एक्सएक्सएक्स सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ इंग्लिश इंग्लिश सेक्सी बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

हिन्दी क्सक्सक्स कॉम: एक्सएक्सएक्स सेक्सी बीएफ, उन दोनों ने आस पास एक अच्छी सी कुर्सी देखी, अच्छी सी चेयर देख कर मुझे डॉगी स्टाइल में बिठा दिया। अज़ीम जिसका लंड काफी बड़ा था, वो मेरे पीछे आ गया.

2022 की हिंदी बीएफ

मैं सोफे पर सोई अपनी बीवी की चूत में उंगली कर रहा था कि तभी वो जाग गयी. कैटरीना कैफ सेक्स वीडियो बीएफमेरे लंड को तुनकी मारते देख कर ज़ाफिरा की आंखों में एक शरारती मुस्कान दिखने लगी.

दीदी उनके सामने पूरी की पूरी नंगी लेटी हुई थी और उनके लंड को अपने हाथ में पकड़ कर जोर से सहलाते हुए मजा ले रही थी. बीएफ बीएफ जानवर वालाउसने गांड में कैसे मेरे लंड को लिया और हमने कैसे कैसे मजे लिये वो मैं आपको अपनी अगली कहानी में बताऊंगा.

भाभी वासना से हर कर मेरे सर को पकड़ कर अपना एक दूध मेरे मुँह में देते हुए लगातार चुसवा रही थीं और अपने पास को खींच रही थीं.एक्सएक्सएक्स सेक्सी बीएफ: जैसे उसने वजन मेरे लंड पर डाला तो मेरा सुपारा उसकी बुर को चीरता हुआ अंदर घुस गया और वो एकदम से चीखने लगी.

वो बोली- ठीक है, जल्दी से नहाकर बाहर आ जा और दोबारा से मत गिर जाना.मां ने लगभग नंगी होकर मुझसे बोलीं- चल अब जल्दी से मेरी अन्दर तक वो मालिश कर दे जैसी तूने कल की थी.

देहाती सेक्सी बीएफ चुदाई वीडियो - एक्सएक्सएक्स सेक्सी बीएफ

उसको गौर से देखा मैंने; हल्की सांवली रंग और भूरी आँखें, कन्धे तक बाल उसकी खूबसूरती को और बढ़ा रहे थे.अचानक गाड़ी रुकने की आवाज से मेरी नींद खुली, तो मैंने देखा गाड़ी किसी बंगले के बाहर खड़ी हुई थी.

जन्मदिन के बाद मेरी ननद ने कहा- भाभी, भैया तो विदेश चले गए हैं, भाभी आप यहीं कुछ दिन के लिए रुक जाओ. एक्सएक्सएक्स सेक्सी बीएफ उसे स्वाद ठीक लगा, तो उसने पूरी उंगली मुँह में ले ली और अपने चेहरे पर लगा सारा रस चाट लिया.

लेकिन मां मुझे नहीं देख सकती थी पर मौसी मुझे पूरे गौर से देख रही थी और बड़ी गौर से देख रही थी.

एक्सएक्सएक्स सेक्सी बीएफ?

फिर कुछ देर में पापा लंड आगे पीछे करने लगे और माँ ने आँखें खोल ली और उन्ह उन्ह उन्ह की आवाज़ करने लगी।फिर मैं भी धीरे धीरे लण्ड आगे पीछे करने लगा और फिर पापा और मैं तेज़ी से माँ को चोदने लगे।माँ ने कहा- बेटा, तुम दोनों भाई बहन भी तो एक बार मेरे सामने चुदाई करो।मैंने कहा- क्यों नहीं माँ!और फिर माँ मेरे ऊपर से हट गई और बाजु में लेट गयी. दोस्तो, ये मेरी पहली कहानी है जो मैं अन्तर्वासना की अनेकों कहानियां पढ़ने के बाद लिख रहा हूं. मौसी- तो दिया क्यूं नहीं? बाहर छोड़ कर क्यूँ चला गयामैं- मौसी वो आप … मौसी वो आप।मौसी- बोल ना क्यूँ नहीं दिया?मैं- मौसी … वो आप अंदर जो कर रहे थे वो देख कर मैं वापस चला गया.

एक दिन की बात है, जब मैं और मेरी मां छत पर बिछौना बिछा कर लेटे हुए थे और बातें कर रहे थे. मेरी तो चीख निकल गयी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ क्योंकि उसका लंड बहुत मोटा था. मोटी मोटी चूचियों के दर्शन करने भर से ही बदन में जैसे करंट सा दौड़ गया.

मां सो चुकी थीं, मैंने एक चादर से मां के जिस्म को ढक दिया और खुद भी उनके साथ नंगा ही चिपक कर सो गया. मैं अपनी सुध-बुध खो चुका था, लेकिन ये मेरी ज़िंदगी का पहला किस था, जिसने मुझे हवा में तैरना सिखा दिया. अंकल ने यहां भी मेरी मदद की और अपने हाथ से उसकी चूत के छेद को को थोड़ा सा खोल दिया जिससे मेरा छोटा सा लंड उसकी चूत में समा गया.

मेरा यह मानना है कि यह लगभग 80% लोगों के साथ उनके यौवनारंभ के दिनों में ही शुरुआत हो जाती है. पर अभी मैं रात में आपा की चूत की चुसाई कर रहा था तो इससे ज़ोहरा को इतना मजा मिल रहा था कि वो मजे से पागल हो रही थी.

हमको अब चुदाई के अलावा कोई ध्यान नहीं था।उसकी साड़ी का पल्लू अब उसकी छाती पर नहीं था.

इसके बाद मैंने मम्मी की चूत में अपना लंड डाला और बहुत देर तक चोदने में लगा रहा.

वो सिसकारते हुए धीरे से बोली- आह्ह … तन्मय, नीता की मारकर मन नहीं भरा क्या तुम्हारा?मैंने उसकी ओर हैरानी से देखा और मुस्कराकर बोला- ओह्ह … तो मेरी रानी पहले ही पूरी फिल्म देख चुकी है?उसने अपनी चूत पर मेरे मुंह को सटाते हुए कहा- मैं तो तभी से तुझे चाहने लगी थी जब तूने मेरे बदन को छुआ था कल। तुम दोनों की चुदाई की आवाज तो मैंने दिन में ही सुन ली थी. मैंने उसके आँसू पौंछे- अरे पगली, तुम रो क्यों रही हो?शनाज़- मैं आपके काबिल नहीं हूँ. इस समय मेरे मन में बड़ी बुआ घुसी थीं … क्योंकि उनकी गांड और चुचे बड़े थे.

मैंने कहा- आप मेरी मां हैं, तो मैं क्या मां के लिए इतना नहीं कर सकता हूँ. फिर उसने हमारा नाम पूछा और जैसे ही हमने नाम बताया उसकी त्यौरियाँ चढ़ गई. मैंने कहा- मेरा नाम अमित है भाभी जी … और आपका नाम क्या है?जब मैंने उनका नाम पूछा, तो उन्होंने अपना नाम सलोनी बताया.

मैंने भाभी के सर को लंड से अलग करने की कोशिश की मगर उन्होंने लंड नहीं छोड़ा और वो बदस्तूर लंड चूसती रहीं.

उनकी बड़ी बड़ी दाढ़ी-मूछ थी लेकिन उनके होंठ चूसने में बहुत मजा आ रहा था. तो मैंने उसे कहा- हम बाहर नहीं मिलेंगे तो कहां मिलेंगे?उसने मेरे को कहा कि मैं उसके घर आ जाऊं. फिर भाभी नाईटी पैंटी लेकर नंगी ही गांड हिलाते हुए अपने कमरे में चली गईं.

कुछ देर चोदने के बाद मैंने उसको खड़ी किया और फिर खड़े खड़े ही उसकी चूत में लंड पेल दिया. ये बात तब की है, जब हमारे पास वाले घर में एक नयी नयी फ़ैमिली रहने आयी थी. वो मेरे पास आईं और मेरे गालों पर किस करते हुए बोलीं- कहां खो गए राजाधिराज?तब जा कर कहीं मुझे होश आया.

धीरे धीरे चुदते हुए अब वो भी गर्म हो गई थी और फिर से आह्ह … आह्ह … करते हुए मेरे लंड को गपागप गपागप अंदर बाहर लेने लगी.

आपके मेल की प्रतीक्षा में आपका रहमान खान[emailprotected]भाई बहन सेक्स कहानी का अगला भाग:मैंने अपनी तीन बहनों की सीलपैक चुत चोदीं- 2. तब उसने बोला- क्या हुआ?मैंने बोल दिया- अब आई हो … एक बार बताया भी नहीं कि तुम्हारा दर्द कैसा है? मैं तो यह सोच सोच कर परेशान हो रहा था कि पता नहीं तुम कैसी हो?वो कुछ नहीं बोली.

एक्सएक्सएक्स सेक्सी बीएफ इससे पहले कि मैं रूम का दरवाजा खोलता मेरी नजर अंदर के नजारे पर चली गयी. लास्ट वाले केबिन में एक बीस साल का लंबा, चौड़ा, गोरा बहुत स्मार्ट सा एक लड़का बैठा था.

एक्सएक्सएक्स सेक्सी बीएफ जैसे ही वो बैठी, हम फिर से अपनी बातों में मशगूल हो गए, जैसे कि हम भूल चुके हों कि हम पन्द्रह मिनट पहले क्या कर रहे थे. उम्मीद है कि पिछली कहानी की तरह इस कहानी को भी आप लोगों को भरपूर प्यार मिलेगा।मेरा ईमेल आईडी है[emailprotected]कॉलेज की सेक्सी गर्लफ्रेंड की कहानी का अगला भाग:गर्लफ्रेंड की चुदाई की अधूरी तमन्ना- 3.

कहते ही मैं चाची के बूब्स पर टूट पड़ा और उनके एक एक स्तन को बारी बारी से चूसा.

पोर्न हॉट वीडियो सेक्सी

लेकिन मीनाक्षी ने कभी मेरे साथ कुछ ज्यादा बात नहीं की और ना ही मैंने मीनाक्षी को कभी वासना की दृष्टि से देखा।लेकिन मेरे विवाह के बाद हमारी कामवाली भाभी मीनाक्षी ने मेरे से और मेरी बीवी से ज्यादा बातें करनी शुरू कर दी. जवान लड़की की चिकनी चूत और घुमावदार गोल गांड देखकर समझ नहीं आ रहा था कि चुदाई कहां से शुरू करूं।उसकी चूत उसके गालों की तरह फूली हुई थी।चूत का छेद ठीक से नजर भी नहीं आ रहा था. अब तक सागर ने अपनी शॉर्ट उतार दिया और मामी को कस के पीछे से पकड़ लिया.

वो दोनों कहने लगे कि उसका फिर से एडमिशन बड़ा मुश्किल है, क्योंकि पुलिस केस हो गया है. मैं बस उसे ही देखने में खो सा गया तो उसने फिर से बोला- हम्म … मैंने कहा पापा जी आपको बुला रहे हैं. मेरे पति मेरे साथ सेक्स तो करते हैं लेकिन वो जो प्यार वाली भावना होती है वो उनमें नहीं है.

मैं ऊपर से चुदूंगी।मैं लेट गया और रुबीना बाजी मेरे ऊपर नंगी हो कर बैठ गई।उन्होंने अपनी गान्ड में मेरा लंड घुसा लिया और उछलने लगी.

भाभी की गांड मेरी बांहों में दबी थी और मुझे उनकी मदमस्त देह का पूरा मजा मिल रहा था. और अगर बात खुल जाती तो बदनामी होती। अच्छा है घर में ही लन्ड मिल जाएगा तो बाहर नहीं जाएगी और घर की बात घर में ही रह जायेगी।यह कहते हुए उन्होंने मेरा लोवर और अंडरवियर नीचे सरका कर मेरे लन्ड को अपने हाथों में ले लिया और बोली- साइज़ तो अच्छा है. मैं उसको मना लूंगी।अब हम दोनों के अलावा सपना को भी मामी लन्ड का स्वाद दिलाना चाहती थी.

वो चाह कर भी चिल्ला नहीं पाई, बस उसकी दोनों आँखों से आँसू निकल रहे थे, मैं धीरे धीरे उसे चोदता रहा. उनकी जवानी का नमकीन रस उनकी चूत से निकल पड़ा और मैंने उस रस का पूरा आनंद लिया. वो गांड उठाते हुए बोली- चाचू, आज मेरी सील तोड़ कर मुझे अपनी रानी बना लो!मैंने फटाक से बिना देरी किये अपने लंड को धक्का मारा.

एक तो रविवार था और साथ ही मौसम बहुत बढ़िया था इसलिए आज पार्क में कुछ ज्यादा ही चहल पहल थी. कब सुबह हो गई पता भी नहीं चला।उसके बाद अगले दिन दीदी और जीजा दोनों चले गए।पर बीच बीच में जीजा से फ़ोन पर बात होती रहती थी। फ़ोन पर भी जीजा सेक्स की बात करते थे।वो कई बार बोले- किसी होटल में चलते हैं, वहाँ मजा करेंगे.

मैंने बोला- नहीं यार, कुत्ता कुतिया स्टाइल में चुत में लंड पेलूंगा. वो झुकी और अचानक मेरे लिंगमुण्ड को अपने मुंह में लेकर लोलीपॉप की तरह चूसने लगी. क्या मुझे इस अप्सरा को प्यार करने की इजाज़त है?तो उसने कहा- भईया सैयां जी, आपको अपनी दुल्हन बहन को मुँह दिखाई देनी पड़ेगी.

मैंने एक बार फिर से चाची के मुंह में लंड को पेल दिया और धक्के देने लगा.

मैंने देखा कि मां सो गयी हैं, तो मैं भी उनके बारे में सोचते हुए सो गया. घर के मेन दरवाजे की चाभी मेरे पास थी, तो मैं सीधे अपने रूम में जाकर सो गया. टीना- मीत आह्ह … ओर … जोरर … से … ओह्ह … उम्म्म फ़क मी … डीप … यस…कुछ देर ऐसा करने के बाद मैंने उसे पलट कर गोद में उठा कर लंड उसकी चुत में डाल दिया और उसे गोद में उठाए हुए चोदने लगा.

मैं रात के 12:00 बजे तुम्हारे रूम में आऊंगी, तब हम रात में मस्ती करेंगे. अब वो मेरे सामने बिल्कुल ही नंगी हो गयी थी और मेरा लंड उसकी सांवली सी चूत में जाने के लिए फनफना रहा था.

बाजी ने ये भी समझाया कि उसकी शादी नहीं हुई तो डॉक्टर बोले- जिसने ये किया उससे ही शादी कर दो. वो उसकी चूत पर हाथ ले गयी और पैंटी के ऊपर से उसकी चूत को सहलाने लगी. भाभी की नजर मेरे लोअर में खड़े लंड पर पड़ी तो वो उसे घूर कर देखें लगी और हंसने लगी।मैंने नीचे अपने लोअर में खड़े लंड को देखा तो मैं भी शरमा सा गया और एकदम से बाथरूम में घुस गया।अगले दिन मीनाक्षी फिर से मेरे रूम की सफाई करने आई.

तेलुगु सेक्सी वीडियो में

मुझे वो भाबी इतनी अच्छी सेक्सी लगी कि मैं उन्हें चोदने की जुगत में हो गया.

थोड़ी देर पश्चात वह मेरे और नजदीक आई और मेरी जांघों में हाथ फेरने लगी. आप सब अन्तर्वासना पर इस सेक्स कहानी को पढ़ना न भूलें और हां मुझे मेल करना भी न भूलें. उसने कहा- कभी कुछ काम हो तो आ जाया करो!मैंने कहा- अगर अब काम ना भी होगा तो भी आ जाऊंगी.

वहां पर उसकी मम्मी और बुआ और सब रिश्ते की महिलाएं ही थीं, वो सब भी साथ बैठ कर पी रही थीं. उसी समय मैंने उसकी चूची को मसलते हुए कहा- बेबी गधे का पसंद आया!वो अब समझी कि गधा कितने काम का होता है. बीएफ बीएफ मूवी पिक्चरअब मैंने उसे कुतिया बनाए हुए ही बेड के कोने में खींचा और खुद बेड से उतरकर खड़ा हो गया.

यह मेरी पहली कहानी है अगर इसमें कोई त्रुटि हो तो मैं क्षमा चाहता हूं. उस दिन रात में मम्मी पापा के सोने के बाद वो दोनों मेरे रूम में आ गईं.

वो कह रहे थे कि अगर तुम रूम में अकेले परेशान हो रहे हो तो तुम उनके घर पर रह सकते हो जब तक लॉकडाउन ख़त्म नहीं हो जाता।अंकल मेरे पापा के दोस्त थे और मेरी स्कूल की दोस्त के चाचा भी थे। मेरी दोस्त का नाम नीता है और वो मेरे ही स्कूल में पढ़ती थी मगर वो मुझसे एक क्लास पीछे थी।नीता के अंकल और मेरे पापा दोनों पहले से ही दोस्त थे. मैं उसको मना लूंगी।अब हम दोनों के अलावा सपना को भी मामी लन्ड का स्वाद दिलाना चाहती थी. तभी अमित ने मेरी दोनों हाथ अपने रुमाल से बांधकर अपनी कुर्सी पर मुझे घोड़ी बना दिया और मेरी चूत में थूक लगाकर लंड का टोपा मेरी चूत में रगड़ने लगा.

यहां पर कैसे बैठ सकते हैं, कोई गलत समझेगा।मैंने कहा- कोई बात नहीं, यहां झाड़ियों में कहीं बैठ कर आराम से बात करते हैं. उल्फ़त बोली- तुमको कैसी लड़की पसंद है?मैंने अपना हाथ उसकी जांघ पर दबाते हुए कहा- मुझे तुम्हारी तरह तीखी मिर्ची पसंद है. उसकी चूत के पानी से चिकना होकर मेरा लंड पकापक उसकी चूत में जाने लगा और मैं दोगुने जोश से उसको चोदने लगा.

उसने कहा- कभी कुछ काम हो तो आ जाया करो!मैंने कहा- अगर अब काम ना भी होगा तो भी आ जाऊंगी.

उसके बाद ननद उनके लंड को अपने हाथ से टटोलते हुए उनके लंड को अपने हाथ में पकड़ लिया।मेरी चूत बह रही थी।उन्होंने ननद के लोअर को नीचे कर निकाल कर दिया. तब उसने बोला- क्या हुआ?मैंने बोल दिया- अब आई हो … एक बार बताया भी नहीं कि तुम्हारा दर्द कैसा है? मैं तो यह सोच सोच कर परेशान हो रहा था कि पता नहीं तुम कैसी हो?वो कुछ नहीं बोली.

दास्तो, आपको न्यूड भाभी सेक्स कहानी और बहन की चूत की ठुकाई पढ़ने में मजा आया हो तो मुझे भी बतायें. वो मुझसे बोली- मैं एक हफ्ते के लिए घर पर अकेली हूँ … और तुमसे मिलना चाहती हूँ. मैं कुछ चिल्लाती या कुछ बोलती, तब तक उन चाचा जी ने मेरे मुँह में मेरी पैंटी को डाल दिया.

मैंने लंड को चूत पर रखा और धक्का देते हुए उसकी चूत में लौड़ा उतार दिया. मैंने उनके जाने के बाद अंदर से घर के दरवाजे को बंद कर लिया और फिर टीवी पर पोर्न फिल्म देखने लगा. फिर उसके बाद मैंने किस किस के लंड अपनी गांड में लिये वो मैं आपको अगली सेक्स स्टोरीज में बताऊंगा.

एक्सएक्सएक्स सेक्सी बीएफ ये बोल कर उसने दीदी को बर्थ पर लिटा दिया और दीदी ने भी अपनी दोनों टांगों को पूरा फैला दिया. फिर मैंने पूछा- क्या आपने नाश्ता किया माँ?तो उन्होंने- नहीं बेटा, अभी नहीं।मैंने अपने लण्ड की तरफ इशारा करते हुए कहा- क्या आप ये टेस्टी नाश्ता करना चाहेंगी?तो माँ मुस्कुरा दी और और नीचे बैठ कर मेरा लण्ड चूसने लगी और चूसने के बाद मेरा रस पी गयी।फिर माँ ने कहा- चल बेटा, अब जल्दी जा और कपड़े पहन ले।मैं रात होने का इंतज़ार करने लगा.

सेक्सी फिल्म वीडियो हिंदी में दिखाओ

रमेश अंकल ने बोला- दिनेश का लंड गांड में ज़्यादा मज़ा दे रहा था क्या? मेरा डलवा कर देख रंडी … तेरी गांड फाड़ दूंगा साली. इधर सुधा ने सागर की शॉर्ट्स सरका दिया और उसका खड़ा लन्ड अपने मुंह में गपक लिया और बड़ी उत्तेजना से चूसने लगी. मुझे चुदास चढ़ने लगी, तो मैंने अपनी नाइटी में हाथ डाल कर अपने चूचों और चुत के साथ खेला और पानी निकाल कर सो गई.

यह कहानी मेरी पड़ोस में रहने वाली भाभी ज्योति के प्यार की चुदाई वाली है। ज्योति भाभी अपने पति और 1 साल की लड़की के साथ मेरे घर के पास वाले मकान में किराये पर रहती थी. इस एक हफ्ते में चुदवा चुदवा कर अवनीत मस्त हो गई, हफ्ते भर में उसकी चूचियों और चूतड़ों का साइज दो इंच बढ़ गया था. हीरोइन के बीएफ एचडीमैंने छिप कर देखा कि दीदी दरवाज़े से चिपक कर खड़ी थीं और वो आदमी अपने दोनों हाथों को उनके कंधे के पास रख कर खड़ा था.

फिर हम दोनों ने 69 पोज़िशन बना ली और मुँह से एक दूसरे के लंड चुत को चूसने चाटने लगे.

ब्रा में मेरे दूध एकदम फिट हो गए थे और मैं लड़कियों के जैसे दिख रहा था. मैंने उसको फिर से मिलने के लिए कहा लेकिन वह बोली- हम बाहर नहीं मिल सकते क्योंकि बाहर मेरे को अच्छा नहीं लगता.

अब आगे:मैंने उनको देखा तो बड़ी बुआ बोलीं- अब तेरे से क्या शर्माना … तूने तो हमें नंगा देखा ही है. मैंने उसके होंठों पर अपने होंठों को रख दिया और दबाव बनाते हुए नीचे से धीरे से लंड को उसकी चूत में उतारना शुरू कर दिया. इस बात को 2 महीने बीत गए, मेरी परीक्षा का परिणाम भी आ गया था और मुझे अच्छे नम्बर भी मिले थे.

मन किया कि साली को अभी पकड़ कर चोद दूं।कहानी पर अपनी राय देना न भूलें.

फिर सवा 9 महीने बाद मम्मी के दो लड़कियां हुईं, जो एक मेरी तरह और दूसरी पापा (प्रशांत) की तरह दिखती है. उस वक्त मुझे बड़ा अजीब सा महसूस होता क्योंकि इससे पहले मैंने केवल एक लड़की को पटाया था और उसकी चुदाई की थी. आज तो मेरा लंड कुछ ज्यादा ही उतावला हो रह था। मेरे लण्ड ने मेरे दिमाग का और अपने आप का बुरा हाल कर लिया था।थोड़ी ही देर में ज्योति भाभी आयी.

हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ एचडी हिंदी बीएफमैंने उनके चूतड़ों के नीचे एक तकिया लगाया और अपना लौड़ा सैट कर ही रहा था. मगर मेरे मन में एक सवाल बार बार आ रहा था कि मैं दीदी के साथ इतना सब कुछ करता हूं लेकिन उसको जरा भी पता नहीं चलता?क्या कोई सच में इतनी गहरी नींद में होता है?मुझे इस बता का पता करना था.

सेक्सी कॉलेज वाली सेक्सी

पर एक बार चुदाई करने के बाद जब मैं उठकर जाने लगा था … तब मेरा हाथ पकड़ कर रोका था. तीन-चार बार में उसने अच्छे से दूध घाटी को, मेरे स्तनों के किनारों को चाटा और उन्हें गीला कर दिया. तभी मैंने उसको बोला- प्लीज अब आप मुझे मत तड़पाओ और मेरी चूत में अपना मूसल डाल दो.

संजय अंकल बोले- आओ मेरे साथ ही बैठ जाओ … अगर कुछ होगा, तो मैं संभाल लूँगा. मैंने फिर देखा कि अब मेरी दीदी ने भी उस फौजी को देखा, पर वो अभी भी वैसे ही मम्मों को दिखा रही थीं. ’भाभी कामुक आवाजें निकाल रही थीं और मुझसे चुदने को मचली जा रही थीं.

मैं बस रुबीना से बात करता था और सबको भरोसा दिलवाता था कि उसको मैं कभी दुखी नहीं होने दूंगा. मैंने उन्हें बोला- बुआ ठीक है, पर मैं आप दोनों की गांड मारना चाहता हूँ. मम्मी प्रशांत के लंड को ऐसे चूस रही थीं, जैसे वो जन्म जन्म की प्यासी हों.

उसी समय आंटी ने अपने ब्लाउज के बटन खोलते हुए ब्रा ऊपर की और अपने चुचे मेरे सामने खोल दिए … मैं तो आंटी के मम्मे देखता रह गया. मैंने समीर की बॉडी को देखा तो उसकी बॉडी भी काफी सॉलिड थी लेकिन उसकी चेस्ट पर बाल नहीं थे.

मैं उन दोनों को देख कर बहुत खुश था कि आज इन दोनों की चुदाई देखूंगा.

उसका कमरा काफी बड़ा था, कमरे के ठीक बीचों-बीच एक राउंड डबलबेड था और चारों तरफ सब कुछ अच्छे से सजाकर रखा हुआ था. नोट बीएफ बीएफउस दिन मॉम ने कहा कि आज शाम को मेहमान आने वाले हैं इसलिए मैं आज कुछ स्पेशल बनाऊंगी. सनी लियोन की बीएफ सेक्सी हिंदी मेंगांड मरवाने की कहानी में पढ़ें कि जवान होते ही मेरी गांड में खुजली होने लगी थी. मगर मैं जब तक लंड लगाता, तब तक वो मेरा सर अपनी बुर में दबाकर पानी छोड़ने लगी.

तभी अम्मी ने सीढ़ियों से ऊपर आकर वहीं दरवाजे में खडी होकर आवाज लगायी- आ जाओ बच्चो … खाना खा लो.

जैसे ही लण्ड को उन्होंने मुंह में लिया … मानो मैं खुद को जन्नत में महसूस करने लगा।मेरे सुख का अंदाजा नहीं लगा सकते आप दोस्तो!पर मेरा लण्ड चूसते ही उन्हें शक हुआ क्योंकि वो तो मुझे पापा ही समझ रही थी।तो उन्होंने लाइट ऑन कर दी।उस लाइट के उजाले में मैं और माँ दोनों नंगे एक दूसरे को देख रहे थे. मेरा लंड बहुत सख्त था और लड़की की चूत एकदम से गीली हो गयी थी इसलिए लंड एकदम से उसकी चूत में जा घुसा. मित्रो, आपको मेरी यहहॉट सेक्स कहानीकैसी लगी? आपके कमेंट्स की मुझे प्रतीक्षा रहेगी.

करीब 10 मिनट बाद जब मैं झड़ने को हुआ तो मॉम ने कहा- उसी में छोड़ दे अपना माल. दोस्तो, मैं इक़रार खान अपनी कहानीरात भर अम्मी की चुदाई का नजाराका अगला भाग आपके लिए लेकर हाजिर हूँमेरी सेक्स कहानी के उस भाग में आपने पढ़ा कि कैसे अम्मी रात भर फूफा जी और उनके बेटे शकील से रात भर चुदी. उसके मोटे मोटे चूतड़ों को दबाते हुए मैं अपना लंड उसकी गांड पर ही रगड़ने लगा.

हॉस्टल की लड़कियों की सेक्सी फिल्म

क्या अपना लंड एक साथ दोनों की में घुसा दोगे?मैं- मैं पहले सुमन भाभी की गांड मारूंगा. तो मेरा काम कैसे चला?दोस्तो, मेरा नाम आशीष है, मैं उत्तराखंड का रहने वाला हूँ. मेरा लंड भी अब विस्फोट करने के लिए तैयार था और अगले मिनट में ही मेरे लंड से भी लावे की गर्म गर्म धार चारू की बच्चेदानी में भर गयी.

मैंने अपनी गोटियों को भाभी के होंठों तक सटाया और उनके मुँह में पूरा लौड़ा ठांस दिया.

मनीष है … वो गांव वालों को पता नहीं चलने देंगे और यह बात मनीष जी तक ही रहेगी।मां- वो मांस बेचने वाले की लुल्ली लूंगी मैं अपनी शुद्ध फुद्दी में … पागल है तू?मौसी- दीदी, लुल्ली नहीं, लौड़ा बोलते हैं उसे! एक बार देखेगी ना तब पता चलेगा। और वैसे भी तेरे इस भरे हुए शरीर को सिर्फ एक बड़ा लौड़ा ही झेल सकता है.

मैं अब भी उसे किस कर रहा था और मेरा एक हाथ उसकी ब्रा के हुक पर पहुंच गया था. यह कहकर ज़ाफिरा ने मेरी सगी बहन आइला को पकड़ लिया और उसके मम्मों को दबाने लगी. सेक्सी बीएफ बढ़िया-बढ़िया बीएफमैंने उंगली हल्की हल्की उसकी चूत के अंदर चलाई तो वो जोर की आवाज के साथ सिसकारने लगी- ऐसे ही अन्नू मेरी जान… ओह्ह … ऐसे ही … आह्ह … हायय … ओह्ह … करो ना जान … आह्ह … आह्ह।मैंने अपनी उंगली उसकी योनि के द्वार से हटाई और उसकी मखमली पैंटी को उसके जिस्म से आजाद कर दिया.

उस पूरी रात मैंने उन दोनों की चूचियां मसलीं, गांड चुत में लंड पेला … उन दोनों के नंगे जिस्मों का मज़ा लेता रहा. आंटी की चुत चुदाई से मेरे लंड की नसें फूल गई थी … जिससे आंटी की चुत में लंड की रगड़ और मस्त होने लगी थी. मैं कुछ देर उसेक ऊपर लेटा रहा और फिर मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया.

लेकिन मम्मी की सोफे पर बैठते ही वो जाग गया और मम्मी से पूछा- क्या हुआ?तो मम्मी बोली- अंदर गर्मी बहुत है. फिर मैंने धीरे धीरे उसके मम्मों पर हाथ रखकर दबाने लगा … जिससे उसके मुँह से सिसकारियां निकलने लगीं.

वह यह है कि इंसान में सेक्स की शुरुआत किस उम्र से हो जाती है यानि कि सेक्स क्रिया, कामक्रीड़ा से पहला परिचय कब होता है.

उन कपड़ों में जब मैं घर से निकलता हूँ, तो मैंने कई बार नोटिस किया कि कई लड़के मुझे बहुत घूर कर देखते थे, जैसे लड़कियों को देखते हैं. मेरे सीने के उभार बिल्कुल लड़कियों जैसे उभरे हुए चूचे जैसे दिखते हैं. तभी उमेश सर आ गए और मेरे दूध देखते हुए बोले- अपने गीले कपड़े मुझे दे दो, मैं उन्हें दूसरे कमरे में पंखा चला कर फैला देता हूँ … ताकि वो सूख जाएं.

हिंदी बीएफ सेक्सी हॉट वीडियो तो मैंने लाये हुए दोनों चॉकलेट के पैकेट उसके हाथों में दिए और उसको गोद में उठाकर उसके कमरे में ले आया।बाहर जाकर उसकी मम्मी के कमरे का दरवाजा बाहर से बंद कर दिया और पीहू के रूम में आया। चॉकलेट के दोनों पैकेट पिघल गए थे।पीहू ने कहा- भइया, ये तो पिघल गए हैं. इसी तरह पहले एक बार सत्यम ने बारी बारी से हम सब चुदक्कड़ों की चूत फाड़ी और अपना सारा माल हम सबको पिलाया.

अगले दिन शाम को जब शाम को सोने का टाइम हुआ तो हम दोनों रोज की तरह छत पर आ गए. तभी छोटी बुआ ने कहा- लेकिन दीदी, बच्चे तो घर पर ही हैं?बड़ी बुआ ने कहा- मयूर, बच्चों को रात को खाना खिला कर दूध पिला कर सुला देंगे. आज मैं आपके लिए मेरे साथ घटी घटना को सेक्स कहानी के रूप में सुना रहा हूं.

खुला सेक्सी वीडियो फिल्म

अन्तर्वासना की सेक्स कहानियों में मैंने पढ़ा था कि कुंवारी चूत में लंड डालने से अक्सर खून निकल आता है इसलिए मैं ज्यादा डरा नहीं. आपको मेरी सेक्सी बहन की चूत मारी कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मेल करना न भूलें. तभी मैंने उनके चेहरे को अपने चेहरे के सामने किया और उनकी आंखों से बहते हुए आंसुओं को पौंछने लगा.

इस समय बड़े संयम की जरूरत होती है और ये ध्यान रखना पड़ता है कि कहीं चुत प्यासी न रह जाए. मित्रो, आपको मेरी यहहॉट सेक्स कहानीकैसी लगी? आपके कमेंट्स की मुझे प्रतीक्षा रहेगी.

दोस्तो, कहते हैं ना कि हमेशा एक जैसे दो लोग आपस में मिल जाते हैं या फिर दो अलग लोग मिलकर कुछ ही समय में एक दूसरे जैसे हो जाते हैं.

इस बीच मेरा कितनी ही लड़कियों से आंखों ही आंखों में कनेक्शन बना और टूट गया … लेकिन किसी के भी साथ कहानी ज़्यादा आगे नहीं बढ़ी. पांच मिनट तक जम के चुदाई की उन्होंने मेरी और फिर अपना लण्ड निकाल कर मेरे बगल में साथ लेट गए और फिर से अपना लण्ड मेरे गांड में डाल दिया. फिर उसकी चूचियों को पीया और नीचे से उसने मेरे खड़े लंड को अपनी चूत पर खुद ही लगा दिया.

क्या तुम किसी मैकेनिक को जानते हो?मैंने भाभी से कहा- हां भाभी मैं कल सुबह एक मैकेनिक को बुला दूंगा. वे दोनों मेरे कमरे में अपनी चूत की झांटें साफ़ करवाने के लिए एकदम नंगी हो गई थीं. फिर तेरी मां की चूत चुदाई की फिल्म वाली एक कॉपी मैंने भी ले ली और मैं भी तेरी मां को चोदने लगा.

तो उस समय मेरी बहनों के एग्जाम खत्म हो चुके थे और मेरी बहन का बारहवीं का रिजल्ट आने वाला था.

एक्सएक्सएक्स सेक्सी बीएफ: वो स्कर्ट के ऊपर से ही मेरी चूत पर अपना हाथ फिरा रहा था और मेरे होंठों पर किस कर रहा था. वो भी मेरा साथ देने लगी और मैंने उसको नंगी करके ऊपर से नीचे तक चूमना शुरू कर दिया.

तो हमारे बीच क्या क्या हुआ?मेरा नाम सैम है, मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ. इसके अलावा उसने कुछ नहीं पहना था … कुछ भी नहीं … न ब्रा न पैंटी! मेरी बहन की पूरी गोरी गांड नंगी दिख रही थी।और तभी डोर बेल बजी. घर आकर मैंने उसके नाम की मुठ मारी, तब जाकर कहीं लंड को संतुष्टि मिली.

वैसे दोस्तो, मैं बता देता हूँ कि हमारी कपड़ों की बड़ी दुकान है तो उसमें मैं ऊपर वाले फ्लोर पर बैठता हूँ.

भाभी वासना से भरी आवाज में बोलीं- बहुत गर्म है … जरा ध्यान से लेना. फिर मैंने उसके दोनों गालों को पकड़ कर हिलाया जैसे छोटे बच्चों को खिलाने के लिए हिलाते हैं और बोला- नीता तुम्हारे होंठ बहुत सेक्सी और प्यारे लग रहे हैं। एक किस तो दे दो?नीता बिना कुछ बोले सीधे ही मुझे चूमने लगी और मेरी जींस के ऊपर से ही मेरे लंड को पकड़ कर दबाने लगी. अगर मैंने अपनी बहन को गर्भवती नहीं बनाया तो वो किसी बाहर के आदमी से गर्भवती हो जाएगी.