बीएफ वीडियो देखे वाला

छवि स्रोत,दहावी सेक्सी पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

హీరోయిన్ ఫోటోలు: बीएफ वीडियो देखे वाला, वो बोली- तुम्हारे जैसे मुस्टंडे सांड से चुदने के बाद कोई औरत कहीं नहीं जा सकती मेरी जान.

सेक्सी फिल्म की चुदाई वीडियो

इधर डर भी लग रहा था कि कहीं कोई गांव का आदमी न आ जाए, वरना होली से पहले ही मेरी खून की होली कर देगा. हिंदी ब्लू ब्लू पिक्चर सेक्सीउधर सुरेश अंकल, वह मेरी चूत के दीवाने थे, वो उधर मेरी चूत पर पूरा लंड डाले.

”कैसे देखोगी? जैसे आज मेरे मोबाइल में तुझे मालूम पड़ गया, वैसे तेरे मोबाइल से किसी को पता चल जाएगा तो प्रॉब्लम हो जाएगी. बुर की चुदाई सेक्सी मेंअंकित भावुक होते हुए बोला- आज तुमने मुझे वो आनन्द दिया है जान, जो मैं तुम्हें बता भी नहीं सकता.

जिस समय शादी हुई, भाई साहब 35 वर्ष के और भाभी मात्र 21 वर्ष की थीं.बीएफ वीडियो देखे वाला: हम दोनों सखियाँ बहुत थक गई थी, हमें बहुत दर्द भी हो रहा था पर इस हॉट चुदाई से मैं पूरी तरह खुश हो गयी थी.

अब आगे:मैंने दीदी के सर को अपने लंड पर दबा दिया और दीदी भी चुपचाप लंड को चूसने लगी.मैं इधर अकेली बच रही थी तो उसके पापा ने कहा कि तुम भी अपने एक जोड़ कपड़े रख लो, आज चली चलो, कल वापस चली आना.

खानदेशी सेक्सी बीपी - बीएफ वीडियो देखे वाला

चाचा मेरी चूची को अब अपने मुख में लेकर चूसने लगे, मैं सिसकारियाँ भर रही थी- आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह ओह्ह ओह्ह!और वो मेरे निप्पल को चूस रहे थे और दूसरी चूची को मसल रहे थे.अगर अभी पांच मिनट में अगर तू न आती तो मैं निकल जाता घर!वह बोली- ओ के सॉरी बाबा, आगे से ऐसे नहीं करुँगी.

उसने मुझे ‘बाय’ बोला और कार से उतर गई और अपना नंबर भी दे दिया।यह शहर मेरे लिए नया है और मुझे रास्ते भी ज्यादा नहीं पता है, मैंने उससे पूछा- रात के इस वक्त कहीं कोई खाने का होटल या रेस्टोरेंट खुला मिल सकता है क्या?मैं डांस करते-करते इतना थक गया था कि भूख लग आई थी। उसने मुझे 3-4 बार ‘आई होप’ रेस्टोरेंट का रास्ता समझाया. बीएफ वीडियो देखे वाला मैं अपनो दांतों से अपने नीचे वाले होंठ को दबाने लगी और सिसकारियां भरने लगी.

मैंने उससे उसकी नौकरी से सम्बन्धित बातें पूछी, उसने घर परिवार के बारे में पूछा.

बीएफ वीडियो देखे वाला?

बहन ने पेंटी नहीं पहनी थी, तो मैंने बहन से कहा- बहन क्या तुम पेंटी नहीं पहनती हो?तो वो बोलीं- अरे बुद्धू तुम आने वाले हो, ये बात मुझे मालूम थी ना, इसलिए तुम्हारे स्वागत के लिए निकाल रखी है. मैंने गुस्से में कहा- पूजा, जल्दी अपना चैलेंज पूरा करो वरना नहीं पढ़ाऊंगा. जब मैंने दरवाजा खोलने की कोशिश की तो पता चला कि दरवाजा अन्दर से लॉक है.

महेश ने मुझसे कहा कि बर्थ डे उसके साथ मनाऊं और किसी तरह उसके साथ रुक जाऊं, वो उस दिन कुछ खास करना चाहता था. ”अगले ही पल ब्रायन ने अपना लंड मेरी छोटी सी चूत में पेवस्त कर दिया. मोना- मैं मेरे पति को धोखा नहीं दे सकती और तुम्हारे बिना रहा भी नहीं जाता.

मैंने जल्दी से दरवाजा बंद किया और तेजी से मधु की नंगी गाण्ड को याद करके मुठ्ठ मारने लगा। जल्द ही मेरा माल निकल गया और मैं नहाने घुस गया।मित्रों ये मेरे जीवन की एकदम सच्ची घटना है जिसमें मैंने सिर्फ वो लिखा है जो वास्तव में मेरे साथ हुआ था।मेरी एडल्ट कहानी आपको कैसी लगी, आप सभी पाठकों की प्रतिक्रियाएं आमंत्रित हैं।[emailprotected]. अब किशोर ने उसे कमर से उठा कर घुमा दिया और उसके छोटे से चूतड़ दबाने लगा. पुलकित ने पहले मंजरी को बेड पे बिठाया, उसके पाँव नीचे ही लटक रहे थे, फिर उसने मंजरी को लेटा दिया.

सब मेरे साथ ही एंजाय करने वाले हैंउस दिन शाम को वो मुझे अपनी बाइक पर बिठा कर अपने रूम पे ले गया. मुझे अपनी बहू की कैमल टो बहुत सेक्सी लगी तो मैंने अपना स्मार्ट फोन निकाल कर उसकी पैंटी की एक फोटो खींच ली.

भाभी का रंग एकदम गोरा था, मारवाड़ी लहंगा चुनरी पहन कर वो मस्त देसी माल दिखती थीं.

और उन्होंने जैसे तैसे तौलिया लपेटी तो मैं अन्दर गया तो देखा कि चाची का शरीर आधे से ज्यादा दिख रहा है, उनके चूचे बड़े होने के कारण तौलिया में छुप नहीं पा रहे थे और उनकी चिकनी जाँघें ऊपर तक साफ दिखाई दे रही थीं.

मैं जब भाभी के घर पहुँचा तो भैया जा चुके थे और भाभी खाना बना रही थीं. आज पहली बार उन्हें इस रूप में देखकर मुझे कुछ होने लगा, मैं तो जैसे उनकी चुचियों में खो गया और इधर मेरे लंड महाराज पेन्ट में सलामी देने लगे. मैंने कहा- अभी कैसे बुला सकती हूं उसे? वो पापा का मोबाइल दिखा कर बोली- अभी कॉल करके बुलाओ प्लीज दीदी.

साथ में एक ऊँची हील का चमड़े का बूट पहना था जोकि लम्बाई में उनकी जांघ तक था और दीदी का बाकि पूरा शरीर नंगा था. कमर 28 की और कूल्हे 36 के थे।उसको देखते ही मेरा लण्ड खड़ा हो गया उसका नाम रोशनी था। बातों ही बातों में हमारी अच्छी दोस्ती हो गई। वो शाम मेरी अमेरिका में बिताई सबसे अच्छी शाम थी। रात के दो बजे जब नाईट क्लब बंद हुआ. जब कुछ देर बाद खून बहना बंद हो गया, तब जा कर उन्होंने मुझे एक क्रीम ला कर लगाने को दी.

ऐसे आदमी को अपने वश में करना बहुत मुश्किल काम नहीं था, ये बात मयूरी अच्छे तरह से जानती थी.

क्योंकि कमरे में मेरी बीवी मादरजात नंगी बैठी हुई थी और उसके सामने तीन मर्द खड़े थे. वो मेरे पड़ोस में रहती थीं और हमारे घर से उनके अच्छे सम्बन्ध थे, तो हमारे घर आना जाना होता था, पर मैं उनसे ज्यादा बात नहीं करता था. मुझे अन्दर बैठा कर वो मेरे लिए पानी लाईं ओर मेरा हाल चाल पूछने लगीं.

हमने देर रात तक बातें की और फिर ठीक रात के 12 बजे रोशनी और भैया को रूम में अकेला छोड़ कर नीचे चले आए. लेकिन फिर वही ‘If the wishes were horses… beggars would ride!’तो मैं दिल के अरमान दिल में ही दबा लेता. एक पतिव्रता बीवी और दो बच्चों की माँ अपने शौहर से बेवफाई करके उसी के घर में एक गैर मर्द, जो गैर मज़हबी भी था, उसके साथ चुदाई करवा रही थी.

उसने पूछा- तुम क्या देख रहे हो?मेरे मुँह से निकल गया- कुछ नहीं भाबी.

इसकी बहुत पतली पतली ट्यूबलाइट जैसी जांघ थीं और दबे हुए पुठ्ठे थे, पर देखो अब कैसे ठुमक ठुमक कर चलती है. उस रात भैया घर में नहीं थे, वो अधिकतर रात में काम से बाहर ही रहते थे.

बीएफ वीडियो देखे वाला देवर जी के लंड ने सरसराते हुए योनिद्वार को फाड़ कर अन्दर तक भेद दिया. मैं गांव जा रही थी इसलिए बिल्कुल सिंपल जीन्स टॉप पहना था, जिसमें मेरे शरीर का कोई भी अंग नहीं दिख रहा था.

बीएफ वीडियो देखे वाला हाय… कितनी मस्त कसी हुई टाइट चूत है मेरी अदिति बिटिया की!” मैंने जोश में बोला और फुल स्पीड से अपनी बहू को चोदने लगा. मेरे हाथ का अपनी नंगी चुची पर स्पर्श होते ही ममता जी के मुँह से इईई… श्श्शशश… ओय… इइईई…” की आवाज निकल‌ गयी और वो सिहर गयी… उन्होंने मेरे हाथ को पकड़ लिया और नहीं… अब बहुत हो गया… बस अब…” कहते हुए मुझे हटाने लगी.

साले उस दिन शकूर का लंड चुपचाप ले गए कि नहीं? उनका हथियार तो मेरे से ड्योढ़ा है.

बंदरों की सेक्सी मूवी

कुछ पलों बाद मैंने देखा कि ममता आँख बंद करके पूरे मज़े में है और उसने अपनी जांघों को भी थोड़ा ढीला छोड़ दिया है. आप लैपटॉप मंगा लो। मैंने यश से बोला तो वो दूसरे दिन ही खरीद लाए। फिर धीरे-धीरे मेरी दोस्त ने फेसबुक, चैट आदि करना सिखा दिया।”गुड. मेरी सेक्स कहानी के पहले भाग में आपने पढ़ा कि मैंने अपनी बहू के साथ एक शादी में जाना था.

मैं उनके मम्मों को लगभग खा ही जाना चाहता था, पूरे मम्मों को मुँह में भर लेना चाहता था. और मैं नीचे उसकी चूत के दाने को रगड़ रहा तो वो और वो सिसकारियाँ भर रही थी. मैंने उसे शांत होने के लिए कहा, तो बोली कि वो मुझसे अकेले में बात करना चाहती है.

मेरे दोनों हाथों ने प्रिया की पीठ को कस के जकड़ा हुआ था और प्रिया के सुपुष्ट उरोज़ मेरी छाती में धंसे हुए थे और मैं प्रिया के मुंह पर, आँखों पर, माथे पर, गालों पर, होंठों पर प्यार की मोहरें लगाता ही जा रहा था और प्रतिक्रिया स्वरूप प्रिया के मुंह से कभी आहें कराहें और कभी लम्बी लम्बी सीत्कारें निकल रही थी.

मेरी गांड में मूसल लंड गया तो बरबस ही अपने आप मेरी चीख निकल गई- आ आ ओ ओह. किड का लंड अब बहुत सख्त हो चुका था, जिसके फलस्वरूप वो किसी खंजर की तरह मेरी अर्धांगिनी की गांड में घुस गया. मैं पूजा के ऊपर चढ़ गया, तभी रोशनी ने मेरे लंड पर कंडोम चढ़ाया और मैंने एक जोरदार झटके से पूजा की मुर्झाई हुई चूत में पूरा 8 इंच घुसा डाला.

मोना- आह काट क्यों रहे हो जानू?आनन्द- अच्छा नहीं लगा जान?मोना- बहुत अच्छा लगा. वो बोली- माया दीदी, मेरा बहुत खून निकला ना, मुझे दर्द हुआ, बुखार भी हुआ. मेरी आँखें बंद थीं तो मैं कुछ जान नहीं पा रही थी कि क्या हो रहा है.

कॉलेज या बाहर… राहुल के दोस्त ज्यादा नहीं हैं, उसके केवल तीन दोस्त हैं, उसका सबसे करीबी दोस्त है इशांत, इशांत राहुल से करीब सात साल बड़ा है और बेहद सुलझा हुआ इंसान है. वे मेरी चुचियों को अपने दोनों हाथों से मसलने लगे, मसल मसल कर उन्होंने मेरी चूचियों को पहले तो नर्म कर दिया, फिर वासना से उत्तेजित होकर मेरी चूचियाँ और मेरे निप्पल सख्त हो गए.

भौजी की झांटें बार-बार मेरे मुँह में आ जाती, फिर भी उनकी चूत की क्लिट को मेरी जीभ बहुत आसानी से रगड़ बना रही थी. अब आपको पता ही है कि ऐसे वक्त में बातें तो कैसी होनी हैं, उस टाइम प्यार का खेल ही होता है. इसका मुख्य कारण ये है कि भिन्न भिन्न किस्म लंड उन्हें घर में ही मिल जाते हैं.

जब अगले दिन मैंने अपनी मेल खोली तो आरती की 2 मेल और आई हुई थीं, जिसमें उसने लिखा था कि हैलो आलोक क्या आप अपनी ‘पड़ोसन भाबी सेक्स के लिए तैयार थी’ की तरह मेरी भी मदद कर सकते हो.

शहजाद- कहां गई थी?मैंने डर के मारे अपनी नजरें झुकाते हुए कहा- ऊपर मेरा फोन लेने गई थी, आप जल्दी से तैयार हो जाइए, मैं चाय नाश्ता बना कर लाती हूँ. मैंने घर के नीचे गाड़ी खड़ी करके निर्मला जी को घर की चाभी दी और फ्लैट नंबर बता दिया, क्योंकि वो पहली बार घर आई थीं. मेरी सास ससुर का कमरा नीचे है और हमारा कमरा ऊपर वाले फ्लोर पे…मेरे देवर का कमरा भी ऊपर ही है.

अब वो चुदाई का मजा लेना चाहते थे, सो वो मेरे टाँगों के बीच में आकर अपने लौड़े से बुर की फांक को चौड़ा कर रगड़ने लगे. फिर करीब एक बजे मैंने उसकी चूत पर हाथ फिराना शुरू किया, एक हाथ से उसके दूध दबाने शुरू किये.

नताशा ने जरा भी नाराज हुए बिना हँसते हुए उसकी इस प्रक्रिया को अपने चूतड़ ऊपर की ओर उभारते हुए अपना पूरा समर्थन दिया और अपने गांड के छेद को काफी खोल दिया. तभी उन्होंने मुझसे पूछा कि मैं जब कपड़े धो रही थी, तब तुम क्या देख रहे थे?मैंने कहा- कुछ नहीं. कुछ देर बैठे रहने के बाद अवी आया और कहा- सॉरी यार मेरे दोस्त हैं, मेरा बर्थडे है.

सेक्सी हिंदी ब्लू फिल्म ब्लू फिल्म

चाची बोलीं- थोड़ा सब्र तो करो मेरे राजा, अब मैं तुम्हारी ही रानी हूँ.

मेरा लंड लंबाई में 6 इंच का ही है, मगर मेरे लंड की मोटाई बहुत ज़्यादा है. कुछ देर बाद मैं रीना को कोठड़े में छोड़ बाजार से खाने का सामान लाने चला गया. काले-रेशमी बाल, भौंहे धनुष की तरह, गांड के बारे में तो पहले ही बता चुका हूँ साहब, अब बस रह गई चूत.

रोशनी ने प्यार से मेरे पास आकर सॉरी कहा और मेरा कंडोम उतार कर कचरे में फेंक दिया. फिर जब वो अपनी सीट पर बैठ गई तो हमारे सर ने सारी क्लास को उसके बारे में बताया कि उसका नाम प्रिया है और वो हमारे साथ ही पढ़ेगी. इंडिया की सेक्सी सेक्सीक्योंकि उन लड़कों ने मुझे गिरा दिया था, जिस से सड़क पर गिरने से मुझे खून आने लगा था.

प्रिया बोली- हां बोलो?मैंने उससे बोल दिया कि मैं तुमको पसन्द करता हूँ. जिसकी तीन तरफ की दीवारों के खूटों और रैक पर लोहे की मोटी चैनें, चमड़े के चाबुक, कोड़े, मोटे चमड़े के हंटर, घुड़सवारी के सभी सामान, एक बिना घोड़े के जुती हुई गाड़ी, मोटे रस्से, लकड़ी के विभिन्न आकार के रैक रखे हुए थे.

मेरे चूतड़ों पे करारी थाप मार कर सिराज बोला- साली तू तो एक नंबर की रंडी है यार… सब जगह से खुली हुई है. मैं हल्का हल्का धक्का देते हुए उसकी गांड में लंड डालने लगा तो थोड़ी देर में लंड बड़ी कोशिश के बाद गांड में घुस पाया, उसको दर्द होने लगा तो वो लंड बाहर निकालने को कहने लगी. नीचे जाकर देखा तो गाड़ी अन्दर से बंद हो गई थी और चाभी भी अन्दर ही रह गई थी।मैं भी क्या करता आते वक्त मैं हड़बड़ाहट और ख़ुशी में चाभी निकालना ही भूल गया था।अब क्या था.

लेकिन फिर वही ‘If the wishes were horses… beggars would ride!’तो मैं दिल के अरमान दिल में ही दबा लेता. मैं हर रात चोरी से भैया भाभी की चुदाई के सीन देख कर मुठ मारके सो जाता था. मैंने कहा- तुम्हारा ही तो है, ले लो अपने आप!उसने जल्दी से मेरी पैंट खोली और अंडरवियर भी और मेरा लंड देख कर बोली- इतना बड़ा? आज तो मजा आ जायेगा!और वह मेरा लंड लॉलीपॉप की तरह चूसने लग गई.

दीदी की चल ऎसी है जैसे कोई सेना का अफसर चल रहा हो!पिछले 3-4 महीने से दीदी अक्सर देर से घर आती थीं.

मैं उसकी जांघों के बीच के बरमूडा ट्रायंगल को चूमता हुआ उसकी नाभि तक पहुँचा और उसके नाभि के छेद में अपनी जीभ डालकर उसको सहलाता हुआ. मैंने अपने दोनों हाथों से उनके हाथों को जोर से पकड़ लिया ताकि वे हिल न सकें और अपनी पूरी ताकत से एक जोर का धक्का उनकी चुत में लगा दिया.

कुछ वर्ष तो ठीक ठाक चला, पर जब मैं 35-36 वर्ष की हुई तो वो 50-51 साल के हो गए थे. एकदम दूध जैसी गोरी चिट्टी, रेड कलर की साड़ी में वो बहुत सुंदर लग रही थी. कई दिनों से मैंने अपनी पासबुक में एंट्री नहीं करवाई थीं और बैंक में कुछ और भी काम था, तो मैं घर से लगभग 10 बजे बैंक के लिए निकल गई.

मैंने देखा कि ये क्या हुआ? मैंने उसका मुँह खोल दिया उसका मुँह फटा पड़ा था मैंने उसकी सांसें चैक की, धीमी चल रही थीं. माया नहा कर बाहर निकली और एक सेक्सी सी मैक्सी पहन कर बेडरूम में घुस गई. पांच मिनट तक इसी पोजीशन में भाभी की गांड चुदाई करने के बाद मैंने लंड बाहर निकाला तो वो तरह से कंपकंपा रही थीं और अधमरी कुतिया सी बेड पर निढाल पड़ी थीं.

बीएफ वीडियो देखे वाला मैं तो जैसे जन्न्त में आ गया था, क्या ये कोई सपना था? मैंने भी अपने हाथ फैला कर, उनके मम्मों को पकड़ लिया और सहलाने लगा. जैसे ही पुलकित ने मंजरी का ऊपर वाला होंठ अपने होंठों में लिए, मंजरी ने भी पुलकित का नीचे वाला होंठ अपने होंठों में ले लिया दोनों बारी बारी से कभी ऊपर वाला तो कभी नीचे वाला होंठ चूस रहे थे, दोनों की साँसें तेज़, धड़कन भी तेज़… दोनों ज़ोर ज़ोर से एक दूसरे को अपनी बाहों में समेटने की ऐसी कोशिश कर रहे थे, जैसे एक दूसरे को खुद में समा लेना चाहते हों.

सेक्सी पिक्चर नंगी पुंगी सेक्सी पिक्चर

उन्होंने कहा कि हो तो पूरी बॉडी में रहा है, मगर तुम जहाँ भी लगा पाओ. अब उसने लंड का सुपारा चुत की फांकों में फंसा कर धीरे से अन्दर को पेलने लगा. वो एकदम से सिहर उठी और मेरा हाथ हटाने लगी, पर मैं नहीं माना और उसकी ब्रा हटा कर सीधा उसका राइट चूचे पकड़ लिया.

मैं- ठीक है दीदी, मत करना लेकिन लंड तो चूसो ना!मैंने दीदी के सर को पकड़ कर अपनी तरफ किया और लंड पर झुका दिया; दीदी ने भी लंड को मुँह में लिया और आधे लंड पर सर को ऊपर नीचे करते हुए चूसने लगी. हां” क्या… मैं भी तो यही चाहता था तो मैंने बोला- मेरे साथ ही भेज दो, दिखवा कर इन्हें मैं बस में बिठा दूंगा. सेक्सी वीडियो चोदते दिखाइएमैंने उसे पकड़ लिया और खूब मसला, उसके चूचे दबाए और उसे ज्वार के खेत में ले गया और उसका रसपान करने लगा.

मैंने भी उनके दोनों हाथ पकड़कर दीवार से सटा दिए और फिर से अपनी जीभ उनकी नाभि में घुसेड़ कर ज़ोर जोर से घुमाने लगा.

उसने एक जगह का नाम बताया और मैं वहां पे पहुंच गया पर अभी तक वह आई नहीं, मैं राह देखते देखते थक गया और मैंने उसे कॉल किया कि मैं जा रहा हूँ, मुझे बहुत लेट हो रहा है. मैं बोली- वर्षा तेरा काम तो हो गया अब मेरी चूत कब से पानी पानी हो रही है.

और अब तो मैं मौक़ा मिलते ही उसे बुला कर ही अपनी चुदाई करवाती हूँ। अब मैं बहुत खुश हूं।आपको मेरी हॉट चुदाई स्टोरी अच्छी लगी या नहीं, प्लीज मुझे ईमेल करें!मेरी ईमेल आई डी है-[emailprotected]. मैंने पहले तो उसकी चुची पर बड़े प्यार से हाथ फिराया और फिर उन्हें हल्के हल्के दबाने लगा. लेकिन मैं अभी शांत नहीं हुआ था, मेरा लंड अभी भी खड़ा था, मैंने कहा- दीदी मेरा अभी भी खड़ा है, इसे तो शांत करो.

मैंने बहूरानी का हाथ पकड़ के अपने पास खींचा और पहले तो पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत की जो दरार दिख रही थी, उसमें उंगली फिराई, फिर बहू की पैंटी थोड़ी सी साइड में सरका कर उसकी नंगी चूत की दरार में उंगली फिराई और फिर चूत को चूम लिया.

मैंने अपना एक हाथ उसके पिछवाड़े पर फिराया और एक हाथ उसकी चूची पर!तभी वो बोली- फिर कभी मिलना, अभी नहीं!और वो चली गयी।अगले दिन मैं फिर उसी वक्त पर खेत में गया तो वो आज अकेली आयी थी. वो बोली कि हां बदल तो मेरी भी रही हैं लेकिन हमारी इस फीलिंग्स का कोई फायदा नहीं. मैं भी दीदी की पीठ पर हाथ को बड़े प्यार से अपनी उंगलियाँ खोल कर सहला रहा था.

ब्लूटूथ वाली सेक्सी मूवीमैंने कहा- तुम्हारा ही तो है, ले लो अपने आप!उसने जल्दी से मेरी पैंट खोली और अंडरवियर भी और मेरा लंड देख कर बोली- इतना बड़ा? आज तो मजा आ जायेगा!और वह मेरा लंड लॉलीपॉप की तरह चूसने लग गई. कमल बार बार अपना लंड मेरी गांड से पूरा निकालता और एक बार में ही मेरी गांड में डाल देता.

सेक्सी व्हिडिओ ऑंटी कि

चूंकि सुधा ने सब कुछ पहले से ही फ़ोन पर तय कर रखा था तो प्रिया पहले से ही तैयार थी. ये तो वैसे भी इतनी जल्दी किस के लिए मान गई है तो थोड़ा और जोर देकर देखते हैं, क्या पता कुछ और बात ही बन जाए. मैंने किशोर को देर तक लंड हिलाने नहीं दिया और किशोर को लंड डालकर पड़े रहने को बोला.

मैंने कहा- बेटा, तुम ही निकाल दो!रोहण ने मेरी पैंटी निकाल दी और फिर उसने अपना एक हाथ मेरी चूत पर रखा मेरी तो मुख से आह निकल गयी. पर मैं मजबूर हूँ तो सो सॉरी इसीलिए मैंने अमित और अवी से कहा था कि मुझे कोई अच्छी एक्टिंग करने वाली लड़की 20 दिन के लिए दिला दो उनकी गर्लफ्रेंड बिजी थीं तो उन्होंने मना कर दिया. वो- सीरियसली यार… आई रियली लव यूमैं- लव यू टू!वो- अरे मैं तो मज़ाक कर रहा हूँ.

करीब दस मिनट बाद वो मेरे मुँह में झड़ गईं ‘आह… अइय… आह… आह…’मैंने भाभी की चूत का सारा पानी पी लिया और पूरी चॉकलेट और पानी अपनी जीभ से चटकार साफ कर दिया. ”दीदी ने अपनी शर्ट और स्लिप को उतार दिया और मुझे अपने ऊपर खींचने लगीं. दिव्या- यार ये मोबाइल 20000 का होगा और ये सारी ड्रेस 15000 की होंगी, तू तो बहुत चालू निकली.

फिर मेरे शांत होने पर ऊपर की ओर इतने जोर से झटका मारा कि मेरी जान ही निकल गई. मैंने दीदी को बेड पर बिठा कर उनके हाथ को अपने हाथ में लेकर अपने सीने से लगा लिया.

फिर एक दिन जब मैं घर में था और उनका बच्चा स्कूल गया हुया था, मैं उनके कमरे में गया.

कुछ देर बाद उसने पूछा- लग तो नहीं रही?दो तीन धक्के के बाद लंड डाले रूक हुआ था. बाबाजी की सेक्सी वीडियो हिंदीमेरा टोपा उसकी चूत के मुँह पर था और पानी की चिकनाहट से फिसल रहा था. सेक्सी वीडियो 2000 इंग्लिशअंकित के लिए ये पहली बार था और इसलिए उसे थोड़ा दर्द तो हुआ, लेकिन माया की चुसाई की वजह से उसे मज़ा आने लगा. हम दोनों ने चादर हटा कर गाड़ी के उस अंधेरे में एक दूसरे को देर तक चुम्बन किया.

मैं आपको अपने बारे में कुछ बता दूं कि मेरी उम्र 23 वर्ष है और मैं एक बहुत ही अच्छे शरीर का मालिक हूँ मेरा कद लगभग 5 फीट 11 इंच है और दिखने में भी अच्छा खासा गबरू जवान हूँ.

संजय ने अपने धक्के और तेज कर दिए, जिससे मैं समझ गई कि वो भी अब झड़ने वाला है. मुझे अन्दर बैठा कर वो मेरे लिए पानी लाईं ओर मेरा हाल चाल पूछने लगीं. अरे बेटा दिन रात से क्या फर्क पड़ता है, चल आ जा!”बहू रानी ने पहले कूपे को चेक किया कि वो अन्दर से ठीक से बंद है या नहीं… फिर पहले अपनी बाहें ऊपर उठा कर अपना कुर्ता और सलवार का नाड़ा खोला और सलवार भी उतार डाली.

मैं भी थोड़ा डर सा गया, फिर मैंने कहा- नहीं हम पहले बिस्तर पे चलकर एक दूसरे को गरम करते हैं, हो सकता है तुम्हारी गांड में सूखा हुआ फेवीकोल पिघल जाए. मैं दिखने में बीस साल का एक कसरती बदन का मालिक हूँ परन्तु मेरी सूरत सामान्य है. तभी सिराज के धक्के तेज हो गए और एक ही मिनट में उसने अपना सारा पानी मेरी गांड में भर दिया।सिराज की कम से काम दस पिचकारी मैंने अपने अंदर महंसूस की.

सेक्सी ब्लू पिक्चर छोटी लड़कियों की

तभी अंकल ने पूरी जीभ अंदर चूत में घुसा दी और अब थोड़ा ऊपर उठ कर नीचे मेरी गांड को चाटने लगे. कुछ मिनट के बाद साफ सफाई करके मैंने अपने कपड़े पहने और घर जाने के लिये तैयार हो गया. मैं खुद किसी और दिन डलवा लूँगी; आज बस मेरी चूत की खुजली मिटा दो।उसने इतनी मासूमियत से कहा तो मैंने भी अपना प्लान बदल दिया; फिर उसकी कमर पकड़कर लण्ड पीछे से चूत पर रगड़ने लगा।थोड़ी देर बाद मधु अपना हाथ पीछे लाई और लण्ड को पकड़कर चूत पर लगा दिया। मैं उसे और तड़पाना नहीं चाहता था, इसलिए एक झटके में ही पूरा लण्ड चूत में ठोक दिया।मधु के मुँह से आहह्.

जैसे मैंने अपनी जीभ उनके निप्पलों पर फिराई, उनके मुँह से आह निकल गई और वो मेरा मुँह वहाँ से हटाने लगीं.

पहले तो मैंने उन्हें सिर्फ इंटरनेट पर वीडियो कॉलिंग करते समय देखा था, पर अब सामने देख कर काफी खुशी हुई थी.

मैं जाकर बोतल ले आया, जिसमें पिंकी और रोशनी की जूस का मिक्सचर भरा था. कुछ पल बाद मैंने अपना हाथ हटाया तो वो लंड बाहर निकालने को कहने लगी, पर मैंने उसकी बात पे ध्यान दिए बिना उसके मम्मों को दबाना जारी रखा. देसी हीरोइन की सेक्सीकुछ देर बाद मैंने सोचा कि अब मेरी बहन चुदाई के लिए पूरी तरह तैयार है तो मैं अपना लोअर निकालने लगा.

फिर दीदी पूछने लगीं- नंगी वीडियो देख के तू क्या करता है?मैं शरम के मारे लाल हो रहा था. एक हाथ से उसके बालों को जकड़े दांत पीसता हुआ ओमार लड़की को नॉनस्टॉप चुसाई के लिए कहता जा रहा था. जब मैंने कहा कि सफाई करवा लो तो बोलीं- नहीं अब ये हमारे प्यार की निशानी है.

मैंने उंगली उठा कर उनके दूध की तरफ इशारा किया कि इन्हें देख रहा था. उसने करीब आधा घंटा मुझे चोदा और फिर लंड का पानी मेरे चेहरे पर झाड़ दिया.

मैंने पूरे घर का चक्कर लगाया लेकिन मुझे खुद सोने के लिए कोई जगह नहीं मिल रही थी.

फ़िर मैंने पीछे से लंड को बहन की लपलप करती चूत पर लगा दिया, वो एकदम से मस्त हो गई थीं. दोनों लडको के लंड लोहा लाट हो, तोप की तरह सलामी देते हुए खड़े थे, जब ओमार ने अपना लंड बाहर निकाल नताशा के चूतड़ों को ऊपर उठाते हुए उसकी भक्काड़ा चूत और गांड का प्रदर्शन किया. मैंने अपनी एक एक उंगली पिंकी और पूजा की चूत पर घुमाई, तीनों का रस उनकी गोरी गोरी टांगों से रेंगता हुआ फर्श पे गिर रहा था.

आगरा सेक्सी सुहागरात मैं मानता हूँ, कोई भी लड़का या लड़की खुद को कितना भी शरीफ और सभ्य दिखाता होगा लेकिन वासना सभी के मन जन्म लेती है. इसीलिए उसने मेरी तरफ नज़र भर के देखा और आँख झपका के गर्दन हिला के मुझे इशारा किया कि वो मेरे मन की बात समझ रही है.

शहजाद- कहां गई थी?मैंने डर के मारे अपनी नजरें झुकाते हुए कहा- ऊपर मेरा फोन लेने गई थी, आप जल्दी से तैयार हो जाइए, मैं चाय नाश्ता बना कर लाती हूँ. इधर सिराज के धक्के कम गहरे और छोटे हुए और कुछ ही सेकंड में उसने अपना पूरा पानी मेरी गांड में छोड़ दिया।जैसे उसने मुझे छोड़ा तो मैं अपने आप फिसल कर बोनेट से नीचे जमीं पे लुढ़क गयी. मेरी भी हालत कुछ इसी तरह की थी कि जब ममता काम करके चली जाती तब सोचता चलो कल उससे बात करूँगा, पर जब आती तब हिम्मत ही नहीं होती.

इंडियन सेक्सी जबरदस्ती वीडियो

फिर वो नीचे आ गया और उसने मेरी नाभि पर किस की फिर उसने मेरी साड़ी को थोड़ा ऊपर किया और मेरी चिकनी जांघों को चाटने लगा।फिर वो ऊपर आ गया, उसने मेरी साड़ी का पल्लू निकाल दिया और मेरी साड़ी उतार दी और मुझे चूमने लगा. पूजा ने मुझे बहुत बुरी तरीके से चूस के अलग कर दिया, मैं अब हांफने लगा. मैंने पहली बार दीदी को सोचकर मुठ मारी और सारा मुठ उनकी ब्रा और पैन्टी पे गिरा कर सोने चला गया.

आपको बुरा तो नहीं लगा?भाभी ने भी हंस कर मुझे रेस्पॉन्स दिया और खुल कर बात करने लगीं. अब तक आपने पढ़ा कि विक्रांत की व्ट्सएप फ्रेंड उसके दोस्त की बेटी थी.

मैं इसी इन्तजार में था, मैंने चाची को बोला कि ये तौलिया तेल लगने से खराब हो जाएगी, क्या इसे मैं हटा दूँ?चाची बोलीं- जरूर.

जैसे जैसे बाहर ठंडी बढ़ती गई, हम दोनों के बीच की दूरियां भी घटती गईं. भाभी ने अपना पेटीकोट उठाकर अपनी चुचियों पर ढक लिया और कहने लगीं- कोई बात नहीं, मैं जानती हूँ कि तूने जानबूझ कर नहीं किया है. ये देख कर मुझे ऐसा लग रहा था कि उसका इंटरेस्ट मुझसे थोड़ा कम हुआ है पर वो तो आने वाला वक्त ही बताएगा.

उनकी बड़ी सी गांड इतनी जबरदस्त मटकती है, जब वो जीन्स पहनकर चलती हैं कि सब देखने वालों के लंड खड़े हो जाते हैं. तो मैंने सोचा कि छोड़ न यार! माँ चुदाने दे साली को!तीन दिन बाद मेरे दोस्त का फ़ोन आया और बोला- खेत में आ जा, आज रंडी बुला रखी है!मैं वहां गया तो देख कर दंग रह गया, देखा तो वो प्रियंका थी, वही औरत जो मुझे खेत में मिली थी. क्योंकि उसकी चूत चाटते वक्त चूत देख कर मुझे लगभग यकीन हो गया था कि प्रिया अभी तक किसी से नहीं चुदी है, उसकी चुत बिल्कुल कुंवारी है.

अब घर आकर मैं फ्रेश होकर नाश्ता करने के बाद अपने रूम में आ गया और क्या सरप्राइज़ दूं, यही सोचने लगा.

बीएफ वीडियो देखे वाला: ड्रिंक की वजह से अब हिम्मत भी थी और मैं समझ गया था कि मीना जी ने ब्रा निकाल कर हरा सिग्नल दे दिया है. जैसे ही मैंने भाबी की चुत पर एक किस किया, भाबी मछली जैसे तड़पने लगीं.

मेनका- अतुल, तूने कभी किसी लड़की को किस नहीं किया क्या?मैं- नहीं दीदी!मेनका- कोई नहीं भाई, आज मैं तुझे सिखाती हूँ कि एक लड़की को कैसे प्यार करते हैं. कुछ दूर जाकर मैं और अंजू अलग अलग हो गए और वो लड़का अंजू की तरफ चला गया. लेकिन मैंने अपनी आवाज़ बंद रखी। उसने अपना लौड़ा धीरे से बाहर किया और फिर अन्दर पुश किया।अब वो मस्ती में अन्दर बाहर करने लगा, उसकी साँसें तेज हो गई थीं.

मैंने संजय की तरफ देखकर मना करना चाहा, पर मैं कुछ कहती उससे पहले संजय ने मेरे होंठों को अपने होंठों में भर के लिपलॉक कर लिया और अपनी उंगलियों से मेरी पेन्टी के ऊपर से सहलाने लगा.

मैं उठ कर बाथरूम जाने लगा तो सामने से अंजलि आ रही थी, उसके चेहरे पर शरारत भरी मुस्कान थी. मैंने भाभी से पूछा- कैसा लगा नया टेस्ट?भाभी बोलीं- आज तो चॉकलेट वाला मिल्कशेक पी लिया… मज़ा आ गया. मुझे लगा जैसे मेरी वीडियो बना रहे हैं या फोटो खींच रहे हैं।तभी भाभी के पापा ने अपने दोस्त को बोला- राजेंद्र देख, आरती की हेल्प कर, क्या चाहिए उसे।वो दौड़ कर आये और बोले- आरती, मैं राजेंद्र मिश्रा, मैं तुम्हारी भाभी के पापा का भाई भी हूँ दोस्त भी तुम बुरा मत मानना, एक बात बोलूं तुम बहुत खूबसूरत हो! मैंने आज तक इतनी सुन्दर लड़की नहीं देखी है।मैंने कहा- थैंक्स अंकल!और थोड़ा मुस्कुरा दी.