नीग्रो बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,राजस्थानी तारीफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सनी लियोन xxxx: नीग्रो बीएफ वीडियो, जीजा ने दीदी को उठा कर चित लिटा दिया और लंड को दीदी की फुद्दी में ठोकते हुए उनके ऊपर चढ़ गया.

50 साल की औरत की चुदाई

वो मुस्कुरा कर बोली- ऐसे क्या देख रहे हो?मैंने कहा- आपकी खूबसूरती देख रहा हूँ, जिसे मैं आज महसूस करना चाहता हूं. घोड़े और लड़की की सेक्सी वीडियोछोटी चाची की दस मिनट की मेहनत के बाद मैंने कहा- चाची में झड़ने वाला हूँ… कहां निकालूँ?चाची ने कहा- रुक.

करीब 3-4 मिनट तक आंटी ने मुझसे छूटने की कोशिश की पर मेरे लगातार होंठ चूसने चूचियां दबाने से शायद आंटी गर्म हो रही थी तो उन्होंने मेरा साथ देना तो शुरू नहीं किया पर विरोध बंद कर दिया. माधुरी दिक्षित के सेक्स वीडियोउसने मुझे झांटें देखते हुए देखा और वो शर्मा कर जल्दी से चाय रखकर चली गयी.

यह कहते हुए उसकी सलवार का नाड़ा मनोरमा ने खोल दिया और बोली कि इसे नीचे करो और कमीज़ को ऊपर करो.नीग्रो बीएफ वीडियो: इस बार उन्होंने अपना मंगलसूत्र अपने दांतों के बीच दबा लिया और बेड की चादर अपनी मुट्ठियों में कस के पकड़ ली और दांत भींच लिए.

शाम को ऑफिस से आते वक्त उनके घर गया तो पता चला… गाँव में कोई बीमार है तो बच्चे और उसके पति 10-12 दिन के लिए गाँव गए हैं.मैं- भाभी अगर वो ऐसा चाहती हैं और आपको कोई प्रॉबलम ना हो, तो बेशक बता दो.

बड़े बड़े लंड - नीग्रो बीएफ वीडियो

ऐसा लगता है कि इन पके आमों को दबा दबा कर मुलायम करके इनका पूरा रस पी जाऊंयूँ तो मेरी शिक्षा केवल लड़कों के स्कूल में हुई है.कैसी उम्मीद?” मैं उलझन में पड़ गया।आप के परिवार में कौन-कौन है?” उसने बात काट दी।दो भाई बहन हैं पर यहां कोई नहीं, सब भोपाल में रहते हैं। मैं अकेला रहता हूँ यहां.

जैसे गौसिया के साथ गुज़रे पल या शीला की जिंदगी के कडुवे सच।बहरहाल, इन पौने दो साल में कुछ अफ़साने बने तो सही जो बताने लायक हैं. नीग्रो बीएफ वीडियो मुझे याद है, जब मैंने हाईस्कूल पास किया था, तो सभी लोग बहुत खुश हुए थे.

तभी मैंने देखा कि शीतल और अंजलि एकदम मदहोश होकर एक दूसरे को चूम रही हैं, मैंने तुरंत ही शीतल को कहा- जाकर अपने डिलडो ले आओ.

नीग्रो बीएफ वीडियो?

मैं भाभी के मम्मों को मसलने लगा, भाभी ‘आह, ऊह…’ की आवाजें करने लगीं. इसी बीच मैंने अपनी टांगें कुछ खोल कर पूरीझांट रहित चिकनी चुतदिखा दी. मेरा कमरा फर्स्ट फ्लोर पे था और मेरे कमरे के बगल वाले कमरे में एक परिवार रहता था.

नहीं तो लड़कियाँ आजकल शादी से पहले ही अपनी चूत फड़वा लेतीं हैं।फिर जब भाभी का दर्द कुछ कम हुआ तो वो अपने चूतड़ उठाने लगीं, भैया समझ गये और फिर वो भी ऊपर से धक्के लगाने लगे. मैं दर्द के मारे चिल्लाने लगी और वो मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिये और मुझे किस करने लगा. अन्तर्वासना के चाहने वाले मेरे प्यारे दोस्तो, मेरी गर्म कहानी के दूसरे भागचुदाई की कहानी शबनम भाभी की-2में आपने पढ़ा कि भाभी ने मुझे उनके नाम की मुठ मारते देख लिया.

तभी चाचा बोले- देखो यह वन्द्या का दर्द गायब हो गया है, अब मनोहर वन्द्या की चूत में अपना लंड अन्दर बाहर करो और धीरे धीरे स्पीड बढ़ाना. मेरे हाथ स्वमेव ही ऊपर उठते चले गये, जिससे कुर्ता सर से होता बाहर निकल गया।मैं महसूस कर रही थी कि मुझमें प्रतिरोध करने जैसी कोई भावना नहीं थी। आखिर सामने मेरी वह बहन थी जो मेरे साथ ही बड़ी हुई थी और मैं जिस पर सबसे ज्यादा भरोसा करती थी।फिर उसने मेरी ब्रा भी खोल कर हटा दी।अब मेरे दूध. मेरी अंगुलियां हल्की झांटों की चुभन को महसूस करते हुए पावरोटी सी चूत को सहलाने लगी.

इतने में घंटी बजी तो पूजा बोली- आप टॉवल लपेट कर वेटर से ट्रे ले लो. ” उन्होंने ऐसा बोलकर, मेरे एक तरफ के गाल को अपने हाथों से नोंचा और बेडरूम की ओर चली गईं.

वे मरवाने के उतने ही उत्सुक थे जितने मारने के… शायद मेरा अहसान चुकाना चाहते थे।मैंने भी घुटने के बल होकर उनकी गांड में लंड पेला, उनकी वैसे भी ढीली थी, उनकी कमर पकड़ कर अंदर बाहर अंदर बाहर करता रहा। वे अपनी गांड जोर जोर से हिला रहे थे, ढीली कसती… ढीली कसती… कर रहे थे।गोरे सुन्दर थे, कभी नमकीन चीज रहे होंगे.

मैं तुमको अपना लंड दिखाऊंगा लेकिन तुम्हें भी अपनी चुत दिखानी होगी और हां मैं चूची भी पियूँगा.

लेकिन वो कहाँ मानने वाला था, उसे तो मेरे मम्मे इस तरह से लग रहे थे जैसे किसी बच्चे को उसका मनपसंद खिलौना मिल गया हो और वो उसे छोड़ना ही ना चाह रहा हो. मैं उसकी चुत चाटने लगा तो वो बोली- ये क्या कर रहे हो?मैं बोला- यही तो असली चुदाई का मजा है. कुछ देर बाद एक औरत मेरी सीट के पास आकर पूछने लगी- क्या ये सीट खाली है?मैंने हां में जबाब दिया.

कहां गायब हो गए थे? तुमको ढूँढने मैं रोज उस दुकान पर जाती थी कि शायद तुम दिख जाओ. कुछ 5 मिनट बाद मैं झड़ने को हुआ तो मैंने भाभी को नीचे लेटा दिया और उनके ऊपर आकर तेज तेज धक्के लगाने लगा. मैं भी उसके मूसल लंड से हिल हिल कर और चुत को उछाल उछाल कर चुदती थी.

आपने क्या एड्रेस किया!वगैरह वगैरह… वे कमरा आते तक लगे ही रहे।कमरे में एक ही खटिया थी, मैंने कहा- नीचे बिछा लें?वे बोले- ठीक है।हमने नीचे फर्श पर बिस्तर लगाए, मेरे पास एक ही रजाई थी, मैंने कमरे पर आते ही अपने कपड़े उतार दिए, अंडरवियर बनियान में आ गया.

अब तो मैं बिल्कुल उछल पड़ी और कसकर लाल जी के होंठ काट दिए, साथ ही लाल जी की बांहों में मैं प्यासी मछली की तरह मचलने लगी. मैंने उसकी शर्ट के बटन खोल दिए, उसने अन्दर लाल रंग की ब्रा पहनी हुई थी. अब मेरा एक हाथ उसके गले के नीचे था और एक हाथ उसके घुटनों के नीचे था.

मैंने उससे बचने की बहुत कोशिश की मगर उसने मुझे डरा धमका कर उसकी बात मानने पर मजबूर कर ही लिया. वो बोला- वन्द्या, तुम बहुत बड़ी सेक्सी आइटम हो, आज तक इतनी सेक्सी नाभि और ब्लाउज में इतने मस्त चूचे मैंने आज तक नहीं देखे, तुम्हारी कमर बहुत सेक्सी है. उन पाठकों से जो मुझे कोई कॉलगर्ल, रंडी या दलाल समझते है, वो कृपया मुझे कोई मेल भेजने का कष्ट ना करें क्योंकि मैं उन सभी मेल्स को बिना पूरा पढ़े डिलीट कर देती हूँ और आगे भी यही करूँगी.

तो पूजा ने गांड मरवाने से मना कर दिया, वो बोली- आज तक गांड में नहीं किया और अभी जल्दी से कर लो, अभी मैं ये करवाने नहीं आई थी.

बेड की चादर पर भी ब्लड लग गया था जिसे हिमानी ने बाथरूम में ले जाकर तुरंत धो दिया और उसपर टोवल डाल दिया. माँ पापा के जाने के बाद अगले दिन मैं दीदी के घर गया, तो पता चला कि उनकी देवरानी कहीं गयी हुई है.

नीग्रो बीएफ वीडियो कैसी बात कर रहे हैं आप?” वह एकदम से भड़क गयी और उसने फोन काट दिया।मुझे लगा गड़बड़ हो गयी. मैं खुद ही पता करूँगी ऑफिस में जाकर किसी से कि क्या प्राब्लम है पापा को.

नीग्रो बीएफ वीडियो इज ईट स्पंजी?मैंने कहा- ओह माय गॉड आई एम स्पीचलेस।मैंने दूसरा हाथ उसके पेट पर फिराया तो उसकी हल्की सी सिसकारी निकल गई- आह ह ह!जैसे आज कुदरत ने अपनी सारी मेहरबानी इकट्ठी करके मुझ पर लुटा दी थी।मैडम का हाथ पैन्ट के अंदर से मेरे लिंग को सहला रहा था जिसमें उसे शायद परेशानी हो रही थी, मैंने दूसरे हाथ से पैन्ट को खोल दिया. मधु और उसके यार की चुदाई मेरी आंखों के सामने घूमने लगी, राज के लंड को देखने के बाद सेक्स की मेरी इच्छा और बढ़ने लगी.

उसने हां बोलने में एक मिनट भी नहीं लगाया, बोली- मैं रोज़ ही उसे तुम्हारे कमरे में भेज दूँगी यार.

ब्लू पिक्चर वीडियो में सेक्स वाली

हम दोनों एक कैफ़े में पहुँचे, वहां पर मैंने देखा कि मेरे घर की कार पार्किग में खड़ी है. सोनिया तो ऐसे बेड पर पैर खोल कर ऐसे लेट गई, जैसे जन्मों से चुदासी हो. मैं आंटी के गालों को चूमने लगा मैंने कहा- नहीं आंटी, मत जाओ प्लीज़, मत जाओ! मैं आपसे बहुत प्यार करता हूं, मैं आपको बहुत सारा प्यार करूंगा.

और ना ही किसी औरत को गुदा मैथुन से मजा आता है अपितु इससे उसे तकलीफ ज्यादा होती है, और फिर भी यदि आपको यकीन ना आये तो गुदा यानि गांड तो आपके पास भी है एक बार प्रयोग करके देख लो खुद समझ आ जायेगा. मैं उसकी टांगों के बीच में आ गया और अपने लंड को चूत पर सैट किया और एक जोर का झटका मार दिया. तुम चाहो तो मुझे गाली भी दो, उल्टा मुझे और अच्छा लगेगा अपने लिए गाली सुनने में!मैंने कहा- बाबू, मैं हमारी मम्मी को भी ठोकना चाहता हूँ.

मैंने देखा कि मुँह से चाटते ही कुत्ता कुतिया के ऊपर चढ़ गया और अपना लंड उसकी चूत में फंसाने लगा.

मैं एक बड़ी कंपनी में अच्छी पोस्ट पर हूँ, इस वजह से काम बहुत रहता है. रात के 3:30 बज चुके थे लेकिन ना तो उन्हे नींद आ रही थी और ना ही मुझे. मैं भी उससे चुदवा कर खुश थी, मैं उसको बोली- मैं भी चुदवाना चाहती थी.

उसके बाद मैंने अपना लंड निकाल कर उसकी गांड पर रखा तब उसने कहा- ये क्या कर रहे हो?मैंने कहा- जानू, तुम्हारी गांड बहुत मस्त है, मैं तुम्हारी गांड मरूँगा. मैंने देखा बुआ कुछ बोल नहीं रही थीं तो मैंने लगातार दो शॉट मारे और पूरा लंड बुआ की चूत में डाल दिया. ज़ोर ज़ोर से किलकारियां मारना, चोदन सुख में मदमस्त होकरआहें भरना और चीखें निकालना, बार बार मेरा नाम लेकर चिल्लाना, ज़ोर ज़ोर से धक्के ठोकने की गुहार लगानाउसकी आदत है.

उन दोनों की चूत और गांड में मेरा लंड एक ही झटके में घुस गया था और उन दोनों (काजल दीदी और कविता) को मैंने चोदा और तीनों की एक एक बार गांड भी मारी. उनके दोहरे मतलब वाले शब्दों का मर्म मैं समझ गया, मैंने कहा- मुझे तो केले का रस पिलाना है.

मैंने भाभी को पटाया भी है और उनके घर में जा कर उन्हें चोद भी दिया है. वो मुस्कुरा कर बोली- जान, अब भी मन नहीं भरा?मैंने कहा- तुमसे मन भर जाए, ऐसी तुम चीज ही नहीं हो. और तभी शीतल ने कहा- अंजलि दीदी, आप तो बस पी रही हो, इस प्रभा के साथ कुछ कर भी नहीं रही हो, अरे जो दिल करे वो करिये आप दोनों, अपना ही माल समझ के!अंजलि सोचने लगी.

मैंने कहा- मैं तुमसे अकेले में मिलना चाहता हूँ, जहां तुम ओर सिर्फ में ही रहूँ.

उसी वक्त मैंने सोच लिया कि आज मौका अच्छा है, घर पे कोई नहीं है, आपा को चोदने का इससे अच्छा मौका नहीं मिलेगा. वो दस मिनट बाद आई, उस समय उसकी लिपस्टिक होंठों से ऐसे हो चुकी थी कि किसी ने उसको बुरी तरह से चूमा चाटा है. हमारी आँखों में नींद कहाँ थी, हम तो इंतज़ार कर रहे थे कि सब सो जाएं.

मैंने जैसे ही उनके निप्पल को मुँह में लिया, भाबी की कामुक सिसकारी निकलने लगीं. फिर जब पद्मिनी को अपने बापू के मुँह से शराब की बू आयी, तब पद्मिनी ने झूठमूठ के नींद में करवट बदलने का नाटक किया.

इससे मैं समझ सकता था कि उसके दिमाग में यही था कि अभी जो जन्नत उपलब्ध है, खुल के जी लो. तभी मौका देखते हुए मैंने भाभी के होठों पे किस कर दिया।शगुफ्ता भाभी घबरा कर एकदम से पीछे हो गयी और मेरा हाथ पकड़ लिया और मुझे घूरने लगी।मेरी भाभी की सेक्स कहानी के अगले भाग में पढ़ें कि कैसे मैंने पड़ोसन भाभी को प्रेम औरवासना के जाल मेंफंसा कर चोदा. उसका अपने ब्वॉयफ्रेंड से झगड़ा हो गया है और वो किसी लंड से चुदने के लिए मुझसे कह रही थी.

देवर भाभी की बीएफ चुदाई वाली

वहाँ मेरी मुलाकात प्रिया से हुई जो कि मेरे जीजा के बुआ की लड़की थी.

मैंने धीरे से आंटी के कान में कहा- आंटी आप पूरी नंगी हो गई हो, मुझे भी नंगा कर दो ना. पर मेरा मन उसकी बॉडी पर टिका था, वैसे भी मज़ा तो लंड को देने और चुत लेने दोनों में ही आता है. उसके परिवार वाले सुबह 8 बजे गांव के लिए निकल गए, तभी मेरे पास उसका फ़ोन आया कि मैं अब उसके घर आ सकता हूं.

हम सब अपने मोबाइल में फेसबुक चलाते हैं और मेरी कुछ सहेलियां भी हमेशा अपने मोबाइल में फेसबुक चलाती थी और हमेशा बिजी रहती थी. मैं भी होश में आते हुए और खड़े होते हुए बोला- भाभी वैसे तो ये आपके भी काम की चीज नहीं है, जब प्राकृतिक संसाधन उपलब्ध हैं, तो कृत्रिम संसाधन की क्या जरूरत. ब्लू पिक्चर सेक्सी गानाचाबियों से दबा दबा कर खजाने का रास्ता निकलता है और जितनी जल्दी यह समझ जाओगी, तेरे लिए उतना ही अच्छा रहेगा.

उसने कहा कि कैसे एक नंगी लड़की को देख कर कोई उसे नहीं चोदे बिना रह पाएगा. पद्मिनी ने आसमान की तरफ अपनी आँखों को उठाकर कहा- उफ़ बापू, आप आज मुझको देर करवा ही छोड़ोगे आप, अब क्या है बापू.

कुछ देर बाद में मैं उसके ऊपर से उठ कर उसकी साइड में लेटा तो मैंने देखा मेरे लंड पर उसकी चूत से निकला खून और मेरा सफेद वीर्य लगा था. उधर बाथरूम में रिंकू भाभी भी अपनी चूत में ज़ोर ज़ोर से उंगली कर रही थीं और उनके मुँह से ‘आह ओऊऊऊ ओह यस आआआह…’ की आवाज़ और तेज होती जा रही थी. यानि मेरी तरफ जहाँ खड़ा होकर अपनी मॉम और उस आदमी का ये वासना भरा खेल देख रहा था.

अब आगे:मैंने भी चुदाई के समय पूरा मजा दिया, थका नहीं, उसके लंड को गांड से ऐसा चूसा जैसे कोई मुंह से चूस रहा हो!वह ‘अरे सर सर! कहने लगा, मस्त हो गया, फिर अलग हुआ और बैठ गया।हम सब ने कपड़े पहने हाथ मुंह धोए फ्रेश हुए।मैं पैन्ट पहनने को हुआ, मैंने कहा- चलो सब लोग चाय पिएं, नाश्ता करें।तो सुमेर मुझे घूर कर देखने लगा, देवेश मुस्कराने लगा. उसके मुहल्ले के सारे लड़के उसके दीवाने थे मगर वो अपने मुहल्ले में किसी को भाव नहीं देती थी. मैं अभी सोच ही रहा था कि कैसे चैक करूँ कि ये सो रही है या गाने सुन रही है कि तभी शबाना का सिर मेरे कंधे पर आ कर टिक गया.

हम दोनों ने बहुत ही लूज टॉप खरीदे थे, जिससे ज़रा सा भी झुकने में पूरे मम्मे घुंडियों सहित नज़र आ जाते थे.

उसकी आंखों से आंसुओं की धारा बहने लगी, फिर भी वो कह रही थी- आज चूत गांड एक कर दो, फाड़ दो सब कुछ. मैंने कहा- ठीक है, गाड़ी निकालो और तुम अभी मेरे साथ मार्केट में चलो.

इसलिए मुझे एक साल पहले ही अपनी पढ़ाई अधूरी छोड़ कर कानपुर आना पड़ा ताकि मैं पापा का बिजनेस सीख सकूँ. कुछ समय बाद ही उसके पियक्कड़ पापा के चिल्लाने की आवाज़ आयी तो मैं दौड़ के ऊपर गया और मुन्नी के साथ मिल कर उन्हें पकड़ कर एक कमरे में बंद कर दिया. मेरी साली की चूत रस से बिल्कुल तर बतर थी, इसलिये मेरा लौड़ा बड़े आराम से उसके भीतर घुसता चला गया और सुपारा जाकर रेखा रानी की बच्चेदानी को चूमने लगा.

वो हर धक्के का कुछ इस तरह स्वागत कर रही थी, जैसे कोई बहुत दूर से आया दोस्त हो. मैं मानती हूँ कि छोटे और पतले लंड से दर्द कम होता है लेकिन वो बच्चेदानी तक नहीं पहुँचता है और जब तक लंड बच्चेदानी तक ठोकर न दे, तब तक लड़की को मजा नहीं आता इसलिए थोड़ा सा दर्द सहन करना जरूरी होता है. क्या दीदी, मुझसे क्या शर्माना, दरवाजा खोलो ना… मुझे तुम्हें देखना है.

नीग्रो बीएफ वीडियो मेरा आधा लंड अभी चुत से बाहर था, हम दोनों ही जल्दी में दरवाज़ा बंद करना भूल गए थे. रीना अपना पारदर्शी गाउन उतार कर नंगी हो गई, उसने ब्रा चड्डी कुछ नहीं पहन रखा था.

सेक्स बीपी डॉट कॉम

मैं उसके मम्मों को कपड़ों के ऊपर से ही दबाने में लग गया और साथ ही मैं उसके होंठों को चूम रहा था. उसी दिन शाम को मुझे अंजान नंबर से मैसेज आया- हाय…तो मैंने वापिस मैसेज किया- हैलो…फिर मालूम हुआ कि ये उन्हीं भाबी जी का मैसेज था तो बस ऐसे हाय हैलो करते करते हमारी बात शुरू हुई. वो एक प्यारी सी स्माइल दे कर जाने लगी, तो मैंने पकड़ कर बेड पर खींच लिया.

मैंने बेल बजायी, दरवाजा खुला और करीब 35 साल की एक गोरी लेडी ने दरवाजा खोला. फिर कुछ मिनट बूब्स और होंठों को चूसने के बाद वो इतनी गर्म हो गई थीं कि उनका सफ़ेद जिस्म लाल हो गया था. जापान गर्लआखिर मेरी तमन्ना पूरी होने वाली थी, बरसों की प्यास बहुत जल्दी बुझने वाली थी.

फिर नीचे बैठकर उसने पद्मिनी की चूत और जाँघों में साबुन लगाया और उससे घूमने को बोला.

तो मैंने अपना फ़ोन निकाला और उसमें अपना फ़ोन नंबर लिख दिया, जोकि उसको दिखाने के लिए था. पापा ने उसके मम्मों को दबा दबा कर पीना शुरू किया, जैसे पड़ोस वाली चाची का लड़का उनका दूध पीता है.

वो बोली कि पीछे गर्मी लग रही है, तो मैंने एसी के कारण उसको आगे की सीट पर आने को कहा और वो आगे आ गई. मैंने देखा पूजा अकेली है और यहाँ सही मौका है चौका मारने का।मैंने एक कोल्ड्रिंक ली और पूजा को ऑफर करने उसके पास बैठ गया और बात करने लगे. मैं उससे चुदवा कर खुश थी और उसने मुझे चोद कर मुझे खुश कर दिया था, मैं उससे चुदवा कर एकदम तृप्त हो गयी थी.

भाबी मुझे जोर जोर से किस करने लगीं और मेरे होंठ चूमते हुए काटने सी लगीं.

मैंने कहा- मॉम आप एक बिकिनी भी लाना और कभी कभी घर में वो ही पहनना, पर कपड़े सिर्फ तभी पहनना, जब कोई आए. ऐसा करते हुए मैंने कुछ ही देर में उसका पानी निकाल दिया और फिर उसके पानी को अपने मुँह में ले कर पी गया. मेरे पास मोटे कपड़े थे, जब मैंने उनको डालना शुरू किया तो बोली- क्या यार, तुम भी कहाँ की दकियानूसी हो.

गुजराती ऑंटीतभी मेरा मुठ निकला और इतना तेज गति से निकला कि उसकी बेटी मेरे सामने थी, उसकी चुची पर पिचकारी लगी. मैं तुमको अपना लंड दिखाऊंगा लेकिन तुम्हें भी अपनी चुत दिखानी होगी और हां मैं चूची भी पियूँगा.

ब्लू सेक्सी के वीडियो

मैं सब समझ रही थी कि उसको मुझे कोई प्यार नहीं है, उसे तो मेरी चूत और गांड से प्यार है. एक दूसरा लड़का बोला- हमें तो तुम्हारी मैडम ने बताया था, तुम बहुत अच्छा डांस भी करती हो और मुर्दे लंड में भी जान डाल देती हो. तो नूरी खाला ने कहा- आमिर, मेरे दूल्हे, धीरे करो, बहुत दर्द होता है.

आंटी ने मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत के छेद पर सेट किया और इशारे से कहा- घुसा…मैंने चूत के छेद पर धक्का मारा तो किसी अधिक कठिनाई के बिना मेरा लंड उनकी चूत में घुस गया. मैं दिनेश को, जो मेरे सामने था उसे पकड़ने लगी और उसको बोली- दिनेश कुछ करो. आंटी ने कहा- प्रशांत… आह्ह्ह्ह चोद… और जोर से चोद! मैं झड़ने वाली हूं… तू भी मेरे साथ झड़ जाना! उम्म्म पूरा दम लगा कर चोद… चोद दे मेरी चूत को तू! आह्ह्ह् ऊईईईई… प्रशांत बस मैं झड़ने वाली हूं.

मैंने कहा- आंटी, फिर पोर्न देख कर आप लोग क्या करते हो?आंटी ने कहा- क्या करेंगे… वही जो हस्बैंड वाइफ करते हैं. फिर मैंने मम्मी को बताया कि गाड़ी गिर गई थी और गाड़ी बनवाने में लेट हो गया. आर्थर ने उसके नजदीक पहुँचते ही उसकी दूधिया टांगें जकड़ लीं और उनको अपने होंठों से चूमने लगा.

फिर 5 मिनट के बाद जब वो वापस आयी, तो मैं तो उसको बस देखता ही रह गया. अब मैं बोला- जान क्या मुँह में ही निकलवा लोगी?तो काजल ने तुरंत मुँह से लंड निकाल दिया और बोली- राहुल, ये मेरा पहला सेक्स है.

वो ऐसे किस कर रही थीं कि मैं अपने आपको रोक नहीं पाया और उन्हें अपनी बांहों में पकड़ लिया.

मुझे दरवाजा बंद करने का खयाल नहीं आया और तभी भाभी आ गई, उन्होंने मुझे इस हालत में देखा और जोर से बोली- क्या कर रहे हो यह तुम?मैं डर गया और भाभी से माफी मांगने लगा. देवर ने भाभी की चूत चाटीवो यह था कि जहाँ सामने वाली पहले पानी छोड़ती थी, वहाँ मैंने पहले कॉन्डोम भर दिया. पंजाबी झवाझवीक्योंकि उसके चेहरे में वो बात नहीं थी, वो गोरी तो थी लेकिन ठीक ठाक ही थी, उसके बूब्स भी छोटे छोटे थे. अब मेरा फ्रेंड नीचे लेट गया और मेरी वाइफ उसके खड़े लंड पर धच से बैठ गई और नीचे ऊपर होने लगी.

धीरे धीरे मेरी रफ़्तार भी मैंने बढ़ा दी, मैं आंटी को पूरे जोर के साथ चोद रहा था, पूरे कमरे में फच फच थप थप की आवाज में गूंज रही थी, साथ ही आंटी की सिसकारियां भी गूंज रही थी.

लेकिन यह क्या… बमुश्किल 2 से 3 मिनट बीते होंगे कि बुड्ढे का तो काम तमाम हो गया और किसी जिंदा लाश की तरह मैडम पर निढाल हो गिर गया।अब मेरी हसरत तड़पती हुई उस काम की देवी के लिए और प्रगाढ़ हो गई, मैडम खड़ी हुई उसने वहीं पड़े छोटे से तौलिए से अपनी योनि को साफ किया और बाथरूम की ओर चली गई. वो बोला- हम लंड वालों का प्यार ही ऐसे होता है कि मम्मों को तब तक दबाओ जब तक वो लाल या नीले ना हो जाएं. कुछ देर के बाद आपा मुझसे बोलीं- यह अच्छा नहीं हुआ, मैंने नहीं सोचा था कि मेरा भाई ही पहली बार मुझे दुल्हन बनाएगा, मेरी सील तोड़ेगा.

लालजी ने पूछा- वन्द्या दुल्हन कौन बनेगी?मैं बोली- लालजी दुल्हन मैं बनूंगी और कौन बनेगी?लालजी बोला- तब ठीक है वन्द्या. आपको कहानी पसंद आई या नहीं, मुझे नीचे दिए गए ई-मेल पते पे जरूर मेल करें. हाँ, कुछ सोचने से पहले बाकी लोगों के बारे में हो सकता है कि तुम किसी और को भी जानते हो!बस इतना बोलकर वो चली गई.

नंगी चुदाई वीडियो दिखाइए

और कल मैं कुछ अलग इंतजाम करती हूँअब तक सुबह के 4 बज चुके थे तो वो जाने लगी. उनकी बेकरारी देखके मुझे अनायस ही हल्की सी हंसी आ गई और मैंने कहा- भाभी सब्र रखो. उसके बाद रेखा रानी की चूत, जांघों और झांट प्रदेश को चाट के साफ किया.

आह आह आह वाह वाह वाह… क्या मदमस्त जवानी थी! बदन ऐसा जिसको देख कर साधु महात्मा सारा महात्मापन भूल के लंड को हिलाने लग जाएं.

मैंने उसकी चूत के होंठों को अपने होंठों से खींच कर उसके अन्दर किस किया तो उसने भी लंड को मुँह में ले लिया.

जब मैं जाने लगी तो वो बोला- बैठिए कुछ ठंडा गरम लेंगी क्या?मैंने इठलाते हुए झुक कर मम्मे दिखाए और कहा- आपके पास नाइट ड्रिंक तो होगी?उसने मेरे निप्पल देखते हुए जीभ लपलपाते हुए कहा- आप भी क्या बात करती हैं, उसके बिना तो मैं रह ही नहीं सकता. चूत की मोटी फांकों में अपना मूसल सा लंड रखा और उसकी जांघों को पकड़कर जबरदस्त चुदाई शुरू कर दी. हेलो वीडियो डाउनलोडउसकी चूत पर उंगली रखी और ऊपर से उसे सहलाया तो वो फिर से चिंहुक उठी.

दीदी भी बड़ी मस्ती से अपने मम्मों को मुझसे चुसवाने का मजा लिए जा रही थी. मैंने वैसलीन की शीशी उठा कर लंड पर लगा ली और कुछ उनकी चूत पर भी मल दी कुछबुआ की चूत में उंगलीडाल कर भी चूत की गर्मी का मजा लिया. दो दिन पहले उसका फोन आया कि वो वापिस आ गई है और मुझे मेरी माँगी चुत को ले कर आएगी.

तूने तो अब तक दो दो लंड लिए हैं?वो बोली- मादरचोद तेरे लंड में ऐसा जादू है कि मैं पागल हो गयी हूँ, आज तक मुझे ऐसा लंड नहीं मिला. मैं बाहर आ गई और बोली- अरे लाल जी, तू कब आया?वह छोटा सा बैग लिए था, उसने उसे रखा और बोला- अभी बस चला ही आ रहा हूं वन्द्या.

उधर वो इस कदर तड़फ रही थी कि मुझे समझ ही नहीं आ रहा था कि साली लंड चूसने में तो माहिर लग रही थी, लेकिन अभी तक सील पैक निकली.

मैंने उसके मम्मों को अपनी हथेली में भरा और मसलते हुए चुदाई का मजा लेना शुरू कर दिया. उसने मेरे मुंह में जुबान घुसाई तो मैंने उसके मुंह में जुबान घुसा दी जिसे वह चूसने लगा।जब मैं वापस अच्छे से गर्म हो गयी तब वह उठ कर उस पोजीशन में आ गया जिसमें सामने बैठ कर योनिभेदन करते हैं. ” उन्होंने ऐसा बोलकर, मेरे एक तरफ के गाल को अपने हाथों से नोंचा और बेडरूम की ओर चली गईं.

च के फायदे फिर मैं सावधानी पूर्वक अपने लंड को पत्नी की आर्थर के लंड से ठसाठस भरी गांड के एक किनारे से किसी झिर्री के माध्यम से अन्दर घुसेड़ने की कोशिश करने लगा. छोटी चाची की दस मिनट की मेहनत के बाद मैंने कहा- चाची में झड़ने वाला हूँ… कहां निकालूँ?चाची ने कहा- रुक.

कुछ वो बहुत दिनों से चुदी ना होने के कारण चुत भी खड़े हुए लंड को देख कर पानी पानी होती जा रही थी. मुझे नहीं पता था कि उसकी माँ नीलू दरवाजे के पास से मुझे देख रही थी. साली इतनी छोटी उम्र में न जाने कितने बड़े बड़े लंड से चुदवा चुकी है कि मेरा लंड आराम से घुस रहा है.

ब्लू सेक्सी गांव वाली

कुछ समय बाद शादी में पहुंचा और खाना खा कर दोस्त के रूम में उसके बेड पर लेटा हुआ था. जैसे ही लंड धक्का मार कर बाहर आना चाहता था, चूत उछल कर उसे बाहर जाने से रोक देती थी. तब तक मेरी चुत इतनी गरम हो चुकी होती थी कि वो लंड के लिए भीख मांगती थी.

फिर एक दिन मुझे पता चला कि वो फेसबुक पर है, मैंने उसे फेसबुक पर फ्रेंड बना लिया. कुछ समय बाद शादी में पहुंचा और खाना खा कर दोस्त के रूम में उसके बेड पर लेटा हुआ था.

इसके बाद उन्होंने कहा कि कब तक मंगवा दोगे?तो मैंने कहा- भाभी आज ही आर्डर कर देता हूँ.

मैं सुन्न हो गया… मानो मैं कुछ हूँ ही नहीं! मैं तो बेवजह ही उछाल भर रहा था, मंजू तो मुझे अपना पति समझ रही थी. मेरी कामुक कहानी के पिछले भागप्रियंवदा: एक प्रेम कहानी-3में आपने पढ़ा:मैडम ने आगे बढ़कर मुझे गले से लगा लिया. जिस समय दीदी नहाती थी, उस समय हमें और पापा को बाहर आना पड़ता था या जब उसे कपड़े पहन बदलना होता था तो वो हमें बाहर जाने को कहती थी और दरवाजा बंद करके कपड़े बदलती थी.

मैंने बोला- ये क्या है?तो भाभी बोलीं- तुम्हारे लिए स्वीड डिश यानि केला है. कई बार मैंने उसकी सीढ़ियों में भी चुत को चाट कर खड़े खड़े भी चुदाई की. उनकी आँखें बंद थी, मैंने उनके होंठों को छोड़ कर चेहरा ऊपर किया तो खाला ने आँखें खोली और मुस्करायी.

मेरी गे स्टोरी के पहले भाग में अभी तक आपने पढ़ा कि मैं रेलवे स्टेशन पर गश्त लगा रहे पुलिस वाले पर लट्टू होकर पीछे-पीछे चल पड़ा। टॉयलेट के सामने से गुज़रते हुए वो अचानक टॉयलेट की तरफ बढ़ने लगा, मैं भी तेज़ी से कदम बढ़ाते हुए यूरीनल में घुस गया.

नीग्रो बीएफ वीडियो: भाभी ने जैसे ही ये जाना कि मैं लंड से कुंवारा हूँ तो वे जरा खिल सी गईं और बोलीं- ठीक है. मैंने तुरंत अपने होंठ नेहा दीदी के होंठों पर रख दिए और नेहा दीदी को किस करने लग गया.

मैं भी उसके पास बैठ कर उसे चूमने लगा, जिससे उसकी साड़ी नीचे सरक गई थी. और असी ही दिन छिपाने लगा लेकिन बारिश तो कहा रही इथी कि आज ही पूरी बरसूँगी. यह सुनकर नेहा दीदी ने बहुत ही कामुक स्माइल दी और कहा- तुम भी स्मार्ट लग रहे हो.

उसके लंड चूसने से मुझे मजा बहुत आने लगा और मैं उसकी चुत में उंगली करने लगा.

वहाँ पर उसे कोई नई लड़की मिल गई थी, जिसके मां बाप कनाडा में रहते थे और उसको पढ़ने के लिए भारत में भेजा था. मैंने कहा- आपका कमरा मैंने नहीं देखा, कैसे आऊं?उसने मुझे एड्रेस दिया और कहा कि इस एड्रेस पे आओ, मैं तुम्हें घर के बाहर दिख जाउंगी. इस घटना के बाद मैं चुप हो गई और अपने पासपोर्ट बन कर आने की राह देखने लगी.