इंडियन बीएफ सेक्स ओपन

छवि स्रोत,फोटो फोटो बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

साड़ी की बीएफ: इंडियन बीएफ सेक्स ओपन, मैंने झड़ता लौड़ा उसके मुंह से निकाला तो दूसरी धार उसके मम्मों पे गिरी.

देहाती बीएफ हिंदी सेक्सी

मैंने- मैं तो रियल हूँ … आप अपनी झिझक संकोच छोड़ो और मुझे ये बताओ कि आना कहां है. सेक्सी बीएफ इंग्लिश पिक्चर सेक्सी बीएफगिरने से मेरे हाथ में थोड़ी चोट लग गयी थी, जिसमें से हल्का सा‌ खून निकल आया था.

दो मिनट बाद अनीता ने उसे खींच कर हटा दिया और मुझे बांहों में जकड़ लिया. बाप बेटी की सेक्सी चुदाई बीएफदूध पिलाते हुए भाबी ने कहा- अब दूध ही पियोगे या आगे भी कुछ करोगे?मैंने भाबी से कहा- आप मार्गदर्शन कीजिए.

अब मैंने नीरू की गांड का छेद चौड़ा किया और अपनी जैल लगी उंगली जैसे ही उसकी गांड में डाली.इंडियन बीएफ सेक्स ओपन: और उसने भी अपना सारा पानी मेरी चूत में ही निकाल दिया। मेरी चूत और मेरी जांघें हमारे पानी से एकदम सन गई थी।फिर उसने मुझे नीचे बैठने का इशारा किया और मैं नीचे बैठ गई।तो फिर उसने मुझे अपने लंड चूसने को कहा मैं अपने दोनों हाथों से पकड़ कर उसके लौड़े को चूसने लगी.

दोनों झड़ने के बाद कुछ देर उसी अवस्था में एक दूसरे को चूमते चूसते हुए ऐसे कुत्ते और कुतिया की तरह हाँफ रहे थे जैसे मीलों की दौड़ लगा कर आए हैं दोनों!फिर सुमन जैसे शिकायत सी करते हुए उसके कान में बोली- यार, तुमने तो थका दिया और माल भी भीतर गिरा दिया … कहीं रह गया तो मैं ही परेशान होऊँगी … हटो अब!पंकज मुस्कराते और हाँफते हुए सुमन के ऊपर से हटा तो एक अलग ही नजारा सामने था.उसने अपने दोनों पांव से पांव लपेट कर अपने जिस्म को मेरी छाती से रगड़ा और मेरे कंधे के पीछे हाथ डाल कर लिपट गई.

सेक्स बीएफ वीडियो फुल एचडी - इंडियन बीएफ सेक्स ओपन

मैंने उनको बताया कि मैं अपना रिजर्वेशन करवा कर आपको सूचित करता हूँ.मेरे वीर्य की हर एक बूंद उसकी चुत में समा गयी और मैं उसके मम्मों को मसलते हुए निढाल हो गया.

वो आज़ादी के लिए फड़फड़ा रहा था और कह रहा था कि इस कामुक मिलन का साक्षी मुझे भी बना लो. इंडियन बीएफ सेक्स ओपन मैंने एक महीने तक तो बिल्कुल बात ही नहीं करी।रोहित मेरी दीदी के फोन पर कालॅ करता और मेरे लिए पूछता या अगर मेरा फोन खुला होता तो मेरे फोन पर काल करता।उसके बाद रोहित ने मुझे चोदने की बहुत कोशिश की बहुत बार मिलने के लिए बुलाता रहा लेकिन मैंने फिर उसे अपनी चूत नहीं दी।मेरी कभी कभी बात हो जाती.

विवेक ने सारा सीन देख लिया और मुझसे बोला- हमें अपना रास्ता मिल गया है, ये शिवम साला बहुत शरीफ बनता है लेकिन मेरी बहन पर हाथ साफ कर रहा है.

इंडियन बीएफ सेक्स ओपन?

पिंकी ने सुझाव दिया कि चलो सब लोग डांस करेंगे … और इस बार लाईट ऑन रहेगी. मैं बोला- तो फिर आप क्या सोच रही हो?मैंने वो मेरे करीब आयी और मेरे सीने से लगकर नीचे हाथ ले गयी. वो आंखें नचाते हुए मेरी तरफ देखने लगी, तो मैं उसके गाल खींच कर एक चिकोटी ले ली और कहा- ऐसे क्या देख रही हो … जल्दी से मुँह में ले लो.

कुछ दिन बात करने के बाद मैंने आखिर हिम्मत करके उसे पूछ ही लिया कि क्या वो मेरी गर्लफ्रैंड बनेगी?वो कहने लगी कि उसको सोचने के लिए वक्त चाहिए. मैंने उसके लंड को जोर से दबा दिया और उसकी गोलियों को जोर से लात मार दी. मैं चुदाई के समय अपने दोस्तों की बात करता और बताता कि रमेश का 7 इंच का मस्त मोटा नुकीला लंड है.

चुदी चुदाई की चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि लॉकडाउन में मेरा वजन बहुत बढ़ गया. वो- इतनी जल्दी? अभी तो सात ही बजे हैं?मैं- हां, वो होटल से नाश्ता भी करना है न!वो- वैसे मैं भी नाश्ता करने जा रही थी, तुम चाहो तो तुम भी यहां नाश्ता कर सकते हो. वो दर्द और मजे के मारे अपने मुख से कामुक आवाज़ निकालने लगी और ज़ोर ज़ोर से कहने लगी- चोदो मेरे राजा … और ज़ोर से … बुझा दो आज मेरी प्यास!करीब पन्द्रह मिनट तक मैं उसको चोदता रहा … और फिर हम दोनों साथ में झड़ गए … मैंने उसकी चुत में ही अपना सारा पानी छोड़ दिया था.

कहां से स्टार्ट करूं कैसे कहूं, क्या आप मुझे अपना फोन नंबर दे सकते हैं. फिर अभिषेक ने मुझे अपनी गोद में उठा लिया और मुझे आगे पीछे करके खड़े खड़े चोदने लगा.

जीजा साली की सेक्सी कहानी वहीं पर फिर से शुरू हो गई लेकिन अभी मेरे मन में भाई को लेकर डर भी था.

मैं उसकी हालत नहीं देख पा रहा था लेकिन हवस ऐसी थी कि बस चोद देने का मन कर रहा था.

अब आगे पढ़ें कि कैसे मैंने मैरिड गर्लफ्रेंड की गांड मारी:मैं बोला- देखो जानम, थोड़ा तो दर्द होगा ही … और जब ये जैल तुम्हारी गांड में लगाऊंगा, तो तुम्हें उतना ही दर्द होगा … जितना पहली चुदाई में तुम्हारी चूत की सील टूटने में हुआ था. पापा दीदी से बोले- तुम लोगों के एग्जाम कब तक हैं?दीदी- दो दिन बाद हैं. सुडौलता और सुंदरता की धनी, रूप लावण्य का रस छलकाती हुई उसकी बांहों में सिमटी मेरी जवानी उसकी कामकला के प्रदर्शन की प्रतीक्षा करने लगी.

मुझे घर पहुंचने से ज्यादा दूसरे दिन का इंतजार रहता ताकि मैं डॉक्टर से मिल सकूं. संजू ने वीर्य को तौलिये से पौंछा और विक्रम के लंड को अपने मुँह से लगाकर उसका बचा हुआ सारा वीर्य चाट गई. मैं प्रीति के होंठों को चबा रहा था और प्रीति के निप्पल को अपने मजबूत हाथों से नोंच रहा था.

पहले धीरे धीरे गांड में डालना, थोड़ी देर रूकना … गांड लंड को एडजस्ट कर ले, फिर धीरे धीरे झटके देना और फिर मेरे से पूछ कर अपने गांड फाड़ू झटके वाह जी वाह.

यहीं से मैंने मैट्रिक इन्टर बारहवीं तक पढ़ाई की और गांड मराई का भी खूब मजा लिया. उनका नंगा बदन जब मेरे नंगे बदन से टकराया तो मेरी चिकनी चूत लबलबा गई, पूरे जिस्म में बिजली दौड़ गई।उनका सख्त हाथ मेरी चिकनी पीठ को सहलाने लगा और मेरे दूध उनके सीने से चिपक गए. सुगंधा भाभी- यार मेरी बात का बुरा मत मानो … समझो अभी हम दोनों बस में है और आसपास लोगों को पता चल सकता है … और ऊपर से प्रोटेक्शन के बिना!मैं- पूरी बस में आपको कोई नहीं जानता, तो आप चिंता मत करो.

फिर वही चाय वाले रघु ने अपना लंड मेरी चुत पर टिकाया और एक ही झटके में अन्दर पेल दिया. वहीं दूसरी ओर मेरा शादी के बंधन में बंधा होना और पतिव्रता होने का धर्म. मैं- वैसे वो सेल्सगर्ल भी मुझे और हमें गर्लफ्रेंड ब्वाय फ्रेंड ही समझ रही थी.

दरवाजा खुला, लाल रंग की साड़ी पहने बिना बाजू और गहरे गले व कमर पर पट्टी वाले ब्लाउज़ में पूजा का सफेद जिस्म ऐसा दमक रहा था कि मानो बिजली के गुल हो जाने पर भी बिजली की भी जरूरत महसूस न हो.

दो धधकते जिस्मों के बीच वासना और उत्तेजना के द्वन्द की शुरुवात हो चुकी थी. तभी थोड़ी देर बाद ही मिष्टि आंटी घर पर आईं और मॉम और आंटी तैयार होकर पार्टी में जाने लगीं.

इंडियन बीएफ सेक्स ओपन क्या सॉफ्ट और बड़े बड़े मम्मे थे उसके … मजा आ गया था मुझे तो!फिर मुझे उसने अलग किया और कहा- अब मम्मी आती ही होगी, तुम अब जाओ. मैंने सपने में भी नहीं सोचा था कि भाभी का इतना मस्त माल मेरे सामने खुला पड़ा होगा.

इंडियन बीएफ सेक्स ओपन रामू ने भाभी की नंगी गोरी बिना बालों वाली चुत पर अपने होंठ लगा दिए. एक दिन अचानक वो कहने लगी- भैया मुझे नकली लगाकर देखना है कि कैसा लगता है?मैंने उसकी तरफ हैरानी से देखा.

इसलिए उस मूवी से मैं अब इतना प्रभावित हो गया कि मैं खुद को इमरान हाशमी और शायरा को मल्लिका शेरावत समझ‌ने लगा.

बीएफ पिक्चर बीएफ हिंदी में बीएफ

ऐसे ही हम कई बार मिले मगर हर बार बस किस करना और मम्में दबाना ही हुआ. इस घटना को पहले प्रकाशित करना के बजाए मैं आपको पिछली सेक्स कहानी के भाग भेजने के बाद ही कोविड वार्ड में हार्डकोर सेक्स चुदाई की कहानी को लिख कर भेजूंगा. जिसकी मुझे कोई परवाह नहीं थी … क्योंकि मम्मों का असली मालिक सिंगापुर में था और मेरी चूचियां और चुत किसी और से अपना इलाज करवा रही थीं.

सुगंधा भाभी मुस्कराते हुए बोलीं- ऐसा क्या!मैं- हां भाभी मैं सच कह रहा हूँ. आह्ह … चोदो राज … आह्ह।बॉस की बीवी की चुदाई चलते हुए काफी देर हो चुकी थी. मैंने गांड में घी लगाकर खूब चाटा और फिर अपने लंड को लगाकर फिर से अन्दर घुसा दिया.

मैंने पहले तो शायरा की नाभि पर किस करके उसके बदन में गुदगुदी पैदा की ताकि चूत पर जाते ही उसका मूड खिल जाए.

प्रीति दर्द से कहने लगी- क्या हुआ?मैंने कहा- झड़ने के बाद भी लंड बाहर नहीं निकल रहा है. फिर उन्होंने पूछा- अगर कोई होती तो?मैंने कहा- अभी मैंने गर्लफ्रेंड के बारे में नहीं सोचा … क्योंकि सैटल नहीं हुआ हूँ. फाइनली हम दोनों इस नयी जगह पर सैट हो गए और मैंने अपनी जिंदगी नयी तरह से शुरू की.

साली जब से बड़ी हुई है, तब से जीना खराब कर रखा इसने … आज पूरी कसर निकालूंगा. फिर चाची अपने बदन पर साबुन लगाने लगीं और जिस्म को रगड़ रगड़ कर मसल रही थीं. अब मुझे सारी बात समझ में आ गयी कि रात को मेरे कपड़ों पर वो दाग कैसे आते थे.

उसके बाद मैंने कई बार मौक़ा पाते ही अपनी भाभी को दिन में और रात में चोदा. अपने नौकर रामू के लंड का गुलाबी सुपारा देख कर आरिषा भाभी की आंखों में चमक आ गई और वो अपनी कातिलाना नज़रों से रामू की तरफ देखने लगीं.

अब जैसे एक लड़का और लड़की दोस्त नहीं हो सकते, उसी प्रकार जवान भाबी और देवर एक साथ सो जाएं और कोई कांड न हो, ऐसा हो नहीं सकता है. आप का इतना मोटा और लम्बा लन्ड देख कर ना … मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया. अगली सुबह जब मेरा नशा उतरा तो मुझे उसके सामने ऐसे खुद को नंगा पाकर शर्म आने लगी.

कुछ ही पलों में उसका दर्द मजा में बदल गया और वो मस्ती भरी आवाजें निकालने लगीं.

फ्री इंडियन Xxx कहानी में पढ़ें कि स्लीपर बस में मुंबई से अमदाबाद जाते समय मेरी बदल में एक हसीन भाभी आयी. उधर वो दुकान वाली मैडम यानि रिचा मुझे बड़े गौर से देख रही थी, जिसका अहसास मुझे भी हो रहा था. हालांकि मैंने कभी वैसे मैसेज उसको नहीं भेजे, पर उसके भेजे ऐसे मैसेज को एंजॉय जरूर करने लगी थी.

मल्लिका शेरावत अब लेटी हुई थी और इमरान हाशमी उसकी जांघों को हाथों से सहला रहा था. उसने पैन को गैस पर रखा तो मैंने बिन्नी को गैस के स्लैब पर ही झुका लिया और पीछे से लौड़ा उसकी चूत में लगा कर उसकी जांघों को दोनों हाथों से पकड़ा और जोर लगाते हुए लौड़ा अंदर घुसेड़ दिया.

मैं बोली- तुम दोनों कहां चले? बीयर नहीं पीनी है क्या मेरे साथ तुम्हें?ये कहते हुए मैंने उन दोनों के सामने अपनी जांघें खोल दीं. कुछ देर बाद मैंने भाभी की टांगों को जबरदस्ती अपने कंधों पर ले लिया और एक जोरदार प्रहार की चूत की जड़ तक कर दिया. विक्रम न आव देखा ना ताव, बस झट से उसकी चूत में अपना मुँह सटा दिया और उसकी चूत के नमकीन पानी को पीने लगा.

बीएफ चुदाई करने वाली वीडियो

मैंने कहा- क्या करते हैं?वो बोली- सेक्स।अभी मैं उसको लंड देने के मूड में नहीं था.

आरिषा भाभी अपने नौकर का लंड देख कर बोलीं- रामू प्लीज़ बहुत आराम से करना … तुम्हारा बहुत बड़ा है. कुछ देर तक उसके हाथ की कोमलता को झेलने के बाद मेरा नियंत्रण छूट गया और मैं अपनी चड्डी में ही स्खलित हो गया. उसकी आंखें एक मीठे दर्द से बन्द हो गई थीं और मुँह से हल्की सी आवाज निकली- आह मर गई मम्मी रे.

प्रियंका जब अनामिका की टी-शर्ट नहीं उतार सकी, तो उसने उसका लोअर नीचे खींच दिया. वे बोले- भाई साहब … मेरा कितना भी बड़ा हो, पर अपना लंड खुद अपनी गांड में तो नहीं डाल सकता न!इस पर हम दोनों हंसने लगे. सेक्सी बीएफ नीग्रोवो भी अगर तुम कहोगी तो! अगर मन नहीं करे तो किस भी मत करना, इससे आगे कुछ नहीं करेंगे।फिर रोहित ने अपनी मामा की लड़की से मेरी बात करवाई जो उसके साथ ही थी.

फिर थोड़ी देर चाची ने बाथरूम की दीवार से खुद को टिकाया और अपनी टांगें ऊपर उठा लीं. जैसा हुआ बस मैंने वही लिख दिया।आप लोगों को मेरी यह देसी होली सेक्स कहानी कैसी लगी मुझे ईमेल करके बताएं।[emailprotected].

तो वो खुशी खुशी तैयार हो गई और मैं उस मसाजर प्रिंस के साथ अपनी फेंटेंसी पूरी करने की योजना बनाने लगा. वो कौतूहल से पूछने लगी- तो इतना बड़ा छोटे से छेद में कैसे जाता होगा!मैं- जब किसी के साथ सेक्स करोगी, तो सब पता लग जाएगा. वो समझ गया कि पिंकी तुक्का मार रही है क्योंकि उसके साथ शबनम तो थी ही नहीं.

मगर अभी भी मन को समझा नहीं पा रही थी कि अपने पति की दिलदारी की तारीफ करूं या अपनी हिम्मत की जो मैं प्रीत से चुदने के लिए तैयार हो गयी?किसी गैर मर्द के साथ वह मेरी पहली चुदाई थी. मैं- ज़ारा भरोसा रखो! ऐसा कभी कुछ नहीं होगा!ज़ारा- आप मेरे साथ सुहागरात मनायेंगे?मैं- हां जान!ज़ारा- मेरा सपना …मैं- अब सच होने वाला है!ज़ारा- होने वाला है! मतलब आज नहीं?मैं- नहीं!ज़ारा- फिर कब?मैं- सुहागरात! तुम्हारे लिये बर्थडे गिफ्ट होगी!कहते हुए मैंने उसे वो नथ और मांग-टीका भी दिया. अब आगे:शायरा की चुत पर प्यार की एक छोटी सी किस्सी लेकर मैं उसके पैरों के बीच में बैठ गया और अपने लंड को चूत के मुँह पर सैट कर लिया.

मेरे ख्याल से आप सब दोस्त ये सोच रहें होंगे कि मुझे फ्री की चूत नीतू की मिली होगी.

उसने मेरी सेक्स स्टोरी के बारे में पूछा कि ये सेक्स स्टोरी रियल है या फेक है. अब मैंने नीरू की गांड का छेद चौड़ा किया और अपनी जैल लगी उंगली जैसे ही उसकी गांड में डाली.

उसके बाद मैंने उसको लंड चूसने के लिए कहा तो वो मेरे लंड को चूसने लगी. बहुत अकेली थी वो, उसका अकेलापन देखकर मेरे दिमाग़ में सेक्स का कीड़ा कभी आता ही नहीं था. वो मेरे लंड को गप से मुँह में लेकर चुसकने लगी और मैं उसकी चुत को चाटने लगा.

उसकी तो जैसे मन की मुराद पूरी हो गई थी, वो तुरंत बोला- बस मैं कुछ ही देर में आ रहा हूँ।और ठीक 10 बजे वो आ गया। वो एक शराब की बोतल भी साथ लाया था।पूजा उसे देख बहुत शर्मा रही थी. सुनील ने बनावटी गुस्सा दिखाते हुए कहा- दीपा, अगर भाईसाहब बनाना है तो मैं चला. उनके इतना कहने की देर थी, मैंने उनके होंठों को अपने होंठों में दबा लिया और एक लम्बी किस देने के बाद धीरे धीरे उनके सारे अंगों को चूमता चाटता नीचे की तरफ बढ़ने लगा.

इंडियन बीएफ सेक्स ओपन प्रियंका ने उसे पैंटी पहने हुए देखा, तो बोली- अरे साआआली … तूने पैंटी कब पहन ली. लाल ब्रा में उनकी भरी हुयी चूची देखकर मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा था.

बीएफ नंगी वाली फिल्म

मैं- अभी आपका मन है या नहीं?सुगंधा भाभी- मुझे डर लग रहा है किसी को पता चल जाएगा इसलिए!मुझे पता था कि सुगंधा भाभी बातों से अब मानेंगी नहीं, इसलिए मैं बिना कुछ बोले उनके होंठों को चूमने लगा. इसके बाद किसी कामवाली को आवाज आई, तो वो कप प्लेट उठा कर बाहर चली गई. मैं समझ गया कि सीमा भाभी झड़ चुकी हैं,पर मेरा अभी बाक़ी था।मेरे धक्के और दस मिनट चले.

मैंने धीरे से आंख खोलकर देखा तो मनीष चुपके से मेरे रूम का दरवाजा बंद कर रहा था. मुझे ऊपर तो मजा आ रहा था लेकिन नीचे चूत में ऐसा लग रहा था जैसे कोई छील रहा है. लोडिंग बीएफये तो आप लोगों को पता ही होगा कि पहला प्यार और जवानी का क्या नशा होता है.

रोज रोज अन्तर्वासना पर कहानी पढ़कर मेरी भी वासना बढ़ गयी जिसके कारण मुझे भी अपनी कहानी लिखने की इच्छा हुई.

कुछ ही देर में मेरी कामुकता जोर पकड़ने लगी और सुगंधा भाभी के सेक्सी फिगर को देखकर मेरा लंड खड़ा होने लगा था. ये मुंबई में रहती है और चुदाई में अपनी मां से दो नहीं चार कदम आगे है.

वो अपने होंठों को गोल करते हुए बोली- ऊऊऊ साहब जी, ये तो मेरी चूत की धज्जियां उड़ा देगा. ज़ारा कहां पीछे रहने वाली थी उसने तो सीधे ट्रांसफार्मर पर हमला कर दिया. अब मैं सटासट सटासट लंड अंदर बाहर करने लगा।थोड़ी देर में कमरा चुदाई की आवाजों से गूंज उठा।वो सिसकारते हुए बोली- आह्ह … राज चोदो मुझे … आहहह … चोदो … चोदो राजा … और तेज़ … फाड़ दे मेरी … आह्ह।मैं जोश में आ गया और लन्ड के तेज़ तेज़ झटके मारने लगा। अब मैंने उसे घोड़ी बनाया और पीछे से पकड़कर झटके मारने लगा.

अपनी एक उंगली पर मैंने लोशन लगाया और थोड़ा उसकी चूत पर लगा दिया और एक उंगली उसकी चूत में डाल दी.

उसे देख कर हालांकि उस वक्त तो मुझे कुछ ऐसा ख्याल नहीं आया, पर जब मैंने देखा वह अपने हाथ से अपने मम्मों में तेल लगाकर उनको दबाते हुए मालिश करने लगी. सुनील ने तो उसे देखते ही जोर से आहें भरी, बोला- ओह माई डार्लिंग … तुम पहले बता देतीं कि तुम इतनी सेक्सी हो तो में शाम को ही तुम्हें पटा लेता और भगा ले जाता. सील टूटते ही सरनी एकदम से छटपटाने लगी, उसके मुँह से तेज चिल्लाने की आवाज निकलने को हो रही थी, मगर मुझे पहले से ही मालूम था, इसलिए मैंने उसके होंठों को अपने होंठों से दबा रखा था.

बीएफ स्किनर थ्योरीवक़्त की नजाकत को देखकर हम दोनों फटाफट तैयार हुए और अपनी अपनी बेटियों की स्कूल से पिकअप करने एक के पीछे एक घर से निकल गए. मुझे उनके सामने खड़े होने में भी शर्म‌ आ रही थी, इसलिए मैं अब वहां खड़ा नहीं हुआ बल्कि वहां से पैदल‌ ही चलकर कॉलेज आ गया.

मेहरारू वाला बीएफ

मैं भी जोश में आ गया और उसके एक स्तन को उसकी ब्रा के ऊपर से ही अपने मुँह में दबोचकर उस पर अपने दांत गड़ा दिए. सोफिया की चूत से मैंने लंड बाहर निकाला और कॉन्डम खोलकर लंड पर चढ़ा दिया और फिर मैंने सोफिया की चूत में अपना लन्ड लगा दिया. सुबह मेरे जन्मदिन के दिन वो मेरे किराए वाले रूम में मुझसे मिलने आयी.

मैं अपनी साली को और अपने साढ़ू की बॉडी को सकुशल इंडिया लेकर आना चाहता था. ”हूँ! आज क्या पढ़ाया मैडम ने?” पढ़ाई करते समय गौरी मधुर को मैडम ही बोलती है तो मैंने भी मधुर के लिए मैडम ही बोला था।आज तो मैडम ने मैथ्स पढ़ाया. मगर दो बेडरूम का फ्लैट चाहिए क्योंकि कभी ना कभी कोई रिश्तेदार या पेरेंट्स आएंगे ही इसलिए इतना तो चाहिए ही होगा.

चूंकि इस समय ठंड का मौसम था, तो मैं छत पर धूप सेंकने के लिए गया था. मैंने भी अपना मुँह खोलकर उसके लंड की अमृत बूंदों को ग्रहण करने का मन बना लिया. मैंने कहा- मामी अपनी गांड में वैसे जोर लगाओ … जैसे सुबह हगने जाती हो.

तभी अंशिका बोली- जीजू, आप भी नंगे हो जाओ न!मैंने कहा- अरे मेरी रानियो, तुम किस लिए हो? कर देना मुझे नंगा बेबी!सभी हंसने लगे. रंगोली की सीलपैक चुत की चुदाई की कहानी को अगले भाग में लिखूंगा, आप मुझे मेल करना न भूलें.

सास ने भी मनुहार करके रुकने के लिए कहा … तो मेरी बीवी भी कहने लगी- हां आज रुक जाओ, कल चले जाना.

उसके बाद जब कामवाली काम खत्म करके चली गयी तो मैं भी उसके होंठों पर किस करके वहां से आ गया. गधे वाली बीएफवह दरवाजा बंद करके मेरे गले से लग गईं और फिर मुझे लंबी लंबी किस करने लगीं. बीएफ xx comजो शीना की दिल की बात थी, उसकी ख्वाहिश थी मेरे लण्ड से चुदवाने की … वह तो अब बहुत ही अच्छे से पूरी हो रही थी और मेरे तो हर तरह से मजे ही मजे थे. सच बताऊं तो मेरा मन कर गया कि भाई मेरी चूत को पैंटी के अंदर हाथ देकर सहलाये.

मैंने गर्दन हिलाते हुए मना कर दिया तो वह बोला- मेरी जान चूसो ना! आज पहली बार तो तुम अकेली मिली हो.

इत्तेफाक से मर्डर मूवी चल रही थी। उसमें हॉट सीन चल रहा था तो मैंने चेंज कर दिया. फिर कमरे के अन्दर ले जाकर मुझे कपड़े उतारकर बेड पर लेटने के लिए बोला. लेकिन फिर उसने बोला- अब तो तुम्हारी दीदी ने भी हम दोनों की शादी कराने के लिए कह दिया है।इसी बात को देखते हुए मैंने भी हाँ कर दी और उसके ‘आई लव यू’ को स्वीकार कर लिया।मैं अपने घर वापस आ गयी थी.

मैंने लण्ड को धीरे धीरे अन्दर बाहर करना शुरू किया तो रेखा ने मेरे हाथ पकड़कर अपनी चूचियों पर रख दिये. मैंने उससे पूछा- तुम्हें मजा आ रहा है बेबी इसमें? (मैंने फोन में रिकॉर्डिंग चलाई थी)अब मैंने उसके मुंह पर डक्ट टेप लगा दी और अब वो पूरी तरह से मेरी गिरफ्त में था. मैं अपनी सास की चूचियां देख कर मदहोश हो गया था और बस उनके दूध देखता ही रह गया.

बीएफ सेक्सी हिंदी में एचडी में

दोनों के कपड़े फिर उतर गए और आज बरसों बाद पिंकी ने रवि के साथ मन भर कर सेक्स किया. नमस्कार दोस्तो, मैं राजवीर एक बार फिर आपके सामने हाजिर हूँ अपनी सेक्सी कहानी का दूसरा भाग लेकर!अभी तक आपने जो कहानी पढ़ी, वो अमित ने लिखी थी, अब आगे की कहानी आप मुझसे यानि राजवीर से सुनेंगे. शायरा को अब गुस्सा आ गया- तुम पागल …इससे पहले शायरा कुछ कहती, मैं बीच में ही बोल पड़ा- इसमें गुस्सा होने वाली क्या बात है.

वो अब मेरे होंठों को चूसते और काटते हुए अपने नाख़ून मेरी पीठ में चुभो रही थी, तो मैं शायरा के बालों को पकड़कर उसके होंठों को चूस रहा था.

विक्रम संजू को अपने आगोश में लेकर उसके पूरे जिस्म को चूम और चाट रहा था.

मेरा मन कर रहा था कि कमरे में जाकर तुरंत उसका तौलिया खोल कर सोफे पर ही उसकी गोद में सीधा उसके लण्ड पर बैठ जाऊं बिना कुछ कहे हुए!लेकिन साथ ही मैं विजय को तड़पाना चाह रही थी।लेकिन मेरा शरीर मेरे खुद के काबू में नहीं तो रहा था, मैं विजय से भी ज्यादा उतावली हो रही थी और खुलकर चुदाई करना चाह रही थी. दोस्तो, उसके बाद हमारे जीवन में एक नया मोड़ आ गया, हमारा जीवन नये उत्साह उमंग और खुशियों से भर गया. यूपी बीएफ वीडियोवो मेरी चूत को चाटने लगा और पहले वाला अब दूसरे वाले के लंड को चूसने लगा.

फिर उसने अपनी उंगली को ज़ोर ज़ोर से अन्दर बाहर करना शुरू किया, जिससे मुझे बहुत अच्छा लगने लगा. चूंकि अहाते में कोई आता नहीं था और सब जानते थे कि मैं उधर रह कर पढ़ाई कर रहा हूँ … इसलिए कोई नहीं आता था. दर्द से चिल्लाने की जगह वो उल्टा ये बोला- एक बार में पूरा डाल दें … संकोच न करें.

मैंने भी अपना मुँह खोलकर उसके लंड की अमृत बूंदों को ग्रहण करने का मन बना लिया. तब मामी बोलीं- आज कहां सोओगे?मैंने कहा- अहाते में … जहां रोज सोता हूँ.

अब उसने मेरी चुत के दाने पर जीभ चलानी शुरू कर दी और मेरी चिकनी गांड पर दो चपत रसीद कर दीं.

उसके बाद अभिषेक ने पूरे एक घंटे तक उसी बारिश में भीग कर मेरी गांड और चुत बजाई. मैं- ज़ारा भरोसा रखो! ऐसा कभी कुछ नहीं होगा!ज़ारा- आप मेरे साथ सुहागरात मनायेंगे?मैं- हां जान!ज़ारा- मेरा सपना …मैं- अब सच होने वाला है!ज़ारा- होने वाला है! मतलब आज नहीं?मैं- नहीं!ज़ारा- फिर कब?मैं- सुहागरात! तुम्हारे लिये बर्थडे गिफ्ट होगी!कहते हुए मैंने उसे वो नथ और मांग-टीका भी दिया. शिल्पा उसके ऊपर से हट गई और राहुल उसकी गांड पर हाथ रखकर शिल्पा के साथ अन्दर कमरे में आ गया.

सेक्सी विदेशी बीएफ थोड़ी देर बाद जब उन्होंने सांस लेने लिए होंठों को अलग किया तो उनके चेहरे पर जैसे एक अजीब सी चमक थी. मैंने और नवीन ने बहुत बार जोरदार सेक्स का मजा लिया था लेकिन आज मुझे अलग ही मजा आ रहा था.

’ एक झन्नाटेदार थप्पड़ मेरे गाल‌ पर पड़ा और उसे चिल्लाना शुरू कर दिया- ये सब क्या है … शर्म नहीं आती तुम्हें?उसने चिल्लाते हुए कहा और झटक कर मेरे हाथ से अपना पल्लू खींच लिया. शायरा को मेरे साथ प्यार करके अच्छा लग रहा था … क्योंकि उसे प्यार वाला सेक्स चाहिए था, जिसमें पार्टनर की खुशी का भी ध्यान रखा जाए. फिर वो मेरे पूरे पेट को चूमते हुए मेरी नाभि तक आया और उसके कुछ देर बाद उसने मुझे सबसे आगे वाली टेबल पर बिठा कर मेरी स्कर्ट को उतार दिया.

देहाती बीएफ फुल

ये कहानी वहीं से शुरू हुई है … जब मुझे पिछली कहानी के दो ईमेल आए थे. जब कुछ देर बाद मैं थोड़ी शांत हुई तो अभिषेक ने पहले तो धीरे धीरे मेरी बुर में अपना लंड अन्दर बाहर करना शुरू किया और एकाएक अभिषेक ने चुदाई की स्पीड बढ़ा दी. मैंने जैसे ही अपना लंड बाहर निकाला तो देखा कि मॉम की चुत से थोड़ा वीर्य बाहर भी आ रहा था.

तभी बीच में ही बैंचों पर बैठी हुई कुछ लड़कियों में से एक ने कहा- ओय … कहां?उसने शायद मुझे आवाज दी थी, मगर एक तो मेरे हाथ में चोट लगी थी और दूसरा मुझे गुस्सा भी आ रहा था. इस माँ बेटा सेक्स कहानी में मैं आपके सामने यह स्वीकार करते हुए बता रही हूँ कि मैं अपने ही बेटों से कैसे चुद गई.

हमें बताया गया कि दोपहर में मरीज से केवल एक बार ही मिला जा सकता है.

अभी मैं चाची की गांड में लंड पेले हुए उनकी चुत को भी सहला रहा था, इसकी वजह से उन्हें दर्द कम हो गया. मैंने जब चुत को लगातार चूसना जारी रखा, तो धीरे-धीरे मलीहा फिर से गर्म होने लगींअब मैंने भी अपनी पोजीशन को बदल लिया. दोस्तो, एक बार फिर मुझे लगा कि सारे किए कराए पर पानी फिर जाएगा लेकिन फिर भी मैंने हिम्मत नहीं हारी और लगातार प्रयास में लगा रहा.

एक दिन दादी ने बताया कि हम दोनों दादी पोती दोपहर में दो बजे तक खाना खाकर सो जाते हैं और चार पांच बजे तक सोते हैं. और वैसे भी तेरा ये फर्स्ट टाइम होने के बावजूद हमारा सेक्स बहुत सुखद रहा. वो अकेली ही स्टाफ रूम में थीं, तो मैंने पूछा- बाकी टीचर्स कहां हैं?उन्होंने शरारती लहजे में कहा- क्यों मेरे साथ बैठने में डर लग रहा है?मैं शर्मा गया.

उसका लंड बहुत गर्म था और मुझे अपने गालों पर उसका लंड रगड़वाने में मजा आ रहा था.

इंडियन बीएफ सेक्स ओपन: मेरा लंड चूंकि उसकी चुत में आधा घुसा हुआ था तो मैंने भी रिचा का साथ देना शुरू किया. उस गांव में मैंने अपनी ख्वाहिश कैसे पूरी की?दोस्तो, मैं सिमरन हूं, मुझे पता है कि आपको मेरी कहानियाँ बहुत पसंद आती हैं.

मुझे भी भाबी की चूत में अपना लंड डालने के लिए तड़प मच रही थी, पर हम ऐसा नहीं कर सकते थे. उसने एक टांग को मेरे चूतड़ों पर चढ़ा लिया और जोर से मुझसे लिपटने लगी. प्रीति दर्द से कहने लगी- क्या हुआ?मैंने कहा- झड़ने के बाद भी लंड बाहर नहीं निकल रहा है.

प्रियंका- वो तो तुझे जैसे खा ही जाएंगे … जो मेरे से चिपक कर खा रही है!बहरहाल हम लोग खाना खाने लगे और खाना खत्म कर दिया.

कुछ देर बाद वो अपने शरीर को ऐंठते हुए बोली- आह … मेरा होने वाला है. इससे क्या होता है कि आपकी साथी और आपकी भी कामुकता कम हो जाती है, औरत ठंडी पड़ने लगती है. सुनाई दी।मैंने कुछ देर लन्ड डाले रखा।2 मिनट बाद मैंने लन्ड निकाल कर फिर अंदर डाला।फिर हर झटके में 1 से.