हिंदी वीडियो ब्लू फिल्म बीएफ

छवि स्रोत,ईडियन मटका

तस्वीर का शीर्षक ,

ಸಕ್ಸ್ ವಿಡಿಯೋ ತೆಲುಗು: हिंदी वीडियो ब्लू फिल्म बीएफ, मुझे मेल में मैसेज करें या फिर आप कहानी के नीचे दिये कमेंट बॉक्स में भी अपना फीडबैक दे सकते हैं.

पुरानी सेक्सी हिंदी

वो मेरे पास आयी और इस बार नीचे बैठ कर मेरे लंड को मुँह में लेकर चूस कर खड़ा करने लगी. हॉट मदर सेक्समैंने बोला- पहले नहीं लिया क्या तूने?वो दर्द में कराहते हुए बोली- आह्ह … लिया है कमीने लेकिन इतना मोटा और लंबा नहीं … आईई … मम्मी … फाड़ दी तूने मेरी.

काफी मस्ती से शबाना भाभी मेरे लंड को अपने गले अंतिम छोर तक ले जाकर चूसती रही. हॉट वुमन सेक्सआज मैं बहुत खुश था, तो मेरी सगी बहन ने मुझे पूछ लिया कि भाई क्यों आज इतना खुश क्यों हो?मैंने कहा- कुछ नहीं … बस यूं ही.

मैंने दुबारा से पूछा, तो कहने लगीं- कोई दूसरी बात करो, इस बारे में कुछ न पूछो.हिंदी वीडियो ब्लू फिल्म बीएफ: बीस मिनट में उसके घर पहुंच जाने के बाद वो मुझे बैठक में एक तख्त पर बिठा कर चाय बनाने चली गयी और मैं कपड़े बदलने लगा.

फिर 8 दिनों बाद एक बार फिर मैंने हेमा चाची के घर के बाहर ताला लगा पाया.मैंने उन्हें फोन करके बताया तो वो मुझे स्टैंड पर लेने आ गई।हम उनके रूम गये एक छोटा रूम और किचन था।उनके दोनों बच्चे स्कूल गए थे।मैं उनसे बहुत टाइम बाद मिला था।मैंने बुआ से कहा- आपके लिए पापा का फोन आया था मेरे पास! क्या दिक्कत है आपको?वो रोने लगी.

रक्षाबंधन कितने अगस्त को है - हिंदी वीडियो ब्लू फिल्म बीएफ

जैसे कि आपको पता है मेरे पति का मॉल में होटल का बिज़नेस है, जिसमें वो पूरा दिन बिजी रहते हैं.जब अलीमा झड़ने वाली थी, तो वो बड़े जोर से चिल्लाने लगी- आह अंकल … आह मैं गई … आह मर गई … आह.

अब मैं बिस्तर पर आ गया और हेमा चाची मेरे पास आकर मुझसे चिपक कर लेट गईं. हिंदी वीडियो ब्लू फिल्म बीएफ हेमा चाची मेरी गर्दन पर किस कर रही थीं और अपने हाथों को मेरी छाती पर फेर रही थीं.

जब वो सेक्स सीन आया तो तीनों की नजर लैपटॉप स्क्रीन पर ही गड़ी हुई थी.

हिंदी वीडियो ब्लू फिल्म बीएफ?

अब आगे Xxx गर्ल चुदाई कहानी:करीब दस बारह धक्कों के बाद बलविंदर ने अलीमा के होंठों से अपने होंठ भी हटा लिए. वो मेरे लंड के नीचे कैसे आयी?हैलो, सभी प्यारे लंडधारी और चुत गांड का छेद खोले हुए लड़कियां, भाभियां और आंटियां आपको लंड उठाकर मेरा नमस्कार. इस आवाज को सुनते ही मैंने अम्मी की तरफ पलट कर देखा, तो वो अपने एक चूचे को अपने हाथ से सहलाते हुए सलमान से धीमी आवाज में बोल रही थीं- जरा रुक जा न … अभी राणा आ गया है, वो देखेगा तो क्या सोचेगा.

मैंने देखा कि सुमन बेड पर बिल्कुल दुल्हन की तरह लाल सूट पहन कर घूँघट निकाल कर बैठी थी और पूरे कमरे में से गुलाब की खुशबू आ रही थी. वो बोली- जल्दी बताओ कौन हो यहां कैसे आये?मैं धीरे से बोला- मैं हूं राज।अब वो चुप हो गई. मैंने शबाना के कान में कहा- बाजू के कमरे में अम्मी हैं न!शबाना को भी जैसे कुछ याद आया; वो बोली- वे रोज नींद की दवाई लेती हैं, मैंने उन्हें दूध से नींद की गोली दे दी थी मगर तब भी हम दोनों को ऊपर मेरे कमरे में चलना चाहिए.

वो फिर भी नहीं रुकी और मैंने उसके सिर को लंड पर धक्के देना शुरू कर दिया. उसके बाद बलविंदर अलग हुआ और बोला- मैं तुम्हारा पति तो नहीं हूँ, लेकिन प्यार तो मैं भी तुझे बहुत करता हूं. वो नारीसुलभ लाजवश बार बार अपने नंगे जिस्म को छुपाने का प्रयास करती कभी दोनों हाथों से अपने मम्मों को ढक लेती कभी दोनों हाथों से अपनी पैंटी को ढक लेती.

फिर अमन ने मुझे उल्टा लिटा दिया और पीछे से मेरे ब्लाउज के हुक को किस करते हुए खोलने लगा. आपको क्या लगता है? कॉमेंट करके बतायें।और मेरी अगली कहानी का इंतजार कीजिए।.

अमन ने मेरी साड़ी के ऊपर से ही मेरी चुत को टटोला और मेरे कान में बोला- हां जान, आज लंड कुछ ज्यादा ही बेचैन हो रहा है.

देखने में ऐसा लग रहा था जैसे किसी नवजात के लिए दूध की एक बहुत ही खूबसूरत बोतल को तैयार किया गया हो.

इससे पहले मेरा लंड खड़ा होकर उनकी चुत के करीब रगड़े, मैं बुआ से अलग होने के लिए खुद को छुड़ाने की कोशिश करने लगता था. उसकी छोटी सी चूत, जिसपर छोटे छोटे बाल और उसकी चूत से आती हुई तेज खुशबू, जो मुझे पागल कर रही थी. उसकी मुट्ठियों ने बिस्तर की चादर को भींच लिया था और मेरे मुँह से अपना मुँह हटाने की पुरजोर कोशिश कर रही थी.

मैं भी कॉलेज के प्रथम वर्ष में ही था क्योंकि मेरी उम्र और मेरी बहन की उम्र में साल भर का ही फर्क था. मैंने उसको उठने को कहा और बाहर चलने को कहा तो हम लोग घर के बाहर आ गए. वो मेरे लंड के नीचे कैसे आयी?हैलो, सभी प्यारे लंडधारी और चुत गांड का छेद खोले हुए लड़कियां, भाभियां और आंटियां आपको लंड उठाकर मेरा नमस्कार.

उसकी ब्रा को मैंने खोल दिया और उसके दूध जैसे चूचों को मसल मसल कर पीने लगा.

हंसी मजाक भी बहुत था लेकिन कभी गांड मरवाने की इच्छा को मैं जाहिर कर ही नहीं पाया. अब हेमा चाची के शरीर के किसी भी अंग को कोई भी ऐसा हिस्सा नहीं बचा था, जो मेरे वीर्य में न नहाया हो. उसने पूछताछ की तो …दोस्तो, कैसे हो आप? उम्मीद करता हूं कि आप सभी ठीक होंगे।मैं हरजिंदर सिंह एक बार फिर से आप सभी का अन्तर्वासना पर स्वागत करता हूँ।दोस्तो, आप ने मेरी पिछली कहानीक्लासमेट की चुदाईपढ़ी होगी.

जिसके बाद साहिल ने रागिनी को दूसरी तरफ पैरों को फैला कर लेटा दिया और हल्का सा झुक कर उसकी कुंवारी चूत चाटने लगा. मैं भी सिसकारते हुए बोला- आह्ह दीदी … चूस लो ये लौड़ा, ये आपके लिए बहुत तड़पता रहता है. कुछ मिने बाद जब मुझे कुछ हल्की राहत मिली तो वो मेरी गर्म गुफा में अपनी रेलगाड़ी दौड़ाने लगा.

फ्री सेक्स मॉम स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपनी सेक्सी मम्मी के साथ होटल रूम में लेटा था.

सलमान ने मेरी अम्मी के एक चूचे को अपने होंठों में दबाया और चूसना शुरू कर दिया. मैंने भी उसका जहर निकालने का मन बना लिया था; झट से लौड़े को बाहर निकाला और मुँह में ले लिया.

हिंदी वीडियो ब्लू फिल्म बीएफ अब तो चूत चोदना सीख तू।इतना बड़ा सरप्राइज देख कर सोच मैं सकते में आ गया. मेरी बुआ की चूत 20 साल की लड़की की तरह टाइट थी।मैंने उनकी चूत को उंगली से चोद कर उसे गर्म कर दिया।उस रूम में थोड़ा अंधेरा सा था.

हिंदी वीडियो ब्लू फिल्म बीएफ इस दूसरे राउंड में भी नन्दा एक बार की झड़ चुकी थी, पर मैं अभी नहीं झड़ा था. अगले ही पल अलीमा यह भी सोच रही थी कि बलविंदर अंकल ने उसकी बुर पर पहली बार अपनी जीभ से स्पर्श किया था तो उसे एक अद्भुत आनन्द प्राप्त हुआ था.

ये देखकर मैं बहुत डर गया था क्योंकि उस टक्कर से हेमा चाची को पता चल चुका था कि मेरा लंड खड़ा हुआ है.

ಕನ್ನಡ sex ವಿಡಿಯೋ

मैंने एक बार लंड चूस कर मुँह से बाहर निकाला और उससे कहा- तुम्हारा लंड वाकयी बहुत तगड़ा है. दीदी की चूत का बिल्कुल भोसड़ा बना हुआ था जैसे कोई मोटी मूली दीदी रोज पेलती हो।वो बोली- अरे भाई … चूस … क्या देख रहा है?मैं बोला- दीदी आपकी तो खुल गई है।दीदी बोली- साले, तेरा जीजा रोज 9 इंच का लंड पेलता था।मैं अब दीदी की चूत चूसने लगा. इससे मेरा काम हो गया वरना मैं उन दोनों की लाइव चुदाई मिस कर देती।राजसी साहिल को होंठों को फिर से चूसने लगी और साहिल के दोनों हाथों को लेकर अपने दोनों 32″ की चूचियों पर रख कर मसलने लगी.

प्रतीक ने दी को सीधा किया और दी की चूत चाटने लगा।अब मैं किस करते हुए दी के निप्पल्स खींचने लगा। मैं बेड पर घुटने के बल आया और दी के मुंह में दोबारा लण्ड डाल दिया। वो फिर मस्त हो कर लण्ड चूसने लगी. स्वीटी- अअह ऊऊउ … अंशुल अब दर्द कम हो रहा … अब तो तुम पूरा अन्दर तक डालो अअह … जितना अन्दर डाल सकते हो, डालो अंशुल. फिर उसकी नंगी कमर को सहलाते हुए मैंने उसका निचला होंठ अपने होंठो में कैद कर लिया और चूसने लगा.

नूपुर- क्यों नहीं बनायीं!मैं- आज तक तेरी जैसी कोई हॉट सेक्सी दिखी नहीं … इसलिए!फिर हम दोनों ही हंसने लगे.

अब बस चल पड़ी और उन्होंने कोई हिंदी मूवी चला दी जो मैंने पहले भी देख रखी थी. लेकिन इतना भयानक लन्ड जब किसी की भी फुद्दी में पहली बार जाता है तो उसकी फुद्दी के साथ साथ आंख भी फट जाती है. आप लोगों को मैं बता दूँ कि मैं एक जमींदार खानदान से हूं और इसी वजह से आज भी गांव में हम लोगों की बहुत इज़्ज़त है.

ये आदमी अनुभवी है और उसकी सहेलियों के अनुसार चुत चुदाई की शुरुआत किसी अनुभवी चोदू मर्द से हो तो चुत को दर्द की जगह मजा आता है. ये देखकर हेमा चाची और घबरा गईं और फिर हम जल्दी से वहां पास में ही छत पर बने बाथरूम का गेट खोल कर घुस गए. इतने हैवी चार परांठे मैं शायद ही खा पाऊं ये सोच कर मैंने खाना शुरू करने से पहले दो परांठे अलग प्लेट में रख दिए.

अंजलि की गांड और चूचियों का साइज बढ़ाने, उसकी चूत की गहराई बढ़ाने में मेरे दोस्तों का हाथ और लंड दोनों ही शामिल थे. मेरा तो लंड खड़ा होने लगा उसको इस रूप में देखकर!फिर हम लोग काम में हाथ बंटाने लगे.

मैंने कह दिया की दीदी पौंछा लगा रही थी और फर्श गंदा होने से बचाने के लिए उन्होंने कुछ देर मुझे बिठा लिया. पहले भागपड़ोसन लड़की की गांड की चुदाई कीमें मैंने आपको बताया था कि मैं पड़ोस की लड़की हिमानी को जान से ज्यादा पसंद करता था और वो भी मुझे चाहने लगी थी. उसके बाद मैंने दुल्हन की ड्रेस और ज्वेलरी पहनी, मेकअप किया और बेड पर आकर बेड के बीचों बीच बैठ गई.

कुछ देर बाद बुआ की जीभ मेरे मुँह में आ गई थी और मैं उनकी लार को चूसते हुए उन्हें मस्त कर रहा था.

चूंकि क्वार्टर के दरवाजे वगैरह चोर ले उड़ थे इसलिए बाहर से सब दिखता था. उसके निप्पलों के तनाव से साफ पता चल रहा था कि वो उत्तेजित है और सेक्स करना चाहती है. मैं झड़ी तो उसने जमकर मेरी चूत में धक्के लगाए और कुछ ही झकों के बाद वो भी मेरी चूत में झड़ गया.

जो तूने आदीबा के साथ किया, वो सब मेरे साथ करना चाहेगा?मैंने कहा- आंटी, अभी तो मैं बहुत थक चुका हूं. मेरा लण्ड दी के बूब्स के बीच बहुत टाइट तरीके से अंदर बाहर होने लगा।श्वेता अब कभी अपने होंठों को दबा कर मजा जाहिर करती तो कभी आंखों को बंद कर गहरी सांस लेती।उनके चेहरे के भाव देख मैं उनके ऊपर ही झड़ गया। मेरा सारा माल दी के बूब्स और उनके गले में लग गया। दी ने अपनी उंगली से अपने बूब्स का माल चाटा.

विजय मेरी पीठ को चूमता जा रहा था और अपना एक हाथ नीचे से डालकर मेरी चूत को भी सहला रहा था. मैंने उसकी पैंटी को नीचे करते हुए उतारना शुरू किया, तो उसने शर्माकर अपनी पैंटी पकड़ ली. वैसे तो मुझे सलवार सूट पहनना पसंद है, पर ससुराल में साड़ी पहनना पड़ता था.

सेक्स बढ़ाने वाली सेक्सी

मैं दीपा भाभी की जवानी को याद करते हुए लंड हिलाने लगा और मुठ मार कर सो गया.

पन्द्रह मिनट की जोरदार चुदाई के साथ मंजू का शरीर एक बार फिर से कांपने लगा और थरथराते हुए मंजू ने अपनी धार ठाकुर के लंड पर कर दी. थोड़ी देर बाद लंड का पानी निकल गया और मैं सो गया।मैं रोज चुदाई देखने लगा और मामी को चोदने के सपने देखने लगा।मेरे मामा की फील्ड की ड्यूटी लगी और वो 7 दिन के लिए जोधपुर चले गए।अब घर में हम दोनों थे. मेरे लिए तो आज पहली चुदाई थी मगर राहुल पहले भी चुदाई कर चुका था और उसकी कई लड़कियों के साथ संबंध थे.

आंटी ने मुझे चूम कर कहा- जितना मज़ा आज मिला है, उतना आज तक नहीं आया. अब उसकी रिसती हुई चूत मुझे दिख गयी और उसको देखते ही मेरे मुंह में लार बह चली. दिसबर सत्ता कॉमवो अपने ससुराल में थी। उसकी सबसे छोटी बेटी अभी 19 साल की हुई थी।रेखा आंटी की चुदाई की कहानीमैं आप लोगों को बता चुका हूं.

वो जोर जोर से ‘आह आह … जान चाट ले … आह आह!वो न जाने क्या क्या बड़बड़ा रही थीं. वो चुपचाप आंखें बंद करके लेटी थी।अब मेरी हिम्मत बढ़ने लगी और मैंने नीचे से मैक्सी उठा दी और पैंटी के ऊपर से सहलाने लगा।मामी गर्म होने लगी.

जैसा कि आपने मेरी पहली सेक्स कहानीमौसेरी भाभी की मस्त चुदाईमें पढ़ा था कि कैसे इत्तफाक से मेरी भाभी मुझसे चुद गयी थीं. साक्षी की चुदाई के बाद हम दोनों रूम से निकले और जाते जाते एक दूसरे को किस करने लगे. तो उसने मुझसे कहा- क्या हुआ?मैंने उसको अपनी बांहों में ले लिया और वहीं किस करना चालू कर दिया.

अब तुम ज्यादा सवाल मत करो, जब ये तैयार हो जायेगी तो खुद ही देख लेना. वो भी लंड के मजे लेते हुए कामुक आवाजें निकालने लगी- उह आह इस्स … यस … चोदो राजा. मैंने दरवाजा खोला तो सामने पाया कि काले रंग की नाईटी पहने और अपने सिर पर सफेद रंग का दुपट्टा ओढ़े हेमा चाची खड़ी थीं.

उसके बाद मुंह उसकी गांड के पास ले जाकर उसकी गांड में मुंह डाल कर चूसने लगा.

मैंने लंड का स्वाद कैसे लिया?कैसे हो दोस्तो? मेरा नाम देव है। मैं बी. कुछ देर के बाद जब उसको राहत महसूस हुई तो मैंने दूसरा झटका दिया अब मेरा लंड पूरा अंदर चला गया।उसकी आंखों से आंसू आ गए।मैं थोड़ा रुका और फिर लंड अंदर बाहर करने लगा.

तीनों ही थोड़े असहज भी हो रहे थे क्योंकि मैं लड़का था और वो दोनों लड़की. उसका हाथ अब भी मेरे छोटे छोटे चूचों के टीलों को रगड़ रगड़कर मसल रहा था. अब उसकी रिसती हुई चूत मुझे दिख गयी और उसको देखते ही मेरे मुंह में लार बह चली.

पूरी चुदाई के दौरान पता नहीं मैं चुदाई के नशे में जाने क्या क्या बोलता रहा था. थोड़ी देर के बाद बुआ ने चाय बना दी और मुझे चाय को ऊपर वाले रूम में देने के लिए कहा. भाभी गुस्से से बोलीं- तुम्हारी ऐसा बोलने की हिम्मत कैसे हुई कि मैं तुम्हें ऐसा करने दूंगी!भाभी के तेवर देख कर मैं समझ गया कि मामला संगीन है.

हिंदी वीडियो ब्लू फिल्म बीएफ शबाना भाभी ने भी मेरे लंड के रस को पूरी तरह से चूस लिया था और वीर्य को चटखारे लेकर मजा ले रही थी. वो भी उसी स्पीड से अपना हाथ चलाने लगी जिस स्पीड से मैं उसको उंगली से चोद रहा था।जब लन्ड पूरा टाइट हो गया तो मैंने उसको मेरी तरफ गांड करके लेटने को बोला.

सेक्सी फिल्म वीडियो एचडी इंग्लिश

अब जब भी मैं उनके कमरे में जाती थी … तो अपनी साड़ी को ढीला कर लेती थी ताकि मेरा पल्लू उनके सामने गिर जाए … और ऐसा अक्सर होने लगा था. मैंने कहा- आप मेरा एक छोटा सा काम कर दो?वो बोलीं- क्या?मैंने उनका हाथ अपने लंड पर रखवाते हुए कहा- बस आप मेरा लंड चूस दो. शाम को मेरे घर आने के बाद कुछ देर बाद मैंने फिर देखा तो उसकी एक बहुत अच्छी सी तस्वीर लगी थी.

फिर मैंने पूछा- क्या तुमने साक्षी से पूछा कि उसे कैसा लगा?कल्पना ने कहा- मैंने वही तो बताने के लिए कॉल किया है तुम्हें. आंटी मुझे अच्छी तरह से जानती हैं तो हमारे अच्छे संबंध हैं। जब उन्हें पता चला कि मैं भी शहर में हूं तो उन्होंने मुझसे उनके घर रुक जाने के लिए कहा. सेक्स वीडियो ओपन हिंदीफिर उसने पीछे हाथ ले जाकर मेरी पैंट को खोल दिया और मेरी पैंट में अंदर हाथ देकर फ्रेंची के ऊपर से मेरे फटने को हो रहे लंड को सहला दिया.

चोद दे जल्दी … मेरा माल निकलने वाला है!मैंने जल्दी से उसकी चूत में लंड घुसाया और चोदने लगा.

अगली सेक्स कहानी फिर किसी दिन लिखूंगा, जिसमें गे सेक्स का भरपूर मजा होगा. पहले तो उसने मेरी चूत को हाथों से सहलाया … फिर उसे अपने मुँह में भर लिया.

बलविंदर ने अलीमा की चूत से निकले हुए पानी को अपने मुँह से स्पर्श किया और जीभ से चाटा. लॉक डाउन के दौरान दो दिन के लिए बाजार खुलने का आदेश आया तो सभी को घर की जरूरतों का सामान लेने की लालसा जा गई. फिर अपने लंड को हाथ में पकड़ कर उसकी रसीली चुत के छेद में लंड को सैट कर दिया.

यह देख कर मैं और ज्यादा उत्तेजित हो गया और अपने लंड को जोर जोर से हेमा चाची के चूत में अन्दर बाहर करने लगा.

भाभी ने भी ये देख लिया, मगर वो कुछ नहीं बोलीं और अपने काम में लग गईं. उसका 7 इंच का लंड आंटी की गांड में फंस गया और वो जोर जोर से चिल्लाने लगी- आह्ह … ऊह्ह … मर गयी … ईईई … आआआ …. मैं भी समझ गया कि हेमा चाची अब कामुक हो गई हैं और काबू से बाहर होने लगी हैं.

বাঙালি বৌদি সেক্সি বিএফजब राजसी दरवाज़ा बन्द करने लगी तो साहिल ने बोला- रहने दो, गर्मी बहुत है. मैंने अपने हाथों और पैरों पर मेहंदी लगवाई और मेहंदी की डिजाइन में अमन का नाम भी लिखवाया.

মিয়া খালিফা ট্রিপল এক্স ভিডিও

तब ये मस्त लौंडा कौन है?मैंने राजसी को बताया कि ये मेरे एक रिश्तेदार का लड़का है. वो बोली- मुझे भी खेलने दे ना थोड़ी देर, मैं अपना फोन घर पर रख आई हूं. मेरे मम्मी पापा रोड एक्सीडेंट में चल बसे।हम दोनों भाई बहन के 10-15 दिन तो ठीक से गुजरे लेकिन बाद में खाने को भी लाले हो गये.

हाय दोस्तो, मैं आपकी अंजलि एक बार फिर से फ्री सेक्स कहानी पर आपके सामने एक नई कहानी लेकर हाजिर हूँ. उसने समझ लिया और अपनी चुत को एकदम से उठा दिया, उसी पल मैं उसकी चुत पर मुँह रखा और चुत चाटने लगा. मुझे अकेले अच्छा नहीं लग रहा।मैं खुश हो गया और उनके रूम में आ गया।लाइट बंद थी, मैं और मामी बिस्तर पर लेट गए।मामी ने गुलाबी मैक्सी पहन रखी थी और मैं अंडरवियर बनियान में था।अब मुझे नींद नहीं आ रही थी; मेरी आंखों के सामने मामा मामी की चुदाई के दृश्य बार बार आ रहे थे।मामी भी बार बार करबट बदल रही थी.

उसने अपने एक हाथ में मोबाइल पकड़ा और दूसरा हाथ मेरी कमर के पीछे से घुमा कर मेरे नंगे पेट पे रखा. इस बार अलीमा खुलकर बोली- पहले एक बार चोद दीजिए ना!बलविंदर को ये सुनकर बहुत खुशी हुई कि चलो अब लौंडिया खुल कर लंड मांग रही है. मैंने सोचा कि शायद इन दोनों बहनों में काफी खुला रिश्ता होगा इसलिए शेयर करती होंगी ऐसी बातें.

अब वो हमारी क्लास में पूरा नंगा खड़ा था जिसका लन्ड मेरी ही मैडम चूस रही थी।अब वो नीचे आया तो पूनम ने उसे अपनी कुर्सी पर बैठा दिया और खुद नीचे बैठ कर साहिल का लौड़ा चूसने लगी. मैं गिर गयी थी लेकिन विशाल ने मेरा मुंह पकड़े रखा और अपना पानी मेरे मुंह में निकाल दिया.

थोड़ी देर बाद मैंने उनको खड़ा करके आगे से झुका दिया और खड़े खड़े उनकी गांड मारनी शुरू कर दी.

मैं सोचने लगा कि किसी तरह से भाभी का नंगा जिस्म देखने को मिल जाए, तो मजा आ जाए. मद्रासी सेक्सी वीडियो फिल्मफिर उसने अपना हाथ फैलाया और नापा तो देखा कि लंड उनकी हथेली से भी ज्यादा लंबा था. কান ধরে কটকট ফোড়া করেदोबारा करीब 15 मिनट चूसने के बाद उसने अपना वीर्य मेरे मुंह में ही डाल दिया जिसे मैं पी गई. मैं भी बार बार उसकी चूचियों पर अपना मुँह रगड़ कर उसकी गोलाइयों की नर्मी का मजा ले रहा था.

वो बोला- मेरी जान उदास क्यों हो रही हो … तुम डरो मत बेबी … पहली बार में ऐसा होता ही है.

उनकी बात पर मैंने कहा- मुझे कोई मिली ही नहीं ऐसी जिसको देखकर लगे कि इसके साथ कुछ हो सकता है. मैंने सोचा कि शायद आंटी का लड़का या फिर उनके पति यह सब देखते होंगे. मैं बोला- क्या हो रहा है मेरी रानी … खुलकर बताओ ना … मुझे अपना ही समझो जान!वो बोली- मेरा मन कर रहा है.

अम्मी की चुत झड़ी तो उन्होंने एक तेज आवाज के साथ अपनी चुत का रस सलमान के मुँह में छोड़ दिया. मैंने अपना लंड अपने बीवी के मुँह में डाल दिया और पूरे लंड का पानी उसके मुँह में निकाल दिया, जिसे मेरी बीवी मजे से पी गयी. मेरी आंखें बंद हो गई थीं और मैं सुमन के तज़ुर्बे को महसूस करने लगा था.

सेक्सी वीडियो चूत का लंड

मैं जल्दी से उसकी बात काटते हुए बोली- नहीं यार खुशबू … मैं सब कर लूंगी. मैंने उसके मोबाइल में अपना नम्बर फीड करने के लिए उसके नम्बर से अपने मोबाइल पर अपना नम्बर डायल कर लिया और अपना नम्बर फीड कर दिया. जैसे ही हमारा रस निकला, हम दोनों ने एक दूसरे को कस कर गले लगा लिया.

उसने वो हाथ उसके सर से हटाकर बलविंदर के हाथों पर रख दिया और मम्मों को दबवाने के कहते हुए मस्ती भरी आवाज निकालने लगी- आह अंकल … और जोर से दबाओ … आह मेरे मम्मे मसल दो … आह.

उसी पल शबाना भाभी की चुत का दाना मेरे होंठों के बीच दब गया और मैंने सर उठा कर उस दाने के मां चोद दी.

2 बजे के करीब मैंने उसको रूम में बुला लिया और कहा कि मेरा एक बार सेक्स करने का मन है. उस वक्त वो नहाकर बाहर आ रही थी और उसके बदन पर केवल एक तौलिया ही लिपटा हुआ था. सट्टा किंग दिसावर खबर दिखाओउसके बाद मैंने पीछे हाथ ले जाकर उसे अपने सीने से चिपकाया और उसके होंठों को चूमते हुए ब्रा के हुक खोल दिया.

उसने इसी का फायदा उठाया और नीचे ही नीचे मेरी शॉल में हाथ देकर मेरी चूचियों तक पहुंच गया. अनमोल ने दोबारा मुझे कॉल किया और बताया कि 2 लफंगे मेरे घर के अंदर गये हैं मेरी बहन के साथ।कॉलेज से घर 10 मिनट की दूरी पर था तो मैं तुरंत घर पहुँचा और चुपके से अंदर चला गया. मैंने पूछा- कितनी बार चुद चुकी हो?वो बोली- दो साल से रोज ही चुद रही हूं.

वो कुछ नहीं बोल रही थी, मगर वो शुरू में मेरा साथ भी नहीं दे रही थी. उसकी लैगिंग में उसकी चूत, चूत का मोती, उसकी गांड और सब कुछ दिख रहा था.

इसलिए मैंने उसकी टेबल से क्रीम उठाई और चूत और लंड पर लगा कर फिर से रेडी हो गया.

वो इतने लजीज तरीके से मुझे चूस रहे थे कि बस समझो मैं नीचे से पिघल सी उठी. मैंने उसकी टांगें फैला कर अपना लंड उसकी चूत पर रख दिया और एक झटका दिया. तो उसने मुझसे कहा- क्या हुआ?मैंने उसको अपनी बांहों में ले लिया और वहीं किस करना चालू कर दिया.

ओपन सेक्स हिंदी अब आगे मैं ज़मीन में बैठी और उसकी चैन खोल कर जैसे ही उसका लन्ड बाहर निकाला तो उसका लन्ड देख कर मेरी गांड फट गई।साहिल का लन्ड काफी लम्बा और मोटा था. उसने मेरी बहुत देर तक गांड मारी और अपना सारा वीर्य मेरी गांड में निकाल दिया.

उसके बाद हम दोनों फ्रेश हुए और होटल से बाहर आ गए। मैंने उसको जहां से सुबह पिक किया था वहीं ड्राप कर दिया।उसके बाद तो फिर मैंने उसको बहुत बार चोदा. वहां पर अब वो था जो एक मर्द का सबसे संवेदनशील अंग होता है- उसका लंड।ये सब होते होते डेढ़ घंटा बीत गया था और समय रात के 2 बजे का हो चला था. घर लौटा तो पता चला कि मेरी दादी माँ और बुआ दूसरे गांव में एक रिश्तेदार के यहां चले गए हैं।ब घर में सिर्फ मैं, रिया और चाचा और उनके बच्चे ही थे।गांव में वैसे सब ताश-पत्ते से खेलते रहते हैं.

भोजपुरी सेक्सी गांव की

दोस्तो, आप सभी को नमस्कार और सभी का बहुत बहुत धन्यवाद, जो आप लोगों ने मेरी सेक्स कहानीमामी की सहेली की चुदाईको इतना पसंद किया. दोस्तो, मैं अन्तर्वासना फ्री सेक्स कहानियों का नियमित पाठक हूँ। मैं करीब 5 साल से अन्तर्वासना की कामुक कहानियाँ पढ़ रहा हूँ।मैं मेरी जिंदगी में घटित एक घटना को आप सबके सामने लाना चाहता हूँ।दोस्तो, यह मेरी पहली बार सेक्स की स्टोरी है तो अगर लिखने में कुछ गलती हो जाये तो मुझे माफ़ करना।मेरा नाम दीपक है, मैं 24 साल का हूँ. वो मीठी सी आवाज में बोली- छोड़ो न … आपको यूं अकेली लड़की को पकड़ने में शर्म नहीं आती!मैं- कैसी शर्म … यहां कौन ऐसा है जिससे शर्म करूं?ये कहते हुए मैं नन्दा की गर्दन पर अपने होंठ रख कर उसको चूमने लगा.

मेरी एक सहेली के दो दोस्त उसकी ग्रुप में भी चुदाई करते थे, जो वो बड़े मजे से मुझे बताती थी कि कभी-कभी तो वो उन दोनों से एक साथ चुदाई का मजा लेती थी. ऐसे ही उनको देख देखकर मेरी प्यास हर दिन बढ़ती रही और मैं उनको चोदने के प्लान बनाता रहता.

कुछ सात आठ मिनट की लंड चुसाई के बाद अमन ने अपना रस मेरे मुँह में ही छोड़ दिया और मैंने अपने अमन के नमकीन अमृत को अपने हलक के नीचे उतार लिया.

वो जोर से सिसकारियां भरने लगी- आह्ह … ऊह्ह … ओह्ह … राज … और अंदर तक … आह्ह … अम्म … चाटो … चूसो. लेकिन मुझे एक बात का अफसोस रहा कि मैं किसी भी माल की गांड नहीं मार पाया।अब मेरे लन्ड को गांड मारने की इच्छा होने लगी; तब मैंने गांड मारने की सोची।मैं मामाजी के यहां था और यहां मुझे भरपूर चूत चोदने का मौका मिल रहा था. आप लोगों को मैं बता दूँ कि मैं एक जमींदार खानदान से हूं और इसी वजह से आज भी गांव में हम लोगों की बहुत इज़्ज़त है.

उन्होंने नशीली आंखों से कहा- जानू बेड पर चलें!मैंने कहा- जैसी मेरी बेबी डॉल की मर्जी. उसने अपना लोअर उतारा तो अजय को देख कर बाकी तीनों लड़कों ने भी अपनी अपने लोवर उतार दिए. भाभी जी भी जोश में आकर एकदम मेरे से चिपक गईं और बोलीं- आह देवर जी मज़ा आ गया, दो बार रस निकाल दिया है आपने … मगर आपका टावर अभी भी सिग्नल दे रहा है.

तभी मुझे लंड पर नर्म से महसूस हुआ मैंने देखा सुमन लंड के सुपारे को अपने नर्म और गुलाबी होंठों में लेकर चूस रही थी.

हिंदी वीडियो ब्लू फिल्म बीएफ: जब मेरा ज़ायना को चोदने का प्लान बना, तो मैंने उसे अपना प्लान बताया. मेरी अम्मी ने मेरे घर से जाते ही झट से उठ कर घर के में दरवाजे को बंद किया और सलमान का हाथ पकड़ कर उसे अपने कमरे में ले गईं.

उसकी चूत की प्यास इतनी थी कि उसने सोचा कि जो लंड मिल रहा है उसी से चुदवाकर शांत होना ही ठीक है. काफ़ी देर तक एक उंगली से करने के बाद जब उसने दो उंगली साथ डालीं तो मैं बिल्कुल तड़प गई. लग रहा था कि जैसे मेरे बदन को चिकन पीस समझ रहे हों और बस कच्चा चबा जाने की इंतजार में हों.

हेमा चाची ने ब्लाउज के नीचे वही चड्डी की मैचिंग कलर की ब्रा पहनी हुई थी.

फिर आंटी ने कहा- अब चोद दे मेरी चूत अपने लन्ड से … बहुत गर्म हो चुकी है ये. इसके बाद शाम हुई तो हम सभी ने मिल कर खाना खाया और खूब हंसी मजाक हुआ. फिर मैंने पूरा जोर लगाकर उसकी चूत में धक्का दे दिया और उसकी कुंवारी चूत को फाड़ता हुआ मेरा लंड 5 इंच तक उसकी चूत में जा घुसा.