सारी बीएफ

छवि स्रोत,ওপেন ব্লু ফিল্ম

तस्वीर का शीर्षक ,

नंगी बीपी सेक्सी: सारी बीएफ, मैंने उसकी चूत में लंड के सुपारे को फंसाया और एक जोर का धक्का लगा दिया.

सबसे गर्म तेल कौन सा है

उस दिन हम दोनों ने बस एक बार ही सेक्स किया, बाकी टाइम में किस ही करते रहे. रिकॉर्डिंग बताओधीरे धीरे हम एक दूसरे से फ़्लर्ट करने लगे और फ़ोन पर भी बहुत बातें करने लगे.

मैं उसको ये पता नहीं लगने देना चाहती थी कि मेरी चूत में मेरे जीजा का लंड जा रहा है. सेक्सी वीडियो ओपन बिहारीवहां पर हमने आराम से पूरे मज़े लेते हुए चुदाई का दूसरा राउन्ड पूरा किया.

उन्होंने अपने होंठ मेरे माथे पर रखे, फिर आंखों पर किस करते हुए मेरे होंठों को अपने होंठों में जकड़ लिया.सारी बीएफ: अपने दोनों हाथों की तर्जनियों और बड़ी उँगलियों के बीच वसुन्धरा के दोनों कानों की लौ ले कर हल्के-हल्के सहलाने लगा.

मैंने दूध की धार अपने लंड के ऊपर छोड़ना शुरू किया, मेरी धार ठीक उसके मुँह के अन्दर जा रही थी.उनका दूध सा गोरा बदन देख के मुझे विश्वास ही नहीं हो रहा था कि वो मेरे सामने ऐसे खड़ी हैं.

एचडी सेक्सी हिंदी मूवी - सारी बीएफ

कुछ ही पल के बाद भाभी ने मेरे कपड़े भी उतार दिये और मुझे भी पूरा नंगा कर दिया.मैंने जीजा से सब झूठ ही कहा था क्योंकि उन्होंने मुझे मजबूर कर दिया था.

हीना अपनी चुत चूसने से जितनी बेचैन होती, वो लंड को मुँह के उतने ही ज्यादा अन्दर डाल कर चूसने लगती थी. सारी बीएफ उनकी जोड़ी को देख कर हर कोई कह सकता था कि ये दोनों तो एक दूसरे के लिए ही बने हैं.

लगता था कि मुद्दत से अंदर रखा अवसाद आज बरसों बाद बाँध तोड़ कर आँसुओं के साथ बाहर निकला था.

सारी बीएफ?

जब मैं अगले दिन ऑफिस गया, तो मेरा एक दोस्त बोला कि उसे ऑफिस के काम से कुछ दिनों के लिये बाहर जाना है और 3 दिन बाद उसके माता पिता आने वाले हैं, तो वो घर बंद करके नहीं जा सकता. तभी वो अपनी सहेली से बोली- तू बाहर रुक जा … यदि कोई आता है, तो बता देना. लेकिन आज सुबह से ही वो भी काफी खुश दिखाई दे रही थी, खुश तो मैं भी था.

फिर मैं दिलिया की चूचियाँ दबाने लगा और सारा की चूत में उंगली करने लगा. अब हम तीनों की सिसकारियां फिर से शुरू हो गई थीं और हम तीनों भी अब सातवें आसमान पर पहुंच चुके थे. हम लोगों का खाना खत्म होते होते मामा भी बाहर से आ गये और सीधा अपने कमरे में चले गये।सब कुछ समेटने के बाद मामी भी कमरे की तरफ जाते हुए बोली- देखो अब चुपचाप जाकर अपनी पढ़ाई कर लो, आपस में लड़ना मत, हम लोग मामी की बात सुनकर अपने-अपने कमरे में चले गये।करीब आधे घंटे के बाद जब मामा-मामी के कमरे की लाईट बन्द हो गयी तो शुभ्रा मेरे कमरे में आ गयी और बोली- आओ तुम्हें एक नजारा दिखाती हूं.

पहली बात ये है कि लड़की चाहे जितने भी मज़े कर ले यदि वह गैरमर्द से प्रेग्नेंट हो जाती है तो कहीं की नहीं रहती. इसके बाद उसने लंड चूत के मुँह पर सटाया और हल्के से अपना लंड मेरी चुत पर रगड़ने लगा. इस समय उसने बीएफ वाली लड़कियों को भी लंड चुसाई में मीलों पीछे छोड़ दिया था.

आप लोग तो जानते ही हो कि अगर सरकारी काम कहीं भी करवाने जाओ तो बिना रिश्वत के तो कोई काम होने से रहा. अपने कमेंट्स में अपनी राय छोड़ें और इसके साथ ही आप मुझे मेरी ईमेल पर भी मैसेज कर सकते हैं.

स्नान करने के दौरान मंजू मेरे लण्ड को अपने मुंह में लेकर चूसने लगी.

और मेरी एक बात समझ लो कोमल … अगर जिंदगी में आगे बढ़ना है तो कहीं ना कहीं तो समझौता करना ही होगा.

बस मेरे इतना कहते ही वो मेरे होंठों को चूसने लगी और अपनी जीभ मेरे मुँह के अन्दर घुसेड़ कर मेरे तालू में चलाते हुए मजा लेने और देने लगी. चलो सर … ” मैं शर्मा सर के आंखों में आंखें डाल कर मीठी आवाज में बोली. खाना खाने के दौरान मैं नोटिस कर रहा था कि खुशी प्रतिभा और सुमन से ठीक से बात नहीं कर रही थी.

कुछ देर चूसने के बाद वह उठ गयी और बोलने लगी कि बहुत हो गया अब मुझे रोटी बनाने दो. अंकल ने मेरी तरफ देखा और मेरी पैंटी नाक के पास ले गए और उसे सूंघने लगे. फोन करने के बाद मैंने सोचा कि जीजा जी जायेंगे लेकिन वो दरवाजे को अंदर से लॉक करके आ गये.

मेरे लंड को अपने हाथ में दबोचते हुए बोली- बहनचोद साले, इतना मजा आ रहा था मम्मी पापा की चुदाई और मेरी गांड में तेरा लंड रगड़ने में … लेकिन तू बहनचोद बीच में छोड़कर मूतने चला आया?मैं लंड छुड़ाते हुए बोला- पेशाब बहुत तेज आ रही थी इसलिये चला आया। और ये बता साली रंडी तू कब मेरे पीछे-पीछे चली आयी?उसको दीवार से टिकाकर उसके कपड़े के ऊपर से ही उसकी चूत को सहलाते हुए मैंने पूछा.

मौसी के बाथरूम में जाते ही मैं उसके पास चला गया और पीछे से उसकी चुचियों को पकड़ कर दबा दिया. वो भी मस्तानी आवाज में बोलीं- सच में बहुत दिन बाद कोई इतना बड़ा चोदू मिला है. मैंने देखा कि सफेद दूध जैसे गोरे चूचे और उन पर गुलाबी निप्पल अपनी अलग ही कामुकता बिखेर रहे थे.

कहकर मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये और दोनों एक दूसरे के आगोश में खोने लगे. तब रिया पीछे मुडी और हंसते हुए बोली- अरे, डैड मजाक किया था, डालो ना।इस पर रमेश ने उसके बालों को कसकर खींचा और बोला- साली देख अब तू, कैसे तेरी गाँड का गड्ढा बनाता हूं मैं. उसकी चूत ने अपना रस बहा दिया और ठीक उसी समय मेरे लण्ड ने भी अपने गर्म वीर्य की पिचकारियों से दीपिका की चूत को गहराईयों तक भर दिया.

मैंने भांग को दूध में मिलाकर उसे कामवाली नौकरानी को पिला दिया और उसके साथ रात भर सेक्स किया.

सबके सोने के बाद मैं बॉक्स पर लेटे हुए ही चाची के पैरों को अपने पैरों से सहलाने लग जाता था. मैं उसके लंड के सुपारे को नीचे कर के उसके लंड को हिला हिला कर मस्ती में चूसने लगी मानो ये बस अभी ख़त्म हो जायेगा.

सारी बीएफ उसका लंड काफी मोटा और लम्बा था, जिस वजह से मैं दर्द से चिल्ला रही थी. अरे आप यहां क्या कर रही हैं इतना ठंडा हो रहा है?भाभी- मेरी छोड़, तू इधर क्या कर रहा है?मैं- बस यूं ही टाइम पास.

सारी बीएफ ने आकर हम लोगों का टिकट दूसरी बोगी में ऊपर वाली बर्थ पर कन्फर्म कर दिया. रिया धीरे धीरे सब निकाल रही थी। कटोरी भर गई।रमेश ने पूछा- सब निकल गया?रिया- नहीं अभी इतना ही और है अंदर।रमेश ने फिर से पैंटी उसकी गांड में घुसा दी और चम्मच से गांड के छेद के आसपास लटकते उस पदार्थ को कटोरी में डाल दिया। रिया की ओर कटोरी बढाकर उसने कहा- ये है सब्र का मीठा फल। खा लो इसे।रिया ने कटोरी ली और एक चम्मच भर कर खा गयी.

एक हाथ से उसकी चूत को सहलाने लगा और वो फिर से उसी तरह चुदासी हो गई जैसे वो मेरे लंड पर उछल कर हो रही थी.

बीएफ फिल्म वीडियो में ब्लू फिल्म

”ओह … और आपका खाना कौन बनाएगा?” मैंने पूछाकोई पक्का नहीं बेटा, होटल में खा लूंगा या फिर कभी कभी खुद भी बना लूंगा; थोड़ा बहुत आता है मुझे!” अंकल जी ने कहा. उस स्टोर रूम में सिर्फ अम्मी एवं अन्य घर के सदस्य को छोड़कर कोई नहीं जाता है. वहाँ हमने पहले से ही तय कल्याण में एक फ्लैट खरीद लिया और दूसरे दिन ही मन्दिर में जाकर शादी करने का फैसला ले लिया.

ह …आह्ह… होफ… ओ… हह्ह … की आवाजों के साथ मेरा बदन अकड़ने लगा और मेरे लंड ने वीर्य की पिचकारियां दोनों के मुंह पर बरसानी शुरू कर दीं. फिर एक दिन मैंने उनकी चूचियों पर ज्यादा ध्यान न देकर सीधा उनकी चूत की ओर मुंह कर लिया. जब मां नीचे को झुकतीं, तो उनके दोनों चूतड़ों के बीच वाली दरार साफ दिख रही थी.

फिर उसकी कुर्ती को पेट की तरफ उठाते हुए मैंने उसकी सलवार का नाड़ा खोल दिया.

थोड़ी देर मेरी गांड मारने के बाद तुषार ने लंड बाहर निकाला … और उसने मुझे कमर से पकड़कर आगे की ओर घुमा दिया. थोड़ी देर चूत पर अपना लंड रगड़ते रगड़ते उसने धीरे से अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया. मेरी चूची और गांड का आकार भी बहुत अच्छा है, जिससे मैं और भी ज्यादा सेक्सी और कामुक लगती हूँ.

भाभी नीचे से अपनी गांड को हिचकोले ले ले कर मुझसे चुदवा रही थीं और मैं जोर जोर से उनकी गर्म चूत को चोद रहा था. उन्होंने मुझे बताया कि स्कूल प्रिंसीपल से बात करके देख लेनी चाहिए, शायद कुछ रास्ता निकल आये. थॉमस ने मुझे बेड पर सीधा लेटा दिया और मेरे मम्मों पर आकर उन्हें चूसने और मसलने लगा.

मैंने नींद का बहाने सिर खिड़की पर टिका दिया और थोड़ी देर बाद अपना एक हाथ मीना की जांघों पर रखा, तो उसने मुझे अज़ीब सी नज़रों से देखा. काम निपटाकर आज रात बीवी को फिर पकड़ा और अच्छे से उसको चूमा-चाटी करके मजा लेने लगा.

कुछ देर बाद तुषार ने मुझे किस किया … मेरे सिर पर प्रेम से हाथ फेरा और मुझसे कहा- आशना … मैं तुमसे प्रेम करता हूँ … मुझे तुम बहुत अच्छी लगती हो. होंठों के चुम्बन के साथ इस बार मैं उसके मम्मों को टॉप के ऊपर से ही मसलने लगा. लेकिन इतना जरूर ठाना कि मैं पता लगा कर रहूँगी कि आखिर अतिथिकक्ष में कौन रंगरेलियाँ मना रहा है।और रात को मैंने चैक करने का फैसला कर लिया।शाम को मैं रसोई में खाना बना रही थी कि तभी मेरे देवर का फोन आया कि भाभी आज मैं घर नहीं आऊँगा, कम्पनी के काम से बाहर जा रहा हूँ।आज के लिये मैं थोड़ी रिलेक्स हो गयी क्योंकि मेरा देवर तो आज घर में है नहीं.

तभी भार्गव ने कहा- यार आशना अगर तुम चाहो … तो बस एक बार मेरा लंड देख लो.

घप्प-घप्प की आवाज के साथ मेरा लंड चाची की चूत की गहराई को मापने लगा. यस … मुझे भी अब खुद पर काबू रखना मुश्किल हो रहा है, कितने दिन से तुम्हें चोदने की इच्छा थी … तुम्हारी खूबसूरती के बारे में कंपनी की हर जूनियर की बीवी से सुना था. आपकी खातिरदारी में कोई कमी रह गई, तो हम जीजू को क्या मुँह दिखाएंगे.

जब उनसे रुका न गया तो चाची ने मेरे लंड को हाथ से पकड़ कर खुद ही अपनी चूत पर सेट करवा दिया. बार-बार मैं सीढ़ी के पास जाकर देख रहा था कि बसंती आ रही है या नहीं.

वो मेरी चूत के रस को अपने मुँह में भर पी गया और उसके तुरंत बाद मेरी चूत को फैला कर अपना लंड लगा दिया. हम्म … ठीक है अंकल जी!”सोनम बेटा, अगर तेरे पास टाइम हो तो कभी आना मुझसे मिलने!”जी अंकल जी, आ तो जाऊँगी मैं … पर डर भी बहुत लगता है, कोई देख लेगा तो?” मैंने हिचकिचाते हुए कहा. मेरे चेहरे का रोष देखकर शुभ्रा ने मेरा हाथ पकड़ लिया और बोली- मैं तुम्हें प्यार में मायूस नहीं करना चाहती.

एक्स बीएफ एक्स एक्स एक्स

अब तो मौसी खुद ही बोल रही थीं कि बाकी सब बाद में करेंगे, जिसका मतलब साफ था कि अब आगे भी मुझे मौसी की चूत मिलती रहेगी.

फिर मीरा ने रितेश से कहा कि जब से तुमने मुझे अपनी गोद में उठाया था, तब से ही मैंने ठान लिया था कि मैं तुमसे चुद कर ही रहूँगी. मैंने भी उसकी चड्डी के अन्दर हाथ डाल दिया और उसका मूसल लंड सहलाने लगी. दीपिका- राज, आपके रूम में चलें, मुझे वहां और भी अच्छा लगेगा?मैंने कहा- ठीक है, आओ.

मैंने वहीं बैठी एक महिला के पास जाकर कार्ड दिखाया तो उसने मुझे 1 नंबर रूम में जाने को कहा. अभी मेरे घर के आस-पास सिर्फ तीन मक़ान हैं … सो किसी के आने-जाने पर कोई ज्यादा ध्यान नहीं देता. सुंदर दिखने के लिए योगइसके कुछ दिन बाद गुप्ता जी का प्रमोशन हुआ और उनका ट्रांसफर मेरठ हो गया.

उसी दिन रात को मुझे उसका मैसेज आया कि मैं घर जा रही हूँ, कल रात को तुम भी आ जाओ. मैंने भी कहा- चलो जो हुआ, अच्छा हुआ! तुम को भी एक अलग अनुभव मिला और मुझे भी!वह मुस्कुराती हुई बोली- अनुभव तो ठीक है.

”तभी मेरी मम्मी ने आवाज़ लगाई- विपुल, तेरा फोन बज रहा है … देख कौन से दोस्त ने फ़ोन किया है. सफर जारी था मस्ती लेते हुए!मैंने अपना मोबाईल निकाला इशारा करके उसका नंबर माँगा. मैंने मेरी वाइफ को आईडिया दिया कि एक काम करो, तुम ये सैट अपनी भाभी को दे दो, शायद इसकी फिटिंग तुम्हारी भाभी की साइज की हो.

करीब 3 मिनट किस के बाद उसके हल्की सी आवाज से मुझे पता चल गया था, यह मेरी बहन सोनल है. तभी मेरे मन में ख्याल आया और मैं दौड़ के नीचे गया और एक फ्रिज में से एक लौकी निकाली जो उन दोनों की चुत में फिट बैठे. अब तुषार ने मुझे देखा और बोला- आशना चल, अब मैं तुझे दिखाता हूँ कि लौंडिया कैसे चोदते हैं.

”अंकल के कहने के मुताबिक मैं पेट के बल लेट गयी, अंकल भी मेरे पास बैठ गए.

आप रिसेप्शनिस्ट-कम-अस्सिस्टेंट होंगी और सिर्फ 15 हजार ही मैं आपको दे पाऊंगा. मेरा भी मन करता है, प्लीज़ एक बार भाभी!भाभी बोलीं- क्यों तेरी जीएफ नहीं है क्या?मैंने कहा- नहीं है भाभी … वो लड़की नहीं पटी … आपका मन नहीं करता क्या … अब तो भैया भी नहीं रहे हैं.

दो मिनट बाद ही फोन की घंटी बजी और दीपिका ने घोष को बोला कि मैं थक गई थी इसलिए सो रही थी, बॉय. लंड को परदे में करते ही मीना उसे अपने हाथों में लेकर उसका टोपा ऊपर नीचे करने लगी और मैं ज़न्नत में पहुंचने लगा. अब आगे गर्लफ्रेंड की सहेली की चुदाई की शुरुआत:फिर हम सभी एक साथ खाना खाने बैठ गए.

फिर मैंने उसे अपने नीचे लिटाया और उसकी टांगों को फैला कर उसकी फुद्दी पर अपना लंड घिसने लगा. ये देखकर मैं बैठी सी हुई और अपने दोनों मम्मों से उसके लंड को मसलने लगी. मैंने कहा- तो फिर इधर आइये!और सोफे पर बैठने का इशारा किया, वो बैठ गई तो मैं भी उसके बगल में बैठ गया और बोला- आपने कह तो कह तो दिया कि बेझिझक कह दूं लेकिन मैं कह नहीं पाऊँगा, बाकी आप खुद समझदार हैं.

सारी बीएफ मेरे इन प्रयासों से कुछ देर में जूली फिर गर्म हो गयी और सारा को एक तरफ हटा कर मेरे ऊपर आ गयी. हम दोनों की नजरें मिलीं, नम्रता ने अपने दोनों हथेली से अपनी चूत को दबाकर होंठों को गोलकर के मुझे अभिवादन किया.

बीएफ सेक्सी हीरोइन वाली

उसकी चूत को चोदते हुए मेरा लंड पच-पच… गच-गच … की आवाज करता हुआ अंदर बाहर हो रहा था. मुझे और गुस्सा आ गया, मैंने उसके चूतड़ों पर थप्पड़ों की बारीश करके चूतड़ लाल कर दिए. उसने फिर से अपने जिस्म के पूरे दम से मेरी चूत की चुदाई शुरू कर दी और फिर पूरे दस मिनट तक उसने मुझे चोदा। मैं एक बार फिर से झड़ गई इस दौरान।अब पवन का जिस्म अकड़ने लगा और तभी पवन के लंड ने गर्मागर्म मलाई की पिचकारी मेरी चूत में मार दी। पवन ने अपना ढेर सारा गर्म वीर्य मेरी प्यासी चूत में भर दिया।इस चुदाई से मुझे जो सुख मिला वो अवर्णनीय है.

उसने भी मेरी आँखों में आंखे डालते हुए हामी भरी और धीरे से मेरे कान के पास अपना मुंह लेकर धीरे से मेरे कान में कहा- शालू, तुम हो बड़ी चालू!सच कहूँ तो तुम्हें देखते ही तुम मुझे पसंद आई थी, जब तुम्हें पहली बार रोड पर कार में लाल सूट में देखा तो तुम्हें चोदने की इच्छा पैदा हो गई थी. मैं- तुम्हें पोर्न में सबसे अच्छा क्या लगता है?दीपाली- जो चुत चाटते हैं ना, वह बहुत पसंद है मुझे. हिंदी सेक्सी फिल्म गांव वालीअम्मी ने उससे कहा कि आप सुबह शाम को आकर बशीर के लिए खाना बना दीजियेगा.

उन्होंने मेरी चूत के छेद में उंगली फंसाने की कोशिश की तो मैंने उनके हाथ को पकड़ लिया.

”अरे क्यों?”शूगर के कारण डॉक्टर्स ने मना कर रखा है।” कहकर उसने मेरी ओर देखा।ओह … आई एम सॉरी!”प्रिय पाठको और पाठिकाओ! आप तो बहुत गुणी और अनुभवी हैं। आप तो जानते ही हैं शूगर के कारण ज्यादातर पुरुष अपनी पौरुष क्षमता खो देते हैं।और पता है सुहाना भी मीठा बहुत कम खाती है. जैसा कि आप लोगों को पता है कि मैं अपनी मौसी के बेटे सन्नी से अनेकों बार चुदी हूं और अभी तकमौसी के बेटे से चुद रही हूं.

लगता था कि मुद्दत से अंदर रखा अवसाद आज बरसों बाद बाँध तोड़ कर आँसुओं के साथ बाहर निकला था. पहली बार मैंने किसी अमेरिकन सेक्सी गर्ल की चुदाई की थी जिसका अनुभव वाकई में निराला था. थोड़ी देर सहलाने के बाद अंकल ने मेरे पेट के नीचे हाथ ले जाकर मुझे पलट दिया.

सच में चुदाई का मजा तो जो होता है वो होता ही है लेकिन ये सब देखना भी चुदाई के मजे से किसी भी सूरत में कम नहीं था.

फिर देखते ही देखते मेरे अंदर हवस जाग गई और मैंने मनीषा के होंठों को चूस लिया. फिर उसने हाथ पीछे ले जाके ब्रा का हुक खोला और उसे भी वैसे ही बेड के नीचे गिरा दिया. यकायक रानी ने मेरे दोनों अण्डकोश थाम लिये और लंड पूरा का पूरा मुंह में घुसा लिया.

सेक्स वीडियो जंगल वालाहाय! मेरा नाम गौरव है। अन्तर्वासना पर बहुत सारी कहानियां पढ़ने के बाद मैं आपको अपनी पहली कहानी बताने जा रहा हूं। चूंकि मेरी यह पहली कहानी है इसलिए कहानी को लिखते समय अगर मुझसे कोई गलती हो जाये कृपया मुझे माफ करें. आंखें बन्द करके मैं मूत निकलने का इंतजार करने लगा और जैसे-जैसे लंड ने पेशाब की धार छोड़नी शुरू की वैसे-वैसे मुझे बड़ी राहत मिलने लगी.

हिंदी बीएफ चूत चाटने वाली

उसने मेरी चुदास समझ ली और वो मेरे साथ सेक्स करने के लिए राजी हो गया. अगर मेरे दिल में कोई भी ख्वाहिश हो, तो यह दोनों उसे हमेशा हमेशा के लिए पूरा करने की फिराक में रहती हैं. मैंने इंदौर से ही अपने लिए जीन्स टी-शर्ट, चुस्त टॉप, बिकनी वाले शॉर्ट्स ले कर आई थी.

मुझे लगा था कि सोनल ने राधिका से अपनी मर्जी से कुछ भी करने का कहा था, तो वो चूत में लंड ले लेगी. तभी भाभी के मोबाइल पर किसी का फ़ोन आया और भाभी अलग हो कर बात करने लगीं. यह बात उस समय की है जब मैं अपनी मौसी के घर से अपनी बहन के साथ ट्रेन में बिहार से अपने दिल्ली वाले घर पर लौट कर आ रहा था.

मैं फिर बोला- लेकिन तुम तो शादीशुदा हो … इस पर तो तुम्हारे पति का हक है. रवि! मुझे अपने मोटे लंड से चोद डालो! मेरे स्त्रीतत्व को सार्थक बना डालो. अरे शालिनी जी, शर्मा क्यों रही हो?” मेरी पीठ को सहलाते हुए उसने पूछा।प्लीज, मुझे शालिनी जी मत कहो!” मैंने उनके सीने के बालों को सहलाते हुए कहा- मुझे केवल शालू कहो, सब मुझे प्यार से शालू ही बुलाते हैं.

इस बात से ये तो मुझे समझ में आ रहा था कि उसको एक अदद लंड की कितनी जरूरत है. जब नींद खुली तो मेरे शरीर ने कहा कि बेटा चुदाई बहुत हो गई … चल कुछ खा पी भी ले.

मेरी सहेली ने बताया कि उसका पति सुबह 8-8:30 के बीच निकल जाएगा और शाम को देर से ही वापस आएगा.

ब्लू फिल्म देखते हुए मैं बहुत ज्यादा एक्साइटेड हो गया था क्योंकि मैंने उस दिन पहली बार ब्लू फिल्म देखी थी. मराठी सेक्सी वीडियो एचडीतभी मुस्कान ने भी मेरा लंड मुंह से निकाल दिया और ‘उफ्फ उन्हह उन्ह उई मैं गयीईई ईईईई …’ ऐसे करती हुई झड़ने लगी. 2000 की सेक्सी वीडियोमैंने उसको चुप कराया और समझाया- जानू, तुम अपने घर वालों के कहने पर उधर शादी कर लो, जहां वो चाहते हैं. उन्होंने कहा- थोड़ी देर सो जाओ!तो मैं ऐसे ही नंगा लेट गया और वो कपड़े पहनने लगी.

रिया ने गिलास उठा लिया और मुस्कराते हुए रमेश के लंड से निकले पेशाब को गट गट करके पीने लगी.

सब लोगों ने ही मेरी चाची के साथ मेरी चुदाई की कहानी की काफी तारीफ़ की. झाटें साफ होने के बाद क्या मुलायम चूत लग रही थी!मैंने जूली से कुर्सी पर बैठने के लिये कहा. बेबी रानी ने सलाह दी कि चलो बाथरूम में शावर के नीचे चुदाई करते हैं.

तभी मैंने अपनी जीभ उसकी चूत की दरार में डाल दी और उसकी चूत चाटने लगा. फिर थोड़ी देर बाद मैं थॉमस के लंड के पास आ गयी और उसकी फ्रेंची पर ऊपर से ही हाथ फेरा. देस बदलेंगे … काल बदलेंगे, जिस्म बदलेंगे … नाम बदलेंगे लेकिन आदम और हव्वा की एक-दूसरे के लिए प्यास का ये खेल यूं ही अनवरत चलता रहेगा … शायद सृष्टि के अंत तक.

न्यू खलीफा बीएफ

और एक हाथ से दी ने अपना एक बूब थोड़ा ऊपर किया ताकि मैं पूरा साफ देख सकूँ. एक गैर मर्द के नीचे लेट उसके लिंग का भोग जो कर रही थी मैं!राज मुझे बिस्तर पर मसल रहा था. लेकिन मैंने उसे फिर भी नहीं छोड़ा।कुछ देर तक और चूत चाटने के बाद अनिता कहने लगी- मुझसे अब बर्दाश्त नहीं हो रहा है.

मैंने अपना पूरा तन मन अंकल को समर्पित कर दिया था, अंकल बड़े आराम से मेरी चुत में लंड से पम्पिंग कर रहे थे.

अचानक उन्होंने उंगली चुत से बाहर निकाली, तो मैं व्याकुल हो गयी और नाराजगी से उनकी ओर देखा.

और फिर वह पल भी आया, जिसमें मेरे लंड से मेरे बीज की धार पूरी तरह से ऊपर निकलने लगी. कोई 5 मिनट तक उसने मेरी चुत को चूसा और मुझे भलभलाने पर मजबूर कर दिया. ब्रदर एंड सिस्टरसुमीना मजे से आआ आउऊ उउहउ उम्म मममउ आआअ आहहा हहाह उफ आआअ हह कर रही थी और पिताजी चोदते समय कह रहे थे- ले लण्ड … पूरा लण्ड ले चूत में … और ले ले … उम्म्ह… अहह… हय… याह… तेरे भोसड़े में उतार दिया.

उसको झड़ता हुआ महसूस करके मेरे लंड में भी कड़कपन और ज्यादा तीव्र हो गया. अब तक की मेरी चुदाई की कहानी में आपने पढ़ा था कि थॉमस मुझे चोदने के लिए मेरे साथ चूमाचाटी करने लगा था. कुछ ही देर में हमारा खाना भी हो गया और मां सभी बर्तन लेकर किचन में अपना काम करने लगीं.

मेरी ये निगोड़ी चूत कबसे तुम्हें चोदने के लिए पागल है और तुम पता नहीं क्या कर रहे हो तब से … आआह … अह … जल्दी से आ जाओ. इसके बाद विनीता और मैं कई बार मिले, बस जगह का इंतजाम होने में दिक्कत होती थी.

मेरी नौकरानी को इस बात का पता भी नहीं चलता था कि मैं अपने बॉयफ्रेंड को अपने घर बुलाकर चुदवाती हूँ.

मैंने आंख खोली तो सामने शर्मा सर कमोड से सामने बैठ कर मेरा उत्सर्ग देख रहे थे. जिस पड़ोसी की मैं बात कर रहा हूँ वह रिश्ते में उस लड़की के मामा लगते थे. बिना ब्रा के मेरे स्तन आजाद होकर जैसे उछल कूद मचा रहे थे जिन्हें मैंने खेलने दिया और दुपट्टे से ठीक से ढक दिया और निकल ली.

घड़ी गिफ्ट करने के उपाय मैं उसको अपनी तरफ घुमा कर उसके चुच्चे को मुँह में लेकर चूसने लगा और एक हाथ से उसकी सलवार का नाड़ा खोल दिया. मेरी इस हरकत पर उसने सर पर हाथ रखकर पीछे से मेरे बालों में उंगली घुसाते हुए कहा- हम ज़्यादा देर के लिए नहीं आए हैं … मुझे जल्दी जाना होगा.

फिर उसकी कुर्ती को पेट की तरफ उठाते हुए मैंने उसकी सलवार का नाड़ा खोल दिया. फिर मैंने तीन उंगलियां चूत में डालीं, तो भाभी अपने आपको रोक नहीं पाईं और झड़ गईं. मगर दोस्तो, जो मजा एक मोटा 6 इंच लम्बा लंड देता है जो भला उंगली कैसी दे सकती है.

हिंदी बीएफ जानकारी

फिर अचानक बोली- शरद तुम भी घोड़े के स्टाईल से घुटने के बल होकर अपनी गांड उठा लो. अचानक उसने मुझे धक्का देकर बेड पर गिरा दिया और मेरे ऊपर चढ़कर मेरे लण्ड को फिर से अंदर ले लिया. उसने अपनी कमर को ऊपर उठाकर मेरे लंड को चूत पर एडजस्ट करते हुए लंड को चूत में जाने का रास्ता दे दिया.

मैं शलाका को ज्यादा से ज्यादा मजा देकर खुद भी ज्यादा से ज्यादा मजा लेना चाहता था इसलिए बहुत ही धीरे-धीरे घुसा रहा था. मीता के जाने के मैंने सोचा कि दाना तो डाल दिया है, अब इसको खिलाया कैसे जाए.

अभी तक की कहानी में आपने पढ़ा कि मौसी की लड़की के आने के बाद मेले वाले दिन मैंने उसको पटा लिया और रात में उसके साथ अच्छे से फ़ोरप्ले किया, पर बात चुदाई तक नहीं पहुँच पाई थी … क्योंकि मम्मी जाग गयी थीं.

मुझे उसकी चूत पर हाथ लगाते ही समझ आ गया था कि इसकी चूत बहुत टाईट है और फाड़ने में काफी मेहनत करनी होगी. वो अपने काम की वजह से हफ्ते में तीन चार दिन घर से बाहर ही रहते हैं. अगर उनको पता चल गया कि हम भाई-बहन में चुदाई चल रही है तो वो हमारे बारे में पता नहीं क्या सोचेंगे.

वो चिल्लाने को हुई तो मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ जमा दिए, जिससे उसकी आवाज दब गई. मैंने अपना लोअर उतारा और मैंने दीपाली से कहा- दीपाली मेरा लंड चूसो. उसके बाद हम दोनों गाड़ी की तरफ जाने के लिए चलने लगे तो भाभी से चला भी नहीं जा रहा था.

”मैंने अपना खाली कॉफ़ी का मग मेज़ पर रखा, अपना सूटकेस अपने हाथ में थामा और सोफे से उठ कर खड़ा हो गया.

सारी बीएफ: मेरी चूत पानी पानी हो रही थी, डर भी लग रहा था कि कहीं कोई और इस गेरेज में ना आ जाए और हमे देख ना ले. राजेश ने मुस्कुराते हुए मेरी नाभि को चूमते हुए मेरी चूत को भी चूमा और फिर मेरी कमर को पकड़ मुझे घुमा दिया.

और जल्द ही दिल्ली चलो ताकि पूरी जांच हो जाए इस मामले में देर करना ठीक नहीं होगा. ओह्ह … बहुत मजा देने लगी मेरी बहन मुझे मेरे लंड का सुपारा सहलाते हुए. लावा भरा पड़ा था … शायद इसी वजह से कुछ 17-18 झटकों में मेरी पूरी गांड भर गई.

मैं अपनी उस मस्त कामवाली को और दो मिनट जोर जोर से चोदा और मैं उसकी चूत में ही झड़ गया.

पर खुशी सिर्फ दिखावे के लिए बिंदास है, असल में खुशी भावुक और संस्कारी लड़की है. श्लोक तो मेरा भाई था लेकिन सच कहो तो तुम्हारे साथ मुझे ऐसा आनंद आया था जैसे कि तुम मेरे आशिक हो और मैं तुम्हारी प्रेमिका।इतना कहकर रीना ने अपने होंठ मेरे होंठों पर दबा दिए।कहानी अगले भाग में जारी रहेगी. शादी के बाद जब हम हनीमून पर गए थे, तो तुमने ऐसे ही मुझे दिन रात चोद चोद कर मज़े दिए थे.