बीएफ सेक्सी पिक्चर खुली

छवि स्रोत,घड़ी वाली बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

एचडी बीएफ बीएफ वीडियो: बीएफ सेक्सी पिक्चर खुली, [emailprotected]इन्फैचुएशन सेक्स कहानी का अगला भाग:शादी में मिली भाभी ने दिया चरमसुख- 2.

बीएफ दिखाइए भोजपुरी बीएफ

मैं- क्या आपकी वाइफ को पता है कि आप उसको मुझसे चुदते हुए देखना चाहते हो?अमन- हां, मैंने उससे बात कर रखी है और वो भी लगभग मानी हुई है. गुजराती वीडियो बीएफपूनम आंटी बताने लगीं- अरे बेटा निखिल क्या बताऊं … तेरे अंकल मुझे चौराहे पर छोड़कर खुद ऑफिस निकल‌ गए और चौराहे से तेरे घर की तरफ बढ़ी, तो एकदम से बारिश शुरू हो गयी.

हालांकि चूत की हालत बता रही थी कि ये चुदी हुई नहीं है और यदि चुदी हुई भी है तो एक दो बार से ज्यादा बार नहीं चुदी होगी. हिंदी बीएफ.वह अपनी बारी चलने ही जा रही थी कि मैंने उसे रोका- पहले ये तो बता, जीतने वाले को क्या मिलेगा?‘ह्म्म्म …’उसने थोड़ा सोचकर बोला- कुछ भी नहीं.

मैंने वो लाकर उसे दे दिया और कहा कि आप प्लीज खुद को कवर कीजिए, ठंड बहुत है, कहीं आप बीमार न पड़ जाएं.बीएफ सेक्सी पिक्चर खुली: चाचाजी के साथ जैसे कमरे में घुसा तो पाया कि शबाना और भाभी जी एक केक को काटने की तैयारी कर रही थीं.

मुझे समझ में आया कि शायद रम्भा नहाने गई है क्योंकि जब सब लोग उठ जाते थे तो बाथरूम 10 बजे तक खाली नहीं रहता था.और पूरा का पूरा बदन जैसे किसी संगेमरमर की मूर्ति हो, ऐसा है।दीपिका को जो देखता है, देखता ही रह जाता है।मुझे गिटार बजाने का शौक भी है और एक दिन मैं घर पर अकेला था तो ऐसे ही गिटार बजाने लगा।दीपिका भाभी ऊपर कपड़े सुखाने आयी तो वहीं खड़ी मुझे देखने लगी।भाभी बोली- आपको गिटार बजाने का भी शौक है.

बीएफ फिल्म देखना है सेक्सी - बीएफ सेक्सी पिक्चर खुली

नहा धोकर मैंने अपना शरीर तौलिए से साफ किया और पूरे शरीर पर गुलाब जल वाला खुशबूदार सैंट लगाने लगी.थोड़ी देर बाद बुआ को बिस्तर में घोड़ी बना दिया और पीछे से लौड़ा पेल कर उन्हें चोदने लगा.

एक हिजड़ा हँसते हुए बोला- मजा आया नगमा बीबी?मैंने कहा- हाँ, बहुत अच्छा लग रहा है, मानो जन्नत मिल गई है. बीएफ सेक्सी पिक्चर खुली ऐसा लग रहा था मानो बहुत दिनों से किसी के लंड की प्यासी है।उसकी आंखों में कामेच्छा, वासना साफ-साफ झलक रही थी।मैंने भी उनके रंग रूप की तारीफ करते हुए उनकी जांघों को सहारना शुरू कर दिया था और हल्का हल्का उनके चूचों को दबाना शुरू कर दिया.

अन्दर आकर सबसे पहले मैंने घुटनों पर बैठकर गुलाब को कोमल की तरफ बढ़ाया और उसके सामने अपना प्रणय निवेदन किया.

बीएफ सेक्सी पिक्चर खुली?

कामरस मेरे लंड से मेरे लंड की गोलियों से होता हुआ मेरी जांघों में जाता हुआ मुझे साफ महसूस हो रहा था. उन्होंने मेरे लंड को ज़ोर से पकड़ लिया और तब तक पकड़े रखा, जब तक बाईक नहीं संभल गई. एक दिन मैं अपने घर के आंगन में खड़ा था, तभी मुझे सामने के घर से कपड़े धोने की आवाज़ आई.

उसके 32 इंच के भरे हुए दूध मस्ती से उछाल भर रहे थे और उनमें से हल्का-हल्का दूध रिस रहा था जिसे देख कर बहुत मज़ा आ रहा था. अब जलालुद्दीन साहब हँसते हुए बोले- इसका मतलब मैं शर्त जीत गया, तुमने कहा था कि पहली बार वाला दर्द दिया तो एक महीने तक मुझे याद नहीं करोगी. हम लोगों ने आपस में कभी सेक्स नहीं किया था।खैर अब बात होली की करते हैं तो आयेशा को देखते ही हमारे ग्रुप के लड़के उसे ताड़ने लगे.

मुझे अचानक ही जलालुद्दीन के बदन से आती पसीने की गंध अच्छी लगने लगी और मैं जान को जानवरों की तरह चाटने लगी. हर इंच के साथ उसके भाव बदल रहे थे हर बार जैसे ही थोड़ा लंड अन्दर जाता, वो आंह करके तुरंत ऊपर हो जाती. मैं बोली- सालों रंडी की औलादों, ऐसे भी कोई चोदता है क्या? अब मेरे बॉयफ्रैंड को क्या मुंह दिखाऊँगी?अभी मैं उठ ही रही थी कि अब्दुल ने मुझे गर्दन पकड़ कर दबा दिया और घोड़ी बना दिया.

फिर बात करते करते हम दोनों ने दो बार और चुदाई की और एक दूसरे से चिपक कर सो‌ गए. मैं पेशाब करने के लिए गया और आते वक्त मैंने देखा कि उन दोनों का कमरा खुला हुआ है.

बड़े दामाद की तबीयत खराब होने के कारण नैन्सी होली पर अपने मायके ना आ सकी किंतु मिष्टी आ गई.

मैंने उसका हाथ अपने शॉर्ट्स के अन्दर डाल दिया और उसने भी एक झटके में लंड को जकड़ लिया.

मैंने चाची से पूछा- चाची कहां निकालूँ?चाची बोलीं- गांड में ही निकाल दो. यह सब देख कर मैं एकदम से उत्तेजित हो गया और उसे देखते हुए मदहोश होने लगा था. मैं कोमल को बाइक पर लेकर मार्किट चला गया और वहां से कामवर्धक गोली ले आया.

फिर शाम को जब वो अकेली दिखी तो मैं उसके पास गया और जाते ही सॉरी बोल दिया. सुन्दर नैन-नक्श, आकर्षक चेहरा, मध्यम कद, हल्का-सा भरा हुआ बदन, एकदम दूध-सा गोरा रंग ऐसा कि छू लो तो दाग पड़ जाए. आह दोस्तो क्या बोलूं यार … उनके भरे हुए बूब्स मेरी पीठ की मां चोदने लगे थे.

जिस लड़की को मैं बहन की नजर से देखता था, उसे अब हवस की नजरों से देखने लगा था.

आंटी ने भी ज़िप खोल कर मेरे लंड को बाहर निकाल लिया और बड़े प्यार से सहलाने लगीं. पर मैंने कहा- मेरे मालिक, इसकी कोई ज़रूरत नहीं।अजय ने मुझे स्माइल दी और मुझे गांड ऊंची करके घोड़ी बनने को कहा. फिर निखिल अपने कपड़े उतारने लगा, धीरे धीरे सरे कपड़े उतार दिए।अब निखिल मेरे सामने नंगा खड़ा था.

समीर ने मुझे पहले ही गर्म कर दिया था इसलिए मेरी चूत ने मुझसे बगावत कर दी. वो इतनी नादान तो थी नहीं कि ये नहीं जानती कि ये तंबू क्यों बना हुआ है. शर्ट फट जाने से उसकी ब्रा एकदम साफ़ दिखने लगी और उसका गोरा बदन मुझे पागल करने लगा.

बाहर जाने से पहले मैंने रोहित को कस कर चूम लिया और अपने कमरे में चली गई.

उस दिन से मैंने महसूस किया कि वो मेरा कुछ ज्यादा ही ख्याल रखने लगी थी. होटल से अच्छा सा डिनर ऑर्डर करके कह दिया कि जब मैं फोन करूं, तभी भेजना.

बीएफ सेक्सी पिक्चर खुली चाची मेरी तरफ़ आईं और मेरे लंड का एक ज़ोर का चुम्मा लेकर कमरे से बाहर चली गईं. मैं निखिल के सामने चूत खोलकर लेटी हुई थी; मुझे बहुत अजीब लग रहा था.

बीएफ सेक्सी पिक्चर खुली मैं आपको इधर एक बात बताऊं कि इस धर्म की औरतें बहुत गर्म होती हैं, इनकी गर्मी हर कोई शांत नहीं कर सकता है. दोस्तो, मेरा नाम सकीना है और आज मैं आपको अपनी जीजा साली Xxx चुदाई कहानी बताना चाहती हूँ जब मुझे सेक्स का पहला अनुभव हुआ.

मैं आश्चर्य में पड़ गई और बोली- हाय, जीजू को सब पता था फिर भी उनको फर्क नहीं पड़ा?आपा बोली- अरे फर्क भला क्यों नहीं पड़ा? उनको पता था कि तू सब देख रही है इसलिए तो ये भी जोश में आकर गांड उछाल उछाल कर मुझे चोद रहे थे.

इंग्लिश सेक्सी मूवी एक्स एक्स

हमारी क्लास में सब लड़के लड़कियों की जोड़ियां शुरु के 6-8 महीने में ही बन गई थीं. कोमल की मक्खन सी पीठ पर बर्फ को रगड़ते हुए मैं कोमल की गांड के गुलाबी छेद पर आ गया. लेकिन फिर भी मैं कॉपी में लिखने का नाटक करने लगा लेकिन मेरा ध्यान उनकी तरफ ही था।अब मैडम ने मम्मी को बांहों में भर रखा था और उन दोनों के स्तन आपस में टच हो रहे थे.

मैं चूचियों की गोलाई के सहारे बर्फ के टुकड़े को घुमाते हुए काफी देर बाद कोमल के निप्पल के ऐरोला के पास आया. तुझे पहले ही बता देना चाहिए था कि मैं तुम्हें देना चाहती हूं, पर तू इतना नाटक क्यों करती है. कमाल की बात ये थी कि मेरा छोटा भाई बापू के बिस्तर के बाजू में ही टांगें फैलाए खर्राटे ले रहा था.

एक दिन उसने कहा- बेबी मुझे अब तुम्हारा लंड चाहिए, कब तक नकली लंड से काम चलाऊं? मेरे घर वाले न जाने कब जाएंगे.

कुछ देर बाद लगभग रात के दस बजे चाची के कमरे से आवाज़ आने लगी ‘आऽह … आह. चाची ब्लाउज पहनती हुई बोलीं- तुम्हारे पास ऐसी क्या चीज है, जिसे लगाने से मेरी खुजली दूर हो जाएगी. फिर निखिल अपने कपड़े उतारने लगा, धीरे धीरे सरे कपड़े उतार दिए।अब निखिल मेरे सामने नंगा खड़ा था.

क्योंकि मुझे पता था कि इस स्थिति में कोई भी लड़की सेक्स के लिए मना नहीं करेगी. आपा भी बोली- हाँ ये तो है, अब तो तू पहली ही रात को अपने शौहर का दिल जीत लेगी. मैंने प्यार से अपने होंठ उसके रसीले होंठों पर रख दिए और उसको किस करने लगा.

यद्यपि काम के कारण भैया उन्हें अधिक समय नहीं दे पाते, पर फिर भी उन्हें इसका कोई दुःख नहीं है. उसने आज नीले रंग का कुर्ता पहना था और सफ़ेद रंग की टाइट लेगिंग्स थी.

दूसरी तरफ साक्षी की गांड भी सिर्फ एक ही बार चुदी थी तो वो इतना ज्यादा खुली नहीं थी. सच में इस मैक्सी में वह बहुत ही जबरदस्त माल लग रही थी और उसके दूध हिल हिल कर मेरे लंड की मां चोदने पर तुले हुए थे. रिया ने कहा कि सालो ये बात याद रखना आज जितनी प्यार से सेक्स करोगे … कल तुम्हारी गांड उतना कम दर्द करेगी.

मैं अपने फ़ोन में मॉम की फोटो लेने लगा, सच मेरी मॉम उस छोटी सी कच्छी में किसी पोर्न फिल्म की हीरोइन की तरह लग रही थीं.

मैं एक चूची को मुँह में लेकर किस कर रहा था और वो पैंट के ऊपर से मेरा लौड़ा पकड़ रही थी. वर्षा अपने पूरे ज़ोर पर थी तथा हम लोगों के अन्दर भी तूफ़ान हिलोरें मार रहा था. जब चूत में आग अभी लगी है तो लंड कहां से लाओगी?मैंने उससे मजाक करते हुए कहा- लंड न सही चूत से ही काम चला लूंगी.

मैंने कहा- आंटी, मैं गर्मी में लोअर नहीं पहनता और इनमें क्या दिक्कत है. माधुरी मदहोश होकर बस ‘हमम्म आह आह आह … इस्स आह चाटो और चाटो …’ ऐसी सिसकारियां लेती हुई मुझे अपने बांहों में भर कर मेरे बाल सहला रही थी.

[emailprotected]हॉट सेक्सी भाभी न्यूड स्टोरी का अगला भाग:शादी में मिली भाभी ने दिया चरमसुख- 3. मैं सोच रहा हूँ, क्या हम दोनों साथ रह सकते हैं? मैं खाना अच्छा बना लेता हूँ. कुछ देर तक घिसने के बाद उन्होंने धीरे धीरे जोर लगाया और लण्ड मेरी गांड के अंदर दबाने लगे.

सेक्सी टीचर व्हिडीओ

कुछ देर बाद उसके पिता जी खेत की तरफ चले गए, माता जी पड़ोसी के यहां कुछ काम से मिष्टी के बच्चों के साथ पहले ही चली गई थीं.

इधर शबाना मेरे लंड को कपड़े से साफ कर रही थी और लंड में चावल के बराबर के छेद को समझने की कोशिश कर रही थी. आह्ह!मैंने 15-20 मिनट भाभी को जन्नत की सैर कराई।इस बीच भाभी 2 बार झड़ चुकी थी।जब मेरा काम तमाम होने लगा तो मैंने भाभी से पूछा- भाभी, कहाँ निकालूं अपना माल?तो वो बोली- मेरे मुंह में डाल दे।मैंने लंड चूत से निकाल कर भाभी के मुख में दे दिया और मुखचोदन करने लगा. वो दृश्य देखकर मेरा लंड टाइट होने लगा और लुंगी में तंबू सा बनने लगा.

ये सुनकर अमित ने कहा- हां यार प्लीज और ज्यादा बर्दाश्त नहीं कर पाएंगे. मैं उसके ऊपर लेटे लेटे होंठ चूमते चूमते टॉप के ऊपर से उसकी रसभरी चूचियां दबा रहा था. जानवरों के बीएफ हिंदी मेंउसके भरे से स्तन मेरे सामने थे, जो सफेद रंग की ब्रा में और मस्त चमक रहे थे.

दो साल पहले जब मैंने कॉलेज पूरा करके काम शुरू ही किया था, यह तब की ही घटना है. मैं भी उसकी गांड पर हल्के हल्के से थप्पड़ मार रहा था जिससे उसकी चूत और भी टाइट हो रही थी.

मैं- कुछ भी, आपको किसने कहा ऐसा?डिंपी- वो तो मैंने दिन में सब देख ही लिया था न. फिर जैसे उसके पेटीकोट का नाड़ा खुला, उसका पेटीकोट उसकी कमर से नीचे गिर गया. उसने मेरे आंसू पौंछे, मुझे उठाकर बिस्तर पर बैठाया और मेरी सफाई करने लगी.

मैंने फटाफट चाय छानकर कप में डाली और नमकीन, बिस्किट वगैरह निकाल‌ कर कमरे की तरफ बढ़ चला. उन्होंने मुझे अपनी कहानी भी भेजी थी, जिसे मैंने अन्तर्वासना पर पोस्ट की थी. मैंने समझ लिया कि चाची को लंड चाहिए और ये अपने मुँह से कह नहीं पा रही हैं.

मेरा लंड पूरा खड़ा था जिसे देखकर चाची के चेहरे पर चमक बढ़ने लगी थी.

उन्होंने एक एक करके मेरे पैर की सारी उँगलियाँ चूस डालीं और मेरे तलवों को किसी कुत्ते की तरह चाटते हुए ऊपर की तरफ आने लगे. चाची मुँह में वीर्य लेकर गटगट करके पी गईं और लंड को चाट चाट कर साफ़ कर दिया.

फिर हम सबने डांस वगैरह किया और उसके बाद हमारे सारे रिश्तेदार खाना आदि खा कर चले गए. तो उसने मना कर दिया, बोली- ये नहीं हो पायेगा।‘कोई नहीं!’ बोल के मैंने अंजलि के दोनों हाथों को पकड़ के उठाया और बोला- चलो अब बेड पर चलते हैं।और अंजलि को बेड पर जाने का इशारा किया. गे फक का मजा लेते लेते मेरा टाइम आ गया था, मैं उसके नंगे जिस्म को सहलाने लगा, उसकी जांघों को सहलाता.

पर जब भी वह मुझसे पिक भेजने को कहती, मैं उसे यह कह कर चुप करा देता कि एक दिन खुद तुमसे मिलकर सरप्राइज दूंगा. मैं उठ कर स्लीपर में सोने आ गया और सास के बाजू में लेट कर सोने लगा. हम-दोनों साथ ही झड़े तथा मैंने अपना फ़व्वारा उनकी चूत में ही छोड़ दिया.

बीएफ सेक्सी पिक्चर खुली वो इसलिए कि मेरे पेग इस टाइम काम आ गए।अब अंजलि मेरे लण्ड को सहलाने लगी, आगे पीछे करने लगी और दूसरे हाथ से मेरे लण्ड के दोनों साथियों को भी सहलाने लगी।अब मुझ से बर्दाश्त नहीं हो पा रहा था।मैंने अंजलि को लण्ड को मुँह में लेने को बोला. मॉम भी अब हल्की हल्की सिसकारियां ले रही थीं, शायद अब मॉम को भी सेक्स चढ़ने लगा था.

सेक्सी दादी मां की गांड चुदाई कहानियाँ

थोड़ी देर बाद मैंने चाची की कमर पर हाथ फेरा और चाची के ही कम्बल में आ गया. अगले दिन नीना ने मेरे और सोनी के साथ उनके फल के बाग और बकरी पालन देखा. इसके बाद जलालुद्दीन साहब के लण्ड ने फिर से दो तीन पिचकारियां मारीं लेकिन मेरे मुंह से बाहर होने के कारण वो पिचकारियां सीधे मेरे मुंह पर पड़ीं और मेरे बाल, आँखें, गाल, नाक सब वीर्य से नहा गए.

तूने उसे मेरी गांड मारने का बताया था क्या?”हां मैंने बीवी को बताया था कि हम लोग हॉस्टल में रवि की गांड मारते थे, रवि को और हमें बहुत मजा आता था. मम्मी की चूत के लबों को खोलकर अपने लंड का सुपारा मम्मी के चूत के मुख पर सैट करके मैं आगे की ओर झुका और मम्मी की दाहिनी चूची अपने मुँह में पकड़कर चूसने लगा. ब्लू पिक्चर बीएफ व्हिडीओगरिमा और उसके ब्वॉयफ्रेंड को एक दूसरे से मुहब्बत करते देख कर निशा तपने लगी थी.

फिर मेरे पेट पर बैठकर भाभी ने अपनी ब्रा का हुक खोला और किसी देसी पोर्न स्टार के जैसे ब्रा को निकाल कर दूर फेंक दिया.

वो मेरी पीठ को अपने नाखूनों से खरोंच रही थी और मुझे लगातार दबोच कर चूसे जा रही थी. मैंने कहा- क्यों, प्यार क्यों नहीं करते हैं?वो मानो मेरे सामने फट पड़ना चाहती थी.

लेकिन कुछ दिनों के बाद एक फैमिली वहां पर आई थी।वे काफी अच्छे लोग लग रहे थे. इससे बुआ की फिर से आवाज निकल गई ‘ऊईईई ऊईईई राज प्लीज़ साले धीरे चोद भोसड़ी के … मैं मर जाऊंगी …’लेकिन अब मैं कहां मानने वाला था, मैंने अपने धक्कों की रफ़्तार और बढ़ा दी. आंटी- घर से मुझे लेने मेरे शौहर आ रहे हैं यहां, वो आने वाले हैं, यह बताने के लिए कॉल किया है.

मुझे रहा नहीं गया और मैंने हिम्मत करके उसकी पैंटी की इलास्टिक में उंगलियां फंसाईं और पैंटी नीचे खिसका दी.

सब शॉप वाले अपनी शॉप खोले होंगे और मेरी अकेली शॉप बंद दिखेगी, तो शक हो जाएगा. मैं भी तुम्हारे साथ आना चाहती हूँ … तुम जोर जोर से चोदो मुझे … आंह पूरा अन्दर मेरी बच्चेदानी तक लंड घुसाओ. रात को हम सबने डिनर किया और मेरे सोने के लिए भाभी ने कूलर के सामने सिंगल बेड लगा दिया.

इंसान और कुत्ते का बीएफमैंने साक्षी की गांड पर हाथ रखा और धीरे से उसकी गांड को अपने लंड से थोड़ा ये देखने के लिए उठाया कि मेरा लंड अभी भी खड़ा है और उसकी गांड में फंसा हुआ है. तो टॉप में से उसकी उभरी हुई गोल गोल चूचियां ऐसे हिलती थीं मानो उसके टॉप के अन्दर दो संतरे थिरक रहे हों.

सेक्सी चुदाई 2020

पर जब नाड़ा नहीं खुला तो कुछ तक यूं ही सलवार के ऊपर से भाभी की फुद्दी के मजे लिए और उठ कर सलवार के ऊपर से ही उनकी फुद्दी को किस भी किया. देसी आंटी की चुदाई का मजा मुझे दिया मेरे भाई की सास ने! मैं उनके साथ स्लीपर बस में था. फचाक फचाक करके ना जाने कितनी पिचकारियां उसके लंड से निकलीं और मेरी चूत को उसने वीर्य का तालाब बना दिया.

फिर एक दिन घर पर मेरी चाची की बहन का लड़का आया जो चाची की बहन के रिश्ते के चलते मेरे मौसेरे भाई थे. वो कभी आयेशा की चूत में लंड डाल देता तो कभी रिया की चूत में लंड डालकर चुदाई शुरू कर देता. अब मेरा जब भी मन करता है, आंटी को या दीदी को चोद कर शांत हो जाता हूँ.

मेरे घर में मैं, मेरा बड़ा भाई और मामी पापा, चाचा चाची और उनकी लड़की रहते हैं. अपना जिस्म साफ सुथरा करने के बाद मैंने मार्केट से एक सिल्क की जालीदार नाइटी ली, जिसमें से अन्दर का मेरा गोरा बदन झलकता रहे. थोड़ी देर में एक मोटी सी उंगली घुसी, ऐसा लगा कि ये वाली रोहित की थी.

राजधानी एक्सप्रेस की स्पीड से लगे मेरे लंड के धक्कों से मम्मी हांफने लगीं और उन्होंने हाथ जोड़कर रुकने का निवेदन किया. उसकी आग मुझसे ज्यादा है क्योंकि मैं तो अपनी बीवी और गर्लफ्रेंड को चोदता ही रहता हूं.

फिर चाचा और पापा को पास के गांव में किसी काम से जाना पड़ गया, रात को तेज बारिश शुरू हो गई तो पापा और चाचा वहीं रूक गए.

अचानक हुए इस हमले से बुआ ‘ऊईई मादरचोद गांड में फिर से पेल दिया उई ऊईईई …’ कहती हुई चिल्लाने लगीं. बीएफ मूवी हिंदी पिक्चरआज से मैं अपनी चूत के साथ साथ अपनी गांड भी तेरे इस मस्त नौजवान लंड को सौंपती हूँ. साल के बीएफ वीडियोमेरी निगाह पड़ी तो मैंने देखा कि उसने अपनी साड़ी को घुटनों तक उठा लिया है और बैठकर पौंछा लगा रही है. मेरे ज्यादा तेजी से चूत को रगड़ने से चाची की हल्की आवाज में कामुक सिसकारियां निकल रही थीं ‘आह … आह …’मैंने चाची के मुँह पर हाथ रखा और धीरे से कहा- चाची चुप रहो, चाचा जाग जाएंगे.

उनकी फ्लाइट बिल्कुल सही समय पर आ गई और मैं बाहर उनका इंतजार कर रही थी.

वो मेरे सिर को पकड़ कर अपने चूत पर दबा रही थी और जोर जोर से सिसकारियां लेने लगी. मैंने धीरे से अपना एक हाथ अपनी आंटी की बेटी के ऊपर से आंटी के बदन पर रखा. वैसे ही अधूरी मेरे लंड मुँह में लेकर अपने गालों को भींच कर और अन्दर खींच रही थी.

चाची बोलीं कि ये क्या कर रहे हो?मैंने चाची की गांड पर एक ज़ोरदार तमाचा मारा और कहा- बस मेरी जान अब तू लंड से ठुकाई का मज़ा ले. उसके कपड़े धोते समय ऊपर नीचे होते मुझे उसके चूचों की गली का दर्शन हो रहा था. आज वो मंदिर जाने वाली थी तो उसने लाल रंग की साड़ी और उसी रंग का मैचिंग ब्लाउज़ पहना था क्योंकि उस दिन वटपूजा थी.

सेक्सी फिल्म चाहिए वीडियो देखने वाला

ऐसे ही मैंने चाची की गांड क़रीब 20 मिनट तक मारी पर मैं अभी भी झड़ने वाला नहीं था. वो नशीली आवाज में बोली- तो पका दो न!मैंने कहा- पकाने में बड़ी मेहनत लगती है मेरी जान. मैं अभी उन्हें देख ही रहा था कि आंटी मेरे पास आईं और बोलीं- आप यहीं रहते हैं?मैंने कहा- हां.

मैंने हंसते हुए माधुरी की चूत को थोड़ा चौड़ा किया और उसमें झटके से एक उंगली डाल दी.

मैं उसकी और हुआ और अपनी उंगली को उसके माथे से उसके होंठों तक फेरने लगा.

मैंने उसे बेड पर लिटा दिया और उसके दोनों मम्मों से खेलने लगा, एक को चाटने लगा, दूसरे को मसलने लगा. रात को करीब एक बजे चाची ने करवट ली और उन्होंने अपना मुँह मेरी तरफ कर लिया. बीएफ मूवी देखने वालीरम्भा ने अब बर्तन धोने शुरू किया और साथ ही उसने मुझसे कहा- बाल्टी में पानी भर दीजिए।बैठकर उसने बैठकर साड़ी अपने घुटने तक उठा ली थी और अपने पल्लू को भी अपने कमर में बांध लिया था जिससे अब उसके बड़े बड़े स्तनों के दर्शन मुझे आराम से हो रहे थे और उसकी मांसल जांघें भी मुझे दिखाई दे रही थी.

मैंने अपना लौड़ा उसके मुँह में दे दिया और उससे चुसवाना शुरू कर दिया था. अभी जैसे ही मैं बाथरूम में घुसता, मुझे मां की सिसकारियां सुनाई दीं. घटना करीब 2 साल पहले उस समय की है जब मेरी खाला की शादी नहीं हुई थी यानि उस वक्त वो कुंवारी माल थीं.

उसने पूछा- ओके बुआ आपको रोहित से अभी और चुदवाना है न?मैं बोली- रात में देखूंगी. काफी देर तक जीजू मेरे होंठ चूसते रहे तो मुझे भी अच्छा लगने लगा और मैं भी जीजू के होंठ चूसने लगी.

मैंने बात की तो पता चला उनके पति आ गए थे इसलिए पहले कॉल कट कर दिया था.

ऐसा लग रहा था कि अब अगर साक्षी इसी तरह मेरे लंड पर अपनी कमर घुमाती रही तो मेरे लंड का लावा साक्षी की पूरी गांड को भर देगा. मम्मी की चुदाई के बाद मैं उनके ऊपर ही लेट गया और उन्हें किस करने लगा. मैंने मन में सोचा कि आज नहीं तो कल मैं इसे चुदाई के लिए पटा ही लूंगा.

जंगल की बीएफ दिखाओ उसने भी उठने और हिलने-डुलने की जहमत नहीं उठाई और न ही मैंने उसकी गांड के नीचे से हाथ हटाने की कोशिश की. मैं कमरे में बने बाथरूम में गया और ब्रा पैंटी पहन कर एकदम सज-धज कर रूम में आ गया.

मैंने अपनी गांड का छेद टाइट कर लिया, जिससे मोहित को लंड गांड में डालने में परेशानी होने लगी. सब शॉप वाले अपनी शॉप खोले होंगे और मेरी अकेली शॉप बंद दिखेगी, तो शक हो जाएगा. मैं बोली- ये सेक्स तो बहुत दर्दनाक चीज है, मुझे तो सोच कर भी डर लग रहा है.

गूगल मुझे सेक्सी वीडियो देखनी है

अब मैं उसके फोन और बात पर ध्यान न देकर उसके बड़े चूचे देख रहा था और एक हाथ से उसके बाल संवार रहा था. कुछ देर तो मुझे खराब लगा लेकिन फिर लंड का स्वाद मुझे अच्छा लगने लगा और मैं जोर जोर से जीजू का लंड चूसने लगी. उसका एक स्तन मेरे एक हाथ में नहीं समा रहा था … काफी बड़े दूध से उसके!मैंने बारी बारी से उसके दाएं और बाएं बाबलों को दबाया और इतनी ज़ोर से काटा कि उसकी चीखें निकलती रही.

मैं भी लंगड़ाते लंगड़ाते अपने कमरे में गई और अपनी फटी चूत साफ़ कर के सो गई. चुदाई के बाद हम दोनों अलग हो गए और एक दूसरे की ‌तरफ देख कर मुस्कराने लगे.

मैंने धीरे धीरे अपना हाथ ब्लाउज के अन्दर डालने की कोशिश की तो चाची जाग गईं और उन्होंने मेरे हाथ को हटा दिया.

इसी तरह करते हुए समीर मेरे मम्मे पर आ गया और मेरा एक मम्मा अपने मुँह में लेकर चूसने लगा. मेरी जीभ उसकी चूत को चाटने में लग गई थी और वो मेरे सर को अपनी चूत पर दबाए जा रही थी. मिष्टी समझती थी कि जीजा सिर्फ़ उसी से प्यार करते थे लेकिन उसके उलट प्रिंस अपनी छोटी साली पर भी डोरे डाल रहा था.

झटके खाते हुए जलालुद्दीन ने मुझे अपनी बांहों में जकड़ा और चिल्लाए- ले रंडी जान, तेरी चूत में मेरा बीज पड़ गया, अब मेरे हरामी बच्चों की फसल पैदा कर. मुझे इस बात का‌ अहसास नहीं हुआ कि‌ आंटी इस बात को नोटिस कर रही हैं. धीरे धीरे हम दोनों ने प्रोग्राम बनाना शुरू कर दिया, इस बार वो और भी ज्यादा गर्म थी.

मैं चाची की मस्त गांड का दीवाना था तो मैं झट से मान गया और अगले दिन तैयार होकर गांव से निकल गया.

बीएफ सेक्सी पिक्चर खुली: आपको Xx भाभी की हॉट कहानी के अगले भाग में लिखूंगा कि आगे क्या क्या हुआ. काफी देर तक वो मेरे दोनों मम्मों को दबाते रहे और अपने मुँह से निप्पलों को निचोड़ते रहे.

रात को भी जैसे ही खाना खाकर मोबाइल लेकर बैठा तो मुझे लगा कि शायद वो अभी मैसेज करेगी. पर क्या कर सकता था क्योंकि कुछ बात करने से पहले वो अकेली हो तो बात बनती. थोड़ी देर में जलालुद्दीन साहब बिस्तर पर लेट गए और मुझसे अपने ऊपर आने को बोले.

जैसे ही मैंने ज़्यादा ज़ोर लगा कर लंड घुसेड़ा, तो मेरा लंड का टोपा उसकी गांड के छेद में घुस गया.

मेरी गुच्छी के ऊपर कुछ बाल उग आये थे, जलालुद्दीन आलिम ने उन बालों पर हाथ फिराया और बोले- हरामजादा जिन्न बालों में छुपना चाहता है. सही जगह लंड टिकाते ही मैंने उसे कमर से पकड़ नीचे बैठने का इशारा किया. सोनी की कंपनी ने पुणे से 50 किलो मीटर दूर एक फैक्ट्री का निर्माण किया था.