गांव देहाती बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,xxx हिंदी video

तस्वीर का शीर्षक ,

नेपाली सेक्सी नंगी चुदाई: गांव देहाती बीएफ वीडियो, कोशिश आखरी सांस तक करनी चाहिये यारो …मिल गई तो चूत और नहीं मिली तो उसकी माँ की चूत।मैने अपने सभी साथियों (लंड, आँखें, होंठ-मुँह-जीभ, कान-नाक, हाथ, दिल और दिमाग) की आपातकालीन बैठक (एमर्जेन्सी मीटिंग) बुलाई.

लंबी चूत की चुदाई

क्या कामुक दृश्य होता है जब लड़की की गांड का पीछे से ऐसे दिखना होता है. पिक्चर सेक्सी नंगीवो बिल्कुल पागल सी हो गयी थी … अपनी गांड उठा कर मुझसे चूत रगड़वा रही थी.

चाची नहाने के बीच में से ही उठ कर दरवाजा खोलने आईं, वे पेटीकोट को अपने स्तनों तक चढ़ा कर आई थीं. एक्स वीडियो हिंदी एक्स वीडियो हिंदीमैं परवीन के पास बैठ गया और उसके होंठों को मुँह में भरकर किस करने लगा.

मेरे छूटने की कोशिश में गलती से मेरा हाथ उनके लुंगी पर आ गया और मैं शॉक हो गयी.गांव देहाती बीएफ वीडियो: बीस मिनट तक लगातार लंड रगड़ने से मेरी चुत में दर्द होने लगा, मैं बोली- धीरे चोद साले कुत्ते … बहुत दम लगा कर चुदाई कर रहा है.

यह कहानी उन दिनों की है, जब मैं कानपुर में ग्रेजुएशन की पढ़ाई कर रहा था.वो अब सिर्फ ऊपर से एक लाल ब्रा में थी, जिसमें उसके 36 के चूचे बाहर आने को फड़क रहे थे.

हिंदी सेक्स व्हिडिओस - गांव देहाती बीएफ वीडियो

पर ऐसा वो मेरी मम्मी के सामने ही बोल देती थी, तो मैं शर्मा कर रह जाता था.सच कहूं तो मुझे अपनी उछलती चूत पर बहुत शर्म आ रही थी कि अंकल जी क्या सोच रहे होंगे मेरे बारे में कि ये कैसी लड़की है पहली चुदाई में ही चूत उठा उठा कर बेशर्मी से लण्ड खा रही रही है.

दोनों डिनर कर ही रहे थे कि तेज बादल गड़गडाने लगे और बिजली चमकने लगी. गांव देहाती बीएफ वीडियो बहुत भीड़ होने के कारण धक्के से अमित मेरे ऊपर आया और उसका पूरी बॉडी मेरी पूरी पीठ से रगड़ खा गयी.

यह रोज-रोज नहीं होता है कि कोई औरत 15 मिनट में अपनी चूत देने को तैयार हो जाए.

गांव देहाती बीएफ वीडियो?

इस साल बोर्ड के एग्जाम होने थे तो पढ़ाई का दबाव भी बढ़ने लगा था, मैं हमेशा ही फर्स्ट डिवीज़न पास होती आई थी तो मुझे अपना स्टेटस मेंटेन करने की भी फ़िक्र थी; पर इस निगोड़ी चूत का क्या करूं जो मुझे परेशान किये रहती थी, मेरी अटेंशन को बुक्स से हटा कर बुर की ओर धकेलती रहती थी. मुझे लगा कि शायद वो नाराज हो गया है इसलिए उसने अपना लंड मेरे मुंह से बाहर निकाल लिया है. अब मैंने अपना मोबाइल निकाला और इमरान हाशमी की आशिक़ बनाया वाली वीडियो देखने लगा.

मेरे सिर की तरफ आया और मेरा एक हाथ अपने हाथ से पकड़ कर अपना लंड मेरे हाथ में दे दिया. वो पढ़ कर मेरा लंड खड़ा हो गया और उसी वक्त मैंने उसको चोदने की सोच ली. मैं जाकर आंटी की ब्रा ले आया और अपने हाथों से मैंने आंटी के चूचों पर ब्रा पहनायी.

ऊपर भाभी ने मैचिंग कलर का स्लीवलैस ब्लाउज़ पहना हुआ था, जिसमें पीछे की तरफ केवल डोरियां बंधी थीं. इस वक्त हम दोनों एक दूसरे की नजरों में नजर मिला कर सेक्स कर रहे थे. जब हम मूवी हॉल की तरफ जा रहे थे मेरी बीवी की ट्रैक पैंट में उसकी गांड एकदम बाहर निकली हुई दिख रही थी.

फिर कुछ दिनों के बाद मुझे भी पढ़ाई के कारण पास वाले टाउन में रहने जाना पड़ा. पर डॉली से मेरी दोस्ती चलती रही और मैं जब भी उसके घर जाती, हम दोनों उसके कमरे में बंद हो जाते और पूरे नंगे होकर एक दूसरे में अंगों से खेलते, चूत से चूत घिसते रगड़ते मुट्ठी में भर भर के भींचते.

ऐसा कहते-कहते उसने मेरी मां को कस कर पकड़ लिया और किस करके मेरी मां की गांड साड़ी के ऊपर से दबाने लगा.

वह दस मिनट तक कच्चे आम सी मेरी चूत को चाटता रहा … और मेरी अमरूद सी चूचियां दबाता रहा.

मेरी कार भी सड़क किनारे सही सलामत खड़ी थी।मुझे कुछ समझ नहीं आया कि ये कोई डरावना सपना था या हकीकत?मैंने कार स्टार्ट की और अपनी मंजिल की ओर बढ़ चला. अब वो अपने कान में लीड लगाए हुए बहुत गौर से वीडियो को देखे जा रही और बीच बीच में मेरी तरफ भी देख रही थी. मैंने उससे कहा- फिर आपका दिल कैसे लगेगा?इस पर वो कुछ उदास सी हो गयी.

उसके बाद वो मेरे कुछ कहे बिना ही पेट के बल लेट गई और बोली- प्लीज़ धीरे धीरे घुसाना. थोड़ी देर के बाद ही भैया सो गए। लेकिन मेरी नींद तो पुष्पिका के बारे में सोच-सोच कर पता नहीं कहां गायब हो गयी थी. एक दिन उसने मुझसे पूछा- सुना है फर्स्ट टाइम बहुत दर्द होता है?मैं- पता नहीं, मैंने कभी महसूस नहीं किया!सुन कर तेज़ी से हंस पड़ी.

अब मैंने उसके चूतड़ों पे कोड़ा मारा और बोला- से … यू आर माय स्लट (कहो तुम मेरी रंडी हो)वो अपनी सांसें सम्भालते हुए बोली- उम्म्म हम्म यस आई एम योर परमानेंट स्लट सर (मैं आपकी निजी और हमेशा के लिए रखैल हूँ)मैंने उसके नंगे पेट पे एक और कोड़ा मारा और बोला- से आई एम योर लाइफटाइम स्लट.

अब बेबी वर्तमान में आयी और बोली- मुझे लगता है कि हैप्पी का हाल भी इनके जैसा ही है. वो भी उसके मम्मे और होंठ तक ही सीमित रहता था, फिर वो अपनी टांगें फैला देती थी और मैं अपने लंड को उसकी चूत में डालकर धक्के देना शुरू कर देता था. तभी मैंने उसके कान में जाकर धीरे से कहा- क्यों अभी तक तेरी चूत गीली हुई कि नहीं?उसने मेरी तरफ देखा और उसे देख कर मुझे ऐसा लगा मानो वह बहुत प्यासी हो.

पता नहीं क्या हो गया था कि इतनी उत्तेजना हो गई थी कि मेरा पानी वहीं पर निकल गया. उस दिन गांड मराने के बाद भाबी के पास उनकी सहेली प्रिया जी का कॉल आया. मुझे भी लगा कि भैया कहां फंस गए, ऐसी घटिया सी दिखने वाली औरत के साथ कैसे उन्होंने शादी कर ली.

मैंने सपना को फिर से सीधा लेटा दिया और उसके ऊपर आ कर उसकी चूत में लंड के जोर जोर से धक्के मारने लगा.

मैं- तो फिर आप मुझे एक मौका दो ना भाभी आपकी सेवा करने का? अगर आपकी प्यास ठंडी न कर दी तो मेरा नाम बदल देना. वैसे भी मैंने काफी दिनों से चुदाई का आनंद नहीं लिया था इसलिए चुदाई की इच्छा भी तीव्र हो चली थी.

गांव देहाती बीएफ वीडियो मैं जोर जोर से भाभी की चूत को पेलने में लगा हुआ था और भाभी भी अपनी चूत को उछाल-उछाल कर मेरे लंड का पूरा जोश निचोड़ने की कोशिश कर रही थी. मैंने ध्यान दिया कि अनुषी जब भी अन्दर बाहर जाती, तो वो हमारे घर की तरफ जरूर देखती.

गांव देहाती बीएफ वीडियो इस तरह उसकी चूत खिली हुई नजर आने लगी और दोनों पुत्तियां लहसुन की कली की तरह दिख रही थीं. मैंने पूछा- मैम, मज़ा आया कि नहीं?तो उसने कहा- हाँ!और कहा- तुम चुत अच्छी चाटते हो! आज तक ऐसी कभी किसी ने नहीं चाटी मेरी!मैंने कहा- लेकिन मैम, मुझे आपकी चुत मारनी है!तो उसने कहा- फिर कभी!पर मैं जोर देने लगा तो वो तैयार हो गई.

मैं नीचे गया तो नेहा ने बोला- कहां जा रहे हो?मैंने उसे बताया- सब्जी लेने जा रहा हूँ.

सेक्सी वीडियो दूध वाला

वे बोलीं- तुम्हारा मुझसे प्यार करना गलत है और मैं तुम्हें खोना नहीं चाहती इसलिए समझाने आई हूँ. और करन ने मुझे अपनी बांहों में ज़ोर से जकड़ लिया।हमारे जिस्म एक दूसरे के संपर्क में आते ही और गर्म होने लगे और हम वासना की मदहोशी में खोने लगे. लेकिन जैसे ही ताऊ जी अपने लंड को थोड़ा और अन्दर करने के लिए एक जोर का झटका मारा, तो कोमल पूरी तरह से सिहर उठी.

मैं मन ही मन समझ गया था कि सीमा भाबी भी अपनी चुत मुझसे चटवाना चाहती हैं. ऐसे ही खाना खत्म करके मैं सोफे पे जाकर बैठ गया और भाभी को निहारने लगा. विकी से जब मैंने ये सब कहा, तो उसने मेरी चुदाई के लिए एक प्लान बना लिया.

उनका फ़िगर एकदम सेक्सी … भरे हुए मम्मे, पतली कमर, सफ़ेद रंग, भरी और उठी हुई गांड मैंने पार्क में नोटिस की थी और उनका कामुक फिगर सोच कर मुठ भी मारी हुई थी.

मेरी पत्नी मुझे बताने लगी- भाभी बोलती बहुत हैं, अभी दस दिन हुए हैं और अपना पूरा इतिहास बता चुकी हैं कि मेरा नाम भूपिन्दर कौर है, वैसे सब मुझे बेबी कहते हैं. फिर अजय ने उसकी पैंट को निकाल दिया और अब मेरी बीवी मेरे बिजनेस पार्टनर के सामने नीचे से नंगी होकर केवल पैंटी में थी. एक साल तक हमने चोदने का बहुत मज़ा लिया, फिर वो दूसरी जगह पर शिफ्ट हो गई.

मेरी नजर तुरन्त ही घड़ी पर गयी, तो देखा कि कॉलेज जाने का टाईम हो रहा था. जब मुझसे रुका न गया तो मैंने उसका मुंह अपनी तरफ घुमा लिया और उसके होंठों को चूसने लगा. अब मामा ने शरारत से हँसते हँसते अपना लंड मेरे मुंह में चूसने को दे दिया.

बदन में कमजोरी महसूस हो रही थी इसलिए सोचा कि अब कुछ पेट में भी डाल लिया जाये. मैं और शिशिर हम दोनों लोग जब भी अकेले में मिलते थे, तो एक दूसरे से खुल कर बात करने लगे थे.

मैंने दिशा के पूरे मम्मे को अपनी हथेली में भर कर पूरी सख्ती से मसला और उसके होंठों को जोर से चूस लिया. उन्होंने मेरे लंड का साइज़ पूछ लिया, तो मैंने बताया आठ इंच लम्बा है. मेरा ऐसा एक भी अंग नहीं बचा होगा, जिसको मेरे लाड़ले बेटे ने ना चाटा हो.

ज़ायरा के बारे में क्या बताऊं दोस्तो … जब मैंने उसे पहली बार देखा, तो देखता ही रह गया.

अब तक बियर की वजह से हम सभी पर नशा होने लगा था और हमें इस खेल में कुछ ज्यादा ही मजा आने लगा था. अब उन्होंने अपने दोनों पैर अलग कर दिए थे और मेरा सर अपनी चूत के ऊपर दबाने लगी थीं. पांच मिनट तक चूसने के बाद चाची ने मेरे सारे कपड़े उतरवाकर मुझे नंगा कर दिया.

उसके बाद जब वो चले गए, तो रश्मि मेरे पास आई और मेरी गोदी में बैठ गयी. रात को जब सोने का टाइम हुआ तो भाभी ने कहा कि मैं अपनी टांगें भाभी की तरफ कर लूं.

इतना कहने के साथ ही रेखा ने एक बार फिर अपने होंठों का, अपनी उंगलियों का कमाल दिखाना शुरू कर दिया. मुझे अपने ब्वॉयफ्रेंड के लंड से चुदने में इतना मजा कभी नहीं आया जितना कि तुम्हारे लंड से आया. मैंने इसके आगे कुछ देर रुके रहने का तय किया और लंड को ना अन्दर किया न बाहर निकाला … बस पूरी ताकत से उसको पकड़े रहा.

தமிழ்நாடு செக்ஸ்ய்

सोनम ने हंस कर कहा- बेशक!हमारी बात को बीच में ही काटते हुए सोना बोली- सीधी सीधे मुद्दे की बात करो ना यार अंशु.

पहले तो विक्की बहुत धीरे धीरे धक्के लगा रहा था, जब निहारिका नीचे से अपने कूल्हे उछालने लगी तो विक्की के धक्कों की स्पीड भी तेज हो गयी. मैं घर पर अकेला ही रहता था इसलिए अधिकतर समय मैं आंटी के वहां बिताया करता था क्योंकि गर्मी का टाइम था और घर पर पड़े-पड़े मैं भी बोर हो जाता था. शाम के लगभग 6:00 बजने वाले थे और बादलों और बरसात की वजह से अंधेरा होने लग गया था मेरा दिल बैठने लग गया.

फिर ड्राईवर बोला- क्या यार, तुम भी ओपन बात करते हो, पर तुम बोलते बहुत प्यारा हो. बातों ही बातों में पता चला कि वो हफ्ते में तीन बार जयपुर से उदयपुर ट्रक लेकर जाते हैं. બી પી પીચરअपना पूरा का पूरा नौ इंच का हब्शी लंड मेरी गांड के अन्दर घुसेड़ दिया.

हम दोनों ने एक-दूसरे को देख कर स्माइल किया और फिर मैंने ऋतु को उसकी फैमिली से मिलवाया. और अपने दोनों हाथों को धीरे से बढ़ाकर परीशा के दोनों बूब्स को धीरे धीरे मसलना शुरू कर देता है। परीशा मदहोशी में अपनी आँखें बंद कर लेती है और उसके मुँह से सिसकारी निकल जाती है।मुकुल राय फिर अपने होंठ परीशा के पीठ पर रखकर फिर से उसी अंदाज़ में हौले हौले चाटना शुरू करता है.

फिर मैंने उससे पड़ोसी के बारे में पूछा- वह कहां है?तो उसने कहा- वह अभी नहा रहा है. फिर सोनू ने उत्तेजित होकर मेरे अंडरवियर के कट के अंदर हाथ डाल दिया और मेरे गर्म लौड़े पर उसके नर्म कोमल हाथों के स्पर्श ने मेरे मुंह से एक स्स्स … की आवाज बाहर निकाल दी. राधिका- सबसे पहला रूल, जो हारेगा उसको एक पैग मारना होगा और जीतने वाले का टास्क पूरा करना होगा.

बस मैं खुद ही उसके साथ अपने शरीर को मजा दिलाने के लिए पूरी नंगी होकर उसके साथ बिस्तर में आ जाती. ये उससे बात करने का अच्छा मौका था और मैं इस मौके को हाथ से जाने नहीं देना चाहता था. मैं इतराती हुई स्वीमिंग पूल से बाहर आकर दरवाजा खोलने के लिए चल पड़ी.

मैं रोजाना रात को बाहर घूमता और सुमन भी अपनी बहनों के साथ घर के बाहर बैठ जाती थी.

मैंने इससे पहले साहिल को हीना की बस एक ही फोटो दिखाई थी जिसको देख कर साहिल मुट्ठ मारा करता था. ” (मास्टर को तुम या तो सिसकारियां” लेते हुए पसन्द हो या तो बिल्कुल चुपचाप)उसने बोला- सॉरी मास्टर.

वो चाहे सूट पहनतीं या साड़ी, आधे चूचे हमेशा बाहर ही दिखाई देते रहते थे. उसकी शर्ट के कुछ बटन खोलने के बाद मैंने उसके नंगे चूचे को हाथ से सहलाना शुरू कर दिया. मैंने उसको आराम से चोदने के लिए बोला तो वो मेरी चूत को आराम से चोदने लगा.

उस रात मैंने पत्नी के मना करने के बाद भी उसे दो बार चोदा और जोश में उसे काट काट कर जख्मी भी कर दिया. मूत पी कर भी उसने लंड चूसना तब तक नहीं छोड़ा, जब तक मैं झड़ नहीं गया. मैंने भी उनकी चाहत को समझ लिया था कि जो भाबी अपने काम से काम रखती थीं, आज वही भाबी मुझे देख कर स्माइल पास करती हैं और अकेले मिलने पर कमेन्ट भी मारती हैं.

गांव देहाती बीएफ वीडियो परीशा- पापा बस भी करो; मुझे कुछ हो रहा है।मुकुल- क्या हो रहा हैं बता ना? क्या तेरी चूत गीली हो गयी है? हां शायद यही वजह है. वो मुझे ऐसे देख रही थी जैसे कह रही हो ‘प्लीज, अभी मत छोड़ो!’लेकिन मैं जानता था कि अगर ज्यादा जोश में आऊँगा तो उसे संतुष्ट नहीं कर पाऊँगा.

ब्लू पिक्चर सेक्सी विडियो हिंदी में

मैं तो उसकी नजर को देख रही थी मगर भाभी इस बात पर ध्यान नहीं दे रही थी. जब तक वो बाहर आई … ड्रिंक तैयार थी।वो मेरे पास आकर बैठ गयी और कुछ सोचते हुए वो बेड से उठी और मेरा हाथ पकड़ कर नीचे बैठ गयी और मुझे प्रपोज़ किया।जब उसने ऐसा किया तो मेरा मुख खुला का खुला रह गया. लेकिन अभी मुझे तो मजे लेने दे इस मस्त माल के। लेकिन तू नहीं होता तो ये आइटम मुझे भी नहीं मिल पाती.

अब उन्होंने मेरी मां को स्पूनिंग पोज में चोदना शुरू किया मगर उन्हें इसमें ज्यादा मजा नहीं आया, तो उन्होंने मेरी मां को कुतिया बनाया और चोदने लगे।यहां मेरी मां की चूत पानी छोड़ने लगी जिस वजह से शॉट की आवाज बदल गई।अब रमेश अंकल बड़े शॉट मारने लगे. उसके मोतियों जैसे सफेद दांतों के ऊपर उसके होंठों पर खिली हंसी देख कर दिल को बड़ा सुकून मिल रहा था. हिदि सेकसवो मेरे लंड के सुपारे को जीभ से चाट रही थी और जितना लंड उसके मुँह में जा सकता था, उतना अन्दर लेकर चूसे जा रही थी.

दूसरे दिन मैं जानबूझ कर उसी टाइम पर ऊपर भाबी के कमरे के बाहर आ गया.

क्या चूस रही थी आंटी मेरे लंड को बड़े ही मस्त तरीके से, जैसे ब्लू फिल्मों में चूसते हैं।एकदम से रंडी की तरह चूस रही थी वो मेरे लौड़े को। उसके मुंह ने मेरे लंड की ऐसी चुसाई की कि दो-तीन मिनट में ही मैंने अपना सारा पानी उसके मुंह में छोड़ दिया. हसीना की कहानी के पहले भाग में अब तक आपने पढ़ा था ट्रेन में मुझे अदिति नाम की एक नवयौवना लड़की मिली, जिससे मेरी काफी गहरी दोस्ती हो गई थी.

फिर अचानक ही आनंद की वो लहर जिस्म में उठी जिसमें मैं बहता हुआ उस पल को जैसे वहीं रोक देना चाहने लगा मगर वो पल ऐसा पल होता है कि उसको रोक पाना नामुमकिन होता है. आप सबके द्वारा मेरी ईमेल[emailprotected]पर भेजे गए विचारों से मैं आपका आभारी हूँ और उम्मीद करता हूँ कि आगे भी आपकी उम्मीदों पे खरा उतर सकूँ. माँ बोली- हां आशा, मैं तुझे फोन करके बताना ही भूल गई कि हम लोग मार्केट जा रहे हैं.

मैंने काफी देर सोच कर उसे हाँ कह दिया।अब रीना ने एक प्रमुख ऑनलाइन रोजगार साइट पे आवदेन शुरू कर दिए। तभी एक सप्ताह बाद रीना मुझे बताया कि एक प्रमुख प्राइवेट कंपनी ने उसे इंटरव्यू के लिए बुलाया है।मैंने खुश होते हुए कहा- यह तो बहुत अच्छी बात है.

इसके बाद आगे हाथ डालकर हार को अलग किया और पीछे से गर्दन पर होंठ लगा दिए. यदि मैंने अपने होंठ से उसका मुँह बंद नहीं किया होता, तो उसकी चीख बहुत दूर तक जाती. ऐसा कहते हुए जीजा ने अपनी पैंट निकाल दी और फिर अपने तने हुए लौड़े से अंडरवियर हटाकर वह भी उतार फेंकी और जीजा का मस्ता लौड़ा खड़ा हुआ मेरे सामने था.

पकड़ो और करोप्लीज मजे लेने दो न मुझे।भाभी- अरे जाओ … कोई देख लेगा तो मेरी बड़ी बदनामी होगी।मैं- अरे भाभी जी अभी कौन सा कोई है घर में या आस-पास? भाई भी 3 घंटे बाद ही आएंगे। बच्चे तो शाम से पहले आते नहीं। आप नहाओ न, कोई नहीं आता।थोड़ी देर मनाने के बाद भाभी मान गयी। उन्होंने अपने कपड़े उतारने शुरू किए। साड़ी और ब्लाऊज उतार कर अलग किया. अंकल जी ने आठ दस बार वैसे ही चूत पर अपना लण्ड घिसा और मेरी चूत का रस अपनी उंगली पर लेकर इससे अपना सुपारा चुपड़ लिया और उसे सही जगह पर लगा कर धकेला तो सुपारा थोड़ा सा चूत में घुसने में कामयाब हो गया.

बाप बेटे का सेक्सी वीडियो

जब कुछ पल बीत गए तो उसने खुद ही मेरा हाथ पकड़ा और नीचे ले जाकर अपनी पैंट के ऊपर से ही अपने लंड पर रखवा दिया. साहिल सोफे पर बैठ गया और समीरा बानू ड्रेसिंग रूम में जाते हुए बोली- मैं अभी चेंज करके आती हूं. जब मैं उसकी फैमिली से बात कर रहा था तब उसकी नज़र सिर्फ ऋतु के बदन पर ही थी.

वह भी तेजी के साथ धक्के लगाता हुआ झड़ गया और उसने अपना माल मेरी चूत में ही निकाल दिया. मैंने उस दीवार पर लगे वीर्य को अपनी उंगली से छू कर देखा तो वो मुझे चिपचिपा सा लगा. मैंने ऑफिस के बाद उसे एक चैक से पेमेंट दे दिया, वो थैंक्स कहकर चली गयी.

कुछ देर तक कूल्हों पर मसाज देने के बाद वो मेरी जांघों की तरफ नीचे आ गया. अब उसका नीचे वाला होंठ, मेरे होंठों में था और मेरा ऊपर वाला होंठ उसके होंठों में आ गया. उसकी चूत का पानी चाटने के बहाने मैंने अपनी जीभ उसकी लाल चूत में घुसा दी.

मैंने जब उनसे पूछा, तो वो बोले- आज मैं सामान खरीदने शहर जा रहा हूँ. आप एक मिनट! ज़रा अंदर आयें … प्लीज़!” वसुंधरा की धीमी सी इल्तज़ा मुझे सुनाई दी.

ताऊ जी ने कोमल के हाथ को पकड़ कर अपनी तरफ खींचा और अपने लंड को पकड़ा दिया.

मैंने वो वीडियो बनाकर रूपाली को दिखाया तो उसको मेरे भाई का लंड बहुत पसंद आया. बाथरूम क्सक्सक्सअब अजय उसकी दोनों टांगों को खोल कर उसकी टांगों के बीच में अपना मुंह डालकर उसको जीभ से चाटने लगा. ससुर और बहु की चुदाई हिंदी मेंमेरे शौहर काम में बिजी होने के कारण मेरे साथ थोड़ा कम ही टाइम स्पेंड करते थे. तभी हवेली का दरवाजा खुला और तभी अचानक जो मैंने देखा उसे मैं कभी नहीं भूल सकता.

मेरी आंखों से आंसू भी निकल आये लेकिन मेरे पति ने पूरा लंड मेरी चूत में घुसा दिया और मुझे जोर से पकड़ कर चोद दिया.

मैं उससे अक्सर यह कहता था कि अब तो मेरी जवानी उफान पर है, पर ऊपर वाला मेरे लिए कुछ सोच ही नहीं रहा है. इसके बाद हम दोनों को जब भी मौका मिलता है, तो हम दोनों सेक्स कर लेते हैं. सौरव के होंठ भी बहुत रसीले थे और वह अपने गर्म होंठों से मेरी चूत को चूमने लगा.

जब भी मौका मिलता है दोनों ही पास के किसी शहर में कार या टैक्सी से निकल जाते हैं और एक-दूसरे की प्यास बुझाते रहते हैं. अब तक इस टीचर की चुदाई स्टोरी में आपने पढ़ा कि मैं नम्रता की गांड मारने की तैयारी कर रहा था. एक बात और मैं अपनी कॉपी में चूत का चित्र बनाती लण्ड का चित्र बनाती, कभी चूत में लण्ड घुसा हुआ चित्र बनाती और फिर उसे एकटक देखती रहती या वो कागज़ अपनी चूत में रगड़ने लगती.

बॉयफ्रेंड को खुश रखने के तरीके

मुझे मालूम था कि गुब्बारा फटेगा तो तेज आवाज होगी, इसलिए मैंने उसके होंठों को अपने होंठ में दबा लिए और चूमने लगा. बाकी सब डॉक्यूमेंट ठीक थे पर मेरा स्कूल का सर्टिफिकेट था उसमें नाम के स्पेलिंग में मिस्टेक था तो मुझे वो ठीक करवाने के लिए अपने स्कूल जाना पड़ा. मैंने ऑफिस के बाद उसे एक चैक से पेमेंट दे दिया, वो थैंक्स कहकर चली गयी.

अब आगे:मैं उसके पीछे पीछे उसके रूम में गई और अंदर जाते ही उसने बोला- सॉरी थोड़ा गंदा है.

मामा बड़े लाड़ से मेरी चादर में घुसा और चुपचाप लेट कर मुझे सिर्फ सहलाता रहा.

मगर समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूं इसको छिपाने के लिए!मैंने सुमिना की तरफ देखा तो वो अपने फोन में लगी हुई थी. मैंने भी बोला- आज मेरी जान … मैं भी आ रहा हूँ … बोल कहां माल छोड़ूँ?वो बोली- मेरा पहली बार है … तुम अन्दर ही छोड़ दो. सेक्सी वीडियो गन्ने के खेत मेंमेरे मुंह में तो पहले से ही पानी आ रहा था इसलिए मैंने उसके लंड को अपने मुख में भर लिया और उसको पूरे मजे के साथ चूसने लगी.

कोशिश आखरी सांस तक करनी चाहिये यारो …मिल गई तो चूत और नहीं मिली तो उसकी माँ की चूत।मैने अपने सभी साथियों (लंड, आँखें, होंठ-मुँह-जीभ, कान-नाक, हाथ, दिल और दिमाग) की आपातकालीन बैठक (एमर्जेन्सी मीटिंग) बुलाई. अब वो अपना लंड डालना चाहता था, तो उसने थोड़ा तेल अपने लंड पर लगाया और थोड़ा मेरी गांड पर लगा कर छेद को फैला सा दिया. फिर मैं किस करते करते वापस लंड तक आया और बोला- आज की रात आप मुझ पर बिल्कुल दया मत करना, मेरी गांड फाड़ दो, चोद दो मुझे.

उसके मुंह से आनंद की आवाजें निकलने लगीं थीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… भाई … मेरे भाई … मेरी चूत को चोद दे … आह … मजा आ रहा है. तभी अचानक किसी वाहन के आने की आवाज हुई तो मैं तुरंत खड़ा हो गया और उसकी साड़ी नीचे कर दी और चूचा साड़ी के द्वारा ढक दिया और हम दोनों वापिस बाइक पर बैठ गए.

इससे मेरी हिम्मत तो बढ़ गई थी, पर तब मैं हिम्मत नहीं कर पाया और वहां से चला गया.

मैंने उसकी चुत को उसी पैंटी से साफ किया और उसकी चुत में एक वाइब्रेटर, जो मैंने उसकी नजरों से छुपा के आज ही ख़रीदा था, ठूंस दिया. कुछ ही देर में सनसनी बढ़ गई और अब मैं उसके होंठों को चूसे जा रहा था. तभी भाभी ऊपर आ गई और उन्होंने मुझे ऐसा करते हुए देख लिया और बोली- क्या सूंघ रहे हो रामू? और ये तुम्हारे हाथ में क्या है?मेरी चोरी पकड़ी गई थी.

সেক্সি সেক্সি বিএফ वो पूरा नीचे तक लिंग महाराज मुँह में लेती और फिर ऊपर आते वक्त मेरे लिंग के टोपे को जोर से चूसती. उसे देख कर भाभी का मुँह शरम से लाल हो गया लेकिन उन्होंने निगाह नहीं हटाई.

जब उसने दोबारा से मेरा हाथ पकड़ कर अपने लंड पर रखा तो मुझे पता चला कि उसने पैंट निकाल दी है. उनका इस तरह से मुस्कुराता चेहरा देखने के लिए मैं कुछ भी कर सकता था. एक ठाकुर की चुदाई का ऐसा मजा दूंगा तुझे कि तू अपनी सारी चुदास भूल जायेगी मेरी रंडी.

தமிழ் ஸ்ஸ்ஸ்

अचानक ही मेरे मन में एक वहशी ख़्याल आया कि आज वसुंधरा ने वैक्सिंग करवाते हुए क्या प्यूबिक एरिया की वैक्सिंग भी करवाई होगी या नहीं?वसुंधरा की बालों रहित योनि का तस्सवुर करते ही अचानक से मेरे लिंग में भयंकर तनाव आ गया. आह-आह करते हुए उसने अपनी चूत को मुट्ठी में भर के भींच लिया और कस-कस कर मसलने लगी. अगर कहानी लिखने में मुझसे कोई गलती हो जाये तो उसे नजरअंदाज कर दीजियेगा.

मैंने फ़ौरन अपना बायां हाथ उसके दोनों हाथों में से निकाल कर उसके दायें हाथ के पृष्ठ भाग पर जमा दिया और अपने दायें हाथ की चारों उंगलियां वसुन्धरा के दायें हाथ की उँगलियों में पिरो दी. उसके बाद मैंने उसके पेट पर बैठ कर उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया.

मैं जोर से चिल्लाया ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ तो सनी जी अपना लंड मेरे मुँह में घुसा दिया.

पता नहीं क्यों … मैंने अपने हाथ से उसे एक निवाला खिला दिया … बस कीर्ति रोने लगी. आपको तो पता ही है मुझे वीर्य पीना तो बहुत ज्यादा पसंद है इसलिए मैंने उनके वीर्य का एक एक कतरा अपने मुंह में गटक लिया और लंड को चाट चाट कर साफ कर दिया. ड्रेसिंगरूम में आ कर मैंने ड्रेसिंगरूम की सभी लाइट्स ऑन कर दी और वसुंधरा को बहुत आहिस्ता से कंधे से पकड़ कर आईने के सामने कर दिया.

अभी मैं इस बात को लेकर आश्वस्त नहीं था कि काजल के मन में भी कुछ ऐसा ही चल रहा है या ये सब अनजाने में ही हो रहा है. शुरुआत में तो अनुषी में मेरी ज्यादा रूचि नहीं थी … क्योंकि मैं अपनी गर्लफ्रेंड के साथ ही ज्यादा व्यस्त रहता था. मेरे प्रिय पाठको, कैसे हो आप सब? मैं रेखा आज आप सबको अपने साथ हुई एक मजेदार बात बताने वाली हूँ.

उसका पूरा शरीर पानी से हल्का हल्का भीगा सा था जिससे उसके शरीर की बनाबट अच्छे से देखी जा सकती थी.

गांव देहाती बीएफ वीडियो: मैं उठा और बाथरूम के अन्दर घुसा और आदत के अनुसार दरवाजा अन्दर से बन्द करने लगा. मैं उनके पास जा बैठा और मैंने उनसे पूछा- क्या हुआ भाभी आप रो क्यों रही हैं?भाभी कुछ नहीं बोलीं.

मैं बाथरूम में उसको आवाज लगाने गई तो अंदर से कोई आवाज नहीं आ रही थी. वो आंखें बंद किये अपने तेज चलती सांसों को नियंत्रित करने की कोशिश कर रही थी. आपने मेरी पहली सेक्स कहानीमस्त गदरायी लड़की संग सेक्सी मस्तीपढ़ी होगी.

उनकी चुदाई की बातें सुनकर मेरी सांसें तेज होने लगती थीं, गला सूख जाता था और कभी कभी तो चुत भी गीली हो जाती थी.

कुछ देर के बाद कोमल शान्त होने लगी तो ताऊ जी ने उनके होठों को आजाद करते हुए कहा- अब तुम मेरी पूरी तरह से औरत बन गई हो. जब मैं अपना हाथ उसकी पैंटी पर ले गया, तो पैंटी पूरी गीली हो चुकी थी. थोड़ी देर मसलने के बाद उन्होंने मेरी मां के ब्लाऊज को खोलना शुरू किया और उसका ब्लाऊज उतार कर नीचे गद्दे पर फेंक दिया.