बीएफ पिक्चर 18 साल

छवि स्रोत,हिंदी में बीएफ बीएफ हिंदी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

ਸੈਕਸ ਕਿਵੇਂ ਕੀਤਾ ਜਾਂਦਾ ਹੈ: बीएफ पिक्चर 18 साल, रुकैय्या की तेज चलती सांसों की वजह से उसकी चूचियां मेरे सीने पर धकधक दस्तक दे रही थीं.

हरियाणवी लड़की का बीएफ

उसके होंठ, उसकी चूचियों को मैं अपनी जीभ और अपने हाथों से मजा दे रहा था, जबकि मयंक नीचे की ओर उसकी चूत पर लंड को जोर जोर से रगड़ रहा था. सेक्सी बीएफ विदेशी सेक्सी बीएफमैंने पलट कर कहा- क्यूट स्माइल!उसने भी आंखें नचाते हुए कहा- थैंक्यू.

कुछ पल तक मेरे वक्षों को मसाज देने के बाद उसने अपने मजबूत हाथों से मेरी जांघों को मसाज देना शुरू कर दिया. घोड़े की लड़की की बीएफलड़की- भाभी वो कौन है?कोमल- जिया, मैं तुम्हें सब बताती हूँ प्लीज़ आकाश को मत बताना.

‘कांटा लगा’ गाना चल रहा थाबंगले के पीछेहायबेरी के नीचेहाय रे पिया …रीना मेरे पास आती, साथ में धीरज को घूरती रहती थी.बीएफ पिक्चर 18 साल: यह भाव-भरा समर्पण, प्यार था … केवल प्यार! पर देर-सवेर इस में वासना का समावेश तो हो के रहना था.

साथ ही लॉकडाउन के इस समय आपने मेरी कहानी पढ़कर किस तरह एन्जॉय किया और क्या किया.रुकैय्या की बात सुनकर मेरा लण्ड जोश में आ गया और दोगुनी ताकत से रुकैय्या को चोदने लगा और वीर्य की आखिरी बूंद निकलने तक चोदता रहा.

देसी बीएफ खतरनाक - बीएफ पिक्चर 18 साल

मैं उसे प्यार से चूमते हुए बोली- मेरा बेटा जवान हो गया है … इसलिए अब से सब चलेगा.वो भी हंसते हुए बोलीं- हां, बाथरूम से तुम्हारे लिए चुत साफ़ करके आ रही हूँ.

मैंने सोचा कि मेरा बेटा आदी अब जवान हो गया है … और आज नहीं तो कल अपने लिए छेद तो ढूंढेगा ही. बीएफ पिक्चर 18 साल मैंने उससे इस बात का मतलब पूछा तो उसने कहा- मतलब कुछ मॉडर्न से कपड़े पहन कर जाओ.

फोन पर बात खत्म होने के बाद मेरी तरफ मुखातिब हुई- क्या कह रहे थे?मैं कह रहा था कि कई जगह दिखा चुके हो, कोई लाभ नहीं हुआ, एक बार हमें भी दिखा दो.

बीएफ पिक्चर 18 साल?

कुछ देर बाद अब्बू ने अपना लण्ड अम्मी की गांड के छेद पर रख कर अन्दर करने की कोशिश की लेकिन बात बनी नहीं तो मैंने अब्बू से कहा- अपने अंगूठे में तेल लगा कर अम्मी की गांड में चला दीजिये. समय आने पर आशा ने एक बेटे को जन्म दिया जो मेरा बेटा भी है और मेरा भांजा भी. अमनप्रीत- बोल मेरी रखैल, कैसा लग रहा है मेरा लंड?श्यामली- आह्ह, इतना बड़ा लंड तो मैंने आज तक नहीं लिया है आह्ह … बहुत मजा आ रहा है.

मैंने उन्हें समझाया कि मेरा मतलब आईवीएफ विधि के द्वारा बच्चा हो सकता है और बच्चा किसी और का भी हो सकता है. बस दिमाग में उन दोनों की इतनी तगड़ी ठुकाई करना चाहता था कि वह दोनों अगले दो-तीन महीने तक लौड़ा आपने चूत और गांड में लेने के लिए सोचे भी ना. मेरी चीख निकल गई- आह आओह माँ … मैं मर गई!मेरे बेटा आदी ने मुझे चोदना चालू कर दिया.

तो मैंने अम्मी की ख़ुशी के लिए क्या किया?आज की माँ सेक्स स्टोरी हिंदी मेरे दोस्त की है. मेरा मन हल्का लगने लगा, मैंने उससे पूछा- मुझे लगता था कि तू अभी सम्भोग से अछूती है. मैंने भी चाची की चुत छोड़कर उनकी गांड के छिद्र को चूसना चालू कर दिया.

उसने अपने लंड को प्रियंका के मुंह में डाल दिया और मोनू खुद प्रियंका की चूत को चाटने लगा. अब वो जब ऊपर छत पर या बालकनी में जातीं तो रिंकी सुट्टे मार लेती और अब उसने प्रिया को भी दो चार सुट्टे मारने की लत लगा दी थी.

इस तरह से मेरी बीवी की एक दूसरे गैर मर्द मेरे दोस्त से चुदवाने की ख्वाहिश पूरी हुई.

श्लोक और मैंने गोआ में एक और याराना मनाया जो कि एक बहुत ही रोमांचक घटना थी जिससे मैं आपको बाद में अवगत करवाऊंगा।जिन लोगों ने याराना को अभी से पढ़ना शुरू किया है वो कृपया इस कहानी के पहले भाग से लेकर पूरी कहानी पढ़ने के बाद ही यहां पर वापस इस कहानी को पढ़ने के लिए आयें.

मैंने किस करना शुरू कर दिया और अपनी जीभ को भाभी के पेट और चूत के आस पास घुमाने लगा. मेरे गले को लगातार चूमता रहा और अपने लंड से छोटे छोटे धक्के लगाने लगा. हम सभी एक दूसरे की बात सुनकर मुस्करा रहे थे और फिर पैग मारने में लग गए.

वो बोली- अब अन्दर करो ना!ये सुनकर रोहित ने संजना की चूत में डॉगी पोज में अपना लंड घप्प से घुसा दिया. अब कहानी के दूसरे भाग को भी मैं सिमरन भनोट जी के शब्दों में ही पेश कर रहा हूं. फिर उसको मैंने अपनी तरफ घुमाया तो देखा कि उसकी गोरी-गोरी दूध जैसी सफेद चूचियां रात की रोशनी में चमक उठी थीं.

उस सेक्सी भाभी को मैंने चुदाई के लिए कैसे तैयार किया, उसके आगे क्या हुआ, भाभी की चूत कैसी थी, भाभी ने मेरे लंड को चूसा या नहीं, ये सब बातें मैं आपको कहानी के अगले भाग में बताऊंगा.

बस हमारे लिए थोड़ी बुरी खबर है … क्योंकि हमें अब तीन लंड से चुदना पड़ेगा. मैंने लंड पर छतरी चढ़ाने के बाद उसकी तरफ देखा तो उसने बड़े अश्लील भाव से अपनी चूत पर हाथ फेरते हुए मुझे आंख मार दी. उन्होंने थरथराते हुए कहा- आआहहह बेटा … ये क्या कर रहे हो … अपनी माँ के साथ!मैं- आंटी ये आप क्या कह रही हो, आप सुनीता आंटी हो … मेरी माँ सुमन नहीं हो.

उम्र के बढ़ कर गुज़रते साल, अपने आने-जाने के निशान वसुंधरा की साफ़-सुथरी त्वचा पर छोड़ने में असमर्थ रहे प्रतीत हो रहे थे. मनीषा भाभी भी मस्ती से अपनी गांड को आगे पीछे करके चुदाई का पूरा मजा ले रही थीं. उसको दो बार मजा आ चुका था लेकिन मुझे अभी एक ही बार आया था और मेरा मन कर रहा था चुदाई का।तो मैं अपने सर को उसके छाती पर रखकर लेट गई।फिर हमने कुछ बहुत सारी बातें की।उसने मुझसे कहा- भाभी, आपके जैसी सेक्स से भरी हुई औरत मुझे कभी नहीं मिली.

मैं शरमाते हुए स्टेज पर गया, वैसे मैं साहित्यिक गतिविधियों के लिए बड़े बड़े स्टेज पर गया हूँ, पर नृत्य एक अलग ही बात है, इसलिए मेरा लजाना अप्रत्याशित नहीं था.

उधर आकाश और दीदी दोनों रोमांस में मशगूल थे … आकाश की टी-शर्ट उतर चुकी थी. तो मैंने कहा- अरे अकेले अकेले शुरू भी हो गये, सतीश कहाँ है?उन्होंने बताया कि सतीश अपने रूम में गया है और आ ही रहा है.

बीएफ पिक्चर 18 साल शादी के इतने साल बाद और एक बच्चा पैदा करने के बाद भी दुल्हन बनते ही वही शर्माती औरत, शायद सुहाग की साड़ी में ही औरत भी दुल्हन बन जाती है. सीधे खड़े होने के कारण मेरे उभरे हुए नितम्बों में रोहित के लण्ड का सुपारा कहीं गायब ही हो गया था.

बीएफ पिक्चर 18 साल इस समय कोमल के चूचे हवा में झूल रहे थे और मैं पूरे तेजी से धक्के मार रहा था. मेरी टांगों के बीच गीली पैंटी की ठंडक मुझे मेरी चूत और जाँघों पर महसूस हो रही थी.

मैं एक एक करके दोनों चूचियों को अपने मुँह में भर कर चूसने लगा और एक हाथ से उसके पेट और जांघों को मसलता रहा.

বাংলা বুলু ফিল্ম ভিডিও

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:दिल्ली के चोदू लड़के से गांड चुदवा ली-2. जहां पीठ की ढाल समाप्त होती थी वहीं कमर के बीच में छोटा सा गड्ढा सा था फिर नितम्बों की चढ़ाई शुरू होती थी. इसी बीच उन्होंने मेरी मैक्सी को ऊपर करके मेरी पैंटी को खींच दिया और मेरी गांड को नंगी करके दबाने लगे.

मैं बार बार बच्चे को देखने के बहाने ज़ेबा के क़रीब होने का मौका तलाश करने लगा. जब मैंने ब्रा का हुक खोलने के लिए भाभी की कमीज ऊपर की, तो देखा कि ब्रा काफी अच्छी और महंगी थी. तभी उन तीनों ने अपने हाथ आगे कर दिए और उन तीनों के हाथ में डिल्डो थे.

कभी वो ऊपर … तो कभी नीचे ऊपर, कभी आगे-पीछे, कभी दायें-बायें करने लगी.

उन्होंने शायद पहली बार किसी लड़की के बूब्स को टच किया था, पहली बार देखे थे शायद!मुझे भी अच्छा लग रहा था तो ना मैंने हां की ना ना … बस चुप आंखें बंद करके लेटी रही। और बस महसूस करती रही अपने जिस्म उनका होना!मैंने अपने हाथ उनकी कमर पर फिराये।फिर वे मेरे बूब्स को चूसते हुए मेरे पेट पर किस करते करते नीचे मेरी चूत तक चले गए. वो चुदासी सी बोल रही थीं- आंह और चूस … तुझसे सुबह से चुदने को फिर रही हूँ … और तू चोद ही नहीं रहा था. उनकी तरफ से भी शायद मुझे उनके मस्त जिस्म को इस तरह से देखने का और भी ज्यादा अवसर मिलने लगा था, क्योंकि अब वो भी मुझे अपना गदराया हुआ बदन दिखाने का कोई मौका नहीं छोड़ती थीं.

अब संजू ने भी अपनी जीभ रोहित के मुँह में दे दी, तो रोहित बेतहाशा जीभ को चुभलाने लगा. एक तो लौड़ा अंदर ठोकरें मार रहा था और फिर बाबूजी ने मेरे इतने अंदर लौड़ा पेल दिया कि मैं बता नहीं सकती। मुझे लगा कि कम से कम सात इंच लम्बा लौड़ा था उनका!वो मुझे चूतड़ तक नहीं उठाने दे रहे थे!‘आह!’ और जब लास्ट धक्का मारा तो मैं अपनी चीख रोक नहीं सकी और मुंह से आह निकल गयी. मैं पूरा लंड बाहर निकाल कर ताकत से सुधा की चूत में अन्दर तक पेल देता था.

तब तक कोमल नग्न होकर मेरी ओर देखने लगी- वो किस चीज की टेबलेट थी?मैं- सेक्स पावर की. मैंने अपने सर को बेड पर रख लिया और आराम से अपनी गांड को पीछे से उठा लिया.

वो बोली- प्लीज, एक बना लाओ ना राज … पिछली का तो अब असर खत्म हो गया है. यह देख मैं स्तब्ध रह गया और आंगन की तरफ बनी छत की रेलिंग के पास बैठ कर उस पर रखे फूल के गमले के बीच से खूबसूरत नज़ारा देखने लगा. उसने अपने लंड को प्रियंका के मुंह में डाल दिया और मोनू खुद प्रियंका की चूत को चाटने लगा.

चाची ने फिर से कहा- मैं घर जा रही हूँ और जाते समय दरवाजा बंद कर दूंगी … तुम बाथरूम जाओ और तैयार हो जाओ.

बारिश, बादल, हवा, अँधेरा, एकांत और प्रियतम का साथ … यह सब कामदेव और रति की सत्ता स्थापित होने के इशारे हैं. इतने में ही राशि बड़बड़ाई- क्या हुआ चोदूनाथ! इतनी ठंडी में तुमने इतनी गर्म आह … कैसे भरी अभी से!राशि ने मेरा लंड चूसते चूसते तंज कसा. हालांकि तभी उनके ससुर ने धीमे से कहा भी- सेजल आज रहने दे, तेरा भाई जाग गया, तो प्राब्लम हो जाएगी.

चाची जाग गयी थीं और उन्होंने मुझे बाजू में धकेल कर एक तमाचा दे मारा. वो मेरे मुँह को अपने लंड की तरफ धकेलने लगा और मुझसे लंड चूसने के लिए कहने लगा.

इस पर गांड उठाते हुए संजना बोली- हां मेरी जान … मैं इन सबको तुमसे चुदवा दूंगी. साथ ही में मेरा लंड भी आंटी के पैंटी के ऊपर से ही चुत पर रगड़ने लगा. मैंने सोचा कि मेरा बेटा आदी अब जवान हो गया है … और आज नहीं तो कल अपने लिए छेद तो ढूंढेगा ही.

ऑस्ट्रेलिया सेक्सी फोटो

6:00 बज चुके थे भाभी के रूम निकलते निकलते और मुझे अब खाना भी नहीं बनाना था तो मैं अपने रूम पर आया और एकदम सो गया।मेरी नींद तब खुली जब भाभी ने मुझे मेरे रूम में आकर जगाया। मुझे ऐसा लगा कोई मुझे जगा रहा है और मेरे कानों में आवाज पड़ी- उठो सचिन, खाना नहीं खाना है क्या? 9:00 गए हैं रात के।मैं- आप चलिए भाभी मैं आ रहा हूं हाथ धोकर।भाभी- ठीक है जल्दी आना।मैं तैयार होकर अपने रूम से भाभी के रूम पर गया.

तभी तुषार मेरे सामने देखकर बोला- यार रुमित … तुमने तो कार में ही नाश्ता कर लिया है. तू अगर अपनी मां, अपनी बहन, अपनी सास और अपनी होने वाली बेटी को भी लेकर आएगी, तो तेरे साथ साथ तेरे ही बिस्तर पर तुझे भी नंगी करके उनकी भी गांड और चूत चोद दूंगा. इस तरह 10 मिनट बाद भाई स्खलित हो गया और उसने अपना गर्म गर्म लावा मेरे मुँह में उड़ेल दिया.

नाक में मौज़ूद हीरे का लौंग वसुंधरा के दबंग व्यक्तित्व को एक गरिमापूर्ण स्त्रीत्व प्रदान कर रहा था. मैं- तुम आम खाओ ना … गुठली के चक्कर में क्यों पड़ी हो?वो- नहीं ऐसे ही. 2022 की बीएफ नईअमन अंदर आते हुए शरारती अंदाज़ में बोले- बुलाना है क्या? जरूरत है क्या मेडम को उसकी?मैं- चुप बदमाश!बोलते हुए मैंने भी हंस कर अमन की बात का जवाब दिया.

मैं- ये मज़ा शराब से नहीं, हम दोनों के खुल कर बोलने से आ रहा है मेरी जान!अब झटके तेज करते हुए मैंने स्पीड बढ़ा दी- नीरा, तुमको किसी और लन्ड से चुदने का मन है तो चुदवा दूं? मेरी जान बताओ तुमको और मोटा लन्ड चाहिये?नीरा खामोश थी. प्रतिभा को अकेला पाकर मैंने कहा- तुम बहुत ही खूबसूरत हो प्रतिभा, मेरी किस्मत की लकीरों में तुम्हारा नाम भी लिखा होगा मैंने सोचा भी ना था.

दस मिनट बाद मैं झड़ गया और लंड से कंडोम को डस्टबिन में फेंक कर लेट गया. जवाब सुनते ही वो आतुर सा हो गया और अपनी बीवी के जिस्म की नंगी तस्वीरें भेजने लगा!नग्न कामुक बदन देख मेरे मुंह से भी लार निकल पड़ी. हैलो फ्रेंड्स, मेरी पहली स्टोरीअन्जान भाभी की चूत और मेरा लंडको इतना पसंद करने के लिए आप सभी का बहुत-बहुत शुक्रिया.

मैंने वहां जाकर चुपके से देखा, तो ससुर जी गांव की किसी औरत को काफी तेज गति से चोद रहे थे. मेरी रीढ़ की हड्डी में एक बिजली का करंट ने दौड़ लगायी और ऐसा लगा एक कुछ मोटी सी चीज़ रीढ़ की हड्डी में ऊपर से भागती हुई नीचे लंड में समा गयी. मैं शर्माते हुए कह दिया- हटो बाबू … तुम जिससे कहोगे, मैं उससे शादी कर लूंगी.

वैसे तो मैं यहां पर कई बार आया था, लेकिन आज पहली बार कुछ अलग सी फीलिंग आ रही थी, जिसकी वजह आप सभी जानते हैं.

अम्मी पानी लेकर आईं और पूछने लगीं- रात को मज़ा आया बेटा?मैंने कहा- नहीं अम्मी … अभी तो मुझे आपकी गांड भी मारनी है. जवाब सुनते ही वो आतुर सा हो गया और अपनी बीवी के जिस्म की नंगी तस्वीरें भेजने लगा!नग्न कामुक बदन देख मेरे मुंह से भी लार निकल पड़ी.

मेरे हाथ तो अभी भी जेठजी के चेहरे पर ही थे, पर जेठजी के हाथ मेरे पिछवाड़े का अच्छे से माप ले रहा था. ऐसी जवान, सेक्सी, सुंदर और वासनामयी औरत को पाकर एक चुदास भरा लड़का गर्म नहीं होगा, तो क्या होगा. मैंने कान में फुसफुसा कर कहा- बाबू सीधे गोल कर दो, बहुत देर से तड़प रही हूँ.

कुछ मिनट बाद स्वीटी आंटी आसमानी रंग की पारदर्शी साड़ी में तैयार होकर नीचे आईं. मैंने टेबल के नीचे से सबकी नजर बचाते हुए अपने हाथ को स्वीटी आंटी की नंगी कमर पर फेरना शुरू कर दिया. पिछली कहानी में मैंने लिखा था कि मैंने संजना और शीना की चुदाई एक साथ कैसे की.

बीएफ पिक्चर 18 साल कुछ दिन तक नंबर पर कॉल करने के बाद भी उसका नंबर नहीं लगा, तो मैं उसके फ्लैट पर गया. गाने के बीच में दो बार नायिका, नायक की बांहों में आएगी, नायक उसके कमर में हाथ रखकर सपोर्ट करेगा और नायिका पीछे की ओर लगभग पूरी तरह झुक जाएगी.

हैदराबाद कॉल गर्ल्स

मेरा दोस्त भी मेरी इस दरियादिली पर बहुत खुश हो गया। थोड़ी देर साथ में किताब पढ़ने के बाद हम भी अपने अपने घर के लिए निकल लिये।अगले दिन मैं टाइम से पहले जाकर सपना का इंतजार करने लगा। थोड़ी देर में वो आ गयी। मैंने उसे अपने बगल में बैठाया और उसका हाथ अपने हाथों में लेकर उससे प्यार मोहब्बत की बातें करने लगा।कुछ ही दिनों की मुकालात में मैं उसे अपने शीशे में उतार चुका था. उसने धीरे से कहा- काहे को झूठ बोलती हो दीदी … बस वालों की तो आज हड़ताल थी. फिर नीतू बोली- सर अब और मत तड़पाओ … प्लीज अब अपने लंड का कमाल दिखाओ … बहुत दिनों से मेरी चूत में लंड नहीं गया.

मैंने वहाँ चारों और देखा कोई नहीं था। मैंने उसे किस करना शुरू किया और हाथों से उसके चूची को दबाने लगा।वो बोली- अभी नहीं!मैं बोला- लंड खड़ा है. उसने अपना लंड मेरी चुत पर लगाया और एक धक्का दिया और लंड एक बार में ही पूरा अन्दर चला गया. काजल राघवानी बीएफ सेक्सीउसने मुस्कराकर एक झटके से खुद को अलग किया और नीचे बैठ कर मेरे लण्ड को मुँह में लेकर चूसने लगी।तुम तो नाश्ता लगाने वाली थी न, ये लंड चूसने की बात कहाँ से आ गयी?” मैंने उसे छेड़ते हए कहा.

रमेश ने उससे एग्रीमेंट साइन करवा लिया जिसके मुताबिक रिया को रमेश का हर हुक्म मानना था.

उन्होंने पूछा- कहां रहते हो? क्या करते हो?मैंने उनको अपने बारे में बता दिया. वो लगातार मेरे मुँह को चोद रहा था और मैं उसकी गांड को अपनी उंगली से चोद रहा था.

उसने एक के बाद एक कई तस्वीरें देखी और वापस रोहित को मोबाइल देते हुए कहा- मौसी तो बहुत मस्त दिखती हैं।मुझे यह समझते देर नहीं लगी कि वो नंगी फ़ोटो मेरी बड़ी बहन पूजा की थी. एक हाथ से कविता भाभी मेरी पीठ को सहला रही थी और दूसरे हाथ से मेरे सिर को। मैं उनके ऊपर पड़ा रहा और मैं उन्हीं के ऊपर सो गया. जिसे शीना ने अपने हाथों में पकड़ लिया और उसको और ज्यादा तगड़ा करने लगी.

हम सच में तो झगड़ नहीं रहे थे, बस एक मस्ती ही थी, जो हम आपस में कर रहे थे और हमें तो अपने कपड़ों तक का होश भी नहीं था.

मैंने मौसी के कानों के लव को मुँह में भर के चाटते हुए कहा- मैं जानता हूँ मौसी आप चुदाई के लिए कितनी तड़प रही हैं … मैंने आपकी गीली पैंटी देखी है. विशाल ने अब एक हाथ नीचे करके प्रिया की शॉर्ट्स के बटन खोल कर एक हाथ उसकी फुद्दी तक पहुँचाया और लगा उसकी मालिश करने. हम दोनों के मुंह आह्ह … ओह्ह … आह्ह … याह … उफ्फ … आह्ह … अम्म … ओह्ह … करके कामुक आवाजें आने लगीं.

बीएफ हिंदी साड़ी वाली वीडियोरवि उठकर बैठ गए … उन्होंने अपने कपड़ों को उतारकर वही बिस्तर पर डाल दिये. अब भी रात रात भर चुदाई होती पर शीला की नहीं बल्कि विशाल की अपनी बीवी रिंकी के साथ और सुनील की अपनी बीवी प्रिया के साथ.

सिस्टर फुक्किंग

अब सीधे भाई के ससुराल में जा पहुंचा, जहां मेरे आने की खबर मैंने मुनीर को पहले ही बता दी थी. मुझे बहुत शर्म आ रही थी कि ये ऐसे किसी को अपने कपड़े उतारने कैसे दे सकती है. दस मिनट बाद मैं झड़ गया और लंड से कंडोम को डस्टबिन में फेंक कर लेट गया.

मैं भी देखना चाहता हूं कि मैं बिन शादी के लड़के का बाप बना या लड़की का!जैसे ही मायरा से मेरी अगली मुलाकात होगी तो मैं आप लोगों को जरूर बताऊंगा. उनकी सीने की हड्डियां दिख रही थीं … लेकिन चुचों की सुडौलता पर उनका कोई प्रभाव नहीं था. उसने कहा- देख अगर तू मुझे खुश रखेगा, तो मैं तुझे किसी बात से नहीं रोकूंगा.

मेरा एक पैर कार की सीट के नीचे और एक सीट के ऊपर था … और मेरे दोनों हाथ पीछे दरवाजे को पकड़े हुए थे. रुमित ने उसको गाली देते हुए कहा कि तुम भी साले ये क्या कर रहे हो … कार की टंकी क्या पूरी खाली हो गयी है?भार्गव बोला- नहीं … इंडिकेशन से मालूम चल रहा है कि ये बीस किलो मीटर ही चल सकेगी. उसको लंड को चुत से बाहर निकालने में तो दो सेकण्ड लगते थे और उसे फिर अन्दर घुसाने में दस सेकण्ड लगाता था.

मैंने मौसी की कमर पकड़ी और एक ही बार में लंड मौसी की चूत में पेल दिया. मेरी गांड के छेद पर अपने मूसल लौड़े को सेट करके उसने मेरी गांड में अपना लंड धकेल दिया.

मुझे देख वो औरत मेरे ससुर जी को धक्का देकर हट गई, पर ससुर जी के लंड ने अपना कामरस छोड़ना शुरू कर दिया था.

मैंने पीछे मुड़ कर देखा, मुझे लगा कि शायद भाभी मेरी उसी हरकत के बारे में कुछ कहेंगी. बीएफ पिक्चर दिखा वीडियोमैंने सोचा कि मोबाईल से काल करती हूं, मोबाईल निकाल कर देखा, तो टावर गायब था. करीना हीरोइन की बीएफउसके सामने मेरे अरमान काबू में रहे, इसलिए मैंने उसके बारे में सोचते हुए मुठ मार ली थी. जीजा और साली की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं आपनी कुंवारी साली को नीचे से नंगी करके खुद भी नंगा हो गया था.

वो मुझे अपने ऊपर कुछ इस तरह से लिए हुए थी कि मेरा लिंग उसकी योनि से रगड़ खाने लगी थी.

उसने रोहित का मुँह अपने चूचों में सटा दिया और उसके बालों को सहलाने लगी. मुझे भी गोरी गांड चुदाई में मजा आ रहा था और अंकल को भी अपनी गांड चुदवाने में काफी मजा आ रहा था. बाबू जी ने खिसिया कर अपना लौड़ा मेरी चूत से बाहर निकाला तो मैं हैरान हो गयी.

मैं अपनी फ्रेंड्स के साथ कहीं बाहर जा रही हूँ … और रात को 9 बजे तक आ पाऊंगी. ट्रक ड्राईवर ने मुझे ऊपर से नीचे तक देखा और जोश में बोला- छोड़ देंगे जी, चढ़ जाओ जी. जीजू क्या अगर कोई भी मुझे इस रूप में देख लेता तो उसका पागल होना निश्चित ही था.

कुंवारी लड़की की सेक्सी कहानी

इस बीच स्वीटी आंटी को एक सलवार सूट पसंद आ गया और वो ड्रेसिंग रूम में जाकर कपड़े बदल आईं. चाची की गांड बहुत ज्यादा टाइट थी, ऐसा लग रहा था, जैसे आज तक किसी ने छुई ही न हो. वो बोले- अच्छा जी, इतना पसंद करने लगी हैं क्या आप हमें?ज्ञान जी की पैंट में आकार ले चुके लंड पर मैंने हाथ से सहलाते हुए कहा- आप ही बेरुखे से हो रहे थे, मैं तो पहले दिन ही चुदने के लिए तैयार थी.

मेरा कोई बॉयफ्रेंड नहीं है।मैंने कहा- यार ये कैसे हो सकता है कि कोई भी लड़का इतनी खूबसूरत लड़की के पास ही ना आये?हीना ने अपना काम करते हुए ही कहा- मैंने ऐसा भी नहीं कहा सर.

अविनाश- उसकी छोड़ो, तुम बताओ … क्या तुम हमारे लिए इतना नहीं कर सकते हो.

फिर भी क्रिया को थोड़ा दर्द हुआ। पहले मैं एक उंगली गांड में घुसा कर अंदर बाहर करता रहा फिर थोड़ी देर बाद मैंने गांड में दो उंगली डाल दी।क्रिया- प्लीज़ निकालो ना … दर्द हो रहा है. स्नेहा भाभी- अच्छा जी … मेरे पीछे पड़ कर क्या करोगे?मैं- जो सब करते हैं. बीएफ बीएफ सेक्सी बीएफ हिंदीतो मैंने पूछा- वो क्या?वो मेरी जींस के ऊपर से मेरे लंड को दबाते हुए बोली- ये.

इन दोनों गर्म औरतों की प्यास बुझाने के लिए मुझे बहुत मशक्कत उठानी पड़ रही थी. कोमल ने भी अपनी टांगें पूरी तरह खोलते हुए चुत को लंड के दरबार में पेश कर दिया. मैंने छूटते ही बोला- वैसे एक बात कहूं?स्नेहा भाभी बोलीं- हां जी बोलो?मैंने कहा- वो पेप्सी तो गिरनी ही थी.

मैं खुशी से फूला नहीं समा रहा था मगर मैंने सेठ के सामने जाहिर नहीं किया. और खुद नीरा भी मदमस्त हो रंडियों की तरह बड़बड़ा रही थी!मैंने लन्ड नीरा की चूत से बाहर निकाल दिया और साफ करने लगा.

2 मिनट बाद ही अंकल ने अपना पानी छोड़ दिया और सारा लंड का पानी मुंह में निकल गया जिसे मम्मी ने पी लिया।तीनों ऐसे ही नंगे पड़े हुए बिस्तर पर!उस रात पूरी रात दोनों ने मिलकर मम्मी को कई बार चोदा होगा.

मुस्कान ने भी मेरी किस में मेरा साथ दिया और मेरी जीभ पर जीभ रख कर एक और डीप किस की. मैं बोला- वादा किया।भाभी- मुझे भी संभोग करना है तुम्हारे साथ!मैं बोला- भाभी, अभी मेरी बिल्कुल ताकत नहीं बची है।भाभी बोली- कोई बात नहीं. आप सब तो उस वक़्त की मेरी मनोदशा समझ ही सकते हो कि जो औरत रोज़ मज़े से लंड की सवारी करती हो और पिछले 6-7 दिनों से उसकी चूत लंड के लिए तरस रही हो.

बीएफ सेक्सी लड़की लड़की वो क्या करे, उसे कुछ समझ नहीं आ रहा है … और ना ही मेरे पास उसके सवाल का जवाब है. ज्यादातर धंधे वालीं जब इस टाईप से लिफ्ट लेती हैं तो वे अन्दर कुछ नहीं पहनती हैं.

वो मेरे लंड के तगड़े झटकों को बर्दाश्त नहीं कर पाईं और चिल्लाने लगीं- साले मादरचोद … धीरे चोद. कुछ देर बाद रोहित किचन में आया और दरवाज़े पर खड़ा होकर मेरी तरफ देखने लगा।मैंने रोहित की तरफ देखा. मैंने उनके बेटे का जिक्र सुना तो चौंकते हुए कहा- आपका बेटा कहां है?उन्होंने जवाब में कहा- वो गुजरात में जॉब करता है.

एक्सएक्सएक्स सेक्सी हिंदी वीडियो

आपने मेरी पिछली सेक्सी स्टोरी में पढ़ा कि पहली बार की चुदाई के बाद लंड का टांका टूटने की वजह से काफी दर्द रहा था. पांच मिनट ऐसे ही चोदने के बाद मैंने चाची को अपनी गोद में बिठा लिया और चाची को अपने लंड पर कुदाने लगा. अब जीजू भी फुल जोश में थे और वो भी गाली का जवाब गाली से देने लगे- साली कमीनी रांड … आज तेरी चुत को ऐसे फाडूंगा कि तू मेरी लंड की दीवानी हो जाएगी.

गुड्डी मेरी टांगों के बीच में घुटनों के बल बैठ गयी और सर झुका कर लंड को दोनों हाथों से थाम लिया. तारीफ के बहाने टीचर की चूत चुदने का इंतजाम करना चाहती थी जिसका अंदाजा मैंने पहले मेल में ही लगा लिया था.

मैंने भी उसको धीरे से कहा- देखते हैं … तो देखने दो … हमें और भी ज़्यादा मज़ा आएगा.

वो नखरे दिखाते हुए बोली- क्या कर रहे हैं? छोड़िए हमें। कोई देख लेगा तो क्या बोलेगा। छोड़िए सर जी हमें, नहीं तो आपकी बीवी को बता देंगे।मैं जानता था कि बसंती ये सब नाटक करते हुए बोल रही थी. एक दो बार वैसे ही उंगलियां घुमाने के बाद जेठजी ने अपना पूरा पंजा मेरी पैंटी के अन्दर घुसा दिया और मेरे चूतड़ सहलाने लगे. और अब समीर का भी निकलने वाला था तो मैं उसके लंड को मुँह में लेके चूसने लगी.

तभी उन तीनों ने अपने हाथ आगे कर दिए और उन तीनों के हाथ में डिल्डो थे. नाक में मौज़ूद हीरे का लौंग वसुंधरा के दबंग व्यक्तित्व को एक गरिमापूर्ण स्त्रीत्व प्रदान कर रहा था. मेरा इशारा जेठजी समझ गए और वो मेरी गर्दन से शुरू हो गए, साथ ही उनका हाथ अब मेरे पेट को सहलाने लगा.

फिर मैंने पाइप का एक सिरा थोड़ा गीला किया और भाभी की गांड में धीरे धीरे डालना चालू कर दिया लगभग 3 इंच अंदर चला गया होगा और और दूसरा सिरा नल की टोटी में लगा दिया।भाभी बोली- सचिन, क्या कर रहे हो? कुछ तो बताओ?मैंने भाभी की बात का कुछ जवाब नहीं दिया और नल चालू कर दिया.

बीएफ पिक्चर 18 साल: मैंने जल्दी से अपने सारे कपड़े उतार दिए और अम्मी के पास बेड पर आ गया. मायरा का गीला बदन और नंगी चूत देख कर मैं भी और उत्तेजित हो गया और उसके पास चला गया.

करीब दस मिनट बाद मैंने दीदी को घोड़ी बना दिया और उनके पीछे से उनकी गांड में लंड घुसा दिया. फिर हम दोनों एक दूसरे से चिपक कर सो गए और इस किंग साइज़ बेड पर हम चारों थककर सो गए. मैंने भाभी से उसके बारे में पूछा, तो वो बोलीं- उसे नींद आ रही थी, तो उसे कमरे में सुला दिया है.

मैं राज शर्मा चंडीगढ़ से एक बार फिर आप सभी के सामने अपनी एक नई कहानी को लेकर हाजिर हूं। आप सभी ने मेरी अपनी पिछली कहानीरिश्तेदार की लड़की को प्यार में फंसा कर चोदापढ़ कर मुझे बहुत मेल व सुझाव दिए उसके लिए आप सभी का धन्यवाद।यह कहानी मेरे एक मित्र ने मुझे लिखने को भेजी है। जो मैंने उसी के कहे अनुसार कहानी बना कर पेश की है। अब इस कहानी को आप उसी की जुबानी सुनिये।हेलो दोस्तो, मेरा नाम आलोक है.

अलीना- राज मैंने तो अपने पति से तुम्हारा परिचय करवा डाला, तुम कब अपनी वाइफ से परिचय करवा रहे हो. नज़रों-नज़रों में एक-दूसरे के अंतर तक उतर जाने वाली निग़ाह से हम दोनों कितनी ही देर दो-चार होते रहे. आज मेरी चूत में ज्यादा ही आग हो रही थी क्योंकि आज बहुत दिनों बाद मुझे इतना बड़ा लन्ड मिल रहा था.