ब्लू सेक्स बीएफ पिक्चर

छवि स्रोत,सेक्सी पिक्चर दिखाइए हमको

तस्वीर का शीर्षक ,

12 साल के बीएफ: ब्लू सेक्स बीएफ पिक्चर, मैंने उसकी टांगों को फैलाकर चुत के ऊपर जैसे ही हाथ फेरा, वो एकदम से चिहुंक कर बोली- प्लीज़ आह्ह.

लहान मुलीचे सेक्सी व्हिडिओ

इसलिए मेरी चूत अब लंडों को वो मज़ा नहीं दे पाती थी, जो वो चाहते थे. mp4 में सेक्सी पिक्चरपार्क में जाने के चक्कर में सारा कुछ गड़बड़ हो रहा था, घर वाले बोलते कि आजकल तेरा ध्यान कहां रहता है, कहाँ खोया रहता है.

इसके बाद मैंने भाभी के कपड़े पूरी तरह से अलग किए और अपने कपड़े भी उतार कर उनके ऊपर चढ़ गया, भाभी ने भी अपनी बांहें पसार कर मुझे अपने आगोश में भर लिया. प्राणी सेक्सी बीपीमैंने अब उसकी चूत में उंगली करनी और दूसरे हाथ से उसके मम्मे को दबाना जारी रखा.

उसने कमरे की लाइट जलाई और बोली- राहुल राहुल!मैं कुछ नहीं बोला, वो वापस कमरे में चली गई.ब्लू सेक्स बीएफ पिक्चर: तो कोई ऊपर का कमरा खोल दीजिए और सलाद पानी और पांच ग्लास रख दीजिए तभी मैं निकली, पहली बार मम्मी ने बोला- आरती, इनको ऊपर के रूम में सब जमा दो.

लंड घुसते ही उसके मुँह से एक जोरदार चीख निकली और वह बिन पानी की मछली की तरह तड़फ़ने लगी, उसकी आँखों में आंसू आने लगे.मैंने उसको अन्दर बुला लिया था क्योंकि पूरा दिन शॉपिंग की वजह से हम दोनों काफी थक गए थे.

सील पैक चुदाई वीडियो सेक्सी - ब्लू सेक्स बीएफ पिक्चर

कुछ ही देर में चाची फिर से गरम होने लगीं और कहने लगीं- चोद दे मुझे.मैंने लंड घुसेड़ा तो भाभी एकदम से चिहुंक उठीं लेकिन उनकी चुत मेरे लंड की सहेली थी तो अपने यार को उनकी चुत ने जज्ब कर लिया और भाभी मेरा साथ देने लगीं.

आपको मेरी रोमांटिक सेक्स स्टोरी कैसी लग रही है?मुझे सबकी प्रतिक्रिया का बेसब्री से इंतज़ार रहेगा. ब्लू सेक्स बीएफ पिक्चर मगर तभी उसका लंड खड़ा हो गया और बिना टाइम खराब किए उसने मेरी चुत में लंड घुसेड़ कर कहा- अब सोना नहीं, चुदना है.

मुझे रोशनी को झूठ में क्लिट वाली टेंशन देके बहुत बुरा लग रहा था, पर वैसे मैंने कभी कोई मटर जैसी लुल्ली नहीं देखी थी.

ब्लू सेक्स बीएफ पिक्चर?

वो कुर्सी पर बैठी रही और मैं नीचे बैठ कर उसकी चूत को करीब से देखने लगा और अपनी एक उंगली को उसकी चूत के अन्दर डाल दिया. जब वह थोड़ी सामान्य सी हो गई थी और आह… आह… की मस्ती भरी आवाजें निकालने लगी तो मैंने भी तेज-तेज धक्के मारने शुरू कर दिए थे. वे लोग पति पत्नी ही थे, साथ में उन आंटी का कोई भतीजा भी कुछ दिनों के लिए रहने आया था.

!!!” इत्यादि!बेखुदी के इस आलम में भी प्रिया मुझे अपना पति ही तस्सवुर कर रही थी. स्पष्ट था कि आज मेरा सामना छुई मुई प्रियतमा से नहीं बल्कि किसी जंगली बिल्ली से होने वाला था. वह तरह तरह की आवाजें निकालने लगी अह अह उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओह्ह्ह्ह्ह् इस्स्स्स्स्.

जब मैंने भाभी का गॉउन उतारा तो देखा कि भाभी ने तो पैंटी ही नहीं पहनी थी. लेटर में लिखा था कि डार्लिंग, जो मैंने लिखा है उसे पढ़ कर क्या घबरा गईं? तुम फिक्र मत करना, मैं अपना लंड तब तक किसी चुत में नहीं डालूँगा सिर्फ तुम्हारी चूत छोड़ कर, जब तक इस इंक का रंग खत्म नहीं हो जाता. पर जैसे ही ये सोचा कि मुझे बाहर जाना है, ये सोच कर मेरी हालत खराब हो गई.

भाभी मेरी तरफ अजीब सी नजर से देखने लगी और बोली- तुम तो बड़े खिलाड़ी निकले?मैंने कहा- यह किसी को नहीं पता कि मैंने ये कहानी लिखी है. ऐसा देख कर पहले तो वो थोड़ा नर्वस हुई लेकिन मैंने उसे उठाया और किस करने लगा.

सेजल भाभी एक हाथ से नीचे से मेरे लंड की गोटियों को सहला कर जोश में उम्म्ह… अहह… हय… याह…” कह देतीं, तो मैं अपनी स्पीड बढ़ा देता.

तभी जीतू चिल्लाता हुआ आ गया- भाभी जी, घर में हैं क्या?उसके एक हाथ में ऑरेंज जूस था और दूसरे में ब्राउन ब्रेड.

कई बार मयूर से कहते थे- यार अगर रचना की चूत दिला दो तो तुम्हारा तुरंत ही प्रमोशन कर दूँ. मुझे पहले ही अपनी किस्मत पर अफ़सोस हो रहा था कि मॉम जैसी सेक्स बम्ब को नवीन जैसा देहाती रंडी की तरह चोदता है. हाँ डार्लिंग,” वो बोली- बस थोड़ा थक गई हूँ…और फिर वो अचानक उठ कर बैठ गई, भाग कर बाथरूम में घुस गई और अपनी वेजिना बोतल में गर्म पानी भरने लगी.

फिर थोड़ी देर बाद और मैंने एक धक्का मारा और लंड को धीरे धीरे अन्दर बाहर करने लगा. माँ- तुम अपनी माँ की फिगर साइज़ को इतने अच्छे से कैसे जानते हो?मैं- मैं माँ के साथ अक्सर खरीदी पर जाता हूँ. मैंने उसकी एक ना सुनी और लंड फंसाए कुछ देर रुका रहा उसको चूमता और सहलाता रहा.

’ आने वाला है तो मैं हर दर्द को बर्दाश्त करने को तैयार हूँ। जो करना है कर लो।इतना बोल कर उसने अपनी टांगें खुद ही फैला दीं।मैंने भी अपना खड़ा लंड बिना देर किए उसकी चूत में घुसाने के लिए चूत पर टिकाया और धक्का लगा दिया। मगर सब बेकार.

मेरी एक बहन स्वाति की चुदाई की कहानीअपनी चालू बहन को चोदाआप पहले ही पढ़ चुके हैं. थोड़ी देर के बाद एक औरत घर से बाहर आई और बोली- जी आपने ही अभी फोन किया था?मैंने हां में सिर्फ सिर हिलाया क्योंकि मैं उन्हें देखता ही रह गया. अगर तुम चाहो तो मेरे एक दो दोस्त भी हैं जो तुम्हारी जवानी का मज़ा लूटना चाहते हैं.

बस आँखें बन्द करके सिसकारियाँ लेती रही। मैंने उसे खड़ा किया और साड़ी निकाल कर फेंक दी और पेटीकोट का नाड़ा खींच दिया। जिससे वो ढीला होकर नीचे पैरों में गिर गया।अब मधु के गोरे बदन पर सिर्फ काली पैन्टी रह गई। उसके बाल खुले थे और चूचियां बिल्कुल सीधी खड़ी थीं। कुल मिलाकर वो कयामत लग रही थी। मैं उसके होंठ. मैं- आप बाहर ब्वॉयफ्रेंड क्यों नहीं बना लेतीं… बस कंडोम यूज करो और मजा करो. वो नहा कर आईं और इठला कर बोलीं- अब खुश!मैं भी नहाया और हम दोनों एक ही बेड पर सो गए.

कुछ देर बाद चाची बोलीं- एक बात कहूँ आकाश बेटा?मैंने कहा- हां कहिए… ये पूछ क्यों रही हैं?उन्होंने कहा- क्या मैं सच में सुन्दर लग रही थी?मैंने कहा- और नहीं तो क्या… अगर चाचा आपको ऐसे देख लेते तो फिर…इतना कह कर मैं चुप हो गया और हँसने लगा.

देखती भी नहीं थी। उसका मासूम सा चेहरा आज भी मेरी आँखों में बसा पड़ा था। मैं फोटो देखते हुए यही सोच रहा था कि भगवान की माया भी निराली है. हमारी ये धक्का पेल चुदाई लगभग 15 मिनट तक चली होगी, उस समय तक भाभी एक बार झड़ चुकी थी और अब मेरा भी निकलने वाला था तो मैंने अपनी स्पीड बढ़ाई और लगभग 15-20 शॉट के बाद मैं भी भाभी की चूत में झड़ गया.

ब्लू सेक्स बीएफ पिक्चर मैं कहा- आंटी अब देर न करो लंड आपके मुँह में जाने के लिए मचल रहा है. शाम तो सात बजे मैंने उसको फोन किया- बताएं सर आप कहाँ पर मिलेंगे?उसने एक होटल का नाम लेकर जवाब दिया- आप होटल में आ जाओ.

ब्लू सेक्स बीएफ पिक्चर आपके पति भी होंगे, तो आप उनके साथ सेक्स नहीं करती हैं क्या?वो बोली- हाँ हैं मेरे पति लेकिन वो बाहर ही रहते हैं और उनकी उम्र भी काफी हो गई है. जाने के क्रम में हम, भाभी, उनकी बहू, बेटी तथा देवर मारुति कार से, तो भाई साहब स्कूटी से हॉल पहुँचे.

अचानक मुझे एक झटका सा लगा और महसूस हुआ कि आज की रात तो मुरादों वाली रात हो सकती है… आने वाले करीब 36 घंटे मेरी तमाम जिंदगी की हसरतों का हासिल हो सकते थे.

एक्स एक्स एक्स सपना चौधरी

फिर आखिरकार वो दिन भी आ ही गया, जब उसके घर वाले एक शादी में शामिल होने के लिए मुम्बई गए और उसके एक दिन पहले उसकी कॉल आई. उस रात राहुल की मुझसे फोन पर बात हुई तो मैंने उसको बताया कि नानी की तबियत खराब होने के कारण मम्मी पापा उधर गए हैं और उनको आने में कुछ दिन लग सकते हैं. जब हम दोनों को एक ही हो जाना है तो फिर इस छोटी से रकम के लिए क्यों आप अपना मुँह मारो उस बेकार के आदमी से!वो बोला- आप सही कह रही हो.

तभी मैंने मौका देखकर अपने लंड को मिंकी की चूत से बिना निकले पूरा बाहर खींच लिया और दूसरा जोरदार पूरी ताकत से धक्का लगा दिया जिससे मेरा लंड मिंकी की चूत में 7 इंच तक घुस गया तो मिंकी की दर्द के मारे जोरदार चीख निकल गई, उसकी आँखें बाहर को आ गई लेकिन मैंने मिंकी पर कोई रहम नहीं किया और ताबड़तोड़ 2-3 जोरदार धक्के पूरी ताकत के साथ लगा दिये जिससे मेरा लंड मिंकी की चूत में जड़ तक घुस गया. मैं किचन से सरसों का तेल ले आया और उसकी बुर में तेल गिरा कर पूरा इलाका चिपचिपा कर दिया. तो बोली- जरा डिटेल में बताओ?और बोली- चेयर में ठण्ड लग रही होगी, रजाई में आ जाओ.

अब स्वाति बोली- कैसी लग रही हूँ मैं?मैं बोला- बहुत प्यारी… लेकिन तुम रुक क्यों गयी?स्वाति बोली- मेरे पति जी, बेचैन मत होइए… मैं पूरी की पूरी आपकी ही हूँ…इतना कह कर उसने अपना ब्लाउज पूरा उतार कर मेरी ओर उछाल दिया जो उसके कैमरे से टकरा कर नीचे गिर गया.

नमस्कार दोस्तो, कुछ यादें हमेशा के लिए एक याद बनकर रह जाती हैं, कभी कभी दुःख या खुशी के कुछ पल याद बनकर आपके दिल के किसी कोने में हमेशा के लिए बस जाते हैं आखिर बसें क्यूँ ना; आखिर आपने उन्हें जिया और जीकर देखा जो है ऐसा कि एक सुनहरा पल या याद का एक पहलू मैं आपके सामने पेश कर रहा हूँ. जैसे ही मुझे पता चला कि रुचिका का ब्रेकअप हो गया और उसके बॉयफ्रेंड की शादी भी हो गई. मैं अपने घुटने के बल फर्श पर बैठ गया था और मेरे सामने वह चुपचाप खड़ी थी.

नीला पानी के भीतर मुझे जकड़ती हुई बोली- तुम मुझे अपनी बांहों में भरकर मेरे ऊपर चढ़ जाओ. फिर उसने मुझसे पूछा- और तुम्हें मजा आया?मैंने कहा- हाँ… बहुत!उस दिन मैंने उसको रात को पूरे 3 बार चोदा हम दोनों को काफ़ी मज़ा आया. तभी अचानक उन्होंने मेरी बोतल में हल्का सा हाथ मारा और कहने लगे- जब मैं पढ़ा रहा होऊं तो कोई बीच में किसी तरह से डिस्टर्बेंस ना करे.

अब तक की इस सेक्स स्टोरी के पहले भागइंग्लिश की क्लास में चुदाई की पढ़ाई-1में आपने पढ़ा था कि मैंने अपने पड़ोस की जवान लड़की और मेरी स्टूडेंट रोशनी की झांटें साफ़ करके उनको वी शेप की डिजायन से खूबसूरत सा बना दिया था. फिर वो एक ऑटो में जा बैठी, मैं भी उसी ऑटो में उसके बगल में बैठ गया.

वहाँ पहले रीमा ने पानी दाल दाल कर अपनी गांड धोई, फिर मैंने उस कॉलेज गर्ल की गांड में उंगली डाल कर उसकी गांड अच्छे से साफ़ की. मैं हरियाणा का रहने वाला हूँ और चंडीगढ़ में रह कर अपनी स्टडी कर रहा हूँ. कामिनी की चूत में तो पहले ही आग लगी थी, वो झट से अपनी टांगें फैला कर विवेक के लंड पे बैठ गई और आगे पीछे होने लगी.

इसका मतलब नीति मैडम ने रात की चुदाई का सारा प्रोग्राम उसे बता दिया था.

जब भी कोई पूछे कि वन्द्या क्या हुआ तो मैं उसे बोलती कि बस से पांव फिसल गया और गिर गई तो थोड़ा चोट लग गई थी।और फिर 10 दिन बाद मेरा फिर अपने आप फिर से बहुत मन करने लगा और वही अंकल और जीजा ने जिस तरह से किया था बार-बार वही सब दिमाग में और ख्यालों में चलने लगा. नवीन अब अपना लंड मॉम की चुत में आहिस्ता आहिस्ता अन्दर बाहर कर रहा था. ”पिंकी बिना चूत दिखाए ये कैसे बनेगा? रोशनी, तुम अपनी शेप दिखाओ पिंकी को.

दीदी के चुचे काउंटर से टच होने लगे… और झुकने के कारण दीदी की गांड पीछे की ओर और भी ज्यादा बाहर निकल आई. फिर अचानक मेरी बुर के अन्दर कुछ गर्म गर्म निकल गया, जो अवी का वीर्य था.

मुझे बालू के ऊपर बड़ा गुस्सा आता, जो मेरे हाथ कंधे सब दबाये मेरे मुंह में लंड डाले उल्लू की तरह गधा साला मुंह में मेरे लन्ड डाले पागल है, मुझे दो तीन बार लगा था कि कोई है… परदा हिला था, मोबाइल भी थोड़ा चमका था, मैं बोली भी थी कि लगता है कोई है।पर बालू बेवकूफ ने हर बार मुझे चुप करा दिया कि तुम फालतू में डर रही हो, मूड खराब कर रही हो. मैं जब अन्दर गई तो पहले तो वो एकटक मुझे देखता रहा और बोला- आपको यह सब करते हुए शरम नहीं आती?मैं कुछ कहने लायक नहीं थी, इसलिए चुप रही. मेरा लंड अब उसकी बुर में पूरी तरह से घुस गया था, लेकिन वो कराह रही थी.

बीपी सेक्सी नंगी सेक्सी

मैंने मज़ाक में बोला- पति की याद आ रही है क्या?भाभी बोलीं- नहीं नहीं.

वो मुझे समझाने लगीं लेकिन मैं कुछ नहीं बोल रहा था और ना नहीं मेरे ऊपर उनकी किसी बात का कोई असर हो रहा था. और फिर अचानक मेरे तेजी से चलते कदमों में एक ठहराव सा आ गया; मेरी टांगें अपने आप पास पास आ गईं और मैं एकदम लड़कियों की तरह मटक मटक कर चलने लगी; मेरी चिकनी जांघें आपस में रगड़ खाने लगीं; मेरे कूल्हे अपने आप मटकने लग गए; मेरी चाल में अजीब सा नशा, अजीब सी ख़ुशी छाने लगी; मैं एक पूरी सेक्सी लड़की बन कर चलने लगी. फिर बोला- ओके अब तुम जल्दी से नहा लो, मैं तुम्हारे कपड़े और 30000 वहीं छोड़ कर कहीं जा रहा हूँ.

उस एग्जाम में मुन्नालाल सर (मेरे ईको के टीचर) की ड्यूटी लग गई और जब सर सभी स्टूडेंट्स की चैकिंग कर रहे थे तो वे मेरे पास आए और मेरी चैकिंग करने लगे. अभी एक साल पहले वो मुझसे कहने लगी कि वो घर में बोर हो जाती है और वो जॉब ज्वाइन करना चाहती है. अक्षय का सेक्सी वीडियोजब आप पूरी रात मेरे साथ गुजार सकती हैं, तो मैं क्या आपका काम नहीं कर सकता.

अब तुम सोच लो किसी को पता भी नहीं चलेगा और तुम फ्री भी हो जाओगी और ऐसे इलाज में ज़्यादा खरचा भी नहीं होगा. मेरी साली पीछे घूम गई और प्लेटफार्म पर हाथ रख के गांड पीछे के तरफ से उभार दी.

एक बार की बात है कि उनके पापा का एक्सिडेंट हो गया था और वो कोमा में चले गए. उसने कहा- राजा अब देखो जब तुम हिलाते हो तो सिर्फ जरा सा मजा आता है और अब जब मैं जो कुछ करूँगी, उससे तुम्हें और भी ज्यादा मजा आएगा. मेरी हवस और भी बढ़ गई… मैं और एक जोर का धक्का लगाने के लिए बढ़ा तो उसने मुझे रोका और कहा- धीरे से करो, जिससे कि तुम्हें भी मजा आए और मुझे भी.

इस पोजीशन में उनके पूरे लंड भी मेरी चूत और गांड में अन्दर तक जा रहे थे. उसके आने के बाद भी हम दोनों एक दिन चुदाई कर ही रहे थे कि वो कमरे में आ गई. वो इतना दर्द महसूस कर रही थी कि उठ ही नहीं पा रही थी, वो अपने कपड़े नहीं पहन पा रही थी.

करीब 5 मिनट तक चुदाई के सीन देखने के बाद उसका हाथ उसकी बुर के ऊपर चला गया.

प्यार हो रहा था… कोई लड़ाई नहीं जिस में किसी के जीवन-मृत्यु का सवाल हो!आओ न…!” प्रिया कसमसाई और उस ने बिस्तर पर अपनी टाँगे खोल दी. इधर ऊपर मेरा मुंह प्रिया की बायीं बगल में कब समा गया, मुझे पता ही नहीं चला.

मैंने उसके पूरे गले को इतना चाटना शुरू किया कि अब वो भी सातवें आसमान पर उड़ने लगी थी. बुआ के साथ हिन्दी इन्सेस्ट कहानी पर अपने विचार मुझे बताएं![emailprotected]. पापा के स्कूल टाइम के सबसे अच्छे करीबी दोस्त कमलेश अंकल ने मुझे की सेक्सी कहानियों की एक बुक दी और बोले- इसे अकेले में पढ़ना, कोई ना देखे!और फिर गंदी गंदी सेक्स करते की फोटो वाली मैगजीन दिये.

उन्होंने मुझसे कहा- मनन, तुम्हारा छोटा पप्पू तो बहुत बदमाश हो गया है. शुरू में तो मुझे भी खराब सा लगा, पर न जाने क्या हुआ कि मेरा मन भी वासना से भर गया. तेरी मेरी दोस्ती यहीं तक… चल बाय…ये बोल कर दीदी झूट मूठ का खामोश हो गईं.

ब्लू सेक्स बीएफ पिक्चर आज का दिन मैं दिल खोल कर जी लेना चाहती थी क्यूंकि मैं जानती थी, मुझे दूसरा मौका कभी नहीं मिलेगा. मेरी एक खासियत ये भी है कि मैंने अब तक जितनी चुतों को अपने लंड का मजा दिया है, उन सभी की गोपनीयता भी बना कर रखी है.

ஆன்ட்டி குளிக்கிற சீன்

अब मयूर की नौकरी बचाने के लिए मैं मुख्यमंत्री तक से जुगाड़ लगा दूंगा. C टूरिस्ट बसें पूरे उत्तर भारत में चलती हैं, इन साहब ने अपनी कोई मनौती पूरी होने के उपलक्ष्य में अपने गोत्र की सारी लड़कियों समेत वैष्णो देवी दर्शन के लिए पूरी AC स्लीपर वाली वॉल्वो बस बुला रखी थी. मैंने धीरे से निप्पल को चूमा और हल्के से उस के आसपास अपनी जीभ फेरी.

वे सब अब देर से ही वापस आने वाले थे, तो मेरे घर वालों ने मुझे उसके घर भेज दिया और घर की चाभी ताई जी के पास रख दी. हम सब कम से कम एक किलोमीटर तक अन्दर चले गए और एक साफ जगह देख कर रुक गए. बफ सेक्सी छोड़ने वालाअब मैं मुख्य घटना पर आती हूँ, मेरी शादी को 20 दिन ही हुए थे और हम दोनों हर रात चुदाई का मज़ा भी ले रहे थे.

उसके हाथ मेरे शरीर पर ऐसे घूम रहे थे कि मानो किसी को बहुत दिनों के बाद खाना नसीब हुआ हो.

पर बेटा हॉस्टल में रहता था और अंकल को अक्सर काम से बाहर जाना पड़ता था. उनकी मदमाती 36-34-38 की फिगर को कोई भी देखेगा तो बस देखता ही रह जाएगा.

फिर मैंने भाईसाहब से कहा कि मेरे पतिदेव को बुला लें होली खलेने के लिए, वो कहीं बैठकर नॉवेल पढ़ रहे होगें, उन्हें तो नॉवेल और एक बॉटल पानी दे दो. यह सुन कर कुछ संतोष हो गया कि अगर वो एक बार हमारे चक्कर में फंस गया तो कोई उसे रोकने वाला नहीं होगा. ”ठीक है भैया मैं कल से टी-शर्ट और जीन्स ही पहना करूंगी, वैसे भी मेरी मम्मी को कोई ऐतराज नहीं है.

वो मेरी आँखों में वासना से देखते हुए बोलीं- कैसे? कोई जादू है क्या?मैं गरम होकर बोला- वैसा ही कुछ है.

उसने खुद को समर्पित कर दिया था और मैंने भी उसे अपनी नंगी छाती से चिपका लिया हम दोनों के तन की गर्मी ने एक दूसरे को प्यार का अहसास करना शुरू कर दिया था. फिर मैंने भाभी से थोड़ी थोड़ी बात शुरू की लेकिन उस समय भी मेरे मन में उनके प्रति ऐसी कोई इच्छा नहीं थी।फिर एक दिन हुआ यह कि मेरे घर पर कोई नहीं था और मेरी मम्मी ने उसी भाभी को मेरे लिए खाना बनाने का बोल दिया और चली गयी।मम्मी पापा तो चले गये, मैं भी भाभी का इंतजार कर रहा था और थोड़ी देर में भाभी आ गयी।भाभी आकर मुझसे बात करने लगी. वहां दीदी अपनी ही मस्ती में फोन डिसकनेक्ट होने से बेखबर अपनी चुत में उंगली अन्दर बाहर करके चोदे जा रही थीं.

बड़े-बड़े सेक्सी फिल्मधीरे धीरे अपनी कमर को गोल गोल घुमाते हुए उसके साथ नृत्य का आनन्द ले रहा था।वह शर्मा रही थी और हंस भी रही थी, उसकी हंसी मुझे बेहद खूबसूरत लग रही थी। डांस करने की वजह से और नशे की हालत में उसकी साड़ी का पल्लू उसके कंधे से नीचे गिर गया था जिसकी वजह से उसकी बड़ी बड़ी छातियाँ एकदम साफ नजर आ रही थी। उसकी चूचियां काफी गोरी और गोल थी जो उसके ब्लाउज में नहीं समा रही थी. आआआआ… ऊऊऊऊ… मस्त! चलो और तेजी से चोदो मुझे! आआआ… चलो पूरा घुसेड़ दो अपना हब्शी लंड मेरी चुदक्कड़ गांड में… ओओओओओ… ओए हाउ स्वीट! बस रुकना मत! हाँ ऐसे… ऐसे… ऐसे… ऐसे… और जोर से, और… और! आआआआआ…”और आर्थर ने अपने खंजर को मेरी पत्नी की गांड में जापानी बुलेट ट्रेन की रफ़्तार से घुसेड़ना शुरू कर दिया.

श्रेया सेक्स

मैं क्या बताऊं आपको मेरा लंड, जो सिर्फ 6 इंच का था और हस्तमैथुन के समय भी वो उतना ही रहता था, उस दिन मानो 7 से 8 इंच का लग रहा था. अब तो लंड महाराज काम्या की चूत के अन्दर जाने के लिए बड़े बेचैन हो रहे थे. मैंने उससे पूछा तो फिर आज अपनी मुराद पूरी कर लें?वो मुस्कुरा कर और अपनी चूचियां उभारते हुए बोली- कैसे?मैंने उसका हाथ पकड़ा और बोला कि होटल में चलते हैं.

विनय मेरी झूलती और थिरकती हुई चुचियों को मुँह में लेकर पीने लगा, जो मुझे और उत्तेजित कर रहा था. उसने एक कागज़ पर लिखा और मुझे देते हुए कहा- ओके अब जाओ और ये मेरा नम्बर है. उधर जब से नीति मैडम से मेरी बात हुई, तब से मैं उसे चोदना चाहता था लेकिन खुलकर नहीं कह पा रहा था.

पवन ने मुझे अपनी तरफ घुमा दिया और मेरी लड़कियों जैसी चुचियों को चूसने लगा. एक बात बता दूं तुमको, मैं असल में आंटी को चोदने के लिए आया था, तुम तो बोनस में मिल गईं. पहला रस गिरने के ठीक 9 महीने के बाद उनको लड़का भी हुआ, जो निश्चित ही मेरा था.

मैं उसे तड़पा तड़पा कर उस चरम बिंदु तक ले जाना चाहता था, जहाँ पर लंड डालने पर उसे सेक्स का असली मज़ा आए. मैंने काफी समय तक नीला की घुंडियों को चूसा था लेकिन मैं उनमें से दूध की एक बूंद भी पी नहीं पाया था.

मैंने उस प्यार से बोला- जी कहिए?वो बोली- क्या आपका ही नाम मनीष है?मैं- हां, बोलो.

मुझे नहीं पता कि वो अभी तक सील पैक थी या नहीं, उसके दर्द से लग रहा था कि जैसे पहली बार चुद रही हो लेकिन उसकी चूत से कोई खून नहीं निकला था और उसकी हरकतें भी चुदी चुदाई लड़कियों जैसी ही थी. नया सेक्सी नया सेक्सी वीडियोहमेशा की तरह मन भर कर इस पोज़ में चुदाई करने के पश्चात आर्थर ने नताशा को थोड़ा आराम दिया, सच पूछो तो आराम नहीं सिर्फ दो चार साँस लेने भर की मोहलत!उसने मेरी फूल जैसी परी को फिर से कुतिया बना कर उसके चौपायों पर खड़ा कर दिया और अपनी पहले दो, फिर तीन उँगलियाँ उसकी गांड में घुसेड़ दीं. सेक्सी ओपन फुल सेक्सीदीदी- अच्छा प्रीति, एक मिनट रुक…कहकर दीदी फ्रिज खोल कर उसमें से पानी निकाल कर लाईं और पीने लगीं. सुबह आँख खुली तो हम टेबल पर पड़े थे और उनकी चूत से मेरा वीर्य निकल रहा था.

मजे की बात ये है कि लड़की जोर जोर से उछल उछल कर मेरे लंड को अपनी चूत में घुसवाती है.

विवेक ने कामिनी को पलटा दिया और उसकी गोरी गोरी पीठ पर नाक रगड़ने लगा. उसका लंड बिल्कुल छोटा सा था तो मैं तुरंत भाग कर रूम में भाग गई ताकि मेरे बारे में ये न सोचे कि मैं चुदना चाहती हूँ. मेरी साली को भी इस हरकत का मजा आया और उसने उसका सर पकड़ कर अपनी ब्रा पर दबा दिया.

”तो अपने काम के पैसे ले लेना।”पैसों के लिए मैं ये सब नहीं करता।”तो आप बताओ कि आप क्या चाहते हो?”अगर मैं मना करूँ तो?”मुझे आप पर भरोसा और पूरी उम्मीद है. उस रात राहुल की मुझसे फोन पर बात हुई तो मैंने उसको बताया कि नानी की तबियत खराब होने के कारण मम्मी पापा उधर गए हैं और उनको आने में कुछ दिन लग सकते हैं. तभी वो बोली– यार ज़रा मेरे निप्पल चूसो ना!मैंने उसका एक निप्पल मुख में लिया और चूसने लगा, दूसरी चुची को मैंने हाथ में दबोच लिया और से जोर जोर से मसलने लगा.

हिंदी में चुदाई की कहानी

फिर मयूर शनिवार की रात मुझे अपनी बाइक पर बिठा लाया और कानूनगो साहब के बंगले पर छोड़कर वो चला गया. मैं उनकी बातों को अनसुना करते हुए बहुत तेज़ी से लंड को अन्दर बाहर कर रहा था. इत्तफाक देखिए, 2 दिन बाद मैंने फिर से उसे देखा, आज भी सेम वही ड्रेस पहने थी.

तो मैं ब्लेंक रिकॉर्डिंग फ़ास्ट फॉरवर्ड करके देखने लगा… तभी अचानक कैमरे में कुछ ऐसी रिकॉर्डिंग मुझे नज़र आई, जिसको देख कर मैं अपने पर काबू न कर सका और दोबारा मुठ मारने पर मजबूर हो गया.

उस वक़्त हमारे घर में काम करने एक काम वाली आती थी, वो काफ़ी चालू थी.

उसके साथ और भी कई मैडम थीं, वो सब एक प्राइवेट गर्ल्स होस्टल में रहती थीं, जो मुझे काफी पसन्द करती थीं. मैंने उस ऑटो के पीछे बाइक लगा कर आवाज ही देने वाला था कि मुझको वही बड़ी गाड़ी आगे खड़ी दिख गई, पता नहीं क्या हुआ, मैं भी दो मिनट के लिए रुका. अच्छा नया सेक्सी वीडियोतभी चाची बोलीं- हार्दिक मुझे पता है कि तू मुझे किस नज़र से देखता है और ये सब बिल्कुल सही नहीं है.

मैं उसकी चूत चूसने लगा और उसके मुँह में मैंने फिर से अपना लंड डाला. मैं कभी उसकी चुत को ज़ुबान से चोदता, तो कभी उसके क्लाइटॉरिस को दांतों से काट लेता. जब वो मुंह आगे पीछे करती तो उसके महा उत्तेजक मम्मे भी फ़डक फ़डक कर इधर उधर हिलते डुलते और मेरे मज़े को सैंकड़ों गुणा बढ़ा देते.

जब वो झड़ने से बच गया तो नताशा ने जल्दी से सबसे इम्पोर्टेन्ट ऑर्गन को अपने मुंह में भर लिया, और किसी चोकलेट कि तरह उसे चाटने लगी. मीषा थोड़ा मायूस होकर बोली- पर मंडे को तो मेरे एग्जाम स्टार्ट हो रहे हैं.

मेरी वाइफ भी मस्त गांड उठा उठा कर चुदवा रही थी और मुँह से आवाज़ निकल रही थी ‘और तेज़ आहआआ ऊऊऊओह मैं गई.

बहूरानी के लंड चूसने चाटने का तरीका भी कमाल का था… खूब चटखारे ले ले कर, अपनेपन और पूरे समर्पण भाव से बिना किसी हिचकिचाहट के लंड पर अपना प्यार उड़ेलती और उसके यूं लंड को पुचकारने चूमने से निकलती, पुच पुच की आवाज मुझे मस्त करने लगी. अब मुझे थोड़ा सा अच्छा लगने लगा और मैंने विनय को बोल दिया- अब ठीक लग रहा है विनय. वो मुझे देखकर मुस्कुराने लगा तो मैंने भी उसे मुस्कुराते हुए उसके गाल पर एक हल्की सी चपत जड़ दी.

नई सेक्सी डाउनलोड अब पारुल ने अपनी जीन्स और पैन्टी भी उतार दी और मैंने उसकी ब्रा के का हुक खोल दिये. उधर अब्बू का लन्ड अम्मी के मुंह में था और वो लपलप कर के लन्ड को चूसे जा रही थी.

अगली सेक्स स्टोरी बहुत ही जल्द बताऊंगी क्योंकि वो नए वाचमैन को मेरे बारे में बता गया था. उसने मेरा हाथ पकड़ कर अपने ऊपर खींच लिया और अपने हाथ मेरे अंडरवियर में घुसा कर मेरे लंड को हिलाने लगी. मैंने गोलू को प्यार से समझाया कि तुम पर कोई नहीं हँसेगा और कोई हँसा तो मैं उसे सजा दूंगा.

नर्स की चुदाई सेक्सी वीडियो

मां की चिल्लपों सुन कर रमेश अंकल के दूसरे दोस्त ने अपना लंड मेरी मां के खुले मुँह में डाल दिया. तभी बालू बोले- ऐसी भी क्या जिद है? चलो देखता हूं, कैसे अभी रह पाओगी बिना मेरा लोड़ा घुसवाये!मैं बोली- देख लो, आजमा लो, पागल तो मुझे कर ही दिया है!उसी समय फिर एक हाथ से मेरे नंगे बूब्स दबाने लगे, एक हाथ से चूत में अपनी उंगली डाल दी, बालू को मुझे तड़पाने में बहुत मजा आ रहा था. उनके मुँह से लगातार ‘आहह्ह्ह आहह ऊह्ह्ह आऔऊ आहह्ह…’ की आवाजें आ रही थीं.

मैंने उनसे पूछा- आप क्यों परेशान कर रही थी मेरे दोस्त को… आपकी भी नई नई शादी हुई है, भैया जो आपको परेशान करते हैं, उसका बदला निकल रही हो?तो वो बोली- पागल… मेरी शादी को 14 साल हो गये और मेरे दो बेटे हैं. उन गीली उंगलियों को ले जाकर दीदी ने अपनी चुत में घुसा दिया और दीदी के मुँह से आह… की कराह निकल गई.

उसने कमरे की लाइट जलाई और बोली- राहुल राहुल!मैं कुछ नहीं बोला, वो वापस कमरे में चली गई.

आह चोद और सुन, आज का पूरा दिन और पूरी रात हम दोनों को नंगा ही रहना है. इस वक्त मां की चूत एकदम रसीली हो रही थी क्योंकि रमेश अंकल के दोस्त के लंड से चुदने के कारण मां की चूत ने मलाई छोड़ दी थी. नवीन- आह मालकिन कहीं बच्चा होइ गवा तो?मॉम मुस्कुराते हुए बोलीं- तू उसकी चिंता मत कर नवीन.

मुझे आज भी याद है उसने सबसे पहली फ़ोटो लाल ब्रा में भेजी थी, जिसमें वो बहुत सेक्सी लग रही थी. उसका 34-28-36 का फिगर, जो मुझे बाद में पता चला, इतना दिलकश था जो अच्छे अच्छों का मन विचलित कर दे. वो सोच रही थी कि ‘क्या करेगा यह?’ संजाना को पता सब कुछ था लेकिन फिर भी खुद के मन को समझाने के लिए खुद से अनजान बन रही थी.

साले ने मेरे मम्मों को देख लिया था, इसलिए वो अपने लंड का पानी हाथ से निकालने लग गया.

ब्लू सेक्स बीएफ पिक्चर: उसकी इस हरकत से न जाने क्यों मुझे नीला का स्पर्श अच्छा लगने लगा था. मैं उसे चूमता हुआ अपने कमरे में लेकर गया और उसे बिस्तर पर लिटा कर पागलों की तरह चूमने लगा.

मैं अपने हाथ पीछे ले गया और हाथ के बल बैठ गया और वो मेरे घुटनों पे हाथ टिका कर बैठ गई और जोर जोर से आगे पीछे होने लगीं. शाम को वो बोली कि जरा आज मेरे साथ चलना, तुम्हें कुछ नहीं होगा, यह मेरी गारंटी है. मैंने आव देखा ना ताव, अपने मुँह से उसके एक चूचे को भर लिया और ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा.

मैं समझ गया कि ये लड़की चुदवाने के विचार में है, मैंने कहा- मैं कोई चीज उधार नहीं रखता.

योनि व भगनासारोशनी तुम चाहो तो मेरे रूम का अटैच बाथरूम यूज कर सकती हो, अन्दर बड़ा सा मिरर भी है. ओके!मैंने होली के तीसरे दिन यानि कि सन्डे का तय कर लिया और बेसब्री से उस दिन का इंतज़ार करने लगा. मेरी एक खासियत ये भी है कि मैंने अब तक जितनी चुतों को अपने लंड का मजा दिया है, उन सभी की गोपनीयता भी बना कर रखी है.