भोजपुरी में बीएफ दिखाएं

छवि स्रोत,हीरोइन की सेक्सी बीएफ एचडी

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ मोटी लड़कियों की: भोजपुरी में बीएफ दिखाएं, मैं ये सब जल्दी खत्म करके वापस जाना चाहती थी इसलिए मैंने अपने ब्लाउज के बटन खोल के ब्लाउज उतार दिया.

इंडियन बीएफ ब्लू पिक्चर सेक्सी

गांड चुदाई के बाद आलिया चली गई थी और दीदी मेरी गोद में बैठी मस्ती कर रही थीं. बीएफ सेक्सी इंग्लिश ब्लू पिक्चरकभी कभी तो बाबू अपने होटल से ही खाकर आ जाया करते और धड़ाम से चौकी पर सो जाते.

वह एकदम से चिहुंक कर बोली- उई … माँ … मार ही डालोगे क्या … अब चोद भी दो मेरी जान … अपनी पत्नी को छोड़ दो न … क्यों तरसा रहे हो … आहहह शशउउ. गधा घोड़ा वाली बीएफतो मैंने हाथ जोड़ कर कहा- नमस्ते भाभी, कैसी हो आप?वो भी खुल कर मुस्कुरा दी- अरे नमस्ते भाई साहब, आज आपको हमारी याद कैसे आ गई?मैंने कहा- कल शीराज के फोन आया था कि उसकी बदली मुंबई की हो गई है, तो उसने मुझे हेल्प के लिए कहा था।वो मुस्कुराती हुई आगे चल पड़ी और बोली- ओह हो … तो आप आये हैं मेरी हेल्प करने!मैं उसको जाते हुये देख रहा था.

कुछ पल बाद मैं उसके लंड पर बैठ गई ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ मजा सा आ गया और उसका लंड अपनी चुत में फिट करके खेलने लगी.भोजपुरी में बीएफ दिखाएं: संजू ने मुस्कुराकर कहा- क्या भैया, मेरा भाई होकर डरते हो?वो जोर जोर से गांड उठाते हुए अपने भाई के लंड को चोदने लगी.

वो सभी हंस रहे थे, तभी मैं सबके लिए बियर की ठंडी बोतलें लेकर आ गया.भैया बोले- क्या उसको हमारे तुम्हारे बारे में पता है?दीदी बोली- नहीं … ये नहीं बताया … बाकी सब जानती है.

एक्स एक्स एक्स बीएफ फुल एचडी मूवी - भोजपुरी में बीएफ दिखाएं

थोड़ी देर बाद चाची का लड़का सो गया, तो चाची ने उसे उठाकर बेड पर सुला दिया.दीदी ने मेरे बदन को चूमते हुए मेरा लोवर और निक्कर निकाल दिया और मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसने लगीं.

परमीत की ये अवस्था चीख-चीख कर कह रही थी कि उसकी शर्म का गहना बिखर चुका है और यौवन का अहंकार चकनाचूर हो गया है. भोजपुरी में बीएफ दिखाएं स्वीटी आंटी मुस्कुराते हुए बोलीं- अच्छा मुझमें ऐसा क्या है, जो तुमसे बर्दाश्त नहीं हुआ?अब स्वीटी आंटी धीरे धीरे लाइन पर आ गई थीं.

दीदी बेड पर लेटकर अपनी चुत में उंगली करते हुए सिगरेट का मजा ले रही थीं.

भोजपुरी में बीएफ दिखाएं?

मैं- मैंने रिया को प्रॉमिस किया था कि अगर एक साल के अन्दर जिया नहीं मिली, तो मैं तुमसे शादी कर लूंगा और तब तक मेरे जिंदगी में कोई नहीं आएगी. उसे रसोई का काम बहुत अच्छे से आता है क्योंकि पहले वो किसी बड़े अधिकारी की कोठी पर काम करती थी और वहीं रहती थी. मैं उठा और सोफा पर बैठ गया तथा प्रियंका को अपनी गोद में इस तरह बैठाया कि मेरा लंड उसके चूत में घप्प से घुस गया.

थोड़ी देर सोचती रही फिर बोली कि आप मुझे बेबी कह सकते हैं … बेबी मेरा घर का नाम है लेकिन ये नाम इतनी लड़कियों का होता है कि कोई रिस्क नहीं है. मुझे घोड़ी बना दिया और पीछे से उसने लन्ड पेल दिया और घोड़ी वाले आसन में चुदाई करने लगा। मेरी कमर पकड़ कर धक्के लगाते हुए उसका लंड पूरा का पूरा मेरी चूत में जा रहा था जिसके कारण फच-फच की आवाज हो रही थी. साब का लंड तो मोटा था पर शराब के नशे में साब चुदाई का मजा नहीं दे पाता था.

जब मुझे लगा कि मामी गहरी नींद में सो रही है तो फिर से मैं अपने पैरों से उनके बूब्स को स्पर्श करने लगा. मैंने अभी मुश्किल से 4-5 फोटो ही खींचे थे कि मेरे मोबाईल पर मेरे आफिस से बॉस का फोन आ गया. मेरे भैया कितने लकी थे … यार ऐसी माल तो फ़िल्म की हीरोइन भी नहीं होती है, जैसी मेरी दीदी थी.

लंड के सिरे पर एक गोल उभारनुमा सुपारा था, जो मुझे आकर्षित कर रहा था. राजन ने ममता को समझा कर हटाया और कहा- घर चलते हैं, बाकी कसर वहीं पूरी करेंगे.

फिर उन्होंने मुझे नीचे लिटाकर पहले मेरी नाभि पर और फिर चड्डी की ऊपर से मेरे लंड पर बर्फ फिराने लगी.

उन्होंने मेरा लंड पकड़ कर देखा तो लंड ने हिनहिना कर भाभी को नमस्ते की.

एक बार मैंने रंगे हाथ देख लिया था, साली गलती मानने की जगह कहने लगी कि जीजा साली में तो थोड़ा बहुत चलता है. मैंने प्यार से उनके होठों पर एक चुम्बन किया।फिर अपने हाथ को उनकी पैंटी से ही साफ किया और उन्होंने भी अपने हाथ पर लगे मेरे मुठ को मेरे अंडरवियर से साफ किया। फिर हम दोनों एक दूसरे से अलग होकर लेट गए और पता नहीं चला कब नींद आ गई।इस तरह पहली बार मैंने और मामीजान ने एक दूसरे को हस्तमैथुन से संतुष्ट किया. मेरी उंगली ही बहुत-बहुत मुश्किल से वसुंधरा की योनि में प्रवेश कर पा रही थी.

अपने दोनों हाथों से सर ने मेरी कमर को घेरे में लिया और अपनी ओर झटके से खींचा, सर का लण्ड मेरी चूत के मुंह से स्लिप कर गया और अन्दर नहीं गया. पैंटी पर चूत वाले हिस्से को सूंघने से ही मेरा लौड़ा खड़ा हो जाता है. वो चिल्लाने लगी- आआआ … आह्ह … लग रहा है अंदर, आराम से करो, आई … ईईई … आह्ह … आराम से करो शुभम।मैंने उसकी नहीं सुनी.

इधर संजय मेरी चूत की फांकों को फैलाकर उस पर अपने लंड को रगड़ने लगा था.

गांड का प्यारा सा छोटा सा छेद देखकर मेरा सोया हुआ लौड़ा फिर से जाग उठा. तभी मैं जिया के होंठों को घूमने लगा और वो सभी हम दोनों को देखने लगे. करीब आधे घंटे बाद हम अपनी जगह पर पहुंच गए, जहां से हमें फेरी पर जाना था.

जब हम दोनों की नजर पड़ी, तब आलिया घुटने के बल बैठकर जीजा जी का लंड चूस रही थी और जीजा जी आलिया के बाल पकड़कर अपनी आंखें बंद करके सीत्कार कर रहे थे. भाभी- हां दरअसल मुझे भी थोड़ी घबराहट हो रही थी क्योंकि मैं अभी तक ऐसा किसी दूसरे के साथ नहीं किया है. मेरी हालत को देख कर विवेक बोला- बंध्या पूरी रात जगने के लिए तैयार हो जा.

उसके बाद मैंने सुहास की शर्ट के बटन खोलना शुरू किए और उसकी शर्ट उतार दी.

हमारे साथ फेरी पर आने वाले और कई कपल थे, लेकिन लेकिन हम चार ही कपल इंडियन थे. भाभी ने तुरंत ही बैठते हुए खड़े लंड को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगीं.

भोजपुरी में बीएफ दिखाएं इसलिए मेरे पास आमिना के साथ आगे बढ़ने के सिवाय कोई दूसरा रास्ता नहीं था. विक्की से बात हो जाने के बाद मैं अपने कमरे में चली गई और वहां जाकर मैंने अपने सारे कपड़े उतार दिए और एक टी-शर्ट पहन ली.

भोजपुरी में बीएफ दिखाएं मेरी वासना की सेक्स कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मेरा नया यार सागर मुझे चोदने के लिए अपने घर ले गया था. उसके बाद जैसे ही वो मेरे पीछे बाईक पर बैठी, उसने अपना सीना मेरी पीठ से रगड़ा और बैठ कर मेरे कंधे पर अपना सर रख लिया.

मैंने उसकी चूत में से लंड को निकाल लिया और एकदम से उसकी पीठ पर माल को गिरा दिया.

इंडियन कॉलेज सेक्सी फिल्म

मैंने जब पड़ोसी के घर की ओर नजर घुमायी तो आंटी चोर नजर से मेरी ओर ताक रही थी. जाने के पहले मैंने मनु को इशारा किया, तो उसने उसके भाई को कुछ देर दूसरे कमरे में और उलझाए रखा. मेरी हर इच्छा मेरे कहने से पहले ही पूरी कर दी जाती थी, इसीलिए मेरा स्वभाव भी चंचल हो गया.

मैंने अनमने मन से हां कह दिया क्योंकि मुझे उन दोनों की तरफ से कोई उम्मीद नहीं थी कि इनकी चुत का कोई जुगाड़ हो पाएगा. उस वक्त वो वासना की चादर तन पर लपेट लेती है और लंड के प्रहार से अपने अस्तित्व को नष्ट करके नया जीवन पाना चाहती है. वो मेरे मुख में लंड डालने की कोशिश करने लगा, मैंने लंड को पहले जीभ से चाटा, कुछ खट्टेपन का स्वाद आया, जिससे मैं भलिभांति परिचित थी.

मेरे मोटे लंड की रगड़ से उसके आंसू निकल आए- आआआह … अमित छोड़ दे उईईईईई माँ मर गई … आईई बहुत दर्द हो रहा रे!मैंने उसे अच्छे से पकड़ लिया.

वो अपनी चूत को ऊपर उठा रही थी और मेरे सर को अपनी चूत पर दबा रही थी. उसकी चुदास देख कर मैं उसके ऊपर चढ़ गया और पूरी ताकत के साथ धक्का लगा कर उसे चोदने लगा. साथ ही वो नीचे से चूतड़ों के धक्के दे देकर मेरी चूत की हालात खराब कर रहे थे.

सुमित एक दिन बोला कि अब शायद हमें प्रोटीन सप्लीमेंट शुरू कर देना चाहिए. उस समय अनिषा बोली- भाभी क्या बात है … आपके चेहरे पर बहुत निखार आ गया है, लगता भाई कुछ ज़्यादा ही रात को खुश कर रहे हैं?मैंने कहा- नहीं यार … आज कल आपके भैया के बिजनेस पर ज़्यादा ख्याल दे रहे हैं … और तू बता … तेरा कैसा चल रहा है. मैंने गुस्से में कहा- तू मेरी ब्रा और पैंटी क्यों लेकर गया है? तुम्हें शर्म नहीं आती है क्या? मुझे मेरी ब्रा और पैंटी वापस करके जाना.

जब कोई पुरुष महिला के अहंकार रूपी आभूषण को उतारता है, तोड़ता है, लज्जा के गहने से मुक्त करता है … तब सही मायने में महिला निर्वस्त्र होती है. फिर मेरे एक जोरदार धक्का मारने की वजह से पूरा लंड अन्दर चला गया और भाभी चिल्लाने लगीं.

भगवान जाने … ये प्रकृतिप्रदत्त था या वी वाश का कमाल! लेकिन जो भी था … था बेहद लाजबाब!मैं तो वसुंधरा के इस रूप पर मर-मिटा. नीतू बोली- क्यों न आज हम लोग डिनर बाहर करें, यहां थोड़ी दूर ही एक बहुत अच्छा रेस्टोरेंट है … और उसमें बार भी है. उसकी उम्र कोई 29-30 साल की होगी, लम्बा कद, रंग गोरा, मस्त चूचियाँ, जिन्हें देखते ही किसी के भी मन बेकाबू हो जाए.

कभी अपनी जांघों से उसकी जांघों को टच करता तो कभी अपनी कोहनी से उसके बूब्स को टच कर रहा था.

मेरे अधसोये हुए लंड को अपने हाथ में लेकर खेलने लगी, बोली- यार अजय, तुम तो बहुत ही मस्त चुदाई करते हो. उधर संजू नीरज को नीचे लिटाकर 69 पोज में उसके लंड को चूस रही थी और अपनी चूत को नीरज से चुसवा रही थी. मैंने तेज तेज चुदाई शुरू की और उनकी चुत से बाहर लंड खींच कर मुँह से लगा दिया.

मैंने तेज तेज चुदाई शुरू की और उनकी चुत से बाहर लंड खींच कर मुँह से लगा दिया. मैंने उसकीगांड मारने की इच्छाजतायी तो वह बोली- आज तुमने पहले ही मेरी चूत को चोद चोद कर मेरी हालत खराब कर दी है.

अब मैंने उसे बेड पर एक साईड में लिटा दिया और उसके जिस्म के एक एक अंग को जंगलियों की तरह चूसने लगा. पहले मर्द का स्पर्श … वो भी बाबू का, ये तो मैंने सोचा भी नहीं था कि पहली चुदायी बाबू से होने वाली है. मैं- घूँघट उठाने की इजाजत है?नेहा- अमित आज तुम्हें सब करने की इजाजत है, पर मेरी बात को ध्यान से सुनो.

सेक्सी नाबालिक लड़कियों की

चूँकि इतना लंबा सफर थकान तो बहुत हो गयी थी पर अम्मी की घर वापस जाने की जिद की वजह से हम वापस अपने गाँव की ओर रवाना हो गए।अब्बू के दोस्त हमें बस स्टैंड तक छोड़ने आये।उस दिन बस में बहुत भीड़ थी, बैठने की जगह भी मुश्किल थी.

मैंने तत्काल वसुंधरा के दोनों पैर अपने कन्धों पर टिकाये और अपने लिंग-मुण्ड को अपने दाएं हाथ में ले कर वसुंधरा की योनि की बाहरी पंखुड़ियों को ज़रा सा खोल कर, योनि के ऊपर भगनासे तक घिसने लगा. संजना बोली- मैंने तो सिर्फ अपनी पति की खातिर ये कर लिया है, इसलिए मुझे भी किसी गैर से करवाने का कोई शौक नहीं है. हम लोगों ने वहां खूब डांस किया और हमने वापस होटल में आकर खाना खाया.

कुछ दिन तक हमारे बीच ईमेल के जरिये ही विचारों का आदान-प्रदान होता रहा. मैं अभी भी अस्त व्यस्त थी, तो मैं घर जाने लायक तैयार हो गई और संदीप ने घर ठीक कर लिया. कॉलेज की लड़कियों के बीएफ सेक्सीइसके बाद बाबू ने फिर से दम लगा कर एक और धक्का दे मारा, जो आगे जाकर कहीं थम गया.

इधर मैंने भी अपने सारे कपड़े खोल दिए थे और मेरा लंड फुंफकार मार रहा था. मुझे अंदाजा हो गया आंटी के बूब्‍स 36+ के हैं।फिर बारी बारी से मैंने दोनों बूब्‍स खूब चूसे मैं उनके निप्पल को दाँतों में दबाए था जिससे आंटी की सिसकारियाँ अब पूरे रूम में गूंजने लगीं थीं.

फिर आवाज लगा कर बोला- भाई कितनी देर और लगेगी?मैंने कहा- बस पांच मिनट भाई. शायद उसने इसका गलत मतलब निकाल लिया। उसने किनारे खिसकते हुए मुझसे सीट पर बैठने के लिए पूछा. कमर के नीचे जब निगाह जाती थी, तो उसकी उठी हुई गांड का तो पूछो ही मत.

अगर इस तरह से चुसेगी तो किसी भी लड़के का बीज बहुत जल्दी ही तेरे मुँह में निकल जायेगा और तू चुद नहीं पाएगी. अपनी पैंट और अंडरवियर निकाल कर मैंने आंटी के मुँह के पास अपना लण्ड किया. फिर मैंने उन्हें अपनी गोद में उठा लिया तो आंटी बोली- कहाँ ले जा रहे हो?मैंने कहा- तुम्हारे बेड पर जिस पे तुम अपने पति से चुदती हो!और मैंने आंटी को ले जाकर बेड पे लिटा दिया.

कुछ देर बाद नीलू ने सरीना के मुंह स मेरा लन्ड निकाल लिया और अपने मुँह में डालकर चूसना शुरू कर दिया.

अब मैंने भी उसकी पीठ के नीचे हाथ ले जाकर उसकी ब्रा की स्ट्रिप खोल दी और उसके अनछुए मम्मों को मसलने लगा. संजू थोड़ी मायूस हुई, वो किसी भी कीमत पर झड़ना चाह रही थी, परंतु नीरज का लंड मुरझा चुका था.

पर अधिकार के साथ एक सम्मान भी था मेरे प्रति!फ्रेश होकर हम दोनों नीचे गए और ब्रेकफास्ट किया. दोस्तो, मैं जैस्मिन कहानी को आगे बढ़ाते हुए एक बार फिर से आप लोगों के बीच में हूं. उसका लौड़ा तनाव में आ चुका था जिसकी शेप मुझे किसी डंडे की तरह उसकी लोअर में अलग से दिख रही थी.

हालाँकि सिल्क परिपक्व और भरे बदन की महिला थी फिर भी सम्भोग से कई साल दूर रहने के कारन चूत का संकुचित होना लाज़मी था. उन्होंने पूछा- किस चीज की गोली है यह?तो मैंने कहा- तुम खा लो, थोड़ी देर बाद पता चलेगा यह तो!चाची ने गोली खा ली और मैंने भी. उसने मेरी भरपूर मस्त चूचियों को अपने हाथों में भरते हुए जोरों से मसला, जिससे मेरी आह निकल गई और मैं एक बार फिर से झड़ गई.

भोजपुरी में बीएफ दिखाएं तब उसने कहा- अच्छा तुमने करण को क्यों छोड़ा था?करण का नाम सुन कर मैं थोड़ा शॉक्ड हो गई. उस दिन मुठ मारने का एक अलग ही मज़ा आया और कब सो गया, मुझे पता ही नहीं चला.

सेक्सी सीन वीडियो फिल्म

मिताली- आह … और जोर से … और जोर से उम्म्ह… अहह… हय… याह… … अब बर्दाश्त नहीं होता … जल्दी से अपना लंड अन्दर डाल दो मेरी चूत में … फाड़ दो आआह आह्ह चोद चोद कर पूरी खोल दो मेरी चूत को … फाड़ दो … आह. ये कहते हुए मेरे घाघरा को ऊपर करके मेरी रानों को सहलाने लगा … और दबाने लगा. फिर आया मेरा मिलन का दिन!एक दिन मौसी को लोनी में शादी में जाना था तो मैंने उसको बताया कि मैं घर में अकेला हूँ और भूख लग रही है.

वो ऐसे उछल उछल कर चुदवा रही थी कि मैं तो कभी सोच भी नहीं सकता था कि कोई लड़की इतनी सेक्सी होती होगी।अभय बोला- साली रंडी बंध्या, चार दिन पहले, जब से तेरे जीजा ने चित्रकूट वाली तेरी चुदाई की बात बताई थी तो हम लोगों ने उस दिन से तेरे जीजा को हाथ से नहीं जाने दिया. फिर मेरे मायके से फ्रिज ले आओ … वैसे भी आपने इस दीवाली में वो फ्रिज लाने का मन बनाया हुआ था. छोटी बच्ची वाला बीएफमेरे कॉलेज टाईम में एक दोस्त था बलदेव। उसकी एक गर्लफ्रेंड थी आमिना (बदला हुआ नाम)। बलदेव को हम प्यार से बल्लू भी कहते थे। उसका और उसकी गर्लफ्रेंड का चक्कर काफी दिनों से चल रहा था.

कमर के नीचे जब निगाह जाती थी, तो उसकी उठी हुई गांड का तो पूछो ही मत.

थप्पड़ मारने की वजह से उसके चूतड़ बिल्कुल बंदर की तरह लाल हो गए थे. फिर मैंने लौड़ा चूत में घुसाये घुसाये ही गुड्डी को चूचियों से पकड़ के घसीट के अपनी तरफ झुकाया और लपक के अपना मुंह उसके मस्त स्वादिष्ट चूचियों पर लगा के बेसाख्ता चूसने लगा और साथ साथ बेबी रानी को हौले हौले धक्के लगाने लगा.

वे जोर जोर से सिसकारियां भरने लगी- आह … उ…ई … उइ … मा!इस तरह से आवाज निकाल रही थी. वो अब बाल खोल के अपने मेरे लंड के तरफ बढ़ी।उसने पहले तो मेरा लोअर उतार दिया उसके बाद मैंने खुद अपनी शर्ट उतार दी थी। उसके बाद वो मुँह से मेरे अंडरवीयर को नीचे करने लगी. मैं- क्या बात कर रहे हो?कुमार- अरे चुप रहो … ये बात विक्की को मत बोल देना … नहीं तो वो मुझसे गुस्सा हो जाएगा.

प्रीति मदहोशी में ‘आह आह चोदो मेरे राजा … मेरे सईयां चोदो … फाड़ दो इस चूत को!दोस्तो, प्रीति चुदवाने में इतनी मगन हो जाती थी कि ऐसे लगता था कि कई बरसों से चूदाई की भूखी शेरनी है.

प्रियंका ने मुस्कान को कन्धों से पकड़ा हुआ था और वो उसे धीरे धीरे नीचे कर रही थी. मैं अब नीचे से संजू की गांड को चोदने लगा, पर संजू ने कराहते हुए बोली- प्लीज जानू रहम करो … अब मुझमें जरा सा भी शक्ति नहीं है. दीदी- आहहह उम्मह ओ यस चोद बहनचोद और जोर से चोद कब से चुत में खुजली हो रही है.

सेक्सी बीएफ एचडी फुल एचडी सेक्सी बीएफमैंने कहा- येस शाबाश, ऐसे ही यार … गुड!तब तक मुस्कान की गांड में मेरा पूरा लंड जा चुका था. तभी सतीश ने एक झटका और लगया और सीमा ने सीत्कार भरी- अस्स्सी ईइ … उई हां … अह्ह्ह्ह … मज़ा आ रहा है … उई!और सतीश अब झटके पे झटका लगाने लगा था.

पाकिस्तान वाला सेक्सी वीडियो

उनकी हामी मिलते ही मैं दीदी को लेटाकर उनकी चुत में लंड घुसाकर तेजी से चोदने लगा. अब उसकी चुत बहुत ज्यादा चिकनी हो गयी थी, जिससे मेरा लंड बड़ी आसानी से अन्दर बाहर हो रहा था. वो एकदम से बिलबिला कर हाथ पैर फेंकने लगी- आह … अमित अब कुछ कर … रहा नहीं जाता … आह तूने ये क्या कर दिया … उई माँ.

मेरी रस बहाती चुत देख कर वो बोले- अरे जान, तुम्हारी जवानी की कद्र तुम्हारा पति ने की ही नहीं. मैं आपका दोस्त अनिकेत आपके लिये पड़ोसन चाची की चुदाई कहानी का दूसरा भाग मतलब दूसरे दिन रात की चुदाई कहानी लेकर आया हूं।आपनेपहले वाले भाग मेंतो पढ़ा ही है कि मैंने किस तरह रात में उन्हीं के घर उन्हीं के बेड पर चाची की चुदाई का आनंद लिया था. मैंने इस बार प्रियंका को उसकी बाजू से पकड़ कर अपने पास खींचा, बोला- साली इधर आ … तू ही रह गयी अब मेरे लंड से चुदने से!वो तुरंत बोली- मैं तो रोज़ आपसे ही ठुकती हूँ डियर, अब रेस्ट करो सभी!मोनू कहने लगा- देख लो यार … रेस्ट करना है तो कर लो.

थोड़ी देर बाद वो उठी और प्रियंका … जो कि ये सब देख कर अपनी चूत में एक उंगली घुसाकर अन्दर बाहर कर रही थी, को बोली- सॉरी यार मैं कुछ समझ नहीं पा रही थी, इसलिए ऐसा किया. हम सभी एक दूसरे के अंगों को छू कर और चूस कर सभी एक दूसरे को गर्म करने में लगे थे।कुछ ही देर में कमरे में फिर से मादक सिसकारियों का दौर शुरू हो चुका था और कामुकता अपने जोर शोर पर थी।तभी बीच में प्रियंका बोली- अरे आप तो कहते थे आप दोनों एक साथ सीमा को …कहती कहती वो रुक गयी. दीदी की गर्दन तरफ का हिस्सा ही बिस्तर पर था बाकी उसकी गांड और टांगें पूरी हवा में उठी हुई थीं … शायद दीदी काफ़ी गर्म हो गयी थी.

वो भी मस्त गालियां देने लगी- अपनी रंडी को मौका दे!मैं लेट गया, वो 69 की मुद्रा में आ गयी, उसकी चूत मेरे मुँह पे और मेरा लौड़ा उसके मुँह पे। मैं इधर उसकी चूत चाटने लगा और वो मेरा लौड़ा चाटने लगी।इतने में उसका शौहर अजहर आ गया।‌‌अजहर- अमन, एक काम करो, इस रंडी की आंखों पे पट्टी बांधो. मैंने भी अपने हाथ की उंगली को अपने मुँह में रख ली और मैडम की चुत के नमकीन अमृत का स्वाद लेने लगा.

मैंने मौके की नजाकत को समझते हुए हां कर दिया और संजना को फोन किया और यार प्लीज बुरा मत मानना, ऑफिस में 3 घंटे का काम है, प्लीज … मूवी कल चलेंगे.

संजू ने मुझे पास बुलाया और बोली- आप बहुत दिन से इसकी फिराक में थे … अब आ जाइए ना. चूत की चुदाई बीएफ हिंदी मेंहम दोनों के पास पासपोर्ट तो पहले से ही थे, बस वीजा का इंतजाम करना था, जोकि एक एजेंट के माध्यम से बड़ी मुश्किल से जुगाड़ करके हो ही गया. बीएफ सेक्सी हिजराअब सागर ने मेरे शोल्डर से ड्रेस की लेस को हटाया, तो मेरा टॉप नीचे गिर गया. इस प्रक्रिया में वसुंधरा की दोनों टाँगें मेरी निचली पीठ तक फ़िसल गयी.

लेकिन उन्होंने अपने आपको इतनी अच्छी तरह से सँवारा था कि वो बिल्कुल एक नयी नवेली दुल्हन की तरह लग रही थी।वो मोटी-मोटी आँखें, दूध सा गोरा चेहरा, टमाटर जैसे गाल और पतले पतले सुर्ख लाल लिपस्टिक से रंगे हुए होंठ और बहुत कड़क से लग रहे थे.

मैंने उस लड़की को देखते हुए धीरे से बच्चे के गाल पर किस किया और उसकी ओर देखा. मैं आंटी से फोन लेकर देखने लगा और उसी बीच एक ऐसी बात हो गई, जिसका मुझे ध्यान ही नहीं रहा था. मैंने अन्दर जाकर देखा, तो अपने उसी फेसबुक फ्रेंड से सेक्स चैट कर रहा था.

और वो कहता था- तेरी बीवी से गले मिल कर मज़ा आ जाए।क्योंकि मुझे भरी भरी औरतें पसंद हैं और शीराज को स्लिम और ब्यूटीफुल औरतें पसंद है।मेरी बीवी को भी शीराज पसंद था. चूत के रस और लौड़े केलावा का मिला जुला एक तरल चूत से निकल निकल कर उसकी जांघों और मेरी झांटों को भिगोने लगा. दीदी- चोद कुतिया … चोद फाड़ डाल मेरी चूत को … आहह अरे और तेज चोदो ना रे मादरचोदियों … मेरी चूत का भोसड़ा बना दो…उनकी इन गालियों से अब मनु और मुझे भी जोश आ गया.

xxx.com सेक्सी पिक्चर

इसके लिए आपके बहनोई भी लालायित रहते हैं, पर मैंने आज तक गांड में लंड नहीं पेलने दिया है. उसका भी चुदाई करने का बहुत मन करने लगा था, पर साला रूम का कहीं जुगाड़ नहीं बन पा रहा था. वो मेरे लंड को ऐसे चूसने में लगी थी … जैसे कोई लॉलीपॉप को चूसते हैं.

मेरे माथे पर चुम्मी लेकर वो हटने ही वाले थे कि मैं उनकी गर्दन में लटक गयी.

आशना अब मेरे लोड़े को ऊपर से रगड़ रही थी।मैंने उसकी चूचियां ‌करीब पांच मिनट तक दबा के चूसी। उसके बाद मैं लेट गया.

मैंने उसकी टांगों को दोनों हाथों से खोला और उसकी मासूम सी गुलाबी चुत को बड़ी मुहब्बत से देखा. थोड़ी देर में जब मेमसाब के कमरे से ‘अरे छोड़ो न, अनिल आ जायेगा’ की आवाज आने लगी तो उसने कमरे में खिड़की के पीछे से झाँका. 12 साल की लड़की सेक्सी बीएफशालिनी ने मुझे बताया था कि शादी से पहले उसके बहुत सारे बॉयफ्रेंड रहे थे.

तब करीब 10 मिनट तक उन्होंने मेरा लंड चूसा पर किसी तरह का पानी नहीं निकला और लंड अभी भी तन के ही खड़ा था. वो कभी मेरे लंड को चूसती, कभी चूमती कभी मेरी गोटियों को चूसती … या फिर कभी मेरे लंड के टोपे को अपने होंठों पर लिपस्टिक की तरह फेरती. कमरे में एक खिड़की थी और मैं उस खिड़की के पल्ले को किसी तरह साइड में करके अन्दर झांकने लगा.

संजय ने चूत चाटने के बाद मेरी चूत और जिस्म की भूरी-भूरी प्रशंसा की. घर में छोटी होने की वजह से मुझे शुरू से ही सबने बहुत ज्यादा लाड़ दुलार के साथ रखा.

ठीक है मैं उनको देखती हूं, तब तक तुम दोनों ड्रिंक खत्म करो … फिर खाना खाएंगे.

मुझे आज लंड चुसवाने में इतना अधिक मज़ा आ रहा था कि बता ही नहीं सकता. और वो भी शांत हो गयी मेरी साथ! शायद उसे भी पूर्ण चुदाई सुख की अनुभूति हो चुकी थी. मैंने घूम कर देखा कि उसने अपना लंड साफ़ किया हुआ था, लंड पर एक बाल भी नहीं था.

गुजराती सेक्सी बीएफ पिक्चर मेरी पैंट में मेरे लंड ने तंबू बनाया हुआ था जो चलते हुए यहां वहां डोल रहा था. उसकी एक टांग मैंने कंधे पे रखी और उसकी दूसरी की जांघ पकड़ के धीरे धीरे धक्के लगाना शुरू किया.

वो उठने को हुआ, तो मैं विक्की से बोली- एक मिनट रुको … मैं आ रही हूँ. जिस तरह मेरी नजर सेक्सी लड़कों को ढूंढती रहती थी, वैसे ही वो सेक्सी लड़कियों को पटाने की फिराक में रहता था. हम चारों टीवी देखते हुए शराब का आनन्द ले रहे थे, क्योंकि हम चारों को पता था कि आगे क्या होने वाला है.

मैडम और मास्टर की सेक्सी

कह कर सिल्क ने मेरे होंठों से अपना होंठ जोड़ दिया और फिर एक लम्बा स्मूच!और यह शुरुआत थी एक नए सफर की … एक नए शरीर के मिलन की!मेरे हाथ उसके गुंदाज चूतड़ों या यह कहिये कि गांड पे आ गए उसको जोर से मसल दिया. लेकिन वो नहीं जानती कि मैं अंकलों को पसंद करता हूँ और उनकी गांड मारता हूँ. तभी उनमे से एक लड़की ने हमें देखा तो अपने साथ वाली लड़की से कुछ बोलने लगी.

मुझे तो चॉकलेट बहुत पसंद है इसलिए मैंने वही फ्लेवर के कंडोम लिये और कुछ चॉकलेट भी लिये. जब मैं उसकी चूची को मुंह में लेकर चूस रहा था तो वो बोली- मेरे निप्पल को दांत से काटो.

मुझे पसंद तो तुम उस दिन आ गए थे, जब मैंने तुमको शादी में देखा था, लेकिन समझ नहीं पा रही थी कि कैसे तुमको जवाब दूं.

तो उसने प्रतीक्षा को डांटते हुए समझाया- तू बिल्कुल पागल है, अक्ल नहीं है तुझे।प्रतीक्षा बोली- क्या हुआ दीदी?संयोगिता ने कहा- अगर ज्यादा देर तक चूत में लंड से धक्के लगवाने हैं तो लंड के सुपारे को हमेशा खोल कर चूसना चाहिए. मैं उसकी चूत चोदता रहा और वो आहें भरती रही- अअह अअअ ह्म्म्म बाबू … बहुत मजा आ रहा है … ऐसे ही करते रहो … बहुत अच्छा लग रहा है. प्रीति की चूचियां अब कुछ ज़्यादा ही बड़ी हो गई थी शायद मेरे ज्यादा दबाने से!हम एक दूसरे को चूमने चाटने में मदहोश हो गए.

मैंने सोचा कि आज यही अच्छा मौका है … चाची मस्ती कर ही रही हैं, मैं उनकी चुत में आग लगा देता हूँ. भैया ने अब ब्रा के ऊपर से ही दीदी के मम्मों को दबाने चालू कर दिए थे. और उसने मोनू के लौड़े के रस को अपनी दो उँगलियों से चेहरे पर पूरी तरह से लगा दिया.

नाईटी की दो काली पट्टियों के नीचे गोरे कन्धों और और काली नाईटी के बिल्कुल बीच में नेट में से झांकती दो उन्नत उरोजों के बीच की गहरी लक़ीर, सब कुछ इतना सम्मोहक और आकर्षक था कि किसी ऋषि की भी तपस्या हो जाए.

भोजपुरी में बीएफ दिखाएं: शुरूआती दौर में उसने मुझसे मेरा नाम आदि पूछा, मेरे पति का नाम पूछा और मेरे बच्चों आदि के बारे में पूछा. इसके बाद सर ने अपना अंगूठा निकाल लिया, मैंने देखा सर का लण्ड सिकुड़ कर छुहारे जैसा हो गया था.

मैंने जिया को कंडोम का पैकेट दे दिया और वो सेक्सी स्माइल करके कंडोम लंड पर चढ़ाने लगी. मैं बाहर बरामदे में छात्रों को नहीं पढ़ाना चाहती थी क्योंकि मुझे डर था कि उन दोनों में से कोई आ न जाये. मेहमान जिसका नाम अरविन्द था, उसने मेमसाब यानि अनीता को पाने से चिपटा लिया था और दोनों के होंठ मिले हुए थे.

बाबू कुटिल मुस्कान बिखेरते हुए बोले- सही बात … आज पूरा आराम … तेरी गांड मारने के कारण मेरा लंड भी दुख रहा है.

तो मैंने पूछा- क्यों नाम बताने से डरती हो क्या?वो बोली- शुरुआत आपने की है, तो पहले आप आपका नाम बताएं. जब मैं उसकी चूची को मुंह में लेकर चूस रहा था तो वो बोली- मेरे निप्पल को दांत से काटो. थोड़ी देर बाद मेरा भी निकलने वाला हुआ, तो मैंने अपनी स्पीड को और बढ़ा दिया.