नींद में सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी इंडिया साडी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी चोदा सेक्सी बीएफ: नींद में सेक्सी बीएफ, वेरोनिका ने मुझे रोका और बोला- वेयर यू आर गोइंग? (तुम किधर जा रहे हो?)हमारी सारी बातें अंग्रेजी में ही हो रही थीं.

निशा गुर्जर का सेक्सी वीडियो

फिर मैंने उसके गुलाब की पंखुड़ियों जैसे आकार वाले और अंगूर से ज्यादा रस भरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए और चूसने लगा. र्पोन film liveआंटी भी इसी पल के इंतजार में थी कि कब मैं उनकी चूत की तरफ अपना हाथ बढ़ाऊंगा.

मेरे सारे जिस्म को चूसते चाटते हुए मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसने लगीं. बड़ा दूध वाली सेक्सीलेकिन अगर तुम कहीं जाना चाहो तो तुम आज़ाद हो, मेरी तरफ से तुम कोई भी रोक टोक, बंदिश, पाबंदी कुछ भी नहीं होगी।’मैं उठा और उसे अपनी बांहों में भर कर चूम लिया और कहा- ठीक है जान, जैसा तुम कहो।फिर वो उठ कर गयी और एक छोटी सी सिंदूर की डिबिया ले कर आई और मेरे सामने बढ़ा दी.

कुछ देर के बाद उसके कराहने की आवाज आने लगी तो मैं उठ कर उसके कमरे में गया.नींद में सेक्सी बीएफ: दिलावर बोला- गीता रानी, रात को मंजू के साथ तैयार रहना, उसके पास फ़ोन है.

काफी देर तक ऐसे ही पड़े रह कर एक दूसरे को चूमने के बाद हमने कपड़े पहन लिए.जैसे जैसे उसके होंठ मेरी चूत के नजदीक पहुंच रहे थे मेरे अंदर सेक्स की आग और तेज होती जा रही थी.

सेक्सी मूवी फिल्म एचडी में - नींद में सेक्सी बीएफ

मैंने भी मौके का फायदा उठाते हुए अपने दोनों हाथ उसकी चूचियों पर रख दिये और उसकी चूचियों को दबा दिया.मेरे हाथ का बना खाना खाइयेगा और उसके बाद मेरी तरफ से थैंक्स गिविंग पार्टी.

मैंने आंटी को बेड पर लिटा दिया और मैं उनके ऊपर आकर उनको किस करने लगा. नींद में सेक्सी बीएफ फिर मैंने लंड को उनकी चूत पर रख कर दोनों फांकों के बीच में घिसने लगा.

मेरे गोरे गोरे चूतड़ों को देख कर उसके दोस्त बोलने लगे थे- वाह क्या माल है.

नींद में सेक्सी बीएफ?

तभी उसने मेरा पूरा लंड अपने मुँह में ले लिया और मेरी सिसकारी निकल गयी. मेरी फ्रेंची और लोअर मेरे टट्टों के नीचे जा अटकी और लंड निकल कर बाहर आ गया. तभी ममता बोली- सविता तू तो पूरी गीली हो रही है … तू कहे, तो अंकल को बुला लूं?मैंने कहा- क्या अभी ऐसा हो सकता है.

इसलिए मैंने उसकी पैंटी के ऊपर से अपना ध्यान हटा लिया और मैं चुपचाप आकर लेट गया. आपको कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल करके मेरा हौसला बढ़ाएं ताकि मैं उसके साथ की अपनी आगे की कहानी भी लिख सकूँ. अब कुछ भी कहने का कोई फ़ायदा नहीं था क्योंकि उसके लंड के लिए चूत तो मेरी भी तड़प रही थी.

पता नहीं क्यों मुझे ऐसा लगा कि वो मुझे जैसे पहले से ही जानता हो और उसने मुझे देखा हुआ हो. ऐसे धक्के पे धक्के चल रहे थे, तो मैंने उनके मम्मों को मसलना चालू कर दिया. फिर वीना आंटी बोलीं- वरुण अब नहीं रहा जाता मेरी जान … बस जल्दी से डाल दो.

इसलिए आंटी ने एक बार देख कर दोबारा से अपनी आंखें बंद कर लीं और मैं आंटी के पैर की मालिश करता रहा. मैंने अब सिर्फ उसके होंठों को चूसना जारी रखा और मेरा लंड उसकी चूत में ही था.

विशाल ने हॉल में रखे फ्रिज से बियर कि बोतलें निकाल कर उसमें थोड़ी थोड़ी व्हिस्की मिला दी और चिल्ड बोतलें सबको पकड़ा दीं.

पर एक दिन मेरी किस्मत चमक गई, मुझे ओकले का फ़ोन आया कि उसका बिज़नेस फ्रेंड 4 दिन के लिए जोधपुर आ रहा है और उसे इंडियन माल बहुत पसंद है.

हम एक दूसरे के साथ बातचीत में काफी खुल गए थे तो बातों ही बातों में मैंने मजाक में उनसे पूछा कि आपके हस्बैंड सुबह 8 बजे चले जाते हैं और रात में 10-11 बजे आते हैं, कई बार नाईट शिफ्ट भी करनी पड़ती है, तो फिर आप लोग ‘वो’ कब करते हैं?पहले तो वो मेरी बात का मतलब नहीं समझ पायीं और बोलीं- वो क्या?इस पर मैंने मुस्कुराते हुए अपने दोनों हाथों की उंगलियों को मिलाते हुए चुम्बन का इशारा किया. शादी के बाद कभी जरुरत ही नहीं पड़ी, रमेश का लंड हर समय चढ़ाई के लिए तैयार रहता. कुछ देर तक मेरी चूत को चोदने के बाद दीदी ने डिल्डो को पूरा अंदर डाल दिया और तेजी से उसको मेरी चूत में चलाने लगी.

ऋतु को लगा कि दोनों हाथ मेरे ही हैं और उसने कुछ नहीं कहा। ऋतु अब धीरे-धीरे मस्ती से भरती जा रही थी. थोड़ी देर बाद मेरे पेट पर किस करते हुए मेरे निप्पलों को चूसते चूसते उसने मेरा लंड अपनी चूत में डाल लिया और अपने कूल्हे हिलाने लगी. मैंने दीदी को ढांढस बंधाया, तो दीदी ने मुझसे ढके हुए शब्दों में जो कहा, वो मैं साफ़ शब्दों में लिख रहा हूँ.

वो मुझे चोदते चोदते मेरे होंठों को चूसने लगा और मेरे होंठों का रसपान करते हुए मेरी चूत को अपने लंड से चोदने लगा.

अब मैं मालिश के साथ साथ उनकी गांड को भी सहला रहा था और उनकी चूत भी टच करने लगा. इस तरह से तीनों ही पूरी मस्ती के साथ समलैंगिक सेक्स का आनंद लूट रही थीं. मगर अभी मैं आंटी को और ज्यादा तड़पाना चाह रहा था मुझे आंटी को तड़पते हुए देख कर बहुत मजा आ रहा था.

एक बार मैंने उसके फोन में पोर्न क्लिप देख लिया तो …मेरा नाम तान्या है और मैं पुणे से हूं. मैंने पहले अपना लंड उसकी चूत में डाला और थोड़ा सा थूक लेकर उसकी गांड के छेद में लगाया और अच्छे से मालिश कर दी. तभी मैंने एक धक्का दे दिया और मेरा मूसल लंड थोड़ा सा आंटी की चूत में घुस गया.

अंकल जी ने अपने लंड को मेरी चूत में घुसा दिया और मेरी गांड पकड़ कर जोर जोर से धक्के मारने लगे.

फिर बाहर निकाल कर उंगली पर लगे मेरे पानी को चाट गया। फिर वो झुक कर अपनी जीभ से मेरी चुत की चुदाई करने लगा।मेरा बस होने ही वाला था कि एकदम से गेट खुलने की आवाज आई. फिर मैंने अपना दूसरा हाथ भी उसकी छाती पर रखा, तो उसने हल्की सी सिसकारी ली.

नींद में सेक्सी बीएफ थोड़ी देर इसी पोजीशन में रुकने के बाद चाची ने नीचे से धक्के लगाना चालू कर दिया तो मैं भी जोश में आकर धक्के लगाने लगा. आपको मेरी और देसी भाभी की चुदाई की कहानी कैसी लगी, प्लीज़ मुझे जरूर बताना.

नींद में सेक्सी बीएफ जब वो मुझे पानी का गिलास दे रही थी तो उसका बदन पसीना-पसीना हो रहा था. फिर उसने नेहा को इशारा किया और नेहा बेड पर मेरी बगल में आकर लेट गई.

उन्होंने मुझसे पूछा- क्या देख रहे हो … पहली बार किसी की चूत देखी है क्या?मैं कुछ नहीं बोला और उनकी चूत चाटने लगा.

हॉट सेक्सी चुदाई सेक्सी चुदाई

उन्होंने सिर नीचे गिरा दिया, जिससे मैं और जोश में उनकी फुद्दी ठोकता रहा. फिर उसका गर्म मूड बन जाता, उसके बाद वो बेड पर वो घमासान मचाती है कि पूरी रात नशे में हम दोनों एक दूसरे के जिस्मों में कैसे बीत जाती है, पता नहीं चलता है. आपको मेरी कहानी कैसी लगी मुझे मेल करके जरूर बताएं। जल्दी ही मैं अपनी नई कहानी के साथ वापस आऊंगा.

एक बार उसको गर्म कर देना चाहता था ताकि वो खुद ही अपनी चूत मेरे उतावले लंड के सामने परोस दे. मैं संजना के बारे में सोचने लगा कि उसको मेरी जरूरत थी और मैं उसकी मदद नहीं कर पाया. फिर जीजा ने कहा- मेरी चुदक्कड़ बेटी, तेरी गांड में अब लंड डालने का टाइम आ गया है.

जस्ट चिल्ड यार!और मैंने रॉकी के लन्ड को दबा दिया।रॉकी समझ गया और मेरे चुचों से खेलने लगा।मैंने उसे रोका- अब यह सब रात को आराम से करेंगे। अब मुझे भूख लग रही है।रॉकी ने मोबाइल में टाइम देखा तो रात के 8.

मेरा लंड चूसने के बाद सासू जी ने आगे बताना शुरू कर दियासासू- उनका लंड चूसने के बाद उन्होंने मुझे अपने नीचे भींच लिया और अपना लंड मेरी चूत में खूब रगड़ा. मैं उसको लेकर बहुत ही ज्यादा उत्साहित था क्योंकि मैंने बहुत सी ब्लू फिल्म में नाइजीरियन लड़कियों को चुदते हुए देखा था. तभी वह बोली- सूट में मुझे आराम नहीं लग रहा है … मैं कपड़े बदल लूँ?मैंने ओके कह दिया.

रीना ने किस करते करते लंड को चुत पर सैट किया ही था कि मैंने जोर का झटका दे मारा. मैंने उसका चेहरा अपने हाथों में लेकर उसके आँसू पौंछे और पूछा- क्या हुआ?उसने कहा- कुछ नहीं … आज मेरी ज़िंदगी का सबसे बड़ा दिन है. मैं भी बहुत दिन से सेक्स करना चाहती थी और मेरी सहेली तो अपने बॉयफ्रेंड से सेक्स करती थी तो मुझे और भी ज्यदा सेक्स करने का मन करता था.

एक दिन मैं घर पर अकेली थी, मेरे घर के सभी लोग बाहर गए थे और मैं घर पर अकेली रह गई थी. तब उसने मुझे अपना व्हाटसअप नम्बर दे दिया और हम समय मिलते ही विडियो कॉल करने लगे.

मासूम चेहरे पर उसकी बड़ी बड़ी काली आंखें एक अलग ही छाप छोड़ने में सक्षम थीं. सारिका वाशरूम में गयी तो अंदर से ही बोली- कितनी बेदर्दी से फेंका है इतनी नाजुक चीज को!पंकज ने पूछा- क्या हुआ?वो बोली- कुछ नहीं … ऐसे ही. मैं ये तो नहीं जानता था कि काजल की तरफ मेरा ये झुकाव प्यार था या महज आकर्षण के पीछे छिपी हुई वासना! मगर जो भी था, बड़ा ही बेचैन करने वाला अहसास था जो हर दिन प्रबल होता जा रहा था.

समीर के जाते ही नीलम ने भी अपनी आँखें खोल दीं। उसे कई दिनों से अपने पति पर शक था क्योंकि जहाँ हर रोज़ वह उसे चोदने के लिए मरा जाता था वह कई दिनों से उसके क़रीब तक नहीं आया था।नीलम जल्दी से उठकर दरवाज़े तक आ गयी और वह अपने पति को देखने लगी कि वह कहाँ जा रहा है। समीर सीधा अपनी बहन ज्योति के कमरे में घुस गया, नीलम को यह देखकर बहुत हैरानी हुई कि इतनी रात को समीर अपनी बहन के कमरे में क्या करने गया है.

रीना ने टांगें खोल दीं और उसकी चुत लंड का अन्दर आने के लिए स्वागत करने लगी थी. मैंने अगले दिन वो पैंटी देखी तो मुझे पता लगा कि संतोष जी ने पैंटी को अपने माल से भर दिया था. चूत से हल्की हल्की बूँदों की मादक महक सारे कमरे में जोश जगा रही थी.

दिलावर कुछ दिनों ने मेरे पीछे भी लगा था, उसको मालूम था कि मेरी चूत इन दिनों प्यासी है. मुट्ठ मारने के दौरान उठने वाले वेग में लंड को हाथ का स्पर्श देने का मजा भी कुछ कम नहीं होता। यही हस्तमैथुन का आनंद है!मेरा हाथ जोश में आ चुके मेरे लिंग की तेजी के साथ मुट्ठ मारने लगा.

वो शनिवार सुबह चले जाएंगे और मेरे बेटे को संडे की छुट्टी होने के कारण उसके मामा उसे अपने घर लेके जाएंगे. ” नीलम ने अपने ससुर की बात सुनकर कहा। नीलम का जिस्म अपने ससुर की बातों को सुनकर गर्म हो रहा था। इसीलिए वह जल्दी से कपड़े पहनना चाहती थी।अरे यह क्या बात हुई बेटी? इससे अच्छा था कि तुम मेरी बात मानती ही नहीं. तभी ममता बोली- सविता तू तो पूरी गीली हो रही है … तू कहे, तो अंकल को बुला लूं?मैंने कहा- क्या अभी ऐसा हो सकता है.

इच्छाधारी नागिन की सेक्सी वीडियो

एक दिन मैं घर पर अकेली थी, मेरे घर के सभी लोग बाहर गए थे और मैं घर पर अकेली रह गई थी.

तभी अंकल ने मुझे कुतिया बना दिया और मेरी चूत में लंड लगा कर मुझे रगड़ने लगा. बीस मिनट तक चोदने के बाद मैं झरने वाला था तो पूछा- पिचकारी कहाँ मारूं जानू?बुर में ही डालो राजा … मेरी बुर भी तो मज़ा ले।”लो रानी!”मैंने आखिरी धक्का मारा और झड़ने लगा. पल्लू से पसीना पौंछते हुए बोली- और बताओ आदित्य, घर पर सब कैसे हैं?मैंने कहा- सब ठीक हैं.

” मैंने हँसते हुए कहा।उसने कुछ कहा तो नहीं लेकिन मैं उसके मन में चल रही उथल-पुथल का अनुमान अच्छी तरह लगा सकता था।अरे भई मैंने कहा ना डरो मत … कुछ नहीं होगा. मैं अपनी कार से अपने घर जा रहा था, अचानक रास्ते में एक कार की दूसरी कार से भिड़न्त हो गयी. आदिवासी सेक्सी सेक्सी फोटोहां वो एक बार चोद कर घर वापिस आ सकता था मगर आख़िर लंड को जब चूत की खुश्बू मिल जाती है, तो उससे भी नहीं रहा जाता.

उसकी चिकनी चूत देख कर हम दोनों ही उस पर टूट पड़ने के लिए बेताब हो रहे थे. लेकिन वो कहने लगा कि कुछ देर पहले तो तुम्हारा फोन आया था मेरे पास लेकिन तुमने कुछ बात ही नहीं की.

मैं ये तो नहीं जानता था कि काजल की तरफ मेरा ये झुकाव प्यार था या महज आकर्षण के पीछे छिपी हुई वासना! मगर जो भी था, बड़ा ही बेचैन करने वाला अहसास था जो हर दिन प्रबल होता जा रहा था. जब वो बार बार सामने से आती जाती, तो उसकी पायल की आवाज मेरा ध्यान खींच लेती थी. मुझे समझ में आने लगा था कि आज यह मेरी चूत को फाड़ ही देगा … मनु ने जो कहा था, वही हो भी रहा था.

मैंने फिर से पूछा- कितनी देर तक देखा आपने ये सब?वो बोली- एक घंटे तक।हैरान होते हुए मैंने कहा- एक घंटा! आपको इस दौरान कुछ हुआ नहीं क्या?वो पूछने लगी- क्या नहीं हुआ?मैंने कहा- बहुत मन किया होगा ना (सेक्स) करने का?मेरी बात सुन कर उसकी सांसें और तेजी से चलने लगीं और मेरा दिल दिल भी जोर से धड़कने लगा था. शायद वो भी मेरे साथ ही मेरे कैब में जाने वाली थी और वो उसी के बारे में जानना चाहती थी।खैर तभी हमारी कैब हमारे सामने आकर रुकी और हम उसमें बैठ गए. अंजू मेरे लंड को तन्नाते हुए देख कर बोली- चलो लंड खड़ा हो गया, अब इसे मेरी चूत डाल दो.

हम हॉस्पिटल एक घंटे रुके, फिर मरीज देखने का समय खत्म हुआ, तो मैं और अंकल वापस घर आने को निकले.

परवीन आंटी लंड के करीब आ गईं और अन्दर तक लंड लेकर गले के अन्दर लंड को हिलाने लगीं. हँसती हुई सारिका उठी और राहुल के पास से निकलती हुई उसको बैठने के लिए बोली.

मैं तो भूल ही गया था कि उसने खाने को मंगाया था। मैं उसके सामने नहीं आना चाहता था तो मैं उसके घर के अंदर जाते ही ऊपर छत में चला गया।सेक्स अभी भी मेरे दिमाग में भरा हुआ था तो ऊपर जाते ही मैंने अपनी बियर एक सांस में गटक ली. मैं बोला- हां दर्द तो होगा लेकिन थोड़ा सा … उसके बाद अच्छा लगेगा तुम खुद ही देखना।ऐसा बोलते हुए मैं अपना लंड उसके मुंह के पास ले गया और बोला- अब इसे अपने मुंह में लेकर चूसो. तभी मेरा दायां हाथ उनकी पैंटी में उतर गया। अंदर कामरस से भीगी चिकनी हुई चूत पर मैंने उंगलियाँ फेरनी शुरू की और भाभी मचलने लगी।मैंने गले, गर्दन, होंठ बूब्स और चूत पर चौतरफा हमला बोल दिया था। हम दोनों पागल हुए जा रहे थे।फिर थोड़ा रुककर भाभी को गाउन उतार कर बेड पर सीधे लिटा दिया। उनकी खूबसूरती देखने लायक थी.

राहुल ने सारिका को बेड पर लिटा लिया और उसके लगभग ऊपर लेटे हुए उसके बदन को कसमसाने लगा. हम्म … आह … तेजी से चोदो यार … बहुत दिनों बाद चूत को लंड नसीब हुआ है. थोड़ी देर बाद सर मेरे सामने देखते हुए बोले- आशना अब तो तुम्हें शर्म नहीं आ रही है ना?यह सुन कर मैं और भी शर्मा गयी.

नींद में सेक्सी बीएफ आज उन्होंने मम्मों पे कुछ किया था, जिससे उनके मम्मे ज़्यादा तीखे लग रहे थे. मुझे जब इस बात का अहसास हुआ कि अनीता मेरे साथ में अकेली रहने वाली है तो मेरे मन में हवस जाग उठी.

सेक्सी वीडियो डबल सेक्स

लंड के टोपे पर कामरस की चिकनाई भी भरपूर थी इसलिए जब लंड की त्वचा टोपे पर आगे पीछे हो रही थी तो गुदगुदी के साथ एक खुजली सी लंड के तनाव को और कड़ा करती जा रही थी. एक छोटे शहर से होने के कारण मैं स्वाभाविक रूप से असहज हो गया और उसका हाथ अपनी जांघ पर से हटा दिया और कॉफ़ी का बिल दे करके वहां से चल दिए. अभी कितनी देर और लगेगी खाना तैयार होने में? मुझे तो जोर से भूख लगी हुई है.

पिता जी और मैं आधे घंटे तक न्यूज चैनल में आंखें गड़ाये रहे और फिर माँ-बेटी को टीवी पर हमारा ये मालिकाना हक बर्दाश्त नहीं हुआ. मेरा लन्ड मेरी पैन्ट में तन गया था और उसकी साड़ी के ऊपर उसकी जांघों के बीच में टकरा रहा था. सेक्सी वीडियो इंग्लिश लड़कियों कीमैंने धीरे से चारू के कान में पूछा कि क्या तुम गांड मरवाने के लिए तैयार हो?उसने मेरी आंखों में झाँक कर हां का जवाब दिया.

पंकज बहुत रिफाइंड टेस्ट वाला व्यक्ति था और सारिका ने भी अपना फ्लैट बहुत खूबसूरती से सजा रखा था.

उसके बाद उन्होंने मुझे इशारा किया, तो मैं समझ गयी, दरसल उन्हें तम्बाकू खाने का शौक था, मैंने पास में रखी उनकी तम्बाकू की डब्बी उठाई और तंबाकू और चूना निकाल कर अपनी हथेली में ले लिया. उसके बाद कमरे का मुआयना किया कि भैया भाभी की सुहागरात कैसे देखी जाए.

और अब उसे लगा कि जो एक जोड़ा अब तक थिरक रहा है वो भी ड्रिंक्स टेबल की ओर जा रहा है. उसके बाद मैंने अपना सिर उसके सीने पर रख दिया और उसके भारी स्तनों को ऊपर से ही दबाने लगा. उसके नर्म हाथों की छुअन से मेरे लंड में एक अजब ही मस्ती भरती जा रही थी.

दो घन्टे निकल गए उसी कॉफी शॉप में!करीब डेढ़ महीने बाद जाकर मुझे उसका नाम पता चला, जैसी वो वैसा ही उसका नाम था उपासना। जैसी उसमें एक अलग सी कशिश थी वैसा ही उसके नाम में था। मुझे तो बस ऐसा लग रहा था कि सुबह, शाम, रात, दिन बस उसी कि उपासना करूँ।अब हमारे अलग होने का समय आ गया था, उसने चलने को कहा.

और फिर उसने मुश्ताक के लंड को अपनी चूत के मुहाने पर रखा और एक धम्म से उसे अपनी चूत में घुसा लिया. लेकिन मेरे समझाने की वजह से उसने अपने ऊपर कंट्रोल किया और अपने होंठों को भींच कर दर्द को सहन करने लगी. उत्तेजना में आकर मैंने उसकी जांघ पर हाथ रख दिया और वो घबरा कर उठ गई.

सेक्सी पिक्चर चुदाई एचडी वीडियोउन्होंने लंड निकाल कर मुझसे कहा- मेरे मुँह में माल निकालो, मुझे तुम्हारा माल पीना है. अब उन्होंने मुझे अपने नीचे लिटा दिया, मेरे ऊपर चढ़ गईं और मुझे मज़ा देने लगीं.

भेजना सेक्सी

ये कहते हुए उन्होंने मुझे धक्का देकर लिटा दिया और मेरे लंड को मुँह में ले लिया. मैं समझ गया कि मामला कुछ और ही है। ये भी शायद कुछ चाहती है।मगर फिर अगले ही पल आंटी ने नेहा को फोन करके बुला लिया. मुझे प्रिया के बारे में अपने मन के अंदर इस तरह के ख्याल नहीं लेकर आने चाहिएं.

आगे की कहानी बताने से पहले मैं अपने पाठकों को अपने बारे में बता देना चाहता हूं. मॉम ने कहा- हां बेटा मैं तुझसे ही चुदवाऊंगी … जब तुम्हारे पापा नहीं रहेंगे, तो मैं तुम्हारी रंडी बनकर रहूंगी. आंटी ने भी इस बात को नोटिस कर लिया था और फिर वो भी मुस्कुरा देती थीं.

मगर मैं तो पूरी गर्म थी, मैं सामने बड़े सारे शीशे में अपने नंगे बदन को देख देख कर अपनी फुद्दी में खीरा करने लगी। मेरी रफ्तार और मज़ा दोनों बढ़ने लगे. आज होठों का रसपान करते करते उसने कई बार मेरे होठों को काटा, जब जब वो काटती, मैं ट्रेन की स्पीड बढ़ा देता. हम लोग एक रेस्टोरेंट में गए, वहां लंच किया और शाम को 4 बजे तक वापस आ गए.

” महेश ने अपने मुँह को नीलम के गालों से उसके होंठों की तरफ कर दिया। नीलम को अपने ससुर की साँसें अपने मुँह से टकराती हुई महसूस हो रही थी, महेश नीलम को छू तो नहीं रहा था मगर उसकी यह हरकत नीलम को गर्म करने के लिए काफी थी।आहहह… बेटी कितनी गोरी और नर्म हैं तुम्हारी दोनों चूचियां … ओह्ह्हह इसके दाने तो देखो, इन्हें देखकर ही अपने मुँह में भरने का मन करता है. मैं मम्मी पापा को बोल दूँगा कि हम दोनों फिल्म देखने जाने वाले हैं और रात को आने में थोड़ी देर भी हो सकती है.

मुकुल राय के मोटे मूसल ने परीशा की चूत को बुरी तरह से फैला के चौड़ा कर दिया था। अब मुकुल राय ने परीशा की कमर पकड़ के धक्के लगाना शुरू कर दिया। आसानी से उनका लंड परीशा की चूत में जा सके इसलिए अब उसने टाँगें बिल्कुल चौड़ी कर दी थी। मीठा मीठा दर्द हो रहा था। परीशा अपने ही बाप से कुतिया बन के चुदवा रही थी।मुकुल राय- परीशा बेटी तुम्हारी चूत तो बहुत टाइट है.

उसने मेरी इस पहल पर मुझे कस कर पकड़ लिया और मुझे अपनी तरफ खींच लिया. सेक्सी ओपन खुला सेक्सीसारिका ने भी उसके बालों को पीछे से दबा कर होंठों का मिलन और मजबूत कर दिया. बीपी पिक्चर सेक्सी फिल्मेंएकदम से मैं उठी और उसको देखकर खुश हुई और उसकी इस हरकत से मुझे अच्छा भी लगा।मैंने थोड़ा स्माइल फेस से हर्ष को कहा- तुम क्या कर रहे थे?वह बिना घबराए बेशर्मी के साथ बोला- मुझे आपके शरीर में आपकी गांड सबसे ज्यादा अच्छी लगती है. अब अनिता भाभी ‘उम्ह्ह्ह अह्ह्ह …’ की आवाज निकालते हुए तड़पने लगीं और जल्दी से चोद देने की मिन्नत करने लगीं.

फिर बड़े ही प्यार से पूरे बदन पर हाथ फिराते हुए शरीर पर बहते पानी को हर अंग पर लगे साबुन तक पहुंचाते हुए खुद को धोने लगा.

मैंने बाथरूम में जाकर फिर से उनकी चुदाई की और घर वालों के वापस आने तक हम पति-पत्नी की तरह रहे. मैंने मैक्सी को अपने हाथों में ऊपर ही पकड़ रखा था और गांड पर पति के होंठों का मजा ले रही थी. मैं थोड़ा थूक लेकर भाभी की नाभि पर रगड़ने लगा और जोर जोर से धक्के लगाने लगा.

सीमा ने अपनी चूत का दवाब मुश्ताक के मुँह पर बना दिया, जिसकी वजह से मुश्ताक की जीभ यहाँ तक कि उसकी ठोड़ी भी सीमा की चूत सहला रही थी. रास्ते की बरसात में सागर भी गीला हो चुका था और शिवानी के पास कोई भी लड़कों का कपड़ा नहीं था. क्या मस्त चूचे थे उसके, बिल्कुल गोल-गोल और टाइट।अब मैं उसके दोनों दूधों को अपने मुंह में लेकर चूसने लगा और वो इसका मजा लेने लगी.

सेक्सी आजा वीडियो सेक्सी

मैंने भी कह दिया कि मैं भी तुम्हें कई दिनों से चोदने की फिराक में था. अंकित और सीमा कुछ ज्यादा ही सेक्सी थे तो कई बार अंकित अपने मोबाइल का ब्लूटूथ ओन करके पोर्न मूवी लगा देता जिस पर सभी एतराज तो करते पर देखते सब थे. वो मुझसे बोली- आशना अब क्या होगा … हमने स्कूल बंक करके बहुत मज़े किए, पर अभी लग रहा है कि बहुत ग़लत किया यार.

फिर मेरी तरफ़ पीठ करके बेड को पकड़ कर झुक गईं और मुझे लंड उसकी फुद्दी के अन्दर डालने के लिए लंड को सैट करके उकसाने लगीं.

आंटी का नाम हेमा (बदला हुआ नाम) था जो कि बहुत कामुक औरत थी और हेमा आंटी ही इस कहानी की मुख्य नायिका है.

ये कहते हुए जैसे जैसे चयन मेरे लंड को पकड़ कर दबा रहा था, मेरे लंड की भूख उतनी ही बढ़ रही थी. आंटी को तनाव का अहसास हुआ उसने और तेजी के साथ मेरे लंड पर मुंह चलाना शुरू किया और अब मेरे मुंह हल्की-हल्की सिसकारी निकलने लगी थी. साड़ी वाली आंटी की सेक्सी पिक्चरराहुल के पूछने पर वो बोली कि उसे रात को कॉफ़ी पीने से नींद नहीं आती.

मन करता है कि मैं वहीं खुले आंगन में अपनी भाभी को लिटा कर उनकी साड़ी पूरी ऊपर उठा कर उनकी चूत नंगी करके देखूँ और चाट लूं. हमने पहले ही निर्णय लिया था कि उस एक घंटे में किसी के बदन पर कोई कपड़ा नहीं होगा। जब वो सिर्फ ब्रा पैंटी में आ गयी तो मैं उसको निहारने लगा।वो शरमा के मुझसे कस के गले लग गयी. मेरे मन में लड्डू से फूट पड़े। जिसको मैं पटाने की कोशिश कर रहा था वो तो पहले से ही पटी हुई थी.

फिर शीना ने बताया कि उसके ससुर आये हैं तो वो थोड़ी देर के बाद बात करेगी और कहकर उसने फोन रख दिया. ”परीशा- हाय पापा, इतना तंग करते हैं हमारे चूतड़ आपको? ठीक है मैं कुतिया बन जाती हूँ। अब ये चूतड़ आपके हवाले। आप जो चाहे कर लीजिए.

मॉम घर का काम खत्म खत्म करके नहाने चली गईं, बाथरूम से निकल कर जब वो अपने रूम में जा रही थीं, तो मैं भी पीछे पीछे उनके रूम में चला गया.

मैं और विवान भैया एक दूसरे से बात करते करते एक दूसरे के बारे में बहुत अच्छे से जान गए थे. हिना- जीशान अकेला हम तीनों को कैसे खुश करेगा?मैं- आ गयी है मेरी दवाई. मेरे इसी चुदक्कड़पन की वजह से मैं पुणे में घर होने के बावजूद रूम खोज रहा था, ताकि मैं पढ़ाई के साथ साथ हर रोज कोई नया लंड चूस सकूं.

गुजराती हिंदी वीडियो सेक्सी वो साथ में ये भी बोल रही थी कि सच में आज मुझे सेक्स का सही आनन्द मिला है. मैंने पूरी नंगी होकर झट से उसको निकाला और उस पर थूक लगा कर पूरी गीला करके अपनी चूत की फांकों में रगड़ने लगी … धीरे धीरे अन्दर घुसाने की कोशिश करने लगी.

उसके बाद जब भी हमें मौका मिलता तो मैं और दीदी दोनों ही एक दूसरे के साथ मजे लेने लगती. शर्ट का गला काफी गहरा था और दोनों चूचों के बीच की दरार काफी खुली दिखाई दे रही थी. वहाँ पर हम बोर हो रहे थे तो हमने सोचा कि चलो घूम के आते हैं कहीं पर.

इंग्लिश देसी सेक्सी वीडियो

मैं जब भी उनसे बात करने की कोशिश करता, तब कुछ ना कुछ उल्टा हो जाता था. ” सरिता ने अपने पति को समझाते हुए कहा।जानेमन वह सब मैं समझ रहा हूँ मगर यह नालायक नहीं मानता. ‌फिर हम लोग मूवी देखने गए … मगर मेरा ध्यान तो सारा स्मायरा की तरफ ही था.

वो पीछे हटने की कोशिश करने लगी तो मैंने अपने दूसरे हाथ को भी उसके कन्धे पर रख दिया. फिर मेरी सासुजी ने आगे बताया- मेरी चूत चाटने के बाद वो मेरे ऊपर आ गए, मैं पूरी तरह पागल हो चुकी थी.

मैंने यही बात मनु को बताई, तो उसने कहा कि वो तुमसे दोस्ती करना चाहता होगा और कुछ नहीं.

एक अलग तरह का नशा मेरे ऊपर छा रहा था और इस बीच मेरा लंड ज़ोरों से फनफना रहा था. विजय की पत्नी रजनी ने उसको राहुल का फ्लैट बताया और जब राहुल ने दरवाजा खोल कर पैकेट लिया तो रजनी ने मुस्कुरा कर राहुल को हेलो बोला. थोड़ी देर बाद उसके दोस्त ने अपने पूरे खड़े हुए लंड को, जो मुझे लगता था कि सात इंच से छोटा नहीं होगा, को अपनी लार से पूरी तरह से गीला किया और शिवानी की चुत के मुँह पर रख कर एक ही धक्के में सारा का सारा अन्दर कर दिया.

वो अभी भी नजर नीचे किये हुए बैठी थी और मैंने उसके हाथ को ऐसे ही पकड़ रखा था. पर तभी मुझे याद आया कि अब मैं भारत में नहीं, बल्कि मेक्सिको में हूँ और इस देश के अपने अलग रीति रिवाज हैं. अब मैं प्रशांत को हर दिन इसी तरह किसी न किसी बहाने से अपनी चूत के दर्शन करवा देती थी ताकि वो मेरी चूत को चोदने के लिए मचल जाये.

उस रात हम दोनों ने दो बार चुदाई का मजा और लिया क्योंकि मुझे आज की रात उसके साथ ही रुकने का कहा गया था.

नींद में सेक्सी बीएफ: ”समझ गयी। अच्छा मैं तो सुबह आ ही रही हूँ। तुमने कुछ सोचा कि कल परसों होली पे क्या करना है?”करना क्या है, मेरे पास सफेद रंग वाली पिचकारी है, एक बार तेरे अंदर और एक बार कामिनी के अंदर छोड़ दूंगा. पर मैं खुद पर काबू कर झटके से उससे अलग हुई और किट उठा कर वहां से उसको तड़फता छोड़ भाग आई.

इस बार मेरा पूरा लंड उसकी चूत में चला गया था और वो एक बार फिर दर्द से बिलबिला उठी थी. अपने खुद के शरीर को देखते हुए और पूरे शरीर पर हाथ फिराते हुए उसके दिमाग में केवल अंकित का ही ख्याल आ रहे थे. उसने कहा- देखती हूँ कि सच कहती है या यूँ ही मेरा दिल रखने के लिए कह रही है.

” महेश ने अपनी पत्नी का हाथ पकड़कर अपने लंड पर रखते हुए कहा।मैंने कहा न, अब मुझसे यह सब नहीं होता, बस … आज के बाद मेरे क़रीब मत आना। मैं अब इस उम्र में भगवान की पूजा पाठ करके अपने ग़ुनाहों की माफ़ी माँगना चाहती हूं.

थोड़ी देर बाद जब मैं आंटी की टांगों से बाहर आया, तो आंटी ने मुझे ज़ोर से जकड़ लिया और मुझे किस करने लगीं. वह अपने पिता के बारे में समीर को बताने से डर रही थी।सच बताओ ज्योति, क्या हुआ? तुम्हें मेरी कसम मैं तुम्हें दुखी नहीं देख सकता. इन आवाजों को सुन कर एक बार तो मैंने सोचा कि शायद आज फिर सुमिना ने कुणाल को अपनी चूत की प्यास बुझाने के लिए मेरी गैरमौजूदगी में बुला रखा है.