बीएफ हिंदी नंगी चुदाई

छवि स्रोत,बीपी वीडियो भेजो

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू बफ पिक्चर: बीएफ हिंदी नंगी चुदाई, अह्ह्ह्ह!”उसकी इतनी जबरदस्त चुदाई से मैं अपने चूत के लावा को संभाल नहीं पाई और पूरा चूत रस उसके मस्त लौड़े पे गिरा दिया.

बड़ी गंद वाली एंटी

जैसे ही मैं उसके लंड पर बैठी, उसके लंड का टोपा मेरी चुत में चला गया और मेरी चीख निकल गयी ‘आह आह्ह्ह्ह सर…’किसी तरह से मैं उसके लंड पर पूरी तरह से बैठ गयी. तृषा कर मधुxxxहैलो फ्रेंड्स, मेरी देसी Xxx सेक्स कहानी के पिछले भागजेठजी ने मेरा चुदाई काण्ड कर दिया- 2में आपने पढ़ा कि मैं अपने जेठ के साथ एक बार चुदवा कर उनके लम्बे और मोटे लंड से दुबारा चुदने का मन बना चुकी थी और उनके वापस आने का इन्तजार कर रही थी.

जब चेंजिंग रूम से निकल कर मैं बाहर आई, तो शेफाली ने मुझे देख कर कहा- वाह रोमा … क्या बात है नई स्विमिंग ड्रेस कब ले ली तुमने … मुझे बताया भी नहीं. काजल अग्रवाल क्सक्सक्सदूसरे दिन आंटी ने मुझे 4:00 बजे शाम को फोन किया कि आज तू खाना मत बनाना … मैं खाना तेरे रूम में ले आऊंगी.

फिर वो बोली कि हमें एक रोल प्ले करना चाहिए जिसमें मैं वो तरीके अभी आज़माकर देख सकता हूं.बीएफ हिंदी नंगी चुदाई: मैंने मामी को गौर से देखा, तो ऐसा लगा कि जैसे मामी ने अभी नहाया नहीं था.

शादी के एक महीने बाद ही मैं प्रेग्नेंट हो गई थी और प्रेगनेंसी के 2 महीने बाद मैं यहां मम्मी के पास आ गई थी.उन्होंने कहा- नहीं बहू, ये चादर मैं संदूक में ताला लगा कर रखूंगा, तू चिंता मत कर.

रानी चटर के सेक्सी वीडियो - बीएफ हिंदी नंगी चुदाई

मैं रसोई में गया और खाली प्लेट और गिलास ला कर बियर की कैन खोल कर बैठ गया.अर्पित ने धीरे से मेरी गर्दन पर किस किया तो मेरे शरीर में झनझनाहट हो गयी.

कुछ ही देर में नशा हावी होने लगा और उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपने ऊपर बैठा लिया. बीएफ हिंदी नंगी चुदाई अगले दिन मैं रात को दुकान को जल्दी बंद करके अंदाज़े से उसके लिए मस्त लाल ब्रा पैंटी, एक पारदर्शी नाइटी काले रंग की, जो मेरे हिसाब उसके चूतड़ों को भी ठीक से ढंक नहीं पाती.

चिपचिपी फूली हुई, हल्के रोयें से भरी चूत देख कर उसे अपनी बेटी रिया की याद आ गयी.

बीएफ हिंदी नंगी चुदाई?

आपने मेरे लिए आज अपना खून तक बहा दिया, ‘थैंक यू वेरी मच’।मैंने नेहा की आंखों में देखा और अपने चेहरे पर शरारती भाव लाकर नेहा से धीरे से कहा- सूखा ही थैंक्यू कर रही हो क्या?नेहा ने मेरी आंखों के भाव पढ़ लिए थे. मैं लंड को बाहर तक निकाल निकाल कर फिर पूरी ताकत से चूत में घुसा घुसा कर उसकी चूत लेने लगा. कुछ देर बाद भाभी का दर्द भी कम हो गया और वो भी गांड उठाते हुए लंड का मज़ा लेने लगीं.

मेरा मतलब वो वाहियात सी मसाज चेयर ही सारा मजा क्यूं लें!मैंने उसकी ओर आंख मारकर कहा. मैं उसे करन बुलाते हुए बोलने लगी- आहह … करन और चाटो मेरी चिकनी नंगी चूत. मैंने खुद कई बार ये देखा था कि उसको देख कर बहुतों के लंड खड़े हो जाते थे.

मैंने अपनी गांड उठा कर उसे हरी झंडी दे दी और उसी पल मेरे छोटे भाई ने मेरी सीलपैक बुर में लंड ठोक दिया. जब मैं उससे सेक्स की बात करने की कहता तो वो कह देती थी कि उसको शर्म आती है. लेकिन मैंने उससे कहा- तुम भी अपना लंड हिला कर खड़ा कर लो, अगला नम्बर तुम्हारा ही है.

ये सुनते ही मैंने डेज़ी को सीधा लेटाया और कहा कि अपनी बॉडी को बिल्कुल ढीला छोड़ दो … और मेरा साथ देना. तभी थॉमस ने मेरी बिकनी की ब्रा की लेस खोल दी, तो ब्रा उतर कर नीचे गिर गयी.

ये क्या? दो-दो आदमी?मैंने बोला ही था कि इतने में ही मेरी गांड में एक दूसरा प्रहार हुआ.

रसोई में जाकर मैंने चाय का पानी गैस पर चढ़ा दिया और तवे पर ब्रेड सेंक कर बटर लगा कर सैंडविच बना दिए और चाय भी बन चुकी थी.

हम फिर से अंकल गाड़ी में बैठ गए।मैं पीछे वाली सीट पर बैठ गया और मम्मी आगे वाली सीट पर बैठ गयी।मैंने रास्ते में देखा कि वो अंकल मेरी मम्मी के हाथ को पकड़े हुए थे। मैं तभी समझ गया कि आज कुछ गड़बड़ होने वाली है।रास्ते में एक ढाबे पर रुक कर हम तीनों ने खाना खाया और दस बजे के करीब हम बहादुरगढ़ पहुँच गए थे. मुझे एकदम से झुरझुरी सी हुई मगर मैं दम साधे चुपचाप पड़ी रही, मैंने कुछ भी प्रतिक्रिया नहीं की. अगले दिन सुबह वो चारों लड़के मेरे पास आए और बोले कि आज रात की प्लानिंग करते हैं.

मैं घूम गई, तो एक पल के उसकी गांड फटी … लेकिन मैंने जब उससे कुछ नहीं कहा, तो उसकी समझ में आ गया कि उसकी बहन चुदने के लिए मरी जा रही है. इसका एक सबसे बड़ा कारण यही है कि मुझे जीने के लिए किसी से कुछ माँगना या ढूँढना नहीं पड़ता है, सब कुछ सामने से मिल जाता है. सपना अपने हाथों से मेरा सर अपनी चूत में दबाने लगी और वो एकदम से झड़ गयी.

उसकी कमर को अपनी छाती से सटा कर उसकी दोनों चुचियों को उसके टॉप के ऊपर से जोर से मसल दिया.

मैंने नीरा के दोनों हाथ को कस कर पकड़ा और लन्ड को चूत के मुख पर रख थोड़ा सा जोर लगाया. मैं थॉमस के लंड पर झड़ने लगी थी और चूत का पानी निकालते ही मैं उसके खूंटे से खड़े लंड पर बैठ गयी. एक औरत का मायका तब तक ही होता है, जब जब तक उसके माता पिता जिन्दा होते हैं.

ऐसा मर्द पाकर मेरी चूत सातवें आसमान पर थी।अर्जुन, मैं 2 मिनट में आई!”क्यूँ जान?” उसने मुझे बेड पे खींच लिया. उन्होंने एक सुंदर चमकीला पिंक साटन का लंहगा और स्लीवलेस टॉप पहने थे. कॉलेज गर्ल की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने प्रोजेक्ट के बहाने पड़ोस की जवान लड़की को अपने घर बुलाया.

कुछ देर लौड़ा चुसवाने के बाद रमेश उठा और उसने रश्मि को लिटा कर उसके दोनों पैरों को हवा में उठा कर उसके सर के उपर मोड़ दिया.

अनिकेत के लंड की जोरदार ठोकर की वजह से मेरी चूत का पानी वापस अन्दर चला गया और मेरी बच्चेदानी पर लावा की तरह गर्मी देने लगा. मुझे अपना परिचय देने की जरूरत नहीं है, आप सभी लोग मुझे अच्छे से जानते हो.

बीएफ हिंदी नंगी चुदाई वो बाहर ही खड़ा रहने का कहते हुए बोला कि आप जल्दी से काम खत्म करके आ जाओ, मैं बाहर खड़ा हूँ. धीरेन्द्र ने मेरे मुँह से लंड निकाल कर खुद को खिड़की की तरफ घुमा लिया.

बीएफ हिंदी नंगी चुदाई जब भी मेरी मम्मी, मामा-मामी से सूरत बात करती थीं, तो मैं भी फोन पर उनसे बात कर लेता था. यह तो महज विश्वास की प्रगाढ़ता वाली नजदीकी थी।कभी-कभी तो खुशी अपने मंगेतर के साथ बैठकर भी मुझसे चैट कर लेती थी.

मैंने मामी के माथे पर चूमते हुए कहा- कोई बात नहीं मामी … आपका ये भांजा आपकी सेवा में हमेशा हाज़िर रहेगा.

मारवाड़ी सेक्सी बीपी वीडियो

मैंने शेफाली को फ़ोन किया, तो उसने कहा कि आज उसकी 3 बजे एक किटी पार्टी है. फिर रविवार की दोपहरी को मैंने दिल्ली सेक्स चैट वेबसाइट का पेज खोला. मित्रो, इस कथा को कहने से पहले एक बात और कहना चाहूंगा कि आप सब इस कथा को धीरे धीरे रस ले ले कर पढ़ियेगा.

एक दिन उसके मम्मी पापा बाहर गए हुए थे और उसका भाई भी साथ में बाहर गया हुआ था. मैं तब से ही वेट कर रहा हूं कि किसी जवान लड़की की चुदाई या भाभी की चुदाई करने का मौका मिले. मैं बहुत तेजी से भाभी को किस कर रहा था और साथ में उनके मम्मों को मसल रहा था.

वे कभी एक लड़के को पकड़ते, कभी दूसरे को … बारी बारी से वे सभी की गांड से अपना लंड छुलाते.

और इतना कह के फुच्च्ह फुच्च्ह … करके चूत से पानी निकलते हुए झड़ने लगी और काफी सारा झड़ने के बाद हाँफते हुए आगे गिर गयी।सुनील भी मेरी बगल में आ के गिर गया।मैं बहुत खुश थी चुदवा के! लेटे लेटे ही मैंने उसे लगे लगा लिया और उसकी छाती पे सिर रख लिया. गर्लफ्रेंड को भी लंड पसंद आ गया था उसकी चुत में जिस दिन बॉस का लंड नहीं जाता, उसको चुत में चींटियां सी रेंगने का अहसास होने लगता था. बस थोड़ी देर होंठ की चुसाई हुई थी कि वो अलग होकर मेरे पैंट की ज़िप खोलने लगी और अंडरवियर में हाथ डाल कर मेरे लंड को जो लगभग खड़ा ही हुआ था, बाहर निकाल कर सहलाने लगी.

हम तीन थे, मैं और शेफाली तो चेंज करके पूल में उतर गए थे, पर मुझे अंकुश अभी तक दिखाई नहीं दिया था. मेरी बीवी की चुदाई की यह कहानी आपको कैसी लगी मुझे अपने फीडबैक में जरूर बतायें. मेरी गर्लफ्रेंड एक एक इंग्लिश स्पीकिंग इंस्टीट्यूट में इंग्लिश सीख रही थी.

और उस चूतिये ने खुद दो लौंडे भेज दिये कि जाओ और जाकर मेरी पत्नी चोद कर आओ. मैंने अपने डनलप वाले गद्दे पर उसको उछाल दिया और खुद उसके ऊपर आ गया.

पर मुझे कहां पता था कि ये अनिकेत की एक चाल थी कि मैं मुँह का स्वाद अच्छा करने के लिए लंड को और ज्यादा चूसूंगी. उसके हाव-भाव देखकर मैं समझ गया था कि इसके साथ एक बहुत ही सेक्सी चैट सेशन होने वाला है. आपको मेरी हॉट गर्ल Xxx स्टोरी कैसी लग रही है? मुझे मेल करना न भूलना.

तुम अपनी उम्र और मरी उम्र का फर्क तो देखो!पायल मेरे मन की बात तो नहीं सुन सकती थी, इसलिए वो चुप रही.

रवि उठा और उसने रश्मि के हाथ को खींच कर रश्मि को अपने साथ उठा लिया. तुम्हें रोड पर ध्यान देना चाहिए, यहां मेरी जांघों के बीच में नहीं।तभी निशांत बोला- हां भाई, ध्यान से चला गाड़ी. अब आगे की मां बेटा की चुदाई की कहानी:मां हंसकर बोलीं- ऐसा होता है इस उम्र में.

फिर मैंने झुक कर उसकी गांड की दरार में लंड घुसेड़ा और उसकी पीठ चूमने लगा. हम बस में बैठने जा ही रहे थे कि उनका पैर मुड़ गया और उनको सम्भालने में मेरा हाथ उनके बूब्स पर चला गया.

उसने उसके बालों को पकड़ लिया और अपना लंड उसके मुंह में घुसा कर जोर जोर से पेलने लगा. उसने मुझसे कहा- एक बार मौक़ा दो ना बाजी!मैंने कुछ नहीं कहा और सीधी लेट गयी. इस प्रकार धीरे धीरे मुझे मामी से बात करने की आदत सी पड़ गई और हम लोग घंटों बात करने लगे थे.

सनी लियोन का सेक्सी वीडियो दिखाओ

और सभी मित्रों को मेरा दोस्ती भरा अभिनंदन है।अन्तर्वासना पर मेरे बहुत से नियमित पाठक और प्रशंसक हैं.

चुत होती ही ऐसी चीज है … जिस पर औरत का गुमान और लंड का सम्मान टिका होता है. मैंने उसके हाथ की उंगलियों में एक अलग सी हरकत होती महसूस की, तो मैंने हिम्मत करते हुए उसकी जांघ पर हाथ रख दिया. अक्सर सुंदर औरतों की चूत काली और पिटी हुई होती है क्योंकि आदमी उसको चोद चोद कर काला कर देता है.

अब मैं समझ गई कि ये वही चारों लोग में से दो आदमी हैं, जो बाहर खड़े थे. सागर, मैं और भाभी हमेशा साथ में घूमते थे, हम तीनों ही ड्रिंक करते थे. ब्लाउज का कपड़ाअंकल ने अपना पजामा उतार दिया और वह पूरा नंगा मम्मी के ऊपर लेटा हुआ था.

अब पूरी रात फिर चुदाई होनी थी, इस तरह से दो दिन पूरे हो गये।फिर अगले दिन मनाली जाना था और दो दिन मनाली घूमना था. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:जवान मामी की चुत को लंड की जरूरत-3.

जैसे ही मैंने लण्ड को अंदर धकाना शुरू किया बिन्दू बोली- दर्द तो नहीं होगा?मैंने कहा- शुरू में एक बार होगा फिर सारी उम्र मजे ही मजे हैं, इसलिए थोड़ा बर्दाश्त कर लेना. मैं महाराज राज बिलासपुर छत्तीसगढ़ से आप लोगों के सामने फिर एक सच्ची घटना लेकर आपके सामने आया हूँ. [emailprotected]कहानी का अगला भाग:नर्स से रोमांस और सेक्स की कहानी-2.

दूसरा मुझे पता नहीं क्यों, बाजू में इतनी उंचा उठा होने के बाद भी डर नहीं लग रहा था. थॉमस ने हंसते हुए मेरी गांड थपथपाई और चूत में धक्के मारने शुरू कर दिए थे. मैंने हिल डुल कर अपनी आंखों पर से पट्टी हटाना शुरू किया तो सर ने मुझे रोक लिया.

मेरी ऐसी बातें अर्जुन को और गर्म कर रही थी- आह्ह्ह चोदो … अपनी चाहत की चूत को फाड़ दो! मेरे राजा … उम्म्म याह्ह्ह … चोदो आह्ह … और जोर से चोदो!उसने अपनी चुदाई की रफ़्तार काफी बढ़ा दी मेरी चूचियाँ जोर जोर से हिलने लगी.

भाभी ने कहा- हमने जिनको दवाई दी है, उन लोगों ने उनका आदिवासी डांस देखने को बुलाया है. मैंने भी उसे अपनी बांहों में भर लिया और पता ही नहीं चला कि कब एक दूसरे के होंठ चिपक गए.

हम दोनों के फोन नम्बर अस्पताल में ही एक दूसरे के पास एक्सचेंज हो गये थे. फिर मैं पूजा को गोद में उठा कर बाहर लाया और टॉवल से उसे अच्छे से सारा पानी पौंछने लगा. सभी कमसिन कलियों भाभियों और आँटियों को संदीप साहू का प्रेम भरा नमस्कार.

तब तक मुझे वहीं रहना था, मेरे दिल में तसल्ली इस बात की थी कि शबाना आंटी शाम को आने वाली थी।उस दिन अंकल अपने काम में भी नहीं गए. क्या आ जाओ मतलब?इसके साथ ही मेरी नींद एकदम भाग गयी वरना अब तक मैं नींद में ही था. मेरे मुँह से सीत्कार निकलने लगी … लेकिन मैं अपने आपको समेट कर रखना चाह रही थी.

बीएफ हिंदी नंगी चुदाई वो आजादी के लिए फड़फड़ा रहा था और कह रहा था कि इस कामुक मिलन का साक्षी मुझे भी बना लो … मेरे बिना तुम्हें जन्नत नसीब ना होगी. उसने मेरी बात से हामी भरी और कहा- कल हम दोनों ऑटो स्टैंड पर मिलेंगे और वहां से गार्डन चलेंगे, वहीं बैठेंगे और बातें करेंगे.

मराठी एक्स एक्स एक्स

हिंदी स्टोरी अन्तर्वास्सना में पढ़ें कि मुझे काम से बंगलूरू जाना पड़ा. उफ्फ़ … अंकल जान लोगे क्या मेरी?”मैं कभी उस नाजनीन की पीठ चूसता, कभी गर्दन, कभी कान चूसता चला गया. फिर अंकुश ने अपना लंड टेबल पड़े जूस के गिलास में डुबोया और लंड को मेरी तरफ करके मुझे लंड चूसने का इशारा किया.

तभी राजू ने सनम को इशारा किया और सनम ने मुझे किस करना शुरू कर दिया. जैसे मेरी गांड की रफ़्तार बढ़ती, मेरी चूचियां अपने हिलने की रफ़्तार बढ़ाती गयी. ब्लू पिक्चर इंग्लिश फिल्मअसल में वो अपने लंड में उठी सुरसुरी को कन्ट्रोल नहीं कर पाता था … शुरू होते ही झड़ जाता.

कल मेरा पेपर है और अगर ऐसे ही रात भर मुझे चोदते रहोगे तो कल एग्जाम में सोती रहूंगी.

मैंने भाभी को जोर से जकड़ लिया और उनकी पैंटी में हाथ डाल कर उनकी चूत को अपनी मुठ्ठी में बंद कर लिया. दोस्तो, इस कहानी का अगला पार्ट जरूर पढ़ें और आपको मेरी कहानी कैसी लगी, मुझे जरूर बताएं.

जब अधिकारी साहब चूत में लंड को अंदर करते तो प्रिंसीपल सर अपने लंड को बाहर कर लेते. बडा लंड सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे पड़ोसन भाभी की बड़ी बेटी मेरा लंड लेने के लिए उतावली हुई जा रही थी. मुझे पता था कि बहुत से विदेशी लोग वहां पर इंडियन लड़की की चुदाई करने की इच्छा से आते हैं.

मैंने उसे रोका और अपने बैग से कंडोम का पैकेट से एक छतरी निकाल कर उसके लंड पर पहना दी.

”क … कौन सानू?”मैं स … सानिया हूँ सल!”लग गए लौड़े!!ओह … अरे … सॉरी … हाँ … बोलो सानू? मैंने पहचाना नहीं मैं नींद में था. मैंने शरद को बताया और फिर शरद और मैं शाजिया के साथ ईमेल पर बात करने लगे. प्रतिभा ने झड़ने के बाद लगभग पांच मिनट और मेरा साथ दिया … उसके बाद तो उसने ‘मुझे छोड़ दो … रहम करो … बस करो.

मैहर के नंगे फोटोमन कर रहा था कि इन्हें होटल में ले जा कर चोद दूँ। उनकी नजरों से ऐसा लग रहा था कि वो किसी को ढूँढ रहीं हों।इतने में भाभी की नजर मुझसे मिली. अब आगे:मैं शरमाते हुए बोली- ठीक है मैं इसके लिए रेडी हूँ सर!इस तरह से मेरा यह प्लान भी कामयाब हो गया था.

રાજસ્થાની સેકસી

आह, उनकी सफ़ेद बेडशीट पर मेरी झांटों के और कुछ उनके काले घुंघराले बाल झड़े हुए थे, जो मेरी रगड़ाई के दौरान झड़े होंगे. शायद सर भी यही मूड बना कर आए थे वो एकदम से मेरे पीछे से सट गए और मुझे बताने लगे कि मैं क्या क्या गलती कर रही हूँ. बस फिर क्या था, हमने आवाज लगा कर अपने उस साथी को भी बुला लिया और फिर हमने एक एक को उठाया और थोड़ी थोड़ी दूर ले गए.

जो सरोज और नेहा पहले मेरी तरफ आंख उठाकर नहीं देखती थी, वे आज दोनों मेरे चेहरे पर से अपनी नजरें नहीं हटा रही थीं. मैं एक हाथ से आंटी की चुत सहला रहा था … दूसरे हाथ से उनके एक मम्मे को सहला रहा था. मेरी इस बात पर उसने बहुत ही बेतुका जवाब दिया कि हम दोनों कुछ नया करना चाहते थे, इसलिए हम इस क्लब से जुड़े.

सोचा कि जाते-जाते एक बार मिलता जाऊं क्योंकि मुझे पता था इसका पति आज भी घर में नहीं है. वैसे भी शेफाली तुम्हें तो पता ही है ना कि मुझे ऐसे एडवेंचर्स का कितना शौक है … तो ये मौका मैं कैसे जाने देता!शेफाली- अंकुश ये क्या किया तुमने … रोमा क्या सोचेगी हम लोगों के बारे में!अंकुश- क्या सोचेगी … उसे पता है कि एक हस्बैंड वाइफ ऐसे अकेले में क्या करते हैं. मां अपने कपड़े पहन कर हम दोनों के लिए चाय बनाने किचन में चली गई थीं.

मैंने भाभी के होठों पर किस कर लिया और बहुत देर तक उनके होंठ चूसता रहा, भाभी भी रिस्पांस देती रही. मेरा दोस्त नसीम से गांड मरा कर थोड़ी देर गांड सहलाता रहा, फिर नॉरमल हो गया.

थोड़ी देर बाद मैं भी उनकी गांड में झड़ गया और ऐसे ही उनकी पीठ के ऊपर लेट गया.

फिर मैंने एक दिन ऐसे ही बातों ही बातों में उनसे पूछा कि मामी जी, अब मामा आपके साथ कितनी बार करते हैं?उन्होंने कहा- तेरा मतलब सेक्स करने से है?मैंने धीमे स्वर में हां कहा. खुजली की क्रीमबीच बीच में मैंने उसके कान की लौ भी चूसा, जिसका असर ये हुआ कि वो फिर से कामातुर हो गई. हंसिका सेक्समेरी गांड की दरार से होते हुए उसकी आग मेरी चूत में जाने को बेताब हो रही थी।अर्जुन मेरे जिस्म के उतार चढ़ाव से असहज हो रहा था. वे आश्चर्य करके बोले- किससे?मैं लखन की बात तो छिपा गया, पर उन्हें बताया कि सलीम से … उसने एक रात खलिहान में मेरी मार दी थी.

रिसोर्ट के एक हिस्से में राजस्थानी फोक डांस हो रहा था और वहीं से थोड़ी दूर पर ओपन बार भी बना हुआ था.

मैंने भी नीट व्हिस्की के लम्बा घूँट भरा और मुँह का स्वाद बदलने के लिए लंड को चूस लिया. ईईई ईईई आह्ह ह्ह्ह ओ … राज … आ … ईईईईए … सश्ह्ह्ह ह्ह्ह्ह बहुत … मजा … आ … रहा … है. ”हम्म … ठीक है मैं तुम्हें माफ़ तो कर सकता हूँ पर …”पर क्या?”तुम्हें मेरी एक बात माननी पड़ेगी?”क … क्या?”पर … नहीं तुमसे नहीं हो सकेगा रहने दो.

मेरे मुँह से निकला- तुमने अधूरा जो छोड़ दिया इसे!यह सुन नीरा बोल पड़ी- तो इसकी क्या सेवा की जाये जनाब?मैं- जो तुम्हें अच्छा लगे वो कर दो!कहते हुए मैं उसके सामने आ गया. कुछ देर तक मेरी जांघ सहलाने के बाद वो अपना हाथ मेरी चुचियों पर ले आया. मैंने- फिर?प्रतिभा ने कहा- संदीप, हमने तो सिर्फ खेल रचा था, पर खुशी तुमसे बहुत प्यार करती है … और इस खेल के कारण मैंने अपनी सहेली को धोखा दिए बिना उसकी जिंदगी के दो अहम किरदारों से प्रेमालाप का रास्ता बना लिया.

एक्स एक्स एक्स एक्स फोटो

वो अपनी छाती मेरी छाती से चिपका के हमारे जिस्म रगड़ने लगा। मुझे इससे बहुत मजा आ रहा था. मैं बाहर के रूम से फ़ाइल उठा लाई और थॉमस ने आख़री पेपर पर भी साइन कर दिए. मैंने मां से बोला- हां मेरी जान अब मेरा भी निकलने वाला है … क्या मैं अपना वीर्य अन्दर ही छोड़ दूँ?मां बोलीं- हां अन्दर ही छोड़ दो … बहुत प्यासी है मेरी चुत, तुम्हारा अमृत जैसा वीर्य पीकर तृप्त हो जाएगी.

और एक दो बार वह उस लौंडे को भी अपने साथ लाया था। मैं बहाने से उसे ऑफिस में बुला लूंगा और उसका मोबाइल अपने पास रख लूंगा और फिर सारे फोटो और विडियो डिलीट कर दूंगा।”आप सच बोल रहे हैं?”हंड्रेड परसेंट!”ओह … थैंक यू वैरी मच सर!” सुहाना के चहरे पर अब सुकून सा नज़र आने लगा था।हॉट ओरल सेक्स स्टोरी का मजा लेते रहें.

मैं- घबराओ नहीं, अपनी चूत की इसके साथ दोस्ती करा दो … फिर देखना कैसे प्यार से तुम्हारी चूत इसको अन्दर आने देती है … डरने की कोई बात नहीं है.

मैंने उसी समय चित होकर अपनी टांगें खोल दीं और मेरी बुर खुली हवा में अपने भाई के लंड का इन्तजार करने लगी. हमारी लम्बी चली चुदाई में प्राची पस्त होकर ऐसे लुढ़क गईं कि उनकी नींद ही लग गई. सील टूटने वाला सेक्सीवो थोड़ा ऊपर उठ के बोलने लगा- आह्ह्ह चाहत … उम्म्म मैं आ रहा हूँ!”मैं भी अर्जुन … अह्ह्ह जोर से चोदो … ओह्ह्ह!”और एक जोरदार ऐंठन के साथ वो मेरे अन्दर झड़ने लगा.

मैंने भाभी से पूछा- अभी तो आप भरी जवानी में हो, फिर आपका काम कैसे चलेगा?भाभी बोली- राज, पहले तो डॉक्टरों की बात सुनकर मैं बड़ी उदास हुई थी, लेकिन जब तुम्हारा ध्यान आया तो मन में एक आशा सी जग गई थी और मैं तुम्हारे बारे में हर वक्त सोचती रहती थी. फिर रमेश ने उसकी दोनों टाँगों के बीच में बैठ कर अपने लंड को रश्मि की चूत पर लगा दिया और धीरे-धीरे दबाव देने लगा. उनके जाते ही मेरे पापा थोड़ा मम्मी से नाराज़ हो गए कि एक तो पहले ही ये हम पर बोझ है और तुम इसकी बीवी बच्चों को भी बुलवाने की कह रही हो?पापा ये नाराज़गी दिखाते हुए मम्मी से झगड़ने लगे.

और ये भी पूछा- तुम रहती कहां हो? शादी कहां होगी, मुझे आना कहां है? तुम घर पर मेरा क्या परिचय दोगी?ढेरों सवाल मैंने एक सांस में ही कर डाले।उसने कहा- यार, तुम इतना क्यों सोचते हो, मैं हूँ ना! जब मैं तुम्हें अपना मेहमान बनाकर बुला रही हूं तो मुझे भी तो इतनी चिंता होगी. जैसे मैं रोहन का लंड अपनी चूत में डाल कर सोती हूँ, वैसे ही मैंने थॉमस का लंड भी अपनी चूत में डाल लिया और थॉमस के ऊपर ही लेट गयी.

मुझे किसी औरत को उत्तेजित करने या उसके साथ फ्लर्ट करने का कोई खास अनुभव नहीं था.

भाईसाब बोले- अभी दर्द कम होता है … थोड़ा ठहरो … बस दर्द अभी छू मंतर हो जाएगा. तो प्राची भाभी ने खुद अपने उरोजों को दोनों हाथों से दबाकर लंड को घाटी में फंसा लिया. एक दिन मैंने उससे पूछा- आपको तो इतनी अच्छी स्विमिंग आती है, तो फिर भी आप यहां सीखने क्यों आती हैं?इस पर उसने मुझे बताया- मैं यहां सीखने नहीं, सिर्फ स्विमिंग के लिए ही आती हूं.

नोट सेक्सी वीडियो जहां अंधेरा ही था … पर वहां रोशनी के लिए बिजली के दिए लगा रखे थे … और धीमी रोशनी जला रखी थी. तो मैंने कहा- एक बार वीडियो कॉल पर आओ … तो देख कर एक एक हिस्से की तारीफ़ करूंगा.

बीच बीच में दांतों से काट लेता था और जोर का धक्का देकर चूत में लंड को अंदर तक पेल देता था. वो कभी मेरी चूचियों को चूसते, कभी उन्हें नौंचते … कभी मेरे होंठों को चूसते काटते … और लगातार कमर को हिलाते रहते. नेहा की सिसकारियों से पता चल रहा था कि वो भी विदेशी लंड से चुदने का पूरा मजा ले रही है.

বাবা মেয়ে চুদা চুদি

चलो जीजू खाना खा लेते हैं जल्दी फिर सोना है मुझे तो अभी से नींद आने लगी है. मैंने नेहा से पूछा- नेहा तुम्हारी और रोहित की सेक्स लाइफ कैसी थी?नेहा ने बताया- वैसे तो हमारी लव मैरिज थी, लेकिन राहुल का मेरे अंदर कम ही इंटरेस्ट था. अगले दिन से मुझे स्विमिंग के लिए जाना था, पर वहां लड़के तो होने नहीं वाले थे, फिर भी मैं एक्साईटिड थी.

दोस्तो, अगर आप लोग किसी काम से जा रहे हो और आपको पता लगे कि आपकी कोई मित्र भी आपको मिलने आ रही है तो सफर का मज़ा ही दोगुना हो जाता है और जब सफर पहाड़ों का हो तो क्या कहने!आज देहरादून से श्रीनगर का सफर ऐसा लग रहा था मानो बहुत दूर हो. इसे ठंडा करो!”कैसे?”चोद दो मुझे!” उसने कहा।पर कैसे?” मैं उससे सब सुनना चाहता था।अपना सामान डाल दो!”कैसा सामान?”अपना लंड.

पर वो नीचे बैठ गयी और झिझकते हुए मेरा लंड अपने हाथ में पकड़ा और फोरस्किन पीछे करके डरते हुए सुपारा जीभ से चाटा और फिर अपने होंठ सुपारे पर रख दिए.

मगर अगले ही पल उन्होंने मेरी चूत पर अपने होंठ रख दिये और मेरी चूत को चूसने लगे. मैंने उसकी कमर को अपने पैरों से जकड़ लिया और गले में हाथ डाल कर जोर से पकड़ लिया. मैं आशा करता हूं कि आप इस सेक्स स्टोरी को भी मेरी पहली सेक्स स्टोरीज की तरह ही सराहेंगे.

मैंने भाभी को जोर से जकड़ लिया और उनकी पैंटी में हाथ डाल कर उनकी चूत को अपनी मुठ्ठी में बंद कर लिया. प्रतिभा ने अपना सर उठाया और मेरी आंखों में देख कर कहा- तुमने मुझे जो उपहार दिया है. फिर धीरे-धीरे मैं अपनी जीभ से उनके होंठों पर लगे हुए लिक्विड चॉकलेट को चूस कर साफ करने लगा.

कुछ देर तक मेरी जांघ सहलाने के बाद वो अपना हाथ मेरी चुचियों पर ले आया.

बीएफ हिंदी नंगी चुदाई: मेरी सिसकारियां बंद होने का नाम नहीं ले रही थीं ‘आअह्ह … मीता उफ्फ़ आह … जान ही ले लोगी क्या?’वो हंसते हुए अपने हाथों को गति देती रही, फिर अचानक से उसने मेरे जॉकी को निकाल दिया. अब मुझे भी मज़ा आ गया और उधर सनम से पीछे से राजू को पकड़ लिया और पैंट के ऊपर से उसका लंड सहलाने लगी.

अब तक की इस मस्त सेक्स कहानी में आपने जाना था कि मैंने सीधे सीधे ही मीता से चुदने के लिए खुद का नाम पेश कर दिया था. मैंने सासू माँ और फिर डॉक्टर से मिलकर उनसे जरूरी बातें कीं और मैं निष्ठा के साथ वापिस घर लौट आया. मैं चौंका- क्या!फिर उन्होंने बताया कि भैया तो उन पर ध्यान ही नहीं देते हैंमैंने उसी पल कह दिया- आप चिंता मत कीजिए.

पर मैंने फिर से उसे सीधा कर बेड पर झुका दिया और लंड को उसकी गांड के छेद से रगड़ने लगा.

अब मैंने अपने दोनों हाथों से उसकी चूचियों को मसला, फिर एक चूची मुँह भर चूसना शुरू कर दिया. इस चुद चुदाई देसी ग्रुप स्टोरी के पिछले भागगांड मरवाने की तलब- 1में आपने पढ़ा कि मेरी गांड में खुजली हो रही थी, लंड लेने की इच्छा हो रही थी तो लेडी डॉक्टर ने मुझे उसके दूध वाले के पास भेज दिया. वो बोली- ठीक है मेरे राजा, तो फिर अब और मत तड़पाओ मेरी चूत को, इसमें अपना लंड ठोक कर चोद दो इसे.