को अपने मुंह के अंदर ले लिया और मेरे लंड पर अपने मुंह को ऊपर नीचे चलाने लगी. मैंने उसकी बुर को हाथ से रगड़ा और अपना लंड उसकी बुर के मुंह पर लगा दिया और उसके ऊपर लेट गया.

मैंने शेर पढ़ दिया- कोई अगर है चाँद सा खूबसूरत … तो वो, बस तुम्हीं हो, कोई और नहीं. कई बार तो अम्मा का हाथ मेरे लंड को भी लगता और तो कई बार मेरा लंड अम्मा की गांड में भी लग जाता था. हिंदी में ब्लू फिल्म देखना हैफिर मैंने अपनी पैंट निकाल दी और उसने मेरे कच्छे के ऊपर से मेरे लंड को पकड़ लिया और सहलाने लगी.

उन्होंने मुझे सख्त धमकाया- ये क्या कर रहे हो? तुम्हारी मम्मी से बताती हूँ।मैंने भाभी के पैर पकड़ लिए और माफी मांगी और यह भी कहा कि दोबारा ऐसा नहीं करूँगा।उन्होंने बड़े प्यार से मेरे गाल पर एक थपकी दी और बोली- तुम अभी 18 साल के ही हो. इतने में उन्होंने कहा- मुझे ये भी पता है तुम्हें मुझमें क्या पसन्द है.

पर वो साथ में ये भी चाहती थी कि उस नेता को मैं अंत तक पता न चलने दूं कि मैं सच में कोई वेश्या नहीं हूँ. मेरे मन में तो राजशेखर का लिंग दिखने लगा कि कैसे मेरी योनि की दीवारों को चीरता हुआ अन्दर बाहर हो रहा था. नाम था डॉक्टर किरण लेकिन देखने में एकदम मस्त हिरोइन जैसी लग रही थी.

मैं मस्ती में था, तो एक हाथ से राईट बोबे को मसलना शुरू किया और लेफ्ट बोबे को चूसने लगा. मैंने भाभी को चोदा … भाभी की चुदाई की कहानी को विस्तार से अगले भाग में लिखूँगा. उसने जब मेरा पूरा खड़ा लंड देखा तो चौंक गयी और कहने लगी- ये क्या है?मैंने कहा- जान … ये तुम्हारी तड़प का इलाज है … और मेरी तड़प का तुम!मैंने उसे बताया कि उससे मिलने के बाद मैंने क्या क्या किया।मैं एक्टिव था, अब मेरी बारी थी.

फिर मैंने उनको दीवार से लगाया और उनके होंठों पर एक जोरदार से किस कर दिया.

मेरी सेक्स कहानी के पहले भागबीवी की सहेली पे दिल आ गया-1में आपने पढ़ा कि मेरा दिल मेरी बीवी की सहेली पर आ गया. मैंने तीन-चार जबरदस्त झटके भाभी की गांड में देते हुए अपना माल उसकी गांड में छोड़ दिया.

हल्की फ़ुल्की बातें और हंसी मजाक करते हुए, जिसको जहां जगह मिली, सो गए. जब मैंने आपके लौड़ा को देखा, तो उसी वक्त से अपनी भोस में उंगली कर रही थी. वो इतना अधिक उत्तेजित था कि उसने एक बार भी मुझे लिंग चूसने को नहीं कहा.

तो क्या मैंने भाभी को चोदा?नमस्ते दोस्तो, मेरा नाम विशाल है, मैं पंजाब का रहने वाला हूं और चंडीगढ़ में रहता हूं. उसका लिंग सरसराता हुआ मेरी योनि में आ जा रहा था और मुझे कराहने पर विवश करे दे रहा था. लेकिन जब वे दोनों जाती थे तो निधि का चेहरा देख कर लगता था कि कुणाल निधि को खुश नहीं कर पाता था।एक दिन की बात है, कुणाल और निधि मेरे रूम पर चुदाई कर रहे थे.

भोजपुरी के सेक्सी बीएफ कांतिलाल ने तो एक तरफ राजेश्वरी को परेशान करके रख दिया था, वो कभी राजेश्वरी को सीधा लिटा कर योनि चूसता, तो कभी कुतिया की तरह झुका कर पीछे से … तो कभी उसके स्तनों को मसलता. भाभी बोलीं- कैसी चाहिए?मैं बोला- भाभी आप जैसी चाहिए … मुझे अभी तक आप जैसी कोई मिली ही नहीं.

हिंदी सेक्सी ब्लू सेक्सी

उनकी तरफ से कोई विरोध न देख कर मैंने दीदी की ब्रा भी खोल दी और उनके दो परिंदों को आज़ाद कर दिया. राजेश्वरी- क्या करते हैं?कमलनाथ- मेरे भइया तुम्हारी दीदी को घंटों तक चोदते हैं. जब मैंने वापस आकर देखा, तो मुझे सामने बिस्तर पर कांतिलाल जांघिये में मुस्कुराता हुआ दिखा.

मैंने उसकी चूत में अपनी जीभ को कुछ अन्दर तक डाल कर चाटना शुरू किया. जिस पर मैंने मासूम बनते हुए पूछ लिया- क्या चालू हो गए?राज आंखें मटकाते हुए बोला- अरे मेरा कहने का मतलब ये था कि हम 5 दिन के लिए आए हैं तो प्यार भी आराम से भी किया जा सकता था … मगर वे लोग तो. विवाह २ भोजपुरी फिल्मलेकिन बाद में बहुत मज़ा आएगा।अब मैंने फिर से उसकी चूत को चूसना शुरू किया और उसको अपना लंड चूसने को बोला.

मैंने मॉम के होंठों को देखा और उनके होंठों पर अपने होंठ लगा दिए और जोर जोर से किस करने लगा.

फिर अपनी गोटियों को छूने के लिए कहा तो वो मेरी गोटियों को छेड़ते हुए उनको सहलाने लगी. अब मुझे भी अपने चूतड़ों के नीचे बहुत गीला गीला सा लगने लगा था, सो मैं वहां से हटना चाहती थी.

उधर मेरी बीवी की गांड में थूक लगाने बाद सुरेश ने कहा- रानी, मैं आज तक अपनी बीवी की गांड का मजा नहीं कर सका, पर आज तुझे मैं जन्नत दिखा दूंगा. मैंने हिम्मत करके उसका फिगर पूछ लिया, तो उसने बताया कि उसकी बीवी का फिगर 36-30-38 का है. मैंने गुवाहाटी जाने से पहले राजस्थान में रहते हुए भी चुदाई का मजा लिया था लेकिन वो सब कहानियां मैं आपको बाद में बताऊंगा.

उसके लिंग में उतना कड़कपन नहीं था, जैसे आम मर्दों में होता है और न ही उसके धक्के में इतनी ताकत थी.

कई मिनट तक लंड को चुसवाने के बाद उसने मेरे मुंह में ही अपना पानी निकलवा दिया. अब वो मेरे तनतनाए हुए लंड को अन्दर तक लेकर बिल्कुल लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी थी. मगर मैं मन ही मन सोच रहा होता था कि जब वो खुश ही नहीं हो पाती तो यह सब अच्छे सेट पहनने का क्या फायदा है.

एक्स+एक्सफिर मेरे पति ने अपनी जांच कराई तो डॉक्टर ने उन्हें बताया कि वे कभी मुझे माँ नहीं बना पायेंगे. इंशा को लंड चूसते देख कर शिफा भी पास आ गई, तो मैंने उसे भी अपनी ओर खींच लिया.

पाकिस्तानी ब्लू सेक्सी

मैंने बड़ी मुश्किल से अपने आप पर काबू किया लेकिन मेरा लंड पूरा बेकाबू हो गया था और खड़ा हुआ साफ दिख रहा था. मेरी देसी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी बहन की ससुराल में उसकी ननद की कुंवारी चूत की सील तोड़ी. चुत में बड़ी मुश्किल से मेरा लंड गया क्योंकि उसका पति बहुत ही कम भाबी की चुदाई करता था.

करीब 10-15 मिनट के बाद मुझे लगा कि मेरी भांजी को नींद आ गई है, वह मेरी तरफ पीठ किए हुए थे. जब मेरे सीने से उसके मम्मे लग गए, तो मुझे ऐसा लगा, जैसे मेरे शरीर को मलाई लग रही हो. मुझे देख कर उन्होंने पूछा कि कुछ खाओगे?मैंने कहा- नहीं!फिर मां बोलीं- शाम को हमको एक शादी में जाना है … मैं खाना बना दूं कि बाहर खाओगे?मैंने कहा- आप लोग चले जाना.

उस दिन के बाद से अनु मेरी दीवानी हो गयी और जब भी मैं उसे बोलता तो वो चूत देने के लिए तैयार हो जाती थी. ’हम करीब 15 मिनट तक एक दूसरे को चूमते रहे और मैं उसके मम्मों को दबाता रहा. वो दर्द के मारे कराहने लगी लेकिन उसके चेहरे पर आनंद भी साफ दिखाई दे रहा था.

इसी वजह से निर्मला इस बात पर राजी हो गई कि मुझे राजशेखर के साथ संभोग के लिए राजी कर ले … ताकि अपनी व्यवाहिक जीवन बचा सके. मेरी भाभी की गांड इतनी सेक्सी है कि जब वो चलती है तो उसको हर कोई देखने लग जाता है.

काफी देर उसकी चूत को जीभ से चोदते हुए हो गई तो वो फिर से गाली देने लगी- साले मुझे अपने लौड़े से कब चोदेगा हरामी?मैंने कहा- रंडी, पहले वादा कर कि जितनी औरतों को तू जानती है उन सब की चूत मेरे लंड को दिलवायेगी.

शाम को पांच बजे के करीब दिल्ली-मुंबई राजधानी एक्सप्रेस में मेरा टिकट था. सनी लियोन सेक्स एक्स एक्स एक्सअंदर मैंने देखा कि मेरा भाई अपने लंड को हाथ में लेकर सू-सू करने की पोज में खड़ा हुआ था लेकिन वो सू-सू करने की बजाय अपने लंड को आगे और पीछे की तरफ किये जा रहा था. सुहागरात की सेक्सी मूवीफिर भाभी ने मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ा और अपनी चूत के मुंह पर लगा कर अपनी गांड को पीछे धकेल दिया. प्रिया- तो तुम भी तो रात भर सेक्स चैट करते हो … कैसे रात को मेरी चूत चाटने की बात कर रहे थे.

मैंने जैसे ही परी की चूत में अपनी जीभ घुसाई, उसको तो जैसे करेंट लग गया हो … वो मस्ती से चिल्लाने लगी- आह … अब नहीं रहा जाता … घुसा दो … मेरी चूत में अपना लंड … फाड़ दो इसे … चोदो मुझे चोदो.

वंदना भाभी- सच्ची बल्लू, मेरे नॉटी बल्लू… गुन्डाराज … मैं भी तुम्हें और तुम्हारी गर्माहट को मिस जो कर रही हूंबल्लू- ओह भाभी, तुम भी ना… आज रात तुम्हारे घर पर आता हूं मैं. पांच साल मैं बाहर विदेश में भी काम कर चुका हूं जिस वजह से मेरी इंग्लिश बहुत अच्छी है. स्तन और गांड के सुडौल होने के कारण उसका स्लिम फिगर कहर बन कर टूटता है.

थोड़ी देर के बाद निर्मला उठी और अपनी पैंटी निकाल कर स्कर्ट ऊपर उठाते हुए अपनी दोनों टांगें फैला दीं और अपनी योनि रवि के मुँह में लगा दी. उसके घर आकर मैंने बिल्कुल नई दुल्हन की तरह लाल साड़ी पहन ली और गहरे लाल की लिपस्टिक लगा ली. मुझे मालूम है कि काव्या का ये रूप सोच कर ही आप लोगों का लंड खड़ा हो गया होगा.

ससुर जी की चुदाई

कुछ ही देर में मोनू का वीर्य भाभी की चूत में निकल गया और वो नीचे से हट गया. तभी अमन ने मेरी बीवी के बोबे दबाते हुए कहा- रंडी बन जा हमारी … बहुत मज़े करेगी. वो अंदर आकर कहने लगी- मैं बहुत दिनों से देख रही हूं कि तुम मुझे गंदी नजर से देखते हो.

उनसे बातचीत में पता चला कि वो घर पर अपनी बहु और बेटे के साथ रहती हैं.

मैंने फिर उसके हाथ को पकड़ कर अंदर रजाई में कर दिया और फिर उसका हाथ अपने तने हुए लंड पर रखवा दिया.

मैं मस्ती में था, तो एक हाथ से राईट बोबे को मसलना शुरू किया और लेफ्ट बोबे को चूसने लगा. मेरा घर काफी बड़ा है, जिस वजह से मेरे पति ने चार पोर्शन किराए पर दिए हुए हैं. सेक्सी पिक्चर ब्लूदीदी ने जब यह बात सुनी तो पहले वो गुस्से से बोलीं- तूने हमारी बातें ऐसे छुपकर क्यों सुनी?मैंने कहा- सॉरी दीदी.

मैंने उसको आंख मारी और कहा- ठीक है, पहले खाना खा लेता हूँ, फिर हम दोनों मस्त वाला गेम खेलते हैं. उसके बाद राकेश ने ऑर्डर करने लगा तो उसने मुझसे पूछा, तो मैंने बोला कि जो तुम्हें मन है, ऑर्डर कर दो. कोई 5 मिनट के इस खेल में उनकी साड़ी का पल्लू कंधे से खिसक कर नीचे आ गया था.

मैं बोला- यार क्या करूं राकेश, तेरी बीवी है ही इतनी मस्त कि मुझसे बिल्कुल कंट्रोल भी नहीं हुआ. उन्होंने पहले मालिश से शुरुवात की, फिर तरह तरह की क्रीम बदन पर मले.

वो अंदर आकर मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर सहलाने लगी और मेरे होंठों को चूसने लगी.

मम्मी मेरा मोटा लंबा लंड देखकर बोलीं- वाह बेटा तेरा सामान तो तेरे पापा से भी बड़ा हो गया है. भाई को देख कर मुझे भी अपने मोबाइल में पोर्न देखने का मन किया तो मैं अपने मोबाइल में पोर्न देखने लगी. दोस्तो, कैसी लगी मेरी बीवी की चुदाई की हॉट वाइफ स्टोरी … आगे के पार्ट में मैं बताऊंगा कि दूसरे दिन से मेरी बीवी बार बार कैसे चुदी … और घर में भी अपनी चुदायी करवाने के लिए बाहरी लोगों को लाने लगी.

सेक्सी वीडियो भोजपुरी सॉन्ग पहले तो वो मुस्कुराई फिर बोली- नहीं, हम दोनों अपना पहला मिलन सेज पर ही करेंगे. सन 2009 में मेरी एक गर्ल फ़्रेड थी दूसरे धर्म की… और उसकी शादी जून में उसके भाइयों ने कर दी क्योंकि उनको मेरे और उनकी बहन के संबंधों के बारे में पता लग गया था.

वो महिला अभी अपनी आंखें स्क्रीन पर गड़ाए हुए फिल्म देखने में मशगूल थी. उसकी इस छोटी फ्रॉक से उसके घुटने से नीचे तक हिस्सा पूरा दिख रहा था. और कभी मेरा मन भी करता है मैं किसी के साथ कुछ ऐसा करूं … लेकिन मेरे पापा की वजह से आज तक मैंने कभी भी किसी लड़के से बात नहीं की.

जबरदस्ती इंडियन सेक्स वीडियो

कमेंट्स में बताएं कि आपको यह हिंदी गे सेक्स स्टोरी कैसी लगी?कहानी का अगला भाग: गे सेक्स स्टोरी:कुलबुलाती गांड-2. इससे डॉली की मादक सिसकारियां अब और तेज हो गई थीं ‘अहहह्ह्ह्ह … स्सीईईई … आहाहा. थोड़ी देर बाद मेरी साली भी काम ख़त्म करके मेरे कमरे में आ गई और उसने मुझसे पूछा- जीजा, आपका मूड कुछ सही नहीं लग रहा है, क्या बात है?मैंने उसको बोला- मेरी लाइफ बिल्कुल नीरस हो गई है, मेरी बीवी और बेटा मुझसे दूर हैं और मैं यहाँ अकेला पड़ा हूँ.

अब वो लाइन अभी मुझे याद नहीं हैं इसलिए आपको नहीं बता सकता हूँ।फिर तभी मेरे को थोड़ी शरारत सूझी और मैं उससे यह पूछने लग गया कि क्या कभी उसने किसी के साथ चुम्बन किया है?तो उसने कहा- नहीं. यह मेरी सच्ची और पहली घटना है, जो मैं अपने पति की परमिशन से आपके साथ शेयर कर रही हूं.

फिर मैं लोहे की रॉड जैसे सख्त हो चुके अपने लंड को काजल की चूत पर रगड़ने लगा.

तीसरे लड़के ने उसकी स्कर्ट को उठा कर उसकी चड्डी खींच कर उतार और फेंक दी. मैंने अपनी बहन नज़मा को चूम लिया और उसके बाद हम दोनों एक एक करके बाथरूम में जाकर खुद को साफ़ करके आ गए. नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम कुश है, यह मेरी पहली अन्तर्वासना सेक्स कहानी है दोस्त की साली की चुदाई की … कुछ गलत दिखे, तो मुझे माफ कर देना.

रवि हांफने और गुर्राने लगा और 5-6 जोर जोर के धक्के मार कर पूरा वीर्य का पुंज मेरी योनि के भीतर खाली कर दिया और सुस्त होकर मेरे ऊपर लेट गया. मैंने बोला- अच्छा वो कैसे?अम्मा ने कहा- वो जब हमारे ससुर जी थे, तब उनसे सेक्स करती थीं. मैंने थोड़ा सा बाहर झांक कर देखा और फिर उसके गालों को पकड़ कर उसके होंठों पर होंठ रख दिये तो उसकी आंखें बंद हो गईं.

कुछ देर बाद मेरा ब्वॉयफ्रेंड दूल्हे जैसा सज कर कमरे के अन्दर आ गया और हमारी सुहागरात की बेला शुरू हो गई.

भोजपुरी के सेक्सी बीएफ: ये देखते ही दीदी ने मुझे एक थप्पड़ मार दिया और कहने लगीं- क्या कर रहे हो … गेट आउट!मैंने कुछ न सुना और उनकी टांगों को किस करने लगा. गाड़ी में बैठने के बाद मैंने भाभी के हाथ पर हाथ रखा और बोला- भाभी, अगर बुरा न मानो तो मैं कुछ कहना चाहता हूं.

कई मिनट तक लंड को चुसवाने के बाद उसने मेरे मुंह में ही अपना पानी निकलवा दिया. पहले तो मां ने मना कर दिया लेकिन फिर बाद में मां ने गाउन निकाल दिया. रमा- कांति ने तुम्हें सोने दिया या नहीं?मैं- हां सोने तो दिया, पर उससे पहले मुझे निचोड़ कर रख दिया.

मेरे दिमाग में एकदम से घंटी बजी और बचपन का एक डायलाग याद आ गया जब हम कुछ कमीन दोस्त किसी भी बड़े चूचे वाली लड़की को देख कर लव स्कूल कह देते थे.

लेखक की पिछली कहानी: गोवा में माँ को चोदागोवा में माँ को चोदायह भेनचोद भाई की सेक्स कहानी मेरे एक दोस्त की है. जैसा नाम वैसा आकर्षक रूप भी पाया था उसने, फिर भी न जाने क्यूं एक असमंजस की स्थिति पैदा हो गई गई थी. मैंने चादर को मुठ्ठियों में भर लिया और उसके धक्कों के साथ अपनी आवाजें निकालने लगी.