बीएफ सेक्सी व्हिडीओ दिखाइए

छवि स्रोत,कराड सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

बंगाली सेक्सी वीडियो कॉम: बीएफ सेक्सी व्हिडीओ दिखाइए, मैं कुछ नहीं बोला तो उसने मुझसे पूछा- क्यों क्या आप अपनी गर्लफ्रेंड से भी यही सब करते हो??मैंने उसको कहा कि हम दोनों 2 साल पहले ही अलग हो गए हैं.

क्या भाभी का सेक्सी वीडियो

मैंने कहा- क्या मेरे साथ मेरे काम पर जाना है? तुम्हारी दुकान खोलने में तो समय है?तो वो बोली- नहीं, तुम तैयार हो कर काम पर चले जाना और मैं तुम्हारा सामान ले कर घर आ जाऊँगी. 8 साल बच्ची की सेक्सीमैं- मैं क्या करूँ चाची … आपकी गांड ही ऐसी है कि ऐसे ही चोदने में मजा आ रहा है.

भाभी ने अब धक्के लगाने में तो‌ मेरा साथ नहीं दिया मगर‌ फिर भी उन्होंने अपनी जांघों को पूरा फैलाकर अपने पैरों को मेरे पैरों पर रख लिया ताकि मुझे धक्के लगाने में आसानी हो जाए और मेरा पूरा लंड उनकी चुत में अन्दर तक‌ जाकर उनकी चुत की दीवारों की मालिश कर सके. सेक्सी फोटो चोदा चोदी चोदा चोदी चोदावो मेरे सर को अपनी चुची पर दबाने लगी और बोली- हां बिल्कुल ऐसे ही और जोर से!मैंने भी उसकी बात रखते हुए जोर जोर से चूची चूसना शुरू कर दिया और पूरे जोर से दूसरी चुची को दबा रहा था जैसे उसे उखाड़ ही लूँगा.

”मैंने भी नशे के झोंक में कौशल्या को पीछे से कमर के बल उठा लिया और कहा- अब तो हाथ पहुँच जाएगा ना.बीएफ सेक्सी व्हिडीओ दिखाइए: वे मुझे लिटा कर मेरी टांगों तरफ आ गए और मेरे पैरों को फैला कर सीधे मेरी चूत में अपनी हथेली रख दी.

मैंने थोड़ा बनते हुए उसे कुछ देर और गिड़गिड़ाने दिया और फिर माफ कर दिया.मैं नहीं चाहता था कि सुलेखा भाभी अपने कपड़ों को ठीक करें, इसलिए मैंने उनका‌ हाथ पकड़कर फिर से अपनी तरफ खींच लिया.

सेक्सी 7 सेक्सी - बीएफ सेक्सी व्हिडीओ दिखाइए

कुछ देर बाद जीजाजी ने मुझे वाशबेसिन पर झुकाया और पीछे से मेरी चूत पर अपना लंड रख कर रगड़ने लगे.इसके बाद करीब पांच मिनट तक मुझे वो दोनों सांड मेरे दोनों छेदों को मस्ती से चोदते रहे और पुनीत मेरी जीभ को अपने मुँह में डाले चूसता रहा.

मेरे हाथों में अपनी चूचियां थमाकर भाभी ने अब खुद मेरे सीने पर हाथ रख लिए और धीरे धीरे अपनी कमर को आगे पीछे हिलाकर धक्के लगाने शुरू कर दिए. बीएफ सेक्सी व्हिडीओ दिखाइए बाद में हमें नींद आने लगी, तो हम दोनों भी एक दूसरे की बांहों में सो गईं.

अनु मस्त होकर बोल रही थी- हाय जानू चोदते रहो … मुझे खूब मजा आता है … तुम ऐसे चोदते हो तो चूत गर्म हो जाती है.

बीएफ सेक्सी व्हिडीओ दिखाइए?

वो पूरे दिन लगड़ाते हुए चल रही थी, पर मैंने उससे इसका सबब पूछना जरूरी नहीं समझा. डांटने के कारण भाभी का बच्चा रोने लगा और उसे चुप करने के बहाने मैंने उसे पैसे देकर बाहर भेज दिया. इस वजह से मुझे अपनी चूत में उंगली करके अपनी चूत को शांत करनी पड़ती थी.

उनके घर मैं दोपहर को पहुंचा, डोरबेल बजाई तो चाची दरवाजा खोलते ही मुझे देखती रह गईं. खिड़की की तरफ ध्यान देने के कारण मैं नेहा की चुत को भूल ही गया था, जिसका अहसास नेहा ने अपनी चुत को मेरे चेहरे पर जोर से रगड़कर करवाया. मेरी बीवी की गांड मार-मारकर मैंने उसको इतनी चौड़ी कर रखा है कि वह मेरा लंड आसानी से अपने अंदर समा लेती है.

करीब 5 फुट 5 इंच की लम्बाई और 34सी के चूचों के साथ मालिनी 23-24 साल की लड़की लग रही थी. एक दिन मैंने उसे आय लव यू बोल दिया तो उसने मुझे वह उसकी फ्रेंडशिप के लिये हामी भर दी. फिर मैंने उसके दूध को छोड़ कर उसकी चूत पर हाथ रख कर धीरे धीरे प्यार से घुमाने लगा.

अचानक ग्राउंड फ्लोर वाली लता भाभी मेरे कमरे में आई और मेरे चेहरे को गुलाल से मल दिया और कहा- होली मुबारक हो. इन कहानियों को पढ़ कर मुझे लगा कि मुझे भी अपनी कहानी आपको बतानी चाहिए.

नाश्ते के समय बड़े चाचा ने पूछा कि लाइट किसने बंद की थी?तो छोटी चाची ने तुरंत कहा कि वो मुझे अजीब सा लग रहा था.

फिर उसने मेरी नजर पकड़ी, तो खुद को बिना कपड़े की पाकर हड़बड़ा गयी और पीछे मुड़ गयी.

मैंने भी देर ना करते हुए अपने लंड को उसकी चुत के छेद की मोरी पर रखा और जोरदार धक्का लगा दिया. दूसरा मैंने उसे ये भी साफ कर दिया कि सम्बन्ध सिर्फ शारीरिक हों, न कि भावनात्मक तथा हम सम्बन्ध बना भी लेते हैं, तो वो पहली और अंतिम बार होगा. फिर रात को 9 बजे मुझे नेहा ने जगाया और बोला- चलो खाना खा लेते हैं, नामित और विराट भी आ गए हैं.

इससे उसका रास्ता साफ हो गया और उसने मेरी सुंदरता के गुण गाने शुरू कर दिए. दाखिले एक महीने बाद से शुरू होने थे लेकिन मालिनी ने तुरंत आने की जिद की, जिसे मैंने मान लिया. अब मैंने उसे उठा कर अपनी गोद में ले लिया था और फिर लंड चूत में डाले हुए ही मैं नीचे लेट गया.

माँ की सब विधि होने के बाद दीदी ने मुझसे कहा- देख प्रकाश, ये घर तो कहीं जाने वाला है नहीं, ये घर तो अपना ही है, तू यहां अकेला रह के क्या करेगा? हमारे पिताजी ने एक जगह मुंबई में भी बनायी है, तू वहीं हमारे साथ आ जा.

पहले सोचा कि उसे आवाज़ लगा कर उससे मंगा लूँ, लेकिन फिर सोचा कि छोड़ो, वो तो किचन में है, मैं जल्दी से बाहर जा कर ले लेता हूँ. मैंने कहा- असली मर्द का सुख भोग कर पहली बार मुझे भी इतना मजा आया है मेरे राजा!2 बजे तक राजीव जी ने मुझे भरपूर सुख दिया।मैं राजीव जी के पास से औरत होने का पूरा एहसास लेकर वहां से लौटी।यह थी मेरी ज़िंदगी की यादगार चुदाई। मैं अगली बार एक नई आपबीती के साथ जल्दी वापस लौटूंगी. मेरा लंड काफी मोटा था और वह मज़े से मेरे लंड को चूसने में लगी हुई थी.

अब आगे:चल … टेबल पर झुक जा … पहले तेरा रस पी लूँ …” सर ने कहते हुए मेरी कमर पर हाथ रख कर आगे दबा दिया और ना चाहते हुए भी मुझे झुकना पड़ा. मेरी चूत से पानी निकल रहा था और मेरा देवर मेरी चूत की पानी चूसने लगा. हम दोनों जोश में थे, तब उन्होंने मुझसे बोला- मनीषा आज तो दो हो जायें?मैं उनका इशारा समझ चुकी थी, मैंने ना में इशारा किया।परंतु वे नहीं माने.

कुछ देर नेहा की चूचियों से खेलने के बाद मैंने अपना हाथ धीरे से उसकी मुनिया की तरफ बढ़ा दिया.

फिर उन्होंने स्कर्ट को पीछे से ऊपर किया और मेरी चूत में अपनी हथेली को लगाया. हम दोनों लोग कभी कभी शाम को घूमने जाते थे, तो कॉलोनी के लड़के हम दोनों लोग पर गन्दे कमेंट करते थे.

बीएफ सेक्सी व्हिडीओ दिखाइए फिर मैंने भाभी की चूत पर लंड लगाकर पूरा ज़ोर उन पर डाल दिया और मेरा लंड भाभी की चूत में घुसने लगा. वो हंसकर बोला- क्या डाल दूँ?मैंने मजबूर होकर कह ही दिया- सुनील अंकल, अपना लंड पकड़ कर मेरी चूत में घुसा दो.

बीएफ सेक्सी व्हिडीओ दिखाइए मैंने उसके हाथ को अपने हाथ में ले लिया और वह मेरे गले लगकर नीचे से मेरे लंड को सहलाने लगी. पूजा अब ‘ऊईआह … उहआह …’ की आवाजें निकालकर चुदाई में चार चांद लगा रही थी.

अंकल ने मुझे जैसे ही लंड पर बैठाया, उनका लंड पहले मेरी गांड में पहले टकराया.

डिजाइन वाली कुर्ती

रूपा- बुड्डे तेरे लंड में तो दम है नहीं, इसीलिए तो मेरी चुत की आग दूसरों से ही बुझनी पड़ती है ना. मैंने एक बार पिंकी की तरफ देखा वह सर झुका कर दूसरी तरफ देख रही थी।मैं अपना मुंह धीरे से सर के कानों के पास ले गई और सर से धीरे से बोली- सर प्लीज आज मुझे और मेरी सहेली को जाने दीजिए कल परीक्षा के बीच में मैं आप से मिलूंगी. इतना बड़ा है तुम्हारा?”वो लंड सहलाने लगी, तो मैंने उसकी इच्छा को समझ लिया और उसको वही नीचे बिठा कर लंड उसके मुँह में भर दिया और वो भी मजे से लंड चूसने लगी.

एक दो बार तो मेरा लंड उसकी गांड के ऊपर से इधर-उधर हुआ, जिसे देखकर वंदना कह रही थी कि मैंने बोला था ना. ”वैसे आपके पति देव से भी फ़ोन पे बातें तो होती ही होंगी क्यों?”अरे कहां. इससे उसका रास्ता साफ हो गया और उसने मेरी सुंदरता के गुण गाने शुरू कर दिए.

मैंने कहा- ठीक है मैं कल एक बजे यहां से ट्रेन से निकल जाऊंगा, तो 5 बजे तक आपके वहां आ जाऊंगा.

जब वो कपड़े पहन कर अन्दर बेडरूम में गईं, तो वहां मेरा दोस्त नामित पहले ही अपना लंड निकाल कर टीवी पर पोर्न चालू करके देख रहा था. मेरा विक्रम ठाकुर है और मैं मध्यप्रदेश के ग्वालियर शहर में रहता हूं. मैं अब ऊपर से नेहा की चूची को चूस रहा था, तो नीचे से मेरी उंगलियां भी उसकी मुनिया को मसल‌ रही थीं.

मैंने अपने हाथ की हरकत बढ़ाई और उसकी ब्रा को ऊपर करके उसके दोनों मम्मों को बाहर निकाल दिया और उन पर हाथ फिराने लगा. मैंने उससे साफ कह दिया कि दुकान पर मुझे न टोकना, पता नहीं लोग क्या क्या सोचेंगे. एक दिन सोनू की मम्मी मेरे कमरे में आई और मुझसे पूछने लगी- सोनू की पढ़ाई कैसी चल रही है?मैंने कहा- बहुत अच्छी चल रही है.

वैसे आपका नाम क्या है?अंकल बोले- छत्रपाल सिंह … पर सब लोग छत्तू ही बोलते हैं. एक समय तो ऐसा था कि 6 औरतें और 4 लड़कियां ऐसी थीं कि जिनकी चुदाई मैं जब चाहूं, तब कर सकता था.

हम दोनों ही अब अपने अपने पूरे शवाब पर थे और हम दोनों में अपनी अपनी मंजिल पर पहुंचने की जैसे कोई प्रतियोगिता सी शुरू हो गयी थी. मैंने सोचा कि ये ऐसे अपनी चुत नहीं देगी, इसको पहले एकदम गर्म करना होगा. दादाजी ने ही अपने दोनों हाथ सोनल के गाउन के ऊपर से ही दोनों स्तनों पर रखे और उनको मसलने लगे.

गांव में नहीं सोया?बातचीत तो सब गयी भाड़ में लेकिन दिमाग की माँ बहन हो चुकी थी.

मेरे मोटे मोटे चूतड़ों के बीच कसी हुई मेरी गांड और मेरी फूली हुई चुत मेरे पति के लिए सबसे पसंदीदा जगहें हैं. मैंने सन्नी को घुमा कर पूरा लौड़ा उसकी मस्त गांड में पेल दिया और झटके मारने लगा. यह खेल‌ खेलते खेलते मुझे‌ बहुत देर हो गयी थी, इसलिए मैं अब चरमोत्कर्ष के करीब ही था‌ मगर सुलेखा भाभी का एक बार रसखलित हो चुका था इसलिए मुझे पता था कि अबकी बार वो स्खलन में थोड़ा समय लेंगी.

वैसे मैं उसके बारे में पहले सब कुछ जानता था लेकिन वह अपनी कहानी बताते हुए रोने लगी और कहने लगी कि उसके पति 24 घंटे बस दारू के पीछे ही पागल रहते हैं. कुछ देर बाद सोनल ने अपना मुँह ऊपर उठाया और अपने होंठ दादाजी के होंठों पर रख दिये.

उसकी लपलपाती जीभ को जैसे ही मैंने अपनी चूत पर महसूस किया, मैं एकदम से सिहर उठी. मैंने सरिता से पूछा- कहां निकालूं?तो उसने कहा- अन्दर ही निकालो राजा. अब मालती ने मेरी चूत को नकली लंड से ही सही, लेकिन मीठा दर्द दे दिया था … जिससे उसको अब लंड की सख्त जरूरत होने लगी.

वीडियो हिंदी में

मैंने कहा- खाला इसकी फ़िक्र न करें, आप सबसे सुन्दर, गोरी और मेरे से बड़ी होने के बावजूद मस्त माल हो.

मैंने बताया था कि अंकल मेरे होते हुए ही घर पर आते हैं, तो शायद उनको मैं आते हुए दिख गया था. महेश मेरे दोनों दूध पकड़ के जोर जोर से इतना दबाने लगा कि वहां भी दर्द होने लगा. इसकी वजह से तुम्हारे साथ साथ मेरी भी बहुत बदनामी होगी!मैंने उनसे कहा- मैं आपसे सिर्फ़ हग ही तो माँग रहा हूँ, उसमें कैसी बदनामी? यह बात मैं किसी को नहीं बताऊंगा, मेरा आपसे यह पक्का वादा रहा!तब उन्होंने कहा- हाँ ठीक है … लेकिन तू मुझे सिर्फ़ गले ही लगाएगा और उसके आगे कुछ नहीं करेगा.

मैंने लगातार कई चुम्बन उसकी चूत पर किये और अपने दांतों से हल्का सा काट लिया. रजनी आगे बढ़कर राहुल की बाइक पर बैठ गयी तो मैं भी अमित की बाइक पर बैठ गयी और हम सब चल दिए. सेक्सी करने वाला वीडियो दिखाएंमैं उनकी चूचियों को खींचने लगता था तो खाला सिहर जाती थीं और सिसकने लगती थीं.

तभी उन्होंने कहा कि आपकी कोई गर्लफ्रेंड है क्या?उनकी एकदम से इस तरह की बात करने लग जाने से मैं चौंक गया कि मैम ये क्या कह रही हैं. अब सलवार का नाड़ा टूटते ही वो बेजान सी होकर तुरन्त नीचे गिर गयी और उसके घुटनों में जाकर फंस गयी, जिसे प्रिया ने अब पूरा ही उतारकर नीचे फर्श पर ऐसे फेंक दिया, जैसे कि वो उसकी सबसे बड़ी दुश्मन हो.

बस 3-4 मिनट के बाद हम दोनों का ही आनन्द सातवें आसमान पर पहुंच चुका था. तभी मामी ने उस किराने वाले का अंडरवियर उतारा और उसके लण्ड को हाथ से सहलाने लगी. सर्दियों के दिन थे, इस वजह से हमने उसे वहीं रुकने के लिए कहा और वह मान गया.

उसके 34 के कोमल चूचे मेरे सीने से टकरा रहे थे, मैं फिर से मदहोश होने लगा. हम दोनों बाथरूम में गए और मैंने नुपूर को दीवार के सहारे खड़ा कर दिया. पसीने से हम दोनों के‌ ही बदन भीगे हुए थे जिससे शायद सुलेखा भाभी को दिक्कत हो रही थी.

इस बार मैंने इतनी जोर से लंड ठेला कि मेरा पूरा लंड चाची की चूत में समा गया.

उसकी गर्दन पीछे की तरफ अकड़ गयी और भाबी जोर जोर से चिल्लाते हुए मुझे चोदने को बोले जा रही थी. कुछ ही देर में मैं पूरे जोश में आ गया, मुझसे अब बर्दाश्त कर पाना मुश्किल था … तो अपनी ठरक मिटाने पड़ोसन के कमरे में चला गया.

करीब 5 मिनट बाद ही मेरा माल निकल गया क्योंकि मैंने कुछ दिनों से मुठ्ठ भी नहीं मारी थी. वह कहते-कहते रोने लगी और बोली- मैं ही जानती हूं कि ये दिन मैं कैसे निकाल रही हूँ।सरिता, तुम रोना बंद करो. इस खेल की मजेदार बात यह थी कि उसकी अनचुदी टाईट चूत, जो मेरी उंगली को भी घुसने की जगह नहीं दे रही थी.

मैंने एक दो बार उससे अपने लंड सहलाने को लेकर उसका हाथ अपने लौड़े पर रखा तो उसने हटा लिया. प्रिया से ये बर्दाश्त नहीं हुआ … उसने दोनों हाथों से मेरे सिर को पकड़कर अपनी गर्दन पर से हटा दिया और मेरे चेहरे को घुमाकर मेरे होंठों को चूसने लगी. सलोनी ने भी तुरंत रेस्पॉन्स किया और वो भी मेरे नीचे को होंठों को चूसने लगी.

बीएफ सेक्सी व्हिडीओ दिखाइए मेरी पत्नी खुशबू के आने तक मैंने कविता भाभी को बहुत चोदा, करीब करीब रोज ही!फिर मेरा ट्रान्सफर दूसरे शहर में हो गया और हम यहाँ आ गये. उसने मेरी जीन्स और टी-शर्ट को निकाल के फेंक दिया और मेरी फ्रेंची में हाथ डाल के लंड सहलाने लगी.

सेक्सी कीमत

मैं- अमित क्या कर रहे हो?बेडरूम में लाकर अमित ने मुझे पटक दिया और मेरे ऊपर आकर चढ़ गया. जब वो चले गए तो मैंने राहुल को उठाया।राहुल ने पूछा- भाई कहां है?तो मैंने उन्हें बता दिया कि वो कल आएंगे. अब आगे …मेरे लंड को अपनी चुत से खाने के बाद सुलेखा भाभी ने एक बार फिर अब मेरी तरफ डबडबाई सी नजरों से देखा.

वो एक मम्मे को चूसता और दूसरे को अपनी मुठ्ठी में भर कर मसलता … तो कभी दूसरी चूची की चौंच को अपने होंठों में दबा कर चूसने लगता. इससे भाबी और ज्यादा उत्तेजित हो कर मुझे गालियां देने लगी- मुदित भोसड़ी के … उम्म्ह… अहह… हय… याह… मादरचोद चोद डाल मुझे … बुझा इस कुतिया की प्यास आह कुत्ते बहनचोद … आ न आह!उसकी गालियों ने मुझे और उत्तेजित कर दिया. राजस्थानी फिल्म सेक्सी हिंदीइसमें कोई बुराई नहीं है क्योंकि यदि मर्द अगर एक या एक से अधिक औरतों के साथ संभोग कर सकते हैं, तो स्त्री का भी सामान्य अधिकार है.

‌ मुझे पता था कि स्खलित के‌ बाद भाभी तो अब कुछ करने‌ से रहीं, इसलिए मैंने‌ अब खुद ही कमान‌ सम्भाल‌ ली.

उससे बातें करते करते लगभग 2 बज गए, पर संभोग सम्बन्धी बातें नहीं हुई. मैंने तुम्हारी नाभि को जैसे चूमना शुरू किया, वैसे ही तुम अपनी क़मर उठाने लगीं.

मैंने पीछे से सोनू के चूतड़ों में अपना लंड लगाया और उसको बांहों में ले लिया. उसको हम दोनों से फिर से चुदने का कहते हुए बताया कि एक साथ दो लंड चूत में लेने में बहुत मजा आया … जल्दी ही फिर से दोनों लंड एक साथ लूँगी. नूरी खाला- मेरे राजा, पहले मेरी चुत चोदो … फिर जैसा चाहे वैसा कर लेना … लेकिन धीरे से चोदना … ताकि दर्द न हो.

मैं तो खुद में होशियार बन रहा था लेकिन वह तो सब जानती थी मेरी ललचाई नीयत के बारे में.

मैंने सोनू को गोद से नीचे उतारा और सोनू को पीछे से बांहों में भरा और उसके चूतड़ों के ऊपर अपना लंड रख कर खड़ा हो गया. इस कारण से जो भी हमें बात करनी थी, थोड़ा बहुत इशारे में ऐसे ही बात होने लगी. मैंने उसके डांस करते चूतड़ पर एक चपत लगा कर, उसकी गांड पर उंगली दबा दी.

एक्स वीडियो सेक्सी इंडियामैंने मालिनी को बांहों में भरा और उसके होंठों पर एक जोरदार चुम्बन दिया. मैं अपनी भाभी के कमरे में लेटा था और मोबाइल पर वीडियो गाने सुन रहा था.

दुर्गा जी के वॉलपेपर

मेरी उम्र 28 साल है, मैं एक मिडल क्लास फैमिली से बिलोंग करता हूँ और अपनी फैमिली के साथ ही रहता हूं. मैं वंदना के ऊपर से हटा और उसके दोनों पैर अपने कंधे पर रख कर चुत पर अपने लंड को रगड़ने लगा. इस वक्त मैं नामित को और वो मुझे वासना भरी निगाहों से घूरे जा रहे थे.

मैम ने नीचे से गांड उठा कर इशारा दिया तो मैंने अपने लंड का टोपा उनकी चूत पे रख कर जोरदार धक्का दिया. मैं समझ गया कि शायद रिया को नींद आने वाली है। मैंने कुछ देर तक उसके होठों को चूसा और जिस्म से खेलता रहा।जब मैं उसके जिस्म को चाट कर थक गया तो हम दोनों अलग हो गए। रात भी काफी हो चुकी थी. आप चुदी तो हैं ही, तभी माँ बनी, पर आपने कभी गांड मरवाई है?’‘नहीं बेटी, वो तो कभी नहीं किया.

मुझे चूत चाटने का बहुत मन करता है और जब भी सेक्स करता हूँ, तो चूत जरूर चाटता हूँ. अंकल ने अपना मुँह सीधा उसकी चूत पे रख दिया, उनके मुँह रखते ही वो एकदम से उछल पड़ी और बोली- अंकल आपकी दाड़ी चुभ रही है. इसके साथ ही मेरी योनि की फाँकें अलग-अलग होकर सर को आक्रमण के लिए आमंत्रित करने लगीं.

ललिता को मैंने शादी में और उसके घर में उसके पति की अनुपस्थिति में भी चोदा था. उसकी सुर्ख गुलाबी सुपारे से अंदाज लग गया कि वो पहले से ही अत्यधिक उत्तेजित था.

जेठ जी उन्हें बारी बारी चूस कर अपनी कमर से एक लय में धक्के दे रहे थे.

मैं वंदना के ऊपर से हटा और उसके दोनों पैर अपने कंधे पर रख कर चुत पर अपने लंड को रगड़ने लगा. सेक्सी कटिंगमेरा दारू का कोटा पूरा हो गया था, हमने बिल पेमेंट किया और वहां से निकल आए. सेक्सी वीडियो मूवी राजस्थानीफिर मैंने मनीषा को ढूंढा और बोला- मामा जी ने एक काम करने को बोला है. इससे नेहा के हाथ अब अपने आप ही मेरे सिर पर आ गए और वो मस्त होकर मुँह से हल्की हल्की सिसकारियां भरने लगी.

और फिर शाम को मैं एक बोतल व्हिस्की लेकर आया और हमने साथ साथ पी, रात भर मज़े किए.

शाबाश … मेरी पिंकी … आजा … एक बार छू कर तो देख … तुझे भी मज़ा आएगा … आजा, मेरे पास बैठ जा!” सर सिसकारी सी लेकर सोफे पर बैठ गये और उसका हाथ पकड़ कर अपने तने हुए लंड की तरफ खींचने लगे. मेरा मन किया कि इसे अभी गले लगा लूँ, लेकिन मैंने खुद पर कंट्रोल किया और नूपुर से बोला- घर चलें?वह मेरा हाथ पकड़ कर अपने साथ ले गयी. अब मैंने अपना अंगूठा उसके मुँह से बाहर निकाल लिया, उसने मेरा हाथ पकड़ा और अपने दूसरे स्तन पर रख लिया.

तब मम्मी ने बोला कि मैं भी उसी में चली जाऊं?तो राज अंकल बोले- दोनों गाड़ियां साथ ही चलेंगी, कोई दिक्कत नहीं है. फिर राहुल ने मेरी गांड के छेद पर अपने लंड को रख दिया और एक ज़ोर का धक्का दे दिया. प्रशांत के इस चुदाई पोज के मुताबिक, मेरी नीना ने उसकी गरदन में अपनी बांहें डाल दीं और दोनों टांगों से पीठ पर पकड़ बना ली.

सेक्सी ग्रुप व्हाट्सएप

शाम को जब मैं घर आया तो मैंने एक अनजान खूबसूरत भाभी को अपने घर में देखा. सुलेखा भाभी की उत्तेजना तो जोर मार रही थी … मगर शायद वो थकी हुई थी. यह मेरी जिंदगी की पहली चुदाई की दास्तान थी, उम्मीद करूँगा सबको पसंद आई होगी और मेरी गलतियों के लिए माफ करना!आप सबके सुझाव इंतज़ार करूँगा.

उसने जब ये बात मुझसे कही, तो मैं समझ गई कि इसको अपनी बहन की चुदाई की आदत के बारे में सब पता है.

मेरी इच्छा पर एक बार और मुझे वह अविस्मरणीय लंड वह पूजनीय लंड दिखाकर गया.

मैं उसकी साइड में आके उसके बूब को चूसने लगा और एक हाथ मैंने उसकी पैंटी में डाल के उसकी चूत पे फिराने लगा. मैंने पूछा- तो कैसे होता है?मैंने मंदिर में से सिंदूर लाकर उसकी मांग में भर दिया और उससे कहा कि अब से हम एक हैं और आज से हम पति पत्नी हैं. डबल सेक्सी वीडियोसउसकी नजर मुझ पर पड़ी, उसको ध्यान ही नहीं था कि वो बिना कपड़े की बाहर आयी थी, उसने मुझसे पूछा- क्या काम है?मैंने उसकी तनी हुई चूचियों को देखते हुए कहा- कुछ नहीं, ये शंकर का हेडफोन देने आया था.

मैंधीरे-धीरेउसकीकमरकोसहलानेलगा,सलोनीकेजिस्मकाकम्पनमुझेमहसूसहोरहाथाऔरहोभीक्यों न …पहलीबार वोकिसीलड़केकेसम्पर्क में आई थी. मैं बस उसका अच्छा दोस्त बन के रहना चाहता था, पर जो कल से अब तक हुआ था, वो दोस्ती से आगे बढ़ चुका था. मैंने अपने मुँह को खोल दिया, तो मैक ने मेरे मुँह के अन्दर अपनी जीभ को डाल कर मेरी जीभ से जोड़ दिया.

मैं जिस दिन हॉस्टल में दाखिला लेने के लिए घर से निकला, उस दिन पापा की जरूरी मीटिंग थी. मैंने एक बार घबरा कर उनको देखा और उनकी आँखों में देखते हुए ही अपने होंठ खोल दिए.

वे गुर्रा कर बोले- एक बार बोल दिया, यहां कुछ भी मेरी मर्जी के खिलाफ नहीं होता.

मैंने मना किया तो कहने लगी- अभी भैया को आने में बहुत समय है और तुम थक भी गए होगे. मैंने कहा- अभी तुम्हारी चूत में पूरी जगह नहीं बनी है और मेरा लंड बड़ा है, इसलिए तुम्हें अंदर लग रहा है, यदि यही शॉट मैंने तुम्हारी मम्मी की चूत में मारा होता तो वह झूम उठती. कुछ देर बाद मुझे भी मज़ा आने लगा और मैं उसका पूरा-पूरा साथ देनी लगी.

गाड़ी की सेक्सी उसकी चूचियों के निप्पल गुलाबी थे … मगर जिस निप्पल को मैंने अभी तक चूसा था, वो एकदम लाल और तन कर कठोर हो गया था. मैंने एक और धमाकेदार धक्का लगा कर अपना पूरा लंड भाभी की चूत अन्दर डाल दिया.

अब उसकी स्पीड बढ़ती जा रही थी और मेरे निप्पल को नोचना भी बढ़ता जा रहा था. तभी रवि मेरी तरफ खिसक के आ गए और सीधे मेरे चेहरे को पकड़ कर अपनी तरफ करते हुए बोले- तुम बहुत खूबसूरत हो. वह नींद से भरी बोलीं- आमिर, मेरी आदत मत बिगाड़ो, तुम तो कुछ दिनों में चले जाओगे और मैं तड़पती रह जाऊंगी.

इंडियन आर्मी गाना

अब मनभरण अंकल बहुत जोर जोर से पीछे मेरी गांड को चोदने लगे और मुझे गाली भी देने लगे. वो बोलीं- ओह्ह विक्रम … मेरा तन बदन जल रहा है, आग लग चुकी है मेरे ज़िस्म में … जल्दी से बुझा दो इसे. इसकी वजह से सोनल की हिम्मत बढ़ गई और उसने धीरे धीरे दादाजी की धोती ऊपर उठानी चालू कर दी.

क्या होंठ थे, इतने दिनों बाद किसी स्त्री के बांहों में होना मुझे तरन्नुम दे रहा था. मैंने पहली बार लिखने की कोशिश की है, मुझे यकीन है कि मुझसे कोई न कोई गलती जरूर हो गई होगी.

लेकिन उसके मन में तो अभी भी उस मसाजर अभिषेक से मसाज करने का मन चल रहा था.

मेरे पास ऊपर वाले का दिया हुआ सब है, एक तेरे जैसी खूबसूरत आइटम को चोदने की कमी थी, वह भी ऊपर वाले ने दे दिया. मैंने पता किया कि वो अपने फोन पर गन्दे फोटो और चुदाई की फिल्म देखती थी. मैं चुदास से गर्म हुई पड़ी थी, लंड का टच मेरे मुँह से फूट पड़ा और मैं बोली- आह बहुत जोर से चोद दो मुझे!पर अभी गैब्रियल पोजीशन में नहीं आया था तो मैक ने उसे अंग्रेजी में कुछ बोला.

मामा की इतनी सेक्सी गन्दी बातें सुनकर मैं अपने आपे से बाहर होने लगा और मैंने मामा के पेन्ट को खोलकर लंड को बाहर निकालने की कोशिश शुरू कर दी, लेकिन चलती बाइक में लंड निकलना मुश्किल था. मेरी सहेली का पति मुझसे बात करते करते मेरे जिस्म को छूने लगा और उसके बाद वो मुझे अपनी बाँहों में लेकर मुझे किस करने लगा. तब जाकर मालिनी खामोश हुई, लेकिन पूरे रास्ते वो मन ही मन हंस रही थी.

बलवंत के साथ बिताई रात जितनी खतरनाक थी ( पढ़िये मेरी कहानीवह खतरनाक शाम) उतनी ही हसीन इसके साथ बिताई वह रात थी, रात के बीतते हर प्रहर ने मुझे भी तृप्त किया और उसे भी.

बीएफ सेक्सी व्हिडीओ दिखाइए: उनके घर मैं दोपहर को पहुंचा, डोरबेल बजाई तो चाची दरवाजा खोलते ही मुझे देखती रह गईं. मैंने भी आव देखा न ताव, अपने लंड का टोपा चाची की चूत के मुँह पर रखा और ज़ोर का झटका मार दिया.

हम दोनों बाथरूम में गए और मैंने नुपूर को दीवार के सहारे खड़ा कर दिया. वे मजे से मेरे लंड को अपनी चुत से खाते हुए अपने खुद के होंठों को ही काट रही थीं. वो हंसते हुए थोड़ा पीछे को खिसकी और मेरे मुँह पर अपनी चुत रख कर दबाते हुए बोली कि चुपचाप लेटे रहो, कुछ मत बोलो.

और जोर से बेटा आआह…”नामित ने अपनी स्पीड बढ़ा दी, मैं और चीखने लगी और सिसकारियां लेने लगी ‘ऊऊऊ हहहह अअअअ हहहह…’मुझे बहुत मजा आने लगा था.

तभी मैंने सोचा कि यह कैसे चोद रहा है, इसे क्या हो गया है?तभी गैब्रियल का पूरा गरम गरम लंड रस मेरी गांड में भरने लगा और मैं बिल्कुल पागल हो गई. फिर थोड़ी देर के बाद घंटी बजी, मैसेज आया- सुन मैं क्या बोलती हूँ … आया आ जाएगी तो बेबी को संभाल लेगी. ‘आअहह … उम्म्ह… अहह… हय… याह…’वो पल जब वो मेरे निप्पल चूस रही थी, आह्ह्ह … उसे अभी भी याद करके चुत में झुनझुनाहट हो रही है.