राजस्थानी भाभी का बीएफ

छवि स्रोत,बाप बेटी की चुदाई सेक्स वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

मेरा लाखों का सावन जाए: राजस्थानी भाभी का बीएफ, मैं हाथ पैर हटा कर सोने का ड्रामा करने लगा ताकि उनको कुछ पता न चले.

सेकसि video

तुम कितने भी दूर रहो हर्षद लेकिन शरीर और मन से हमेशा तुम्हारे पास ही रहूँगी. ভাবি দেবরवो दीखने में बहुत ही सुन्दर और सेक्सी है और उसके बड़े बड़े बूब्स और उनके ऊपर गुलाबी निप्पल … हाय हाय … बहुत अच्छा लगता है.

फिर मेरे एक जोरदार धक्के से सरिता झड़ गयी, उसने अपनी चूत के रस से मेरे लंड को नहला दिया. ब्लू सनी लियोनमेरी नजर निशा के पूरे फिगर पर घूमने लगी तो मैंने ध्यान दिया कि निशा की काले रंग की जींस काफी टाइट थी और आगे से उसकी चूत की शेप साफ़ दिख रही थी.

उसने दरवाजा खोला तो उसके बाल भीगे हुए थे और उसने स्किन टाइट शर्ट और कैफेरी पहन रखी थी जिसमें उसके मम्मों का साइज बड़ा मादक लग रहा था.राजस्थानी भाभी का बीएफ: मैंने मिनी के ऊपर लेट कर उसके माथे पर किस किया, उसकी आंखों को किस किया और उसके आंसू को चाट गया.

अब मैं जानबूझ कर ‘ऊह आह …’ की आवाज़ निकाल रहा था जो मैं उन्हें उत्तेजित करने के लिए कर रहा था.चाची आगे बोलीं- तुम राहुल के दोस्त हो, इसका मतलब ये नहीं कि तुम ये सब करोगे और मैं कुछ नहीं कहूँगी.

पूनम पांडे सेक्सी वीडियो - राजस्थानी भाभी का बीएफ

पर मैंने तो मार्च में ही चुदाई की थी और मन तो मेरा भी बहुत कर रहा था किसी की चूत चोदने के लिए!मेरा लंड हमेशा तैयार रहता था.मैं चाची की गांड में उंगली करते समय सोच रहा था कि मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि चाची की चुदाई का मेरा यह सपना इतनी आसानी से साकार हो जाएगा.

अब रात को मुझे दूसरे कमरे में सोना पड़ा, रात को मैं यही प्लान बनाता रहा कि अपनी सौम्या डार्लिंग को पटाऊंगा कैसे … उसे चुदने के लिए राजी कैसे करूंगा. राजस्थानी भाभी का बीएफ मैंने जैसे ही दरवाज़े को नॉक किया तुरन्त उसकी हॉट बहन ने दरवाजा खोला.

अब तक घर में मैं और मेरे हस्बैंड ही थे लेकिन अब एक और व्यक्ति अमित आ गया था.

राजस्थानी भाभी का बीएफ?

मैं खुश भी था कि आज एक साथ दो चूत मिलेगी।मैंने बिना देर किए मेरी पैंट की ज़िप को खोला और लन्ड बाहर निकल कर हाथों से मसलने लगा. मैंने कहा- आ गया समझ में?भाभी बोलीं- बड़े बदमाश हो … मेरी नीचे वाली किशमिश तक भी पहुंच गए. मैंने अपना लंड बाहर निकाला और आंटी जल्दी से घुटनों के बल बैठ गईं, मेरा लंड दोबारा जोरों से अपने मुँह में लेकर चूसने लगीं.

क्योंकि वो भी तो गर्म थे और वैसे भी मैंने उनकी चुदाई को अधूरा ही कर दिया था. मेरे जिस्म को बहुत देर तक ऐसे ही चूमता और चोदता रहा, मेरे कान और मेरी गर्दन पर किस करता रहा, जिससे मैं बहुत जल्दी झड़ गई और मेरा सारा पानी निकल गया. वैसे अब मेरी कोई नहीं मारता दोस्त, सब न जाने कहां कहां जॉब पर चले गए, आज वर्षों बाद तुम मिले हो.

मेरी गर्लफ्रेंड की चूत खुल गई और हार्दिक की जीभ चूत के अन्दर चली गई. अब मैं भी उनके साथ ही कमर चलाने लगा और चुत की गहराई में लंड को उतारने लगा. मैंने उन्हें थोड़ा और समझाया तो वो मुझसे और खुल कर बात करने लगीं कि कैसे तलाक हो जाने के बाद से उनका जिस्म उन्हें सेक्स के लिए तड़पा रहा है.

इसी के चलते एक महिला ने मुझसे संपर्क किया, जिसने अपना नाम रीटा बताया था. मैं अपनी दीदी को अपने लंड पर बिठा कर उन्हें खड़े लंड की सवारी करवाने लगा.

ऐसे करते करते पता ही नहीं चला कि सेक्स की आग में कब मैं आंटी की जांघों को हल्के हल्के से सहलाने लगा.

फिर वो मेरा लौड़ा हाथ में लेकर चूसने लगीं, जिससे मेरा लौड़ा दोबारा खड़ा हो गया.

मैं दीदी की चूत में लंड आगे पीछे करता हुआ अपने होंठों से कभी उनके होंठों को चूमता, तो कभी निप्पल पकड़ कर खींच लेता. मैंने पूछा- फिर कैसे हिम्मत हुई?वो- जब तुमने मुझे बिना कपड़ों के देखा, तो मेरे मन में भी यही बात चल रही थी कि तुमको सब बताऊं या नहीं. उसने मेरी आईडी की एंट्री रजिस्टर में कर ली और मुझे आईडी वापस थमाते हुए मेरा नाम बोला- शालिनी राठौड़!मैंने भी सर हिलाकर अपना नाम कंफर्म किया और हल्का सा मुस्कुराई.

मैंने चाय पीते पीते अपने एक हाथ से रेखा की जांघें अलग करके उसकी चूत देखी तो वो सूज गयी थी और लाल होकर फूल गयी थी. [emailprotected]यंग गर्ल सेक्स कहानी का अगला भाग:कामवाली जवान लड़की की चुत गांड चुदाई- 2. मैं चिप्स के साथ कुछ और सामान भी ले आया और हम दोनों आराम से चिप्स खाने लगे.

उसकी चूत का गर्म पानी मेरे लंड पर पड़ा, तो मेरे लंड ने भी हिम्मत हार दी और कुछ धक्के मारने के बाद मुझे भी लगा कि मेरा होने वाला है.

”ये कहते हुए उसने एक और तगड़ा झटका मार दिया और अपना पूरा लंड मेरी चुत में पेल दिया. लेडी डॉक्टर सेक्स कहानी के पहले भागमेरे लंड की खुजली का इलाजमें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं डॉक्टर रेखा के मस्त मुलायम हाथों से अपने लंड पर दवा लगवा कर घर आ गया था. लगभग 5 मिनट मेरा लंड चूसने के बाद आंटी खड़ी हो गईं और अपनी मैक्सी उतार कर किनारे रखती हुई बोलीं- गौरव, 4 महीनों की प्यासी चूत है.

जब हम घर आये तो एलिस्टेयर ने भी मुझे खुश होकर बहुत बड़ी रकम दी।मैंने भी नहीं सोचा था कि एलिस्टर भी मुझे एग्रीमेंट केंसिल करवाने के लिए इतनी बड़ी रकम देगा।खुशी के मारे मैंने उसे किस किया और फिर वापस उसके साथ चली गई।तो मेरे पाठको, इसके बाद की कहानी बाद में लिखूंगी. तो जेठ जी भी मेरे साथ बर्तन करने लगे।मैं बोली- आप रहने दो, मैं कर लूंगी।कैसे रहने दूं? तुम इतना काम करती हो. थोड़ी देर बाद मैं सरिता की चूचियां छोड़कर सीधा होकर अपने दोनों हाथों से उसकी कमर को कसकर पकड़ लिया और लंड अन्दर बाहर करने लगा.

इसलिए उसको स्कूल बस तक छोड़ कर आना या उसका कोई भी काम मेरे ही जिम्मे है.

ये सुनकर मैंने तुरंत उसकी शर्ट के बटन खोल दिए और उसके नंगे हो चुके दोनों मम्मों को चूसने लगा, जोर जोर से दबाने लगा. छत पर जाते ही मैंने चाची के मोटे-मोटे बोबों को याद करते हुए मुठ मारी और सो गया.

राजस्थानी भाभी का बीएफ चाची ने ब्रा पैंटी कुछ नहीं पहनी थी, बस एक मैक्सी डालकर अपने शरीर को ढका हुआ था. यहां मेरी बहन मुझे खाना परोसने के लिए जैसे ही झुकी तो मुझे उसके चुचे साफ दिखने लगे.

राजस्थानी भाभी का बीएफ मेरा उसको चोदने का बहुत मन था पर हम दोनों उस दिन भी सेक्स नहीं कर पाए. तभी पास में बैठी मेरी चाची ने भी अपने कपड़े उतार दिए।अब मेरे सामने एक हसीन औरत बिल्कुल नंगी खड़ी थी और एक जवान सेक्सी लड़की भी बिल्कुल नंगी खड़ी थी।अब मैं भी समझ चुका था की ये इन दोनों मां बेटी की चाल है.

आज जब वो आयी तो चेहरे से थोड़ा थकी हुई सी थी, पर लेट थी तो भागती हुई आयी थी.

सेक्सी दिखाने वाला वीडियो

हार्दिक ने लंड के टोपे को हल्का सा धक्का मारा तो लंड चूत में घुस गया. नहा धोकर बैठा ही था कि उसका मैसेज आया कि ये चॉकलेट क्यों रखा … पहले ही इतना मोटी हूँ और वजन बढ़ जाएगा. चाची ने मुझे देखा और झल्ला कर कहा- तुम्हें कुछ होश भी है कि तुम क्या पहने हो … बाहर ऐसे ही चुन्नी में आ गए हो.

सोने के समय पर चाचा ने कहा- मुझे रात में कुछ ऑफिस का काम है, तो तुम तीनों चाची और रानी बेडरूम में सो जाओ. कुछ ही देर में मैं नीचे घुटनों के बल बैठ गया और सीधा उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को चाटने लगा. मेरे सामने उसकी बहन चुस्त टी-शर्ट और शॉर्ट्स में क्या मस्त लग रही थी.

पहले दिन जब वह आयी, तो उसको अपने सामने देख कर मेरे मुँह से आवाज नहीं निकल रही थी.

कुछ देर बाद उसने मुझको कुतिया बनाया और मेरी गांड में लौड़ा पेल कर धक्के देने शुरू कर दिए. अब जल्दी से मैं तुम्हारे इस मूसल जैसे लंड को अपनी चूत में समा लेना चाहती हूँ. किसी के मुझसे जुड़े रहने की आकांक्षा को भी मैंने त्याग दिया क्योंकि ऐसा करना मुझे तकलीफ़ देता था.

फिर कपड़े पहनाकर अपने काम के लिए बैठ ही रहे थे, तो उसे वही तकलीफ होने लगी … पर इस बार चूत में खुजली शुरू हो गई थी. विशाल ने मोहन को दूसरे कमरे में रुकने को कहा और बोला- यदि यह नहीं झेल पाया, तो मैं तुझे बुला लूँगा. वैसे मैंने कभी चूत पर किस नहीं किया था लेकिन उसकी क्लीन शेव चूत देख कर मैं उसकी बुर चूसने लगा.

कुछ समय बाद जब मैं नॉर्मल हुआ तब उसको समझाने का बहाना बनाकर मैं सामने से उठकर बिल्कुल उसके पास उसी की बेंच पर जाकर बैठ गया. सरिता जोर जोर से अपनी गांड उठाकर मेरा लंड चूत में अन्दर तक ले रही थी.

फ्रेश होकर मैं रूम में जाकर बैठने वाला था, तभी मुझे उसके बाथरूम से मादक सिसकारियों की धीमी आवाजें सुनाई देने लगीं. मॉम एकदम जोश में थीं, वो बोलीं- कल कर लेना शादी … अभी पहले मेरी चुत की गर्मी शांत कर. मैंने एक हाथ उठा कर उसके स्तन पर रख दिया और पूरी मस्ती से दूध दबाने लगा.

मेरे हाथ उसके नंगे हिप्स पर आ गए और मैं उसको दबाव देकर अपने अंदर लेने लगी.

दोस्तो, अपनी देसी न्यूड गर्ल सेक्स कहानी के अगले भाग में मैं आपको अपनी भाभी की चचेरी बहन शिल्पा की चूत चुदाई लिखूँगा. मैंने पूछा- सरसों का तेल कहां रखा है?उसने बोला- किचन में सामने से ही रखा है. मैं मन ही मन ये सोच कर खुश था कि शायद आज रात रंगीन होने वाली है, पर मैं डर भी रहा था कि अगर कुछ उल्टा हो गया, तो मेरी वाट लग जाएगी.

वो बोले- नहीं सन्नो, मेरे दो दोस्त हैं, उनको भी तुम्हारे जैसे ही किसी का इंतज़ार है. सुबह उठ कर दोनों साथ में नहाने लगे और एक दूसरे के बदन को साबुन लगा लगा कर अच्छे से मसला.

इसलिए मैंने उससे कहा- अभी तुम अन्दर चली जाओ और रात को 10:00 बजे जब सब सो जाएं तो मिलने के लिए बाहर आ जाना. आज उसने एक क्रॉसटॉप और शॉर्ट्स पहनी थी, जिसमें से उसकी चिकनी नंगी टांगें किसी का भी दिल चुरा रही थीं. जब से तुम्हें और तुम्हारे मोटे लंड को पहली बार देखा है, तब से इसने मेरी रातों की नींद हराम कर दी है.

सेक्सी वीडियो फिल्म वीडियो हिंदी में

अब भी उसकी गांड की दरार हमें दिख रही थी।सुनिए भैया, हमें सायकिल की सख्त जरूरत है, हमें काम के सिलसिले में गांव से बाहर जाना है और हम आपको डिपॉजिट भी दे सकते हैं यदि आपको सायकिल वापिस न मिलने की कोई चिंता है तो!” सीमा ने फिर एक बार अपना सतर्क दिमाग का उपयोग करते हुए कहा।डिपॉजिट की बात सुन वो गैराज वाला खड़ा हुआ और हमारी ओर मुड़ा.

अपनी चुत पर मेरी जीभ का स्पर्श पाते ही शिखा उचक पड़ी और उसके मुँह से एक गहरी सांस के साथ ‘आह्ह्ह …’ निकल गई. इसलिए मैंने उसको घुमाया और उसकी चुत में उंगली करते हुए उसकी गांड पर अपना लंड घिसने लगा. माया दीदी मुस्कुराती हुई बोलीं- लो आ गयी तुम्हारी प्रेमिका … अब करो प्यार!मैं अपनी कुर्सी से उठा और दीदी के सर के पिछले हिस्से पर हाथ रखते हुए उनके माथे पर किस करते हुए होंठों को चूमने लगा.

क्योंकि मैं अक्सर ऐसे ही मेरी गली की कुतिया को उस वक्त हिलते देखा था, जब कुत्ता बीच में ही संभोग से हटा दिया जाता था. ये सुन चाची एकदम से शर्मा गईं और उन्होंने खुद को सम्भालते हुए राहुल को इशारा किया कि मैं भी हूँ. হিন্দি bfमैंने तब टालने के लिए बोल दिया- हां हां जानू … मैं तुमसे जरूर शादी करूंगा.

ये सब करने से शिल्पा के जिस्म की आग और बढ़ गई और उसकी आवाजें और भी तेज होने लगीं ‘अहह ओहओ … ओहओ … यश तुमने तो आग लगा दी यार … कितना मजा दे रहे हो … आह …’कुछ पल बाद मैं उठा और मैंने अपना एक हाथ दुबारा से उसकी पैंटी में डाल दिया, उसकी चूत को सहलाने लगा. तो मैंने भी सोने का नाटक किया और उनकी गांड पर हाथ रख कर गांड को धीरे से रगड़ने लगा.

भाभी बोलीं- पहले लंड तो पेलो … बिना लंड पेले मेरी चूत का भोसड़ा क्या बातें चोद कर ही बनाओगे?मैंने कहा- साली रंडी, अभी तुझे मजा चखाता हूँ. वो दूध चुसवाने में ही इतनी मस्त हो गई थी कि उसने मुझे खुद अपने हाथों से पकड़ पकड़ अपने दूध पिलाए. वो मेरी गोदी में बैठी थी और मैं उसके मम्मों को जोर जोर से दबा रहा था.

तो जेठ जी भी मेरे साथ बर्तन करने लगे।मैं बोली- आप रहने दो, मैं कर लूंगी।कैसे रहने दूं? तुम इतना काम करती हो. फिर अचानक से पीछे घूमकर उसने अपनी गांड को मेरी तरफ कर दिया और कमर में झुककर चड्डी नीचे पैरों में ला दी. यह देख कर मेरा जोश और बढ़ गया और मैंने अपने एक हाथ उसकी पैंटी के अन्दर डाल दिया और अपनी एकउंगली उसकी चुत में घुसेड़ दी.

पहले तो वो थोड़ा हिचकिचाई तो मैंने ज़बरदस्ती उसका हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रख दिया.

निशा जैसे ही कम्बल पकड़ कर खींचने लगी, मैंने भी जोर से कम्बल को खींच कर रखा. मैं हंस दिया और बोला- अरे चाची मैं तो कबसे आपकी बिल्ली की खून करने को मरा जा रहा था … आज आपकी बिल्ली की खाट खड़ी कर दूंगा.

मगर मैंने तब भी उनसे कहा- आप मेरी दीदी हैं, इस बात का मुझे ख्याल नहीं चाहिए क्या?वो बोलीं- हां ये तो है … मगर इसका एक रास्ता है मेरे पास!मैंने कहा- क्या रास्ता है दीदी. उसके आते ही मैंने कमरा बंद किया है और उसको बिस्तर पर लेटा कर उसके बूब्स दबाते हुए उसके होंठ चूम रहा हूं. अब तक रात हो गई थी तो मैंने 2 पैग मारे और भाभी की चूत चुदाई का सपना देखने लगा.

इंडियन हॉट गर्ल सेक्स कहानी मेरी साली की कमसिन जवान बेटी की गांड और चूत चुदाई की है. मैं भाभी की चुत से टपकते रस को चाटने लगा और उनकी चुत को चाट चूस कर साफ़ कर दिया. मेरी आंखें पूरी लाल हो गई थी और चेहरे पर सांस ना आप आने के कारण आंखों से भी पानी निकल रहा था.

राजस्थानी भाभी का बीएफ ये सुनते ही दो चार धक्कों के साथ ही मेरे लंड से वीर्य जोर से पिचकारियां छूटने लगीं. फिर उसने कब मेरे होंठों से अपने होंठ मिला दिए और मुझे चूसने चूमने लगा, कुछ पता ही न चला.

विदेशी सेक्सी फिल्म दिखाएं

अब वह मेरे सामने सिर्फ अंडरवियर में था और मैं ब्रा और साये में बेड पर लेटी थी. अब मैंने उससे पूछा- यदि तुमको दिक्कत हो तो साफ़ बता देना क्योंकि मैं नहीं चाहता हूँ कि तुम जबरन मेरी बात को मानो. मैंने उन्हें देखा तो मुझे अजीब सा लगने लगा जब तक वो गांड मटकाती हुई बाथरूम में घुस गईं.

उसके जिस्म पर ठंडा पानी गिर रहा था जिससे उसके मम्मे और भी टाइट होते जा रहे थे व मेरी छाती में गड़े जा रहे थे. सरिता भाभी और सोनाली नाश्ता लेकर आईं और सबको नाश्ता की प्लेट देने लगीं. দেশি বৌদি চুদাচুদি ভিডিওइस तरह के दबाव से चाची एकदम से हड़बड़ा गईं और मुझसे झट से अलग हो गईं.

मैंने पूछा- क्या हुआ मेरे दोस्त को …उसने बिना कुछ कहे मुझे गले से लगा लिया, मेरे सीने पर सर रख कर रोने लगी.

जो दो लोग मुझसे बात कर रहे थे, उन्होंने अपने दोस्तों को इशारा किया. उन्होंने कहा- अरे हर्षद तेरे पिताजी घर में रहते हैं … तो हम वो सब कैसे कर सकते हैं.

जब भी मम्मा को कुछ करना होता है और कोई किसी भी वजह से उसे रोकने की कोशिश भी करता है तो वो इसी रूप में आ जाती हैं. मॉम और मैंने अपनी बहन खुशबू को समझाया, वो बोली- पापा को पता चल गया तो क्या होगा?फिर हम सभी ने मिलकर घर छोड़ने का फैसला कर लिया. मैंने उसके गालों को चूमते हुए कहा- साली साहिबा, जितना दर्द होना था, हो गया … अब बस जिंदगी भर मजे ही मजे आएंगे.

वो इस बात से बड़ी खुश थी कि मैं उसके जिस्म की तारीफ़ करते नहीं थकता हूँ.

उन दोनों पूरी चुदाई देखने के बाद मैं अपने लंड को शांत करने के लिए टॉयलेट में चला गया. ऐसा नहीं है कि मैं आकर्षक नहीं हूँ, लेकिन जब क़िस्मत ही चूतिया हो, तो बंदा क्या ही कर सकता है. सबसे पहले मैं अन्तर्वासना साइट को शुक्रिया अदा करना चाहता हूं जिसकी वजह से लाखों लोगों को अपने चरम सुख की प्राप्ति होती है और लोगों की कहानियां पढ़कर पाठक मजे लेते हैं.

एक्स एक्स एक्स वीडियो जबर्दस्तमैं चाची की गांड में उंगली करते समय सोच रहा था कि मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि चाची की चुदाई का मेरा यह सपना इतनी आसानी से साकार हो जाएगा. कुछ देर मनाने के बाद शिल्पा बोली- ठीक है, पर अगर मुझे ये अच्छा नहीं लगा, तो मैं ज्यादा नहीं करूंगी.

फुल सेक्सी फिल्म देसी

मौत के कुंए का खेल जैसे ही चालू हुआ, तो मुकेश ने फिर से अपना हाथ मेरी गांड पर रख दिया और मेरी गांड को दबाने लगा. मैंने बाहर से ही आवाज़ दी- जी आपने रुकने दिया, उसके लिए धन्यवाद … लेकिन क्षमा कीजिए क्या मैं जान सकता हूँ कि आपका शुभ नाम क्या है?उसने कहा- आप नीचे गर्दन झुका कर क्यों बात कर रहे हो? वैसे मेरा नाम आशिया है, गर्दन उठाइए. राहुल ने बस ये कहा- तुम बोल देना कि तुमने एसएससी का एग्जाम का फ़ार्म भरा था और उसी का एग्जाम देने आया हूँ.

मैं चिप्स के साथ कुछ और सामान भी ले आया और हम दोनों आराम से चिप्स खाने लगे. कभी जहां मैं खेलने जाता, वो वहां आ जाते और मेरे साथ में खेलने लगते. मैंने हल्की सी स्माइल दी तो वो भी अपने दुपट्टे को होंठों में दबा कर हंस दी.

वो बोलीं- ओ हो मैंने डिस्टर्ब कर दिया है क्या?मैंने कहा- अरे यार दीदी आपने डिस्टर्ब नहीं किया बल्कि आपने तो और ज्यादा मजा दे दिया. मेरा लंड बार बार उसकी चूत को टच कर रहा था और वो अपने हाथ अपने मम्मों पर फिरा रही थी. वे मेरे बूब्स को चूसने लगे और दोनों बारी बारी से चूत को अंगुली से चोद भी रहे थे.

इससे मुझे भी यकीन हो गया था कि आप भी मुझमें उतना ही इंटरेस्टेड हैं, जितना मैं आप में हूँ. एक बार हमारे घर टेंट लग रहा था तो मैंने उन मजदूरों को मेरी गांड मारने के लिए पटाया.

अगली रात मैंने भाई की जगह ही लेट कर चादर ओढ़ ली और सोने का नाटक करने लगी.

वो चिल्लाने लगीं- आंह हरामी … बहनचोद … गांड फाड़ दी है भोसड़ी वाले ने. ब्लू पिक्चर हिंदी में देखने वालीहम दोनों की हिलती हुई कमर और साथ में उसकी चूत का गीलापन, उसके पायजामा से मेरे लोअर के ऊपर महसूस हो रहा था. क्सक्सक्स वीडियो हदबाजार से आते वक्त मैं सेक्स की गोली लेते हुए अपने कमरे पर आ गया था. उसने देर रात का इसलिए कहा था ताकि जब मेरे घर के सब लोग सो जाएं और उसकी दादी भी गहरी नींद में सो जाएं तब हम दोनों आराम से मिल सकें और सेक्स कर सकें.

उन्होंने भी सर हिला दिया कि ठीक है आ जा … और अपने भैया के लंड पर बैठ जा.

दस बजते ही पम्मी आंटी के बच्चे स्कूल जाएंगे और मैं सीधा पम्मी आंटी की मखमली बांहों में होऊंगा. मैंने उसे उठाकर कहा- तुम्हें अपने घुटने के बल बैठकर सर तकिए पर रखना है. मैं अभी ये सब सोच ही रहा था कि उसने कहा- मेरी चूड़ियां कैसी हैं, कल ही मार्केट से खरीदी हैं.

मैं रेखा से बोला- चार बजे हैं रेखा … समय कैसे बीत गया, पता ही नहीं चला. उसका लंड औसत लंबा था मगर उसके लंड की मोटाई ग़जब की थी जिसने मेरी चुत में एक जबरदस्त खिंचाव पैदा कर दिया था. कुछ ही देर में उसकी चूत एकदम लाल हो गई थी और मेरे लंड की हालत भी कुछ ऐसी ही थी.

समुंद्र सेक्सी वीडियो

दस बजते ही पम्मी आंटी के बच्चे स्कूल जाएंगे और मैं सीधा पम्मी आंटी की मखमली बांहों में होऊंगा. उसने मुझे बहुत कसके पकड़ लिया और बुरे तरीके से मेरे होंठों को चूसने लगी. मम्मी ने अपने कपड़े बदल लिए थे और इस वक्त वो थॉंग्ज़ और उसके ऊपर सिर्फ़ एक छोटा सा टॉप पहनी थीं.

मेरी जवानी, मोहल्ले के और ऑफिस आते जाते, जवान और बुड्डे लोगों के लिए एक आकर्षण का केंद्र बन गई है.

हाय हैलो के अलावा मैं उसको गंदे चुटकुले भी भेज देता और उसके जवाब पर चुम्बन के इमोजी भेज देता.

इसी तरह धीरे धीरे पास्ट के 8 साल बीत गए और मुझे वर्तमान में वापिस आना पड़ा. अब मैंने ज्यादा वक्त न गंवाते हुए वीना को गोद में उठाया और बेड पर लेटा दिया. गांव की चाची की चुदाई वीडियोअब राहुल चाची के सूट के ऊपर से ही उनके चुचे दबाने लगा और कुछ ही पलों में उसने चाची का सूट निकाल कर उन्हें ब्रा पैंटी में कर दिया.

चूत चाटकर मैं एक बार फिर उसकी चुदाई के लिए लंड चूत पर लगाकर तैयार था. मैं- चाची आई एम सॉरी … प्लीज़ आप मुझे माफ़ कर दीजिए ना, आप मुझसे बात नहीं कर रही हैं तो बिल्कुल भी अच्छा नहीं लग रहा है. मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया और उससे पूछा- पहले चुदी नहीं है क्या?उसने कहा- एक बार किया था, वो मेरा भाई था.

लेडी हॉर्नी सेक्स कहानी का मजा लें उसी के शब्दों में!मैं जीनी हूँ, मेरी उम्र इस समय बत्तीस साल है. मैंने उससे पूछा- क्या हुआ जान … पहले कभी लंड नहीं देखा क्या?वो बोली- हां जान मैंने इतना बड़ा लंड कभी नहीं देखा.

थकावट की वजह से मैं तुरंत सो गया लेकिन कुछ देर बाद मुझे मेरे लंड पर कुछ दबाव महसूस होने के कारण मेरी नींद खुल गयी.

मैंने पूछा- वो तुम हो ना!उसने कहा- तुम आ गए सच में?मैंने कहा- अब इतनी खूबसूरत लड़की सामने से डेट पर बुलाए … और वो भी रोते हुए, तो कोई गधा ही होगा जो सब छोड़ कर डेट पर ना आए. लड़का रूम खोल कर सामान अंदर रखने के लिए चला गया तो विलियम ने धीरे से मुझसे कहा- रूम का दरवाजा खुला रखना, मैं आ रहा हूं थोड़ी देर में!और मेरी गांड को दबाकर अपने रूम की तरफ चला गया. मैं भी इसके मुँह को चोदे जा रहा था- आहह आह यस यस साली रंडी आह ले भैन की लौड़ी … और अन्दर लेकर चूस साली!मैं उसके बाल पकड़ कर अन्दर तक चोद रहा था … उसकी आंखें लाल हो गयी थीं.

हिंदी में नंगी वीडियो मैं- क्यों नहीं भाभी … आप अपने हाथों से ही देख लो न!इस बात पर भाभी ने आगे बढ़ कर मेरे पैंट को खोल दिया और मेरे निक्कर को नीचे करके मेरे लंड को अपने हाथों में ले लिया. वो मेरी आंखों में झांकती हुई बोली- डरते क्यों हो, बता ना साले भड़वे … मेरे चूचे देख रहा था ना … बोल ना!उसके मुँह से ऐसी भाषा सुनकर मैं हैरान रह गया कि साली को पढ़ाई करने का मन नहीं है … कुतिया मेरा लंड लेने के लिए तड़प रही है … पहले से ही साली में गर्मी बढ़ी हुई है.

इतने में निशा पीछे से बोली- वाह अमित … आपने तो इतनी अच्छी बॉडी बना रखी है. विलियम ने मुझे धीरे से पूछा- आगे का क्या प्लान है?मैंने विलियम को कहा- मुझे घर तो जाना है लेकिन …मेरे लेकिन बोलते ही वह समझ गया कि मैं क्या चाहती हूं और मुझसे बोला- हम सभी लोगों के लिए तो पहले से रूम बुक है. मैंने लंड चूस कर उसे खड़ा किया, अपनी दराज से कंडोम निकाल कर लंड पर चढ़ाया और उससे बोला- बता कैसे चोदेगा?वो बोला- घोड़ी बन जा.

एक्स एक्स एक्स बबीता सेक्सी

कुछ ही देर में मैं नीचे घुटनों के बल बैठ गया और सीधा उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को चाटने लगा. कुछ ही देर बाद उसे मजा आने लगा तो वह गांड उठा उठा कर मेरा साथ देने लगी. आंखें बंद करके मैं उस पल का इंतजार कर रही थी लेकिन विलियम अपने लोड़े को मेरी चूत पर रब करके मुझे ज्यादा तड़पा रहा था.

वो मुझसे बोलीं- अपने जीजा जी के साथ तुमने भी शराब पी है क्या?मैं- हां दीदी थोड़ी सी पी ली. मैंने उसकी ओर देखा और पूछा- क्या हुआ?तो वो बोली- तुमने मुझे रंडी क्यों कहा, मैंने तुम्हारे साथ सेक्स किया तो तुम मुझे रंडी बोलोगे?मैंने उससे कहा- रंडी का काम क्या होता है … सेक्स करना.

पर शायद वो अपने आपको कंट्रोल नहीं कर पा रही थी इसलिए अंतत: वो पूरी बेशर्म होकर मेरे लंड को देखने लगी.

उसकी चूत से गर्म गर्म पानी निकल रहा था जैसे भट्टी से गर्म पानी निकल रहा हो।अब मैं भी झड़ने वाला था. उसकी आंखें बंद थीं और उसके गुलाबी होंठ देख कर मेरे मुँह में पानी आ गया था. कमरे की कुण्डी बंद करने के बाद वो मेरे पास आया और बोला- जानू गांड यहीं नीचे मरवाएगा या ऊपर?मैंने कहा- ऊपर कहां?उसने टॉयलेट के ऊपर ही एक सामान रखने की जगह होती है, उसने उसको ही चुदाई का अड्डा बनाया हुआ था.

मैंने सोच लिया था कि अब मैं इसको चोद कर रहूंगा … क्योंकि वीना जैसी जवान और खूबसूरत लड़की लड़की बहुत ही नसीब से मिलती है. मैंने भी पानी पीकर बोतल साइड में टेबल रख दी और मैं पीठ के बल लेट गया. मेरे लंड से थोड़ी ही देर में पानी निकलने वाला था, मैंने सारा माल आंटी की पैंटी पर छोड़ दिया और वापस धीरू की चुदाई के मज़े लेने लगी.

मेरे लोअर में फूल चुका मेरा लंड जैसे ही साली की बुर में छूता, उसकी गांड अपने आप उठने लग जाती.

राजस्थानी भाभी का बीएफ: यह सुनते ही उसकी सारी थकान ही दूर हो गई, उसके चेहरे पर एक एक अलग सी रौनक आ गई. मैं लैब में आई तो सर मुस्कुरा कर बोले- कैसी हो?मैंने भी हंस कर कहा- एकदम अच्छी.

तेरी नौकरी भी तू पक्की समझ!रवि फिर से अपनी गांड मरवाने के लिए मान गया. फिर एकाएक वो पूछ बैठी- क्या देख रहे हो?मैंने नज़र चुराते कहा- कुछ नहीं कुछ नहीं. मैं करीब दस मिनट तक ऐसे ही पायल की चूत में उंगली करता रहा, तो उसमें से कुछ चिपचिपा सा माल निकल आया.

मैं फिर से उसकी जांघों पर किस करने लगा और अपनी उंगली उसकी चूत में डाल दी.

बस में सिर्फ 8-10 सवारियां और थी।हम दोनों पीछे की सीट पर बैठ गए।बस चल पड़ी थी ड्राइवर ने लाइट बंद कर दी।नेहा मुझे बार बार छूने की कोशीश कर रही थी।कुछ देर बाद नेहा मुझे बोली- मौसा जी, मुझे नीद आ रही है।मैं बोला- सो जा फिर!जनवरी का महीना था। ठण्ड बहुत पड़ रही थी. ’ताबड़तोड़ चुत चुदाई का खेल चल रहा था और वो मस्ती से चुत चुदवा रही थी. वो दिखने में सुंदर, कद साढ़े पांच फिट और फिगर 34-30-36 का, बाहर निकले कूल्हे, बहुत ही सेक्सी फिगर.