इंग्लिश देहाती बीएफ

छवि स्रोत,इंडियन सेक्सी वीडियो ओपन

तस्वीर का शीर्षक ,

दामाद पर शायरी: इंग्लिश देहाती बीएफ, झगड़े की बात की खबर उसके पति को लग गयी थी और उस गांव वाले लड़के ने माधुरी को थप्पड़ मारा था.

इंग्लिश मे सेक्सी वीडियो

मैंने कहा- क्यों, प्यार क्यों नहीं करते हैं?वो मानो मेरे सामने फट पड़ना चाहती थी. की पिक्चर सेक्सीभाभी बोली- आराम से करो अमन! मुझे पता है कि हम दोनों ही प्यासे हैं पर फिर भी आराम से करो.

जब शादी तय हुई, मेरी होने वाली सास मुझे और अपनी लड़की को लेकर गुरूजी के आश्रम में गुरूजी की सहमति लेने गयी. माँ पर बाल कविताकुछ ही देर में उसकी चूत से रस निकलने लगा, मैं समझ गया कि मामी को लंड चाहिए.

शायद उन्हें किसी ने कभी खोला भी ना होहालांकि चुदाई के बाद में पता चला कि उसकी सील टूटी हुई थी.इंग्लिश देहाती बीएफ: हम दोनों के बदन में ऐसी आग लगी थी कि हमारा फोरप्ले काफी समय तक चलता रहा था.

कितना सारा खून निकला है उसका!दोनों हिजड़ों ने मेरा खून से भरा बदन साफ़ किया और कमरे की साफ़ सफाई करके मुझे साफ़ बिस्तर पर लेटा कर चले गए.जलालुद्दीन हंसने लगे और बोले- चलो जिन्न भगाने से पहले आज तुमको पूरी तालीम दे देते हैं!फिर उन्होंने सिखाया- इसको गुच्छी नहीं चूत कहते हैं, जिसको कुछ दिनों बाद भोसड़ा कहा जाएगा.

महाराष्ट्र ग्रामीण सेक्स - इंग्लिश देहाती बीएफ

उसने अपने लंड पर थूक लगाया और लंड को मेरी गांड में घुसाना शुरू कर दिया.मैं जलालुद्दीन साहब से बीस पचीस बार चुदवा चुकी थी फिर भी आज उनका लण्ड काफी बड़ा, मोटा और कड़क लग रहा था.

मेरे मामा मेरे गांव में ही रहते थे जिस वजह से मामी और चाची की ससुराल हमारे ही गांव में हो गई थी. इंग्लिश देहाती बीएफ जैसे ही ब्रा नीचे को सरकी, मैंने अपने होंठों से माधुरी के होंठों को अलग किया और माधुरी की चूचियां उछल कर ब्रा की कैद से आज़ाद होकर मेरे सामने आ गईं.

इतना सुनते ही वो एक पल रुक कर बोली- कितनी देर लगा दी, पहले नहीं कह सकते थे क्या? मैं भी तुमसे प्यार करती हूं.

इंग्लिश देहाती बीएफ?

मैंने ज़रा सी भी देर नहीं की और उसकी टांगें खोलीं और उसके कुछ कहने से पहले ही अपना लंड उसकी चूत में उतार दिया. हमारे ग्रुप के लड़के सब लड़कियों को जबरदस्त तरीके से रंग लगा रहे थे और मौका देखकर वो लड़कियों के बूब्स चूतड़ सब दबा रहे थे. डिंपी- रिकी अब और रहा नहीं जाता, मेरी चूत में अपना लोहा डालो न!मैंने भी अपना शॉर्ट्स निकाला और उसकी टांगों को अपने कंधों पर रख कर पोज बनाने लगा, उसकी चूत पर लंड रख कर रगड़ने लगा.

पांच से एक गोटी आगे बढ़ाई, दो से उसने अपनी एक गोटी को महफूज़ कर लिया. फिर सब लोग रात की ट्रेन से निकल गए और खाला और मैं घर पर अकेले रह गए. मैंने अपने लंड को उसकी गांड में डाल दिया और अपनी कमर को ऊपर नीचे करके उसे चोदने लगा.

वो बीच बीच में मेरे मम्मों की तारीफ भी करते थे- वाह कितने प्यारे, नर्म और रसीले मम्मे हैं. लंड चूसते चूसते आंटी ने कहा- निखिल, अपनी आंटी की चूत कैसी लगी बेटा?‘एकदम जवान चूत है आंटी, एकदम टाइट … जैसे किसी जवान लौंडिया की चुत हो. वो स्खलन के वक्त जैसी आवाजें निकालने लगी और थरथराहट के साथ झड़ने लगी.

खिड़की पर मैं इसलिए गया था क्योंकि मुझे पता था कि खिड़की का थोड़ा सा कांच टूटा हुआ है और उसमें से अन्दर देखा जा सकता है. उसने मुझसे कहा- आप भले दो दिन में होटल में रुक जाएं, लेकिन दिन में आप हमारे यहां आ जाइएगा.

उनके साथ कोई और भी था जो दिखने में उनके जैसा ही था पर वो काले रंग का आदमी था.

उसने आगे बढ़ कर साली को बेड के पास पहुंचाया और बिस्तर पर लिटा दिया.

वो मेरी पकड़ से छूटने के लिए छटपटा रही थी, लेकिन मैंने उसे बहुत जोर से पकड़ा हुआ था. मॉम भी अब हल्की हल्की सिसकारियां ले रही थीं, शायद अब मॉम को भी सेक्स चढ़ने लगा था. कुछ ही मिनट में खाला की चूत का पानी फिर से छूट गया और मैंने सारा पानी पी लिया.

ये सुन कर मैं मुस्कुराने लगा और मैंने उसी वक्त जोर से साक्षी के निप्पल को काट लिया. उसने बैग को खोला तो वो उसके अन्दर देख कर अचम्भित हो गयी क्योंकि मैं उसमें बियर और वोडका की बोतल लाया था. उनके मुँह से उसी पल एक तेज ‘आआह शश … ओओह मर गई …’ की आवाज निकल गई और वो मेरे सर को पकड़ने लगीं.

आंटी ज़ोर से हंसने लगीं और उन्होंने मेरे कान में बोला- इतने दिन तो विश्वामित्र ने भी नहीं लगाए थे, जितने तुमने लगा दिए.

मैंने लगभग 10 मिनट तक उनके चूचे का दूध पिया।मुझे तो जैसे जन्नत का सुख मिलने लगा था. दस मिनट बाद मेरा लौड़ा फिर खड़ा हो गया और मैं फिर से कोमल को चोदने में लग गया. कितना पागल था मैं … एक विवाहित महिला से शादी को इतना पागल हो उठा था.

पांच से एक गोटी आगे बढ़ाई, दो से उसने अपनी एक गोटी को महफूज़ कर लिया. थोड़ी आगे जाने पर आठ दस छोटे-छोटे एक साथ वाले स्पीड ब्रेकर आए जिस वजह से बाइक डग डग करके चलने लगी. मैंने मन में सोचा कि आज नहीं तो कल मैं इसे चुदाई के लिए पटा ही लूंगा.

आंटी ने भी ज़िप खोल कर मेरे लंड को बाहर निकाल लिया और बड़े प्यार से सहलाने लगीं.

उन्हें एक कॉलेज में दाखिला मिल गया था और अब उन्हें किराए पर एक कमरा चाहिए था. तब धीरे से उसने मेरे हाथों को पकड़ा और मेरी चूचियों से मेरे हाथों का पर्दा हटा दिया.

इंग्लिश देहाती बीएफ उसकी गांड मारने के साथ ही मेरा एक हाथ उसकी कमर से होते हुए उसकी चूत के ऊपर दाने को सहला रहा था. जंगल सेक्स का मजा लिया मैंने जब मैं एक लड़के के साथ टेक्सी में गोवा जा रही थी.

इंग्लिश देहाती बीएफ वो बोली- काटा ही तो है … काटा नहीं है तो क्या किया है?मैंने कहा- मैंने चूसा है. चाची ने मुझे अपने चूचे ताड़ते हुए देख लिया और पूछा- क्या देख रहे हो?मैंने सकपकाते हुए कहा- कुछ नहीं चाची.

क्यूंकि हम सबने ये पहले से ही तय किया हुआ था कि लड़कों की गांड अन्दर बाहर दोनों तरफ से फाड़ देनी है.

बीएफ सेक्स में बीएफ

बुआ बोलीं- नहीं, राज शादी में जाना है … उधर गांड चौड़ी करके चलूंगी तो भद्दा लगेगा. मैं 28 साल की हूँ बेहद सुन्दर, गोरी चिट्टी और अच्छे नाक नक्श वाली हूँ।लोग कहते हैं कि मेरे चेहरे पर गज़ब की सेक्स अपील है, मैं बहुत हॉट लगती हूँ. काफी देर तक वो मेरे दोनों मम्मों को दबाते रहे और अपने मुँह से निप्पलों को निचोड़ते रहे.

मैंने उंगली को मीना की चूत के छेद में डाला, तो उनकी चूत पूरी गीली हो गई थी. कोल्ड वाइफ नो सेक्स कहानी में पढ़ें कि शादी के 8 साल बाद मेरी बीवी की सेक्स के प्रति रुचि कम हो गई. सलीम का लंड थोड़ा पतला, पर लम्बा था और हारून का लंड मोटा और लम्बा भी था.

भैया एक एक करके मेरी दोनों चूचियों को अपने होंठों से खींच खींच कर निचोड़ने सा लगा.

हमने देखा कि सब लड़कों के लंड चड्डी के अन्दर खड़े होने शुरू हो चुके थे यानि सबके लंड अब सलामी दे रहे थे. एक तो डोरी वाली ब्रा पैंटी थी … जिसमें ब्रा में मामी के मम्मों के निप्पल ढकने के लिए जरा सा कपड़ा लगा था और पैंटी में चूत को ढकने के लिए एक त्रिभुज आकार का कपड़ा लगा था. कुछ मिनट बाद मैंने दीदी से पूछा- अब दर्द कैसा है?वो बोली- भाई पहली बार दर्द होता ही है.

उन्होंने रिया का ये रूप कभी देखा नहीं था तो सब चुपचाप जाकर बिस्तर पर बैठ गए. कुछ पल बाद मैंने धीरे से वो कम्बल उसके पैर पर भी डाल दिया और उसने भी कुछ न कहते हुए कम्बल को अपने ऊपर ओढ़ लिया. जैसे ही मेरी बीवी नीचे वाले कमरे के दरवाजे के पास पहुंची, जहां उसकी भतीजी बैठी थी.

मैंने आंटी की तरफ देखा तो लाइफ में पहली बार किसी के चेहरे पर दर्द से सुकून तक का सफर देखा. डिंपी- अरे तुम तो अलग ही दुनिया में रहते हो और तुम्हारी तो पहले ही गर्लफ्रेंड है, फिर क्या फायदा?मैं- फायदा देना मेरा काम है, आप तो बस फायदा लो.

कुछ ही देर में हम दोनों एक दूसरे में इतना खो गए थे कि हमें अपने आस पास का कोई ख्याल ही नहीं रहा. माधुरी ने झूठमूठ का गुस्सा होकर कहा- इसका मतलब ये कि तुम अब जब मैं अकेली हूँ, तो क्या मेरी बगल को चाटोगे? मुझे जोर से चोदोगे? मेरे तीनों छेदो में अपने मूसल जैसे काले लंड को डाल कर मेरी खूब जोरदार चुदाई करोगे? मेरी चूत का रसपान करोगे?मैं सर नीचे झुकाये बोला- नहीं, नहीं वो तो उस दिन ऐसे ही गलती से निकल गया था. तभी निखिल मेरे ऊपर आ गया और जोर से मेरे होंठों को पीने लगा, मेरे होंठों को चूसता रहा और मेरी आँखों में दर्द के मारे पानी आ गया.

वही हाल मेरे दोस्त का भी था और शायद मेरी मामी ने इस बात को ताड़ लिया था.

कुछ देर बाद जब उसको आराम हुआ, तब वो बोली- अब धक्के मारो आराम आराम से!मैंने धक्के देने शुरू कर दिए. उसने अपने शरीर पर सिर्फ तौलिया लपेट रखा था जिससे उसकी गोरी गोरी जांघें मुझे और उत्तेजित कर रही थी. फिर उन्होंने मेरे लेट आने का कारण पूछा तो मैंने बता दिया कि अच्छा रिज़ल्ट लाने के लिए घर वालों ने मेरी ट्यूशन लगवा दी है.

उसका तो मुझे छोड़ने का मन कर ही नहीं रहा था पर मैंने वहां से निकलना ही उचित समझा. मेरी सेक्सी मौसी की चूत की कहानी आपको कैसी लगी, मुझे मेल करके ज़रूर बताना दोस्तो![emailprotected].

बाद में कुमकुम मेरे दोस्तों के सामने टेबल पर बैठ गई और बोलने लगी कि निकालो अपना हथियार और पेल दो मुझे. मैंने उसकी टी-शर्ट उतार दी और उसने मेरी!जब मैंने उसकी ब्रा को खोला, तो उसके मम्मे एकदम से उछल कर बाहर आ गए. मैंने उसे नागौर की बस में बैठा दिया और मैं ट्रेन पकड़ कर दिल्ली आ गया.

बीएफ पिक्चर व्हिडिओ पिक्चर

मुझे रिप्लाई जरूर करना ताकि आगे की सारी बातें आप लोगों तक जल्दी पहुंच सकें.

शाम को मेरी बीवी ने खाना बनाया और हम सबने साथ में बैठ कर खाना खाया. फिर मैं बोला- वो तुमको प्यार तो करते हैं कि नहीं?वो बोली- नहीं करते. फिर अगले दिन चाची ने मुझसे कहा- रात क्या हुआ था?मैं- रात को आपकी गुफा से पानी टपका था.

मर्द को ख़ुशी ही तब होती है, जब औरत चुदाई के समय ऐसे दर्द से कराहती है और वो उसे उकसाती है कि चोदो और चोदो. अब मैंने उसकी गांड में नारियल का ज्यादा सा तेल टपकाया और लंड अन्दर बाहर करने लगा. सईया अरब गइले नाअब वो पीछे से मेरी चूत चुदाई भी कर रहा था और साथ मेरी गांड में भी उंगली कर रहा था.

कोमल मेरी गाड़ी में पूरे हक से बैठ गई और मैंने गाड़ी ड्राइव करना स्टार्ट कर दिया. मैं अकेले में बैठी सोच रही थी कि शायद यही कारण होगा कि पहले जमाने में जल्दी शादी कर दी जाती थी.

शेखर मेरी चूत को उंगली से चोद रहा था और मेरे अंदर ऊँची ऊँची लहरें उठ रही थीं. कॉलेज के हॉस्टल में आकर मुझे आजादी मिली तो मैंने अपना यह शौक पूरा किया. मेरे हाथों और पैरों पर लाल रंग से डिज़ाइन बनाए गए, खूबसूरत तरीके से मेरे बालों को संवारा गया.

मैं- रचना तुम्हारी चूत कितनी मस्त है यार इसे भी चाटने का मन कर रहा है. मैंने कहा- फटी हुई को क्या फटना!वो हंस दी और बोली- तेरे अंकल ने मेरे ऊपर चढ़ना छोड़ दिया है. फिर मैंने उन्हें सब बता दिया कि मैंने आपकी पैंटी से न जाने कितनी बार मुठ मारी है.

मैं उसके बराबर में लेट कर कपड़ों के ऊपर से ही अपना लंड उसके पीछे लगा कर हल्के हल्के धक्के मारने लगता था और उसके बूब्स दबा देता था.

चाची बोलीं- मतलब? क्या वो नहीं किया है, साफ़ साफ़ बोलो न!मैंने कहा- मैंने चुदायी नहीं की है. हमेशा तो वह अपने बदन को पूरे साड़ी और पल्लू के साथ रखती थी लेकिन ना जाने क्यों आज उसका साड़ी का पल्लू थोड़ा सा नीचे की तरफ था जिसकी वजह से उसके विशालकाय गुंबद जैसे दो बबले उसके ब्लाउज से बाहर आने को आतुर हो रहे थे।मुझे खाना खाते समय फोन चलाते रहने की आदत है मगर उस दिन मेरा ध्यान मेरे फोन से ज्यादा उसके ब्लाउज की तरफ टिका हुआ था.

मैंने अपना लंड नीना के मुँह में डाल दिया और नीना का मुँह चोदने लगा. उधर जाने के लिए मैं रोज़ सुबह क़रीब साढ़े छह बजे अपने गांव से बस पकड़ कर रोहतक निकल जाता था. मुझे लग रहा था कि पता नहीं वो मेरे बारे में क्या सोचेगी लेकिन मुझे ऐसा लगा कि उसे भी मेरे लंड का अहसास अच्छा लग रहा था.

मैं बर्फ के टुकड़े को उसकी गहरी नाभि के चारों तरफ गोल गोल घुमा रहा था. जब मैंने लंड चूत में से बाहर निकाला तो ढेर सारा खून देखकर वो डर गई. जाते जाते हिजड़ा बोला- बार बार बदन मसलकर जिन्न को थकाने से उसकी ताकत बढ़ती जाएगी, इसलिए अगर अब जिन्न हमला करेगा तो जलालुद्दीन आलिम खुद आकर उसको निकालेंगे.

इंग्लिश देहाती बीएफ हॉट सेक्सी भाभी कोमल ने एक मीठे दर्द का अहसास करते हुए मुझे कसके पकड़ लिया और वो मेरे सीने से और ज्यादा चिपक गई. ये सुनते ही पुलकित मेरे पास आने लगा तो मैंने कहा- रुक जा चूतिये तुझे और ज्यादा मज़ा देती हूँ.

बीएफ वीडियो सेक्सी नंगी

मेरी गांड एकदम सीलपैक है, मुझे बहुत दर्द होगा प्लीज़ धीरे धीरे करना. अदीबा लम्बी सांस लेती हुई बोलने लगी- आंह सर, एक बार बाहर निकाल लो, बहुत दर्द हो रहा है. शबाना बोली- या अब्बू … ये मैंने क्या किया?‘कुछ नहीं हुआ है पहली बार जब सील टूटती है, तब थोड़ा खून निकलता ही है अपनी सहेली से पूछ लेना.

न केवल मर्द को बल्कि औरत को भी उसकी चूची दबाते और मसलते, या उसकी गांड पर थप्पड़ मारते समय, उसके निप्पलों को मुँह में लेकर खींचते या काटते समय औरत को भी मजा आने लगता है. मेरा दिमाग एकदम से हिल गया क्यूंकि आज तक मैंने पूनम आंटी को ना इस रूप में देखा था और ना ही उनके लिए ऐसा कोई ख्याल‌ मन में आया था. व्हाट्सप्प पर हम्म का मतलबएक दिन उसने खुद मुझे बुलाया तो …दोस्तो, मैं आपको अपने ऑफिस के नीचे एक दुकान वाली छमिया सी दिखनी वाली माधुरी भाभी की सेक्स कहानी सुना रहा था.

मैंने एक हाथ साइड वाली मेज पर रखा हुआ था, जिससे मुझे एक टांग पर खड़े रहने में आसानी हो रही थी.

मैंने भी उनको अपने छिले हुए लंड की पिक भेजी और बोला- मेरा भी वही हाल है. ये सुन कर वो छी छी करती हुई बोली- आप किसी दूसरे की बीवी से ऐसे कैसे बात कर सकते हैं.

उन्होंने एक एक करके मेरे पैर की सारी उँगलियाँ चूस डालीं और मेरे तलवों को किसी कुत्ते की तरह चाटते हुए ऊपर की तरफ आने लगे. मैंने उससे पूछा- तुम्हारे पति क्या करते हैं?उसने उदास भरे स्वर में कहा- वो एक कंपनी में जाते हैं और बहुत ही ज्यादा शराब पीते हैं. ’‘साली जब उंगली डालती है, तब दर्द नहीं होता नहीं होता है?’‘आपका लंड बहुत मोटा है ना.

फिर सब लोग रात की ट्रेन से निकल गए और खाला और मैं घर पर अकेले रह गए.

मैं आगे भी अपनी कहानियां लाती रहूंगी जिसमें मैं अपने आगे के अनुभव आपके साथ साझा करुँगी. मैं कोमल के हाथों को खोलकर उसके ऊपर लेट गया, जिससे मेरी छाती के बाल कोमल पीठ से रगड़ कर मस्ती करने लगे थे और मेरा लंड कोमल की गांड के दरवाजे पर दस्तक दे रहा था. तेरी चूत में अपने वीर्य का तालाब बना दूंगा रंडी मादरचोद!अचानक मेरा दर्द भी गायब हो गया, मेरे शरीर में एक बार फिर तरंगें उठने लगीं और मैंने जलालुद्दीन को अपनी बाहों में जकड़ लिया.

रीवा सेक्सकुछ देर की ताबड़तोड़ चुदाई में वह बार बार बोले जा रही थी- मादरचोद और जोर से चोद बहन के लंड … आंह और जोर से चोद. लंड को चूत में ही रख मैं उसके पर गिर गया और उसे किस करता हुआ उसके बगल में लेट गया.

बिहारी बीएफ भेजें

फिर दूसरे दिन रोज़ की तरह सुबह 8 बजे उठा और नहा धोकर बाइक पर जॉब पर चल गया. मेरे बिस्तर पर लेटने के मुश्किल से 5 मिनट के अन्दर वो उठी और उसने चादर से अपनी चूत से बहता हुआ वीर्य साफ़ किया. ’‘साली जब उंगली डालती है, तब दर्द नहीं होता नहीं होता है?’‘आपका लंड बहुत मोटा है ना.

मैं आधे घंटे में उसको लेकर आता हूँ तब तक आप लोग टेक्सी के अंदर आराम करिये. मैंने उसी अवस्था में कोमल को बेड पर गिरा दिया और खुद भी कोमल के साथ बिछ गया. फिर मैंने अपने होंठ चाची के चूचों पर लगाए, तो चाची ने एकदम से ‘आआहह … उम्म …’ की मादक आवाज निकाली.

फ्रेंड्स, मैं निहारिका एक बार फिर से आपसे मुखातिब हूँ और अपने मौसेरे भैया से अपनी सीलपैक बुर की चुदाई की कहानी का अगला भाग लेकर हाजिर हूँ. कालू के दोनों बेटे स्कूल की पढ़ाई के बाद फार्म में काम करने लगे, उनको अच्छी तनख्वाह मिलने लगी. मैं भी अपनी चाची को जमकर चोद रहा था और थप्प थप्प की आवाज के साथ अब मेरी सिसकारियां निकलने लगी थीं.

मैं नीना की चूत को चूसने लगा, चूत फैलाकर अपनी जीभ से नीना के भगनासे पर जीभ फेरने लगा. जब मैंने उससे कहा कि जोर-जोर से ऊपर नीचे करो, तब उसने जोर से ऊपर नीचे करना शुरू कर दिया.

चाचाजी के साथ जैसे कमरे में घुसा तो पाया कि शबाना और भाभी जी एक केक को काटने की तैयारी कर रही थीं.

मैं- नीना शाम को फार्म के काम के बाद मिलते है, मैं तुम्हें तैयार करूँगा. खेलने वाला गेम दिखाइएमैंने पूछा- इसको किसको? लण्ड को?और फिर मैंने उनका लण्ड पकड़ कर दबा दिया और हम दोनों हंस पड़े. மியா காலிஃபா செக்ஸிमेरा और समीर का रिश्ता दो साल से था, पर शादी हुई … तब से मैंने समीर से सारे रिश्ते तोड़ दिए थे. उसने मुझसे पूछा- टॉप हो या बॉटम?मैं ये सब नहीं जानता था, तो मैंने बॉटम कह दिया.

वो हमेशा साड़ी ही पहनती थी, जिसमें से उसकी कमर और उसका पेट दिखता था.

पिछले भागमेरे बच्चे की माँ की कुंवारी गांड मारीमें अब तक आपने पढ़ा था कि मैंने साक्षी की गांड मार ली थी और उसकी गांड में ही झड़ गया था. मैं- क्या आपकी वाइफ को पता है कि आप उसको मुझसे चुदते हुए देखना चाहते हो?अमन- हां, मैंने उससे बात कर रखी है और वो भी लगभग मानी हुई है. मैं पूरा का पूरा चाची के ऊपर लद सा गया और रगड़ मारते हुए जल्दी जल्दी चोदने लगा.

साक्षी कातिल स्माइल देती हुई बोली- बड़े शैतान हो, मेरी गांड इतना दर्द कर रही है और तुम्हारा हथियार अभी भी इसी की लेना चाहता है. मैं- बीवी के हरदम कुढ़े रहने से, उसको सन्धिवात और दिल की बीमारी हो गयी. फिर थोड़ी देर बाद मैंने देखा कि आयेशा अमन के साथ हंसती हुई आ रही थी.

साउथ बीएफ फुल एचडी

फिर मैंने लंड साक्षी की चूत से निकाला और उसकी गांड के छेद पर रख दिया. मैंने उसे रूम नम्बर बताते हुए कहा कि पहली मंजिल पर रूम में मैं तुम्हारा इंतज़ार कर रहा हूँ. लेकिन मैं था कि साक्षी के चुचों की खुशबू और निप्पलों से निकलते दूध को पीने में एकदम खो सा गया था.

सुरेंद्र जी उस लाइन को देखते हुए बात कर रहे थे और मैं उनकी नजरों को भांप रही थी.

ये सब सुनकर मैं और भी जोश में आ गया और अपनी पूरी ताक़त से चाची की ठुकाई करने में लग गया.

चाची ज़ोर ज़ोर से चिल्लाती हुई रोने लगीं- अअह … अहह ऊऊई मां मार डाला रे!अब चाची का दर्द बर्दाश्त से बाहर हो गया था, वो अपने हाथ खुलवाने की कोशिश करने लगीं और कहने लगीं- बाहर निकाल अपने लंड को मेरी चूत से कमीने. मैंने मोहित से कहा- क्या हुआ मेरी जान … अभी तो सिर्फ डिल्डो का टोपा ही अन्दर गया है. हॉट इमेजेसमामी बोली- तुझे छत पर टहलने की सूझ रही है और इधर हम दोनों अपने रहने को लेकर परेशान हो रही हैं.

उसी बस में मेरे से पहले वाले गांव से एक तीस वर्ष की आंटी हमेशा आती थीं. दोस्तो, ये गेम लूडो का जरूर था, मगर इसमें एक ख़ास बात आपने नोट की होगी कि हम दोनों के अन्दर एक छिपी हुई वासना थी, जो बिना जाहिर हुए ही अपनी आग को भड़का रही थी. वो जोर जोर से सिसकारियां लेने लगी- आह सर जी, जल्दी से डाल दो मेरा निकलने वाला है याह आई मादरचोद लंड पेल दे चूत में मेरी आंह उतार दे इसकी गर्मी!मैंने लंड चूत पर रख कर एक झटके में पूरा लंड पेल दिया.

माधुरी ने अपना नम्बर मुझे दिया और मेरा मोबाइल नंबर आपने मोबाइल में आयशा के नाम से सेव कर लिया. मेरे अंदर आग भड़कने लगी जिसको शांत करने के लिए मेरी चूत से पानी निकलने लगा.

लगभग 11:30 में सामने वाले स्लीपर से कुछ ‘ऊउमाह्ह …’ जैसी अज़ीब अज़ीब सी आवाजें आने लगीं.

मैंने काफी देर तक सिर्फ़ उनके चुचे ही चूसे और इसी मस्ती में खाला भी दो बार झड़ चुकी थीं. उत्तेजना के इस चरम पर उसने चूतरस छोड़ना शुरू कर दिया और उसके साथ साथ मेरा लंड भी वीर्य निकालने लगा. सुधा तो देखने में 25-27 साल की लड़की लगती थी जबकि रम्भा का बदन थोड़ा सा भरा पूरा था.

केक कैसे बनाते हैं घर पर दोस्तो, मेरी ये गे फ्रेंड सेक्स कहानी कैसी लग रही है, हमारी बाकी इच्छाएं जानने के लिए सेक्स कहानी पढ़ते रहें. उसकी चूत से पानी छूट गया।मैंने भी अपना लंड बाहर निकाल लिया और राजवीर ने भी निकाल लिया अंजलि मुँह के बल ही बेड पर लेट गई।मैं राजवीर को बोला- अब तू कर ले, मैं कुछ रेस्ट लेता हूँ.

मैं कभी भी उसकी साड़ी हटने से उसके मम्मों की गोरी दरार के दृश्य का आनन्द लेने का मौका नहीं छोड़ता था. इसलिए मैं इंतजार में थी कि मेरे साथ अगर कोई नया मर्द आया या मेरे साथ कोई नई घटना होती है, तो उस चुदाई की कहानी को मैं आपको बताऊंगी. मंजू बोली- बुआ तुम्हारा क्या प्रोग्राम है?मैं बोली- मैं तो अभी तुम्हारे घर चार दिन तक रहूँगी.

बीएफ सेक्सी वीडियो भोजपुरी बीएफ

माधुरी बहुत ही सेक्सी कामदेवी लग रही थी और उसके बदन पर उसकी लेगिंग्स बहुत टाइट होने के कारण चिपकी सी थी. इतनी देर में मैंने उसके शरीर से इस तौलिये को हटा दिया जिससे उसकी नंगी चूचियां मेरे सामने आ गई. मेरे बाद मेरी बहन ने खुद को साफ़ किया और हम दोनों नंगे चिपक कर सो गए.

लेकिन उस बेदर्दी ने अपना पूरा लंड बाहर निकाल कर एक बार फिर पूरी ताकत से मेरी चूत में पेल दिया. इस कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने कॉलेज टाइम पर दोस्तों से शर्त लगाकर एक लड़की को पटाया और उसकी चुदाई की.

कुछ मिनट के बाद माधुरी भी मादक आवाजों में चिल्लाने लगी- आह राजा … मजा आ गया … और जोर से चोदो मेरे राजा … और अन्दर तक पेलो … आह … हम्म … हां हां … ऐसे ही पेलो.

कोमल ने चुदाई के बाद में मुझे बताया कि उसकी ऐसी चुदाई आज तक नहीं हुई थी. फिर उन्होंने मेरे पीछे के छेद पर उंगली फेरी और उंगली फेरते फेरते अपनी उंगली मेरे छेद के थोड़ा सा भीतर घुसा कर बाहर निकाल ली. वाइफ चीटिंग सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक बार मैं अपनी बीवी को लेकर मनाली घूमने गया.

मैंने उसकी टी-शर्ट में हाथ डाल दिया और उसकी रसीली चूचियों को जोर जोर से मरोड़ रहा था. सेक्सी मौसी की चूत चोदने का मौक़ा मुझे मिला जब मैं उनके साथ घर में अकेला था. अच्छा ये बताओ हमारी बड़ी वाली साली साहिबा कहां हैं?उसने थोड़ा गुस्से में कहा- दीदी बाहर वाले कमरे में सो रही हैं.

अब नहीं रहा जा रहा है मुझसे!कह कर वो अपने कपड़े उतारने लगा।और जैसे ही उसने अपनी अंडरवियर निकाली, मैं तो साले का लण्ड देखता ही रह गया.

इंग्लिश देहाती बीएफ: उसकी गर्म सांसें मेरी सांसों को भड़काने लगी थीं और मेरी गर्म सांसें उसके चेहरे पर पड़ने लगी थीं. मेरी तो खुशी का ठिकाना ही नहीं रहा कि मेरी इच्छा पूरी होने जा रही है.

मैंने सोचा कि एक बार रूम में जाने के बाद कौन क्या कर सकेगा, इसलिए मैं और रानी दोनों वहां चले गए. फिर मैंने दरवाजा बंद किया और उसको अपनी बांहों में उठा कर अपने रूम में ले गया. जीजू- अरे मैं तो खिड़की पूरी खोलना चाहता था ताकि तुम ठीक से सब कुछ देख सको.

उसके रस छोड़ने के एक मिनट के अन्दर अन्दर मैंने भी उसकी चूत में अपना सारा वीर्य छोड़ दिया.

कुछ देर बाद में गर्मा गया और मैंने मामी की दोनों टांगों के बीच में किस कर दिया. कुछ देर बाद जब सब सामन्य हो गया तो उसके बाद धीरे धीरे दोनों तरफ से चुदाई के झटके लगने शुरू हो गए. उसके लिए बहुत बहुत धन्यवाद।मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को मेरी यह नई कहानी भी पसंद आएगी।मेरी पिछली कहानी पढ़ने के बाद एक पाठिका, जिसका नाम अंजलि है, उनका मुझे मेल आया कि उनको मेरी कहानी पहुत पसंद आई।धीरे धीरे हमारी मेल पर बात होने लगी फिर हम हैंगआउट पर चैट करने लगे।उन्होंने बताया कि वो शादीशुदा 2 बच्चों की माँ है.